रविवार, 12 जून 2022

सरकार ने 37 आईएएस अधिकारियों का तबादला किया

सरकार ने 37 आईएएस अधिकारियों का तबादला किया

इकबाल अंसारी     

चेन्नई। तमिलनाडु सरकार ने रविवार को कुल 37 भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारियों का तबादला किया। राज्य के स्वास्थ्य सचिव जे. राधाकृष्णन को एक बड़े फेरबदल के तहत खाद्य विभाग में स्थानांतरित कर दिया गया। गृह, मद्य निषेध एवं आबकारी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एस. के. प्रभाकर को राजस्व प्रशासन का अतिरिक्त मुख्य सचिव/आयुक्त बनाया गया है।

वहीं, अतिरिक्त मुख्य सचिव/आयुक्त, वाणिज्यिक कर के. फणींद्र रेड्डी ने गृह विभाग में प्रभाकर की जगह ली है। प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग राधाकृष्णन को अब प्रमुख सचिव, सहकारिता, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के पद पर नियुक्त किया गया है। पी सेंथिल कुमार, प्रमुख सचिव/विशेष कार्य अधिकारी, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण को राधाकृष्णन के स्थान पर प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य विभाग निुयक्त किया गया है।

कांग्रेस अध्यक्ष गांधी को अस्पताल में भर्ती कराया

कांग्रेस अध्यक्ष गांधी को अस्पताल में भर्ती कराया

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को कोविड से संबंधित समस्याओं के चलते रविवार को सर गंगा राम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इसके बारे में जानकारी दी है। सोनिया गांधी हाल के दिनों में ही कोरोना संक्रमित हुई थीं, जिसके बाद से वह धीरे- धीरे रिकवर हो रही थीं, लेकिन स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के कारण आज उनको सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इसके बारे में जानकारी दी है। फिलहाल उनकी हालत स्थिर बानी हुई है। गौरतलब है कि 75 वर्षीय सोनिया गांधी दो जून को कोरोना पॉजिटव हो गई थीं, इसके बाद वह धीरे-धीरे रिकवर हो रही थीं। नेशनल हेराल्ड मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोनिया गांधी को 23 जून को पूछताछ के लिए बुलाया था। इसके पहले सोनिया गांधी को ईडी ने आठ जून को समन कर पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन कोरोना संक्रमित होने के कारण सोनिया गांधी इस तारीख को ईडी कार्यालय नहीं पहुंची थीं, जिसके बाद उनको 23 जून को बुलाया गया है।

नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गांधी को ईडी ने दो जून को समन भेज कर पूछताछ के लिए बुलाया था। उस समय राहुल गांधी भारत में नहीं थे, ऐसे में उन्होंने ईडी से नई तारीख मांगी थी, जिसके बाद राहुल गांधी को ईडी ने 13 जून को पूछताछ के लिए नया समन भेजकर बुलाया है। वहीं आज देश भर में कांग्रेस पार्टी नेशनल हेराल्ड को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रही है।

प्रदर्शन कर रहें, लोगों पर फायरिंग की निंदा की

प्रदर्शन कर रहें, लोगों पर फायरिंग की निंदा की 

इकबाल अंसारी  
रांची। एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने रांची में प्रदर्शन कर रहें लोगों पर फायरिंग की निंदा की है। साथ ही उन्होंने यह भी जोड़ा की प्रदर्शन में हिंसा नहीं होनी चाहिए थी।
पत्रकारों से बात करते हुए ओवैसी ने कहा कि हमें नूपुर शर्मा की मांफी नहीं चाहिए है। कानून अपना काम करेगा। कहीं भी हिंसा न हो, इसे रोकना सरकारों का काम है। जब नूपुर ने यह बयान दिया था, तब ही मैंने सरकार को बताया था। लेकिन उन्होंने मेरी नहीं सुनी। जब दूसरे देशों से इस मामले में प्रतिक्रियाएं आने लगी तो भारत सरकार एक्टिव हुई।
उधर कुछ मुस्लिम संगठनों ने प्रदर्शनकारियों की पुलिस द्वारा हवाई फायरिंग के दौरान हुई मौत के मामले में हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज से जांच करवाने की मांग की है।

'बिग बॉस 16' में हिस्सा लेने के लिए अरोड़ा से संपर्क

'बिग बॉस 16' में हिस्सा लेने के लिए अरोड़ा से संपर्क 

कविता गर्ग  
मुंबई। टेलीविजन के मशहूर और चर्चित रियलिटी शोज में से एक बिग बॉस का दर्शकों को बेसब्री से इंतजार रहता है। इस शो के 15 सीजन पूरे हो चुके हैं। ऐसे में अब मेकर्स जल्द ही इसका नया सीजन लाने की तैयारी में हैं।
नए सीजन की खबरें सामने आने के बाद से ही अब इस शो में हिस्सा लेने वाले कंटेस्टेंट्स के नाम को लेकर सुगबुगाहट तेज हे गई है। इसी क्रम हाल ही में इस शो के कंटेस्टेंट के बारे एक नई जानकारी सामने आई हैं। ताजा रिपोर्ट की मानें तो 'बिग बॉस 16' में हिस्सा लेने के लिए अब अंजलि अरोड़ा से संपर्क किया गया है।

राजनीति: प्रायोजित गुंडागर्दी का प्रतीक बना, यूपी

राजनीति: प्रायोजित गुंडागर्दी का प्रतीक बना, यूपी

हरिओम उपाध्याय 
लखनऊ। उत्तर-प्रदेश में जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज, हाथरास, फिरोजाबाद आदि जगहों पर हुई हिंसा के बाद अब पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। इन सब के बीच इस मसले पर सियासत भी जारी है। आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी ने कहा है, "बुलडोजर कानून का राज लागू नहीं कर रहा है। बल्कि, यह राज्य प्रायोजित गुंडागर्दी का प्रतीक बन गया है।
दरअसल यह बयान तक आया है। जब प्रयागराज हिंसा के मास्टरमाइंड मोहम्मद जावेद उर्फ पंप के अवैध घर पर बुलडोजर चल रहा है।
उत्तर-प्रदेश पुलिस हिंसा में शामिल लोगों को गिरफ्तार व उनपर कार्रवाई करने में जुटी हुई है। प्रदेश में पुलिस ने अब तक 300 से अधिक आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें प्रयागराज से 91, हाथरस से 51, सहारनपुर से 71, मुरादाबाद से 34, फिरोजाबाद से 15, अलीगढ़ से छह, अम्बेडकरनगर से 34 और जालौन से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
इन सभी के खिलाफ पथराव, माहौल बिगाड़ने तथा लोगों को भड़काने में लिप्त होने का आरोप है। बवाल करने वालों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई लगातार चल रही है। फिलहाल इन सभी जिलों के हिंसा वाले इलाकों में सुरक्षा व्यवस्था सामान्य है और हालात काबू में हैं।

चीन की सीमा पर तैनात 2 जवान लापता, सुराग नहीं

चीन की सीमा पर तैनात 2 जवान लापता, सुराग नहीं

अखिलेश पांडेय/ इकबाल अंसारी
बीजिंग/ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश में चीन की सीमा पर तैनात 2 जवान पिछले 14 दिनों से लापता है। 29 मई से लेकर अभी तक लापता हुए जवानों का कोई सुराग तक हाथ नहीं लग सका है। सेना और स्थानीय लोग लापता हुए दोनों जवानों की खोज-बीन करने में लगे हुए हैं। अरुणाचल प्रदेश में चीन की सीमा पर तैनात उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के उखीमठ के चिलौना के रहने वाले नायक प्रकाश राणा तथा एक अन्य जवान पिछले 14 दिनों से लापता होना बताए जा रहे हैं।
29 मई से लापता हुए जवानों का अभी तक कोई सुराग हाथ नहीं लग पाया है। सेना की ओर से जवानों के परिजनों को उनके लापता होने की सूचना दे दी गई है। लापता होने की खबर मिलने के बाद दोनों जवानों के परिजन बुरी तरह से परेशान हैं। मूल रूप से रुद्रप्रयाग जिले के चिलौना गांव के रहने वाले 34 वर्षीय नायक प्रकाश राणा का परिवार फ़िलहाल देहरादून के अम्बी वाला के सैनिक कालोनी में रह रहा है। गढ़वाल राइफल्स में तैनात नायक राणा इन दिनों अरुणाचल प्रदेश में चीन सीमा से लगी हुई चाकला पोस्ट पर तैनात हैं।

घृणास्पद भाषण-इस्लामोफोबिया के बढ़ने पर चुप्पी तोड़ें

घृणास्पद भाषण-इस्लामोफोबिया के बढ़ने पर चुप्पी तोड़ें

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। पैगंबर मोहम्मद के बारे में भाजपा के दो पूर्व पदाधिकारियों की कथित विवादित टिप्पणियों को लेकर पैदा हुए आक्रोश के बीच कांग्रेस के नेता शशि थरूर ने रविवार को कहा कि अब समय आ गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में ''घृणास्पद भाषण और इस्लामोफोबिया की घटनाओं के बढ़ने'' पर अपनी चुप्पी तोड़ें। थरूर ने कहा कि कुछ लोग मोदी की चुप्पी को, जो कुछ हो रहा है, उसके समर्थन के तौर पर देख रहे हैं।
थरूर ने में कहा कि विडंबना यह है कि हाल के वर्षों में भारत सरकार ने इस्लामी देशों के साथ संबंधों को मजबूत करने के लिए जो ”प्रभावशाली कदम” उठाए हैं, उनके ”कमजोर” होने का खतरा पैदा हो गया है। 
पूर्व केंद्रीय मंत्री ने देश में ईशनिंदा कानूनों की आवश्यकता पर चल रही बहस की भी बात की और कहा कि वह ऐसे कानूनों को पसंद नहीं करते क्योंकि दूसरे देशों में इन कानूनों का इतिहास इसके दुरुपयोग के मामलों से भरा पड़ा है। नमाज के बाद भड़की हिंसा पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर बोले- लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है।

'लोकतंत्र' में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं: ठाकुर

'लोकतंत्र' में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं: ठाकुर

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने जुमे की नमाज के बाद भड़की हिंसा के संदर्भ में बोलते हुए कहा, कि लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है। सूचना एवं प्रसारण मंत्री ठाकुर ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है। लोकतंत्र में हर किसी को अपनी बात रखने का मौका मिलना चाहिए और जब बातचीत के माध्यम से समस्याओं को हल किया जा सकता है तो पथराव, आगजनी और उपद्रव के लिए कोई जगह नहीं है।
साथ ही उन्होंने कहा कि चाहे नेता हो या कोई संगठन, आग में घी नहीं डालना चाहिए क्योंकि इससे लोगों के साथ-साथ राज्य को भी नुकसान होता है। वहीं केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कानून और व्यवस्था राज्य का विषय है और इसे बनाए रखने के लिए उन्हें सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

मेरठ: 'गंगा डॉल्फिन पार्क' बनाने की कवायद प्रारंभ

मेरठ: 'गंगा डॉल्फिन पार्क' बनाने की कवायद प्रारंभ

हरिओम उपाध्याय/सत्येंद्र पंवार 
लखनऊ/मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ में हस्तिनापुर से लेकर बिजनौर बैराज और नरौरा बैराज तक डॉल्फिन की संख्या में लगातार इज़ाफा हो रहा है। बीते दिनों हुई डॉल्फिन की गणना में भी सुखद परिणाम सामने आए थे। यहां चालीस से ज्यादा संख्या में ये ख़ूबसूरत जीव पाया गया था। इस ख़ुशख़बरी को देखते हुए अब सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहां गंगा डॉल्फिन पार्क को लेकर एक्शन प्लान प्रस्तुत करने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर अब वन विभाग गंगा डॉल्फिन पार्क का एक्शन प्लान तैयार कर रहा है।
मेरठ में ज़िला वन अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि बिहार की तर्ज़ पर मेरठ में गंगा डॉल्फिन पार्क बनाने की कवायद शुरू हो गई है। उन्होंने कहा कि इसे लेकर एक्शन प्लान बनाकर सरकार को दिया जाएगा। डीएफओ ने बताया कि डॉल्फिन के संरक्षण के लिए वन विभाग लगातार प्रयासरत है।साथ ही ईको टूरिज़्म पार्क बनाए जाने को लेकर भी कवायद जारी है।
गौरतलब है कि बीते दिनों डॉल्फिन की गणना के दौरान मेरठ के हस्तिनापुर स्थित मख़दूमपुर गंगा घाट पर ख़ूबसूरत डॉल्फिन दिखी थी। गणना कर रही टीम ने उस समय डॉल्फिन के साथ सेल्फी भी ली थी। वन विभाग वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और डबल्यू डबल्यू एफ की पांच टीमों ने जलीय जंतु डॉल्फिन की गणना की हैं।आमतौर पर डॉल्फिन की गणना हो जाती है लेकिन तस्वीर कैमरे में कै़द नहीं हो पाती लेकिन इस बार डॉल्फिन की काउंटिंग के समय न सिर्फ डॉल्फिन कैमरे में क़ैद हुई थी बल्कि टीम ने भी इस ख़ूबसूरत जलीय जंतु के साथ सेल्फी ली थी।
इधर बीते दिनों मुख्यमंत्री ने यूपी राज्य वन्यजीव बोर्ड की 13वीं बैठक की अध्यक्षता की थी। मुख्यमंत्री ने 04 वन्यजीव रेस्क्यू सेंटर का शिलान्यास भी किया था। जनपद चित्रकूट स्थित रानीपुर वन्यजीव विहार को टाइगर रिजर्व के रूप में विकसित किए जाने के भी निर्देश दिए गए थे। यह प्रदेश का चौथा टाइगर रिजर्व होगा। प्रदेश में ‘डॉल्फिन पार्क’ की स्थापना की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश के साथ वन्यजीव रेस्क्यू सेण्टर बहिलपुरवा चित्रकूट वन प्रभाग, हस्तिनापुर मेरठ वन प्रभाग, गोपालपुर पीलीभीत टाइगर रिजर्व तथा मधवलिया महराजगंज में स्थापित किये जाने की बात कही गई। लखनऊ के कुकरैल वन क्षेत्र में नाइट सफारी और अत्याधुनिक चिड़ियाघर का विकास कराया जाना है, इसे लेकर वन, नगर विकास, आवास एवं लोक निर्माण विभाग मिलकर कार्ययोजना तैयार करे ऐसा कहा गया।
‘एक जनपद-एक गन्तव्य’ योजना के अन्तर्गत हर जनपद में ईको पर्यटन के अनुकूल स्थलों पर पर्यटन सुविधाओं को विकसित किया जाने का भी निर्देश दिया गया है। स्थानीय और योग्य युवाओं को चयनित कर ‘नेचर गाइड’ के रूप में प्रशिक्षण और यूनीफॉर्म उपलब्ध करायी जाने की बात भी कही गई है। पर्यटकों को ईको पर्यटन स्थलों की ओर आकर्षित करने के लिए पर्यटन एवं संस्कृति विभाग कार्ययोजना बनायें, टूर ऑपरेटर्स को इससे जोड़ा जाये ऐसा भी कहा गया।वन्यजीवों के रेस्क्यू में संवेदनशीलता के साथ मानकों का पूरा ध्यान रखा जाने का भी निर्देश इस समीक्षा बैठक में दिया गया। अगले महीने आयोजित होने वाले ‘वन महोत्सव’ की सभी तैयारियां समय से पूरी किए जाने का भी निर्देश दिया गया।

एक ‘कंगारू अदालत’ चला रहे हैं, सीएम: मुफ्ती

एक ‘कंगारू अदालत’ चला रहे हैं, सीएम: मुफ्ती 

इकबाल अंसारी 
श्रीनगर। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने रविवार को कहा कि ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक ‘कंगारू अदालत’ (अवैध अदालत) चला रहे हैं। जहां अल्पसंख्यकों के स्वामित्व वाली इमारतों को लगातार ध्वस्त किया जाता है। मुफ्ती की यह टिप्पणी उत्तर प्रदेश में कानपुर विकास प्राधिकरण द्वारा रविवार को की गई एक कार्रवाई के बाद आई है, जिसके तहत शहर में पिछले सप्ताह हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन के मुख्य आरोपी के एक करीबी सहयोगी के स्वामित्व वाली एक बहुमंजिला इमारत ध्वस्त कर दी।
महबूबा ने ट्वीट किया, ‘ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कोई कंगारू अदालत चला रहे हैं, जहां अल्पसंख्यकों के स्वामित्व वाली इमारतों को नियमित रूप से ध्वस्त किया जाता है। घर जीवन बर्बाद हो जाते है। दुर्भाग्य से न्यायपालिका मौन रहकर देखती रहती है। क्या अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोष जताया जाएगा, तब भारत सरकार इस बारे में अपने रुख में बदलाव करेगी।
पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ भाजपा के पूर्व नेताओं की टिप्पणियों से उपजे विवाद पर कहा था कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार अपने प्रवक्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करने के मूड में नहीं थी, लेकिन खाड़ी देशों का दबाव बढ़ने के बाद उनके पास कोई रास्ता नहीं बचा था‌‌। उन्होंने कहा था कि हम सभी मुसलमान कुछ भी बर्दाश्त कर सकते हैं लेकिन प्यारे पैगंबर (PBUH) के खिलाफ टिप्पणी बर्दाश्त नहीं कर सकते। एक मुसलमान पैगंबर की मर्यादा के लिए अपनी जान भी कुर्बान कर सकता है। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह भारत के खिलाफ अल-कायदा के खतरे की निंदा करती हैं, लेकिन साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि अब भाजपा इस खतरे का इस्तेमाल अपने इस कथन को मजबूत करने के लिए करेगी कि ‘हिंदू खतरे में हैं।बीजेपी और केंद्र सरकार को कोसते हुए उन्होंने कहा था कि कार्रवाई तभी हुई जब खाड़ी देशों ने भारत पर अपना दबाव बनाया। उन्हें (भाजपा) कार्रवाई करने के लिए मजबूर किया गया अन्यथा वे उन्हें दंडित करने के मूड में नहीं थे। इसके अलावा उन्होंने पूर्व भाजपा नेताओं नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के खिलाफ की गई कार्रवाई पर सवाल भी उठाया।पीडीपी प्रमुख ने कहा कि पैगंबर विरोधी टिप्पणी के लिए उनके प्रवक्ता के खिलाफ की गई कार्रवाई बहुत मामूली है और आरोप लगाया कि जल्द ही उन लोगों (नूपुर शर्मा, नवीन जिंदल) को पुरस्कृत किया जाएगा और उन्हें माला पहनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता इस्लाम और मुसलमानों से नफरत के लिए जाने जाते हैं।

शामली: 'गरीब कल्याण सम्मेलन' कार्यक्रम का आयोजन

शामली: 'गरीब कल्याण सम्मेलन' कार्यक्रम का आयोजन

भानु प्रताप उपाध्याय  
शामली। वर्ष 2017 में प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद से गुंडा माफियाओं पर कार्रवाई करते हुए उन्हें सबक सिखाने का काम किया जा रहा है। इसके पहले जनपद शामली के कैराना व मुजफ्फरनगर, बागपत जिलों में व्यापारियों में भय का माहौल था। लेकिन अब ऐसा नहीं है। योगी सरकार माफिय पर कार्रवाई कर रही है। ये बातें केंद्र सरकार के आठ वर्ष पूरे होने के अवसर पर रविवार को शामली के वीवी इंटर कालेज में आयोजित गरीब कल्याण सम्मेलन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) व्यावासायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग कपिल देव अग्रवाल ने कहीं। केंद्र सरकार के आठ वर्ष पूरे होने के अवसर पर शामली के वीवी इंटर कालेज में गरीब कल्याण सम्मेलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 
कार्यक्रम का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) व्यावासायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग कपिल देव अग्रवाल ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी एवं प्रदेश की योगी सरकार लगातार विकास कार्यों से जनता को लाभांवित कर रही हैं। साल 2014 से पहले जिन माताओं के घर में गैस कनेक्शन नहीं था, केंद्र सरकार ने उनको गैस कनेक्शन देने का काम किया। माता बहनों को शौच के लिए जंगल में जाना पड़ता था, लेकिन मोदी सरकार ने घर-घर शौचालय देकर महिलाओं के सम्मान को बढ़ाया है। जनधन खाता खुलवाए और खातों में पेंशन योजना भेजी गई। वहीं प्रतिवर्ष 6000 किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि भेजी जा रही है। उन्‍होंने कहा कि वर्तमान सरकार जाति धर्म से परे होकर अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कहा कि 2017 में प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद जहां जनपद शामली के कैराना व मुजफ्फरनगर, बागपत जिलों में व्यापारियों में भय का माहौल था। योगी सरकार ने आज उन गुंडा माफियाओं पर कार्रवाई करते हुए उन्हें सबक सिखाने का काम किया है। सांसद प्रदीप चौधरी ने कहा कि सरकार अंतिम पंक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचा रही है। क्षेत्रीय अध्यक्ष मोहित बेनीवाल ने कहा कि भाजपा सरकार ने इतना विकास किया है, जितना पिछले 70 सालों में भी नहीं हो सका था। 
कार्यक्रम में स्वयं सहायता समूह की 664 महिलाओं को दो करोड़ नौ लाख 14 हजार की धनराशि जारी की गई। विभिन्न विभागों के पांच-पांच लाभार्थियों को डेमो चाबी, चेक, लैपटॉप आदि का वितरण किया गया। इसके साथ ही स्वच्छ भारत मिशन के तहत पांच ग्राम प्रधानों को प्रशस्ति पत्र, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के पांच लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड, बाल विकास परियोजना के तहत आंगनवाडी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन का वितरण किया गया। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी प्रमोद कुमार, उप कृषि निदेशक शिव कुमार केसरी, उपायुक्त स्वतः रोजगार शैलेन व्यास, जिला कार्यक्रम अधिकारी संतोष कुमार श्रीवास्तव समेत विभिन्न् अधिकारी व भाजपा कार्यकता पदाधिकारी मोजूद रहे।

टिकैत ने महिला पत्रकार को भूतनी संबोधित किया

टिकैत ने महिला पत्रकार को भूतनी संबोधित किया 

अकांशु उपाध्याय/संदीप मिश्र  
नई दिल्ली/बुलंदशहर। भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं। बुलंदशहर में आयोजित किसान पंचायत में पहुंचे राकेश टिकैत ने एक महिला पत्रकार को भूतनी कह दिया। इसके बाद वहां मौजूद पत्रकारों ने इसका विरोध किया। वहीं, महिला पत्रकार ने राकेश टिकैत के द्वारा खुद को भूतनी संबोधित करने पर आपत्ति दर्ज की है। रविवार को आयोजित किसान पंचायत में राकेश टिकैत का यह बयान विवादित बन चुका है।
किसान पंचायत के दौरान स्थानीय मीडिया के लोग राकेश टिकैत से बात करने पहुंचे थे। राकेश टिकैत से तमाम पत्रकार तरह तरह के सवाल कर रहे थे। इसी बीच एक महिला पत्रकार ने राकेश टिकैत से कहा कि आप औरंगजेब की कब्र पर फूल चढ़ाने गए थे। इस तरह राकेश टिकैत ने कहा कि हम फूल चढ़ाने नहीं गए। राकेश टिकैत आगे बोले लेकिन औरंगजेब मरते समय एक अच्छी जगह मरा। औरंगजेब ने जहां अपने प्राण त्यागे वहां जैन मंदिर है और शिव मंदिर भी है।
इसके बाद महिला पत्रकार ने राकेश टिकैत से सवाल किया कि औरंगजेब के प्राण त्यागने का तो पता नहीं लेकिन आपको क्या नहीं पता है कि औरंगजेब ने कितने मंदिर तोड़े थे और कितनी मस्जिद बनवाई थी। इस सवाल का राकेश टिकैत जवाब नहीं दे रहे थे। इस पर राकेश टिकैत ने सवाल का जवाब दिए बगैर बात घुमाते हुए कहा कि राजनीतिक पार्टियां एक बीमारी है।
राकेश टिकैत से जब महिला पत्रकार ने सवाल किया कि आप राजनीतिक पार्टियों को बीमारियां कैसे कह सकते हैं। तो राकेश टिकैत ने इसका भी जवाब नहीं दिया और अन्य बात करने लगे।महिला द्वारा लगातार सवाल पूछने पर राकेश टिकैत ने महिला पत्रकार को भूतनी कहकर संबोधित किया। इसपर महिला पत्रकार ने आपत्ति दर्ज कराई और कहा कि मैं लड़की हूं आप मुझे भूतनी कैसे कह सकते हैं। आपको मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए। इसपर राकेश टिकैत बोले की तुम मेरी बात सुनते ही नहीं हो। बता दें कि राकेश टिकैत के इस बयान के बाद अन्य पत्रकारों ने भी नाराजगी जताई।

सहारनपुर: 2 हादसों में दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल

सहारनपुर: 2 हादसों में दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल 

भानु प्रताप उपाध्याय            
सहारनपुर। उत्तर-प्रदेश के सहारनपुर में रविवार को 2 अलग-अलग हादसों में दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। पुलिस ने घायलों को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया।
सहारनपुर के गागलहेड़ी थाना क्षेत्र अंतर्गत देहरादून सहारनपुर हाईवे पर शिवालिक ढाबे के निकट श्रद्धालुओं की टूरिस्ट बस खाई में पलटीं। दो दर्जन से अधिक यात्री घायल हुए। पुलिस ने घायलों को हरोड़ा सीएचसी मे भर्ती कराया है। पुलिस नें मौके पर पहुंचकर क्रेन की मदद से बस को बाहर निकाला श्रदालुओं से भरी बस महाराष्ट्र से केदारनाथ जा रही थीं। पुलिस ने श्रद्धालुओं के लिए भोजन आदि की भी व्यवस्था की है।

तैयारी: राष्ट्रपति बनने के लिए चुनाव लड़ेंगे, यादव

तैयारी: राष्ट्रपति बनने के लिए चुनाव लड़ेंगे, यादव

अकांशु उपाध्याय/अविनाश श्रीवास्तव
नई दिल्ली/पटना। राष्ट्रपति चुनाव के लिए 18 जुलाई को मतदान होगा। अभी तक बीजेपी या कांग्रेस पार्टी की तरफ से इस पद के लिए किसी के नाम का ऐलान नहीं हुआ है। लेकिन, इस बीच बिहार के लालू प्रसाद यादव राष्ट्रपति बनने के लिए चुनाव लड़ने जा रहे है। नामांकन दाखिल करने के लिए वह 15 जून को दिल्ली पहुंचने की तैयारी कर रहे हैं। आपको बता दें कि हम बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की बात नहीं कर रहे, बल्कि सारण के रहने वाले लालू प्रसाद यादव की बात कर रहे हैं।
सारण जिले के मढ़ौरा नगर पंचायत क्षेत्र स्थित यादव रहीमपुर के निवासी लालू प्रसाद यादव ने साल 2017 में हुए राष्ट्रपति चुनाव के लिए भी नामांकन किया था। लेकिन संख्या बल पूरा नहीं होने के चलते उनका नामांकन रद्द हो गया था। इस बार वो पूरी तैयारी में है। नामांकन दाखिल करने के लिए वो 15 जून को जाने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने इसके लिए फ्लाइट का टिकट भी बुक करा लिया है।
जानकारी के मुताबिक, लालू प्रसाद यादव नगर पंचायत से लेकर राष्ट्रपति चुनाव तक में अपना भाग्य आजमा चुके हैं। ये बात अलग है कि उन्हें आज तक सफलता नहीं मिली है। वो साल 2001 में सबसे पहले वार्ड पंचायत चुनाव लड़े थे, इस चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद साल 2006 और 2009 तक वार्ड पंचायत का चुनाव लड़े और हार गए।

आवाजाही: रेलवे ने राज्यरानी समेत 8 ट्रेनें निरस्त की

आवाजाही: रेलवे ने राज्यरानी समेत 8 ट्रेनें निरस्त की 

अकांशु उपाध्याय/सत्येंद्र पंवार 
नई दिल्ली/मेरठ। मेरठ में एक माह में कई बार निरस्त हो चुकी राज्यरानी को एक दिन के लिए और निरस्त कर दिया गया है। कोयले से लदी मालगाड़ियों की आवाजाही बढ़ने के कारण रेलवे ने राज्यरानी समेत 8 ट्रेनें फिर से निरस्त कर दी हैं। लखनऊ से चलने वाली राज्यरानी 13 को और मेरठ से चलने वाली राज्यरानी 14 जून को निरस्त रहेगी। इसके पहले कई ट्रेनों को रद्द किया जा चुका है। ऐसे में जिन यात्रियों ने अपना प्रोग्राम बना रखा था, उन्‍हें परेशानी उठानी पड़ेगी।
पूर्व में जारी सूचना में 13 से लखनऊ और 14 से मेरठ से ट्रेन का संचालन होना था। बरेली से रोजा 13 जून और रोजा से बरेली 14 जून को निरस्त रहेगी। प्रयागराज से बरेली और बरेली से प्रयागराज 13 जून को निरस्त रहेगी। बरेली मुरादाबाद से काठ गोदाम एक्सप्रेस भी 13 को नहीं चलेगी।
आपका बता दें कि कोयले की आपूर्ति करने के लिए मालगाड़ियों की आवाजाही बढ़ी हुई है। इसलिए तीन जून को लखनऊ से आरंभ होने वाली राज्यरानी को 12 जून तक निरस्त कर दिया गया था। चार जून से मेरठ से चलने वाली राज्यरानी भी अब नहीं चली। इसे 13 तक निरस्त कर दिया गया था लेकिन एक बार फिर इसे निरस्‍त कर दिया गया है।
राज्यरानी समेत चार जोड़ी ट्रेनों को निरस्त किया गया है। जो यात्री तीन को लखनऊ से और चार को मेरठ से राज्यरानी से सफर करने की सोच रहे थे उन्हें निराशा हाथ लगी है। सवा माह के अंतराल में चौथी बार ट्रेन को निरस्त किया गया है। मेरठ से लखनऊ के लिए केवल एक ट्रेन नौचंदी एक्सप्रेस है वह भी पांच जून को निरस्त रहेगी। लखनऊ से चलने वाली नौचंदी छ: को निरस्त रहेगी। इसके पहले मुरादाबाद सहारनपुर रूट पर निर्माण कार्य के कारण बुधवार को लखनऊ जाने वाली नौचंदी एक्सप्रेस निरस्त रही। खुर्जा पैसेंजर का संचालन भी रद रहा। वाया मेरठ सहारनपुर से प्रयागराज जाने वाली नौचंदी पांच जून को भी निरस्त कर दिया था। वहीं प्रयागराज से चलने वाली नौचंदी दो जून और छह जून को निरस्त रही। मेरठ से लखनऊ जाने वाली इस समय नौचंदी एक मात्र ट्रेन है। राज्यरानी तीन जून तक निरस्त थी।

साइंस: अनचाही प्रेग्नेंसी को रोकने के 2 तरीके

साइंस: अनचाही प्रेग्नेंसी को रोकने के 2 तरीके 

डॉक्टर सुभाषचंद्र गहलोत  
कैरेकस। वेनेजुएला में मेडिकल साइंस दिनों-दिन तरक्की करता जा रहा है। दवाई के साथ ही कई ऐसी तकनीक बाजार में आ चुकी हैं। जो लोगों को अलग-अलग मामलों में काफी मदद करती है। इन्हीं में से एक है, अनचाही प्रेग्नेंसी को रोकना। अनचाहें गर्भ को दो तरीके से रोक सकते हैं। पहला है दवाइयों के जरिए, जबकि दूसरा है अबॉर्शन की मदद से‌, अबॉर्शन क्योंकि अधिकतर देश में प्रतिबंधित है। और बहुत ही रेयर केस में इसकी अनुमति मिलती है। ऐसे में लोगों के पास गर्भनिरोध का ही विकल्प बचता है। बड़ी संख्या में लोग इसका इस्तेमाल करते भी हैं, लेकिन दुनिया में एक देश ऐसा है, जहां गर्भनिरोध से जुड़ी चीजों की कीमत सोने से भी ज्यादा है।
रिपोर्ट के मुताबिक, यहां कंट्रासेप्टिव पिल्स की मांग अन्य गर्भनिरोध प्रोडक्ट की तुलना में काफी अधिक रहती है। इस देश में एक पैकेट कंडोम की कीमत करीब 60 हजार रुपये तक है। हैरानी की बात ये है कि इतना महंगा होने के बाद भी लोग इसे खूब खरीदते हैं‌। इसके अलावा गर्भनिरोध गोलियों की कीमत करीब 5-7 हजार रुपये है। इसके अलावा अन्य प्रोडक्ट भी काफी महंगे हैं। ब्लैक मार्केट में इनके दाम और अधिक हो जाते हैं।
हम जिस देश की बात कर रहे हैं, उसका नाम वेनेजुएला है। दक्षिण अमेरिका के इस देश में किसी भी स्थिति में गर्भपात कानून अपराध है। जेल जाने और अबॉर्शन की स्थिति न बने इसके लिए लोग पहले से अलर्ट रहते हुए सावधानी से संबंध बनाते हैं‌। ऐसे में यहां गर्भनिरोध से जुड़े सामान लगातार महंगे होते जा रहे हैं।

ग्राम स्वराज, पंचायतों के सशक्तीकरण में मुकाम हासिल

ग्राम स्वराज, पंचायतों के सशक्तीकरण में मुकाम हासिल

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि पिछले 8 वर्ष में भारत ने ‘‘ग्राम स्वराज’’ और ‘‘पंचायतों के सशक्तीकरण’’ में नए मुकाम हासिल कियें हैं। उन्होंने देश भर में गांवों के सरपंचों से सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने, जल संरक्षण करने और आने वाले योग दिवस को विशेष बनाने का आह्वान भी कहा। सरकार के आठ साल का कार्यकाल पूरा होने के कुछ दिनों बाद देश भर में सरपंचों को लिखे एक पत्र में प्रधानमंत्री ने कई मुद्दों का उल्लेख किया और उनसे उन पर सहयोग मांगा। साथ ही उन्होंने पिछले आठ सालों में उनके योगदान की सराहना भी की।
उन्होंने सरपंचों से कहा कि वे 21 जून को मनाए जाने वाले आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को विशेष बनाएं और अपने-अपने गांवों में सभी को इससे जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने आग्रह किया कि वे योग के लिए अपने गांव के किसी प्राचीन या पर्यटन स्थल या क्षेत्र में कहीं भी तालाब या जल निकाय का चयन करें और सभी को इसमें शामिल करें। साथ ही उन्होंने इसकी तस्वीरें भी साझा करने का अनुरोध किया। ताकि अन्य लोगों को उससे प्रेरणा मिले।



'डब्लयूटीओ' की 12वीं मंत्रिस्तरीय बैठक प्रारंभ

'डब्लयूटीओ' की 12वीं मंत्रिस्तरीय बैठक प्रारंभ 

अकांशु उपाध्याय/सुनील श्रीवास्तव      
नई दिल्ली‌/जिनेवा। विश्व व्यापार संगठन (डब्लयूटीओ) की 12वीं मंत्रिस्तरीय बैठक जिनेवा में रविवार से शुरू हो रहीं है। चार दिवसीय इस बैठक में भारत खाद्य सुरक्षा कार्यक्रमों के लिए अनाज के सार्वजनिक भंडारण के मुद्दे का स्थायी समाधान तलाशने के लिए डब्ल्यूटीओ पर दबाव बनाएगा‌। और किसानों और मछुआरों के हितों की दृढ़ता से रक्षा करेगा। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल कर रहे हैं।
यह बैठक 4 साल के अंतराल के बाद यूक्रेन-रूस युद्ध और अनिश्चित वैश्विक आर्थिक स्थिति की पृष्ठभूमि में आयोजित हो रही है‌। पिछली बार यह 2017 में अर्जेंटीना में आयोजित किया गया था। एमसी (मिनिस्टीरियल कॉन्फ्रेंस) 164 सदस्यीय विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) का सर्वोच्च निर्णय लेने वाला निकाय है। बैठक में कोविड-19 महामारी पर डब्लयूटीओ की प्रतिक्रिया सहित पेटेंट छूट कृषि और खाद्य सुरक्षा विश्व व्यापार संगठन में सुधार प्रस्तावित मात्स्यिकी सब्सिडी समझौता और इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसमिशन पर मोरेटोरियम का विस्तार जैसे मुख्य मुद्दों पर चर्चा होगी।
इस श्रेणी के अंतर्गत आने वाले मुख्य मुद्दों में खाद्य सुरक्षा उद्देश्यों के लिए पब्लिक स्टॉक होल्डिंग, व्यापार-विकृत घरेलू सब्सिडी, बाजार की पहुंच, विशेष सुरक्षा तंत्र, निर्यात प्रतिबंध और निषेध, और पारदर्शिता शामिल हैं। नई दिल्ली का जोर खाद्य सुरक्षा कार्यक्रमों के लिए पब्लिक स्टॉक होल्डिंग (PSH) के मुद्दे का स्थायी समाधान खोजने पर होगा। सार्वजनिक भंडारण नीति के तहत सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर किसानों से चावल और गेहूं जैसी फसलें खरीदती है, भंडारण करती है और गरीबों को खाद्यान्न का वितरण करती है।
एमएसपी आम तौर पर प्रचलित बाजार दरों से अधिक होता है और इसके तहत खरीदे गए अन्न को 800 मिलियन से अधिक गरीबों की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कम कीमत पर उपलब्ध कराया जाता है।हालांकि, कृषि पर विश्व व्यापार संगठन का समझौता सरकार की एमएसपी पर अन्न खरीदने की क्षमता को सीमित करता है। वैश्विक व्यापार मानदंडों के तहत, विश्व व्यापार संगठन के सदस्य देश के खाद्य सब्सिडी बिल को 1986-88 के संदर्भ मूल्य के आधार पर उत्पादन मूल्य के 10 प्रतिशत की सीमा का उल्लंघन नहीं करना चाहिए।
विशेषज्ञों के अनुसार, ‘इसलिए, भारत को पब्लिक स्टॉक होल्डिंग को लेकर डब्ल्यूटीओ से स्थायी समाधान की तलाश अत्यंत महत्वपूर्ण है। भारत ने घरेलू समर्थन के साथ कोई संबंध नहीं होने की बात कहकर इस मुद्दे का तेजी से समाधान करने की मांग की है। इस मुद्दे के स्थायी समाधान के लिए, भारत ने डब्ल्यूटीओ से खाद्य सब्सिडी कैप की गणना के फॉर्मूले में संशोधन करने और पीस क्लॉज के दायरे में 2013 के बाद लागू कार्यक्रमों को शामिल करने जैसे उपायों पर विचार करने के लिए कहा है‌।
पीस क्लॉज के तहत, विश्व व्यापार संगठन के सदस्य देश डब्ल्यूटीओ के विवाद निपटान मंच पर एक विकासशील राष्ट्र द्वारा निर्धारित सीमा के किसी भी उल्लंघन को चुनौती देने से बचने के लिए सहमत हैं। यह क्लॉज तब तक रहेगा जब तक खाद्य भंडारण के मुद्दे का स्थायी समाधान नहीं मिल जाता। भारत यह भी चाहता है कि विश्व व्यापार संगठन अंतरराष्ट्रीय खाद्य सहायता और मानवीय उद्देश्यों के लिए पब्लिक स्टॉक से खाद्यान्न के निर्यात की अनुमति दे, विशेष रूप से गवर्नमेंट टू गवर्नमेंट एग्रीमेंट के आधार पर। डब्ल्यूटीओ के वर्तमान नियमों के मुताबिक कोई भी सदस्य देश पब्लिक स्टॉक होल्डिंग्स के तहत खरीदे गए अनाज का निर्यात नहीं कर सकता, क्योंकि ये सब्सिडी पर खरीदे गए खाद्यान्न होते हैं।
एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने कहा कि भारत विश्व व्यापार संगठन के कामकाज में सुधार के प्रयासों का समर्थन करेगा। लेकिन इसके प्रमुख स्तंभों जैसे कम विकसित और विकासशील देशों के प्रति विशेष रियायत, सबके लिए एक समान विवाद निपटान तंत्र, सुधारों के बाद भी अपने मूल रूप में रहें। विश्व व्यापार संगठन एक बहुपक्षीय निकाय है, जो वैश्विक निर्यात और आयात के लिए नियम तैयार करता है और व्यापार से संबंधित मुद्दों पर दो या दो से अधिक देशों के बीच विवादों का निर्णय करता है। भारत सरकार के अधिकारी ने कहा कि हमारा मानना ​​है कि विश्व व्यापार संगठन एक महत्वपूर्ण संगठन है। इसकी बहुपक्षीय प्रकृति कभी प्रभावित नहीं होनी चाहिए और इसलिए, हम इसके कामकाज में सुधार के किसी भी प्रयास का समर्थन करते हैं।

टिकटॉक स्‍टार नोरिगिया का 19 साल की उम्र में निधन

टिकटॉक स्‍टार नोरिगिया का 19 साल की उम्र में निधन

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय 
नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी/लंदन। मशहूर टिकटॉक स्‍टार कूपर नोरिगिया का महज 19 साल की उम्र में निधन हो गया है। उनकी मौत की खबर से फैंस सदमे में हैं। 9 जून को उन्‍हें लॉस एंजिलिस के एक मॉल के पार्किंग एरिया में मृत पाया गया था। कपूर की मौत का कारण अभी तक सामने नहीं आया है। पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही हैं।
टिक टॉक स्‍टार कूपर नोरिगिया की मौत
बता दें कि कूपर के मौत की जानकारी लॉस एंजिलिस मेडिकल एग्‍जामि‍नर ने दी है। गौर करने वाली ये है कि कूपर की मौत से कुछ घंटे पहले ही उन्‍होंने सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो पोस्‍ट किया था, जिसमें उन्‍होंने लिखा था, ‘ऐसा कौन सोचता है कि वो लोग जवानी में मर जाएंगे। वीडियो में वह बेड पर लेटे नजर आ रहे थे। 
इस वीडियो के पोस्‍ट करने के कुछ घंटे बाद ही कूपर मृत पाए गए। कूपर की मौत की खबर से उनके फैंस को गहरे सदमा लगा है। रिपोर्ट्स के अनुसार कूपर की बॉडी पर किसी भी तरह के निशान या हिंसा के सबूत नहीं मिले हैं।
फिलहाल पूरे मामले की जांच की जा रही है। कूपर के लिए मेंटल हेल्‍थ बहुत अहम था। हाल ही में उन्‍होंने एक डिस्‍कार्ड ग्रुप बनाया था, जहां वह अपने फॉलोवर्स के साथ मेंटल हेल्‍थ पर बात किया करते थे।
कूपर के टिक टॉक पर 1.77 मिलियन फॉलोअर्स थे। वह टिक टॉक पर अक्सर फैशन के बारे में मजेदार वीडियो पोस्ट किया करते थे। वहीं इंस्टाग्राम पर भी उनके 4,27,000 फॉलोअर्स थे। उन्‍होंने कई टिक टॉक स्‍टार के साथ काम किया है‌। कई शो में हिस्‍सा लेते भी नजर आए थे।

बुलडोजर ने जावेद का घर ध्वस्त करना शुरू किया

बुलडोजर ने जावेद का घर ध्वस्त करना शुरू किया

बृजेश केसरवानी      
प्रयागराज। प्रयागराज में नूपुर शर्मा के बयान के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के मामले में एक्शन जारी है‌। प्रयागराज के अटाला इलाके में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने जावेद पंप को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने जावेद पंप को इस हिंसा का मास्टरमाइंड बताया था। जावेद पंप की गिरफ्तारी के बाद अब प्रयागराज डेवलपमेंट अथॉरिटी यानी पीडीए भी एक्शन में आ गई है। पीडीए ने जावेद पंप के घर पर नोटिस चिपकाकर उसे खाली करने के लिए कहा था। अब भारी पुलिस बल जावेद के घर पहुंच गई है। पुलिस-प्रशासन ने जावेद के घर को छावनी में तब्दील कर दिया है‌। बुलडोजर भी पहुंच गया है और बुलडोजर ने जावेद का घर ध्वस्त करना शुरू भी कर दिया है। 
बुलडोजर ने जावेद के घर का पहला दरवाजा तोड़ दिया है। बुलडोजर से जावेद के घर की बाउंड्री वाल भी गिरा दी गई है। जावेद अहमद के घर को ढहा कर पूरी तरह जमींदोज कर दिया गया है।एसपी सिटी लोगों से मौके पर जमा लोगों से हटने की लगातार अपील कर रहे हैं। जावेद अहमद का घर अंदर से बंद है। सेहत की कामना की मौके पर महिला पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की गई है। जिससे महिलाओं के विरोध करने की स्थिति में उनसे पुलिस निपट सके। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि घर से लोग यदि बाहर नहीं निकले तो दरवाजा तोड़कर टीम अंदर जाएगी और लोगों को बाहर लाया जाएगा। इससे पहले, पीडीए की ओर से चस्पा किए गए नोटिस में आज यानी 12 जून को 11 बजे तक घर में रहने वाले सभी लोगों से अपना सामान हटाने के लिए कहा गया था। पीडीए की ओर से चस्पा नोटिस में कहा गया कि 12 जून को दिन में 11 बजे तक घर खाली कर दें। जिससे अथॉरिटी अपनी कार्रवाई कर सके। 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-247, (वर्ष-05)
2. सोमवार, जून 13, 2022
3. शक-1944, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2079। 
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 32 डी.सै., अधिकतम-45+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

नगर निगम चुनाव में हर तरह के हथकंडे अपनाए

नगर निगम चुनाव में हर तरह के हथकंडे अपनाए अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। नगर निगम चुनाव की मतगणना के नतीजों पर अपनी खुशी जताते हुए...