रविवार, 23 जुलाई 2023

30 करोड़ से अधिक पौधरोपण का कीर्तिमान: यूपी

30 करोड़ से अधिक पौधरोपण का कीर्तिमान: यूपी

हरिओम उपाध्याय   

लखनऊ। माफिया के प्रति कठोर और बच्चों के लिए नर्म दिल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर्यावरण संरक्षण को लेकर बेहद संवेदनशील हैं। दुनियाभर में बढ़ते मरुस्थलीकरण के खतरे, पर्यावरण ह्रास और जैव विविधता को पहुंचाई जा रही क्षति को ध्यान में रखते हुए योगी आदित्यनाथ बीते छह साल से प्रदेश में बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण अभियान को शीर्ष प्राथमिकता पर रखे हुए हैं। मुख्यमंत्री की मंशा को ध्यान में रखते हुए शनिवार को प्रदेश में व्यापक स्तर पर वृक्षारोपण महाभियान 2023 चलाया गया।

इस दौरान राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने छाता मथुरा में जबकि, सीएम योगी ने बिजनौर और मुजफ्फरनगर में गंगा किनारे पौधरोपण कर इस महाभियान का शुभारंभ किया। वहीं प्रदेश सरकार के सभी मंत्रियों ने भी विभिन्न जनपदों में पौध लगाए गये। शाम पांच बजे तक प्रदेश में 30,21,51,570 पौधे रोपित किये गये, जबकि सरकार का टारगेट 30 करोड़ 21 लाख से भी ज्यादा है।

मुख्यमंत्री ने बताया पौधरोपण लोकपर्व

वृक्षारोपण महाभियान 2023 को मिली अप्रत्याशित सफलता के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे नए भारत के नए उत्तर प्रदेश में ‘पौधरोपण’ लोकपर्व बताते हुए कहा कि प्रकृति के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए उत्तर प्रदेश में आज एक दिन में 30 करोड़ से अधिक पौधरोपण का कीर्तिमान बनाया गया है। “माता भूमिः, पुत्रोऽहं पृथिव्याः” के विचारो से प्रभावित होकर समस्त 18 मंडल सहित 75 जिलो में  उत्साह,उमंग और उल्लास के साथ आम जनता ने भी इस जीवन रक्षक अभियान में अपनी सहभागिता प्रदान किया। देखा जाय तो आज का यह प्रयास आने वाली पीढ़ियों को ‘स्वच्छ,समृद्ध और हरित’ परिवेश प्रदान करने में सफल होगा। इस योगदान के लिए जनप्रतिनिधियों, सामाजिक संगठनों,स्वयंसेवी संगठनों तथा शासन-प्रशासन सहित प्रदेश के समस्त वासियों को बहुत बहुत धन्यवाद व आभार।

इन मंत्रियों ने यहां किया पौधरोपण

शनिवार को पौधरोपण कार्यक्रम में योगी सरकार के मंत्री अलग-अलग जनपदों में शामिल हुए। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य प्रयागराज व कौशांबी, उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक रायबरेली व बाराबंकी, काबीना मंत्री स्वतंत्र देव सिंह व वन-पर्यावरण मंत्री अरुण सक्सेना बिजनौर व मुजफ्फरनगर, कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही अयोध्या व अमेठी, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना लखनऊ व गोरखपुर, कैबिनेट मंत्री बेबी रानी मौर्य झांसी व जालौन, वन-पर्यावरण राज्यमंत्री केपी मलिक सहारनपुर में पौधरोपण कार्यक्रम में शामिल हुए। इसके अलावा अन्य मंत्रियों ने भी विभिन्न जनपदों में पौधरोपण किया।

हरीतिमा अमृत वन ऐप 3.1 पर मिलेगा रियल टाइम अपडेट

शनिवार को हुए वृक्षारोपण महाभियान 2023 के अंतर्गत वन भूमि, रक्षा, रेलवे की भूमि, ग्राम पंचायत एवं सामुदायिक भूमि, एक्सप्रेस वे, सड़क, नहर, रेल पटरी के किनारे। विकास प्रधिकरण, औद्योगिक परिसर, चिकित्सा संस्थान, शिक्षण संस्थान की भूमि, अन्य राजकीय भूमि, कृषकों की निजी भूमि, नागरिकों द्वारा निजी परिसर में बड़े स्तर पर पौधरोपण किया गया है। सबसे अहम बात ये कि अभियान को पूरी पारदर्शिता के साथ संपन्न कराने के लिए योगी सरकार ने एण्ड्रायड आधारित हरीतिमा अमृत वन मोबाइल एप वर्जन 3.1 विकसित किया है। मुख्यमंत्री का स्पष्ट निर्देश है कि पिछली सरकारों की तरह पौधरोपण अभियान केवल कागजी खानापूर्ति तक सीमित ना रहे, बल्कि इसको लेकर पूरी पारदर्शिता और पौधों की प्रभावी मॉनीटरिंग की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। यही कारण रहा कि इस साल पौधों की जियो टैगिंग की मुकम्मल व्यवस्था की गई है। साथ ही वन विभाग ने भी टेक्नोलॉजी का भरपूर उपयोग किया है।

बिहार की उपलब्धियों को बदनाम कर रही भाजपा   

बिहार की उपलब्धियों को बदनाम कर रही भाजपा   

अविनाश श्रीवास्तव  

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल से बिहार जिन उपलब्धियों को पाता है, उसे केंद्र की उपलब्धि बताकर भाजपा अनर्गल प्रलाप करती है। केंद्र की मोदी सरकार और बिहार भाजपा के नेताओं पर यह हमला राज्य के वित्त मंत्री विजय चौधरी ने किया है। उन्होंने रविवार को कहा कि यह बहुत आश्चर्य की बात है पूरे देश में गरीबी रेखा दूर करने में बिहार सबसे अव्वल स्थान पर रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता इस पर गर्व महसूस नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा कहती है कि बिहार में गरीबी दूर करने का जो कार्य हुआ है उसमें केंद्र का योगदान है। विजय चौधरी ने पूछा कि भाजपा ने बिहार को कौन सी विशेष योजना दी है जिससे गरीबी दूर हो। बिहार गरीबी दूर करने में सबसे आगे है। बिहार को कौन सा केंद्र ने विशेष योगदान दिया है इसे भाजपा को बताना चाहिए। बिहार को जिन योजनाओं का केंद्र ने आवंटन किया उसे अन्य राज्यों को भी किया गया था। लेकिन नीतीश कुमार के विरोध में अंधे हो चुके हैं भाजपा नेता बिहार सरकार को बदनाम करने में भी परहेज नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नीति आयोग ने जो रिपोर्ट बिहार के विकास की जारी की है उस रिपोर्ट में बिहार सरकार द्वारा किए गए कार्य और उपलब्धि की प्रशंसा है। भाजपा नेताओं का बिहार से परेशानी है। बिहार को बदनाम करने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं। नीतीश कुमार की सोच के कारण कुशल वित्तीय प्रबंधन के कारण बिहार विकास की ओर बढ़ रहा है। नीतीश कुमार के कुशल वित्तीय प्रबंधन के कारण बिहार से गरीबी दूर हो रही है यह सिर्फ नीतीश कुमार की सोच का नतीजा है।

विजय चौधरी ने कहा, बिहार के लिए गर्व की बात होगी कि भाजपा नेता बिहारी होने के नाते अपनी प्रदेश की प्रशंसा करें। लेकिन, भाजपा नेताओं के ईर्ष्या भाव के कारण बिहार सरकार के प्रशंसा नहीं कर रहे हैं। बिहार के सम्मान के लिए उपलब्धियों की प्रशंसा की जानी चाहिए। बिहार में गरीबी मिटाने का पूरा श्रेय नीतीश कुमार को जाता है। विशेष राज्य का दर्जा बिहार काफी समय से मांग रहा है। बिहार सरकार के पास संसाधन की कमी है, प्राकृतिक संसाधन नहीं है। बिहार सीमित संसाधन के साथ आगे बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तरफ से विशेष राज्य का दर्जा की मांग हमेशा की जाती रही है। केंद्र हमे हमारा वाजिब हक समय पर नहीं दे रही है। ऐसे में बिहार ने अपने बलबूते राज्य में गरीबी हटाने को लेकर जो उपलब्धि पाई है। उसे केंद्र की पहल बताकर बिहार भाजपा के नेता बिहार को शर्मसार कर रहे हैं।

भूस्खलन में 81 लोग लापता, 27 की मौत 

भूस्खलन में 81 लोग लापता, 27 की मौत 

दुष्यंत टीकम   

रायपुर। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के अधिकारियों ने शनिवार रात कहा कि रविवार सुबह से खोज और बचाव अभियान फिर से शुरू कर दिया गया है। एक अधिकारी के अनुसार, खोज एवं बचाव अभियान फिर से शुरू होने के बाद अब तक कोई शव बरामद नहीं हुआ है।

खराब मौसम ने खोज एवं बचाव अभियान में भूमिका निभाई...

राहत और पुनर्वास विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि नवीनतम आंकड़ों के अनुसार गांव की आबादी 229 थी और वर्तमान में, 98 लोगों को अस्थायी शिविरों में स्थानांतरित कर दिया गया है। NDRF  के डिप्टी कमांडेंट दीपक तिवारी ने कहा कि खराब मौसम के कारण अधिकारियों को बचाव अभियान में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।

मलबे में दबा शव सड़ने लगा...

जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि मलबे में दबे शव भी सड़ने लगे हैं, अब लोगों के जिंदा निकलने की कोई उम्मीद नहीं है। हालांकि लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। इस बीच प्रशासन ने भूस्खलन की आशंका वाले 6 गांवों के 147 परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है।

भूस्खलन में अनाथ हुए बच्चों को गोद लेंगे सीएम शिंदे...

इस घटना में कई बच्चे अनाथ हो गए हैं, उनके सिर से माता-पिता का साया उठ गया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने उन बच्चों के लिए एक बड़ी घोषणा की है। सीएम एकनाथ शिंदे ने घोषणा की है कि जिन बच्चों ने अपने माता-पिता दोनों को खो दिया है, उन्हें गोद लिया जाएगा। 2 से 14 साल तक के अनाथ बच्चों की देखभाल श्रीकांत शिंदे फाउंडेशन द्वारा की जाएगी।

बस तालाब में गिरी, 17 की मौत, 35 घायल   

बस तालाब में गिरी, 17 की मौत, 35 घायल   

अखिलेश पांडेय 

ढाका। रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार को बांग्लादेश के झालाकाथी सदर उपजिला के छत्रकंडा इलाके में एक बस के तालाब में गिर जाने से तीन बच्चों सहित कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई और 35 अन्य घायल हो गए।

“बशर स्मृति परिबाहन” की बारीशाल जाने वाली बस, जिसमें 52 की क्षमता के मुकाबले 60 से अधिक यात्री सवार थे, सुबह 9:00 बजे के आसपास पिरोजपुर के भंडरिया से निकली और लगभग 10:00 बजे बरिशाल-खुलना राजमार्ग पर छत्रकांडा में सड़क किनारे तालाब में गिर गई। बांग्लादेश में बड़ा हादसा 17 लोगों की मौत, 35 से अधिक लोग घायल।

हादसे में जीवित बचे मोहम्मद मोमिन ने कहा, “मैं भंडरिया से बस में चढ़ा। बस यात्रियों से खचाखच भरी हुई थी। उनमें से कुछ यात्री खड़े थे। मैंने ड्राइवर को सुपरवाइजर से बात करते देखा। अचानक बस सड़क से उतर गई और दुर्घटनाग्रस्त हो गई।

मोमिन ने कहा, “सभी यात्री बस के अंदर फंस गए। क्षमता से अधिक यात्री होने के कारण बस तुरंत डूब गई। मैं किसी तरह बस से बाहर निकलने में कामयाब रहा।”

द डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार, बरिशाल डिविजनल कमिश्नर एमडी शौकत अली ने पुष्टि की कि सभी 17 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और बाकी घायलों को अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने कहा कि ज्यादातर पीड़ित पिरोजपुर के भंडरिया उपजिला और झलकाठी के राजापुर इलाके के निवासी हैं।

थाने में नाबालिग को हवस का शिकार बनाया  

थाने में नाबालिग को हवस का शिकार बनाया  

राजेश ओबरॉय   

कुरुक्षेत्र। हरियाणा में खाकी फिर दागदार हुई है। यहां एक पुलिसकर्मी ने थाने के अंदर ही नाबालिग को अपनी हवस का शिकार बनाया है। मामला कुरूक्षेत्र जिले के बाबैन थाना से है जहां मुख्य सिपाही ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है।

ये हैं पूरा मामला

बता दें कि नाबालिग किशोरी करीब एक माह पहले घर से बिना बताए किसी महिला के साथ चली गई थी लेकिन चार दिन पहले ही वह वापस लौटी थी। इस संबंध में थाना बाबैन में किशोरी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज थी। जिसमें किशोरी के बयान कराने के लिए उसे स्वजन थाने में लेकर गए थे।

थाने में तैनात पुलिस कर्मी श्याम लाल ने स्वजनों को शपथ पत्र बनवाने के लिए भेज दिया और किशोरी के बयान दर्ज करने के लिए कमरे में ले गया। यहां महिला मित्र कक्ष में इस पुलिसकर्मी ने नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म की शर्मनाक करतूत को अंजाम दिया।

नाबालिग लड़की ने घर जाकर परिजनों को आपबीती सुनाई तो परिजन उसे एलएनजेपी अस्पताल लेकर पहुंचे। हालांकि अस्पताल से पुलिस थाने में दुष्कर्म की सूचना भेजी गई तो शुरुआत में पुलिसकर्मियों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। लेकिन सुबह परिजनों द्वारा आरोपी पुलिसकर्मी की गिरफ्तारी को लेकर हंगामा किया गया। तब जाकर आरोपी पुलिसकर्मी श्याम लाल को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

भारत गौरव, 123 देशों में अंशिका का चयन

भारत गौरव, 123 देशों में अंशिका का चयन

सुनील श्रीवास्तव   

सिंगापुर। बलिया शहर के गोपाल बिहार कालोनी निवासी कक्षा नौवीं की छात्रा अंशिका पाठक ने सिंगापुर में आयोजित अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में "युवाओं के लिए भविष्य की शिक्षा" विषय पर व्याख्यान व शोध पत्र प्रस्तुत कर न सिर्फ बलिया, बल्कि भारत का मान बढ़ाया  है। अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में व्याख्यान के साथ शोध पत्र प्रस्तुत करने वालीं अंशिका गाजियाबाद स्थित उत्तम स्कूल फॉर गर्ल्स में कक्षा 9 की छात्रा है।

नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर की ओर से सिंगापुर में आयोजित अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में 123 देशों के कक्षा 9 से 12वीं तक के बच्चों ने व्याख्यान व शोध पत्र प्रस्तुत किया। व्याख्यान के लिए पूरे देश से ऑनलाइन इंटरव्यू के बाद अंशिका का चयन हुआ। चयनित होने से खुश कुशाग्र बुद्धि की छात्रा अंशिका ने शिक्षकों के निर्देशन में दिन-रात मेहनत कर सिंगापुर में अपनी प्रतिभा को व्याख्यान के रूप में प्रस्तुत किया। अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में अंशिका के व्याख्यान की खूब सराहना मिली। 

भविष्य की योजना के बारे में पूछने पर बताया कि वह अपने शोध को आगे बढ़ाएंगी। राजस्थान के चुरू स्थित ओपीजेएस यूनिवर्सिटी (OPJS UNIVERSITY) के कुलपति डा. राजेश पाठक की पुत्री अंशिका की मां श्वेता पाठक गृहणी हैं। शुरू से ही मेधावी छात्रा अंशिका ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय माता-पिता के साथ ही स्कूल को दिया। बोली, सभी ने भरपूर सहयोग और सपोर्ट दिया। नन्हीं अंशिका की उड़ान पर डा. कृपाशंकर तिवारी, जवाहर पाण्डेय, डब्लू पाठक, रमारंजन उपाध्याय, आंनद  तिवारी, शंशाक तिवारी, नीरज, दीपक आदि ने बधाई दी है।

अक्षय पात्र प्रतिष्ठान की 67वीं रसोई का उद्घाटन

अक्षय पात्र प्रतिष्ठान की 67वीं रसोई का उद्घाटन

सत्येंद्र पवार  

बरसाना। सांसद एवं प्रसिद्ध अभिनेत्री हेमा मालिनी ने अक्षय पात्र प्रतिष्ठान की 67वीं रसोई का रविवार को यहां उद्घाटन किया, जिसके माध्यम से क्षेत्र के 96 विद्यालयों में 7500 से ज्यादा बच्चों को दिन का पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मथुरा से लोकसभा सांसद ने बरसाना के आजनोख में इस मौके पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि अक्षय पात्र भारत में 67 से ज्यादा रसोई का संचालन कर रहा है।

उन्होंने अक्षय पात्र को महाभारत काल की द्रोपदी की कथा से जोड़ते हुए कहा कि भगवान कृष्ण ने जिस तरह द्रोपदी के अक्षय पात्र में सबके लिए भोजन उपलब्ध कराया था उसी अवधारणा पर श्रीकृष्ण और राधा रानी की लीला भूमि में इस अक्षय पात्र से हज़ारों बच्चों को हर दिन भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अच्छा भोजन और पौष्टिक भोजन बच्चों को उपलब्ध हो, अक्षय पात्र यह सुनिश्चित करता है और इसी सोच के साथ अक्षय पात्र मथुरा जिले 2100 स्कूलों में भोजन उपलब्ध करा रहा है। अक्षय पात्र फाउंडेशन के वॉइस चेयरमैन चंचलापति दास ने कहा कि इस रसोई के माध्यम से आसपास के 48 गांव के साढ़े सात हज़ार बच्चों को भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

उनका कहना था यह रसोई पूरी तरह से महिलाओं द्वारा संचालित की जा रही सामूहिक रसोई है। महिलाओं को इसका संचालन देने की अवधारणा बताते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह एक मां प्यार से अपने बच्चों के लिए भोजन बनाती हैं उसी प्रेम भाव से इस रसोई में काम करने वाली महिलाओं का स्नेह सभी बच्चों को हर दिन मिले।

स्थानीय संचालक अनंत वीर्यदास ने कहा की रसोई में स्थानीय जैविक सब्जियों का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने आसपास के लोगों से बच्चों के लिए गाय का शुद्ध दूध उपलब्ध कराने का भी आग्रह किया है।

आवश्यक वस्तुओं से भरी पहली मालगाड़ी भेजी

आवश्यक वस्तुओं से भरी पहली मालगाड़ी भेजी

मोहम्मद रियाज

इंफाल। न्यू गुवाहाटी रेलवे स्टेशन से 13 बोगियों वाली एक मालगाड़ी को रविवार को मणिपुर के लिए रवाना किया गया। इस अवसर पर मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा, “एक महत्वपूर्ण मील के पत्थर में आवश्यक वस्तुओं से भरी पहली मालगाड़ी को गुवाहाटी माल यार्ड से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया है जो तमेंगलोंग जिले के खोंगसांग रेलवे स्टेशन के लिए है।

यह मणिपुर के लिए तेज़ और कुशल कनेक्टिविटी के एक नए युग का प्रतीक है।” खोंगसांग रेलवे स्टेशन राज्य की राजधानी इंफाल से लगभग 106 किमी दूर है और मणिपुर को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए सामान भंडारण के लिए रेलवे स्टेशन पर काम तेज कर दिया गया है। गत तीन मई से कांगपोकपी में राष्ट्रीय राजमार्ग की नाकाबंदी के बाद पेट्रोलियम उत्पादों, भोजन, निर्माण सामग्री सहित आवश्यक आपूर्ति की कमी हो गई है।

इसलिए, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मणिपुर यात्रा के दौरान खोंगसांग तक एसेंशियल ट्रांसपोर्ट शुरु करने का निर्णय लिया गया। जिरीबाम से इंफाल तक 111 किमी लंबी रेलवे परियोजना 2004 में शुरू हुई थी और कठिन इलाके के कारण इसके पूरा होने में देरी हुई है। एक बार इस परियोजना के पूरा होने पर इंफाल से जिरीबाम तक की यात्रा ढाई घंटे में तय होने की संभावना है।

इलेक्ट्रिक वाहनों का स्थानीय स्तर पर उत्पादन  

इलेक्ट्रिक वाहनों का स्थानीय स्तर पर उत्पादन  

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। जर्मनी की लक्जरी कार विनिर्माता बीएमडब्ल्यू अपने इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) का भारत में स्थानीय स्तर पर उत्पादन करेगी। बीएमडब्ल्यू के ‍एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन कुछ समय की बात है।

बीएमडब्ल्यू ने 2023 की पहली छमाही में भारत में अपनी कुल बिक्री का नौ प्रतिशत इलेक्ट्रिक वाहनों से हासिल किया है। कंपनी को 2025 तक इस आंकड़े के 25 प्रतिशत तक पहुंचने की उम्मीद है।

बीएमडब्ल्यू समूह के भारत में अध्यक्ष विक्रम पावाह ने एक न्यूज एजेंसी से कहा, जैसे-जैसे मात्रा बढ़ेगी, दूसरे उत्पादों की तरह हम उनका (ईवी) स्थानीयकरण करेंगे, और हम उनका उत्पादन (स्थानीय स्तर पर) करेंगे।  उन्होंने कहा कि भारत में ईवी के स्थानीयकरण के दो पहलू हैं। पहला यहां पर मात्रा और दूसरा प्रौद्योगिकी। पावाह ने कहा, यह बस समय की बात है।

मात्रा और स्थिरता में कुछ तालमेल होना चाहिए। अब हमें अच्छे संकेत दिख रहे हैं। हमने पहले छह महीनों में चार मॉडल की सिर्फ 500 कारों की आपूर्ति की है। यह इस नजरिये से छोटी संख्या है।

लेकिन निश्चित रूप से यह तेजी से बढ़ रही है। वह इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या बीएमडब्ल्यू की भारत में स्थानीय स्तर पर ईवी के उत्पादन की योजना है। बीएमडब्ल्यू के इलेक्ट्रिक वाहनों में आई7, आईएक्स, आई4 मिनी एसई शामिल हैं।

सिनेमा हॉल की दीवार गिरी, 2 की मौत 9 घायल 

सिनेमा हॉल की दीवार गिरी, 2 की मौत 9 घायल 

आदिल अंसारी 

अमरोहा। उत्तर प्रदेश के अमरोहा में रविवार को बड़ा हादसा हुआ। अमरोहा में निर्माणाधीन मल्टीप्लेक्स का छज्जा ढह‌‌ गया। छज्जा गिरने से इसके नीचे कई मजदूर दब गए। बचाव कार्य चलाया गया और मलबे के नीचे से सभी मजदूरों को निकाला गया।

मिली जानकारी के अनुसार इस हादसे में दो की मृत्यु हो गई है, जबकि चार गंभीर रुप से घायल हैं। करीब 11 बजे ये हादसा हुआ। मौके पर डीएम-एसपी पुलिस बल के साथ मौजूद हैं। सीएम योगी ने घटना पर दुख जताया है। बताया जा रहा है, जिस सिनेमाघर का निर्माण चल रहा था वो जर्जर हो चुका था। 2 महीने पहले इसको पूरा गिराकर फिर से इसका निर्माण करवाया जा रहा था। पीछे का हिस्सा पूरा गिरा दिया गया था। आगे छज्जा और दीवार गिराई जा रही थी। वहीं पीछे निर्माण कार्य चल रहा था।रविवार सुबह सभी मजदूर काम कर रहे थे तभी अचानक दीवार भर-भराकर गिर गई। मजदूरों को भागने का मौके भी नहीं मिल पाया। मौके पर चीख पुकार मच गई। स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची।

बिना मीटर बिजली उपयोग, जेई-एसडीओ जिम्मेदार   

बिना मीटर बिजली उपयोग, जेई-एसडीओ जिम्मेदार   

संदीप मिश्रा  

लखनऊ। मध्यांचल विद्युत वितरण निगम दुकानों-ढाबों में बिना मीटर बिजली जलने समेत छह तरह की गड़बड़ियों पर संबंधित जेई (अवर अभियंता) एवं एसडीओ (उपखंड अधिकारी) के वेतन से पावर कॉर्पोरेशन को होने वाले नुकसान की भरपाई करेगा। कुल नुकसान के एवज में दो तिहाई वसूली जेई एवं एक तिहाई एसडीओ के वेतन से की जाएगी। इस संबंध में मध्यांचल निगम के एमडी भवानी सिंह खंगारौत ने आदेश जारी किया है। आदेश में कहा गया है कि स्थलीय निरीक्षण में सड़कों, मुख्य मार्गों के निकट दुकानों-ढाबों, व्यावसायिक केंद्रों, बहुमंजिला इमारतों के परिसरों में बिना मीटर के बिजली जलती पाई गई।

कई जगह कनेक्शन पर मीटर तो लगाए गए हैं, लेकिन बिलिंग सिस्टम पर दर्ज नहीं है। उसकी जगह दूसरा मीटर दर्ज है। बड़े बकाएदारों का कनेक्शन नहीं काटा जाता है, लेकिन ऑन रिकार्ड कनेक्शन कटा दिखाया जाता है। इससे निगम को आर्थिक क्षति हो रही है। इसलिए यह व्यवस्था बनाई जा रही है। एमडी ने लेसा ट्रांस गोमती, लेसा सिस गोमती, अयोध्या, लखनऊ, बरेली एवं देवीपाटन जोन के मुख्य अभियंताओं को सड़कों एवं मुख्य मार्गों के निकट बिजली कनेक्शनों की रेंडम जांच कराएं। जांच में जो मामले पकड़े जाएं, उसके नुकसान की गणना करने के बाद वेतन से वसूली के लिए अभिलेखों में दर्ज किया जाए।

विदेशी मुद्रा भंडार 12.74 से 609.02 अरब डॉलर

विदेशी मुद्रा भंडार 12.74 से 609.02 अरब डॉलर

अकाशुं उपाध्याय  

नई दिल्ली। विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति, स्वर्ण, विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के पास आरक्षित निधि में वृद्धि होने से 14 जुलाई को समाप्त सप्ताह में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 12.74 अरब डॉलर की रिकॉर्ड बढ़ोतरी लेकर 609.02 अरब डॉलर हो गया जबकि इसके पिछले सप्ताह यह 1.23 अरब डॉलर बढ़कर 596.3 अरब डॉलर रहा था।

रिजर्व बैंक की ओर से जारी साप्ताहिक आंकड़े के अनुसार, 14 जुलाई को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार के सबसे बड़े घटक विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति 11.2 अरब डॉलर की बढ़ोतरी लेकर 540.2 अरब डॉलर पर पहुंच गयी। इसी तरह इस अवधि में स्वर्ण भंडार 1.14 अरब डॉलर बढ़कर 45.2 अरब डॉलर हो गया।

विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) में 25 करोड़ डॉलर का इजाफा हुआ और यह बढ़कर 18.5 अरब डॉलर पर पहुंच गया। इस अवधि में आईएमएफ के पास आरक्षित निधि 15.8 करोड़ लाख डॉलर की बढ़ोतरी लेकर 5.2 अरब डॉलर हो गई।

पोर्नोग्राफी: 400 से अधिक मामले, 257 अरेस्ट   

पोर्नोग्राफी: 400 से अधिक मामले, 257 अरेस्ट   

नरेश राघानी  

जयपुर। राजस्थान में पिछले चार वर्षों में अश्लील सामग्री (पोर्नोग्राफी) तैयार करने, उसके प्रसारण और भंडारण के 400 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं और 257 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। राज्य के गृह विभाग के अनुसार, 2019 से 2022 तक राजस्थान में दर्ज किए गए कुल मामलों में से सबसे ज्यादा 73 नागौर में, उसके बाद शिक्षा नगरी (एजुकेशन हब) के नाम से मशहूर कोटा में 46 और हनुमानगढ़ जिले में 42 मामले थे। भरतपुर, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर और बूंदी जिलों में पिछले चार वर्षों में पोर्नोग्राफी का एक भी मामला दर्ज नहीं किया गया।

नागौर में पोर्नोग्राफी से संबंधित मामलों में 55 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद कोटा में 41 और हनुमानगढ़ में 30, बाड़मेर में 17 और बीकानेर जिले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया। कई मामलों की जांच लंबित है। राजस्थान के पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने कहा, ‘‘जहां तक बाल पोर्नोग्राफी से संबंधित मामलों का सवाल है तो इंटरनेट सेवा प्रदाताओं पर कार्रवाई की गई है और कई वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया गया है।’’

उन्होंने बताया कि विभाग बाल पोर्नोग्राफी और साइबर अपराधों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए सरकारी और निजी कॉलेजों में विभिन्न अभियान भी चला रहा है। राजस्थान के गृह विभाग द्वारा राज्य विधानसभा में उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, राज्य पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) द्वारा सर्च इंजन पर अपलोड की गई चाइल्ड पोर्न वेबसाइट की खोज कर सभी इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को भारतीय प्रौद्योगिकह अधिनियम की धाराओं के तहत नोटिस भेजकर 107 वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया गया।

जुलाई में राजस्थान के डूंगरपुर जिले में एक सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य को पोर्नोग्राफी के एक मामले में गिरफ्तार किया गया था। आरोपी प्रधानाचार्य रमेश चंद्र कटारा ने कहा था कि वह अश्लील फिल्में देखने का आदी था और इन्हें देखने के बाद लड़कियों का यौन शोषण करता था। उसने कथित तौर पर छह नाबालिग स्कूली छात्राओं से दुष्कर्म किया था।

जयपुर में बाल पोर्नोग्राफी देखने और उसे साझा करने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। आईटी कानू और पॉक्सो (बाल यौन अपराध संरक्षण) अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत सिराजुद्दीन, मोहम्मद रफी और अखलाक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। प्रारंभिक जांच में पता चला कि तीनों आरोपी न सिर्फ बाल पोर्नोग्राफी देखते थे बल्कि उसे सोशल मीडिया मंचों पर साझा भी करते थे।

आशिक से मिलने के लिए पूरे गांव की बत्ती गुल 

आशिक से मिलने के लिए पूरे गांव की बत्ती गुल   

अविनाश श्रीवास्तव  

बेतिया। इश्क अंधा होता है, ये कहावत तो बहुत पहले से चली आ रही है, लेकिन आपने कभी ये सुना है कि कोई अपने प्यार के लिए पूरे गांव में अंधेरा भी कर सकता है। सुनकर हैरानी भरा जरूर लगता है, लेकिन बिहार के बेतिया में कुछ ऐसा ही देखने को मिला है।

बता दें यहां एक लड़की पर प्यार की ऐसी धुन सवार हुई कि अपने प्रेमी से मिलने के लिए वह पूरे गांव की बिजली ही काट देती थी। वहीं जैसे ही गांव में अंधेरा हो जाता तो वह झट से अपने प्रेमी से मिलने पहुंच जाती, लेकिन एक दिन गांव के लोगों को इसकी भनक लग गई और उन्होंने एक रात दोनों को रंगे हाथ पकड़ लिया। इसके बाद उनकी पिटाई कर दी गई। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 

बताया गया है कि दोनों के बीच प्रेम प्रसंग कई दिनों से चल रहा था। दिन में गांव की मर्यादाओं के चलते ये मिल नहीं पाते थे। तो इसके चलते इन्होंने अंधेरे में मिलने का प्लान बनाया। इसके बाद गांव में जिस ट्रांसफॉर्मर से बिजली की सप्लाई होती थी। प्रेमिका अपने प्रेमी से कहकर बिजली कटवा देती थी। प्रेमी ट्रांसफॉर्मर में लगे एबी एयर ब्रेक स्विच स्विच को नीचे गिरा देता था। जिससे लाइट कट जाती थी। इसके बाद दोनों एकांत जगह पर जाकर अंधेरे का लाभ उठाते हुए एक दूसरे से मिलने पहुंच जाते थे। वहीं एक रात दोनों को ग्रामीणों ने रंगे हाथों पकड़ लिया।

वहीं ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने प्रेमी समेत तीन युवकों को हिरासत में ले लिया। युवकों को हिरासत में लिए जाने के बाद दोनों पक्ष के लोग थाने पहुंच गए। प्रेमी और प्रेमिका के परिजनों ने थाने में दोनों की शादी करने पर सहमति जता दी है। पुलिस ने बॉन्ड बनाने के बाद हिरासत में लिए गए युवकों को छोड़ दिया है।

यमुना का जलस्तर बढ़ा, खतरे का निशान पार 

यमुना का जलस्तर बढ़ा, खतरे का निशान पार  

दीपक राणा  

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में यमुना नदी का जलस्तर रविवार को एक बार फिर खतरे के निशान के पार चला गया। उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश के बाद हथिनीकुंड बैराज से पानी छोड़े जाने के कारण यमुना का जलस्तर बढ़ गया है। अधिकारियों ने कहा कि नदी के जलस्तर में वृद्धि से राष्ट्रीय राजधानी के बाढ़ प्रभावित निचले इलाकों में राहत एवं पुनर्वास के काम पर असर पड़ सकता है। 

राजस्व मंत्री आतिशी ने शनिवार को कहा था कि हथिनीकुंड बैराज से यमुना नदी में दो लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़े जाने के कारण बाढ़ के खतरे के मद्देनजर दिल्ली सरकार हाई अलर्ट पर है। उन्होंने आशंका जताई थी कि अगर जलस्तर 206.7 मीटर तक पहुंचता है, तो यमुना खादर के कुछ हिस्से जलमग्न हो सकते हैं। यमुना का जलस्तर पिछले कुछ दिनों से 205.33 मीटर के खतरे के निशान के आसपास है। 13 जुलाई को यह रिकॉर्ड 208.66 मीटर पर पहुंच गया था। केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) के आंकड़ों के अनुसार, यमुना का जलस्तर शनिवार रात 10 बजे 205.02 मीटर से बढ़कर रविवार सुबह नौ बजे 205.96 मीटर पर पहुंच गया और इसके शाम चार बजे तक 206.7 मीटर तक पहुंचने की संभावना है। 

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने 25 जुलाई तक हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान जताया है। सीडब्ल्यूसी के आंकड़ों के मुताबिक, यमुनानगर स्थित हथिनीकुंड बैराज में जल प्रवाह की दर शनिवार सुबह नौ बजे एक लाख के आंकड़े के पार चली गई और सुबह 10 बजे से शाम चार बजे के बीच दो लाख से 2.5 लाख क्यूसेक के बीच रही। इसके बाद से जल प्रवाह की दर 1.5 लाख क्यूसेक से दो लाख क्यूसेक के बीच है। ‘साउथ एशिया नेटवर्क ऑन डैम्स, रिवर्स एंड पीपुल’ के सहायक समन्वयक भीम सिंह रावत ने कहा, इस मात्रा में पानी होने से राष्ट्रीय राजधानी में मध्यम दर्जे की बाढ़ का जोखिम पैदा होता है, जो जुलाई के दूसरे सप्ताह में आई बाढ़ से अब भी उबर रही है। 

उन्होंने कहा, दूसरी बार बाढ़ आने से यमुना नदी दिल्ली में अपने ज्यादातर मैदानी हिस्सों तक फैल सकती है। दिल्ली सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली के ऊपरी हिस्सों में भारी बारिश से निचले इलाकों में प्रभावित परिवारों के पुनर्वास पर असर पड़ेगा और उन्हें लंबे समय तक राहत शिविरों में रहना पड़ सकता है। इससे शहर में जल आपूर्ति पर भी असर पड़ सकता है, जो वजीराबाद पंप हाउस में बाढ़ के कारण चार-पांच दिन तक प्रभावित रही थी और मंगलवार को ही जल आपूर्ति सामान्य हो पाई। पंप हाउस वजीराबाद, चंद्रावल और ओखला शोधन संयंत्र में अशोधित जल की आपूर्ति करता है। ये संयंत्र शहर को करीब 25 फीसदी जल की आपूर्ति करते हैं।

उतार-चढ़ाव के बाद 'रिश्ता' संभाल कर रखें 

उतार-चढ़ाव के बाद 'रिश्ता' संभाल कर रखें   

कविता गर्ग

रिलेशनशिप में प्यार का रहना बहुत जरूरी होता है। प्यार से ही रिश्ता मजबूत होता है और एक लंबे समय तक चलता है। वहीं ज्यादातर मामलों में ये देखने को मिलता है कि शुरुआत में तो लोग पार्टनर को बहुत ज्यादा तवज्जो देते हैं, लेकिन जैसे-जैसे वक्त बीतते जाता है, प्यार, रोमांस सब कम होने लग जाता है। 

इस दौरान छोटी-मोटी नोक-झोंक बड़ी-बड़ी लड़ाईयों में बदलने लगती है और ऐसी बहसबाजी शुरू हो जाती है कि आखिर में बातचीत ही बंद करना पड़ जाता है और एक वक्त के बाद अलग होना ही सबसे आसान उपाय समझ में आता है। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं, जिन्हें फॉलो कर आप अपने रिश्ते में उतार-चढ़ाव के बाद भी उसे संभालकर रख सकते हैं। 

एक-दूसरे को वक्त देना है जरूरी

पहले-पहले प्यार में एक-दूसरे के साथ वक्त बिताना बहुत अच्छा लगता है। कब कई घंटे बीत जाते हैं, पता ही नहीं चलता, लेकिन जैसे-जैसे वक्त गुजरता जाता है लोग अपने पार्टनर को थोड़ा फॉर ग्रांटेड लेने लग जाते हैं। उन्हें लगता है कि पुराने होते रिश्ते को ज्यादा वक्त देना जरूरी नहीं होता, जो गलत है। दरअसल जब हम पार्टनर के साथ टाइम स्पेंड करना कम कर देते हैं, तो ये दूरियां बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं, जो तनाव की वजह बन जाती हैं। ऐसे में अपने बिजी शेड्यूल से पार्टनर के लिए थोड़ा टाइम जरूर निकालें और उनसे वो बातें करें जो तनाव दूर करने का काम करती हैं। 

झगड़ा होने पर न हों दूर

बता दें हर कपल के बीच झगड़ा होना आम बात है, लेकिन इसे लेकर बातचीत बंद कर देना सबसे बड़ी गलती होती है। जबकि सही तरीका होता है कि अपनी गलती मान लें और सॉरी बोलकर झगड़ा निपटाएं। बातचीत करने का मूड नहीं, तो कोशिश करें कि साथ में खाना जरूर खाएं। इससे झगड़ा जल्दी खत्म हो सकता है।

किसी और का गुस्सा पार्टनर पर न निकालें

अक्सर ये देखा गया है कि कई लोगों की आदत होती है कि वो किसी और का गुस्सा किसी और पर निकालते हैं खासकर पति-पत्नी के बीच तो यह और ज्यादा देखने को मिलता है। कई बार तो यह भी होता है कि पार्टनर ऑफिस की टेंशन घर पर निकालते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं, तो यकीन मानिए यह आपकी रिलेशनशिप को खराब कर सकता है।

शिमला: धमाके की जांच के लिए एनएसजी पहुंचे 

शिमला: धमाके की जांच के लिए एनएसजी पहुंचे 

नितिश पठानिया

शिमला। राजधानी शिमला के मिडल बाजार में बीते मंगलवार को शिवमंदिर के समीप हिमाचली रसोई रेस्तरां के अंदर हुए धमाके के मामले में रविवार को एनएसजी कमांडो डॉग स्क्वॉयड के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। टीम ने धमाके की जद में आए क्षेत्र को सील कर साक्ष्य जुटाए। डॉग स्क्वॉयड के साथ एनएसजी कमांडो।

धमाके से प्रभावित क्षेत्र और पूरे माल रोड को सील कर दिया गया है। एनएसजी कमांडो सुरक्षा पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच कर रहे हैं। डॉग स्क्वॉयड भी प्रभावित क्षेत्र में छानबीन कर रहा। स्थानीय पुलिस भी इस संबंध में पूछताछ की जा रही है।

बता दें कि यह धमाका 18 जुलाई की शाम 7 बजकर 12 मिनट पर हुआ था। इस धमाके में एक कारोबारी अवनीश सूद की मौत हो गई थी, जबकि 13 अन्य घायल हुए थे।

25 को राज्य का सबसे बड़ा रोजगार मेला   

25 को राज्य का सबसे बड़ा रोजगार मेला   

श्रीराम मौर्य 

शिमला। नगरोटा में बाल मेले के उपलक्ष्य पर 25 जुलाई को राज्य का सबसे बड़ा रोजगार मेला आयोजित किया जाएगा जिसमें 42 के करीब नामी गिरामी कंपनियां 3184 युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाएंगी।

इसमें आठवीं पास, दसवीं तथा जमा दो पास बेरोजगारों के साथ साथ आईटीआई, डिप्लोमा धारकों, स्नातक, स्नातकोत्तर, फार्मा बीटेक,एमबीए, जीएनएम इत्यादि प्रशिक्षितों को रोजगार के अवसर मिलेंगे इस बाबत कंपनियों ने अपनी वैंकसी रिपोर्ट भी भेजी है। यह जानकारी पर्यटन निगम के अध्यक्ष कैबिनेट रैंक आरएस बाली ने देते हुए बताया कि मेले की तैयारियां लगभग पूर्ण कर ली गई हैं।

उन्होंने बताया कि बाल मेले का 25 जुलाई को ले जनरल एसपी सिंह शुभारंभ करेंगे जबकि 26 जुलाई को स्वास्थ्य मंत्री कर्नल धनीराम शांडिल मेगा मेडिकल कैंप तथा पदमश्री ललिता वकील रोजगार मेला में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करेंगे। उन्होंने बताया कि 27 जुलाई को बाल मेले के समापन पर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खु बतौर मुख्यातिथि उपस्थित होंगे।

आरएस बाली ने कहा कि मेले में तीनों दिन लोगों के लिए धाम का आयोजन भी किया जाएगा जबकि बच्चों के लिए आईसक्रीम, जलेबियां तथा विभिन्न पकवान भी तैयार किए जाएंगे इसके साथ ही निशुल्क झूले भी स्थापित किए जाएंगे ताकि बच्चों का भरपूर मनोरंजन हो सके। उन्होंने कहा कि नगरोटा के विकास पुरूष जीएस बाली हमेशा लोगों के दिलों में बसते हैं तथा इस बाल मेले की शुरूआत जीएस बाली ने ही की थी इसी पंरपरा को आगे बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है।

आरएस बाली ने कहा कि गत वर्ष संघर्ष रोजगार यात्रा 27 जुलाई को नगरोटा से आरंभ की गई थी तथा पूरे प्रदेश भर के युवाओं को इसके साथ जोड़ा गया था।

उसी संघर्ष यात्रा के दौरान युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने का संकल्प लिया था तथा इसी दिशा में पहला विशाल रोजगार मेला नगरोटा में आयोजित किया जा रहा है ताकि युवाओं को घर द्वार पर रोजगार उपलब्ध करवाने की दिशा में आगे बढ सकें।

आरएस बाली ने कहा कि बाल मेले के दौरान मेडिकल कैंप का भी आयोजन किया जा रहा है जिसमें विशेषज्ञ चिकित्सक निशुल्क तौर पर रोगियों का चेकअप करेंगे तथा साथ ही दवाइयां तथा टेस्ट भी निशुल्क किए जाएंगे।

मौसा ने की दरिंदगी, मौसी बनाती रही वीडियो 

मौसा ने की दरिंदगी, मौसी बनाती रही वीडियो 

आदर्श श्रीवास्तव  

एटा। उत्तर प्रदेश के एटा जिले में रिश्तों को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। थाना मिरहची क्षेत्र के गांव की युवती से रिश्ते के मौसा ने दुष्कर्म किया। वहीं हैरानी की बात तो ये है कि मौसी ने इसका वीडियो बनाया। इसके बाद युवती को ब्लैकमेल किया गया। युवती से दो प्लॉट मौसा और मौसी ने अपने नाम करा लिए। युवती ने अधिकारियों को शिकायती पत्र देकर दंपती सहित पांच के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

युवती का आरोप है कि 10 जून को रिश्ते की मौसी रजनी ने शीतल पेय में नशीला पदार्थ देकर अपने पति विनोद कुमार से दुष्कर्म कराया। इसका वीडियो भी बना लिया। इसके बाद मौसी ने ब्लैकमेल किया और मेरे नाम के दो प्लॉट अपने नाम करा लिए। इस साजिश में साधना, शिल्पी और अंजू भी शामिल रहीं। युवती का कहना है कि 10 जून से लेकर 13 जुलाई तक विनोद ने कई बार दुष्कर्म किया है।

थाना प्रभारी सुभाष बाबू ने बताया कि समाधान दिवस में युवती ने शिकायती प्रार्थना पत्र डीएम व एसएसपी को दिया था। इसके बाद मामले का संज्ञान लिया गया और मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि युवती अपने माता-पिता की अकेली संतान है। उसकी संपत्ति हड़पने के लिए मौसी ने अपने पति से दुष्कर्म की वारदात कराई और उसको पत्नी के रूप में रखने की इजाजत भी दी। युवती ब्लैकमेल कर दो प्लॉट हड़पने का आरोप लगा रही है। सभी आरोपों की गंभीरता से जांच की जा रही है।

सरधना थाने में शॉर्ट सर्किट से लगी भीषण आग 

सरधना थाने में शॉर्ट सर्किट से लगी भीषण आग  

सत्येंद्र पंवार  

मेरठ। मेरठ के सरधना थाने में शनिवार शाम करीब सात बजे शार्ट सर्किट के कारण आग लग गई। आग की चपेट में आने से थाने की मेस में रखे कई गैस सिलिंडर धमाके के साथ फट गए। इससे आग ने विकराल रूप ले लिया। आग की चपेट में आने से दो पुलिसकर्मी झुलस गए। 20 से अधिक वाहन जलकर राख हो गए। साइबर सेल और मालखाने में रखा रिकॉर्ड भी खाक हो गया। आधे घंटे बाद पहुंची दमकल की दो गाड़ियां दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा सकीं। झुलसे पुलिसकर्मियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सरधना थाने में जिस वक्त आग लगी, उस वक्त मेस में फालोवर माया खाना बना रही थी। गैस पर सब्जी चढ़ाकर वह मेस के बाहर आ गई। इसी दौरान वहां पर बिजली के बोर्ड में स्पार्किंग के कारण आग लग गई। आग गैस सिलिंडर तक पहुंच गई। सिंलिंडर फटने से पूरा मेस आग की चपेट में आ गया। मेस में रखे एक के बाद एक कई सिलिंडर आग के संपर्क में आने से फट गए।

इसके बाद आग विकराल रूप से पूरे परिसर में फैल गई। साइबर सेल और मालखाने तक पहुंच गई। वहां पर रखे असलहे व अन्य रिकार्ड जल गए। मालखाने के इंचार्ज मुंशी हेमेंद्र, साइबर सेल से सिपाही सुमित राजौरा और पहरा दे रहे सिपाही केशव अत्री आग की चपेट में आ गए।

साइबर सेल के बाहर खड़े मुकदमों से संबंधित दोपहिया वाहनों तक आग पहुंच गई। कई वाहनों में भी तेज धमाकों के साथ आग फैल गई। तब तक वहां जुटे पुलिसकर्मियों और आसपास के लोगों ने कुछ वाहनों को हटाया। आग लगने के तुरंत बाद दमकल को सूचना दी गई।

आधे घंटे बाद पहुंची दमकल ने तत्काल आग बुझाने का काम शुरू किया। तब तक नगर निगम का पानी से भरा एक टैंकर भी धटना स्थल पर पहुंच गया। दो घंटे की मशक्कत के बाद दमकल की दो गाड़ियां आग पर काबू पा सकीं। घटना का पता चलते ही एडीजी राजीव सभरवाल, आईजी नचिकेता झा, एसएसपी रोहित सिंह सजवाण समेत अन्य पुलिस अधिकारी व एसडीएम जागृति अवस्थी मौके पर पहुंचे।

थाने की पहली मंजिल पर स्टाफ के लिए बैरक बनी है। यहां सात-आठ पुलिसकर्मी आराम कर रहे थे। आग की लपटें पहली मंजिल तक पहुंची तो उनकी नींद खुली। उन्होंने छत से कूदकर अपनी जान बचाई।

आरएलडी के 4 बड़े नेता भाजपा में शामिल होंगे 

आरएलडी के 4 बड़े नेता भाजपा में शामिल होंगे   

हरिओम उपाध्याय  

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लगातार अपने कुनबे को मजबूत कर रही बीजेपी एक और दांव खेलने जा रही है, जिसमें अब पार्टी के नए सदस्य के तौर पर 4 नए चेहरे बहुत जल्द पार्टी का दामन थामने जा रहे हैं। इससे पहले ओपी राजभर ने एनडीए को ज्वाइन किया, फिर दारा सिंह चौहान पार्टी की सदस्यता लेकर वापसी कर चुके हैं। इस लिस्ट में अब विपक्ष के चार और नाम जुड़ने जा रहे हैं, जिनको लेकर पार्टी सूत्रों का दावा है कि आने वाली 24 जुलाई को यह पार्टी का दामन थाम सकेंगे।

इस लिस्ट में नाम समाजवादी पार्टी और आरएलडी के गठबंधन के नेताओं का है। सूत्रों के मुताबिक साहब सिंह सैनी, सुषमा पटेल, राजपाल सैनी और जगदीश सोनकर बहुत जल्द बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। अखिलेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे साहब सिंह सैनी पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आते हैं और इनको लेकर के बीजेपी में पहले ही चर्चा जोरों पर थी। माना जा रहा है कि वह अगले हफ्ते बीजेपी का दामन थाने जा रहे हैं। इसको लेकर उन्होंने तैयारी भी शुरू कर दी है।

बीजेपी की सेंधमारी सपा के सहयोगी दल आरएलडी में भी शुरू हो चुकी है। इस कड़ी में दूसरा नाम आरएलडी नेता और बसपा से सांसद रहे राजपाल सैनी का है। सैनी 2022 मैं आरएलडी के सिंबल पर खतौनी विधानसभा से चुनाव लड़ चुके हैं, हालांकि उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। दोनों ही नेता पिछड़ी बिरादरी से आते हैं। ऐसे में पिछड़ों को साधने की कवायद में पहले से ही बीजेपी इन बिरादरी के नेताओं को तवज्जो दे रही है। इसमें यह दो नए नाम जुड़ने जा रहे हैं, जिसका फायदा उसे पश्चिमी यूपी में मिलेगा।

वहीं दूसरी तरफ इस कड़ी में तीसरा नाम सुषमा पटेल का है, जो समाजवादी पार्टी से आती हैं। इन्होंने 2022 में ही जौनपुर की मड़ियाओं सीट से सपा के सिंबल पर चुनाव लड़ा था। जौनपुर की मुंगरा बादशाहपुर से बसपा की विधायक रहीं सुषमा पटेल इससे पहले बसपा की नेता थीं। उन्होंने 2020 में हुए राज्यसभा चुनाव में बसपा की बगावत के बाद समाजवादी पार्टी का दामन थामा था। पूर्वांचल में कुर्मी वोट को साधने के लिए पटेल की बीजेपी में मौजूदगी उसे और मजबूत करेगी। 2019 में जौनपुर सीट पर बीजेपी को हार का सामना भी करना पड़ा था।

पिछड़ों के बाद बीजेपी की अगली कोशिश दलित बिरादरी में भी पैठ बनाने की है। इसके लिए पार्टी में सपा नेता जगदीश सोनकर के शामिल होने की चर्चा जोरों पर हैं। जौनपुर से चार बार विधायक रहे सपा नेता जगदीश सोनकर 2017 में मछली शहर से विधायक थे। वहीं 2022 के चुनाव में भी सोनकर को टिकट तो मिला था लेकिन ऐन मौके पर उनका टिकट काट के रागिनी सोनकर को दे दिया गया। इसके बाद से जगदीश सोनकर लगाता नाराज चल रहे थे और अब बीजेपी में उनकी नई पारी की शुरुआत होने की चर्चा जोरों पर है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक आने वाली 24 जुलाई को सभी नेता पार्टी का दामन थामेंगे। इनके साथ बाकी अन्य दलों के नेता भी पार्टी में शामिल होंगे।

गौरतलब है कि बीजेपी लगातार उत्तर प्रदेश में अपनी पैठ मजबूत कर रही है और खास तौर पर पिछड़ा और दलित नेताओं पर पार्टी की नजर है। इन सीटों पर पार्टी पिछले चुनाव में कम मार्जिन से हारी, वहां पर सबसे ज्यादा फोकस किया जा रहा है। खासतौर पर उत्तर प्रदेश के आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जातिगत समीकरणों को साधते हुए भी दूसरे दलों के कद्दावर नेताओं को लगातार पार्टी से जोड़ा जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ लखनऊ में शनिवार को बीजेपी के संगठन महामंत्री बीएल संतोष के लखनऊ दौरे के दौरान उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी ने भी कहा कि आने वाले समय में पार्टी विचारधारा के साथ जो लोग जुड़ना चाहते हैं, वह पार्टी में दिखाई देंगे। जहां तक जॉइनिंग की बात है तो इसका फैसला केंद्रीय नतृत्व करता है लेकिन प्रदेश के सभी नेताओं का पार्टी में स्वागत है जो योगी और मोदी के काम करने के तरीके के साथ बीजेपी की किताब विचारधारा के साथ जुड़ना चाहते हैं।

ईओ के खिलाफ कर्मचारियों ने मोर्चा खोला   

ईओ के खिलाफ कर्मचारियों ने मोर्चा खोला   

प्रिया तोमर  

मुजफ्फरनगर। नगरपालिका ईओ हेमराज सिंह के खिलाफ पालिका के कर्मचारियों ने मोर्चा खोल दिया। कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि ईओ उन्हें परेशान करते है। इसके बाद ईओ ने कर्मचारियों के बीच पहुंचकर अपने व्यवहार में सुधार का आश्वासन दिया।

कर्मचारियों का आरोप है ईओ ने कमला नेहरू वाटिका में कर्मचारी दुष्यंत के साथ अभद्रता की। यहां मौजूद प्रभारी एनएसए डॉ अतुल कुमार, आईटी ऑफिसर प्रियेश कुमार और स्वायत्त शासन महासंघ के महामंत्री सुनील वर्मा ने बीच-बचाव कराया। पालिका पहुंचकर दुष्यंत ने यह प्रकरण संगठन में उठाया। इसके बाद महासंघ ने आपातकालीन बैठक बुला ली, जिसमें पालिका के सभी कर्मचारी ईओ के खिलाफ एकजुट हो गए। पालिका कर्मियों ने ईओ हेमराज सिंह पर लगातार दुव्र्यवहार करने, अपमानित करने के आरोप लगाए।

लिपिक तनवीर आलम, कार्यालय अधीक्षक ओमवीर सिंह, जन्म मृत्यु पटल लिपिक राजीव वर्मा, जलकल लिपिक विकास कुमार ने भी उत्पीड़न का मामला उठाया। अध्यक्ष ब्रजमोहन और महामंत्री सुनील वर्मा के नेतृत्व में 11 सदस्यीय समिति बनाई गई है। इसके बाद कर्मचारियों ने स्पष्ट रूप से कहा कि यदि व्यवहार में सुधार नहीं होता है तो वह उनके साथ काम नहीं कर पाएंगे।

सड़क हादसे में बीएसएफ जवान की मौत हुई 

सड़क हादसे में बीएसएफ जवान की मौत हुई 

मोमिन अहमद

बागपत। ग्वालियर में स्कूटी सवार बीएसएफ के जवान की सड़क हादसे में शनिवार की सुबह मौत हो गई। रविवार को उनका बिजरौल गांव में सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर एसडीएम, सीओ सहित क्षेत्र के गणमान्य लोगों मौजूद रहे। जवान की मौत से परिवार गमगीन है।

बिजरौल गांव निवासी 38 वर्षीय विपिन पुत्र स्वर्गीय ओमपाल वर्ष 2008 को हुई भर्ती में बीएसएफ में चयनित हुए थे। फिलहाल उनकी तैनाती सहायक प्रशिक्षण केन्द्र टैनकपुर ग्वालियर ट्रेनर के पद पर थी। शनिवार की सुबह तकरीबन 11 बजे वे स्कूटी पर सवार होकर किसी काम से बाजार जा रहे थे।

इस दौरान स्कूटी को किसी अज्ञात वाहन के चालक ने टक्कर मार दी और स्कूटी डिवाइडर से टकराकर 20 फीट नीचे खाई में जा गिरी और विपिन तोमर की मौके पर ही मौत हो गई। ग्वालियर से बीएसएफ इंस्पेक्टर विजय के नेतृत्व में सैन्य टुकड़ी पहुंची और उन्हें सलामी दी।

हम सब राह़ी   'वृतांत' 

हम सब राह़ी   'वृतांत' 


थम के रह जाती है ज़िन्दगी जब,

जमकर कर बरसती है, पुरानी यादें।


जीवन का अनमोल लम्हा धीरे धीरे उम्र के लक्षित पड़ाव की तरफ सरकता जा रहा है। हर पल कभी ग़म कभी खुशी का कारवां गुजरता जा रहा है। इस माया के महाजाल के भीतर खुद को सम्हाल कर रहने वाले भी नहीं बच सके। उनको भी भ्रमवस वही करना पड़ता है जो वो नहीं करना चाहते हैं। ज़िन्दगी का सफर तन्हाई से शुरू होकर तन्हाई में ही खत्म होता है, इन रश्मों रिवाजों को हर कोई जानता है। फिर भी स्वार्थ के मेलें अपनों के झमेले लिए आखरी सफर का खेला समझे बिना निरन्तर चलता है।

जब तक जीवन के सफर में मध्यान्ह नहीं हो जाता ह। शनै: शनै:आखरी मंजिल की तरफ सरकती जिन्दगी तमाम झंझावातों का सामना करते, ग़म की स्याह चादर में खुशियों को तलाशती रहती है। अपने पराए के भेद में सब कुछ गंवा कर आदमी जब सफर के आखरी मुकाम पर पहुंचाता है, हर तरफ केवल वीरान ही नजर आता है। मतलब परस्तो की भीड़ में तन्हा अपने कर्मों का फल भोगता, पश्चाताप की अग्नि में झुलसता, विवसता के शानिध्य में अश्कों की बारिश में भीगता रहता है।

अवतरण दिवस से लेकर परिपक्वता की अवधि तक गुज़रा हर लम्हा, कसक पैदा करते चल चित्र की तरह सामने से गुजर जाता है। विधाता ने गजब का खेल किया है, हर आदमी को सहन करने का हौसला दिया है! वर्ना गमों की आंधियों में भी लोग सलामत कैसे रह जाते?  जिनकी गोंद में पल-बढकर हसीन दुनियां देखीं, उनको अपने ही हाथों आग की लपटों में जलते देखना, उफ़! न जाने कहां से मिल जाती है रुहानी ताक़त ? आफत का मौसम जीवन में कई बार बदलता है। आदमी बार-बार गिरता बार-बार सम्हलता है। मतलबी जीन्स को लादे वक्त की सफ़ीना जब ज़िन्दगी के साहिल पर लंगर डालती है। उसी समय से दुर्भाग्य की आंधियों में उठते कर्म की लहरें, बगैर ठहरे उम्र के समन्दर में तबाही मचाने को बेताब हो जाती है। जिनकी तकदीर से लंगर टूट गये, वो अश्कों की लहरों में डूब गये। यूं तो प्रारब्ध के हिसाब से ही जीवन की किताब को उपर वाला लिखता है। उसी किताब का लिखा शफा-शफा हर्फ किसी को महान किसी को कमजर्फ बना देता है। तन्हाई का सफर हर किसी के जीवन की सच्चाई है, चाहे जितना धन अर्जित कर लो, चाहे जितनी दौलत के मालिक बन जाओ, मौत के दिन सब बेकार हो जाता है।

बस बगल में खड़ी मौत मुस्कराती है। जीवन भर के कर्मों का खेल दिखाती हैं। आंखों से बहती अश्रु धारा, जुबां खामोश।लब थर-थरा के रह जाते है। मगर कुछ भी न सुनने की ताकत रह जाती, न कहने की हिम्मत।  वाह रे किस्मत! आखिर जब कुछ साथ नहीं जाना तो फिर जीवन के अनमोल लम्हों को व्यर्थ

गंवा कर बस तन्हाई में बजती वहीं शहनाई स्वागत के लिए सामने होती है जो हर जन्म में  वही राग सुनाती है। ए जिन्दगी के मेले, ए जिन्दगी के मेले, सबकुछ यही रहेगा तुझे जाना है अकेले, तुझे जाना है अकेले। 

आखिर कुछ साथ नहीं जाना है तो फिर किस बात का अभिमान है?  किस काम की दौलत किस काम की शोहरत ? जब सभी का आखरी स्वागत समदर्शी व्यवस्था में महाकाल अविनाशी का दरबार करता है। जमाने को ठोकरों पर रखने वालो का आखरी सफर भी दो गज कफ़न के साथ ही होता है। इन्सानियत के राह पर चलकर सद्गति के लिए जगत कल्याण की भावना को परिष्कृत कर परमार्थ  में जीवन समर्पित कीजिए। यह कोई उपदेश नहीं है, बस छोटा सा सच है।

जगदीश सिंह

पवित्र 'रुद्राक्ष' का पौधा लगाकर मनाया जन्मदिन

पवित्र 'रुद्राक्ष' का पौधा लगाकर मनाया जन्मदिन

नीरज जैन 

मुजफ्फरनगर। खतौली नगर के प्रमुख समाजसेवी डॉ अंकुर प्रकाश गुप्ता "मानव" ने अपने जन्म दिवस के अवसर पर खतौली नई बस्ती स्थित श्री झारखंड महादेवालय पर सावन के पवित्र महीने में रुद्राक्ष एवं बिल्वपत्र के पवित्र पौधों को रोपित किया तथा इसी के साथ हिटलर देव श्री शिव मंदिर जीटी रोड खतौली पर नित्य प्रतिदिन होने वाली महाआरती में मुख्य यजमान बनकर देवों के देव महादेव भगवान शंकर की पूजा तथा प्रसाद वितरण कर अपना जन्म उत्सव मनाया।

भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त किया। स्वर्गीय लालाराम चंद्र सहाय रूरल डेवलपमेंट फाउंडेशन के संस्थापक एवं अध्यक्ष शांतिदूत डॉ अंकुर प्रकाश गुप्ता "मानव" की इस अनूठी पहल की सर्व समाज ने प्रशंसा की। सभी ने अपने शुभाशीष दिए, पौधारोपण में श्री झारखंड महादेवालय के प्रबंधक तरुण सूरी तथा सदस्य हरिओम टंडन विश्व हिंदू परिषद संकीर्तन साधना परिवार से प्रदीप गुप्ता एवं विपिन तायल जी का विशेष सहयोग रहा है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-281, (वर्ष-06) पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. सोमवार, जुलाई 24, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:14, सूर्यास्त: 07:10। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 28 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

कांग्रेस-आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बनी

कांग्रेस-आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बनी  अखिलेश पांडेय  नई दिल्ली। कांग्रेस और आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बन गई है। दिल्ली में आप चार ...