शनिवार, 7 मई 2022

8 मई को मनाया जाएगा हैप्पी 'मदर्स डे'

8 मई को मनाया जाएगा हैप्पी 'मदर्स डे'  

सरस्वती उपाध्याय

हैप्पी 'मदर्स डे' को लेकर लोगों को उत्साह है। हर साल 8 मई को मदर्स डे मनाया जाता है। इस साल मदर्स डे 8 मई, रविवार को है। हैप्पी मदर्स डे मां और बच्चों के प्रेम और स्नेह का दिन है। वैसे तो हर दिन मां और बच्चों का होता है। लेकिन बच्चे जीवन की भागदौड़ में मां को यह बता नहीं पाते कि उनके जीवन में मां कितनी अहम हैं। ऐसे में मदर्स डे मां के मातृत्व, उनकी देखभाल, निस्वार्थ प्यार को समर्पित दिन होता है। लेकिन मदर्स डे के बारे में आप कितना जानते हैं? विश्व मातृ दिवस के अवसर पर भले ही लोग अपनी-अपनी तरह से मदर्स डे का पर्व मनाते हैं। लेकिन मदर्स डे से जुड़ी कई ऐसी बाते हैं, जिनसे आप अनजान होंगे...

पहला मदर्स डे कहां मनाया गया...

मौजूदा समय में दुनिया के तमाम देश मदर्स डे मनाते हैं। अमेरिका से लेकर भारत और यूरोपीय देशों में मदर्स डे अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है लेकिन शायद आप इस बात से अनजान हो कि सबसे पहला मदर्स डे अमेरिका के वेस्ट वर्जीनिया और फिलाडेल्फिया में मनाया गया था। साल 1908 में पहली बार मदर्स डे मनाया गया।

6 मार्च को भी मदर्स डे...

उसके बाद से कई सारे देशों में मदर्स डे मनाने का एक तय दिन हो गया। जिसे भारत, अमेरिका समेत अन्य देशों ने अपना लिया लेकिन बहुत कम लोगों को पता होगा कि यूके में मदर्स डे 6 मार्च को मनाया जाता है।

मदर्स डे मनाने की आधिकारिक घोषणा...

भले ही साल 1908 में मदर्स डे मनाने की शुरुआत हो गई हो लेकिन आधिकारिक तौर पर मदर्स डे मनाने के लिए कानून पास हुआ। अमेरिके के राष्ट्रपति वुड्रो विल्सन ने 9 मई 1914 को कानून पास किया, जिसमें लिखा था कि मई महीने के हर दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाएगा।

मैच: आरसीबी ने अपनी 'ग्रीन जर्सी' लॉन्च की

मैच: आरसीबी ने अपनी 'ग्रीन जर्सी' लॉन्च की 

मोमीन मलिक           
नई दिल्ली। आईपीएल 2022 के अपने अगले मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) ग्रीन जर्सी में नजर आएगी। आरसीबी ने आईपीएल 2022 में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच से पहले अपनी ग्रीन जर्सी लॉन्च की है। ग्रीन जर्सी पहनकर आरसीबी की टीम पूरी दुनिया को संदेश देना चाहती है कि पर्यावरण का ख्याल रखें और दुनियाभर में हरियाली लाएं। टीम ऐसा पर्यावरण को बचाने का संदेश देने के लिए कई सालों से करती आ रही है।
रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने इस सीजन के ग्रीन जर्सी वाले मैच के लिए दो हैशटैग भी चलाए हैं। हैदराबाद के खिलाफ रविवार को टीम दोपहर साढ़े 3 बजे मैदान पर उतरेगी तो सभी खिलाड़ी ग्रीन जर्सी में नजर आएंगे। बता दें कि RCB इस सीजन में 11 में से 6 मैच जीत चुकी है और अब टीम की निगाहें प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने पर होंगी।

ग्रीन जर्सी में आरसीबी के रिकॉर्ड...

ग्रीन जर्सी में आरसीबी का रिकॉर्ड काफी खराब है। पिछले चार साल में ग्रीन जर्सी में आरसीबी टीम ने एक भी मैच नहीं जीता है। अब तक आरसीबी ने ग्रीन जर्सी में कुल 10 मैच खेले हैं, जिसमें से महज दो बार ही टीम जीत दर्ज कर पाई है। बाकी बचे आठ मैचों में से सात में आरसीबी को हार का सामना करना पड़ा है, जबकि एक बार मैच का रिजल्ट नहीं आया है। बता दें कि 2011 में आरसीबी की टीम पहली बार ग्रीन जर्सी पहनकर खेलने उतरी थी।

बैसाखी के सहारे 'एवरेस्ट बेस कैंप' की चढ़ाई

बैसाखी के सहारे 'एवरेस्ट बेस कैंप' की चढ़ाई  

दुष्यंत टीकम/अकांशु उपाध्याय                  

नई दिल्ली/रायपुर। छत्तीसगढ़ की बेटी चंचल सोनी ने 14 वर्ष की उम्र में बैसाखी के सहारे एवरेस्ट बेस कैंप की चढ़ाई कर अनोखा रिकॉर्ड बना दिया। इस चढ़ाई के साथ ही चंचल पूरे विश्व में सबसे कम उम्र की एंप्यूटी क्लाइंबर बन गई है। इस अभियान में चंचल के साथ विभिन्न श्रेणी जैसे दिव्यांगता, जेंडर, उम्र तथा कम्युनिटी के कुल 9 लोगो द्वारा सफलतापूर्वक चढ़ाई की गई। एवरेस्ट बेस कैंप तक की चढ़ाई के लिए चंचल को 10 दिनों का समय लगा और उन्होंने 5364 मीटर की चढ़ाई कर वये उपलब्धि अपने नाम की। चंचल ने बताया कि इस चढ़ाई का मकसद विविधता ,समावेशन और एडवेंचर स्पोर्ट्स को बढ़ावा देना था।

14 साल की चंचल का जन्म से नहीं है एक पैर...

14 साल की चंचल सोनी धमतरी की रहने वाली हैं। इन्होंने एक पैर और बैसाखी के सहारे एवरेस्ट के बेस कैंप की चढ़ाई की है। चंचल 12 साल की उम्र से व्हील चेयर बास्केट बॉल प्रतियोगिता में हिस्सा ले रही हैं। उन्होंने बताया कि ट्रैकिंग के लिए एक साल से पैदल चलने की प्रैक्टिस कर रही हूं। रोज रूद्री से गंगरेल डैम तक यानी लगभग 12 किलोमीटर पैदल चलती थी। कई बार आसपास के जंगल और पहाड़ों पर भी गई। चंचल एक पैर से डांस भी करती हैं।

चंचल ने राजिम कुंभ मेला में 3 साल पहले भाग लिया था। पर्वतारोही और इस टीम के लीडर चित्रसेन को पता चला कि चंचल की रुचि ट्रैकिंग में है। उन्होंने कुछ सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए चंचल के परिजनों के बारे में जानकारी लेकर संपर्क किया। इसके बाद चंचल इस एवरेस्ट बेस कैंप मिशन का हिस्सा बनी और कामयाबी भी हासिल की।

उप सीएम के 53वें जन्म दिवस पर पूजन-अर्चना

उप सीएम के 53वें जन्म दिवस पर पूजन-अर्चना 

बृजेश केसरवानी             
प्रयागराज। परिवर्तन धार्मिक एवं सामाजिक संस्था के अध्यक्ष मोनू गुप्ता के नेतृत्व में बहादुरगंज स्थित शिव के मंदिर में प्रयागराज के गौरव व विकास पुरुष उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के 53वें जन्म दिवस के अवसर पर उनके दीर्घायु होने की कामना के लिए भगवान शिव की पूजन-अर्चना करते हुए हवन पूजन किया गया एवं शरबत रूपी प्रसाद वितरण किया गया।
इस अवसर पर विवेक अग्रवाल ,दिनेश विश्वकर्मा,राजेश केसरवानी, शिव बाबू केसरवानी, नन्हा निषाद ,प्यारे लाल जायसवाल, राजेश गुप्ता (चक्की), जय किशन चौरसिया आदि ने हवन पूजन कर प्रसाद वितरण करते हुए उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के चित्र पर उन्हें मिठाई खिलाकर उनके लिए दीर्घायु की कामना की।

'मदर्स डे' पर गिफ्ट करें पोर्टेबल स्पीकर

'मदर्स डे' पर गिफ्ट करें पोर्टेबल स्पीकर 

डॉक्टर सुभाषचंद्र गहलोत       
नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। हैप्पी 'मदर्स डे' के दिन बच्चे अपनी मां पर स्पेशल फील कराते हैं और उन्हें तोहफे देते हैं। इस दिन को खास मदर्स के लिए डेडिकेट किया गया है। इस दिन लोग अपनी माताओं को तोहफे देते हैं। अगर आप मां टेक्नोलॉजी लवर हैं और आप चाहते हैं कि उन्हें कोई बढ़िया टेक गिफ्ट दें तो हम आपके लिए कुछ टेक गिफ्ट्स की जानकारी लाए हैं।
कई बार आपने देखा होगा कि आपकी मम्मी को गाने सुनने का शौक है और वो फोन से गाने सुनती रहती हैं। ऐसे में आप उन्हें एक पोर्टेबल स्पीकर गिफ्ट कर सकते हैं, इनमें बिल्ट-इन ब्लूटूथ है। इसका डिजाइन काफी कॉम्पैक्ट है और यह यूएसबी टाइप-सी चार्जिंग के साथ आता है। इसमें बिल्ट-इन माइक्रोफोन है। इसका स्पीकर, स्पीकर फोन की तरह भी काम करता है। इसकी कीमत 2,499 रुपये है।
बैकअप के लिए आप अपनी मां को गो-टू डिवाइस दे सकते हैं। जिससे यह सुनिश्चि हो सके कि उनका सारा डाटा सुरक्षित रहे। पोर्टेबल अल्ट्रा-स्लिम फॉर्म फैक्टर के साथ आता है। इसमें 5 टीबी तक की कैपेसिटी दी गई है। इस पर सिस्टम से अहम फाइलों का बैकअप लेने के लिए बस समय और फ्रीक्वेंसी को चुनना होता है। इसकी कीमत 3,999 रुपये है।
हर मां होम मेकर होती है। उनके बिना घर सजाना बेहद ही मुश्किल हो जाता है। यह वैक्यूम क्लीनर एक बढ़िया गिफ्ट हो सकात है। इसमें एलसीडी स्क्रीन दी गई है, जो परफॉर्मेंस और रन टाइम की जानकारी देता है। इसमें कई क्लीनिंग मोड्स दिए गए हैं। इसमें एक डिजिटल मोटर इंटीग्रेटेड है जो ब्रश बार को एक सेकेंड में 60 बार घुमा देती है। इसमें सिक्स-लेयर फिल्ट्रेनश सिस्टम ट्रैप दिया गया है। इसकी कीमत 54,900 रुपये है।
इसमें ऑल्वेज-ऑन एमोलेड डिस्प्ले दिया गया है। इसमें एलेक्सा बिल्ट-इन है। साथ ही SpO2 ट्रैकर भी दिया गया है। इसमें 14 दिन तक की बैटरी लाइफ, 68 स्पोर्ट्स मोड, जीपीएस, एचआर, स्लीप और स्ट्रेस मॉनिटरिंग जैसे फीचर्स दिए गए हैं। इसकी कीमत 5,999 रुपये है।

महत्वपूर्ण सुधारों के बीच होगी हज यात्रा: नकवी

महत्वपूर्ण सुधारों के बीच होगी हज यात्रा: नकवी   

कविता गर्ग           

मुंबई। अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शनिवार को कहा कि हज यात्रा-2022 महत्वपूर्ण सुधारों के बीच होने जा रही है। उन्होंने कहा कि हज यात्रियों के स्वास्थ्य और आरोग्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है। हज हाउस में ‘खादिम उल हुज्जाज’ के दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का उद्घाटन करते हुए नकवी ने कहा कि 2022 में कुल 79,237 भारतीय मुस्लिम हज के लिए जाएंगे। जिनमें से 50 फीसदी महिलाएं हैं। मंत्री ने कहा कि हज-2022 की पूरी प्रक्रिया को भारत और सऊदी अरब की सरकारों के आवश्यक दिशा-निर्देशों के साथ तैयार किया गया है, जिसमें पात्रता मानदंड, उम्र सीमा, स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताएं और अन्य चीजें शामिल हैं।

पिछले दो वर्षों से कोविड-19 महामारी के कारण हज यात्रा नहीं हो सकी थी। केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘हम यह सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास कर रहे हैं कि हज यात्रियों पर कोई अतिरिक्त वित्तीय बोझ न पड़े, क्योंकि वे बिना किसी सब्सिडी के हज यात्रा करेंगे। सऊदी अरब में किफायती कीमतों पर आवास, परिवहन और अन्य आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने की प्रक्रिया जारी है।उन्होंने कहा कि हज यात्रियों की चयन प्रक्रिया पूरी करने में कोविड-19 टीकाकरण के पूरा होने और दोनों देशों की सरकारों द्वारा तय किए गए आवश्यक मानदंडों पर ध्यान दिया गया। नकवी ने कहा कि हज 2022 की पूरी प्रक्रिया को 100 प्रतिशत डिजिटल बनाना हज यात्रियों के स्वास्थ्य और आरोग्य को सुनिश्चित करने के लिहाज से बेहद फायदेमंद रहा है।

उन्होंने कहा कि कम से कम 56,601 हज यात्री भारतीय हज समिति और 22,636 मुस्लिम हज समूह आयोजक (एचजीओ) के जरिये हज-2022 के लिए रवाना होंगे। मंत्री ने कहा कि 1,800 से अधिक मुस्लिम महिलाएं ‘मेहरम’ (पुरुष साथी) के बिना हज-2022 के लिए जाएंगी और वे बिना लॉटरी प्रणाली के हज पर जाएंगी। मंत्री ने कहा कि हज 2022 के लिए कुल 83,140 आवेदन प्राप्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि हज यात्री अहमदाबाद, बेंगलुरु, कोचीन, दिल्ली, गुवाहाटी, हैदराबाद, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई और श्रीनगर जैसे 10 केन्द्रों से भारतीय हज समिति के माध्यम से जाएंगे। नकवी ने कहा कि अहमदाबाद केन्द्र के तहत गुजरात आएगा, जबकि बेंगलुरू के केन्द्र के तहत कर्नाटक और आंध्र प्रदेश का चित्तूर जिला आएगा।

कोचीन केन्द्र के तहत केरल, लक्षद्वीप, पुडुचेरी, तमिलनाडु और अंडमान और निकोबार आएंगे। दिल्ली केन्द्र के तहत दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, उत्तराखंड, राजस्थान, उत्तर प्रदेश के पश्चिमी जिले आएंगे। गुवाहाटी केन्द्र के तहत असम, मेघालय, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और नगालैंड आएंगे। कोलकाता केन्द्र के तहत पश्चिम बंगाल, ओडिशा, त्रिपुरा, झारखंड और बिहार आएंगे। लखनऊ केन्द्र के तहत उत्तर प्रदेश के पश्चिमी भागों को छोड़कर राज्य के सभी हिस्से आएंगे। मंत्री ने कहा कि मुंबई के तहत महाराष्ट्र, गोवा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दमन और दीव, दादरा और नगर हवेली के लिए होगा और श्रीनगर आरोहण बिंदु के तहत जम्मू-कश्मीर, लेह-लद्दाख-कारगिल क्षेत्र आएगा। नकवी ने आगे कहा कि हज यात्रियों को डिजिटल स्वास्थ्य कार्ड, ‘ई-मसिहा’ स्वास्थ्य सुविधा और ई-लगेज प्री-टैगिंग दी जाएगी, जो मक्का-मदीना में आवास और परिवहन के बारे में हर जानकारी देता है। दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में देश भर से 12 महिलाओं सहित 400 से अधिक खादिम-उल-हुज्जाज ने भाग लिया। खादिम-उल-हुज्जाज मक्का-मदीना में भारतीय हज यात्रियों की सहायता करेगा।

'तहसील संपूर्ण समाधान' दिवस का आयोजन संपन्न

'तहसील संपूर्ण समाधान' दिवस का आयोजन संपन्न    

भानु प्रताप उपाध्याय                

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप जन सामान्य की शिकायतों एवं समस्याओं का त्वरित गति के साथ निस्तारण संभव कराने के उद्देश्य से रविवार को जनपद की चारों तहसीलों में तहसील संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन संपन्न हुआ। राज्य मंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास कपिल देव अग्रवाल के द्वारा सदर में पहुंचकर तहसील संपूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता की गई। आयोजित तहसील संपूर्ण समाधान दिवस में जन सामान्य के द्वारा कुल 48 शिकायतें विभिन्न विभागों से संबंधित दर्ज कराई गई। जिसके सापेक्ष 03 शिकायतों का निराकरण विभागीय अधिकारियों के द्वारा मौके पर ही सुनिश्चित किया गया। 

इस अवसर पर राज्य मंत्री ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जनता की शिकायतों एवं समस्याओं के निराकरण को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार एवं शासन गंभीर है। उन्होंने सभी अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि तहसील संपूर्ण समाधान दिवस में जिन विभागों से संबंधित जनता की शिकायतें दर्ज हो रही हैं। सभी संबंधित अधिकारीगण गंभीरता के साथ तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित करें और मौके पर जाकर संबंधी शिकायतों का निराकरण सुनिश्चित कराएं ताकि संबंधित पोर्टल पर शिकायतों को ऑनलाइन किया जा सके।

जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिह ने तहसील बुढाना में पहुचकर जनता की समस्याओ को सुना जिसमें कुल शिकायते 64 प्राप्त हुई जिनका मौके पर 02 का निस्तारण कर दिया गया बाकि सम्बन्धित अधिकारियो निर्देशित कर दिया गया। और उन्होने कहा कि शिकायतकर्ता को भी संबंधित विभागीय अधिकारियों के द्वारा निस्तारण के दौरान उपस्थित रखा जाए। ताकि सभी शिकायतों का निराकरण गुणवत्ता परक रूप से सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि तहसील संपूर्ण समाधान दिवस में दर्ज शिकायतों की मानिटरिंग उत्तर प्रदेश शासन स्तर से सुनिश्चित की जा रही है। अतः सभी अधिकारियों के द्वारा दर्ज शिकायतों का निराकरण पूर्ण गंभीरता के साथ कराया जाना सुनिश्चित किया जाए।

जहां संस्कृत, वहां पार्टी की विचारधारा होगी

जहां संस्कृत, वहां पार्टी की विचारधारा होगी  

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार को कहा, कि जहां संस्कृत होगी, वहां उनकी पार्टी की विचारधारा होगी और वह भारतीय संस्कृति व परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्याालय की ओर से आयोजित ‘‘उत्कर्ष महोत्सव’’ को संबोधित करते हुए नड्डा ने यह भी कहा कि दुनिया में भारत का कोई मुकाबला इसलिए नहीं है। क्योंकि देश के मूल में उसकी संस्कृति है।
उन्होंने कहा, ज्ञान, विज्ञान, अर्थ, गणित सभी की उत्पत्ति का बीज संस्कृत ही है। संस्कृत सिर्फ भाषा ही नहीं है, बल्कि विभिन्न आयामों को आगे बढ़ाने का रास्ता भी है। हमारे पुरातन ज्ञान को संजोकर रखने वाली भाषा भी संस्कृत है। उन्होंने कहा कि जहां संस्कृत है, वहीं संस्कृति है और भाजपा इस संस्कृति की रक्षक है तथा वह संस्कृति को आगे बढ़ाने की दृष्टि से कार्य कर रही है।
नड्डा ने कहा, इसलिए जहां संस्कृत होगी, वहां हमारी विचारधारा होगी। भारतीय परंपरा, भारतीय संस्कृति, भारतीय उल्लेखों को आगे बढ़ाने के लिए भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि दुनिया में भारत का जो कोई मुकाबला नहीं है, उसका मूल कारण भारत की संस्कृति ही है।
उन्होंने कहा, कई देश अगर मानवता की दृष्टि से काम करने का सोच सकते हैं तो ये प्राथमिक स्तर पर ही है। लेकिन भारत में ये बहुत विकसित है। हमारी ये जो ताकत है, वो हमारी संस्कृति से ही आती है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति और स्वास्थ्य नीति का उल्लेख करते हुए नड्डा ने कहा कि दोनों ही भारत की जड़ों से जुड़ी हुई हैं और नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भाषा का विशेष ध्यान रखा गया है तथा साथ ही संस्कृत के बारे में भी इसमें चिंता की गई है।

विधायकों की सैलरी बढ़ाने पर सहमति बनीं

विधायकों की सैलरी बढ़ाने पर सहमति बनीं  

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में विधायकों की सैलरी बढ़ाने को लेकर सहमति बन गई है। जल्द ही दिल्ली के विधायकों की सैलरी 54 हजार से बढ़कर 90 हजार हो जाएगी। विधायकों की सैलरी बढ़ाने के प्रस्ताव पर दिल्ली सरकार का कहना है कि यह अब भी बाकी दूसरे राज्यों के मुकाबले कम है। आम आदमी पार्टी ने कहा है कि दूसरे राज्यों से अभी भी दिल्ली के विधायकों का वेतन कम है, जबकि तेलंगाना में 2.50 लाख, महाराष्ट्र में 2.32 लाख रुपये, उत्तर प्रदेश के अंदर 1.87 लाख और जम्मू कश्मीर आदि में 1.60 लाख रुपये वेतन है।

बता दें कि आम आदमी पार्टी ने 2015 में सत्ता में आने के बाद दिल्ली विधानसभा से विधायकों का वेतन बढ़ाने के लिए एक बिल पास किया, जो केंद्र सरकार को भेजा था। केंद्र की अनुमति पर अब विधायकों को विधानसभा क्षेत्र अलाउंस 18 हजार से बढ़ाकर 25 हजार, कन्वेंस अलाउंस 6 हजार से बढ़ाकर 10 हजार, टेलीफोन अलाउंस 8 हजार से 10 हजार, सेक्रिटिएट अलाउंस 10 हजार से बढ़ाकर 15 हजार हो सकेगा। सभी भत्ते, आफिस और सेक्रेटिएट आदि का किराया मिलाकर पहले के 54 हजार रुपये की जगह बढ़कर 90 हजार करने की केंद्र सरकार ने अनुमति दे दी है।

बैंकिंग क्षेत्र में सरकारी नौकरी की तैयारी, अवसर

बैंकिंग क्षेत्र में सरकारी नौकरी की तैयारी, अवसर

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। बैंकिंग क्षेत्र में सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे युवाओं के लिए सुनहरा अवसर है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने स्पेशलिस्ट कैडर ऑफिसर के पदों पर भर्ती निकाली है। इसके तहत 55 पदों पर सीनियर एग्जीक्यूटिव, एग्जीक्यूटिव, सीनियर स्पेशल एग्जीक्यूटिव और चीफ इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी ऑफिसरर्स सहित कई अन्य पदों भर्ती की जाएगी। जिसके लिए ग्रेजुएट कैंडिडेट्स बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट sbi.co पर जाकर 18 मई तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके बाद रिटन एग्जाम होगा, जिसमें सिलेक्शन होने पर कैंडिडेट्स को जीडी / इंटरव्यू राउंड के लिए बुलाया जाएगा। इसके बाद मेरिट के आधार पर अभ्यर्थी का सिलेक्शन होगा।

इन पदों पर निकली भर्ती

एग्जीक्यूटिव- 17 पद
सीनियर एग्जीक्यूटिव- 12 पद
सीनियर स्पेशल एग्जीक्यूटिव- 11 पद
सिस्टम अफसर- 7 पद
एडवाइजर- 4 पद
मैनेजर- 2 पद
चीफ इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी ऑफिसर- 1 पद
वाइस प्रेसिडेंट एंड हेड- 1 पद

आवेदन की तारीख...

वीपी और सीनियर स्पेशल एग्जीक्यूटिव के लिए आवेदन की लास्ट डेट – 04 मई 2022
सिस्टम अफसर, एग्जीक्यूटिव, सीनियर एग्जीक्यूटिव, सीनियर स्पेशल एग्जीक्यूटिव और चीफ इंफॉर्मेशन सिक्योरिटी अफसर के लिए आवेदन लास्ट डेट – 18 मई 2022

कैसे होगा सिलेक्शन...
SBI में 55 पदों पर कैंडिडेट का सिलेक्शन रिटेन एग्जाम और इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा।

अप्लाई करने वाले कैंडिडेट को फीस ऑनलाइन मोड में जमा करने की सुविधा दी गई है। सामान्य, ओबीसी, ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के कैंडिडेट को 750 रुपये फीस देनी होगी। जबकि अन्य कैटेगरी के कैंडिडेट की फीस माफ की गई है।

ऑफिशियल वेबसाइट- sbi.co.in पर क्लिक करें।
वेबसाइट के होम पेज पर Current Vacancy पर क्लिक करें।
यहां मांगी गई डिटेल भरकर रजिस्ट्रेशन कर लें।
रजिस्ट्रेशन के बाद एप्लिकेशन फॉर्म भरें।
आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद प्रिंट जरूर लें लें।

विश्व में चर्चा का विषय, डेप व हर्ड का विवाद

विश्व में चर्चा का विषय, डेप व हर्ड का विवाद  

अखिलेश पांडेय  
वाशिंगटन डीसी। हॉलीवुड के सुपरस्टार जॉनी डेप और उनकी एक्स वाइफ एम्बर हर्ड के बीच का विवाद पूरे विश्व में चर्चा का विषय बना गया है। दरअसल, एम्बर हर्ड ने अपने पूर्व पति डेप के खिलाफ घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था। जिसके बाद अभिनेता हर्ड पर मानहानि का मुकदम दर्ज कराया गया। अब आए दिन इस केस से जुड़े नए खुलासे होते रहते हैं।
हाल ही में हुई सुनवाई के दौरान एंबर ने खुलासा किया कि जॉनी ने शराब की बोतल से उनका यौन उत्पीड़न किया और शादी के तुरंत बाद उन्हें मारने की धमकी दी। मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया जा रहा है कि एम्बर हर्ड की तरफ से उनकी डॉक्टर डॉन ह्यूज ने कोर्ट में गवाही दी थी। डॉन ने कोर्ट में कहा कि हर्ड के पति जॉनी हमेशा नशे में रहते थे। एक दिन जॉनी ने शराब के नशे में एम्बर के साथ जबरन संबंध बनाने की कोशिश की और जब एंबर ने इसका विरोध किया तो अभिनेता ने उनके साथ मारपीट भी की।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 3,805 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 3,805 नए मामलें 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्‍ली। देश में एक बार फिर से कोरोना के मामलों में तेजी दर्ज की गई है। बीते 24 घंटों के दौरान देशभर में 3,805 नए मामलें दर्ज किए गए हैं। इस दौरान 3,168 मरीज ठीक हुए हैं और 22 की मौत भी हुई है। देशभर में एक्टिव केस अब 20,303 हो गए हैं। गौरतलब है कि इस सप्‍ताह की शुरुआत में कोरोना के मामले तीन हजार के नीचे पहुंच गए थे, लेकिन अब कुछ दिनों से फिर कोरोना के नए मामलों में इजाफा होता दिखाई दे रहा है।
बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को लंबे अरसे के बाद सबसे अधिक 1656 नए मामले सामने आए थे। वहीं देशभर की बात करें तो 5 अप्रेल को देशभर में कोरोना संक्रमण के 3545 नए मामले सामने आए थे और 27 मरीज ठीक हुए थे। शुक्रवार को सामने आई रिपोर्ट के मुताबिक 19,688 हो गए थे। वहीं 4 अप्रेल को देश में कोरोना के नए मामलों का आंकड़ा 3,275 था। इस दिन 55 लोगों की मौत दर्ज की गई थी।
गौरतलब है कि देश में कोरोना महामारी को खत्‍म करने के मकसद से लगभग सभी उम्र के लोगों के लिए वैक्‍सीन की व्‍यवस्‍था हो चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया का कहना है कि कोरोना से निपटने के लिए देशभर में बने दिशा-निर्देशों को प्रभावी ढंग से लागू किया गया था, जिसकी बदौलत तीसरी लहर से निपटा जा सका है। 
ये बयान इसलिए बेहद खास है। क्‍योंकि दुनिया के कई देशों में अब भी कोरोना के नए मामलों की संख्‍या हजारों और लाखों में आ रही है।
आपको बता दें कि भारत में कोरोना की रोकथाम के लिए देशभर में बूस्‍टर डोज देने की शुरुआत काफी पहले से हो चुकी है। अब 12 वर्ष से ऊपर के बच्‍चों को भी कोरोना रोधी टीके की खुराक दी जा रही है। देश में इसको लेकर बड़ी तेजी से काम चल रहा है।

ओवैसी ने बीजेपी-पीएम पर साधा निशाना

ओवैसी ने बीजेपी-पीएम पर साधा निशाना

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। हैदराबाद में अंतर धार्मिक शादी करने पर हुई हिंदू युवक की हत्या पर ओवैसी ने कहा कि वे इस घटना की निंदा करते हैं। लेकिन देश के दूसरे हिस्सों में मुसलमानों की हो रही हत्या पर पीएम मोदी से क्यों नहीं पूछा जाता। ओवैसी ने कहा, ‘हैदराबाद की घटना कानूनन जुर्म है। जिन्होंने भी यह काम किया है, गलत किया है। किसी एक निर्दोष का कत्ल पूरे इंसानियत का कत्ल होता है। लेकिन जब डिंडोरी में एक हिंदू लड़की से शादी करने पर आसिफ का घर तोड़ दिया गया, तब कोई क्यों नहीं बोला ? अखलाक को मारने वाले की गुलपोशी की गई, लेकिन कोई क्यों नहीं बोला ?
AIMIM प्रमुख ने सवाल उठाया, ‘जब मुसलमानों के घर टूटते हैं तो कोई नहीं बोलता। देश के अलग-अलग हिस्सों में मुसलमानों के घरों को तोड़ा जा रहा है। इस पर मोदी नहीं बोलते। फिर हमसे पूछते हैं कि हम हैदराबाद की घटना पर क्यों नहीं बोल रहे।
ओवैसी ने कहा, ‘भारत के मुसलमानों के लिए जरूरी है कि वो अपनी सियासी लीडरशिप बनाए। जब तक आप अपने नुमाइंदों को कामयाब करेंगें, तब तक बर्बादी के बादल मंडराते रहेंगे। वे हमारे अधिकारों को छीनना चाहते हैं, ऐसे में आपको अपनी सियासत को बनाना ही पड़ेगा। जिन पर आप ने भरोसा किया, वो ना सिर्फ नाकाम हुए बल्कि उनके वजह से ऐसी जमात (बीजेपी) आ गई है।
‘बीजेपी कर चुकी मुस्लिमों के खिलाफ जंग का ऐलान’
बीजेपी पर हमला बोलते हुए AIMIM प्रमुख ने कहा, BJP भारत के मुसलमानों के खिलाफ ऐलान-ए-जंग कर चुकी है। यूपी में हम कहते रहे कि आपमें (मुसलमानों) किसी हुकूमत को बदलने की ताकत नहीं है लेकिन इतनी पावर तो जरूर है कि आप अपने नुमाइंदों को कामयाब कर सकें। लेकिन आपने नहीं सुनी, नतीजा निकला कि यूपी में बीजेपी ने सरकार बना ली।
यूपी में बुलडोजर अभियान पर बोलते हुए ओवैसी ने कहा, ‘यूपी में 100 साल पुराने मदरसे पर बुलडोजर चला लेकिन वहां के एसपी विधायक ने एक बयान तक नहीं दिया। जहांगीपुरी में बुलडोजर चल जाता है, मुझे जाने का मौका मिला। मैंने देखा कि मस्जिद के सामने का गेट तक तोड़ दिया गया। फिर भी कोई नहीं बोला। इसके बाद भी कहते हो कौम, कौम, कौम।

हादसा: कार की टक्कर, 7 लोगों की मौंत

हादसा: कार की टक्कर, 7 लोगों की मौंत 

रोशनी पांडेय 
मथुरा। उत्तर प्रदेश में यमुना एक्सप्रेस वे पर शनिवार सुबह दर्दनाक हादसा हो गया। मथुरा के करीब एक कार की किसी वाहन से टक्कर हो गई। इस हादसे में मौके पर ही 7 लोगों की मौंत हो गई। घायल 2 लोगों का इलाज किया जा रहा है।
पुलिस ने बताया एसपी कि कार सवार लोग एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए नोएडा जा रहे थे। मृतकों में 3 पुरुष, 3 महिलाएं और एक बच्चा शामिल है।
जिस कार का एक्सीडेंट हुआ है, उसका नंबर यूपी 16 डीबी 9872 है। हादसे का शिकार हुआ परिवार हरदोई के बहादुरपुर संघ जिला का रहने वाला था। यह हादसा कैसे हुआ इसकी जांच के लिए पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज की पड़ताल कर रही है।

फिल्म 'केजीएफ चैप्टर 2' के एक्टर का निधन

फिल्म 'केजीएफ चैप्टर 2' के एक्टर का निधन  

कविता गर्ग
मुंबई। साउथ इंडियन फिल्म 'केजीएफ चैप्टर 2' (KGF Chapter 2) के फेम एक्टर मोहन जुनेजा का 7 मई 2022 की सुबह निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार थे और इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। एक्टर ने बेंगलुरु के एक प्राइवेट अस्पताल में अंतिम सांस ली। उनका आज ही अंतिम संस्कार भी किया जाएगा।
मोहन जुनेजा ने बतौर कमीडियन करियर की शुरुआत की थी। केजीएफ में पत्रकार आनंद के इनफॉर्मर की भूमिका निभाई थी।
उन्होंने इसके पहले तमिल, तेलुगु, मलयालम और हिंदी भाषा की कई फिल्मों में काम किया और अपने करियर में वह 100 से ज्यादा मूवीज दीं। वह केजीएफ चैप्टर 1 और केजीएफ चैप्टर 2 में भी नजर आए थे। मोहन जुनेजा को कमीडियन को फिल्म 'चेतला' से बड़ा ब्रेक मिला था।
मोहन जुनेजा बचपन से ही एक्टर बनना चाहते थे। उन्होंने अपने कॉलेज के दिनों में भी नाटकों में हिस्सा लिया था। 2008 में आई रोमांटिक कन्नड़ फिल्म 'संगमा' से करियर की शुरुआत की थी। इसे रवि वर्मा गुब्बी ने डायरेक्ट किया था। इसके बाद उन्होंने कन्नड़ तमिल फिल्म 'टैक्सी नंबर' में अभिनय किया। 2010 में मोहन ने कन्नड़ भाषा के नाटक 'नारद विजया' में भी अपना जलवा बिखेरा। हालांकि मोहन जुनजा कन्नड़ फिल्मों के लिए ही जाने जाते हैं।

एक्ट्रेस मल्ला ने बिकिनी में कातिलाना पोज दिया

एक्ट्रेस मल्ला ने बिकिनी में कातिलाना पोज दिया 

कविता गर्ग  
मुंबई। भोजपुरी एक्ट्रेस नम्रता मल्ला अपने बोल्ड अदाओं के लिए जानी जाती है। नम्रता मल्ला आए दिन इंस्टाग्राम पर अपने वीडियो और फोटो शेयर करती रहती है। हाल ही में एक्ट्रेस ने समंदर में बिकिनी फोटोशूट कराया। फोटोज में नम्रता मल्ला संमदर के बीचों-बीच बिकिनी में कातिलाना पोज देती दिखाई दे रही हैं। संमदर की लहरों के बीच नम्रता की भीगीं जुल्फें और उनका स्टनिंग लुक फैंस के दिलों को घायल कर रहा हैं। नम्रता ने बिकिनी के साथ न्यूड मेकअप किया हुआ है। 
लुक को स्टाइलिश बनाने के लिये कानों में बड़े-बड़े ईयरिंग्स पहने हुए हैं। ऊपर से एक्ट्रेस की स्माइल ने उनके लुक में चार चांद लगा दिये है। यह पहली बार नहीं है, जब नम्रता मल्ला अपनी अदाओं से लोगों के होश उड़ाती दिखी हैं।
इससे पहले कई ऐसे मौके आये जहां नम्रता ने बोल्डनेस की सारे हदें पार कर तहलका मचाया है। वहीं एक्ट्रेस के वर्कफ्रंट की बात करें तो नम्रता मल्ला जल्द ही तेलगू फिल्म के आइटम नंबर में अपने जलवे दिखाते नजर आएंगी।भोजपुरी एक्ट्रेस नम्रता मल्ला अपने बोल्ड अदाओं के लिए जानी जाती है। नम्रता मल्ला आए दिन इंस्टाग्राम पर अपने वीडियो और फोटो शेयर करती रहती है। हाल ही में एक्ट्रेस ने समंदर में बिकिनी फोटोशूट कराया। फोटोज में नम्रता मल्ला संमदर के बीचों-बीच बिकिनी में कातिलाना पोज देती दिखाई दे रही हैं। संमदर की लहरों के बीच नम्रता की भीगीं जुल्फें और उनका स्टनिंग लुक फैंस के दिलों को घायल कर रहा हैं। 
नम्रता ने बिकिनी के साथ न्यूड मेकअप किया हुआ है। लुक को स्टाइलिश बनाने के लिये कानों में बड़े-बड़े ईयरिंग्स पहने हुए हैं। ऊपर से एक्ट्रेस की स्माइल ने उनके लुक में चार चांद लगा दिये है। यह पहली बार नहीं है जब नम्रता मल्ला अपनी अदाओं से लोगों के होश उड़ाती दिखी हैं। इससे पहले कई ऐसे मौके आये जहां नम्रता ने बोल्डनेस की सारे हदें पार कर तहलका मचाया है। वहीं एक्ट्रेस के वर्कफ्रंट की बात करें तो नम्रता मल्ला जल्द ही तेलगू फिल्म के आइटम नंबर में अपने जलवे दिखाते नजर आएंगी।
मुंबई। भोजपुरी एक्ट्रेस नम्रता मल्ला अपने बोल्ड अदाओं के लिए जानी जाती है। नम्रता मल्ला आए दिन इंस्टाग्राम पर अपने वीडियो और फोटो शेयर करती रहती है। हाल ही में एक्ट्रेस ने समंदर में बिकिनी फोटोशूट कराया। फोटोज में नम्रता मल्ला संमदर के बीचों-बीच बिकिनी में कातिलाना पोज देती दिखाई दे रही हैं। संमदर की लहरों के बीच नम्रता की भीगीं जुल्फें और उनका स्टनिंग लुक फैंस के दिलों को घायल कर रहा हैं। नम्रता ने बिकिनी के साथ न्यूड मेकअप किया हुआ है। लुक को स्टाइलिश बनाने के लिये कानों में बड़े-बड़े ईयरिंग्स पहने हुए हैं। ऊपर से एक्ट्रेस की स्माइल ने उनके लुक में चार चांद लगा दिये है। यह पहली बार नहीं है जब नम्रता मल्ला अपनी अदाओं से लोगों के होश उड़ाती दिखी हैं। इससे पहले कई ऐसे मौके आये जहां नम्रता ने बोल्डनेस की सारे हदें पार कर तहलका मचाया है। वहीं एक्ट्रेस के वर्कफ्रंट की बात करें तो नम्रता मल्ला जल्द ही तेलगू फिल्म के आइटम नंबर में अपने जलवे दिखाते नजर आएंगी।

पूर्व प्रधानमंत्री ने 'खुद की तुलना गधे से' की

पूर्व प्रधानमंत्री ने 'खुद की तुलना गधे से' की   

अखिलेश पांडेय  
इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने फिर अपनी जगहंसाई करवा ली है। उन्होंने एक साक्षात्कार के दौरान ऐसा बयान दिया, जिस पर यूजर्स उन्हें ट्रोल कर रहे हैं। दरअसल, इमरान खान ने खुद की तुलना गधे से करते हुए कहा, कि गधा तो गधा ही रहता है।
पाकिस्तानी पत्रकार हसन जैदी ने इमरान खान के इंटरव्यू का एक वीडियो क्लिप शेयर किया है। इमरान खान का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। साक्षात्कार के दौरान इमरान खान ने कहा कि "मैंने इसे (यूके) को अपना घर कभी नहीं माना, क्योंकि मैं एक पाकिस्तानी था और मैं ब्रिटिश नहीं बन पाऊंगा। अगर आप गधे पर लाइन खींचते हैं, तो वह ज़ेबरा नहीं बनता है। गधा गधा ही रहेगा।
इमरान खान इससे पहले भी कई बार विवादित बयान देकर ट्रोल हो चुके हैं। इससे पहले इमरान ने ओसामा बिन लादेन को शहीद बताया था, जिसपर उनकी काफी आलोचना हुई थी। इसके साथ ही इमरान ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के बिलावल भुट्टो जरदारी की आलोचना करते हुए उन्हें 'बिलावल साहिबा' कह कर संबोधित किया था। इसके बाद भी उनपर मीम्स बनाए गए थे।
बता दें कि इमरान खान को 10 अप्रैल को नेशनल असेंबली में विपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास मत के जरिये प्रधानमंत्री पद से हटा दिया गया था।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं  

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 110 डालर प्रति बैरल पार करने के बावजूद देश में तेल विपणन कंपनियों ने शनिवार को 31वें दिन भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की है। सार्वजनिक क्षेत्र की देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) के अनुसार आज दिल्ली में पेट्रोल 105.41 रुपये प्रति लीटर और डीजल 96.67 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर रहा। 
मुंबई में पेट्रोल की कीमत 120.51 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 104.77 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर है। इतने रुपए यूक्रेन और रूस के बीच जारी जंग से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में घट-बढ़ जारी है। अंतरराष्ट्रीय लंदन ब्रेंट क्रूड आज 112.39 डालर प्रति बैरल पर और अमेरिकी क्रूड 2.17 प्रतिशत की बढ़त के साथ 110.61 डालर प्रति बैरल की कीमत पर कारोबार कर रहा है।

गैस-सिलेंडर के दाम 1000 के आस-पास पहुंचें

गैस-सिलेंडर के दाम 1000 के आस-पास पहुंचें

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। देश की पेट्रोलियम कंपनियां लोगों को कहीं से भी राहत देने को तैयार दिखाई नहीं दे रही है। रसोई गैस-सिलेंडर के दामों में की गई 50 रूपये की बढ़ोतरी के बाद गैस-सिलेंडर की कीमत तकरीबन 1000 के आस-पास पहुंच गई है। मार्च 2022 में ही रसोई-गैस के दामों में 50 रूपये की बढ़ोतरी की गई थी। देश की पेट्रोलियम कंपनियों ने देशवासियों के लिए आज के दिन को काला शनिवार बनाते हुए रसोई गैस सिलेंडर के दामों में 50 रूपये की बढ़ोतरी कर दी है।
जिससे पहले से ही महंगाई से सामजस्य बिठाने के प्रयासों में लगे देशवासियों पर पेट्रोलियम कंपनियों ने महंगाई की एक और करारी मार दी है। 50 रूपये प्रति गैस सिलेंडर की बढ़ोतरी के बाद देश में गैस सिलेंडर के दाम तकरीबन 1000 के आसपास पहुंच गए हैं। जबकि राजस्थान में रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 1000 के पार पहुंचते हुए 1003 रूपये 50 पैसे हो गई है। सिलेंडर की कीमतों में आज कोई इजाफा नहीं किया गया है क्योंकि कमर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में इसी महीने की 1 मई को 102 रूपये प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी की गई थी। देश की पेट्रोलियम कंपनियों ने मार्च महीने में ही 50 रूपये की बढ़ोतरी करते हुए रसोई गैस सिलेंडर उपभोक्ताओं को तगड़ा झटका दिया था।

कांग्रेस ने मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया

कांग्रेस ने मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया  

दुष्यंत टीकम  
रायपुर। देश मे बढ़ रहे लगातार महंगाई के लिए छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए, कई गंभीर आरोप लगाए।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा ने सीमेंट की बढ़ती महंगाई को लेकर कहा, कि सीमेंट उत्पादन में जितना चूना पत्थर जरूरी है, उतना ही जरूरी कोयला भी है।
लोहा में भी वही स्थिति है। अनुमान है कि 1 टन सीमेंट का उत्पादन करने के लिए लगभग ढाई सौ किलोग्राम कोयले की आवश्यकता पड़ती है।
लोहा उत्पादन के लिये भी कोयला प्रमुख वस्तु है।
मोदी सरकार की गलत कोयला नीति के चलते कोयला के दामों में बेतहाशा वृद्धि हुई है।
लोहे की कीमत 84 रू. किलो हो गयी है।
इसका प्रमुख कारण कोयले की कमी है।
2014 की तुलना में कोयले पर लगने वाला ग्रीन टैक्स लगभग 8 गुना बढा है।
अपने पूंजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाने के लिए बाहर से कोयला लाकर देश के भीतर कोल खनन को कम किया जा रहा है।
विगत 7 वर्षों से लगातार कोल इंडिया लिमिटेड और एसईसीएल की खदानें निजी पूंजी पतियों को सौंपी जा रही है।
जिसके चलते कोयले पर मुनाफाखोरी दिनोदिन बढ रही है।
मोदी सरकार की अदूरदर्शिता के चलते हैं पावर उत्पादक कंपनियों के अलावा बाकी उद्योग को दिए जाने वाले कोयले के रेक में अघोषित कटौती कर दी गई है।
सीमेंट अधिक भार वाला उत्पाद है इसलिए परिवहन का व्यय भी अधिक होता है।
विगत 7 वर्षों में मोदी सरकार द्वारा डीजल पर लगभग 10 गुना सेंट्रल एक्साइज बढ़ाए जाने के कारण परिवहन की लागत भी बढी है।
वर्ष 2014 में जब केंद्र में यूपीए की सरकार थी तब डीजल पर प्रति लीटर 3.56 रुपया सेंट्रल एक्साइज लगता था।
जो मोदी राज में बढ़कर 31.80 रुपए हो गया है।
वही प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा ने रमन सरकार पर कहा कि
2003 में जब रमन सरकार आई तब सीमेंट का दाम 2 अंकों में था।
जिसे 2018 में 250रू. तक बढ़ाया गया। रमन सरकार के दौरान वाणिज्य कर और फिर वेट लगता था।
उस समय कर की दर तय करने का अधिकार राज्य सरकार के पास था।
रमन सरकार ने पहले 12.5 फिर 14 प्रतिशत बढ़ाया, उसके बाद 1 जुलाई 2017 में जब पूरे देश में जीएसटी लागू हुआ।
तो मोदी सरकार ने 28 प्रतिशत का भारी-भरकम जीएसटी सीमेंट पर लगाकर रियल स्टेट व्यवसाय की कमर तोड़ दी।
आम जनता पर दुगुना बोझ डाल दिया।
विदित हो कि 28 प्रतिशत का भारी-भरकम जीएसटी दर दुनिया में कहीं नहीं है।
जो मोदी राज में सीमेंट जैसी आम जनता के उपयोग की वस्तु पर लिया जा रहा है।
भूपेश बघेल सरकार का प्रयास सदैव ही रहा है।
कि कैसे आम जनता को राहत दी जा सके पूर्व में भी परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर ने मध्यस्थता कर।
सीमेंट के दामों में 20 रू. की कमी करने सहमति बनाई थी।
आगे भी प्रदेश सरकार के का प्रयास रहेगा कि आमजनता को राहत मिले।
दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है कि मोदी निर्मित महंगाई पर प्रदेश के भाजपा के सांसद,
विधायक, राष्ट्रीय पदाधिकारी और तमाम नेता मौन है।

टॉरनेडो की रफ्तार 217 किमी प्रति घंटे मापी

टॉरनेडो की रफ्तार 217 किमी प्रति घंटे मापी  

सुनील श्रीवास्तव  
वाशिंगटन डीसी।‌ अमेरिका को एक और टॉरनेडो ने झकझोर दिया है। वहां दक्षिण मध्य क्षेत्र टेक्सास और ओकलाहोमा में बवंडर आया। ओकलाहोमा के सोमिनोल में तो, टॉरनेडो की रफ्तार 217 किमी प्रति घंटे मापी गई। दूसरी तरफ टेक्सास के रस्क काउंटी में आए टॉरनेडो की रफ्तार 275 किमी प्रति घंटे मापी गई। उसकी चपेट में आकर कई शेड और इमारतों को नुकसान पहुंचा। 
वॉशिंगटन काउंटी में बाढ़ में फंसे 30 लोगों को बचाया गया। चार दिन पहले ही कंसास में बवंडर आया था। इसके कुछ वीडियो भी सामने आए, जिसमें जद में आए कई मकान उड़ते तक दिखाई दिए थे।

60,705 करोड़ पर 'रिलायंस का नेट प्रॉफिट'

60,705 करोड़ पर 'रिलायंस का नेट प्रॉफिट'  

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज सौ अरब डॉलर सालाना आय वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है। 2021-22 के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज का नेट प्रॉफिट बढ़कर 60,705 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इसकी वजह से कंपनी की आय बढ़कर 7.92 लाख करोड़ रुपये (102 अरब डॉलर) हो गई।
रिलायंस के मुताबिक तेल के धंधे में मुनाफे में मजबूती, दूरसंचार और डिजिटल सेवाओं में निरंतर वृद्धि और खुदरा कारोबार में मजबूत गति से कंपनी का लाभ बढ़ा है। शुक्रवार को कंपनी ने ये सूचना शेयर बाजार को भेजी है। कंपनी का कंंशोलिडेटिड मुनाफा वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही में 22.5 फीसदी बढ़कर 16,203 करोड़ रुप में पर पहुंच गया है।
कंपनी के बोर्ड ने डिविडेंड बांटने का इशारा दिया है। कंपनी के बोर्ड ने 31 मार्च को समाप्त वित्तीय वर्ष के लिए प्रति इक्विटी शेयर ₹8 के लाभांश की सिफारिश की है। डिविडेंड भुगतान को लेकर कंपनी की अगली सालाना आम बैठक में फैसला होने की उम्मीद है। तेल से लेकर दूरसंचार क्षेत्र में कारोबार करने वाली कंपनी का वित्त वर्ष 2020-21 की जनवरी-मार्च तिमाही में एकीकृत शुद्ध लाभ 13,227 करोड़ रुपये था। कंपनी के अहम ब्रांड जियो(JIO) का मुनाफा चौथी तिमाही में करीब 24 फीसदी बढ़कर 4,173 करोड़ रुपये हो गया।

अंडे को चेहरे पर लगाने के फायदे, जानिए

अंडे को चेहरे पर लगाने के फायदे, जानिए  

सरस्वती उपाध्याय 
खूबसूरत चेहरा भला किसे नहीं चाहिए। सभी चाहते हैं कि उसका चेहरा खिलता रहे‌। लेकिन बदलती लाइफस्टाइल और प्रदूषण के चलते फेस पर कई कई प्रकार की परेशानी देखने को मिलती है। कई लोगों के चेहरे पर दाग-धब्बे भी हो जाते हैं।
खूबसूरत चेहरा भला किसे नहीं चाहिए। सभी चाहते हैं कि उसका चेहरा खिलता रहे,लेकिन बदलती लाइफस्टाइल और प्रदूषण के चलते फेस पर कई कई प्रकार की परेशानी देखने को मिलती है। कई लोगों के चेहरे पर दाग-धब्बे भी हो जाते हैं। ऐसे में उनके चेहरे को फिर से बेदाग बनाने के लिए ज्यादातर लोग कई प्रकार के उपाय अपनाते हैं।
इतना ही नहीं फेस पर चमक लाने के लिए ज्यादातर लोग कई प्रकार के ट्रिक ट्राई करते हैं। तो क्या आप जानते हैं कि अंडे से भी आपके फेस पर चमक आ सकती है। आप सोच रहे होंगे कि भला अंडे से फेस पर चमक कैसे आ सकती है। तो आइए आपको बताते हैं कि कैसे आप अंडे का प्रयोग फेस के लिए कर सकते हैं।

अंडे को फेस पर कैसे लगाएं...
सबसे पहले आप अंडे को एक कटोरी में तोड़ लें। इसके बाद इसे अच्छे से चम्मच से मिला लें। थोड़ी देर कटोरी में रखने के बाद इसे आप अपने फेस पर अप्लाई करे। थोड़ी देर फेस पर रखने के बाद आप इसे पानी से धो लें। ऐसा करके आप खुद महसूस करेंगे कि आपका फेस चमक रहा है। हालांकि, इसे फेस पर लगाने के बाद स्मेल जरूर आ सकती है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए आप अंडे का येलो वाला पार्ट हटा सकते हैं।

अंडे को चेहरे पर लगाने के फायदे...
जैसे ही आप अंडे को फेस पर लगाएं, इससे आपकी स्किन टाइट हो जाएगी।
चेहरे पर ग्लो लाने के साथ-साथ दाग-धब्बे, ब्लैकहैड्स भी दूर हो जाएंगे।
झुर्रियों को दूर करने में भी अंडे का फेस पेक काफी फायदेमंद है।

चुनावी तैयारियों को लेकर घमासान प्रारंभ

चुनावी तैयारियों को लेकर घमासान प्रारंभ

अकांशु उपाध्याय/नरेश राघानी

नई दिल्ली/जयपुर। राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर प्रमुख राजनीतिक पार्टी भाजपा और कांग्रेस के बीच चुनावी तैयारियों को लेकर घमासान अभी से शुरू हो गई है। कांग्रेस की योजना 15 मई से उदयपुर में तीन दिवसीय चिंतन शिविर आयोजित करने की है। वहीं दूसरी ओर भाजपा 20 मई से जयपुर में दो दिवसीय राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक करेगी। राजस्थान भाजपा इकाई से कहा गया है कि बैठक के लिए जयपुर में जगह तय करें।
हाल के वर्षों में यह पहली बार है, जब भाजपा किसी विपक्षी शासित राज्य में इतनी महत्वपूर्ण बैठक करने जा रही है। अगले दो वर्षों में जिन छह राज्यों में चुनाव होने हैं, उनमें से दो राज्यों राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार है। इससे राजस्थान में बीजेपी की बैठक अहम हो जाती है।
राज्य में भाजपा राज्य के विभिन्न हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव और शासन की विफलता को लेकर अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार पर लगातार हमला करती रही है। पार्टी अपनी विजयी दौड़ को बनाए रखना चाहती है जो गुजरात, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे आसपास के अन्य राज्यों के चुनावों को प्रभावित कर सकती है। चूंकि यह पार्टी पदाधिकारियों की बैठक है, इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसे वर्चुअल माध्यम से दिल्ली से संबोधित करेंगे। चुनाव में जाने वाले पार्टी के राज्यों के प्रभारियों को एक प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है और बैठक में आगे की कार्रवाई के लिए विस्तृत योजना पर चर्चा की जानी है।
हाल के हफ्तों में भाजपा के वरिष्ठ नेता नियमित रूप से राजस्थान का दौरा करते रहे हैं। बैठक से पहले पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा 10 मई से दो दिनों के लिए राज्य का दौरा करेंगे। वहीं, भाजपा महासचिव और राजस्थान के प्रभारी अरुण सिंह एक सप्ताह के लिए राज्य का दौरा करेंगे और पार्टी की चुनावी तैयारियों पर विस्तृत रिपोर्ट तैयार करेंगे।
राजस्थान बीजेपी के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने बताया कि हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष का महीने में दो बार राज्य का दौरा करना ही यह दर्शाता है कि पार्टी राज्य में चुनावी तैयारियों को लेकर गंभीर है। ये बैठकें निश्चित रूप से पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को चुनाव से पहले युद्ध के लिए तैयार होने के लिए प्रोत्साहित करेंगी।

रैली में नियमों के उल्लंघन पर सियासत गरमाई

रैली में नियमों के उल्लंघन पर सियासत गरमाई  

कविता गर्ग  
मुंबई। महाराष्ट्र में राज ठाकरे के नेतृत्व में शुरू हुए मंदिर मस्जिद में लाउडस्पीकर पर प्रतिबंध को लेकर रैली में नियमों के उल्लंघन पर सियासत गरमा गई है। महाराष्ट्र में शिवसेना की सरकार उद्धव ठाकरे अपने ही सासमर्थित पार्टी के नेताओं के आक्रोश के शिकार हो रहे हैं।
कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने आरोप लगाया है कि राज्य सरकार महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे से डरी हुई है और इसलिए 1 मई की औरंगाबाद रैली के लिए ‘शर्तों का उल्लंघन करने के लिए उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है।
कांग्रेस नेता ने रैली के लिए शर्तों के उल्लंघन के लिए मनसे प्रमुख की गिरफ्तारी की मांग करते हुए कहा कि उन्हें राज्य में सांप्रदायिक तनाव को भड़काने से रोकना आवश्यक है। संजय निरुपम ने मुंबई पुलिस द्वारा मनसे प्रमुख के खिलाफ ‘कार्रवाई की कमी’ के लिए निराशा व्यक्त की है।
निरुपम ने कहा कि महाराष्ट्र पुलिस ने औरंगाबाद में रैली के लिए 16 शर्तें रखी थीं, जिनमें से उन्होंने 12 का उल्लंघन किया। राज ठाकरे के खिलाफ दो अदालतों से गैर-जमानती वारंट हैं। मुझे समझ नहीं आता कि मुंबई पुलिस कुछ क्यों नहीं कर रही है। राज्य सरकार राज ठाकरे से डरी हुई प्रतीत होती है। उन्होंने कहा कि कानून के शासन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। निरुपम ने कहा, “देश और महाराष्ट्र में कानून का राज है और जो कोई भी कानून के खिलाफ चुनौती पेश करता है, उससे सख्ती से निपटा जाना चाहिए।
राज ठाकरे ने 1 मई को औरंगाबाद में एक रैली की थी और लाउडस्पीकर के मुद्दे पर उद्धव ठाकरे सरकार को लताड़ा था। उन्होंने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए 3 मई की समय सीमा तय की थी। उन्होंने यह भी धमकी दी थी कि “यदि राज्य सरकार समय सीमा के भीतर कार्रवाई नहीं करती है तो उनकी पार्टी के कार्यकर्ता मस्जिदों के सामने ‘अज़ान’ से तेज आवाज में हनुमान चालीसा बजाएंगे।
कई मनसे कार्यकर्ताओं को कथित तौर पर हनुमान चालीसा बजाने के लिए मस्जिदों के बाहर लाउडस्पीकर लगाने की कोशिश करने के आरोप में हिरासत में लिया गया था।
महाराष्ट्र के बीड जिले के परली की एक अदालत ने कथित रूप से भड़काऊ भाषण देने के लिए 2008 के एक मामले में राज ठाकरे के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया है। इससे पहले 3 मई को सांगली की एक अदालत ने 2008 के मामले में ठाकरे के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था।

देशी शराब के 2 क्वार्टर पीएं, लेकिन नशा नहीं

देशी शराब के 2 क्वार्टर पीएं, लेकिन नशा नहीं  

मनोज सिंह ठाकुर  
उज्जैन। मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक शराबी ने गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और एक्साइज डिपार्टमेंट को अजीबो-गरीब शिकायत की है।
शख्स ने शिकायत में कहा है कि उसने देशी शराब के दो क्वार्टर पीएं, लेकिन नशा नहीं चढ़ा। अब इस मामले की गहराई से जांच की जाए और संबंधित ठेकेदार के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। उसकी इस शिकायत पर एक्साइज डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने उचित कारवाई का आश्वासन भी दे दिया है। उसने यह भी कहा कि अगर एक्साइज डिपार्टमेंट कार्रवाई नहीं करता तो वह कंज्यूमर फोरम का दरवाजा खटखटाएगा।
दरअसल, फरियादी लोकेंद्र सेठिया 12 अप्रैल को दो देशी शराब के क्वार्टर पीने के कुछ देर बाद आबकारी थाने पहुंच गया। उसने शिकायत की कि क्वार्टर में शराब नहीं, बल्कि पानी था। उसने न केवल लिखित आवेदन दिया, बल्कि साक्ष्य के लिए शराब के दो क्वार्टर भी जमा किए। उसने एक्साइज के अधिकारियों से कहा कि अगर मेरी बात यकीन नहीं है तो हो तो ये दो एक्स्ट्रा क्वार्टर जांच करके देखो और ठेकेदार द्वारा की गई इस धोखाधड़ी को संज्ञान में लेकर कार्रवाई करो।इस पर अधिकारियों ने उसकी पूरी बात सुनी और कहा कि दोषी पाए जाने पर ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।
बता दें, जब उसकी शिकायत पर 6 मई तक कार्रवाई नहीं हुई तो अब उसने कंज्यूमर फोरम में जाने की बात कही है। उसने कहा- मैं इस मामले में कार्रवाई इसलिए चाहता हूं ,ताकि शराबियों के साथ न्याय हो सके। मैं पीता भी हूं तो कमाता भी हूं। लेकिन, उनका क्या जो सिर्फ पीते हैं। उनके लिए न्याय जरूरी है। मैं बस इतना चाहता हूं कि मेरे साथ जो हुआ वह अन्य किसी कस्टमर के साथ न हो। मुझे 20 साल हो गए पीते-पीते। इसलिए मुझे समझ आ गया कि इसमें मिलावट है या नहीं। उसकी ये बात अब सुर्खियों में है। लोकेंद्र ने कहा कि अगर एक महीने बाद भी उसकी शिकायत की सुनवाई नहीं हुई तो वह कंज्यूमर फोरम जाएगा।
गौरतलब है कि फरियादी लोकेंद्र सेठिया पिता शिवनारायण सेठिया आर्य समाज मार्ग बहादुरगंज में रहता है। उसने शिकायत में बताया- 12 अप्रैल को मैंने अपने दोस्त के साथ क्षीर सागर स्थित प्रीति जायसवाल के ठेके से 4 क्वार्टर देशी शराब ली। जब साथी और मैंने दो क्वार्टर पीये तो ज्ञात हुआ ये शराब नहीं पानी है। जब हमने इसका विरोध किया तो ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा कहा गया जो बने कर लो, यहां ऐसा ही है।

पिता ने बेटी के साथ दुष्कर्म किया, आत्महत्या

पिता ने बेटी के साथ दुष्कर्म किया, आत्महत्या  

संदीप मिश्र  
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बांदा में रिश्तों को शर्मसार करने वाला एक सनसनीखेज मामला सामने आया है‌‌। जहां पर पिता ने ही अपनी सगी बेटी के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया और इस घटना से आहत बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। लड़की की मौत के बाद उसकी बहन ने अपने पिता पर शराब के नशे में दुष्कर्म करने का मामला दर्ज कराया है। घटना के बाद से इलाके में सनसनी का माहौल बना हुआ है। लोग हैरान है कि आखिरकार इस हृदय विदारक घटना को एक सगे पिता ने कैसे अंजाम दिया होगा।
यह मामला बांदा जनपद के मरका थाना क्षेत्र में सामने आया है, जहां पर शराबी पिता आए दिन अपनी सगी बेटियों के साथ छेड़छाड़ किया करता था और अश्लीलता करता था। शुक्रवार देर रात शराब के नशे में शराबी पिता ने अपनी खुद की सगी बेटी के साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान लड़की चीखती-चिल्लाती रही। वहां मौजूद दूसरी बहन ने भी इसका विरोध किया, लेकिन शराबी पिता ने दरवाजे बंद करके दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। इस घटना से आहत लड़की ने कमरे में जाकर कथित रूप से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
इस घटना को लेकर मृतक लड़की की बहन ने आरोपी पिता के खिलाफ लिखित तहरीर दी है। इसके आधार पर पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लड़की के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
पूरे मामले की जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक बांदा लक्ष्मी निवास मिश्र ने बताया कि मरका थाना क्षेत्र के एक गांव में सगे पिता द्वारा अपनी खुद की बेटी के साथ शराब के नशे में दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया। मृतिका की बहन की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर करके आरोपी पिता को भी गिरफ्तार कर लिया गया‌। पूरे मामले की तफ्तीश की जा रही है।

विवाहित महिला के साथ 79 दिन तक दुष्कर्म

विवाहित महिला के साथ 79 दिन तक दुष्कर्म  

इकबाल अंसारी  
बालासोर। ओडिशा के बालासोर जिले में एक तांत्रिक ने एक विवाहित महिला के साथ उसके ढाई साल के बेटे के सामने कथित तौर पर 79 दिन तक दुष्कर्म किया। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस ने शुक्रवार को महिला और उसके बच्चे को एक बंद कमरे से मुक्त कराया, लेकिन आरोपी भाग गया जिसे पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया गया है।
पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसके पति और ससुराल वालों ने पारिवारिक विवाद को सुलझाने के लिए उसे तांत्रिक के साथ रहने के लिए मजबूर किया था। महिला ने बताया कि उसकी शादी 2017 में हुई थी और ससुराल वाले दहेज के लिए उसे शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे।
महिला के मुताबिक, तांत्रिक ने परिवार को भरोसा दिलाया था कि अगर महिला कुछ महीने उसके साथ रहती है तो वह कलह को सुलझा देगा। पीड़िता ने शिकायत में कहा है कि जब उसने तांत्रिक के साथ रहने से इनकार कर दिया तो उसकी सास ने उसे नशीली चीज दी और बाद में जब वह होश में आई तो उसने खुद को अपने बेटे के साथ तांत्रिक के कमरे में पाया। पुलिस ने शिकायत के आधार पर बताया कि तांत्रिक ने महिला के साथ 79 दिन तक अपने कमरे में बार-बार दुष्कर्म किया।
महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि 28 अप्रैल को तांत्रिक अपना मोबाइल कमरे में भूलकर चला गया था, जिसके बाद उसने अपने माता-पिता को फोन कर पूरे घटनाक्रम के बारे में बताया। बेटी का फोन आने पर माता-पिता ने पुलिस को घटना के बारे में सूचित किया। अधिकारियों के मुताबिक, पुलिस के घटनास्थल पर पहुंचने से पहले ही तांत्रिक वहां से भाग गया।
उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (दुष्कर्म) सहित अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि महिला ने प्राथमिकी में पति, देवर और अन्य ससुराल वालों को नामजद किया है, हालांकि अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। अधिकारियों ने कहा कि महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उसकी हालत स्थिर बताई जाती है‌।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-211, (वर्ष-05)
2. रविवार, मई 8, 2022
3. शक-1944, वैशाख, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079। 
4. सूर्योदय प्रातः 05:38, सूर्यास्त: 06:57।
5. न्‍यूनतम तापमान- 28 डी.सै., अधिकतम-41+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
              (सर्वाधिकार सुरक्षित)

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न    सुशील केसरवानी         कौशाम्बी। मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी की अध्यक्षता में उद...