रविवार, 16 अप्रैल 2023

आबकारी नीति घोटाला, केजरीवाल से पूछताछ

आबकारी नीति घोटाला, केजरीवाल से पूछताछ

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कथित आबकारी नीति घोटाले के सिलसिले में रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से नौ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की। पूछताछ रात करीब 8.15 बजे खत्म हुई। केजरीवाल सुबह 11.05 बजे सीबीआई मुख्यालय में पहुंचे थे। उनसे आप नेता विजय नायर, व्यवसायी समीर महेंद्रू और नीति के लागू होने से पहले बात लीक होने के बारे में पूछा गया। वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम ने उनका बयान दर्ज किया।

इस मामले में सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर दी है और अब वे सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल करने की तैयारी में हैं। दिल्ली के तत्कालीन उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को इस मामले में सीबीआई और ईडी ने गिरफ्तार किया था और फिलहाल वह सलाखों के पीछे हैं। दिल्ली पुलिस ने किसी भी तरह की परेशानी से बचने के लिए सीबीआई मुख्यालय और उसके आसपास धारा 144 लगा दी थी और 1,305 आप कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया था।

पुलिस ने आप के कई नेताओं को ‘हिरासत’ में लिया

पुलिस ने आप के कई नेताओं को ‘हिरासत’ में लिया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने आबकारी नीति मामलें के संबंध में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सीबीआई द्वारा पूछताछ के लिए बुलाए जाने के खिलाफ धरना-प्रदर्शन कर रहे आम आदमी पार्टी (आप) के कई वरिष्ठ नेताओं को रविवार को ‘‘हिरासत’’ में लिया। हिरासत में लिए गए नेताओं में संजय सिंह, राघव चड्ढा, सौरभ भारद्वाज, आतिशी, कैलाश गहलोत, आदिल अहमद खान, पंकज गुप्ता और पंजाब सरकार के कुछ मंत्री शामिल हैं।

आर्चबिशप रोड पर धरने में शामिल हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान आप नेताओं को हिरासत में लिए जाने से पहले घटनास्थल से चले गए थे। दिल्ली के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दावा किया, ‘‘पुलिस ने सभी मंत्रियों और सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। हम यहां शांतिपूर्वक बैठे थे, लेकिन पुलिस ने गैरकानूनी तरीके से हम सभी को गिरफ्तार कर लिया।’’

चड्ढा ने ट्वीट किया, ‘‘दिल्ली पुलिस ने हमें शांतिपूर्वक ढंग से बैठने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया है और किसी अनजान जगह पर लेकर जा रही है...ये कैसी तानाशाही है?’’ केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने आबकारी नीति मामले में केजरीवाल को गवाह के तौर पर पूछताछ के लिए अपने कार्यालय में बुलाया है। इस मामले में पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। 

युवाओं को 3000 व महिलाओं को 2000 रुपए भत्ता 

युवाओं को 3000 व महिलाओं को 2000 रुपए भत्ता 

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली/बेंगलुरु। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक विधानसभा चुना व प्रचार के दौरान वादा किया है, कि पार्टी के सत्ता में आने पर युवाओं को 3000 और महिलाओं को 2000 रुपए मासिक भत्ता दिया जाएगा। गांधी ने सरकार पर तंज करते हुए कहा कि मोदी सरकार अडानी समूह को दिल भर कर हजारों करोड़ रुपए दे रही है, तो कांग्रेस सरकार बनने पर कर्नाटक में लोगों को हर महीने भत्ता देगी और प्रदेश में चल रही कमीशन खोरी को बंद करेगी।

गांधी ने लोगों से वादा करते हुए ट्वीट किया,“प्रधानमंत्री ने दिल भर कर हज़ारों करोड़ अडानी को दिया। हम दिल भर कर कर्नाटक में हर महीने देंगे- ग्रेजुएट युवाओं को 3000 रुपए, महिलाओं को 2000 रुपए, 200 यूनिट मुफ्त बिजली, ग़रीब परिवारों को 10 किलो चावल।” उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर काम देने के बदले कमीशन देने का आरोप लगाया और तंज करते हुए कहा “कांग्रेस की कर्नाटक को चार गारंटी। भाजपा की बस एक गारंटी - 40 प्रतिशत कमीशन।” 

अतीक व अशरफ को लेकर दावा, सुनियोजित हत्या 

अतीक व अशरफ को लेकर दावा, सुनियोजित हत्या 

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। समाजवादी पार्टी के प्रमुख महासचिव प्रो़ रामगोपाल यादव ने उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में पुलिस हिरासत में मारे गए अतीक और अशरफ को लेकर दावा करते हुए इसे सुनियोजित हत्या बताया। यहां सैफई में पत्रकारों से बात करते हुए प्रो़ यादव ने आज कहा कि पुलिस के हाथ में अतीक और उनके भाई अशरफ की हथकड़ी थी। यह सुनियोजित हत्या की गई है। जांच करने वाली एजेंसी सही होगी तो बड़े-बड़े लोग इसमें फसेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि सीएम सदन में बोले थे कि मिट्टी में मिला देंगे इसलिए अतीक को मारने वाले लोगों का कुछ होने वाला नहीं है।

उन्होंने कहा कि जो कुछ उत्तर प्रदेश में हो रहा है, ऐसा पहले कभी हिस्ट्री में नहीं हुआ है। लोकतंत्र के खात्मे वाला रास्ता है। पहले राजशाही में ऐसा होता था। मीडिया ट्रायल की वजह से अतीक मारा गया। किसी भी केस में अतीक पर दोष सिद्ध नहीं हुआ है। ऐसे लोग भी बड़े-बड़े पदों पर बैठे हैं, जिन्होंने बम फेंककर लोगों को मरवा दिया था। उनको कोई नहीं कहता है कि गैंगस्टर है। प्रो़ यादव ने कहा कि इलाहाबाद के लोगों का कहना है कि अतीक के पांच बच्चे हैं। इसमें एक मार दिया गया है, जो शेष चार बचे लड़के हैं। उनको भी किसी न किसी बहाने से मार दिया जाएगा।

चाहे देश बर्बाद हो जाए चुनाव जीतने के लिए लोग कुछ भी कर सकते हैं। सपा प्रमुख महासचिव ने कहा कि उन्होंने पहले भी कहा था कि अतीक के लड़के की हत्या हो सकती है। यह बात सच निकली। उसका फर्जी एनकाउंटर कर दिया गया। अतीक ने सुप्रीम कोर्ट में स्वयं रिट की थी कि मुझे सुरक्षा दी जाए। लोकतंत्र के इतिहास में किसी भी देश में पुलिस अभिरक्षा में इस तरह हत्या नहीं की गई है। यह लोकतंत्र की हत्या है।

नगर निकाय चुनाव को लेकर मोहर लगाई: भाजपा 

नगर निकाय चुनाव को लेकर मोहर लगाई: भाजपा 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। उत्तर प्रदेश के शामली जिले में नगर निकाय चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने-अपने प्रत्याशियों के नाम के सामने मोहर लगा दी है, जिसमें शामली नगर पालिका से अरविंद संगल, कांधला नगर पालिका से नरेश सैनी के साथ कैराना नगर पालिका से सेठ पाल पर भरोसा जताया है। इस बार 2023 नगर निकाय चुनाव का मुकाबला बड़ा ही दिलचस्प दिखाई देगा, जिसमें गठबंधन प्रत्याशी इस चुनावी दंगल में पहलवानी करेंगे। इस बार गठबंधन से राष्ट्रीय लोकदल व समाजवादी के साथ-साथ आजाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी एक ही मंच पर दिखाई दे रहे हैं जिसमें आजाद पार्टी का भी इस चुनाव में अच्छा खासा प्रभाव दिखाई देगा। 

जनपद शामली में जिसका भी मुकाबला रहेगा। सिर्फ बीजेपी और गठबंधन प्रत्याशियों के साथ ही चलेगा, जिसमें शामली सदर से करीब पांच प्रत्याशियों ने भाजपा से सिंबल के लिए आवेदन किया हुआ था। भाजपा ने 2007 में हारने वाले व 2012 के चुनाव में जीतने वाले प्रत्याशी अरविंद संगल पर इस बार फिर भरोसा जता लिया है। वहीं दूसरी ओर कांधला नगर पालिका से भाजपा के मजबूत दावेदार नरेश सैनी जो पहले 3 बार चुनाव हार चुके है पर फिर भरोसा जताया है। कैराना में भाजपा ने नए चेहरे सेठपाल पर भरोसा जताया है। प्रत्याशियों की सूची जारी होने के बाद जनपद के भाजपा कार्यकर्ता अपने-अपने प्रत्याशियों की जीत के लिए तैयारी में जुट गए हैं।

अतीक हत्याकांड, 5 और लोगों को हिरासत में लिया 

अतीक हत्याकांड, 5 और लोगों को हिरासत में लिया 

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। अतीक हत्याकांड में मौके से पकड़े गए तीनों शूटर से पूछताछ के बाद पुलिस ने 5 और लोगों को हिरासत में लिया है। गौरतलब है कि बीती रात अतीक अहमद व उसके भाई अशरफ की तीन शूटर्स ने पुलिस हिरासत में ही गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में यूपी पुलिस और एसटीएफ की टीम लगातार काम कर रही है।

भरोसेमंद सूत्रों का कहना है कि इन तीनों शूटर से पूछताछ में 2 लोगों का नाम इस हत्याकांड की साजिश में सामने आया है। इन्हीं तीनों शूटर से पूछताछ के आधार पर यूपी पुलिस ने प्रयागराज के करेली में दबिश देकर 5 और लोगों को हिरासत में लिया है।

शेट्टार ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया

शेट्टार ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु/सिरसी। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता जगदीश शेट्टार ने रविवार को विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया। लेकिन, अभी उन्होंने भाजपा के प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया है। शेट्टार ने विधानसभा अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी से उनके आवास पर मुलाकात की और श्री हेगड़े से मुलाकत करने के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने अभी सिर्फ विधायक पद से इस्तीफा दिया है। पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से नहीं। शेट्टार ने यह कदम तब उठाया है जब राज्य में 10 मई को विधानसभा चुनाव होने वाला है और उन्हें हुबली-धारवाड़ सेंट्रल से चुनाव लड़ने के लिए टिकट नहीं दिया गया।

जब उनसे अगले कदम के बारे में पूछा गया तो शेट्टार ने कहा कि वह अपने समर्थकों से बातचीत करने के बाद इस पर फैसला करेंगे। शेट्टार की कांग्रेस में शामिल होने की बात पर कहा कि प्रतिद्वंद्वी पार्टी के किसी नेता से अबतक उनसे संपर्क नहीं किया है। इससे पहले हुबली में संवाददाताओं से बात करते हुए शेट्टार ने कहा कि वह भाजपा छोड़ेंगे क्योंकि वहां उनका अपमान हुआ है और कहा कि उन्हें अपने राजनीतिक करियर में कभी उनके साथ ऐसा होने की उम्मीद नहीं की थी। 

हालांकि, उन्होंने चार दशकों तक पार्टी की सेवा करने का अवसर देने के लिए भाजपा के प्रति अपना आभार व्यक्त किया। शेट्टार ने कहा कि उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के प्रस्तावों को अस्वीकार कर दिया, जैसे कि उन्हें पार्टी में उच्च पद प्रदान करना या परिवार के किसी सदस्य को चुनावी मैदान में उतारना। शेट्टार ने पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के हवाले से कहा कि अगर उन्हें टिकट नहीं दिया गया, तो राज्य में कम से कम भाजपा के 20 से 25 सीटें प्रभावित होंगी। धर्मेंद्र प्रधान, मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने शेट्टार के साथ मैराथन बातचीत की और उन्हें कोई अतिवादी कदम नहीं उठाने की सलाह दी।

'कानून' के हिसाब से दी जानी चाहिए सजा: गांधी 

'कानून' के हिसाब से दी जानी चाहिए सजा: गांधी 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि अपराधियों को सख्त सजा मिले, लेकिन सजा कानून के हिसाब से दी जानी चाहिए और इसका सियासी फायदा नहीं लिया जाना चाहिए। वाड्रा ने कहा “हमारे देश का क़ानून संविधान में लिखा गया है, यह क़ानून सर्वोपरि है और अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए, मगर देश के क़ानून के तहत होनी चाहिए। किसी भी सियासी मक़सद से क़ानून के राज और न्यायिक प्रक्रिया से खिलवाड़ करना या उसका उल्लंघन करना हमारे लोकतंत्र के लिए सही नहीं है। जो भी ऐसा करता है, या ऐसे करने वालों को सरंक्षण देता है, उसे भी ज़िम्मेदार ठहराया जाना चाहिए और उस पर भी सख्ती से क़ानून लागू होना चाहिए।”

उन्होंने कहा “ देश में न्याय व्यवस्था और कानून के राज का इकबाल बुलंद हो, यही हम सबकी कोशिश होनी चाहिए।कांग्रेस संचार विभाग के प्रभारी जयराम रमेश ने भी इसी तरह की प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा “ किसी भी राजनीतिक उद्देश्य के लिए कानून और न्यायिक प्रक्रिया के शासन को तोड़ना या उसका उल्लंघन करना लोकतंत्र के लिए खतरनाक है। जो ऐसा करता है या ऐसा करने वालों को संरक्षण देता है, उसे भी जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए और उन पर कानून को सख्ती से लागू किया जाना चाहिए। यह सुनिश्चित करने के लिए हमारा सामूहिक प्रयास होना चाहिए कि न्यायिक प्रणाली और कानून के शासन का हर समय अक्षरशः सम्मान हो।

अतीक व अशरफ की सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी सस्पेंड

अतीक व अशरफ की सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी सस्पेंड

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। बीती रात पुलिस कस्टडी में अतीक अहमद व उसके भाई अशरफ की हत्या के बाद से यूपी की सियासत में हलचल है। इसी बीच योगी सरकार ने अतीक अहमद व उसके भाई अशरफ की सुरक्षा में लगे 17 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। इसके साथ ही प्रयागराज में इंटरनेट भी बंद कर दिया गया है। गौरतलब है कि बीती रात पूर्व सांसद एवं माफिया अतीक अहमद व उसके भाई की तीन युवकों ने पुलिस कस्टडी में ही दनादन गोलियां चला कर हत्या कर दी थी। अतीक अहमद की हत्या के बाद से यूपी में सरगर्मी तेज है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस समय भी अफसरों के साथ अपने आवास पर मीटिंग कर रहे हैं। इसी बीच बताया जाता है कि योगी सरकार ने अतीक अहमद व अशरफ की सुरक्षा में लगे 17 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। प्रयागराज प्रशासन ने अतीक अहमद में उसके भाई की हत्या के बाद से उपजे तनाव के बीच प्रयागराज में इंटरनेट सेवा बंद करा दी है।

अतीक व अशरफ की 'हत्या' पर तीखी प्रतिक्रिया 

अतीक व अशरफ की 'हत्या' पर तीखी प्रतिक्रिया 

संदीप मिश्र 

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने प्रयागराज में माफिया व पूर्व सांसद अतीक अहमद और उसके भाई पूर्व विधायक अशरफ की हत्या पर रविवार को तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह घटना प्रदेश सरकार की कानून-व्यवस्था पर अनेक गम्भीर प्रश्नचिन्ह खड़े करती है तथा यह सोचने की बात है कि राज्य का ‘एनकाउंटर प्रदेश’ बन जाना कितना उचित है ? उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मामले में देश की शीर्ष अदालत से उचित कार्रवाई की मांग की है।

रविवार की सुबह बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर कहा, गुजरात जेल से अतीक अहमद व बरेली जेल से लाए गए उनके भाई अशरफ की प्रयागराज में कल रात पुलिस हिरासत में ही खुलेआम गोली मारकर हुई हत्या, उमेश पाल जघन्य हत्याकाण्ड की तरह ही, उत्तर प्रदेश सरकार की कानून-व्यवस्था व उसकी कार्यप्रणाली पर अनेक गंभीर प्रश्नचिन्ह खड़े करती है। मायावती ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा,  देश भर में चर्चित इस अति-गंभीर व अति-चिन्तनीय घटना का माननीय उच्चतम न्यायालय अगर स्वंय ही संज्ञान लेकर उचित कार्रवाई करे, तो बेहतर।

उन्होंने कहा,  वैसे भी उत्तर प्रदेश में ‘कानून द्वारा कानून के राज’ के बजाय, अब इसका एनकाउंटर प्रदेश बन जाना कितना उचित? सोचने की बात। माफिया और पूर्व सांसद अतीक अहमद (60) और उनके भाई अशरफ की शनिवार रात को कुछ हमलावरों ने उस समय गोली मारकर हत्या कर दी, जब पुलिस दोनों को प्रयागराज में एक मेडिकल कॉलेज लेकर जा रही थी।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-185, (वर्ष-06)

2. सोमवार, अप्रैल 17, 2023

3. शक-1944, बैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि-द्वादशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:23। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 25 डी.सै., अधिकतम- 33+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

मीडियाकर्मी बनकर आए हमलावरों ने की हत्या

मीडियाकर्मी बनकर आए हमलावरों ने की हत्या

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। माफिया अतीक अहमद और अशरफ की गोली मारकर हत्या कर दी गई। दोनों को पांच दिनों की रिमांड पर लाया गया था। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही थी। इसी बीच मेडिकल कॉलेज के पास दोनों की हत्या कर दी गई। अतीक अहमद पर 101 मुकदमे दर्ज थे। मौके से दो पिस्टल और छह खोखे बरामद किए गए हैं। दोनों को कॉल्विन अस्पताल ले जाया गया था। इसी दौरान घटना को अंजाम दिया गया। दोनों के सिर में गोली मारी गई और मौके पर ही दोनों की मौत हो गई। शवों को मेडिकल कॉलेज ले जाया गया है।

बाइक सवार मीडिया कर्मी बनकर आए तीन युवक और गोली मारकर भाग निकले...

बताया जा रहा है, कि एक बाइक पर सवार होकर तीन मीडिया कर्मी मौके पर पहुंचे और गोली मारकर भाग निकले। दोनों की मौके पर मौत हो गई। बाइक सवारों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं। घटना को अंजाम देकर भाग निकले। वारदात में एक सिपाही भी घायल हो गया है। 

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'

स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है 'गन्ने का रस'  सरस्वती उपाध्याय  चिलचिलाती गर्मी के मौसम में सभी को ठंडा रहने के लिए शरीर को ठंडक ...