उत्तर प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
उत्तर प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 25 फ़रवरी 2024

सड़क हादसे में कार सवार 4 लोगों की मौत

सड़क हादसे में कार सवार 4 लोगों की मौत 

संदीप मिश्र 
मैनपुरी। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले के थाना कुर्रा क्षेत्र में रविवार को हुए एक सड़क हादसे में कार सवार चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस के अनुसार आज सुबह लखनऊ-एक्सप्रेस वे पर लखनऊ से आगरा जा रही, एक कार सड़क किनारे खड़े ट्रक में अनियंत्रित हो कर घुस गयी। इस भीषण हादसे में कार के परखच्चे उड़ गए। क्रेन की मदद से कार को निकाला गया। सीओ करहल संतोष कुमार ने बताया कि मौके पर पहुंची पुलिस ने कार सवार लोगों को काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला, परन्तु तब तक चारों की मौत हो गयी थी। मृतकों की पहचान उनके पास मिले आधार कार्ड के अनुसार कोलकाता निवासी आदिल,जीसान, अमन हसन के रुप मे हुई है। चौथे की शिनाख्त अभी नहीं हो सकी है। मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

शनिवार, 24 फ़रवरी 2024

6 महीने के भीतर दोबारा होगी पुलिस भर्ती परीक्षा

6 महीने के भीतर दोबारा होगी पुलिस भर्ती परीक्षा

इकबाल अंसारी 
लखनऊ। यूपी सरकार ने शनिवार को बड़ा फैसला लेते हुए सिपाही भर्ती परीक्षा को निरस्त कर दिया है। पेपर लीक होने के बाद सिपाही भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। वो परीक्षा को निरस्त कर दोबारा कराए जाने की मांग उठा रहे थे।
यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा को लेकर योगी सरकार ने शनिवार को बड़ा फैसला लिया है। बीते 17 और 18 फरवरी को आयोजित पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा-2023 को रद्द कर दिया गया है। पेपर लीक होने के बाद परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों ने विरोध प्रदर्शन किया था। वो सिपाही भर्ती परीक्षा को निरस्त कर दोबारा कराए जाने की मांग उठा रहे थे। इसे लेकर बरेली मंडल के चारों जिलों में भी अभ्यर्थियों ने प्रदर्शन कर अफसरों को ज्ञापन सौंपे थे।
हाल में आयोजित हुए यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा को पेपर लीक होने की खबरों के बाद रद्द कर दी गई है। मुख्यमंत्री योगी के अनुसार, छह माह के अंदर ही पूर्ण शुचिता के साथ परीक्षा आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि युवाओं की मेहनत और परीक्षा की शुचिता से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। परीक्षा की गोपनीयता भंग करने वाले एसटीएफ की रडार पर हैं। अब तक कई बड़ी गिरफ्तारियां हो चुकी हैं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में लिखा आरक्षी नागरिक पुलिस के पदों पर चयन के लिए आयोजित परीक्षा-2023 को निरस्त करने और आगामी छह माह के अंदर ही फिर परीक्षा कराने के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि परीक्षाओं की शुचिता से कोई समझौता नहीं किया जा सकता।
मुख्यमंत्री के निर्देश पर गृह विभाग ने परीक्षा निरस्त करने का आदेश भी जारी कर दिया है। जारी आदेश के मुताबिक, 17 और 18 फरवरी 2024 को सम्पन्न हुई पुलिस भर्ती परीक्षा के संबंध में प्राप्त तथ्यों एवं सूचनाओं के परीक्षण के आधार पर शासन द्वारा परीक्षा को निरस्त करने का निर्णय लिया गया है।शासन ने भर्ती बोर्ड को यह निर्देश दिए हैं कि जिस भी स्तर पर लापरवाही बरती गई है, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर अग्रिम वैधानिक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। शासन ने प्रकरण की जांच एसटीएफ से कराए जाने का फैसला लिया है, दोषी पाए जाने वाले व्यक्तियों अथवा संस्थाओं के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई किए जाने के भी निर्देश दिए हैं। शासन ने छह महीने के अंदर पूर्ण शुचिता के साथ फिर से परीक्षा आयोजित करने और उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की सेवा से अभ्यर्थियों को निशुल्क सुविधा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं।

राज्यसभा चुनाव रालोद का पहला इम्तिहान है

राज्यसभा चुनाव रालोद का पहला इम्तिहान है

हरिओम उपाध्याय 
लखनऊ। प्रदेश की 10वीं राज्यसभा सीट पर मचे सियासी घमासान के बीच रालोद हर कदम पर एहतियात बरत रहा है। रविवार को मथुरा में रालोद अध्यक्ष जयंत सिंह ने विधायक दल की बैठक बुलाई है। यहीं से विधायक मतदान के लिए रवाना होंगे। इसके बाद लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ से अहम मुलाकात होगी। राज्यसभा चुनाव के लिए 27 फरवरी को मतदान होना है। भाजपा और सपा ने अपने-अपने प्रत्याशी के लिए वोट जुटाने में ताकत झोंक रखी है। एनडीए में शामिल होने की रस्म अदायगी से पहले राज्यसभा चुनाव रालोद का भी पहला इम्तिहान है। रालोद के हिस्से के नौ वोट नतीजों में अहम भूमिका निभाएंगे।
यही वजह है कि रालोद अध्यक्ष जयंत सिंह ने 25 फरवरी को मथुरा स्थित आवास पर अपने विधायकों की बैठक बुलाई है। राज्यसभा चुनाव को लेकर निर्णायक रणनीति तैयार होगी। मथुरा से ही विधायक लखनऊ के लिए रवाना हो जाएंगे। सोमवार को रालोद विधायक लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर अहम बिंदुओं पर चर्चा करेंगे।
दस सीटों के राज्यसभा चुनाव के लिए भाजपा ने आठवें प्रत्याशी के तौर पर संजय सेठ को मैदान में उतार रखा है। कुल प्रत्याशियों की संख्या 11 हो गई है, जिसके चलते एक सीट पर मतदान होगा। एनडीए के साथ गठबंधन में शामिल होने जा रहे रालोद के पास नौ विधायक हैं। जिसके चलते रालोद की भूमिका महत्वपूर्ण हो गई है। बुढ़ाना से राजपाल बालियान, पुरकाजी सुरक्षित सीट से अनिल कुमार, खतौली से मदन भैया, मीरापुर से चंदन चौहान, छपरौली से अजय कुमार, सिवालखास से गुलाम मोहम्मद, शामली से प्रसन्न चौधरी, थानाभवन से अशरफ अली खान और सादाबाद से गुड्डू चौधरी विधायक हैं।
साल 2022 में सपा से रालोद में शामिल होकर विधानसभा चुनाव जीतने वाले विधायकों पर भी सबकी नजर टिकी है। इनमें मीरापुर विधायक चंदन चौहान, सिवालखास विधायक गुलाम मोहम्मद और पुरकाजी सुरक्षित सीट से विधायक अनिल कुमार शामिल हैं। तीनों विधायक चुनाव से पहले सपा में थे, लेकिन गठबंधन में सीट रालोद पर चले जाने के बाद सिंबल बदलकर चुनाव लड़ा था। राज्यसभा के मतदान में रालोद पहले भी मात खा चुका है। वर्ष 2017 में छपरौली से रालोद विधायक चुने गए सहेंद्र सिंह रमाला ने वर्ष 2018 में राज्यसभा चुनाव में पार्टी के निर्देश के विरुद्ध कार्य किया था। जिसके चलते तत्कालीन अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था।

भयानक सड़क हादसे में 15 लोगों की मौत हुई

भयानक सड़क हादसे में 15 लोगों की मौत हुई 

शैलेंद्र श्रीवास्तव
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले में बड़ा सड़क हादसा हुआ है। हादसे में 15 लोगों की मौत होने की खबर है। मौके पर चीख-पुकार मची है। ग्रामीण और पुलिसकर्मी राहत और बचाव कार्य में जुटे हैं।
जानकारी के अनुसार, कासगंज के पटियाली दरियावगंज मार्ग पर शनिवार सुबह करीब 10 बजे बेकाबू ट्रैक्टर ट्रॉली तालाब में गिर गई। ट्रॉली में सवार सात बच्चे और आठ महिला श्रद्धालुओं की मौत हो गई है। घटनास्थल पर अपरा तफरी और चीख पुकार मची है।
आसपास के ग्रामीण और पुलिसकर्मी राहत और बचाव कार्य में जुटे हैं। पटियाली के स्वास्थ्य केंद्र पर तालाब से निकाले श्रद्धालुओं को भेजा गया है। अब तक 15 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है। मृतकों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। श्रद्धालु एटा जिले के कहा गांव के बताए जा रहे हैं।
सीएमओ राजीव अग्रवाल ने बताया कि हादसे में 15 की मौत हो चुकी है। इनमें सात मासूम बच्चे शामिल हैं, जबकि आठ महिलाएं हैं।

13 सीटों पर चुनाव, बसपा मुक्त हो जाएगा सदन

13 सीटों पर चुनाव, बसपा मुक्त हो जाएगा सदन

संदीप मिश्र 
लखनऊ। विधान परिषद की 13 सीटों पर होने वाले चुनाव में भाजपा को दस और सपा को तीन सीट मिल सकती हैं। भाजपा के पास 288 और सपा के पास 108 वोट हैं। एक सीट के लिए चुनाव में 29 वोट की आवश्यकता होगी, ऐसे में भाजपा दस सीटें जीत सकती है। जबकि सपा को तीन सीट आसानी से मिल जाएगी।
विधान परिषद में भाजपा के सदस्य बुक्कल नवाब, सरोजनी अग्रवाल, निर्मला पासवान, अशोक धवन का टिकट कटना लगभग तय है। परिषद में भाजपा के सदस्य यशवंत ने स्थानीय निकाय क्षेत्र विधान परिषद चुनाव में आजमगढ़ क्षेत्र से अपने बेटे विक्रांत सिंह को भाजपा के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ाया था। विक्रांत सिंह चुनाव जीत गए और भाजपा चुनाव हार गई थी। उसके बाद से पार्टी नेतृत्व यशवंत से नाराज चल रहा है।
ऐसे में यशवंत को दोबारा टिकट मिलने में भी संशय है। वहीं डॉ. महेंद्र कुमार सिंह, विजय बहादुर पाठक, विद्यासागर सोनकर, अशोक कटारिया को दोबारा टिकट मिल सकता है। अपना दल एस के आशीष पटेल का भी परिषद का सदस्य निर्वाचित होना तय है। पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जातीय समीकरण और क्षेत्रीय संतुलन के हिसाब से प्रत्याशी चयन करेगी। पार्टी के पास करीब 35 ऐसे दावेदारों की सूची है, जिन्हें समायोजित किया जाना है, उन्हीं में से अधिकांश प्रत्याशी तय होंगे।
विधान परिषद में बसपा के एक मात्र सदस्य डॉ. भीमराव आंबेडकर हैं। उनका कार्यकाल 5 मई को समाप्त हो रहा है। विधान सभा में बसपा के एक मात्र विधायक उमाशंकर सिंह हैं। ऐसे में बसपा के पास नामांकन दाखिल करने के लिए भी पर्याप्त सदस्य नहीं हैं। बसपा उसी स्थिति में प्रत्याशी मैदान में उतार सकेगी जब उसका भाजपा या सपा के साथ कोई गठबंधन हो। यदि बसपा का भाजपा के साथ गठबंधन नहीं हुआ तो उच्च सदन बसपा मुक्त हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि परिषद में कांग्रेस का भी एक भी सदस्य नहीं हैं। अब केवल भाजपा, सपा, जनसत्ता दल लोकतांत्रिक, निषाद पार्टी, अपना दल (एस), शिक्षक दल गैर राजनीतिक और निर्दलीय सदस्य रहेंगे।
विधान परिषद में विधानसभा क्षेत्र की 13 सीटों पर चुनाव 21 मार्च को होंगे। परिषद में भाजपा के सदस्य यशवंत, विजय बहादुर पाठक, विद्यासागर सोनकर, डॉ. सरोजनी अग्रवाल, अशोक कटारिया, अशोक धवन, बुक्कल नवाब, महेंद्र कुमार सिंह, निर्मला पासवान, मोहसिन रजा, अपना दल एस के आशीष पटेल, सपा के नरेश उत्तम पटेल और बसपा के भीमराव आंबेडकर का कार्यकाल 5 मई को समाप्त हो रहा है। मई में लोकसभा चुनाव होने हैं ऐसे में निर्वाचन आयोग ने परिषद का चुनाव 21 मार्च को सुबह 9 से शाम 4 बजे तक कराने का फैसला किया है। मतदान के बाद मतगणना होगी।

शुक्रवार, 23 फ़रवरी 2024

झोपड़ी में आग लगी, 3 बच्चों की जलकर मौत हुई

झोपड़ी में आग लगी, 3 बच्चों की जलकर मौत हुई

संदीप मिश्र 
बरेली। बरेली के फरीदपुर क्षेत्र में दर्दनाक घटना हुई है। गांव नवादा बिलसंडी में शुक्रवार दोपहर को एक झोपड़ी में आग लग गई जिससे तीन बच्चों की जिंदा जलकर मौत हो गई। एक अन्य बच्ची भी झुलसी है। उसकी हालत गंभीर बताई गई है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना मिलने के बाद थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।
जानकारी के मुताबिक गांव नवादा बिलसंडी में रामदास का मकान है। उसकी छत पर पुआल रखा था। दोपहर के वक्त किसी तरह उसमें आग लग गई। जलता हुआ पुआल नीचे झोपड़ी पर जाकर गिरा। झोपड़ी के पास कुछ बच्चे लुकाछिपी खेल रहे थे। चार बच्चे झोपड़ी में छिपे हुए थे। कुछ ही देर में पूरी झोपड़ी ने आग पकड़ ली। मासूम बच्चे लपटों के बीच में फंस गए।
बच्चों की चीख-पुकार सुनकर परिजन और पड़ोस के लोग मौके पर दौड़े। उन्होंने बॉल्टियां में पानी भरकर किसी तरह आग बुझाई, लेकिन तब तक चारों बच्चे बुरी तरह जल चुके थे। इनमें तीन बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई। चौथी बच्ची को आननफानन अस्पताल ले जाया गया है। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। घटना के बाद परिवार की महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल है।
इन बच्चों की हुई मौत
1.प्रियांशी पुत्री भीम
2.मानवी पुत्री अमिताभ
3.नैना पुत्री सुखवीर (5) नीतू पुत्री अमिताभ की हालत गंभीर है।

गुरुवार, 22 फ़रवरी 2024

गन्ने के 'एफआरपी' में 25 रुपये का इजाफा किया

गन्ने के 'एफआरपी' में 25 रुपये का इजाफा किया 

सत्येंद्र पंवार 
मेरठ। किसान आंदोलन के बीच नरेंद्र मोदी ने गन्ने की एमएसपी बढ़ाकर नया दांव चल दिया है। केंद्र सरकार ने गन्ने के (एफआरपी) में 25 रुपये का इजाफा किया है। सरकार के इस फैसले के बाद गन्ने की एमएसपी 340 रुपये प्रति क्विंटल हो गई है। पिछले साल इसकी कीमत 315 रुपये प्रति क्विंटल हो गई है। चुनाव से पहले उचित और लाभकारी मूल्य (एफआरपी) में 25 रुपये की बढ़ोतरी कर सरकार ने गन्ना किसानों को सीधे तौर पर साधने की कोशिश की है। 2019 में गन्ना उत्पादक बड़े राज्य उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और कर्नाटक की 150 सीटों में से बीजेपी ने 128 सीटों पर कब्जा किया था। बीजेपी ने पिछले चुनाव में यूपी में 62, महाराष्ट्र में 23 और कर्नाटक में 25 सीटें जीती थीं। अगर बिहार और मध्यप्रदेश जैसे चीनी उत्पादक छोटे राज्य को शामिल कर दिया जाए तो बीजेपी के पक्ष में 173 सीटें आईं थीं।
मार्च 2024 में लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जारी हो जाएगी। इससे पहले बीजेपी ने हर मोर्चे को मजबूत करना शुरू किया है। जो नाराज हैं, उन्हें खुश करने की कोशिश की जा रही है। हरियाणा-पंजाब के किसान आंदोलन पार्ट-2 से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने गन्ने के खरीदी मूल्य बढ़ाने का ऐलान कर दिया। गन्ने की खेती में यूपी, कर्नाटक और महाराष्ट्र अव्वल है। इसके अलावा बिहार और मध्यप्रदेश में भी गन्ना किसानों की बड़ी तादाद है। इस फैसले से देश के पांच करोड़ से अधिक गन्ना किसानों का सीधा फायदा होगा।
अगर पंजाब और हरियाणा के किसानों से तुलना करें तो यह आंकड़ा दोगुना है। यूपी में लोकसभा की 40 सीटों पर गन्ना किसानों का दखल है। इनमें वेस्टर्न यूपी की 28 और पूर्वांचल की 9 सीटें शामिल हैं। यूपी में 119 चीनी मिलें चल रही हैं, जिनमें से 94 प्राइवेट और 24 सहकारी चीनी मिलें हैं। राज्य की योगी सरकार चीनी मिलों से किसान का बकाया दिलाने में काफी हद तक सफल रही है। अभी मिलों पर न्यूनतम बकाया है। सिर्फ यूपी में दो करोड़ गन्ना किसान हैं। राष्ट्रीय लोकदल से गठबंधन के बाद बीजेपी वेस्टर्न यूपी की 28 सीटों पर जीत के लिए आश्वस्त है। अब गन्ने की एमएसपी का दांव चलकर अपने दावे को और पुख्ता कर लिया है।
यूपी की तरह महाराष्ट्र और कर्नाटक में गन्ने की राजनीति मायने रखती है। महाराष्ट्र की कुल 48 लोकसभा सीटें हैं, जिनमें में 15 पश्चिमी महाराष्ट्र में हैं। पश्चिमी महाराष्ट्र और मराठवाड़ा राज्य का गन्ना बेल्ट माना जाता है। मराठावाड़ा में 8 लोकसभा सीटे हैं। यानी महाराष्ट्र की आधी लोकसभा सीटों पर गन्ना पॉलिटिक्स मायने रखता है। महाराष्ट्र में कुल 195 चीनी मिले हैं, जिनमें 54 मराठवाड़ा में है।
गन्ना मिलों से दो करोड़ से अधिक किसान और लाखों कामगार जुड़े हैं। ऐसा ही हाल कर्नाटक का है, जहां बेलगाम, विजयपुरा, यदागिरी, उत्तर कन्नड़ा, शिमोगा, मैसूर, बेल्लारी, बगलकोट, बीदर, कलबुर्गी और मांडया में गन्ने की राजनीति ही सांसद और विधायकों का भविष्य तय करती है। कर्नाटक की 20 लोकसभा सीट पर गन्ना मूल्य बढ़ाने का असर दिख सकता है। इसके अलावा बिहार और मध्यप्रदेश के किसानों को बढ़े एमएसपी का फायदा मिल सकता है।

आधा दर्जन पीपीएस अफसरों के तबादले किए

आधा दर्जन पीपीएस अफसरों के तबादले किए 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार की ओर से पुलिस विभाग में चलाई गई तबादला एक्सप्रेस के अंतर्गत आधा दर्जन पीपीएस अफसरों के तबादले कर दिए गए हैं। 
बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश शासन की ओर से ट्रांसफर एक्सप्रेस चलाते हुए पुलिस विभाग में पीपीएस अफसरों के तबादले करते हुए आधा दर्जन पुलिस अफसरों को इधर से उधर भेजा गया है।  अपर पुलिस महानिदेशक प्रशासन नीरा रावत की ओर से जारी की गई तबादला सूची के मुताबिक पीपीएस अफसर दरवेश कुमार को पुलिस उपाधीक्षक जनपद बलरामपुर से तबादला करते हुए जनपद सिद्धार्थनगर में पुलिस उपाधीक्षक नियुक्त किया गया है। जनपद रामपुर में पुलिस उपाधीक्षक के पद पर तैनात अरुण कुमार सिंह का तबादला जनपद बरेली में पुलिस उपाधीक्षक के पद पर किया गया है। पीपीएस अफसर विजय आनंद को पुलिस उपाधीक्षक जनपद उन्नाव के पद से तबादला कर जनपद सहारनपुर में पुलिस उपाधीक्षक नियुक्त किया गया है। जनपद चित्रकूट में पुलिस उपाधीक्षक के पद पर तैनात पीपीएस हर्ष पांडे की तैनाती अब जनपद सोनभद्र में पुलिस उपाधीक्षक के पद पर की गई है। जनपद बलिया में पुलिस उपाधीक्षक एसएन वैभव पांडे का तबादला जनपद सहारनपुर में पुलिस उपाधीक्षक के पद पर किया गया है। पीपीएस अवसर गौरव कुमार शर्मा पुलिस उपाधीक्षक जौनपुर से तबादला कर अब जनपद बलिया में पुलिस उपाधीक्षक नियुक्त किए गए हैं।

बुधवार, 21 फ़रवरी 2024

9 मार्च तक आयोजित होगी 10वीं-12वीं की परीक्षाएं

9 मार्च तक आयोजित होगी 10वीं-12वीं की परीक्षाएं 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UPMSP) कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के लिए पूरी तरह तैयार है। आधिकारिक शेड्यूल के मुताबिक 10वीं-12वीं की परीक्षाएं 22 फरवरी से 9 मार्च तक आयोजित की जाएंगी। परीक्षाएं दो पालियों में आयोजित की जाएंगी। पहली पाली की परीक्षा सुबह 8:30 बजे से 11:45 बजे तक और दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 2 बजे से शाम 5:15 बजे तक आयोजित की जाएगी।

55 लाख से ज्यादा छात्र देंगे एग्जाम
यूपी बोर्ड सचिव दिव्य कांत शुक्ला की तरफ से साझा की गई जानकारी के मुताबिक यूपी बोर्ड परीक्षाएं राज्य में 8,265 केंद्रों पर आयोजित की जाएंगी, जिनमें से 566 सरकारी स्कूल हैं, 3,479 वित्तपोषित स्कूल हैं और 4,220 गैर-वित्तपोषित स्कूल हैं। इस साल यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं में कुल 55 लाख 25 हजार 308 परीक्षार्थी शामिल होंगे।

हाई स्कूल में शामिल
हाईस्कूल परीक्षा में कुल 1571184 लड़के और 1376127 लड़कियों सहित 29 लाख 47 हजार 311 छात्र और 14,28,323 लड़के और 11,49,674 लड़कियों सहित लगभग 25 लाख 77 हजार 997 छात्र उपस्थित होंगे।

मंगलवार, 20 फ़रवरी 2024

सीएम ने मंत्रिमंडल के साथ रामलला के दर्शन किए

सीएम ने मंत्रिमंडल के साथ रामलला के दर्शन किए 

संदीप मिश्र 
अयोध्या। भगवान श्री राम की पावन जन्मभूमि अयोध्या नगरी में मंगलवार को उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मंत्रिमंडल के साथ श्री रामलला के अलौकिक दर्शन कर देशवासियों की सुख समृद्धि और जगत कल्याण की कामना की है।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मंत्रिमंडल के साथ आज अयोध्या पहुंचे। यहां उन्होंने हनुमान गढ़ी और रामलला के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र टस्ट के के महासचिव चंपत राय भी मौजूद रहे। मंगलवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी के साथ कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, प्रेमचंद्र अग्रवाल, श्रीमती रेखा आर्य, डा. धन सिंह रावत, सुबोध उनियाल व राज्यसभा सांसद नरेश बंसल भी अयोध्या धाम पहुंचे। इस अवसर पर सभी नेताओं ने रामलला के अलौकिक दर्शन कर पूजा अर्चना की। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सोशल मीडिया पर अयोध्या की कई तस्वीरें भी साझा की है। सीएम धामी ने अयोध्या में नवनिर्मित मंदिर के गर्भगृह में श्री रामलला के दर्शन किये। उन्होंने रामलला के दिव्य मूर्ति के समक्ष दंडवत होकर प्रणाम किया और प्रभु का आशीर्वाद प्राप्त किया। उन्होंने अपने संदेश में लिखा है कि सियावर रामचंद्र की जय! शताब्दियों के लंबे संघर्ष व बलिदानों के बाद 22 जनवरी को हुई प्रभु श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के पश्चात आज रघुकुलनंदन के दर्शन कर उल्लसित, प्रफुल्लित व हर्षित हूं। यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व में भव्य श्रीराम मंदिर का मूर्त स्वरुप आज हम सभी के समक्ष है। निश्चित तौर पर श्रीराम मंदिर के रुप में सनातन संस्कृति का नूतन स्वर्णिम अध्याय स्थापित हुआ है।

सोमवार, 19 फ़रवरी 2024

विजय की ओर प्रस्थान करने वाला राष्ट्र बना 'भारत'

विजय की ओर प्रस्थान करने वाला राष्ट्र बना 'भारत'

संदीप मिश्र 
संभल। श्री कल्कि धाम के शिलान्यास के लिए संभल पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत अब पराभव से विजय की ओर प्रस्थान करने वाला राष्ट्र बन गया है। हम पर सैकड़ो वर्षों से आक्रमण हुए। कोई और देश होता तो नष्ट हो गया होता। हम फिर भी डटे हैं। सदियों के बलिदान अब फलीभूत हो रहे हैं। जैसे लंबे समय से पड़ा बीज वर्षा काल में अंकुरित होता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जैसे प्रमोद कृष्णम् यहां मंदिर बना रहे हैं, वैसे ही ईश्वर ने मुझे राष्ट्र रूपी मंदिर के निर्माण का जिम्मा सौंपा है। उसको भव्यता दे रहा हूं। 
भारत पहली बार उस मुकाम पर है कि अब वह अनुसरण नहीं दुनिया भर में उदाहरण पेश कर रहा है। हम इनोवेशन और आईटी सेक्टर में संभावना के तौर पर देखे जा रहे हैं। हम दुनिया में पांचवी अर्थव्यवस्था हैं। चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाले पहले देश हैं। वंदे भारत, नमो भारत ट्रेनों का संचालन किया गया है। जल्द ही बुलेट ट्रेन चलने जा रही है। अब देश का हर व्यक्ति गौरव गौरवान्वित महसूस करता है। अब हमारी शक्ति अनंत और संभावनाएं अपार हैं।

कालचक्र बदल गया है, नए युग की शुरुआत हो चुकी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि श्री कल्कि धाम मंदिर परिसर 5 एकड़ में बनकर तैयार होगा। इसका निर्माण कार्य पूरा होने में 5 साल लगेंगे। इस मंदिर का निर्माण भी बंसी पहाड़पुर के गुलाबी पत्थरों से होगा। सोमनाथ मंदिर और अयोध्या का राम मंदिर भी बंसी पहाड़पुर के पत्थरों से ही बना है। मंदिर के शिखर की ऊंचाई 108 फीट होगी। इसमें स्टील या लोहे का इस्तेमाल नहीं होगा। श्री कल्कि धाम मंदिर में 10 गर्भगृह होंगे। जिनमें भगवान विष्णु के 10 अवतारों के विग्रह स्थापित किए जाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि कालचक्र बदल चुका है अब नए युग की शुरुआत हो चुकी है। 

पीएम बोले मां के लिए प्रमोद कृष्णम ने खपा दिया अपना पूरा जीवन

पीएम ने कहा कि पिछले दिनों प्रमोद कृष्णम जब निमंत्रण देने आए थे। उसके आधार पर कह रहा हूं, आज जितना आनंद उन्हें हो रहा है, उससे ज्यादा सुख उनकी मां की आत्मा को मिल रहा होगा। मां के वचन के लिए बेटा कैसे जीवन खपा सकते हैं। ये प्रमोद जी ने बता दिया है। मेरे पास देने के लिए कुछ नहीं है, मैं सिर्फ भावना व्यक्त कर सकता हूं।

अबू धाबी में पहले हिंदू मंदिर के साक्षी बने अब कल्कि धाम में
पीएम मोदी ने विपक्ष पर इशारों ही इशारों में हमला बोला। उन्होंने चंदे पर चुटकी लेत हुए कहा है कि आज जमाना ऐसा बदल गया है कि सुदामा अगर पोटली में चावल देते, वीडियो निकल जाती तो सुप्रीम कोर्ट में पीआईएल दायर हो जाती है कि भगवान कृष्ण भ्रष्टाचार कर रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि रामलला के विराजमान होने का अलौलिक अनुभव है। अभी भी क्षण भावुक कर जाता है। इसी बीच देश से सैकड़ों किमी दूर अबू धाबी में पहले हिंदू मंदिर के वे साक्षी बने हैं। कल्पना से परे काम भी हकीकत बन रहे हैं। काशी का कायाकल्प और इसी दौर में महाकाल के महालोक की महिमा हम सबने देखी है। आज एक ओर तीर्थों का विकास हो रहा है, तो शहरों में इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार हो रहा है। मंदिर बन रहे हैं, तो कॉलेज भी बन रहे हैं। विदेशी निवेश भी आ रहा है। ये परिवर्तन प्रमाण है, समय का चक्र घूम चुका है।

कल्कि धाम देशभर के श्रद्धालुओं की आस्था का प्रतीक

प्रधानमंत्री ने कहा कि कल्कि धाम में आज कई संत, धर्मगुरु और अन्य जाने-माने लोग शामिल हुए हैं। वहीं, उज्जैन के बाबा महाकाल मंदिर से जुड़े महात्मा वैदिक मंत्र के बीच पूजन का कार्यक्रम संपन्न कराया है। उन्होंने कहा कि यहां 10 गर्भगृह होंगे, भगवान के दसों रूपों को रखा जाएगा। यहां ईश्वरीय अवतार को अलग-अलग तरह से प्रस्तुत किया जाएगा। ये ईश्वर की कृपा है कि भगवान ने मुझे इस काम का माध्यम बनाया है। उत्तर प्रदेश के संभल में कल्कि धाम देशभर के श्रद्धालुओं की आस्था का प्रतीक है. इसका निर्माण कल्कि धाम निर्माण ट्रस्ट द्वारा किया जा रहा है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जगतगुरु अवधेशानंद गिरि, कैलाशानंद गिरी समेत देशभर से आए कई संत महात्मा उपस्थित थे।

रविवार, 18 फ़रवरी 2024

पेपर मिल फैक्ट्री के गोदाम में लगी आग, काबू पाया

पेपर मिल फैक्ट्री के गोदाम में लगी आग, काबू पाया 

संदीप मिश्र 
रुड़की। नगर क्षेत्र के नारसन स्थित गंगोत्री पेपर मिल फैक्ट्री के गोदाम में भीषण आग लग गई। जिससे करीब एक करोड़ का नुकसान बताया जा रहा है। करीब छह घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका। वहीं आग लगने से करीब एक करोड़ का नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है।
मंगलौर कोतवाली क्षेत्र में नारसन से झबरेड़ा की तरफ जाने वाले रोड पर स्थित गंगोत्री पेपर मिल है। मिल के गोदाम में बीती देर रात अचानक आग लग गई. आग लगने की सूचना तत्काल दमकल विभाग को दी गई। जिसके बाद हरिद्वार जिले से अग्निशमन की गाड़िया बुलाई गई, लेकिन आग इतनी भयंकर थी कि इन गाड़ियों से आग काबू नहीं पाया जा सका।
इस पर उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से भी दमकल की अतिरिक्त गाड़िया बुलाई गई। तब कहीं जाकर दमकल की टीम ने करीब 6 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। गनीमत रही कि इस हादसे में कोई जनहानि नहीं हुई। बताया जा रहा है कि आग लगने से करीब एक करोड़ का नुकसान हुआ है। दमकल की टीम आग लगने के कारणों का पता लगाने में जुटी हुई है।

गुरुवार, 15 फ़रवरी 2024

अयोध्या दर्शन को पहुंचे सीएम सावंत व कैबिनेट

अयोध्या दर्शन को पहुंचे सीएम सावंत व कैबिनेट 

संदीप मिश्र 
अयोध्या। मुख्यमंत्री के साथ राम की नगरी अयोध्या पहुंची गोवा सरकार की कैबिनेट राम मंदिर पहुंचकर रामलला के सम्मुख नतमस्तक हुई। एयरपोर्ट पर उतरी कैबिनेट का परंपरागत अंदाज में भव्य स्वागत किया गया। बृहस्पतिवार को गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत अपनी पूरी कैबिनेट के साथ रामलला के दरबार में हाजिरी लगाने के लिए अयोध्या दर्शन को पहुंचे।  अयोध्या एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के साथ उतरे कैबिनेट के सभी 51 सदस्यों का परंपरागत अंदाज में भव्य स्वागत किया गया। एयरपोर्ट से मुख्यमंत्री और उनकी कैबिनेट का काफिला सीधा राम जन्मभूमि परिसर में पहुंचा। ई- बस में सवार होकर राम मंदिर पहुंची गोवा कैबिनेट ने रामलला के दरबार में पहुंचकर अपनी हाजिरी लगाई और भगवान राम का दर्शन पूजन किया। एयरपोर्ट पर उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री सतीश शर्मा, अयोध्या विधायक वेद प्रकाश गुप्ता एवं महापौर महंत गिरीश पति त्रिपाठी तथा जिला पंचायत अध्यक्ष रोली सिंह द्वारा सभी का गर्म जोशी के साथ स्वागत किया गया।

सोमवार, 12 फ़रवरी 2024

दो मुख्यमंत्रियों ने रामलला के दर्शन किए

दो मुख्यमंत्रियों ने रामलला के दर्शन किए

संदीप मिश्र 
अयोध्या। यूपी कैबिनेट व सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों के अयोध्या में रामलला के दरबार में माथा टेकने के बाद सोमवार को दिल्ली और पंजाब के मुख्यमंत्रियों ने रामलला के दर्शन किए।
सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अयोध्या में अपने परिजनों संग रामलला के दर्शन किए।
राम मंदिर के निर्माण के साथ ही अयोध्या नित नए आयाम गढ़ रही है। हर रोज लाखों की संख्या में रामलला के दर्शन करने के लिए आ रहे हैं। रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी पूरी कैबिनेट के साथ अयोध्या पहुंचे थे। उनके साथ सत्ता पक्ष व विपक्ष के 330 विधायक मौजूद थे। यह पहला मौका था जब किसी प्रदेश के मुख्यमंत्री अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ रामलला का दर्शन करने पहुंचे थे।
रविवार को अयोध्या जाने वालों में भाजपा के 296, अपना दल एस के 13, रालोद के पांच, बसपा व कांग्रेस का एक-एक विधायक, निषाद पार्टी के छह और सुभासपा के पांच विधायक शामिल रहे। विधायकों के साथ उनके परिवार के 100 सदस्य भी साथ पहुंचे थे।

सीएम योगी ने ग्राम परिक्रमा यात्रा का शुभारंभ किया

सीएम योगी ने ग्राम परिक्रमा यात्रा का शुभारंभ किया

संदीप मिश्र 
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को शुकतीर्थ बांगर से ग्राम परिक्रमा यात्रा का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने सरकार की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद करते हुए कहा कि पिछले वर्ष का 99 प्रतिशत से ज्यादा गन्ना मूल्य का भुगतान किया जा चुका है। प्रदेश में क्रियाशील 119 चीनी मिल में से 105 चीनी मिलें 10 दिन से कम समय में गन्ना किसानों का भुगतान कर रही हैं। बाकी बची मिलों पर दबाव बनाया जा रहा है। डबल इंजन की सरकार अन्नदाता किसानों की मेहनत का पैसा दिलाने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है।
सीएम योगी ने कहा कि पिछली सरकार में प्रदेश में आए दिन दंगे होते थे। मुजफ्फरनगर का दंगा कई महीनों तक चला था, उसे कोई नहीं भूल सकता है। डबल इंजन की सरकार जो कहती है वो करके दिखाती है। 2017 में हमने आपसे सुरक्षा का वादा किया था। आज पूरा प्रदेश सुरक्षित है और समृद्धि की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि आज मुजफ्फरनगर की पहचान उसके ऑर्गेनिक गुड़ के कारण हो रही है। यहां का गुड़ प्रदेश ही नहीं वरन देश दुनिया में अपनी मिठास घोल रहा है। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार बनने की बड़ी वजह अन्नदाता किसान हैं। हमारे एजेंडे में किसान सबसे पहले हैं।
सीएम योगी ने कहा कि पहले की सरकारें सरकारी नौकरियों में डाका डालती थी। अपने भाई, भतीजों और परिवार के लोगों को सरकारी नौकरियों में भरते थे। प्रदेश का नौजवान ठगा रह जाता था। आज प्रदेश में लगभग 60000 हजार नागरिक पुलिस आरक्षियों की बिना भेदभाव के भर्ती हो रही है।
उन्होंने कहा कि भाजपा किसान मोर्चा द्वारा निकाली जा रही ग्राम परिक्रमा यात्रा 9 संकल्पों को लेकर चल रही है। ये संकल्प जल संरक्षण, डिजिटल भुगतान, स्वच्छता अभियान, वोकल फॉर लोकल, घरेलू पर्यटन, जैविक खेती, मिलेट्स, ग्रामीण खेल, स्वास्थ्य और आर्थिक रुप से वंचित किसानों की मदद है। यात्रा के माध्यम से किसानों और ग्रामीणों को सभी 9 संकल्पों के बारे में जागरूक किया जाएगा।
कार्यक्रम में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह चौधरी, केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री संजीव कुमार बलियान, उत्तर प्रदेश के व्यवसायिक शिक्षा राज्य मंत्री कपिल देव अग्रवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ. वीरपाल निर्वाल, फतेहपुर सीकरी के सांसद राजकुमार चाहर, विधान परिषद सदस्य वंदना वर्मा सहित भारी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे।

रविवार, 11 फ़रवरी 2024

बिजनौर लोकसभा सीट पर रालोद की दावेदारी

बिजनौर लोकसभा सीट पर रालोद की दावेदारी

आदिल अंसारी 
बिजनौर। एक ओर जहां भाजपा-रालोद के गठबंधन का उदय हो रहा है, वहीं बिजनौर सीट पर भाजपा से टिकट की दावेदारी करने वालों के अरमान अस्त होते नजर आ रहे हैं। इस सीट पर भाजपा से प्रदेश उपाध्यक्ष मोहित बेनिवाल से लेकर सदर विधायक पति ऐश्वर्य मौसम चौधरी समेत कई नेता टिकट मांग रहे थे। अब यह सीट रालोद के खाते में जाना लगभग तय ही माना जा रहा है। ऐसे में जहां भाजपा के दावेदार परेशान हैं। उधर, लोकसभा की कम सीट मिलने से रालोद के दावेदारों में भी बेचैनी है।
पिछले एक सप्ताह से जिले में राजनीतिक परिदृश्य बदल सा गया है। सबसे ज्यादा असर बिजनौर सीट पर नजर आ रहा है। जब से भाजपा-रालोद गठबंधन के पक्के होने की बात हो रह है, तभी से दावेदार परेशान हैं। जनवरी के अंत तक जहां भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष मोहित बेनिवाल चांदपुर और बिजनौर लोकसभा में जमकर जनसभाएं कर रहे थे। वोटर के बीच जा रहे थे। सदर विधायक पति ऐश्वर्य मौसम चौधरी भी कई बड़े कार्यक्रम कर चुके हैं। इनके अलावा पूर्व सांसद भारतेंद्र सिंह भी गांवों का दौरान करने में जुटे हुए थे। इनके अलावा दावेदारों की सूची में पूर्व सांसद भारतेंद्र सिंह, कविता चौधरी, रामेंद्र सिंह का नाम भी चर्चाएं भी चल रही थी।
अब जब से बिजनौर सीट नए गठबंधन के साथ रालोद के खाते में जाने की बात हुई तो यह सभी दावेदार परेशान होते दिख रहे हैं। इनमें से कई टिकट की दौड़ से बाहर होते दिख रहे हैं तो कुछ पार्टी के शीर्ष नेताओं से मिलकर दूसरी लोकसभा में अपने टिकट की उम्मीद तलाशने में जुट चुके हैं। भाजपा-रालोद का गठबंधन और बिजनौर सीट पर रालोद के खाते में जाने की चर्चाओं से यहां के दावेदार भी परेशान हैं। अब रालोद बिजनौर सीट पर किस पर भरोसा जताती है, यह तो जल्द साफ हो जाएगा, लेकिन पिछले तीन दिन से बसपा से सांसद मलूक नागर द्वारा रालोद के शीर्ष नेताओं से संपर्क साधने की चर्चा तेज है।
इसके अलावा बिजनौर के राजनीतिक खेमे में रालोद से विधायक मदन भैया का नाम भी चर्चाओं है। ऐसे में बिजनौर से टिकट का दावा कर रहे डॉ. नीरज चौधरी भी शीर्ष नेताओं से संपर्क साध रहे हैं। इनके अलावा विधायक चंदन चौहान, पूर्व रालोद जिलाध्यक्ष ब्रजवीर सिंह चौधरी के नाम भी दावेदारों की सूची में है। रालोद के सपा का हाथ छोड़ने की बात पक्की हुई तो सपा से टिकट मांग रही पूर्व विधायक रुचिवीरा का नाम अब सबसे आगे चलने लगा है। राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं हैं कि सपा के टिकट पर बिजनौर लोकसभा से अब पूर्व विधायक रुचिवीरा ही चुनाव लड़ सकती हैं। इनके अलावा बिजनौर से सपा से डॉ. रमेश तोमर का नाम भी दावेदारों की सूची में है।
बिजनौर लोकसभा सीट का गठन 2009 में हुआ था। पहली ही बार में रालोद से संजय चौहान जो गुर्जर बिरादरी से रहे हैं, जीत गए थे। इसके बाद जाट बिरादरी से 2014 में भाजपा से भारतेंद्र सिंह इस सीट से सांसद बने। 2019 के चुनाव में भले ही पार्टी बदल गई हो, लेकिन गुर्जर बिरादरी से बसपा के सिंबल से चुनाव लड़े मलूक नागर ने जीत दर्ज की।

गुरुवार, 8 फ़रवरी 2024

परिवार के लिए नई योजना का ऐलान किया: यूपी

परिवार के लिए नई योजना का ऐलान किया: यूपी 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में रह रहे हर परिवार के लिए एक नई योजना का ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि उनकी सरकार जल्द ही फैमिली आईडी कार्ड के नाम से एक नया कार्यक्रम शुरू करेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से अपनी सरकार के एक नए कार्यक्रम की घोषणा विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए की गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उनकी सरकार जल्दी ही फैमिली आईडी कार्ड के नाम से एक नया कार्यक्रम शुरू करने जा रही है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में रह रहे हर परिवार के पास अपना एक फैमिली कार्ड होगा। इस फैमिली कार्ड के माध्यम से केंद्र एवं उत्तर प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उन परिवारों तक पहुंचाया जाएगा जो अभी तक इन योजनाओं का लाभ उठाने से वंचित रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि इन योजनाओं में मुख्य रूप से सात योजनाओं पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने दावा किया है कि सरकार की ओर से लाई जाने वाली इस योजना का काम पूरी तरह प्रगति के रास्ते पर है और अभी तक 6 करोड़ 64 लाख परिवारों के ब्योरे की फीडिंग इस कार्यक्रम के अंतर्गत की जा चुकी है। उन्होंने कहा है कि फैमिली आईडी कार्ड कार्यक्रम के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के हर परिवार के एक सदस्य को रोजगार सुनिश्चित किया जाएगा।

बुधवार, 7 फ़रवरी 2024

सीएम को कल्कि धाम आने का न्योता दिया

सीएम को कल्कि धाम आने का न्योता दिया 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास पहुंचने के बाद कांग्रेस के चर्चित नेता प्रमोद कृष्णम ने आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और उन्होंने सीएम को कल्कि धाम आने का न्योता दिया। उन्होंने कहा है कि भगवान राम सबके हैं और मैं भी भगवान राम का हूं। मंगलवार को कांग्रेस के चर्चित नेता एवं कल्कि धाम के पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने के लिए उन्हें कल्कि धाम आने का न्योता दिया। इस मौके पर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा है कि भगवान राम सबके हैं और मैं भी भगवान राम का ही हूं।उन्होंने कहा कि मैं सभी को कल्कि धाम आने का निमंत्रण दे रहा हूं और यह न्योता मैंने राहुल गांधी एवं सोनिया गांधी को भी दिया है। अब वह मेरे निमंत्रण पर कल्कि धाम आते हैं या नहीं? यह उनकी मर्जी पर निर्भर है। उन्होंने बताया कि मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कल्कि धाम आने का निमंत्रण देने आया था और इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी मैं कल्कि धाम आने का न्योता दे चुका हूं। उन्होंने कहा है कि सियासत संभावनाओं का खेल है, लेकिन आज की गई मेरी मुलाकात राजनीतिक नहीं थी। मैंने कांग्रेस के नेताओं को भी बुलाया है, अभी ना मैंने कुछ छोड़ा है ना पकड़ा है और ना ही अभी तक चुनाव लड़ने की बाबत मैंने कोई फैसला किया है।

सोमवार, 5 फ़रवरी 2024

विधायकों ने प्रदेश सरकार पर बडा हमला बोला

विधायकों ने प्रदेश सरकार पर बडा हमला बोला 

संदीप मिश्र 
लखनऊ/मुजफ्फरनगर/शामली। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आज जारी किए गए बजट को लेकर राष्ट्रीय लोकदल के विधायकों ने प्रदेश सरकार पर बडा हमला बोला है।
मुजफ्फरनगर जनपद की पुरकाजी विधानसभा क्षेत्र से रालोद विधायक अनिल कुमार ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि बजट में प्रदेश की 85 प्रतिशत किसान, मज़दूर,नौजवान,बेरोज़गार,दलितों एवं पिछड़ो को कुछ भी नहीं मिला। यह सिर्फ़ सिर्फ़ 15 प्रतिशत धनवान लोगो को लाभ पहुँचाने वाला ग़रीब विरोधी बजट है। ना ही किसान को कोई राहत देने को बात हुई।
बजट में गन्ने के मूल्य में की गई बढ़ोतरी में कोई अतिरिक्त वृद्धि की कोई बात नहीं की गई। नौजवानों को रोज़गार देने की कोई व्यवस्था नहीं। ओल्ड पेंशन देने की कोई बात नहीं कही गई। सविंदा व आउटसोर्सिंग में आरक्षण देने की कोई बात नहीं कही गयी। विधायक अनिल कुमार ने कहा कि बजट में पुरक़ाज़ी खादर में बाँध बनाने की कोई बात नहीं की गई।
शामली से रालोद विधायक प्रसन्न चौधरी ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के किसानों, मजदूरों, आम लोगों को ये उम्मीद थी इस बजट में उनकी अनदेखी नहीं की जाएगी। इस बार पिछले बजट मे किसानो को फ्री बिजली का वादा हुआ था उस पर इस बार कोई चर्चा नहीं हुई।
किसानों को आवारा पशुओ से निजात दिलाने के लिये सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया। पश्चिम यूपी से सरकार ने किनारा करते हुए शामली, मुज़फ्फरनगर के किसानो को बजट के नाम पर उठ के मुँह मे जीरा वाली बात हुई। इस बजट से साफ है ये सरकार किसान, कमेरे लोगो का हित नहीं चाहती है, इसका जवाब जनता आगामी चुनाव मे देगी।

शुक्रवार, 2 फ़रवरी 2024

सीएम योगी ने सकारात्मक चर्चा की अपील की

सीएम योगी ने सकारात्मक चर्चा की अपील की

संदीप मिश्र 
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को वर्ष 2024 के उत्तर प्रदेश विधानमंडल के सत्र शुभारंभ के अवसर पर सभी विपक्षी सदस्यों से दलीय सीमाओं से ऊपर उठकर प्रदेश के विकास के लिए सदन में सकारात्मक चर्चा की अपील की। सत्र शुभारंभ के पूर्व उन्होंने कहा कि देश और दुनिया में प्रदेश के बारे में जो सकारात्मक माहौल बना है, विरोधी दल भी उसका लाभ लेकर सकारात्मक चर्चा में अपना योगदान देंगे। इस अवसर पर सीएम योगी ने अयोध्या में प्रभु श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए भी सभी को बधाई दी।
सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या में प्रभु श्रीरामलला की भव्य प्राण प्रतिष्ठा समारोह के सकुशल संपन्न होने की आप सभी को ह्रदय से बधाई देता हूं और आज से प्रारंभ हो रहे वर्ष 2024 के उत्तर प्रदेश विधानमंडल के सत्र शुभारंभ अवसर पर सभी माननीय सदस्यों का ह्रदय से स्वागत करता हूं। सत्र का शुभारंभ माननीय राज्यपाल के अभिभाषण से हुआ। अभिभाषण सरकार की उपलब्धियों और भावी योजनाओं का एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। किसी भी वर्ष के शुभारंभ के पहले का सत्र का जो बिजनेस होता है वह विधानमंडल में माननीय राज्यपाल के अभिभाषण से ही शुरू होता है।

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...