शनिवार, 13 अगस्त 2022

'हर घर तिरंगा' लगाने का आह्वान किया: संस्था 

'हर घर तिरंगा' लगाने का आह्वान किया: संस्था 

पंकज कपूर 

हल्द्वानी। एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था अध्यक्ष योगेन्द्र कुमार साहू एक्टर साहिल राज के नेतृत्व में संस्था के माध्यम से आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के अमृत काल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 13 अगस्त से 15 अगस्त तक 'हर घर तिरंगा' अभियान के अंतर्गत संस्था पदाधिकारियों ने हल्द्वानी खालसा नेशनल गर्ल्स इंटर कॉलेज में छात्राओं को तिरंगा वितरण कर 'हर घर तिरंगा' लगाने का आह्वान किया। इस दौरान मुख्य अतिथि मेयर जोगेन्द्र पाल सिंह रौतेला संस्था मार्गदर्शक विनीत अग्रवाल ने संयुक्त रूप से कहा कि 1947 में तिरंगा को राष्ट्रीय ध्वज के रूप में अपनाकर प्रत्येक भारतीय के लिए गौरव का क्षण प्राप्त हुआ है। क्योंकि, भारत का राष्ट्रीय ध्वज देश की स्वतंत्रता एवं लोकतांत्रिकता को दर्शाता है। यह भारत देश की एकता अखंडता प्रगति उन्नति समृद्धि खुशहाली का सूचक है। इसलिए हम सभी भारतीयों का परम कर्तव्य है कि भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के मान सम्मान के प्रति त्याग समर्पण भाव के साथ कर्तव्य पथ पर सतत डटे रहने के लिए संकल्पित होकर हम सभी भारतवासी मिलकर यह संकल्प लें, कि हम सभी भारतीय एकता के सूत्र में बंधकर भारत देश को विश्वगुरु बनाने के लिए आस्था निष्ठा दृढ़ संकल्प शक्ति के साथ हमेशा समाजहित एवं भारतहित में कार्य करते रहेंगे।

इसीलिए शहीदों ने अपने अद्वितीय साहस और पराक्रम से भारत देश की गौरवगाथा को लिखा है। उनका अद्भुत शौर्य हमारे स्वर्णिम इतिहास की एक मुकुटमणि है, जो मातृभूमि की रक्षा और स्वाभिमान के लिए कैसी परिश्रम की पराकाष्ठा हो, ये शहीदों का सम्पूर्ण जीवन हम सभी भारतीयों को दृढ़ संकल्प शक्ति साहस के सुपथ पर चलने और भारत माता कि सेवा करने के लिए हमेशा प्रेरित करता रहेगा। जिससे हम भारतीय देशभक्ति को और विराट रूप से प्रखर कर भारत देश को विश्व के शिखर पर कीर्तिमान स्थापित करने में अपना अहम योगदान देकर भारत देश को विश्वगुरु बनाएंगे।

इसी क्रम में सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह ने फोन से छात्राओं को संबोधित कर मार्गदर्शन दिया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में खालसा नेशनल गर्ल्स इंटर कॉलेज उप प्रधानाचार्य कल्पना जोशी, प्रशासनिक अधिकारी जितेंद्र सिंह, अधिकारी मोहिता कांडपाल, बीना, अधिकारी रेखा पंत, मीरा खुल्बे, अनुराधा पंत, रीता परिहार, उर्मिला सिंह, मीना भगत, प्रेमा खोलिया, सीमा सिंह, चित्रा जीना, मानसी बिष्ट, मनजीत कौर ने अहम योगदान दिया। इस दौरान तिरंगा वितरण करने में कांग्रेस युवा नगर अध्यक्ष हेमन्त कुमार साहू, संस्था संरक्षक हरीश चन्द्र पाण्डेय, संरक्षक रुपेन्द्र नागर, अध्यक्ष योगेन्द्र कुमार साहू, उपाध्यक्ष लोकेश कुमार साहू, कोषाध्यक्ष बलराम हालदार, समाजसेवी कनक चन्द, एक्टर साहिल राज, सूरज मिस्त्री, संदीप यादव, निलेश गुप्ता, अमन कुमार, मनीष साहू, मुकेश कुमार बिष्ट, पूजा जोशी, भावना शाह, विनोद आर्या, सुशील राय, प्रियांशु आर्या, दीपक कुमार, मुकेश कुमार, सूरज कुमार आदि लोग उपस्थित रहे।

विकलांगों के लिए 'पेंशन शिविर' का आयोजन किया 

विकलांगों के लिए 'पेंशन शिविर' का आयोजन किया 

अविनाश श्रीवास्तव 

चक्की। प्रखंड मुख्यालय में विकलांगों के लिए 'पेंशन शिविर' का आयोजन किया गया। जिसमें वृद्धा पेंशन, लक्ष्मीबाई पेंशन, विकलांग पेंशन, यानी सरकार की योजना से संबंधित सभी तरह की पेंशन का नया आवेदन दिया गया, जिसमें पुराने पेंशन में किसी का पैसा नहीं आ रहा है या किसी प्रकार की कोई त्रुटि है, तो उसके लिए भी आधार कार्ड पासबुक तथा पेंशन के कागज जमा करवाएंगे। इस शिविर के आयोजन में चक्की प्रखंड की मुखिया उर्मिला देवी, सामाजिक सुरक्षा के डाटा ऑपरेटर संपत नारायण उपाध्याय, पंचायत सचिव लाल बहादुर, वार्ड संघ के अध्यक्ष अशोक यादव मौजूद थे।

कमिश्नर को 11.50 करोड़ के मानहानि का नोटिस 

कमिश्नर को 11.50 करोड़ के मानहानि का नोटिस 

संदीप मिश्र 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने नोएडा के पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार को 11.50 करोड़ के मानहानि का नोटिस भेजा है। सपा नेता ने श्रीकांत त्यागी मामले में बिना जांच के मीडिया के जरिए बदनाम करने का आरोप लगाया है। श्रीकांत त्यागी के मामले में नाम आने पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने एक दिन पहले ही कहा था कि कमिश्नर ने बिना जांच के उनके नाम लिया, इस वजह से वह अब मानहानि का दावा करेंगे। मौर्य ने कहा कि इस वजह से देश में उनको बदनाम करने का काम किया गया है। उन्होंने इसे बीजेपी की साजिश का हिस्सा बताया।

बीजेपी के नेताओं के साथ श्रीकांत की फोटो कैसे आई...

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘मुझे खुद आज विधानसभा का पास इश्यू हुआ है। मैं कैसे किसी को पास दे सकता हूं। वो भी 2022 का पास। उसके (श्रीकांत) पास 2023 का पास था, तो इसका जवाब बीजेपी दे। मौर्य ने आगे कहा कि मैं श्रीकांत त्यागी को जानता हूं या नहीं, इससे पहले बीजेपी बताए कि उनके नेताओं के साथ त्यागी की फोटो कैसे आई।मौर्य ने कहा कि श्रीकांत त्यागी ने नहीं बल्कि पुलिस कमिश्नर ने मेरा नाम उछला है। मेरा जनाधार बढ़ा हुआ है, बीजेपी इस बात से घबराती है और इसी वजह से बार-बार मेरा नाम उछला जा रहा है। वह बोले कि पुलिस कमिश्नर को जांच करनी चाहिए थी, ऐसे कैसे मेरा नाम ले लिया? यह तो साजिश है। सपा नेता मौर्य ने कहा कि श्रीकांत त्यागी ने बीजेपी की सदस्यता कैसे ली, उसकी जांच हो जानी चाहिए‌। वह बोले कि बीजेपी साजिश के तहत उनका नाम उछालती है, पहले एसटीएफ मामले में ऐसा किया गया और अब श्रीकांत मामले में ऐसा हुआ है।

श्रीकांत त्यागी की जमानत याचिका खारिज...

नोएडा के ओमेक्स सोसाइटी में महिला के साथ बदसलूकी के आरोपी श्रीकांत त्यागी की जमानत अर्जी को सूरजपुर कोर्ट ने खारिज कर चुकी है। श्रीकांत त्यागी ने महिला से छेड़छाड़ को लेकर दर्ज किए गए एफआईआर में जमानत याचिका दायर की थी। श्रीकांत को अभी जेल के अंदर ही रहना पड़ेगा। कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा था। इसके अलावा श्रीकांत त्यागी पर दर्ज 420, 419, 482 IPC के केस में सुनवाई 16 अगस्त को होगी।

महिला से बदसलूकी का है मामला...

श्रीकांत त्यागी का 5 अगस्त को महिला से गाली-गलौज करने का वीडियो वायरल हुआ था। मामले के तूल पकड़ते ही पुलिस ने केस दर्ज किया था। इसके बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था। पुलिस ने उस पर गैंगस्टर की कार्रवाई कर 25 हजार का इनाम भी घोषित किया था। पुलिस की 12 टीमें उसकी तलाश में जुटी हुई थीं‌। आखिरकार उसे मेरठ से पकड़ा गया था।

सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी, मामला दर्ज 

सीएम योगी को बम से उड़ाने की धमकी, मामला दर्ज 

संदीप मिश्र 

लखनऊ। त्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। शनिवार को इस संबंध में मामला सामने आया है। धमकी भरा पत्र सामने आने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। यूपी पुलिस के सामने एक चिट्‌ठी लाई गई, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की बात कही गई है। यह चिट्‌ठी देवेंद्र तिवारी को मिली है। देवेंद्र तिवारी को भी बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। स्वतंत्रता दिवस समारोह से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ पर बम हमले की धमकी को सुरक्षा एजेंसियां गंभीरता से ले रही हैं और जांच शुरू कर दी गई है।

यूपी के मुख्यमंत्री को जान से मारने की धमकी का मामला देवेंद्र तिवारी के घर पर चिट्‌ठी मिलने के बाद सामने आया। दरअसल, देवेंद्र तिवारी के घर पर एक लावारिश बैग मिला। इस बैग की जांच करने पर उसमें धमकी भरी चिट्‌ठी मिली है। इस चिट्‌ठी के सामने आने के बाद सनसनी मच गई। पुलिस जांच में जुट गई है कि आखिर उस बैग को वहां तक किसने पहुंचाया। इस चिट्‌ठी में सीएम योगी आदित्यनाथ और देवेंद्र तिवारी को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है।

पुलिस ने एनसीआर दर्ज कर शुरू की कार्रवाई...
पुलिस ने इस मामले को गैर संज्ञेय अपराध (एनसीआर) के दायरे में दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। लखनऊ पुलिस की ओर से इस मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है। स्वतंत्रता दिवस समारोह से पहले इस प्रकार की धमकी की प्रशासन की ओर से गंभीरता से लेते हुए हर पहलू की जांच की जा रही है।

अमृत महोत्सव के तहत 'तिरंगा' यात्रा रैली का आयोजन 

अमृत महोत्सव के तहत 'तिरंगा' यात्रा रैली का आयोजन 


महेश्वरी प्रसाद इंटर कॉलेज में अमृत महोत्सव के तहत विशाल रैली निकाली गई

अनिल कुमार 

कौशाम्बी। मूरतगंज ब्लाक के अंतर्गत महेश्वरी प्रसाद इंटर कॉलेज आलमचंद में अमृत महोत्सव के अंतर्गत बड़े ही धूमधाम से हजारों छात्र-छत्राओं ने तिरंगा यात्रा रैली का आयोजन किया, तथा आलमचन्द से हर्रायपुर चौराहे तक घर-घर तिरंगा लगाए जाने के लिए लोगों को प्रेरित किया है। वहां के प्रधानाध्यापक जितेंद्र नाथ सिंह ने छात्र-छत्राओं को हर घर झंडा योजना जागरूक करते हुए कहां 75 वा स्वतंत्रता दिवस की उपलक्ष्य में कार्यक्रम सम्पन हुआ। मौके पर हर्रायपुर चौकी इंचार्ज राकेश राय अपने हमराहियों के साथ उपस्थित थे।

समाधान दिवस के अवसर पर जनसमस्याओं को सुना 

समाधान दिवस के अवसर पर जनसमस्याओं को सुना 

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी मुजफ्फरनगर व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरनगर द्वारा समाधान दिवस के अवसर पर थाना चरथावल में जनसमस्याओं को सुना गया एवं उनके गुणवत्तापूर्ण व त्वरित निस्तारण हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया।’ उत्तर प्रदेश शासन के निर्देशों के क्रम में थाना चरथावल पर आज समाधान दिवस का आयोजन किया गया, जिसमें जिलाधिकारी मुजफ्फरनगर चन्द्रभूषण सिंह एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरनगर विनीत जायसवाल व राजस्व, पुलिस तथा अन्य विभाग के अधिकारी/कर्मचारीगण द्वारा प्रतिभाग लिया गया। इस दौरान अधिकारीगण द्वारा जनता की जनसमस्याओं को सुना गया तथा समस्याओं के त्वरित एवं गुणवक्तापूर्ण निस्तारण हेतु सम्बन्धित राजस्व और पुलिस विभाग के अधिकारियों को मौके पर जाकर शिकायतों का शत प्रतिशत गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करने हेतु निर्देशित किया गया।

अधिकारीगण द्वारा सम्पूर्ण समाधान दिवस के सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश शासन के दिशा-निर्देशों से अधिकारी एवं कर्मचारीगण को अवगत कराते हुये प्रार्थना-पत्रों की समयबद्ध जांच, कार्यवाही एवं समस्याओं के निस्तारण हेतु निर्देशित किया गया । इस अवसर पर समाधान दिवस में उपस्थित सभी अधिकारियों व शिकायतकर्ताओं को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा साइबर अपराध एवं साइबर ठगी के सम्बन्ध में भी जागरूक किया तथा साइबर अपराध से बचने के उपायों के बारे में विस्तार से सभी को बताया। समाधान दिवस में उपजिलाधिकारी सदर परमानन्द झा, क्षेत्राधिकारी सदर हेमन्त कुमार सहित राजस्व व पुलिस-प्रशासन के अन्य अधिकारी/कर्मचारीगण मौजूद रहे।

सिसोदिया के लिए 'अग्रिम जमानत' की मांग: आप 

सिसोदिया के लिए 'अग्रिम जमानत' की मांग: आप 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को दावा किया कि “रेवड़ी” संस्कृति पर जारी बहस में मोदी सरकार पर हमला कर आम आदमी पार्टी दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के लिए “अग्रिम जमानत” की मांग कर रही है। सिसोदिया पर कथित शराब घोटाले में शामिल होने का आरोप है। पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा “रेवड़ी” संस्कृति पर दिए बयान के बाद मुफ्त की योजनाओं पर बहस शुरू हो गई और तभी से इस मुद्दे पर आप और भाजपा के बीच राजनीतिक रस्साकशी जारी है।

भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और सिसोदिया इस मुद्दे पर रोज बयान दे रहे हैं और नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला कर रहे हैं, ताकि वे अगर उप मुख्यमंत्री के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाए तो उन्हें “पीड़ित” दिखाया जा सके। पात्रा ने कहा, सिसोदिया के लिए अग्रिम जमानत लेने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि आम आदमी पार्टी के नेताओं को पता है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने गलत किया है और उनका भी वही हश्र होगा जो धन शोधन मामले में जेल में बंद सत्येंद्र जैन का हो रहा है।

पात्रा ने कहा कि आप सरकार ने शराब की दुकानें मुफ्त की योजनाओं की तरह बांटी जिसमें ‘ब्लैकलिस्टेड’ फर्म भी शामिल हैं और केजरीवाल के दोस्तों के लिए 144 करोड़ रुपये माफ कर दिए। भाजपा नेता ने कहा कि “रेवड़ी” की बहस में केजरीवाल और सिसोदिया के दावे झूठ से भरे हैं और उन्हें इनकी समझ भी नहीं है। आरटीआई से प्राप्त सूचना का हवाला देते हुए पात्रा ने कहा कि आम आदमी पार्टी सरकार के कार्यकाल के दौरान दिल्ली में 16 स्कूल बंद हुए जबकि पार्टी ने दावा किया था कि सत्ता में आने पर पांच सौ नए स्कूल खोले जाएंगे।

पात्रा ने कहा कि 1,030 सरकारी स्कूलों में से 700 में प्राचार्य नहीं हैं और 16,834 शिक्षकों के पद खाली हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने एक भाषण में दावा किया था कि उनकी सरकार ने दस लाख लोगों को रोजगार दिया लेकिन आरटीआई से प्राप्त सूचना के अनुसार केवल 3,246 लोगों को नौकरियां मिली तथा एक अन्य आरटीआई के विस्तृत जवाब में बताया गया कि वास्तव में केवल 849 लोगों को ही रोजगार मिल सका। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान बहुचर्चित मोहल्ला क्लिनिक किसी के काम नहीं आई। पात्रा ने दावा किया कि इस साल केजरीवाल सरकार ने अपने मंत्रियों और उनके परिजनों के इलाज के लिए सवा करोड़ रुपये से ज्यादा का भुगतान किया है।

मंत्रियों को विभागों का आवंटन कर दिया जाएगा 

मंत्रियों को विभागों का आवंटन कर दिया जाएगा 

कविता गर्ग 

नागपुर। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को कहा कि राज्य में नवनियुक्त मंत्रियों को बहुत जल्द विभागों का आवंटन कर दिया जाएगा। फडणवीस ने यहां डॉ अंबेडकर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पत्रकारों से महाराष्ट्र को नया मंत्रिमंडल मिलने के कुछ ही दिनों बाद आवंटन के सिलसिले में बात की। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उनके डिप्टी ने 30 जून को शपथ ली और महाराष्ट्र को मंत्रिमंडल के लिए 39 दिन इंतजार करना पड़ा।

शिंदे ने मंगलवार को 18 मंत्रियों को शामिल करके अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया। इनमे बागी शिवसेना समूह और भाजपा पार्टी के नौ-नौ मंत्री है। महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में शिंदे और फडणवीस समेत 20 मंत्री हैं।

5 साल में 1 प्याऊ तक नहीं बनवा पाए लोनी विधायक 

5 साल में 1 प्याऊ तक नहीं बनवा पाए लोनी विधायक 


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश की विधानसभा लोनी से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर किसी न किसी कारण चर्चाओं में बने रहते हैं। अभी हाल ही में अधिकारियों को डांटने का प्रकरण भी संज्ञान में आया हैं। इस प्रकार छींटाकशी और सामान्य राजनीति में अंतर स्पष्ट हो जाता है। क्षेत्र की मूल समस्याओं से इतर व्यस्त होने से जनता का हित साधन कैसे संभव है ? 

आपको बताते चलें कि विधानसभा लोनी से वर्तमान विधायक लगातार दूसरी बार जनता के भारी समर्थन से निर्वाचित होकर सदन में क्षेत्र की जनता का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। लेकिन उनके पिछले कार्यकाल की समीक्षा में जनहित एवं जन समस्याओं के प्रति उदारता स्पष्ट होती है। विधानसभा स्थित नगरीय क्षेत्र में प्रतिवर्ष जल निकासी का भूत बरसात के दिनों में बाहर आ जाता है। वहीं, स्थानीय विधायक के द्वारा स्वच्छ पेयजल एवं प्रदूषित जल निकासी के संबंध में विधानसभा में विशेष पैकेज की मांग क्यों नहीं की गई है ? यह जनता की मूल समस्या है। इस समस्या के कारण नागरिकों का लंबे समय से उत्पीड़न होता आ रहा है।

गौरतलब हो, लोनी विधानसभा विधायक के द्वारा पिछले 5 वर्षों में कुल 123 विकास निर्माण कार्य किए गए हैं। पंचवर्षीय योजना के अंतर्गत विधायक निधि के तहत वित्तीय वर्ष 2017-22 तक विकास-निर्माण कार्यों पर 810.79 लाख रुपए खर्च किए गए हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जन सूचना अधिकारी गाजियाबाद के द्वारा प्रदत सूचना के अनुसार स्थानीय विधायक के द्वारा विधानसभा क्षेत्र में पीने के पानी पर "1 रुपया तो दूर की बात कोई अठन्नी" खर्च नहीं की गई है। कोई 1 नल अथवा 1 पानी की प्याऊ तक भी नहीं बनवा सके हैं। क्षेत्र में स्वच्छ पेयजल एवं प्रदूषित जल की निकासी जनता की सबसे बड़ी आवश्यकता और समस्या है। दोनों मूल समस्या जनता की पीड़ा का सबब बने हुए हैं। जनता जिसे अपना प्रतिनिधित्व प्रदान करती है, उस जनप्रतिनिधि से कुछ आशा तो जरूर रखती है। जनता की समस्याओं के विरुद्ध सदन में अपनी बात रखने का सभी को अधिकार है। जनता की स्वच्छ पेयजल और जल निकासी की समस्या को सदन में आकृष्ट रूप में प्रस्तुत नहीं किया गया है। जिसके कारण समस्या जस की तस बनी हुई है। जनता की अपेक्षाओं की इससे बेहतर उपेक्षा क्या हो सकती है ? जो जनता समर्पण के भाव से साथ खड़ी है, उसकी पीठ में छुरा क्यों ?

स्वीकृत मानचित्र विरुद्ध ग्रीन पट्टी दर्शाई: जीडीए 

स्वीकृत मानचित्र विरुद्ध ग्रीन पट्टी दर्शाई: जीडीए 

इकबाल अंसारी

गाजियाबाद। नगर पालिका लोनी स्थित एसएलएफ वेद विहार कॉलोनी में हरित पट्टी दर्शाकर गाजियाबाद विकास प्राधिकरण ने क्षेत्रवासियों सहित प्रमोटर्स भी सकते में ला दिए हैं।

जानकारी के अनुसार नगरीय क्षेत्र स्थित एसएलएफ वेद विहार कॉलोनी एक ग्रुप हाउसिंग भूमि (एरिया 3775 गज) पुस्ता बांध रोड के पूर्व में गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के द्वारा स्वीकृत की गई थी। मानचित्र संख्या-14 (ले-आउट-88) 1992 में प्राधिकरण के द्वारा स्वीकृत एवं प्रमाण पत्र भी जारी किया गया था। लेकिन योजना के अंतर्गत बांध के साथ हरित पट्टी दिखाई दे रही है। मानचित्र के अनुसार वहां कोई हरित पट्टी नहीं है। बल्कि जहां पर हरित पट्टी दर्शाई गई है। वहां पर मकान बने हुए हैं, मकानों में लोग परिवार के साथ गुजर-बसर कर रहे हैं। समस्या की विषमता को देखते हुए केशव प्रमोटर्स के प्रबंधक-निदेशक रविंद्र सिंह के द्वारा लिखित शिकायत कर आपत्ति दर्ज कराई गई है एवं मानचित्र से हरित पट्टी हटाने की मांग की है।

शिक्षा से होता है चरित्र का निर्माण: ईश्वर मावी

शिक्षा से होता है चरित्र का निर्माण: ईश्वर मावी

इकबाल अंसारी

गाजियाबाद। लोनी विधानसभा क्षेत्र के ग्राम शकलपुरा में मानव उत्थान सेवा समिति के पदाधिकारियों ने प्राथमिक विद्यालय में शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्र-छात्राओं को निशुल्क कॉपी-किताब व अन्य स्टेशनरी का सामान  वितरित किया।

संबोधित करते हुए प्रेमपुरी आश्रम के पूज्य महात्मा श्री जतनानंद जी महाराज ने कहा कि शिक्षा मानव के जीवन में नया प्रकाश लाती है। ज्ञान के बिना मानव का जीवन अधूरा है।

विशिष्ट अतिथि भाजपा नेता ईश्वर मावी ने कहा कि पूरा देश आज़ादी का 'अमृत महोत्सव' मना रहा है। ऐसे में मानव उत्थान सेवा समिति का स्कूली बच्चों को निशुल्क किताबों का वितरण करना सराहनीय प्रयास है। शिक्षा से चरित्र का निर्माण होता है और चरित्र से संस्कार का निर्माण होता है। सभी को शिक्षा अवश्य ग्रहण करनी चाहिए।

इस अवसर पर प्रधानाचार्य श्रीमती मंजू शर्मा, राज सिंह दरोगा, श्रीचंद मास्टर, पप्पू कसाना, डाक्टर राजेंद्र मावी, हरेंद्र प्रधान, जीते कसाना, लच्छू मास्टर, जगदीश कसाना सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे।

देश के नागरिकों से 'हर घर झंडा' फहराने की अपील

देश के नागरिकों से 'हर घर झंडा' फहराने की अपील 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। देश में स्वतंत्रता दिवस को भव्य रूप में मनाने के साथ ही “आजादी का अमृत महोत्सव” मनाया जा रहा है। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी द्वारा देश के नागरिकों से “हर घर झंडा” फहराने की अपील की गई है। उन्होंने खुद सोशल मिडिया के डीपी में तिरंगा डालकर अभियान की शुरुआत की। इसी अभियान के तहत स्वतंत्रता दिवस से पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ सरसंघचालक मोहन भागवत ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट की प्रोफाइल तस्वीरों पर संगठन के झंडे की जगह तिरंगे की तस्वीर लगाई है। यह बदलाव ऐसे समय में किया गया है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी से सोशल मीडिया में अपने डीपी में तिरंगा लगाने की अपील के बाद भी संघ और सरसंघचालक की डीपी में बदलाव नहीं करने पर कांग्रेस ने निशाना साधा था।

इसके बाद केंद्रीय मंत्रियों, मुख्यमंत्रियों, विपक्षी नेताओं और आम लोगों ने अपनी डीपी पर तिरंगे की फोटो लगाई। लेकिन आरएसएस और मोहन भागवत ने अपने सोशल मीडिया पर डीपी नहीं बदली थी, जिसके बाद बीजेपी और आरएसएस विपक्षी पार्टियों के निशाने पर आ गई थी। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने अपने ट्वीट में सवाल किया था कि क्या नागपुर में अपने मुख्यालय पर 52 साल तक राष्ट्रध्वज नहीं फहराने वाला संगठन अपने सोशल मीडिया खातों की प्रोफाइल तस्वीर पर तिरंगा लगाने के प्रधानमंत्री के आग्रह को मानेगा। वहीं कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने ट्विटर पर आरएसएस और उसके प्रमुख मोहन भागवत की प्रोफाइल फोटो के स्क्रीनशॉट को शेयर कर लिखा था कि संघ वालों, अब तो तिरंगा को अपना लो।

75 साल पूरे, सर्वज्ञानी की छवि चमकाने तक सीमित 

75 साल पूरे, सर्वज्ञानी की छवि चमकाने तक सीमित 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शनिवार को आरोप लगाया कि आजादी के 75 साल पूरे होने के अवसर को सिर्फ ‘सर्वज्ञानी’ की छवि चमकाने तक सीमित कर दिया गया है। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि आजादी की 25वीं, 50वीं और 60वीं सालगिरह पर संसद के ऐतिहासिक केंद्रीय कक्ष में विशेष कार्यक्रम किए गए, लेकिन अफसोस की बात है कि 75वीं सालगिरह पर ऐसा कोई आयोजन नहीं हुआ।

भारत की आजादी की 25वीं, 50वीं और 60वीं सालगिरह के अवसर पर संसद के ऐतिहासिक सेंट्रल हॉल में विशेष कार्यक्रम किए गए। अफसोस की बात है कि 75वीं सालगिरह पर ऐसा कोई आयोजन नहीं हुआ। इस अवसर को सिर्फ सर्वज्ञानी की छवि चमकाने के लिए सीमित कर दिया गया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘भारत की आजादी की 25वीं, 50वीं और 60वीं सालगिरह के अवसर पर संसद के ऐतिहासिक सेंट्रल हॉल में विशेष कार्यक्रम किए गए। अफसोस की बात है कि 75वीं सालगिरह पर ऐसा कोई आयोजन नहीं हुआ।’’ रमेश ने आरोप लगाया, ‘‘इस अवसर को सिर्फ सर्वज्ञानी की छवि चमकाने के लिए सीमित कर दिया गया।

दिल्ली में 'मंकीपॉक्स' का पांचवां मामला सामने आया

दिल्ली में 'मंकीपॉक्स' का पांचवां मामला सामने आया 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, मंकीपॉक्स एक वायरल जूनोसिस (जानवरों से मनुष्यों में फैलने वाला वायरस) है, जिसमें चेचक के रोगियों में अतीत में देखे गए लक्षणों के समान लक्षण होते हैं। दिल्ली में 'मंकीपॉक्स' का पांचवां मामला सामने आया है। नाइजीरिया की यात्रा कर चुकी अफ्रीकी मूल की एक 22 वर्षीय महिला को मंकीपॉक्स की पुष्टि होने के बाद इलाज के लिए एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों की टीम सभी संक्रमित और संदिग्ध मरीजों का इलाज कर रही है।

लोक नायक जय प्रकाश (एलएनजेपी) अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश कुमार ने शनिवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया, कि दिल्ली में मंकीपॉक्स का 5वां मामला सामने आया है। डॉ. सुरेश कुमार ने कहा कि एक 22 वर्षीय महिला के नमूने शुक्रवार को पॉजिटिव पाए गए और वर्तमान में वह अस्पताल में डॉक्टरों की निगरानी में है।डॉ. ने बताया कि एक मरीज को एलएनजेपी में भर्ती कराया गया है और उसके नमूने पॉजिटिव पाए गए हैं। वर्तमान में 4 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं और एक को छुट्टी दे दी गई है। दिल्ली में मंकीपॉक्स के कुल पांच मामले सामने आए हैं। वह कल पॉजिटिव आई थी। डॉक्टरों की टीम उसका इलाज कर रही है। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि महिला की हाल ही में कोई ट्रैवल हिस्ट्री भी नहीं है, लेकिन एक महीने पहले उसने यात्रा की थी।

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय चिंता का सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किए जाने के एक दिन बाद दिल्ली में इस साल 24 जुलाई को मंकीपॉक्स के पहले मामले की पुष्टि हुई थी।केंद्र सरकार ने भारत में फैले वायरस की जांच के लिए कई दिशा-निर्देश जारी किए थे, जिनमें से एक देश के प्रवेश बिंदुओं पर निगरानी भी शामिल था।अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को बीमार व्यक्तियों, मृत या जीवित जंगली जानवरों और अन्य लोगों के निकट संपर्क में आने से बचने की सलाह दी गई है। भारत में मंकीपॉक्स का पहला मामला केरल के कोल्लम जिले में 14 जुलाई को सामने आया था।विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, मंकीपॉक्स एक वायरल जूनोसिस (जानवरों से मनुष्यों में फैलने वाला वायरस) है, जिसमें चेचक के रोगियों में अतीत में देखे गए लक्षणों के समान लक्षण होते हैं, हालांकि यह चिकित्सकीय रूप से कम गंभीर है।

ठाकरे को महाराष्ट्र के परिवार का मुखिया बताया 

ठाकरे को महाराष्ट्र के परिवार का मुखिया बताया 

कविता गर्ग 

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने लंबे इंतजार के बाद अपनी कैबिनेट का विस्तार तो जरूर कर लिया, लेकिन मंत्री पद नहीं पाने वाले विधायक अपनी नाराजगी भी प्रकट करने लगें हैं। हाल के सत्ता संघर्ष में औरंगाबाद पश्चिम विधायक संजय शिरसाट ने उद्धव ठाकरे के खिलाफ बागी तेवर दिखाते हुए एकनाथ शिंदे का साथ दिया था। शिंदे खेमे में शुरू से ही शामिल होने के बावजूद शिरसाट को मंत्री पद नहीं मिला है। उन्होंने कल रात एक ट्वीट किया, जिसने कयासों को जन्म दे दिया है।

अपने ट्वीट में शिरसाट ने उद्धव ठाकरे को महाराष्ट्र के परिवार का मुखिया बताया है। इस ट्वीट की तूफानी चर्चा शुरू होते ही शिरसाट ने एक न्यूज चैनल से फोन पर संपर्क साधा और इसपर सफाई भी दी है। शिरसाट ने अपने ट्वीट के साथ विधानसभा में उद्धव ठाकरे का एक भाषण भी संलग्न किया है। लेकिन, कुछ समय बाद उन्होंने इस ट्वीट को डिलीट भी कर दिया है। हालांकि, उन्होंने यह जरूर कहा है कि शिंदे समूह में हम सभी बहुत खुश हैं। इस बीच राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा शुरू हो गई है कि क्या संजय शिरसाट ने कैबिनेट में जगह न मिलने पर उद्धव ठाकरे के भाषण को ट्वीट कर शिंदे समूह को चेतावनी दी है।

विधायक ने अपने ट्वीट पर सफाई देते हुए कहा कि मैंने जो ट्वीट किया वह विधानसभा में उद्धव ठाकरे का भाषण था। उस भाषण में उन्होंने महाराष्ट्र के बारे में अपनी राय रखी थी। उन्होंने कहा था कि वह परिवार के मुखिया की भूमिका निभा रहे थे। इसलिए आज भी मेरा यह मत है कि यदि आप परिवार के मुखिया की भूमिका निभा रहे हैं तो कहीं न कहीं आपको परिवार के सदस्यों की राय पर विचार करना चाहिए। संजय शिरसाट ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि मेरे ट्वीट का यह अर्थ था कि आपको अपनी राय के बजाय अपने परिवार की राय का सम्मान करना चाहिए। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि वह एकनाथ शिंदे के साथ हैं और कोई नाराजगी नहीं है।

मैं परेशान नहीं हूं, मेरी भूमिका आज भी बनी हुई है।

उन्होंने कहा कि हमने उद्धव ठाकरे को परिवार का मुखिया माना, लेकिन उन्होंने नहीं सुनी। इसलिए, हमें वर्तमान स्थिति के लिए भी खेद है। मैंने इसलिए यह ट्वीट नहीं किया क्योंकि मुझे मंत्री पद नहीं मिला। मैं सिद्धांत का आदमी हूं। शिंदे गुट के साथ अब तक के अपने सफर में मैं हमेशा मुखर रहा हूं। मैं वही बोलता हूं जो मुझे सही लगता है। मेरा भी यही मानना था कि उद्धव ठाकरे को राकांपा और कांग्रेस के साथ नहीं जाना चाहिए था। मैं अब भी इसके साथ खड़ा हूं। हम सभी खुश है।

5 करोड़ से अधिक का निवेश करेगी, दिल्ली सरकार 

5 करोड़ से अधिक का निवेश करेगी, दिल्ली सरकार 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार आपदा से निपटने के लिए त्वरित प्रतिक्रिया टीमों के लिए उपकरणों की खरीद पर 5 करोड़ से अधिक का निवेश करेगी। सरकार ने कहा है कि, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण पर आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए 5 करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश करेगी। इस पैसे से आवश्यक उपकरण खरीदे जाएंगे। बता दें कि कोरोना महामारी के बाद दिल्ली सरकार आपदाओं से निपटने के लिए तैयारी में लगी हुई थी। इसी को लेकर सरकार ये कदम उठाने जा रही है।

दिल्ली के राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा गया है कि, आधुनिक उपकरणों से लैस होंगे दिल्ली के सभी जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण।केजरीवाल सरकार आपदा प्रबंधन को बेहतर बनाने के लिए 5 करोड़ रुपए के उपकरण देगी‌। आपदा प्रबंधन को और मजबूत करने के दिए निर्देश दिए हैं। “नागरिक सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है।

आम आदमी पार्टी दिल्ली ने भी एक ट्वीट में कहा है कि, अरविंद केजरीवाल सरकार जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को 5 करोड़ रुपए के आवश्यक उपकरण प्रदान करेगी। दिल्ली को आपदा प्रूफ बनाने के लिए आपदा प्रबंधन के तरीकों की समीक्षा कर रहे हैं। नागरिकों की सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है और उन्हें किसी भी आपदा से बचाने के लिए सभी उपाय करेंगे।

बता दें कि दिल्ली में आपदा से कई बार काफी नुकसान हो जाता है। इसमें सबसे प्रमुख आग लगने की घटनाएं और बाढ़ हैं। इसे देखते हुए मंत्री कैलाश गहलोत ने दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को दिल्ली में आपदा प्रबंधन अभ्यास का अध्ययन करने और इसे सुधारने के तरीके के बारे में गहन शोध करने का भी निर्देश दिया है। दिल्ली सरकार सभी 11 जिलों के लिए रोप लैडर, सर्च लाइट, पिकैक्स, स्लेज हैमर, स्प्रेडर बैटरी और आवश्यक उपकरण खरीदने के लिए 5 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करने जा रही है।

कैंडिडेट्स से प्रोग्राम्स के लिए आवेदन आमंत्रित किए

कैंडिडेट्स से प्रोग्राम्स के लिए आवेदन आमंत्रित किए 

संदीप मिश्र 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने रिसर्च के क्षेत्र में रुचि रखने वाले कैंडिडेट्स से फैलोशिप प्रोग्राम्स के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। वे रिसर्च स्कॉलर्स जो रिसर्च और डेवलेपमेंट के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं, वे इस फैलोशिप प्रोग्राम के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए कैंडिडेट्स को इस आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

ये रिसर्च स्कॉलरशिप प्रोग्राम एक फुल टाइम प्रोग्राम है जिसके दौरान कैंडिडेट्स को किसी और कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

आवेदन के साथ कैंडिडेट्स को एक स्टेटमेंट ऑफ पर्पज यानी अपने रिसर्च के उद्देश्य को 500 शब्दों में लिखकर एप्लीकेशन के साथ लगाना होगा। बिना इस स्टेटमेंट के किसी एप्लीकेशन को कंसीडर नहीं किया जाएगा।

ये पूरी प्रक्रिया तीन चरणों में पूरी होगी। पहले चरण में कैंडिडेट्स के डॉक्यूमेंट्स के आधार पर उन्हें शॉर्ट लिस्ट किया जाएगा। दूसरे चरण में चुने गए कैंडिडेट्स का इंटरव्यू होगा और तीसरे चरण में उन्हें दो हफ्ते के ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए भेजा जाएगा।

कैंडिडेट्स की स्पोकेन और रिटेन हिंदी भाषा में अच्छी पकड़ होनी चाहिए। कैंडिडेट की उम्र आवेदन के समय 40 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए।

इसके अलावा जरूरी है कि कैंडिडेट ने कम से कम 60 प्रतिशत अंकों के साथ ग्रेजुएशन किया हो या कोई उच्च कक्षा इतने ही अंकों के साथ पास की हो।

इस प्रोग्राम के अंतर्गत कैंडिडेट्स को मुख्य तौर पर फील्ड वर्क करना होगा। उन्हें डेटा एनालिसेस का अनुभव भी होना चाहिए।

चयनित कैंडिडेट्स को महीने के 30 हजार रुपए की स्कॉलरशिप मिलेगी। इशके साथ फील्ड वर्क के लिए 10 हजार रुपए अतिरिक्त मिलेंगे। इसके अलावा स्कीम्स की निगरानी करने के लिए टेबलेट खरीदने के लिए करीब 15 हजार रुपए की राशि दी जाएगी।

कैंडिडेट को साल में अधिकतम 12 दिन की छुट्टी लेने की इजाजत होगी। अगर कैंडिडेट का काम अच्छा रहता है तो उसकी स्कॉलरशिप को अगले एक साल के लिए बढ़ाया जा सकता है।

अंसारी की 6.30 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की 

अंसारी की 6.30 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की 

संदीप मिश्र 

गाजीपुर। योगी सरकार की ओर से अपराध और अपराधियों के खिलाफ अभियान के तहत पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी की करीब 6.30 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति कुर्क की गई। यह कार्रवाई सदर कोतवाली क्षेत्र के रजदेपुर और फतेहउल्लाहपुर में स्थित दो जमीनों पर हुई।

एसपी रोहन पी बोत्रे के नेतृत्व में पुलिस और राजस्व टीम ने कार्रवाई को अंजाम दिया। एसपी ने बताया की पिछले 30-40 दिनों में अवैध रूप से अर्जित की गई करीब 25 करोड़ की संपत्ति कुर्क की गई है। उन्होंने बताया कि दो अगस्त को थाना मुहम्मदाबाद के प्रभारी निरीक्षक ने विवेचक प्रेषित किया।जिसके आख्या पर तीन अगस्त को अभियुक्त मुख्तार अंसारी पुत्र सुभानुल्लाह अंसारी निवासी दर्जी टोला यूसुफपुर थाना मोहम्मदाबाद के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित हुई। जो जनपद में एक गिरोह बनाकर लोक व्यवस्था को अस्त-व्यस्त करने अपने स्वयं के तथा अपने गैंग के सदस्यों के लिए आर्थिक तथा भौतिक व अन्य लाभ प्राप्त करने के उद्देश्य से अकेले एवं सामूहिक रूप से आपराधिक कार्य में बेनाम अचल संपत्ति अर्जित किया गया। कुर्क की गई संपत्ति मुख्तार की पत्नी आफ्शां अंसारी के नाम से शहर के मोहल्ला रजदपुर और फत्तेउल्लहपुर में है। रजदेपुर देहाती में 0.394 हेक्टेयर और फत्तेउल्लाहपुर में 1.507 हेक्टेयर भूमि है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 


1. अंक-309, (वर्ष-05)

2. रविवार, अगस्त 14, 2022

3.शक-1944, भाद्रपद, कृष्ण-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2079।

4. सूर्योदय प्रातः 05:47, सूर्यास्त: 07:03। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 28 डी.सै., अधिकतम-35+ डी.सै.। उत्तरभारत में बरसात की संभावना। 

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक कासहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु,(विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27,प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

 (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...