बुधवार, 21 अगस्त 2019

'नव-दंपति' ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

डब्बू ठाकुर


कोटा। एक नवदंपती ने मंगलवार को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। दोनों घर से इलाज कराने के नाम से निकले थे। मृतक ने अपने भाई को खुदकुशी करने की जानकारी दी थी। परिजन रोक पाते उससे पहले की दोनों ने मौत को गले लगा लिया। घटना कोटा थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत लिटिया की है। मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। परिजन के मुताबिक नारायण साहू पिता जोहन साहू (25), बबिता साहू सुबह 10 बजे दोनों इलाज कराने के नाम से कोटा आय हुए थे। लेकिन दोपहर तक वे घर नहीं पहुंचे। उसके बाद परिजनों ने खोजबीन शुरू कर दी।


जानकारी के मुताबिक जोहन फांसी से पहले अपने छोटे भाई को वाट्सएप से खुदकुशी की जानकारी दिया था, लेकिन दोनों क्यों आत्महत्या कर रहे हैं, इसकी जानकारी नहीं दी और न ही जगह का नाम बताया। दोनों कोरी डैम के पास फांसी पर झूल गए। पर्यटकों ने दंपति को फांसी पर लटके हुए देखा तो पुलिस सूचना दी। पुलिस ने बताया कि पति ने पेड़ की डाली में रस्सी डाली, उसके बाद रस्सी के एक छोर में पत्नी के गले पर रस्सी बांध दी. बाद दोनों पेड़ से झूल गए। इससे दोनों की मौत हो गई। मृतक पति-पत्नी के दो तीन महीने पहले ही शादी हुई है। ये गांव में खेती-किसानी के अलावा मृतक नारायण साहू ट्रेलर ड्राइवर भी था। पुलिस मौत के कारणों का पतासाजी में जुट गई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए मर्चुरी भेज दिया गया है।


मौत पर सस्पेंस बरकरार: मृतक पति-पत्नी का शादी हुए तीन माह ही हुआ था। उसके बाद इस तरह की कदम उठाने के पीछे क्या कारण है। बहरहाल कोटा पुलिस मर्ग कायम कर जांच में जुटी है। कोटा टीआई ने बताया कि अभी मामले की जांच की जा रही है। पूरी जांच कर बता पाऊंगा।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्रधिकृत प्रकाशन विवरण
August 22, 2019 • RNI.No.UPHIN/2014/57254
प्राधिकृत प्रकाशन विवरण
2019-8-22 • RNI.No.UPHIN/2014/57254
1.अंक-19 (साल-01)
2. बृहस्पतिवार,22अगस्‍त 2019
3.शक-1941,भादप्रद कृष्‍णपक्ष सप्‍तमी,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:45,सूर्यास्त 7:07
5.न्‍यूनतम तापमान 28 डी.सै.,अधिकतम-35+ डी.सै., हवा में आद्रता रहेगी, बरसात की संभावना!
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा!
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार लोनी गाजियाबाद 201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी गाजियाबाद 201102
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


शिक्षामित्र की पत्नी ने तनाव मे की आत्महत्या

मिर्जापुर। चुनार कोतवाली धौहा कुसुमी निवासी शिक्षा मित्र की पत्नी ने तनाव मे आकर सुसाइड नोट लिखने के उपरांत ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर लिया। घर वालो को इसकी जानकारी सोमवार को अलसुबह हुई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस हृदय विदारक घटना से सभी हतप्रभ है। जानकारी के अनुसार संदीप कुमार सिंह पुत्र कैलाश सिंह निवासी ग्राम धौहा कुसुम्ही थाना चुनार मिर्ज़ापुर की पत्नी ललिता देवी रविवार की रात तकरीबन 11:00 बजे सुसाइट नोट लिख कर गायब हो गयी।  उनके परिजनों ने उसे काफी ढूढने की कोशिश की।लेकिन रात मे उसका कही अता-पता नही चला। सोमवार को सुबह 4:00 बजे उसका शव रेलवे पटरी पर कटा मिला। शव मिलते ही घर पर कोहराम मच गया। परिजन के मुताबिक वह पति की नौकरी जाने से काफी दिनों से तनाव मे थी। पति संदीप शिक्षा मित्र पद पर कार्यरत है।


 


पाकिस्तानी गेंदबाज-आरजू का हुआ निकाह

 नई दिल्ली। भारतीय लड़की को दिल दे देने वाले पाकिस्तानी क्रिकेटरों की फेहरिस्त में हसन अली का भी नाम जुड़ गया है। पाकिस्तानी गेंदबाज हसन अली ने हरियाणा की एक लड़की शामिया आरजू के साथ निकाह किया है।शामिया दुबई में एक भारतीय एयरलाइन में फ्लाइट इंजीनियर हैं। पहले से ही शादी की तारीख 20 अगस्त तय हो गई थी। ये शादी भारत या पाकिस्तान की बजाय दुबई में हो रही है। शमिया एमिरेट्स एयरलाइन्स में एक फ्लाइट इंजीनियर हैं और उनका परिवार नई दिल्ली में रहता है। उनका परिवार मूलता हरियाणा का रहने वाला है। इससे पहले पाकिस्तानी आलराउंडर शोएब मलिक की शादी भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा से हो चुकी हैं।


राजनाथ-गडकरी ने लिए कई अहम फैसले

अजय सैनी


दिल्ली- रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कई प्रस्तावों को मंजूरी दी , सेना मुख्यालय के पुनर्गठन के प्रस्तावों को मंज़ूरी, विस्तृत आंतरिक अध्ययन के आधार पर दी गई, इस मंज़ूरी के बाद स्वतंत्र सतर्कता प्रोकोष्ठ शुरू होगा, थलसेना प्रमुख के तहत शुरू कर दिया जाएगा, ADG सतर्कता को सीधे सेना प्रमुख के मातहत रखा जाएगा, इसमें कर्नल स्तर के तीन अधिकारी होंगे।


दिल्ली- केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का बयान, सड़क दुर्घटना से परिवार का नुकसान होता है, हमने संशोधन विधयेक में प्रावधान किया है, नेशनल ट्रान्सपोर्ट पॉलिसी देश की जरूरत है, कानून का पालन जीवन रक्षा के लिए जरूरी है, चालान के जरिए धन इकट्ठा करने का नहीं है, नए मोटर अधिनियम में काम किया , 63 प्रावधानों के ऊपर हमने काम किया है, 14 हज़ार करोड़ का एक प्लान हमने बनाया है, हॉर्न देकर रेड लाइट पार, करने वालों पर चालान, वीआईपी गाड़ियों का भी होगा चालान , हम जनजागरण अभियान चलाएंगे , टोल के सारे कैश लेन 1 दिसंबर से होंगे बंद, टोल के लिए फ़ास्ट टेक लेना अनिवार्य है।


दिल्ली- अयोध्या मामले में SC में सुनवाई जारी , रामलला के वकील वैद्यनाथन ने कहा , एक मंदिर हमेशा मंदिर ही रहता है-वकील, संपत्ति को आप ट्रांसफर नहीं कर सकते हैं, मूर्ति किसी की संपत्ति नहीं है, मूर्ति ही, देवता हैं, अयोध्या मामले में जस्टिस बोबडे ने कहा , आपके तर्क तो इस प्रकार हैं- जस्टिस बोबडे, की मूर्ति के स्वामित्व वाली संपत्ति अभेद है, अन्य व्यक्ति जो संपत्ति पर दावा करता है, वह इसे कब्जे में नहीं रख सकता है, ऐसे में संपत्ति ट्रासफंर वाली चीज नहीं है।


दिल्ली- महिला कांग्रेस के नेताओं ने सोनिया ने की मुलाकात ,सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने किया मुलाकात ., सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर हुई मुलाकात, महिला कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में मुलाकात।


दिल्ली- चिदंबरम मामलं में ईडी सूत्रों के हवाले से खबर , उनकी टीम ने चिदंबरम के ड्राइवर से पूछताछ की , ड्राइवर ने बताया की सर उन्हे छोड़कर चले गए थे, चिदम्बरम की लास्ट लोकेशन लोधी रोड की थी , घर के अलावा कई जगहों पर उन्हें सर्च किया गया , लेकिन अभी कुछ पता नहीं चला है-सूत्र


लखनऊ- अकाउंटेंट सोनी के आत्महत्या का मामला, आत्महत्या के मामले में दाखिल हुए चार्जशीट, आलमबाग पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट, रेलवे के 6 अफसरों पर उकसाने के आरोप , DRM ऑफिस में तैनात, SHO आदित्य शुक्ला, सोमेश मित्तल, आकाश कुमार,करुणेश पर आरोप, विवेक,अवधेश के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल , सभी के खिलाफ पुलिस ने दाखिल किया आरोप पत्र, आत्महत्या मामले में घर वालों ने लागये थे आरोप।


प्रतापगढ़- पुलिस की बड़ी लापरवाही आई सामने, थाने के लॉकअप से अभियुक्त फरार, अभियुक्त के फरार होने से विभाग में हड़कंप, अभियुक्त की तलाश में जुटी पुलिस, पुलिसिया कार्यशैली पर उठ रहे सवाल, कंधई थाने के ल़ॉकअप से अभियुक्त फरारी।


प्रतापगढ़- पत्रकारों के उत्पीड़न मामलों में संवेदनहीन पुलिस, उत्पीड़न के शिकार पत्रकारों की सुनवाई नहीं, कोहड़ौर में पत्रकारों का बदमाशों ने किया पीछा , नगर कोतवाली के कस्बे में जमीन पर कब्जा, पत्रकार की जमीन पर दबंगों ने किया कब्जा, पट्टी कोतवाली में पत्रकार पर जानलेवा हमला।


प्रयागराज- सांसद आज़म खान के निर्वाचन को चुनौती, इलाहाबाद हाईकोर्ट में अर्जी पर सुनवाई आज, बीजेपी नेता जयाप्रदा की तरफ से अर्जी दाखिल, लोकसभा चुनाव में महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी, वकील के रुप में अमर सिंह लड़ रहे हैं केस।


प्रयागराज- संगम में जलस्तर बढ़ने का सिलसिला जारी, बेतवा,केन नदी पर बने बांधों से छोड़ा गया पानी, कोटा से चंबल नदी का पानी आने से स्थिति गंभीर, जल्द डेंजर लेवल तक पहुंच सकता है पानी, जलस्तर को लेकर प्रशासन ने अलर्ट घोषित किया, जिले में स्थापित 99 बाढ़ चौकियां अलर्ट मोड में, कई निचले इलाकों को खाली कराने का काम शुरू, गंगा पार के कई गांवों का शहर से सम्पर्क कटा।


आगरा- आगरा में पुलिस थाने भी नहीं है महफूज, चोर ने पुलिस थाने में ही किए हाथ साफ, थाने में पड़े कबाड़ के सामान को किया चोरी, सामान ले जाते चोर को पुलिस ने पकड़ा, चोर को पकड़ने का वीडियो हुआ वायरल, फतेहाबाद में पड़े सामान पर हाथ साफ किया।


गोंडा- जिला अस्पताल में नियुक्ति को लेकर घोटाला, आउटसोर्सिंग कंपनी के साथ मिलकर घोटाला, स्वीकृत से डेढ़ गुना चतुर्थ श्रेणी कर्मी कर रहे काम, अस्पताल के सीएमएस, मैट्रन भूमिका संदिग्ध, विशेष सचिव के आदेशों का हो रहा खुला उल्लंघन, विशेष सचिव ने किया था जिला अस्पताल का दौरा।


झांसी- पुलिस कर्मियों ने पुलिस कैप का अपमान किया, कचरे के साथ झाड़ी में फेंका पुलिस का कैप, बोतलों के साथ कैप को झाड़ी में फेंक दिया , वीडियो बनते देख कैप उठाकर गाड़ी में रखा, नवाबाद पुलिस की गाड़ी से फेंका गया कैप, एसएसपी कार्यालय के पास झाड़ी में फेंका कैप।


ग्रेटर नोएडा- कलेक्ट्रेट में कर्मचारियों का धरना प्रदर्शन, 24 सूत्रीय मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन, कलेक्ट्रेट कर्मचारी तालाबंदी कर हड़ताल पर, मांग पूरी न होने के चलते धरने पर बैठे।


ब्लॉग संख्या पांच हजार. (विविध)

कश्मीर पर अमरीका की मध्यस्थता अब भारत के लिए फायदेमंद।
पाकिस्तान की ओर से आतंक रुकता है तो कश्मीर घाटी में शांति होगी। 

सायं चार बजे जब मैंने अपना ब्लॉग संख्या 5 हजार 908 पोस्ट किया था, तब अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का मध्यस्थता वाला बयान सामने नहीं आया था। इस ब्लॉग में मैंने ताजा घटनाओं के आधार पर लिखा था कि अमरीका ने कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता शुरू कर दी है, इसलिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और इमरान खान से फोन पर अलग अलग बात की है। अमरीका की मध्यस्थता पर मेरा यह ब्लॉग सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेट फार्मों पर देखा जा सकता है। अब 21 अगस्त को ट्रंप का बयान सामने आ गया, इस बयान में ट्रंप कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की बात स्वीकार कर रहे हैं। ट्रंप का कहना है कि मोदी और इमरान खान दोनों उनके अच्छे मित्र हैं और कश्मीर में शांति के लिए जो कुछ भी संभव है वो मैं करूंगा। इसी सप्ताह के अंत में 22 व 23 अगस्त में मेरी मुलाकात भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से होगी। इस मुलाकात में भी कश्मीर में शांति बहाली पर बात करूंगा। 21 अगस्त को ट्रंप का यह बयान तब सामने आया है, जब कश्मीर से अनुच्छेद 370 में बदलाव के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हालात तनावपूर्ण हो गए हैं। 370 को निष्प्रभावी करने को भारत अपना आतंरिक मामला मानता है, जबकि पाकिस्तान कश्मीर को विवादित मानता है। हालांकि अनुच्छेद 370 में बदलाव कर भारत ने एक झटके में पाकिस्तान को सबक सिखा दिया और अब यदि अमरीका जैसा शक्तिशाली देश कोई भूमिका निभाता है तो यह भारत के पक्ष में होगा। मध्यस्थता का मतलब यह नहीं कि डोनाल्ड ट्रंप एक टेबल पर नरेन्द्र मोदी और इमरान खान को साथ लेकर बैठे जाएं और कश्मीर पर आपस में बात करने के लिए कहें। अब जब भारत ने पूरे जम्मू कश्मीर प्रांत को केन्द्र शासित प्रदेश बना दिया है तो कश्मीर घाटी को भी विशेष दर्जा समाप्त हो गया है। भारत का बार बार कहना है कि पाकिस्तान यदि कश्मीर में आतंकी कार्यवाही बंद कर दे तो हम बातचीत के लिए तैयार हैं। अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यह भूमिका हो सकती है कि वे पाकिस्तान पर दबाव डाल कर आतंक को रुकवाएं। यह भारत के लिए फायदेमंद होगा। अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने के बाद कश्मीर में जितनी जल्दी शांति होगी उतना ही भारत का फायदा है। अमरीका की अब तक की भूमिका भारत के पक्ष में रही है। चीन के बाद अमरीका ही ऐसा देश है जो पाकिस्तान को समझा सकता है। जहां तक भारत का सवाल है तो कश्मीर समस्या के समाधान के लिए उसे जो करना था वो कर दिया। अब चाहे पाकिसतान यूएन में जाए या फिर इंटरनेशनल कोर्ट में। भारत ने अपने संविधान के मुताबिक फैसला किया है। आज जो अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान को समर्थन नहीं मिल रहा है उसमें भारत की कूटनीति ही है। 
एस.पी.मित्तल


भ्रष्टाचारी नहीं बख्शे जाएंगे (सपांदकीय)

नरेन्द्र मोदी ने तो पहले ही कहा था कि अब भ्रष्टाचारी जेल के अंदर जाएंगे। 
देश के गृह और वित्त मंत्री रहे चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली जमानत। 
गांधी परिवार बचाव में उतरा। 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और देश के गृह व वित्त मंत्री रहे पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से अग्रिम जमानत नहीं मिली। हालांकि कांग्रेस से जुड़े वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद, विवेक तनखा आदि ने जमानत के लिए पूरा जोर लगा दिया। लेकिन प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई द्वारा सुनवाई के लिए कोई आदेश पारित नहीं करने की वजह से सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश रमन्ना ने सुनवाई करने से इंकार कर दिया। हालांकि चिदंबरम के वकीलों की फौज ने दो बार जस्टिस रमन्ना के समक्ष सुनवाई का आग्रह किया, लेकिन दोनों ही बार जस्टिस रमन्ना ने आग्रह को ठुकरा दिया। अब 22 अगस्त को प्रधान न्यायाधीश गोगोई के समक्ष सुनवाई होने की उम्मीद है। सुप्रीम कोर्ट से कोई राहत नहीं मिलने पर कांग्रेस और चिदंबरम को झटका लगा है। सीबीआई ने चिदंबरम के खिलाफ जो एफआई दर्ज की है उसके अनुसार वित्त मंत्री के पद पर रहते हुए चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया में गैर कानूनी तरीके से विदेशी निवेश की मंजूरी दी। बाद में इसी मीडिया समूह के द्वारा चिदंबरम के बेटे कीर्ति चिदंबरम की कंपनी को वित्तीय लाभ पहुंचाया गया। चूंकि सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने भ्रष्टाचार की कड़ी से कड़ी जोड़ दी है, इसलिए अब चिदंबरम सीबीआई के शिकंजे में फंसे हुए हैं। बीस अगस्त को दिल्ली हाईकोर्ट ने चिदंबरम को अग्रिम जमानत देने से इंकार कर दिया था। हाईकोर्ट का कहना रहा कि यदि चिदंबरम को जमानत दी जाती है, तो समाज में गलत संदेश जाएगा। हाईकोर्ट से जमानत याचिका खारिज होने के बाद से ही सीबीआई चिदंबरम की तलाश कर रही है। चिदंबरम के दिल्ली स्थित आवास पर सीबीआई ने अब तक तीन बार छापामार कार्यवाही की है। लेकिन चिदंबरम का कोई पता नहीं चल रहा है। ऐसी स्थिति में चिदंबरम को फरार मानते हुए सीबीआई ने लुक आउट नोटिस जारी कर दिया है। ताकि चिदंबरम देश से बाहर भाग नहीं सके। सुप्रीम कोर्ट से भी जमानत नहीं मिलने पर अब सीबीआई ने चिदंबरम की सरगर्मी से तलाश शुरू कर दी है।
कांग्रेस बचाव में :
चिदंबरम की गिरफ्तारी को देखते हुए कांग्रेस अब चिदंबरम के बचाव में उतर आई है। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर सरकार पर द्वेषतापूर्ण कार्यवाही करने का आरोप लगाया है। गांधी परिवार की ओर से कहा गया है कि केन्द्र सरकार सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। 
मोदी ने तो कहा था:
देश का दोबारा प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेन्द्र मोदी ने तो कहा था कि पिछले पांच वर्ष के शासन में भ्रष्टाचारियों को जेल के दरवाजे तक लाया गया और अब जेल के अंदर डालने का काम किया जाएगा। चिदंबरम के खिलाफ मोदी के पिछले कार्यकाल में एफआईआर दर्ज की गई थी और अब जेल के अंदर डालने की कार्यवाही की जा रही है। आमतौर पर यह माना जाता है कि राजनेता जो भ्रष्टाचार करते हैं उनमें नेताओं के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं होती। लेकिन बदली हुई परिस्थितियों में अब राजनेताओं के खिलाफ भी भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सख्त कार्यवाही हो रही है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव पिछले कई वर्षों से जेल में बंद हैं इसी प्रकार वित्तीय गड़बडिय़ां करने के आरोप में कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी, उनके पुत्र राहुल गांधी और कांग्रेस के अन्य नेता जमानत पर हैं। कांग्रेस के कई बड़े नेताओं पर भी भ्रष्टाचार के मुकदमे विचाराधीन हैं। कांग्रेस का अब कहना है कि यह कार्यवाही राजनीतिक द्वेषता की वजह से हो रही है। ऐसा बयान देकर कांग्रेस के भ्रष्टाचार नेता बच नहीं सकते हैं। कांग्रेस को यदि लगता है कि भाजपा के नेता भी भ्रष्टाचार करते हैं तो देश में जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकारें हैं वहां भाजपा के नेताओं के खिलाफ भी कार्यवाही की जा सकती है। इस समय मध्यप्रदेश, राजस्थान, पंजाब, छत्तसीगढ़ जैसे बड़े राज्यों में कांग्रेस की सरकारें है। मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ के भतीजे रितुल पुरी को तो सीबीआई ने 20 अगस्त को ही भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया है। भतीजे की गिरफ्तार पर भी कमलनाथ ने राजनीतिक द्वेषता का आरोप लगाया है। 
एस.पी.मित्तल


राजनीतिक परीक्षण में 'मनोज' सफल नेता

अश्वनी उपाध्याय


लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा कैबिनेट में बढ़ाए गए सदस्यों का केवल एक मूल उद्देश्य है। क्षेत्रो में सरकार की योजनाओं का प्रचार-प्रसार नहीं हो पा रहा है,या पात्र लोगों को लाभ नहीं मिल पा रहा है। उन पात्र लोगों को योजनाओं का लाभ ज्यादा-ज्यादा मिल सके। जिससे सरकार की  जनहित योजनाओं का उद्देश्य पूर्ण हो सके। योगी के द्वारा लिए गए आज के फैसले सर्वथा उचित है। नए चेहरों को कैबिनेट में स्थान मिलने पर बधाई के ताते लग गए। जिसके अंतर्गत नगर पालिका परिषद लोनी के पूर्व अध्यक्ष मनोज धामा ने प्रदेश सरकार के पहले बहुप्रतीक्षित मंत्रिपरिषद के विस्तार व फेरबदल मे नवनियुक्त कैबिनेट मंत्री माननीय भूपेन्द्र सिंह व माननीय मंत्री सुरेश राणा से लखनऊ पँहुच कर शिष्टाचार भेंट की। उनको पुष्प गुच्छ देकर शुभकामनाएं दी तथा मिठाई खिलाकर मुँह मीठा कराया ।
इस अवसर पर पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष ने माननीय मंत्री महोदय से लोनी के विकास कार्यों को लेकर चर्चा की तथा बताया लोनी की मुख्य समस्या जलभराव की है। जिसको लेकर हजारों लोगों को दिन-प्रतिदिन अपने निजी कार्यो को लेकर भी परेशानी सेे दो-चार होना पड़ता है।माननीय मंत्री ने मनोज धामा को आश्वस्त किया कि जल्द ही लोनी के विकास कार्य के लिये अतिरिक्त पैकेज प्रदेश सरकार की तरफ से दिया जायेगा।इस अवसर पर सतेंद्र शिशोदिया क्षेत्रीय उपाध्यक्ष, संजीव चौधरी, अजय चौधरी आदि उपस्थित रहे।


15 साल पुराने,46 हजार वाहन हुए कबाड़

साल से पुरानी कार-बाइक तो अब कबाड़ मानें


बरेली। तमाम चेतावनियों के बावजूद लोगों के अपने पंद्रह साल पुरानी कार और मोटरसाइकिलों के रजिस्ट्रेशन का रिन्युवल न कराने पर अब परिवहन विभाग ने इन वाहनों को सीज करने के बजाय कंडम घोषित करने का फैसला लिया है। सितंबर से इस अभियान की शुरुआत की जाएगी।


एआरटीओ आरपी सिंह ने बताया कि करीब साल भर से विभाग हर तीन माह पर उन कारों और मोटरसाइकिलों के रजिस्ट्रेशन का रिन्युवल कराने की चेतावनी जारी कर रहा है जो 15 साल से पुराने हो चुके हैं। इसके बाद भी सूची में दर्ज ऐसे करीब 55 हजार वाहनों में से सिर्फ छह हजार लोगों ने ही रजिस्ट्रेशन रिन्यू कराया है। करीब 46 हजार वाहन अभी भी शहर की सड़कों पर बगैर रिन्युवल कराए फर्राटा भर रहे हैं। उन्होंने बताया कि एनजीटी की गाइडलाइन के अनुसार 15 साल पुराने वाहनों के धुएं से अत्यधिक मोनो कार्बन डाईऑक्साइड उत्सर्जित होती है जो वायु प्रदूषण की वजह बनती है। इसलिए इन वाहनों को सड़कों से हटाने का आदेश दिया गया है। रजिस्ट्रेशन रिन्युवल के दौरान वाहन का फिटनेस टेस्ट होता है। अगर वाहन इसमें पास हो जाता है तो उसका नवीनीकरण कर दिया जाता है।


सत्ता का गलत इस्तेमाल कर रही भाजपा

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के बाद अब कांगेस नेता राहुल गांधी पूर्व केंद्रीय मंत्री पी.चिदंबरम के बचाव में उतर आए हैं। राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर सत्ता के दुरुपयोग का आरोप लगाया। राहुल ने कहा कि चिदंबरम के खिलाफ ईडी-सीबीआई का इस्तेमाल किया गया है। राहुल गांधी ने लिखा, 'मोदी सरकार ईडी, सीबीआई का गलत इस्तेमाल कर पी. चिदंबरम की छवि को नुकसान पहुंचा रही है। मैं मोदी सरकार के द्वारा सत्ता के इस गलत इस्तेमाल की कड़ी निंदा करता हूं।'


इससे पहले, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी पी. चिंदबरम का बचाव किया था। प्रियंका ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, हम पी. चिदंबरम के साथ खड़े हैं और सच्चाई के लिए लड़ते रहेंगे फिर चाहे फैसला कुछ भी हो। प्रियंका गांधी ने इस दौरान पी. चिदंबरम के राजनीतिक जीवन और केंद्रीय मंत्री रहते हुए उनके योगदान की तारीफ की। कांग्रेस महासचिव ने ये भी लिखा कि चिदंबरम केंद्र सरकार की असफलताओं को उजागर करते रहे हैं, इसलिए वह अब उनके निशाने पर हैं।


हॉकी टीम ने न्यूजीलैंड को दी करारी शिकस्त

नई दिल्ली। भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने ओलम्पिक टेस्ट इवेंट के फाइनल में न्यूजीलैंड की टीम को 5-0 से करारी शिकस्त दी। भारत के लिए इस मैच में हरमनप्रीत सिंह, शमशेर सिंह, नीलकांता शर्मा, गुरशाहबजीत सिंह, और मनदीप सिंह ने गोल किए।
भारत ने मैच की दमदार शुरुआत की और सातवें मिनट में ही उसे पेनाल्टी कॉर्नर मिला। हरमनप्रीत ने कोई गलती नहीं की और शानदार गोल करते हुए अपनी टीम को बढ़त दिला दी।एक गोल की बढ़त बनाने के बाद भारतीय टीम ने अपनी लय नहीं खोई। दूसरे हाफ की शुरुआत में भी भारत को एक पेनाल्टी कॉर्नर मिला। 18वें मिनट में शमशेर ने गोल दागा। इसके बाद, दूसरे क्वार्टर में भारत ने न्यूजीलैंड को पूरी तरह से धवस्त कर दिया।नीलकांता ने 22वें मिनट में गोल करते हुए स्कोर 3-0 कर दिया। चार मिनट बाद, गुरशाहबजीत ने शानदार मूव बनाकर गोल किया। भारत को एक और पेनाल्टी कॉर्नर मिला। भारत ने इस मौके का लाभ उठाया और इस बार 27वें मिनट में गोल मनदीप ने किया।धमाकेदार पहले हाफ के बाद दूसरे हाफ में दोनों टीमें गोल नहीं कर पाईं। न्यूजीलैंड ने कई प्रयास किए, लेकिन भारतीय डिफेंस मजबूत रही और बिना कोई गोल खाए मुकाबला जीता। 


फैशनवीक में कैटरीना के स्टाइल का जलवा

नई दिल्ली। लैक्मे फैशनवीक में कैटरीना कैफ का स्टाइल काफी अलग रहा। ट्रेडिशनल ब्लैक लहंगे के लुक में कैटरीना ने सबको दिवाना बना दिया। लैक्मे फैशन वीक में कटरीना ने डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के लिए रैंप वॉक किया। इस फैशन इवेंट के लिए कैटरीना कैफ ने ब्लैक कलर का चुनाव किया। ब्लैक कलर के लहंगे में कैटरीना बेहद खूबसूरत नजर आ रहीं थी। अपने इस आउटफिट के साथ कैटरीना ने कुंदन का नेकपीस पहन रखा था। ओपन हेयर और स्मोकी मेकअप उनके इस गेटअप को कॉम्पलीमेंट कर रहे थे। कटरीना का आईमेकअप हाइलाइटेड रहा।


लता-आमिर ने की बाढ़ पीड़ितों की सहायता

मुंबई। महाराष्ट्र के कई इलाकों में इस साल बारिश और बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। राज्य के इन बिगड़े हालातों में अब बॉलीवुड की ओर से मदद का हाथ आगे आया है। बॉलीवुड के आमिर खान और सिंगर लता मंगेशकर सहित कई कलाकार मदद के लिए आगे आए हैं। बीते दिनों अमिताभ बच्चन ने भी इनकी मदद के लिए एक बड़ी रकम डोनेट की थी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है कि आमिर खान और लता मंगेशकर सहित कई कलाकारों ने बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। उन्होंने ट्वीट कर बताया, 'आमिर खान महाराष्ट्र बाढ़ पीड़ितों के लिए आपके 25 लाख रुपए के सहयोग के लिए शुक्रिया।


मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से क्या क्या प्राप्त होता है

संजय आजाद 


क्या नहीं दिया जा रहा है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर यानि 1076 नंबर पर...


लखनऊ। मिसाल के तौर पर सबसे पहले तो आपका स्वागत होता है। उसके बाद आपके हर सवाल के जवाब में माफी मांगते हैं।फिर सबसे बड़ी बात तो ये सुनने को मिलती है कि
माफ कीजियेगा। 1076 पर सरकारी चोर,लुटेरे,डकैत घूसखोर, भ्रष्टाचारी सरीखे नौकरशाहों की शिकायत नहीं दर्ज की जाती है। क्योंकि ऊपर से अभी तक ऐसे कोई आदेश प्राप्त नहीं हुए हैं। इतनी सारी सुख-सुविधाएं तो योगीराज ने हम सबको घर बैठे दे रखी हैं। अब आप और क्या चाहते हैं? इस रामराज्य में उत्तर प्रदेश से भ्रष्टाचार और उनके भ्रष्टाचारियों का सफाया ही पूरी तरह से कर दिया जाए।


मप्र:आईएएस अधिकारियों को दी चेतावनी

कलेक्टरों से खफा मुख्यमंत्री दी यह चेतावनी
भोपाल। मध्यप्रदेश में प्रशासनिक कार्यों में हो रही देरी और अनियमितता को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ कलेक्टरोंं से खफा हैं। प्रदेश में लगातार सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों की संख्या बढ़ रही है। लेकिन उनका समय पर निकारण नहीं हो रहा है। समस्याओं के निपटारे में हो रही लापरवाही को देखते हुए मुख्यमंत्री सचिवालय ने प्रदेश भर के कलेक्टरों को पत्र लिख कर अगस्त में ही काम निपटाने के लिए निर्देश दिए हैं। 
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में जन अधिकार कार्यक्रम की शुरुआत की है। जिसमें वह जनता से सीधे संवाद करते हैं। बताया जा रहा है अगस्त तक सभी मामले निपटाने के लिए कलेक्टरोंं को कहा है जिसका रिपोर्ट वह खुद जन अधिकार कार्यक्रम में लेंगे। सीएम आफिस से कलेक्टरोंं को सख्ती से चेतावनी दी गई है कि वह अगले महीने पूरी तैयार से रहें। सभी मामलों की रिपोर्ट सीएम सीधे तौर पर कलेक्टरों से लेंगे। 
प्रदेश में लगातार बढ़ रही शिकायतों से सरकार विपक्ष के निशाने पर है। लचर गवर्नेंस को लेकर अब मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कलेक्टरों को साफ संकेत दिए हैं कि जिन जिलों में ज्यादा शिकायतें लंबित हैं इसका मतलब है वहां शासन में सुधार की अधिक जरूरत है। सूत्रों के मुताबिक सीएम हेल्पलाइन में भी लंबित समस्याओं के लिए अब सीधे कलेक्टर को ही जिम्मेदार ठहराया जाएगा। सीएम के पीएस ने लिखा पत्र - सीएम सचिवालय के प्रमुख सचिव अशोक बर्णवाल ने सभी कलेक्टरों को पत्र भेजकर लंबित शिकायतों के त्वरित निपटारे का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि इन शिकायतों की समीक्षा मुख्यमंत्री कमलनाथ अगले महीने करेंगे, इसलिए बेहतर है कि जिन विभागों की शिकायतें हैं, उनसे निराकरण करवाएं।


6 राज्य मंत्री स्वतंत्र,11राज्य मंत्रियों ने ली शपथ

योगी मंत्रिमंडल में छह कैबिनेट मंत्री छह राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और 11 राज्य मंत्रियों ने शपथ ले ली है।


लखनऊ, । उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार आज यानी बुधवार को लखनऊ के राजभवन में पूरा हो गया है। योगी मंत्रिमंडल में छह कैबिनेट मंत्री, छह राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और 11 राज्य मंत्रियों ने शपथ ले ली है। चार मंत्रियों को प्रमोशन देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। इस कैबिनेट में 18 न‌ए चेहरे शमिल किये गए हैं। चार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) को प्रमोट कर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। एक राज्यमंत्री को प्रमोट कर राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया है।


योगी सरकार के नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण के बाद राज्यपाल आनंदीबेन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी नव नियुक्त मंत्रियों को पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया। शपथ ग्रहण समारोह के बाद सभी नवनियुक्त मंत्रियों ने राज्यपाल और मुख्यमंत्री का पैर छूकर आशिर्वाद लिया। इस दौरान जय श्री राम के नारे भी लगे। बताया जा रहा है कि शपथग्रहण समारोह के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नए मंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। यह बैठक शाम साढ़े चार बजे तक होगी। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत भी करेंगे।


कैबिनेट मंत्री : राजभवन में अब तक डॉ. महेंद्र सिंह, सुरश राणा, भूपेंद्र सिंह चौधरी, अनिल राजभर, रान नरेश अग्निहोत्री, कमल रानी वरुण कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ले चुके हैं। 


 


राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) : नील कंठ तिवारी, कपिल देव अग्रवाल, सतीश द्विवेदी, अशोक कटारिया, श्रीराम चौहान और रवींद्र जायसवाल ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली है। 


राज्य मंत्री : अनिल शर्मा, महेश गुप्ता, आनंद स्वरूप शुक्ल, विजय कश्यप, डॉ. गिरिराज सिंह धर्मेश, लाखन सिंह राजपूत, नीलिमा कटियार, चौधरी उदयभान सिंह, चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, रमाशंकर सिंह पटेल और अजीत सिंह पाल ने शपथ ले ली है।


कमलरानी वरुण : एक बार पार्षद, दो बार सांसद


वर्तमान में घाटमपुर से विधायक कमलरानी वरुण भाजपा की उन्हीं कार्यकर्ताओं में से हैं, जिन्होंने राजनीति में जमीन से सफलता के आसमान तक का सफर तय किया है। वह 1989 में सीसामऊ विधानसभा क्षेत्र के वार्ड से पार्षद चुनी गई थीं। इसके बाद 1996 और फिर 1998 में घाटमपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद बनीं। यह लोकसभा खत्म हो गई और अब घाटमपुर अकबरपुर लोकसभा क्षेत्र में है।


योगी मंत्रीमंडल में फिर से वाराणसी ने बाजी मारी 


पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय सीट वाराणसी से लंबे समय से सक्रिय रहे भाजपा विधायकों को मंतिमंडल विस्‍तार में नई जिम्‍मेदारियां दी गई हैं। अब वाराणसी से योगी मंत्रीमंडल में मंत्रियों की संख्या तीन हो गई है। इसमें शहर उत्तरी से दो बार विधायक रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता रवींद्र जायसवाल को राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई है तो यहीं से राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रहे अनिल राजभर का प्रमोशन कर कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है। अनिल राजभर शिवपुर क्षेत्र से विधायक हैं और अभी तक सैनिक कल्याण, खाद्य, होमगार्ड, नागरिक सुरक्षा, प्रांतीय रक्षक दल के मंत्री थे। भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर द्वारा मंत्रीमंडल से इस्तीफा देने के बाद से उनका विभाग विकलांग और पिछड़ा वर्ग को भी देख रहे थे। वहीं दूसरी ओर डा. नीलकंठ तिवारी को राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ दिलाई गई है। शहर दक्षिणी से विधायक डॉ. तिवारी अभी तक विधि न्याय, युवा कल्याण, खेल एवं सूचना राज्य मंत्री थे।


शपथ से पहले पांच मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर


वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल, सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल और भूतत्व एवं खनिकर्म राज्य मंत्री अर्चना पांडेय ने मंगलवार को अपना इस्तीफा सौंपा। धर्मपाल, अनुपमा और अर्चना को भाजपा मुख्यालय में प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने तलब किया था। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने तो दो दिन पहले ही एक व्यक्ति-एक पद के सिद्धांत के चलते परिवहन मंत्री पद से अपना त्यागपत्र भेज दिया था। मंगलवार देर रात पांचों मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर कर लिए गए। सांसद चुने जाने के बाद सत्यदेव पचौरी, प्रो. एसपी बघेल और प्रो. रीता बहुगुणा जोशी के इस्तीफे और सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने से चार कैबिनेट मंत्री के पद पहले से ही रिक्त हैं।


माध्यमिक विद्यालयों में पीटी हुई अनिवार्य

विद्यार्थियों को अनिवार्य रूप से करवाई जाएगी पीटी


 लखनऊ। माध्यमिक स्कूल अनिवार्य रूप से विद्यार्थियों को शारीरिक गतिविधियां (पीटी) करवाएंगे। प्रार्थना सभा और अंतिम पीरियड में पीटी होगी। माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय कुमार पांडेय की ओर से सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों (डीआइओएस) को निर्देश दिए गए हैं कि वह स्कूलों का निरीक्षण कर इसे सुनिश्चित करवाएं। जिन सरकारी माध्यमिक स्कूल और अशासकीय सहायता प्राप्त स्कूलों में पीटी न करवाई जा रही हो वहां कार्रवाई करें।
सभी डीआइओएस माध्यमिक स्कूलों में कक्षाएं नियमित रूप से चलें यह भी सुनिश्चित करवाएं। इसके लिए डीआइओएस अपने स्तर पर टीमों का गठन करें और रिपोर्ट तैयार कर संयुक्त शिक्षा निदेशक को दें। हर मंडल के संयुक्त शिक्षा निदेशक स्कूलों में कक्षाएं चलने की स्थिति की रिपोर्ट तैयार कर माध्यमिक शिक्षा निदेशालय भेजेंगे। दरअसल, बीते दिनों माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट पर कक्षा नौ से लेकर कक्षा 12 तक के पाठ्यक्रम को महीने के अनुसार विभाजित कर अपलोड किया है। ऐसे में कक्षाएं नियमित रूप से चलें इसकी व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं।


खनन घोटाला:5 आईएएस अधिकारियों से पूछताछ

खनन घोटाले में पांच आइएएस अफसरों से पूछताछ की तैयारी


लखनऊ। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) खनन घोटाले के मामले में जल्द आरोपित पांच आइएएस अधिकारियों पर शिकंजा कसने की तैयारी में है। पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के बेटों को भी फिर नोटिस देकर तलब किया जाएगा। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली स्थित ईडी मुख्यालय ने आरोपित आइएएस अधिकारियों को नोटिस देकर तलब करने की अनुमति दे दी है।
हमीरपुर में हुए खनन घोटाले के बाद ईडी के लखनऊ स्थित जोनल कार्यालय की टीम अब शामली, फतेहपुर, कौशाम्बी व देवरिया में हुए खनन घोटाले के केसों की जांच को तेजी से आगे बढ़ा रही है। ईडी ने सीबीआइ की एफआइआर के आधार पर इन मामलों में सपा सरकार के पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति, आइएएस अधिकारी अभय सिंह, संतोष कुमार राय, विवेक, देवी शरण उपाध्याय व जीवेश नंदन समेत अन्य के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लांडिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत अलग-अलग चार केस दर्ज किए हैं। बीते दिनों ईडी ने शासन से आरोपित आइएएस अधिकारियों की संपत्तियों का ब्योरा भी मांगा था। ईडी ने कई आरोपितों की संपत्तियों का ब्योरा जुटाया भी है। कई स्तर पर अपनी तैयारी पूरी करने के बाद ईडी आइएएस अधिकारियों से सीधे पूछताछ के लिए उन्हें जल्द नोटिस भेजेगी। माना जा रहा है कि इसी माह के अंतिम सप्ताह में आइएएस अधिकारियों से पूछताछ होगी। खनन घोटाले में पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ नामजद केस दर्ज होने के बाद ईडी ने उनके खिलाफ अपनी जांच का भी दायरा बढ़ाया है। गायत्री के बेटे अनिल व अनुराग प्रजापति को भी ईडी ने बीते दिनों नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन दोनों ने 15 दिन का समय मांगा था। दरअसल, खनन घोटाले की काली कमाई पूर्व मंत्री गायत्री के करीबियों की बोगस कंपनियों में ट्रांसफर किए जाने की बात सामने आई थी।


एलएलबी छात्रों को मिल सकता है सीधे प्रवेश

एलएलबी छात्रों को मिल सकता सीधे प्रवेश का मौका


 कानपुर। छत्रपति शाहू जी महाराज विवि से संबद्ध विधि महाविद्यालयों में खाली पड़ी सैकड़ों सीटों को भरने के लिए छात्रों को सीधे प्रवेश का मौका मिल सकता है।
बुधवार को इस मामले पर कुलपति प्रो.नीलिमा गुप्ता अंतिम फैसला करेंगी। हालांकि विवि के प्रशासनिक अफसर दूसरी काउंसिलिंग कराने की योजना भी बना रहे हैं, लेकिन इस स्थिति में सबसे ज्यादा परेशानी का सामना कॉलेज प्राचार्यो को करना पड़ रहा है। दरअसल 16 अगस्त के बाद पहली काउंसिलिंग के आधार पर सभी प्रवेश तो हो गए। बावजूद इसके कॉलेजों में अच्छी संख्या में सीटें खाली रह गईं। वहीं कॉलेज प्राचार्यो के सामने तमाम ऐसे प्रवेश फॉर्म रखे हैं, जिनमें माननीयों तक की सिफारिशें हैं। प्राचार्यो ने जब विवि के प्रशासनिक अफसरों से प्रवेश को लेकर बात की तो उन्हें स्थिति स्पष्ट नहीं की गई। इससे उनके सामने असमंजस की स्थिति है। पिछले सत्र में भी खाली रह गईं थीं हजारों सीटें: एलएलबी के पिछले सत्र को देखें तो हजारों की संख्या में सीटें खाली रह गईं थीं।


नई 505 शिकायतें आई,पुराने मामले अधर में

पुराने मामले अधर में लटके 505 नई शिकायतें आईं


 औरैया-बिधूना,अजीतमल। जनपद स्तरीय संपूर्ण समाधान दिवस बिधूना तहसील में आयोजित हुआ। जिलाधिकारी अभिषेक मीणा, एसपी सुनीति समेत अन्य जनपद स्तरीय अधिकारियों ने फरियादियों की शिकायतें सुन निस्तारण के आदेश दिए। इस दौरान आई कुल 198 शिकायतों में से सात का ही मौके पर निस्तारण किया जा सका। डीएम ने सभी शिकायतों का एक सप्ताह में निस्तारण करने के निर्देश दिए। वहीं अजीतमल में एसडीएम की ओर से बुलाई बैठक में खुलासा हुआ कि अभी तक पिछली बार आई शिकायतों का ही निस्तारण नहीं हुआ है।
इस दौरान सबसे अधिक शिकायतें राजस्व विभाग उसके बाद पुलिस एवं विकास, आपूर्ति समेत अन्य विभागों की रहीं। बेला थाना क्षेत्र के ग्राम दिवरी निवासी विजय कुमार पुत्र रामचंद्र ने छोटे व रफी पुत्र नजर मोहम्मद आदि पर चकरोड को खेतों में मिलाने का आरोप लगाया। बीसरमऊ निवासी जितेंद्र कुमार पुत्र विश्रम सिंह ने राशन विक्रेता पर छह माह से राशन न देने का आरोप लगाया। एसपी सुनीति ने पुलिस विभाग से संबंधित शिकायतें सुन उनके निस्तारण के निर्देश दिए। इस दौरान मुख्य रूप से डीएफओ सुंदरेशा, सीएमओ डॉ. एके राय, डीएसओ अशोक कुमार, बीएसए एसपी सिंह, सीओ लालता प्रसाद शुक्ला, तहसीलदार गौतम सिंह ने भी शिकायतों को सुना। तहसील बार एसोसिएशन के एक प्रतिनिधि मंडल ने डीएम से तहसील अधिकारियों के मनमाने रवैये की शिकायत की। डीएम ने बार और बैंच के बीच बेहतर संबंध बनाने को कहा। सदर तहसील में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अनुपम शुक्ला ने सीओ सिटी के साथ शिकायतों को सुना। यहां पर कुल 205 प्राप्त हुई शिकायतों में से 11 का त्वरित निस्तारण किया गया। यहां सबसे अधिक राजस्व विभाग कि 66, पुलिस कि 40, विकास विभाग कि 48 व 51 अन्य शिकायतें आईं। शेष शिकायतें संबंधित विभागों के अधिकारियों को शीघ्र निस्तारण करने के लिए दी गईं। इसी प्रकार अजीतमल तहसील में आई कुल 102 शिकायतों में से 13 का मौके पर निस्तारण किया गया। यहां पर एसडीएम राशिद अली खान ने एएसपी कमलेश दीक्षित व तहसीलदार संध्या शर्मा के साथ फरियादियों की समस्या को सुना। अन्य प्रार्थना पत्रों को संबंधित विभागों को देकर निर्धारित समय में निस्तारण कर आख्या प्रस्तुत करने के लिए एसडीएम को आदेश दिए। इस दौरान कोतवाली निरीक्षक हेमंत कुमार, एबीएसए सुधीर गुप्ता, ईओ नगर पंचायत बाबरपुर अजीतमल विजय कुमार सिंह, ईओ अटसू कृष्ण प्रताप सरल, दिव्यमूर्ति मिश्र मौजूद रहे।


मनरेगा में भ्रष्टाचार,मजदूरों में रोस बढा

जांच में पकड़ा नौ लाख का घोटाला


 ऊसराहार। ताखा ब्लाक क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवासों की मजदूरी में घोटाले को लेकर मनरेगा उपायुक्त की जांच में नौ लाख रुपये का घोटाला पकड़ लिया गया है। मुख्य विकास अधिकारी राजा गणपति आर. ने रिकवरी और दोषियों पर मुकदमा दर्ज कराने के आदेश कर दिए हैं। इसके बावजूद अभी तक इस मामले में मुकदमा दर्ज नहीं किया जा सका है। बीडीओ ताखा अभी तक दोषी कर्मी चिह्न्ति नहीं कर सके हैं। इससे मजदूरी से वंचित मजदूरों में रोष बढ़ रहा है।
ताखा विकास खंड क्षेत्र में आवासों की मनरेगा मजदूरी में हुए घोटाले में नौ लाख रुपये गोलमाल होने की रिपोर्ट सार्वजनिक होने के बाद मुख्य विकास अधिकारी द्वारा दोषियों से वसूली के साथ ही मुकदमा दर्ज कराने के आदेश खंड विकास अधिकारी ताखा पीएन यादव को दिया गया है। जांच समिति द्वारा की गई जांच के आधार पर इन वर्षों में खंड विकास कार्यालय ताखा में कार्यरत रहे कर्मचारियों का ब्योरा खंड विकास अधिकारी पीए यादव द्वारा निकलवाने की बात कही जा रही है चूंकि इस कार्यवाही की जद में कई कर्मचारियों के साथ रोजगार सहायकों को घोटाले के लिए दोषी माना गया है ऐसे में वह सभी कर्मचारी जो संबंधित मामलों के समय रहे होंगे दोषी माने गए हैं। इस संबंध में बीडीओ पीएन यादव का कहना है कि जांच रिपोर्ट में कौन कर्मचारी दोषी है इसका उल्लेख नहीं है। इसके साथ इतने बड़े मामले में विकास खंड कार्यालय में तैनात रहे तत्कालीन अधिकारियों की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं। ऐसे में संबंधित कर्मियों को नोटिस जारी करके तीन दिन में स्पष्टीकरण मांगेंगे। उसके बाद अग्रिम कार्रवाई होगी।


फर्जी जॉब कार्ड बनाकर हड़पी मजदूरी: ऊसराहार : ताखा ब्लाक क्षेत्र में बीते सात सालों में विकास कार्य कम, घोटाला ज्यादा हुए हैं। आवास मजदूरी घोटाला में यह तथ्य महज चार ग्राम पंचायतों की जांच होने पर दस लाख रुपये की धनराशि फर्जी जॉब कार्ड बनाकर हड़पे जाने की रिपोर्ट से स्पष्ट हो गई है। जांच समिति आरोपी कर्मियों को चिह्नित नहीं कर पा रहा है। अधिकांश शिकायतकर्ता जांच में लीपापोती का आरोप लगाकर डीएम से जिला स्तरीय पैनल द्वारा जांच कराने की मांग कर रहे हैं।


विकास खंड ताखा की 42 ग्राम पंचायतों में से आधी ग्राम पंचायतों में आवास लाभार्थियों की बड़ी संख्या में शिकायतें सामने आई थी कि उन्हें मनरेगा मजदूरी की धनराशि नहीं मिली है इसके बाद इन सभी मामलों की जांच मनरेगा उपायुक्त शौकत अली के नेतृत्व में जांच समिति कर रही है चार ग्राम पंचायत की ही जांच में दस लाख रुपये के करीब का घोटाला स्पष्ट हो गया है, यदि सभी ग्राम पंचायतों की जांच की गयी तो करोड़ों रुपये का घोटाला प्रकट होगा। जांच समिति को सैकड़ों की संख्या में फर्जी जॉबकार्ड मिले हैं जिनमें मनरेगा मजदूरी का रुपये डालकर घोटाला किया गया है। नियमानुसार एक परिवार के नाम एक जॉब कार्ड पर ही उस परिवार के सदस्यों के नाम अंकित किए जाते हैं लेकिन यहां पर सभी को अलग अलग जॉब कार्ड बनाकर धनराशि ट्रांसफर की गयी है । जांच समिति अध्यक्ष मनरेगा उपायुक्त शौकत अली ने बताया कि धनराशि के गबन के लिए षड्यंत्र पूर्ण तरीके से जॉब कार्ड बनाए गए थे, एक परिवार में कई-कई जॉब कार्ड निर्गत किए गए थे।


सनसनी:युवक-युवती के सिर कटे शव मिले

अमृतसर। थाना कंटोनमेंट अंतर्गत कोट खालसा इलाके में मंगलवार देररात जीटी रोड पर युवती और युवक के सिर कटे शव मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस का कहना है कि प्रारंभिक जांच में ऑनर किलिंग की बात सामने आ रही है।पुलिस के मुताबिक दोनों की उम्र 28 से 30 साल के बीच है। इलाके के सीसीटीवी फुटेज लिए गए हैं। फिलहाल दोनों की पहचान नहीं हो पाई है। मौके पर करीब 15 फीट दूरी पर एक स्कूटी मिली है। मजीठा रोड थाना प्रभारी सुखजिंदर सिंह ने बताया कि दोनों की प्रेम संबंधों के कारण हत्या की गई है। आशंका है कि दोनों को आसपास के जिले से यहां लाकर मारा गया और शव जीटी रोड पर फेंक दिए गए। दोनों के धड़ और सिर कुछ दूरी पर मिले हैं। युवक की जेब से एक फोटो मिली है। यह फोटो किसका है, यह पता लगाया जा रहा है। पुलिस कमिश्नर सुधांशु शेखर श्रीवास्तव ने बताया कि देर रात कुछ लोगों को पूछताछ के लिए राउंडअप किया गया है।


20 दिसंबर को फिर आ रहे हैं चुलबुल पांडे

मुंबई। सलमान खान ने सोशल मीडिया पर फिल्म 'दंबग 3' के रिलीज डेट की जानकारी दी है। उन्होंने ट्विटर पर प्रभु देवा के साथ एक फोटो शेयर किया है, जिसमें सलमान चुलबुल पांडे के लुक में नजर आ रहे हैं। सलमान ने ट्वीट कर कहा, “20 दिसंबर को चुलबुल पांडे आपके सामने आएंगे। फिल्म 'दंबग 3' हिंदी, कन्नड़, तमिल और तेलुगु में रिलीज होगी।”फिल्म 'दबंग 3' को प्रभुदेवा डायरेक्ट कर रहे हैं। 'फिल्म 'दबंग 3 दबंग सीरीज की तीसरी फिल्म हैं। इस फिल्म में चुलबुल पांडे के अतीत की कहानी बताएगी जाएगी। फिल्म 'दबंग 3' में साउथ सुपरस्टार किच्चा सुदीप विलेन की भूमिका में होंगे, वहीं सोनाक्षी सिन्हा सलमान खान की पत्नी रज्जो का रोल अदा करेंगी। 'दबंग 3' को अरबाज खान और सलमान खान प्रोड्यूस कर रहे हैं, जबकि प्रभुदेवा फिल्म का निदेर्शन करेंगे। इन दिनों 'दबंग 3' के अंतिम शेड्यूल की शूटिंग हो रही है।


जेम्स बांड की अगली फिल्म 'नो टाइम टू डाई'

मुंबई । लंबे समय बाद जेम्स बॉन्ड की अगली फिल्म का नाम आखिरकार सामने आ गया है। निर्माताओं ने ट्विटर पर फिल्म का पोस्टर जारी है। उन्होंने अधिकारिक तौर पर फिल्म के नाम का खुलासा भी किया है। जेम्स बॉन्ड की 25वीं फिल्म का शीर्षक 'नो टाइम टू डाई' होगा। बॉलीवुड फिल्म एवं ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्विटर पर पोस्टर शेयर कर ट्वीट किया 'जेम्स बॉन्ड 007 की अगली फिल्म का शीर्षक 'नो टाइम टू डाई' है। फिल्म भारत में अगले साल 3 अप्रैल को रिलीज होगी, वहीं यूएसए में 8 अप्रैल 2020 को रिलीज होगी। इस फिल्म में डेनियल क्रेग फिर जेम्स बॉन्ड के रूप में लौटे हैं।


मुठभेड़ में दरोगा-सिपाही शहीद,एक गंभीर

मढौरा। बिहार में मढ़ौरा बाजार स्थित एलआईसी कार्यालय के सामने मंगलवार की रात करीब 7:00 बजे स्कॉर्पियो सवार अपराधियों ने एसआईटी के पुलिसकर्मियों पर भीषण गोलीबारी कर दारोगा मिथिलेश कुमार साह और सिपाही फारूक अंसारी की हत्या कर दी। सिपाही रजनीश कुमार गंभीर रूप से घायल हो गया।
डीआईजी विजय कुमार वर्मा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि मढ़ौरा के अवारी गांव में कुछ अपराधी पहुंचे हुए हैं और किसी बड़े आपराधिक घटना को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं। इस सूचना पर एसआईटी को मढ़ौरा भेजा गया। बोलेरो पर एसआईटी की टीम सवार थी। छापेमारी कर पुलिस की टीम जैसे ही एलआईसी कार्यालय के सामने पहुंची, तभी दो स्कॉर्पियो सवार अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। करीब 15 मिनट तक अपराधी फायरिंग करते रहे। पुलिसवालों को पोजीशन लेने तक का भी मौका नहीं मिला।इस घटना को नट गिरोह के द्वारा अंजाम दिए जाने की आशंका है। हालांकि पुलिस ने अभी इसका खुलासा नहीं किया है। सूत्रों के अनुसार मिथिलेश कुमार साह नट गिरोह के निशाने पर थे। उन्होंने हाल के वर्षों में नट गिरोह के कई कुख्यात को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।


दारोगा ने जैसे ही अपनी पिस्टल निकाली, अपराधियों ने कर दी गोलियों की बौछार। घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि शाम में अंधेरा होने को था। एसआईटी के एसआई मिथलेश कुमार के नेतृत्व में टीम छपरा की तरफ लौट रही थी। टीम पुराने एसबीआई चौक के करीब पहुंची थी। सड़क पर पानी होने से बोलेरो की रफ्तार कम थी। तभी अपराधियों ने एसआईटी की बोलेरो को घेर लिया। इससे दारोगा मिथिलेश का अपराधियों के साथ कहा-सुनी हुई।


इस दौरान दारोगा ने अपनी पिस्टल निकालने का प्रयास किया तभी अपराधियों ने फायर झोंक दी। बोलेरो के ड्राइवर ने मोबाइल निकाल कर कही सूचना देने का प्रयास किया तो अपराधियों ने उसे भी गोली मार दी। संयोग से ड्राइवर को गोली जांघ में लगी और वह वही सीट पर लुढ़क गया।गोलीबारी में बीच की सीट पर बैठे एक सिपाही को भी गोली लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। थोड़ी देर बाद जख्मी हवलदार हिम्मत कर गाड़ी से बाहर आया और मदद की गुहार लगाने लगा। लेकिन दहशत में लोग पास भी आने से हिचक रहे थे। घटना के समय एक अन्य दारोगा और एक सिपाही भी बोलेरो में मौजूद थे जो किसी तरह से भाग कर अपनी जान बचाई।


जेटली के दिल और फेफड़े चिंताजनक

नई दिल्ली। भाजपा के सीनियर लीडर और पूर्व वित्‍त मंत्री अरुण जेटली की हालत बेहद नाजुक है। सूत्रों के मुताबिक 9 अगस्‍त से दिल्‍ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स) में भर्ती अरुण जेटली को एक्‍स्‍ट्राकारपोरल मेंब्रेन ऑक्‍सीजनेशन और इंट्रा ऐरोटिक बैलून सपोर्ट पर रखा गया है। सूत्र यह भी बताया हैं कि जेटली के दिल और फेफड़े ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। जेटली का हाल जानने सभी बड़े नेता एम्‍स अस्पताल पहुंच रहे हैं।


भाजपा के कई नेता उनका हालचाल जानने के लिए एम्स पहुंचे। उनका हाल जानने एम्स पहुंचने वालों में केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, हिमाचल प्रदेश के गवर्नर कलराज मिश्र, आरएसएस के संयुक्त सचिव कृष्ण गोपाल, पूर्व समाजवादी नेता अमर सिंह का नाम शामिल है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को एम्स पहुंचकर उनका हाल जाना था। बिहार के सीएम नीतीश कुमार शनिवार को दिल्ली पहुंचे और एयरपोर्ट से सीधे अस्पताल पहुंचे। अन्य नेताओं में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, जम्मू कश्मीर के गवर्नर सत्यपाल मलिक, कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एम्स पहुंचकर अरुण जेटली का हाल जाना था। पीएम नरेंद्र मोदी, लोकसभा स्पीकर ओम बिरला और भाजपा के अन्य प्रमुख नेता उनका हाल जानने पहले ही एम्स जा चुके हैं।


राहत कार्य में लगा हेलीकॉप्टर क्रैश,17 की मौत

उत्तरकाशी। बुधवार को उत्तराखंड में एक हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया। बताया जा रहा है कि उत्तरकाशी में बादल फटने के कारण यह हादसा हुआ है। राहत और बचाव कार्य के लिए हेलिकॉप्टर को लगाया गया था। बुधवार को हेलिकॉप्टर से राहत सामग्री ले जाया जा रहा था, तभी वह क्रैश हो गया। हेलिकॉप्टर में तीन लोग सवार थे। सभी की मौत हो गई है। उत्तराखंड के उत्तरकाशी में मोलडी गांव के पास एक हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया है। जानकारी के मुताबिक,  हेलीकॉप्टर राहत सामग्री पहुंचाने टिकोची गांव के लिए जा रहा था। इस हेलीकॉप्टर में तीन लोग सवार थे। हादसे में तीनों के मारे जाने की खबर है।


आपको बता दें कि रविवार को उत्तरकाशी में बादल फटने के बाद तबाही मच गई थी। यहां बाढ़ और भूस्खलन के कारण उत्तराखंड में भारी नुकसान हुआ है। यहां के आठ जिलों में त्राहि त्राहि मची है। कई जगह बादल फटने के बाद कोहराम मचा हुआ है तो कई जगह भूस्खलन से पहाड़ टूट कर सड़कों पर गिर रहे हैं। उत्तरकाशी के मोरी क्षेत्र में रविवार को बादल फट गया था। इस हादसे में 17 लोगों की मौत हो गई। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। आपदा प्रबंधन के सचिव एस ए मुरुगेसन ने बताया कि उत्तरकाशी के मोरी तहसील में बादल फटने से 17 लोगों की मौत हो गई। राहत और बचाव कार्य चल रहा है। इससे पहले सोमवार को वित्त सचिव अमित नेगी, महानिरीक्षक (आईजी) संजय गुंज्याल और उत्तरकाशी के जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) आशीष चौहान ने अरकोट में हालात का जायजा लिया।


भीषण सड़क हादसे में 39 घायल,पांच गंभीर

विनीत जायसवाल


कोरिया। जिले के केल्हारी थाना क्षेत्र में एक सड़क हादसे में 39 लोग घायल हो गए इनमें से पांच गंभीर रूप से घायल लोगों को मनेंद्रगढ़ ,बैकुंठपुर के लिए रेफर किया गया है शेष सभी घायलों का केल्हारी के उप स्वास्थ्य केंद्र में उपचार किया जा रहा है। घटना की जानकारी मिलते ही सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष गुलाब कमरों में स्वास्थ्य महकमे को घायलों के बेहतर उपचार के निर्देश दिए हैं। बुधवार की सुबह लगभग 10 बजे मध्य प्रदेश के छतई गांव से लगभग 35 मजदूर रोपा लगाने के लिए पिकअप से केल्हारी पसौरी की ओर आ रहे थे ।इस दौरान विपरीत दिशा से स्कार्पियो वाहन आ रहा था। इन दोनों वाहनों की सीधी टक्कर हो जाने से पिकअप पलट गया व दोनों वाहनों में सवार लोग घायल हो गए। घायलों की चीख-पुकार सुनकर आसपास मौजूद लोगों ने तत्काल घायलों को वाहन से निकालकर निजी साधनों से केल्हारी उप स्वास्थ्य केंद्र भेजा। यहां सभी घायलों का उपचार शुरू कर दिया गया। सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल 5 लोगों को बेहतर उपचार के लिए मनेन्द्रगढ़ व बैंकुठपुर  रवाना किया गया है। जानकारी के मुताबिक स्कार्पियों में जनकपुर क्षेत्र के कुछ प्राचार्य बैठे हुए थे जो बैठक के लिए बैंकुठपुर जा रहे थे। फिलहाल सभी घायलों का उपचार जारी है।


कडक:प्रतिनिधियों के सामने एक नई चुनौती

गाजियाबाद-लोनी। डीएलएफ,अंकुर विहार को स्थानीय विधायक नन्दकिशोर गुर्जर ने गोंद लिया है! जिसमें रामलीला पार्क डी ब्लाक में स्थित है! उसकी स्थिति एक वर्ष से तालाब से भी ज्यादा खराब बनी हुई है! तालाब में तो आदमी खडा भी हो सकता है। लेकिन इसमें जाएगा तो पता ही नहीं चलेगा की कहाँ गया? क्योंकी, इस पार्क के सौन्दरीय करण के लिए एक वर्ष पहले स्थानीय विधायक के द्वारा जनता के बीच वादा किया गया था।'पूर्व चेयरमैन मनोज धामा ने इसका नामकरण किया था। चौ•चरण सिंह नाम देकर इसके सौंदर्यीकरण करने को भी कहा था। नामकरण के बाद से इस पार्क की स्थिति इतनी बदल गई हैं कि इसमें जो जाएगा वह वापस चलकर नहीं आएगा। इस लिए अब उपरोक्त पार्क में नि: स्वार्थ समाज सेवक आरपी पांडेय ने अपना जन्मदिन मनाने का  निर्णय लिया है! लेकिन देखने वाली बात अब यह है कि किस तरह से व कैसे जन्मदिन मनाया जाएगा? क्या लोग कीचड में खडे होगें या नाव की ब्यवस्था होगी या उससे पहले कुछ और ब्यवस्था की जा सकती है!
आप सभी को जानकारी दे दूं कि 1अक्टूबर 2018 का जन्मदिन भी एमएम रोड पर भूख हडताल समाप्त करवाकर नन्दकिशोर विधायक ने केक काट कर मनाया था।


चैंपियनशिप में गाजियाबाद को तीसरा स्थान

 गाजियाबाद। दो दिवसिय स्टेट कुने डो चैंपियनशिप का आयोजन जनपद झाँसी में किया गया। जिसमे पहला स्थान झाँसी का रहा द्वित्तीय स्थान बागपत का रहा और तीसरा स्थान ग़ाज़ियाबाद का रहा हैं।' इस प्रतियोगिता में  करीब 200 प्रतिभागियो ने भाग लिया। इस चैंपियनशिप का सुभारम्भ झांसी के सीनियर रेलवे इंस्टीट्यूट में दैनिक जागरण के निदेशक यशोवर्धन गुप्त व् पूर्व मंत्री प्रदीप जैन ने संयुक्त रूप से किया! यह प्रतियोगिता मास्टर दीपक वर्मा की देख रेख में संपन्न हुई। सभी खिलाड़ियों को राष्ट्रीय अध्याय के वरिष्ठ पदाधिकारी रहीस सलमानी द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में दिलीप पांडे, पुनीत श्रीवास्तव, राजा भैया,अतुल साहू, ललित कुश ,दिलीप कुमार,निर्मल वर्मा इंटरनेशनल गोल्ड मेडलिस्ट आफताब सैफ़ी एंड कुमारी रानी उपस्थित रहे। संचालक एवं सचिव दीपक वर्मा ने सभी का आभार व्यक्त किया! प्रतिभागियों,खिलाड़ियों को ऋषि मार्किट लोनी स्‍थित इंद्रबाल विधा मंदिर इंटर कॉलेज फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया।


सोनी -सोनी गोल्ड मैडल,
दिया अग्गरवाल-गोल्ड मैडल,
विशाल कुमार-गोल्ड मैडल,
मानव -गोल्ड मैडल.
सोयब सैफ़ी-सिल्वर मैडल,
यश अग्गरवाल -ब्रॉन्ज़ मैडल,
दीपांशु-गोल्ड मैडल मैडल,
अनुज शर्मा -गोल्ड मैडल,
रौनक शर्मा-गोल्ड मैडल,
हर्ष-गोल्ड मैडल
विशालगिरी-गोल्ड मैडल
सचिन राजपूत-सिल्वर मैडल
निशांत शर्मा-गोल्ड मैडल


यूपी:तेईस विधायकों को मंत्रिमंडल में स्थान

लखनऊ। आज यूपी मंत्रिमंडल के विस्तार के लिए शपथ लेने वाले 23 मंत्रियों में से केवल मुजफ्फरनगर के दोनों विधायक कपिल देव अग्रवाल व विजय कश्यप ने ही शपथ लेने के बाद कहा-भारत माता की जय। इसके अलावा इस अवसर पर शपथ लेने के बाद 21 अन्य मंत्रियों में से किसी ने भी भारत माता की जय नहीं कहा। कपिल देव के शपथ ग्रहण करते ही मुजफ्फरनगर के हृदयस्थल कहे जाने वाले शिवचौक पर पटाखे फोड़कर व पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर जश्न मनाया।


बता दें कि शपथ ग्रहण में आठवें नम्बर व स्वतंत्र प्रभार मंत्री के रूप में दूसरे नम्बर पर शपथ लेने वाले मुजफ्फरनगर के शहर विधायक कपिलदेव अग्रवाल शपथ ग्रहण करने के बाद बोले भारतमाता की जय। वे दूसरी बार मुजफ्फरनगर सीट से विधायक निर्वाचित हुए थे। इसके अलावा मुजफ्फरनगर के ही विजय कश्यप ने 16वें नम्बर पर शपथ लेने के बाद भारतमाता की जय का नारा लगाया। शपथ ग्रहण समारोह में यह भी संयोग ही रहा कि आठवें नम्बर पर कपिल देव अग्रवाल के शपथ लेने के बाद उनके आठवे नम्बर पर ही विजय कश्यप ने मंत्री पद की शपथ ली।


ऊफ:भ्रष्टाचार के गटर में गिर रहे अधिकारी

वायरल हो रहा है जिसे कई ग्रुपों पर देखा गया।
झांसी। बताया जा रहा है,कि झांसी की जिलाअधिकारी महोदया साफ सफाई का निरीक्षण करने एव ठेकेदार द्वारा कराये गये काम को देखने पहुँच गई। लेकिन भ्रष्टाचार के सामने कोई सरकार रहे, कमीशन खोरी मे हर सरकारी ओफिस अब्बल का दर्जा प्राप्त है। अचानक डीएम महोदया को भी कमीशन खोरी के परिणाम का शिकार होना पडा। ठेकेदार द्वारा डाली गये गटर के ढक्कन पर जिला अधिकारी खडी होकर किये गये कार्य की चर्चा पर कर रही थी। अचानक गटर का डक्कन टूट गया। डीएम गटर के अन्दर जा गिरी। लेकिन मालिक का शुक्र रहा जान बच गई। लेकिन जगह जगह चोटे आ गई है। जो कमीशन खोरी से दूर रहते है।उन अधिकारियों से प्रार्थना करता हू कि जिस तरह यूपी सरकार इमानदारी और भ्रष्टाचार के खिलाफ सक्त कदम ऊठा रही है। उसी तरह ईमानदार अधिकारी काम करे तो भ्रष्टाचार,लूट-खसोट बन्द हो जायेगी।



स्वास्थ्य विभाग ने कैंप लगाकर किया परीक्षण

संवाददाता-अभय कुमार मिश्रा


सीतापुर। तहसील सिधौली क्षेत्र के‌ दो गांवों में बुखार फैलने की सूचना पर स्वास्थ्य विभाग ने टीम भेजकर जाँचकर कर 40 मरीजों को दवाइयां वितरित की तहसील क्षेत्र के मऊ व मुराऊखेरा गाँवो आशा द्वारा बुखार से पीडित लोगों की सूचना सिधौली अधीक्षक को दी गई। सूचना पर स्वास्थ्य विभाग ने डा. एस बी मिश्रा,डा. रूपाली, ज्योति,कल्पना,गौरव के नेतृत्व में चिकित्सकों की टीम भेजकर गांवो में कैम्प लगाया। जहां पर 40 लोगो की जांच की गई उसमे से 30 लोग बुखार के मरीज पाऐ गए और 8 का ब्लड स्लाईड बनाई गई और दवाईयां वितरित की गई। सीएचसी सिधौली प्रभारी डा. आर सी चौधरी ने बताया कि संक्रमण रोग फैलने की वजह से गाँवो मे कैम्प लगाऐ जा रहे है मऊ, मुराऊखेरा गाँवो मे डाक्टर की टीम भेजकर कैम्प लगाकर जाँचकराकर दवाई बितरण की गई है।


बजरंग दल का स्थापना दिवस मनाया

संवाददाता-अभय कुमार मिश्रा


सीतापुर। सिधौली स्थानीय क्षेत्र के अंतर्गत आज विश्वहिन्दू परिषद बजरंगदल का स्थापना दिवस कार्यक्रम पहला प्रखंड मे बेहमा चौकी के ब्रम्हदेव नामक स्थान पर मनाया गया जिसमे मुख्य वक्ता विहिप के प्रांत संगठन मंत्री भोलेन्द्र जी उपस्थित थे। उक्त कार्यक्रम मे सैकड़ो की संख्या मे एकत्रित हिन्दू समुदाय को संबोधित करते हुए भोलेन्द्र जी ने कहा शक्तिशाली हिन्दू समाज विश्वबन्धुत्व और विश्व शांति की महान औषधि है। जहां जहां हिन्दू समाज दुर्बल है वही अपमानित है। इस लिए संगठित होकर शक्तिशाली बनो यही आज की आवश्यकता है। उक्त अवसर पर विभाग मंत्री आदित्य त्रिपाठी जिलाध्यक्ष बच्चे प्रसाद बाजपेई, बजरंगदल संयोजक धर्मेन्द्र बजरंगी, शशि विन्दु यादव , जिला उपाध्यक्ष मनीष पाण्डेय, सुन्दर गुप्ता व प्रखंड स्तर के कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।


रोशनी से जगमगाएगी शहर की चार सड़के

रोशनी से जगमगाएगी शहर की चार सड़कें। 


मुरादाबाद। शहर में चार सड़कें जल्द रोशनी से जगमगाएगी। नगर निगम ने सभी सड़कों पर लगे स्ट्रीट लाइट पोल पर रंगीन लाइट लगाएगा। दिल्ली रोड को संवारने का काम शुरू हो गया है। स्ट्रीट लाइट पोल को सिल्वर रंग से रंगा जाने लगा है। इसके साथ ही प्रकाश नगर रोड को भी चमकाया जाएगा। दोनों सड़कों पर पौने दो सौ पोलों पर रंगीन लाइटें लगेंगी। इसके अलावा रामपुर और कांठ रोड को भी लिया गया है। निगम रोशनी की चमक बिखेरने पर छह लाख रुपये खर्च होंगे।प्रदेश के अन्य शहरों की तर्ज पर नगर निगम ने मुरादाबाद में भी स्ट्रीट लाइट पोल पर रोशनी के लगाने का प्रस्ताव पारित किया। स्वतंत्रता दिवस पर निगम ने दिल्ली रोड को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में अपनाया। इन खंबों पर तिरंगे की लाइटें लगाई गई। पर इसे खूबसूरत बनाने को अब खंबों को सिल्वर रंग से रंगा जा रहा है। दिल्ली रोड पर लोकोशेड से गागन तिराहे तक 153 और प्रकाश नगर के 26 खंबों को रोशन किया जाएगा। नगर आयुक्त का कहना है कि इसी तरह रामपुर और कांठ रोड पर स्ट्रीट लाइट पोल को भी चमकाया जाएगा।


गुरु तेग बहादुर अस्पताल की सिल्वर-जुबली

कानपुर। शहर की निजी स्वास्थ्य सेवाओं में लाजपत नगर स्थित गुरु तेग बहादुर हॉस्पिटल ने अपनी सेवाओं की सिल्वर जुबली जिस सेवा में मनाई है। यह मुकाम एक से नये-नये व पुराने-पुराने अत्याधुनिक व वातानुकूलित नर्सिंग होमो को भी हासिल नहीं है। जिनकी कभी न कभी स्वास्थ्य सेवाएं विवादित रही हैं। किन्तु यह हॉस्पिटल मरीजों की तत्पर सेवाओं का मामला हो या किफायती रेटों पर आम मरीजों का इलाज हो। यह अस्पताल प्रबंधक ने अस्पताल के शुरुआत होने से लेकर बखूबी पूर्वक आज तक निभाया है। इतना ही नही डॉक्टर सेवाओं में जो तत्परता कुछ वर्गीय मरीजों में दिखाई जाती है। वहीं तत्परता नि:शुल्क इलाज करा रहे गरीबों के साथ भी उपलब्ध रहती है। यही कारण है। कि अस्पताल स्टाफ को गरीबों की पल-पल दुआये मिलती हैं।


जिससे यह हॉस्पिटल शहर की नर्सिंग होम की सेवाओं के मुकाबले में नम्बर वन में है। ऐसा नहीं है कि गुरु तेग बहादुर हॉस्पिटल प्रबंधन ने उच्च क्वालिटी के नर्सिंगहोमों से अपने यहां सेवाएं व अत्याधुनिक बंदोबस्त काम किये हो। हॉस्पिटल में जनरल वार्ड ए०सी० क्यूबिकल, सेमी प्राइवेट वार्ड एवं डीलक्स प्राइवेट रूमों तक के बंदोबस्त हैं। इसके अलावा वेन्टिलेटर, सघन चिकित्सा कक्ष (आई० सी० यू०) व नवजात शिशु चिकित्सा कक्ष (एन०आई०सी०यू०) सुविधाएं भी उपलब्ध है। इस हॉस्पिटल कीरीड की हड्डी माने जाने वाले आर्थोपेडिक सर्जन डॉ श्री दीपक श्रीवास्तव बताते हैं। कि चिकित्सा सेवाओं के क्रम में अत्याधुनिक वातानुकूलित माड्यूलर ऑपरेशन थियेटर, दूरबीन विधि द्वारा पित्त थैली गुर्दे की पथरी, प्रोस्टेट व अन्य पेट के ऑपरेशन।


सी-आर्म मशीन द्वारा सूक्ष्म चीरे से हड्डी के सभी प्रकार के ऑपरेशन, डायलिसिस की सुविधा, ज्वाइन्ट रिप्लेसमेन्ट एवं आर्थोस्कोपिक सर्जरी, फेको विधि से मोतियाबिन्द का ऑपरेशन, दर्द रहित प्रसव एवं बच्चेदानी कॉर्पोरेशन, नवजात शिशु में पीलिया के इलाज के लिए फोटोथिरेपी यूनिट,बच्चों का टीका करण बेड साइड अल्ट्रासाउंड, ईसीएचओ, ई० सीजी एक्सरे। 24 घण्टे इमरजेन्सी से वाएं और साथ ही 5 किमी० दूर तक की मुक्त सेवा एम्बुलेन्स सुविधा भी उपलब्ध है। डॉ० श्रीवास्तव बताते हैं। कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान योजना के तहत गरीब पात्र मरीजों के मुफ्त इलाज, बीमा कम्पनियों के चिंहित मरीज के पास ये सब के प्रमाण पत्र नहीं है। वह गरीब है। अगर वह किसी तरह से अस्पताल ले आया गया तो उसकी स्वास्थ्य सेवाएं पैसे के अभाव में नहीं रोकी जाती हैं। बल्कि अस्पताल स्टाफ ऐसे मरीज का खास ख्याल रखते हैं। यह अस्पताल प्रबंधन की हर कर्मी को विशेष हिदायत है कि पैसे के अभाव में किसी का इलाज बंद ना हो।


विद्युत विभाग की लापरवाही ने ली एक जान

बिजली विभाग की लापरवाही से एक व्यक्ति की मौत


रिपोर्ट-सन्तोष कुमार पान्डेय


कौशाम्बी। जिले में बिजली विभाग की लापरवाही के चलते एक व्यक्ति की करेंट की चपेट में आ जाने के चलते मौत हो गई।यह हादसा मंगलवार को रात लगभग 11 से 12बजे का है ।जब सब स्टेशन शाहपुर पर तैनात किसी कर्मचारी द्वारा बुला कर कहने पर दस्सू पुत्र राम भरोसे उर्म 20 वर्ष निवासी गौरा तफारीक महेवाघाट की तरफ जाने वाली हाईवोल्टेज तार को बनाने के लिए बैरागीपुर के पास विद्युत पोल पर चढ़कर काम कर रहा था ,उसी दौरान आपसी खुन्नस में लाइन किसी ने चालू कर दी। जिससे दस्सू हाईवोल्टेज तार मे चिपक कर मौके पे ही मौत हो गई ।जिससे पूरे परिवार मे कोहराम मचा हुआ है।परिवार वालों द्वारा थाना महेवाघाट मे प्रार्थना पत्र दिया गया है ।


सूत्रों कि माने तो पाॅवर हाउस शाहपुर के कर्मचारियो द्वारा अक्सर ही जेई की जानकारी पर कही भी लाइट खराब होने पर दस्सू को बुला कर बन वाते थे। दस्सू हिनौता के एक टेंट हाउस मे काम करता था। जिससे अपने परिवार का भरण पोषण करता था।दस्सू की मौत से परिवार भुखमरी की कगार पर हो गया है।


वन विभाग कर रहा,जगंली लक्कड़ का खेल

रामपुर। भारतीय किसान यूनियन अन्नदाता के पदाधिकारी व कार्यकर्ता काशीराम आवास स्वार में एकत्रित हुए और गरीबों के राशन कार्ड बनवाने काशीराम आवास में पुलिस चौकी बनवाने पात्र लोगों की पेंशन बनवाने और गरीबों को आवाज दिलाने आदि मांगों को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। इससे पूर्व हुई पंचायत में बोलते हुए युवा प्रदेश अध्यक्ष उस्मान अली पाशा ने कहा जिला वन अधिकारी की मिलीभगत से क्षेत्र के पीपलीवन से रोजाना कई ट्रक खैर जैसी बेशकीमती लकड़ी वन माफिया काट रहे हैं। वन विभाग हाथ पर हाथ रखे पंगु बना यह सब कुछ देख रहा है। जबकि कोई किसान अगर वन विभाग के किसी कर्मचारी से लेकर अधिकारी तक किसी के भी पास कोई कार्य कराने जाए तो उसको महीनों महीनों से टहलाया जाता है। अगर किसी किसान का कोई पेड़ सूख जाए और वह उसके काटने की परमिशन लेना चाहे तो वन विभाग उसको परमिशन नहीं दे सकता। इतना ही नहीं जिला वन अधिकारी की लापरवाही की वजह से जनपद में वृक्षारोपण में भी बहुत बड़ा घोटाला किया गया है। उसके बाद सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता जुलूस की शक्ल में तहसील स्वार पहुंचे और कई मांगों के निस्तारण के संबंध में एसडीएम सवार को ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन करने वालों में जिला अध्यक्ष संजोर अली पाशा जिला महासचिव अदाब खान,नन्हे कादरी शबाब खान, मीना जेनब, रामप्यारी, रूबी, शबीना, मनीषा, शैजी अली, खालिद मियां, रामू, रामप्यारे, रामलाल, राजू, विनोद कुमार, चंद्र पाल आदि लोग मौजूद रहे।


यूपी कैबिनेट:आज मंत्री बन जाएंगे विधायक

लखनऊ । उत्तर प्रदेश की करीब ढाई वर्ष पुरानी योगी आदित्यनाथ सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार बुधवार सुबह 11 बजे होगा। इससे पहले यह विस्तार सोमवार को होना था लेकिन रविवार देर रात अपरिहार्य कारणों से इसे टाल दिया गया था। इस विस्तार में आधा दर्जन नए चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। कुछ मंत्रियों का कद बढ़ सकता है तो वहीं कुछ मंत्रियों के विभाग में फेरबदल किया जा सकता है।


मंत्रिमंडल में जगह पाने वालों में मुख्य रूप से एमएलसी अशोक कटारिया, एमएलसी विद्या सागर सोनकर, सिद्धार्थनगर इटवा के विधायक सतीश द्विवेदी, देवरिया के श्रीराम चौहान व बुंदेलखंड से झांसी के रवि शर्मा के नाम प्रमुख रूप से चर्चा में हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आरएलडी से भाजपा में आए सहेंद्र सिंह 'रमाला' व साहिबाबाद से सुनील शर्मा को जगह मिल सकती है। वहीं फर्रुखाबाद से सुशील कुमार शाक्य व सुनील दत्त द्विवेदी में से किसी एक को लिया जा सकता है।बुलंदशहर के शिकारपुर से विधायक अनिल शर्मा का नाम भी कतार में है । वहीं अलीगढ़ से एमएलसी ठाकुर जयवीर सिंह या बरौली विधायक ठाकुर दलवीर सिंह में से एक मंत्री बन सकता है। अलीगढ़ से चर्चा शहर विधायक संजीव राजा की भी है।


पांच हजार करोड़ की ठगी,बाप-बेटा गिरफ्तार

हिसार। तेलंगाना की साइबराबाद सिटी पुलिस ने हरियाणा समेत 10 राज्याें के 17 लाख लोगों से 5000 करोड़ रुपए ठगी के मामले में ई-बिज डॉट काॅम कंपनी के एमडी पवन मल्हान व डायरेक्टर बेटे हितिक मल्हान को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। सोमवार को कंपनी के विभिन्न बैंक खातों को फ्रीज कर दिया गया। जिनमें 389 करोड़ रुपए जमा हैं। जांच में सामने आया है कि हरियाणा, दिल्ली, यूपी, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, तमिलनाडु, गोवा, बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद के निवेशकों को ठगा गया है। कुकटपल्ली थाने के जांच अधिकारी गोपीनाथ ने बताया कि ई-बिज डॉटकॉम के विरुद्ध तेलंगाना व आंध्रप्रदेश के थानों में 8 केस दर्ज हैं।


 
2001 में नोएडा से शुरू हुई थी कंपनी


साइबराबाद सिटी पुलिस के अनुसार नोएडा में 2001 में ई-बिज डॉट कॉम कंपनी की शुरुआत हुई थी। न्यू दिल्ली के रजिस्ट्रार कार्यालय में कंपनी का रजिस्ट्रेशन है। कंपनी के विरुद्ध ईडी भी जांच कर रही है।
पैसे से पैसा बनाने के नाम पर ऐसे ठगते थे


मनी सर्कुलेशन स्कीम के तहत मल्टी लेवल मार्केटिंग MLM, नेटवर्क मार्केटिंग, रेफरल मार्केटिंग, चेन मार्केटिंग, डायरेक्ट सीलिंग शुरू करके युवाओं, विद्यार्थियों, बेरोजगारों, सेवानिवृत्त अधिकारी-कर्मचारी, गृहणियों को सेमिनार में लाकर बड़े-बड़े सपने दिखाते थे।


यूं चलता था चेन सिस्टम


16821 रुपए लेकर कंपनी का सदस्य बनाते थे। निवेशक को राइट व लेफ्ट साइड तीन तीन लोगों की चेन बनानी थी, इस पर 2700 रुपए मिलते थे। 50 सदस्य जुड़ने पर 25 हजार रुपए कमीशन मिलता था। ऐसे चेन बढ़ने पर लाखों की रुपए लालच देते थे।
सेमिनार में दिखाते थे बड़ा बनने के सपने


हरियाणा में भी ई-बिज डॉट कॉम कंपनी ने कारोबार किया है। काफी संख्या में युवा वर्ग कंपनी में करीब 16821 रुपए निवेश करके सदस्य बने हैं। सदस्य अलग-अलग जगह पर सेमिनार का आयोजन कर लोगों को लेकर आते थे। उन्हें कंपनी के शीर्ष पर पहुंच चुके लोगों से मिलवाते थे, ताकि बड़े सपने दिखाकर उन्हें सच करने के लिए कंपनी में पैसा निवेश करें।


अवैध नागरिकता

अवैध नागरिकता
 देश में कितने घुसपैठिए हैं? इस बात को तो रहने ही दीजिए। हमारे देश की किसी भी एजेंसी के पास यह डाटा नहीं है कि हमारे देश में वास्तविक भारतीय नागरिकों की संख्या कितनी है? देश के कई राज्यों में घुसपैठिए एक बहुत बड़ी समस्या है। पूर्वोत्तर के राज्यों में यह समस्या और भी अधिक विकराल हो गई है। जिसके लिए सरकार कई प्रकार के प्रयास कर रही है। लेकिन ज्यादातर प्रयास असफल साबित हो रहे हैं। जिसकी वजह से घुसपैठिए अवैध होते हुए भी देश में अपनी जड़ें जमा चुके हैं। हमारे पास जनगणना के आंकड़े हैं। जिनमें वैद्य नागरिकों एवं घुसपैठिए सबके नाम शामिल है। इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने आसम में वैध नागरिक को एवं घुसपैठियों की पहचान के लिए एनआरसी (नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन) को अद्यतन करने का आदेश दिया। हमारे देश में पहली जनगणना वर्ष 1991 में हुई थी। उसी के आधार पर सूची तैयार की गई थी। इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने 1951 की जनगणना को आधार मानते हुए आदेश दिया कि कोई व्यक्ति दावा करता है कि वह भारतीय नागरिक है। इसका मतलब है कि उसके पूर्वज भी भारतीय नागरिक रहे होंगे अर्थात 1951 की एनआरसी में सम्मिलित व्यक्ति के पिता या मां दादा-दादी, परदादा-परदादी का नाम मिलना चाहिए। यदि नाम मिलता है तो उसकी भारतीय नागरिकता प्रमाणिक मानी जाएगी। लेकिन यदि उसके माता-पिता या किसी परिजन का नाम 1991 की एनआरसी में नहीं मिलता तो सुप्रीम कोर्ट ने दूसरी व्यवस्था भी की है। यदि बांग्लादेश का स्वतंत्रता संग्राम 1971 में हुआ इसे मुक्तिसंग्राम भी कहते हैं। यह वर्ष 1971 से 25 मार्च 16 दिसंबर तक चलता रहा। युद्ध के माध्यम से बांग्लादेश ने पाकिस्तान से स्वाधीनता प्राप्त की ।16 दिसंबर 1971 को बांग्लादेश के निर्माण के लिए 25 मार्च 1971 से शुरू हो गया था। इसलिए 24 मार्च 1971 से पहले तक भारतीय नागरिक मानते हुए पंचायत चुनाव हुए हैं। चुनाव की मतदाता सूची में यदि उनके माता-पिता का नाम है तो उन्हें भी भारतीय नागरिक माना जाएगा । लेकिन उनके पूर्वजों के नाम मतदाता सूची में नहीं है तो उन्हें अपनी भारतीय नागरिकता प्रमाणित करने के लिए 24 मार्च  से पहले निम्नलिखित के रूप में सूचीबद्ध प्रारूपों में से कोई प्रमाण प्रस्तुत करने होंगे। जिसमें उनके माता पिता का मतदाता सूची में नाम, भूमि और नागरिकता प्रमाण पत्र, शरणार्थी पंजीकरण प्रमाण पत्र, पासपोर्ट ,एलआईसी, सरकार द्वारा लाइसेंस प्रमाण पत्र,बैंक के खाते प्रमाण पत्र, विद्यालय प्रमाण पत्र इस प्रकार के सर्कल ऑफिसर, ग्राम पंचायत सेक्रेटरी का सर्टिफिकेट, उन विवाहित महिलाओं के संबंध में जो विवाह के बाद किसी अन्य स्थान पर रहने लगी। उपरोक्त दस्तावेज 24 मार्च 1971 की आधी रात से पहले या बाद के किसी भी वर्ष का हो सकता है। राशन कार्ड जो 24 मार्च 1971 की रात से पहले जारी किए गए हो। समर्थन के रूप में ऐसे दस्तावेजों को जोड़ा जा सकता है। सूचीबद्ध 14 दस्तावेजों में से किसी एक के साथ प्रस्तुत किए गए हो। बाद में घुसपैठियों द्वारा घूस देकर ग्राम पंचायत सेक्रेटरी का सर्टिफिकेट बनवाने के कई मामले सामने आने के बाद गुवाहाटी हाईकोर्ट में विवाहित महिलाओं के संबंध में पंचायत द्वारा जारी प्रमाण पत्र को एनआरसी के लिए अयोग्य मानते हुए ,उसे अवैध घोषित कर दिया।


तेलांगना कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने माफी मांगीं

हैदराबाद। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर के खिलाफ अपनी कथित अपमानजनक टिप्पणी को लेकर तेलांगना प्रदेश कांग्रेस कमेटी...