शनिवार, 23 दिसंबर 2023

उपराष्ट्रपति की नकल से जुड़े वाक्ये का जिक्र किया

उपराष्ट्रपति की नकल से जुड़े वाक्ये का जिक्र किया 

संदीप मिश्र 
मुरादाबाद। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती ‘किसान दिवस’ के अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ मुरादाबाद पहुंचे। यहां सीएम ने चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के अनावरण एवं किसान महासम्मेलन कार्यक्रम में हिस्सा लिया।
इस दौरान एक संबोधन में सीएम योगी ने बीते दिनों संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से जुड़े उस वाक्ये का जिक्र किया, जिसमें टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी उनकी नकल उतार रहे थे।
सीएम ने कहा- कुछ लोग संवैधानिक पद पर बैठे लोगों का अपमान कर रहे हैं। खिल्ली उडा रहे हैं। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी का नाम लिए बिना सीएम ने कहा कि कांग्रेस के लोगों ने उपराष्ट्रपति का अपमान किया। उनका वीडियो बना रहे है। सीएम ने केंद्र और राज्य की सरकारों की तारीफ करते हुए कहा कि डबल इंजन की सरकार है बोलती कम है, परिणाम ज्यादा देती है।

चौधरी साहेब ने देश के लिए किया काम- सीएम योगी

भूतपूर्व पीएम का जिक्र करते हुए सीएम योगी ने कहा कि चौधरी साहेब ने देश के लिये काम किया था। इससे पहले लखनऊ में एक कार्यक्रम के दौरान सीएम ने कहा था कि चौधरी साहब ने अपने समय में अन्नदाता किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन करने के अभियान को आगे बढ़ाया था।
उन्होंने दावा किया था कि पहली बार देश के अन्नदाता किसानों ने इस बात को महसूस किया है।सीएम ने कहा था कि अगर व्यक्ति ईमानदारी के साथ सही तरीके से आज खेती करता है तो वह घाटे का सौदा नहीं होगा, क्योंकि सरकार की स्कीम उसका संबल बन रही है। सीएम ने कहा था कि यह ‘नए भारत’ का ‘नया उत्तर प्रदेश’ है, जहां किसान के परिश्रम और पुरुषार्थ के सामने शासन नतमस्तक होकर सम्मान देता है।
इसके अलावा सीएम ने किसानों को सम्मानित भी किया। इस संदर्भ में सोशल मीडिया साइट एक्स पर सीएम ने लिखा- पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती ‘किसान दिवस’ पर आज लखनऊ में मुख्यमंत्री कृषक उपहार योजना के अंतर्गत 51अन्नदाता किसानों को ट्रैक्टर वितरित हुआ। इस अवसर पर किसानों, कृषि उद्यमियों, FPOs और कृषि वैज्ञानिकों को विकासखण्ड, जनपद व राज्य स्तरीय पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया। आप सभी को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।

सीएम ने रेलमंत्री व पीएम से मुलाकात की

सीएम ने रेलमंत्री व पीएम से मुलाकात की

दुष्यंत टीकम 
रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने शनिवार को नई दिल्ली में रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव से रेलभवन में सौजन्य मुलाकात की। इस दौरान उपमुख्यमंत्री अरुण साव व विजय शर्मा भी उनके साथ थे। इससे पहले वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण से उनके आवास पर सौजन्य मुलाकात की।

मोदी की गारंटी पर की गई पहल की जानकारी दी

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने आज नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री जी से छत्तीसगढ़ के विकास व जनहित से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘मोदी की गारंटी’ पर छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा लिए गए त्वरित निर्णय व पहल की जानकारी दी। साय ने बताया कि प्रधानमंत्री की घोषणा के अनुरूप सरकार गठन होते ही प्रथम कैबिनेट बैठक में 18 लाख से अधिक परिवारों को प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत किए गए हैं।

कच्चे दूध का सेवन करना बेहद लाभदायक

कच्चे दूध का सेवन करना बेहद लाभदायक 

सरस्वती उपाध्याय 
कच्चे दूध में मौजूद विटामिन, पोटैशियम, बायोटीन, कैल्शियम, पोटैशियम चेहरे के दाग धब्बों को दूर करने में मदद करते हैं और साथ ही काफी फायदा देते हैं। कच्चे दूध को आप रात में सोने से पहले का इस्तेमाल करते हैं, तो सुबह सवेरे आपकी स्किन एकदम सॉफ्ट और खिली खिली रहेगी। नाइट के रूटीन में दूध को कैसे इस्तेमाल करना है ? चलिए आपको बताते हैं।

कच्चे दूध के इस्तेमाल से त्वचा को मिलते हैं ये 3 फायदे

चेहरे पर कच्चा दूध लगाने के फायदों के बारे में जयपुर में अरोमा एंड नैचुरो थेरेपिस्ट डॉ. मनोज दास बताते हैं कि कच्चे दूध को चेहरे पर लगाने से कई फायदे होते हैं। कच्चे दूध में कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स जैसे कई पोषक तत्व होते हैं, जो स्किन को मॉस्चराइज़ करते हैं और स्किन को खूबसूरत बनाते हैं।

मुंहासों का बेहतर इलाज़

कच्चे दूध को मुंहासों के इलाज में एक प्राकृतिक और प्रभावी उपाय के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। डॉ. मनोज ने बताया कि कच्चे दूध में मौजूद लैक्टोफेरिन, एक प्राकृतिक प्रोटीन, और लैक्टोबैसिलस बैक्टीरिया एंटी-इन्फ्लेमेट्री प्रॉपर्टीज रखते हैं, जो मुंहासों की सूजन और लालिमा को कम करने में मदद करते हैं।
इसके साथ ही उन्होंने बताया कि कच्चे दूध में प्रोबायोटिक्स जैसे गुड बैक्टीरिया होते हैं, जो त्वचा के मैक्रोबिओटिक्स को संतुलित रखने में मदद करते हैं और बैक्टीरियल इंफेक्शन को कम करते हैं। जिससे मुंहासों की समस्या में कमी आती है।

कैसे करना हैं इस्तेमाल ?

कच्चे दूध को मुंहासों पर लगाने के लिए, आप इसे एक क्लींजर की तरह ही प्रयोग कर सकते हैं और उसे कच्चे दूध में डिप करके मुंहासों पर लगा सकते हैं। इसे लगाने के बाद आप इसे 15-20 मिनट के लिए सुखा लें और फिर ठंडे पानी से धो सकते हैं। इस प्रकार के उपचार को नियमित रूप से करने से मुंहासों की स्थिति में सुधार हो सकता है।

नासा ने 17 एक्सोप्लैनेट की खोज की: अध्ययन

नासा ने 17 एक्सोप्लैनेट की खोज की: अध्ययन 

अखिलेश पांडेय 
वाशिंगटन डीसी। नासा की एक नई रिसर्च कहती है कि हमारे सौर मंडल के बाहर भी जीवन हो सकता है। सौर मंडल के बाहर 17 और ऐसी ही दुनिया हो सकने की बात इस रिसर्च में सामने आई है। नासा ने कहा है कि हमारे सौर मंडल के बाहर जीवन की तलाश के एक हालिया अध्ययन में 17 एक्सोप्लैनेट की खोज की गई है।जिनमें बर्फीले गोले के नीचे तरल पानी के महासागर हो सकते हैं। ये पहली बार है। जब वैज्ञानिकों ने ऐसा अनुमान लगाया है कि हमारे सौर मंडल के बाहर की दुनिया में भी पानी हो सकता है, जो जीवन के लिए एक आवश्यक घटक है। यानी वहां भी जिंदगी संभव हो सकती है। 

बृहस्पति के बर्फीले चंद्रमाओं की तरह संभव
जीवन की खोज में आमतौर पर ऐसे एक्सोप्लैनेट को ढूंढना शामिल होता है, जो अपने मेजबान तारे के रहने लायक क्षेत्र के भीतर मौजूद होते हैं। ये एक ऐसी दूरी जहां तापमान पानी को उनकी सतहों पर बने रहने की अनुमति देता है। हालांकि यह भी संभव है कि एक एक्सोप्लैनेट जो बहुत दूर और ठंडा है, वहां अभी भी बर्फ की परत के नीचे एक महासागर हो। स्पेस डॉट कॉम के अनुसार, रिसर्च में जिन बाहरी दुनियाओं के संकेत मिले हैं, वे बृहस्पति के बर्फीले चंद्रमाओं की तरह, जीवन के रासायनिक संकेतों की खोज के लिए आशाजनक स्थान हो सकती है। विशेष रूप से बृहस्पति के चंद्रमा यूरोपा और शनि के एन्सेलाडस को पर्याप्त सूर्य का प्रकाश नहीं मिलता है, लेकिन फिर भी उनकी बर्फीली परत के नीचे तरल महासागर हैं। 

सौर मंडल के पास में भी दो संसार
नासा ने बताया है कि इन महासागरों का पानी कभी-कभी बर्फ की परत के माध्यम से गीजर के रूप में फूट सकता है। टीम ने इन एक्सोप्लैनेट पर गीजर गतिविधि को गौर से देखा और दो एक्सोप्लैनेट की पर्याप्त रूप से करीब पहचान की जहां इन विस्फोटों के संकेत दूरबीनों से देखे जा सकते थे। इन बर्फीले संसारों में हमारे सौर मंडल के निकट के दो संसार भी शामिल हैं, जहां ऐसी परिस्थितियां हो सकती हैं, जिनमें जीवन संभव हो। ये एक्सोप्लैनेट लगभग पृथ्वी के आकार के हैं, लेकिन कम घने और अधिक ठंडे हैं, जिससे पता चलता है कि उनकी सतह बर्फ से ढकी हुई है। 
इनका कहना है:  -हमारे विश्लेषणों का अनुमान है कि इन 17 दुनियाओं में बर्फ से ढकी सतह हो सकती है। इस स्टडी में ये नहीं बताया गया है कि ग्रहों कैसे बने हैं और इन पर जीवन मौजूद था या नहीं। लेकिन पानी की मौजूदगी से ये पता चलता है कि इन ग्रहों पर जीवन भी मौजूद हो सकता है।

30 दिसंबर को अयोध्या का दौरा करेंगे 'पीएम'

30 दिसंबर को अयोध्या का दौरा करेंगे 'पीएम' 

संदीप मिश्र 
अयोध्या। अयोध्या में श्री राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के ​लिए तैयारी पूरी हो चुकी है। अब पूरे देशभर के लोगों को 22 दिसंबर का इंतजार है। 22 दिसंबर को श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा है और इस दिन रामलला गर्भ गृह में विराजमान होंगे। राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियों की बीच पीएम मोदी 30 दिसंबर को अयोध्या का दौरा करेंगे। इसके साथ ही अयोध्या एयरपोर्ट, अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का लोकार्पण करेंगे। दुनिया भर में रामलीला और भगवान राम की कहानियों के वर्णन, भक्ति गीत और आरती सहित विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
22 जनवरी को अयोध्या में बन रहे राम मंदिर में रामलला का प्राण प्रतिष्ठा में सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में जश्न मनेगा। अमेरिका के मंदिरों में सात दिनों तक उत्सव की तैयारी की जा रही है।
दुनिया भर से रामकथा करने वाले आएंगे अयोध्या
श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए देश विदेश से लोग पहुंचेंगे और वहीं इससे पहले पीएम मोदी के रोड शो के दौरान एक जगह इकट्ठा होकर लोग रामकथा करेंगे। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की भी प्रस्तुति होगी। संस्कृति विभाग का अयोध्या शोध संस्थान शोध करेगा।
पीएम मोदी के कार्यक्रम के दौरा योगी आदित्यनाथ समेत बीजेपी कई सीनियर नेता मौजूद रहेंगे। पीएम मोदी राम मंदिर निर्माण कार्य का जायजा भी ले सकते हैं। आज इस संबंध में कमिश्नर गौरव दयाल के साथ बैठक होगी। सभी जनप्रतिनिधि और संगठन के पदाधिकारी शामिल रहेंगे।

अंत: धरती पर सांस लेना मुश्किल हो जाएगा

अंत: धरती पर सांस लेना मुश्किल हो जाएगा

सरस्वती उपाध्याय 
पृथ्वी का खत्म होना तय है, लेकिन ये कब और कैसे होगा ? इस बात की जानकारी किसी को भी नहीं है। हालाँकि, पृथ्वी के अंत को लेकर अलग-अलग तरह के दावे किए जाते हैं। कई दावों में कहा गया है कि एक समय के बाद पृथ्वी पर ऑक्सीजन खत्म हो जाएगा।
मिडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ उल्का पिंड के पृथ्वी से टकराने की बात कही गयी है। एक दावे में सूरज के ब्लैक होल में तब्दील होने की बात की गयी है, जो धरती को अपने अंदर समा जाएगा। इनके अलावा प्राकृतिक आपदाओं और परमाणु युद्ध जैसी मानव निर्मित आपदाओं को भी पृथ्वी के खत्म होने की वजह बताया गया है। अब एक नए अध्ययन में पृथ्वी के खत्म होने की चौकाने वाली वजह सामने आई है।
इस अध्ययन के अनुसार, 200 साल में धरती पर इतनी बदबू हो जाएगी कि लोगों का सांस लेना मुश्किल हो जाएगा। विशेषज्ञों ने इस बात का अनुमान लगाया है। उनके अनुमान के अनुसार, लोग पादेंगे और डकारेंगे, जिसकी वजह से धरती पर बदबू फैलेगी। आने वाले 200 साल में पृथ्वी पर नाइट्रस ऑक्साइड और मीथेन भर जाएगी। इससे ग्लोबल वार्मिंग में और भी अधिक योगदान होगा।
विशेषज्ञों ने अनुमान लगाया है कि अगले 200 वर्षों में ग्लोबल वार्मिंग की समस्या बदतर हो जाएगी। समुद्र से भाप उठने लगेगी। पृथ्वी का तापमान भी काफी बढ़ जायेगा। गर्मी की वजह से इंसानों के लिए इस दुनिया में रहना मुश्किल हो जाएगा। पृथ्वी की स्थितियाँ शुक्र ग्रह के समान होंगी, जिससे इंसानों के लिए यहाँ रहना असंभव हो जाएगा।

वाजपेयी की जयंती ’सुशासन दिवस’ के रूप में मनेगी

वाजपेयी की जयंती ’सुशासन दिवस’ के रूप में मनेगी

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती  25 दिसंबर को ’सुशासन दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय के निर्देश पर सुशासन दिवस के अवसर पर राज्य के किसानों को खरीफ विपणन वर्ष 2014-15 एवं वर्ष 2015-16 की बकाया धान की बोनस राशि 3716 करोड़ 38 लाख 96 हजार रूपए का भुगतान किया जाएगा। 
धान उत्पादन करने वाले किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकार ने अपने अनुपूरक बजट में धान उत्पादन पर प्रोत्साहन योजना के लिए राशि का प्रावधान भी किया है।
सुशासन दिवस के अवसर पर निर्वाचित जनप्रतिनिधियों और आम जनता की गरिमामय उपस्थिति में नगरीय निकायों में स्थापित अटल चौक में सुबह 10 बजे से कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाएगा। अटल चौक में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के छायाचित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्जवलन कर निर्वाचित जनप्रतिनिधियों एवं आम जनता द्वारा ’सुशासन स्थापित’ करने का संकल्प लिया जाएगा। इसके लिए राज्य शासन द्वारा 25 दिसंबर के पहले नगरीय निकायों में पूर्व से निर्मित अटल स्तंभ की साफ-सफाई, आवश्यक मरम्मत कराने के निर्देश दिए हैं। यह स्वच्छता अभियान नगरीय निकायों में 25 दिसंबर से प्रारंभ होकर आगामी एक सप्ताह तक आयोजित होगा।
सुशासन दिवस के मौके पर प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में अटल संध्या का आयोजन होगा। इसके अंतर्गत कवि सम्मेलन, अटल जी की कविता पाठ, अटल विचार संगोष्ठी, निबंध स्पर्धा का आयोजन तथा अटल जी के जीवन, व्यक्तित्व और कृतित्व पर केन्द्रित प्रदर्शनी आयोजित की जाएगी।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-64, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. रविवार, दिसंबर 24, 2023

3. शक-1945, माघ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-एकादशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:36, सूर्यास्त: 05:18।

5. न्‍यूनतम तापमान- 11 डी.सै., अधिकतम- 23+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...