मंगलवार, 30 नवंबर 2021

माघ मेला की तैयारियों के संबंध में बैठक: संगम

माघ मेला की तैयारियों के संबंध में बैठक: संगम
बृजेश केसरवानी         
प्रयागराज। मण्डलायुक्त संजय गोयल की अध्यक्षता में मंगलवार को मेला प्राधिकरण स्थित आईसीसीसी सभागार में माघ मेला-2022 की तैयारियों की प्रगति के सम्बंध में बैठक आयोजित की गयी। बैठक में मण्डलायुक्त ने सभी सम्बंधित विभागों को माघ मेला-2022 कोे दिव्य, भव्य तथा सकुशल ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु सभी आवश्यक तैयारियांे को समय से सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने पीडब्लूडी, सिंचाई विभाग, स्वास्थ्य विभाग, विद्युत विभाग, जल निगम, मेला प्राधिकरण, गंगा प्रदूषण सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को अपने विभाग से सम्बंधित कार्यों को गुणवत्ता के साथ समय से पूर्ण किये जाने का निर्देश दिया है। 
उन्होंने कहा कि कार्य को पूर्ण करने में किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदासीनता न बरती जाये। मण्डलायुक्त ने पार्किंग एवं ट्रैफिक व्यवस्था के सम्बंध में भी व्यवस्थित कार्य योजना के अनुसार कार्य कराये जाने के लिए कहा है। मण्डलायुक्त ने मेला क्षेत्र की बसावट में कोविड-19 से सम्बंधित मानकों का ध्यान रखते हुए कार्य योजना तैयार करने के लिए कहा। उन्होंने पीडब्लूडी को नदी के कटान को देखते हुए सर्वे कर सही जगहों पर पाण्टुन पुलों का निर्माण कार्य तेजी से पूरा कराये जाने के निर्देश दिये है साथ ही चकर्ड प्लेट बिछाये जाने कार्य को भी तेजी के साथ कराये जाने के लिए कहा है। उन्होंने मेला क्षेत्र में आने वाले श्रद्धालुओं/स्नानार्थियों के लिए चेंजिंग रूम, पब्लिक एड्रेस सिस्टम के साथ-साथ अन्य सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के सम्बंध में भी कार्य योजना के अनुसार कार्य कराये जाने का निर्देश दिया है। 
इस अवसर पर जिलाधिकारी श्री संजय कुमार खत्री, मेलाधिकारी श्री शेषमणि पाण्डेय, एसपी ट्रैफिक, अपर आयुक्त श्री एमपी सिंह सहित अन्य सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।
यातायात माह का समापन समारोह मनायाः कौशांबी
फ़ैज़ अहमद          
कौशाम्बी। यातायात माह के समापन समारोह का आयोजन मंझनपुर चौराहे पर किया गया। समारोह में पुलिस अधीक्षक क्षेत्राधिकारी, यातायात क्षेत्राधिकारी, सिराथू यातायात प्रभारी, निरीक्षक मंझनपुर व थानाध्यक्ष महिला थाना तथा अन्य गणमान्न व्यक्ति उपस्थित रहे। पुलिस अधीक्षक द्वारा यातायात माह के दौरान की गयी कार्यवाहियों के सम्बन्ध में चर्चा की गयी।
यातायात के नियमों का पालन करने हेतु लोगो को जागरूक किया गया। साथ ही उपस्थित अधिकारी कर्मचारीगणों को यातायात नियमों का पालन कराने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया। यातायात माह में आयोजित प्रतियोगी कार्यक्रमों के प्रतिभागी छात्रों को प्रमाण-पत्र देकर उत्साहवर्धन किया गया।

आवासीय कॉलोनी में 'डेरी हटाओ' अभियान चलाया 
अश्वनी उपाध्याय          गाजियाबाद। म्युनिसिपल कमिश्नर महेंद्र सिंह तवर के आदेश पर आज मंगलवार को नगर स्वास्थ्य अधिकारी व उनकी टीम ने कवि नगर जोन के चिरंजीव विहार में आवासीय कॉलोनी में डेरी हटाओ अभियान चलाया गया।
नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथिलेश ने बताया कि चिरंजीव विहार में आवासीय कॉलोनी में लगभग 14 डेरियाँ संचालित थी। इन सभी डेरी मालिकों को पूर्व में नोटिस जारी किया गया था, किंतु आज मौके पर18 डेरियाँ संचालित पाई गई।  नगर निगम ने डेरी स्वामियों को एक और मौका दिया है तथा उन्हें डेरी हटाने के लिए 24 घंटे का टाइम दिया गया है तथा 24 घंटे के अंदर डेयरी ने हटने पर कानूनी कार्यवाही करने का निर्णय लिया गया।
आज मंगलवार को हुई कार्यवाही में स्वास्थ्य विभाग टीम के साथ चौकी प्रभारी अवंतिका थाना, कवि नगर अवर अभियंता पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड, मुख्य सफाई एवं खाद निरीक्षक सिस हिंडन क्षेत्र एवं क्षेत्रीय सफाई एवं खाद निरीक्षक कवि नगर जोन आदि उपस्थित रहे।

किसानों ने 'मुख्यमंत्री' धामी का आभार व्यक्त किया

किसानों ने 'मुख्यमंत्री' धामी का आभार व्यक्त किया

पंकज कपूर             देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा गन्ना मूल्य बढ़ाये जाने पर मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्य सेवक सदन में कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानन्द के नेतृत्व में प्रदेश के किसानों के प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या भी उपस्थित थी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि गन्ने की अगेती प्रजाती का मूल्य 355 रूपये प्रति कुन्तल तथा सामान्य प्रजाति का मूल्य 345 रूपये प्रति कुन्तल किया गया है। जिससे प्रदेश के लाखों किसानों को फायदा होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सितारगंज किसान सहकारी मिल का शुभारम्भ होने से हजारों किसान सीधे लाभान्वित होंगे। भविष्य में वहां एथेनॉल और बिजली का उत्पादन भी होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान परिवार से होने के नाते मैं किसानों के दर्द को भलि भांति जानता हूं। किसान हमारे अन्न दाता हैं। किसानों के हित में जो सम्भव हो, वे निर्णय लिये जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का विजन रहा है कि देश का किसान आर्थिक रूप से सशक्त हो। किसानों के लिए केन्द्र सरकार द्वारा अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं। किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड, किसान सम्मान निधि एवं अनेक योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के पद्चिन्हों पर चलकर राज्य में विकास के कार्य आगे बढ़ाये जा रहे हैं। 2025 तक उत्तराखण्ड को देश का अग्रणी राज्य बनाने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं।


तेजस्वी ने सीएम के इस्तीफे की मांग की: बिहार

अविनाश श्रीवास्तव   

पटना। बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बावजूद मंगलवार को विधानसभा परिसर में शराब की खाली बोतलें मिलने को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गंभीर मामला बताया और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया। बिहार विधानसभा परिसर में दोपहिया वाहनों के लिए पार्किंग स्थल के रूप में चिह्नित क्षेत्र में एक पेड़ के नीचे शराब की कुछ खाली बोतलें मिलने पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नाराजगी जताते हुए प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी के बावजूद शराब की उपलब्धता और उसके सेवन को रोक पाने में सरकार पर विफल रहने का आरोप लगाया और मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की।

उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा परिसर में जिस स्थान पर शराब की खाली बोतलें पायी गयी हैं। वह स्थान मुख्यमंत्री के कक्ष से 100 मीटर से भी कम दूरी पर है। बिहार विधानसभा के केंद्रीय कक्ष में मुख्यमंत्री द्वारा विधायकों को शराब सेवन के खिलाफ संकल्प दिलाने को मात्र दिखावा बताते यादव ने कहा कि संकल्प लिए जाने के 24 घंटे के भीतर उसी परिसर में शराब की बोतलें मिली हैं।

पंचायत 'चुनाव' को लेकर याचिकाओं पर सुनवाई 

राणा ओबराय         चंडीगढ़। हरियाणा में पंचायती चुनाव के लिए लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। काफी समय से प्रदेश में पंचायतों का कार्यभार भी प्रशासनिक अफसरों के पास है और सरपंचों से पावर ले ली गई है। इधर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में पंचायत चुनावों को लेकर याचिकाओं पर सुनवाई हो रही है। जिसमें अलग अलग बार में याचिकाकर्ता और सरकार की तरफ से अपनी अपनी तरफ से दलील दी जा रही है।

हरियाणा में पंचायती चुनाव मामले की हाई कोर्ट में चल रही सुनवाई पर आगे की तारीख दी गई है। अब अगली सुनवाई 27 जनवरी 2022 को होगी। ऐसे में इस साल पंचायत चुनाव न होने के आसार बन गए हैं और यदि अब सरकार चुनाव करवाती है तो उसे पुराने नियमों के तहत ही चुनाव करवाने पड़ेंगे। क्योंकि प्रदेश के पंचायत चुनाव में आरक्षण के प्रावधान के खिलाफ पंजाब एवं हरियाणा हाईकोई में केस दायर किया हुआ है। प्रदेश में 23 फरवरी से पंचायतों का कार्यकाल समाप्त है। अब उनके स्थान पर प्रशासक लगाए गए हैं। जो विकास कार्यों व अन्य कामों को करवा रहे हैं। ऐसे में अब नए प्रत्याशी चुनावों होने का इंतजार कर रहे हैं। प्रदेश में 22 जिला परिषद, 142 पंचायत समिति और 6305 पंचायतों में सरपंच-पंच पदों पर चुनाव होने हैं।

15 अप्रैल को मुख्य केस में याचिकाकर्ता ने कहा कि चुनाव पुराने नियमों के तहत करवाए जाने चाहिए। क्योंकि नए प्रावधान में 8 प्रतिशत सीटें बीसी-ए वर्ग के लिए आरक्षित की गई है। यह किया गया कि न्यूनतम सीटें 2 से कम नहीं होनी चाहिए। जो संभव नहीं हैं। जिला परिषद में 6 जिले ही इस नियम पर खरे उतरे रहे हैं। बाकी जिलों में एक सीट अतिरिक्त जाएगी। इससे आरक्षण बिगड़ रहा है। जो सरकार की मनमानी को दर्शाता है। वहीं नियम महिलाओं को 50 फीसदी सीटें देने का बनाया गया है।

यूपी: नगदी समेटने वाले गैंग का पर्दाफाश किया

यूपी: नगदी समेटने वाले गैंग का पर्दाफाश किया
संदीप मिश्र     
मुजफ्फरनगर। फर्जी कागजातों के आधार पर लोन स्वीकृत कराने के बाद हासिल की गई गाड़ियों को बेचकर नगदी समेटने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस द्वारा 4 लग्जरी गाड़ियां बरामद की गई है। मंगलवार को पुलिस लाइन के मनोरंजन कक्ष में आयोजित की गई प्रेसवार्ता में मीडियाकर्मियों के साथ बातचीत करते हुए एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने बताया है कि थाना नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के संदीप कुमार पुत्र स्वर्गीय बृजपाल सिंह एडवोकेट के आधार कार्ड एवं पैन कार्ड के फर्जी दस्तावेज बनाकर कुछ लोगों द्वारा फर्जी तरीके से 119556 रूपये का क्रेडिट कार्ड बनवाया गया एवं 1750243 रूपये का ऑटो लोन स्वीकृत कराया गया। 
ऑटो लोन पर एक टाटा हैरियर गाड़ी नटवरलालों द्वारा कंपनी से निकाली गई। संदीप कुमार को जब अपने दस्तावेजों पर लोन लिए जाने की जानकारी प्राप्त हुई तो उनके पैरों तले की जमीन खिसक गई। पीड़ित ने पुलिस को तहरीर देते हुए अपने साथ हुए घटनाक्रम की जानकारी देने के बाद इस संबंध में कार्यवाही किए जाने की मांग की। पीड़ित की सूचना पर पुलिस ने इस बड़े फर्जीवाड़े की जांच पड़ताल करते हुए अपना जाल फैलाया और पुख्ता जानकारी के बाद शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला रामपुरी निवासी अंकुश त्यागी पुत्र मुकेश त्यागी, शहर कोतवाली क्षेत्र के रुड़की रोड एकता विहार निवासी आलोक त्यागी पुत्र विजेंद्र त्यागी, नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला गांधी कॉलोनी निवासी संदीप कुमार पुत्र जय भगवान और सुधीर कुमार पुत्र रामपाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ किए जाने पर पता चला कि जालसाजों द्वारा पिछले पांच छह महीने के भीतर फर्जीवाड़ा करते हुए तकरीबन 70 लाख रुपए की गाड़ियां लोगों के फर्जी कागजातों के आधार पर लोन स्वीकृत कराते हुए निकाली गई है। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर विभिन्न कंपनियों की चार लग्जरी गाड़ियों के अलावा 1700 रूपये भी आरोपियों के पास से बरामद किए हैं। एसपी सिटी ने बताया है कि पकड़े गए लोग फर्जी आधार कार्ड, पैन कार्ड एवं फोटो बनाकर बैंक में कागज जमा करने के बाद लोन पास कराकर कंपनी से गाड़ी खरीद लेते हैं। अभी तक पकड़े गए लोग तकरीबन 15 गाड़ियों के फर्जी लोन स्वीकृत करा चुके हैं। एक गाड़ी को खरीदने के लिए आरोपी वाहन की कीमत का 20 प्रतिशत बैंक में जमा कराते हैं। 
जिसमें फर्जी पता होने के कारण बैंक उसे ट्रेस नहीं कर पाता है। पकड़े गए गैंग में एक फाइनेंसर होता है और दो-तीन लोग मिलकर फर्जी कागजात तैयार करते हैं और उनके ऊपर फर्जी फोटो लगा देते हैं। गैंग के सदस्यों की बैंक कर्मियों के साथ भी मिलीभगत होती है। खरीदी हुई गाड़ी को बेचने के बाद प्राप्त हुई रकम को आपस में बांट लेते हैं। पुलिस ने पकड़े गए लोगों के खिलाफ लिखा पढ़ी करने के बाद जेल भेज दिया है।

अनाथ आश्रम में रह रहीं किशोरी से रेप, गर्भवती
पंकज कपूर     
देहरादून। अनाथ आश्रम में रह रहीं किशोरी से दुष्कर्म किया गया हैं। इस मामले का उस समय पता चला जब बीमार होने पर की गई जांच में दुष्कर्म का शिकार हुई किशोरी के गर्भवती होने की बात सामने आई। किशोरी का चिकित्सीय परीक्षण कराने के बाद अदालत के सम्मुख किशोरी के बयान कराए गए हैं। इसके बाद आरोपी के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की तैयारियां शुरू कर दी गई है। 
अनाथ आश्रम में रह रही एक किशोरी की कुछ दिन पहले तबीयत खराब हो गई थी। अनाथ आश्रम की वार्डन को जब किशोरी के बीमार होने की जानकारी मिली तो उसने किशोरी के पास पहुंचकर उसके शरीर के हाव-भाव देखें, जिसके चलते उत्पन्न हुई आशंका की वजह से किशोरी की प्रेगनेंसी टेस्ट किट पर जांच की गई। जिसमें पता चला कि वह गर्भवती है। यह मामला सामने आने के बाद जब किशोरी से पूछताछ की गई तो उसने एक किशोर का नाम बताया और कहा कि किशोर के साथ उसका पिछले काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसी दौरान किशोर ने उसके साथ दुष्कर्म की वारदात अंजाम दे दी। रविवार की देर शाम आश्रम के प्रधान की ओर से किशोर के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी गई। शहर कोतवाल कैलाश चंद्र भट्ट ने बताया है कि आश्रम के प्रधान की तहरीर के आधार पर आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म और पोक्सो अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। 
किशोरी का चिकित्सीय परीक्षण कराया गया है। जिसमें पता चला है कि किशोरी तकरीबन 5 माह की गर्भवती है। पुलिस के समक्ष किशोरी के बयान दर्ज कर लिए गए हैं, जिसमें किशोरी की ओर से किशोर का नाम बताया गया है। मंगलवार को किशोरी के पुलिस द्वारा मजिस्ट्रेट ही बयान दर्ज कराए गए हैं। अब किशोर के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की तैयारी चल रही है।

मेरठ: आतिशबाजी चलाने को लेकर हंगामा हुआ

सतेंद्र पंवार            मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ में सोमवार देर रात दो रिजॉर्ट के बारातियों में आतिशबाजी चलाने को लेकर जमकर हंगामा हुआ। मारपीट के साथ तोड़फोड़ भी की गई। बात इतनी बड़ गई कि हंगामे के बीच एक व्यक्ति ने रिवाल्वर भी निकाल ली। छीना-झपटी में गोली चली और उसके पेट में लग गई। आनन फानन में युवक को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया है। दरअसल, कंकरखेड़ा के सैनिक विहार में रहने वाले विशाल पुंडीर की शादी सरधना थाना कपसाड़ गांव की रहने वाली युवती से तय हुई थी। सोमवार को दिल्ली-देहरादून बाईपास पर स्थित कोसा रिजार्ट में शादी का कार्यक्रम चल रहा था। बारती दनादन आतिशबाजी चला रहे थे। आतिशबाजी चलाते हुए वह बराबर के दूसरे रिजार्ट ग्रांड ड्रीम्स में पहुंच गए।

इस रिजार्टमें कनाडा में नौकरी करने वाले मेरठ के युवक की शादी थी। लड़की वाले दिल्ली से आए थे। ग्रांड ड्रीम्स के गार्डों ने वहां पर अतिशबाजी को मना किया तो कोसा रिजार्ट के बाराती बिफर गए। उन्होंने गार्डों की पिटाई कर दी। हंगामा देख कोसा रिजॉर्ट के गार्ड पहुंचे तो उन्हें भी पीट दिया गया। आरोप है कि गार्डों से पिटाई के बाद कोसा रिजॉर्ट के बाराती ड्रीम्स रिजार्ट में घुस गए और तोड़फोड़ करने लगे। हंगामा देख सभी बाराती सहम गए। इसी बीच अचानक से फायरिंग की आवाज आई। जिसके बाद मामला और बिगड़ गया। गोली की आवाज के बाद कपसाड़ निवासी रिटायर्ड फौजी राधे सिंह बीच बचाव कराने ड्रीम्स रिजार्ट में पहुंचे तो विरोध के बीच उन्होंने अपनी रिवाल्वर निकाल ली।

इसी बीच छीना-झपटी में गोली चल गई और राधे सिंह के ही पेट में लग गई। आनन फानन में उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। ममाले में पुलिस ने ड्रीम्स रिजार्ट के संचालक विपिन चौधरी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर कोसा के तीन बरातियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

‘सबका बाप अंगूठा छाप’ की शूटिंग में व्यस्त अक्षरा

‘सबका बाप अंगूठा छाप’ की शूटिंग में व्यस्त अक्षरा
कविता गर्ग    
मुबंई। भोजपुरी सिनेमा की लोकप्रिय अभिनेत्री अक्षरा सिंह ने अपने अभिनय से लाखों लोगों का दिल जीता। सोशल मीडिया पर भी उनकी अच्छी खासी प्रशंसकों की लिस्ट है। इन दिनों अक्षरा सिंह अपनी आगामी फिल्म ‘सबका बाप अंगूठा छाप’ की शूटिंग में व्यस्त हैं। इस फिल्म में अक्षरा सिंह के अलावा श्रुति राव भी महत्वपूर्ण भूमिका में नजर आने वाली हैं। फिल्म में अक्षरा सिंह के साथ दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ मुख्य भूमिका में हैं। 
हाल ही में अक्षरा सिंह प्रयागराज की सड़कों पर शूटिंग करती हुईं नजर आई थीं, जहां वो अपने गाने की रिहर्सल कर रही थीं।
अपने आगामी शेड्यूल के लिए अभिनेत्री बिहार के जिला जहानाबाद में शूटिंग करने के लिए पहुंचीं। अक्षरा की यूपी बिहार में एक अच्छी खासी फैन फॉलोइंग हैं। जैसे ही अक्षरा बिहार पहुंचीं उनको देखने के लिए फैंस की भीड़ उमर पड़ी। सोशल मीडिया पर अक्षरा सिंह ने हाल ही में एक वीडियो साझा की, जिसे देखने के बाद ये साफ जाहिर है कि अक्षरा सिंह को चाहने वालों की कमी नहीं है। अक्षरा को देखने के लिए भारी मात्रा में भीड़ उमर पड़ी है।
अक्षरा सिंह को भोजपुरी सिनेमा में अपने अभिनय से दर्शकों का दिल जीतने के लिए जाना जाता है, बल्कि वो भोजपुरी की सबसे अधिक फीस लेने वाली अभिनेत्रियों की लिस्ट में शुमार हैं। अक्षरा सिंह को भोजपुरी सिनेमा की शेरनी कहा जाता है।
अभिनेत्री अपने वीडियो के जरिए अक्षरा अपने दर्शकों का मनोरंजन करती रहती हैं।इन दिनों अक्षरा सिंह के नए म्यूजिक एल्बम ‘अखियों से गोली मारब’ का गाना ‘टुकुर-टुकुर’ दर्शकों द्वारा बहुत ही पसंद किया जा रहा है। बहुत ही जल्द अक्षरा सिंह अपने चाहने वालों के लिए नए गाने और फिल्म्स लेकर आ रही हैं। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी अक्षरा सिंह की अच्छी खासी प्रशंसकों की लिस्ट है। वो अक्षर अपनी खूबसूरत और तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा करती हैं।अक्षरा सिंह ने अपने करियर की शुरुआत रवि किशन के साथ की थी। अक्षरा ने कहा, ‘आज मैं जो भी आपके सामने खड़ी हूं वो सिर्फ इन्हीं की वजह से संभव हो पाया है। सभी चीजों के लिए आपका धन्यवाद रवि जी’। दरअसल अक्षरा सिंह का बचपन से डांस और अभिनय के प्रति रुझान था, लेकिन वो भोजपुरी सिनेमा का हिस्सा नहीं बनना चाहती थीं।

अभिनेत्री प्रियंका ने इंस्टाग्राम पर वीडियो शेयर किया
कविता गर्ग     
मुबंई। भोजपुरी इंडस्ट्री की जानी-मानी अभिनेत्री प्रियंका पंडित सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वालीं अभिनेत्रियों में से एक हैं। वह अक्सर अपने फैंस के साथ अपनी कई तस्वीरें और वीडियों शेयर करती रहती हैं। इसी क्रम में एक्ट्रेस ने हाल ही में अपना एक वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया है। इंस्टाग्राम पर शेयर किया गया यह वीडियो काफी तेजी से वायरल भी हो रहा है। 
इंस्टाग्राम पर शेयर किए गए इस वीडियो में अभिनेत्री शानदार डांस मूव्स करती नजर आ रही हैं। वीडियो में वह काफी बोल्ड और ब्यूटीफुल दिखाई दे रही हैं। शॉर्ट टॉप पहने हुए प्रियंका का यह डांस देख फैन्स उनके इस बोल्ड अंदाज के कायल हो गए है। 
इस वीडियो को शेयर करते हुए प्रियंका पंडित ने कैप्शन में लिखा, ''बलमजी।'' अभिनेत्री भोजपुरी सिंगर शिल्पी राज के गाने 'खाके जरदा पनवा' पर जबरदस्त डांस कर रही हैं।
एक दिन पहले ही अपलोड किए गए इस वीडियो को अब तक तीन हजार से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है। साथ ही फैंस उनके इस बोल्ड रूप को देखकर दीवाने हो गए है। ऐसे में वह लगातार इस वीडियो पर कमेंट्स कर अभिनेत्री की

3 दिसंबर को इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन: पीएम

3 दिसंबर को इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन: पीएम

  अकांशु उपाध्याय             नई दिल्ली। प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी 3 दिसंबर, 2021 को सुबह 10 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से फिनटेक पर एक विचारशील नेतृत्व फोरम, इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन करेंगे। यह आयोजन 3 और 4 दिसंबर, 2021 को गिफ्ट सिटी और ब्लूमबर्ग के सहयोग से भारत सरकार के तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इंडोनेशिया, दक्षिण अफ्रीका और यूके पहले भागीदार देश हैं। फोरम नीति, व्यापार और प्रौद्योगिकी में दुनिया के अग्रणी देशों को एक साथ लाएगा और चर्चा करेगा कि कैसे समावेशी विकास और बड़े पैमाने पर मानवता की सेवा के लिए फिनटेक उद्योग द्वारा प्रौद्योगिकी और नवाचार का लाभ उठाया जा सकता है।

फोरम का एजेंडा ‘बियॉन्ड’ की थीम पर केंद्रित होगा; वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए वैश्विक स्टैक के विकास में भौगोलिक सीमाओं से परे सरकारों और व्यवसायों के साथ सीमाओं से परे फिनटेक सहित विभिन्न उप विषयों के साथ; वित्त से परे फिनटेक, सतत विकास को चलाने के लिए स्पेसटेक, ग्रीनटेक और एग्रीटेक जैसे उभरते क्षेत्रों के साथ अभिसरण करके; और फिनटेक बियॉन्ड नेक्स्ट, इस पर ध्यान देने के साथ कि क्वांटम कंप्यूटिंग भविष्य में फिनटेक उद्योग की प्रकृति को कैसे प्रभावित कर सकती है और नए अवसरों को बढ़ावा दे सकती है।

फोरम में 70 से अधिक देशों की भागीदारी होगी। फोरम में मुख्य वक्ताओं में मलेशिया के वित्त मंत्री टेंगकू श्री जफरुल अजीज, इंडोनेशिया के वित्त मंत्री सुश्री मुलयानी इंद्रावती, रचनात्मक अर्थव्यवस्था इंडोनेशिया के मंत्री श्री सैंडियागा एस ऊनो, रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और एमडी श्री मुकेश अंबानी, अध्यक्ष और सीईओ शामिल हैं। सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प श्री मासायोशी सोन, अध्यक्ष और सीईओ, आईबीएम कॉर्पोरेशन श्री अरविंद कृष्णा, एमडी और सीईओ कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड श्री उदय कोटक, अन्य। नीति आयोग, इन्वेस्ट इंडिया, फिक्की और नैसकॉम इस साल के फोरम के कुछ प्रमुख भागीदार हैं।

अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण, जिसका मुख्यालय गिफ्ट सिटी, गांधीनगर गुजरात में है, को अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण अधिनियम, 2019 के तहत स्थापित किया गया है। यह वित्तीय उत्पादों, वित्तीय सेवाओं के विकास और विनियमन के लिए एक एकीकृत प्राधिकरण के रूप में काम करता है। भारत में अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र में वित्तीय संस्थान। वर्तमान में, गिफ्ट आईएफएससी भारत में पहला अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र है।

वरिष्ठ नेता चिदंबरम ने सरकार पर साधा निशाना

अकांशु उपाध्याय            नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी विधेयक को संसद में बिना चर्चा के पारित किए जाने को लेकर मंगलवार को सरकार पर निशाना साधा और यह कहते हुए कटाक्ष किया कि ‘चर्चा रहित’ संसदीय लोकतंत्र जिंदाबाद है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘चर्चा से इनकार करने का कृषि मंत्री का तर्क समझ से परे है। उन्होंने कहा कि सरकार और विपक्ष सहमत होते हैं तो चर्चा की जरूरत नहीं होती है।’’ पूर्व गृह मंत्री ने कटाक्ष किया, ‘‘चर्चा रहित संसदीय लोकतंत्र जिंदाबाद। पिछले करीब एक वर्ष से विवादों में घिरे और किसानों के आंदोलन का प्रमुख कारण बने तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी इस विधेयक को बिना चर्चा के, संसद के दोनों सदनों में सोमवार को पारित कर दिया गया। इस विधेयक को बिना चर्चा के पारित किया जाने का कांग्रेस सहित विपक्षी दलों ने भारी विरोध किया। राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद इन कानूनों को निरस्त करने पर औपचारिक मुहर लग जाएगी।

विपक्षी दलों का हंगामा, कार्यवाही स्थगित की

अकांशु उपाध्याय           नई दिल्ली। कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण मंगलवार को लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने के करीब 10 मिनट बाद अपराह्न 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। विपक्षी सदस्य केंद्र के तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी विधेयक को बिना चर्चा के पारित कराने का मुद्दा उठा रहे थे।

आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर अध्यक्ष ओम बिरला ने हाल में हुए उपचुनाव में दादरा नगर हवेली एवं दमन दीव से निर्वाचित सदस्य कलाबेन डेलकर से सदन की सदस्यता लेने का आग्रह किया। इसके बाद, अध्यक्ष ने जैसे ही प्रश्नकाल शुरू करने को कहा, वैसे ही विपक्षी सदस्य अपनी बात रखते हुए शोर-शराबा करने लगे। प्रश्नकाल में भाजपा सदस्य पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल ने देशी गौवंश से संबंधित प्रश्न पूछा और कहा कि विपक्ष किसानों से बात से नहीं करने दे रहा। वहीं, विपक्ष सदस्यों से प्रश्नकाल चलने देने की अपील करते हुए लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि यह प्रश्नकाल है, इसमें इतने महत्वपूर्ण सवाल हैं, ऐसे में ‘‘आप प्रश्न पूछिए’’।

उन्होंने कहा कि आप यहां चर्चा करने के लिये आए हैं। चर्चा करें तथा अच्छा वातावरण बनाये रखें।’’ बिरला ने शोर-शराबा कर रहे कुछ सदस्यों से कहा, ‘‘आप सदन में आंध्र प्रदेश पुनर्गठन से जुड़ा मुद्दा उठाते हैं और अब इस पर सवाल आ रहा है, ऐसे में सवाल पूछें। इस बीच, विपक्षी सदस्यों का शोर-शराबा जारी रहा। व्यवस्था बनते नहीं देख अध्यक्ष ओम बिरला ने कार्यवाही शुरू होने के करीब 10 मिनट बाद 2 बजे तक के लिये स्थगित कर दी। गौरतलब है कि संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन सोमवार को लोकसभा में विपक्षी दलों ने किसानों के मुद्दे पर शोर-शराबा किया था। सदन में हंगामे के बीच ही तीन विवादित कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी कृषि विधि निरसन विधेयक 2021 को बिना चर्चा के मंजूरी प्रदान कर दी गई थी।

3 हवाई अड्डों पर 'हेल्पडेस्क' स्थापित, आदेश 

दुष्यंत टीकम      रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने सोमवार को राज्य के तीन हवाई अड्डों पर ‘हेल्प डेस्क’ स्थापित करने का आदेश दिया, ताकि कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के मद्देनजर विदेश से आने वाले यात्रियों की प्रभावी जांच की जा सके। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिलाधिकारियों को लिखे पत्र में यह भी निर्देश दिया है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा कोविड-19 के नये संस्करण से निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के वास्ते जारी किये गये नए दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए। 

पत्र में सूचित किया गया है कि नए दिशानिर्देशों में ‘जोखिम वाले’ देशों से भारत आने वाले यात्रियों की प्रभावी निगरानी और स्क्रीनिंग पर जोर दिया गया है। अधिकारी ने कहा, ‘‘राज्य सरकार ने संबंधित जिलाधिकारियों को विदेश से आने वाले यात्रियों की जांच के लिए रायपुर, बिलासपुर और जगदलपुर नाम के तीन हवाई अड्डों पर हेल्प डेस्क स्थापित करने का निर्देश दिया है।’

'एमएसपी' कानून बनने की प्रक्रिया, मांग की

अकांशु उपाध्याय        नई दिल्ली। कृषि कानून वापस हो चुका है। लेकिन अभी भी किसान आंदोलन स्थल से वापस नहीं गए हैं। अब तक संगठनों ने यह निर्णय लिया है कि एमएसपी कानून बनने की प्रक्रिया में समय लगेगा। इसलिए सरकार को एक समय सीमा देकर वापस लौट जाना चाहिए। अब इस प्रस्ताव पर बुधवार को 40 नेताओं की बैठक होगी। यह नेता सरकार के साथ बातचीत में शामिल भी थे।

कृषि कानूनों की वापसी के बाद आंदोलन खत्म करने या घर वापस लौटने को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा की 5 मांगों हैं। किसानों के अनुसार एमएसपी कानून, आंदोलन के दौरान मृत किसानों के परिवारों को मुआवजा, मुकदमा वापसी पराली जलाने के मुद्दे और गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग को सरकार के सामने पेश करेंगे।

सांसदों के निलंबन को असंवैधानिक करार दिया

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। कांग्रेस समेत 16 राजनीतिक दलों के नेताओं ने राज्यसभा के 12 विपक्षी सदस्यों को संसद के मौजूदा शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित किए जाने के मुद्दे को लेकर मंगलवार को उच्च सदन के सभापति एम वेंकैया नायडू से मुलाकात की और इन सदस्यों का निलंबन रद्द करने का आग्रह किया।

इससे पहले, इन नेताओं ने राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के संसद भवन स्थित कक्ष में बैठक की और निलंबन रद्द किए जाने पर जोर दिया। विपक्षी दलों के नेताओं ने सांसदों के निलंबन को असंवैधानिक करार दिया और जोर देकर कहा कि इनका निलंबन रद्द किया जाना चाहिए। उल्लेखनीय है कि विपक्षी नेताओं की बैठक में तृणमूल कांग्रेस शामिल नहीं हुई, जबकि निलंबित सांसदों में उसके भी दो सांसद शामिल हैं। पिछले कुछ दिनों में कांग्रेस की अगुवाई में हुई विपक्ष की किसी भी पहल से तृणमूल कांग्रेस दूरी बनाती नजर आई है।

आज की बैठक में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, मुख्य सचेतक के. सुरेश, राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा और मुख्य सचेतक जयराम रमेश शामिल हुए। बैठक में द्रमुक के टीआर बालू, शिवसेना के विनायक राउत एवं प्रियंका चतुर्वेदी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, आम आदमी पार्टी, माकपा, भाकपा और कई अन्य दलों के नेता भी शामिल हुए।

कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने लोकसभा और राज्यसभा, दोनों सदनों में भी इस मुद्दे को उठाने की कोशिश की और सदन से वाकआउट किया। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि इस सरकार ने जो रास्ता अपनाया है, उसका हमने विरोध किया है। सदन का सदस्य होने के नाते यह जरूरी है कि हमें अपनी बात रखने का मौका मिले। लेकिन सरकार निलंबन के जरिये विपक्ष को डराना चाहती है, जुबान बंद करना चाहती है।’

उन्होंने कहा कि राज्यसभा में जो हुआ है उसका विरोध करते हुए हमने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में सदन से वाकआउट किया। यह मामला राज्यसभा का है, लेकिन दूसरे सदन के सदस्यों के साथ जो हुआ है उसके विरोध में हमने यह कदम उठाया है।’’ कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने 12 सांसदों के निलंबन के मुद्दे को लेकर संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष प्रदर्शन किया और सरकार पर तानाशाहीपूर्ण रवैया अपनाने का आरोप भी लगाया। संसद के सोमवार को आरंभ हुए शीतकालीन सत्र के पहले दिन कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों के 12 सदस्यों को पिछले मॉनसून सत्र के दौरान अशोभनीय आचरण करने की वजह से, वर्तमान सत्र की शेष अवधि तक के लिए राज्यसभा से निलंबित कर दिया गया।

उच्च सदन में उपसभापति हरिवंश की अनुमति से संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कल इस सिलसिले में एक प्रस्ताव रखा, जिसे विपक्षी दलों के हंगामे के बीच सदन ने मंजूरी दे दी। जिन सदस्यों को निलंबित किया गया है उनमें मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के इलामारम करीम, कांग्रेस की फूलों देवी नेताम, छाया वर्मा, रिपुन बोरा, राजमणि पटेल, सैयद नासिर हुसैन, अखिलेश प्रताप सिंह, तृणमूल कांग्रेस की डोला सेन और शांता छेत्री, शिव सेना की प्रियंका चतुर्वेदी और अनिल देसाई तथा भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के विनय विस्वम शामिल हैं।

विधानसभा परिसर में गोली-गलौज हुईं: राजनीति

अविनाश श्रीवास्तव            पटना। विधानसभा के अंदर कई बार सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों के बीच तीखी नोकझोंक आपने देखी होगी। लेकिन आज विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने के पहले बीजेपी और आरजेडी विधायक के बीच सदन के बाहर परिसर में जो कुछ हुआ वह वाकई राजनीति को शर्मसार करता है। आरजेडी और बीजेपी के विधायक के बीच विधानसभा परिसर में जमकर गाली-गलौज हुई। दरअसल, आरजेडी के विधायक भाई वीरेंद्र और बीजेपी विधायक संजय सरावगी के बीच गाली गलौज उस वक्त हो गई, जब सदन की कार्यवाही शुरू होने के पहले वह मीडिया से बातचीत कर रहे थे। 

किसी बात को लेकर कहासुनी शुरू हुई और फिर जो कुछ हुआ वह आज के पहले बिहार विधानसभा परिसर में शायद ही कभी हुआ हो। आरजेडी विधायक ने तो बीजेपी विधायक को यहां तक कह डाला कि संभलकर रहो वरना यही पटक कर ठीक कर देंगे।बीजेपी विधायक संजय सरावगी भी कहां मानने वाले थे। उन्होंने आरजेडी विधायक को होश में रहने के लिए कह डाला। दोनों के बीच हाथापाई की नौबत आ चुकी थी। लेकिन वहां मौजूद मीडिया कर्मियों ने समझदारी दिखाते हुए बीच-बचाव किया। किसी तरह दोनों विधायकों को अलग किया गया। लेकिन थोड़ी देर के लिए विधानसभा परिसर में जो कुछ हुआ, उससे हर कोई सन्न रह गया।

निलंबन रद्द करने के प्रस्ताव पर विचार करेंगीं सरकार

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने मंगलवार को कहा कि संसद के शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित किए गए राज्यसभा के 12 विपक्षी सदस्यों को ‘दुर्व्यवहार’ के लिए उच्च सदन के भीतर माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि अगर ये सदस्य सभापति और सदन से माफी मांग लेते हैं तो फिर सरकार उनके (निलंबन रद्द करने के) प्रस्ताव पर संकरात्मक रूप से विचार करने के लिए तैयार है। जोशी ने ट्वीट किया, ‘‘ विपक्ष के लोग बार-बार सुषमा स्वराज और अरुण जेटली जी के एक बयान का उल्लेख करते हैं कि व्यवधान भी लोकतंत्र का हिस्सा है। लेकिन मेज पर चढ़ना और सुरक्षा में लगे लोगों को मारना, असहनीय है। इसे माफ नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने यह भी कहा, ‘‘सदन की गरिमा बनाए रखने के लिए सरकार को मजबूरी में निलंबन का यह प्रस्ताव सदन के सामने रखना पड़ा। लेकिन यदि ये 12 सांसद अभी भी अपने दुर्व्यवहार के लिए सभापति और सदन से माफी मांग लें, तो सरकार भी उनके प्रस्ताव पर खुले दिल से सकारात्मक रूप से विचार करने को तैयार है।’’ संसद के सोमवार को आरंभ हुए शीतकालीन सत्र के पहले दिन कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों के 12 सदस्यों को पिछले मॉनसून सत्र के दौरान ‘‘अशोभनीय आचरण’’ करने की वजह से, वर्तमान सत्र की शेष अवधि तक के लिए राज्यसभा से निलंबित कर दिया गया।

उच्च सदन में उपसभापति हरिवंश की अनुमति से संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कल इस सिलसिले में एक प्रस्ताव रखा, जिसे विपक्षी दलों के हंगामे के बीच सदन ने मंजूरी दे दी। जिन सदस्यों को निलंबित किया गया है उनमें मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के इलामारम करीम, कांग्रेस की फूलों देवी नेताम, छाया वर्मा, रिपुन बोरा, राजमणि पटेल, सैयद नासिर हुसैन, अखिलेश प्रताप सिंह, तृणमूल कांग्रेस की डोला सेन और शांता छेत्री, शिव सेना की प्रियंका चतुर्वेदी और अनिल देसाई तथा भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के विनय विस्वम शामिल हैं।


लगातार दूसरा शतक, 9 रन से चूकें आबिद: खेल

लगातार दूसरा शतक, 9 रन से चूकें आबिद: खेल

नई दिल्ली/ इस्लामाबाद। सलामी बल्लेबाज आबिद अली लगातार दूसरा शतक, नौ रन से चूक गए। लेकिन पाकिस्तान ने 202 रन के लक्ष्य का आसानी से पीछा करते हुए बांग्लादेश को पहले क्रिकेट टेस्ट में आठ विकेट से हरा दिया। आबिद और अब्दुल्लाह शफीक ने पहले विकेट के लिये 151 रन जोड़े। यह मैच में उनकी लगातार दूसरी शतकीय साझेदारी थी जिससे पाकिस्तान को मजबूत शुरूआत मिली। पहली पारी में 133 रन बनाने वाले आबिद ने 148 गेंद में 91 रन बनाये।

अपने कल के स्कोर बिना किसी नुकसान के 109 रन से आगे खेलते हुए पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाजों को कोई परेशानी नहीं हुई। आफ स्पिनर मेहिदी हसन ने शफीक को पगबाधा आउट करके इस साझेदारी को तोड़ा। शफीक ने 73 रन बनाये। इसके सात ओवर बाद बायें हाथ के स्पिनर तैजुल इस्लाम ने आबिद को पगबाधा आउट किया। पाकिस्तान का स्कोर इस समय दो विकेट पर 171 रन था।


पत्ता गोभी खाने के औषधीय गुण, जानिए

मो. रियाज        ठंड के मौसम में बाज़ार में फ्रेश हरी पत्तेदार सब्जियां मिलने लगती हैं। ये स्वादिष्ट होने के साथ ही सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होती हैं। इन्हीं सब्जियों में से एक है 'पत्ता गोभी।' पोषक तत्वों से भरपूर इस सब्जी को डाइट में शामिल करने से कई बीमारियां दूर रहती हैं। आमतौर पर इसे सलाद या चाइनीज़ डिश का स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन सर्दियों में ताज़े पत्ता गोभी का सेवन करने से आंखों की रोशनी सही रहती है। साथ ही वजन घटाने में भी मदद मिल सकती है। आज हम आपको बताएंगे कि पत्ता गोभी खाने से आपको स्वास्थ्य से जुड़े कौन से लाभ मिल सकते हैं। 
वजन घटाने में सहायक: एक कप पकी हुई पत्तागोभी में माई 33 कैलोरी होती है, जो वजन को नहीं बढ़ने देती है। इसका सूप पीने से शीर को ऊर्जा मलिती है। साथ ही ये शरीर में जमा फैट को कम कर  देता है। 
आंखों के लिए फायदेमंद: पत्ता गोभी का नियमित सेवन करने से शरीर में बीटा कैरोटीन बढ़ जाता है, जो आंखों के लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे आंखें अच्छी रहती हैं और मोतियाबिंद का खतरा भी काफी कम हो जाता है। 
इम्यूनिटी बूस्ट करने में है सहायक: विटामिन-सी से भरपूर होने के कारण पत्ता गोभी इम्यूनिटी ढ़ाने में सहायक होता है। इसमें मौजूद विटामिन सी उन रेडिकल्स को बाहर निकालते हैं, जो आपको किसी भी बीमारी का शिकार बना सकते हैं।
मज़बूत बनती हैं मांसपेशियां: इस सब्जी में लैक्टिक एसिड काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जो मांसपेशियों को स्वस्थ रखने में सहायक होता है।

दुनियाभर में तनाव का माहौल पैदा किया: बाइडन

दुनियाभर में तनाव का माहौल पैदा किया: बाइडन
सुनील श्रीवास्तव      
वाशिंगटन डीसी। दक्षिण अफ्रिका में मिले कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन ने दुनियाभर में तनाव का माहौल एक बार फिर पैदा कर दिया है। इस वेरिएंट के मामले अन्य देशों में भी देखने को मिले हैं। वहीं, अब अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि, ओमिक्रोन भले ही चिंता का विषय है लेकिन घबराने की बात नहीं।
दरअसल, बीते दिन व्हाइट हाउस में बोलते हुए जो बाइेडन ने कहा कि, वो जल्द डिटेल स्ट्रैटेजी को पेश करेंगे जो बाएगा कि सर्दी के इस मौसम में हम कोरोना से कैसे लड़ने वाले हैं। वहीं, उन्होंने आगे कहा कि, हम वेरिएंट को लेकर पूरी तरह सतर्क हैं लेकिन शटडाउन, लॉकडाउन के साथ नहीं बल्कि ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण, बूस्टर शोट्स समेत टेस्टिंग के उद्देश्य के साथ हम आगे बढ़ेंगे।

नई प्रतिभाओं की भर्ती, जरूरत पर जोर दिया
अखिलेश पांडेय      
बीजिंग। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सशस्त्र बलों के तेजी से आधुनिकीकरण में मदद करने और भविष्य में युद्ध जीतने के लिए नई प्रतिभाओं की भर्ती की जरूरत पर जोर दिया है। सेना द्वारा अग्रिम पंक्ति के पदों के लिए तीन लाख कर्मियों को भर्ती करने की प्रतिबद्धता जताए जाने की खबरों के बीच यह जानकारी सामने आयी है।
सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) के अलावा सेना का नेतृत्व करने वाले राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शुक्रवार से रविवार तक आयोजित सैन्य प्रतिभा संबंधी कार्यों पर आधारित एक सम्मेलन में कहा कि प्रतिभा ही उच्च गुणवत्ता के साथ चीनी सशस्त्र बलों की प्रगति, सैन्य प्रतिस्पर्धा में जीत हासिल करने और भविष्य के युद्धों में बढ़त लेने की कुंजी है। चीनी सेना 209 अरब डॉलर के वार्षिक सैन्य बजट के साथ तेजी से आधुनिकीकरण की ओर बढ़ रही है। साथ ही संगठनात्मक सुधार के अलावा वह आधुनिक हथियार प्रणालियों से लैस भी हो रही है।

लियोनेल को ‘फीफा बलोन ओ डोर’ पुरुस्कार मिला

अखिलेश पांडेय       पेरिस। लियोनेल मेस्सी को रिकॉर्ड सातवीं बार फीफा के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर का ‘फीफा बलोन ओ डोर’ पुरुस्कार मिला। जिन्होंने बार्सीलोना के साथ आखिरी सत्र में शानदार प्रदर्शन किया और अर्जेंटीना के साथ पहला अंतरराष्ट्रीय खिताब जीता। 34 वर्ष के मेस्सी के शानदार प्रदर्शन के दम पर अर्जेटीना ने जुलाई में कोपा अमेरिका खिताब जीता। मेस्सी ने पुरस्कार जीतने के बाद अनुवादक की मदद से कहा, मैं बहुत खुश हूं। नये खिताबों के लिये लड़ते रहना अच्छा लगता है।’’

उन्होंने कहा ,‘‘ पता नहीं अभी कितने साल बाकी है लेकिन उम्मीद है कि काफी समय है। मैं बार्सीलोना और अर्जेंटीना में सभी साथी खिलाड़ियों को धन्यवाद देना चाहता हूं।’’ मेस्सी के 613 अंक रहे जबकि पोलैंड के स्ट्राइकर राबर्ट लेवांडोवस्की 580 अंक लेकर दूसरे स्थान पर रहे। वहीं महिला वर्ग में अलेक्सिया पुतेलास ने बार्सीलोना और स्पेन के लिये अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर पुरस्कार जीता।

कई देशों को तकनीकी ज्ञापन जारी: डब्ल्यूएचओ

सुनील श्रीवास्तव        जिनेवा। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार को आगाह किया कि प्रारंभिक साक्ष्यों के आधार पर कोरोना वायरस के नये स्वरूप ओमीक्रोन से वैश्विक जोखिम बहुत ज्यादा दिख रहा है। उसने कहा कि रूप परिवर्तित कर चुके वायरस से ‘‘गंभीर परिणामों’’ के साथ मामलों में वृद्धि हो सकती है। संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी के इस आकलन में सदस्य देशों को एक तकनीकी ज्ञापन जारी किया गया है। जो नये स्वरूप के बारे में डब्ल्यूएचओ की सबसे मजबूत, सबसे स्पष्ट चेतावनी है। इस स्वरूप की पहचान कुछ दिन पहले दक्षिण अफ्रीका में अनुसंधानकर्ताओं ने की थी। यह चेतावनी दुनियाभर के कई देशों द्वारा स्वरूप की जानकारी देने और यात्रा प्रतिबंधों के रूप में कार्रवाई किए जाने के बीच आई है, साथ ही वैज्ञानिक यह पता लगाने की कोशिश में जुटे हैं कि परिवर्तित स्वरूप कितना खतरनाक हो सकता है।

गौरतलब है कि जापान ने घोषणा की है कि वह सभी विदेशी आगंतुकों के प्रवेश पर रोक लगा रहा है, वहीं इज़राइल ने भी यही फैसला किया है। मोरक्को ने देश आने वाली सभी उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया। अमेरिका और यूरोपीय संघ के सदस्यों सहित अन्य देशों ने भी, दक्षिणी अफ्रीका से आने वाले यात्रियों को प्रतिबंधित किया है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि ओमीक्रोन के बारे में “काफी अनिश्चितताएं” हैं। लेकिन उसने कहा कि प्रारंभिक साक्ष्य इस आशंका को बढ़ाते हैं कि स्वरूप में जो परिवर्तन हैं वह इसे प्रतिरक्षा-प्रणाली की प्रतिक्रिया से बचने और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने की क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

उसने कहा, ‘‘ इन लक्षणों के आधार पर, भविष्य में कोविड-19 के मामले बढ़ सकते हैं जिसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। यह कई कारकों पर निर्भर होगा जिसमें यह भी शामिल है कि मामले किस जगह पर बढ़ रहे हैं। आकलन में समग्र वैश्विक जोखिम, बहुत अधिक बताया जाता है।’’ डब्ल्यूएचओ ने जोर दिया कि जब तक वैज्ञानिक इस स्वरूप को बेहतर ढंग से समझने के लिए सबूत तलाश रहे हैं, तब तक देशों को जितनी जल्दी हो सके टीकाकरण में तेजी लानी चाहिए।

दिल्ली: 9.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा तापमान

दिल्ली: 9.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा तापमान
अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। दिल्ली की वायु गुणवत्ता मंगलवार को बेहद खराब श्रेणी में रही और न्यूनतम तापमान घटकर 9.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। पिछले 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 329 था। सोमवार को यह 389 था। शहर में लगातार तीन दिन से हवा की गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में बनी हुई थी।
हवा की अनुकूल गति के कारण दिल्ली में वायु गुणवत्ता में मामूली सुधार दर्ज किया गया। पड़ोसी शहरों में भी बीते दिन की तुलना में एक्यूआई में कुछ सुधार आया। जिनमें से कुछ में एक्यूआई बहुत खराब से खराब की श्रेणी में आ गया। फरीदाबाद में एक्यूआई 274, गाजियाबाद में 291, ग्रेटर नोएडा में 272, गुड़गांव में 346 और नोएडा में एक्यूआई 298 दर्ज किया गया।
शून्य से 50 के बीच एक्यूआई अच्छा माना जाता है, 51 से 100 के बीच संतोषजनक, 101 से 200 के बीच मध्यम, 201 से 300 को खराब, 301 से 400 को बहुत खराब, और 401 से 500 को गंभीर श्रेणी में माना जाता है।
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने मंगलवार को कहा कि सुबह का न्यूनतम तापमान 9.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर सुबह 9:30 बजे लगभग 88 प्रतिशत था। राष्ट्रीय राजधानी में 17 नवंबर को मौसम का न्यूनतम तापमान अब तक का सबसे कम 9.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था
दिल्ली में सोमवार को न्यूनतम तापमान 10.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 26.1 डिग्री सेल्सियस रहा। आईएमडी के अनुसार मंगलवार को अधिकतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वायु गुणवत्ता मॉनिटर ‘सफर’ ने सोमवार को संकेत दिया था कि मंगलवार को अनुकूल स्थानीय सतही हवा की गति से प्रदूषण में थोड़ी राहत मिलने की संभावना है।
दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने सोमवार को कहा था कि उच्च वायु प्रदूषण के स्तर को देखते हुए दिल्ली में निर्माण आदि गतिविधियों पर अगले आदेश तक प्रतिबंध जारी रहेगा।

प्लैटफॉर्म 'अमेज़न' ने डेली ऐप क्विज़ शुरू की

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। इस समय लोगों का काफी समय घर पर बीत रहा है। घर पर बैठकर रुपये जीतने का मौका कौन छोड़ना चाहेगा। इस मौके का फायदा उठाते हुए ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म अमेज़न ने डेली ऐप क्विज़ शुरू की है। क्विज़ में सामान्य ज्ञान पांच सवाल के उत्तर देने होते हैं।  ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म क्विज़ खेल कर पे बैलेंस पर 20,000 रुपये जीत सकते हैं। ये डेली क्विज़ हर दिन सुबह 8 बजे से रात 12 बजे तक खेली जा सकती है। अगर आपके फोन में अमेजन एप नहीं है तो क्विज़ खेलने के लिए सबसे पहले आपको इसे डाउनलोड करना होगा। डाउनलोड और इंस्टॉल करने के बाद आपको ये साइन इन करना होगा।

 इसके बाद ऐप ओपन करें और होम स्क्रीन को नीचे की ओर स्क्रॉल करें। सबसे नीचे आपको ‘अमेजन क्विज’ का बैनर मिलेगा।  वहां क्विज के पांच सवाल दिए होंगे। इन सवालों के उत्तर देकर 20 हजार रुपये जीत सकते हैं।

भारत: संक्रमितों की संख्या-3,45,87,822 हुईं

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 6,990 नए मामले सामने आने के बाद देश में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,45,87,822 हो गई। पिछले 551 दिन में सामने आए ये सबसे कम दैनिक मामले हैं। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 1,00,543 हो गई, जो 546 दिन में सबसे कम है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार की सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से 190 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,68,980 हो गई। देश में लगातार 53 दिन से कोविड-19 के दैनिक मामले 20 हजार से कम हैं और 155 दिन से 50 हजार से कम दैनिक मामले सामने आ रहे हैं। उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 1,00,543 हो गयी है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 0.29 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 3,316 की कमी दर्ज की गयी है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.35 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से सर्वाधिक है।

आंकड़ों के अनुसार, दैनिक संक्रमण दर 0.69 प्रतिशत दर्ज की गयी, जो पिछले 57 दिन से दो प्रतिशत से कम है। साप्ताहिक संक्रमण दर 0.84 प्रतिशत दर्ज की गयी, जो पिछले 16 दिन से एक प्रतिशत से कम है। देश में अभी तक कुल 3,40,18,299 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और कोविड-19 से मृत्यु दर 1.36 प्रतिशत है। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 123.25 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है।

देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, इस साल चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे।

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटे में जिन 190 लोगों की संक्रमण से मौत हुई, उनमें से केरल के 117 और महाराष्ट्र के 21 लोग थे। केरल सरकार ने सोमवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि राज्य में मौत के 117 मामलों में से 59 पिछले कुछ दिनों में सामने आए। वहीं, मौत के 58 मामलों को केन्द्र तथा उच्चतम न्यायालय के नए दिशा-निर्देशों के आधार पर कोविड-19 से मौत के मामलों में जोड़ा गया है।

आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक संक्रमण से 4,68,980 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र के 1,40,962 लोग, केरल के 39,955 लोग, कर्नाटक के 38,203 लोग, तमिलनाडु के 36,472 लोग, दिल्ली के 25,098 लोग, उत्तर प्रदेश के 22,910 लोग और पश्चिम बंगाल के 19,473 लोग थे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अभी तक जिन लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं। मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है।

12 सदस्यों के निलंबन की प्रक्रिया, सवाल उठाया

अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन विपक्षी दलों के 12 सदस्यों के निलंबन की प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए विपक्षी दलों ने मंगलवार को राज्यसभा में हंगामा किया और फिर सदन से बहिर्गमन किया। शून्यकाल में सदस्यों के निलंबन का मामला उठाते हुए विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि 12 सदस्यों के निलंबन की प्रक्रिया में नियमों और परंपराओं का उल्लंघन किया गया।

उन्होंने कहा कि जब संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी निलंबन का प्रस्ताव रख रहे थे उस समय उन्होंने व्यवस्था का प्रश्न उठाया था लेकिन उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने कहा, ‘‘व्यवस्था का प्रश्न उठाने वाले सदस्य को अनुमति दिए जाने का नियम है। लेकिन मुझे इसकी अनुमति नहीं दी गई। यह संसदीय परंपरा के खिलाफ है।’’ उन्होंने यह सवाल भी उठाया कि पिछले मानसून सत्र में हुई घटना के लिए सदस्यों को शीतकालीन सत्र में निलंबित किया गया है।

हालांकि सभापति ने कहा कि राज्यसभा की बैठक निरंतर चलती है। उन्होंने कहा कि सदन और सभापति ऐसे मामलों में कार्रवाई के लिए अधिकृत हैं और इसी के तहत सदन ने सोमवार को सदस्यों को निलंबित करने का फैसला किया। इसके बाद विपक्षी सदस्यों ने हंगामा आरंभ कर दिया और नारेबाजी शुरु कर दी। सभापति ने सदस्यों से ऐसा न करने के लिए कहा लेकिन उनकी अपील बेअसर रही। हंगामे के बीच ही कुछ सदस्यों ने तमिलनाडु, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश सहित दक्षिण के कुछ राज्यों में भारी बारिश और बाढ़ से हुए नुकासान का मुद्दा उठाया।

इसके बाद कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी सदस्य सदन से बहिर्गमन कर गए। थोड़ी देर बाद तृणमूल कांग्रेस के सदस्य भी सदन से बाहर चले गए। संसद के सोमवार को आरंभ हुए शीतकालीन सत्र के पहले दिन कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों के 12 सदस्यों को पिछले मॉनसून सत्र के दौरान ‘‘अशोभनीय आचरण’’ करने के लिए, वर्तमान सत्र की शेष अवधि तक के लिए राज्यसभा से निलंबित कर दिया गया। उपसभापति हरिवंश की अनुमति से संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने इस सिलसिले में एक प्रस्ताव रखा, जिसे विपक्षी दलों के हंगामे के बीच सदन ने मंजूरी दे दी।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-43 (वर्ष-05)
2. बुधवार, नवंबर 1, 2021
3. शक-1984, मार्गशीर्ष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-द्वादशी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 06:48, सूर्यास्त 05:24।
5. न्‍यूनतम तापमान -12 डी.सै., अधिकतम-27+ डी.सै.। 
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक शिवाशुं व राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

यूके: कोरोना एक्टिव केसों की संख्या-30,927 हुईं

यूके: कोरोना एक्टिव केसों की संख्या-30,927 हुईं पंकज कपूर            देहरादून।  राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना से 7 संक्रमितों की मौत ह...