सोमवार, 17 अगस्त 2020

बिडेन ने भारत की शान में कढ़ा कसीदा

जो बिडेन ने भारत की शान में पढ़े कसीदे


अमेरिका में करीब 41 लाख भारतीय


वाशिंगटन डीसी। चीन के लिए अमेरिका की ओर से बयानों की बमबारी जारी है। जैसे-जैसे अमेरिका में चुनाव की सरगर्मियां तेज हो रही हैं, वैसे-वैसे अमेरिका की ओर से भारत के प्रति प्रेम और गहराता जा रहा है। अब डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति के उम्मीदवार जो बिडेन ने भारत की शान में कसीदे पढ़े हैं और चीन की जमकर लानत-मलानत की है। भारत से सरहद पर भिड़कर चीन की तो पहले से ही सिट्टी पिट्टी गुम है, मगर सात समंदर पार अमेरिका ने मानो ठान लिया है कि वो चीन को कहीं का नहीं छोड़ेगा। अब तक तो सिर्फ अमेरिका राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उनके मातहत ही चीन की बखिया उधेड़ते थे, मगर अब चीन के खिलाफ डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति के उम्मीदवार जो बिडेन ने भी सीधे और सपाट लहजे में भारत से दोस्ती की बात की है। बिडेन ने कहा है कि अगर वे जीतते हैं तो उनका प्रशासन भारत के साथ अमेरिकी संबंध को और मजबूती देगा और अमेरिका भारत के साथ हमेशा खड़ा रहेगा। बिडेन ने कहा कि भारत जो चुनौतियां झेल रहा है, अमेरिका उसके साथ खड़ा रहेगा। बिडेन के बयान का अर्थ समझिए. भारत के लिए इस वक्त सरहद पर चीन सबसे बड़ी चुनौती है, और बिडेन बगौर नाम लिए इसी चुनौती का जिक्र कर रहे हैं। अभी दो दिन पहले ही अमेरिकी संसद में डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों ने मिलकर अमेरिका की संसद में एक प्रस्ताव भी पास किया था जिसमें चीन की जमकर बखिया उधेड़ी गई थी।            


अक्टूबर में शुरू हो जाएगा 'वैक्सीन' प्रोग्राम

मास्को। रूस ने कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक 5 स्पुतनिक-वी को मंजूरी दे दी है। माना जा रहा है कि अक्टूबर से वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हो जाएगा। मेडिकल एक्सपर्ट्स का कहना है कि रूस ने इस वैक्सीन को तैयार करने में कुछ महत्वपूर्ण चरणों को दरकिनार किया है। ऐसे में इस वैक्सीन का असर क्या होगा, और यह कितना कारगर साबित होता है, ये सवाल पूरे विश्व में उठ रहे हैं।


रूस खुद को नंबर वन बताने में जुटा
रूस स्पुतनिक-वी वैक्सीन के साथ विश्व में खुद को नंबर बताने में लगा हुआ है। राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन लगातार यह संदेश दे रहे हैं कि रूस विश्व का पहला देश बन गया है, जिसने कोरोना वैक्सीन को तैयार किया है। पुतिन तो यहां तक कह रहे हैं कि सेफ्टी को लेकर कोई खिलवाड़ नहीं किया गया है। इसके लिए उन्होंने अपनी एक बेटी को इसका डोज दिया है।


कोरोना वैक्सीन पर रूस ने झूठ बोला? 144 तरह के साइड इफेक्ट्स


दूसरे देशों की सरकार पर काफी दबाव
राजनीतिक जानकारों का कहना है कि रूस द्वारा वैक्सीन तैयार कर लिए जाने के कारण दूसरे देशों की सरकार पर दबाव काफी बढ़ गया है। हर देश जल्द से जल्द वैक्सीन तैयार करना चाह रहा है। जल्दबाजी में संभव है कि वैक्सीन तैयार करने के महत्वपूर्ण चरणों को स्किप कर दिया जाएगा, जिसके परिणाम घातक हो सकते हैं। अगर रूस की वैक्सीन किसी तरह का खतरा पैदा करती है तो लोगों का विश्वास टूट जाएगा जो विश्व के लिए बहुत बड़ा नुकसान होगा।


रूस की कोरोना वैक्सीन लॉन्च, बेटी को देकर पुतिन ने दिखाया भरोसाः वैक्सीन सफल रहने के भी अलग मायने होंगे
एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर रूस की वैक्सीन आंशिक सफल भी रहती है तो दूसरे देश के नेता अपने वैज्ञानिकों और डॉक्टरों पर दबाव डालेंगे कि देखों उस देश की वैक्सीन कितना अच्छा काम कर रही है। ऐसे में क्वॉलिटी के साथ खिलवाड़ होगा और इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। 


सीएम शिवांशु 'निर्भयपुत्र'             



आर्थिक मंदी का जिम्मेदार कोरोना वायरस

कोरोना संकट दुनिया की अर्थव्यवस्थाओं में मंदी ला रहा है


जापान और इजरायल गहरे आर्थिक संकट में दिख रहे हैं


टोक्यो। कोरोना संकट दुनिया की सभी प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं पर भारी पड़ रहा है। अप्रैल से जून की तिमाही में जापान की अर्थव्यवस्था में करीब 28 फीसदी और इजरायल की अर्थव्यवस्था में करीब 29 फीसदी की रिकॉर्ड गिरावट आई है।


उपभोग और व्यापार पर गहरा असर


जापान सरकार की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार कोरोना वायरस महामारी की वजह से उपभोग तथा व्यापार बुरी तरह प्रभावित हुआ है, जिससे अर्थव्यवस्था में जोरदार गिरावट दर्ज हुई है। जापान के कैबिनेट कार्यालय के अनुसार जापान का समायोजित वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी पहली तिमाही में 27.8 फीसदी घटा है।


ऑस्ट्रेलिया में गूगल अपनी सेवाएं करेगा बंद

सिडनी। दुनिया के सबसे बड़ा सर्च इंजन गूगल ऑस्ट्रेलिया में अपनी फ्री की सेवाएं बंद करने वाला है। गूगल ने चेताया है कि ऑस्ट्रेलिया से मुफ्त सर्च सेवाओं को वापस लिया जा सकता है। आस्ट्रेलिया सरकार गूगल से समाचार सामग्री के लिए भुगतान की योजना पर काम कर रही है। इसी की प्रतिक्रिया में गूगल ने सोमवार को यह कदम उठाने की चेतावनी दी है।


अमेरिकी कंपनी ने ‘ऑस्ट्रेलिया के लोगों को खुले पत्र’ में यह चेतावनी दी है। ऑस्ट्रेलिया एक कानून के मसौदे पर काम कर रहा है जिसके तहत गूगल और फेसबुक दोनों को वाणिज्यिक मीडिया कंपनियों से ली गई समाचार सामग्रियों के लिए भुगतान करना पड़ सकता है। इस कानून पर सार्वजनिक विचार-विमर्श की प्रक्रिया एक सप्ताह में पूरी होनी है।


गूगल ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के प्रबंध निदेशक मेल सिल्वा ने पत्र में कहा है, ‘‘इस प्रस्तावित कानून की वजह से हमें आपको काफी खराब गूगल सर्च और यूट्यूब उपलब्ध कराने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। साथ ही प्रयोगकर्ताओं का डेटा बड़ी समाचार कंपनियों को दिया जा सकता है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया में आपको गूगल सर्च की मुफ्त सुविधा भी गंवानी पड़ सकती है।’       


श्रीराम 'निर्भयपुत्र'


भारत के 4 शहरों के साथ उड़ान शुरू की

लंदन। ब्रिटिश एयरवेज भारत सरकार के साथ हुए द्विपक्षीय समझौते के तहत आज से भारत के चार शहरों और लंदन के बीच साप्ताहिक उड़ानें शुरू करेगी। कंपनी ने एक रिलीज में कहा कि वह हर सप्ताह दिल्ली और मुंबई से लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे के बीच पांच उड़ानों का संचालन करेगी। इसके अलावा प्रति सप्ताह हीथ्रो हवाई अड्डे से हैदराबाद और बेंगलुरु के बीच चार उड़ानों का संचालन किया जाएगा।


रिलीज में कहा गया है, ''ब्रिटिश एयरवेज गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के तहत सभी उपभोक्ताओं को लंदन और उससे आगे अपने मौजूदा उड़ान नेटवर्क तक नॉनस्टॉप सेवाएं देगी। भारत में अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर 23 मार्च से रोक लगी हुई है। कोरोना वायरस के चलते भारत में अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर 23 मार्च से रोक लगी हुई है। हालांकि भारत सरकार ने अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी समेत कुछ देशों के साथ आवाजाही समझौता कर रखा है, जिसके तहत भारत और इन देशों की एयरलाइन कंपनियां अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का संचालन कर सकती है।


भारत में 26 लाख से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित


बता दें कि भारत में अबतक कुल 26 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं और करीब 51 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। दुनिया में सबसे तेजी से कोरोना मामले भारत में ही बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 57,981 नए मरीज सामने आए और 941 लोगों की मौतें हो गई. जबकि अमेरिका और ब्राजील में बीते दिन क्रमश: 36,843 और 22,365 नए मामले आए हैं। वहीं क्रमश: 522 और 582 मौतें हुई है। भारत में 13 अगस्त को रिकॉर्ड 66,999 मामले आए थे। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अबतक 26 लाख 47 हजार 663 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 50,921 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 6 लाख 76 एक्टिव केस हैं और 19 लाख 19 हजार लोग ठीक भी हुए हैं।         


चीन से कारोबार समेट रही दर्जनों कंपनी

चीन से कारोबार समेट रहीं दो दर्जन मोबाइल कंपनियां


ये कंपनियां भारत में कारखाना लगाने की तैयारी में


बीजिंग। चीन को कारोबारी झटका देने की भारत सरकार की कोशिश लगातार रंग लाती दिख रही है। अब चीन से अपना कारोबार समेटने की इच्छुक 24 कंपनियां अपने मोबाइल फोन उत्पादन का कारखाना भारत में लगाने की तैयारी कर रही हैं। अमेरिका और चीन के बीच बढ़ते व्यापार तनाव और कोरोना वायरस संक्रमण से कंपनियां अपनी सप्लाई चेन को डाइवर्सिफाई करना चाहती हैं। यही वजह है कि ये कंपनियां चीन के बाहर सप्लाई चेन के विकल्प खोज रही हैं।                 


कर्मचारी-अभियंताओं का राष्ट्रव्यापी धरना

शशांक तिवारी की रिपोर्ट


लखनऊ। इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 एवं केंद्र शासित प्रदेशों, उत्तर प्रदेश तथा उड़ीसा में बिजली के निजीकरण के विरोध में आगामी 18 अगस्त को बिजली कर्मचारी एवं इंजीनियर देशभर में विरोध प्रदर्शन एवं सभाएं करेंगे। ऑल इंडिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेंद्र दुबे ने बताया कि नेशनल कोआर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इम्पलॉईस एन्ड इंजीनियर्स (एन सी सी ओ) के आवाहन पर देश भर में पावर सेक्टर में काम करने वाले  तमाम 15 लाख  बिजली कर्मचारी व इंजीनियर 18 अगस्त के विरोध प्रदर्शन में सम्मिलित होंगे।


उन्होंने बताया इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 के मसौदे पर केंद्रीय विद्युत मंत्री द्वारा विगत 3 जुलाई को राज्यों के ऊर्जा मंत्रियों के साथ हुई मीटिंग में 11 प्रांतों और 2 केंद्र शासित प्रांतो ने इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 के निजीकरण के मसौदे का जमकर विरोध किया था। परिणाम स्वरूप 3 जुलाई की मीटिंग में केंद्रीय विद्युत मंत्री आरके सिंह ने यह घोषणा की कि राज्य सरकारों के विरोध को देखते हुए इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 के मसौदे में संशोधन किया जाएगा। खेद  का विषय है राज्य के ऊर्जा  मंत्रियों की बैठक के डेढ़ माह बाद भी इलेक्ट्रिसिटी(अमेंडमेंट) बिल 2020  के संशोधित प्रारूप को विद्युत मंत्रालय ने अभी तक सार्वजनिक नहीं किया है और केंद्र सरकार राज्यों पर दबाव डालकर निजीकरण का एजेंडा आगे बढ़ा रही है। जिससे बिजली कर्मियों में भारी  रोष व्याप्त है।


उन्होंने बताया की केंद्र शासित प्रदेशों विशेषतया  चंडीगढ़, पुडुचेरी, अंडमान निकोबार, लद्दाख, जम्मू एवं कश्मीर में निजीकरण की प्रक्रिया तेजी से चलाई जा रही है। साथ ही  उत्तर प्रदेश में पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के निजी करण के प्रस्ताव पर कार्य प्रारंभ हो गया है। दूसरी ओर उड़ीसा में सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई अंडरटेकिंग को टाटा पावर को हैंडओवर कर दिया गया है और तीन अन्य विद्युत वितरण कंपनियों नेस्को, वेस्को और साउथको के निजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। केंद्र सरकार के दबाव में चल रहे निजी करण के क्रियाकलापों से बिजली कर्मियों और अभियंताओं में भारी गुस्सा व्याप्त है।


उन्होंने बताया कि निजीकरण के यह प्रयोग उड़ीसा, दिल्ली, ग्रेटर नोएडा, औरंगाबाद, नागपुर, जलगांव, आगरा, उज्जैन, ग्वालियर, सागर, भागलपुर, गया, मुजफ्फरपुर आदि कई स्थानों पर पूरी तरह से विफल साबित हुए है। इसके बावजूद इन्हीं विफल प्रयोगों को वित्तीय मदद देने के नाम पर केंद्र सरकार विभिन्न राज्यों में थोप रही है जो एक प्रकार से ब्लैकमेल है।


नेशनल कोऑर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इंप्लाइज एंड इंजीनियर्स  ने यह निर्णय लिया है कि निजीकरण के इस मसौदे को कतई स्वीकार नहीं किया जाएगा और 18 अगस्त के विरोध प्रदर्शन के बाद भी यदि केंद्र और राज्य सरकारों ने  निजीकरण के प्रस्ताव व् कार्यवाही निरस्त न की तो 15 लाख बिजली कर्मी राष्ट्रव्यापी आंदोलन प्रारम्भ करने हेतु बाध्य होंगे। जिसकी सारी जिम्मेदारी केंद्र और राज्य सरकारों  की होगी।


नहीं देखना चाहिए 'चतुर्थी' का चंद्रमा

हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। 10 दिनों तक यह पर्व चलता है। करवा चौथ से लेकर गणेश चतुर्थी जैसे तमाम व्रत एवं त्योहार चंद्रमा पर आधारित होते हैं। यानी चांद निकलने पर ही इन व्रत और त्योहारों की पूजा संपन्न होती है। यहां तक कि चतु्र्थी को चंद्रमा को देखना अशुभ माना जाता है। कहा जाता है भगवान गणेश ने चांद को एक बार श्राप दिया था चतुर्थी के दिन जो भी तुझे देखेगा उस पर कलंक लगेगा। तब से लोग चतु्र्थी का चांद नहीं देखते।


ऐसे में सनातन हिन्दू धर्म को मानने वाले या चांद के आधार पर उत्सव मनाने वाले अन्य लोगों के मन में अक्सर यह सवाल रहता है कि आज चांद कब निकलेगा। पाठकों की इसी मुश्किल को दूर करने के लिए हम चांद निकलने का टाइम (इस सप्ताह) यहां दे रहे हैं। जिससे कि आप आसानी से अपना व्रत पूरा कर सकें। यहां दिया गया चांद निकलने का समय 'टाइम एंड डेट डॉट कॉम' के अनुसार है।


चांद निकलने का टाइम (दिल्ली में)-


सोमवार 17 अगस्त 2020  - 03:36 AM से 17:03 तक


मंगलवार 18 अगस्त 2020 - 04:40 बजे से  18:43 तक


बुधवार 19 अगस्त 2020  - 05:47 बजे से 19:27 तक


गुरुवार 20 अगस्त 2020  - 06:54 बजे से 20:08 तक


शुक्रवार 21 अगस्त 2020 - 08:01 बजे से 20:47 तक


शनिवार 22 अगस्त 2020 - 09:07 बजे से - 21:24


रविवार 23 अगस्त 2020 - 10:12 से 22:02 तक              


देवदूत बन एनडीआरएफ ने जान बचाई

देवदूत बन एनडीआरएफ ने गंभीर रूप से घायलों को जान से बचाया
वकील अहमद नदवी की रिपोर्ट
कुशीनगर। जिले में बाढ़ ग्रस्त एरिया की राहत बचाव कार्य में ग्यारहवी वाहिनी एनडीआरएफ वाराणसी से आई टीम उस समय देवदूत बनकर आई जब खड्डा तहसील के ग्राम भुजौली पोखरा के पास एक बाइक एक्सीडेंट में घायल तीन व्यक्ति बांका कुशवाहा, शंभू कुशवाहा और जितेंद्र कुशवाहा ग्राम तिनपरसा पोस्ट रामपुर जंगल के रहने वाले को पीएचटी दिया जिसमे बाका कुशवाहा को सिर मे टांका लगाया और घुटने को स्थिर किया बाकी दोनो घायलो को अनेको जगह लगी चोट को बैन्डेज किया और अस्पताल के लिए रवाना किया जिलाधिकारी महोदय से बाढ़ ग्रस्त एरिया के बारे में चर्चा कर टीम कमांडर इंस्पेक्टर दिनकर त्रिपाठी सदल खडडा लौट रहे थे कि रास्ते में तीन व्यक्ति गंभीर रूप से घायल दिखे फौरन रुककर त्वरित कार्रवाई करते हुए घायलों को अस्पताल जाने से पूर्व का चिकित्सा दीया जिसमें नर्सिंग असिस्टेंट रमेश कुमार यादव ने अहम भूमिका निभाई टीम में सब इंस्पेक्टर चंदन सिंह और आरक्षी विजय पासवान ने अपना योगदान दिया।             


हेरोइन की खेप के साथ एक गिरफ्तार

सोनौली बॉर्डर: हेरोइन की एक खेप के साथ एक गिरफ्तार,


महाराजगंज/सनौली। भारत नेपाल के सोनौली बॉर्डर पर पुलिस और एसएसबी की संयुक्त टीम ने घेराबंदी कर भारत से नेपाल मादक पदार्थ हेरोइन की एक खेप लेकर जा रहे एक तस्कर को दबोच कर करीब 30 लाख रुपए के कीमत की हेरोइन बरामद कर उसे गिरफ्तार क लिया है।
खबरों के मुताबिक सोमवार की सुबह करीब 9 बजे सोनौली प्रभारी निरीक्षक आशुतोष सिंह को सूचना मिली की भारतीय सीमा से मादक पदार्थ का एक कारोबारी हेरोइन की खेप लेकर नेपाल बॉर्डर पर किसी को देने जा रहा है ।उक्त सूचना पर उन्होंने एसएसबी को सूचित कर उनके सहयोग से सोनौली कस्बे के होटल निरंजना के पीछे नेपाल जाने वाले पगडंडी मार्ग पर उसे घेराबंदी कर दबोच लिया और उसकी जामा तलाशी लिया तो छिपा कर रखा गया हेरोइन बरामद किया।
पुलिस ने बरामद हेरोइन का वजन 30 ग्राम बताया है। जिसकी कीमत 30 लाख रुपए आंका गया है।
पकड़े गए युवक ने अपना नाम जलील पुत्र पुत्र कुद्दूश खा निवासी वार्ड नं0-4 माधवराम नगर थाना सोनौली बताया है।
इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक सोनौली आशुतोष सिंह ने बताया कि मादक पदार्थ हेरोइन के साथ पकड़े गए युवक को एनडीपीएस की धारा 8/22/23 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि जलील सोनौली थाने का सक्रिय अपराधी है। जिसे पुलिस काफी दिनों से तलाश रही थी।            


परिश्रम-सच्चाई आगे बढ़ने की कुंजीः धामा

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। भाजपा नेता एवं पूर्व चेयरमैन  नगर पालिका परिषद लोनी मनोज धामा ने बहेटा हाजीपुर मे एक्सपीरियंश इंस्टीटयूट का उद्घाटन किया। कोचिंग सेंटर के डायरेक्टर नरेन्द्र पाल के दूारा मनोज धामा का फूल -माला पहनाकर स्वागत किया । 
पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मनोज धामा ने रिबन काटकर कोचिंग सेंटर का उद्घाटन किया। इस मौकेे पर कोचिंग सेंटर से पढाई करने वाले होनहार बच्चों को मनोज धामा ने उपहार देकर सम्मानित किया तथा सभी के उज्जवल भविष्य की कामना की। मनोज धामा ने सभी बच्चों को प्रेरक प्रसंग सुनाये तथा जीवन मे हमेशा ईमानदारी के साथ मेहनत करने व परिश्रम से कभी भी पीछे नही हटने की सलाह बच्चों को दी एवं कहा कि अभी आप सभी के जीवन का बेहद ही मूल्यवान समय चल रहा है। आप सभी इस समय का सदुपयोग करे तथा अपने जीवन को बेहतर बनाने के लिये जी-तोड मेहनत करे आपके दूारा आज की गयी कठिन मेहनत ही आपके भविष्य के सुगम होने का आधार बनेगी।
सभी बच्चे मन लगाकर पढाई करे तथा कोशिश करे कि आप सभी सरकार के उच्च पदों पर पहुंचे तथा समाज के प्रति जो एक नागरिक का दायित्व है उसका निर्वाह करे तथा अपने माता-पिता के साथ अपने अध्यापकों के साथ अपने क्षेत्र का नाम रोशन करे। इस अवसर पर हरिकिशन, मामचन्द, ताराचन्द, राजकुमार, हरीश, मिंटु, नरेन्द्र, सचिन पाल आदि लोग उपस्थित रहे।               


नगर पालिका की व्यवस्थाओं की खुली पोल

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


बरसात ने हापुड़ नगर पालिका के सफाई व्यवस्था दावों की खोली पोल


दुकानों व घरों में भरा पानी


हापुड़। जनपद में थोड़ी देर के लिए हुई बरसात ने हापुड़ नगर पालिका के सफाई दावों की पोल खोलकर रख दी। शहर के अधिकांश बाजारों व घरों में नालों का गंदा पानी भर गया। जिससे दुकानदारों को काफी नुकसान हो गया।


सोमवार दोपहर को हुई कुछ देर के लिए बरसात ने पालिका के सफाई दावों की पोल खोलकर रख दी।नगर पालिका में भारी भरकम सफाईकर्मियों की फौज के सहारे शहर के नालों की सफाई का दावा किया गया था, परन्तु हल्की बरसात ने आईनें की तरह सफाई व्यवस्था दिखा दी।


आज हुई बरसात से नगर के गोलमार्केट, रेलवे रोड़,सर्राफा बाजार,कोठीगेट व अन्य कई मौहल्लों व गलियों में जलभराव हो गया । जिससे नालों की गंदगी दुकानों व घरों में पहुंच गई और लोगों के सामान का भी नुकसान हो गया।          


ग्रामीणों में बेखौफ बदमाशों का आतंक

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


हापुड़ के थाना हाफिजपुर क्षेत्र के रामपुर गांव में बेखौफ बदमाशों का आतंक


हापुड़। थाना हाफिजपुर क्षेत्र के रामपुर गांव् में बेखौफ बदमाशों का आतंक देखने को मिला है। यहाँ बेखौफ बदमाशों ने गांव के चार घरो का निशाना बनाकर लाखो की नगदी और लाखो रूपये के जेवरात पर हाथ साफ़ किया है, बताया जा रहा है की चोरो ने लाखो रूपये की नगदी, सोने चांदी के जेवरात चोरी कर लिए और बड़े आराम से चोरी की वारदात को अंजाम देकर चोर फरार हो गए। सुचना मिलते ही बाद स्थानीय थाने की पुलिस घटना स्थल पर पहुंच गयी मामले की जाँच में जुट गयी। बता दे की चोर आय दिन रामपुर गांव में चोरी की वारदात को अंजाम देते है और फरार हो जाते है।इससे पहले भी चोर कई बार गांव में चोरी की वरदात को अंजाम दे चुके है। फिलहाल इस पुरे मामले में पुलिस जल्द ही खुलासा करने की बात कर रही है।


चोरीः तहसीलदार के खिलाफ दिया धरना

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


भैंस चोर गुर्जर को लेकर तहसीलदार के विरुद्ध धरना


हापुड़। गुर्जर समुदाय के एक किसान को भैंस चोर गुर्जर कहने का आरोप लगाते हापुड़ तहसीलदार पर लगाते हुए सोमवार को गुर्जर समुदाय व भाकियू ने तहसीलदार के विरुद्ध कलेक्ट्रेट पर धरना देकर कार्यवाही की मांग की। गुर्जर नेता राजेन्द्र सिंह ने आरोप लगाते हुए बताया कि एक किसान किसी काम से हापुड़ तहसीलदार के पास गया ,तो तहसीलदार ने किसान की जाति पूछी। किसान द्वारा अपनी जाति गुर्जर बताए जानें पर तहसीलदार ने कहा कि भैंस चोर गुर्जर होते है। उन्होंने कहा कि तहसीलदार द्वारा इस प्रकार की अशोभनीय टिप्पणी को लेकर गुर्जर समुदाय में भारी रोष व्याप्त है।
घटना के विरोध में सोमवार को सैकड़ों गुर्जर व भाकियू कार्यकर्त्ताओं ने कलेक्ट्रेट पर धरना देकर तहसीलदार के विरोध कार्यवाही की मांग की है।                         


खेत में काम करती महिला को सांप ने डसा

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


हापुड़ खेत में काम कर रही एक महिला की सांप के डंसनें से मौत


महिला को सांप ने डंसा, मौत


हापुड़। खेत में काम कर रही एक महिला की सांप के डंसनें से मौत हो गई। थाना बहादुरगढ़ क्षेत्र के गांव नगली कनौर निवासी किसान महाराज सिंह की पत्नी सुरेशवती सोमवार की सुबह खेत मे कार्य कर रही थी। उसी समय एक जहरीले सांप ने डस लिया। चीख सुनकर खेत में काम कर रहे अन्य लोग डाक्टर के ले गए, जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। जिससे परिवार में कोहराम मच गया।                    


4.60 करोड में बिके 35 साल पुराने जूते

जॉर्डन। दुनियाभर में कई लोग हैं जो महंगे महंगे सामान खरीदने के शौकीन होते हैं। अब आज हम आपको ऐसी ही एक महंगी चीज के बारे में बताने जा रहे हैं। जी दरअसल हम बात कर रहे हैं जूतों के बारे में। आज हम आपको जिन जूतों के बारे में बताने जा रहे वह 4.60 करोड़ में बिके है। अब आप कहेंगे कि इन जूतों में हीरे लगे हैं या फिर सोना-चांदी…? तो हम आपको बता दें कि ऐसा कुछ नहीं है। आइए बताते हैं इसके पीछे की वजह। जी दरअसल ये जूते बहुत ही मशहूर बास्केटबॉल खिलाड़ी और अमेरिका की ड्रीम टीम का हिस्सा रहे माइकल जॉर्डन के हैं।जी हाँ, यह बेहतरीन स्नीकर्स हैं और इन्हें छह लाख 15 हजार डॉलर की रिकॉर्ड कीमत में नीलाम किया जा चुका है। क्रिस्टी ऑक्शन का कहना है कि, ‘इन खास जूतों ने करीब चार करोड़ 60 लाख रुपए पाए हैं।’ वहीं कंपनी ने कहा कि, ‘कुछ महीने पहले इस बास्केटबॉल स्टार के जूते रिकॉर्ड कीमत पर बिके थे। इस बार फिर से नीलामी ने पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। वैसे हम आपको यह भी बता दें कि स्नीकर्स एयर जॉर्डन-1 टीम के हैं, जो एनबीए स्टार ने 1985 के एक प्रदर्शनी मैच में पहनकर खेला था।


संस्था ने स्वतंत्रता दिवस पर वृक्ष रोपण किया

जबलपुर। 74वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य पर कलेक्टर कंपाउंड में अध्यक्ष इंडियन रेड क्रॉस सोसायटी भरत यादव  के मार्गदर्शन में ग्लोबल केयर फाउंडेशन जबलपुर के द्वारा हाईकोर्ट रोड मुमताज मंज़िल के सामने वृक्षारोपण किया गया। कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सादगी पूर्ण और समाज के हित में स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाया गया। जिसमें संस्था के समस्त मेंबर एवं सहयोगियों ने  74 वे स्वतंत्रता दिवस को वृक्षारोपण करके मनाया। देश के उज्जवल भविष्य की कामना की। इस अवसर पर सोसायटी के संरक्षक हाजी मोहम्मद असगर ,अख्तर अंसारी ,मुख्तार अहमद और अध्यक्ष इकरार अंसारी, शाहनवाज अहमद ,शेखुल इस्लाम,अहफाज़ आलम,हाफिज शौकत,रोहित अहिरवार,शाहरूख अंसारी, छिददी नगर निगम,अम्बिया अंसारी आदि उपस्थित थे।


स्मार्ट मीटर के नाम पर शोषण बंद करें सरकार

पवन श्रीवास्तव


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में स्मार्ट बिजली मीटरों के साथ ही कानून-व्यवस्था पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीटर के जरिये  सवाल उठाए हैं। उन्होंने  कहा है, यूपी में बिजली मीटर स्मार्ट हैं क्या? यूपी सरकार स्मार्ट मीटर के नाम पर शोषण बंद करे और जांच कराकर नुकसान की भरपाई करे। जन्माष्टमी के दिन स्मार्ट मीटरों में गलत कमांड ने लाखों घरों को अंधेरे में रखा। खबरों के अनुसार इन स्मार्ट मीटरों की वजह से बहुतों के बिल चार गुना आए हैं। 
वहीं, उन्होने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भी योगी सरकार को घेरा है। उन्होंने फेसबुक पोस्ट पर लिखा कि, बुलंदशहर, हापुड़, लखीमपुर खीरी और अब गोरखपुर। लगातार इस तरह की घटनाओं से ये साबित होता है कि महिलाओं को सुरक्षा देने में उत्तर प्रदेश सरकार पूरी तरह विफल रही है। अपराधियों के मन में कानून का कोई डर नहीं है। उसी का परिणाम है कि महिलाओं के खिलाफ अपराध की वीभत्स से वीभत्स घटनाएं घटती ही जा रही हैं।               


संसद भवन में लगी आग, कोई हताहत नहीं

सुरेश उपाध्याय

नई दिल्ली। संसद भवन की एनेक्सी बिल्डिंग में आज यानि सोमवार सुबह आग लग गई।  आग एनेक्सी बिल्डिंग की छठी मंजिल पर लगी। हालांकि, फायर ब्रिगेड की 4 गाड़ियों ने जल्द ही आग पर काबू पा लिया. आग से किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

बताया जा  रहा है कि  आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी है। हालांकि, अभी कारणों का पता लगाने के लिए जांच होगी। इससे पहले पिछले सप्ताह शुक्रवार को साउथ ब्लॉक में रक्षा मंत्रालय के एक कमरे में आग लग गई थी, लेकिन आग से जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ था। फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने जल्द ही आग पर काबू पा लिया था।             

बारिश से गिरा कच्चा घर, पति-पत्नी की मौत

तरुण अंबस्ट


उदयपुर। ग्राम घाटबर्रा में देर रात बारिश की वजह से मिट्टी का घर गिर जाने से पति पत्नी की दबकर मौत हो गई। वहीं घर में रखी बकरियों की भी इस हादसे में मौत हो गई। बताया गया कि मृतकों में बोखा राम पिता गेदाराम उम्र लगभग 65 वर्ष और गौरी बाई पति बोखा राम उम्र लगभग 60 वर्ष शामिल है। शव को पुलिस के पहुंचने के बाद ग्रामीणों की मदद से काफी मशक्कत के बाद  बाहर निकाला गया। घटना के बाद से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। घाटबर्रा के मझवार पारा में दो लोगों की असमय दर्दनाक मौत के बाद  पूरे गांव में शोक का माहौल है। घटना की सूचना पर उदयपुर पुलिस थाना प्रभारी अलरिक लकड़ा के नेतृत्व में पहुंच कर शव का पंचनामा कराकर घटना स्थल पर ही पोस्टमार्टम कराया गया। शव को परिजनों के सुपुर्द किया जाएगा। ग्राम पंचायत घाटबर्रा की ओर से सरपंच जयनन्दन सिंह द्वारा मृतक के आश्रितों को श्रद्धांजलि योजना के तहत अंतिम संस्कार के लिए 2 हजार रुपए की प्रारंभिक सहायता प्रदान की गई है।           


फेसबुक अधिकारी को मारने की धमकी

बीजेपी नेताओं के ‘हेट स्पीच’ पर नरमी बरतने के आरोपों के बाद फेसबुक की अधिकारी अंखी दास को जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं। अंखी ने दिल्ली में साइबर सेल यूनिट में शिकायत दर्ज कराई है।


अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। फेसबुक की इंडिया, साउथ एंड सेंट्रल एशिया पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर अंखी दास ने दिल्ली साइबर सेल यूनिट में कई लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है, जो उन्हें ऑनलाइन पोस्ट और कंटेंट के जरिए जान से मारने की धमकी दे रहे थे।


गौरतलब है कि अमेरिकी अखबार द वॉल स्ट्रीट जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बीजेपी के एक विधायक के हेट स्पीच वाले पोस्ट पर ऐक्शन लेने से अंखी दास ने अपनी टीम को रोका था। उन्होंने बीजेपी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई से कोरोबार को नुकसान की बात कही है।


इस रिपोर्ट को लेकर बीजेपी और कांग्रेस में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि फेसबुक और वॉट्सऐप बीजेपी-आरएसएस के नियंत्रण में है। राहुल के आरोपों का जवाब देते हुए आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कैंब्रिज एनालिटिका की याद दिलाई।              


90 महिला कैदी वायरस से संक्रमित मिलींं

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में सरकारी महिला शेल्टर होम के 90 कैदियों का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है। महिला कल्याण विभाग की उपनिदेशक नीता अहिरवार ने कहा, “पिछले दो दिनों में नारी निकेतन की 90 कैदियों की कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। इन सभी को क्वारंटीन कर दिया गया है। उन्होंने आगे कहा, “ये कैदी कोरोना वायरस से संक्रमित कैसे हुईं, इसकी जांच की जा रही है। सभी कैदियों में इसका लक्षण नहीं दिखा है, उन्हें दो मंजिला घर में क्वारंटीन किया गया है।


 एक स्टाफ पाया गया कोरोना पॉजिटिव  


इससे पहले, एक सहायक स्टाफ सदस्य का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया था। नीता अहिरवार ने कहा कि शेल्टर होम में करीब 200 कैदी हैं और उन सभी का कोरोना टेस्ट किया गया है। इनमें से 90 की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। डॉक्टरों की एक टीम नियमित रूप से चेकअप के लिए दौरा करती है और दवा उपलब्ध करा रही है।


अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अशोक कुमार ने कहा, “हमने शेल्टर होम को सैनिटाइज कर दिया है. फिलहाल, हमने किसी भी कैदी को अस्पताल में स्थानांतरित नहीं किया है, क्योंकि उन सभी में लक्षण नहीं है। आपातकालीन सेवाएं भी उपलब्ध हैं।


दहेज के लोभियों ने 'मां-बेटे' की हत्या की

सुजल गुप्ता


बलिया। दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर एक और नवविवाहिता और उसके पांच माह के मासूम बेटे की हत्या कर दी गई। यही नहीं हत्या के बाद आरोपितों ने दोनों के शवों को ठिकाने लगा दिया। यह आरोप मृतका रागिनी देवी के पिता वीरेंद्र पोद्दार निवासी बेगूसराय छोटी बलिया अक्ख्तियारपुर वार्ड नंबर 13 बेगूसराय ने लगाते हुए पति राकेश पोद्दार, सास मीना देवी, देवर सुनील और ननद ज्योति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। घटना के बाद से ही सभी आरोपित घर छोड़कर फरार हैं।


2019 में हुई थी रागिनी की शादी
लड़की के पिता और भाई विवेक ने बताया कि 20 वर्षीया रागिनी की शादी 22 अप्रैल 2019 को कंकड़बाग थाना क्षेत्र स्स्थित एमडी भवन नाला रोड, अशोकनगर रोड नंबर 11 कुटी गली निवासी राकेश कुमार के साथ हुई थी।


पांच माह पूर्व बेटी ने एक बेटे को जन्म भी दिया। आरोप है कि शादी के बाद से ही ससुराल बेटी से दहेज में बुलेट व दो लाख रुपये नगद लाने की मांग रहे थे। असमर्थता जताने पर उसे प्रताड़ित किया जा रहा था। 15 अगस्त की सुबह लड़के की बहन आरती जो कि रांची में रहती है, फोन कर बताया कि छत से गिरने पर रागिनी और उसके बेटे की मौत हो गई है। इसके बाद ससुराल वालों को फोन कर कहा गया कि जब तक हम लोग पहुंच न जाएं, शव का अंतिम संस्कार न किया जाए। बावजूद इसके आनन-फानन में आरोपितों ने शव को ठिकाने लगा दिया।


घर में बिछिया, बाल और कपड़े मिले
लड़की के भाई ने कहा कि मेरी बहन के पैर की बिछिया घर में पड़ा मिला। उसके कमरे में बाल और कपड़े बिखरे थे। ऐसा लग रहा था कि हत्या से पूर्व बाल नोंचकर उसे पीटा गया था। मायके वालों का आरोप है कि पुलिस ससुराल पक्ष के लोगों को बचा रही है। घटना की सूचना कंकड़बाग थाने की पुलिस को समय पर दी गई थी लेकिन ऐन वक्त वर पुलिस आरोपितों के घर नहीं गई। कंकड़बाग थाना प्रभारी अजय कुमार ने बताया कि केस दर्ज कर आरोपितों की तलाश में उनके ठिकानों पर छापेमारी की जा रहीहै। जल्द ही सभी आरोपित पकड़े जाएंगे।


एटीएम के नियमों में बदलाव, होगा जुर्माना

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। भारतीय स्टेट बैंक ने एटीएम निकासी नियमों में बदलाव किया है। ये नियम 1 जुलाई से बदले गए हैं। अगर आपने अगर इन नियमों का पालन नहीं किया गया, तो ग्राहकों पर जुर्माना लगेगा। भारतीय स्टेट बैंक की आधिकारिक वेबसाइट sbi.co.in पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, SBI मेट्रो शहरों में अपने नियमित बचत खाताधारकों को एटीएम से एक महीने में 8 मुफ्त  लेनदेन करने की अनुमति देता है। मुफ्त ट्रांजैक्शन की लिमिट पार करने पर ग्राहकों से प्रत्येक लेनदेन पर चार्ज लिया जाता है। भारतीय स्टेट बैंक एक महीने में अपने नियमित बचत खाताधारकों को 8 मुफ्त लेनदेन की अनुमति देता है। इनमें 5 एसबीआई एटीएम और किसी अन्य बैंक के 3 एटीएम से मुफ्त लेनदेन शामिल है। गैर-मेट्रो शहरों में 10 मुफ्त एटीएम लेनदेन होते हैं, जिसमें 5 लेनदेन एसबीआई से किए जा सकते हैं,। जबकि 5 अन्य बैंकों के एटीएम से. बैंक खाते में 1,00,000 रुपये से ज्यादा का औसत मासिक बैलेंस करने वाले बचत खाताधारकों को स्टेट बैंक ग्रुप व अन्य बैंकों के एटीएम में असीमित लेनदेन की सुविधा देती है।


विफल ATM ट्रांजैक्शन चार्ज
खाते में ज्यादा बैलेंस ना होने की स्थिति में अगर ट्रांजैक्शन फेल हो जाती है, तो SBI खाताधारकों से 20 रुपये शुल्क के साथ जीएसटी वसूलेगा।


OTP के साथ SBI एटीएम से नकद निकासी
एसबीआई ने एटीएम से 10 हजार रुपये से अधिक नकद निकासी के नियमों में भी बदलाव किया है। अब अगर आपर एसबीआई के एटीएम से 10 हजार रुपए से अधिक रकम निकालते हैं तो आपको ओटीपी की जरूरत होगी। यह नई सुविधा 1 जनवरी 2020 से लागू हो गई है। बैंक की इस सुविधा के तहत खाताधारकों को रात के 8 बजे से लेकर सुबह के 8 बजे तक SBI के एटीएम से कैश निकालने के लिए ओटीपी की जरूरत होगी। बैंक की ये सुविधा खाताधारकों को सिर्फ SBI के एटीएम में मिलेगी। अगर आप बाकी किसी दूसरे एटीएम से कैश निकालते हैं तो पहले की तरह आराम से निकाल सकते हैं। आपको किसी ओटीपी की जरूरत नहीं होगी।            


105 करोड़ की लागत से हाईवे का निर्माण


रण ओबरॉय


चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल 105 करोड़ की लागत से बनने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 709 ए करनाल मेरठ रोड के कार्य का शुभारंभ करेंगे। इस दौरान सीएम करनाल में कल्पना चावला मेडिकल में प्लाज्मा बैंक का भी उद्घाटन करेंगे। इस हाइवे के निर्माण से काफी लोगों का बड़ी राहत मिलेगी।


जानिये हाईवे का पूरा प्लान



  • राष्ट्रीय राजमार्ग चौ. देवीलाल चौक करनाल से शुरू होकर यमुना पुल तक बनेगा

  • डेढ़ साल के अंदर इसका निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा

  • फरवरी 2022 तक ये राजमार्ग जनता की सुविधा के लिए समर्पित कर दिया जाएगा

  • चौ. देवीलाल चौक से शुगर मिल करनाल तक ये राजमार्ग 6 लेन का होगा और शुगर मिल से यमुना पुल तक फोरलेन का बनाया जाएगा

  • 6 लेन के राजमार्ग की कुल चौड़ाई साढ़े 27 मीटर और फोरलेन की सड़क की कुल चौड़ाई साढ़े 20 मीटर रहेगी

  • इस सड़क के निर्माण में एक बड़ा ब्रिज, 7 छोटे ब्रिज और 19 पुलिया बनेगी

  • इस राजमार्ग को बनाने का कार्य कैथल की डायमंड कंस्ट्रक्शन कंपनी करेगी


करनाल-मेरठ राष्ट्रीय राजमार्ग के कार्य के शुभारंभ के अलावा सीएम कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज स्थित प्लाज्मा बैंक का उद्घाटन भी करेंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल 3 बजकर 15 मिनट पर प्लाज्मा बैंक का उद्घाटन करेंगे और इस दौरान वो कोरोना महामारी को हरा चुके इच्छुक प्लाज्मा डोनेट करने वालों को सम्मानित भी करेंगे, इसके अलावा सीएम सोमवार को नए बस स्टैंड में शहीद मदन लाल ढींगड़ा की मूर्ति का अनावरण भी करेंगे।



डीएम के प्रयास से अस्पताल का कायाकल्प

पंकज कपूर


नैनीताल। विकास के साथ ही स्वास्थ्य को विशेष तरजीह देने वाले युवा जिलाधिकारी सविन बंसल का मानना है कि स्वस्थ्य व्यक्ति ही समाज व राष्ट्र के निमार्ण मे अहम भूमिका निभा सकता है। उनकी सोच है कि स्वस्थ्य मां एवं बच्चा भी राष्ट्र निर्माण के आधार स्तम्भ है, लिहाजा श्री बंसल ने अल्पकाल मे जिले के सरकारी अस्पतालों की दशा एवं दिशा बदलकर रख दी। जिसका नतीजा यह हुआ कि सरकारी अस्पतालों के प्रति आम एवं गरीब आदमी का रूझान एवं विश्वास बढा है इन अस्पतालों मे प्रतिदिन ओपीडी में दोगुने से तीनगुने तक मरीजो की संख्या मे इजाफा हुआ है।


सरोवर नगरी में 126 वर्ष पूर्व 17 अक्टूबर 1894 को समाजसेवी स्व. पं बद्री दत्त पाण्डे की स्मृति मे बीडी पाण्डे चिकित्सालय की स्थापना हुई थी। यह चिकित्सालय नैनीताल के अलावा आसपास के पर्वतीय इलाकों के लोगों के इलाज के लिए एक आदर्श चिकित्सालय के रूप मे कार्यरत रहा। बदलते दौर मे स्वास्थ्य सेवाओं एवं चिकित्सालयों संख्याओं मे वृद्वि के चलते बीडी पाण्डे में धीरे-धीरे संसाधनों एवं आधुनिक उपकरणों की कमी होती गई। जिससे इस एतिहासिक चिकित्सालय मे मरीजों की संख्या घटती गई। स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशील जिलाधिकारी श्री बंसल ने काफी अध्ययन व चिंतन के उपरान्त इस ऐतिहासिक चिकित्सालय की दशा एवं दिशा सुधारने की दिशा मे कदम बढाये। उन्होने बीडी पाण्डे चिकित्सालय को विभिन्न मदों से 1 करोड 27 लाख की धनराशि चिकित्सालय प्रबंधन को आधुनिकतम उपकरणों तथा चिकित्सालय की साजसज्जा, शौचालय, सीवरेज व्यवस्था,एक्सरे व अल्ट्रासाउन्ड मशीन, जनरेटर व अन्य अवस्थापना सुविधाओं के लिए निर्गत की। श्री बंसल के प्रयासों से वर्तमान मे बीडी अस्पताल मे चार बैड का आईसीयू संचालित है तथा चिकित्सालय मे चार वैंटिलेटर भी उपलब्ध है।


जिलाधिकारी श्री बंसल ने ग्रामीण निर्माण विभाग को जीर्णशीर्ण शौचालयों की मरम्मत, चिकित्सालय के पैसेज के ऊपर शैड निर्माण, आवासों मे क्षतिग्रस्त शौचालय, सम्पूर्ण चिकित्सालय मे आक्सीजन पाइप लाइन एवं प्लांट निर्माण हेतु 84.36 लाख की धनराशि निर्गत की। इसी प्रकार जलसंस्थान को जीर्णशीर्ण सीवर लाइन, नर्सिग हास्टिल मे सीवर लाइन बिछाने के लिए 6.13 लाख की धनराशि निर्गत की। श्री बंसल ने एसडीआरएफ से आईसीयू वार्ड निमार्ण,आईसीयू वार्ड मे एसी व स्टेपलाइजर व्यवस्था हेतु 4.05 लाख की धनराशि उपलब्ध करायी। उन्होने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना से चिकित्सालय हेतु जनरेटर, एक्सरे मशीन, सीआरएम मशीन आदि की व्यवस्था के लिए 30.68 लाख की धनराशि निर्गत की। इसी प्रकार श्री बंसल ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से चिकित्सालय मेें आक्सीजन पाइप लाइन के निर्माण एवं अल्टासाउन्ड कक्ष मे एसी लगाने हेतु 50.55 लाख की धनराशि के साथ ही जिला योजना से अल्ट्रासाउन्ड मशीन क्रय करने की स्वीकृति भी दी हैै।


जिलाधिकारी के सतत् प्रयासों से सरोवर नगरी का बीडी पाण्डे चिकित्सालय हाईटैक हो गया है, पहले की तुलना मे आज की तारीख मे लगभग प्रतिदिन 400 मरीज अपने ईलाज के लिए बीडी पाण्डे अस्पताल की तरफ रूख कर रहे है। श्री बंसल के प्रयासो से बीडी पाण्डे चिकित्सालय मे आशाघर भी स्थापित किया है जिससे आशा कार्यकत्रियों को काफी सुविधा हुई है। इसके साथ ही मरीजों व तीमारदारों को गुणवत्तायुक्त, पौष्टिक एवं ताजा भोजन के लिए व्यवस्था बनाई गई हे। कैन्टीन के भोजन की गुणवत्ता का प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा समय-समय पर निरीक्षण किया जाता है। जिलाधिकारी के स्पष्ट आदेशों के चलते चिकित्सकों द्वारा वहां से मरीजो को रैफर करने का कार्य लगभग बन्द कर दिया है, गम्भीर मरीजों को ही अब रैफर किया जाता है तथा रैफर करने का कारण भी पंजिका में स्पष्ट अंकित किया जाता है। चिकित्सालय में बडी हुई अवस्थापना सुविधाओं के चलते चिकित्सकों मे भी आत्मविश्वास एवं समर्पण भाव से कार्य करने का जज्बा भी जागा है, कुल मिलाकर जिलाधिकारी श्री बंसल की इस पहल को जनमानस के बीच काफी लोकप्रियता मिली है। बीडी पाण्डे चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्साधीक्षक डा. केएस धामी ने कहा कि जिलाधिकारी श्री बंसल ने जिस तनमयता एवं तत्परता से इस चिकित्सालय की दशा बदली है वह निश्चय ही हम सभी के लिए प्रेरणादायक है। उन्होने बताया कि पहले ओपीडी मे प्रतिदिन 150 मरीज ही आते थे जो आज बढकर लगभग 400 मरीजों की संख्या बढ गई हैै।              



कांग्रेसियों ने यूके सीएम का पुतला फूंका

तेजपाल नेगी


हल्द्वानी। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस जिला महामंत्री हेमन्त साहू नेतृत्व मं डॉ. सुशीला तिवारी हॉस्पिटल की बदहाली के विरोध में सीएम व हॉस्पिटल प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाज़ी के साथ प्रदर्शन किया व बुधपार्क में पुतले को आग के हवाले कर दिया।
इस मौके काग्रेस जिला महामंत्री हेमन्त साहू ने व सामाजिक कार्यकर्ता ह्रदेश कुमार ने कहा सुशीला तिवारी हॉस्पिटल की बदहाल व्यवस्थाओं की वजह मरीजों का भरोसा उठ गया। मरीजों के साथ आये दिन दुर्व्यवहार किया जा रहा है। कोरोना के मरीज़ों के साथ अपराधियों जैसा व्यहार बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मरीज़ों को ऑक्सीजन तक सही से उपलब्ध नहीं होने की वजह से दो दिन पूर्व हल्द्वानी के मरीज की मौत हो गयी। उसके वावजूद भी सरकार आँख मूंद करके बैठी है। एक तरफ सरकार स्वास्थ्य, शिक्षा और विकास का दावा करती जबकि सरकार हर मामले में पूरी तरह विफल हो गयी है।
कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष राजेन्द्र बिष्ट व दीपा खत्री ने कहाँ मरीजों के भगाने से ही पता लग रहा है, हास्पिटल की व्यवस्थाओं की क्या हालत हो गयी है।
पुतला दहन में पार्षद हेमन्त शर्मा, मोना, जाकिर अन्सारी, पूर्व पार्षद सुमित कुमार, सतनाम सिंह, अरविन्द शर्मा, हरीश आर्या, किरन माहेश्वरी, पंकज अधिकारी, विकास तिवारी, सागर कुमार, सचिन राठौर, राजू बिष्ट व पंकज कश्यप आदि शामिल थे।               


वैक्सीन उत्पादन के लिए किए समझौते

अकांशु उपाध्याय


 नई दिल्ली। घरेलू दवा निर्माण कंपनी बायोलॉजिकल ई लिमिटेड (बीई) अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन की दवा कंपनी जैनसेन फार्मास्युटिका द्वारा विकसित की जा रही कोरोना वैक्सीन का उत्पादन करेगी। जैनसेन की यह वैक्सीन अभी मानव परीक्षण के पहले और दूसरे चरण में है।


आंध्रप्रदेश के हैदराबाद स्थित दवा कंपनी बीई की प्रबंध निदेशक महिमा दातला ने कहा,“ कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में हमारी क्षमता इसी से निर्धारित होगी कि हम पर्याप्त मात्रा में कोरोना वैक्सीन की वैश्विक आपूर्ति कैसे करते हैं। हम इसी दिशा में जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन के उत्पादन में अपनी निर्माण क्षमता का उपयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।” जॉनसन एंड जॉनसन का कहना है कि उसकी कोरोना वैक्सीन अलग -अलग देशों में मानव परीक्षण के अलग -अलग चरण में है।           


पुणे से हैदराबाद 1 घंटे में पहुंचाए फेफड़े

हैदराबाद। हैदराबाद के अस्पताल में एक मरीज को पुणे में एक ब्रेन डेड डोनर के फेफड़े से जीवनदान मिला। इस पूरी प्रक्रिया को एक घंटे के भीतर अंजाम दिया गया और अंग के स्थानांतरण में विभिन्न अधिकारियों ने साथ मिलकर योगदान दिया। अंग के तेज स्थानांतरण के लिए रविवार को दोनों शहरों में विभिन्न विभागों द्वारा एक ग्रीन कॉरिडोर की व्यवस्था की गई थी। यहां केआईएमएस हार्ट एंड लंग ट्रांसप्लांट इंस्टीट्यूट में एक मरीज का ईलाज चल रहा था, जो टर्मिनल लंग डीजीज से पीड़ित था। मरीज ने तेलंगाना सरकार की जीवनदान योजना के तहत अपना नाम पंजीकृत कराया था। एक निजी अस्पताल में ब्रेन डेड घोषित किए गए एक युवा व्यक्ति का परिवार अंग दान करने के लिए रविवार को आगे आया। वहीं जोनल ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेशन सेंटर (जेडटीसीसी) पुणे ने सुनिश्चित किया कि अंग प्रत्यारोपण के लिए समय पर हैदराबाद पहुंचे।


तेलंगाना के जीवनदान योजना की प्रभारी डॉ. स्वर्णलता ने इसका मार्गदर्शन किया और इस नेक काम में समर्थन दिया। वहीं जेडटीसीसी की केंद्रीय समन्वयक आरती गोखले ने सुनिश्चित किया कि यह प्रक्रिया बिना किसी बाधा के पूरी हो। फेफड़े को पुणे से हैदराबाद एक चार्टर्ड उड़ान द्वारा लाया गया। दोनों शहरों की ट्रैफिक पुलिस ने ग्रीन कॉरिडोर की व्यवस्था की और भारतीय एयरपोर्ट अथॉरिटी भी इस काम में मदद के लिए आगे आया।


अंतत: केआईएमएस हार्ट एंड लंग ट्रांसप्लांट इंस्टीट्यूट, हैदराबाद तक फेफड़ा शाम को 560 किलोमीटर दूर स्थित शहर से बिना देरी किए एक घंटे के भीतर पहुंच गया और जरूरतमंद मरीज को ट्रांसप्लांट किया गया। कोविड -19 महामारी के संकट की घड़ी में जब छोटे स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे भी एक बड़ी बात हैं, वहीं अधिकारियों ने दिखाया कि अगर मजबूत इच्छाशक्ति हो तो फेफड़े के प्रत्यारोपण जैसी कठिन चीजें भी संभव हो सकती हैं।             


चीन पीछे हटने के बजाय केवल बिछा रहा है

पेइचिंग। पूर्वी लद्दाख में भारत से तनाव के बाद चीन भले ही बातचीत का दावा कर रहा हो, उसकी हरकतें कुछ और ही इरादा जता रही हैं। ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने पैंगॉन्ग सो और गोगरा-हॉट स्प्रिंग्स इलाके में फाइबर ऑप्टिक केबल बिछाने शुरू कर दिए हैं। इससे पहले इस इलाके में पावर लाइन्स भी देखी गई थीं। इसकी वजह से इंसानी और मानवरहित, दोनों ऑपरेशन्स पर काफी असर पड़ सकता है।
हट नहीं रही PLA, बिछाए केबल
ओपन इंटेलिजेंस सोर्स detresfa ने भारतीय मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से यह दावा किया है कि PLA ने पैंगॉन्ग सो और गोगरा-हॉट स्प्रिंग्स इलाके में फाइबर ऑप्टिक केबल बिछाने शुरू कर दिए हैं। detresfa ने सैटलाइट तस्वीरें शेयर की हैं जहां ये केबल लगाए गए हैं और पावर लाइन्स बिछाई गई हैं।
PLA की लद्दाख और अक्साई चिन क्षेत्र में मौजूदगी काफी कम हो गई है लेकिन लद्दाख में 1,597 किमी सीमा पर उसकी सेना मौजूद है और हटती हुई नहीं दिख रही है। लद्दाख में चीन की PLA के रुख से संकेत मिल रहे हैं कि उसे चीन के केंद्रीय सैन्य आयोग से इसकी इजाजत मिली हुई है जो राष्ट्रपति शी जिनपिंग के अंतर्गत आता है। दरअसल, चीन के नेता जहां शांति और स्थिरता की बात कर रहे हैं, वहीं उनके प्रतिनिधि भारत की सेना से पैंगॉन्ग सो में पुराने प्रशासनिक बेस को हटाने की मांग कर रहे हैं। यही नहीं, वे कुगरंग में पहाड़ी से नीचे जाने के लिए भी कह रहे हैं।
भारतीय सेना ने भी किया
इसके बाद भारतीय सेना ने भी अब फैसला कर लिया है कि वह अपनी जगह पर डटी रहेगी। भारत PLA की किसी डिमांड को नहीं मानेगा और यथास्थिति पर कायम रहेगा। सैन्य और कूटनीतिक बैठकों के बावजूद चीन LAC पर डटे रहने पर अड़ा है। जिसके बाद भारतीय सेना ने फैसला किया है कि कुगरंग नदी पर अपनी जगह पर वह डटी रहेगी जब तक चीन LAC पर पहले जैसी यथास्थिति नहीं लागू करता है।           





हनी सिंह के नए गाने ने मचाया धमाल

मनोज सिंह ठाकुर मुंबई। बॉलीवुड सिंगर यो यो हनी सिंह अपने नए गाने ‘बिल्लो तू आग’ से सबके दिलों पर राज करने के लिए आ गए हैं। यो यो हनी सिंह का नया गाना ‘बिल्लो तू आग रिलीज हो गया है और यह सॉन्ग यूट्यूब पर ट्रेंड कर रहा है। गाने का म्यूजिक काफी धमाकेदार है और अपने इस गाने से एक बार फिर हनी सिंह ने अपनी काबिलियत साबित कर दी है। हनी सिंह  का यह गाना भी पार्टी सॉन्ग है, जो उनके फैन्स को काफी पसंद आ रहा है। गाने का वीडियो आते ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।


यो यो हनी सिंह  के नए गाने ‘बिल्लो तू आग को रिलीज होने के एक ही घंटे बाद साढ़े चार लाख से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं। यह गाना हनी सिंह के फैन्स को काफी पसंद आ रहा है। इस गाने को टी-सीरीज ने अपने यूट्यूब चैनल पर पब्लिश किया है। हनी सिंह के अलावा इस गाने को सिंहस्टा ने अपनी आवाज दी है। गाने को मिहिर गुलाटी ने डायरेक्ट किया है।


बता दें, लॉकडाउन के बीच यो यो हनी सिंह और नेहा कक्कड़  का गाना ‘मॉस्को सूका रिलीज हुआ था, यह सॉन्ग यूट्यूब पर नंबर वन पर ट्रेंड कर रहा है। लॉकडाउन के कारण ‘मॉस्को सूका’ का केवल लिरिक्ल वर्जन ही रिलीज हुआ था। हालांकि, गाने के केवल लिरिक्ल वर्जन ने ही यूट्यूब पर धमाल मचा दिया था।


5 साल की मासूम से 80 वर्षीय ने रेप किया

बालोद। चाॅकलेट के बहाने 5 साल के मासूम के साथ 80 साल के बुजुर्ग द्वारा रेप का मामला सामने आया है. गुरूर थाना अंतर्गत एक गांव में चाकलेट खिलाने के बहाने 80 साल के बुजुर्ग ने 5 साल की बच्ची से दुष्कर्म किया और अगरबत्ती से भी जलाया। नाबालिग के बयान के आधार पर गुरूर पुलिस ने धारा 363, 376, 4,6 पास्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। हालांकि यह अब तक आरोप है। ऐसा पुलिस कह रही है। डॉक्टरी परीक्षण नहीं हुआ है


इसलिए पुलिस कह रही है कि यह होने के बाद ही पुष्टि कर पाएंगे। नाबालिग के अनुसार 2 अगस्त की घटना है। इस संबंध में 5 अगस्त को गांव में बैठक भी हुई थी। दुर्व्यवहार किए जाने के संबंध में पेश करने पर 14 अगस्त को थाना प्रभारी ने जिला बालक कल्याण समिति में बच्ची को पेश कर कथन कराया गया। जहां तथ्यों के आधार पर मामला दर्ज किया गया है। आरोपी को अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है। बयान अनुसार दोनों हाथ-पैर बांध कर अश्लील हरकत किया गया। पीड़िता ने अगरबत्ती से अंगों को जलाए जाने का भी बयान दिया है। टीआई अरुण नेताम ने बताया कि डॉक्टरी परीक्षण नहीं हो पाया है। बयान के आधार पर मामला दर्ज किया गया है। नियमानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।           


अपराध शाखा के छापे में लाखो की ड्रग्स

पणजी। गोवा में रेव पार्टी करते 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इसमें तीन विदेशी महिलाएं भी शामिल हैं। यह गिरफ्तारी क्राइम ब्रांच ने की है। छापेमारी में लगभग नौ लाख की ड्रग्स भी जब्त की गई है।

कोरोना के चलते रेव पार्टी विला में हो रही थी, शारीरिक दूरी के नियमों का उल्लंंघन

क्राइम ब्रांच के मुताबिक, यह पार्टी शनिवार रात कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच अनजुना थाना क्षेत्र के वागाटर स्थित विला में हो रही थी। गिरफ्तार तीन विदेशी महिलाओं में दो रूस और एक चेक रिपब्लिक की हैं गिरफ्तार तीन विदेशी महिलाओं में दो रूस और एक चेक रिपब्लिक की हैं। इनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। पार्टी के आयोजक के खिलाफ भी इसी एक्ट के तहत कार्रवाई हुई है। अन्य 19 के विरुद्ध कोरोना काल में शारीरिक दूरी बनाए जाने के नियमों का पालन न करने पर कार्रवाई हुई है।

डीजीपी ने कहा- लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस सतर्क है

गोवा के पुलिस महानिदेशक मुकेश कुमार मीना ने कहा कि लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस पूरी तरह से चौकस है। विधायक पलयेकर ने पुलिस पर पैसे लेकर पार्टी कराने का लगाया आरोप वहीं गोवा फारवर्ड पार्टी के स्थानीय विधायक विनोद पलयेकर ने कहा कि यहां के समुद्री तटों पर खुलेआम रेव पार्टी का आयोजन हो रहा है। उन्होंने स्थानीय पुलिस पर पैसे लेकर पार्टी कराने का आरोप लगाया।           

घातक आतंकी हमले में 3 जवान शहीद

बारामूला। जम्मू-कश्मीर के बारामुला जिले के क्रेइरी इलाके में आतंकियों को जवानों के बीच मुठभेड़ हुई है। CRPF नाका पार्टी पर आतंकियों ने घात लगाकर हमला किया है। हमले में दो सीआरपीएफ के जवान और एक स्पेशल पुलिस अफसर के शहीद हो गए हैं। वहीं घटना के बाद आतंकी भागने में कामयाब हो गए हैं। पूरे इलाके को घेर लिया गया है इलाके में जवानों की सर्चिंग जारी है ।


मिडिया के मुताबिक घटना आज सुबह की है। जम्मू-कश्मीर पुलिस और CRPF के जवान क्रेइरी क्षेत्र के नाका पार्टी पर खड़े थे। इसी बीच आतंकियों ने अचानक फायरिंग शुरू कर दी। बता दें कि अंधाधुंध गोलीबारी में CRPF की 119 बटालियन के 2 जवानों को गोली लगी। दोनों जवान बुरी तरह घायल हो गए. थोड़ी देर बाद दोनों शहीद हो गए। वहीं एक पुलिस अफसर को भी गोली लगी. वह भी शहीद हो गए। घटना के बाद आतंकियों की तलाशी के लिए सर्च अभियान चलाया जा रहा है ।


आईएएस चयनित होने पर संस्था ने दी बधाई

आईएएस में चयन होने पर दी बधाई


कासगंज ।पटियाली ,अखिल भारतीय अनुसूचित जाति/जनजाति कर्मचारी कल्याण एसोसिएशन जनपद पटियाली के पदाधिकारियों ने अंकित कुमार मौ.सिटी कासगंज से मिलकर आईएएस में चयन होने पर बधाई दी, प्रांतीय उप महासचिव डॉ.नरेश कुमार ने कहा कि आप जल्द ही किसी जनपद का चार्ज संभालें एवं बहुजन समाज के लोगों पर हो रहे अत्याचार के विरुद्ध कार्य करें जिनकी आवाज को काफी लंबे समय से दबाया जा रहा है,मीडिया प्रभारी श्री राजवीर सिंह ने मिठाई खिलाकर एवं प्रतीक चिन्ह एवं मोमेंटो देकर सम्मानित किया, एटा के पदाधिकारियों ने कैलेंडर भेंट कर सम्मानित किया।


मुलाकात के दौरान जिलाध्यक्ष कासगंज रतन प्रकाश,जिलाध्यक्ष एटा भानु प्रताप सिंह बौद्ध,प्रान्तीय उप महासचिव डॉ.नरेश कुमार,प्रान्तीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष उमेश प्रताप सिंह दिनकर,मीडिया प्रभारी राजवीर सिंह एवं कोषाध्यक्ष जयवीर सिंह सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे ।


पटियाली से रिपोर्टर दीपक               


सिंधिया विरोधी कांग्रेसियों को किया गिरफ्तार

इंदौर। आज ज्योतिराज सिंधिया के इंदौर दौरे को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हो गई। लवकुश चौराहे पर बैठे 50 से अधिक कांग्रेसियों और पुलिस में बहस हो गई। वही बिना अनुमति लोकडाउन के चलते धरने पर बैठे कांग्रेस नेता चिंटू चौकसे समेत करीब 50 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वही मामला बढ़ता देख पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किया गया। सिंधिया बीजेपी का गढ़ माने जाने वाले  विधानसभा में बीजेपी हस्ताक्षर अभियान चलाया जा रहा है। वही स निकल रहे थे। तभी काले झंडे दिखाने वाले थे।


गणेश जी की मूर्ति तोड़ने पर मुकदमा दर्ज

बहरीन। मुस्लिम देश बहरीन में एक महिला ने बहरीन के साथ-साथ भारत व अन्य देशों में खलबली मचा दी बहरीन के एक राज्य मनामा से गणेश प्रतिमा तोड़ने जाने की खबर सामने आ रही है। यहां एक महिला ने सुपरमार्केट में गणेश प्रतिमाओं को फर्श पर पटककर तोड़ डाला, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ है। लोगों ने धार्मिक भावना को आहत करने वाले इस कृत्‍य के लिए महिला की आलोचना की है। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद बहरीन पुलिस ने भी इस मामले में त्‍वरित कार्रवाई करते हुए महिला के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने का केस दर्ज कर लिया है, जबकि देश के गृह मंत्रालय ने भी इसे लेकर बयान जारी किया है। सोशल मीडिया के जरिए सामने आए इस वीडियो में दिख रही महिला के खिलाफ जानबूझ कर धार्मिक भावनाएं आहत करने का मामला दर्ज किया गया है। रविवार को पुलिस ने एक बयान जारी कर बताया कि 54 वर्षीय एक महिला के खिलाफ समन जारी किया गया है। यह समन वायरल वीडियो को देखने के बाद किया गया है। वीडियो में महिला की हरकत की जमकर आलोचना हो रही है।
बता दें कि बहरीन की राजधानी मनामा के जफर इलाके में एक महिला बुर्का पहन कर दुकान में घुसती है और वहां मौजूद सभी गणेश प्रतिमाओं को तोड़ने लगती है। पब्लिक प्रॉशिक्यूशन ने एक बयान जारी करते हुए बताया कि महिला ने स्वीकार किया है कि उसने जानबूझ किसी धर्म विशेष की मूर्तियों को तोड़ा है। उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा चुका है।
इस वीडियो पर बहरीन के राजा के सलाहकार और पूर्व मंत्री खालिद-अल-खलीफा ने कहा कि महिला द्वारा किया गया कृत्य स्वीकार नहीं है। बहरीन के लोगों की परंपरा में किसी भी धर्म से जुड़े प्रतीकों तो तोड़ना शामिल नहीं है। यह अपराध है जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है। यहां सभी धर्मों को मानने वाले लोग एक भाव से रहते हैं। उन्होंने कहा कि हम एक मुस्लिम देश हैं लेकिन य़हां कई एशियन देशों के विभिन्न धर्मों से जुड़े लोग रहते हैं।           


कानूनः प्रेमी जोड़ों के राह का कांटा

मीना चौधरी


नई दिल्ली। नोटबंदी,जीएसटी,सीएए, धारा 370 के बाद मोदी सरकार की योजना के तहत विवाह कानून में बदलाव के संकेत मिल रहे हैं। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘हमने लड़कियों के लिए शादी की न्यूनतम आयु पर पुनर्विचार करने के लिए एक समिति बनाई है। समिति द्वारा रिपोर्ट सौंपने के बाद केंद्र निर्णय लेगी। ’इसी साल दो जून को केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्रालय ने मातृ मृत्यु दर (एमएमआर) को कम करने और पोषण स्तर में सुधार करने के उपाय के रूप में महिलाओं की शादी की न्यूनतम उम्र को 18 से 21 वर्ष बढ़ाने की संभावनाओं की जांच करने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया था। यह दावा करते हुए कि महिलाओं के स्वास्थ्य में सुधार के लिए सरकार ‘अथक परिश्रम’ कर रही है, प्रधानमंत्री ने कहा कि एक रुपये तक के बेहद सस्ते सैनेटरी पैड बनाए गए और इसे देश में 5 करोड़ महिलाओं को दिया गया है। मालूम हो कि बाल विवाह को खत्म करने के लिए लड़कों और लड़कियों की शादी के लिए न्यूनतम आयु सीमा तय की गई थी।


बता दे बाल विवाह प्रतिबंध अधिनियम, 1929 28 सितंबर 1929 को इम्पीरियल लेजिस्लेटिव काउंसिल ऑफ इंडिया में पारित हुआ, लड़कियों की शादी की उम्र 14 साल और लड़कों की उम्र 18 साल तय की गई जिसे बाद में लड़कियों के लिए 18 और लड़कों के लिए 21 कर दिया गया। इसके प्रायोजक हरबिलास सारडा के बाद इसे शारदा अधिनियम के नाम से जाना जाता है। यह 1 अप्रैल 1930 को छह महीने बाद लागू हुआ और यह केवल हिंदुओं के लिए नहीं बल्कि ब्रिटिश भारत के सभी लोगो पर लागू होता है। यह भारत में सामाजिक सुधार आंदोलन का परिणाम था। ब्रिटिश अधिकारियों के कड़े विरोध के बावजूद, ब्रिटिश भारतीय सरकार द्वारा कानून पारित किया गया, जिसमें अधिकांश भारतीय थे।हालाँकि, इसका ब्रिटिश ब्रिटिश सरकार से कार्यान्वयन में कमी थी, इसका मुख्य कारण ब्रिटिश अधिकारियों द्वारा उनके वफादार हिंदू और मुस्लिम सांप्रदायिक समूहों से समर्थन खोना था।


गौरतलब है कि उम्र 21 ही क्यों? इसका लॉजिक सामने आना चाहिए। हालांकि, उम्र बढ़ाने से कुछ फायदे सामने होंगे। पहला, लड़कियों को पढ़ने का मौका मिलेगा, वो ग्रैजुएट हो सकेंगी। दूसरा, 18-19 की उम्र में शादी कर उनका एक्सपोजर खत्म हो जाता है, वो उन्हें कुछ हद तक मिलेगा। तीसरा, इस उम्र तक वो शारीरिक और मानसिक रूप से भी मैच्योर होंगी। अपने खिलाफ हो रही हिंसा पर भी वो शायद दो लोगों से कह सकें। शादी या रिप्रोडक्टिव फैसले में भी उनका कुछ रोल होगा। इसके अलावा, मां मैच्योर होगी तो आने वाली पीढ़ी मैच्योर होगी।


मगर सवाल उठता है ग्रामीण और पिछड़े इलाकों में इसे लेकर विवाद हो सकता है। हमारे समाज की सच्चाई के साथ इस फैसला का तालमेल कैसे बैठेगा, यह भी देखना होगा। इस तबके में 21 की उम्र में लड़कियों को शादी के लिए लड़के भी नहीं मिलते। साथ ही, इस फैसले से महिलाओं का हेल्थ स्टेटस नहीं सुधरने वाला। महिलाओं के खराब स्वास्थ्य के लिए गरीबी जिम्मेदार है। भारत में 10 सालों में शादी की उम्र खुद-ब-खुद बढ़ी है। गरीब जनसंख्या की शादी ही कम उम्र में हो रही है, मिडल क्लास या इससे ऊपर में ज्यादा उम्र में शादी हो रही है। गरीब वर्ग में लड़की 18 के बाद मां बनती है या फिर 21 के बाद, बात वही होगी क्योंकि कुपोषित वो हमेशा ही रहेगी। 18 साल की उम्र तक लड़की का शरीर पूरी तरह से विकसित हो जाते है इसलिए मां बनने में दिक्कत नहीं है। उसकी सेहत पर उम्र का रोल बहुत कम है।


बता दे सरकार के लिए यह कानून बनाना आसान होगा क्योंकि उसे तो सिर्फ उम्र को बदलना है। मगर अगर सही बदलाव लाना है तो स्वास्थ्य सुविधाओं पर काम करना पड़ेगा। आंगनवाड़ियों में मां और बच्चे को अच्छा खाना देना होगा, हेल्थ सर्विस देनी होंगी। वह कहती हैं, 1978 एक्ट ने लड़कियों के लिए शादी की मिनिमम उम्र 18 और लड़कों के लिए 21 रखी गई। इससे पहले लड़कियों के लिए यह उम्र 15 थी। ऐक्ट में यह भी कहा गया कि इससे बच्चों की संख्या भी कम होगी। उस वक्त जनसंख्या विस्फोट से जोड़कर इस आइडिया को खुलकर कहा गया। मुझे लगता है कि अभी भी इसे जनसंख्या से भी जोड़कर देखा जा रहा है। देखने वाली बात यह है कि जिस कागार पर युवा वर्ग अपनी मनचाही जिंदगी जीने की चाह में लिव इन रिलेशनशिप मे रिश्ता ढूंढता है और कुछ प्रेमी इस आस में समय गुजारते हैं वह कब बालिग हो और कब वह शादी करें लेकिन अब प्रेमी जोड़ों को बालिग होने का स्त्री की आयु वर्तमान में 18 वर्ष और यदि कानून पारित हो जाता है तो यही आयु 18 से बढ़ाकर 21 वर्ष होने से प्रेमी जोड़ों को लंबा इंतजार करना पड़ सकता है।            


भारत-नेपाल के बीच बैठक, मिटेगी खटास

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। मानचित्र को लेकर कुछ महीनों से भारत एवं नेपाल के बीच जारी तल्खी के बीच आज दोनों देशों के बीच ऑफिशियल बातचीत होने जा रही है। इस बातचीत का मुद्दा भारत द्वारा नेपाल में चलाए जा रहे प्रोजेक्ट्स की समीक्षा है लेकिन माना जा रहा है कि इस दौरान दोनों देशों के बीच आई खटास कुछ हद तक कम हो सकती है। इस बैठक में नेपाल की तरफ से विदेश मंत्रालय में सचिव शंकर दास बैरागी शामिल होंगे। भारतीय दल की अगुआई नेपाल में भारत के राजदूत विनय मोहन क्वात्रा करेंगे। फिलहाल यह बातचीत पहले के प्रॉजेक्ट्स पर होगी लेकिन सूत्रों की मानें तो यह सीमा विवाद सुलझाने के लिए बातचीत शुरू होने का रास्ता भी खोलेगी। इससे पहले स्वतंत्रता दिवस के मौके पर नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन किया था। ओली ने प्रधानमंत्री मोदी को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अस्थायी सदस्य चुने जाने पर भी शुभकामनाएं दी। विदेश मंत्रालय के अनुसार दोनों नेताओं ने एक दूसरे के यहां कोविड 19 महामारी के दुष्प्रभावों को न्यूनतम करने के प्रयासों का समर्थन किया एवं एकजुटता व्यक्त की थी। मोदी ने इस संबंध में नेपाल को भारत की ओर से हरसंभव सहायता जारी रखने की पेशकश की। पंधानमंत्री ने ओली को टेलीफोन करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया और भारत एवं नेपाल के बीच साझा सांस्कृतिक एवं सभ्यतागत संपर्क को याद किया था। गौरतलब है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आठ मई को उत्तराखंड के धारचुला को लिपुलेख दर्रे से जोड़ने वाली सामरिक रूप से महत्वपूर्ण 80 किलोमीटर लंबी सड़क का उद्घाटन किया था, जिसके बाद दोनों देशों के बीच रिश्तों में तनाव पैदा हो गया था।               


मलेशिया में कोरोना की नई किस्म मिलींं

मनोज सिंह ठाकुर


क्वालालंपुर। मलेशिया में जांचकर्ताओं को कोरोना की ऐसी किस्म का पता चला है जो सामान्य से 10 गुना ज्यादा संक्रामक है। कोरोना के इस म्यूटेशन को दुनिया में डी 614 जी के नाम से जाना जाता है। बताया जा रहा है कि ऐसे मामलों की शुरुआत एक मलेशियाई रेस्टोरेंट मालिक के हाल में ही भारत से लौटने के बाद 14 दिन के आवश्यक क्वारंटीन अवधि को तोड़ने से शुरू हुआ है।


संक्रमण के तेजी से फैलने की संभावना
आरोपी व्यक्ति को क्वारंटीन के नियम तोड़ने के लिए 5 महीने की सजा और जुर्माना लगाया गया है। ऐसा ही मामला फिलीपींस से लौटने वाले एक समूह में भी देखने को मिला है। जहां 45 लोगों में से 3 के अंदर कोरोना का यह टाइप पाया गया है। अमेरिका के शीर्ष स्वास्थ्य सलाहकार डॉ फौसी ने कहा है कि इस म्यूटेशन से कोरोना वायरस का प्रसार और तेजी से हो सकता है।


वैक्सीन के विकास की स्पीड होगी धीमी
मलेशियाई स्वास्थ्य विभाग के डॉयरेक्टर जनरल नूर हिशाम अब्दुल्ला ने कहा कि कोरोना वायरस के नए म्यूटेशन के गंभीर परिणाम देखने को मिल सकता है। इससे अभी तक वैक्सीन बनाने और म्यूटेशन को रोकने के लिए विकसित की गई तकनीकी भी फेल हो सकती है।


विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह कहा
कोरोना वायरस में होने वाला यह म्यूटेशन अमेरिका और यूरोप के देशों में भी तेजी से फैल रहा है। वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि अभी तक इसका कोई प्रमाण नहीं मिला है कि कोरोना वायरस के म्यूटेशन से इंसानों को अधिक गंभीर बीमारियां हो रही हैं। सेल प्रेस में प्रकाशित एक रिसर्च पेपर में कहा गया है कि वर्तमान में विकसित किए जा रहे वैक्सीन के प्रभाव पर म्यूटेशन का बड़ा असर होने की संभावना नहीं है।


मलेशिया ने लोगों से की सहयोग की अपील
मलेशियाई स्वास्थ्य विभाग के डॉयरेक्टर जनरल ने कहा कि लोगों को सावधान रहने और अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। कोरोना का यह नया टाइप अब मलेशिया में पाया गया है। लोगों के सहयोग की बहुत आवश्यकता है ताकि हम किसी भी म्यूटेशन से संक्रमण की कड़ी को तोड़ सकें।             


सरकार जनता को बताएं, मंशा क्या है

लिमटी खरे


नई दिल्ली। कोरोना कोविड 19 का संक्रमण देश में तेज गति से बढ़ता दिख रहा है। देश में सक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा 26 लाखा को पार कर गया हैतो मरने वालों की तादाद 50 हजार से ज्यादा हो चुकी है। सबसे ज्यादा चिंताजनक पहलू यह मना जा सकता है कि नए मिलने वाले संक्रमित मरीजों की तादाद दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है। एक दिन में अगर सत्तर हजार मरीज मिलें तो इसे क्या समझा जाए! वर्तमान हालातों को देखकर तो यही लग रहा है कि देश में कोरोना संक्रमितों की लगातार बढ़ती तादाद इस ओर इशारा करती दिख रही है कि इस महामारी के संकट से निपटने के बजाए हम इसमें घिरते जा रहे हैं। अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत तीसरा देश नजर आ रहा है जहां हालात बेकाबू ही लग रहे हैं।


सरकार भले ही ठीक होने वाले मरीजों की तादाद बढ़ने का दावा करते हुए अपनी पीठ थपथपा रही होपर नए संक्रमित मरीजों के मिलने का आंकड़ा कम होना बहुत जरूरी है। सरकार के द्वारा तीन चरणों में लाकडॉऊन लगाया गयाइसके बाद भी मरीजों की तादाद बेहताशा बढ़ी हैतो इससे साफ है कि सरकार के द्वारा अपनी मंशा को आम जनता को समझाया नहीं जा सका है। स्थानीय स्तर पर जिला प्रशासनों के पास भी कोई रोड मेप नहीं दिख रहा है। अब संक्रमित मरीजों की तादाद पर अंकुश लगाना जरूरी है। जमीनी स्तर पर किस तरह के हालात हैंइनकी समीक्षा भी जनता से फीडबैक लेकर किए जाने की जरूरत महसूस हो रही है। प्रशासनिक अधिकारी तो अपनी कालर साफ रखने के लिए मनगढंत आंकड़े और हकीकत पेश कर रहे हों तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए।


देश में जिस तरह से मरीज मिल रहे हैंउसे देखकर यही प्रतीत हो रहा है कि कोरोना कोविड 19 का कम्युनिटी ट्रांसमिशन अर्थात सामुदायिक संक्रमण आरंभ हो चुका है। अनेक जिलों के जिलाधिकारियों के द्वारा इसकी संभावनाएं सार्वजनिक रूप से व्यक्त की जा चुकी है। अनेक जिलों में तो आंकड़ा कम करने के लिए स्वस्थ्य व्यक्तियों की जांच कराए जाने की बातें भी समने आ रही हैं। इस काल में अगर किसी जिलेनगर या कस्बे में मौतों को आंकड़ा बढ़ा हो तो प्रशासन को उस पर नजर रखने की जरूरत है। कई जिलों में तो मोक्षधाम या कब्रस्तान के मार्ग में सीसीटीवी कैमरे भी लगवाए गए हैं।


वैसे इस इस बात पर अभी संशय ही बना हुआ है कि क्या भारत में संक्रमण सामुदायिक प्रसार का रूप अख्तियार कर चुका है। विशेषज्ञों में भी इस बात को लेकर सहमति नहीं बन पाई हैपर जिस तरह से नए संक्रमित मरीजों की तादाद मिल रही हैवइ इस ओर इशारा कर रही है कि देश में कुछ स्थानों पर इस तरह की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है। देश में  कोरोना की मार दस राज्यों में ही ज्यादा हैजिनमें महाराष्ट्रगुजराततमिलनाडुपश्चिम बंगालआंध्र प्रदेशतेलंगाना और उत्तर प्रदेश जैसे राज्य शामिल हैं। कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामलों में अस्सी फीसद के लगभग एवं महामारी से अब तक काल कलवित हुए बयासी फीसद लोग इन्हीं राज्यों के हैं।


देश के हृदय प्रदेश में ट्रू नाट टेस्ट की व्यव्स्था भी की गई है। मध्य प्रदेश के अस्पतालों में इस तरह के मामले प्रकाश में आ रहे हैंजिनमें ट्रू नाट मशीन के द्वारा जांच के दौरान जो मरीज निगेटिव आता है वही मरीज आरटी पीसीआर जांच में पाजिटिव आ रहे हैं। इसी तरह ट्रू नाट के अनेक पाजिटिव मरीज आरटी पीसीआर या अन्य जांच में निगेटिव आए हैं। सबसे पहले तो जांच के तौर तरीकों को विश्वसनीय बनाया जाने की जरूरत महसूस हो रही है।


कोरोना संक्रमण के लिए अभी तक वेक्सीन नहीं बन पाई है। बचाव ही इकलौता कारगर उपाय समझ में आ रहा है। इस लिहाज से लोगों को शारीरिक दूरी बनाकर रखने और मास्क लगाए जाने की महती जरूरत है। मास्क भी इन दिनों उसी तरह लोगों के द्वारा पहना जा रहा है जिस तरह यातायात पुलिस को देखकर दो पहिया वाहन चालक हेलमेट लगा लेता है और चार पहिया वाहन चालक सीट बेल्ट कस लेता है। आज जरूरत है जागरूकता फैलाने की। लोगों को समझाना होगा कि इसके संक्रमण से किस तरह बचा जा सकता है। वैसे सरकारें इस दिशा में प्रयास तो कर रहीं हैंपर जिस तरह से मरीजों के मिलने की तादाद बढ़ी है।


सियासतः बागी मंत्री आरजेडी में होंगे शामिल

मनोज सिंह ठाकुर


पटना । बिहार में आज सियासी सरगर्मी का सोमवार है। इस्‍तीफे की घोषणा के बाद जनता दल यूनाइटेड (JDU) से निष्‍कासित श्‍याम रजक  राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) में शामिल होेंगे। उधर, रविवार को ही आरजेडी से निष्‍कासित तीन विधायक जेडीयू का दामन थामेंगे। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर लगभग सभी दलों में ऐसे ही हालात हैं। विधायकों व नेताओं का पाला बदलना जारी है। सभी दल अपने-अपने विधायकों व अन्‍य नेताओ पर नजर रख रहे हैं।


विदित हो कि आरजेडी के विधायक महेश्वरयादव, प्रेमा चौधरी और फराज़ फातमी को पार्टी ने रविवार को निष्‍कासित कर दिया था। आरजेडी के प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह ने बताया कि सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के निर्देश पर तीनों को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में निकाला गया है। महेश्वर प्रसाद यादव गायघाट से विधायक हैं। प्रेमा चौधरी पातेपुर की विधायक हैं। इसके बाद के घटनाक्रम में अब जेडीयू के वरिष्ठ नेता विजेंद्र यादव तीनों को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में सदस्यता दिलाएंगे।


श्‍याम रजक थामेंगे लालू की लालटेन


उधर, जेडीयू के वरिष्‍ठ नेता व मंत्री श्‍याम रजक ने रविवार को पार्टी व मंत्री पद छोड़ने की घोषणा कर हड़कम्‍प मचा दिया। बताया जाता है कि इससे जेडीयू अध्‍यक्ष व मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार नाराज हो गए। श्‍याम रजक सोमवार को मंत्री पद व पार्टी से इस्‍तीफा देने की घोषणा कर चुके थे, लेकिन उन्‍हें देर रात तक पार्टी के साथ-साथ मंत्रिमंडल से भी बाहर कर दिया गया। श्‍याम रजक को आज नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव आरजेडी में शामिल करेंगे। अब वे आरजेडी के साथ जा कर लालू की लालटेन की लौ तेज करेंगे।           


13 आईएएस, 14 आईपीएस का तबादला

बृजेश केसरवानी


लखनऊ। योगी सरकार ने 13 आईएएस और 14 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए हैं। आईएएस अफसरों के तबादले में पांच जिलों रायबरेली, श्रावस्ती, हरदोई, पीलीभीत और कानपुर देहात में नए डीएम तैनात किए गए हैं। इसी तरह सात जिलों गोरखपुर, बागपत, बदायूं, प्रतापगढ़, आजमगढ़, बिजनौर व मिर्जापुर के पुलिस अधीक्षक समेत 14 आईपीएस बदले गए हैं।
प्रतापगढ़ के एसपी अभिषेके सिंह को प्रतापगढ़ जिले का नया एसपी बनाया गया है। उन्हें प्रतापगढ़ में लगातार हत्याएं व अन्य आपराधिक घटनाएं बढ़ने पर हटाया गया है। उनके व्यवहार से भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी भी असंतुष्ट थे। वह लगातार निर्देशों के बावजूद अपराध रोकने में नाकाम रहे थे। बिजनौर में तैनात संजीव त्यागी को प्रतापगढ़ में तैनाती दी गई है। इसी तरह एसटीएफ के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह को आजमगढ़ का एसएसपी नियुक्त किया गया है। प्रदेश सरकार हाल में वहां हुई घटनाओं को लेकर खासी गंभीर थी जबकि जोगिन्दर कुमार को मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर में नया एसएसपी बनाया गया है।


आईएएस अफसर
नाम कहां से कहां
वैभव श्रीवास्तव डीएम पीलीभीत डीएम रायबरेली
यशु रस्तोगी डीएम श्रावस्ती उपाध्यक्ष मुरादाबाद विकास प्राधिकरण
टीके शिबु वीसी प्रयागराज विकास प्राधिकरण डीएम श्रावस्ती
शुभ्रा सक्सेना डीएम रायबरेली विशेष सचिव चिकित्सा शिक्षा
अविनाश कुमार विशेष सचिव मुख्यमंत्री डीएम हरदोई
अंकित कुमार अग्रवाल विशेष सचिव नियोजन उपाध्यक्ष प्रयागराज विकास प्राधिकरण
पुलकित खरे डीएम हरदोई डीएम पीलीभीत
राकेश कुमार सिंह डीएम कानपुर देहात उपाध्यक्ष कानपुर विकास प्राधिकरण
दिनेश चंद्रा नगर आयुक्त गाजियाबाद डीएम कानपुर देहात
महेंद्र सिंह तंवर सीडीओ शाहजहांपुर नगर आयुक्त गाजियाबाद
अजय कुमार द्विवेदी सीडीओ सोनभद्र नगर आयुक्त लखनऊ
अमित पाल विशेष सचिव माध्यमिक शिक्षा सीडीओ सोनभद्र
प्रेरणा शर्मा सचिव मुरादाबाद विकास प्राधिकरण सीडीओ शाहजहांपुर


आईपीएस के तबादले
नाम कहां थे कहां गए


जोगिन्दर कुमार एसपी जीआरपी आगरा एसएसपी गोरखपुर
अभिषेक सिंह एसपी प्रतापगढ़ एसपी बागपत
गनेश पी. साहा एसपी मानवाधिकार डीजीपी मुख्यालय पुलिस उपायुक्त नोएडा
अजय कुमार सिंह एसपी बागपत एसपी मिर्जापुर
संकल्प शर्मा पुलिस उपायुक्त नोएडा एसपी बदायूं
संजीव त्यागी एसपी बिजनौर एसपी प्रतापगढ़
सुधीर कुमार सिंह एसएसपी एसटीएफ लखनऊ एसएसपी आजमगढ़
डॉ. धर्मवीर सिंह एसपी मिर्जापुर एसपी बिजनौर
त्रिवेणी सिंह एसएसपी आजमगढ़ एसपी साइबर क्राइम लखनऊ
माणिक्य चंद्र सरोज एसपी प्रशिक्षण एवं सुरक्षा एसपी सतर्कता लखनऊ
डॉ. सुनील गुप्ता एसएसपी गोरखपुर एसपी प्रशिक्षण एवं सुरक्षा
अशोक कुमार त्रिपाठी एसपी बदायूं एसपी मानवाधिकार, डीजीपी मुख्यालय             


तृणमूल कांग्रेस विधायक की संक्रमण से मौत

मनोज सिंह ठाकुर


कोलकाता। पश्चिम बंगाल के तृणमूल कांग्रेस विधायक समरेश दास की कोरोना से मौत हो गई है। उनका एएमआरआई अस्पताल में इलाज चल रहा था। पिछले दिनों उनका कोरोना टेस्ट कराया गया था जिसमें वे पॉजिटिव पाए गए थे। सोमवार सुबह विधायक समरेश दास का निधन हो गया। समरेश दास के निधन के साथ ही बंगाल में कोरोना से किसी टीएमसी विधायक की यह दूसरी मौत है। समरेश दास पूर्वी मिदनापुर जिले के एगरा विधानसभा क्षेत्र से विधायक थे। इससे पहले तमनोश घोष की कोरोना से मौत हो गई थी। कोरोना का संक्रमण पता चलने के बाद दोनों का अस्पताल में इलाज चल रहा था। घोष दक्षिण 24 परगना जिले के फाल्टा विधानसभा सीट से विधायक थे।


60 साल के तमनोश घोष कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। संक्रमण का पता चलने के बाद घोष को 23 मई को अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था। घोष का पिछले एक महीने से इलाज चल रहा था। बाद में जून के अंतिम हफ्ते में उनकी मौत हो गई थी। बंगाल में कोरोना के पुष्ट मामलों की संख्या 1 लाख से ज्यादा है। हालांकि रिकवरी रेट भी तेजी से बढ़ रही है। मृतकों की तादाद 2200 से ज्यादा दर्ज की गई है।


सोने के पुराने आभूषणों पर जीएसटी लागू

मनोज सिंह ठाकुर


नई दिल्ली। अब पुराने सोने या गोल्ड ज्वैलरी को बेचने पर भी तीन फीसदी का वस्तु एवं सेवा कर (GST) चुकाना पड़ सकता है। जीएसटी की अगली कौंसिल में इसका फैसला हो सकता है। केरल के वित्त मंत्री थॉमस इसाक ने यह जानकारी दी है। इसका मतलब यह है कि लोगों को पुरानी ज्वैलरी बेचने पर मुनाफा पहले से कम हो जाएगा।


बन गई सहमति


थॉमस इसाक ने बताया कि हाल ही में राज्यों के वित्त मंत्रियों के एक समूह (जीओएम) में पुराने सोने और आभूषणों की बिक्री पर तीन फीसदी का वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लगाने के प्रस्ताव पर लगभग सहमति बन गई है।


न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक इस मंत्री समूह में केरल, बिहार, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री शामिल हैं। इस मंत्री समूह का गठन सोने और बहुमूल्य रत्नों के परिवहन के लिए ई-वे बिल के क्रियान्वयन की समीक्षा के लिए किया गया था। मंत्री समूह की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये हुई।


इस तरह वसूली जा सकती है जीएसटी


इसाक ने बताया, ‘यह तय किया गया है कि पुराने सोने की बिक्री पर 3 फीसदी का जीएसटी आरसीएम (रिवर्स चार्ज मेकैनिज्म) के द्वारा लगाया जाए। अब कमिटी के अधिकारी इसके तौर-तरीकों पर विचार करेंगे। यानी नई व्यवस्था लागू होने के बाद अगर कोई ज्वैलर पुराने आभूषण आपसे खरीदता है तो वह रिवर्स शुल्क के रूप में तीन फीसदी जीएसटी आपसे वसूल करेगा। आप एक लाख रुपये की पुराने आभूषण बेचते हैं तो जीएसटी के रूप में 3000 रुपये काट लिए जाएंगे।


दुकानदारों के लिए ई-वे बिल भी अनिवार्य


जीओएम ने यह भी फैसला किया है कि सोने और आभूषण की दुकानों को प्रत्येक खरीद और बिक्री के लिए ई-इनवॉयस (ई-बिल) निकालना होगा। यह कदम टैक्स चोरी रोकने के लिए उठाया जा सकता है। अभी भी छोटे शहरों से लेकर बड़े शहरों में कई जगह सोने की बिक्री के बाद दुकानदार कच्चा बिल देते हैं। यह पूरी प्रक्रिया कर चोरी रोकने और काला धन खपाने के लिए होती है। अब इस पर रोक लगाने के लिए ई-बिल निकालना अनिवार्य करने की तैयारी है। बैठक में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा, ‘यह फैसला किया गया है कि यदि कोई राज्य सोने के लिए ई-वे बिल का क्रियान्वयन करना चाहता है, तो वह राज्य के भीतर सोने को एक जगह से दूसरी लगह भेजने के मामलों में ऐसा कर सकता है। हालांकि, जीओएम का मानना है कि एक राज्य से दूसरे राज्य में सोने के परिवहन के लिए ई-वे बिल का क्रियान्वयन व्यावहारिक नहीं होगा।


ई-वे बिल के तहत सोने को लाने की तैयारी टैक्स चोरी की बढ़ती घटना को देखते हुए किया गया है। जीएसटी लागू होने के बाद सोने से मिलने वाले राजस्व में कमी आई है। इसके चलते यह तैयारी की जा रही है।           


हाईकोर्ट ने यूजी परीक्षाओं पर लगाई रोक

शिमला। आज से शुरू हुई यूजी की परीक्षाओं को लेकर हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने फैसला दिया है। कोर्ट ने इन परीक्षाओं हिमाचल प्रदेश में यूजी परीक्षाओं के आयोजन पर रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने प्रदेश में सोमवार से शुरू हुई कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं पर रोक लगाई है। साथ ही यह भी आदेश दिया है कि अगले आदेश जारी करने तक परीक्षाओं पर लगी यह रोक बरकरार रहेगी।


जस्टिस सुरेश्वर ठाकुर और जस्टिस सीवी वारोवालिया की खंडपीठ ने यह फैसला याचिकाकर्ता यासीम भट्ट की याचिका पर सुनवाई के बाद दिया है। याचिकाकर्ता का कहना था कि कोरोना काल में इस तरह की परीक्षाएं करवाना उचित नहीं है। लिहाजा कोर्ट ने आदेश देते हुए परीक्षाओं पर रोक लगा दी है।                                         


निर्णयः बिहार में फिर हुआ लॉकडाउन

पटना। बड़ी खबर पटना से है जहां, एक बार फिर से लॉक डाउन की अवधि को बढ़ा दिया गया है। बिहार सरकार ने कोरोना संक्रमण की वजह से लॉकडाउन को 6 सितंबर तक बढ़ाने का निर्णय लिया है। आज मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में इस पर सहमति बनी है।बैठक में पहले की तरह ही 6 सितंबर तक प्रतिबंध रखने का निर्णय लिया गया है। गृह विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। गृह विभाग के आदेश में कहा गया है कि बफऱ जोन और कंटेनमेंट जोन में सख्ती जारी रहेगी।सरकार की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि 30 जुलाई को लॉक डाउन को लेकर जो आदेश जारी किए गए थे वही अब 6 सितंबर तक लागू रहेंगे। बता दें कि बिहार में कोरोना का संक्रमण कमने का नाम नहीं ले रहा है।अभी भी प्रति दिन करीब 4 हजार के आसपास पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं।           


एबीआर को लेकर याचिका की खारिज

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने दूरसंचार कंपनियों की समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) की तत्काल रिकवरी के निर्देश संबंधी एक नई याचिका सोमवार को खारिज कर दी। न्यायमूर्ति अरुण कुमार मिश्रा की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने अंशुल गुप्ता की याचिका यह कहते हुए खारिज कर दी कि वह इस मामले में खुद सुनवाई कर रही है।


न्यायमूर्ति मिश्रा ने कहा, “हम पहले से ही इस मामले की सुनवाई कर रहे हैं। हम याचिका सुनने के पक्ष में नहीं हैं। (याचिका) खारिज।” न्यायमूर्ति मिश्रा ने याचिकाकर्ता से कहा कि वह क्यों इस मसले को और उलझाना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “आप इस प्रकार संविधान के अनुच्छेद 32 का दुरुपयोग न करें।” याचिकाकर्ताओं ने एजीआर की तत्काल रिकवरी के लिए अधिकारियों को निर्देश देने की मांग की थी। एजीआर के तहत दूरसंचार कंपनियों के पास करीब 90 हजार करोड़ रुपये का बकाया है। गौरतलब है कि आज ही एजीआर से संबंधित मुख्य मामले की सुनवाई भी होनी है।           

यूपी में चरम पर है जंगलराजः प्रियंका-राहुल

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज चरम पर है और राज्य की योगी सरकार लोगों और खासकर महिलाओं को सुरक्षा देने में असफल साबित हो रही है।


राहुल गांधी ने ट्वीट किया,“उत्तर प्रदेश में जातीय हिंसा और बलात्कार का जंगलराज चरम पर है। अब एक और भयानक घटना- सरपंच सत्यमेव ने दलित होकर ‘ना’ कहा जिसके कारण उनकी हत्या कर दी गयी। सत्यमेव जी के परिवारजनों को संवेदनाएं।”             

छात्रों का भविष्य दांव पर लगा सकतेः एससी

नई दिल्ली।  नीट जी परीक्षा को सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिल गई है। सुप्रीम कोर्ट यह साफ कर दिया है कि तय तारीखों पर पेपर लिए जाएंगे। कोर्ट ने कहा है कि जिंदगी ऐसे नहीं रूकती, छात्रों का भविष्य दांव पर नहीं लगा सकते।
दरअसल मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जी मैैंंस को कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते स्थगित करने की मांग की गई थी, जिसकी याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी। जेईई परीक्षा 1 सितंबर से 6 सितंबर तक आयोजित की जानी है। वहीं नीट परीक्षा 13 सितंबर को आयोजित करने की योजना है। सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने कहा, “क्या देश में सब कुछ रोक दिया जाए? एक कीमती साल को यूं ही बर्बाद हो जाने दिया जाए?” मामले की सुनवाई जस्टिस अरुण मिश्रा की अगुवाई वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच कर रही है।                           


यूपी-गुजरात, एमपी के मुख्यमंत्रियों के इस्तीफे की मांग

अकांशु उपाध्याय              नई दिल्ली। कांग्रेस ने कोविड से मौत के आंकडे़ छुपाने का आरोप लगाते हुए भाजपा की प्रदेश सरकारों को आड़े हाथ लिया...