सोमवार, 4 जुलाई 2022

'पॉलीथिन मुक्त बडौत' बनाने के लिए अभियान चलाया

'पॉलीथिन मुक्त बडौत' बनाने के लिए अभियान चलाया 

गोपीचंद       
बागपत। बागपत के बडौत में 'पॉलीथिन मुक्त बडौत' बनाने के लिए जन जागरूकता अभियान चलाया गया। एडीएम बागपत अमित कुमार की मौजूदगी में व्यापारियों की बैठक हुई। बडौत नगरपालिका अध्यक्ष अमित राणा, ईओ अनुज कौशिक व नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अजेंद्र मलिक कार्यक्रम में मौजूद रहें। पॉलीथिन का प्रयोग न करने का आग्रह किया गया। बडौत को स्वच्छ व पॉलीथिन मुक्त बनाने का व्यापारियों ने आश्वासन दिया। घरों से ही कपड़े का थैला लेकर बाजार से सामान लाने की अपील भी की गई। बडौत नगरपालिका के सभागार कक्ष में बैठक हुई।

प्रयागराज: पुलिस कप्तान पांडेय ने कार्यभार संभाला

प्रयागराज: पुलिस कप्तान पांडेय ने कार्यभार संभाला 

बृजेश केसरवानी          
प्रयागराज। प्रयागराज के नवागत पुलिस कप्तान शैलेश कुमार पांडेय ने सोमवार को कार्यभार संभाला। इस दौरान अधिकारियों के साथ बैठक कर तमाम बिंदुओं पर विमर्श किया। एसएसपी ने अपराध पर अंकुश लगाने और पुलिस गश्‍त और तेज करने के निर्देश दिए। पुराने मामलों को लेकर भी चर्चा की। इन मामलों का जल्‍द राजफाश करने काे कहा। एसएसपी ने आम लोगों की समस्‍याएं भी सुनीं और उन्‍हें शीघ्र निराकरण का आश्‍वासन दिया। नवागत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज शैलेश कुमार पांडेय ने सोमवार सुबह कार्यभार ग्रहण किया। पुलिस कार्यालय में जनपद के राजपत्रित पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में अपराध को रोकने, अपराधियों पर सख्‍त कार्रवाई और आम जन की समस्‍याओं के शीघ्र निदान को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। 

जनसमस्याओं को भी सुना...

अफसरों के साथ बैठक के बाद एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय ने पुलिस कार्यालय में फरियादियों से मुलाकात की। उन्‍होंने लोगों की शिकायतें सुनी और मातहतों को शीघ्र निस्‍तारण का निर्देश भी दिया। 

अयोध्‍या से प्रयागराज आए हैं नए पुलिस कप्तान...

उल्‍लेखनीय है कि प्रयागराज के वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) बदल गए हैं। शासन की ओर से जनपद के नए एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय बनाया गया है। वह इससे पहले अयोध्‍या में एसएसपी के पद पर तैनात थे। 2011 बैच के आइपीएस कैडर शैलेश कुमार पांडेय का अयोध्‍या से तबादला कर प्रयागराज का एसएसपी बनाया गया हे।प्रयागराज में अब तक रहे एसएसपी अजय कुमार को सीबीसीआइडी लखनऊ स्‍थानांतरित किया गया है।

बीएसएनएल ने अपने कुछ प्रीपेड प्लान्स को महंगा किया

बीएसएनएल ने अपने कुछ प्रीपेड प्लान्स को महंगा किया

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। बीएसएनएल ने यूजर्स को तगड़ा झटका दिया है। कंपनी ने चुपचाप अपने कुछ प्रीपेड प्लान्स को महंगा कर दिया है। महंगे किए गए प्लान 320 रुपये से कम की कीमत में आते हैं। टेलिकॉम टॉक की रिपोर्ट के अनुसार बीएसएनएल ने प्लान्स की कीमत को न बढ़ाते हुए उनकी वैलिडिटी को कम कर दिया है। वैलिडिटी कम करने से प्लान के डेली यूसेज चार्ज में 65 पैसे से लेकर 1.60 रुपये की बढ़ोतरी हो गई है। ऐसे में यह कहा जा रहा है कि बीएसएनएल के प्लान इनडायरेक्टली पहले से महंगे हो गए हैं। जिन प्लान में कंपनी ने बदलाव किया है वे 99 रुपये, 118 रुपये और 319 रुपये के हैं। आइए जानते हैं डीटेल।
99 रुपये वाले प्लान में कंपनी शुरुआत में 22 दिन की वैलिडिटी ऑफर करती थी। अब इसमें बदलाव हो गया है। अगर अब आप इस प्लान को सब्सक्राइब करेंगे तो आपको 22 दिन की बजाय 18 दिन की ही वैलिडिटी मिलेगी। राहत की बात यह है कि इसमें कंपनी पहले की तरह अभी भी अनलिमिटेड कॉलिंग बेनिफिट दे रही है।
बात अगर कंपनी के 118 रुपये वाले प्लान की करें तो यह अब 26 दिन की बजाय केवल 20 दिन तक ही चलेगा। प्लान में कंपनी इंटरनेट यूज करने के लिए डेली 0.5जीबी डेटा दे रही है। प्लान के सब्सक्राइबर देश भर में किसी भी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग कर सकते हैं। इस प्लान में पहले की तरह अभी भी फ्री एसएमएस बेनिफिट नहीं मिलेगा।
319 रुपये वाले प्लान की जहां तक बात है, तो इसकी वैलिडिटी को भी कम कर दिया गया है। प्लान शुरुआत में 75 दिन तक चलता था, लेकिन अब यह केवल 65 दिन ही चलेगा। प्लान में मिलने वाले बेनिफिट्स में कंपनी ने कोई बदलाव नहीं किया है। इस प्लान में आपको अनलिमिटेड कॉलिंग, 300 एसएमएस और 10जीबी डेटा मिलेगा।

मेडिकल सेफगार्ड्स को संस्थागत बनाने पर विचार

मेडिकल सेफगार्ड्स को संस्थागत बनाने पर विचार

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। सरकार अग्निपथ योजना के तहत भर्ती किए जा रहे सैनिकों के लिए मेडिकल सेफगार्ड्स को संस्थागत बनाने पर विचार कर रही है। ताकि यह सुनिश्चित हो कि ड्यूटी के दौरान घायल हुए जवानों को चार साल बाद भी सहायता मिल सके। मौजूदा नियमों में सर्विस के दौरान चोटों के कारण चिकित्सा देखभाल की जरूरत वाले सैनिकों के लिए छुट्टी के बाद के लाभों का उल्लेख नहीं है। पुरानी योजना के तहत भर्ती किए गए सैनिकों को भूतपूर्व सैनिक स्वास्थ्य योजना के अलावा सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा नेटवर्क से जीवन भर के लिए कवर किया गया था।
सीनियर अधिकारियों ने कहा कि इस मामले पर बातचीत जारी है। अगर लंबे समय तक मेडिकल ट्रीटमेंट की जरूरत होती है तो ड्यूटी के दौरान घायल हुए किसी भी अग्निवीर का पूरा ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि हम उनकी देखभाल करेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि उन्हें सर्वोत्तम संभव देखभाल मिले।
सर्विस के दौरान घायल होने पर गंभीरता के आधार पर एकमुश्त 44 लाख से 15 लाख रुपये तक देने का प्रावधान है। अभी तक, चार साल की सर्विस पूरी होने पर घायल सैनिकों के छुट्टी के बाद के इलाज की चर्चा नहीं की गई है। युद्ध के मैदान में हताहतों की स्थिति देखी जाए तो कई सैनिकों को लंबे समय तक चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता होती है, जो वर्षों तक भी जा सकती है। कुछ मामलों में जैसे कि युद्ध में गोली लगने से घायल सैनिकों को जीवन भर मेडिकल सपोर्ट की दरकार होती है।अग्निपथ योजना के तहत देश की तीनों सेनाओं में बड़ी संख्या में युवाओं की चार साल के लिए भर्ती की जाएगी। इस योजना के तहत उन लोगों को देश की रक्षा करने का अवसर मिलेगा जो रक्षा सेवा में जाना चाहते हैं। चार साल पूरा होने के बाद अग्निवीर सेना में स्थायी नौकरी के लिए आवेदन कर सकेंगे। सेना के अधिकारी अग्निवीरों को उनकी योग्यता और प्रदर्शन के आधार पर उन्हें स्थायी करने पर विचार करेंगे। 25 फीसदी अग्निवीरों को स्थायी कैडर में भर्ती किया जाएगा।
अग्निवीरों की तैनाती सेना में हर जगह की जाएगी। यूनिट, मुख्यालय तथा संस्थानों में तैनाती होगी। संचालनात्मक-गैर संचालनात्मक दोनों काम करने होंगे। सेना से रिटायर होने वाले 75 फीसदी अग्निवीरों को 11.71 लाख रुपये की सेवा निधि पैकेज दिया जाएगा। इस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। इसके अलावा उनको मिले कौशल प्रमाणपत्र और बैंक लोन के जरिये उन्हें दूसरी नौकरी शुरू करने में मदद की जाएगी।

हाईवे: 15 अगस्त तक तैयार होगा, बाईपास

हाईवे: 15 अगस्त तक तैयार होगा, बाईपास

अकांशु उपाध्याय/भानु प्रताप उपाध्याय
नई दिल्ली/शामली/सहारनपुर। पानीपत-खटीमा हाईवे और दिल्ली-सहारनपुर हाईवे को जोड़ने वाला बाईपास 15 अगस्त तक तैयार हो जाएंगा। इसका निर्माण पूरा होने से हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के वाहन चालकों की राह आसान हो जाएगी।
शहर को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए पानीपत-खटीमा हाईवे और शामली बाईपास का कार्य पानीपत से लेकर बलवा बाईपास तक 34 किमी लंबाई में 70 फीसदी से ज्यादा पूरा हो चुका है। पानीपत-खटीमा हाईवे का कंडेला से लेकर दिल्ली-सहारनपुर हाईवे तक फ्लाईओवर को छोड़कर ज्यादातर कार्य पूरा हो चुके है। 3.5 किमी लंबाई के बाईपास पर पूर्वी यमुना नहर पुल की एप्रोच रोड का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। पुल पर लिंटर का कार्य पूरा हो चुका है। कंडेला गांव की ओर पुल की एप्रोच रोड पर मिट्टी व रोड़ी डालकर ज्यादातर कार्य पूरा कर दिया गया है। एप्रोच रोड पर काली परत डालने का काम बाकी है।
दिल्ली-सहारनपुर हाईवे की ओर एप्रोच रोड पर मिट्टी का कार्य चल रहा है। पुल और एप्रोच रोड को जोड़ना बाकी है। 
पानीपत-खटीमा हाईवे की निर्माण कंपनी के प्रबंधक कृष्ण कुमार सिंह और सर्वेयर सुभाष उपाध्याय ने बताया कि पूर्वी यमुना नहर के पुल की एप्रोच रोड पर अगले दस दिन में काली परत डाल दी जाएगी। बलवा और कंडेला फ्लाईओवर की एप्रोच रोड और हाईवे का कार्य 15 अगस्त तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद हाईवे और बाईपास की हैंडओवर प्रक्रिया पूरी कर वाहनों का आवागमन चालू कर दिया जाएगा।

एक बार फिर 52 हजार के पार पहुंचा, सोना

एक बार फिर 52 हजार के पार पहुंचा, सोना 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। सोने-चांदी की कीमत में फिर बड़ा उछाल आया है। सरकार ने जब से सोने पर आयात शुल्‍क में 5 फीसदी की बड़ी बढ़ोतरी की है, तब से सोने की कीमत बढ़ती ही जा रही है। महज दो कारोबारी सत्र में सोना करीब 1,700 रुपये महंगा हो चुका है और एक बार फिर 52 हजार के पार पहुंच गया है। इतना ही नहीं आपको बता दें कि सोने का वायदा भाव आज दो महीने में सबसे ज्‍यादा है।
आज सुबह मल्‍टीकमोडिटी एक्‍सचेंज पर 24 कैरेट शुद्धता वाले सोने का वायदा मूल्‍य 323 रुपये बढ़कर 52,240 रुपये प्रति 10 ग्राम पहुंच गया है, जबकि सुबह एमसीएक्‍स पर चांदी का वायदा भाव 58 रुपये चढ़कर 57,800 रुपये प्रति किलोग्राम पहुंच गया। वहीं आज कारोबार की शुरुआत में सोना 52,050 रुपये प्रति 10 ग्राम के लेवल पर था। लेकिन सप्‍लाई पर असर पड़ने की वजह से जल्‍द ही इसमें उछाल दिखने लगा।
सोना अपने पिछले बंद भाव से करीब 0.6 फीसदी की उछाल पर ट्रेडिंग कर रहा है, जबकि चांदी अपने पिछले बंद से 0.10 फीसदी ऊपर दिख रहा है। दरअसल, सरकार ने सोमवार को सोने पर आयात शुल्‍क 7.5 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी कर दिया है, जिसका सीधा असर कीमतों पर दिख रहा है।
वैश्विक बाजार में सोने की कीमत में गिरावट दिख रही है। अमेरिकी बाजार में सोने का हाजिर मूल्‍य आज 1,812.40 डॉलर प्रति औंस रही, जबकि चांदी की हाजिर कीमत 19.86 डॉलर प्रति औंस पर आ गई‌। वहीं, प्‍लैटिनम की हाजिर कीमत 886 डॉलर है, जो पिछले बंद भाव से 0.56 फीसदी कम है। पैलेडियम की हाजिर कीमत 1,860 डॉलर पर आ गई। यानी ग्लोबल मार्केट में इस समय सुस्ती चल रही है‌।
भारत सरकार ने सोने पर आयात शुल्‍क में बड़ी बढ़ोतरी कर दी है। इसके अलावा रूस ने भी G7 देशों को सोना निर्यात करें पर बैन लगा दिया है। ऐसे में आने वाले समय में सोने की कीमत में अभी और बढ़ोतरी होगी। एक्‍सपर्ट की मानें तो एमसीएक्‍स पर सोना 53 हजार से भी ऊपर जा सकता है।  या फिर सोना अपने रिकॉर्ड हाई 56,200 तक भी जा सकता है। फिजिकल सोने की कीमत में उछाल की वजह से गोल्‍ड ईटीएफ का निवेश शुक्रवार को 0.8 फीसदी घटकर 1,041.9 टन रह गया।

पालतू कुत्ते का आईडी कार्ड तैयार कराने की योजना

पालतू कुत्ते का आईडी कार्ड तैयार कराने की योजना 

सत्येंद्र पंवार 
मेरठ। पालतू कुत्ते-बिल्ली का शुल्क लेने के साथ नगर निगम उन्हें एक पहचान भी देगा। नगर निगम ने कुत्तों के आईडी कार्ड तैयार कराने की योजना तैयार की है। अभी तक नगर निगम में पालतू कुत्तों का लाइसेंस बनाया जाता था। अब पालतू कुत्तों को पहचान भी मिलेगी। आप नगर निगम क्षेत्र में रहते हैं और आपके पास पालतू कुत्ता है तो अब उसकी पहचान भी जरूरी होगी। नगर निगम ने शहर के हर पालतू कुत्ते का आईडी कार्ड जारी करने का फैसला लिया है। नगर निगम कार्यकारिणी, बोर्ड में विचार के बाद इसे लागू किया जाएगा। शहर में बड़ी संख्या में लोगों ने कुत्ते पाले हुए हैं। शहर में डाग क्लीनिक भी खुल रहे हैं। कुत्ता पालने के लिए नगर निगम से लाइसेंस लेने का नियम है। निगम ने 2003 में इस नियम को लागू किया था। अब इस नियम में शुल्क के साथ बदलाव किया जा रहा है। अब निगम कुत्तों का कार्ड बनाकर देगा।
कुत्ता पालने के लिए जो लाइसें बनेगा उसमें कुत्ते के मालिक को डॉग का विवरण देना होगा। इसमें नस्ल, कुत्ते की उम्र और कुत्ते का फोटो देना होगा। मालिक का पूरा पता देना होगा। नगर निगम कुत्ता पालने के लाइसेंस के साथ ही कुत्ते का कार्ड बनाकर देगा, जो कुत्ते की पहचान होगी। लाइसेंस बनवाने के लिए प्रतिवर्ष 500 रुपये फीस जमा करनी होगी।
पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि पहले एक घर में चार पालतु कुत्ते होते थे तो एक ही लाइसेंस बनवाते थे। अब नियम बनाया है कि घर में जितने पालतू कुत्ते होंगे उतने ही कार्ड बनवाने होंगे।
पालतू कुत्तों को सुबह शाम सड़कों और पार्कों में शौच कराने वालों पर भी सख्ती होगी। पशु चिकित्सा एवं कल्याण अधिकारी ने बताया कि कुत्ता पालने वालों को सड़क और पार्कों में कुत्तों के शौच कराने पर रोक लगेगी। सड़क और पार्क में शौच कराया तो नगर निगम जुर्माना वसूलेगा।

स्वास्थ्य: स्ट्रॉबेरी का सेवन करना, फायदेमंद

स्वास्थ्य: स्ट्रॉबेरी का सेवन करना, फायदेमंद 

सरस्वती उपाध्याय         
स्ट्रॉबेरी भी अन्य बेरीज के जैसे विटामिन, मिनरल्स, फाइबर और एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी इन्फ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होती है। ये पौष्टिक तत्वों से भरपूर होने के कारण बहुत से स्वास्थ्य लाभ दे सकती है। अगर इसमें पाए जाने वाले पौष्टिक तत्वों की बात करें, तो एक कप स्ट्रॉबेरी में लगभग 53 कैलोरीज, 1 ग्राम प्रोटीन, 12 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 3 ग्राम डाइटरी फाइबर, 27 मिलीग्राम कैल्शियम और 1 ग्राम से कुछ कम आयरन, साथ ही मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, विटामिन-सी और विटामिन-ई जैसे तत्व पाए जाते हैं। यही नहीं, स्ट्रॉबेरी में नाइट्रेट नामक तत्व होता है, जो हार्ट की सेहत को दुरुस्त रख सकता है। अगर दिल की बीमारियों से जूझ रहे हैं, तो एक हफ्ते में स्ट्रॉबेरी खाने से ही काफी अच्छे नतीजे देखने को मिल सकते हैं।

दिल की सेहत के लिए फायदेमंद...
स्ट्रॉबेरी में दिल को लाभ देने वाले काफी सारे पौष्टिक तत्व होते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स केवल दिल के लिए ही नहीं, बल्कि पूरे शरीर के लिए ही फायदेमंद होते हैं।
 मेडिकल न्यूज़ टुडे के मुताबिक, स्ट्रॉबेरी में मौजूद एंथोसाइनीन और क्वेरकेटीन  कंटेंट के कारण यह दिल की बीमारियों से बचाने में काफी लाभदायक है। इनका सेवन करने से हार्ट अटैक का खतरा भी बहुत कम हो सकता है।
इसमें डाइट्री फ्लेवेनॉइड मौजूद होता है, जिसके कारण स्ट्रोक आने से बचा जा सकता है।
स्ट्रॉबेरी में एंटी कैंसर गुण होते हैं और बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं, जो शरीर में फ्री रेडिकल्स के कारण होने वाले सेल डेमेज से सुरक्षा प्रदान करवाते हैं और इस कारण यह कैंसर से बचाने में हमें मदद करती है।
इसका सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को भी लाभ मिल सकता है।
स्ट्रॉबेरी के कारण शरीर में सोडियम के नेगेटिव प्रभावों को कम किया जा सकता है।
कब्ज जैसी समस्याओं से भी निजात पाई जा सकती है, क्योंकि स्ट्रॉबेरी में डाइटरी फाइबर पाया जाता है और यह स्टूल को सॉफ्ट करने में मदद करता है, जिससे कब्ज में लाभ मिल सकता है।

रक्‍त संचार को बेहतर करने में मदद, कपालभाति

रक्‍त संचार को बेहतर करने में मदद, कपालभाति

सरस्वती उपाध्याय
कपालभाति फोर्सफुली एग्जेलेशन या सांस छोड़ने की क्रिया है, जो पूरे शरीर में रक्‍त संचार को बेहतर करने में मदद करता है। शरीर में अगर कहीं नर्व दब रही है या कहीं रक्‍त के संचार में गड़बड़ है, तो आप कपालभाति की मदद से इसे ठीक कर सकते हैं। लेकिन, इसे करते वक्‍त काफी सावधानियां भी बरतने की ज़रूरत होती है। अगर आपको पेट से जुड़ी कोई समस्‍या है तो इसे ना करें। यही नहीं, प्रेग्नेंसी में भी कपालभाति नहीं करनी चाहिए। अगर आप हार्टके मरीज हैं, तो डॉक्‍टर की सलाह पर धीमी गति से ही इसे करें। अगर आप कोविड से रिकवर कर रहे हैं और आपके फेफड़े कमजोर हैं, तो भी इसे करते वक्‍त बहुत अधिक सावधानियां बरतने की ज़रूरत है।
इन बातों को रखें ख्‍याल
-पहला नियम है कि कपालभाति का अगर आप अच्‍छा प्रभाव चाहते हैं, तो आप इसे पद्मासन की मुद्रा में करें, लेकिन अगर आप पद्मासन नहीं लगा पाते हैं, तो अर्ध पद्मासन में बैठकर इसे कर सकते हैं।
-दूसरा नियम है कि आपकी कमर, गर्दन सीधी होनी चाहिए।अगर आप कुर्सी पर बैठकर इसे कर रहे हैं, तो कमर को सीधा करके ही इसे करें।
-कपालभाति फोर्सफुली एग्जेल करना है, जिसमें तेजी से नाक से हवा को बाहर निकालने का अभ्‍यास किया जाता है।
-बहुत लोग पेट पर प्रेशर लगाकर इसे करते हैं, तो ये गलत तरीका है। आपको केवल नाक से तेजी से वायू को लय में निकालना है। इस वीडियो को आप यहां दिए गए लिंक पर देख सकते हैं।
कपालभाति कैसे करें
-पहला चक्र 2 मिनट का करना है। इसे करने के लिए आप पद्मासन में बैठें और नाक से वायू को तेजी से बाहर निकालें। 2 मिनट पूरा होने पर गहरी सांस लें और रिलैक्‍स करें।
-दूसरा चक्र करने के लिए गहरी सांस लें और छोड़ें फिर गहरी सांस लें और फोर्सफुली कपालभाति करें। पूरा अभ्‍यास आप वीडियो लिंक पर देख सकते हैं।

एलोवेरा का अधिक सेवन, नुकसानदायक

एलोवेरा का अधिक सेवन, नुकसानदायक 

सरस्वती उपाध्याय
आपने ज्यादातर मौकों पर एलोवेरा या फिर इसके जूस के अच्छे गुणों के बारे में सुना होगा। इस वजह से लोग इसे अपनी डाइट में शामिल करने से पीछे नहीं हटते हैं। औषधीय गुणों की पुष्टि के बाद एलोवेरा का इस्तेमाल लोगों के बीच तेज़ी से बढ़ रहा है। क्या आप जानते हैं, एलोवेरा का सेवन कुछ स्थितियों में नुकसानदायक भी हो सकता है ?

किसी भी चीज को इस्तेमाल करने से पहले उसके फायदे या नुकसान दोनों की जानकारी होना ज़रूरी है, जिससे उस चीज का इस्तेमाल सीमित मात्रा में हो सके। दरअसल एलोवेरा में लेटेक्स पाया जाता है और अगर इसे जूस या किसी भी फॉर्म में खा लिया गया, तो इसकी वजह से पेट में इरीटेशन, दर्द और एलर्जी होने जैसी समस्याएं देखी जा सकती हैं।

आइए जानते हैं, एलोवेरा कब हो सकता है नुकसानदायक...
एलोवेरा से होने वाले नुकसान...
मायोक्लिनिक के मुताबिक, एलोवेरा का अधिक सेवन नुकसानदायक हो सकता है‌। अगर कुछ दिनों तक 1 ग्राम से ज़्यादा इसका इस्तेमाल किया गया, तो किडनी फेल हो सकती हैं।
एलो वेरा लेटेक्स का ज़्यादा-मात्रा में सेवन कैंसर का कारण भी बन सकता है। इसके अलावा डायरिया, पेट में दर्द जैसी समस्याएं भी देखने को मिल सकती हैं। जिन्हें एलोवेरा से एलर्जी है, उन्हें भी इसका सेवन करने से बचना चाहिए।
बहुत से लोगों को इससे स्किन एलर्जी, आंखें लाल होना और स्किन पर रैशज़ या इरिटेशन और जलन होने जैसे लक्षणों का सामना करना पड़ सकता है।
इसका ज़्यादा सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कम हो सकता है। अगर ब्लड शुगर लेवल ज़रूरत से ज़्यादा हो गया, तो यह सेहत को गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है।
इसमें मौजूद लेक्साटिव प्रभावों के कारण कुछ लोगों को एलर्जी का सामना भी करना पड़ सकता है।
अगर इसका सेवन ज़्यादा मात्रा में किया जाए, तो शरीर में डिहाइड्रेशन भी हो सकता है।
गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए, नहीं तो समय से पहले कॉन्ट्रैकशन शुरू हो सकते हैं। इससे बच्चे को जन्म देने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

सीएम योगी, दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे

सीएम योगी, दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे 

संदीप मिश्र
लखनऊ। उत्तर-प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन सोमवार को पूरे हो गए हैं। सीएम योगी आद‍ित्‍यनाथ ने 100 दिन के काम पर बुकलेट जारी कर सरकार की उपलब्‍ध‍ियों को सबके सामने पेश किया। इन 100 दिनों में योगी सरकार की ओर से लिए महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। इन 100 दिनों में योगी सरकार ने पहली कैबिनेट में फ्री राशन के फैसले के बाद राज्य में निवेश लाने के लिए पहली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का आयोजन किया।
बता दें कि सरकार बनने के बाद सीएम योगी ने एक और बड़ा कदम उठाया था। सीएम योगी ने अपने मंत्रियों और विभागों के लिए 100 दिन की कार्ययोजना तैयार की थी। सरकार गठन के बाद 100 दिनों, 6 माह, 1 वर्ष, 2 वर्ष और 5 वर्ष की कार्ययोजना तय की गई हैं।

योगी सरकार के महत्वपूर्ण फैसले...
1- सरकार बनते ही 100 दिन, 6 महीने और पांच वर्ष का लक्ष्य तय किया गया। वहीं सरकार ने गन्ना
2- किसानों का एक लाख 74 हज़ार करोड़ रुपए गन्ना मूल्य भुगतान किया।
3- ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 3 का आयोजन, 80 हज़ार से ज्यादा का निवेश हुआ।
4- युवाओं को रोजगार देने के लिए प्रदेश भर में लोन मेलों का आयोजन।
5- 100 दिन के अंदर 10 हज़ार पुलिस भर्ती के निर्धारित लक्ष्य को पूरा किया।
6- योगी सरकार ने 100 दिन के अंदर अपराधियों और माफियाओं से 844 करोड़ की अवैध संपत्तियां जब्त की।
7- धार्मिक स्थलों से 74,700 लाउडस्पीकर हटाए गए, जिनमे से 17,816 स्कूल में दिए गए।
8- योगी सरकार ने 68,784 अतिक्रमण स्थलों और 76,196 अवैध पार्किंग स्थलों को मुक्त कराया।
9- महिलाओं को मुफ्त गैस सिलेंडर और मुफ्त बस यात्रा की दी सौगात।
10- युवा शक्ति को किया मजबूत, स्मार्टफोन और टैबलेट का हुआ वितरण।
11- 100 दिन के अंदर 05 नए हवाई अड्डों के संचालन एवं इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि उन्‍होंने मीड‍िया से कहा कि 2017 के पहले प्रदेश में विकास कार्यों को लेकर बड़ी समस्‍या थी। यूपी के सामने पहचान का संकट था। केंद्र की लाभकारी योजनाओं को लागू करने में प्रदेश सरकार रूच‍ि नहीं लेती थी। मगर 2017 के बाद इसमें बदलाव हुआ। आज प्रदेश में केंद्र सरकार की हर योजना का लाभ मुहैया हो रहा है। प्रदेश में गुडों-माफि‍या के खिलाफ व्‍यापक अभ‍ियान चलाया जा रहा है।
योगी ने कहा कि 2017 के बाद से अब तक 844 करोड़ रुपये की अवैध संपत्तियों को बुलडोजर से गिरवाया गया है। पॉस्‍को एक्‍ट के तहत 2273 अपराध‍ियों पर कार्रवाई की गई है। 68,784 अनध‍िकृत कब्‍जे और 76,196 अनध‍िकृत पार्क‍िंग को मुक्‍त कराया गया है। 74,385 लाउडस्‍पीकर्स को धार्म‍िक स्‍थलों से हटाया गया है। वहीं, प्रदेश स्‍तर पर 50 माफि‍या और जिला स्‍तर पर 12 माफ‍िया पर कठोर कार्रवाई की गई है।

मनोरंजन: पेडनेकर व सिंह के साथ काम करेंगे, कपूर

मनोरंजन: पेडनेकर व सिंह के साथ काम करेंगे, कपूर

कविता गर्ग 
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन कपूर, भूमि पेडनेकर और रकुल प्रीत सिंह के साथ काम करते नजर आ सकते हैं। अर्जुन कपूर इन दिनों भूमि पेडनेकर के साथ फिल्म 'द लेडी किलर' की शूटिंग कर रहे हैं। चर्चा है कि अर्जुन कपूर ने एक और प्रोजेक्ट अपने हाथ में लिया है। इसमें वह भूमि पेडनेकर और रकुल प्रीत सिंह के साथ काम करते दिखाई देंगे। 
बताया जा रहा है कि मुदस्सर अजीज एक कॉमेडी फिल्म बनाने के इच्छुक हैं। इस फिल्म में अर्जुन कपूर, रकुल प्रीत सिंह और भूमि पेडनेकर को लेकर बात हो रही है। वाशु भगनानी के पूजा एंटरटेनमेंट के द्वारा प्रोड्यूस होने वाली इस फिल्म के सितंबर में फ्लोर पर जाने की उम्मीद है।

एकनाथ ने विधानसभा में विश्वास मत प्रस्ताव जीता

एकनाथ ने विधानसभा में विश्वास मत प्रस्ताव जीता 

कविता गर्ग 

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने सोमवार को विधानसभा में विश्वास मत प्रस्ताव जीत लिया। एकनाथ शिंदे ने 164 मत हासिल किये, जो बहुमत से 20 अधिक है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने सदन के समक्ष विश्वास प्रस्ताव रखा जिसे श्री भरत गोगावाले ने समर्थन दिया। ध्वनि मत प्रक्रिया के बाद विपक्ष ने मतों के विभाजन की मांग की , जिसके लिये मतदान कराया गया। मतदान में 164 विधायकों ने शिंदे सरकार के पक्ष में मतदान किया, जबकि 99 मत सरकार के खिलाफ गये।

अबू आजमी और एआईएमआईएम के इकलौते विधायक समेत समाजवादी पार्टी के दो विधायक सदन में मौजूद रहे , जबकि पूर्व मंत्री अशोक चव्हाण, विजय वडेट्टीवार सहित कांग्रेस के पांच विधायक मतदान के समय सदन से अनुपस्थित रहे।

मां भगवती की प्रतिमा को खंडित कर, घिनौना प्रयास

मां भगवती की प्रतिमा को खंडित कर, घिनौना प्रयास

भानु प्रताप उपाध्याय
मुजफ्फरनगर। असामाजिक तत्वों ने मां भगवती की प्रतिमा को खंडित करते हुए समाज में उबाल लाने का घिनौना प्रयास किया है। मौके पर इकट्ठा हुए लोगों के हंगामे की सूचना पर दौड़ी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन देते हुए हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराया है। सोमवार को जनपद मुजफ्फरनगर के चरथावल थाना क्षेत्र के ग्राम बधाई कलां स्थित मां भगवती के मंदिर में जब आज सवेरे श्रद्धालु रोजाना की तरह पूजा अर्चना करने के लिए पहुंचे तो उन्हें मंदिर में स्थापित मां भगवती की प्रतिमा क्षतिग्रस्त मिली। मंदिर के भीतर मां भगवती की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिए जाने से लोगों में भारी रोष व्याप्त हो गया। फाइनेंसर का बेटा चढ़ा पुलिस के हत्थे थोड़ी ही देर में मंदिर के बाहर सैकड़ों लोगों की भीड़ पहुंच गई और उन्होंने मामले को लेकर हंगामा करना शुरू कर दिया।
मंदिर में स्थापित प्रतिमा को क्षतिग्रस्त किए जाने और ग्रामीणों द्वारा इसे लेकर हंगामा किए जाने की सूचना जब पुलिस के कानों तक पहुंची तो हडबडाई पुलिस गांव की तरफ दौड़ पड़ी।पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे चरथावल थाना प्रभारी ने प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने वाले असामाजिक तत्वों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन देते हुए हंगामा कर रहे लोगों को शांत किया। पुलिस मामले की जांच पड़ताल करते हुए प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर फरार हुए आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयासों में जुटी हुई है।

अग्निपथ के विरोध में दायर अर्जी, सुनवाई के लिए तैयार

अग्निपथ के विरोध में दायर अर्जी, सुनवाई के लिए तैयार

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से देश की तीनों सेनाओं के भीतर युवाओं की नौकरी के लिए लाई गई अग्निपथ योजना के विरोध में दायर की गई अर्जी पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार हो गया है। देश की शीर्ष अदालत में अगले सप्ताह गर्मियों की छुट्टियां समाप्त होने के बाद अग्निपथ स्कीम को रद्द किए जाने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई होगी। यात्रियों की सांस अटकी सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार की ओर से लाई गई अग्निपथ योजना के विरोध में दायर की गई अर्जी अदालत द्वारा स्वीकार कर ली गई है। सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई इस जनहित याचिका में एयर फोर्स कर्मियों का कहना है कि इस योजना के चलते उनका कैरियर अब 20 साल की बजाय केवल 4 साल का ही हो जाएगा। 
याचिका दायर करने वाले एयरफोर्स कर्मचारिंयों के अधिवक्ता एम एल शर्मा ने अपनी अर्जी में कहा है कि सरकार की ओर से देश की तीनों सेनाओं में भर्ती के लिए जो नोटिफिकेशन जारी किया गया है उसे तत्काल कैंसिल किया जाए। वैसे तो सरकार कोई भी स्कीम ला सकती है लेकिन यहां पर बात सही और गलत की है।  
 याचिका में कहा गया है कि मौजूदा समय में तकरीबन 70000 लोग ऐसे हैं जो अपने नियुक्ति पत्र का बेसब्री के साथ इंतजार कर रहे हैं। याची ने कहा है कि अग्निपथ योजना कम से कम उन लोगों के ऊपर तो बिल्कुल भी लागू नहीं होनी चाहिए जो पहले से चल रही भर्ती प्रक्रिया में शामिल है और वह अपने नियुक्ति पत्र के आने का इंतजार कर रहे हैं।

'एप्पल वॉच सीरीज 8' की जल्द लॉन्चिंग होगी

'एप्पल वॉच सीरीज 8' की जल्द लॉन्चिंग होगी 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। एप्पल की अपकमिंग स्मार्ट वॉच 'एप्पल वॉच सीरीज 8' की जल्द लॉन्चिंग होगी। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक ऐपल की तरफ से नई स्मार्ट वॉच बॉडी टेम्पेरेचर सेंसर के साथ आएगी। इस फीचर की मदद से फीवर यानी बुखार का पता लगाया जा सकेगा। रिपोर्ट के मानें, तो वॉच शरीर के वास्तविक ताममान का बिल्कुल सटीक परीक्षण नहीं कर पाएगी। लेकिन इतना कंफर्म कर देगी कि आपको बुखार है या नही। इसके बाद स्मार्ट वॉच यूजर थर्मामीटर और डॉक्टर की मदद से बुखार की सटीक जां करा पाएंगे। साथ ही डॉक्टर से परामर्श ले सकेंगे।
सेंसर की हो ही इंटरनल टेस्टिंग रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अभी एप्पल के बॉडी सेंसर को कंपनी के इंटरनल टेस्टिंग में पास होना है। अगर टेस्टिंग में बॉडी सेंसर टेंपरेचर पास होता है, तो ऐप्पल को वॉच सीरीज़ 8 में इस फीचर को शामिल किया जा सकता है। साथ ही ऐसी खबर है कि कंपनी की तरफ से स्ट्रीम स्पोर्ट एथलीट के लिए रफ स्मार्ट वॉच को पेश किया जा सकता है। हालांकि अपकमिंग एंट्री लेवल Apple Watch SE में इस सेंसर का सपोर्ट नहीं दिया जाएगा। बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब नए बॉडी टेंपरेचर सेंसर की बात उठी है। इससे पहले जून 2021 में बॉडी टेंपरेचर सेंसर का मुद्दा उठा था। हालांक इस वर्ष की शुरुआत में बॉडी टेंपरेचर सेंसर की जा सकती है।
इन प्रोडक्ट की हो सकती है लॉन्चिंग अगर अगर बदलाव की बात करें, तो अपकमिंग ऐपल वॉच में के हार्डवेयर में कोई बड़ा बदलाव देखने को नहीं मिलेगा। Apple iPhone 8 सीरीज में प्रोसेसर का प्रदर्शन पिछले S7 और ए6 चिपसेट के समान होगा। इसके अलावा स्मार्ट वॉच में हेल्थ-ट्रैकिंग सुविधाओं का सपोर्ट दिया जाएगा। AirPods Pro का नया मॉडल लॉन्च हो सकता है। स्मार्ट वॉच इस साल तापमान या हृदय गति का पता लगाने में सक्षम होगी।

अपना पक्ष रखने के लिए 4 सप्ताह का समय दिया

अपना पक्ष रखने के लिए 4 सप्ताह का समय दिया 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने मानसून के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में वर्षा जल संचयन और यातायात जाम को कम करने के मुद्दे पर केंद्र, दिल्ली सरकार और कई स्थानीय प्राधिकारियों को अपना पक्ष रखने के लिए सोमवार को चार सप्ताह का समय दिया। ‘वर्षा जल संचयन’ बारिश के पानी को किसी खास माध्यम से संचय करने या इकट्ठा करने की प्रक्रिया को कहा जाता है।
मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा और न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद की एक पीठ ने पाया कि कुछ पक्षों के अलावा अन्य किसी ने स्थिति रिपोर्ट दाखिल नहीं की है और इसके बाद अधिकारियों को उन्होंने और समय दिया। पीठ ने कहा , ‘‘ प्रतिवादियों को स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने के लिए चार सप्ताह का समय दिया जाता है। मामले को 17 अगस्त के लिए सूचीबद्ध करें।’’ न्यायमूर्ति जसमीत सिंह और न्यायमूर्ति दिनेश कुमार शर्मा की एक पीठ ने जून में मीडिया की खबरों पर स्वत: संज्ञान लेते हुए कहा था, ‘‘यह लोकहित का मुद्दा है।’’
साथ ही, अधिकारियों को स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया था। अदालत ने केंद्र तथा दिल्ली सरकार, नयी दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी), दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए), लोक निर्माण विभाग, दिल्ली पुलिस, विशेष पुलिस आयुक्त (यातायात), दिल्ली जल बोर्ड, दिल्ली छावनी बोर्ड और बाढ़ एवं सिंचाई विभाग को नोटिस जारी किया था।
अदालत ने कहा था, ‘‘ सभी पक्षों को स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने दें… जिसमें दिल्ली में मानूसन तथा बाकी समय के लिए एजेंसियों द्वारा वर्षा जल संचय के लिए उठाए गए कदमों और जाम से बचने के लिए किए प्रयासों का उल्लेख हो।’’ अदालत ने एक आदेश में वर्षा जल सचंय के प्रयासों की कमी को रेखांकित करते हुए कहा था, ‘‘दिल्ली में यातायात जाम की बड़ी समस्या है, जिससे हमारे अनुसार वर्षा जल प्रबंधन के साथ-साथ ‘गूगल मैप’ की सहायता से आसानी से निपटा जा सकता है।’

राजू की 125वीं जयंती समारोह को संबोधित किया

राजू की 125वीं जयंती समारोह को संबोधित किया 

गीता गोवंडके 
भीमावरम। आंध्र प्रदेश के भीमावरम में स्वतंत्रता सेनानी अल्लूरी सीताराम राजू की 125वीं जयंती समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज देश में जो नए अवसर और आयाम खुल रहे हैं, उनको साकार करने के लिए देश के युवा आगे आकर इस जिम्मेदारी को उठा रहे हैं। स्वतंंत्रता सेनानी अल्लूरी सीताराम राजू की 125वीं जयंती समारोह से आजादी के अमृत महोत्सव के तहत वर्ष भर चलने वाले समारोह की शुरुआत करते हुए श्री मोदी ने कहा, “ देश की आजादी के लिए युवाओं ने आगे आकर नेतृत्व किया।
आज नये भारत के सपने को पूरा करने के लिए युवाओं को आगे आने का यह सबसे उत्तम अवसर है।” प्रधानमंत्री ने कहा,“ आज की नई संभावनाओं, अवसरों, आयामों और नयी सोच को साकार रूप देने के लिए बड़ी संख्या में हमारे युवा ही आगे आकर इन जिम्मेदारियों को अपने कंधों पर उठाकर देश को आगे बढ़ा रहे हैं।

मूसेवाला की हत्या में शामिल, 2 और लोग अरेस्ट

मूसेवाला की हत्या में शामिल, 2 और लोग अरेस्ट

अकांशु उपाध्याय/अमित शर्मा
नई दिल्ली/चंडीगढ़। दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या में कथित रूप से शामिल दो और लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इनके साथ ही पुलिस मामले में अभी तक पांच लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।
अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने अंकित और सचिन भिवानी को रविवार की रात गिरफ्तार किया। दोनों ही लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बरार गिरोह के वांछित अपराधी हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि हरियाणा का रहने वाला भिवानी राजस्थान में लॉरेंस बिश्नोई गिरोह का काम देखता है। वह राजस्थान के चुरू में एक अन्य मामले में भी वांछित है। वहीं, अंकित हरियाणा के सिरसा गांव का रहने वाला है। राजस्थान में उसके खिलाफ हत्या की कोशिश के आरोप में दो मामले दर्ज हैं।
पुलिस ने बताया कि उनके पास से 9 एमएम की पिस्तौल उसके 10 कारतूस, 30 एमएम की एक पिस्तौल, उसके नौ कारतूस, पंजाब पुलिस की तीन वर्दी, दो मोबाइल, एक डोंगल और सिम कार्ड बरामद किया गया है। मूसेवाला की हत्या के मामले में पिछले महीने विशेष प्रकोष्ठ ने दो ‘शूटर’ समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।
इनकी पहचान हरियाणा के सोनीपत जिले के निवासी प्रियव्रत उर्फ फौजी (26), झज्जर जिले के कशिश और पंजाब के बठिंडा निवासी केशव कुमार (29) के तौर पर हुई है। गौरतलब है कि लोकप्रिय पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की पंजाब के मानसा जिले में 29 मई को अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

खुलासा: एक साथ 4 बच्चों को जन्म देंगी, महिला

खुलासा: एक साथ 4 बच्चों को जन्म देंगी, महिला

अखिलेश पांडेय
वाशिंगटन डीसी। प्रेग्नेंसी की समस्या से जूझ रहीं एक महिला ने खुलासा किया कि वह अब एक साथ 4 बच्चों को जन्म देनी वाली है। उसे ये बात तब पता चली जब वो अपने बॉयफ्रेंड के साथ चेक-अप के लिए डॉक्टर के पास गई थी।अमेरिका में रहने वाली 35 साल की इस महिला का नाम एश्ले नेस है। एश्ले इसी साल फरवरी में अपने 47 साल के बॉयफ्रेंड वैल के साथ डॉक्टर के पास चेक-अप के लिए गई थीं। जहां अल्ट्रासाउंड के बाद उन्हें पता चला कि वो प्रेग्नेंट हैं। जब डॉक्टर ने बताया कि उनके पेट में एक दो नहीं बल्कि चार बच्चे पल रहे हैं तो एश्ले हैरान रह गईं।अल्ट्रासाउंड करने वाली नर्स भी ये देखकर चौंक गई। एश्ले के गर्भ में दो लड़के हैं और दो लड़कियां पल रही हैं। न्यूज से बात करते हुए एश्ले ने कहा कि वो प्रेग्नेंसी की समस्या से जूझ रही थीं। उन्हें कई बार मिसकैरेज हो चुका था।ऐसे में जब पता चला कि 4 बच्चों की मां बनने वाली हूं तो खुशी का ठिकाना नहीं रहा। 
एश्ले कहती हैं कि जब नर्स चेक-अप कर रही थीं तो उसने बताया कि मेरे गर्भ में जुड़वां बच्चे हैं। लेकिन थोड़ी ही देर में वह हैरान होते हुए बोलीं कि जुड़वां नहीं, 4 बच्चे हैं। ये सुनकर एश्ले भी चौंक गईं। उन्होंने कहा कि जब इस खबर की पुष्टि हुई तो ऐसा लग रहा था कि मैं बेहोश होने वाली हूं। रिपोर्ट के मुताबिक, एश्ले अक्टूबर में बच्चों को जन्म देंगी। इसके लिए वो डॉक्टर्स के संपर्क में हैं, क्योंकि चार बच्चों को एकसाथ जन्म देने में जोखिम भी है। वहीं, इलाज के खर्च के लिए एश्ले की दोस्त लीसा पॉटर ने फंड जुटाने के लिए GoFundMe पेज बनाया हुआ है। जिसके जरिए उन्होंने अबतक करीब 7 लाख रुपये जुटा लिए हैं।दरअसल, एश्ले हेयर ड्रेसर का काम करती हैं और उनके बॉयफ्रेंड मैकेनिक हैं। उनकी आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं है। इसलिए अस्पताल का खर्च उठाने के लिए वो फंड जुटा रहे है।

सीएम ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया

सीएम ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया

इकबाल अंसारी
अगरतला। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने सोमवार को राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। हाल ही में त्रिपुरा के बारदोवाली सीट से विधानसभा उपचुनाव जीतने वाले साहा ने यहां उच्च सदन के सभापति और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू को अपना इस्तीफा सौंपा। साहा ने ट्वीट किया, “आज, मैंने भारत के उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू को राज्यसभा के सदस्यता से अपना त्याग-पत्र सौंप दिया है।
उन्होंने कहा, उन्हें त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के रूप में सेवा का अवसर मिलने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और पार्टी के अन्य नेताओं का आभार व्यक्त किया। साहा मार्च में त्रिपुरा से उच्च सदन के लिए चुने गए थे। विप्लव कुमार देव के मुख्यमंत्री पद छोड़ने के बाद उन्होंने मई में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के रूप में पदभार संभाला।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-269, (वर्ष-05)
2. मंगलवार, जुलाई 5, 2022
3. शक-1944, आषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 30 डी.सै., अधिकतम-36+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन  अविनाश श्रीवास्तव  चक्की। प्रखंड की अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन किया गया। जि...