मंगलवार, 3 सितंबर 2019

मनी लॉन्ड्रिंग में शिवकुमार को किया गिरफ्तार

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को किया गिरफ्तार


बेंगलुरु। कर्नाटक कांग्रेस के दिग्गज नेता डीके शिवकुमार को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया है। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ये गिरफ्तारी हुई है। वे ईडी के रडार पर चल रहे थे। ईडी ने पिछले साल सितंबर में शिवकुमार और दिल्ली स्थित कर्नाटक भवन के एक कर्मचारी और अन्य के खिलाफ धनशोधन का मामला दर्ज किया था। ईडी का मामला आयकर विभाग द्वारा पिछले साल बेंगलुरु की एक विशेष अदालत के समक्ष दायर एक आरोपपत्र पर आधारित है जिसमें करोड़ों रुपये की कर चोरी और हवाला लेनदेन का आरोप लगाया गया था। बता दें कि डीके शिवकुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला भी चल रहा है। साल 2017 में इनकम टैक्स ने डीके शिवकुमार के 64 ठिकानों पर छापेमारी की थी।


उनके खिलाफ टैक्स चोरी की शिकायतों पर कार्रवाई हुई थी। उस दौरान डीके शिवकुमार और बाकी कांग्रेस नेताओं ने राजनीतिक बदले की भावना से कार्रवाई करने का बीजेपी पर आरोप लगाया था। डीके शिवकुमार कर्नाटक कांग्रेस के सबसे अमीर नेताओं में से एक हैं। 2013 में चुनाव आयोग को दिए हलफनामे में उन्होंने अपनी संपत्ति 250 करोड़ बताई थी, जो अब बढ़कर 600 करोड़ रुपये हो गई है।


बिजली दरों में 51 फ़ीसदी बढ़ोतरी

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश के करीब पौने तीन करोड़ बिजली उपभोक्ताओं को सरकार ने तगड़ा झटका दिया है। पावर कारपोरेशन को घाटे से उबारने की कवायद के तहत काफी जद्दोजहद के बाद सरकार ने मंगलवार को बिजली की कीमतों में 15 फीसदी तक की बढोत्तरी कर दी है। अधिकृत सूत्रों ने बताया कि उप्र विद्युत नियामक आयोग ने पावर कारपोरेशन के प्रस्ताव में मामूली फेरबदल कर आज शाम बिजली के दामों में 12 से 15 प्रतिशत की बढोत्तरी की है। इससे पहले पॉवर कारपोरेशन ने करीब 25 फीसदी बढ़ोतरी की मांग की थी। नियामक आयोग के फैसले के अनुसार शहरी क्षेत्र में बिजली दरों में 15 फीसदी की बढ़ोत्तरी की गयी है, वहीं औद्योगिक क्षेत्र में यह इजाफा 10 फीसदी का है। इसके अलावा सरकार ने ग्रामीण इलाकों में फिक्स चार्ज 400 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपए कर दिया है।


विद्युत उपभोक्ताओं को अब तक लगने वाला रेगुलेटरी सरचार्ज 4.8 प्रतिशत को समाप्त कर दिया गया है, वहीं रेगुलेटरी असेट 11852 करोड़ का उपभोक्ताओं को फौरी तौर पर लाभ नहीं दिया गया है। उन्होने बताया कि ग्रामीण अनमीटर्ड विद्युत उपभोक्ता जो पहले एक किलोवाट पर 400 रूपया देते थे अब उन्हें 500 रूपया देना पड़ेगा, जो फिक्स्ड चार्ज में 25 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है। ग्रामीण क्षेत्रों का अनमीटर्ड किसान जो 150 प्रति हार्सपावर अब उसे 170 प्रति हार्सपावर देना होगा यानी कि उसकी दरों में लगभग 14 प्रतिशत की बढोत्तरी की गयी है।सूत्रों ने बताया कि शहरी क्षेत्र के गरीबों को भी बिजली का तगडा झटका दिया गया है। शहरी बीपीएल अब तक एक किलोवाट तक 100 यूनिट तक तीन रूपये प्रति यूनिट का भुगतान करना था अब उसे सीमित कर एक किलोवाट तक 50 यूनिट तक 3 रूपया सीमित कर दिया गया है यानी कि शहरी बीपीएल यदि 100 यूनिट खर्च करेगा तो उसकी दरों में लगभग 36 प्रतिशत से ज्यादा की वृद्धि कर दी गयी है।


हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी रेखा के नीचे गुजर बसर कर रही आबादी के लिये फिलहाल 100 यूनिट तक तीन रूपये की दर रखी गयी है। इसी प्रकार प्रदेश के शहरी घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं की दरों में लगभग स्लैबवाइज लगभग 12 प्रतिशत की वृद्धि की गयी है। उद्योगो की दरों 5 से 10 प्रतिशत की वृद्धि की गयी है।  उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा ने कहा कि बिजली कंपनियों के दवाब में लिया गया फैसला महंगाई से जूझ रही गरीब जनता की परेशानियो में इजाफा करेगा। परिषद पूरे टैरिफ का अध्ययन कर रहा है बहुत जल्द ही नियामक आयोग में एक रिव्यू याचिका दाखिल करेगा।


कांग्रेस से मिली 'आप' की अलका लांबा

सोनिया गांधी से मिलीं 'आप' की अलका, ये हो सकता है अगला दांव


नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. अलका लांबा ने कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की है. आज हुई इस मुलाकात के बाद चर्चा का दौर फिर से शुरू हो गया है कि क्या अलका फिर अपनी पुरानी पार्टी कांग्रेस में वापसी की तैयारी कर रही हैं. इस बात से अब इनकार की संभावनाएं कम ही नजर आ रही हैं. ऐसा इसलिए भी है क्योंकि अलका लांबा पिछले कुछ समय से आम आदमी पार्टी आलाकमान से नाराज चल रही हैं. यही नहीं उन्होंने कई बार अप्रत्यक्ष तौर पर कांग्रेस में जाने की ओर इशारा भी किया है. हालांकि, ये देखना दिलचस्प होगा आखिर अलका लांबा कांग्रेस में वापसी कब करेंगी?


चिकित्सा मंत्री के सुझाव का स्‍वागत करें

हम दो, हमारा एक। राजस्थान के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा के इस सुझाव का स्वागत हो। अमल भी होना चाहिए।

विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर आयोजित एक समारोह में राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि अब हम दो हमारे दो से काम नहीं चलेगा। अब हम दो हमारा एक की आवश्यकता है। भारत की आबादी जितनी तेजी से बढ़ रही है, उससे 2024 तक हम चीन को पीछे छोड़ देंगे। चीन में तो हम दो हमारा एक की नीति पर अमल हो गया, इसलिए वहां तेजी से जनसंख्या नियंत्रण का काम हो रहा है, जबकि भारत में जनसंख्या का विस्फोट हो रहा है। ऐसा नहीं कि सरकार चिकित्सा सुविधाओं में विस्तार नहीं करती, लेकिन यह विकास और विस्तार बढ़ती आबादी के सामने छोटा पड़ जाता है। सरकार ने आज ग्राम पंचायत स्तर तक सुविधाएं उपलब्ध करवाई हैं, इसकी वजह आबादी का लगातार बढऩा है। अब समय आ गया है तब जनसंख्या नियंत्रण पर मजबूत फैसले लेने होंगे। लोगों को देश हित में हम दो हमारा एक की नीति पर अमल करना चाहिए। इसमें कोई दो राय नहीं कि रघु शर्मा ने देशहित में जो सुझाव दिया है, उस पर अमल होना चाहिए। भले ही हमारा देश धर्म निरपेक्ष हो और यहां हर व्यक्ति को अपने धर्म के अनुरूप रहने की इजाजत है, लेकिन नागरिकों को देशहित में भी सोचना चाहिए। हम चाहे कितना भी विकास कर लें, लेकिन इन विकास कार्यों का फायदा तभी होगा, जब जनसंख्या सीमित होगी। रघु शर्मा ने सही कहा है कि हमने नियंत्रण नहीं किया तो 2024 में भारत की आबादी चीन से ज्यादा होगी। सवाल उठता है कि जब चीन में हम दो हमारा एक की नीति पर अमल हो सकता है, तो फिर भारत में क्यों नहीं? राष्ट्रहित पहले और सरकार के फैसलों को मानने की अनिर्वायता की वजह से आज चीन हर क्षेत्र में अमरीका के मुकाबले में आकर खड़ा हो गया है। बल्कि अमरीका को चुनौती दे रहा है। अभी तो चीन ने बढ़ती हुई आबादी पर रोक लगाने का काम किया है। भविष्य में जब चीन की आबादी घटने लगेगी तो चीन, अमरीका से आगे निकल जाएगा। यानि देश की मजबूती जनसंख्या से जुड़ी हुई है। चीन में भी बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय रहता है, लेकिन चीन का मुस्लिम समुदाय स्वेच्छा से सरकार के फैसलों पर अमल करता है। हम दो हमारा एक की नीति पर मुस्लिम समुदाय भी अमल कर रहा है। राजस्थान के चिकित्स मंत्री रघु शर्मा का बयान देशहित में माना जाना चाहिए। 
एस.पी.मित्तल


अजमेर में लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे


अजमेर के भदूण में लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे। 
शहीद हेमराज जाट का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्का


अजमेर के भदूण गांव में शहीद हेमराज जाट का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया गया। हेमराज भारतीय सेना में ग्रेनेडियर्स के पद पर नियुक्त थे। एक सितम्बर को पाकिस्तान की ओर से की गई गोलाबारी में हेमराज शहीद हो गए। हेमराज पूंछ सेक्टर में तैनात थे। चूंकि हेमराज की मौत पाकिस्तान की गोला बारी में हुई, इसलिए अंतिम संस्मकार के मौके पर लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए। हालांकि गांव का माहौल गमगीन रहा, लेकिन उपस्थित युवाओं में पाकिस्तान के प्रति गुस्सा था। हर कोई चाहता था कि पाकिस्तान को करारा सबक सिखाया जाए। भदूण गांव अजमेर जिले की रूपनगढ़ तहसील में है। भौगोलिक दृष्टि से यह तहसील नागौर और जयपुर जिले की सीमा से जुड़ी हुई है। इसलिए तीन जिलों के ग्रामीण अंतिम संस्कार में उपस्थित थे। चूंकि 23 वर्षीय हेमराज जाट अविवाहित थे, इसलिए उनकी माताजी श्रीमती दाखा देवी को उत्तराधिकारी माना गया है। हेमराज का अंतिम संस्कार भदूण के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के परिसर में किया गया। अब इस विद्यालय का नाम शहीद हेमराज के नाम पर होगा। किशनगढ़ के विधायक सुरेश टाक ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से परविार को 25 लाख रुपए की नकद राशि, एक मकान तथा 25 बीघा जमीन इंदिरा गांधी नहर परियोजना में उपलब्ध होगी। अंतिम संस्कार के मौके पर प्रदेश के चिकित्सामंत्री रघु शर्मा, सांसद भागीरथ चौधरी, विधायक सुरेश रावत, राम निवास गावडिय़ा, अजमेर डेयरी के अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी, पूर्व मंत्री श्रीमती नसीम अख्तर, देहात कांग्रेस के जिलाध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह राठौड़, कांग्रेस नेता इंसाफ अली, आमेर के विधायक सतीश पुनिया तथा अजमेर प्रशासन के बड़े अधिकारी मौजूद रहे। 
एस.पी.मित्तल


क्रिकेटर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी के विरुद्ध गिफ्तारी वारंट। 
पत्नी हसीन जहां ने गंभीर आरोप लगाए। बीसीसीआई भी कटघरे में । 

कोलकाता की एक अदालत ने भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य मोहम्मद शमी के विरुद्ध गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है। शमी इन दिनों वेस्टइंडीज में टेस्ट सिरीज खेल रहे हैं, लेकिन उन्हें 15 दिनों में अदालत में सरेंडर करना होगा। कोर्ट के इस फैसले से क्रिकेट टीम में खलबली मच गई है। कोर्ट ने शमी की पत्नी हसीन जहां द्वारा दायर मुकदमे में वारंट जारी किया है। पत्नी ने शमी पर अत्याचारी और चरित्रहीन होने का आरोप लगाते हुए अपनी तीन वर्ष की बेटी और स्वयं के भरण पोषण की मांग की है। पत्नी का कहना है कि उन्होंने बीसीसीआई के अधिकारियों को भी अपनी दर्द भरी कहानी और शमी के करतूतों की जानकारी दी थी, लेकिन अधिकारियों ने शमी का ही साथ दिया मैंने बीसीसीआई को वो सारे सबूत दिए जिनसे पता चलता है कि शमी के अनेक लड़कियों से अवैध संबंध हैं। हसीन जहां ने कहा कि हमारे देश में क्रिकेटर को युवाओं का आईकन माना जाता है। लेकिन शमी जैसे क्रिकेटर तो पूरे देश को बदनाम कर रहे हैं। पत्नी ने बताया कि मैंने पुलिस में जो शिकायत दर्ज करवाई थी उसमें शमी के रिश्तेदारों ने भी बयान दर्ज करवाएं हैं। मेरी शिकायत को शमी के रिश्तेदारों ने सही बताया। पुलिस ने निष्पक्ष जांच कर अदालत में मुकदमा दायर किया। लेकिन अदालत के बार बार बुलावे के बाद भी शमी उपस्थित नहीं हुए, इसलिए अब गैर जमानती वारंट जारी किया गया है, हसीन जहां ने कहा कि मोहम्मद शमी की जगह क्रिकेट टीम में नहीं बल्कि जेल में है। उन्होंने कहा कि मैं अंतिम सांस तक संषर्घ करूंगी और शमी जैसे धोखेबाज व्यक्ति को जेल भिजवाउंगी। मुझे न्यायपालिका और अल्लाह पर भरोसा है। 
एस.पी.मित्‍तल


माइनिंग के खिलाफ भीलवाड़ा के ग्रामीणों मे रोष


जिंदल की घातक माइनिंग के खिलाफ भीलवाड़ा में ग्रामीणों का बेमियादी पड़ाव। कांग्रेस बचाव में और भाजपा विरोध में उतरी।

लोहा और स्टील के अंतर्राष्ट्रीय कारोबारी जिंदल परिवार के खिलाफ राजस्थान के भीलवाड़ा में कलेक्ट्रेट के बाहर बेमियादी पड़ाव तीन सितम्बर से शुरू हो गया। भीलवाड़ा नगर परिषद की सीमा में आने वाले पुर क्षेत्र के ग्रामीणों का आरोप है कि जमीन से लोहा निकालने के लिए जिंदल परिवार की कंपनी जो ब्लास्टिंग करती है उससे मकानों में दरार आ रही है। नए मकान भी क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। बारबार शिकायत करने के बाद भी प्रशासन कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। यही वजह रही कि 3 सितम्बर को भीलवाड़ा के 50 से भी ज्यादा संगठनों से जुड़े हजारों लोग एकजुट हुए और यहां पड़ाव शुरू कर दिया। लोगों ने जिंदल कंपनी के प्रति जोरदार गुस्सा है। भाजपा के विधायक अवस्थी का आरोप है कि राज्य की कांग्रेस सरकार जिंदल कंपनी को बचा रही है। सरकार का संरक्षण होने की वजह से जिंदल कंपनी मनमाने तरीके से ब्लास्टिंग कर रही है। जिन लोगों के मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं, उन्हें कंपनी की ओर से मुआवजा मिलना चाहिए। वहीं भीलवाड़ा शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रामपाल शर्मा कहना है कि जिंदल कंपनी तो भाजपा के शासन में भी ब्लास्टिंग कर खनन कार्य करती थी, तब भाजपा के नेताओं ने आवाज क्यों नहीं उठाई। अब भी यदि जिंदल कंपनी की माइनिंग घात है तो केन्द्र सरकार कंपनी का लाइसेंस निरस्त कर दे। केन्द्र सरकार की अनुमति से ही जिंदल कंपनी भीलवाड़ में बड़े पैमाने पर खनन कार्य कर रही है। असल में पुर क्षेत्र के लोगों की अपनी समस्या और पीड़ा है, लेकिन भाजपा और कांग्रेस के नेता अपना अपना राजनीतिक स्वार्थ पूरा कर रहे हैं। हालांकि जिंदल परिवार कांग्रेस से जुड़ा हुआ है, लेकिन नवीन जिंदल जैसे कारोबारी सभी राजनीतिक दलों से मधुर संबंध रखते हैं। यही वजह रही कि भाजपा की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के रहते भीलवाड़ा में जिंदल परिवार को कभी कोई परेशानी नहीं हुई। खनन जैसा कारोबार सत्ता के संरक्षण के बगैर हो भी नहीं सकता। देखना होगा कि पुर क्षेत्र के नागरिकों के महापड़ाव का अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार पर कितना असर होता है। 
विधायक और उपाध्यक्ष से दुव्र्यवहार: 
प्राप्त जानकारी के अनुसार महापड़ाव स्थल पर अवस्थी और नगर परिषद के उपाध्यक्ष मुकेश शर्मा के साथ कुछ लोगों ने दुव्र्यवहार किया। 
एस.पी.मित्तल


योगी ने दिए सुरक्षा बंदोबस्त के आदेश

ताजिए और पूजा पंडाल स्थलों की साफ सफाई सुनिश्चित कराई जाए
पूरी सुरक्षा के बंदोबस्त करने के आदेश
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुहर्रम और गणेश चतुर्थी के मौकों पर प्रदेश में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि अफवाहों को रोकने के लिए सख्त कदम उठाए जाएं। सीएम बोले ताजिए सड़क पर न रखे जाएं। अपने घर पर ही रखें।


त्योहारों पर कड़ी सुरक्षा बंदोबस्त के आदेश


योगी आदित्यनाथ अपने सरकारी आवास से वीडियो कांफ्रेंसिंग कर रहे थे। उन्होंने डीएम, एसएसपी व एसपी से कहा कि हर स्तर पर सुरक्षा प्रबंध चाकचौबंद हों। असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाये। योगी ने कहा कि विशेषकर अफवाहों को रोकने के लिए कड़ी तैयारी की जाये और त्योहारों को स्वच्छता, सुरक्षा व सुव्यवस्था से जोड़ें।


सभी धर्मों के पूजा स्थलों पर साफ सफाई के आदेश


मुख्यमंत्री ने कहा कि पूजा-पंडालों और मुहर्रम के ताजिया रखे जाने के स्थानों के आसपास साफ सफाई रहे। अधिकारी सुनिश्चित करें कि कहीं परंपरा के विरुद्ध कोई काम न हो। ताजिया की ऊंचाई भी तय करायें। लोग सड़क के बजाय अपने परिसर में ही ताजिया रखें। इससे व्यवस्था बेहतर चलेगी।


बच्चा चोरी में सोशल मीडिया पर रहे नजर


सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हर थाना स्तर पर पीस कमेटी की बैठक समय से करा ली जाये। बच्चा चोरी के संदेह में भीड़ की हिंसा की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए योगी ने त्योहारों पर सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखने का निर्देश दिया। कहा कि पेट्रोलिंग को और प्रभावी बनाया जाये। इसके अलावा उन्होंने मेरठ में पेट्रोल डीजल में मिलावट के मामले में गंभीर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।


विद्युत विभाग की निति खिलाफ हुकांर

लखनऊ। भारतीय किसान मजदूर संयुक्त यूनियन की एक पंचायत ग्राम भरो सवा गांव में संपन्न हुई। बैठक को  संबोधित करते हुए भारतीय किसान मजदूर संयुक्त यूनियन के युवा जिला अध्यक्ष बिन्धेश सिंह यादव विद्युत विभाग में व्यापक व्यक्त खामियों  की चर्चा करते हुए किसानों को आग्रह किया कि प्रदेश सरकार विद्युत बिल में जो बढ़ोतरी की है। वह किसानों के उत्पादन के अनुपात आलिम मूल्य से कई गुना ज्यादा है। भारतीय किसान यूनियन किसानों की जमानत समस्याओं को लेकर भारतीय किसान यूनियन 11 सितंबर को मोहनलालगंज के फुलवरिया पावर हाउस में विशाल धरना प्रदर्शन करने जा रही है। जिसमें सभी किसानों को वहां पहुंचने के लिए अग्रेषित किया है। बैठक में मौजूद भारतीय किसान यूनियन मंडल अध्यक्ष राजकुमार यादव व मंडल मीडिया प्रभारी शेर बहादुर यादव हिरदेश कुमार जिला सचिव एवं अन्य कई किसान नेता उपस्थित रहे।


बीपी सिंह राजपूत मंडल इंचार्ज लखनऊ उत्तर प्रदेश की मुख्य रिपोर्ट


आजम के लिए भावुक हुए मुलायम सिंह

आज़म पर बात करते हुए भावुक हुए मुलायम सिंह यादव 


लखनऊ। मुलायम सिंह यादव ने कहा कि आजम खान का विश्वविद्यालय चंदे से बनाया गया , मैंने भी मदद की । आज़म खान की तारीफ करते हुए कहा कि साधारण परिवार से होते हुए भी ईमानदारी से मेहनत की है । आज़म खान ने भीख मांग-मांग के विश्वविद्यालय तैयार किया है । सैंकड़ो बीघा जमीन की बेमानी नही की जा सकती मात्र 2 बीघा जमीन के लिए 27 मुकदमे लाद दिए गए हैं । विश्वविद्यालय से बाहर जमीन को आधार बनाकर 13 मुकदमे किए गए । डकैती , लूट जैसे मुकदमे किए गए ये पूरी तरह बदले की करवाई है । हम आज़म के पक्ष में हैं और रहेंगे । आज़म को अपमानित करना बंद करे सरकार । यादव ने कहा कि कल से सपा कार्यकर्ताओं से अपील है आंदोलन करें ,इस आंदोलन की अगुआई मैं स्वयं करूंगा । मुझपर भी तमाम मुकदमे झूठे लगाए गए थे मैं 1 दर्जन जेलों में रहा हूँ ।मीडिया से अपील की आज़म को बदले की करवाई के विरोध में लिखे,  खबर चलाये। मैं सपा नेताओं से बात करके आंदोलन की रूपरेखा तैयार करूंगा । बीजेपी के कुछ नेता सपा को आ।।ज़म के बहाने बदनाम करने चाहते हैं। आज़म अपने संघर्षों से ,विद्वता से देश के नेता बनें इसलिए भाजपा उनसे नाराज़ । मुलायम सिंह ने कहा कि जरूरत पड़ी तो प्रधानमंत्री मोदी से भी मिलूंगा । आज़म पर बात करते हुए भावुक हुए मुलायम सिंह यादव। आज़म पर जुल्म हम बर्दाश्त नही करेंगे । सपा के कार्यकर्ताओं को आंदोलन को तैयार रहने को कहा ।  
शिवपाल यादव मेरा भाई है।


रामायण पर विश्वास नहीं कर रहा है विपक्ष

नई दिल्ली। अयोध्या भूमि विवाद मामले की सुप्रीम कोर्ट में 6 अगस्त से शुरू हुई रोजाना सुनवाई का आज 18वां दिन है। सुनवाई के दौरान वकील अपनी-अपनी दलीलें जजों की बेंच के सामने रख रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संविधान पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है। आज मुस्लिम पक्ष की ओर से दलील दे रहे हैं। सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील राजीव धवन ने कहा कि सिविल सूट में तथ्यों और साक्ष्यों पर स्वामित्व और अधिकार को साबित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि विवादित संपत्ति पर हिंदुओं का विशेष स्वामित्व दिखाने के लिए एक भी सबूत नहीं है। इसपर जस्टिस बोबडे ने पूछा कि आप किसकी पात्रता के बारे में बात कर रहे हैं। इसपर राजीव धवन ने कहा कि जमीन के हिस्से की पात्रता की बात कर रहे हैं।


धवन ने कहा कि यदि अदालत देवता के स्वायंभु स्वरूप पर उनके तर्क को स्वीकार करती है, तो पूरी संपत्ति उनके पास जानी चाहिए। मुस्लिमों को कुछ नहीं मिलेगा। लेकिन वे इसपर अपना अधिकारी जता रहे हैं। राजीव धवन ने कहा कि स्तंभों की उपस्थिति दर्शाई गई है, लेकिन स्तंभ किसी विशेष धर्म का संकेत नहीं देते हैं। राजीव धवन ने कहा कि हिंदुओ का दावा है कि बीच वाले गुम्बद के नीचे ही रामजी का जन्म हुआ था। मुस्लिम पक्ष का कहना है कि आप कैसे कह सकते हैं कि राम वहीं पैदा हुए थे। इतना बड़ा स्ट्रक्चर है आप का दावा ठोस तथ्यों पर आधारित नहीं है। अगर थोड़ी देर को मान भी लें कि जन्म वहां हुआ तो परिक्रमा के दावे करने का क्या मतलब है?


पाक ने लगाया जासूसी का आरोप

 नई दिल्ली। कुलभूषण यादव, कथित उर्फ हुसैन मुबारक पटेल को पाकिस्तानी सरकार द्वारा उनपर बलूचिस्तान के पाकिस्तानी प्रांत में आतंकवाद और भारत की खुफिया एजेंसी, रिसर्च एंड एनालिसिस विंग के लिए जासूसी करने का आरोप लगाते हुए गिरफ्तार किया गया।


जबकि वास्तविकता यह है कि इन्हें ३ मार्च, २०१६ में ईरान से अगवा कर जेल में डाल दिया गया। तब से लेकर अभी तक कुलभूषण सुधीर जाधव एक जासूस के रुप में पाकिस्तान की जेल में हैं और पाकिस्तान मनमाने तरीके से उन्हें फांसी देने का विचार कर रहा है, जबकि भारतीय सरकार इनकी रिहाई के लिए अंतराष्ट्रीय स्तर पर न्याय की लड़ाई लड़ रहा है। आईये इनकी कुंडली से देखें कि आगे इनके जीवन का क्या रहेगा-


इनकी कुंडली मेष लग्न और कर्क राशि की है। लग्न भाव में आयेश व दशमेश शनि, पंचमेश सूर्य, द्वितीयेश व सप्तमेश (मारकेश) शुक्र और तृतीयेश व षष्ठेश बुध की युति है। लग्न भाव में चार ग्रहों का एक साथ होना, इस कुंडली को विशेष बना रहा है। कुंडली की खास बात यह है कि पंचमेश सूर्य उच्चस्थ है और नीचस्थ शनि के साथ है। अष्ट्म भाव पर अष्ट्मेश मंगल की दृष्टि आ रही हैं, इसलिए यह भाव विशेष बली हो गया है। जिस समय इन्हें गिरफ्तार किया गया उस समय इनकी मंगल महादशा में राहु की अंतर्द्शा प्रभावी थी। राहु स्वनक्षत्र शतभिषा में स्थित है और शनि की राशि में है।


पोप वेटिकन एक लिफ्ट में फंस गए

बिजली संबंधी परेशानी आ गई थी और वह लिफ्ट में फंस गए थे


फ्रांस। पोप फ्रांसिस उस वक्त 25 मिनट के लिए वेटिकन में एक लिफ्ट में फंस गए, जब उन्हे सेंट पीटर स्क्वायर में अपने साप्ताहिक संबोधित करना था। लोग उनका इंतिज़ार कर रहे थे। दमकल कर्मियों ने बड़ी मुश्किलों से उन्‍हें यहां से निकाला। जैसे ही थोड़ी देर बाद अचानक पोप फ्रांसीसी चर्च पहुंचे उन्होने खुद लोगों से देरी से आने की वजह बताई, जिसे जानकर लोग हैरान हो गए। फिर संबोधन से पहले मुस्‍कुराते हुए पोप ने कहा, “मैं आपसे क्षमा मांगता हूं”। क्योंकि उन्होंने लगभग 10 मिनट देरी से संबोधन शुरू किया। उन्‍होंने बताया कि वेटिकन में बिजली संबंधी परेशानी आ गई थी और वह वेटिकन के अग्निशमन अधिकारियों द्वारा मुक्त होने तक लिफ्ट में फंस गए थे।यहां मौजूद लोगों से उन्‍होंने कहा कि “फायर ब्रिगेड कर्मियों के लिए तालियां बजाई जाएं”।


वायु सेना में शामिल अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर

भारतीय वायुसेना में शामिल हुआ 8 अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर


पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर तैनात किया जा रहा तैनात


नई दिल्ली। पाकिस्तान सीमा से सटे पठानकोट एयरबेस पर भारतीय वायुसेना के एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ की मौजदूगी में पूजा अर्चना के बाद 8 अमेरिकी 'अपाचे एएच-64ई' लड़ाकू हेलिकॉप्टर को भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया।इस मौके पर वायुसेना के वेस्टर्न एयर कमांडर एयर मार्शल आर नांबियार भी मौजूद रहे। भारतीय वायुसेना में शामिल होने से पहले पूरे विधि-विधान से पूजा अर्चना की गई। भारतीय वायुसेना के पीआरओ अनुपम बनर्जी ने बताया, 'यह भारतीय वायुसेना में इस एयरक्राफ्ट का सेरोमोनियल इंडक्शन है। अभी तक हमारे पास 8 एयरक्राफ्ट हैं। 22 विमान चरणबद्ध तरीके से आएंगे और सभी को भारतीय वायुसेना में शामिल किया जाएगा। हमने पहले भी हेलीकॉप्टर पर हमला किया था, लेकिन यह विमान बहुत सटीकता के साथ घातक गोलाबारी करता है।'खास बात ये है कि अपाचे को पाकिस्तान से करीब 25 से 30 किलोमीटर दूर पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर तैनात किया जा रहा है. अपाचे दुनिया के सबसे आधुनिक लड़ाकू हेलिकॉप्टरों में एक है. दुश्मनों के खिलाफ अमेरिकी सेना भी इसे अपना संकटमोचक मानती है। इसके पीछे की वजह है, अपाचे की खासियत।


200 ग्राम गांजा के साथ दो गिरफ्तार

गाजियाबाद। मुरादनगर पुलिस ने गांजा बेचने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है lथाना प्रभारी ओपी सिंह ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि ईदगाह कॉलोनी स्थित चौड़ा खंडन पर एक युवक गांजा बेचने के लिए लेकर आया हैं। सूचना मिलते ही पुलिस ने छापामार का गांजा लेकर जा रहे दो लोगों को पकड़ लिया। थाना प्रभारी ने बताया की पकड़े गए युवकों ने अपना नाम सन्नू चौधरी निवासी सकको वाली गली मुरादनगर वह सिराज निवासी चौड़ा खड़ंजा मुरादनगर बताया हैं। पुलिस ने दोनों के पास से 1 किलो 200 ग्राम गांजा बरामद किया हैं।


अधिकारियों की उदारता से जनता त्रस्त

उत्तरपूर्वी दिल्ली। भजनपुरा चौक, चांदबाबा मज़ार से चाँदबाग़ पुलिया तक लगभग 80 फिट डबल रोड है। इस रोड को करावल नगर रोड भी कहते है! भजनपुरा चौक पर ओटो वाले कही भी खड़े हो जाते है! चौक से चाँदबाग़ पुलिया तक बीच डिवाइडर से लेंन से दोनो तरफ खड़ी गाड़िया केले के ट्रक ऑटो वालो ने पूरा रोड घेर रखा है । करावल नगर रोड एमसीडी में आता है। सभी आलाधिकारियो को बार-बार सूचित करने के बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई! इस रोड पर केले के ट्रक और केले के गोदाम वाले बीच रोड पर ही ट्रक लगा कर काम करते रहते हैं! जिस कारण इस रोड पर आने-जाने वाले वाहनों को सुबह-शाम जाम से झूझना पड़ता है! अधिकारियों की उदारता रही है इसके कारण इस रोड पर  अतिक्रमण किया जाता है। स्थानीय निवासियो और आने जाने वाले वाहनों को 80 फिट रोड का लाभ मिल सके! हमने ट्रेफिक इंस्पेक्टर भजनपुरा से बात की तो उन्होंने आस्वासन के अलावा कुछ नही किया! दो चार गााड़ियो का चालान बना दिया। परन्तु कुछ हासिल नही हुआ। करावल नगर रोड पर ध्यान न देने के असुविधा बनी रहती है। जनता की समस्या को ध्यान में रखते हुए इन गाड़ियों को इस रोड से हटाना आवश्‍यक है। ताकि आने जाने वाले स्थानीय निवासियों को इस रोड का पूरा लाभ मिल सके।


सरकार ने यातायात नियमों को किया सख्‍त

सरकार ने यातायात के नियमों को किया सख्त, तोड़ा यातायात का नियम तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना


तस्लीम बेनकाब


मुजफ्फरनगर। सरकार ने कानून में बदलाव करते हुए नशे की हालत में गाड़ी चलाने बिना हेलमेट ड्राइविंग, सीट बेल्ट का उपयोग न करने, बिना वैध ड्राइविंग लाइसेंस के ड्राइविंग करने, अनियंत्रित रफ्तार, सिग्नल की अनदेखी समेत हर गलती के लिए जुर्माने और सजा को सख्त बना दिया है। न्यू ट्रैफिक रूल्स ई-चालान मोटर वाइकल २०१९ देश में लापरवाही से ड्राइविंग करने के चलते हादसों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। आए दिन देश के अलग-अलग हिस्सों से सड़क दुर्घटनाओं के खौफनाक वीडियो सामने आते हैं। इनमें हर साल हजारों लोग असमय मौत के शिकार हो जाते हैं। हादसों पर नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार ने यातायात के नियमों को और सख्त करने का फैसला लिया है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मोटर व्हीकल एक्ट (संशोधन), २०१९ पेश किया था, जिसे संसद की मंजूरी मिल चुकी है। इस संशोधन प्रस्ताव को २०१७ में भी पेश किया गया था,लेकिन तब पास नहीं हो पाया। नए नियम रविवार से लागू हो गए हैं। हर गलती पर पहले से कई गुना जुर्मानाः सरकार ने कानून में बदलाव करते हुए नशे की हालत में गाड़ी चलाने ड्रंकीन ड्राइविंग, बिना हेलमेट ड्राइविंग, सीट बेल्ट का उपयोग न करने, बिना वैध ड्राइविंग लाइसेंस के ड्राइविंग करने, अनियंत्रित रफ्तार, सिग्नल की अनदेखी समेत हर गलती के लिए जुर्माने और सजा को सख्त बना दिया है।जानिए किस गलती के लिए अब कितना जुर्मानाः मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक बदलाव के बाद पकड़े जाने पर कार्रवाई में इस प्रकार बदलाव हुआ। मोटर व्हीकल एक्ट की विभिन्न धाराओं के हिसाब से जुर्माने की राशि बढ़ाई गई है। ये हैं कुछ अहम बदलाव,बिना लाइसेंस ड्राइविंग एक हजार रुपए से बढ़ाकर पांच हजार रुपए,बिना टिकट यात्रा   दो सौ रुपए से बढ़ाकर पांच सौ रुपए,शराब पीकर चलाना  दो हजार से बढ़ाकर दस हजार रुपए,ओवर स्पीड या रेस लगाना पर पांच सौ से बढ़ाकर पांच हजार रुपए, बिना परमिट का वाहन पांच हजार से बढ़ाकर दस हजार रुपए,सीट बेल्ट सौ से बढ़ाकर एक हजार रुपए। बिना इंश्योरेंस ड्राइविंग एक हजार से बढ़ाकर दो हजार रुपए कर दी। वहीं केंद्र सरकार ने पुराने कानून को सख्त बनाने के साथ-साथ इसमें कुछ नए नियम भी जोड़े हैं। ओवर साइज व्हीकल पांच हजार रुपए, इमरजेंसी वाहनों को जगह न देना दस हजार रुपए,नाबालिगों के अपराध पच्चीस हजार रुपए के साथ तीन साल की सजा।


लापरवाही के कारण जीना हुआ मुहाल

प्रधान की करतूतों की खुल रही है पोल।


बिजनौर। कोतवाली देहात ग्राम बनवारीपुर याकूब कालोनी नई बस्ती की हालत अपने आप पर आँसू बहा रही है।मुख्यमंत्री के आदेशो को पलीता लगाते हुए ग्राम प्रधान की करतूतो को ग्रामवासी उजागर करते हुए। जिला अधिकारी इस ओर तत्काल ध्यान आकर्षित करे। क्योकि गांव वालों को रास्ते पर चलना भी हुआ दुश्वार हो गया है। इस गन्दगी के कारण लोगो में गंभीर बीमारी फेल रही है । इस गंभीर बीमारी के लोग हो रहे है शिकार। वक्त रहते होती साफ-सफाई और नालों का सही निर्माण, तो नहीं होती ये गांव की ये हालत। इस प्रकरण में लिप्त प्रधान पर शख्त से शख्त कार्यवाही होनी चाहिए। ताकि इस तरह की परिस्तिथी से किसी भी गांव वालो को न गुजरना पड़े।


आवास विकास पर भ्रष्टाचार का आरोप

गाजियाबाद। लोनी स्थित उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद मंडोला विहार आवास योजना की उदारता के कारण कई किसान बिना वजह परेशान किए जा रहे हैं। इसके पीछे  अधिकारियों का निजीस्वार्थ जिम्मेदार है। साथ में कहीं ना कहीं परिषद में भ्रष्टाचार बहुत अधिक बढ़ रहा है। जिसके चलते 75 वर्षीय वृद्ध किसान रामपाल सिंह त्यागी ग्राम नानू ने अधिकारियों पर आरोप लगाया है कि पिछले 10 साल से रिश्वत ना देने के कारण आवास विकास परिषद के अधिकारियों के द्वारा परेशान किया जा रहा है। उनकी जमीन का मुआवजा नहीं दिया जा रहा है। रोज-रोज अधिकारियों के चक्कर काटने से तंग आकर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ शारीरिक,मानसिक और आर्थिक नुकसान पहुंचाने की सिकायत मुख्यमंत्री जनसुनवाई  पोर्टल पर दर्ज कराई है। 


अभिव्यक्ति साहित्य सम्मान दिया गया

देश मे धारा 370 ओर जनंसख्या नियंत्रण समेत अनेक गम्भीर मुद्दों के जागरण का कार्य रास्ट्रवादी जनप्रतिनिधियों और राष्ट्रवादी कवियों द्वारा किया गया।                              गौतमबुध नगर। ग्रेटर नोयडा स्‍थित काली मंदिर में अभिव्यक्ति मैगजीन के उदघाटन के अवसर पर मुख्य अतिथि भाजपा नेता और सहयोग द हेल्पिंग हैंड के राष्ट्रीय अध्य्क्ष विजेन्द्र त्यागी को देश में सैनिको के लिए विशेष तौर पर कार्यरत रहने पर अभिव्यक्ति साहित्य सम्मान 2019 संस्था की अध्यक्ष डॉ संगम वर्मा , कोएडिटर डालिया मुख़र्जी ,प्लस पंजा ने देकर  सम्मानित किया इस अवसर पर विजेन्द्र त्यागी ने बोलते हुये बताया कि राजनीतिक जीवन मे सम्मान तो कई बार मिले हैं। लेकिन साहित्यक संस्था द्वारा सम्मान मिलना गौरव की बात हैं । देश मे धारा 370 के समापन समेत अनेक गम्भीर विषयो  के जागरण की मांग राष्ट्रवादी जनप्रतिनिधियों के साथ साथ कवियों और लेखको का योगदान महत्वपूर्ण रहा।


चेयरमैन ने गणपति मूर्ति की स्थापित

गाजियाबाद। लोनी स्‍थित विकास कुंज मे स्थानीय लोगों के दुारा गणपति महाराज की मूर्ति को स्थापित किया गया। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी की लोनी नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती रंजीता धामा मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित रही। कालोनिवासियों ने माला पहनाकर रंजीता धामा का स्वागत किया। वैदिक-मंत्रोंच्चार के साथ गणपति जी की मूर्ति को स्थापित किया गया। इस अवसर पर लोनी नगर पालिका अध्यक्ष ने सभी को संबोधित करते हुये कहा कि गणपति विसर्जन के लिये लोनी क्षेत्र मे जगह-जगह पर गणपति बप्पा की मूर्ति स्थापित की जा रही है। लोग बेहद ही श्रद्धा व तन्मयता के साथ गणेश भगवान जी की पूजा अर्चना करेंगे तथा सभी लोग अपनी श्रदानुसार गणेशजी को घर मे लायेंगे तथा गणपति विसर्जन के दिन मूर्तियों का विसर्जन कर दिया जायेगा ।
ये त्यौहार ही है जो हम सभी के बीच रिश्तों को मजबूत बनाते है। लोगों मे मिलने-जुलने का भाव बढता है बच्चो में सेवा का भाव जाग्रत होता है। मै आप सभी को शुभकामनाएं देती हूँ कि गणपति महाराज आप सभी की मनोकामनाएं पूर्ण करें। आप लोग भी शान्तिपूर्वक सभी त्यौहार मनाये तथा अपनों के साथ मधुर संबंध बनाये रखे। इस अवसर पर सभासद अमित तोमर, संजीव मिश्रा, अरूण कुमार, जयशंकर कुमार, विभो मिश्रा, विजय मिश्रा, मनोज सिंह, मंजू देवी, रेणु देवी, अंजलि देवी, गीता देवी सहित सैकड़ों की संख्या मे कालोनी के सम्मानित लोग उपस्थित रहे।


संकीर्णता से ऊपर उठकर सोचे:योगी

राजनीतिक संकीर्णता से ऊपर उठकर सोचें : योगी


लखनऊ। पूर्व की सरकारों पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह भरोसा पहले भी कंपनियों को दिया जा सकता था। राजनीतिक संकीर्णता से ऊपर उठकर सोचें, तभी यह हो सकता है। सीएम ने कहा कि हमने पुलिस बजट 18 हजार करोड़ से बढ़ाकर 24 हजार 500 करोड़ रुपये कर दिया। अब हमारा प्रयास है कि उप्र पुलिस अकादमी लखनऊ में बने। प्रशिक्षण केंद्र और फोरेंसिक के संस्थान खुलें। भर्ती प्रक्रिया इस वर्ष के अंत तक पूरी करने का प्रयास होगा। उन्होंने अपराधियों का डेटाबेस तैयार करने के भी निर्देश दिए।


मुख्यमंत्री ने कहा कि कुंभ के पहले मुझे डराया गया कि इसके तुरंत बाद लोकसभा चुनाव हैं। कोई दुर्घटना हो गई तो लेने के देने पड़ जाएंगे। लेकिन, मुझे अपनी टीम पर भरोसा था। कुंभ सुरक्षा, स्वच्छता और व्यवस्था का दुनिया में मानक बना।


बढ़ गई हमारी जिम्मेदारी-पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि ढाई साल में इस बिल्डिंग के लिए तेजी से सरकार ने पैसा दिया, इसलिए यह बनकर तैयार हुई। पुलिस बजट भी बढ़ा दिया। अब हमारी जिम्मेदारी और बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर जल्द ही इमारत पर हैलीपैड भी बनाया जाएगा। इस प्रोजेक्ट में बेहतर सहयोग के लिए अपर महानिदेशक रेलवे संजय सिंघल और एडीजी सुजीत पांडेय को सम्मानित किया गया।


पंचायतों में भुगतान का नया तरीका

पंचायतों में नई भुगतान व्यवस्था 15 तक लागू हो


लखनऊ। पंचायतों में भुगतान की नई व्यवस्था लोक प्रबंधन तंत्र(पीएफएमएस)लागू न होने से विकास कार्य ठप हैं। जिला पंचायत अध्यक्षों ने सोमवार को विभागीय अधिकारियों से मिलकर मुख्यमंत्री को संबोधित पत्र उन्हें सौंपा। इस बीच प्रमुख सचिव ने नई व्यवस्था 15 सितंबर तक लागू करने के निर्देश दिए गए हैं।


जिला पंचायत अध्यक्षों का कहना था कि नई व्यवस्था लागू होने में विलंब से गांवों का विकास कार्य ठप है। पुराने भुगतान न होने से नये कार्यो की स्वीकृति कराने में भी बाधाएं आ रही है। प्रिया साफ्ट पर योजना व निर्माण कायरे को अपलोड कराने में देरी संसाधनों की कमी के कारण ही हो रही है। इसका नुकसान विकास कायरे पर नहीं हो पाए, ऐसी व्यवस्था भी की जानी चाहिए। उन्होंने कई स्थानों पर सीडीओ और अपर मुख्य अधिकारी में कार्य वितरण को लेकर आ रही व्यावहारिक मुश्किलों को दूर करने की मांग की। अधिकारियों से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में मेरठ के कुल¨वदर सिंह, बिजनौर के सोकेंद्र प्रताप सिंह, हापुड की अमृता कुमार, मुजफ्फरनगर से अजरुन तोमर, अमरोहा में भूपेंद्र सिंह, शामली से प्रसन्न चौधरी व राजेंद्र कुमार शामिल थे। प्रमुख सचिव ने कहा कि इससे संबंधित कार्यवाही 15 सितंबर तक अनिवार्य रूप से पूर्ण कर ली जाए।


दो दिन बाद मिला युवक का शव

संवाददाता-उसहैत


बदायूँ। इंस्पेक्टर अम्रतलाल ने दूसरे दिन गँगा मे डूबे नेत्रपाल के शव को ढूंढ निकाला परिजनों मे मचा कोहराम पीएम को भेजने की तैयारी। दो दिन पूर्व शनिवार को अटेना गँगा घाट पर अन्तेष्टि मे आये दो युवक डूब गये थे। डूबे युवक दोनो सिकंदर पुर थाना कँपिल जिला फरुखाबाद के रहने वाले थे। एक नेत्रपाल पुत्र पातीराम(22) व दूसरे आकाश पुत्र पप्पू कश्यप अटेना गँगा घाट पर अन्तिम सँस्कार मे शामिल होने आये थे। बताया जा रहा है अन्तिम सँस्कार के बाद दोनोँ युवक अन्य लोगों के साथ गँगा स्नान करने जल मे घुसकर नहाने लगे। वहीं दोनो तेज धार मे जाकर डूब गये। अन्य लोगो की चीख पुकार परकिसी युवक ने पुलिस को सूचना दे दी। वहीं सूचना पर इँस्पेक्टर अम्रतलाल  कटरा चौकी ईँचार्ज राजेश कुमार व हमराही अजय कुमार व अन्य पुलिस जवानों के साथ पहुंच गये और गोताखोरों की मदद से गँगा मे डूबे एक युवक आकाश पुत्र पप्पू कश्यप को जीवित निकाल लिया। वहीं दूसरे डूबे युवक नेत्रपाल पुत्र पातीरामको तमाम प्रयास के बाद थाना पुलिस को सफलता देर रात तक नहीं मिल सकी थी। उपजिलाधिकारी कुँवर बहादुर सिंह व इँस्पेक्टर अम्रत लाल व नायव तहसीलदार चौकी पुलिस नेत्रपाल के शव की निगरानी मे लगे थे। वहीं इँस्पेक्टर ने गँगा मे जाल डलवा दिया वही नेत्रपाल के शव को ढूंढने के लिये स्टीमरों को गँगा मे छुडवाये। वहीं दर्जन भर गोताखोर भी शव की निगरानी मे लगाये थे। परिजन व रिश्तेदार भी पहुंच गये थे बताया जाता है। इँसपेक्टर अम्रतलाल कटरा सहादतगँज चौकी पुलिस व नौली चौकी ईँचार्ज अजीत कुमार सिंह ने बुलाये गोताखोरों की मदद से दूसरे दिन मृतक नरेन्द्र के शव को देर रात सोमवार को निकाला जा सका है। वहीं परिजनों द्बारा शिनाख्त के बाद पीएम भेजने की तैयारी की जा रही है।


रामपुर में बीडी कारखानों पर छापेमारी

तुषार सक्सेना- ब्यूरो चीफ रामपुर
रामपुर जनपद में वाणिज्य विभाग ने पुलिस के साथ मिलकर तीन बीड़ी बनाने के कारखाने पर की छापेमारी 


रामपुर। तहसील टांडा के उपजिलाधिकारी ने बीड़ी के तीन कारखाने में की छापेमारी। बीड़ी के तंबाकू व पत्तों के सैंपल भी लिए गयेे। घनी आबादी में चल रहे तीनों कारखाना  संचालक करा रहे थे नाबालिक किशोर से काम।अधिकारियो द्वारा जीएसटी का बिल नहीं दिखाने पर नोटिस जारी किया गया। इस दौरान क्षेत्र में हड़कंप मचा रहा। उत्तर-प्रदेश के रामपुर तहसील टांडा में उस वक्त खलबली मच गई। जब अचानक एसडीएम टांडा और वाणिज्य विभाग की टीम ने तीन कारखाने में छापेमारी की। इन कारखाने में बीड़ी के तंबाकू और बीड़ी पत्ते के सैंपल भरे गए। वही से वाणिज्य विभाग की टीम ने पॉलिथीन और बीड़ी बनाने के उपकरण भी बरामद किए। बीड़ी बनाने की कारखाने से एक नाबालिक किशोर को कार्य करते हुए वाणिज्य विभाग की टीम ने पकड़ा है। इस मामले में तीनों कारखाने  स्वामियों के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है। बरामद प्रतिबंध पॉलिथीन के इस्तेमाल करने पर विभाग की टीम ने कार्यवाही करते हुए ₹27000हजार रुपये का जुर्माना दंड के रूप में भी लगाया।संचालक युसूफ नजाकत अली, अतीक अहमद तीनों के खिलाफ कई धाराओं में कार्यवाही की जा रही है। तीनों थाना टांडा तहसील के रहने वाले बताए जा रहे हैं। ऋचा कक्कड टीम की महिला अधिकारी ने बताया टांडा विधानसभा में 3 बीड़ी के कारखानों में छापेमारी की गई है। तंबाकू और बीड़ी के पत्ते को सैंपल के लिए भेज दिए गए हैं।


मनमोहन की भविष्यवाणी सच हुई

नई दिल्ली। लोग कह रहे है कि मनमोहन ने पहले ही बता दिया था कि नोट बन्दी से अर्थ व्यवस्था में 2%तक गिरावट आएगी।
आप जानते हो की अर्थ व्यवस्था में गिरावट का असली कारण है। नकली मुद्रा का चलन से बाहर हो जाना। नोट बन्दी के समय देश में आधिकारिक तौर पर करीब 15लाख करोड़ की मुद्रा रिजर्व बैंक द्वारा जारी थी जो वर्तमान में 21लाख करोड़ से ज्यादा हो चुकी है। उसके बाद भी महंगाई दूर दूर तक नहीं सोचिए क्यों? हकीकत है कि उस समय की कांग्रेस सरकार ने पैरलल यानी समानांतर मुद्रा चलाकर चिदम्बरम और वाड्रा जैसों को नया रिजर्व बैंक बना रखा था। जिसका परिणाम महंगाई और अर्थव्यवस्था की कृत्रिम तेजी थीं। चूंकि मनमोहन सिंह उस सरकार के सरगना थे इसलिए उन्हें ज्ञात था कि लगभग कितनी समानांतर मुद्रा इस देश में चलाई गई है और नोट बन्दी से कितनी मुद्रा चलन से बाहर होने वाली है इसीलिए उनका आंकलन लगभग सटीक बैठा है। अर्थव्यवस्था में सुस्ती आयी है। वरना कोई अन्य कारण नहीं कि देश की अर्थ व्यवस्था में सुस्ती आय जबकि सरकार लगभग 2लाख करोड़ की अतिरिक्त मुद्रा प्रतिवर्ष बाजार में जारी कर रही हो। एक मोटे अनुमान के अनुसार नोट बन्दी से पहले आधिकारिक से अधिक अनाधिकृत मुद्रा चलन में थी। मतलब आप समझिए की आपके हाथों में नोट नहीं बल्कि चिदम्बरम और वाड्रा के दिए कागज थे। जिनका मूल्य शून्य था।


अगस्त ने बढ़ाई सरकार की मुश्किल

नई दिल्ली। मोदी सरकार को एक के बाद एक आर्थिक मोर्चे पर बुरी खबरों का सामना करना पड़ रहा है। अब उसको जीएसटी की तरफ से बुरी खबर सुननी पड़ रही है। अगस्त महीने में जीएसटी के कलेक्शन में भारी गिरावट दर्ज की गई। देश का कुल जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ से नीचे पहुंचकर 98,202 करोड़ हो गया। इससे सरकार के लिए एक औऱ चिंता खड़ी हो गई। राजस्व विभाग ने आंकड़ा जारी करते हुए बताया कि जीएसटी कलेक्शन जुलाई में 1.02 लाख करोड़ रुपये था। जो कि अगस्त में 98,202 करोड़ घटकर पहुंच गयाा।


आज का दिन मुश्किल भरा रहेगा:धनु

राशिफल


मेष-राशि वालों के लिए आज का दिन आर्थिक रूप से शुभ रहेगा. कारोबार में प्रगति करेंगे! नए लोगों से मुलाकात होगी जिसका फायदा निकट भविष्य में मिलेगा! पूरे दिन लाभ के योग बने रहेंगे! घर-परिवार की स्थिति अच्छी रहेगी!जीवनसाथी के साथ संबंधों में मधुरता आएगी! सेहत का ख्याल रखें!


वृषभ-राशि के लोगों के लिए आज का दिन अच्छा रहेगा! अपने दुष्मनों को अपने कौशल से पराजित करेंगे! कार्यक्षेत्र पर नई ऊर्जा के साथ काम करेंगे! आर्थिक लाभ के पूरे योग हैं। व्यापार की स्थिति सुधरेगी! पारिवारिक जीवन खुशहाल रहे!


मिथुन-राशि वालों को आज सफलता हाथ लगेगी! नौकरीपेशा वाले लोगों को आज अपने काम की तारीफ मिलेगी! व्यापार में नए निवेश की योजना बनेगी! प्रभावशाली लोगों से मुलाकात होगी! सामाजिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी!लोगों के बीच पहचान बढ़ेगी! पारिवारिक जीवन यथावत रहेगा! जीवनसाथी से अनबन हो सकती है!


कर्क-राशि के लोगों के लिए आज का दिन लाभकारी है! व्यापार को नए मुकाम पर ले जाएंगे! साझेदारी व्यवसाय में प्रवेश के लिए अच्छा वक्त है! आमदनी में बढ़ोतरी होगी और आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा! पारिवारिक संबंधों में खटास आएगी! किसी रिश्तेदार से अनबन हो सकती है!जीवनसाथी का पूरा सहयोग मिलेगा!


सिंह-राशि वालों के लिए आज का दिन आर्थिक रूप से शुभ है! कानूनी मामलों में आज सफलता मिलेगी. पुराना अटका धन प्राप्त होगा! सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी! यात्रा की योजना बन सकती है! पूरे दिन व्यस्त रहने के चलते थकान महसूस करेंगे! घर-परिवार की स्थिति ठीक रहेगी! वैवाहिक संबंधों में सुधार आएगा!


कन्या-राशि वाले लोग आज परेशान रहेंगे! काम की व्यस्तता के चलते परिवार और खुद के लिए समय नहीं निकाल पाएंगे! व्यापार की स्थिति कुछ खास नहीं रहेगी! आर्थिक मोर्चे पर असफल रहने पर चिंतित रहेंगे! प्रेम संबंधों के लिए अभी अच्छा समय है! खर्च में बढ़ोतरी आपकी चिंता बढ़ा सकती है!


तुला-राशि वाले आज भाग्यशाली रहेंगे! कार्यक्षेत्र पर सफलता के कई मौके मिलेंगे! व्यापार को एक नए मुकाम पर ले जाएंगे! नए निवेश की योजना बनेगी! नए लोगों से मुलाकात होगी! आमदनी में बढ़ोतरी होगी! पारिवारिक जीवन यथावत बना रहेगा! यात्रा पर निकल सकते हैं!


वृश्चिक-राशि के लोगों के लिए आज का दिन कुछ खास नहीं रहेगा! कार्यक्षेत्र पर कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा! निरंतर मिलती असफलता से चिंतित रहेंगे! कारोबार की स्थिति सामान्य रहेगी! पूरे दिन लाभ के योग बने रहेंगे! पुराना अटका धन प्राप्त हो सकता है! पारिवारिक संबंधों में खटास आ सकती है!


धनु-राशि वालों के लिए आज का दिन मुश्किलों भरा रहेगा!व्यापार में नए निवेश के बारे में अभी न सोचें! साझेदार से धोखा मिल सकता है! कार्यक्षेत्र पर कार्य को सिद्ध करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ेगी! मानसिक परेशानी बढ़ेगी!खर्च में कमी लाएं! जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा!


मकर-राशि के लोगों के लिए आज का दिन अच्छा बितेगा! कारोबार की स्थिति सामान्य रहेगी! लाभकारी सौदे होंगे! सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी. परिवार के साथ समय बिताएंगे! पुराने दोस्तों-रिश्तेदारों से मुलाकात होगी! सेहत का ख्याल रखें!


कुंभ-राशि वालों के लिए आज का दिन परेशानियों से भरा रहेगा। खर्च में बढ़ोतरी आपको चिंतित करेगी। आर्थिक और सामाजिक मोर्चे पर असफलता मिलने से निराशा होगी।रोजगार के क्षेत्र में प्रयासरत लोगों को आज खुशखबरी मिल सकती है। पारिवारिक संबंधों में मधुरता आएगी। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी।


मीन-राशि के लोगों के लिए आज का दिन कुछ खास नहीं रहेगा। स्वास्थ्य संबंधी पी़ड़ा से परेशान रहेंगे। पुराना अटका धन प्राप्त होगा। व्यापार की स्थिति सामान्य रहेगी। नए निवेश की ओर कदम न बढ़ाएं, भविष्य में हानि हो सकती है।जीवनसाथी का पूरा सहयोग मिलेगा।


पवित्र नारियल की विशेषता

नारियल की तासीर ठंडी होती है। नारियल का पानी हल्का, प्यास बुझाने वाला, अग्निप्रदीपक, वीर्यवर्धक तथा मूत्र संस्थान के लिए बहुत उपयोगी होता है।


सूखे नारियल से तेल निकाला जाता है। इस तेल की मालिश त्वचा तथा बालों के लिए बहुत अच्छी होती है। नारियल तेल की मालिश से मस्तिष्क भी ठंडा रहता है। गर्मी में लगने वाले दस्तों में एक कप नारियल पानी में पिसा जीरा मिलाकर पिलाने से दस्तों में तुरंत आराम मिलता है।
बुखार के कारण बार-बार लगने वाली प्यास के इलाज के लिए नारियल की जटा को जलाकर गर्म पानी में डालकर रख दें। जब यह पानी ठंडा हो जाए तो छानकर इसे रोगी को पीने दें। इससे प्यास मिटती है।
आँतों में कृमि की समस्या से निपटने के लिए हरा नारियल पीसकर उसकी एक-एक चम्मच मात्रा का सुबह-शाम नियमित रूप से सेवन करना चाहिए। नारियल के पानी की दो-दो बूँद सुबह-शाम कुछ दिनों तक नाक में टपकाने से आधा सीसी के दर्द में बहुत आराम मिलता है।
सभी प्रकार की चोट-मोच की पीड़ा तथा सूजन दूर करने के लिए नारियल का बुरादा बनाकर उसमें हल्दी मिलाकर प्रभावित स्थान पर पट्टी बाँधें और सेंकें। विभिन्न त्वचा रोगों जैसे खाज-खुजली में नारियल के तेल में नीबू का रस और कपूर मिलाकर प्रभावित स्थान पर लगाने से लाभ मिलता है।
हृदय के विकारो के जोखिम कम करने के लिए सूखा नारियल का सेवन करना चाहिए। सूखा नारियल में अधिक फाइबर होता है। जो हृदय को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करता है।
सूखे नारियल का सेवन करने से पाचन सम्बंधित सभी समस्याओं से बचने में मदद करता है।


पित्तजन्य विकारों के निदान में नारियल विशेष रूप से लाभकारी है। इसके लिए कच्चे नारियल की गिरी, रस तथा सफेद चंदन का बुरादा मिला लें। इस मिश्रण की 10 ग्राम मात्रा को रात को पानी में भिगो दें। सुबह छानकर इसे खाली पेट पिएँ।
स्वस्थ सुंदर संतान प्राप्ति के लिए गर्भवती महिला को 3-4 टुकड़े नारियल प्रतिदिन चबा-चबाकर खाने चाहिए। इसके साथ एक चम्मच मक्खन, मिसरी तथा थोड़ी सी पिसी कालीमिर्च मिलाकर चाटें। बाद में थोड़ी सी सौंफ चबाएँ। इसके आधे घंटे बाद तक कुछ भी खाना-पीना नहीं चाहिए। पुराने सूजाक और मूत्रकृच्छ में भी इससे आश्चर्यजनक लाभ होता है।
नारियल क्रोहन्स डिजीज के इलाज के लिए एक रामबाण औषधि है। इस बीमारी में रोगी की आँतों में जलन, डायरिया, मल में रक्त आना, वजन कम होना आदि लक्षण होते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार क्रोहन्स डिजीज के उपचार में प्रयोग किए जाने वाले कॉर्टिकोस्टेराइड्स के समकक्ष नारियल में फाइटोस्टेराल्स नामक समूह तत्व होता है जो क्रोहन्स डिजीज में मुकाबला करता है।
नारियल हमें मोटापे से भी बचाता है। वैज्ञानिकों के अनुसार एक स्वस्थ वयस्क के भोजन में प्रतिदिन 15 मिग्रा जिंक होना जरूरी है जिससे मोटापे से बचा जा सके। ताजा नारियल में जिंक भरपूर मात्रा में होता है।
हैजे में यदि उल्टियाँ बंद न हो पा रही हों तो रोगी को तुरंत नारियल पानी पिलाना चाहिए। इससे उल्टियाँ बंद हो जाती हैं।


ई-शिक्षा कार्मिक विकास की राह पर

ई-शिक्षा सेवाओं का विकास उस समय हुआ जब पहली बार शिक्षा में कंप्यूटरों का इस्तेमाल किया गया। मिश्रित शिक्षा सेवाओं की तरफ बढ़ने की एक प्रवृत्ति होती है। जहां कंप्यूटर-आधारित गतिविधियों को व्यावहारिक या कक्षा-आधारित परिस्थितियों के साथ एकीकृत किया जाता है।


बेट्स एवं पूल (2003) और ओईसीडी (2005) का सुझाव है कि विभिन्न प्रकार या रूप के ई-शिक्षा को कोई ई-शिक्षा नहीं, अर्थात् अध्यापन एवं शिक्षा के लिए कंप्यूटर और या इंटरनेट का कोई उपयोग नहीं, से लेकर कक्षा सहायता, जैसे - एक पाठ्यक्रम या शिक्षा प्रबंधन प्रणाली के माध्यम से छात्रों के लिए कक्षा व्याख्यान के पॉवरपॉइंट स्लाइड को उपलब्ध कराना, से होते हुए लैपटॉप प्रोग्राम, जहां छात्रों को कक्षा में लैपटॉप लाने और उन्हें आमने-सामने कक्षा के भाग के रूप में इस्तेमाल करने की जरूरत पड़ती है और संकर शिक्षा, जहां कक्षा के समय को कम किया जाता है न कि इसे ख़त्म किया जाता है और साथ में सम्पूर्ण रूप से ऑनलाइन शिक्षा के माध्यम से ऑनलाइन शिक्षा के लिए अधिक समय समर्पित किया जाता है। जो दूरस्थ शिक्षा का ही एक रूप है, तक एक सातत्यक माना जा सकता है। यह वर्गीकरण कुछ हद तक ई-शिक्षा की स्थिति पर आधारित स्लोन कमीशन की रिपोर्ट के वर्गीकरण की तरह ही है, जो प्रौद्योगिकी के उपयोग की बढ़ती तीव्रता को दर्शाने के लिए वेब वर्धित, वेब पूरक और वेब आधारित शिक्षा को संदर्भित करता है। बेट्स एवं पूल के सातत्यक में, 'मिश्रित शिक्षा' में कक्षा सहायता, लैपटॉप एवं संकर शिक्षा समाहित हो सकता है। जबकि 'वितरित शिक्षा' में या तो संकर या सम्पूर्ण रूप से ऑनलाइन शिक्षा शामिल हो सकता है।


तो यह देखा जा सकता है कि ई-शिक्षा अनुप्रयोगों की एक विस्तृत श्रृंखला का वर्णन कर सकता है और यह सहकर्मी की समीक्षा वाले शोध प्रकाशनों में भी बिलकुल स्पष्ट नहीं है कि किस तरह की ई-शिक्षा पर चर्चा की जा रही है। हालांकि, बेट्स एवं पूल का तर्क है कि जब अनुदेशक यह कहते हैं कि वे ई-शिक्षा का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो यह अक्सर ज्यादातर कक्षा सहायता के रूप में प्रौद्योगिकी के उपयोग को ही संदर्भित करता है। हालांकि समय के साथ सम्पूर्ण ऑनलाइन शिक्षा में एक क्रमिक वृद्धि भी हुई है।


यमआचार्य नचिकेता वार्ता 'कर्तव्यवाद'

गतांक से ...


यमआचार्य नचिकेता वार्ता कर्त्तव्यवाद


मुनिवर, पत्र और पुष्पों को लेकर उनका रस बनाकर के सेवन करते रहे हैं। उनको तपा-तपा करके उनका सेवन करना। और 'आनंद ब्रह्म' मन को पवित्र बनाना, अपने आप में रमण करना। विशुद्ध पवित्रता कहलाती है। परमात्मा के समीप जाने की एक पगडंडी है। तो पगडंडी क्या है? अन्‍न को पवित्र बनाना है। मन की उत्पत्ति उसी के द्वार से होती है। साकल्य मुनि महाराज ने 12 वर्ष के पांच अनुष्ठान किए और अनुष्ठान करने से उन्होंने यह यज्ञ में प्रतिक्रियाओं में लगे रहने से अग्नि के मुख में कुछ ना कुछ आहुति देना है। वह 'अग्नि ब्रह्मा' मुनिवर, देखो दो प्रकार की होती है। एक जो ब्रह्म जगत में प्रदीप्त हो रही है। उसका शोधन करना भी अनिवार्य है। एक अग्नि हमारे अंतर ह्रदय में प्रदीप्‍त हो रही है। उसे भी आहुती देना है। उसको आहुति वह पत्र और उसको को पान कराना है। जिससे मानव का ह्रदय पवित्रता की वेदी पर मानो रत हो जाए। महर्षि साक्‍लय मुनि महाराज प्रातः कालीन खेचरीमुद्रा में प्रणायाम करते थे। उससे उनकी अन्न की पूर्ति हो जाती थी। मध्यकालीन आता तो वह नाना वृक्षों के पुष्पों को ले करके उनको अग्नि में तपा करके रस बनाकर के पान करते थे। सायंकाल को सूर्य प्रणायाम ,सूर्य प्रणायाम में संकल्प, प्रणायाम की पुट लगा कर के, उसमें शीतली प्राणायाम करके, उस रस को सेवन करते थे ।जो वायु में परमाणुओं के रूप में बह रहा है। इस प्रकार का उन्होंने 12 वर्षों का अनुष्ठान किया। इससे उनका मन पवित्र बन गया। उनका मन महान बन गया। उन्होंने मोक्ष की पगडंडी प्राप्त कर ली। मोक्ष के निकट चले गए। क्या मानव के अंतकरण में, क्या चित के मंडल में जो ब्रह्मा संस्कारों की उदबुदता हो रही है। महानता हो रही है वह एक बार एकांत स्थली में विद्यमान थे। कहीं से विहीतं नामक एक दैत्य मांसाहार करने के लिए एक हिरनी के पीछे गति करने लगा। वह पूर्ण रूपेण गर्भवती थी। तो जैसे उसने अस्त्रों का प्रहार किया तो साकल्‍य मुनि ने आश्रम में आभाष किया हिरणी और 'प्रो' मानव है। गर्भाशय से विहीन हो गई। शावक को जन्म देकर हिरनी आगे चली गई। वह जलाईदी सावक साक्‍लय मुनि के आश्रम में रह गया। हिरनी तो आगे चली गई, दैत्य ब्रह्मा भी आगे गति करता रहा, तो ऐसा मुझे स्मरण है। साक्‍लय मुनि महाराज ने उस हिरनी के शावक को दृष्टिपात किया। अरे, इसमें तो कोई गति हो रही है और सांस की प्राण की गतियां हो रही है। तो साक्‍लय मुनि ने अपने कमंडल में से जल् उसके मुखारविंद में परिणित किया। उसकी सांसों की गति कुछ माध्यम बनी। अपनी स्थलीयो पर आ गई, सावक ने जल का और उपयोग किया तो है जीवित हो गया। साकलय मुनि ने उसे आलिंगन कर लिया तो उसकी पालना में, पोषण में लग गए। जब उसकी पालन-पोषण में लग गए। मेरे प्यारे, नाना प्रकार की भोज्‍य उसे प्राप्त कराआते रहते। समय पर जल प्रदान करते, समय पर उसे दुग्ध प्रदान करते हैं।मुनि वेचूक नामक राज्य के समीप पहुंचे और वेतकेतू राजा के द्वार पर जा करके उन्होंने कहा 'संभव लोकाम, मुनि को जब राजा ने दृष्टिपात किया तो वेतकेतू राजा ने उनसे कहा यहां मुनि का आगमन ,मैं दृष्टिपात कर रहा हूं। मेरा बड़ा अहोभाग्य, उन्होंने राज स्‍थल को त्याग दिया और यह कहा, आइए राजस्थान पर खडे हो गए और विधमान हो कर के राजा ने चरणों को स्पर्श करके कहा, कि भगवान कैसे आगमन हुआ? उन्होंने कहा, मुझे गौ की इच्छा है। मुझे दूध देने वाली गौ प्रदान कीजिए। महाप्रभु यह तो आप मुझे सूचना दे देते, मैं गौ आपके आश्रम में पहुंचा देता। प्रभु आपने कष्ट क्यों किया है? उन्होंने कहा कि भ्रमण करता हुआ मैं आ गया हूं कोई बात नहीं है। राजा ने ऋषि का स्वागत किया और अपने सेवको से कहा जाओ देखो ऋषि आश्रम में एक गौ को ले जाओ जो दूध देने वाली होनी चाहिए। मेरे प्यारे गौ आश्रम में पहुंच गई। ऋषि ने वहां से गमन किया। राजा ने कहा प्रभु और कुछ देख लीजिए। साक्‍लय मुनि ने कहा राजन तुम्हारी राष्ट्र में महानता होनी चाहिए। क्योंकि तुम्हारा राष्ट्र चरित्र में उत्पन्न होना चाहिए। तुम्हारे राष्ट्र में विद्या का मध्यम पवित्र होना चाहिए। तुम्हारा राष्ट्र विज्ञानवेता होना चाहिए। राजा को यह उपदेश देकर के वहां से आज्ञा पाकर के उन्होंने गमन किया। वह भ्रमण करते हुए अपने आश्रम में पहुंचे तो उन्हें वहां एक गाय प्राप्त हो गई। उसके दुग्ध को उस हिरनी के शावक को दुग्ध का आहार कराते हुए। दूध का पान कराते रहते थे। ऋषि ममता और मोह ऐसी विचित्र होती है। बेटा क्या मानो, जिन्होंने अपने शरीर का मोह नहीं किया। देखो हिरणी के बालक से कितना मोह हुआ? उसको कंठ से आलिंगन,उसका चुंबन करते रहते। उसको पुत्र की भांति पालन पोषण करते रहते हैं। मेरे प्यारे देखो, हिरनी के बालक को भिन्न-भिन्न प्रकार की शिक्षा देते रहते हैं। साक्‍लय मुनि महाराज श्वेतकेतु मुनि महाराज के पुत्र कहलाते थे और श्वेतकेतु मुनि महाराज की आयु बड़ी  दीर्घ थी। देखो उनकी जो माता थी सोमवती वाचन उनकी जो माता थी। वह वरुणा वाचन  नामकरण था। श्‍वेधा अपनी लोरियों का पान करा करके उसे यही शिक्षा देती है। बालक निर्वस्त्र बन जाए परंतु तू किसी से इच्छा प्रगट मत कर। माता की यह शिक्षा रही । श्वेतकेतु यही कहते रहे है,ब्रह्मचारी,राजा के राष्ट्र में अपने विचार के पान को प्रकट करो। अपने स्वार्थ के लिए स्वार्थपरता में नहीं आना चाहिए। पिता की भी यही शिक्षा, आचार्यों की भी यही शिक्षा रही, परंतु अपने जीवन काल में आकर मुनि महाराज ने पांच अनुष्ठान किए। 12 वर्षों के पांच अनुष्ठान, जिसमें दो अनुष्ठान उन्होंने याज्ञिक होने के लिए किए। देखो उनकी लगभग 400 वर्ष की आयु में किसी से कोई इच्छा अपने लिए प्रगट नहीं की। कितना त्याग और तपस्या में उनका जीवन रहा है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण
september 04, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254
1.अंक-32 (साल-01)
2. बुधवार,04सितबंर 2019
3.शक-1941,भादप्रद शुक्‍लपक्ष षष्‍ठी,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:55,सूर्यास्त 6:45
5.न्‍यूनतम तापमान -27 डी.सै.,अधिकतम-35+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी, उमस बनी रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए

अविनाश श्रीवास्तव    पटना। केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार और उसमें जनता दल यूनाइटेड के शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिं...