शनिवार, 30 मई 2020

24 घंटे में रिकॉर्ड 7964 लोग संक्रमित

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। हर दिन संक्रमित मरीजों की संख्या में रिकॉर्ड इज़ाफा हो रहा है। पिछले 24 घंटे में 7964 नए मामले सामने आए हैं। ये अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। इस दौरान 265 लोगों की मौत हुई। इतनी बड़ी संख्या में किसी भी दिन कोरोना के मरीजों की मौत नहीं हुई थी। इन सारी बुरी खबरों के बीच अच्छी खबर ये है कि बीते 24 घंटे में मरीजों के ठीक (Recovery Rate) होने का रिकॉर्ड भी बना है। इस दौरान 11 हज़ार से ज़्यादा मरीज ठीक हुए और इस कारण देश में पहली बार एक्टिव केसों की संख्या बढ़ने की जगह घट गई है। भारत में शुक्रवार को जहां एक्टिव केसों की संख्या 89,987 थी, जो अब घटकर 86,422 हो गई है।


शुक्रवार को 11264 कोरोना के मरीज ठीक हुए, जो अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। अब तक देश भर में 82370 मरीज़ ठीक होकर घर वापस लौट गए हैं। भारत में अब रिकवरी रेट 47.40 पर पहुंच गई है। खास बात ये है कि इसमें हर दिन इज़ाफा हो रहा है. देश में जब पहला लॉकडाउन शुरू हुआ था तो उस वक्त मरीजों की ठीक होने की दर 7.1% थी। दूसरे लॉकडाउन में ये 11.42% तक पहुंच गया। इसके बाद इसमें और इजाफा हुआ और ये रेट 26.59 फीसदी पर पहुंच गई। 18 मई को जब लॉकडाउन का चौथा फेज शुरू हुआ तो ये आंकड़ा 38% पर आ पहुंचा और अब ये 47 फीसदी को पार कर गिया है। आने वाले दिनों में इसमें और इजाफे की उम्मीद की जा रही है।


दूसरे देशों के मुकाबले भारत में मौत की दर भी काफी कम है। यहां कोरोना के 2.86 फीसदी मरीज़ों की मौत हो रही है। इस लिस्ट में बेल्जियम टॉप पर है। यहां 16.24% मरीजों की मौत हो रही है. फ्रांस में ये आंकड़ा 15.37 % है। इटली और ब्रिटेन में मौत की दर 14% से ज्यादा है। जबकि अमेरिका में 5.83 फीसदी मरीजों की मौत हो रही है। यहां हाल के दिनों में ये आंकड़ा थोड़ा बेहतर हुआ है। भारत में अब टेस्ट की संख्या लगातार बढ़ रही है। पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा 127761 सैंपल का टेस्ट किया गया। ये अब तक का रिकॉर्ड है। अब तक भारत में 3611599 टेस्ट किए जा चुके हैं। सरकार का दावा है कि आने वाले दिनों में हर दिन डेढ़ लाख से ज्यादा सैंपल टेस्ट किए जाएंगे।


यूपी में वायरस के लगातार नए मामले

लखनऊ। यूपी में लगातार कोरोना वायरस के नए मामले सामने आ रहे हैं। लखनऊ स्थित केजीएमयू में कल जांच के लिए 1216 सैंपल लिए गए थे। इनमें से 31 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इन संक्रमितों में 11 मरीज लखनऊ के, 08 मरीज मुरादाबाद के, 04 मरीज कानपुर के, 03 मरीज बाराबंकी के, 03 मरीज अयोध्या के, एक मरीज सुल्तानपुर का और एक मरीज कन्नौज का है।


महराष्ट्र, गुजरात-दिल्ली ने बढा़या संक्रमण

नई दिल्ली। देश में वैश्विक महामारी कोरोना से महाराष्ट्र, गुजरात और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सबसे अधिक कुल 3476 लोगों की जान गई है जो देश में अब तक कोविड-19 से हुई कुल मौतों का लगभग 70 प्रतिशत है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 7964 नये मामले सामने आये हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 173763 पर पहुंच गई है। देश में इस संक्रमण से कुल 4971 लोगों की मौत हुई है तथा 82370 लोग स्वस्थ हुए हैं।


दिल्ली-एनसीआर में 4.5 तीव्रता का भूकंप

 दिल्ली,पंजाब,हरियाणा में भूकंप के झटके महसूस किए गए, 4.5 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया रोहतक रहा भूकंप का केंद्र

अयोध्या। बड़ा हादसा टला,श्रृंगार हॉट में गिरा विशालकाय बरगद का पेड़, दिन में गिरता पेड़ तो हो सकता था। बड़ा हादसा,100 साल पुराना है पेड़,स्थानीय लोगों ने कई दिन पहले ही वन विभाग को दी थी। पेड़ के गिरने की संभावना की सूचना,वन विभाग की लापरवाही से हो सकता था। बड़ा हादसा,देर रात गिरा पेड़,कोई हताहत नही,अयोध्या कोतवाली के श्रृंगार हाट का मामला। अयोध्या। जिला ओलंपिक संघ के सचिव जितेंद्र सिंह का निधन ,जिले के खेल जगत में शोक ,शहर के रिकाबगंज स्थित आवास पर हुआ निधन ,हार्ट अटैक से हुआ निधन,75 वर्ष की उम्र में हुआ निधन।

 

दिल्ली : देश में कोरोना का कहर लगातार जारी, देश में 24 घंटे में 7 हजार से ज्यादा केस, 7,466 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए, 24 घंटे में कोरोना से 175 लोगों की मौत, देश में मरने वालों की संख्या 4,706 हुई, देश में 1,65,799 लोग कोरोना संक्रमित

लखनऊ: यूपी सरकार ने कोरोना पर जारी किए आंकड़े, यूपी में कोरोना मरीजों की संख्या 7,445, यूपी में 24 घंटे में 275 नए मरीज मिले, यूपी में कोरोना से 201 मरीजों की मौत, यूपी में 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत, प्रदेश में अबतक 4410 कोरोना मरीज ठीक

लखनऊ : पुलिस उप आयुक्त पश्चिमी ने किया भ्रमण, सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने पुराने लखनऊ में किया भ्रमण, सहायक पुलिस आयुक्त चौक के साथ पहुंचे, अपराध नियंत्रण को लेकर की अहम बैठक, सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने वजीरगंज थाने में की बैठक, संबंधित अफसरों को दिये आवश्यक दिशा निर्देश, इलाके में हुए अपराध की समीक्षा की गई

लखनऊ:  प्रॉपर्टी डीलर ने युवक पर की फायरिंग, नशे में धुत प्रॉपर्टी डीलर ने की फायरिंग, प्रॉपर्टी डीलर मनजीत सिंह ने किया फायर, 2 दिन पूर्व हुई कहासुनी को लेकर फायरिंग, गोली चलने से बाल-बाल बचा युवक, पुलिस ने 2 लोगों को किया गिरफ्तार, आरोपी की लाइसेंसी रायफल बरामद, जानकीपुरम थाना क्षेत्र का मामला

लखनऊ : गर्भवती महिला की संदिग्ध हालत में मौत, ससुरालियों पर हत्या करने का लगाया आरोप, मायके वालों ने ससुरालियों पर कराया केस, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा, सआदतगंज क्षेत्र के वजीरबाग क्षेत्र की घटना

लखनऊ: तेज रफ्तार कार ने फिर दिखाया असर, मदेहगंज चौकी के पास हुआ एक्सीडेंट, डिवाइडर से टकराई तेज रफ्तार कार, हादसे में बाल बाल बचे कार सवार,राहगीर, हसनगंज थाना क्षेत्र के मदेहगंज की घटना

बरेली:बाइक से कार को ओवरटेक करने पर विवाद, कार सवार दबंगों ने बाइक सवार को पीटा, दबंगों ने सड़क पर पीट-पीटकर किया घायल, पीड़ित युवक ने थाने में पुलिस से की शिकायत, पुलिस ने आरोपी समेत 2 लोगों को किया अरेस्ट, कार सवार दबंगों की वारदात कैमरे में हुई कैद, प्रेम नगर थाने में गंभीर धाराओं में केस दर्ज

ग्रेटर नोएडा: पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, एक इनामी बदमाश को लगी गोली, 25 हजार के इनामी बदमाश सोनू घायल, दूसरे इनामी बदमाश को पुलिस ने पकड़ा, 1 तमंचा जिंदा कारतूस और बाइक बरामद, जारचा के आनंदपुर की नहर के पास मुठभेड़

प्रयागराज : ज्वलनशील पदार्थ डालकर युवक को जलाया, युवक की इलाज के दौरान हॉस्पिटल में मौत, घर में सोते समय घटना को दिया गया अंजाम, पुलिस ने 3 आरोपियों को किया गिरफ्तार, पट्टीदारों के बीच रंजिश के चलते की गई हत्या, सराय ममरेज क्षेत्र के छतौना गांव की घटना

उन्नाव:  ईंट भट्ठे के मजदूर को ट्रैक्टर ने रौंदा, हादसे में मजदूर की हुई दर्दनाक मौत, सो रहे मजदूर पर ट्रैक्टर का चढ़ा पहिया, ईंट भट्ठे पर मृतक करता था मजदूरी , भठ्ठे पर ट्रैक्टर छोड़कर चालक हुआ फरार, बेहटा के न्यू समरा ब्रिक फील्ड की घटना

गोंडा : CUG नम्बर पर मिली गोली मारने की धमकी, धमकी से सुभगपुर पावर हाउसकर्मी भयभीत, फोन से बिजली न मिलने पर दी गई धमकी, अवर अभियंता ने सालपुर चौकी में दी तहरीर, धमकी देने वाले के खिलाफ कार्रवाई की मांग

आगरा: आगरा में तेज आंधी तूफान ने मचाई तबाही, तेज आंधी के साथ बारिश और ओलावृष्टि, आंधी तूफान से बिजली के पोल, पेड़ गिरे, आंधी,तूफान के चलते विद्युत आपूर्ति बाधित, आंधी-तूफान से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त

 

कन्नौज : आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर हादसा, कार डिवाइडर से टकराकर खाई में पलटी, कार सवार पांच लोग मामूली घायल, दिल्ली से गोरखपुर जा रहे थे कार सवार, तालग्राम क्षेत्र के एक्सप्रेस वे की घटना

प्रयागराज : जुआ खेलते रंगे हाथ 13 जुआरी गिरफ्तार, ताश के पत्ते, 21210 रुपए किए बरामद, गैंबलिंग एक्ट के तहत दर्ज किया मुकदमा, पुलिस ने शिवकुटी इलाके से किया गिरफ्तार

बदायूं: सामान से भरा ट्रक हाईवे पर पलटा, पुलिस ने ट्रक को रास्ते से हटवाया, कड़ी मशक्कत के बाद आवागमन शुरू, बिसौली के कालूपुर के आसपास की घटना।

अजीत जोगी विचित्र प्रतिभा के धनी रहेंं

रायपुर। अजीत प्रमोद कुमार जोगी एक भारतीय राजनेता थे तथा छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री रह चुके थे। 29 अप्रैल 1946 को छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में जन्मे अजित जोगी ने भोपाल से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और बाद में उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से क़ानून की डिग्री ली। जोगी ने कुछ समय तक रायपुर के इंजीनियरिंग कॉलेज में अध्यापन भी किया।


प्रशासनिक सेवा में एंट्री


जोगी सिविल सर्विसेस की परीक्षा दी और भारतीय पुलिस सेवा के लिये चुने गये। डेढ़ साल तक पुलिस सेवा में रहने के बाद जोगी ने फिर से परीक्षा दी और वो भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिये चुन लिये गये। मध्य प्रदेश में 14 सालों तक कई महत्वपूर्ण ज़िलों के कलेक्टर रहे। अजित जोगी ख़ुद को आदिवासी मानते थे लेकिन पिछले कई सालों से उनकी जाति पर विवाद बना रहा. अभी भी उनकी जाति का मामला न्यायालय में लंबित है। अपनी दबंग छवि के कारण वो मध्य प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह के काफ़ी नज़दीकी लोगों में शुमार थे। अर्जुन सिंह और राजीव गांधी की सलाह पर ही उन्होंने नौकरी छोड़ी और फिर उन्हें कांग्रेस पार्टी ने राज्यसभा का सदस्य बनाया तथा जल्दी ही अजित जोगी राजीव गांधी की कोर टीम के सदस्य बन गये और दो बार राज्यसभा के लिये चुने जाने वाले अजित जोगी को कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रीय प्रवक्ता भी बनाया।


राजनीति(अजित जोगी कहते थे-“मैं सपनों का सौदागर हूं।”)


राजीव गांधी के साथ अजीत जोगी 1998 में उन्होंने रायगढ़ लोकसभा से पहली बार चुनाव लड़ा और वो संसद पहुंचे। हालांकि एक साल बाद 1999 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।तब मान लिया गया था कि पार्टी में अब जोगी को हाशिये पर ही रहना होगा। लेकिन वर्ष 2000 में मध्य प्रदेश से अलग जब छत्तीसगढ़ राज्य बनाया गया तो मुख्यमंत्री के तमाम नामों की अटकलों के बीच अप्रत्याशित रूप से अजित जोगी राज्य के पहले मुख्यमंत्री बनाये गये। जोगी ने किसी करिश्माई नेता की तरह काम करना शुरू किया. स्थानीय बोली में दिये जाने वाले उनके भाषणों ने पहली बार लोगों में छत्तीसगढ़िया अस्मिता को जगाने का काम किया। रामानुजगंज से लेकर कोंटा तक, राज्य के अलग-अलग हिस्सों में उनके हर दिन के दौरों का रिकॉर्ड अब तक बरक़रार है।


कार्यकाल: (छतीसगढ़: 9 नवम्बर 2000 – 6 दिसम्बर 200


अफ़सर से नेता बने जोगी ने अपने अफ़सरों पर कहीं अधिक भरोसा किया और राज्य में अफ़सरशाही ने पार्टी के नेताओं को ही हाशिये पर खड़ा कर दिया. सरकार एक के बाद एक गंभीर आरोपों में उलझती गई। अंततः केवल तीन साल के भीतर ही ‘सपनों के सौदागर’ से ‘यथार्थ का सार्थवाह’ बनने की उनकी कोशिश धरी रह गई और 2003 में जोगी के नेतृत्व में लड़े गये विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को हार का सामना करना पड़ा। राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार चुनी गई. जिसने अगले 15 सालों तक शासन किया। 2003 के चुनाव के दौरान ही उनके बेटे अमित जोगी पर राकांपा के नेता राम्वतार जग्गी की हत्या के आरोप लगे और उन्हें लंबे समय तक जेल में भी रहना पड़ा। सत्ता जाने और बेटे के हत्या के आरोप में फंसने के बाद 2003 में कथित रूप से भाजपा विधायकों की ख़रीद-फरोख़्त का आरोप उन पर लगा और कांग्रेस पार्टी ने उन्हें पार्टी से निलंबित भी कर दिया।अगले साल यानी 2004 में अजित जोगी का न केवल निलंबन वापस हुआ, बल्कि पार्टी ने उन्हें महासमुंद से लोकसभा की टिकट भी दी।आपातकाल में सूचना एवं प्रसारण मंत्री रहने के अलावा कांग्रेस पार्टी के दिग्गजों में शुमार किये जाने वाले विद्याचरण शुक्ल इस सीट से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार थे. लेकिन अजित जोगी यह सीट जीतने में कामयाब रहे।


मात्र ढाई घंटे में कलेक्टर से नेता बने थे 


पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन की जमी-जमाई जॉब छोडकर राजनीति में आने का किस्सा भी वो अपने सहयोगियों को बड़े रोचक अंदा में बताते थे। वो कहते थे कि ढाई घंटे के खेल में वे कलेक्टर से नेता बन गए थे। वह तब इंदौर के कलेक्टर थे। एक दिन ग्रामीण इलाके में दौरे के लिए गए थे। रात को जब घर लौटे तो पत्नी रेणु ने बताया कि प्रधानमंत्री कार्यालय से फोन आया था, पीएम राजीव गांधी बात करना चाह रहे थे। जोगी ने सोचा कि पीएम क्यों एक कलेक्टर को फोन करने लगे। इसके बाद रात करीब 9:30 बजे उन्होंने पीएम ऑफिस के नंबर पर फोन किया। राजीव गांधी के तत्कालीन पीए वी जॉर्ज ने फोन उठाया और कहा, ‘कमाल करते हो यार, देश का प्रधानमंत्री तुमसे बात करना चाह रहा है और तुम गांव में घूम रहे हो।’ इसके बाद उन्होंने कहा कि पीएम सुबह से उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं। वे चाहते हैं कि वे तुरंत कलेक्टर पद से इस्तीफा दें। 


कलेक्टर से नेता बनने वाले पहले व्यक्ति थे जोगी


अचानक इस्तीफे की बात सुनकर जोगी चौंक गए और कहा कि वे डेपुटेशन पर पीएम ऑफिस ज्वाइन कर सकते हैं इसमें रिजाइन देने की क्या जरूरत है। इस पर जॉर्ज ने कहा कि पीएम चाहते हैं कि वे राज्यसभा के लिए मध्यप्रदेश से नामांकन भरें। उनसे कहा गया कि रात 12 बजे तक दिग्विजय सिंह उन्हें लेने इंदौर पहुंच जाएंगे और इस्तीफे की सारी औपचारिकता सुबह 11 बजे तक पूरी हो जाएगी। उनके पास ढाई घंटे का समय है डिसाइड करने के लिए। इसके बाद जोगी केवल तीन लोगों से बात कर पाए थे, उनकी पत्नी रेणु जोगी, पीए और इंदौर के एक आइरिश डॉक्टर से। तीनों ने उन्हें प्रोत्साहित किया जिसके बाद उन्होंने एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेस छोड़ कर राजनीति में जाने का फैसला किया और दूसरे ही दिन भोपाल जाकर राज्यसभा के नामांकन भरा था। 


स्व. अजीत जोगी की संपत्ति  


चुनाव आयोग को दिए गए हलफनामे के अनुसार महासमुंद संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के पास चल संपत्ति 43.82 लाख रुपए और अचल संपत्ति 1.10 करोड़ रुपए, दोनों मिलाकर डेढ़ करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति थी। उनकी पत्नी रेणु जोगी के पास 1.10 करोड़ रुपए की चल और 3.52 करोड़ रुपए की अचल संपत्ति है। इस तरह जोगी दंपत्ति के पास करीब सवा 6 करोड़ रुपए की संपत्ति बताई गई है।


अजीत जोगी के नाम पर किसी प्रकार की देनदारी नहीं थी। उनकी पत्नी रेणु जोगी के नाम पर करीब 15 लाख रुपये का आवास ऋण है जो रायपुर स्थित भारतीय स्टेट बैंक की एक शाखा में चुकाना है। 


स्व.अजीत जोगी पर मुकदमे  


शपथपत्र में अजीत जोगी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, उनकी जाति संबंधी मामला न्यायालय में लंबित है। उन्होंने इससे पहले शहडोल लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में कंवर जाति का प्रमाणपत्र प्रस्तुत किया था जिसे गलत बताया गया था। इस पर सीजेएम न्यायालय शहडोल में धारा 420,467, 468, 471 भादंसं के तहत मामला पंजीकृत किया गया था।  उन्होंने दो अन्य प्रकरणों पर उच्च न्यायालय जबलपुर में लंबित होना और अंतिम बहस के लिए तिथि निर्धारित नहीं होने की जानकारी दी थी।साथ ही अधीनस्थ न्यायालय की कार्यवाही स्थगित होने का उल्लेख किया था। जोगी ने शपथपत्र में मीडिया के हवाले से एक टिप्पणी का भी उल्लेख किया था कि सीबीआई द्वारा विशेष न्यायालय रायपुर में एक प्रकरण में समापन रिपोर्ट प्रस्तुत किए जाने की जानकारी मिली है। 


जवानों में हुई मुठभेड़, दो की मौत








जगदलपुर। नारायणपुर जिले के 9वीं बटालियन आमदई घाटी कैंप में जवानों के बीच विवाद पर एक जवान ने अपने तीन साथियों पर अपन सर्विस रायफल से गोली चला दी। जिसमें दो जवानों की मौत हो गई और एक गंभीर रूप से घायल है। आरोपी जवान को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।









बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक पी. सुंदरराज ने बताया कि आमदई घाटी में 9वीं बटालियन का कैंप में कल देर रात जवानों के बीच विवाद के चलते छत्तीसगढ़ आर्म फोर्स के सहायक प्लाटून कमांडेट घनश्याम कुमेटी ने अपने तीन साथियों पर अपने सर्विस रायफल से गोलीबारी की जिसमें प्लाटून कमांडेंट विदेश्वर साहनी तथा हवलदार रामेश्वर साहू की घटना स्थल पर मौत हो गई। वहीं आरक्षक लच्छूराम प्रेमी गंभीर रूप से घायल हो गया।
सुंदरराज ने बताया कि आरोपी सहायक कमांडेट घनश्याम कुमेटी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। घायल जवान लच्छूराम प्रेमी को बेहतर इलाज के लिए रायपुर रवाना किया गया। विंदेश्वर साहनी जशपूर का निवासी है वहीं रामेश्वर साहू कांकेर जिले के चारामा का निवासी है। शव परिक्षण के बाद उनके शव को गृहग्राम रवाना किया जायेगा।

सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा, ये दिन

नई दिल्ली। हिन्दी पत्रकारिता के इतिहास में आज का दिन सुनहरे अक्षरों में लिखा गया है। आज ही के दिन जुगल किशोर शुक्ल ने दुनिया का पहला हिन्दी साप्ताहिक पत्र “उदन्त मार्तण्ड” का प्रकाशन कलकत्ता से शुरू किया था और इस दिन को पत्रकारिता दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। इस प्रकार भारत में हिंदी पत्रकारिता की आधारशिला पंडित जुगल किशोर शुक्ल ने डाली थी। उदन्त मार्तण्ड का प्रकाशन 30 मई, 1826 को कलकत्ता से एक साप्ताहिक पत्र के रूप में शुरू हुआ था। यह पत्र हर मंगलवार को प्रकाशित होता था। उस समय की बात करें तो अंग्रेज़ी, फारसी और बांग्ला में तो अनेक पत्र निकल रहे थे किंतु हिंदी में एक भी पत्र प्रकाशित नहीं होता था। इस बात का उल्लेख मिलता है कि प्रारंभिक रूप में उदन्त मार्तण्ड समाचार पत्र की केवल 500 प्रतियां ही मुद्रित हुई थीं पर इसका प्रकाशन लम्बे समय तक नहीं चल सका क्योंकि उस समय कलकत्ता में हिंदी भाषियों की संख्या बहुत कम थी। इसके अलावा इस समाचार पत्र को डाक द्वारा भेजे जाने वाला खर्च इतना ज्यादा था कि इसका परिचालन मुश्किल हो गया। आखिरकार 4 दिसम्बर 1826 को इसके प्रकाशन को रोकना पड़ गया।


आज के दौर में देखें तो हिन्दी पत्रकारिता ने अंग्रेजी पत्रकारिता के दबदबे को खत्म कर दिया है। पहले देश-विदेश में अंग्रेजी पत्रकारिता का दबदबा था लेकिन आज हिन्दी भाषा का झण्डा हर ओर बुलंद हो रहा है। देश में यदि पंजीकृत प्रकाशनों की संख्या पर नजर डाली जाए तो पाएंगे कि किसी भी भारतीय भाषा की तुलना में पंजीकृत प्रकाशनों की सबसे अधिक संख्या हिंदी में है। इसके बाद दूसरा नाम अंग्रेजी भाषा का आता है। रजिस्ट्रार ऑफ न्यूजपेपर्स फॉर इंडिया (RNI) की वार्षिक रिपोर्ट (2016-17) में बताया गया है कि पंजीकृत प्रकाशनों की संख्या में इस बार 3.58 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। साथ ही उत्तर प्रदेश ऐसा राज्य है, जहां सबसे अधिक प्रकाशन पंजीकृत हैं, यानी सूची में यह राज्य सबसे ऊपर है। इसके बाद महाराष्ट्र का नंबर आता है।


RNI की रिपोर्ट बताती है कि भारत में पंजीकृत प्रकाशनों की संख्या 1,14,820 है। इसके अलावा किसी भी भारतीय भाषा में पंजीकृत समाचार पत्र-पत्रिकाओं की सबसे अधिक संख्या हिंदी भाषा में है और यह संख्या 46,827 है, जबकि हिंदी के अलावा दूसरे नंबर पर आने वाली अंग्रेजी भाषा में प्रकाशनों की संख्या 14,365 है।


चंद्रमौलेश्वर शिवांशु 'निर्भयपुत्र'


घिर गया है चीन पर 'हेकड़ी' कम नहीं

पेइचिंग। कोरोना वायरस के कहर के कारण सार्वजनिक आलोचना का सामना कर रहा चीन दुनिया में घिरता जा रहा है। हालांकि, इसके बाद भी उसकी हेकड़ी कम नहीं हुई है। हाल में ही चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अपनी सेना को युद्ध की तैयारी करने के आदेश दिए थे। वहीं, अमेरिका के विश्व स्वास्थ्य संगठन से नाता तोड़ने पर भी चीन को बड़ा झटका लगा है।


कोरोना को लेकर घिरा चीन
वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना वायरस को लेकर दुनिया के अधिकतर देश चीन की आलोचना कर चुके हैं। कुछ दिनों पहले डब्लूएचओ की बैठक में चीन ने यूरोपीय यूनियन के उस प्रस्ताव का विरोध किया था जिसमें इस वायरस के उत्पत्ति के जांच की मांग की गई थी। हालांकि, बाद में वैश्विक दबाव के कारण चीनी प्रधानमंत्री ली केकियांग और विदेश मंत्री वांग यी ने इस जांच के समर्थन की घोषणा की।


अमेरिका से बढ़ा तनाव
ट्रेड वॉर को लेकर अमेरिका और चीन में जारी तनाव का अभी खात्मा हुआ नहीं था कि कोरोना वायरस ने आग में घी का काम किया। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप खुलेआम कोरोना को चीनी वायरस या वुहान वायरस के नाम से संबोधित कर चुके हैं। उन्होंने चीन पर इस वायरस के दुनियाभर में प्रसार का भी आरोप लगाया। अमेरिका ने यह भी कहा कि चीन इस वायरस को लेकर जांच में कोई सहयोग नहीं कर रहा।


अमेरिका ने चीन पर लगाए प्रतिबंध
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को कुछ चीनी नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगाने का ऐलान किया। इतना ही नहीं, उन्होंने अमेरिका में चीन से आने वाले इन्वेस्टमेंट के नियमों को भी कड़ा करने का फैसला किया। बता दें कि कुछ दिन पहले ही अमेरिकी कांग्रेस में चीन के खिलाफ कड़े कदम उठाए जाने को लेकर एक बिल पेश किया गया है।


सीमा विवाद पर चीन की भारत से ठनी
लद्दाख में सड़क निर्माण को लेकर भारत और चीन के बीच तनातनी अब भी जारी है। दोनों देशों की सेनाएं सीमा पर एक दूसरे के सामने तंबू डालकर बैठी हुई हैं। वहीं तनाव बढ़ाने के बाद चीन अब शांतिदूत बनकर आपसी विवाद को सुलझाने की बात कर रहा है। चीन को यह आशा नहीं थी कि लद्दाख में भारत इतने आक्रामक तरीके से ड्रैगन के हर चाल को मात देगा। बता दें कि मई में ही सीमा विवाद को लेकर दो बार भारतीय और चीनी सेना के बीच हाथापाई हो चुकी है। जिसमें दोनों पक्षों के सैनिक घायल हुए थे।


ऑस्ट्रेलिया से भी चीन की दुश्मनी बढ़ी
कोरोना वायरस के उत्पत्ति की जांच का समर्थन करने के कारण चीन का ऑस्ट्रेलिया के साथ भी तनाव बढ़ गया है। दोनों देश एक दूसरे को जमकर खरी-खोटी सुना रहे हैं। चीन ने कुछ दिन पहले ऑस्ट्रेलिया को ‘अमेरिका का पालतू कुत्ता’ कहकर संबोधित किया था। इस पर ऑस्ट्रेलियाई प्रशासन ने कड़ी नाराजगी भी जताई थी। बता दें कि चीन उन वस्तुओं की सूची तैयार कर रहा है जिसे वह भारी मात्रा में ऑस्ट्रेलिया से आयात करता है। चीनी प्रशासन ऑस्ट्रेलिया से आने वाले मांस पर पहले ही रोक लगा चुका है।


ताइवान ने किया चीनी हस्तक्षेप का विरोध
ताइवान में हाल में ही राष्ट्रपति त्साई-इंग वेन के दोबारा चुनाव जीतने पर ड्रैगन बुरी तरह चिढ़ा हुआ है। चीन ने हाल में ही ताइवान की सीमा के पास अपने दो जंगी जहाज भेजे थे जिसके बाद ताइवान और चीन में तनाव और बढ़ गया। ताइवान ने हमेशा से चीन के एक देश दो सिस्टम कानून का विरोध किया है जिसके खिलाफ चीन ने सैन्य शक्ति के इस्तेमाल की धमकी दी है।


चीन विवाद मामला सुलझेगाः राजनाथ

नई दिल्ली। चीन के साथ लद्दाख सीमा पर तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भरोसा जताया है कि जल्द ही मामला सुलझा लिया जाएगा। दोनों देशों के बीच मिलिटरी और कूटनीतिक स्तर पर बातचीत जारी है। एक निजी न्यूज चैनल से बातचीत में राजनाथ ने कहा कि देश के पास आज सक्षम नेतृत्व है। देश का मस्तक नहीं झुकने देंगे। देश के लोगों को भी इसका पूरा भरोसा है। उन्होंने नेपाल के साथ भी लिपुलेख विवाद की बातचीत से सुलझने की उम्मीद जताई।


‘देश के स्वाभिमान पर चोट नहीं पहुंचेगा’
रक्षा मंत्री ने कहा, ‘मैं देश को आश्वासन देना चाहता हूं कि किसी भी सूरत में भारत के स्वाभिमान पर चोट नहीं पहुंचेगा।’ उन्होंने कहा कि भारत किसी को आंख नहीं दिखाना चाहता। बॉर्डर इन्फ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर चीन की आपत्तियों से जुड़े सवाल पर राजनाथ सिंह ने कहा कि यह हमारा हक है। उन्होंने कहा, ‘जो कर रहे हैं हम, अपनी सीमा में कर रहे हैं। इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार करना हमारा हक है।’


‘चीन भी चाहता है कूटनीतिक हल’
राजनाथ सिंह ने कहा, ‘पड़ोसी देशों के साथ अच्छे रिश्ते बनाकर चलने की भारत की स्पष्ट नीति रही है। हमारी यह कोशिश बहुत पहले से चलती रही है। कभी-कभी चीन के साथ ऐसी स्थितियां पैदा हो जाती हैं। मई के महीने में भी ऐसी स्थितियां पैदा हुई हैं। लेकिन सुलझाने की कोशिश जारी है। चीन के राष्ट्रपति की तरफ से भी स्पष्ट तौर पर कहा गया कि कूटनीतिक बातचीत के जरिए मामले का हल करना चाहते हैं।’


‘तनाव न बढ़े, भारत की भी यही कोशिश’
राजनाथ सिंह ने आगे कहा, ‘भारत की भी यही कोशिश है कि तनाव किसी भी सूरत में न बढ़े। मिलिटरी लेवल पर बातचीत जरूरी हो तो मिलिटरी लेवल पर और डिप्लोमैटिक लेवल पर जरूरी हो तो उस स्तर पर बातचीत करके सुलझाया जाना चाहिए। मिलिटरी और डिप्लोमैटिक लेवल पर चीन के साथ बातचीत चल रही है।’


‘किसी की भी मध्यस्थता का सवाल नहीं’
भारत-चीन के बीच किसी तीसरे की मध्यस्थता को लेकर राजनाथ ने कहा कि इसका सवाल ही नहीं है। उन्होंने कहा, ‘अमेरिका के रक्षा मंत्री से कल हमारी बातचीत हुई है। हमने उन्हें बताया कि भारत ने पहले से ही एक मैकेनिजम डिवेलप किया है जिसके तहत चीन के साथ कोई विवाद होता है तो उसे मिलिटरी और डिप्लोमैटिक बातचीत से सुलझाते हैं।’


‘LAC को लेकर अलग-अलग धारणाएं, इसलिए होता है ऐसा’
रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत-चीन की सीमा पर परसेप्शनल डिफरेंसेज रहे हैं। चीन कुछ स्थानों पर एलएसी को स्वीकार करता है लेकिन कुछ जगहों पर वह उससे आगे तक दावा करता है। ऐसा ही हमारे साथ भी है। यही वजह है कि कभी वे हमारे क्षेत्र में आ जाते हैं तो कभी हम भी वहां चले जाते हैं, जिस पर वह दावा करते हैं।


‘नेपाल छोटे भाई की तरह, बातचीत से सुलझा लेंगे विवाद’
नेपाल के साथ लिपुलेख विवाद को लेकर राजनाथ सिंह कहा कि इसे बातचीत के जरिए सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि नेपाल के साथ तो हमारा पारिवारिक मामला है। वह छोटे भाई की तरह है। बातचीत के जरिए हल निकालेंगे। हाल ही में नेपाल ने विवादित नक्शा जारी करते हुए लिपुलेख को अपना हिस्सा बताया था।


मैं एक बेकार की महिला हूँ: हासन

मुंबई। अभिनेत्री श्रुति हासन खुद को बेकार महिला कहती हैं। श्रुति ने जिमवियर में अपनी एक तस्वीर साझा की। उन्होंने इंस्टाग्राम स्टोरी पर तस्वीर साझा की है। अभिनेत्री ने तस्वीर पर लिखा है, मैंने आज सिर्फ एक घंटे के वर्कआउट के अलावा कुछ नहीं किया है, बेकार महिला।


अभिनेत्री ने हाल ही में साफ-सफाई करते हुए दिन बिताया था और उसी सफाई के बीच उन्होंने डांस के लिए भी कुछ समय भी निकाला था। इंस्टाग्राम स्टोरी वीडियो में वह काले रंग के टैंक टॉप में और नीले रंग के रबर ग्लोव्स पहने नजर आई थीं। क्लिप के कैप्शन में उन्होंने लिखा था, आज मेगा क्लीन डे है, लेकिन मैं हमेशा डांस करने के लिए थोड़ा समय निकाल लेती हूं।


सुरक्षाबलों ने 2 आतंकियों को किया ढेर

जम्मू-कश्मीर। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में पुलिस और स्थानीय सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है।कुलगाम के वामपोरा में पुलिस को खुफिया जानकारी मिली थी कि दो आतंकी छिपे हुए हैं, जिसके बाद उनको मार गिराया गया।


शुरुआती जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों को इनपुट मिला था कि दोनों आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। अब अधिकारियों ने साफ किया है कि दोनों आतंकी हिज्बुल मुजाहिदीन के हैं। दोनों की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। इनपुट मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ संयुक्त सर्च ऑपरेशन चलाया था। सूत्रों के मुताबिक वामपोरा इलाके में कम से कम दो आतंकी छिपे हुए थे, जो किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। लेकिन उससे पहले ही सुरक्षाबलों ने उनका खात्मा कर दिया। इससे पहले सुरक्षाबल मुठभेड़स्थल पर आतंकियों के घरवालों को भी बुलाकर लाए थे। आतंकियों के घरवालों ने अपील की थी कि वे सेना के सामने खुद को सरेंडर कर दें। घरवालों के मनाने के बाद भी आतंकियों ने सरेंडर करने से मना कर दिया, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने उन्हें ढेर कर दिया।


लॉकडाउन और कोरोना संकट के दौरान भी घाटी में आतंकवादी घटनाएं कम नहीं हुई हैं। आतंकी सुरक्षाबलों पर हमला करने और घाटी को अशांत करने की लगातार योजना बना रहे हैं. गुरुवार को भी सुरक्षाबलों ने ऐसी ही एक आतंकी घटना को पुलवामा में नाकाम किया था। 40 KG विस्फोटक-सुरक्षाबल निशाना, IG ने बताया पुलवामा में क्या था आतंकियों का प्लान।


कश्मीर घाटी में पाकिस्तान लगातार अस्थिरता फैलाने की कोशिश कर रहा है। जम्मू-कश्मीर में गुरुवार को पुलवामा जैसे आतंकी हमले की साजिश रची गई थी, जिसे सुरक्षाबलों ने नाकाम किया. अगर सुरक्षाबल सही वक्त पर अपने मिशन को अंजाम नहीं देते एक बार फिर पुलवामा अटैक दोहराया जा चुका होता। पुलवामा में टला बड़ा आतंकी हमला, कार में रखी IED डिफ्यूज, NIA करेगी जांच। सूत्रों का दावा है कि इस हमले के पीछे कुख्यात ग्लोबल आतंकी मसूद अजहर के भतीजे मोहम्मद इस्माइल उर्फ फौलजी बाबा का भी नाम सामने आ रहा है। मोहम्मद इस्माइल एक इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) एक्सपर्ट है।। आतंकी घटना में अब उसकी भूमिका की भी जांच की जा रही है।


ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ को लेकर दिया बयान

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड है। उन्होंने कहा कि आज हम डब्ल्यूएचओ के साथ अपने संबंधों को खत्म कर रहे हैं।


ट्रंप ने कहा, ’40 मिलियन डॉलर प्रति वर्ष का भुगतान करने के बावजूद डब्ल्यूएचओ पर चीन का नियंत्रण है, जबकि अमेरिका प्रति वर्ष 450 मिलियन डॉलर का भुगतान कर रहा है। WHO कोरोना को रोकने में शुरुआती स्तर पर नाकाम रहा, क्योंकि अब सुधार की जरूरत है इसलिए आज हम डब्ल्यूएचओ के साथ अपने संबंधों को खत्म कर रहे हैं।


ट्रंप ने कहा कि वह WHO को दिए जाने वाले फंड को अब पब्लिक हेल्थ की दिशा में काम करने वाले किसी और संगठन को देंगे।


ट्रंप ने कहा, ‘वर्षों से चीन की सरकार ने हमारे औद्योगिक रहस्यों को चुराने के लिए गलत तरीके से जासूसी की है. आज मैं हमारे राष्ट्र के महत्वपूर्ण विश्वविद्यालय अनुसंधान को बेहतर ढंग से सुरक्षित करने के लिए एक घोषणा जारी करूंगा और संभावित विदेशी जोखिमों के रूप में पहचाने जाने वाले चीन के कुछ विदेशी नागरिकों के प्रवेश पर रोक लगा दूंगा।


ट्रंप ने कहा, ‘हांगकांग के खिलाफ चीनी सरकार का नया कदम उसकी साख को कम कर रहा है. यह हांगकांग के लोगों, चीन के लोगों और वास्तव में दुनिया के लोगों के लिए एक त्रासदी है।


ट्रंप ने कहा, ‘चीन ने अपने एक देश, दो सिस्टम के वादे को एक देश, एक सिस्टम से बदल दिया है। इसलिए अब मैं अपने प्रशासन को निर्देश दे रहा हूं कि हांगकांग को अलग और स्पेशल ट्रीटमेंट देने वाली नीतिगत छूटों को समाप्त करने की प्रक्रिया शुरू करें।


उन्होंने कहा, ‘हम हांगकांग के लिए ट्रैवल एडवाइजरी में संशोधन करेंगे.’ उन्होंने कहा कि वुहान वायरस के चीन के कवर-अप ने इस बीमारी को पूरी दुनिया में फैलने की इजाजत दी, जिससे एक वैश्विक महामारी पैदा हुई, जिसने 1 लाख से ज्यादा अमेरिकी जीवन और दुनिया में लाखों लोगों की जान ले ली. चीनी अधिकारियों ने डब्ल्यूएचओ के प्रति अपनी रिपोर्टिंग के दायित्वों की अनदेखी की।


राजस्थान में 49 नए कोरोना पॉजिटिव

जयपुर। राजस्थान में शनिवार सुबह 49 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें कोटा, उदयपुर और चूरू में 8-8, बाड़मेर में 4, धौलपुर, झालावाड़, भीलवाड़ा और करौली में 3-3, झुंझुनू, भरतपुर और जयपुर में 2-2,  गंगानगर, बारां और हनुमानगढ़ में 1-1 संक्रमित मिला। जिसके बाद प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 8414 पहुंच गई। वही, जयपुर में एक मौत भी दर्ज की गई। जिसके बाद मौतों का कुल आंकड़ा 185 पहुंच गया।


10वीं-12वीं की परीक्षाएं जून में होंगी, 31 के बाद भी रात्रि कर्फ्यू जारी रहेगा


सीएम अशोक गहलोत ने शुक्रवार को देर रात बड़े ऐलान किए। पहला- राजस्थान बोर्ड की 10वीं-12वीं की बची हुई परीक्षाएं जून में होंगी। जल्द परीक्षा का टाइम टेबल जारी किया जाएगा। दूसरा- 31 मई के बाद भी प्रदेशभर में रात्रिकालीन कर्फ्यू जारी रहेगा। यानी शाम 7 से सुबह 7 बजे तक इमरजेंसी सेवाओं के अलावा सबकुछ बंद रहेगा। तीसरा- गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सुप्रीम कोर्ट की भावना के अनुरूप निजी अस्पतालों में कोरोना के निशुल्क इलाज के लिए एक एडवाइजरी जारी की जाए। जो भी अस्पताल इसका उल्लंघन करे, उसके विरुद्ध कार्रवाई का प्रावधान हो। गहलोत ने सीएम निवास पर कोरोना संक्रमण को लेकर हुई उच्च स्तरीय बैठक के दौरान ये अहम फैसले किए।


भीलवाड़ा में इतने रेल टिकट निरस्त हुए कि ग्राहकों को चुकाने के लिए अजमेर मंडल से 16 लाख रुपए मंगवाने पडे़
भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन को लेकर दिलचस्प स्थिति सामने आई है। यहां रिजर्वेशन करवाने से ज्यादा टिकट कैंसिल करवाने वालों की संख्या है। शुक्रवार को ऐसे यात्रियों की काफी भीड़ रही। शुक्रवार को 370 रुपए का सिर्फ एक टिकट आरक्षित किया गया। जबकि चार लाख रुपए से अधिक के टिकट कैंसिल कराए गए। यह स्थिति भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन पर स्थित आरक्षण कार्यालय पर लगातार देखने को मिल रही है। भीलवाड़ा स्टेशन पर इतने अधिक रुपए नहीं होने से अजमेर मंडल से पहले तीन लाख रुपए और फिर 13 लाख रुपए मंगाने पड़े।


भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन पर बड़ी संख्या में टिकट कैंसल करवाने पहुंचे लोग।


जयपुर परकोटे के 885 मरीजों में से 801 निगेटिव
करीब दो महीने से बंद परकोटे को कर्फ्यू से राहत देने के लिए कमिश्नरेट ने प्लान तैयार किया है। सबसे बड़ी बात यह है जहां कोरोना पॉजिटिव अब नहीं रह गए हैं वहां के बाजारों को खोला जाएगा। छूट देते समय डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन का पूरा ध्यान रखा जाएगा। 15 मई के बाद मरीज आने वाले इलाकों को कंटेनमेंट जोन में बदलकर निगरानी की जाएगी कर्फ्यू लगाया जाएगा। 25 मार्च को रामगंज से कोरोना का पहला मामला सामने आने के बाद बीते 64 दिन में चारदीवारी से 885 मामले सामने आ चुके हैं। राहत की बात यह है कि इनमें 90 फीसदी यानी 801 मरीज निगेटिव हाे चुके हैं। फिलहाल यहां केवल 46 केस एक्टिव है। इनमें सबसे ज्यादा रामगंज में 20 कोरोना संक्रमित मरीज शेष बचे हैं जबकि 38 लोगों की कोरोना से मौत हो गई।


उदयपुर के 36 सहित अब तक 135 रोगी ठीक होकर घर लौटे
उदयपुर के एमबी के कोरोना वार्ड में भर्ती उदयपुर के 36 मरीजों को डिस्चार्ज कर दिया गया है। अब तक 135 रोगी घर जा चुके हैं। सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी ने बताया कि इन 135 में 130 रोगी कांजी का हाटा क्षेत्र के हैं। ग्रामीण क्षेत्र में महाराष्ट्र और गुजरात से आए प्रवासी श्रमिक कोरोना की चपेट में आते जा रहे हैं। हालांकि सभी प्रवासी संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर्स में ठहरे हुए हैं।राजस्थान: सभी 33 जिलों तक पहुंचा संक्रमण



  • प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 1936 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 1489 (इनमें 47 ईरान से आए), उदयपुर में 540, कोटा में 448, डूंगरपुर में 339, नागौर में 444, अजमेर में 329, पाली में 414, चित्तौड़गढ़ में 176, टोंक में 163, जालौर में 155, भरतपुर में 212, भीलवाड़ा में 139, सिरोही में 147, राजसमंद में 135, बांसवाड़ा में 85, झुंझुनूं में 123, सीकर में 187, जैसलमेर में 86 (इनमें 14 ईरान से आए), बाड़मेर में 96, बीकानेर में 103, चूरू में 104, झालावाड़ में 249 मरीज मिले हैं।

  • उधर, दौसा में 50, अलवर में 53, धौलपुर में 53, सवाई माधोपुर में 20, हनुमानगढ़ में 30, प्रतापगढ़ में 13, करौली में 15 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। बारां में 9 संक्रमित मिले हैं। श्रीगंगानगर में 6, बूंदी में 2 पॉजिटिव मिला। जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 14 लोग पॉजिटिव मिले।

  • राजस्थान में कोरोना से अब तक 185 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 93 (जिसमें चार यूपी से) की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 17, कोटा में 16, नागौर और अजमेर में 7-7, पाली में 6, भरतपुर में 5, चित्तौड़गढ़ और सीकर में 4-4, करौली और बीकानेर में 3-3, बांसवाड़ा, जालौर, अलवर और भीलवाड़ा 2-2, झुंझुनू दौसा, राजसमंद, उदयपुर, चूरू, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्य से आए चार व्यक्ति की भी मौत हुई है।


झालावाड़ में जेल भेजने से पहले जांच कराई तो तस्कर निकला पॉजिटिव 
हाईकोर्ट के आदेश के अनुसार जेल जाने वाले मुल्जिमों की कोरोना वायरस की जांच कराना अनिवार्य है। इसके तहत भवानीमंडी पुलिस द्वारा 25 मई को चॉकलेट कार्टन के नीचे छिपाकर 405 किलो डोडा चूरा तस्करी करके ले जाते एक ट्रक को पकड़ा था। उसमें सवार दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था, जो पंजाब प्रांत के थे। दोनों तस्कर डोडा चूरा जावर से लेकर आ रहे थे। एसपी राममूर्ति जोशी ने बताया कि हाईकोर्ट ने आदेश जारी किया है कि किसी भी मुल्जिम को जेल भेजने से पहले उसकी कोरोना जांच कराना अनिवार्य है। इस पर भवानीमंडी पुलिस द्वारा डोडा चूरा तस्करी के आरोप में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। इसमें एक तस्कर की जांच पॉजिटिव आई है। उसको अस्पताल के कैदी वार्ड में भर्ती किया है।


झारखंड में तेजी से बढ़ रहा है वायरस

रांची/धनबाद/जमशेदपुर। झारखंड राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है।  मरीजों के संख्या डबल होने का औसत 11,1 दिन हो गया है। अगर यही रफ्तार और ट्रेंड रहा तो अगले 15 दिन में मरीजों की संख्या 1650 के आसपास होगी। शुक्रवार रात एक दिन में सर्वाधिक 46 कोरोना संक्रमित मरीज मिले। 20 मई को जहां 42 संक्रमित मिले थे, वहीं आठ दिन बाद 29 मई को 46 संक्रमित मिले। इनमें सबसे अधिक पूर्वी सिंहभूम के 15, उसके बाद हजारीबाग के 10 और रामगढ़ के 9 मरीज शामिल हैं। कोडरमा में 7, धनबाद में 3 और बोकारो में 2 पॉजिटिव मिले हैं। नए संक्रमितों के मिलने के बाद राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या 477 से बढ़कर 523 पहुंच गई है। सभी मरीजों की कॉन्टैक्ट हिस्ट्री से पता चला है कि सभी प्रवासी हैं और हाल में ही विभिन्न राज्यों से पहुंचे हैं। संक्रमितों को उनके जिले में स्थित कोविड-19 अस्पताल में भर्ती किया गया है।


स्वास्थ्य सचिव बोले-15 दिन में हो सकते हैं 1650 मरीज
प्रवासी मजदूरों की घर वापसी और कोरोना के बढ़ते मामलों पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ. नितिन मदन कुलकर्णी कहा है कि झारखंड में महामारी फैलने की यही रफ्तार रही तो अगले 15 दिनों में यहां मरीजों की संख्या बढ़कर 1650 हो जाएगी। उन्होंने कहा कि झारखंड में कोरोना का ग्रोथ रेट 6.2 है। राज्य में अभी तक 57,876 टेस्ट किए गए हैं, जो प्रति मिलियन 1526 है। हालांकि टेस्ट की संख्या राष्ट्रीय औसत से करीब 900 पीछे है। झारखंड में सैपल पॉजिटिविटी रेट 0.82 फीसदी है। कुछ जिलों गढ़वा (5.8), बोकारो (5.0), कोडरमा (2.95) और रांची (1.55) शामिल है।


 तस्वीर जमशेदपुर के बारी नगर इलाके की। शुक्रवार को यहां कोरोना संक्रमित मिलने के बाद प्रशासन ने इलाके को सील कर दिया। साथ ही कोरोना वॉरियर्स के अलावा किसी के भी आने जाने पर पाबंदी लगा दी गई है।


रिकवरी रेट राष्ट्रीय औसत से बेहतर
स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि राज्य के कई जिलों में डबलिंग रेट में सुधार हुआ है। कई जिलों में अभी डबलिंग रेट 4-5 दिनों का है। इनमें धनबाद, बोकारो, लातेहार, हजारीबाग, कोडरमा, सिमडेगा, पूर्वी सिंहभूम और पश्चिमी सिंहभूम शामिल है। राज्य में 212 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 259 एक्टिव केस हैं। राज्य में रिकवरी रेट 44.5 का है, जो राष्ट्रीय औसत से बेहतर है।


शुक्रवार को मिले 46 संक्रमितों में 45 प्रवासी, 4 नाबालिग
46 नए संक्रमितों में एक कैंसर मरीज को छोड़ सभी प्रवासी हैं। रामगढ़ में मिले संक्रमितों में चार रामगढ़ प्रखंड, चार भरकुंडा और एक चितरपुर के हैं। सभी मुंबई, गुजरात, तमिलनाडु, बेंगलुरु से लौटे हैं। वहीं धनबाद में मिले तीन संक्रमितों में 12 साल का बच्चा और महिला भी हैं। बच्चा एग्यारकुंड का रहने वाला है, जो पुरुलिया से लौटा है। जबकि महिला गोविंदपुर की है, जो हरियाणा के गुरुग्राम से लौटी है। तीसरा मरीज बाघमारा का है और चेन्नई से लौटा है। पूर्वी सिंहभूम में मिले 15 संक्रमितों में सीतारामडेरा, मानगो, टेल्को व बागबेड़ा का एक-एक मजदूर है। इनमें से दो मुंबई से और एक-एक दिल्ली, चेन्नई व गुरुग्राम से लौटे हैं। कोडरमा में मिले 7 मरीजों में तीन नाबालिग हैं। बोकारो में मिला एक मरीज कैंसर पीड़ित है, जो गोमिया का है। दूसरा सिवनडीह का 65 साल का प्रवासी है, जो कोलकाता से लौटा है।


हिंदपीढ़ी के कंटेनमेंट जोन में 7150 घर हैं, 25 मई तक 38,643 स्क्रीनिंग
सरकार ने राज्य में आए प्रवासी श्रमिकों व हिंदपीढ़ी के लोगों की कोरोना जांच की रिपोर्ट शुक्रवार को हाईकोर्ट में चीफ जस्टिस डॉ. रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की बेंच को सौंपी। महाधिवक्ता राजीव रंजन ने कोर्ट को बताया कि हिंदपीढ़ी के कंटेनमेंट जोन में 7150 घर हैं। 25 मई तक 38,643 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। 8,440 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें 72 पॉजिटिव पाए गए थे। राज्य में 26 मई तक 4,31,711 प्रवासी श्रमिक झारखंड पहुंचे हैं। झारखंड पहुंचे प्रवासी श्रमिकों में से 29,645 का सैंपल लिया गया। इनमें 279 पॉजिटिव पाए गए हैं। कोर्ट सरकार के काम से संतुष्ट दिखा। कहा-इसमें अनावश्यक हस्तक्षेप करना उचित नहीं है। अमेकस क्यूरी को अपने सुझाव देने का निर्देश देते हुए सुनवाई एक सप्ताह के लिए स्थगित कर दी।


 तस्वीर हजारीबाग की। लॉकडाउन और कोरोना की वजह से कहीं भी स्कूल नहीं खुले हैं। लेकिन जिले सियरकोनी उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक रोजाना बच्चों को पेड़ की छांव में पढ़ाते हैं ताकि उनकी पढ़ाई न छूट जाए। इस दौरान वे बच्चों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हैं।


कोरोना अपडेट्स


रांची: जिले में अब तक कोरोना पॉजिटिव के 130 केस सामने आए हैं। कुल मरीजों में से 101 स्वस्थ हो चुके हैं। यहां चार मरीज की मौत हो चुकी है। एक मई के बाद यहां लौटे 21 प्रवासी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।


बोकारो: जिले में अब तक कोरोना पॉजिटिव के 22 केस सामने आए हैं। यहां एक मरीज की मौत हो चुकी है जबकि 14 स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके हैं। यहां लौटे प्रवासियों में अब तक तीन संदिग्ध की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।


धनबाद: जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 17 हो गई है। अब तक कुल 17 में से चार मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके हैं। जबकि, 13 मरीज कोविड-19 हॉस्पिटल में इलाजरत हैं।


पूर्वी सिंहभूम: जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 53 हो गई है। यहां से चार कोरोना संक्रमित स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। जिले में लौटे प्रवासियों में अब तक 22 लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया है। 


पश्चिमी सिंहभूम: जिले में अब तक 15 कोरोना संक्रमित मिले हैं।  यहां अब तक एक भी मरीज स्वस्थ नहीं हुआ है। जिले में लौटे प्रवासियों में अब तक 14 संदिग्धों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।


सरायकेला खरसावां: जिले में चार कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई है। जिले में भी प्रवासी मजदूर के माध्यम से कोरोना की इंट्री हुई है। एक भी मरीज अब तक स्वस्थ नहीं हुआ है। बाहर से लौटे प्रवासियों में अब तक चार लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।


गढ़वा: जिले में अब तक 57 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। यहां कुल 17 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं जबकि बाहर से लौटे प्रवासियों में 52 संदिग्धों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। 


गुमला: जिले में अब तक 20 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। यहां एक भी मरीज स्वस्थ नहीं हुआ है। बाहर से लौटे प्रवासियों में से 17 की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।


लोहरदगा: जिले में अब तक तीन कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। तीनों मरीज बाहर से लौटे प्रवासी हैं। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद तीनों मरीजों को कोविड-19 सेंटर में रखा गया है।


सिमडेगा: जिले में कोरोना के कुल 10 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। इनमें दो संक्रमित ठीक हो चुके हैं। यहां लौटे प्रवासियों में अब तक आठ संदिग्धों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।


पीएम ने देशवासियों के नाम खुला पत्र लिखा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने के बाद अपने देशवासियों के नाम एक खुला पत्र लिखा है। इस पत्र में प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में धैर्य और जीवटता को बनाए रखने का आह्वान किया है।


प्रधानमंत्री मोदी ने अपने देशवासियों से कहा है कि आने वाले दिनों में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अपना धैर्य बनाकर रखें। पत्र में लिखा है कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लंबी है और हम विजय पथ पर चल पड़े हैं। इसके लिए देशवासियों से अपील है कि वो सरकार की ओर से जारी दिशा निर्देश का पालन करें।प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से अपील करते हुए कहा है कि अगर नियमों का पालन नहीं किया जाएगा तो जीवन में हो रही असुविधा, जीवन पर आफत के रूप में बदल सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने दूसरे कार्यकाल के लिए 30 मई 2019 को शपथ ली थी।


पत्र में मोदी ने कोविड-19 की वजह से पूरे देश में लागू लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों, कारीगरों, छोटे उद्योगों, दुकानदारों, रेहड़ी पटरी पर ठेला लगाने वालों को हुई परेशानियों का जिक्र किया और कहा कि इनकी परेशानियां दूर करने के लिए सभी मिलकर प्रयास कर रहे हैं।कोरोना वायरस के प्रति लोगों को जागरुक करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस बात का ध्यान सबको रखें कि जीवन में हो रही असुविधा, जीवन पर आफत में न बदल जाए। इसके लिए हर भारतीय को दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा।उन्होंने कहा कि अभी तक हमने धैर्य और जीवटता बनाए रखना है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत आज अन्य देशों की तुलना में ज्यादा संभली हुई स्थिति में है। ये लड़ाई लंबी है लेकिन हम विजय पथ पर चल पड़े हैं और विजयी होना हम सबका सामूहिक संकल्प है।


योजना-नितियों पर चितंन करें, सरकार

नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक वर्ष पूरा होने पर शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार को अपनी कार्यशैली और नीतियों पर गंभीर चिंतन करते हुए कामकाज की समीक्षा करनी चाहिए।


मायावती ने एक ट्वीट श्रंखला में कहा कि केंद्र सरकार का पहला वर्ष विवादों से भरा रहा है। सरकार को जनहित और देश हित में इस पर सोच विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा, ” ऐसे में केन्द्र सरकार को अपनी नीतियों एवं कार्यशैली के बारे में खुले मन से जरूर समीक्षा करनी चाहिये और जहाँ पर इनकी कमियाँ रहीं हैं, उनपर इनको पर्दा डालने की बजाय, उन्हें दूर करना चाहिये।


बसपा की इनको देश और जनहित में यही सलाह है।” बसपा नेता ने कहा कि केन्द्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार का एक वर्ष पूरा होने पर आज अनेक दावे किए गए हैं किन्तु वे जमीनी हकीकत और जनता की सोच – समझ से दूर न हों तो बेहतर है। वैसे इनका यह कार्यकाल अधिकतर मामलों में काफी विवादों से घिरा रहा है जिनपर इनको देश और आमजनहित में जरूर गम्भीरता से चिन्तन करना चाहिये। मायावती ने कहा, ” जबकि देश की लगभग 130 करोड़ जनसंख्या में से अधिकतर गरीबों, बेरोजगारों, किसानों, प्रवासी श्रमिकों और महिलाओं आदि का जीवन तो यहाँ पहले से भी अधिक अति-कष्टदायक ही बना हुआ है, जो अति-दुःखद है तथा जिसे जल्दी से भुलाया नहीं जा सकता है।


राजद नेताओं को जिद करना महंगा पड़ा

पटना। बिहार के गोपालगंज जिले में तिहरे हत्याकांड में आरोपी जदयू विधायक पप्पू पांडेय की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना, प्रदर्शन और गोपालगंज जाने की जिद करना राजद नेताओं के लिए महंगा पड़ गया। लॉकडाउन उल्लंघन के आरोप में राजद के शीर्ष नेताओं सहित 92 लोगों के खिलाफ पटना के सचिवालय थाना में मामला दर्ज किया गया है।


पुलिस के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि बिना प्रशासन की अनुमति के 10 सकरुलर रोड से अपने काफि ले के साथ गोपालगंज जाने की कोशिश करने और लॉकडाउन के उल्लंघन करने के आरोप में राजद के शीर्ष नेताओं सहित 92 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।


अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार की देर रात सचिवालय थाने में राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, पूर्व मंत्री व विधायक अब्दुल बारी सिद्दीकी सहित 32 नामजद व राजद के 60 अज्ञात कार्यकर्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।


उल्लेखनीय है कि विधायक पप्पू पांडेय की गिरफ्तारी की मांग को लेकर तेजस्वी यादव राजद के अन्य विधायकों के साथ गोपालगंज जाने वाले थे, लेकिन प्रशासन ने इसकी इजाजत नहीं दी। इसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास के बाहर कई घंटों तक हाईवोल्टेज ड्रामा चलता रहा था।


इधर, गोपालगंज के हथुआ थाना में भी गोपालगंज के बरौली विधानसभा क्षेत्र से राजद विधायक मोहम्मद नेमतुल्लाह और जिला राजद अध्यक्ष राजेश कुशवाहा सहित 13 नामजद व 60 अज्ञात राजद कार्यकर्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।गोपालगंज के पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार तिवारी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि इन पर लॉकडाउन का उल्लंघन करने का आरोप है। ये सभी लोग रूपनचक गांव में शुक्रवार को धरने पर बैठे थे।


चिंताः महाराष्ट्र से लौटे 7 वायरस संक्रमित

सितारगंज। ऊधमसिंह नगर जिले में बुधवार को सात और लोगों के कोरोना पॉजिटिव मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। ये लोग मुंबई से ट्रेन से आए थे। इन सभी को पंतनगर के पटेल भवन में क्वारंटीन किया गया था। जिले में अब कोरोना पॉजिटिव केसों की कुल संख्या 57 हो गई है। कुमाऊं मंडल के लिए महाराष्ट्र का मुंबई शहर कोरोना का वाहक बनता जा रहा है। बुधवार को भी जिले में मुंबई से लौटे सात लोग कोरोना पॉजिटिव मिले। यह सभी लोग विगत 21 मई को महाराष्ट्र से ट्रेन के जरिए हरिद्वार पहुंचे थे।


जहां से बसों से राधा स्वामी सत्संग भवन लाया गया था। मुंबई से पहुंचे सभी लोगों को पंतनगर में संस्थागत क्वारंटीन किया गया था। इनमें 78 लोगों के 24 मई को सैंपल लिए गए थे। सीएमओ डॉ. शैलजा भट्ट ने कहा कि बुधवार को इनमें सात लोग कोरोना पॉजिटिव निकले। इनमें पिथौरागढ़ जिले के 30 वर्षीय व 28 वर्षीय दो युवक,सितारगंज के 30 वर्षीय, 17 वर्षीय और 32 वर्षीय तीन युवक, चंपावत जिले का 28 वर्षीय एक युवक और खटीमा का 27 वर्षीय एक युवक शामिल हैं। बता दें कि जिले में अब तक मिले कुल 57 पॉजिटिव केसों में सर्वाधिक 36 केस महाराष्ट्र के हैं।


महाराष्ट्र से आए लोगों में से पिछले चार दिन में 22 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। जिले में लगातार बढ़ रही कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या से स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन के सामने चुनौती बढ़ गई है। जिले से अब तक करीब साढ़े तीन हजार लोगों के सैंपल जांच के लिए हल्द्वानी लैब भेजे जा चुके हैं।


थाने के अंदर कॉन्स्टेबल ने की आत्महत्या

चूरू। जिले के राजगढ़ थानाप्रभारी सीआई विष्णुदत्त विश्नोई के सुसाइड केस का मामला अभी ठंडा नहीं हुआ था कि दौसा के सैंथल थाने में शुक्रवार को एक हेड कांस्टेबल ने आत्‍महत्‍या कर ली। बताया जा रहा है कि देर शाम हेड कांस्टेबल गिरिराज प्रसाद ने थाने के अंदर फंदा लगाकर अपनी जान दे दी। घटना का पता चलते ही थाने और पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। गिरिराज प्रसाद को तत्काल दौसा जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्‍टरों ने उन्‍हें मृत घोषित कर दिया। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस के आला अधिकारी सैंथल थाने और जिला अस्पताल में पहुंचे।


दौसा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह चौहान जिला अस्पताल में पहुंचे और पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। अभी तक पुलिस अधिकारियों ने मीडिया के सामने किसी भी तरह का कोई बयान नहीं दिया है। दौसा जिला अस्पताल के डॉक्टर अमित ने बताया कि सैंथल थाने से एक हेडकांस्टेबल को शुक्रवार शाम को इमरजेंसी यूनिट में लाया गया था। उन्‍हें मृत घोषित किया गया हैं। फांसी के फंदा लगाए जाने के निशान हैं, ऐसे में फंदा लगाकर जान देने की आशंका है।


अक्टूबर 2019 से सैंथल थाने में थे कार्यरत


रात को एएसपी अनिल सिंह और डीएसपी नरेंद्र सैंथल थाने पहुंचे और मौका मुआवना किया। डीएसपी नरेंद्र ने बताया कि सुसाइड करने वाले हेड कांस्टेबल गिरिराज प्रसाद अक्टूबर 2019 से सैंथल थाने में कार्यरत थे। मृतक के पास से अभी तक कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। गिरिराज अलवर जिले के श्यामपुरा गांव के रहने वाले थे। उनके परिजन दौसा पहुंच गए हैं। शनिवार को गिरिराज प्रसाद के शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। अभी तक आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।


राजगढ़ थानाप्रभारी सीआई विष्णुदत्त विश्नोई ने किया था सुसाइड


उल्लेखनीय है कि गत सप्ताह चूरू के राजगढ़ थाने में थानाप्रभारी सीआई विष्णुदत्त विश्नोई ने अपने सरकारी क्वार्टर में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। विश्नोई ने आत्महत्या से पहले दो सुसाइड नोट लिखे थे। उसमें विश्नोई ने खुद के दवाब में होने की बात लिखी थी। विश्नोई के सुसाइड के बाद से ही शेखावाटी में राजनीति गरमाई हुई है।


सांसद किरोड़ीलाल मीना ने जताई दबाव में होने की संभावना


घटना के बाद राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीना ने अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर हेड कांस्टेबल के भी किसी के दबाव में होने की आशंका जताई है। उन्होंने सीएम से मांग करते हुए कहा कि मामले की जांच सीबीआई से करायी जाए।


10 राज्यों के किसान टिड्डी दल से प्रभावित

नई दिल्ली। करीब 10 राज्यों में किसानों के लिए खतरा बन चुके टिड्डी को नियंत्रण के लिए आखिर मोदी सरकार क्या कर रही है। कैसे इसके नियंत्रण की योजना बनी है। शुक्रवार को दिन भर लोकस्ट वार्निंग आर्गेनाइजेशन के अधिकारी कृषि भवन में मंथन करते रहे। बताया गया है कि सरकार ने कृषि यांत्रिकीकरण उप-मिशन के तहत करीब 800 ट्रैक्टर इसके स्प्रे के लिए किराए पर लिए हैं। सूत्रों का कहना है कि हेलिकॉप्टरों से भी कीटनाशक का छिड़काव किया जा सकता है।


केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भी टिड्डी नियंत्रण अभियान की समीक्षा की है। एक पखवाड़े के भीतर ब्रिटेन से 15 स्प्रेयर खरीदे जाएंगे। इसके बाद 45 और स्प्रेयर खरीदने का प्लान है. हेलीकाप्टर का भी इस्तेमाल किया जा सकता है. केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी के मुताबिक ऊंचे पेड़ों और दुर्गम स्थानों पर कीटनाशकों के छिड़काव के लिए ड्रोन की तैनाती की जाएगी. इसके लिए डीजीसीए ने मंजूरी दे दी है। नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि राज्यों के साथ मिलकर सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। राज्यों को एडवायजरी जारी की जा चुकी है. क्षेत्रवार 11 टिड्डी नियंत्रण कक्ष स्थापित कर विशेष दलों की तैनाती की गई है। वाहनों, ट्रैक्टरों और कीटनाशकों की खरीद के लिए 14 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता राजस्थान को दी गई है। गुजरात को 1.80 करोड़ रुपये देने का प्रस्ताव पास हुआ है।


प्रभावित क्षेत्र


केंद्रीय कृषि मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक अब तक मध्यप्रदेश के मंदसौर, नीमच, उज्जैन, रतलाम, देवास, आगर मालवा, छतरपुर, सतना व ग्वालियर, राजस्थान के जैसलमेर, श्रीगंगानगर, जोधपुर, बाड़मेर, नागौर, अजमेर, पाली, बीकानेर, भीलवाड़ा, सिरोही, जालोर, उदयपुर, प्रतापगढ़, चित्तौडगढ़, दौसा, चुरू, सीकर, झालावाड़, जयपुर, करौली एवं हनुमानगढ़, गुजरात के बनासकांठा और कच्छ, उत्तरप्रदेश में झांसी और पंजाब के फाजिल्का जिले में 334 स्थानों पर 50,468 हेक्टेयर क्षेत्र में हॉपर और गुलाबी झुंडों को नियंत्रित किया गया है। वर्तमान में राजस्थान के दौसा, श्रीगंगानगर, जोधपुर, बीकानेर, म.प्र. के मुरैना और उ.प्र.के झांसी में अपरिपक्व गुलाबी टिड्डियों के झुंड सक्रिय हैं।


जरूरतमंदों की निरंतर सेवा करते स्वयंसेवक

स्वयंसेवक निरन्तर कर रहे जरूरतमंदों की मदद

 

हरदोई। लॉक डाउन में लगातार जरूरतमंदों की मदद करना हो या शहर में सैनिटाइजेशन का कार्य को सिनेमा चौराहे पर रोड पेंटिंग बनाना हो या बस्तियों में टोली बनाकर जरूरतमंदों तक राशन पहुंचाने का कार्य हो पूरे लॉक डाउन मैं निरंतर सामाजिक कार्य कर रही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ बीते कई दिनों से रेलवे प्रशासन का सहयोग करती नजर आ रही है इसी क्रम में कल आने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन में स्वयंसेवकों द्वारा भोजन फल एवं शीतल जल आदि का वितरण किया गया।

इस मौके पर मौजूद स्वयंसेवक संघ के जिला प्रचारक तुलसीराम जी ने बताया की राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा निरंतर जरूरतमंदों में हर संभव मदद पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है उन्होंने बताया कि लगभग प्रत्येक बस्ती में बस्ती प्रमुख के माध्यम से टोलियां बनाकर जरूरतमंदों में मदद पहुंचाई जा रही है।

नगर शारीरिक शिक्षण प्रमुख राजवर्धन सिंह ने बताया कि स्वयंसेवकों द्वारा बीते कई दिनों से रेलवे स्टेशन पर आ रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए जरूरतमंदों में भोजन फल एवं पानी पहुंचाया जा रहा है जिसके लिए रेलवे प्रशासन को बहुत-बहुत धन्यवाद भी व्यक्त करते हुए श्री सिंह ने बताया कि रेलवे प्रशासन का यह कार्य अत्यंत सराहनीय है श्री सिंह ने कहा की शारीरिक सहयोग के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को याद करने के लिएरेलवे प्रशासन का हृदय से बहुत-बहुत धन्यवाद।

इस मौके पर सह नगर कार्यवाह धीरेंद्र जी, हर्षवर्धन जी, दिलीप जी एवं समाजसेवी कर्ण सिंह राणा आदि स्वयंसेवकों ने रेलवे प्रशासन का सहयोग किया।

संक्रमित की मृत्यु के बाद एरिया किया सील

चिरगॉव कोरोना पॉजिटिव म्रत्यु के बाद हॉटस्पॉट एरिया को सील किया गया।

चिरगॉव कस्बा वासी एव ग्रामीण क्षेत्र वासियो, जान है तो जहान है।

झांसी। जनपद के कस्बा चिरगॉव में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद सील किये गये मुहल्ला हवेलीपुरा, पुराना बाजार, बढ़ापुरा, कोटपुरा, जुगयाना मुहल्ला में पुलिस की शक्ति बढ़ाने का कार्य निर्धारित समय तक किया गया है।। चिरगॉव कस्वा मे बेबजह मोटर साइकिल पर तीन तीनबैठकर घूमने वालो एव मुहल्लों में बैठने थूकने व मास्क नही पहनने वालो पर सोशल डिस्टेंडिंग का उल्लंघनन करने वालो पर  सख्ती से दंडात्मक कार्यवाही व एफआईआर किये जाने जैसी कार्यवाही किये बगैर कंट्रोल होना असम्भव नजर आ रहा है।चिरगॉव पुराना बाजार हॉटस्पॉट सील होने के बाबजूद मार्केट में सोशल डिस्टेंडिंग एव मास्क न पहनने का उल्लघन मार्केट में वर्तमान मेंदेखा जा सकता है।जिससे कोरोनो संक्रमित फेलने का खतरा बढ़ने की आशंका बनी हुई है।

कृपया चिरगॉव में समाज सेवी संस्थाओं एव गणमान्य बुद्धजीवियों  परामर्शदाताओं महानआत्माओ कनिष्ठ विरिष्ट एव माताओ बहिनो एव समस्त ग्रामीण क्षेत्र वासियो से मेरी आप सब अपील है।कि बगैर द्रेशभावना से हटकर शासन प्रशासन एव पुलिस का आदेश एव सहयोग प्रदान करे ।। क्योकि जान है तो जहान है।

उमेश शर्मा

 

ईटों से सिर कुचलकर, महिला की हत्या

रोहतक। सेक्टर 2 के एक निजी स्कूल में एक महिला का शव बरामद किया गया है। महिला की हत्या सिर को ईंट से कुचलकर की गई है। इस हत्याकांड में पुलिस ने एक युवक को भी हिरासत में लिया है। वहीं हत्या की वजह महिला के कई लोगों के साथ प्रेम संबंध बताए जा रहे हैं।
जानकारी के मुताबिक मृतक महिला गुजरात की रहने वाली थी और यहां पर सफाई का काम करती थी। स्कूल में पिछले हफ्ते ही काम पर रखा गया था। महिला अन्य घरों में भी काम करती थी। महिला का शव रोहतक के सेक्टर 2 में स्थित निजी स्कूल में मिला है।


घटना की जानकारी मिलते ही डीएसपी महेश कुमार और पुलिस टीम पहुंची। इसके बाद महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया है। वहीं पुलिस इस हत्याकांड के पीछे की वजह तलाश रही है। मौके पर पहुंचे डीएसपी महेश कुमार ने कहा कि इस मामले में उन्होंने एक युवक को हिरासत में लिया गया है और प्रारंभिक जांच में पता चला है कि मृत महिला क्मणी गुजरात की रहने वाली थी। यह लोगों के घरों में पहले सफाई का काम करती थी। फिलहाल एक सप्ताह से इस स्कूल में रह रही थी। उन्होंने बताया कि महिला के कई लोगों के साथ प्रेम संबंध थे। उन्हीं प्रेम संबंधों के चलते इस हत्या की घटना को अंजाम दिया गया है।


जिस तरीके से खून से सनी ईंट शव के पास पड़ी है और सिर में गहरी चोट के निशान हैं, उससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सिर पर वार करके महिला की हत्या की गई है। डीएसपी महेश कुमार ने कहा कि फिलहाल, पुलिस मामले की जांच करने में जुट गई हैं और जल्द ही पूरे मामले का पटाक्षेप कर दिया जाएगा।


बिहार में बड़ा संक्रमण, संख्या हुई 3359

मनोज सिंह ठाकुर


पटना। बिहार में कोविड-19 का बढ़ता संक्रमण थम नहीं रहा है। राज्य में कोरोना मरीजों की तादाद काफी तेजी से बढ़ रही है। कोरोना से जुड़ी हुई इस वक्त एक ताजा अपडेट सामने आई है। इस नए अपडेट के मुताबिक राज्य में 84 और कोरोना मरीज मिले हैं। इसके साथ ही कोरोना मरीजों की संख्या 3359 हो गई है। बिहार के पटना और रोहतास दो ऐसे जिले हैं, जहां कोरोना आंकड़े की डबल सेंचुरी पूरी हो चुकी है।


स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी इस ताजा आंकड़े के मुताबिक 84 नए मरीज मिले हैं। इसके साथ ही बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या 3359 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी इस ताजा अपडेट के मुताबिक पटना से 4, भागलपुर से 25, नालंदा से 2, नवादा से 2, औरंगाबाद से 2, बांका से 4, कैमूर से 10, भोजपुर से 8, पूर्णिया से 8, अरवल से एक, मधुबनी से 7, खगड़िया से 2, रोहतास से एक, अररिया से एक, शेखपुरा से 2, लखीसराय से 2, किशनगंज से एक, अरवल से एक और समस्तीपुर से नए मामले सामने आये हैं।


बिहार में अब तक 18 की मौत
बिहार में अब तक कोरोना से 18 लोगों की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा आंकड़े के मुताबिक शुक्रवार को दो लोगों की मौत की पुष्टि की गई है। एक दिन में दो लोगों की मौत का रिकार्ड है। बिहार में पटना, भोजपुर, वैशाली और खगड़िया के रहने वाले दो-दो मरीजों की मौत हो गई है। इसके अलावा जहानाबद, नालंदा, समस्तीपुर, मुंगेर, सीतामढ़ी, मोतिहारी, सारण (छपरा), सासाराम, सीवान और बेगूसराय के रहने वाले एक-एक मरीजों की मौत हो चुकी है।


रेल से कटकर दी जान, सपा की घोषणा

लखीमपुर खीरी। सपा नेता क्रान्ति कुमार सिह ने मृतक भानू के घर जाकर परिजनों को संत्वना। समाजवादी पार्टी के द्वारा दिये गये एक लाख रूपये की घोषणा की जानकारी, व सपा प्रदेश कार्यालय को खाता नम्बर से लेकर पूरा परिवार का सिजरा कराया उपल्ब्ध। 

मृतक भानू ने रेल गाडी से कट कर कल दी थी जान। 

मरने की वजह एक सुसाइट नोट मे लाकडाउन के चलते अर्थिक तंगी, बेरोजगारी का कारण बताया था।

उसी को लेकर आज सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश  यादव  पार्टी  की तरफ से एक लाख रूपये देने की घोषणा की है। 

वही सपा नेता क्रान्ति कुमार सिह ने  से घटना के  बारे बात की गयी तो उन्होने सरकार की नाकामी की बात की है । कि सरकार जल्दबाजी मे फैसले ले रही है। जिसके कारण जनता को पिसना पड रहा है। आज भानू जैसी अगर घटने घट रही है तो इसके पिछे सरकार की सिर्फ नाकामी है। 

सपा नेता ओ मे क्रान्ति कुमार सिह के साथ युवा सपा नेता अजीत यादव सोनू , रानू बाजपाई, अवरार ,सुमित आदि लोग  परिजनों से मिले ।

रंगदारी मांगने वाला शातिर गिरफ्तार

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। मुरादनगर थानाक्षेत्र में अधिवक्ता से दो लाख रुपए की रंगदारी मांगने का मामला प्रकाश में आया है। जिसके चलते पुलिस ने रंगदारी मांगने वाले शातिर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया हैं।
आपको बताते चलें कि बृहस्पतिवार उपेंद्र कुमार त्यागी(अधिवक्ता) पुत्र स्वर्गीय सुखबीर सिंह त्यागी निवासी थाना मुरादनगर के मोबाइल फोन पर कॉल करके एक व्यक्ति द्वारा दो लाख रुपए की रंगदारी मांगी की गई थी। जिसको मद्देनज़र रखते अधिवक्ता ने थाने में तहरीर देते हुए पुलिस को अवगत कराया था और फिर मुकदमा दर्ज कराया था।


हालांकि, जिसके बाद पुलिस ने दर्ज मुकदमें के अनुकूल कानूनी-कार्रवाई करते हुए रंगदारी मांगने वाले शातिर आरोपी को शुक्रवार सुबह गिरफ़्तार कर लिया हैं। पुलिस को पकड़े गए शातिर आरोपी ने अपना नाम अंकित उर्फ कल्लू पुत्र राजवीर निवासी थाना मुरादनगर गाज़ियाबाद बताया हैं। वहीं, थाना मुरादनगर प्रभारी निरीक्षक ओमप्रकाश सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि एक अधिवक्ता से मोबाइल फोन पर धमकी देते हुए दो लाख रुपए की रंगदारी मांगने का मामले सामने आया था। जिसके उपरांत थाना मुरादनगर पुलिस के उपनिरीक्षक सर्वेश कुमार और वरिष्ठ सिपाही राकेश कुमार ने रंगदारी मांगने वाले शातिर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया हैं। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी के विरुद्ध दर्ज मुकदमें के अनुकूल कानूनी-कार्रवाई करके इसको जेल भेज दिया हैं।

मानकहीन विद्यालयों की मान्यता खत्म करें

उत्तर प्रदेश शासन शिक्षा विभाग उन निजी पब्लिक स्कूलों की मान्यता समाप्त करें जिन निजी स्कूलों की नियमानुसार मानक पूरे नहीं है-अरुण गुर्जर

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश शासन शिक्षा विभाग एवं केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड दिल्ली उन निजी पब्लिक स्कूलों का नवीनीकरण न किया जाये। बल्कि उनकी मान्यता समाप्त कर देनी चाहिए साथ ही प्राथमिक शिक्षा की मान्यता कहाँ से प्राप्त की है। 

इन निजी पब्लिक स्कूलों में नियमानुसार सुरक्षा आदि की दृष्टि से मानक पूरे नहीं है । उत्तर प्रदेश अग्नि शमन विभाग से स्कूल भवन निर्माण से पूर्व एवं भवन निर्माण के उपरांत अग्नि शमन विभाग से अनापत्ति प्रमाण- पत्र जारी नहीं किया गया है । स्कूल भवन का मानचित्र स्वीकृत नहीं है, लोक निर्माण विभाग से भवन सुरक्षित प्रमाण- पत्र नहीं है, मानकों को छुपा कर निजी पब्लिक स्कूल के संचालन हेतु उत्तर प्रदेश शासन शिक्षा विभाग से संचालकों को शर्तों के साथ जारी अनापत्ति प्रमाण- पत्र अवैध रूप से प्राप्त किया है ।इन स्कूलों का भू-उपयोग परिवर्तन स्कूल के पक्ष नहीं है । यदि उक्त तथ्यों की निष्पक्ष तरीके से जांच हो जाये तो दुध का दुध पानी पानी हो जाएगा तथा निजी पब्लिक स्कूलों में चल रहे भ्रष्टाचार का खुलासा भी हो जाएगा । यह बात राष्ट्रीय सूचना अधिकार टास्क फोर्स ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेश शर्मा ने कही उन्होंने कहा कि निजी पब्लिक स्कूल के संचालक उत्तर प्रदेश में केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड दिल्ली से सम्बंद्धता रखने वाले पब्लिक स्कूल के संचालक उत्तर प्रदेश शासन शिक्षा विभाग द्वारा अनापत्ति प्रमाण- पत्र शर्तों की धज्जियां उड़ाते हुए अवैध एवं अनाधिकृत तरीके से भारी शिक्षा शुल्क स्कूल में वसूल कर रहे हैं ? जब कि शिक्षा, लाभ का व्यापार नहीं है ? उत्तर प्रदेश शासन शिक्षा विभाग द्वारा जारी अनापत्ति प्रमाण- पत्र की शर्तों के अनुसार निजी पब्लिक स्कूलों में कम से कम 10 प्रतिशत स्थान मेधावी और पिछड़े एवं निर्बल आय वर्ग के बच्चों के सुरक्षित रहेंगे तथा उनसे उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद एवं बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित विधालयों में विभिन्न कक्षाओं के लिए निर्धारित शुल्क से अधिक शुल्क नहीं लिया जायेगा । लेकिन पब्लिक स्कूल के संचालक नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए स्कूल में अध्यन कर रहे बच्चों के अभिभावकों से अवैध अनाधिकृत तरीके से भारी भरकम शिक्षा शुल्क वसूल की जा रही है ? उत्तर प्रदेश शासन शिक्षा विभाग द्वारा जारीअनापत्ति प्रमाण -पत्र की शर्तों के अनुसार स्कूल के सभी अध्यापक व अध्यापिकाएं प्रशिक्षित होंगे ।स्कूल के शिक्षण तथा शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को राजकीय सहायता प्राप्त शिक्षण विधालयों के कर्मचारियों को अनुन्य वेतनमानों तथा अन्य भत्तों से कम वेतन मान एवं अन्य भत्ते नहीं दिये जायेंगे ।

निजी पब्लिक स्कूलों में अध्यन कर रहे बच्चों के लिए सुरक्षा की दृष्टि से अग्नि शमन उपकरण ,रेंप , पानी का टैंक, डीजल चलने वाला पम्प ,बच्चों के लिए आवागमन की सुविधा, आदि नियमानुसार आपको पर्याप्त मात्रा में सुविधा नहीं मिलेंगी ।अधिकांश विधालयों में भवन निर्माण का संबंधित विभाग से मानचित्र स्वीकृत नहीं मिलेगा, यदि मानचित्र मिल भी गया तो विधालय भवन निर्माण मानचित्र के अनुरूप नहीं मिलेगा । यहाँ तक की प्राधिकरण विभाग से स्कूलों में भवन निर्माण का सम्पूर्ण प्रमाण - पत्र भी प्राप्त नहीं किया होगा ? जब कि बिना सम्पूर्ण प्रमाण पत्र प्राप्त किए भवन का उपयोग नहीं किया जा सकता है । उत्तर प्रदेश शासन से जारी उक्त शर्तों का पालन करना निजी पब्लिक स्कूलों में अनिवार्य है,जो निजी पब्लिक स्कूलों में मानकों का पालन नहीं हो रहा है । किसी भी समय उक्त शर्तों में से किसी भी शर्त का उल्लंघन होने पर उत्तर प्रदेश शासन शिक्षा विभाग द्वारा प्रदत्त अनापत्ति प्रमाण पत्र को वापिस लेने का भी प्रावधान है। अरुण गुर्जर अध्यक्ष गुर्जर वीर राष्ट्रीय महासभा ने जनहित निजी पब्लिक स्कूलों की जांच की मांग की है,दोषी पाये जाने पर स्कूल के संचालक के विरुद्ध वैज्ञानिक कार्रवाई होनी चाहिए ।

वायरस के खिलाफ जन-जागरण किया

अमुनिटी सिस्टम , सोशल डिस्टेंस और मास्क सेनिटाइजर के उपयोग से  होगा कोरोना महामारी से बचाव विजेन्द्र त्यागी*     अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। गाजियाबाद के सांसद और केन्द्रीय राज्यमंत्री भारत सरकार आदरणीय वी के सिंह की प्रेरणा से लोनी नगर पालिका के वार्ड नम्बर 27 शब्लू गढ़ी राम विहार में वार्ड सभासद विजयपाल बैसला के आवास पर बुजुर्गों ,जरूरतमन्दों ,और  कोरोना योद्धा सफाई कर्मी भाई और बहनों को मास्क और आर्सेनिक अल्बम 30 दवाई का निःशुल्क वितरण किया। जिससे सभी लोगो का अमुनिटी सिस्टम ठीक रहे और कोरोना महामारी से बच सके। इस अवसर पर बोलते हुए भाजपा नेता और सहयोग द हेल्पिंग हैण्ड संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजेन्द्र त्यागी ने सभी से सोशल डिस्टेंस का पालन और मास्क और सेनिटाइजर का प्रयोग करने का आह्वान किया और बताया कि देश में नरेन्द्र मोदी जी की सरकार और उत्तरप्रदेश में योगी जी की सरकार कोविड महामारी पर विजय प्राप्त करेंगे। विश्व में एक नया कीर्तिमान स्थापित कर विश्व को एक नई दिशा देंगे। इस अवसर सैकड़ो लोगो को लाभ प्राप्त हुआ और सभी ने इस कार्य की सराहना करते हुए मोदी और योगी सरकार को दिल से धन्यवाद दिया।


गाजियाबाद के शाहना हत्याकांड का खुलासा

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। थाना मुरादनगर पुलिस ने शाहना हत्याकांड में शामिल तीन आरोपियों को बृहस्पतिवार शाम ग्राम जलालपुर के तिराहे के पास स्थित रेलवे पुल के पास से गिरफ्तार किया हैं। पुलिस को इनके पास से एक अवैध चाकू, दो तमंचे मय कारतूस और एक मोटरसाइकिल बरामद हुई है, जोकि हत्याकांड में इस्तेमाल की गई थी।

 

आपको बता दें कि पुलिस को पकड़े गए आरोपियों ने अपना नाम अहद पुत्र आस-मोहम्मद, दूसरे ने समीर अंसारी पुत्र शहजाद और तीसरे ने शाहरुख पुत्र यूनुस निवासी थाना मुरादनगर गाज़ियाबाद बताया हैं। वहीं, दूसरी तरफ एक आरोपी तबस्सुम उर्फ भूरे अभी फरार हैं। पुलिस को पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उन्होंने पारिवारिक कलह के चलते शाहना की हत्या की है, जिसके जुर्म का इन्होंने इकबाल कर लिया हैं। दरअसल, वादिया तूबा ने अपनी मां शाहना की हत्या के संबंध में चार लोगों को नामजद करते हुए उनके विरुद्ध थाने में तहरीर दी थी। जिसके उपरांत थाना मुरादनगर पुलिस ने शाहना हत्याकांड के मुख्य आरोपी आस-मोहम्मद को तो तत्काल ही गिरफ्तार कर लिया था, जिसमें तीन आरोपी आहद, समीर अंसारी और तबस्सुम उर्फ भूरी फरार चल रही थी।


गौरतलब है कि पुलिस ने अपनी सक्रियता के चलते की जा रही गहन जांच के अनुकूल दो नामजद आरोपी आहद और समीर को तो गिरफ्तार किया ही, इसके अलावा एक और अन्य आरोपी शाहरुख को गिरफ्तार किया है, जिसका नाम पुलिस की जांच में प्रकाश में आए आया हैं।


थाना मुरादनगर प्रभारी निरीक्षक ओमप्रकाश सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि नामजद आरोपियों के अलावा पुलिस की जांच में एक और नाम प्रकाश में आया है, जोकि नामजद आरोपियों के साथ ही पकड़ा गया हैं। इसके अलावा उन्होंने बताया कि फिलहाल तबस्सुम उर्फ भूरी फरार चल रही हैं, जिसकी गिरफ्तारी का पुलिस प्रयास कर रही हैं। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के विरुद्ध दर्ज मुकदमें के अनुकूल कार्रवाई करके इनको जेल भेज दिया हैं। बता दें कि शाहना हत्याकांड में शामिल तीनों आरोपियों को पकड़ने वाली टीम में थाना मुरादनगर प्रभारी निरीक्षक ओमप्रकाश सिंह व उनकी टीम के वरिष्ठ उपनिरीक्षक अरविंद कुमार शर्मा, उपनिरीक्षक जितेंद्र कुमार, वरिष्ठ सिपाही सोमपाल सिंह, सिपाही दीपक कुमार और सिपाही राजीव कुमार मौजूद रहे हैं।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मई 31, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-292 (साल-01)
2. रविवार, मई 31, 2020
3. शक-1943, ज्येठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि- अष्टमी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:39,सूर्यास्त 07:18।


5. न्‍यूनतम तापमान 21+ डी.सै.,अधिकतम-39+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...