मंगलवार, 21 नवंबर 2023

ओपीएस लागू किया, कानूनी दर्जा देने की कवायद

ओपीएस लागू किया, कानूनी दर्जा देने की कवायद
नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान चुनाव में ‘ओपीएस’, कांग्रेस का ‘बी’ प्लान है। यानी, चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर रहती है, तो उस स्थिति में कांग्रेस ने अपने लिए सरकारी बूस्टर ‘ओपीएस’ पर भरोसा जताया है। ओपीएस लागू करने के बाद अब चुनावी घोषणा पत्र में उसे कानूनी दर्जा देने की बात कही गई है।
कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान के विधानसभा चुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। मंगलवार को कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने चुनावी घोषणा पत्र जारी किया है।
घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष सीपी जोशी ने दूसरे मुद्दों के साथ-साथ सरकारी कर्मचारियों पर भी अपना फोकस किया है। उन्होंने पुरानी पेंशन योजना (ओपीएस) के लिए कानून बनाने की बात कही है।
राजनीतिक जानकारों का कहना है कि राजस्थान चुनाव में ‘ओपीएस’, कांग्रेस का ‘बी’ प्लान है। यानी, चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर रहती है, तो उस स्थिति में कांग्रेस ने अपने लिए सरकारी बूस्टर ‘ओपीएस’ पर भरोसा जताया है। राजस्थान में ओपीएस लागू हो चुका है।
अब चुनावी घोषणा पत्र में उसे कानूनी दर्जा देने की बात कही गई है। ऐसे में कांग्रेस नेताओं को उम्मीद है कि पुरानी पेंशन का मुद्दा, उनके लिए फायदे का सौदा बनेगा। इससे पहले कांग्रेस पार्टी ने हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक के चुनाव में भी ओपीएस का वादा किया था। दोनों राज्यों में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनी है।
कांग्रेस पार्टी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में कई बातें कही हैं। इनमें चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा की राशि 25 लाख रुपये से बढ़ाकर ’50 लाख रुपये’ करना शामिल है। इसके अलावा जाति आधारित गणना, 4 लाख सरकारी नौकरियां, 10 लाख नए रोजगार, किसानों को 2 लाख रुपये तक का ब्याज मुक्त कर्ज, एमएसपी के लिए कानून बनाना और गैस सिलेंडर 400 रुपये में, इन सब बातों को भी चुनावी घोषणा पत्र में शामिल किया गया है।
कांग्रेस पार्टी की महासचिव एवं स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी ने अपनी रैलियों में ‘ओपीएस’ का खूब जिक्र किया है। राजस्थान चुनाव में ‘पुरानी पेंशन’ को लेकर मौजूदा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूरी तरह आश्वस्त नजर आते हैं। उन्हें उम्मीद है कि कांग्रेस और भाजपा के बीच चुनावी मुकाबला, कांटे की टक्कर में बदलता है, तो उस स्थिति में सरकारी कर्मियों व उनके परिजनों का वोट कांग्रेस पार्टी के लिए किसी बूस्टर से कम नहीं होगा।
अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष तेज सिंह राठौड़ भी मानते हैं कि कांग्रेस पार्टी ने ओपीएस लागू कर और अब इसके लिए कानून बनाने की बात कह कर कर्मियों को अपनी तरफ करने का प्रयास किया है। कांग्रेस पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र में ‘ओपीएस को कानूनी दर्जा’, इसे शामिल करने का मतलब है कि कांग्रेस ने ‘ओपीएस’ को केवल एक चुनावी गारंटी तक सीमित नहीं रखा है।
कांग्रेस पार्टी कह सकती है कि पहले ओपीएस लागू किया गया और अब उसे कानूनी दर्जा प्रदान करने का भरोसा दे दिया है। हालांकि इस मामले में बहुत कुछ ठोस नहीं है। दूसरी पार्टी की सरकार आती है तो उस स्थिति में यह कानूनी दर्जा खत्म भी हो सकता है। दूसरे दल की सरकार, अपने मुताबिक, कानून में बदलाव कर सकती है।
भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र में ‘ओपीएस’ को लेकर कुछ नहीं कहा गया है। कर्मियों का एनपीएस में जमा पैसा, भारत सरकार के नियंत्रण में है। ‘पेंशन फंड एंड रेगुलेटरी अथॉरिटी’ (पीएफआरडीए) में जमा पैसा, केंद्र की मर्जी के बिना राज्यों को नहीं दिया जा सकता। केंद्र सरकार, इस बाबत पहले ही इनकार कर चुकी है।

नए कानून से शिक्षकों की सर दर्दी बड़ी: यूपी

नए कानून से शिक्षकों की सर दर्दी बड़ी: यूपी
हरिओम उपाध्याय 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के स्कूलों में योगी सरकार ने नया नियम लागू कर दिया है, जिससे शिक्षकों की सिरदर्दी बढ़ गई है। यह नया नियम सोमवार से यूपी के सात जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के तहत लागू हो गया है, जिसका शिक्षकों ने एकजुट होकर विरोध किया है। स्कूल शिक्षा महानिदेशक के अनुसार, यह नियम अगले महीने से पूरे प्रदेश में लागू कर दिया जाएगा।
दरअसल, स्कूल शिक्षा, महानिदेशक विजय किरन आनंद की ओर हाल ही में एक आदेश जारी किया गया कि अब से प्रदेश के सरकारी स्कूलों में बायोमेट्रिक हाजिरी लगानी होगी। यह सिस्टम ऑनलाइन रहेगा। साथ ही स्कूल में बच्चों की भी हाजिरी इसी तरीके से लगानी होगी।
बायोमेट्रिक हाजिरी को लेकर कुछ इस तरह से व्यवस्था बनाई गई है कि शिक्षक और छात्र स्कूल परिसर में ही हाजिरी लगा सकेंगे। इससे शिक्षकों की मनमानी पर रोक लग सकती है। अब तक हाजिरी का ब्योरा कागजी प्रक्रिया पर आधारित था, जिसे अब खत्म किया जा रहा है।
डिजिटल हाजिरी के लिए सभी स्कूलों में टेबलेट भी दिया जाएगा। वहीं, यह भी कहा गया है कि शिक्षकों को स्कूल में नियमित रूप से ड्यूटी करनी होगी। नए नियम के अनुसार, अगर शिक्षक 15 मिनट से ज्यादा लेट होते हैं तो उनके पूरे दिन का वेतन कट जाएगा।
उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के मत संग्रह अभियान में बड़ी संख्या में अभिभावक जुटे और उन्होंने इस व्यवस्था को वापस लेने की मांग की। अगले दो दिन तक मत संग्रह अभियान चलेगा और फिर इसके आधार पर आंदोलन की रणनीति तैयार होगी। हालांकि, स्कूल शिक्षा महानिदेशक ने नियम का पालन न करने वाले शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई करने की भी चेतावनी दी है।

सीमा के पति की गोली मारकर हत्या, सच जानिए

सीमा के पति की गोली मारकर हत्या, सच जानिए
अकाशुं उपाध्याय 
नई दिल्ली। पाकिस्तान से भागकर आईं सीमा हैदर ग्रेटर नोएडा के पास सचिन मीणा के साथ घर बसाकर खुश हैं। सीमा और सचिन की आए दिन कोई ना खबर या वीडियो सोशल मीडिया पर दिखती रहती हैं। इस बीच सीमा हैदर के पति सचिन मीणा को लेकर एक न्यूज तेजी से फैल रही है, जिसमें दावा किया गया है कि सचिन की हत्या कर दी गई है। ऐसे में क्या है वायरल न्यूज की सच्चाई जानिए।
सीमा हैदर के पति सचिन की किसी ने गोली मारकर हत्या कर दी है। इसी के साथ दावा किया जा रहा है कि पति की मौत के बाद सीमा हैदर पूरी तरह से टूट चुकी हैं। वहीं इसी के साथ एक पुलिस अधिकारी का बयान भी वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुर पर एक न्यूज वीडियो तेजी से वायरल हो रही है, जिसमें बताया जा रहा है कि सचिन मीणा की किसी ने हत्या कर दी। वीडियो के कैप्शन में लिखा है कि “सीमा हैदर के पति सचिन का किसी ने कर दिया खून।“
इसी के साथ वीडियो के अंदर सीमा हैदर के रोने की तस्वीरें भी हैं। वीडियो को लेकर दावा किया जा रहा है कि यह घटना स्थल का वीडियो है। इसी के साथ एक पुलिस अधिकारी घटना के बारे में बता रहा है। हालांकि इसे लेकर पूरी जानकारी नहीं दी है।
20 घंटे पहले शेयर किए गए वीडियो पर अब तक 7 मिलियन से ज्यादा व्यूज आ चुके है। वहीं यूजर भी इसे जबरदस्त तरीके से शेयर रहे हैं। ऐसे में जब इस वीडियो की पड़ताल की तो यह वीडियो पूरी तरह से फेक साबित हुई। हमारी पड़ताल में सचिन मीणा के साथ किसी भी अनहोनी की खबर नहीं है। किसी भी न्यूज चैनल या मीडिया आउटलेट ने इस खबर को नहीं चलाया है। ऐसे में यह वीडियो पूरी तरह से भ्रामक हैं।

डीएम की गाड़ी से कुचलकर 3 लोगों की मौत

डीएम की गाड़ी से कुचलकर 3 लोगों की मौत 
अविनाश श्रीवास्तव 
मधेपुरा। बिहार में मधेपुरा डीएम की गाड़ी से कुचल कर 3 लोगों की मौत हो गई। जबकि दो लोग गंभीर तौर पर घायल हो गए हैं। घटना फुलपरास थाना क्षेत्र की बताई जा रही है। हादसा उस वक्त हुआ जब डीएम की गाड़ी मधेपुरा की ओर जा रही थी। इसी दौरान गाड़ी अनियंत्रित हो गई। और सड़क किनारे काम कर रहे मजदूर गाड़ी की चपेट में आ गए। इस दौरान मौके पर ही एक मजदूर, महिला और बच्चे की मौत हो गई। वहीं घटना के बाद से डीएम विजय प्रकाश मीणा और ड्राइवर कार छोड़कर भाग गए। जिसके बाद गुस्साई भीड़ ने डीएम की गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर दिया है।
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हादसा सुबह करीब 8 बजे हुआ और हादसे के तुरंत बाद डीएम और उनके स्टाफ बाइक पर सवार होकर भाग निकल गए। उन्होंने बताया कि गाड़ी ने पहले महिला और बच्चे को टक्कर मारी और बाद में एनएच-57 पर काम कर रहे मजदूरों को टक्कर मार दी। मजदूर राजस्थान के रहने वाले हैं। दोनों घायलों को इलाज के लिए दरभंगा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल ले जाया गया, जिसमें एक की मौत हो गई। इस हादसे में कुल तीन लोगों की मौत हुई है। जिसमें में 27 वर्षीय गुरिया देवी और उनकी 7 वर्षीय बेटी भी शामिल हैं। डीएमसीएच में मरने वाले मजदूर की पहचान राजस्थान के अशोक सिंह के रूप में की गई है।
दुर्घटना के तुरंत बाद जुटे सैकड़ों लोगों ने वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया और एनएच-57 को जाम कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने वाहन में सवार लोगों की गिरफ्तारी की मांग की और पीड़ितों को पर्याप्त मुआवजा देने की मांग की। बार-बार प्रयास के बाद भी डीएम से संपर्क नहीं हो सका। वहीं इस मामले पर जिला जन संपर्क पदाधिकारी कुंदन कुमार सिंह ने बताया कि घटना के वक्त गाड़ी में डीएम मौजूद नहीं थे। गाड़ी में तकनीकी समस्या थी, और रिपेयर के लिए जानी थी। लेकिन आने-जाने के दौरान दुर्घटना हो गई। हालांकि अभी तक डीएम विजय प्रकाश मीणा की ओर से कोई बयान नहीं आया है।

फर्जी दरोगा बन शख्स ने अवैध वसूली शुरू की

फर्जी दरोगा बन शख्स ने अवैध वसूली शुरू की
अश्वनी उपाध्याय
गाजियाबाद। असल में दरोगा न बन पाया तो फर्जी दरोगा बन शख्स ने लोगों से अवैध वसूली शुरु कर दी,, मगर मुजफ्फरनगर के शख्स से पांच हजार रुपये की वसूली की कोशिश फर्जी दरोगा पर भारी पड गई। उसके बाद जिस तरह फर्जी दरोगा की गिरफ्तारी हुई वह मामला ओर भी दिलचस्प है।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक मुजफ्फरनगर जिले के थाना जानसठ क्षेत्र के गांव चितौड़ा के रहने वाले महेंद्र सिंह शनिवार को कार से दिल्ली जा रहे थे। निवाड़ी थाना क्षेत्र में गंग नहर पटरी मार्ग पर दरोगा की वर्दी में खड़े आरोपी शिवकुमार ने चेकिंग के बहाने कार रुकवा ली। जबरन कार में बैठकर उसने रिश्वत के रूप में पांच हजार रुपये मांगे। इनकार करने पर कार सीज करने की धमकी दी। इस बीच वह आरोपी को पहचान गए। उसने लगभग डेढ़ साल पहले महेंद्र सिंह की बहन को नौकरी दिलाने के नाम पर डेढ़ लाख रुपये की ठगे थे।
उन्होंने चालाकी दिखाते हुए आरोपी को कार में बैठा लिया। इसके बाद कार सौंदा पुलिस चौकी के सामने रोक दी। पुलिस चौकी सामने देख आरोपी घबरा गया और उतरकर भागने का प्रयास करने लगा। शोर मचाने पर पुलिस ने आरोपी को दबोच लिया। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह वर्दी का रौब दिखाकर लोगों को ठगता था। खासकर उन जगहों पर चेकिंग करता था, जहां पुलिस तैनात नहीं होती थी। एसीपी ने बताया कि आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।
मेरठ के माछरा गांव का रहने वाला आरोपी शिवकुमार दरोगा बनना चाहता था। इसके लिए परीक्षा भी दी थी लेकिन सफलता नहीं मिल सकी। इसके बाद उसने फर्जीवाड़ा शुरू किया और दरोगा की वर्दी तैयार कराई। वह अक्सर दरोगा की वर्दी में ही रहता था। वर्दी पर स्टार लगा था और कैप भी दरोगा वाली थी। गिरफ्तारी के दौरान आरोपी ने कंधे पर लगे स्टार को तोड़कर गंग नहर में फेंक दिया।

वायु प्रदूषण: गाजियाबाद शीर्ष स्थान पर कायम

वायु प्रदूषण: गाजियाबाद शीर्ष स्थान पर कायम
इकबाल अंसारी 
लखनऊ। यूपी के कईं जिलों में हवा जहरीली हो चुकी है। खासकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कईं जिलों में हो हवा में प्रदूषण का स्तर खतरनाक लेवल पर पहुंच गया है। प्रदेश के जिलों को प्रदूषण स्तर तेजी से बढ़ रहा है। सोमवार को मेरठ, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा और नोएडा में बारिश होने के प्रदूषण स्तर कम हुआ। इस समय ज्यादातर जिलों का एक्यूआई लगभग 200 अंक के पार पहुंच गया।
सभी जिलों का प्रदूषण स्तर बढ़ गया। सर्दियों के मौसम में हर साल प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है। वायु प्रदूषण के कारण तमाम बीमारियां होती है, जिसमें स्किन एलर्जी, अस्थमा, आंख इन्फेक्शन शामिल हैं। लेकिन, फॉग व प्रदूषण स्तर काफी कम हो गया है।
सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की रात आठ बजे की रिपोर्ट के मुताबिक गाजियाबाद का एक्यूआई 358, नोएडा का एक्यूआई 319, मेरठ का एक्यूआई 365, मुजफ्फरनगर का एक्यूआई 247, प्रयागराज का एक्यूआई 215, गोरखपुर का एक्यूआई 194, वाराणसी का एक्यूआई 162, नोएडा का एक्यूआई 275, प्रतापगढ़ का एक्यूआई 132, लखनऊ का एक्यूआई 197, ग्रेटर नोएडा का एक्यूआई 324, कानपुर का एक्यूआई 101 और वृंदावन का एक्यूआई 108 है।
राजधानी लखनऊ के इंडस्ट्रियल क्षेत्र का प्रदूषण स्तर के मामले में हमेशा हाल खराब रहता है. यहां पर हमेशा प्रदूषण स्तर बढ़ा रहता है। लेकिन, सोमवार को बारिश होने के बाद प्रदूषण स्तर कम हो गया है। ताल कटोरा इंडस्ट्रियल एरिया का एक्यूआई 186, केन्द्रीय विद्यालय लखनऊ का एक्यूआई 239, लालबाग का एक्यूआई 249, गोमतीनगर का एक्यूआई 144, अंबेडकर नगर विवि का एक्यूआई 168 और कुकरैल पिकनिक स्पॉट का एक्यूआई 192 हैं।
यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी डॉ. उमेश चन्द्र शुक्ला ने कहा कि बीते दिन की तुलना में शनिवार को बारिश होने के बाद सभी जिलों का प्रदूषण स्तर काफी कम हो गया है। हालांकि, यह बारिश होने के बाद हुआ है। प्रदूषण स्तर को कंट्रोल करने के लिए नगर निगम की मदद से फॉगिंग करायी जा रही है। इस समय मौसम साफ हुआ है। प्रदूषण स्तर पहले के मुकाबले कम हो गया है। अब आम पब्लिक को यह समझना होगा कि दिवाली पर पटाखे जलाने से प्रदूषण बढ़ता है।

हड़ताल की चेतावनी, 4 करोड़ का भुगतान मंजूर

हड़ताल की चेतावनी, 4 करोड़ का भुगतान मंजूर 
भानु प्रताप उपाध्याय
मुजफ्फरनगर। नगर पालिका कार्यालय में कहासुनी के बाद कर्मचारियों द्वारा एक हिंदू नेता की पिटाई किए जाने का आरोप है। मारपीट के बाद कर्मचारियों ने हडताल पर जाने का ऐलान करते हुए दफ्तरों में ताले जड दिए।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक शहर के सिविल लाइन निवासी नागरिक पुष्पेंद्र कुमार हिंदू संगठन के कार्यकर्ता भी हैं। वह किसी कार्य से पालिका कार्यालय टाउनहॉल पहुंचे थे। वह ईओ हेमराज सिंह से मिलने पहुंचे, लेकिन कार्यालय बंद मिला।
एक कर्मचारी से पूछने पर पता चला कि ईओ नहीं आए हैं। इस पर पुष्पेंद्र कुमार और कर्मचारियों के बीच कहासुनी हो गई। आरोप है कि इसके बाद हिंदूवादी नेता की पिटाई की गई। बाद में कुछ अन्य कर्मचारी बीच में आए और मामले को संभाला।
इसके बाद पुष्पेंद्र कुमार कोतवाली पुलिस के साथ पालिका पहुंचे और कई कर्मचारियों पर मारपीट करने के आरोप लगाया। टाउनहॉल पहुंचे पुलिसकर्मियों ने मामले की जानकारी ली। आरोपी बताए गए कर्मचारियों को थाने बुलाया गया।
इसके बाद कर्मचारियों में रोष बन गया। स्वायत्त शासन कर्मचारी संगठन के शाखा अध्यक्ष ब्रजमोहन और महामंत्री सुनील वर्मा के साथ कर्मचारियों ने कामकाज बंद करते हुए कार्यालयों में तालाबंदी कर दी। कर्मचारी कार्यालय परिसर में एकत्रित होकर प्रदर्शन करने लगे।
कर्मचारी संगठन के प्रांतीय उपाध्यक्ष एवं पालिका के कार्यवाहक कार्यालय अधीक्षक ओमवीर सिंह के नेतृत्व में शहर कोतवाली पहुंचे तथा पुष्पेंद्र पर कार्यालय में अभद्रता करने और सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, सरकारी दस्तावेजों को उठाकर फेंकने तथा हंगामा व अभद्रता करने के आरोप लगाते हुए तहरीर दी। कर्मचारियों ने शहर कोतवाली प्रभारी से मिलकर आरोपी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। संगठन के पदाधिकारियों ने चेतावनी दी कि यदि कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया तो अनिश्चितकाल के लिए पालिका को बंद कर दिया जाएगा और आंदोलन पर चले जाएंगे।
शहर कोतवाल महावीर सिंह ने कहा कि दोनों ही पक्षों की ओर से पुलिस को शिकायत मिली है। मामले में जांच की जा रही है। पालिका कर्मियों के प्रदर्शन के दौरान कर अधीक्षक नरेश कुमार शिवालिया, ओमवीर सिंह, ब्रजमोहन सिंह, सुनील वर्मा, तनवीर आलम, कैलाश कुमार, राजीव वर्मा, गगन महेंद्र, मोहम्मद सालिम, मैनपाल सिंह, अशोक ढींगरा, मनोज कुमार, फिरोज खान, दुष्यंत कुमार, अशोक पाल, सोनू मित्तल, प्रवीण कुमार, संदीप यादव, गोपीचंद वर्मा, आकाश दीप, नदीम खां, सतेंद्र कुमार, विकास कुमार, अभिषेक, नितिन कुमार आदि कर्मचारी शामिल रहे।
उधर, चेयरपर्सन मीनाक्षी स्वरूप ने कहा कि समस्या का समाधान कराया जाएगा। ईओ बीमार हैं, जिस कारण वह नियमित रूप से कार्यालय नहीं पहुंच पा रही हैं। दोनों पक्षों से बात की जाएगी।

आयकर आयुक्त ने पार्क में मनाया आंवला नवमी

आयकर आयुक्त ने पार्क में मनाया आंवला नवमी
बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। कार्तिक शुक्ल नवमी अक्षय नवमी कहलाती है इस दिन स्नान पूजन तड़पा तथा अन्य दान आदि के दान से अक्षय फल की प्राप्ति होती है आंवला नवमी के दिन परिवार के बड़े बुजुर्ग सदस्य विधि विधान से आंवला की पूजा अर्चना करके भक्ति भाव से इस पर्व को मनाते हैं पौराणिक मान्यता के अनुसार कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमी से लेकर पूर्णिमा तक भगवान विष्णु आंवले के पेड़ पर निवास करते हैं इसलिए इस पेड़ की पूजा अर्चना की जाती है यह भी कहा जाता है कि इस दिन भगवान श्री कृष्ण अपने बाल लीलाओं का त्याग करके वृंदावन की गलियों को छोड़कर मथुरा चले गए थे आंवला भगवान विष्णु का सबसे प्रिय फल है और आंवले के वृक्ष में सभी देवी देवताओं का निवास होता है आंवला आयु बढ़ाने वाला फल है या अमृत के समान माना गया है आंवले के वृक्ष की पूजा करने से देवी-देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त होता है आंवले के पेड़ की पूजा  कर 108 परिक्रमा करने से मनोकामना पूर्ण होती है आंवले के वृक्ष के नीचे पूर्व दिशा में बैठकर पूजन कर उसकी जड़ में दूध देना चाहिए इस कार्यक्रम में शामिल है अंशु श्रीवास्तव कामिनी श्रीवास्तव कुसुम रोमा सोंधी साक्षी श्रीवास्तव सोनम केसरवानी श्रद्धा केसरवानी स्मृति श्रीवास्तव अलका श्रीवास्तव मीनू कपूर सरोज उषा श्रीवास्तव सौरभ गुहा ज्ञानेंद्र श्रीवास्तव बच्चा देवेंद्र राजू चतुर्वेदी प्रदीप दत्त चंचल तनेजा अखिलेश सिंह संजीव चावला दीपक त्रिपाठी सहाय मौर्य योगेश्वर राय अजमत हुसैन आदि लोग रहे।

नाबालिक का अपहरण करने के बाद दुष्कर्म

नाबालिक का अपहरण करने के बाद दुष्कर्म
नरेश राघानी 
रेवाड़ी। हरियाणा के रेवाड़ी के कोसली क्षेत्र के एक गांव में नाबालिग लड़की के साथ अपहरण और दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पीड़िता के पिता ने बताया कि उनकी नाबालिग बेटी रात में लघुशंका के लिए घर से बाहर निकली थी। जब वह काफी देर तक नहीं लौटी तो उसकी तलाश की गई। वह पास के खेत में पड़ी मिली।
होश आने पर जब उससे पूछताछ की गई तो उसने घर से बाहर निकलते ही पास के गांव में रहने वाले एक युवक पर उसे जबरन उठाकर खेतों में ले जाने का आरोप लगाया। नाबालिग ने बताया कि आरोपी युवक अपने मामा के घर आया था। वह पहले भी कई बार मुझे जान से मारने की धमकी दे चुका था। उसने डर के मारे अपने परिवार को इसके बारे में नहीं बताया। फिलहाल कोसली थाना पुलिस ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

यूके: 30 नवंबर तक सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाएं

यूके: 30 नवंबर तक सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाएं
श्रीराम मौर्य 
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को सचिवालय में लोक निर्माण विभाग की बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि 30 नवम्बर तक सड़को को पूर्ण रूप से गड्ढा मुक्त बनाया जाय। सचिव लोक निर्माण विभाग एवं अन्य सर्कल ऑफिसर सड़कों का स्थलीय निरीक्षण करें। उन्होंने निर्देश दिये कि निर्धारित समयावधि में सड़को के गड्ढ़ा मुक्त न होने की स्थिति में और कार्यों के प्रति किसी भी प्रकार की लापरवाही पर संबंधित अधिकारियों पर मौके पर ही निलंबन की कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे कभी भी सड़कों के निर्माण कार्यों एवं पैच वर्क से संबधित कार्यों का औचक निरीक्षण कर सकते हैं।
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि स्मार्ट सिटी के कार्यों और आतंरिक सड़क मार्गों के कार्यों में भी युद्धस्तर पर कार्य किये जाएं। शहर में सड़कों के निर्माण कार्य रात्रि के समय तेजी से किये जाएं। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये जो भी सड़के बनाई जा रही हैं, उनमें गुणवत्तापूर्वक कार्य हो, इसकी निगरानी के लिए सचिव लोक निर्माण विभाग को नोडल अधिकारी बनाया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि जहां पर भी निर्माण कार्य प्रगति पर है वहां पर बैरिकेटिंग सही तरह से लगे, इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि लोगों को आवागमन के लिए अनावश्यक परेशानियों का सामना न करना पड़े। सड़कों पर डिवाईडर, रिफ्लेक्टर, साइनेज लाईटिंग की अच्छी व्यवस्थाएं रखने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि देहरादून में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट और आपदा प्रबंधन पर 6वीं अन्तरराष्ट्रीय कांग्रेस दो बड़े आयोजन होने इसके दृष्टिगत भी सभी तैयारियां समय पर पूर्ण कर ली जाएं। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि जिन क्षेत्रों में पानी का बहाव अधिक होता है, ऐसे क्षेत्रों में व्हॉइट टापिंग तकनीक का प्रयोग किया जाए। सड़कों से संबंधित जो भी योजनाएं बनाई जा रही हैं, वे आगामी 50 साल की परिस्थितियों को ध्यान में रखकर बनाई जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि यह भी सुनिश्चित किया जाए की सड़कों पर बिजली के तार न झूल रहे हों। सड़कों के चौड़ीकरण के दौरान बिजली के पोल को भी सड़कों से बाहर शिफ्ट किया जाए। सड़कों पर किसी को भी अतिक्रमण न करने दिया जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में पर्यटन एवं तीर्थाटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण राज्य है। राज्य में पर्यटकों और श्रद्धालुओं की संख्या में हर साल तेजी से वृद्धि हो रही है। इसके लिए रोड कनेक्टिविटी का मजबूत होना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि सड़कों के विस्तार और विद्युत उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए हमें तेजी से आगे बढ़ना होगा।
सिलक्यारा में राहत एवं बचाव में जुटी एजेंसियों को दी जाए हर संभव मदद
मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि सिलक्यारा उत्तरकाशी में निर्माणाधीन सुरंग में फंसे श्रमिकों के राहत एवं बचाव कार्यों में लगी एजेंसियों को हर संभव मदद दी जाए। श्रमिकों के परिजनों से भी निरंतर समन्वय स्थापित कर उन्हें हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जाए। जिला प्रशासन उत्तरकाशी के साथ लगातार समन्वय बनाकर किसी भी प्रकार की आवश्यकता पड़ने पर शीघ्र सहायता करने के भी निर्देश मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी विभाग राहत और बचाव कार्य में लगी टीमों के साथ समन्वय बना कर रखें। बैठक में अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, सचिव डॉ. पंकज कुमार पाण्डेय, अपर सचिव श्री विनीत कुमार, नगर आयुक्त देहरादून श्री मनुज गोयल एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

लड़के वर्ल्ड कप जीत रहे थे हरवा दिया: राहुल

लड़के वर्ल्ड कप जीत रहे थे हरवा दिया: राहुल 
सुनील श्रीवास्तव 
बाड़मेर। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पनौती कहा है। राहुल ने कहा कि पीएम मतलब-पनौती मोदी। अच्छा खासा लड़के वर्ल्ड कप जीत रहे थे, यह अलग बात है की हरवा दिया। राहुल ने मंगलवार को बाड़मेर के बायतु और उदयपुर के वल्लभनगर में जनसभा को संबोधित किया।
राहुल ने कहा कि मोदी का काम आपके ध्यान को इधर-उधर करने का है। अडानी का काम आपकी जेब काटना है। दोनों आते हैं, एक टीवी पर आता हैं। आपसे कहेगा हिंदू-मुस्लिम, कभी क्रिकेट मैच में चला जाएगा।
राहुल ने कहा कि एक साल पहले कन्याकुमारी से कश्मीर तक हमने यात्रा की। 4500 किलोमीटर लाखों लोगों के साथ कश्मीर तक चले। बारिश, तूफान, बर्फ में पैदल चले। इसका मकसद था, भारत को जोड़ना। हमें लगा भाजपा देश में नफरत फैला रही है। हिंसा फैला रही है। एक जाति को दूसरी से और एक धर्म के लोगों को दूसरे धर्म के लोगों से लड़ा रही है। इसलिए हमने भारत जोड़ो यात्रा शुरू की।
ये नफरत और हिंसा क्यों फैलाते हैं और इनको क्या फायदा होता है। मैं आज ये समझाने आया हूं। जब दो जेबकतरे किसी की जेब काटना चाहते हैं तो क्या करते हैं? ध्यान हटाने का काम करते हैं। एक आता है आपसे बात करता है और पीछे से दूसरा आता है, आपकी जेब काटकर ले जाता है। हिंदुस्तान में सबसे बड़ा मुद्दा कौनसा है। बेरोजगारी, गरीबी और महंगाई। कभी टीवी पर आपने बेरोजगार युवा को देखा है, नहीं देखा होगा।

भाजपा का एक दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग सम्पन्न

भाजपा का एक दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग सम्पन्न
पिंकू समानिया 
गाजियाबाद। जनपद गाज़ियाबाद महानगर भाजपा अध्यक्ष संजीव शर्मा के नेतृत्व में एक दिवसीय ब्लॉक पंचायत सदस्य एवं नगर पालिका सभासद प्रशिक्षण वर्ग सम्मेलन एसके 15 शास्त्री नगर के हॉल में आयोजित किया गया। भाजपा द्वारा लोकसभा 2024 का विगुल फूंकते हुए आयोजित प्रशिक्षण वर्ग में चार सत्र का आयोजन हुआ। वर्ग का शुभारम्भ पूर्व महानगर अध्यक्ष विजय मोहन, मुरादनगर ब्लॉक प्रमुख राजीव त्यागी, रजापुर ब्लॉक प्रमुख मोनिका राहुल चौधरी डैनी, महामंत्री पप्पू पहलवान, गोपाल अग्रवाल, सुशील गौतम, उपाध्यक्ष बॉबी त्यागी, रनिता सिंह, चमन चौहान, संदीप त्यागी, सुनील यादव, प्रदीप चौधरी ने दीप प्रज्वलित कर किया। पहले सत्र में अध्यक्षता मुरादनगर ब्लॉक प्रमुख राजीव त्यागी, रजापुर ब्लॉक प्रमुख मोनिका राहुल चौधरी डैनी ने की।वक्ता के रूप में पहुंचे पूर्व महानगर अध्यक्ष विजय मोहन ने केंद्र व प्रदेश सरकार की गरीब जन कल्याणकारी योजनाओं के बाबत पाठ पढ़ाया। उन्होंने सभासदों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी सभासद जन सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्रत्येक आम जनमानस तक और अधिक पहुँचे ऐसे प्रयास के साथ कार्य करें । हमारा लक्ष्य अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति का विकास हो । ममता और समता के लक्षित रूप को अपने कार्य रूप में उतारना है।यही हमारी पार्टी का विज़न है। देश के पीएम मोदी पार्टी के विजन को सार्थक रूप से साकार रूप दे रहे हैं। मोदी सरकार ने कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से असंगठित मजदूरों को मुद्रा लोन उपलब्ध कराया, स्वच्छता मिशन के माध्यम से मातृशक्ति व आम जन को सम्मान गृह दिया। जनजीवन जल मिशन के माध्यम से पीने का जल,आयुष्मान कार्ड, डीबीटी योजना, गरीब आवास योजना, उज्जवला योजना , मुफ्त राशन वितरण योजना, पीएम किसान सम्मान निधि, स्वयं सहायता समूह, जनधन योजना, प्रधानमन्त्री पेंशन योजना के माध्यम से जन सेवा कर रहे हैं। सरकार के गरीब कल्याण कारी कार्य ही जीत का मंत्र है।
दूसरे सत्र की अध्यक्षता खोड़ा नगर पालिका सभासद दल के अध्यक्ष सतीश गुप्ता, वरिष्ठ सभासद मनोज सहरावत ने किया। इस सत्र के मुख्य वक्ता उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री व गाजियाबाद शहर विधायक अतुल गर्ग ने सभी उपस्थित जनों को 1951 के जनसंघ से 2023 की भाजपा का सफर बताते हुए पार्टी का इतिहास और विकास पर अपने चर्चित अंदाज में विस्तार पूर्वक प्रकाश डाला। उन्होंने 2शीट से 300 पार के सफर को तय करने वाली भाजपा पार्टी का गौरव इतिहास बताया।
तृतीय सत्र में अध्यक्षता रजापुर ब्लॉक प्रमुख मोनिका चौधरी ने की।इस सत्र में वक्ता के रूप में पहुंचे गाजियाबाद के पूर्व महापौर रहकर अपनी मर्मस्पर्शी पहचान बनाने वाले आशु वर्मा ने आदर्श जनप्रतिनिधी एवं उनकी कार्यशैली विषय में छिपे गूढ़ रहस्य को उजागर करते हुए बताया आदर्श जनप्रतिनिधि स्वरूप सभी का साथ, सभी का विकास, सभी का विश्वास और सभी का प्रयास के मूलमंत्र के आधार को अपनी कार्यशैली में समाहित करते हुए सेवा ही सकल्प के उद्देश्य से राष्ट्र वादी बड़ी सोच के साथ कार्य करने के लिए दृढ़ संकल्पित होना है। हमें अपने कार्यकाल में चर्तुथ श्रेणी के कर्मचारी से लेकर आईएएस अधिकारी तक मधुर संवादलय कायम रहना चाहिए। साथ ही साथ संगठन से तालमेल बनाएं रखें।
चतुर्थ समापन सत्र में अध्यक्षता ब्लॉक प्रमुख राजीव त्यागी ने की। सत्र में वक्ता राज्यसभा सांसद अनिल अग्रवाल ने प्रश्नोत्तरी संवाद एवं ब्लॉक समिति की सफ़लता की कहानी पर अपना वक्तव्य दिया। उन्होंने बताया मजबूत इरादा, जिज्ञासु प्रवृत्ति, कार्यकर्ता कौशल और सेवा ही संकल्प सफ़लता का मूल आधार है। ये ही हमारी सफ़लता की कुंजी है। ग्रामीण आंचल में कृषकों को सरकार की योजनाओं का लाभ दिलवाते हुए उनसे संपर्क बनाए रखें। समापन सत्र के दौरान वर्ग में पहुंचे सभी लोगों का आभार जताते हुए वर्ग के सफल आयोजन में लगे हुए महानगर और मंडल की टीम का आभार जताया। वर्ग का संचालन कार्यक्रम संयोजक गोपाल अग्रवाल ने किया।
प्रशिक्षण वर्ग सम्मेलन में मुख्य रूप से क्षेत्र पंचायत ब्लॉक प्रमुख सहित खोड़ा, मुरादनगर के सभासद एक दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग सम्मेलन में उपस्थित रहे।
कार्यक्रम के दौरान मंडल अध्यक्ष कविनगर से दुष्यंत पुंढीर, मुरादनगर देहात से अमरीश त्यागी, मुरादनगर शहर से नितिन गोयल, खोड़ा से मुकेश शर्मा, खोड़ा मकनपुर से अवधेश यादव, राहुल तोमर,वर्षा हाजेला, रचना अग्रवाल, सीमा सिंह, रेखा अग्रवाल, माया पांडे,अशोक राव, अंकित अरोड़ा, अभिषेक त्यागी, सोहन त्यागी, कृष्णा मावी, विरेंद्र चौहान, धर्मपाल, रामपाल , पुनीत बरारा, कर्मवीर,अनमोल ,पंचायत सदस्य विनीत कुमार, सरिता, रीना, गोविंदा, पिंकी, सोमवीर, विनोद कुमार, आयूब, अंजू, सपना त्यागी, विजेंद्र, प्रवीण, गजेन्द्र, सोनम पार्चा, गौरव बाल्मीकि, अशोक प्रजापति, नरेश कश्यप, कृष्णा शर्मा, पूनम, संदीप गर्ग, शहरीन, बिंदु बाल्मीकि, निर्मला देवी, संजीव गिरि, प्रिया गुप्ता , मुन्ना अंसारी, प्रमोद, अजय कुमार, प्रिया, नाजमा, मनबीरी, अलका सुशील, ललिता त्यागी, गजेंद्र सिंह नेगी, नीलम रावत, बबीता त्यागी, सीता चौहान , दानिश, रूकमकेश, संदीप कसाना, अशोक, सरिता, छत्रपाल,मोनू, संजय कुमार, पूजा, कुसुम, पिंकी, ब्रह्मदत्त, विमला सुशीला, नवाब, हारून , नज़र महोम्मद, रहीसा, सीवा, अशरफ, राजकुमारी आदि के साथ सैकड़ों प्रशिक्षणार्थी मौजूद रहे।

टनल में मजदूर पूरी तरह से सुरक्षित दिखें

टनल में मजदूर पूरी तरह से सुरक्षित दिखें
अमित शर्मा  
उत्तरकाशी। उत्तराखंड के उत्तरकाशी के सिलक्यारा में निर्माणाधीन टनल का मलबा गिर जाने के कारण उसमें 10 दिनों से फंसे 41 मजदूरों के फोटो और वीडियो सामने आए हैं। यह वीडियो इन मजदूरों तक छ इंच का पाइप पहुंचाने के बाद उसके माध्यम से भेजे गए कैमरे से प्राप्त हुए हैं।
फोटो और वीडियो में सभी मजदूर पूरी तरह से सुरक्षित नजर आ रहे हैं। इसमें मंडी जिले के बल्हघाटी के बंगोट गांव का विशाल भी दिखाई दे रहा है। विशाल भी इस टनल में फंसा हुआ है। वह वहां पर मशीन ऑपरेटर का काम करता है।
विशाल के फोटो-वीडियो सामने आने से परिजनों ने राहत की सांस ली है। घर पर विशाल की मां उर्मिला और दादी सहित अन्य परिजनों को जब उनके मोबाइल पर यह फोटो वीडियो प्राप्त हुए तो सभी के चेहरों पर इस बात को लेकर खुशी छा गई कि उनका लाल टनल के अंदर सुरक्षित है।
मां उर्मिला और दादी ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि अपने बेटे को सुरक्षित देखकर उन्हें हौसला मिला है। परिजनों ने सरकार से मांग की है कि जल्द से जल्द फंसे हुए सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला जाए।
बता दें कि उत्तरकाशी में निर्माणाधीन टनल के धंस जाने से उसके अंदर 41 मजदूर फंस गए हैं। आज 6 इंच की एक पाइप इन मजदूरों तक पहुंची है, जिसके माध्यम से अंदर कैमरा भेजा गया। इसमें सभी लोग सुरक्षित नजर आए हैं। मलबा हटाने के कार्य में काफी ज्यादा दिक्कतें आ रही हैं और अब टनल के ऊपर छेद करके फंसे हुए लोगों को निकालने का प्रयास किया जा रहा है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1. अंक-32, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. बुधवार, नवंबर 22, 2023

3. शक-1945, कार्तिक, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दसवीं, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:36, सूर्यास्त: 05:18।

5. न्‍यूनतम तापमान- 15 डी.सै., अधिकतम- 28+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें  संदीप मिश्र  लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि बीएएलएल...