मध्यप्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
मध्यप्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 17 सितंबर 2021

चिकित्सा अधिकारी को प्रभाव से निलंबित किया

मनोज सिंह ठाकुर        
उज्जैन। मध्यप्रदेश के उज्जैन संभागायुक्त ने टीकाकरण महाअभियान के दौरान अनुपस्थित रहने पर एक चिकित्सा अधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।
संभागायुक्त संदीप यादव ने संभाग के देवास जिले के भौरासा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में टीकाकरण महाअभियान के दौरान चिकित्सा अधिकारी डॉ जावेद पटेल को कर्त्तव्य स्थल से अनुपस्थित रहने और शासकीय कार्य के प्रति घोर लापरवाही एवं अनुशासनहीनता बरतने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है।

11 आरोपियों के खिलाफ उम्रकैद की सजा सुनाईं

मनोज सिंह ठाकुर        
भिण्ड। मध्यप्रदेश के भिण्ड जिले की एक अदालत ने एक युवक की गोली मारकर हत्या के मामले में ग्यारह आरोपियों के खिलाफ दोष सिद्ध होने पर उम्रकैद की सजा सुनायी है।
अभियोजन के अनुसार भारौली थाने के गोरम गांव में 27 अगस्त 2011 को युवक सितंबर शर्मा की गोली मारकर हत्या करने के मामले में आरोपियों में छुन्ना शर्मा, बंटू, कुल्लू, सोनू, मिथुन शर्मा, ज्ञान सिंह, रवि यादव, बलवीर यादव, कुल्लू, राजू व मनोज शर्मा को उम्रकैद की सजा सुनायी गयी है।
जिला न्यायालय के चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश अनीस खान ने कल यह सजा सुनायी है।

मंगलवार, 14 सितंबर 2021

एमपी: तीन साथियों को 8.22 कैरेट का हीरा मिला

मनोज सिंह        
भोपाल। मध्यप्रदेश के पन्ना जिले की एक खदान में एक मजदूर और उसके तीन साथियों को 15 साल के इंतजार के बाद 8.22 कैरेट का हीरा मिला है। स्थानीय विशेषज्ञों का कहना है कि हीरे की कीमत 40 लाख रुपये तक हो सकती है और अधिकारियों के अनुसार, ऐसे कच्चे हीरों की नीलामी से होने वाली आय सरकारी रॉयल्टी और करों की कटौती के बाद संबंधित खनिकों को दी जाएगी।
पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा ने संवाददाताओं को बताया कि रतनलाल प्रजापति और उनके सहयोगियों ने जिले के हीरापुर तपरिया इलाके में पट्टे पर दी गई जमीन से 8.22 कैरेट का हीरा निकाला और उसे हीरा कार्यालय में जमा कर दिया। उन्होंने कहा कि हीरे को अन्य रत्नों के साथ 21 सितंबर को नीलामी के लिए रखा जाएगा।
रत्नलाल प्रजापति के सहयोगियों में से एक रघुवीर प्रजापति ने सरकारी कार्यालय में कीमती पत्थर जमा करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने हीरे खोजने के लिए पिछले 15 साल विभिन्न खदानों में उत्खनन में बिताए हैं, लेकिन उन्हें पहली बार सफलता मिली है।
उन्होंने कहा हमने पिछले 15 वर्षों से विभिन्न क्षेत्रों में छोटी खदानें लीज पर लीं, लेकिन एक भी हीरा नहीं मिला। इस साल, हम पिछले छह महीनों से हीरापुर तपरिया में एक पट्टे की जमीन पर खनन कर रहे हैं और 8.22 कैरेट वजन का हीरा पाकर हैरान हैं। खनिक ने कहा कि वह और उसके साथी हीरे की नीलामी से प्राप्त धन का उपयोग अपने बच्चों को बेहतर जीवन और शिक्षा प्रदान करने के लिए करेंगे।

सोमवार, 13 सितंबर 2021

पुलिस सेवा के 6 अधिकारियों के तबादले किएं

मनोज सिंह ठाकुर                    
भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा के छ: अधिकारियों के तबादले कर उनकी नवीन पदस्थापना के आदेश जारी किए हैं। आधिकारिक जानकारी के अनुसार आज जारी आदेश में भोपाल के सहायक पुलिस अधीक्षक अभिषेक आन्नद का तबादला कर रतलाम जिले के जावरा का नगर पुलिस अधीक्षक बनाया गया है। इस प्रकार ग्वालियर जिले के सहायक पुलिस अधीक्षक मोती उर रहमान को इंदौर के आजाद नगर के नगर पुलिस अधीक्षक के पद पर पदस्थ किया गया। इंदौर के सहायक पुलिस अधीक्षक अभिनव विश्वकर्मा को नगर पुलिस अधीक्षक जहांगीराबाद भोपाल का दायित्व सौपा गया है। इसके अलावा जबलपुर की सहायक पुलिस अधीक्षक प्रियंका शुक्ला को जबलपुर के बरगी का नगर पुलिस अधीक्षक बनाया गया है। वहीं खंडवा के सहायक पुलिस अधीक्षक ऋषिकेश मीना को ग्वालियर के मुरार के नगर पुलिस अधीक्षक की जिम्मेदारी सौपी गयी है। रतलाम के सहायक पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार मीना को उज्जैन के माधवनगर के नगर पुलिस अधीक्षक का दायित्व सौपा गया है।

शुक्रवार, 10 सितंबर 2021

वीडियो बनाने वाले दो युवकों के विरूद्ध मामला

मनोज सिंह ठाकुर            
दमोह। मध्यप्रदेश के दमोह जिले के जबेरा थाना क्षेत्र के ग्राम बनिया में बारिश ना होने के कारण अंधविश्वास के चलते छह मासूम बच्चियों को नग्न कर मुसल पर मेढकी को बांधकर देवी देवताओं को प्रसन्न करने के लिए सार्वजनिक रुप से ग्राम में घुमाए जाने के मामले में 6 महिलाओं और वीडियो बनाने वाले दो युवकों के विरुद्ध मामला दर्ज किया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार जिले के जबेरा थाना अंतर्गत ग्राम बनिया में 4 से 6 वर्ष की मासूम बच्चियों को निर्वस्त्र कर अंधविश्वास के चलते घुमाए जाने के मामले में जबेरा पुलिस द्वारा राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग, कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य के निर्देश के उपरांत जांच किए जाने पर इन बच्चियों की माताओं सहित वीडियो बनाकर वायरल करने वाले दो युवकों को भी पास्को एक्ट और जेजे एक्ट के तहत कल मामला दर्ज किया गया है।


गुरुवार, 9 सितंबर 2021

हत्या के केस में सजा काट रहे कैदी ने खुदकुशी की

मनोज सिंह ठाकुर              
ग्वालियर। मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा उप जेल में हत्या के मामले में सजा काट रहे एक विचारधीन कैदी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार डबरा उप जेल में हत्या के मामले में सजा काट रहे विचाराधीन कैदी कमल शाक्य ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसका शव आज सुबह खिड़की से लटका बरामद किया गया। कमल शाक्य ने गत 22 मार्च को पूर्व सरपंच विजय जाट की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, तभी से वह जेल में सजा काट रहा था।

मंगलवार, 7 सितंबर 2021

आरोपी की मृत्यु हो जाने को लेकर थाने पर हमला

मनोज सिंह ठाकुर          

खरगोन। मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में डकैती के आरोपी की न्यायिक हिरासत में मृत्यु हो जाने को लेकर आज ग्रामीणों ने बिस्टान थाने पर हमला बोल दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस पिटायी के चलते व्यक्ति की मृत्यु की घटना हुयी है। पुलिस अधीक्षक खरगोन शैलेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि हाल ही में यहां से 17 किलोमीटर दूर बिस्टान पुलिस ने राहगीरों से लूटपाट करने के आरोप में खैरकुंडी ग्राम निवासी 12 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इनमें से आठ आरोपियों को 4 सितंबर को तथा शेष चार को 6 सितंबर को न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

कल रात्रि जेल में एक आरोपी खैर कुंडी निवासी 35 वर्षीय आदिवासी बिशन को घबराहट हुई और उसे जिला अस्पताल भेजा गया। वहां उसकी मृत्यु हो जाने के बाद परिजनों को सूचित कर जिला अस्पताल बुलवाया गया था। घटना के चलते चलते आज खैरकुंडी ग्राम के लगभग 200 ग्रामीणों ने बिस्टान पुलिस स्टेशन पर पत्थरों हमला बोल दिया। उन्होंने बताया कि बिस्टान थाना प्रभारी राकेश आर्य समेत अन्य पुलिस कर्मियों ने अपने आपको थाने के अंदर बंद कर लिया। थाना परिसर में उन्होंने जमकर तोड़फोड़ की तथा पुलिस वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।

सोमवार, 6 सितंबर 2021

पुरानी रंजिश के चलते व्यक्ति की गोली मारकर हत्या

मनोज सिंह ठाकुर                    
भोपाल। राजधानी भोपाल के खजूरी सड़क थाना क्षेत्र में पुरानी रंजिश के चलते एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गयी है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार बरखेड़ा बोंदर गांव निवासी नफीस खान (46) अपने दोस्त से मिलने कल रात उसके घर गया था। वहां से लौटने के लिए जब वह मोटर साइकिल पर सवार हुआ, तभी एक व्यक्ति ने उस पर पीछे से फायर कर दिया, जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गया। उसे तुरंत समीप के अस्पताल जे लाया गया, वहां उसकी मौत हो गयी। पुलिस ने बताया कि नफीस प्रापर्टी से जुड़ा कारोबार करता था।
घटना के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू की, जिसमें पुरानी रंजिश के चलते हत्या की वारदात करना सामने आया है।

रविवार, 29 अगस्त 2021

एचसी में लंबित मामलों का बोझ 4 लाख से ऊपर

राम कुमार कुशवाहा      

भोपाल। मप्र हाईकोर्ट में लम्बित मामलों का बोझ चार लाख से ऊपर पहुंच गया है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार जून 2021 की समाप्ति तक हाईकोर्ट के समक्ष 397975 मामले लंबित थे। जुलाई-अगस्त के दौरान दौरान दायर नए मामलों को मिलाकर वर्तमान में लंबित मामलों की संख्या चार लाख पार कर गई है। हाईकोर्ट में कुल स्वीकृत पदों के मुकाबले वर्तमान न्यायाधीशों की संख्या आधी है। इसी वजह से न्याय-दान प्रक्रिया अपेक्षित गति नहीं पकड़ रही है। यही वजह है कि पुराने मामले निराकृत नहीं हो पाते और नए मामले दायर हो जाते हैं।

हाईकोर्ट में इतनी पेंडेंसी की प्रमुख वजह जजों की कमी को माना जा रहा है। बीते महीने ही छह नए जजों की नियुक्तिके बावजूद फिलहाल हाइकोर्ट की तीनों बेंच में स्वीकृत 53 पदों की तुलना में महज 28 जज कार्यरत हैं। दो और जज रिटायर होने हैं। इसके बाद जजों की संख्या महज 26 बचेगी, जो स्वीकृत पदों के आधे से भी कम है।

विधिवेत्ताओं के मुताबिक मार्च, 2020 से कोविड के खतरे के कारण हाईकोर्ट का कामकाज सीमित सुनवाई के जरिए हुआ। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सीमित संख्या में महत्वपूर्ण मामले सुने गए। पुराने मामले बहुत कम सुनवाई में आए। लिहाजा, लम्बित मामलों की संख्या में इजाफा होता चला गया।

हाईकोर्ट की तीनों खंडपीठों में 30 जून 2021 तक कुल 3 लाख 97 हजार 975 मामले लम्बित थे। जून 2021 में कुल 10282 मामले तीनों खंडपीठों में दायर किए गए। इसी दौरान हाईकोर्ट ने 9009 मामलों का निराकरण भी किया। इस लिहाज से देखा जाए, तो एक माह में करीब हजार मामले लम्बित रह गए। ये आंकड़े कोरोनाकाल के हैं, जब हाईकोर्ट में दायर व निराकृत होने वाले मामलों की संख्या अपेक्षाकृत बहुत कम थी। सामान्य दिनों में हर माह करीब पांच हजार मामलों का बोझ हाईकोर्ट पर बढ़ जाता है। आंकड़ों के अध्ययन से पता चलता है कि मप्र हाईकोर्ट में हर साल लम्बित आंकड़ों की संख्या 50 हजार से अधिक की दर से बढ़ रही है।

बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवात क्षेत्र में तब्दील हुआ

मनोज सिंह ठाकुर         
भोपाल। बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवात कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील हो गया है। मानसून ट्रफ भी ग्वालियर से होकर गुजर रहा है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इन दिनों दो सिस्टम के असर से मानसून सक्रिय हो गया है।जिसके चलते सोमवार से पूरे मध्यप्रदेश में बारिश होने की संभावना है।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक रीवा में 17, धार में 10, मंडला, गुना, छिंदवाड़ा में एक, भोपाल (शहर) में 0.4, जबलपुर में 0.2 मिलीमीटर बारिश हुई। राजधानी का अधिकतम तापमान 31.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री से. अधिक रहा। न्यूनतम तापमान 22 डिसे. रिकार्ड किया गया। यह सामान्य रहा। मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि सोमवार को जबलपुर, रीवा, शहडोल, सागर, भोपाल, होशंगाबाद, उज्जैन, इंदौर, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें पडऩे की संभावना है। पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में दक्षिणी ओडिशा और उत्तर आंध्रप्रदेश तट के बीच कम दबाव का क्षेत्र बना है। इस सिस्टम के उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढऩे की संभावना है। मानसून ट्रफ फिरोजपुर, दिल्ली, ग्वालियर, झारसुगड़ा से कम दबाव के क्षेत्र से तब्दील होकर बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। इन दो सिस्टमों के असर से सोमवार से पूरे मप्र में बारिश का दौर शुरू होने की संभावना है।

शनिवार, 28 अगस्त 2021

पाकिस्तानी नागरिक की सजा पूरी, उसके देश भेजा

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में 15 साल पहले जासूसी के जुर्म में पकड़े गए एक पाकिस्तानी नागरिक को सजा पूरी होने के एक साल बाद उसके देश वापस भेजा जा रहा है। एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण उसे पाकिस्तान भेजने की प्रक्रिया में देरी हुई है।
ग्वालियर केंद्रीय कारागार के अधीक्षक मनोज कुमार साहू ने कहा कि पाकिस्तानी जासूस अब्बास अली को बृहस्पतिवार को पुलिस सुरक्षा में वाघा सीमा पर भेजा गया है, जहां से उसे पाकिस्तान को सौंप दिया जाएगा। अली (43) को मार्च 2006 में ग्वालियर के इंदरगंज थाना क्षेत्र के नई सड़क इलाके से आपत्तिजनक दस्तावेजों के साथ पकड़ा गया था।
साहू ने कहा कि एक अदालत ने उसे 14 साल के कारावास की सजा सुनाई थी जो पिछले साल 26 मार्च को पूरी हुई लेकिन कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के कारण उसे वापस नहीं भेजा जा सका। उन्होंने कहा कि तब से उसे यहां नजरबंद रखा गया था और अब उसे वाघा सीमा पर भेजा गया है। अली को शनिवार को सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को सौंप दिया जाएगा। अधिकारियों के अनुसार अली पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के रहीम यार कस्बे का रहने वाला है।

शुक्रवार, 27 अगस्त 2021

कर्मचारियों को धमकाने के मामले पर सियासत शुरू

मनोज सिंह ठाकुर                 
भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बार फिर अफसरों और कर्मचारियों को धमकाने के मामले पर सियासत शुरू हो गई है। इस बार पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरु हुआ है। एक दिन पहले कमलनाथ द्वारा अफसरों को दी गई चेतावनी पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है। शिवराज ने कहा कि 15 महीने सरकार थी, तब क्या कर रहे थे, जो अब कर्मचारियों को धमका रहे हैं। दूेख लूंगा, मिटा दूंगा और जांच करवा दूंगा। यह धमकाने वाला अंदाज अलोकतांत्रिक है। प्रदेश के अधिकारी-कर्मचारी कर्तव्यनिष्ठ हैं।
शिवराज ने आगे कहा कि मध्यप्रदेश के नेता कह रहे हैं कि कांग्रेस में किसी की कदर नहीं है। उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को नसीहत देते हुए कहा कि वे पहले अपने घर को संभाल लें। इनसे (कमलनाथ) घर संभल नहीं रहा और कर्मचारियों को धमकाने निकले हैं।
गौरतलब है कि कमलनाथ ने 26 अगस्त को भोपाल में 'संस्कृति बचाओ' यात्रा के समापन के मौके पर सरकारी तंत्र को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि BJP का बिल्ला जेब में रखकर काम मत करो। 2 साल बाद सरकार बदल जाएगी। यदि रिटायर हो जाओगे तो भी फाइल खुल सकती है। पुलिस महकमे की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस को वर्दी की इज्जत रखनी चाहिए।
कमलनाथ ने यह भी कहा था कि मंदिर-मस्जिद को लेकर सड़क पर उतरने से रोज़गार नहीं बनते हैं। रोजगार निवेश से आएगा। मेरा लक्ष्य मध्यप्रदेश को विकास की राह पर लाना था। कांगेस की सरकार गिराने के लिए प्रदेश में सौदेबाजी हुई, लेकिन मैंने सौदा नहीं किया, क्योंकि मैं विकास का पक्षधर हूं। उन्होंने कहा -प्रदेश की जनता मुझे बताए कि मेरा क्या दोष है, मैंने कौन सा पाप किया।

8वीं तक के छात्रों के स्कूल खोलने का फैसला होगा

मनोज सिंह ठाकुर             
भोपाल। मध्य प्रदेश में कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्रों के स्कूल खुलेंगे या नहीं। इसका फैसला 4 दिन बाद किया जाएगा। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का कहना है कि  मध्य प्रदेश में पहली से आठवीं तक स्कूल खोलने को लेकर फिलहाल कोई निर्णय नहीं है। अभी दूसरे राज्यों में स्थितियां ठीक नहीं है और हम अभी और स्थितियों का आकलन करेंगे। इस हफ्ते स्कूल खोलने को लेकर महत्वपूर्ण बैठक ली जाएगी।
दरअसल, मप्र के स्कूल शिक्षा विभाग  की पहली से आठवीं कक्षा तक के स्कूलों को 15 सितंबर 2021 से खोलने की तैयारी है, ऐसे में जिला क्राइसिस मैनेजमेंट, स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी और प्रिंसिपल के साथ स्कूलों खोलने को लेकर तमाम मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। ज्यादा समय तक स्कूलों को बंद नहीं रखा जा सकता है, सितंबर के दूसरे सप्ताह में खोलने पर विचार किया जा रहा है।अगले 4 दिन में यानी 30 अगस्त तक स्कूल में बच्चे कैसे आएं और क्लास कैसे शुरू हों, इस पर फैसला लेंगे और अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का होगा।
दो दिन के अंदर सभी के साथ मीटिंग कर स्कूलों को लेकर रणनीति तैयार करेंगे। इसके बाद 30 अगस्त तक फैसला लिया जाएगा कि स्कूल खोले या नहीं। वही माना जा रहा है कि  9 से 12वीं तक की कक्षाओं का संचालन पूरी क्षमता के साथ करने की अनुमति भी दी जा सकती है।वर्तमान में 50% क्षमता के साथ 9वीं से 12वीं की क्लास लग रही हैं, ऐसे में कयास लगाए जा रहे है कि 6वीं से 8वीं तक की कक्षाएं सप्ताह में दो दिन लगाई जा सकती है। 5वीं की कक्षाओं को सितंबर के दूसरे सप्ताह से शुरू किया जा सकता है। साथ ही ये कक्षाएं सप्ताह में एक दिन संचालित की जा सकती हैं, हालांकि अंतिम फैसला होना अभी बाकी है।

पटवारियों की हड़ताल, याचिका पर सुनवाई हुईं

मनोज सिंह ठाकुर              
जबलपुर। जबलपुर हाईकोर्ट  में दायर प्रदेश में पटवारियों की हड़ताल के ख़िलाफ़ याचिका पर आज सुनवाई हुई। हाईकोर्ट ने इसे अवैध घोषित करते हुए पटवारियों को तत्काल काम पर लौटने का आदेश दिया। वही राज्य सरकार को भी हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि पटवारियों की माँगो पर विचार करें। हाईकोर्ट ने कहा कि पटवारियों से मीटिंग कर जायज़ मांगों को पूरा करने पर विचार किया जाए। पटवारियों की समस्याओं का 60 दिन के भीतर सरकार निराकरण करें।
दरअसल, यह याचिका मनोज कुशवाहा सहित किसानों ने लगाई है। जिसमें पटवारियों की हड़ताल को चुनौती दी गई थी। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बीते 10 अगस्त से प्रदेश भर के पटवारियों ने काम बंद हड़ताल कर रखी है, जिसके चलते सरकारी कामकाज के साथ राजस्व का काम बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। वही लोग भी परेशान हो रहे है।इधर मामला मध्य प्रदेश हाईकोर्ट पहुंचा तो हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए निर्देश दिए कि प्रदेश भर के सभी पटवारी तुंरत काम पर वापस लौटे। साथ ही हाईकोर्ट ने पटवारियों की हड़ताल को अवैध घोषित करार किया है।
मध्यप्रदेश हाईकोर्ट  के न्यायाधीश प्रणव वर्मा और चीफ जस्टिस मोहम्मद रफीक की डिवीजन बैंच में चली सुनवाई में पटवारियों के साथ साथ हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को भी आदेश दिए है कि आप पटवारियों से बात करें और जाने की उनकी मांगे कितनी जरूरी है।  इसके अलावा पटवारियों के साथ बैठक भी करें और उनकी मांगों पर विचार करें।हाई कोर्ट की डिवीजन बैंच ने पटवारियों की बीते 17 दिनों से चल रही हड़ताल पर राज्य सरकार को यह भी आदेश दिए है कि वह आगामी 60 दिनों के भीतर उनकी समस्याओं का निराकरण कर रिपोर्ट दें।
गौरतलब है कि पटवारियों की हड़ताल को लेकर सबसे ज्यादा कोई परेशान हो रहा था वह थे किसान ।लिहाजा मनोज कुशवाहा सहित किसानों ने पटवारियों की हड़ताल को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी जिसका निराकरण आज हाई कोर्ट ने किया है।  प्रदेश भर के पटवारियों ने 2 एवं 3 अगस्त को सामूहिक अवकाश लिया था और उसके बाद पुनः 9 अगस्त से काम बंद हड़ताल कर दी थी। पटवारियों की मुख्य मांग थी कि उनका समयमान और वेतनमान बढ़ाया जाए साथ ही उनसे सिर्फ राजस्व संबधित काम लिया जाए।

सोमवार, 23 अगस्त 2021

सावन के महीने में एक फीसदी ज्यादा बरसात हुईं

मनोज सिंह ठाकुर                
भोपाल। मध्यप्रदेश में सावन के महीने में जोरदार बरसात हुई। ग्वालियर और चम्बल संभाग के कई जिलों में चार-पांच दिन तक बाढ़ के हालात बने रहे। इसके बावजूद सावन के महीने में प्रदेश में सावन के महीने में निर्धारित कोटे से केवल एक फीसदी ज्यादा बारिश हुई। ग्वालियर-चम्बल अंचल को छोड़ दिया जाए तो प्रदेश के 31 जिलों में औसत से भी कम बारिश दर्ज की गई। इनमें से 12 जिलों 21 से 42 फीसदी तक और 19 जिलों में 18 फीसदी तक कम बारिश दर्ज की गई।
मौसम विभाग के मुताबिक, सावन के महीने में मध्यप्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग के जिलों में सामान्य से ज्यादा बारिश हुई है, जबकि मालवा, निवाड़, बुंदेलखंड और महाकौशल क्षेत्र के 12 जिलों में सामान्य से 21 से 42 फीसदी तक कम बारिश हुई। इनमें दमोह, छतरपुर, बालाघाट, जबलपुर, कटनी, पन्ना, सिवनी, बड़वानी, हरदा, धार, इंदौर, खरगोन जिले शामिल हैं। इसके अलावा राजधानी भोपाल सहित 19 जिलों में औसत से 4 से 18 फीसदी तक कम बारिश हुई है। वहीं, ग्वालियर-चंबल संभाग के श्योपुर जिले में सामान्य से 123 फीसदी और गुना जिले में 114 फीसदी ज्यादा बारिश दर्ज हुई है।
सावन समाप्त होने के बाद सोमवार से भादौ का मास शुरू हो गया है। इस महीने में प्रदेश में जोरदार बारिश की संभावना है। हालांकि, वर्तमान में यहां कोई वेदर सिस्टम सक्रिय नहीं है, जिसके चलते बारिश की गतिविधियां कमजोर पड़ी हैं, लेकिन वातावरण में बड़े पैमाने में नमी मौजूद रहने के कारण कहीं-कहीं छिटपुट बौछारें पड़ रही हैं। इधर, मौसम विभाग ने चार जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी जारी की है। चार जिलों के अलावा 28 जिलों में आंधी चलने के साथ ही बिजली गिरने का भी अलर्ट जारी किया है।
वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में कोई वेदर सिस्टम मध्यप्रदेश में सक्रिय नहीं है। मानसून ट्रफ भी अब राजस्थान से उत्तरप्रदेश, बिहार, झारखंड से होकर नागालैंड तक जा रहा है। इस वजह से नमी मिलने का सिलसिला कम हो गया है। जिसके चलते धीरे-धीरे बादल छंटने लगे हैं। हालांकि कुछ नमी मौजूद रहने के कारण जहां उमस परेशान करेगी, वहां कहीं-कहीं दोपहर बाद छिटपुट बौछारें भी पड़ सकती हैं।
उन्होंने बताया कि मौसम विभाग ने चार जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी है। इनमें धार, देवास, उज्जैन और रतलाम जिलों के अलग-अलग स्थानों पर गरज चमक के साथ बिजली गिरने की संभावना है। इसके अलावा राज्य के 13 अन्य जिलों में बारिश को लेकर यलो अलर्ट जारी किया गया। इनमें नीमच, दतिया, मुरैना, मंदसौर, भिंड, शिवपुरी, झाबुआ, शाजापुर, आगर-मालवा, बैतूल, राजगढ़, छिंदवाड़ा और नरसिंहपुर जिलों में बिजली चमकने के अलावा बादल गरजने के साथ ही बारिश भी होगी।

शनिवार, 21 अगस्त 2021

एमपी: फर्राटा भरते हुए दौड़ रहे ट्रक का टायर फटा

मनोज सिंह ठाकुर             
चित्रकूट। सड़क पर फर्राटा भरते हुए दौड़ रहे ट्रक का टायर फट गया। जिससे वह अनियंत्रित होकर दूसरे ट्रक के आगे जाकर पलट गया। इस हादसे में चालक की मौके पर ही मौत हो गई है। जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घायल हुए व्यक्ति को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। 
शनिवार की सवेरे एक ट्रक चित्रकूट से चलकर प्रयागराज की तरफ जा रहा था। पहाड़ी थाना क्षेत्र के अशोह मोड पर पहुंचते ही तेजी से दौड़ रहे ट्रक का टायर फट गया। जिससे वह अनियंत्रित हो गया। इसके बाद अनियंत्रित हुआ ट्रक प्रयागराज से चित्रकूट की तरफ आ रहे ट्रक के सामने जाकर पलट गया। जिससे सामने से आ रहे ट्रक की उसके साथ भिड़ंत हो गई। दो वाहनों की इस भिड़ंत में प्रतापगढ़ जनपद के लीलापुर साहब निवासी चालक सूरज मिश्रा की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दूसरे ट्रक का चालक गंभीर रूप से घायल हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने चालक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने घायल हुए दूसरे ट्रक के ड्राइवर को एंबुलेंस की सहायता से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहाड़ी में ले जाकर भर्ती कराया है। पुलिस ने बाद में क्रेन की सहायता से सड़क पर खड़े दुर्घटनाग्रस्त हुए दोनों ट्रकों को हटवाकर किनारे खड़ा कराया और यातायात को सुचारु किया।

शुक्रवार, 20 अगस्त 2021

एमपी: अधिकारियों के तबादले 31 अगस्त तक होगें

मनोज सिंह ठाकुर       

भोपाल। मध्यप्रदेश में अब सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों के तबादले 31 अगस्त तक किये जा सकेंगे।इस संबंध में आज सामान्य प्रशासन विभाग ने आदेश जारी कर दिए। 

तबादलों की अंतिम तिथि 7 अगस्त थी, लेकिन राज्य में बाढ़ और अतिवृष्टि के कारण यह प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई थी। इसलिए तबादलों की अंतिम तिथि बढ़ाई गयी है।

मंगलवार, 17 अगस्त 2021

26 अगस्त को फिर लगाएं जाएंगे वैक्सीनेशन शिविर

मनोज सिंह ठाकुर                
भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई जारी है। वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसी बीच सोमवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने ऐलान किया कि प्रदेश में 25 और 26 अगस्त को फिर से वैक्सीनेशन शिविर लगाए जाएंगे। दो दिन महा अभियान चलाया जाएगा।
विश्वास सारंग ने कहा कि सरकार कोरोना के मामलों पर नजर रखे हुए है। रोज करीब 75 हजार सैंपल लिए जा रहे हैं। अब 30 लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग बढ़ा रहे हैं। लोगों से कहना चाहता हूं कि कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान रखें, ताकि खुद और दूसरों को इससे बचाया जा सके। सारंग ने कहा कि संक्रमण रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काम किया है। उन्होंने स्वास्थ्य व्यवस्था को सुचारू किया। आर्थिक स्थिति को फिर से प्लानिंग कर सुदृढ़ किया। तीसरी लहर से बचाव की तैयारियां चल रहीं हैं। कोई कमी नहीं है।
करीब 3 करोड़ 80 लाख को वैक्सीन
प्रदेश में अब तक 3 करोड़ 78 लाख 3 हजार लोगों को कुल डोज लगे हैं। इसमें पहला डोज 3 करोड़ 17 लाख 3 हजार 875 और दूसरा डोज 60 लाख 99 हजार 323 लोग लगवा चुके हैं। इसमें 18 से 44 उम्र के 2 करोड़ 8 लाख 72 हजार 881, 45 से 60 उम्र के 1 करोड़ 4 लाख 21 हजार 742 और 60 वर्ष से अधिक उम्र के 65 लाख 8 लाख 575 लोगों ने वैक्सीन लगवाई है।
भोपाल में 190 सेंटर पर 34 हजार को टीका
भोपाल जिला टीकाकरण अधिकारी उपेन्द्र दुबे ने बताया, सोमवार को 190 सेंटर पर 34 हजार डोज लगाए जा रहे हैं। इसमें कोवैक्सिन 12 हजार और कोवीशील्ड 22 हजार के आसपास डोज हैं। शहरी इलाकों में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन वालों को प्राथमिकता होगी। इसके बाद वैक्सीन बचने पर ऑनसाइट रजिस्ट्रेशन कर टीका लगाया जाएगा। इस बार वैक्सीनेशन के लिए गांव पर फोकस होगा। इसके लिए गांवों में ज्यादा सेंटर बनाए जा रहे हैं।

सोमवार, 16 अगस्त 2021

1,376 किलोग्राम गांजे के साथ 2 को अरेस्ट किया

मनोज सिंह ठाकुर               
इंदौर। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में 1,376 किलोग्राम गांजे के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया है। गांजे की इस बड़ी खेप को आंध्र प्रदेश से ट्रक में धान के भूसे की आड़ में छिपाकर लाया गया था। एनसीबी के एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि मादक पदार्थों के काले बाजार में इस खेप की कीमत 1.5 करोड़ रुपये आंकी जा रही है।
अधिकारी ने कहा कि मुखबिर की सूचना पर उज्जैन जिले में एक ट्रक को रविवार को रोका गया। राजस्थान में पंजीकृत ट्रक की तलाशी लिए जाने पर इसमें 1,376 किलोग्राम गांजा छिपा मिला। अधिकारी ने बताया कि शातिर तस्करों ने धान के भूसे से भरे बोरों की आड़ में गांजे की बड़ी खेप छिपा रखी थी।
उन्होंने बताया कि जांच में पता चला है कि नशीले पदार्थ की यह खेप आंध्र प्रदेश से उज्जैन के लिए रवाना की गई थी। अधिकारी ने बताया कि गांजे की अंतरराज्यीय तस्करी के मामले में एनडीपीएस अधिनियम के तहत उज्जैन जिले के दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और इस अपराध में इस्तेमाल ट्रक को जब्त कर लिया गया है। विस्तृत जांच जारी है।

स्वतंत्रता दिवस समारोह पर उल्टा फहराया 'झंडा'

मनोज सिंह ठाकुर                  
भोपाल। मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान परेड वाहन पर राष्ट्रीय ध्वज को उल्टा फहराने पर पुलिस के एक वाहन चालक को निलंबित कर दिया गया और दो अन्य पुलिसकर्मियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। राजगढ़ के पुलिस अधीक्षक (एसपी) प्रदीप शर्मा ने सोमवार को एक बयान में कहा कि चालक ने निरीक्षण वाहन पर राष्ट्रीय ध्वज गलत तरीके से लगाया था। इसलिए वाहन चालक को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।
उन्होंने कहा कि वाहन प्रभारी सहित दो अन्य पुलिसकर्मियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उनका जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। इसकी जानकारी उस वक्त हुई जब उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने जिला मुख्यालय राजगढ़ में परेड का निरीक्षण किया। स्वतंत्रता दिवस परेड के दौरान वाहन पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा उल्टा लगाया गया था।

सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...