सोमवार, 21 अगस्त 2023

सुबह से शाम तक करते हैं खोज, मिलती है निराशा

सुबह से शाम तक करते हैं खोज, मिलती है निराशा   

वीरेंद्र भारद्वाज   
मंडी। सुबह होते ही प्रशासन की मशीनरी बड़े-बड़े पत्थरों और मलबे को हटाने में जुट जाती है। देर शाम तक काम चलता रहता है। अपने खोए परिजनों को ढूंढ़ने के लिए लोग हर रोज मशीनों के पास इसी उम्मीद के साथ बैठे रहते हैं कि आज उनके लापता परिजनों का पता चल जाएगा। लेकिन रात होने से पहले उम्मीदें टूट जाती हैं। जिले में प्राकृति आपदा में जो 6 लोग 14 अगस्त से लापता हैं, उसमें 6 महीने की दुधमुंही बच्ची भी शामिल है।
मशीनों पर भरोसा है
लापता लोग मंडी सदर उपमंडल के तहत आने वाले मसेरना और सांबल गांव में रहते थे। मसेरना गांव में 17 वर्षीय कृतिका ठाकुर अपनी 61 वर्षीय नानी मीना देवी के साथ तड़के गरही नींद में घर समेत बह गई। परिजन बता रहे हैं कि वे अपने स्तर पर हर जगह दोनों की तलाश कर चुके हैं। फिलहाल सिर्फ मशीनों पर भरोसा है। घर के साथ वाली गौशाला में बहे पशुओं के शव मिल गए, लेकिन इनका पता नहीं चल पा रहा है।
मां, बेटी और घर सब बह गए
मसेरना की तरह ही सांबल गांव में भी रोजाना सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। गांव के 4 लोग अभी भी लापता हैं। हाल में दो प्रवासी मजदूरों के शव बरामद हो गए थे। लापता 4 लोगों में एक 6 महीने की दुधमुंही बच्ची भी शामिल है।
लापता लोगों में तीन एक ही परिवार के हैं। इनमें 18 वर्षीय मोनिका, उसकी 6 महीने की बच्ची सानिया और 17 वर्षीय ननद रविता कुमारी शामिल हैं। मोनिका अपनी 6 महीने की बच्ची को लाने के लिए घर के अंदर गई और इतने में पूरा घर ढह गया। एक प्रवासी मजदूर भी यहां पर लापता है। इन सभी को तलाश करने के लिए सर्च ऑपरेशन चला हुआ है।

35 यात्रियों सहित बस खाई में गिरी, 7 शव बरामद

35 यात्रियों सहित बस खाई में गिरी, 7 शव बरामद 

श्रीराम मौर्य   
उत्तरकाशी। उत्तराखंड में रविवार को दर्दनाक हादसा हो गया। गंगोत्री हाईवे पर गंगनानी के पास यात्रियों को लेकर जा रही एक बस खाई में गिर गई। हादसे में 28 घायलों को रेस्क्यू किया जा चुका है। अब तक सात शवों को निकाला जा चुका है।
जानकारी के अनुसार, बस संख्या(uk 07 8585) 33 यात्रियों को लेकर गंगोत्री से उत्तरकाशी की ओर आ रही थी। इस दौरान बस अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई। जिला आपदा प्रबंधन के अनुसार अब तक 27 घायलों को रेस्क्यू किया गया है।
विधायक रश्मि वर्मा बोलीं- 
घायलों को उपचार के लिए 108 एंबुलेंस से अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, सात शव बरामद हो चुके हैं। एसपी अर्पण यदुवंशी भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गई हैं। वहीं, जिला अस्पताल से दो और एंबुलेंस घटनास्थल के लिए रवाना की गई हैं।
सीएम ने जताया शोक
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गंगोत्री हादसे पर शोक जताया। वहीं, उन्होंने स्थानीय प्रशासन को तेजी से राहत-बचाव कार्य चलाने के निर्देश दिए हैं।

किसान सभा का 97वें दिन भी धरना जारी रहा

किसान सभा का 97वें दिन भी धरना जारी रहा 

अश्वनी उपाध्याय  
गौतमबुद्ध नगर। गोल्डन गोल्डन फेडरेशन ऑफ़ आरडब्ल्यूएन ने किसान सभा के धरना स्थल पर आकर किसान सभा के नेताओं का स्वागत किया। आज ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर किसान सभा के धरने को 97 वां दिन था धरने की अध्यक्षता बसंती देवी ने की धरने का संचालन सतीश यादव ने किया धरने पर लगभग 12 बजे गोल्डन फेडरेशन ऑफ आरडब्ल्यूए के पदाधिकारी अध्यक्ष देवेंद्र टाइगर महासचिव दीपक भाटी आलोक नागर देवराज नागर एवं अन्य कार्यकारिणी सदस्यों के साथ पहुंचे। 
फेडरेशन के पदाधिकारी ने धरना स्थल पर मौजूद किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नागर जगदीश नंबरदार डॉक्टर रुपेश वर्मा एवं अन्य किसान सभा के लोगों का गुलदस्ता और पगड़ी पहनकर स्वागत किया धरने को संबोधित करते हुए देवेंद्र टाइगर ने कहा की प्लाटों पर पेनल्टी का मुद्दा वर्षों से लंबित था किसान सभा  के साथियों ने लड़कर किसानों के प्लाटों पर पेनल्टी को माफ करवाया है। इसलिए हमारा कर्तव्य है, कि हम अपने ऐसे साथियों का हौसला बढ़ाए और उनका स्वागत करें। इसी क्रम में महासचिव दीपक भाटी आलोक नागर और देवराज नागर ने भी अपने विचार प्रकट किए और किसानों के धरने को संबोधित किया आज धरने को संबोधित करते हुए किसान सभा के प्रवक्ता डॉ रुपेश वर्मा ने कहा कि किसान सभा के नौजवानों की कमेटी सुशांत भाटी प्रशांत भाटी अमित भाटी मोनू नागर अभय भाटी के नेतृत्व में क्षेत्र में 22 अगस्त के नौजवानों के रोजगार के मुद्दे को लेकर होने वाले धरना प्रदर्शन के लिए प्रचार में जुटी हुई है। 22 अगस्त को बड़ी संख्या में नौजवान प्राधिकरण पर पहुंचकर रोजगार के मुद्दे पर अपना धरना प्रदर्शन करेंगे और अधिग्रहण से प्रभावित गांवों के नौजवानों के लिए रोजगार की मांग को बुलंद करेंगे। किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नागर ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि किसान सभा की लड़ाई निर्णायक मोड़ में है जल्दी ही प्राधिकरण के स्तर पर बातचीत होनी है बातचीत में आंदोलन के पहले चरण में किसानों और सरकार के बीच में मध्यस्थ रहे सांसद सुरेंद्र नगर को शामिल किया जाना है और मुद्दों पर निर्णायक फैसले लिए जाने हैं किसान सभा के सचिव जगबीर नंबरदार ने कहा कि लड़ाई हमने अपने बलबूते शुरू की है और लड़ाई को किसान अपने बलबूते पर ही जीत कर दम लेंगे आज किसान सभा के धरने को जगदीश नंबरदार हरेंद्र सुरेश यादव अजी पाल भाटी महेश प्रजापति दुष्यंत सेन शेखर सेन रणवीर मास्टर जी यतेंद्र मैनेजर ब्रह्मपाल सूबेदार हरेंद्र खारी मोहित भाटी दीपक नागर रमेश नागर सलेक यादव गवरी मुखिया बुधपाल यादव तिलक देवी जोगेंद्री गीता भाटी प्रेमवती फूलवती संतरा शरबती हरबती ब्रह्मवती ने संबोधित किया वक्ताओं ने आंदोलन के प्रमुख चार मुद्दों 10% आबादी प्लाट, भूमिहीनों के 40 वर्ग मीटर के प्लाट, रोजगार की नीति और नए कानून को लागू करा कर ही धरना खत्म करने का संकल्प लिया।
 वही नोएडा के किसानों ने किसान नेता सुखबीर खलीफा के नेतृत्व में आज भाजपा विधायक पंकज सिंह के कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया। विधायक जी कार्यालय से गायब रहे किसान विधायक कार्यालय पर धरना देकर बैठ गए और कहा कि जब तक विधायक उनके बीच नहीं आएंगे धरना जारी रहेगा किसानों के अड़ियल रुख को देखकर विधायक जी को किसानों के बीच आकर किसानों की बात सुनाई पड़ी।
किसानों के समर्थन में प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे मजदूर नेता सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि गौतम बुध नगर के तीनों विधायकों और सांसद व राज्यसभा सांसद व भाजपा के नेताओं ने किसानों के साथ धोखा किया है लिखित समझौते होने के बाद भी किसानों की समस्याओं/ मांगों का समाधान नहीं किया गया इसी कारण जिले के किसान गुस्से में हैं और नोएडा व ग्रेटर नोएडा में कई महीने से आंदोलनरत हैं अगर किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो यह नाराजगी भाजपा सरकार को महंगी पड़ेगी और इसकी कीमत उन्हें चुकानी पड़ेगी।

मां-बाप की मौत का कारण, मुस्लिम बेटे का प्यार

मां-बाप की मौत का कारण, मुस्लिम बेटे का प्यार 

आदर्श श्रीवास्तव 
सीतापुर। उत्तर प्रदेश के सीतापुर से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जहां एक मुस्लिम बेटे का प्यार करना उसके मां-बाप की मौत का कारण बना है। एक दंपति को उसके पड़ोसियो ने लाठी-डंडों और लोहे की रॉड से बेहरहमी से पीटा जिसके बाद उनकी मौत हो गई। जैसे ही घटना के बारे में पुलिस को पता चला वैसे ही एसपी, एएसपी और सीओ समेत फिंगर प्रिंट एवं क्राइम ब्रांच की टीम मौके पर पहुंचीं और मामले की जांच में जुट गई।
मृतक दंपत्ति की बेटी ने अपने माता-पिता की हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराते हुए अपने पड़ोसी परिवार के 5 लोगों को नामजद किया है। जिसके बाद पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है। यह मामला हरगांव थाना क्षेत्र के राजेपुर गांव का है। बताया जा रहा है कि मृतक दंपत्ति के बेटे का पड़ोसी की बेटी से प्रेम प्रसंग था, जिसे लेकर दोनों परिवारों के बीच काफी समय से विवाद चल रहा था। इसी वजह से पड़ोसियों ने दंपति की पीट-पीटकर हत्या कर दी।
बता दें, पड़ोसी रामपाल और उसका परिवार अपनी बेटी के अब्बास के बेटे शौकत से अफेयर को लेकर नाराज था। कुछ दिन पहले शौकत ने रामपाल की बेटी को भी अगवा कर लिया था। जिसके बाद रामपाल ने शौकत के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज कराया। पुलिस ने शौकत को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
एसपी चक्रेश मिश्रा के मुताबिक, शौकत हाल ही में दो दिन पहले ही जेल से छूटकर आया था और इसके बाद दोनों परिवारों के बीच झगड़ा शुरू हो गया और विवाद इतना बढ़ गया कि रामपाल ने चार लोगों के साथ मिलकर अब्बास और उसकी पत्नी पर लाठी-डंडों और पत्थरों से हमला कर दिया। लोहे की रॉड से पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी गई। फिलहाल इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें सक्रिय हैं। एसपी का कहना है कि गांव में भी भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

प्रेमी शादीशुदा 2 बच्चों का बाप निकला, धोखा

प्रेमी शादीशुदा 2 बच्चों का बाप निकला, धोखा 

अविनाश श्रीवास्तव 
दरभंगा। बिहार के दरभंगा में भी सीमा हैदर जैसी मिलती-जुलती कहानी देखने को मिली है। हलांकि, इस कहानी में थोड़ा अंतर यह है कि यहां प्रेमी पहले से ही शादीशुदा और दो बच्चों का बाप निकला। दरअसल, नेपाल की रहने वाली संगीता देवी ने प्रेमी गोविंद के लिए पहले पति को तलाक दे दिया। फिर गोविंद से शादी कर ली।
लेकिन उसे नहीं पता था कि गोविंद पहले से ही शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं। गोविंद उसे काफी समय से इग्नोर कर रहा था। संगीता को पता नहीं लग रहा था कि आखिर गोविंद उसके साथ ऐसा क्यों कर रहा है। उसने गोविंद के असली घर का पता निकलवाया। फिर जब वह उसके घर पहुंची तो उसके होश उड़ गए। पता चला जिस गोविंद ने उससे शादी की है वह तो पहले से ही शादीशुदा है।
इसके कारण घर में काफी हंगामा हुआ। गोविंद ने संगीता के साथ-साथ पहली पत्नी को भी घर से निकाल दिया और खुद वहां से कहीं चला गया। क्या है पूरा मामला चलिए जानते हैं।

उल्टी आना, तेज पसीना आना हार्ट अटैक के लक्षण

उल्टी आना, तेज पसीना आना हार्ट अटैक के लक्षण 

सरस्वती उपाध्याय 
हार्ट अटैक जुकाम-बुखार जितना कॉमन नहीं हैं, इसलिए ज्यादातर लोग इसके लक्षण नहीं समझ पाते। दिल के दौरे के कुछ लक्षण एसिडिटी या गैस जैसे भी लगते हैं, इस वजह से लोग कन्फ्यूज हो जाते हैं। हार्ट अटैक के Golden Hour यानी 1 घंटे के भीतर इलाज मिल जाए तो जीवन बच सकता है। इसलिए इन लक्षणों को इग्नोर नहीं करना चाहिए जैसे सीने के बीच में दर्द होना, ब्लड प्रेशर बढ़ना, उल्टी आना और तेज पसीना निकलना। जी हां बाकी लक्षणों के साथ हद से ज्यादा पसीना आना भी हार्ट अटैक का अहम संकेत है। कार्डियोलॉजिस्ट आरती लाल चंदानी ने कुछ लक्षण बताए हैं जिनसे दिल के दौरे की पहचान की जा सकती है।
डॉक्टर चंदानी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर एक वीडियो शेयर किया है। इसमें उन्होंने बताया कि हार्ट अटैक के कई लक्षणों में पसीना भी एक है। जब इतना पसीना आए कि कपड़े भीग जाएं। आमतौर पर पसीना आना आम बात है क्योंकि भारत में ह्मयूमिडिटी और गर्मी होती है। हमेशा पसीना हार्ट अटैक का लक्षण नहीं।
हार्ट अटैक के पसीने से पहले सीने में दर्द होगा, उलझन होगी और सीने के बीच में दिक्कत या दवाब महसूस होगा। समझ में नहीं आएगा कि क्या हो रहा है। काफी तकलीफ होगी। यह दर्द या दवाब छोटे एरिया नहीं बल्कि बड़े एरिया में होगी। मुट्ठीभर के एरिया से ज्यादा जगह में दर्द होगा। यह पेन फैलेगा। नीचे की तरफ कम ज्याता है और ऊपर की तरफ फैलता है। आपको गले में घुटन, हाथों में भारीपन, कंधों पर वजन जैसा, या सीने पर कसने जैसा फील हो सकता है। आपको लग सकता है कि सांस नहीं आ रही। इसके साथ अगर तेज पसीना है तो यह हार्ट अटैक का अहम लक्षण बन जाता है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-308, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. मंगलवार, अगस्त 22, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:06।

5. न्‍यूनतम तापमान- 23 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

कांग्रेस-आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बनी

कांग्रेस-आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बनी  अखिलेश पांडेय  नई दिल्ली। कांग्रेस और आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बन गई है। दिल्ली में आप चार ...