नई दिल्ली लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
नई दिल्ली लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 11 जून 2021

सड़क हादसे में एक परिवार के तीन लोगों की मौत

रवि चौहान   

नई दिल्ली। दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के नजफगढ़ इलाके में शुक्रवार की सुबह तेज रफ्तार से जा रहे टेम्पो ने चार लोगों को टक्कर मार दी, जिससे उनकी मौत हो गई। मृतकों में से तीन एक ही परिवार के थे। पुलिस ने बताया कि मृतकों की पहचान अशोक (30), उनकी पत्नी किरण, बेटे इशांत और एक अन्य व्यक्ति जवाहर सिंह (93) के तौर पर हुई है। यह सभी नजफगढ़ के निवासी थे। हादसा सुबह करीब सवा पांच बजे हुआ, जब ये लोग सैर करने निकले थे।

पुलिस उपायुक्त (द्वारका) संतोष कुमार मीणा ने बताया, ” अशोक का दूसरा बेटा देव गंभीर रूप से घायल हो गया और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। टेम्पो चालक की पहचान राजेश (35) के तौर पर हुई है। जिसे मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया गया।” उन्होंने बताया कि चालक टेम्पो बेहद तेज गति से और लापरवाही से चला रहा था। उसकी चिकित्सकीय जांच की जा रही है। उसके खिलाफ भादंवि की धारा 279 और 304 के तहत मामला दर्ज किया गया है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए राव तुलाराम मेमोरियल अस्पताल भेजा गया है और मामले की जांच जारी है।

मंगलवार, 8 जून 2021

दिल्ली नगर निगम के उम्मीदवारों की घोषणा की

सत्येंद्र ठाकुर   

नई दिल्ली। दिल्ली के तीन नगर निगम के विभिन्न पदों के लिए मंगलवार को भाजपा ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा की। भाजपा को तीनों नगर निगम में बहुमत हासिल है। भाजपा के प्रदश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने उम्मीदावारों की सूची जारी की। इनमें राजा इकबाल सिंह, मुकेश सुर्यान और श्याम सुंदर अग्रवाल को क्रमश उत्तर, दक्षिण और पूर्वी दिल्ली के मेयर के पद के लिए नामित किया गया है।

दिल्ली में तीनों नगर निगम के विभिन्न पदों के लिए 16 जून को चुनाव होंगे। नामंकन दाखिल करने की आखिरी तारीक आठ जून है। भाजपा ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) के लिए अर्चना दिलीप सिंह को डिप्टी मेयर, जोगीराम जैन को अध्यक्ष, (स्थायी समिति), विजय कुमार भगत को उपाध्यक्ष (स्थायी समिति) और छैल बिहारी गिस्वामी को सदन के नेता के पद के लिए नामित किया है।दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) के लिए पवन शर्मा को डिप्टी मेयर, कर्नल (सेवानिवृत्त) बीके ओबेरॉय को अध्यक्ष, (स्थायी समिति), पुनम भाटी को उपाध्यक्ष, (स्थायी समिति) और इंद्रजीत सहरावत को सदन के नेता के पद के लिए नामित किया। वहीं, पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) के लिए किरण व्याध को डिप्टी मेयर, वीर सिंह पवार को अध्यक्ष, (स्थायी समिति), दीपक मल्होत्रा को उपाध्यक्ष, (स्थायी समिति) और सत्यपाल सिंह को सदन के नेता के पद के लिए नामित किया है।

विपक्षी दल आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के पास सीटे काफी कम है और वे भाजपा के उम्मीदवारों के लिए कोई खतरा उत्पन्न नहीं कर रहीं। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण उत्पन्न हुई स्थितियों को देखते हुए चुनाव की तारीखों में बदलाव किया जा सकता है। कोविड-19 के कारण पिछले साल भी मेयर के चुनाव में देरी हुई थी। 2022 में नगर निकाय के मौजूदा कार्यकाल के लिए पूरा होने से पहले आखिरी बार इन पदों के लिए चुनाव हो रहे हैं।

सोमवार, 24 मई 2021

दिल्ली: एक दिन में संक्रमण के सबसे कम मामले

रवि चौहान  
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 1,550 नए मामले सामने आए, जो 27 मार्च के बाद एक दिन में संक्रमण के सबसे कम मामले हैं। इस दौरान 207 मरीजों की मौत हो गयी तथा यहां संक्रमण दर 2.52 फीसद रही। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को एक बुलेटिन जारी कर इस बात की जानकारी दी।
दिल्ली में सोमवार को लगातार दूसरे दिन संक्रमण के नये मामले 2000 के नीचे तथा 27 मार्च से सबसे कम रहे। शहर में 27 मार्च को कोविड-19 के 1,558 नए मामले सामने आए थे । नवीनतम स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार 207 और मरीजों की जान चले के बाद यहां अबतक 23,409 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं। रविवार को कोविड-19 के 1,649 नए मामले सामने आए थे जबकि 189 मरीजों की मौत हुई थी।
उस दिन संक्रमण दर घटकर 2.42 फीसद तक आ गयी थी। शहर में बुधवार को कोविड-19 के 3,846 नए मामले सामने आए थे जबकि 235 मरीजों की मौत हुई थी, बृहस्पतिवार को 3231 नये मामले सामने आये थे और 233 मरीजों ने जान गंवायी थी तथा शुक्रवार को 3009 नये मामले सामने आये थे जबकि 252 मरीजों ने दम तोड़ दिया था। शनिवार को नये मामले घटकर 2260 रह गये थे।

दिल्ली: बिना राशन कार्ड भी गरीबों को मिलेगा राशन

हरिओम उपाध्याय  

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की दूसरी लहर को थामने के लिए लगाए गए लाॅकडाउन की वजह से रोजाना कमाकर खाने वाले गरीब लोगों को भूखे पेट ना सोना पड़े। इसलिए सरकार ने राजधानी में ऐसे लोगों को भी राशन देने का फैसला लिया था। जिनके पास अभी तक राशन कार्ड नहीं है। ऐसे लोगों के लिए इस सप्ताह पंजीकरण शुरू कर दिए जाएंगे। इसके लिए दिल्ली सरकार की वेबसाइट पर लिंक दिया जाएगा। कुछ सरकारी तकनीकी मंजूरी मिलने के बाद पंजीकरण आरंभ कर दिए जाएंगे।

सोमवार को दिल्ली सरकार की ओर से कहा गया है कि गरीबी की रेखा के तहत राशन पाने के लिए किसी भी तरह के आय प्रमाण पत्र अथवा गरीबी रेखा का प्रमाण पत्र दिखाने की जरूरत नहीं होगी। खाद्यान्न प्राप्त करने के लिए सिर्फ ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। इसके बाद लाभार्थी को एक ई-कूपन मिलेगा। जिसे दिखाने मात्र से ही संबंधित को राशन दे दिया जाएगा। सरकार की ओर से कहा गया है कि पंजीकरण कराने के बाद जो भी व्यक्ति यह ई-कूपन प्राप्त करेगा। उसे राशन दे दिया जाएगा। सरकार की मुफ्त खाद्यान्न योजना के तहत संबंधित व्यक्ति को 4 किलो गेहूं और 1 किलो चावल प्रति व्यक्ति के हिसाब से मिलेगा। दिये जाने वाले खाद्यान्न के बदले कोई पैसा नहीं लिया जाएगा। गौरतलब है कि 3 दिन पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गरीबों को मुफ्त खाद्यान्न दिए जाने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि राजधानी दिल्ली में 17.50 राशन कार्ड से लगभग 7200000 लोगों को हर महीने राशन प्राप्त होता है। परंतु दिल्ली में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो बाहर से आकर रोजी रोटी कमा रहे हैं। रोजाना कमाकर खाने वाले लोगों की आमदनी पर गहरा असर पड़ा है। राशन कार्ड धारकों को भी राशन देने के लिए इसी सप्ताह पंजीकरण के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

रविवार, 23 मई 2021

1,649 नए संक्रमित, 189 मरीजों की मौत: दिल्ली

सत्येंद्र ठाकुर  

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 1,649 नए मामले सामने आए हैं, जोकि 30 मार्च के बाद एक दिन में संक्रमण के सबसे कम मामले हैं। इस दौरान 189 मरीजों की मौत हो गयी। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को एक बुलेटिन जारी कर इस बात की जानकारी दी।

राजधानी में कोरोना संक्रमण की दर में भी लगातार गिरावट देखी जा रही है, जोकि अब घटकर 2.42 प्रतिशत हो गयी है। इससे पहले दिल्ली में शनिवार को कोविड-19 के 2,260 नए मामले सामने आए थे जबकि 182 मरीजों की मौत हुई थी।

शनिवार, 22 मई 2021

रविवार से युवाओं को नहीं लगेगी वैक्सीन: दिल्ली

हरिओम उपाध्याय   

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में टीके खत्म होने के कारण 18-44 आयु वर्ग के लोगों के लिए कोविड-19 टीकाकरण केंद्रों को बंद किया जा रहा है तथा उन्होंने केंद्र से और टीके उपलब्ध कराने की अपील की।उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि रविवार से दिल्ली में युवाओं के लिए सभी टीकाकरण केंद्रों को बंद कर दिया जाएगा क्योंकि टीकों का भंडार खत्म हो गया है।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली को अपने युवाओं को टीका लगाने के लिए एक महीने में 80 लाख टीकों की जरूरत है लेकिन उसे मई में केवल 16 लाख टीके मिले। दिल्ली का कोटा और कम करते हुए केंद्र जून में आठ लाख टीके ही मुहैया कराएगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी को सभी वयस्कों को टीके लगाने के लिए 2.5 करोड़ टीकों की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने केंद्र से दिल्ली का कोटा बढ़ाने और टीकों की आपूर्ति करने का अनुरोध किया।केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले कम हुए हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में करीब 2,200 मामले सामने आए और संक्रमण दर 3.5 प्रतिशत रही। मुख्यमंत्री ने देश में टीकों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए केंद्र को चार सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को 24 घंटे के भीतर देश में सभी सक्षम कंपनियों को कोवैक्सीन का उत्पादन शुरू करने का निर्देश देना चाहिए

क्योंकि भारत बायोटेक इसका फार्मूला साझा करने पर सहमत हो गई है। केजरीवाल ने कहा कि विदेशों में बने टीकों का भारत में इस्तेमाल किया जाना चाहिए और केंद्र को राज्यों की तरफ से टीके खरीदने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि विदेशी कंपनियों को भारत में टीकों के उत्पादन की अनुमति दी जानी चाहिए और केंद्र को ऐसे देशों से टीके लेने की कोशिश करनी चाहिए जिनके पास जरूरत से ज्यादा खुराक हैं।

गुरुवार, 20 मई 2021

दिल्ली में संक्रमण से मौतों की संख्या 22,579 हुईं

रवि चौहान   
नई दिल्ली। दिल्ली में एक दिन में कोविड-19 के 3,231 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, संक्रमण से 233 और लोगों की मौत के बाद शहर में इससे जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 22,579 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शहर में नमूनों के संक्रमित मिलने की दर अब 5.5 प्रतिशत है। अद्यतन स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, दिल्ली में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 3,231 नए मामले सामने आए, शहर में लगातार दूसरे दिन संक्रमण के चार हजार से कम नए मामले सामने आए हैं। चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि वैश्विक महामारी की दूसरी लहर के बीच लगा लॉकडाउन मामलों में कमी का एक बड़ा कारण है। दिल्ली में बुधवार को कोविड-19 के 3,846 नए मामले सामने आए थे और इससे 235 और लोगों की मौत हुई थी।

जहां भी दवा उपलब्ध हो वहीं से लेकर आए: एचसी

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने बुधवार को केंद्र से कहा कि वह उन कदमों की जानकारी दे जो ब्लैक फंगस के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा के आयात के लिए उठाए जा रहे हैं। बता दें कि कोविड-19 के ठीक हो रहे कई मरीजों में ब्लैक फंगस का संक्रमण देखने को मिला है और इसके इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा की देश में कमी है।
अदालत ने केंद्र सरकार से कहा कि वह, दवा की मौजूदा उत्पादन क्षमता, इसके उत्पादन के लिए लाइसेंस प्राप्त विनिर्माताओं की विस्तृत जानकारी, इस दवा के उत्पादन की क्षमता में वृद्धि और कब तक बढ़ा हुआ उत्पादन शुरू होगा, यह जानकारी मुहैया कराए। न्यायमूर्ति विपिन सांघी और न्यायमूर्ति जसमीत सिंह ने कहा कि केंद्र को अब एम्फोटेरिसिन बी दवा को, दुनिया में जहां भी उपलब्ध है, वहां से लाने के लिए कदम उठाने चाहिए। अदालत को बताया गया कि इस समय दिल्ली में म्यूकरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) के करीब 200 मामले हैं।

दिल्ली को ब्लैक फंगस से बचाने की योजना, प्रारंभ

सत्येंद्र ठाकुर   
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि दिल्ली सरकार के तीन अस्पतालों में ब्लैक फंगस या म्यूकरमाइकोसिस के इलाज के लिए विशेष केंद्र बनाये जाएंगे। केजरीवाल ने यहां एक बैठक में अधिकारियों और विशेषज्ञों के साथ ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों पर विचार-विमर्श करने के बाद यह घोषणा की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ब्लैक फंगस बीमारी की रोकथाम और इलाज के लिए बैठक में कुछ अहम निर्णय लिए। ब्लैक फंगस के इलाज के लिए लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल, गुरु तेग बहादुर अस्पताल और राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में केंद्र बनाये जाएंगे।’’

शनिवार, 15 मई 2021

जिलों में 200-200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक बनेगें

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज से दिल्ली में कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक शुरू करने की घोषणा की है जिसके तहत होम आइसोलेशन के जरूरतमंद मरीजों की मांग पर दो घंटे में उनके घर यह ऑक्सीजन कंसंट्रेटर निशुल्क पहुंचाया जाएगा। केजरीवाल ने कहा कि अगर कोरोना मरीज को समय पर ऑक्सीजन दे दी जाए, तो उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने से बचाई जा सकती है। इसी के मद्देनजर सभी जिलों में 200-200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक बनाया गया है। चिकित्सकों की टीम होम आइसोलेशन के जरूरतमंद मरीजों की मांग पर दो घंटे में उनके घर यह निःशुल्क ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पहुंचाएगी। अस्पताल से ठीक होकर घर लौटे जिन मरीजों को डाॅक्टर ने ऑक्सीजन लेने की सलाह दी है, उन्हें भी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दिया जाएगा। साथ ही, जो अभी होम आइसोलेशन का हिस्सा नहीं हैं, वे भी 1031 पर काॅल कर इसका हिस्सा बनकर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की मांग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि डॉक्टर्स की टीम पहले यह सुनिश्चित करेगी कि क्या आपको वाकई ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की जरूरत है भी या नहीं, तभी भिजवाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज कोरोना के और भी कम मामले आए हैं। पिछले 24 घंटे में दिल्ली में करीब 6,500 केस आए हैं, जबकि कल 8,500 केस आए थे। पिछले 24 घंटे में संक्रमण दर और भी कम हो गई है। अब संक्रमण दर गिर कर 11 फीसद हो गई है, जबकि कल संक्रमण दर 12 फीसद थी। दिल्ली में धीरे-धीरे कोरोना कम हो रहा है। भगवान से यही प्रार्थना है कि इसी तरह से कम होते-होते पूरी तरह से खत्म हो जाए और फिर से न बढ़े, लेकिन हम अपने काम में किसी भी तरह से ढिलाई नहीं कर रहे हैं।

गाइडलाइन उल्लंघन में 3754 का चालान, गिरफ्तार

सत्येंद्र ठाकुर   

नई दिल्ली। द्वारका जिले की पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान आईपीसी, एपिडेमिक और कालाबाज़ारी के मामलों को मिला कर 566 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। साथ ही इस दौरान डीडीएमए की गाइडलाइन उल्लंघन मामले में 3754 लोगों का चालान भी किया है।

डीसीपी द्वारका, संतोष मीणा के अनुसार द्वारका जिले की पुलिस ने अप्रैल महीने के 19 तारिख से 12 मई के बीच कुल 566 लोगों को गिरफ्तार किया है। 3754 लोगों को चालान किया गया है। इस दौरान द्वारका जिले की पुलिस ने आईपीसी के तहत 442 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा, वहीं 116 आरोपियों को एपिडेमिक एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया। जबकि 8 आरोपी कालाबाज़ारी के मामले में गिरफ्तार हुए हैं।

गुरुवार, 6 मई 2021

पहलवान सुशील की तलाश में जगह-जगह छापेमारी

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में मंगलवार को पहलवान के दो गुटों में झगड़े में एक पहलवान की मौत हो गई। अब मामले में दिल्ली पुलिस भारत के लिए ओलंपिक मैडल जीतने वाले पहलवान सुशील कुमार की तलाश में जगह- जगह छापेमारी कर रही है। 
सुशील कुमार पर आरोप लग रहे हैं कि वह इस हत्या में शामिल थे, जिसमें 23 साल के पहलवान को इतनी बुरी तरह मारा कि उसकी मौत हो गयी। इस पूरे मामले पर एडिशनल डीसीपी डॉ गुरिकबाल सिंह ने जानकारी दी है कि हम उनकी तलाश में लगातार छापेमारी कर रहे हैं। हम उनके साथियों की भी तलाश कर रहे है जिनमें से कुछ लोगों को पकड़ लिया गया है। इस मामले को पीसीआर कॉल के आधार पर दर्ज किया गया। शुरुआती जांच में सुशील कुमार और उनके साथियों को दोषी पाया गया है।

बुधवार, 5 मई 2021

गुरुद्वारे में 250 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाया

सत्येंद्र ठाकुर  

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना महामारी इस कदर कहर बरपा रही है कि आए दिन मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड की कमी से हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। इस मुश्किल घड़ी में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी डीएसजीएमसी मानवता की रक्षा के लिए आगे आई है। कोरोना काल में लोगों की जिंदगी की ढाल बनने के लिए कमेटी ने दिल्ली के ऐतिहासिक गुरुद्वारे रकाबगंज साहिब में 250 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाया है। जहां ऑक्सीजन और दवाईयों समेत हर प्रकार की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है। आगामी गुरुवार को सेंटर की शुरुआत की जाएगी।

मंगलवार को डीएसजीएमसी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने बताया कि कमेटी की तरफ से गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब के भाई लक्खी शाह वणजारा हाल में बनाया गया 250 बेड का कोरोना केयर सेंटर गुरुवार छह मई से शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि पहले चरण में 100 बेड की सुविधा मिलेगी और इसके एक हफ्ते बाद और 150 बेड भी सेवा में उपलब्ध होंगे। दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष ने यह स्पष्ट किया है कि यह कोरोना केयर सेंटर सिफ ऑक्सीजन की सुविधा प्रदान करने के लिए बनाया गया है। इसमें उन मरीजों को दाखिल नहीं किया जाएगा जिन्हें वेंटिलेटर की जरूरत होगी।मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा, " जिन का ऑक्सीजन स्तर कम होगा, उन मरीजों को यहां भर्ती किया जाएगा और ऑक्सीजन प्रदान की जाएगी। लेकिन गंभीर मरीजों को यहां भर्ती नहीं किया जाएगा। यहां हर बेड के साथ ऑक्सीजन, दवाएं और लंगर प्रदान किया जाएगा और किसी मरीज से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि अमेरिका से 250 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मंगाए गए हैं और अब तक लगभग 100 कंसंट्रेटर आ गए हैं जो इस कोरोना केयर में इस्तेमाल किए जाएंगे।

कोविड केयर सेंटर में एम्बुलेंस की भी व्यवस्था रहेगी। सिरसा ने बताया कि कमेटी की ओर से एम्बुलेंस के साथ-साथ डॉक्टर्स भी हायर किए गए हैं। मरीजों की देखभाल में कोई कमी न रहे, इसके लिए कमेटी के वॉलंटियर्स भी यहां चैबीसों घंटे ड्यूटी पर रहेंगे। इसके अलावा गुरुद्वारा कमेटी की ओर से कोरोना संक्रमित लोगों के घर पर लंगर पहुंचाने की भी सेवा की जा रही है। कमेटी ने इसके लिए कुछ हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं जिस पर कॉल करके कोरोना संक्रमित लोग अपने घर पर भोजन मंगा सकते हैं।

रविवार, 31 जनवरी 2021

राहत: सख्त गाइडलाइन के साथ खुलेंगे सिनेमाघर

फरवरी से खुलेंगे सिनेमाघर, नई गाइडलाइन का सख्ती से करना होगा पालन 
कविता गर्ग
मुंबई। थिएटर में फिल्म देखने के शौकीन लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी है। कि अब देश में 1 फरवरी से सभी सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स पूरी क्षमता के साथ खोल दिए जाएंगे। हालांकि इस संबंध में सूचना प्रसारण मंत्रालय द्वारा नई गाइडलाइन भी जारी की गई है। जिसे सख्ती से पालन करना जरूरी होगा। केंद्रीय गृह मंत्रालयन ने भी शनिवार को देश के सभी सिनेमा हॉल को 1 फरवरी से 100 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की अनुमति दे दी है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सिनेमाघरों के लिए नई गाइड लाइन का प्रारुप भी जारी कर दिया है।
नई गाइडलाइन के तहत इन नियमों का करना होगा पालन।
सार्वजनिक स्थान पर थूकना सख्त मना है।
सिनेमाघर में प्रवेश के दौरान मास्क लगाना अनिवार्य है।
सभी दर्शकों के स्वास्थ्य की स्व-निगरानी करना और बीमारी की स्थिति में जल्द से जल्द हेल्पलाइन पर रिपोर्ट करना।
दर्शकों के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप को इंस्टाल और उपयोग सभी को सलाह देना।
सिनेमाघरों और वेटिंग क्षेत्र के बाहर 6 फीट की भौतिक दूरी का अनिवार्य पालन
पहले 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की दी थी अनुमति
गौरतलब है। कि केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने पहले सिनेमाघरों को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की अनुमति दे दी थी। लेकिन अब मंत्रालय ने 100 फीसदी क्षमता के साथ मल्टीप्लेक्स व सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति दे दी है। फिल्म वितरकों और थिएटर मालिकों ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। गौरतलब है कि बीते साल मार्च से ही देश में सिनेमाघर बंद थे। जो अक्टूबर तक नहीं खुले थे। अक्टूबर में सरकार ने कुछ नियमों के साथ 50 फीसदी क्षमता के साथ सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति दे दी थी।

शुक्रवार, 8 जनवरी 2021

लंबित बिलों का भुगतान करें सरकार: एचसी

अकाशुं उपाध्याय  
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को केंद्र और दिल्ली में सत्तारूढ़ आप सरकार को चेतावनी दी कि यदि उन्होंने अपने पैनल में शामिल वकीलों के छह महीने या अधिक समय से लंबित बिलों का भुगतान नहीं किया तो वह वरिष्ठ अधिकारियों का वेतन रोक देगा। अदालत को केंद्र और दिल्ली सरकार के वकील ने सूचित किया कि भुगतान प्रक्रिया शुरू हो गई है और कुछ बिलों का भुगतान कर दिया गया है तथा कुछ अन्य में प्रक्रिया जारी है और जल्द ही भुगतान कर दिया जाएगा। न्यायमूर्ति डी एन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की पीठ ने अधिकारियों से कहा कि वे ऐसे सभी बिलों का भुगतान करें जो छह महीने या इससे अधिक पुराने हैं, अन्यथा अदालत सचिव स्तर के अधिकारियों सहित वरिष्ठ अधिकारियों का वेतन रोक देगी। पीठ ने कहा, ”यह नहीं होना चाहिए कि वकीलों के छह महीने पुराने बिलों का भुगतान न हो और उन्हें वेतन न मिले।”

उच्च न्यायालय अधिवक्ता पीयूष गुप्ता की याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिन्होंने दलील दी कि वकील ऐसे समय वित्तीय कठिनाई का सामना कर रहे हैं जब अदालतें बंद हैं क्योंकि कुछ के लिए आय का एकमात्र स्रोत पेशेवर शुल्क और बिल काफी समय से लंबित हैं। केंद्र की ओर से पेश हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल चेतन शर्मा ने सुनवाई के दौरान कहा कि केंद्र की सूची में शामिल वकीलों के लिए स्वीकृत बजट नौ करोड़ रुपये का था और पूरी राशि का भुगतान किया जा चुका है।

वहीं स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) की ओर से पेश हुए केंद्र सरकार के स्थायी अधिवक्ता अनुराग अहलूवालिया ने कहा कि संबंधित वकीलों के बिल एनसीबी को भेज दिए गए हैं और इनमें प्रक्रिया जारी है। उच्च न्यायालय ने वकीलों के बिलों का भुगतान करने के लिए अधिकारियों को समय दे दिया और मामले में अगली सुनवाई के लिए 12 फरवरी की तारीख निर्धारित कर दी।

पूर्व में लंबित याचिका में आवेदन दायर कर केंद्र सरकार के एक वकील ने दावा किया था कि उनके पेशेवर शुल्क का कुछ समय से भुगतान नहीं हुआ है तथा उनके कई बिल काफी समय से लंबित हैं। याचिका में कहा गया है कि दिल्ली सरकार के वकीलों का शुल्क या बिल काफी समय से लंबित हैं। अदालत ने केंद्र के पैनल में शामिल वकील को मुख्य मामले में पक्ष बनने की अनुमति दे दी थी। इसने केंद्र और आप सरकार को निर्देश दिया था कि वे अपने-अपने वकीलों के छह महीने से अधिक पुराने बिलों का जल्द से जल्द भुगतान करें।

शनिवार, 26 दिसंबर 2020

बगैर फास्टैग नहीं होगा गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन

25 दिसंबर से आरटीओ का नया नियम, बगैर फास्टैग नहीं होगा गाड़ियों का रजिस्ट्रेश
अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। देशभर में एक जनवरी से टोल प्लाजा से गुजरने वााले सभी वाहनों के लिए फास्टैग लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसे में अब आरटीओ नियमों में भी सख्ती कर दी गई है। 25 दिसंबर के बाद अब जो भी नई गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन कराने आरटीओ ऑफिस पहुंचेगा तो उन्हें पहले फास्टैग लगाना बेहद जरूरी होगा। बुधवार को देशभर में डीलरों के लिए ये नियम पालन करना अनिवार्य कर दिया है। विशेषकर यातायात विभाग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक सभी चार पहिया वाहनों में फास्टैग अनिवार्य होगा। इसके अलावा ट्रैफिक डिपार्टमेंट का जांच दल वाहन चालकों को फास्टैग लगवाने के लिए चेतावनी भी देंगे। उत्तरप्रदेश में लखनऊ आरटीओ कार्यालय में हर प्रकार के 4 पहिया पंजीकृत वाहनों की संख्या 6 लाख के पार है। इनमें सवा लाख के करीब वाहन चलन में नहीं हैं।
इधर एनएचएआई के परियोजना निदेशक एनएन गिरि ने बताया कि ऐसा फास्टैग सिस्टम के प्रति वाहन चालकों को जागरूक करने के लिए ऐसा किया जा रहा है। गौरतलब है। कि एक जनवरी से देश के सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है। अगर आपकी गाड़ी पर फास्टैग नहीं है। तो यात्रा के दौरान दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।
केंद्र सरकार की तरफ से भी सभी चार पहिया वाहनों पर 1 जनवरी के बाद से फास्टैग को अनिवार्य कर दिया गया है।

मंगलवार, 22 दिसंबर 2020

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शताब्दी वर्ष

नई दिल्ली। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की स्थापना की आज शताब्दी वर्ष पूरे हो गए हैं। इस अवसर पर मंगलवार को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शताब्दी वर्ष समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हो रहे पीएम नरेंद्र मोदी का वर्चुअल संबोधन होगा। पीएम के इस संबोधन को अलीगढ़ के अलावा दुनिया के सौ से अधिक देशों में सुना जाएगा। शताब्दी वर्ष यानि दिसंबर 1920 में तत्कालीन कुलपति मोहम्मद अली मोहम्मद खान राजा साहब ने औपचारिक रूप से एएमयू की शुरुआत की थी। पीएम मोदी थोड़ी देर में एएमयू के शताब्दी समारोह को अपने संबोधन से बेहद खास बनाने जा रहे हैं।

सोमवार, 21 दिसंबर 2020

'बाबा का ढाबा' पर भारतीय-चीनी व्यंजन परोसेंगे

अश्वनी उपाध्याय
गाजियाबाद। कोरोना लॉकडाउन के दौरान सुर्खियों में आए ‘बाबा का ढाबा’ के मालिक कांता प्रसाद ने एक नया रेस्टोरेंट खोला है। यह रेस्टोरेंट दिल्ली के मालवीय नगर में शुरू किया गया है। 80 वर्षीय कांता प्रसाद ने सभी लोगों से अपने रेस्टोरेंट में आने की अपील की है। नया रेस्टोरेंट शुरू करने के बाद कांता प्रसाद ने कहा, ”हम बहुत खुश हैं, भगवान ने हमें आशीर्वाद दिया है। मैं मदद के लिए लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं। मैं उनसे अपने रेस्टोरेंट में आने की अपील करता हूं। हम यहां भारतीय और चीनी व्यंजन परोसेंगे।”

गुरुवार, 17 दिसंबर 2020

पीएसएलवी-सी50 का सफल प्रक्षेपण किया

श्रीहरिकोटा। संचार उपग्रह सीएमएस-01 को लेकर जा रहे ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान पीएसएलवी-सी50 का गुरुवार को सफल प्रक्षेपण किया गया। पीएसएलवी-सी50 ने 25 घंटों तक चली उल्टी गिनती के बाद आज दोपहर 03:4 बजे श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के दूसरे लांच पैड से उड़ान भरी।

मंगलवार, 15 दिसंबर 2020

सच: परिवहन निगम ने अधिनियम अभियान चलाया

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में परिवहन निगम ने मंगलवार से एक अभियान चलाया है। जहां इस बात की जांच की जाएगी कि गाड़ियों पर हाई सिक्‍योरिटी रजिस्‍ट्रेशन प्‍लेट और कलर कोड स्टिकर है या नहीं। केंद्र सरकार के निर्देशानुसार एक दिसंबर से वाहनों पर हाई सिक्योरिटी रजिस्‍ट्रेशन प्‍लेट जरूरी कर दी गई थी और एक जनवरी से इसे लेकर अब सख्ती भी बरती जाएगी। फिलहाल कुल नौ टीमें बनाई गई हैं। जो नौ जिलों में जांच करेगी और नियम तोड़ने पर 5500 रुपये का जुर्माना भी वसूला जा सकता है।

चंद्रमौलेश्वर शिवांशु 'निर्भयपुत्र'

नये सिरे से चुनाव प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए

अकांशु उपाध्याय        नई दिल्ली। भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ(एनआरएआई) के मोहाली में होने वाले चुनावों से एक दिन पहले खेल मंत्रालय ने निशानेब...