उत्तर प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
उत्तर प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शनिवार, 2 जुलाई 2022

भर्ती प्रक्रिया के तहत 'यूपीएसईएसएसबी' में नौकरी

भर्ती प्रक्रिया के तहत 'यूपीएसईएसएसबी' में नौकरी 

हरिओम उपाध्याय
लखनऊ। उम्मीदवार दिए गए इन तमाम खास बातों को ध्यान से पढ़कर आवेदन करें। साथ ही इस भर्ती प्रक्रिया के तहत 'यूपीएसईएसएसबी' में नौकरी पा सकते हैं। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड में नौकरी पाने का गोल्डन चांस है। इसके लिए यूपीएसईएसएसबी में ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (TGT) और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT) के पदों पर आवेदन करने की कल अंतिम डेट है। इच्छुक एवं योग्य उम्मीदवार जो अभी तक इन पदों के लिए अप्लाई नहीं किए हैं, वे यूपीएसईएसएसबी की आधिकारिक वेबसाइट upsessb.org और upsessb.pariksha.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा उम्मीदवार सीधे इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Agencies.aspx?uTVe3S4xVOs1PaOekpDaJg पर क्लिक करके इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।साथ ही इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Online_App/Notifications.aspx के जरिए भी आधिकारिक नोटिफिकेशन देख सकते हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के तहत कुल 4153 रिक्त पदों को भरा जाएगा। महत्वपूर्ण तिथियां UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की शुरुआत तिथि- 09 जून 2022 UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि- 03 जुलाई 2022 रिक्ति विवरण कुल पदों की संख्या- 4153 ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर – 3529 टीजीटी पुरुष – 3213 टीजीटी महिला – 326 पोस्ट ग्रेजुएट टीचर- 624 PGT पुरुष – 549 PGT Fमहिला – 75 योग्यता मानदंड TGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट होना चाहिए। साथ ही बी.एड (4 वर्षीय एकीकृत डिग्री के लिए) की डिग्री भी होनी चाहिए। PGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए। आयुसीमा न्यूनतम – 21 वर्ष अधिकतम – कोई आयु सीमा नहीं वेतन TGT: रु. 44900- 142000/- (स्तर- 7, ग्रेड पे 4600) PGT: रु. 47600- 151100/- (स्तर-8, ग्रेड पे 4800) लिखित परीक्षा – 80 अंक साक्षात्कार – 10 अंक योग्यता और अन्य – 5 अंक
लखनऊ। उम्मीदवार दिए गए इन तमाम खास बातों को ध्यान से पढ़कर आवेदन करें।साथ ही इस भर्ती प्रक्रिया के तहत UPSESSB में नौकरी पा सकते हैं। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड में नौकरी पाने का गोल्डन चांस है। इसके लिए UPSESSB में ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (TGT) और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT) के पदों पर आवेदन करने की कल अंतिम डेट है। इच्छुक एवं योग्य उम्मीदवार जो अभी तक इन पदों के लिए अप्लाई नहीं किए हैं, वे UPSESSB की आधिकारिक वेबसाइट upsessb.org और upsessb.pariksha.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा उम्मीदवार सीधे इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Agencies.aspx?uTVe3S4xVOs1PaOekpDaJg पर क्लिक करके इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।साथ ही इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Online_App/Notifications.aspx के जरिए भी आधिकारिक नोटिफिकेशन देख सकते हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के तहत कुल 4153 रिक्त पदों को भरा जाएगा। महत्वपूर्ण तिथियां UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की शुरुआत तिथि- 09 जून 2022 UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि- 03 जुलाई 2022 रिक्ति विवरण कुल पदों की संख्या- 4153 ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर – 3529 टीजीटी पुरुष – 3213 टीजीटी महिला – 326 पोस्ट ग्रेजुएट टीचर- 624 PGT पुरुष – 549 PGT Fमहिला – 75 योग्यता मानदंड TGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट होना चाहिए। साथ ही बी.एड (4 वर्षीय एकीकृत डिग्री के लिए) की डिग्री भी होनी चाहिए। PGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए। आयुसीमा न्यूनतम – 21 वर्ष अधिकतम – कोई आयु सीमा नहीं वेतन TGT: रु. 44900- 142000/- (स्तर- 7, ग्रेड पे 4600) PGT: रु. 47600- 151100/- (स्तर-8, ग्रेड पे 4800) लिखित परीक्षा – 80 अंक साक्षात्कार – 10 अंक योग्यता और अन्य – 5 अंक
लखनऊ। उम्मीदवार दिए गए इन तमाम खास बातों को ध्यान से पढ़कर आवेदन करें।साथ ही इस भर्ती प्रक्रिया के तहत UPSESSB में नौकरी पा सकते हैं।
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड में नौकरी पाने का गोल्डन चांस है। इसके  लिए UPSESSB में ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (TGT) और पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (PGT) के पदों पर आवेदन करने की कल अंतिम डेट है। इच्छुक एवं योग्य उम्मीदवार जो अभी तक इन पदों के लिए अप्लाई नहीं किए हैं, वे UPSESSB की आधिकारिक वेबसाइट upsessb.org और upsessb.pariksha.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।
इसके अलावा उम्मीदवार सीधे इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Agencies.aspx?uTVe3S4xVOs1PaOekpDaJg पर क्लिक करके इन पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।साथ ही इस लिंक https://upsessb.pariksha.nic.in/Online_App/Notifications.aspx के जरिए भी आधिकारिक नोटिफिकेशन देख सकते हैं। इस भर्ती प्रक्रिया के तहत कुल 4153 रिक्त पदों को भरा जाएगा।
महत्वपूर्ण तिथियां

UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की शुरुआत तिथि- 09 जून 2022
UPSESSB TGT PGT ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि- 03 जुलाई 2022

रिक्ति विवरण

कुल पदों की संख्या- 4153

ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर – 3529

टीजीटी पुरुष – 3213
टीजीटी महिला – 326

पोस्ट ग्रेजुएट टीचर- 624
PGT पुरुष – 549
PGT Fमहिला – 75

योग्यता मानदंड
TGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट होना चाहिए। साथ ही बी.एड (4 वर्षीय एकीकृत डिग्री के लिए) की डिग्री भी होनी चाहिए।
PGT- किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए।
आयुसीमा
न्यूनतम – 21 वर्ष
अधिकतम – कोई आयु सीमा नहीं।

यूपी: बड़े पैमाने पर कई जिलों के कप्तानों के तबादलें

यूपी: बड़े पैमाने पर कई जिलों के कप्तानों के तबादलें 

हरिओम उपाध्याय        
लखनऊ। उत्तर-प्रदेश शासन ने शनिवार को बड़े पैमाने पर कई जिलों के कप्तानों के तबादलें कर दिए हैं। जिन जिलों के पुलिस अधीक्षक बदले गए हैं। उनमें मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, मथुरा, गोरखपुर, गोंडा, अयोध्या, प्रयागराज के साथ-साथ गाजीपुर, बिजनौर, मिर्जापुर, कासगंज और अमेठी हैं।
शैलेश कुमार पांडे को अयोध्या से प्रयागराज, अजय कुमार को प्रयागराज से सीबीसीआईडी लखनऊ, रोहन बोत्रे को कासगंज से गाजीपुर, प्रशांत वर्मा को कन्नौज से अयोध्या, सहारनपुर के एसएससी आकाश तोमर को गोंडा का एसपी बनाया गया है। गाज़ीपुर के एसपी राम बदन सिंह को नोएडा कमिश्नरेट में तैनाती दी गई है। राजेश कुमार श्रीवास्तव कन्नौज के नए एसपी होंगे। गोरखपुर के एसएसपी विपिन टाडा सहारनपुर के नए एसपी होंगे। मथुरा के एसपी गौरव ग्रोवर गोरखपुर के एसएसपी होंगे। मुजफ्फरनगर के एसएसपी अभिषेक यादव को मथुरा का एसपी बनाया गया है। अमरोहा के एसएसपी विनीत जायसवाल को मुजफ्फरनगर का एसपी बनाया गया है।
अमेठी के एसपी दिनेश सिंगर बिजनौर के एसपी होंगे। इलामारन जी को अमेठी का एसपी बनाया गया है। संतोष कुमार मिश्र गोंडा से मिर्जापुर एसपी के रूप में स्थानांतरित किए गए है। बीबी जीडीएस मूर्ति को कानपुर पुलिस कमिश्नर से कासगंज का एसपी बनाया गया है। आदित्य लाग्हे वाराणसी से अमरोहा के एसपी बनाए गए हैं।
मिर्जापुर के एसपी अजय कुमार सिंह वाराणसी में पीएसी के सेक्टर डीआईजी होंगे। बिजनौर के एसपी धर्मवीर को पीएसी स्थानांतरित किया गया है। कानपुर पुलिस कमिश्नरेट में तैनात एसपी संजीव त्यागी को अयोध्या में इंटेलिजेंस का एसपी बनाया गया है। डॉ भीमराव आंबेडकर पुलिस अकादमी मुरादाबाद में तैनात एसपी विजय ढुल को कानपुर कमिश्नरेट में डीसीपी के पद पर देहाती दी गई है। सीबीसीआईडी में एसपी राहुल राज को लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट में डीसीपी बनाया गया है।

रविवार, 26 जून 2022

फाउंडर मैनेजिंग डायरेक्टर द्वारा ख्वाजा ग्रुप का उद्घाटन

फाउंडर मैनेजिंग डायरेक्टर द्वारा ख्वाजा ग्रुप का उद्घाटन 

अनीस अंसारी/संदीप मिश्र        
लखनऊ। ख्वाजा ग्रुप का ब्रांच ऑफिस F-1048 राजाजीपुरम (लखनऊ) में 26 जून, 2022 को दोपहर 12:00 बजे ललित प्रकाश पांडे के निवास स्थान F-1048 निकट एसकेडी इंटर कॉलेज सब्जी मंडी में ख्वाजा ग्रुप के फाउंडर मैनेजिंग डायरेक्टर मिस्टर नावेद अहमद द्वारा उद्घाटन किया गया। सभी लोगों ने ब्रांच ऑफिस खुलने की मिस्टर नावेद अहमद को बहुत-बहुत बधाइयां दी, एवं किस्तों वाले प्लांट के फॉर्म भरे गए। काफी लोगों ने ख्वाजा डेवलपर्स के नियमों की सराहना की।
राजाजीपुरम ख्वाजा ग्रुप का ऑफिस खुलने से वहां के लोगों बड़ी खुशी का माहौल था। राजाजीपुरम के सम्मानित मुकेश साजन डॉक्टर, अभिजीत सिन्हा साईं सेवा समिति के अध्यक्ष, अंक जी सिन्हा सामाजिक कार्यकर्ता, ख्वाजा ग्रुप की नाजिया मैम, बृजेंद्र सिंह, राहुल केन्द्रीय पत्रकार, हेल्प एसोसिएशन के राष्ट्रीय संगठन मंत्री अनीस अंसारी एवं सच की आवाज न्यूज़ चैनल से प्रधान संपादक अनीस अंसारी, वरिष्ठ पत्रकार मनोज कुशवाह, वरिष्ठ पत्रकार मोहम्मद अरशद अली, वरिष्ठ पत्रकार अब्दुल रहीम आजाद, वरिष्ठ पत्रकार जावेद खान, वरिष्ठ पत्रकार चांद बाबू, सभी सम्मानित लोग उपस्थित रहे।

मंगलवार, 21 जून 2022

हादसा: बस-डंपर की टक्कर से 25 यात्री घायल

हादसा: बस-डंपर की टक्कर से 25 यात्री घायल  

संदीप मिश्र  
औरैया। उत्तर प्रदेश में औरैया जिले के ऐरवाकटरा क्षेत्र में लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर रोडवेज बस और डंपर की टक्कर से 25 यात्री घायल हो गए। पुलिस सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि बहराइच से 56 सवारियां लेकर जयपुर जा रही बस सोमवार और मंगलवार की रात लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर नगला दौलत गांव के पास माइल नम्बर 136 पर आगे जा रहे डंपर से टकरा गई। इस हादसे में 25 सवारियां घायल हो गई। जिसमें नेपाल के भी कुछ यात्री शामिल हैं। हादसे भीषण टक्कर की आवाज सुन ग्रामीणों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। 
पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुंच कर बचाव कार्य शुरू करते हुए सवारियों को बस से निकाला और यूपीडा की एम्बुलेंस की सहायता से सभी गंभीर घायलों को उपचार के लिये रिम्स सैंफई व अन्य घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ऐरवाकटरा में भिजवाया। चिकित्सकों ने बताया कि घायलों में सात लोगों की हालत चिंताजनक है। उन्होने बताया कि हादसे का कारण संभवत: चालक शमीम अहमद को झपकी आना प्रतीत होता है। हादसे के बाद एक्सप्रेस वे पर लंबा जाम लग गया जिसे कड़ी मशक्कत के बाद सुचारू किया जा सका।

शुक्रवार, 17 जून 2022

जूनियर-इंजीनियर ट्रेनी भर्ती का फाइनल रिजल्ट जारी

जूनियर-इंजीनियर ट्रेनी भर्ती का फाइनल रिजल्ट जारी 

संदीप मिश्र  
लखनऊ। उत्तर-प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा जूनियर-इंजीनियर ट्रेनी भर्ती का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया गया है। जो उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल हुए थे। वह आधिकारिक साइट upenergy.in पर जाकर रिजल्ट चेक कर सकते हैं। इस भर्ती अभियान के परीक्षा का आयोजन 28 मार्च 2022, 29 मार्च 2022 और 30 मार्च 2022 को किया गया था। परीक्षा का आयोजन सीबीटी मोड में हुआ था। लिखित परीक्षा में सफलता पाने वाले उम्मीदवारों को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए 9 जून 2022 को बुलाया गया था।
इस भर्ती का फाइनल रिजल्ट सीबीटी एग्जाम और दस्तावेज सत्यापन के आधार पर घोषित किया गया है। इस भर्ती के द्वारा कुल 173 पदों को भरा जाना है। इस भर्ती के लिए जनरल केटेगरी के लिए 71 पद, ईडब्ल्यूएस के लिए 17 पद, ओबीसी वर्ग के 46 पद, एससी वर्ग के 36 पद और एसटी वर्ग के 3 पद आरक्षित किए गए हैं। इन पदों के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया 12 नवंबर 2021 से 2 दिसंबर 2021 तक चली थी। इस भर्ती के ले आवेदन करने के लिए शैक्षणिक योग्यता संबंधित विषय में डिप्लोमा मांगी गई थी। इस भर्ती के लिए आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों की अधिकतम उम्र 40 वर्ष तय की गई थी।
रिजल्ट चेक करने के लिए उम्मीदवार सबसे पहले अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट upenergy.in पर जाएं। इसके बाद उम्मीदवार होमपेज पर दिए गए  के लिंक पर क्लिक करें। अब यहां वह भर्ती से जुड़े लिंक पर क्लिक करें।
अब उम्मीदवार अपने रोल नंबर की मदद से चेक करे।
इसके बाद रिजल्ट उम्मीदवार की स्क्रीन पर आ जाएगा।
अंत में उम्मीदवार रिजल्ट का प्रिंट आउट निकाल लें।

गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों की संख्या में इजाफा

गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों की संख्या में इजाफा 

संदीप मिश्र  
लखनऊ। उत्तर-प्रदेश में बिजली की आपूर्ति कर रही बिजली कंपनियों ने लोगों को महंगी बिजली की सौगात देने के लिए गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों की संख्या में घना इजाफा कर दिया। उत्तर प्रदेश नियामक आयोग को जब गरीबों की संख्या पर संदेह हुआ तो उसकी ओर से चेयरमैन एम देवराज से गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों में शामिल बिजली जलाने वाले लोगों की संख्या की जांच कराने के लिए कहा गया है। नुकसान दरअसल उत्तर प्रदेश में बिजली की दरें बढ़ाने के लिए उपभोक्ताओं को बिजली की आपूर्ति कर रही कंपनियों की तरफ से उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग के सामने इस बात की दलील दी गई थी कि उनके यहां आर्थिक रूप से कमजोर बिजली उपभोक्ताओं की संख्या एक करोड़ 39 लाख तक पहुंच गई है। जबकि तकरीबन 1 साल पहले तक बिजली जलाने वाले आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की संख्या केवल उंगलियों पर गिनने लायक यानी 19 लाख थी। आश्वासन उत्तर प्रदेश नियामक आयोग का मानना है कि अब 1 साल के भीतर अचानक पर बिजली जलाने वाले आर्थिक रूप से कमजोर उपभोक्ताओं की संख्या एक करोड़ 20 लाख कहा से बढ़ गई है? वैसे इस संख्या को लेकर उत्तर प्रदेश विद्युत उपभोक्ता परिषद की ओर से सवाल उठाते हुए इस बात की शिकायत उत्तर प्रदेश नियामक आयोग के की गई थी। 
अब उपभोक्ता परिषद की शिकायत के आधार पर ही उत्तर प्रदेश नियामक आयोग की ओर से आर्थिक रूप से कमजोर बिजली जलाने वाले उपभोक्ताओं की जांच के आदेश दिए गए हैं। उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष ने इस बड़े घालमेल को लेकर उत्तर प्रदेश नियामक आयोग के चेयरमैन आरपी सिंह से समय लेकर मुलाकात की और उन्हें बताया कि बिजली कंपनियों की तरफ से आर्थिक रूप से कमजोर उपभोक्ताओं के आंकड़ों में भारी हेरफेर किया गया है ताकि बिजली कंपनियों को बिजली महंगी करने में मदद मिल सके।

बुधवार, 15 जून 2022

यूपी पुलिस के सिपाही ने बंदरों को खिलाया आम, वायरल

यूपी पुलिस के सिपाही ने बंदरों को खिलाया आम, वायरल

हरिओम उपाध्याय
लखनऊ। सभी के साथ विनम्रता और दया का व्यवहार करें, इसलिए नहीं कि वे अच्छे हैं, बल्कि इसलिए कि आप अच्छे हैं। ऐसा आपने अक्सर लोगों को कहते हुए जरूर सुना होगा, यह एक सच्चाई है। कुछ ऐसा ही एक उदाहरण उत्तर प्रदेश के पुलिसकर्मी द्वारा देखने को मिला। वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो गया है। जिसमें उत्तर प्रदेश पुलिस के एक सिपाही को बंदरों को खाना खिलाते हुए दिखाया गया है। दिल छू लेने वाले वीडियो में वर्दी पहने एक सिपाही अपनी जीप के किनारे बैठकर बंदरों को खिलाने के लिए आम काट रहा है।
अपनी पीठ पर एक बच्चे को लेकर बंदर धैर्यपूर्वक इंतजार कर रहा है। क्योंकि कांस्टेबल आम को काटकर उसे खिला रहा है। बंदर खुशी-खुशी आम को लेकर खाते हुए नजर आएं। ट्विटर पर यह वीडियो यूपी पुलिस के आधिकारिक अकाउंट पर शेयर किया गया। शेयर किए गए वीडियो को 56 हजार से अधिक बार देखा जा चुका है। वीडियो के इस कैप्शन में लिखा, ‘यूपी 112, सबके ‘Mon-key’ समझे।

सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल...
नेटिजन्स ने दिल को छू लेने वाले इस वीडियो को बेहद पसंद किया। इतना ही नहीं, मानवता और दया प्रदर्शित वीडियो को देखकर यूजर्स ने पुलिस वाले को सैल्यूट किया। एक यूजर ने लिखा, ‘इसे कहते हैं मानवता, कांस्टेबल मोहित को सलाम, आओ मानवता को आगे बढ़ाएं। मानवता का कर्म ही सबसे प्यारा भगवान। हम भारतीयों का भला करें, भगवान भारत का भला करें। एक अन्य ने लिखा, ‘इंसानियत भीतर से आती है।सभी प्राणियों के प्रति प्रेम रखो, यही मानवता है।

सोमवार, 6 जून 2022

'परीक्षा 2022' का आयोजन, 12 जून को होगा

'परीक्षा 2022' का आयोजन, 12 जून को होगा 

हरिओम उपाध्याय/सत्येंद्र पंवार   
लखनऊ/मेरठ। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग प्रयागराज की ओर से सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2022 का आयोजन (रविवार) 12 जून को होगा। परीक्षा मेरठ सहित प्रदेश के 28 जिलों में आयोजित कराई जा रही है। मेरठ में आयोग की परीक्षा के लिए 37 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जिले में कुल 17,323 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं, जो दोनों पालियों में परीक्षा देंगे। दोनों पालियों में सामान्य अध्ययन की परीक्षा होगी।

30 मिनट पहले होगी एंट्री...
परीक्षा केंद्रों पर दो महिला व दो पुरुष पुलिस कर्मी अभ्यर्थियों की तलाशी करेंगे। केन्द्रों के भीतर अभ्यर्थियों का प्रवेश 30 मिनट पहले शुरू होगा। इसलिए सभी अभ्यर्थी समय से पहले ही केंद्रों पर पहुंच जाएं। वहीं परीक्षा शुरू होने से 10 मिनट पहले प्रवेश बंद कर दिया जाएगा। इसके बाद किसी परीक्षार्थी को प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी। इसलिए जरूरी यह है कि अभ्यर्थी समय का विशेष ध्यान रखें। परीक्षा कक्ष में अभ्यर्थियों को अपने साथ किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण केलकुलेटर, स्लाइड रूल, मोबाइल फोन, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी आदि के साथ सादा कागज, कॉपी, किताब, नोट, पत्रिका खाद्य सामग्री, गुटका आदि ले जाने की अनुमति नहीं है। जो भी सामान परीक्षार्थी लाएंगे उन्हें बाहर ही रखना पड़ेगा।

सीसीटीवी की निगरानी में होगी परीक्षा...
लोक सेवा आयोग की परीक्षा केंद्र पर सीसीटीवी की निगरानी में होगी। जिन परीक्षा केंद्रों पर हर कक्ष में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे होंगे, वहां हर कक्ष की वीडियो रिकॉर्डिंग पूरी परीक्षा की करानी होगी। केंद्रों से सीसीटीवी और वीडियो रिकॉर्डिंग एक पेन ड्राइव में आयोग ने मांगा है।
परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र पर स्कैन फोटो लगाए गए हैं। वही फोटो रोललिस्ट में भी भेजी गई है। जिन अभ्यर्थियों की उपस्थिति पत्रक में फोटो नहीं है उन्हें परीक्षा के दिन दो फोटो के साथ प्रवेश पत्र लेकर परीक्षा में पहुंचन है। परीक्षा पार्टी रोललिस्ट के आधार पर ऐसे परीक्षार्थियों को चिन्हित कर उनसे परीक्षा के दिन प्रथम सत्र में फोटो लेकर उसकी जांच पहचान पत्र से करेंगे। फोटो और आईडी प्रूफ न हो तो उनसे शपथ पत्र भरवा कर दिया जाएगा।

इन जिलों में होगी परीक्षा...
लोक सेवा आयोग की परीक्षा प्रदेश के 28 जिलों में हो रही है। इसमें मेरठ के अलावा आगरा, गाजीपुर, ज्योतिबा फुले नगर, महाराजगंज, मैनपुरी, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, शाहजहांपुर, प्रयागराज, आजमगढ़, बरेली, गोरखपुर, अयोध्या, गाजियाबाद, जौनपुर, झांसी, कानपुर नगर, लखनऊ, बाराबंकी, मुरादाबाद, रायबरेली, वाराणसी, सीतापुर, मिर्जापुर, मथुरा, देवरिया और मऊ शामिल है।

मंगलवार, 31 मई 2022

एंबुलेंस-छोटे ट्रक की टक्कर में 7 लोगों की मौंत

एंबुलेंस-छोटे ट्रक की टक्कर में 7 लोगों की मौंत

संदीप मिश्र
बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में मंगलवार को एक एंबुलेंस और छोटे ट्रक (कैंटर) की टक्कर में सात लोगों की दर्दनाक मौंत हो गई।
पुलिस के अनुसा बरेली के फतेहगंज पश्चिमी में झुमका चौराहे पर मंगलवार सुबह एम्बुलेंस और कैंटर की जबर्दस्त भिड़ंत हो गई। जिससे एम्बुलेंस में सवार सात लोगों की मौंत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक टक्कर इतनी भयंकर थी, कि एंबुलेंस के परखच्चे उड़ गये।
मृतकों में एम्बुलेंस का चालक और इसमें सवार मरीज सहित सभी सात लोगों की मौत हो गई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस सड़क हादसे पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना जतायी है। उन्होंने जिला प्रशासन को राहत एवं बचाव कार्य तेजी से करने के निर्देश दिये हैं।

बुधवार, 27 अप्रैल 2022

यूपी: कोरोना के कुल 1,316 एक्टिव मामलें

यूपी: कोरोना के कुल 1,316 एक्टिव मामलें   

संदीप मिश्र  

लखनऊ। प्रदेश में अब तक कुल 11,07,90,314 सैंपल की जांच की गयी हैं। उन्होंने बताया कि विगत 24 घंटों में 162 लोग तथा अब तक कुल 20,48,482 लोग कोविड-19 से ठीक हुए हैं। उन्होने बताया कि प्रदेश में कोरोना के कुल 1,316 एक्टिव मामलें है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बुधवार को बताया कि प्रदेश में एक दिन में कुल 91,673 सैंपल की जांच की गई। कोरोना संक्रमण के 203 नये मामले आये हैं। प्रदेश में अब तक कुल 11,07,90,314 सैंपल की जांच की गयी हैं। उन्होंने बताया कि विगत 24 घण्टों में 162 लोग तथा अब तक कुल 20,48,482 लोग कोविड-19 से ठीक हुए हैं। उन्होने बताया कि प्रदेश में कोरोना के कुल 1316 एक्टिव मामले है।

प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में कल 25 अप्रैल, 2022 को एक दिन में 6,28,582 वैक्सीन की डोज दी गयी है। उन्होने बताया कि प्रदेश में कल तक 18 वर्ष से अधिक लोंगों को कुल पहली डोज 15,29,30,105 तथा दूसरी डोज 12,92,53,264 दी गयी। उन्होंने बताया कि 15 से 17 वर्ष आयु वर्ग को कल तक कुल पहली डोज 1,32,76,218 तथा दूसरी डोज 90,15,198 दी गयी है। 12 से 14 वर्ष आयु वर्ग को कल तक कुल पहली डोज 44,23,810 तथा दूसरी डोज 1,04,615 दी गयी। कल तक 27,09,612 प्रीकॉशन डोज दी गयी है। उन्होंने बताया कि कल तक कुल मिलाकर 31,17,12,822 वैक्सीन की डोज दी गयी है।

रविवार, 24 अप्रैल 2022

टैक्सी-ऑटो संचालकों के खिलाफ विशेष अभियान

टैक्सी-ऑटो संचालकों के खिलाफ विशेष अभियान


हरिओम उपाध्याय

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने विभिन्न शहरों में अवैध रूप से चलने वाले टैक्सी, बस, ऑटो संचालकों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिये विशेष अभियान शुरु किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर गृह विभाग ने अवैध ऑटो, टैक्सी और बस स्टैंड के संचालन को रोकने के लिये 30 अप्रैल तक यह अभियान चलाने का निर्देश दिया है। साथ ही पुलिस आयुक्त एवं सभी जिलों के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) से अभियान के परिणाम की विस्तृत रिपोर्ट शासन को उपलब्ध कराने को भी कहा है।

अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी की ओर से शनिवार को जारी इस आशय के आदेश में अवैध टैक्सी, ऑटो व बस स्टैंड के संचालन की रोकथाम के लिए एक सप्ताह का विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया गया है। अभियान के परिणामों की शासन द्वारा समीक्षा भी की जायेगी। इसके लिये सभी जिलों के एसएसपी और पुलिस आयुक्त से कहा गया है कि वे 30 अप्रैल तक इस अभियान के परिणाम की विस्तृत रिपोर्ट शासन को उपलब्ध करायें। रिपोर्ट के साथ एसएसपी से एक प्रमाण पत्र भी मांगा गया है जिसमें यह प्रमाणित किया गया हो कि किसी जिले में कोई भी अवैध टैक्सी, ऑटो या बस स्टैंड संचालित नहीं हो रहा है।

एक सप्ताह तक चलने वाले इस विशेष अभियान में अवैध रूप से बस, ऑटो और टैक्सी संचालकों पर कार्यवाही होगी। सरकार ने यह पहल शहरी क्षेत्रों में अबाध एवं सुचारु परिवहन व्यवस्था को बहाल करने के उद्देश्य से की है।

राशन कार्ड करे सरेंडर नहीं तो की जाएगी वसूली

राशन कार्ड करे सरेंडर नहीं तो की जाएगी वसूली


हरिओम उपाध्याय

लखनऊ। ऐसे राशन कार्डधारक जिनके पास 100 वर्ग मीटर से अधिक का प्लाट, फ्लैट या मकान है। चार पहिया गाड़ी, ट्रैक्टर या एससी लगा है। गांवों में दो लाख व शहर में तीन लाख सालाना से अधिक की परिवारिक आय तो ऐसे परिवार अपना राशनकार्ड तहसील व डीएसओ कार्यालय में सरेंडर कर दें। इन अपात्र परिवारों के लिए यह अंतिम मौका है। इसके बाद जांच में अपात्र पाए जाने पर इन अपात्रों का राशनकार्ड निरस्त कर दिया जाएगा। परिवार पर वैधानिक कार्रवाई होगी। वहीं जब से वह राशन ले रहा है, तब से उससे राशन की वसूली भी होगी।

डीएसओ सुनील कुमार सिंह ने बताया कि शिकायतें मिल रही हैं कि बड़ी संख्या में अपात्र परिवार पात्र गृहस्थी योजना का लाभ ले रहे हैं। ऐसे में पात्र परिवारों के राशनकार्ड जारी नहीं हो पा रहें। इसे देखते हुए प्रशासन ने अपात्र परिवारों से राशनकार्ड सरेंडर करने की अपील की है। नहीं तो जांच में अपात्र पाए जाने पर जब से राशनकार्ड बना है तब से वसूली होगी।

राशन के लिए यह होंगे अपात्र   

जिन परिवारों के पास मोटरकार, ट्रैक्टर, एसी, हार्वेस्टर, पांच केवी या अधिक क्षमता का जनरेटर,100 वर्ग मीटर का प्लाट या मकान, पांच एकड़ से अधिक जमीन, एक से अधिक शस्त्र लाइसेंस, आयकरदाता, ग्रामीण क्षेत्र में परिवार की आय दो लाख प्रतिवर्ष व नगरीय क्षेत्र में तीन लाख रुपए प्रतिवर्ष वाले परिवार योजना के लिए अपात्र हैं।

मंगलवार, 19 अप्रैल 2022

राज्य सरकारों को निर्देशित करने की मांग, ज्ञापन

राज्य सरकारों को निर्देशित करने की मांग, ज्ञापन   

संदीप मिश्र           
लखनऊ। अल्पसंख्यक कांग्रेस ने महामहिम राष्ट्रपति को ज्ञापन भेज कर देश भर में रामनवमी का जुलूस निकालने के बहाने मुस्लिम समुदाय के इबादतगाहों पर हमला करने वाले संघी गुंडों के खिलाफ़ कार्यवाही करने के लिए राज्य सरकारों को निर्देशित करने की मांग की है। अल्पसंख्यक कांग्रेस प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने जारी बयान में बताया कि विभिन्न ज़िला इकाइयों ने ज़िला प्रशासन के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा और मस्जिदों और मज़ारों पर भगवा झण्डा फहराने और पथराव करने वाले संघ परिवार और भाजपा से जुड़े गुंडों के खिलाफ़ सख़्त क़ानूनी कार्यवाई करने के लिए राज्य सरकारों को निर्देशित करने की मांग की क्योंकि भाजपा शासित राज्य सरकारें और यहाँ तक की दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार भी क़ानून सम्मत कार्य नहीं कर रही है। 
वो पीड़ित मुस्लिमों के ही घर तुड़वा रही हैं, उन्हें गिरफ्तार कर प्रताड़ित कर रही हैं और संघ से जुड़े गुंडों के खिलाफ़ कार्यवाई न कर उन्हें आगे भी ऐसी हिंसा करने के लिए प्रेरित कर रही हैं। ऐसे में ज़रूरी हो जाता है कि राष्ट्रपति महोदय अपनी संवैधानिक ज़िम्मेदारी को समझते हुए राज्य सरकारों को दोषियों के खिलाफ़ कार्यवाई करने के लिए निर्देशित करें। 
शाहनवाज़ आलम ने कहा कि अराजकता का यह देशव्यापी माहौल एक सुनियोजित साज़िश के तहत बनाया जा रहा है जिसका मकसद मुसलमानों के लिए एक स्थाई भय का माहौल बनाना है। उन्होंने कहा कि यह आश्चर्यचकित करने वाला है कि ऐसी घटनाओं पर न तो अदालतें ही स्वतः संज्ञान ले रही हैं और ना तो राष्ट्रपति ही कुछ बोल रहे हैं। हत्या करने की खुलेआम धमकी देने वाले भाजपा के गुंडों के खिलाफ़ अदालतें यह कह कर कार्यवाई करने से मना कर दे रही हैं कि हत्या की धमकी हँसते हुए दी गयी थी इसलिए ऐसा करना अपराध नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे फैसले सुनाने वाले जजों के कारण संघ और भाजपा से जुड़े गुंडों का हौसला बढ़ रहा है और वो मुसलमानों के ऊपर और हमले करने के लिए प्रेरित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि न्यायपालिका के एक हिस्से द्वारा अपराधियों का मनोबल बढ़ाने का ऐसा उदाहरण शायद ही किसी देश में देखने को मिलता हो। 
शाहनवाज़ आलम ने बताया कि ज्ञापन के माध्यम से राष्ट्रपति महोदय को याद दिलाया गया है कि देश के बिगड़ते आंतरिक स्थितियों पर पूर्ववर्ती राष्ट्रपतियों के सार्थक हस्तक्षेप की समृद्ध परंपरा रही है और उन्हें भी इस गौरवमयी परंपरा का निर्वहन करते हुए लोकतंत्र को बचाने के लिए आगे आना चाहिए। 
शाहनवाज़ आलम ने कहा कि मुसलमानों को यह समझना चाहिए कि मोदी सरकार चाहती है कि संवैधानिक संस्थाओं का इस हद तक मुसलमानों के खिलाफ़ इस्तेमाल किया जाए कि मुसलमान वहाँ जाने को व्यर्थ समझने लगें और इन संस्थाओं की जवाबदेही अपने आप खत्म हो जाए। उन्होंने कहा कि ऐसा सोचना सरकार के ट्रैप में फंसने जैसा होगा। इसलिए न्यायपालिका, राष्ट्रपति, कार्यपालिका, पुलिस हर संवैधानिक संस्थान पर कानून सम्मत काम करने के लिए दबाव डालते रहना लोकतंत्र को बचाने के लिए ज़रूरी है।

रविवार, 17 अप्रैल 2022

उद्घाटन: 23 अप्रैल तक लगेंगे 'मेगा मेला स्वास्थ्य कैंप'

उद्घाटन: 23 अप्रैल तक लगेंगे 'मेगा मेला स्वास्थ्य कैंप'   

संदीप मिश्र/सत्येंद्र पंवार      

लखनऊ। मेरठ सहित पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग द्वारा 18 अप्रैल से लेकर 23 अप्रैल तक मेगा मेला स्वास्थ्य कैंप लगाए जाएंगे। जिसमें कोई भी अपने स्वास्थ्य की जांच करवा सकता है। ये मेगा कैंप प्रदेश के सभी ब्लाकों में लगाए जाएंगे। मेरठ के करीब 12 ब्लाकों में ये स्वास्थ्य कैंप लगेंगे। रविवार को मेरठ में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डाक्टर मनसुख मंडाविया ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रजपुरा में स्थापित हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर का उद्धाटन किया।

इस दौरान सेंटर में आयोजित योगा कार्यक्रम में भी उन्होंने भाग लिया। उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रजपुरा का निरीक्षण कर वहां मरीजों से मिल रही सुविधाओं के बारे में भी बात की। उन्होंने मरीजों से उनका कुशल क्षेम जाना व उनके जल्दी स्वस्थ होने की कामना की। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश में 117000 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर संचालित हैं। उन्होंने बताया कि 18 से 23 अप्रैल तक ब्लॉक स्तरीय मेले आयोजित किए जा रहे हैं। आमजन इन दिनों का लाभ लेकर स्वास्थ्य लाभ ले।

अगर किसी को कोई स्वास्थ्य संबंधी परेशानी है तो वह इस कैंप का लाभ जरूर उठाएं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ मेरठ हापुड से सांसद राजेंद्र अग्रवाल भी थे। सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि केंद्र और प्रदेश की सरकार का उदेश्य देश की हर जनता के पास तक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना है। उन्होंने कहा कि सुलभ चिकित्सा ​सुविधा तभी उपलब्ध हो सकती है। जबकि इसके लिए उनके पास ही स्वास्थ्य केंद्र हो। इसी को ध्यान में रखते हुए हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर स्थापित किए गए हैं। जिससे कि लोगों को स्वास्थ्य और चिकित्सा सुविधा आसानी से उपलब्ध हो सके।

गुरुवार, 14 अप्रैल 2022

समीक्षा अधिकारी के पदों पर भर्ती, तारीखों का ऐलान

समीक्षा अधिकारी के पदों पर भर्ती, तारीखों का ऐलान  

संदीप मिश्र        
लखनऊ। यूपी में समीक्षा अधिकारी और सहायक समीक्षा अधिकारी के पदों पर भर्ती की परीक्षा की तारीखों का ऐलान हो गया है। उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमिशन ने परीक्षा तारीखों का एलान किया है। जिन उम्मीदवारों ने प्रिलिमनरी परीक्षा में सफलता हासिल की है, वो अब ऑपिशियल वेबसाइट uppsc.up.nic.in पर जाकर मुख्य परीक्षा के नोटिस को चेक कर सकते हैं।
बता दें आयोग द्वारा समीक्षा अधिकारी और सहायक समीक्षा अधिकारी के पदों पर भर्ती के लिए मेन्स परीक्षा का आयोजन 24 अप्रैल, 25 अप्रैल और 26 अप्रैल 2022 को किया जाएगा। इस परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवारों के एडमिट कार्ड ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी किए जाएंगे।
अब हम आपको बताने जा रहे हैं, एडमिट कार्ड कैसे डाउनलोड करें ?
सबसे पहले उम्मीदवार आयोग की आधिकारिक वेबसाइट uppsc.up.nic.in पर जाएं। फिर होम पेज पर दिख रहे समीक्षा अधिकारी और सहायक समीक्षा अधिकारी मुख्य परीक्षा के एडमिट कार्ड लिंक पर क्लिक करें। इसके बाद उम्मीदवार के सामने एक नया पेज खुलेगा और यहां सभी आवश्यक जानकारी को भरें और सबमिट के बटन पर क्लिक करें। आखिर में उम्मीदवार अपने एडमिट कार्ड को डाउनलोड कर लें।
वहीं उम्मीदवार एडमिट कार्ड का प्रिंट आउट भी निकलवा लें। बता दें आयोग द्वारा समीक्षा अधिकारी और सहायक समीक्षा अधिकारी पदों पर भर्ती के लिए प्रिलिमनरी परीक्षा 5 दिसंबर 2021 को आयोजित हुई थी। इस भर्ती अभियान के तहत 337 पदों पर नियुक्ति की जाएगी जिसमें, RO / ARO सामान्य भर्ती के 228 पद और RO / ARO विशेष भर्ती के 109 पद निर्धारित किए गए हैं।

मंगलवार, 12 अप्रैल 2022

यूपी के तीन निजी स्कूलों में 18 छात्र पॉजिटिव मिलें

यूपी के तीन निजी स्कूलों में 18 छात्र पॉजिटिव मिलें  

संदीप मिश्र        
लखनऊ। एक ओर कोरोना संक्रमण के नए केस कम होने से लोग राहत की सांस ले रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर लापरवाही के चलते संक्रमण का खतरा बना हुआ है। ऐसे ही जांच में 18 छात्रों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद स्कूलों को तीन के लिए बंद कर दिया गया है।
उत्तर प्रदेश के दो शहरों के तीन निजी स्कूलों में पढ़ने वाले कम से कम 18 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके बाद प्रशासन को स्कूलों को तीन दिनों के लिए बंद करना पड़ा है। तीन स्कूलों में से दो गाजियाबाद और एक नोएडा में है।
एहतियात के तौर पर 11 से 13 अप्रैल तक स्कूल बंद रहेंगे। हालांकि ऑनलाइन मोड में पढ़ाई जारी रहेगी। यूपी सरकार ने 14 फरवरी से स्कूलों में फीजिकल कक्षाएं फिर से शुरू करने का आदेश दिया था। 
बता दें कि देश में पिछले कुछ हफ्तों में कोरोना मामलों में तेज गिरावट आई है, मंगलवार को कोरोना के 796 मामले ही सामने आए। फिलहाल नोएडा में 54 सक्रिय मामले हैं, जबकि पड़ोसी गाजियाबाद का सक्रिय मामला दो नए मामलों के बाद बढ़कर 28 हो गया। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि देशभर में कोरोना से एक दिन में 19 लोगों की मौत हुई है, जिससे मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 5,21,710 हो गई है।

सोमवार, 11 अप्रैल 2022

महिलाओं द्वारा 'तरंग प्रेरणा' कैंटीन का शुभारंभ

महिलाओं द्वारा 'तरंग प्रेरणा' कैंटीन का शुभारंभ  

संदीप मिश्र    
चंदौली। पं. कमलापति त्रिपाठी जिला चिकित्सालय परिसर में उ.प्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत तरंग आजीविका महिला संकुल समिति ग्राम- फुटिया, चन्दौली की महिलाओं द्वारा संचालित तरंग प्रेरणा कैंटीन का शुभारंभ, जिलाधिकारी संजीव सिंह द्वारा फीता काटकर किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि कैंटीन के खुलने से यहां भर्ती मरीजों एवं तीमारदारों को अब चिकित्सालय परिसर में ही शुद्ध एवं किफायती रेट में नाश्ता एवं भोजन की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। 
उन्होंने कहा कि अन्य सरकारी दफ्तरों एवं स्थानों पर जहाँ अधिक लोगों का आवागमन है इसी तर्ज पर वहां भी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा कैंटीन खोली जाएगी। इससे महिलाओं को रोजगार उपलब्ध होगा तथा वे आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनेंगी। उन्होंने कहा कि 
महिलाओं को सामाजिक व आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा नारी सशक्तिकरण कार्यक्रम चलाया जा रहा है।जनपद में समूह की महिलाओं को कौशल विकास की ट्रैनिंग देकर, उन्हें रोजगार देकर, आजीविका का साधन उपलब्ध कराकर इस दिशा में पूरा प्रयास किया जा रहा है।
 चिकित्साधिकारी डॉ वाई के राय, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ उर्मिला सिंह, अन्य अधिकारगण सहित समूह की महिलाएं उपस्थित रहीं।

मंगलवार, 5 अप्रैल 2022

ट्रैक्टर ट्राली पलटने से 4 श्रद्धालुओं की मौंत

ट्रैक्टर ट्राली पलटने से 4 श्रद्धालुओं की मौंत  

संदीप मिश्र              
मैनपुरी। उत्तर प्रदेश में मैनपुरी जिले के औंछा थाना क्षेत्र में ट्रैक्टर ट्राली पलटने से चार श्रद्धालुओं की मृत्यु हो गयी, जबकि 24 से अधिक घायल हो गये।
पुलिस सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि बीती देर रात यह हादसा उस समय हुआ जब फिरोजाबाद के जसराना क्षेत्र के खडीत मिलावटी गांव निवासी श्रद्धालु शीतला देवी माता मन्दिर मैनपुरी से नैजा चढाकर वापस लौट रहे थे कि ग्राम नगला हार के पास मैनपुरी औछा रोड पर ट्रैक्टर ट्राली पलट गयी।
इस हादसे में मालती देवी (35), पुत्री गरिमा (10), रागिनी (16) और गीतादेवी (65) की मौत हो गयी जबकि अलका, रीना, सुंदरवती, लक्ष्मी, मीरा, कमलेश, चरण सिंह, छोटेलाल, ओमवती, सुषमा, जय देवी.केशवती, गुड्डी, संध्या, प्रिया, नीलेश, रिया समेत अन्य घायल हो गए। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रविवार, 3 अप्रैल 2022

अनियंत्रित ट्रक ने स्कूटी को मारीं टक्कर, 2 की मौंत

अनियंत्रित ट्रक ने स्कूटी को मारीं टक्कर, 2 की मौंत 

संदीप मिश्र 
बुलंदशहर। जनपद के थाना राजघाट इलाके में अनियंत्रित ट्रक ने स्कूटी को टक्कर मार दी, जिसमें दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसका उपचार चल रहा है।
मिली जानकारी के अनुसार थाना ढोलना के गांव रहमतपुर के निवासी भगवान अपनी पत्नी प्रेमवती सहित तीन साल के नाथी योगेश उर्फ योगी ेक साथ किसी प्रोग्राम में इलाके के एक गांव में अपने रिश्तेदार के यहां पर जा रहे थे। 
इसी दौरान सिलाहरी गांव के बीच ही अनियंत्रित ट्रक ने स्कूटी को जोरदार टक्कर मार दी। ट्रक के पहिये की चपेट में आने से प्रेमवती और नाथी योगेश की मौके पर ही मौत हो गई ओर भगवान सिह गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने आनन-फानन में भगवान सिंह को हॉस्पिटल में उपचार हेतु एडमिट कराया। पुलिस ने ट्रक चालक को अपनी गिरफ्त में ले लिया है।

शनिवार, 19 फ़रवरी 2022

16 जनपद, 59 विधानसभा सीट, 627 प्रत्याशी

16 जनपद, 59 विधानसभा सीट, 627 प्रत्याशी 
हरिओम उपाध्याय     
लखनऊ। विधानसभा चुनावों में तीसरे दुआर के मतदान हेतु चुनाव प्रचार थम गया है। आज रविवार को प्रदेश के 16 जनपदों की 59 विधानसभा सीटो पर चुनाव लड़ रहे कुल 627 प्रत्याशियों जिनमे से 100 करोडपति है के मुस्तकबिल का फैसला 2 करोड़ से ज्यादा आवाम ईवीएम में कैद कर देगी। जम्हूरियत का सबसे बड़ा त्यौहार इन 16 जनपदों में कल है। तीसरे चरण में मुख्य रूप से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल, प्रदेश के मंत्री सतीश महाना, नीलिमा कटियार, राम नरेश अग्निहोत्री, पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव व रामवीर उपाध्याय की किस्मत का फैसला होगा।
बताते चले कि तीसरे चरण में हाथरस, फिरोजाबाद, एटा, इटावा, कासगंज, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, कन्नौज, औरैया, कानपुर नगर, कानपुर देहात, जालौन, झांसी, ललितपुर, हमीरपुर व महोबा जिले जनपद में चुनाव है। इस चुनाव हेतु चुनाव आयोग पूरी तरीके से तैयार है। आज शनिवार को पोलिंग पार्टियां रवाना हों रही है। तीसरे चरण में 2.15 करोड़ मतदाता 627  उम्मीदवारों के मुकद्दर के मुस्तकबिल का फैसला करेंगे। इन उम्मीदवारों में 100 करोडपति भी है।इस चरण के लिए 15553 मतदान केंद्र और 25741 मतदेय स्थल बनाए गए हैं। तीसरे चरण में सबसे अधिक 15-15 प्रत्याशी एटा, ललितपुर की मेहरौनी और महोबा सीट पर हैं। जबकि सबसे कम मात्र तीन प्रत्याशी मैनपुरी की करहल सीट पर हैं। यहां सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मुकाबला केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल और बसपा के कुलदीप नारायण से है। शुक्रवार शाम को प्रचार थमने से पहले सत्तारूढ़ भाजपा व मुख्य विपक्षी दल सपा समेत सभी दलों ने अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए पूरी ताकत लगा दी। सीएम योगी ने मैनपुरी के करहल तथा कानपुर में पार्टी उम्मीदवारों के समर्थन में सभाएं व रोड शो किया। दूसरी तरफ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जालौन व कानपुर में पार्टी उम्मीदवारों के लिए वोट मांगे।
इसके अलावा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, सपा के शिवपाल सिंह यादव समेत बसपा व कांग्रेस के  अन्य नेता भी तीसरे चरण के चुनाव वाले क्षेत्रों में डटे रहे। प्रचार बंद होने के बाद प्रत्याशी व उनके समर्थक जनसंपर्क करके वोटरों को लुभाने की कवायद में जुटे हैं। विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में समाजवादी पार्टी ने सबसे अधिक 52 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, जिनकी संपत्ति 1 करोड़ रुपये से अधिक है, जबकि भाजपा 48 उम्मीदवारों के साथ दूसरे स्थान पर है। उत्तर प्रदेश इलेक्शन वॉच एंड एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट के अनुसार बहुजन समाज पार्टी ने ऐसे 46 उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि कांग्रेस ने 29 और आम आदमी पार्टी ने 18 करोड़पति को मैदान में उतारा है।

रिपोर्ट के अनुसार, 20 फरवरी को चुनाव लड़ने वाले 627 उम्मीदवारों में से 623 उम्मीदवारों के स्वयंभू हलफनामों का विश्लेषण किया है। रिपोर्ट में पाया गया कि तीसरे चरण के विधानसभा चुनाव के लिए कुल मिलाकर 245 (या 39 प्रतिशत) उम्मीदवार करोड़पति हैं। रिपोर्ट में पाया गया कि तीसरे चरण के विधानसभा चुनाव के लिए कुल मिलाकर 245 उम्मीदवार करोड़पति हैं। मैदान में सबसे अमीर उम्मीदवार सपा के यशपाल सिंह यादव हैं, जिनकी संपत्ति 70 करोड़ रुपये से अधिक है। वह झांसी की बबीना सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। इनके बाद कानपुर के किदवाई नगर सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी अजय कपूर के पास 69 करोड़ की संपत्ति है। एटा के जलेसर सीट से चुनाव लड़ रहे दो निर्दलीय उम्मीदवारों राजाबाबू और राहुल प्रताप सिंह ने अपनी संपत्ति शून्य घोषित की है।

'प्लास्टिक मुक्त प्रयागराज' कार्यक्रम का आयोजन

'प्लास्टिक मुक्त प्रयागराज' कार्यक्रम का आयोजन बृजेश केसरवानी           प्रयागराज। शनिवार को आर्य कन्या इंटर कॉलेज प्रयागराज में नगर...