मंगलवार, 27 अगस्त 2019

नियमों की धज्जियां उड़ा रही है पालिका

गुलावठी में लगने वाले साप्ताहिक मंगल पैंठ बाजार में सड़क से सटाकर लगाई जा रही है दुकानें


नगरपालिका के नियमों की भी उड़ाई जा रही है धज्जियां


नितिन मोदी


गुलावटी। नेशनल हाईवे 235 पर गुलावठी नगर में हापुड़ रोड पर लगाये जाने वाली साप्ताहिक मंगल पैंठ बाजार में प्रत्येक मंगलवार को दुकानदारों और ई रिक्शा चालकों द्वारा रोड से सटाकर लगाई जा रहीं हैं दुकानें।सुरक्षा के लिहाज से बाजार के मुख्य द्वार पर खड़ी पुलिस की जीप के आगे भी अतिक्रमण किए रहते हैं दुकानदार।बाजार में दुकान लगाने वाले दुकानदार रोड के किनारे करते हैं भारी अतिक्रमण।


नेशनल हाईवे पर बाजार लगाकर अतिक्रमण करने वालों पर आखिर क्यों है प्रशासन मेहरबान ?
क्यों नहीं चलाया जा रहा इन अतिक्रमणकारियों पर चाबुक?


पूर्व में यह बाजार गुलावठी के अकबरपुर जोझा रोड पर लगाया जाता था। लेकिन जगह कम होने के कारण गांव के रास्ता का आवागमन पूरी तरह बाधित हो जाता था। 
इसी इसी वजह से बाजार को मध्य गुलावठी से हापुड़ रोड पर चर्च के करीब पेट्रोल पंप के निकट खाली स्थान पर पहुंचा दिया गया था।
तभी से यह बाजार वहीं लग रहा है।यह फैसला नगर पालिका और प्रशासन द्वारा लिया गया था। मगर इस फैसले के बाद भी किसी प्रकार की सहूलियत नहीं हो पाई है।रोड से सटाकर लगने वाली दुकानों और ई-रिक्शाओं से होने वाली भीड़भाड़ से रोड पर जाम की स्थिति बनी रहती है।
बाजार में आने वाली महिलाओं और लोगों को इससे खासा परेशानी उठानी पड़ रही है। प्रशासन की इस अनदेखी के कारण जनहानि और बड़ा दुर्घटना होने की कगार पर है। लेकिन इस ओर किसी का ध्यान नहीं है। बाजार नगर पालिका और प्रशासन के द्वारा  बनाए गए नियम और मानकों को दृष्टिगत रखकर नहीं लगाया जा रहा है। इसका खामियाजा बाजार में आने वाली महिलाओं वह बच्चों को कभी भी जान देकर भुगतना पड़ सकता है।
यह पूरा वाक्या मंगल पैंठ बाजार के ठेकेदार और प्रशासन की नाक के निचे चल रहा है।अब  इस मामले में देखने लायक  बात होगी कि रोड से सटाकर दुकान लगाने और ई रिक्शाओं द्वारा रोड के निकट जाम लगाए जाने से बाजार में आने वाली महिला और लोगों को मिल पाएगी आजादी?जल्द ही इसका समाधान जरूरी है वरना यदि रोड पर कोई हादसा हुआ तो जिम्मेदार होगा कौन?


औद्योगिक विकास को बनाये गतिशील:डीएम

गाजियाबाद(यूए)। जिला सभागार में  जिला अधिकारी अजय शंकर पांडे के द्वारा उद्योग बंधु की मासिक सभा की अध्यक्षता करते हुए बताया गया। उद्योग के क्षेत्र में गाजियाबाद जिले का उत्कृष्ट योगदान है जो अत्यंत महत्वपूर्ण है। जिसको विकसित करने के लिए प्रशासनिक स्तर पर त्वरित कार्य विधि को अपनाना चाहिए। औद्योगिक विकास विभागीय अधिकारियों की प्राथमिकता में होना चाहिए। औद्योगिक विकास की दृष्टि से गाजियाबाद जिला अत्यंत महत्वपूर्ण है ।औद्योगिक इकाई और उद्यमियों को होने वाली समस्याओं का त्वरित और प्राथमिकता के आधार पर निपटारा होना चाहिए। औद्योगिक विकास को गति प्रदान करने के लिए विभागीय अधिकारियों को यथासंभव प्रयास करने चाहिए। ऐसे प्रयासों को उपयोग में लाना चाहिए जो औद्योगिक इकाइयों से जुड़ी हुई समस्याओं और अवरोधों के निदान कर सकते हैं। उधमीयो संबंधित समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए जल्द से जल्द उनका निपटारा कर देना चाहिए। सरकार एवं शासन औद्योगिक विकास के संबंध में अत्यंत गंभीर है। व्यापारियों का विकास क्षेत्र के विकास की मूल कड़ी है। जिसके लिए विभागीय अधिकारियों को व्यापारियों की यथासंभव सहायता करने के  तत्पर रहना चाहिए।


नाबालिग से डेढ़ माह तक किया दुष्कर्म

केके शर्मा


गाजियाबाद। युवा वर्ग की मानसिकता का स्तर इस हद तक गिर रहा है कि युवा अपराध और अपराध की प्रवृत्ति की सीमाए किस चरम पर पहुंच चुकी है। जिसका एक ताजा मामला प्रकाश में आया है।


मसूरी स्थित इंदरगढ़ी क्षेत्र में नाबालिक को जान से मारने की धमकी देकर पिछले डेढ़ महीने से लगातार दुष्कर्म करता रहा युवक। नाबालिक इतनी डरी हुई थी कि वह अपने परिजनों को घटना की जानकारी नहीं दे पा रही थी। युवक के द्वारा प्रताड़ित करने से नाबालिक के मन में डर बैठ गया था। लेकिन हिम्मत जुटाकर नाबालिग ने घटना की जानकारी अपने परिजनों को दी। जिसके बाद परिवार ने स्थानीय पुलिस को सूचना दी। स्थानीय पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी फरार हैं,थाना मसूरी निरीक्षक नरेश कुमार सिंह ने कार्रवाई करते हुए तत्काल दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। अभियुक्तो का एक अन्य साथी फरार है जिसे जल्द ही गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है।अभियुक्तो पर कार्रवाई कर जेल भेजा जा रहा है।


अनाधिकृत गतिविधियो के विरुद्ध भरी हुंकार

अकाशुं उपाध्याय


भारतीय किसान यूनियन अंबावता ने लोनी में सरकारी जमीन ,ग्रीन बेल्ट को कब्जामुक्ति के लिए लोनी एसडीएम को सौंपा ज्ञापण, कहा बन्द हो सभी अवैध धंधे क्षेत्र में फेल रहा है प्रदूषण एवं जल जनित रोग



भारतीय किसान यूनियन ने लोनी को प्रदूषण मुक्त और ग्रीन बेल्ट की ज़मीन पर बनाये गए अवैध कब्जों को हटवाने को लेकर निर्णायक मुहिम छेड़ रखी है। 


गाजियाबाद। भारतीय किसान यूनियन अंबावता के (प्रदेश अध्यक्ष) पं. सचिन शर्मा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने लोनी एसडीएम से भेंट कर बताया कि किस तरह भूमाफिआयों द्वारा अवैध रूप से सरकारी व ग्रीन बेल्ट की भूमि पर कब्जा कर अवैध निर्माण कर वसूली की जा रही है। वहीं क्षेत्र में संचालित फैक्टरियों द्वारा लगातार माननीय एनजीटी, केंद्रीय भूजल प्राधिकरण के आदेशों का उल्लंघन कर संचालन किया जा रहा है। एसडीएम को लिखे पत्र में किसान यूनियन प्रदेश अध्यक्ष (अ) ने  लोनी विधानसभा में आर्य नगर डीआईसी इंडस्ट्रियल एरिया, बलराम नगर लोनी बिजली घर से नीलम फैक्ट्री100 फुटा रोड, दिल्ली-सहारनपुर मार्ग के ग्रीन बेल्ट सहित सरकारी भूमि पर चारदीवारी के जरिए अवैध निर्माण कर भूमाफियाओं द्वारा मार्बल पत्थर, सर्विस सेंटर व फैक्ट्रीयों को किराए पर देने की बात कहीं। साथ ही बताया कि सरकारी व ग्रीन बेल्ट पर बने इन अवैध निर्माण से भू-माफियाओं द्वारा 20 लाख रूपये से अधिक किराया प्रति महिना वसूला जा रहा है। अब तक इन लोगों द्वारा सरकारी व ग्रीन बेल्ट पर बनाए गए अवैध निर्माण से लगभग 50 करोड़ रूपये की वसूली कर चुके है। जो सीधा-सीधा प्रदेश सरकार के राजस्व की हानि है। इनके अतिरिक्त किसान यूनिन ने नाम सहित कुछ लोगों की सूची भी सौंपी। जिसमें एसके मार्बल (सतीश शर्मा), श्री बालाजी मार्बल (दिनेश सिघंल), श्री मार्बल (निजय गुप्ता), श्री राम सर्विस सेंटर आदि दुकानें जो अवैध रूप से उपरोक्त स्थानों पर बनाई गई है, इनसे किराया वसूला जा रहा है। वहीं दूसरी ओर किसान यूनियन ने कहा है कि यूपीएसआईडीसी की भूमि पर जय दुर्गा आईस इंडस्ट्री (सुभाष अग्रवाल), तिरूपति मार्बल (एस-10 2 नंबर) लोनी में अवैध रूप से संचालित की जा रही है। वहीं रूपनगर, आर्य नगर, 2 नंबर, नालम फैक्ट्री आदि स्थानों पर जींस रंगाई, ढलाई व कैमिकल की  फैक्ट्रिया अवैध रूप से संचालित की जा रही है।  सरकारी व ग्रीन बेल्ट की भूमि को कब्जामुक्त करवाकर भू-माफियाओं पर कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की सिफ़ारिश करते हुए कहा कि,की गई अवैध वसूली की धनराशि को जब्त कर उसे सरकारी खाते में जमा करवाकर उसका प्रयोग लोनी के विकास में किया जाए और ग्रीन बेल्ट का सौंदर्यीकरण किया जाए। 2नंबर स्थित यूपीएसआईडीसी की भूमि, आर्य नगर, नीलम फैक्ट्री इत्यादी स्थानों पर संचालित हो रही अवैध बर्फ, जींस रंगाई, ढलाई व कैमिकल आदि हानिकारक रसायन की फैक्ट्रीयों द्वारा माननीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) व केंद्रीय भूजल प्राधिकरण (सीजीडब्लूए) के दिशा-निर्देशों का खुला उल्लंघन किया जा रहा है। इन सभी अवैध संचालित फैक्ट्रीयों के पास न तो सीजीडब्लूए व प्रदूषण विभाग की एनओसी है और न ही इनके द्वारा एनजीटी के किसी भी नियम का पालन किया जा रहा है। इनके द्वारा क्षेत्र के भूजल का बदस्तूर दोहण किया जा रहा है। इन फैक्ट्रियों द्वारा अपशिष्ट पदार्थो को खुले में बहाया जा रहा है जिससे क्षेत्र का भूजल स्तर निरंतर प्रदूषित होने के साथ-साथ स्थानीय निवासियों में जल जनित रोग के लक्षण पाए जा रहे हैं। 


यहीं स्थिति अगर बनी रही तो आने वाले समय में लोनी में भारी पेयजल संकट का सामना लाखों लोगों को करना पड़ सकता है। साथ  ही किसान यूनियन ने पुख्ता सबूत का दावा होने की कोशिश करते हुए कहा कि पूर्व में भी प्रशासन द्वारा उपरोक्त वर्णित अवैध फैक्ट्रियो पर कार्रवाई स्वरूप इन्हें बंद करवाया जा चुका है लेकिन इन्हें अधिकारियों की मिलीभगत से कुछ समय बाद पुनः संचालित करवा दिया जाता है। इसलिए उपरोक्त सभी अवैध कार्यो को जनहित व लोनीहित में कड़ी कानूनी कार्रवाई करते हुए पुर्णतः बंद करवाने की सिफ़ारिश की गई है। जिससे लोनी की लाखों जनता को स्वच्छ जल व स्वच्छ हवा का मौलिक अधिकार प्राप्त हो सकें। वहीं किसान यूनियन ने ज्ञापन की प्रतिलिपि  उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री, नगर विकास मंत्री सहित स्थानीय विधायक, हरित प्राधिकरण (एनजीटी), केंद्रीय भूजल प्राधिकरण और जिलाधिकारी, गाजियाबाद को भी सौंपा है। इस अवसर पर प्रवीण शर्मा,नीतू ठाकुर,मुकेश सोलंकी अजीत गुर्जर, दीपेश शर्मा, डंपी ठाकुर,हारुन पहलवान,सुमित शर्मा,सत्येंद्र बंसल,रामसकल गुर्जर, प्रवेश बालियान आदि कार्यकर्ता बंधु उपस्थित रहे।


जनहित में जारी,गड्ढा मुक्त सड़क अभियान

इकबाल अंसारी


गाजियाबाद-लोनी। मानव कल्याण सेवा संस्था के द्वारा गुड्डा मुख्य सड़क अभियान पर कार्य किया जा रहा है।जिसके चलते राष्ट्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र त्यागी अपने सहयोगियो सहित अभियान में जुटे हुए हैं। 7000 चटका ईंटे फैलाकर सुबह 8:00 बजे से लेकर 10:00 बजे तक श्रमदान किया। जगह-जगह भारी गड्ढों में तब्दील हो चुका रोड, ईट बिछाकर गड्ढा मुक्त किया।  इंदिरापुरी बस स्टैंड के पास अपने सहयोगी सहित हम ईट बिछा रहे थे, तभी दिल्ली-सहारनपुर मार्ग पर चलने वाली उत्तर परिवहन की बस रुकी। उसका ड्राइवर और कंडक्टर दोनों उतरकर हमारे साथ ईंट बिछाने लगे और गले मिलकर उन्होंने कहा, भैया हमारे लिए तो आप देवदूत बनकर आए हो। क्योंकि मुझे यहां से दो बार आना जाना पड़ता हैं बस लेकर। मुझे डर लगता था कि कहीं गाड़ी ना पलट जाए। कोई दुर्घटना ना हो जाए। अब रिटायरमेंट का समय है और मैं बहुत चिंतित था। इस रोड के गड्ढों को लेकर और बस के यात्रियों को लेकर।आपने इन गड्ढों को भरकर लाखों हजारों उन मुसाफिरों को राहत दी है जो इस रोड से गड्ढों में गिरकर चोटिल और दुर्घटनाग्रस्त हो रहे थे। मुझे एहसास हुआ वास्तव में इन गड्ढों से लोनी के लोग तो परेशान थे ही शामली, बड़ौत,बागपत,मुजफ्फरनगर से आने वाले यात्री,जो दिल्ली जाते थे, वह भी डरते थे। बहुत से लोगों ने अपना रास्ता बदल लिया था।


जनता के हित में संस्था के द्वारा किया गया यह कार्य सराहनीय हैं, बल्कि उत्कृष्ट योगदान के रूप में भी देखा जा रहा है। यात्रियों की शुगम यात्रा और स्थानीय लोगों की पीड़ा को कम करने के इस प्रयास से संस्था का मूल उद्देश्य अपनी दिशा की ओर अग्रसर हो रहा है। स्थानीय जनप्रतिनिधित्व और सत्ताधारी दल के ठेकेदारों के मुंह पर यह एक कालिख के समान है। जहां राजमार्ग और राष्ट्रीय मार्गों की यह दुर्दशा है। वहां जनता किस विकास की अपेक्षा कर सकती है? अपने नेतृत्व को साबित करने के लिए इससे बेहतरीन अवसर नहीं हो सकता था। लेकिन स्थानीय नेतृत्व और प्रतिनिधित्व इसमें पूरी तरह असफल सिद्ध हुए हैं।


प्रिंसिपल टीचरों से करता है अश्लील हरकतें

राणा ओबरॉय


होशियारपुर। पंजाब के एक सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल ने अपने दफ्तर में ऐसी हरकत कर दी जिससे समूचा शिक्षा विभाग शर्मसार है। मामला होशियारपुर जिले के एक सरकारी स्कूल का है। आरोपी स्कूल प्रिंसिपल दो महिला शिक्षिकाओं के साथ अश्लील हरकतें करते रंगे हाथ पकड़ा गया है। आरोपी प्रिंसिपल के दो वीडियो क्लिप सोशल मीडिया में वायरल हुए हैं।एक वीडियो क्लिप में आरोपी एक महिला अध्यापिका के साथ दिखाई दे रहा है। महिला अध्यापिका उसके कार्यालय में प्रवेश करती है। उसके बाद दोनों आलिंगन करने के बाद अश्लील हरकतें करते हैं फिर अध्यापिका आरोपी के पैर छूती है।
फिर दोनों अलग हट जाते हैं और महिला शिक्षिका और आरोपी प्रिंसिपल आपस में कुछ बात करते हैं। दोनों एक बार फिर एक दूसरे को गले लगाते हैं। आरोपी स्कूल प्रिंसिपल महिला के साथ फिर अश्लील हरकतें करता दिखाई देता है। दोनों एक बार फिर एक दूसरे को गले लगाते हैं और महिला दोबारा उसके पैर छूती है। दूसरे वीडियो क्लिप में एक अन्य शिक्षिका आरोपी के दाहिने ओर बैठी हुई है और हस्ताक्षर करने के लिए एक रजिस्टर आगे बढ़ाती है। आरोपी प्रिंसिपल फोन पर किसी से बात कर रहा है। इस बीच वह महिला के गाल पर किस करता है।
सूत्रों की मानें तो आरोपी प्रिंसिपल की हरकतें किसी से छिपी हुई नहीं थी। मामला गांव की पंचायत तक भी पहुंचा था और सरपंच ने शिक्षा विभाग से आरोपी प्रिंसिपल का तबादला करने का आग्रह किया था। लेकिन आरोपी के खिलाफ कोई सबूत ना होने की वजह से कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। उधर स्कूल प्रिंसिपल की हरकतों से परेशान स्कूल के स्टाफ ने आखिर उसका स्टिंग करने का प्लान बनाया। आरोपी के दफ्तर में एक स्पाई कैमरा लगाकर उसकी हरकतों को कैद कर लिया गया।अश्लील हरकतों के वीडियो जैसे ही वायरल हुए आरोपी प्रिंसिपल और वीडियो में दिखाई दे रही दो शिक्षिकाओं ने स्कूल आना बंद कर दिया। मामला सुर्खियों में आने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी मोहन सिंह लेहल ने आरोपी प्रिंसिपल के खिलाफ जांच बैठा दी है। वीडियो की सत्यता का पता लगाया जा रहा है।


नाबालिग युवती से दुष्कर्म,मामला दर्ज

विवेक चौबे


अंबिकापुर। जिले के मणिपुर चौकी क्षेत्र की रहने वाली 16 वर्षीय नाबालिक युवती से दुष्कर्म का मामला सामने आया है ।जिसकी शिकायत महिला थाने में की गई है। दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया गया है।


 दरअसल मणिपुर चौकी क्षेत्र के मठपारा निवासी बजरंग साहू के यहाँ अपने परिवार के साथ नाबालिक किराया के घर में रहती थी। इस दौरान आरोपी बजरंग साहू नाबालिक को अपने प्रेम जाल में फंसाकर शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। वहीँ जब नाबालिक गर्भवती हो गई. और शादी करने का दबाव बनाया,तो आरोपी युवक ने शादी करने से साफ़ इंकार कर दिया। जिसके बाद नाबालिक युवती ने गर्भवती होने की जानकारी सबसे पहले अपने परिजनों को दी। जिसके बाद परिजनों ने महिला थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराइ है। जिसके बाद पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर मामला दर्ज कर धारा 376 (ढ) के तहत अपराध दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।


पुलिस ने मुंबई से बरामद की लापता छात्र

विवेक चौबे


अंबिकापुर। शहर के नमनाकला स्थित संत जोशफ गर्ल्स छात्रावास से 22 अगस्त की सुबह से लापता छात्रा को मुंबई पुलिस ने बरामद कर लिया है और चाइल्ड लाइन को सौंपकर सरगुजा पुलिस को सुचना दे दी है।


दरअसल लापता छात्रा प्रतापपुर की रहने वाली है और अंबिकापुर में संत जोशफ गर्ल्स छात्रावास में रहकर शहर के एक निजी स्कूल में पढाई करती है। 22 अगस्त की सुबह छात्रा स्कूल के लिए निकली, लेकिंन रहस्यमय ढंग से लापता हो गई। छात्रावास वार्डन ने छात्रा के लापता होने की सुचना उनके परिजनों को दी। जिसके बाद परिजनों ने गांधीनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 


लापता छात्रा को 25 अगस्त के दिन मुंबई में घूमते हुए देखा गया. जिसके बाद मुंबई पुलिस ने पूछताछ की तो अपने आप को छत्तीसगढ़ के सरगुजा प्रतापपुर की रहने वाली बताया। जिसके बाद मुंबई पुलिस ने सरगुजा पुलिस से सम्पर्क कर जानकारी ली। फ़िलहाल लापता छात्रा को मुंबई के चाइल्ड लाइन को सौंप दिया है। सुचना मिलने पर गांधीनगर पुलिस टीम लापता छात्रा को लेने मुंबई के लिए रवाना हो गई है। छात्रा के वापस आने के बाद ही मुंबई कैसे पहुंची इन कारणों का पता चल पायेगा। वहीँ लापता छात्रा के मिलने से परिवारवालों में ख़ुशी का माहौल है।गांधीनगर पुलिस लापता छात्रा को मुंबई से बरामद कर सरगुजा गुरुवार तक वापस लाने का दावा कर रही है।


हरियाणा कांग्रेस ने किया एससी का रूख

दिल्ली। हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक तंवर ने दिल्ली के तुगलकाबाद में तोड़े गए संत रविदास के मंदिर को बनाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। मंदिर दोबारा बनवाने के लिए तंवर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है।


बता दें कि दिल्ली के तुगलकाबाद के जहांपनाह जंगल में स्थित संत रविदास के मंदिर को दिल्ली विकास प्राधिकरण ने 10 अगस्त को तोड़ दिया था। दिल्ली, हरियाणा समेत आस-पास के दलित समुदाय के लोगों ने इसका कड़ा विरोध किया था। इससे पहले 9 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी की थी कि गुरु रविदास जयंती समारोह समिति ने जंगल में स्थित इस स्थान को खाली न कर कोर्ट के आदेश की अवहेलना की है। वही, इस मामले पर अदालत ने कहा था कि गुरु रविदास मंदिर पर कोर्ट के फैसले को राजनीतिक रंग में नहीं देखना चाहिए। कोर्ट ने पंजाब, हरियाणा और दिल्ली की राज्य सरकारों को कहा था कि इस मामले को सियासी रंग नहीं दिया जाना चाहिए। अदालत ने कहा था कि हर चीज पर राजनीतिक नजरिया नहीं हो सकता। हमारे आदेश को राजनीति के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए। कोर्ट ने कहा था कि कानून-व्यवस्था को चुनौती देने वाले के खिलाफ एक्शन लेना चाहिए।


हिसार से 3 सितंबर को 'पहली उड़ान'

हिसार। हरियाणा के हिसार एयरपाेर्ट से 3 सितंबर काे आधिकारिक रूप से पहला विमान उड़ने जा रहा है। एयरपाेर्ट से शुभारंभ सुबह 9:30 बजे सीएम मनाेहर लाल द्वारा किया जाएगा। यहां से स्पाइस जेट का विमान चंडीगढ़ के लिए पहली उड़ाने भरते हुए मुख्यमंत्री सहित अन्य नेताओं काे लेकर जाएगा। इसके साथ ही अन्य स्थानाें के लिए भी फ्लाइट शुरू कर दी जाएगी। हिसार वासियाें को लंबे समय बाद खुशखबरी मिली है। अब हिसार से दिल्ली करीब 40 मिनट में जाया जा सकता है। इसके साथ ही चंडीगढ़ व अन्य स्थानाें के लिए भी इसी प्रकार की हवाई सुविधा मिलेगी। जिला उपायुक्त अशाेक कुमार मीणा ने बताया कि शुभारंभ से पहले प्रेस काॅन्फ्रेंस अायाेजित हाेगी, जिसमें कार्यक्रम से जुड़ी जानकारियां साझा की जाएंगी।


इन रूट्स पर फ्लाइट शुरू किए जाने की है योजना


हिसार से चंडीगढ़, हिसार से दिल्ली, हिसार से जयपुर अाैर हिसार से देहरादून के लिए फ्लाइट चलने की संभावना है। फिलहाल स्पाइस जेट कम यात्रियाें काे ले जाने वाला प्लेन उड़ाएगी, इसके बाद यात्रियाें की रुचि काे देखते हुए इसकाे बढ़ाया जाएगा।


बैडमिंटन विश्व चैंपियन 'सिंधु' से मिले'मोदी'

नई दिल्ली। स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधी वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब जीतकर स्वदेश लौट आई हैं। वर्ल्ड चैंपियनशिप्स में गोल्ड मेडल अपने नाम करने वाली सिंधु पहली भारतीय हैं। यह खास उपलब्धि अपने नाम कर स्वदेश लौटीं पीवी सिंधु ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और खेल मंत्री किरण रिजिजू से मुलाकात की। इस मौके पर सिंधु के साथ उनके कोच पुलेला गोपीचंद और खेल मंत्री किरण रिजिजू भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री से मुलाकात से पहले पीवी सिंधु खेल मंत्री किरण रिजिजू से मिलीं। इस दौरान मंत्री को अपना गोल्ड मेडल दिखाते हुए सिंधु।


 


लखनऊ से आई टीम,कई पर गिरेगी गाज

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। साहिबाबाद थाना क्षेत्र में करोड़ो रूपये की स्टाम्प चोरी के मामले में उत्तर प्रदेश शासन के आदेश पर अतिरिक्त आयुक्त स्टाम्प केके सिंह के निर्देशन में डीआईजी नोएडा जीपी सिंह, एआईजी मुख्यालय एमके सक्सेना,
 एआईजी केके मिश्रा डिप्टी रजिस्ट्रार तृतीय, सुरेश मौर्य डिप्टी रजिस्ट्रार द्वतीय, नवीन कुमार शर्मा की एक जांच टीम जांच करने लखनऊ से 3 दिन से गाजियाबाद आई हुई है।


विश्वस्त सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह स्पेशल टीम आज सुबह 10 बजे कलेक्ट्रेट स्थित एआईजी स्टाम्प कार्यालय में पँहुच कर,शिकायत कर्ता ,मानव अधिकार कार्यकर्ता राजीव कुमार शर्मा सहित रजिस्ट्री विभाग और स्टाम्प विभाग के अधिकारियों के भी ब्यान दर्ज कर आगे की कार्यवाही करेगी।
जानकारी के अनुसार मोहन नगर तिराहे पर बने वर्ल्ड स्क्वायर माल में बनी दुकानो की रजिस्ट्रीया माल प्रबंधन द्वारा वर्ल्ड स्क्वायर माल की बजाय अर्थला गाँव की कमर्शियल स्पेस दिखाकर की गई है। जिसमे करोड़ो रूपये की स्टाम्प ड्यूटी चोरी की जाने की आशंका है।वहीँ इस टीम को साहिबाबाद की शहीद नगर कंलोनी में भी करोड़ो रूपये की कई प्रोपर्टी की खरीद फरोख्त में भी स्टाम्प चोरी की आशंका है ।
इस जाँच टीम के अधिकारियों ने आज जिलाअधिकारी कार्यालय में पँहुच कर इस मामले में शिकायत करने वाले शिकायत करता राजीव कुमार शर्मा के बयान दर्ज किए। इस मामले में जाँच जारी है। जाँच टीम ये भी जाँच कर रही है कि इस मामले में काला बाजारी यानी कि ब्लैक मनी या हवाला का पैसा तो नही लगा है। शिकायतकर्ता  राजीव कुमार शर्मा की माने तो इस मामले में जीडीए नगर निगम,विधुत विभाग सहित कई विभागों के वर्तमान एवं पूर्व अधिकारियों पर भी गाज गिरने की सम्भावना है।


तबादला नीति में बदलाव,महिलाओं को राहत

योगी सरकार ने टीचरों की तबादला नीति में किया बड़ा बदलाव, महिलाओं को बड़ी राहत


लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बेसिक शिक्षा विभाग के टीचरों को बड़ी सौगात दी है। अब बेसिक शिक्षा विभाग में टीचर्स ट्रांसफर के लिए 5 साल की समय सीमा को घटाकर 3 साल कर दिया गया है। यही नहीं महिलाओं के लिए ये बाध्यता सिर्फ सिर्फ 1 साल कर दी गई है। इसके अलावा सरकार ने फौजियों की पत्नियों को ट्रांसफर में प्राथमिकता देना तय किया है।


बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश दि्ववेदी ने बताया कि यूपी के प्राथमिक शिक्षा को और बेहतर बनाना है। वह बेसिक शिक्षा में सुधार के लिए अन्य विभाग की भी मदद लेंगे। उन्होंने बताया कि बेसिक शिक्षा में फ्लाइंग स्क्वाड का गठन किया गया है। यह उड़न दस्ता सभी स्कूलों का निरीक्षण करेगा. वहीं मिड डे मील व्यवस्था में पंचायती राज विभाग भी शामिल होगा। जहां गड़बड़ी ग्राम प्रधान करेगा, वहां पंचायती राज उस पर कार्रवाई करेगा।


लापरवाह सीएमएस पर विभागीय कार्रवाई

लापरवाही पर नपे जिला अस्पताल के सीएमएस


प्रतापगढ़। लापरवाही के चलते जिला अस्पताल के सीएमएस का शासन ने तबादला कर दिया। उन्हें प्रतापगढ़ से हटाकर प्रमुख सचिव स्वास्थ्य के कार्यालय में अटैच कर दिया गया है। एडी स्वास्थ्य ने सीएमएस पर लापरवाही का आरोप लगाकर शासन को पत्र भेजा था। अब सीएमएस का चार्ज लेने के लिए जिला अस्पताल के डॉक्टर तैयार नहीं हैं।


जिला अस्पताल के सीएमएस योगेंद्र यति का माह भर पहले शासन ने आजमगढ़ जिला अस्पताल तबादला कर दिया था। सीएमएस के पद से हटाते हुए उन्हें वरिष्ठ परामर्शदाता बनाया गया था। संचारी रोग अभियान के चलते शासन ने सीएमओ और सीएमएस के तबादले पर रोक लगा दी थी। बीच में डीएम के निरीक्षण में तमाम खामियां मिलीं। डीएम ने शासन को लिखापढ़ी करते हुए सीएमएस योगेंद्र यति को आजमगढ़ के लिए रिलीव करवा दिया। एसी दूबे को प्रभार दिया गया।


गुटों के बीच खूनी संघर्ष,37 की मौत:सूडान

खार्तूम। सूडान के पूर्वी क्षेत्र में आदिवासियों के दो गुटों के बीच लड़ाई में 37 लोगों को मार दिया गया। जबकि 200 से ज्यादा जख्मी हो गए। यह संघर्ष किस कारण से हुआ, इसका पता नहीं चल सका। दो गुटों के बीच संघर्ष बीते एक हफ्ते से हो रहा था, सोमवार को मरने वालों की संख्या सामने आई।


मीडिया के मुताबिक, यह खूनी संघर्ष बानी अमेर और नुबा आदिवासी समुदाय के बीच हुआ था। देश की नवगठित सोवेरिन काउंसिल ने लाल सागर राज्य के गवर्नर को बर्खास्त कर दिया। साथ ही संघर्ष के बाद राज्य में आपातकाल घोषित कर दिया गया। वहीं, सूडान में भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालत बने हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि अब तक बाढ़ से देशभर में 60 लोग जान गंवा चुके हैं, जबकि 100 से ज्यादा घायल हैं। 900 से ज्यादा घर गिर गए हैं। 32 हजार से ज्यादा परिवार बाढ़ से प्रभावित हुए हैं।


आतंकी'अंडर वाटर अटैक'की तैयारी में:सेना

पुणे। नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा कि हमें खुफिया जानकारी मिली है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद अंडर वाटर अटैक की तैयारी कर रहा है। उन्होंने बताया कि हमले के लिए जैश आतंकियों को ट्रेनिंग दे रहा है, पर हम भरोसा दिलाते हैं कि ऐसे किसी भी हमले के लिए हम पूरी तरह तैयार हैं। उधर, पाकिस्तान और चीन के हवाई अभ्यास पर भारतीय वायु सेना ने कहा कि हम इस पर कड़ी नजर बनाए हुए हैं।


एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा, ''2008 में हुए 26/11 हमले के बाद हमने तटीय सुरक्षा बढ़ा दी है। हम यह भरोसा दिलाते हैं कि समुद्री मार्ग से कोई घुसपैठ नहीं होगी।''
सिंह से जब भारतीय नौसेना के बजट आवंटन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बजटीय आवंटन के कारण हमें अपनी योजना में थोड़ा सुधार करना होगा। हां, इसकी वजह से हम कुछ हद तक सीमित हो गए हैं।वहीं, उन्होंने कहा कि हिंद महासागर में नौसेना चीनी सैनिकों की गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं। हम हिंद महासागर क्षेत्र में विकास कार्यों पर ध्यान दे रहे हैं। चीन एक वैश्विक शक्ति बनना चाहता है, इसलिए वे इस क्षेत्र में आएंगे। हमारे लिए राष्ट्र हित सर्वोपरि है, इसके खिलाफ कुछ भी होगा तो हम कार्रवाई करेंगे।


वायुसेना के मुताबिक, चीन के होटन शहर में दो दिनों से पाकिस्तान-चीन के बीच हवाई अभ्यास चल रही है। इसमें दोनों देशों ने नवीनतम लड़ाकू जेट तैनात किए हैं। पाकिस्तान अपने जेएफ-17 लड़ाकू विमानों के साथ इसमें शामिल हुआ है। जबकि चीन अपने जे-10 और जे-11 लड़ाकू विमानों के साथ हिस्सा ले रहा है।भारतीय वायुसेना के अधिकारियों ने कहा कि हवाई अभ्यास का कोड नेम शाहीन है। जो लद्दाख के लेह शहर से 200 किमी दूर होटन शहर में हो रहा है। पाकिस्तानी सेना ने चीन जाने से पहले गिलगिट बाल्टिस्तान रीजन के स्कर्दू इलाके में नजर आए थे।


कश्मीर के लिए किसी भी 'हद' तक जाएंगे

इस्लामाबाद। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के भारत के अप्रत्याशित कदम से पाक अभी तक चौंका हुआ है। पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि जब तक हम अपने खिलाफ भारत की कार्रवाई को समझ पाए। तब तक उन्होंने कश्मीर को अपना हिस्सा बना लिया। अहंकार की वजह से मोदी ने ऐतिहासिक भूल की है। ये कहेंगे कि पीओके से दहशतगर्द और इस्लामिक दहशतगर्द आ रहे हैं। दहशतगर्द मारने के लिए फौजें बढ़ाने पर मजबूर हैं। इन्होंने आजाद कश्मीर में बालाकोट की तरह का एक हमला प्लान किया था। दुनिया की नजर कश्मीर से हटाकर पाकिस्तान पर डालने की योजना थी। लेकिन अब हमारी फौजे पीओके में पूरी तरह तैयार हैं। अब भारत के लिए कोई भी कार्रवाई करना मुश्किल होगा।


इमरान ने कहा,“हिंदुस्तान से हमने बात की और मैंने सबके सामने कहा था कि आप एक कदम लेंगे तो हम दो कदम आगे आएंगे। शुरुआत से ही इसमें दिक्कतें आनी शुरू हो गईं। जब बातचीत की कोशिश की तो वो मौका देखते थे हमारे ऊपर दहशतगर्दी का इल्जाम लगाने का। हमें लगा कि भाजपा का एंटी मुस्लिम और एंटी पाकिस्तान कैम्पेन चल रहा था, तब हम पीछे हट गए। फिर पुलवामा हो गया था। हिंदुस्तान ने इसकी जांच करने के बजाय सीधे हमारे ऊपर उंगली उठाई, ताकि पाकिस्तान के ऊपर सारा इल्जाम चला जाए।''


इमरान ने कहा, ''हमने कहा कि आपके पास कोई सबूत है तो हम एक्शन लेने को तैयार हैं। इन्होंने पूरी कोशिश की कि पाकिस्तान को दिवालिया किया जाए। पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट कराने की कोशिश की। अभी हम ये देख ही रहे थे कि भारत आगे क्या करते हैं और उसने 5 अगस्त को कश्मीर में अतिरिक्त फौजें भेजकर उन्हें अपना हिस्सा बना लिया।''


इमरान ने कहा, “सबसे पहले मैं दुनिया को कश्मीर के हालात को बताऊंगा। जिन राष्ट्राध्यक्षों से मेरी बात हुई है, उन्हें मैंने आगाह किया है। 27 सितंबर को न्यूयॉर्क में यूएन में भी पूरी दुनिया को कश्मीर के बारे में बताऊंगा। हम दुनिया के हर फोरम पर बताएंगे कि 80 लाख कश्मीरियों के साथ किस तरह जुल्म हो रहा है।”


इमरान ने कहा,दुनिया कश्मीर के साथ खड़ी हो या न हो, हमारी अवाम और हमारी सरकार उनके साथ खड़ी होगी। हम हर हफ्ते एक कार्यक्रम करेंगे, जिसमें हमारी पूरी अवाम निकलेगी। इस शुक्रवार 12 से 12.30 बजे तक आधा घंटा लोगों को बताएं कि कश्मीर में क्या हो रहा है और ये भी बताएं कि हम उनके साथ खड़े हैं। जब तक उन्हें आजादी नहीं मिलेगी हम उनके साथ खड़े रहेंगे। 27 सितंबर तक हफ्ते में एक बार हमें ये इवेंट करनी है।


मोदी-सरकार आर्थिक संकट की जिम्मेदार

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश की आर्थिक स्थिति को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और वित्त मंत्री को खुद से पैदा किए गए आर्थिक संकट का समाधान नहीं सूझ रहा है। इसको लेक उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'प्रधानमंत्री तथा वित्तमंत्री खुद के पैदा किए हुए आर्थिक संकट को हल करने के बारे में कुछ समझ नहीं पा रहे हैं । आरबीआइ से चोरी करना काम नहीं आएगा। यह बिल्कुल वैसा ही है, जैसे गोली लगने से हुए घाव पर लगाने के लिए डिस्पेंसरी से बैंड-एड चुराई जाए।” बता दें, रिजर्व बैंक ने विमल जालान समिति की सिफारिशों को अमल में लाते हुये रिकार्ड 1.76 लाख करोड़ रुपये का लाभांश और अधिशेष आरक्षित कोष सरकार को हस्तांतरित करने का फैसला किया। इससे नरेंद्र मोदी सरकार को राजकोषीय घाटा बढ़ाये बिना सुस्त पड़ती अर्थव्यवस्था को गति देने में मदद मिलेगी।
वहीं, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा केंद्र सरकार को लाभांश और अधिशेष कोष के मद से 1.76 लाख करोड़ रुपये हस्तांतरित करने के निर्णय को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि आरबीआई से ”प्रोत्साहन पैकेज” लेना इस बात का सबूत है कि अर्थव्यवस्था की स्थिति बहुत खराब हो चुकी है। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यह भी कहा कि सरकार ने यह नहीं बताया कि इस पैसे का इस्तेमाल कहां होगा। उन्होंने ट्वीट कर कहा,सरकार द्वारा खुद को प्रोत्साहन पैकेज देना इस बात का सबूत है कि अर्थव्यवस्था संकट में है। सरकार अपनी खुद की एक इकाई यानि आरबीआई से मिलने वाले घरेलू अनुदान पर निर्भर है।


जेटली के परिवार से मिलने घर गए मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवंगत अरुण जेटली के परिवार से मिलने उनके घर गए। इस दौरान मोदी भावुक हो गए। गृह मंत्री अमित शाह भी उनके साथ थे। 24 अगस्त को जेटली के निधन के वक्त वे विदेश दौरे पर थे। उस दौरान उन्होंने जेटली की पत्नी संगीता से बात की थी। संगीता ने उन्हें विदेश दौरा बीच न छोड़कर आने के लिए कहा था।


मोदी ने बहरीन में भारतीय समुदाय को भी संबोधित किया। इस दौरान अरुण जेटली को याद कर भावुक हो गए। उन्होंने कहा, “मैं एक दर्द दबा कर आपके बीच खड़ा हूं। विद्यार्थीकाल से लेकर सार्वजनिक जीवन में हम मिलकर साथ चले। हर पल एक-दूसरे के साथ जुड़े रहना, साथ मिलकर जूझते रहना। जिस दोस्त के साथ यह सब किया, उसने आज देश छोड़ दिया। कल्पना नहीं कर सकता कि इतनी दूर बैठा हूं और मेरा एक दोस्त चला गया। बड़ी दुविधा का पल है। लेकिन मैं एक तरफ कर्तव्य और दूसरी तरफ दोस्ती की भावना से भरा हूं। मैं दोस्त अरुण को बहरीन की धरती से श्रद्धांजलि देता हूं। ईश्वर उनके परिवार को शक्ति दे।”


पत्नी की हत्या कर,खुद खाया जहर

अलीगढ। महानगर के भुजपुरा ठाकुर वाली गली इलाके में रविवार की रात नि:संतान दंपती में संतान को लेकर उपजी कलह के बीच पति ने पत्नी को चाकुओं से गोदकर हत्या कर, जान देने के इरादे से खुद जहर खा लिया। सोमवार सुबह जब मकान मालकिन को घटना की जानकारी हुई तो मोहल्ले में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। खबर पर पहुंची पुलिस ने कमरे में अचेत पड़े पति को जिला अस्पताल भेजा। जहां देर रात समाचार लिखे जाने तक उसकी हालत में सुधार नहीं था। इधर, हत्या को लेकर महिला के मायके पक्ष ने पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है, जिसमें पत्नी के बच्चे न होने और मायका पक्ष द्वारा मकान की मांग पूरी न किए जाने को लेकर हत्या किए जाने का आरोप है। मूल रूप से सराय रहमान बन्नादेवी निवासी ताजउद्दीन पुत्र अलाउद्दीन निवासी सराय रहमान बन्नादेवी अपनी पत्नी रेशमा के साथ पिछले पांच माह से कोतवाली क्षेत्र के ठाकुर गली, भुजपुरा निवासी चांद खां के मकान की दूसरी मंजिल पर किराए पर रह रहा था। दोनों की आठ वर्ष पूर्व शादी हुई थी। मायके पक्ष का आरोप है कि दंपती के बीच संतान न होने के लेकर कलह बनी रहती थी। रविवार रात वह शराब के नशे में घर आया था। अंदेशा है कि नशे में ही दंपती में रात फिर विवाद हुआ और इसी बीच ताजउद्दीन ने बेड पर लेटी पत्नी के मुंह में कपड़ा ठूंसकर सब्जी काटने वाले चाकू से पत्नी की गर्दन रेत दी। इसके बाद उसके पेट पर भी कई वार किए। इस हमले में महिला की मौत हो गई। इसके बाद ताजउद्दीन ने जहर खा लिया और बेड के नीचे बेहोश होकर गिर पड़ा। मकान स्वामी चांद खां की पत्नी सुबह उठकर दूसरी मंजिल पर गई। कमरे का दरवाजा बंद देख तो उसने रेशमा को आवाज लगाईं। अंदर से कोई प्रतिक्रिया न आने पर उसने खिड़की से झांककर देखा तो अंदर शव देख होश उड़ गए। उसने तुरंत पुलिस बुला ली। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर कमरे के भीतर से शव कब्जे में लिया। वहीं अचेत पड़े ताजउद्दीन को जिला अस्पताल भिजवाया। यहां वह दो घंटे बाद होश में आ गया। मगर ज्यादा बता पाने की स्थिति में नहीं था। देर रात तक उसकी हालत नाजुक थी। इधर, रेशमा के भाई रियाज निवासी सासनी गेट की ओर से जीजा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है। पोस्टमार्टम के बाद शव मायके वालों के सुपुर्द कर दिया है। एफएसएल और पुलिस की टीम ने मौके से कई साक्ष्य जुटाए हैं। घटनास्थल की वीडियोग्राफी करने के बाद कमरे को सील कर दिया गया है। चाकू और मृतका के मुंह से मिले कपड़े को सील कर दिया है। इधर, हत्या से घबराए मकान में रहने वाले अन्य किराएदार भी कहीं चले गए हैं।


 


इंडिया टुडे:एंकर को सिर काटने की धमकी

'इंडिया टुडे ग्रुप' में एसोसिएट सीनियर प्रड्यूसर और न्यूज एंकर निदा अहमद को एक बार फिर धमकी मिली है। इस बार निदा अहमद को उनका सिर काटने की धमकी दी गई है। निदा अहमद ने इस मामले में नोएडा की कोतवाली सेक्टर-20 में रिपोर्ट दर्ज कराई है। निदा की रिपोर्ट के बारे में एसएचओ राजबीर सिंह चौहान का कहना है कि साइबर सेल मामले की जांच कर रही है। धमकी देने वालों को ट्रेस कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


'इंडिया टुडे' ग्रुप के न्यूज चैनल 'तेज' से बतौर एंकर जुड़ीं निदा अहमद ने पुलिस में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि उन्होंने पाकिस्तान के बालाकोट में भारत द्वारा की गई एयर स्ट्राइक के बाद तौबा-तौबा नाम से कार्यक्रम और अब कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाए जाने से जुड़ी खबर की एंकरिंग की थी। तब से उन्हें सोशल मीडिया पर लगातार धमकियां मिल रही हैं। निदा अहमद के अनुसार, काफी समय से मिल रहीं धमकियों को वे नजरअंदाज करती रहीं, लेकिन अब किसी शख्स ने उनकी गर्दन काटने की धमकी दी है। निदा के अनुसार, उस शख्स ने कहा है कि वह इंडिया में है और उनका सिर काटकर दिखाएगा। निदा अहमद ने अपने ट्विटर हैंडल पर भी इस बारे में एक पोस्ट शेयर की है। इस पोस्ट में उन्होंने धमकी देने वाले शख्स को जवाब देते हुए लिखा है, 'तो आइये जनाब स्वागत है आपका मेरे देश में अतिथी देवो भवः।'


मेरा सर काटने की नई धमकी मिली है मुझे.मेरा सर काटने के लिए ये जनाब इंडिया आ चुके हैं.फरमा रहे हैं (इंशाअल्लाह तेरा सर काट कर दिखाऊंगा मैं इंडिया के अंदर हूं..) तो आइये जनाब स्वागत है आपका मेरे देश में अतिथी देवो भवः
गौरतलब है कि कुछ समय पूर्व जब इस्लाम का हवाला देकर 'दंगल गर्ल' जायरा वसीम के बॉलिवुड से नाता तोड़ने की खबरें आई थीं, उस दौरान निदा अहमद को लगातार मीडिया छोड़ने के लिए धमकियां मिल रहीं थीं। निदा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर इसका जिक्र भी किया था। हालांकि, उन्होंने यह भी साफ कर दिया था कि वो ऐसी धमकियों से डरने वालीं नहीं हैं


तार में फंस कर चार्टर्ड प्लेन हुआ क्रैश

तार में फस कर एक चार्टर प्लेन हुआ क्रैश


अलीगढ़। यूपी के अलीगढ़ में एक चार्टर प्लेन हादसे का शिकार हो गया। ये प्लेन बिजली के तारों में उलझ कर जमीन पर आ गिरा। गनीमत इस बात की रही कि इस प्लेन में सवार सभी छह लोग सुरक्षित हैं। क्रैश होते ही प्लेन में आग भी लग गई, जिसे काफी मशक्कत से बुझाया गया। मंगलवार की सुबह में लैंडिंग करते वक्त ये प्लेन हादसे का शिकार हो गया। विमान में दो पायलट समेत छह लोग सवार थे। जिस वक्त प्लेन लैंड कर रहा था, बिजली के तारों से उलझ गया और रनवे के पास ये हादसा हो गया। गिरने के बाद विमान में आग लग गई। जैसे-तैसे प्लेन में सवार लोग बाहर निकले। इसके तुरंत बाद मौके पर फायर ब्रिगेड पहुंची और आग बुझाने में जुट गई। पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के जैसे ही ये सूचना मिली, सभी मौके की ओर दौड़ पड़े। बताया जा रहा है कि निजी एविएशन कंपनी के जहाजों की मरम्मत के लिए ये क्रू यहां पहुंचा था।


ट्रक मैजिक की टक्कर पंद्रह की मौत

यूपीः बेकाबू ट्रक ने टेंपो और मैजिक को मारी टक्कर, 15 की मौत


शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश से मंलगवार सुबह दर्दनाक खबर सामने आई है। सड़क हादसे में 15 लोगों की मौत हो गई है। जबकि 6 लोग घायल बताए जा रहे हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।घटना शाहजहांपुर जिले की है। रोजा थाना इलाके में लखनऊ-दिल्ली हाईवे पर बेकाबू ट्रक ने टेंपो और मैजिक को टक्कर मार दी। हादसे में करीब 15 लोगों की मौत हो गई है। टक्कर लगते ही सड़क पर चीख पुकार मच गई।हादसे में घायल लोगों को आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां कई लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। हादसे के बाद मौके पर जाम की स्थिति पैदा हो गई। फिलहाल पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर शवगृह में रखवा दिया है।


एनआरईपी ने टिप्पणियां-सुझाव का समय बढ़ाया

नई दिल्ली- राष्‍ट्रीय संसाधन दक्षता नीति (एनआरईपी), 2019 को लागू करने की गति को देखते हुए पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने जनता की टिप्‍पणियां आमंत्रित करने की समय सीमा एक महीने के लिए बढ़ाकर 24 सितंबर 2019 कर दी है।


मंत्रालय ने जनता के हितों को ध्‍यान में रखते हुए मसौदा नीति के आसान और व्‍यवस्थित कार्यान्‍वयन के लिए इस समय सीमा को बढ़ाने पर सहमति व्‍यक्‍त की। इससे पहले मंत्रालय ने 25 जुलाई 2019 को रक्षा संसाधन दक्षता नीति, 2019 का मसौदा जारी कर सार्वजनिक-निजी संगठनों, विशेषज्ञों और संबद्ध नागरिकों सहित साझेदारों से मसौदा नीति के बारे में टिप्‍पणियां और सुझाव आमंत्रित किए थे।


राष्‍ट्रीय संसाधन दक्षता नीति (एनआरईपी) के मसौदे में पर्यावरण की दृष्टि से अनुकूल निरंतर और उचित आर्थिक विकास, संसाधन सुरक्षा, स्‍वस्‍थ वातावरण (वायु, जल और भूमि) और समृद्ध पारिस्थितिकी तथा जैव विविधता के साथ पुन: स्‍थापित पारिस्थितिकी तंत्र के भविष्‍य की कल्‍पना की गई है। राष्‍ट्रीय संसाधन दक्षता नीति का मसौदा (i) दीर्घकालिक विकास लक्ष्‍य को हासिल करने और भूमंडलीय सीमाओं के भीतर रहने की बात को ध्‍यान में रखकर प्राथमिक संसाधनों के उपभोग में 'वहनीय' स्‍तरों तक कटौती, (ii) संसाधन दक्षता और संसाधनों के निरंतर उपयोग के जरिए कम वस्‍तुओं के साथ उच्‍च मूल्‍य तैयार करना (iii) कचरे को न्‍यूनतम करने (iv) वस्‍तुओं की सुरक्षा, और रोजगार के अवसर तथा पर्यावरण संरक्षण और उसे बहाल करने के लिए लाभकारी बिजनेस मॉडल से निर्देशित है।


वामपंथ और उग्रवाद को मिटाना है:शाह

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज यहाँ वामपंथी उग्रवाद पर केंद्र सरकार के कई मंत्रियों, प्रभावित राज्य के मुख्य मंत्रियों, मुख्य सचिवों तथा केंद्र व राज्यों के आलाअधिकारियों के साथ बैठक की और कहा कि वामपंथी उग्रवाद पिछले कुछ दशकों से देश के सामने बड़ी चुनौती है। उनका कहना था कि वामपंथी उग्रवाद लोकतांत्रिक व्यवस्था में विश्वास नहीं करता और वामपंथी उग्रवादीसत्ता हथियाने एवं अपने लाभ के लिए सबसे कम विकसित क्षेत्रों में निर्दोष लोगों को गुमराह करते हैं।


शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस नए भारत के निर्माण की बात करते हैं। उसमें वामपंथी उग्रवाद की कोई जगह नहीं है।उनका कहना था कि बंदूक के बल पर विकास और लोकतंत्र को झुकाने में वामपंथी उग्रवाद को सफलता नहीं मिलेगी। अमित शाह ने कहा कि वामपंथी उग्रवाद में पहले से काफी गिरावट आई है। उनका कहना था कि जहाँ 2009 में वामपंथ उग्रवाद की 2258 घटनायें हुईं वहीं 2018 में घटकर 833 हुई हैं। उन्होंने बताया कि पिछले  साल केवल 60 जिलों में वामपंथी उग्रवाद की घटना नोट की गई है और इस कमी में राज्य सरकार, राज्य के सुरक्षा बल तथा केंद्रीय बलों के संयुक्त प्रयासों से सफलता प्राप्त हुई है। उन्होँने कहा कि हमें समन्वय के साथ काम करना होगा तभी वामपंथी उग्रवाद को निर्मूल किया जा सकता है।


श्री शाह ने कहा कि वामपंथी उग्रवाद को समाप्त करने के लिए उन्हे उपलब्ध होने वाले धन को रोकना आधारभूत मंत्र है और इसके द्वारा उनके रहने, खाने-पीने, घूमने, हथियारों की खरीद, ट्रेनिंग आदि व्यवस्थाओ को रोका जा सकता है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि मेरा यह मानना है कि वामपंथी उग्रवाद की घटनाएँ निरंतर कम हो रही हैं। इसे खत्म करने  का प्रयास उसी तरह से जारी रहना चाहिये। अमित  शाह ने कहा कि वामपंथी उग्रवाद से निपटने के लिए वर्ष 2015 में एक राष्ट्रीय नीति और कार्य योजना बनाई गई थी। इसमें सुरक्षा से संबंधित उपायों के साथ-साथ विकास के कार्यों, स्थानीय समुदायों के लोगो की मूल आवश्‍यकता,अधिकारों और हकधारियों को सुनिश्चित करना इत्यादि शामिल है। उनका कहना था कि 2015 की  राष्ट्रीय नीति के अंतर्गत स्थानीय नागरिकों के अधिकारों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने  बताया कि पुलिस बलों का आधुनिकीकरण भी  किया जा रहा है। श्री शाह का कहना था कि उग्रवाद प्रभावित राज्यों में स्थानीय पुलिस की सतर्कता और दक्षता के बिना वामपंथी उग्रवाद समाप्त नहीं किया  जा सकता इसलिये उनकी भूमिका महत्वपूर्ण है।श्री शाह ने विशेष रूप से कहा कि केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न मंत्रालयों की प्रमुखयोजनाओं के अलावा वामपंथी उग्रवाद से प्रभावित क्षेत्रों के लिए विशिष्ट पहल की गईहैं जिनमें प्रमुख तौर पर सड़क एवं टेलीकॉम कनेक्टिविटी में सुधार, वित्तीयसमावेशन, कौशल विकास तथा शिक्षा शामिल है। उन्होंने एकलव्य मॉडल  के अंतर्गत खोले जाने वाले स्कूलों की गति तेज  करने, साथ ही सभी नागरिकों को 5 किलोमीटर के भीतर बैंकिंग सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने की बात कही |केंद्रीय गृह मंत्री ने राज्य सरकारों को विश्वास दिलायाकी वामपंथी उग्रवाद को निर्मूल करने में केंद्र सरकार पूरा सहयोग करेगी। उन्होंने कहा कि सुरक्षाबलों को माओवादियों से निपटने के लिये सक्रिय रणनीति बनाने का समय आ गया है और आतंक की घटनाओं को हर कीमत पर टालना जरूरी है। श्री शाह का कहना  था कि विगत वर्षों में आईडी की घटनाओं से काफी  नुकसान हुआ है जिन्हें रोकने के लिए सभी उपायों  को लागू करना होगा।श्री शाह ने कहा कि वामपंथी उग्रवाद के अंतर्गत जो निर्दोष फंसे हैं उन्हें उग्रवाद की धारा से मुख्यधारा  में वापस लाना जरूरी है और उनके आत्मसमर्पण को बढ़ावा देना चाहिये। उनका कहना था कि इस  प्रकार हम।।सबको मिलकर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नये भारत की परिकल्पना को साकार करना है। बैठक के अंत में केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार एक तय समय सीमा में वामपंथी उग्रवाद  के  समूल निवारण तथा क्षेत्रों के सर्वांगीण विकास को सुनिश्चित करने के लिये कृत संकल्प है। बैठक में केन्द्र सरकार के वित्त, सड़क परिवहन और राजमार्ग, कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कौशल विकास और उद्यमिता, जनजातीय मामले, गृह राज्य मंत्री, के साथ आंध्र प्रदेश, बिहार,छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, झारखंड, ओडिशा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं केंद्र और राज्य सरकारों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।


45 एकड़ भूमि पर,19 लोगों का अवैध कब्जा

बिलासपुर। ग्राम पंचायत जाली रतनपुर में लगभग 15 वर्षों से भी ज्यादा समय से खसरा नम्बर 18 के करीब 45 एकड़ भूमि पर 19 लोगों द्वारा ढाबा, बाड़ी व खेत बनाकर कब्जा किया गया था। इसे लेकर ग्राम कर्रा के लोगो के द्वारा लगातार शिकायत किया गया था।  राजस्व विभाग द्वारा इस मामले की सुनवाई करते हुए उन्हें खाली करने का नोटिस कई बार जारी किया, परंतु अतिक्रमण नहीं हटाने पर राजस्व विभाग ने शुक्रवार को कार्रवाई की जहाँ कब्जा भूमि में बन रहे मकान को जेसीबी से तोड़वाया गया वही कब्जा भूमि के बने खेतो के फिनिसिंग तार को तोड़ा गया। कब्जा भूमि से फिनिसिंग तार टूटते ही गाँव के लोगो के द्वारा मवेशियों को खेतों में चरने के लिए छोड़ दिया गया था। सोमवार को कलेक्ट्रेड पहुँचे ग्रामीणों ने बताया कि उन लोगो को 2006 में ग्राम पंचायत के द्वारा प्रस्ताव पास कर नवा अंजोर के तहत दो महिला समूह को जमीन दिया गया था। जिसमे महिला समूह के द्वारा खेती बाड़ी की जाती थी, जिसकी जानकारी हम लोगो के द्वारा दी गई थी। लेकिन हम लोगो की बातों को नजरअंदाज कर दिया गया और उन्हें बेदखल कर फसलों को बर्बाद कर दिया गया। वही उन्होंने कार्रवाई में पक्षपात का भी आरोप लगाया है केवल उन दोनों महिला समूह को ही बेदखल किया गया बाकी लोगो पर कार्रवाई नही की गई है।


जाति को लेकर अजीत जोगी की मुश्किलें बढ़ी

रायपुर।  छानबीन समिति के फैसले के खिलाफ अजीत जोगी फिर से हाईकोर्ट जायेंगे। रिपोर्ट मिलते ही जोगी ने समिति के फैसले के खिलाफ उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर ली है। अमित जोगी खुद बिलासपुर में हैं। तैयारी यही है कि फैसले की कॉपी जैसे ही जोगी परिवार को मिलेगी, वो याचिका दायर करेंगे। अमित जोगी ने फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि ऐसे फैसले की ही उम्मीद थी, देर शाम जो फैसला आया है, उससे उन्हें थोड़ी भी हैरानी नहीं हुई है।


अमित जोगी ने छानबीन समिति पर आरोप लगाया कि राज्य सरकार के इशारे पर पूरी रिपोर्ट तैयार की गयी है। उन्होंने कहा कि सुनवाई के दौरान उनके पिता अजीत जोगी ने ग्राम सभा का अनुमोदन, हाईकोर्ट का फैसला, सुप्रीम कोर्ट का फैसला सभी प्रस्तुत किया था, लेकिन उन सभी फैसले को रिकार्ड में लेने से कमेटी ने इनकार कर दिया, इससे साफ जाहिर होता है कि कमेटी ने पहले से ही मन बना लिया था कि किस तरह का रिपोर्ट दिया जाना है।इससे पहले सोमवार को अजीत जोगी की जाति छानबीन समिति ने निरस्त कर दी थी। 20 अगस्त को अजीत जोगी छानबीन समिति के सामने पेश हुए थे और अपना पक्ष रखा था, उसके बाद छानबीन समिति ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। छानबीन समिति ने अजीत जोगी को आदिवासी नहीं माना है। लिहाजा अब अजीत जोगी की मुश्किलें बढ़ गयी है। इससे पहले रमन सिंह के कार्यकाल के वक्त में भी अजीत जोगी की जाति को लेकर छानबीन समिति बनी थी। रीना बाबा साहब कंगाले के नेतृत्व में बनी कमेटी को तब पूर्व मुख्यमत्री अजीत जोगी ने ये कहकर चुनौती हाईकोर्ट में दे दी थी कि रीना बाबा कंगाले की कमेटी कोरम नहीं पूरा करती । रिपोर्ट में कई जगहों पर रीना बाबा ने खुद ही हस्ताक्षर किया था।


भजनलाल के बेटे पर 'आयकर' का शिकंजा

चंडीगढ़। आयकर विभाग ने गुरुग्राम स्थित 150 करोड़ रुपए के होटल को बेनामी संपत्ति के तहत जब्त कर लिया है। जांच में पता चला कि यह बेनामी संपत्ति हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के बेटे और कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई और चंदर मोहन की है। आयकर विभाग ने यह कार्रवाई बेनामी संपत्ति लेनदेन अधिनियम, 1988 की धारा 24 (3) के तहत की है। आयकर विभाग की बेनामी निषेध इकाई (BPU) ने यह कार्रवाई की है।आयकर विभाग द्वारा जब्त की गई संपत्ति का स्वामित्व ब्राइट स्टार होटल प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर है, जिसमें 34% शेयर अन्य कंपनी के नाम है जो ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड (BVI) में रजिस्टर्ड है। यह कंपनी संयुक्त अरब अमीरात से संचालित होती है। आयकर विभाग ने यह कार्रवाई जुलाई 2019 में कंपनी से जुड़ी जांच में सबूत के आधार पर की है। इस जांच में आयकर विभाग को कई ऐसे सबूत हाथ लगे थे जिससे कंपनी के स्वामित्व पर शक हुआ था. ब्रिस्टल होटल के स्वामित्व को लेकर आयकर विभाग ने अनियमितता पाई थी। इसके बाद कार्रवाई करते हुए बेनामी संपत्ति को जब्त कर लिया।बेनामी शेयरधारकों ने इस कार्रवाई के बाद कहा कि ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड बिश्नोई परिवार के बेहद करीबी है। ब्राइट स्टार होटल प्राइवेट लिमिटेड में शेयरों के अधिग्रहण के लिए भुगतान का अंतिम निर्णय भी बिश्नोईयों द्वारा किया गया था और वह भारत और विदेशों में स्थित अपने सहयोगियों के माध्य से इन पर नियंत्रण रखते थे।


जुलाई में IT ने की थी छापेमारी-  आयकर विभाग के अधिकारियों ने जुलाई में टैक्स चोरी से जुड़े मामले में बिश्नोई के हरियाणा के हिसार, मंडी आदमपुर और गुरुग्राम समेत कुल 13 स्थानों पर 23 जुलाई को छापेमारी की थी। जिसमें कई बेनामी संपत्तियों सहित करोड़ो रुपए के लेनदेन, चल-अचल संपत्तियों से संबंधित डील के बारे में जानकारी और सबूत मिले थे। आयकर विभाग को यूएई और पनामा में कुलदीप बिश्नोई की कंपनी के शेयर की जानकारी और दस्तावेज मिले थे। छापेमारी के दौरान आयकर अधिकारियों ने कहा था कि वित्तीय लेनदेन के साथ दस्तावेज और बैंक खाता नंबर और कई संपत्तियों से संबंधित दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं। इसके अलावा सर्च ऑपरेशन में अधिकारियों ने बिश्नोई के कंप्यूटर और लैपटॉप को भी जब्त किया था।


अपने घर और क्षेत्र पर ध्यान दें:ब्राजील

नई दिल्ली। ब्राजील ने अमेजन वर्षावन में लगी भयावह आग को बुझाने के लिए जी7 देशों की ओर से की गई मदद की पेशकश ठुकरा दी है। ब्राजील के एक शीर्ष अधिकारी ने यह मदद अस्वीकार करते हुए फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों से कहा कि वह 'अपने घर और अपने क्षेत्र' पर ध्यान दें। राष्ट्रपति जेयर बोल्सनारो के 'चीफ ऑफ स्टाफ' ओनिक्स लोरेन्जॉनी ने कहा, हम (मदद की पेशकश की) सराहना करते हैं लेकिन शायद वे संसाधन यूरोप में पुन:वनीकरण के लिए ज्यादा प्रासंगिक हैं।'ओनिक्स की यह टिप्पणी जी7 शिखर सम्मेलन के दौरान अमेजन वर्षा वन में लगी भयावह आग को बुझाने के लिए फ्रांस की ओर से दो करोड़ अमेरिकी डॉलर की सहायता देने का संकल्प लेने के संदर्भ में थी। गौरतलब है कि फ्रांस के बिआरित्ज में 26 अगस्त को संपन्न हुए जी-7 शिखर सम्मेलन में इस समूह के नेताओं ने अमेजन वर्षा वन में लगी आग से निपटने में ब्राजील की मदद करने का संकल्प जाहिर किया था। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा था कि शिखर सम्मेलन के नेता ब्राजील की सहायता करने के लिए एक समझौते के करीब हैं। सम्मेलन में जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने कहा था कि आग पर काबू पाए जाने के बाद उनका देश और अन्य देश अमेजन में फिर से वन लगाए जाने पर ब्राजील से बात करेंगे।  गौरतलब है कि अमेजन का करीब 60 फीसदी हिस्सा ब्राजील में पड़ता है। इस वर्षा वन का एक बड़ा हिस्सा बोलीविया, कोलंबिया, इक्वाडोर, फ्रेंच गुएया, गुएना, पेरू, सूरीनाम और वेनेजुएला में भी पड़ता है।


स्त्री पक्ष से सावधानी बरतें:कुंभ

राशिफल


मेष-आप का झुकाव आज कलात्मक कार्यों की ओर रहेगा। ऊंची आकांक्षा आप पर हावी रहेगी। लक्ष्य को लेकर आप गंभीर हैं और इसलिए इसका फायदा भी आपको आज मिल सकता है। मेहनत करते रहिए और खुद में भरोसा करें। नौकरीपेशा जातकों के लिए दिन व्यस्तता भरा होगा।



वृषभ-आज आर्थिक बोझ के कारण आप चिंतित रहेंगे। दिन के उतर्राध में कहीं से पैसे आने के बाद यह चिंता कम होगी। वाद-विवाद से दूर रहें। व्यापार में शाम तक लाभ का योग है। स्वास्थ्य अच्छा रहने वाला है।


मिथुन-आज आपकी लव लाइफ बहुत अच्छी रहने वाली है। अपने जीवनसाथी या पार्टनर के साथ कुछ अच्छा समय बिताने का मौका मिलेगा। आपकी वाकपटुता लोगों को आकर्षित करेगी। नकारात्मक भावना को मन में प्रवेश नहीं करने दें। छात्रों के लिए दिन अच्छा रहेगा। पढ़ाई में मन लगेगा।


कर्क-अगर आप शेयर बाजार आदि के कार्य में संलग्न हैं तो आपके लिए दिन बहुत अच्छा नहीं गुजरने वाला है। बिजनेस के लिए दिन अच्छा है। कुछ नई शरुआत की ओर कदम बढ़ा सकते हैं। गलफहमी से दूर रहें और काम में ध्यान दें। नौकरीपेशा जातकों को अपने काम में ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। कोई भी गलती महंगी पड़ सकती है। 


सिंह-यात्रा के दौरान खुद का आज विशेष ध्यान रखें। खासकर वाहन चलाते समय सावधान रहें। मित्र वर्ग और विशेष कर स्त्री मित्रों से लाभ मिलेगा। व्यापार में लाभ का योग है। नौकरीपेशा जातकों के लिए दिन चुनौतीपूर्ण है। सीनियर या बॉस की नाराजगी झेलनी पड़ सकती है।


कन्या-आज अत्यधिक भावुकता से खुद को बचाने की कोशिश करें। नये कार्यों को सफलता पूर्वक आज शुरू कर सकते हैं। व्यापारी वर्ग के लिये आज का दिन लाभदायी होगा। गृहस्थ जीवन में आनंद का माहौल रहेगा। पिता से विशेष लाभ मिलेगा।


तुला-आज नौकरी में उच्च वर्ग के अधिकारियों की नाराजगी झेलनी पड़ सकती है। संतान पक्ष के संबंध में चिंता बनी रहेगी। काम के सिलसिले में यात्रा का योग बन सकता है। गहरे जल से दूर रहें। छात्रों के लिए विदेश जाने का योग बन सकता है।


वृश्चिक-आज का दिन उर्जा से भरा है। काम में पूरे मन से जुटे रहेंगे और रोजमर्रा के काम को खत्म करने की कोशिश करेंगे। इसका फायदा ऑफिस में मिलेगा और बॉस की नजर में आपका कद बढ़ेगा। क्रोध और वाणी पर संयम रखें। अत्यधिक खर्च की आशंका है।


धनु-आपके काम और व्यवहार की बदौलत आज समाज में यश होगा। पुराने मित्रों से अचानक मुलाकात या फिर फोन पर बात हो सकती है। शरीर का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। हालांकि, किसी रिश्तेदार के बारे में कोई समाचार मन को दुखी कर सकता है। विपरीत लिंग के व्यक्तियों का साथ लगाव बढ़ेगा।


मकर-आज आप पर काम का आज अत्यधिक बोझ रहने वाला है। ऑफिस से लेकर घर तक के कामों में व्यस्त रहेंगे। बिजनेस को लेकर भावी योजनाओं में सफलता मिलेगी। ससुराल पक्ष से कोई शुभ समाचार मिल सकता है। शल्य चिकित्स संबंधी फैसले आज के लिए टालना बेहतर होगा। हालांकि इसके लिए आप चिकित्सक की राय ले सकत हैं।


कुंभ-अत्यधिक खर्च आपकी मुश्किलें बढ़ाने वाला है। इसका ध्यान रखें। वैसे दिन अच्छा गुजरेग। धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। नये काम को आज के लिए टाल दें। स्त्री पक्ष से बच कर रहने की जरूरत है।


मीन-आज मकान, वाहन आदि में पैसे निवेश कर सकते हैं। दिन अच्छा रहने वाला है। वाद-विवाद से दूर रहें। माता का स्वास्थ्य चिंतित करेगा। नई नौकरी तलाशने वालों को आज शुभ समाचार मिल सकता हैं।


इसलिए पत्तों का रंग हरा होता है

क्लोरोफिल का महत्व इस कारण है कि यही सूर्यप्रकाश की ऊर्जा का अवशोषण कर वायु के कार्बन डाइऑक्साइड से पौधों में शर्कराओं, पॉलिशर्कराओं तथा अन्य जटिल कार्बनिक यौगिकों का सृजन करता है। यह स्वयं भी सूर्य के प्रकाश द्वारा ही बनता है। बहुत समय तक इसके संघटन के संबंध में हमारा ज्ञान अधूरा था। विल्स्टेटर (Willstatter) नामक जर्मन रसायनज्ञ ने 1911 ई. में इस वर्णक को शुद्ध रूप में पृथक् किया और इसके विघटित अवयवों के संघटन का अध्ययन करके इसका अस्थायी रासायनिक सूत्र निर्धारित किया। उन्हांने यह भी पता लगाया कि क्लोरोफिल दो प्रकार के होते हैं। एक को उन्होंने क्लारोफिल ऐल्फा, या क्लोरोफिल-ए और दूसरे को क्लारोफिल बीटा, या क्लारोफिल-बी, की संज्ञा दी। ये दोनों 3:1 के अनुपात में पत्तों में पाए जाते हैं। हरे पत्तों के 1,000 भाग में 2 भाग क्लोरोफिल-ए का, 3/4 भाग क्लोरोफिल-बी का, भाग ज़ैंथोफिल का और 1/6 भाग कैरोटीन का रहता है।


हरे पत्तों या सूखे पत्तों के चूर्ण से 85% ऐल्कोहल या 80% ऐसीटोन विलायक द्वारा क्लोरोफिल का निष्कर्ष निकाला जाता है। सूखे चूर्ण के लगभग दो किलोग्राम से प्राय: 13 ग्राम क्लोरोफिल प्राप्त होता है। क्लोरीफिल-ए कुछ नीलापन लिए हरे रंग का होता है और क्लोरोफिल-बी कुछ पीलापन लिए हरे रंग का। दोनों के संघटन में कोई विशेष अंतर नहीं है। एक में जहाँ मेथिल मूलक है, दूसरे में उसके स्थान में ऐल्डिहाइड़ मूलक है। इससे दोनों की ऑक्सीकरण क्रिया में अंतर आ जाता है। ऐल्फा क्लोरोफिल का विशिष्ट घूर्णन - 262 डिग्री और बीटा का - 267 डिग्री है। क्लोरोफिल-ए का आणविक सूत्र C55 H72 O5 N4 Mg और क्लोरोफिल-बी का C55 H70 O6 N4 Mg है।


क्लोरोफिल, में 2.6% मैग्नीशियम रहता है। इसमें लोहा या फॉस्फोरस नहीं होता। इसके जलविश्लेषण से मेथिल ऐल्कोहल और फीटोल ऐल्कोहल (C20 H400) तथा 8 पाइरोल केंद्रक प्राप्त होते हैं।


क्लोरोफिल, हीमोग्लोबिन से बहुत कुछ समानता रखता है। हीमोग्लोबिन मानव तथा अन्य प्राणियों के रक्त का आवश्यक अवयव है। इनमें कुछ अंतर भी है। क्लोरोफिल मोम सा पदार्थ है। हीमोग्लोबिन हीम और ग्लोबिन का आणविक यौगिक है। क्लोरोफिल वस्तुत: एस्टर प्रकार का यौगिक है, जिसमें मेथिल और फीटोल ऐल्कोहल संयुक्त हैं।


क्लोरोफिल के जलविश्लेषण से मेथिल और फीटोल ऐल्कोहलों के साथ-साथ कार्बोक्सीलिक अम्लों के लवण प्राप्त होते हैं, जिन्हें क्लोरोफिलिन कहते हैं। क्लोरोफिलिन में अब भी मैग्नीशियम रहता है, जिसके कारण उसका रंग हरा होता है। यदि क्लोरोफिल का जल विश्लेषण क्लोरोफिलेज नामक एंजाइम में किया जाय, तो जो उत्पाद प्राप्त होता है उसे क्लोरोफिलाइड कहते हैं। क्लोरोफिलाइड सूक्ष्म क्रिस्टलीय पदार्थ है, जबकि क्लोरोफिल अक्रिस्टली होता है। अम्लों के उपचार से मैग्निशियम निकल जाता है और अब जो उत्पाद प्राप्त होता है उसे पॉरफिरिन कहते हैं। पॉरफिरिन में अम्ल और क्षार दोनों के गुण होते हैं। विभिन्न अवस्थाओं में विभिन्न अभिकर्मकों के उपचार से क्लोरोफिल से अनेक उत्पाद प्राप्त हुए हैं, जिनसे पता लगता है कि क्लोरोफिल में पाइरोल केंद्रक रहते हैं। इन उत्पादों के संघटन के आधार पर क्लोरोफिल का फिशर ने एक रासायनिक सूत्र 1939 ई. में दिया था।


यम नचिकेता वार्ता (ब्रह्मऋषि कृष्णदत्त)

यम नचिकेता वार्ता


28 जुलाई 1985 लाजपत भवन चंडीगढ़


मुनिवरो, आज हम तुम्हारे साथ पूर्व की भांति कुछ मनोहर वेद मंत्रों का गुणगान गाते चले जा रहे हैं। यह भी तुम्हें प्रतीत हो गया होगा,आज हमने पूर्व से जिन वेद मंत्रों का पठन-पाठन किया। हमारे यहां परंपरागत उसे कुछ मनोहर वेदवाणी का प्रसार होता रहता है। जिस पवित्र वेद वाणी में मेरे देव परमपिता परमात्मा के ज्ञान और विज्ञान का वर्णन किया जाता है। क्योंकि वह परमपिता परमात्मा ज्ञान और विज्ञानमयी स्‍वरूप माने गए हैं। जितना भी ध्यान है अथवा विज्ञान है। वेद की प्रतिभा का स्रोत माना गया है। क्योंकि सृष्टि के प्रारंभ से लेकर वर्तमान के काल तक नाना वैज्ञानिक हुए हैं। परंतु कोई भी विज्ञानवेता ऐसा नहीं हुआ जो परमपिता परमात्मा के ज्ञान और विज्ञान की सीमा पार कर सकें। क्योंकि वह परमपिता परमात्मा सीमा से रहित है। वह सीमा में आने वाले नहीं हैं इसलिए उसका ज्ञान और विज्ञान नितांत है। एक-एक परमाणु में,एक-एक अणु-अंग में ब्रह्मांड का दर्शन होता है। इस सृष्टि के गर्भस्थल में नाना प्रकार की तरंगों में उस परमपिता परमात्मा की महती निहित है। सृष्टि के प्रारंभ से लेकर वर्तमान काल तक मानव अनुसंधानकर्ता रहा। विचार करता रहा। विज्ञान की पराकाष्ठा पर जाने का प्रयास करता रहा। परंतु जो वह उड़ता रहा। अंत में अतं हो गया। इंद्रियों का और चिंतन का विषय नहीं रहा। इसलिए उस परमपिता परमात्मा का ज्ञान है अथवा विज्ञान अनुसंधान, अनुसंधान करता के द्वारा किए गए अनुसंधान अंतिम चरण में मौन हो जाते हैं। गंभीर मुद्रा में परिणित हो जाते हैं। इसी प्रकार वेद मंत्र यह कह रहा है कि उस परमपिता की महती और उसके ज्ञान-विज्ञान के ऊपर मानव को विचार-विनिमय करना चाहिए। क्योंकि दो प्रकार की विज्ञान हमारे यहां परंपरागत है। उसे ही मानव के मस्तिष्क में स्‍थापित किया हैं। एक भौतिक विज्ञान है और दूसरा आध्यात्मिक। दोनों प्रकार का विज्ञान अपने अपने अनूठे हैं महान है। विज्ञान के ऊपर अन्वेषण करना प्रारंभ करता है ।एक चाहता है, मै प्रतिष्ठित हो जाऊं एक चाहता है मैं मृत्युंजय बन जाऊं। परंतु दोनों प्रकार में अपनी-अपनी भिन्नता है। विचारों में भिन्नता लिए हुए रहते हैं। एक वैज्ञानिक राष्ट्र से जुड़ा हुआ है। अणु और परमाणु में रत रहने वाला है। एक आध्यात्मिक विज्ञानवेता। इस भौतिकवाद के मार्ग से होता हुआ इंद्रियों के तथ्यों को जानता हुआ। अध्यात्मिकवाद के क्षेत्र को विजय कर लेता है और प्रभु के राष्ट्र में चला जाता है। आज मैं उसी अनोखे विचारों में ले जाना चाहता हूं। जो मोक्ष की पगडंडी को ग्रहण करना चाहते हैं। जो मानव अपने में अध्यात्मिक वादी बनना चाहते हैं तो वह कैसे बनते हैं? मेरे प्यारों,तुम्हें मैं उस आसन पर ले जाना चाहता हूं। जहां नाना ऋषि-मुनियों का विचार ब्रह्म बेताओं का विचार, जो मृत्युंजय बन गए हैं। जो मृत्युंजय की पिपासा में लगे हुए हैं। परंतु आज मैं तुम्हें उस पर ले जाना चाहता हूं। जहां मुनिवर ऋषि उद्दालक गोत्र ब्रह्मचारी नचिकेता ने आचार्य मृत्यु के गृह में प्रवेश किया। उन्हें अपना  विचार व्यक्त किया। अंतिम चरण में आचार्य के गृह में हुए उनका नाम आचार्य था। परंतु जब अध्यात्मिकवाद कर लिया। आचार्य कहलाने लगे,जब वह प्रवेश द्वार पर पहुंचे तो मृत्यु आचार्य पत्नी ने कहा, प्रभु!आइए,कुछ अन्‍न और जल का पान कीजिए। मुनिवर उद्दालक गोत्र पुत्र नचिकेता ने कहा, हे मातेश्वरी, मैं जब तक भोजन नहीं करूंगा। जब तक मुझे आचार्य मृत्यु के दर्शन नहीं होंगे। मैं अपने पिता की आज्ञा का पालन करने के लिए आचार्य के समीप पहुंचा हूं। आपत्ति व्याकुल हो गई है। उन्होंने एक मंत्र का अध्ययन किया।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्रधिकृत प्रकाशन विवरण
August 28, 2019 • RNI.No.UPHIN/2014/57254
1.अंक-25 (साल-01)
2. बुधवार,28अगस्‍त 2019
3.शक-1941,भादप्रद कृष्‍णपक्ष त्र्‍योदशी,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:53,सूर्यास्त 6:56
5.न्‍यूनतम तापमान -27 डी.सै.,अधिकतम-34+ डी.सै., हवा में आद्रता रहेगी, बरसात की संभावना!
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा!
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...