सोमवार, 4 अक्तूबर 2021

रक्षा क्षेत्र के ऊपर से उड़ाएं 100 सैन्य विमान: चीन

बीजिंग/ ताइपे। चीन अपनी बदमाशियों से बाज नहीं आ रहा है। ड्रैगन ने ताइवान के रक्षा क्षेत्र के ऊपर से लगभग 100 सैन्य विमान उड़ाए। जिसके बाद से ताइवान ने भी चीन को चेतावनी देने के लिए अपने विमान भेजे थे। अब इस मामले पर अमेरिका भी भड़क गया है और उसने चीन को चेतावनी दे दी है। अमेरिका ने इस मामले पर चीन से उसकी "उकसाने वाली सैन्य" गतिविधियों को रोकने के लिए कहा है।

अमेरिका ने अपने बयान में कहा , 'हम बीजिंग से अपील करते हैं कि वह ताइवान पर सैन्य, कूटनीतिक और आर्थिक दबाव और दंडात्मक कार्रवाई रोके।' ताइवान के रक्षा मंत्रालय न बताया कि चीन की वायु सेना ने शुक्रवार, शनिवार और रविवार को फिर से सैन्य विमानों को भेजा था। अकेले शनिवार को 39 विमानों को ताइवान के क्षेत्र में देखा गया था।

सिराथू में किया गया अप्रेंटिसशिप मेले का आयोजन

कौशांबी। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के गृह जनपद कौशांबी के सिराथू क्षेत्र के अंतर्गत राजकीय आईटीआई विद्यालय सिराथू में सोमवार को अप्रेंटिसशिप मेले का आयोजन किया गया। इस रोजगार मेले का शुभारंभ सिराथू के बीजेपी विधायक शीतला प्रसाद पटेल , मंझनपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक लाल बहादुर के नेतृत्व में शुभारंभ किया गया। इस रोजगार मेले में क्षेत्र के 2000 विद्यार्थियों ने भाग लिया राजकीय आईटीआई विद्यालय में बाहर से आई हुई 16 कंपनियों ने अपने रोजगार देने के लिए भाग लिया। विद्यार्थियों का रजिस्ट्रेशन इस रोजगार मेले किया गया। विद्यार्थियों ने राजकीय विद्यालय आईटीआई सिराथू के प्रिंसिपल वा टीचरों की सराहना करते हुए कहा कि इस योजना के तहत क्षेत्र के बेरोजगार विद्यार्थियों को रोजगार मिलने का अवसर सरल हो गया है। विद्यार्थियों ने अपने प्रमाण पत्रों व डिग्री को लेकर रोजगार पाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया।
धर्मेंद्र सोनकर       

सीएम योगी ने अपनी वीटो टीम को लखीमपुर भेजा

हरिओम उपाध्याय       
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी वीटो टीम को लखीमपुर भेजते हुए खुद मानिटरिंग कर रहे हैं। ऐसे में अन्य राजनीतिक दलों द्वारा लगातार उथल-पुथल मचाते हुए लखनऊ से लेकर दिल्ली तक राजनीति तेज हो चुकी है। वही लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार लखीमपुर पहुंचकर वहां के आला अधिकारियों के साथ बैठकर कर रहे हैं तो अभी हाल ही में एडीजी से डीजी बनाए गए एसएन साबत को भी छुट्टियों से वापस बुला लिया गया है। कानून व्यवस्था को देखते हुए नेट की सेवाएं बंद कर दी गई है। यूपी के समस्त जनपदों में अलर्ट कर दिया गया है। लखीमपुर के आसपास के बॉर्डर पर पुलिस तैनात हैं। लखीमपुर आने जाने वाले लोगों पर नजर बनी हुई है एवं गाड़ियों में चेकिंग की जा रही है लगातार।
पुलिस के रोकने पर निजी कार से प्रियंका निकलीं।
प्रियंका को पुलिस रोकने का प्रयास कर रही थीं।
कार में सवार होकर प्रियंका गांधी निकल चुकीं हैं।

राज्यमंत्री अजय को मंत्री पद से बर्खास्त किया जाएं

हरिओम उपाध्याय     
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था और लखीमपुर खीरी की निंदनीय घटना को देखते हुए यूपी की भाजपा सरकार को बर्खास्त किया जाए। साथ ही केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र को भी मंत्री पद से बर्खास्त किया जाए। लखीमपुर की घटना की वर्तमान सुप्रीम कोर्ट के जजों से जांच की जाए। दोषियों को फांसी की सजा दी जाए।
बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी आर डी गादरे ने लखीमपुर खीरी में हुई घटना को बड़ी निंदनीय करार देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार हर तरह से नाकाम हो चुकी है। ना व्यवस्था कानून की रही न सुरक्षा की रही ना रोजगार के रही ना स्वास्थ्य विभाग की रही किसी काम की नहीं है और देश में प्रदेश में जंगलराज महसूस हो रहा है। माननीय राष्ट्रपति महोदय को तत्काल प्रभाव से उत्तर प्रदेश के हालत को मद्देनजर रखते हुए बर्खास्त कर देना चाहिए। चारों और किसान सड़कों पर बेहाल जिससे देश में काले कानून की व्यवस्था को खत्म किया जाए। किसानों ही नहीं देश में हर तबके की बहाली के लिए गौर किया जाए। देश की स्थिति हर तरह से डामाडोल हो चुकी है। देश में गुंडागर्दी आतंकवाद पनप रहा है। जिसमें देखने को मिलता है और उत्तर प्रदेश शासन और केंद्र शासन के सह पर हो रहे अत्याचार अधिकार चोरी सीनाजोरी गुंडागर्दी चरम सीमा पर है तो हम बहुजन मुक्ति पार्टी से ऐसे कार्यों की कड़ी शब्दों में निंदा करते हैं। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे पर हत्या का मुकदमा चलाया जाए और पिड़ीतों को 5-5- करोड़ रुपयों का मुआवजा दिया जाए। बहुजनों की सरकार आएगी तो बहुजनों को किसानों को मजदूरों को मजदूरों को न्याय मिल पाएगा। इस निरंकुश वादी फासीवादी सरकार ने देश को बेच डाला और किसान मजदूर मजलूम किसी की नहीं सुन रही है। अपनी मन मन मन मर्जी तानाशाही चला कर देश को गुलामी की ओर ले जा रही है। जिससे देश में चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है और भुखमरी की सीमाएं लांघ ने पर तैयार हैं लोग और आत्महत्या कर रहे हैं। विभिन्न तरीके से किसानों को मारा गया यह कोई हल्के में लेने की बात नहीं है। 11 महीनों से किसान मजदूर सड़क पर चिल्ला रहे हैं। लेकिन सरकार अपनी मनमानी कर रही है। इससे साबित हो जाता है कि इन्हें वोटों की नहीं चिंता। क्योंकि ईवीएम मशीन से घोटाला करने पर विश्वास है। शायद यदि ऐसा नहीं है तो ईवीएम को हटा देना चाहिए था अब तक और बैलेट पेपर से चुनाव कराने के लिए मंजूरी दे देनी चाहिए थी। यदि दिन सरकार के मन में कोई खोट नहीं ईवीएम मशीन को तुरंत हटाने का भी निर्णय लिया जाए। जिससे देश में बैलेट पेपर से आने वाले चुनाव हो और जनता को उनका हक मिल सके नहीं तो ईवीएम जब तक रहेगी। किसान, मजदूर, मजलूम और मूल निवासियों के हक और अधिकार सब खत्म होते रहेंगे।

मृतकों के परिवार को 1-1 करोड रूपये का मुआवजा

भानु प्रताप उपाध्याय         
शामली। जनपद के कांग्रेस जन आपको सादर अवगत कराना चाहते हैं कि दिनांक 3 अक्टूबर 2021 को लखीमपुर मे बीजेपी सांसद के पुत्र के द्वारा अपने हक के लिए प्रदर्शन कर रहे अन्नदाता किसानों को गाड़ी से कुचलकर उनकी निर्मम हत्या कर दी गई थी। देश में सरकार चलाने वाले लोगो की इतनी मतिभ्रम हो गए हैं, कि जनता को जानवर समझने लगे हैं। मौजूदा सरकार की दमनकारी नितियों से अन्नदाता की आवाज को दबाकर लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। मृतकों के परिवार से मिलने के लिए लखीमपुर जा रही काँग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी को भी उत्तर प्रदेश की तानाशाही सरकार द्वारा रोका गया है। जिसकी हम कडी निंदा करते हैं।
अतः इस ज्ञापन के माध्यम से हम जनपद शामली के काँग्रेसजन आपसे मांग करते हैं कि इस घोर निंदनीय घटना में सम्मिलित लोगों के अतिशीघ्र कडी कार्यवाही की जाये तथा मृतकों के परिवार को  1-1 करोड रूपये का मुआवजा दिया जाये तथा घटना में लिप्त भाजपा के सांसद विधायक को बर्खास्त किया जाए।
ज्ञापन देने वालो मे अश्वनी शर्मा, युवा कांग्रेस प्रदेश महासचिव दीपक सैनी, जिला अध्यक्ष 
प्रवीण तरार, जिला उपाध्यक्ष अनुज गोतम, शहर सीमा जाटव, जिला उपाध्यक्ष अकबर अन्सारी, प्रदेश सचिव  शैखरपाल, प्रदेश महासचिव पिछड़ा राशिद चोधरी, जिला महासचिव अंकुर मलिक, युवा जिला अध्यक्ष नफीस अली, जिला चेयरमैन अल्पसंख्यक मुनेश देवी, जिला उपाध्यक्ष महिला डाॅ मुन्हवर पवार, केराना ब्लाक अध्यक्ष श्रीपाल सिह उपाध्याय, जिला अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग गयुर चोधरी, ब्लाक अध्यक्ष शामली शमशीर खान, कैराना शहर अध्यक्ष प्रधुम्ण तोमर, जिला उपाध्यक्ष रामशरन नामदेव, वरिष्ठ कांग्रेस 
सन्तकुमार, ब्लाक अध्यक्ष काधला राहुल शमाॅ जिला सचिव रामपाल पांचाल महाबीर सैनी, सोरभ सैनी, युवा कांग्रेस आदि कांग्रेस जन शामिल हुए।

यूपी: अखिलेश की रिहाई की मांग पर प्रदर्शन किया

भानु प्रताप उपाध्याय         
जलालाबाद। समाजवादी पार्टी के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ द्वारा भाजपा सरकार की गुडई नीतियों के खिलाफ एवं लखीमपुर खीरी मे भाजपा के ग्रह मन्त्री पुत्र द्वारा किसानो की निर्मम हत्या की गईं के विरूद्ध किसान परिवार से मिलने जाते हेतू सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को गलतपूर्ण तरीके से गिरफ्तार कर लिये जाने पर थानाभवन विधानसभा जलालाबाद दिल्ली हाइवे पर सपा नेता अब्दुल गफ्फार मलक,रविन्द्र प्रधान जोगी (प्रदेश सचिव पिछड़ा वर्ग) ने सैकड़ो कार्यकर्ताओ द्वारा योगी सरकार के खिलाफ ग्रह राज्य मंत्री का इस्तीफा एंंव सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की रिहाई की मांग को लेकर जाम कर विरोध-प्रदर्शन किया। चोकी प्रभारी सचिन पुनिया ने पुलिस बल के साथ सपा नेताओ से बात कर अधिकारीयो द्वारा इंसाफ की बात मिलने को लेकर जाम खुलवाया गया। सपा नेता अब्दुल गफ्फार मलक ने कहा कि जिस प्रकार आज सरकार ओर प्रशासन की गलत नीतियों का विरोध एव इंसाफ की लडाई लड़ने के लिए सपा कार्यकर्ता मर मिटने को तैयार है। साथ रहे इसरार मलिक,सलीम मलिक,कालू खा(मेम्बर)बाबू तेली,मकबूल मलक,फुरकान कुरैशी,सावेज जाफरी,आदि मौजूद रहे।

कार्यकर्ताओं ने तहसील पर धरना-प्रदर्शन किया

अतुल त्यागी      
हापुड़। लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में हुई घटना को लेकर सोमवार को प्रसपा के कार्यकर्ताओं ने नगर के तहसील चौराहे पर जोरदार धरना-प्रदर्शन किया। सपा कार्यकर्ताओं ने मोदी, योगी व भाजपा सरकार विरोधी नारे भी लगाए। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के समझाने के बाद प्रसपा कार्यकर्ता शांत हुए और एसडीएम सत्यप्रकाश व सीओ सदर एसएन वैभव पांडे को ज्ञापन सौंपा। जिलाध्यक्ष पदम सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों प्रसपा कार्यकर्ता सोमवार को तहसील चौराहे पर अपने- अपने हाथों में झंडे लेकर पहुंचे। जहां उन्होंने लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में किसानों के साथ घटित हुई घटना को लेकर मोदी, योगी व भाजपा सरकार का विरोध करते हुए जमकर धरना प्रदर्शन किया।
 कार्यकर्ताओं ने मोदी, योगी व भाजपा विरोधी नारे भी लगाए। जिलाध्यक्ष पदम सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार के इशारे पर लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में अन्नदाताओं का नरसंहार किया गया। जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भाजपा सरकार का यह तानाशाही रवैया अब चलने वाला नहीं है। उन्होंने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को तत्काल बर्खास्त कर दोषियों के खिलाफ कठोर दंडात्मक कार्यवाही कर इस पूरे प्रकरण की निष्पक्ष व न्यायिक जांच तथा मृतकों के परिजनों को एक करोड़ का मुआवजा एवं परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिए जाने की पुरजोर मांग की।
धरना प्रदर्शन में जिला प्रमुख महासचिव अय्यूब सिद्दीकी, युवजन सभा जिलाध्यक्ष सुनील चौधरी, अधिवक्ता सभा जिलाध्यक्ष रिजवान एडवोकेट, जिला उपाध्यक्ष सचिन चौधरी, महिला सभा जिलाध्यक्ष विनीता चौधरी, अल्पसंख्यक सभा जिलाध्यक्ष रफत त्यागी, छात्र सभा जिलाध्यक्ष युदिष्ठर यादव, नगर अध्यक्ष हापुड़ वसीम रिजवी, जिला सचिव हरिराज गुर्जर, छात्र सभा प्रदेश सचिव मोहित नागर, विकास त्यागी, विनीत त्यागी, वसीम अंसारी, चंद्रपाल सिंह, पुष्पेंद्र कुमार, आशिन्द्र निर्वाण, मोहित प्रजापति, नीरज चौधरी, योगेश प्रजापति व हरेंद्र जाट सहित सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल रहे।

फंदे से लटकी मिली मां-बेटी की लाश, फैली सनसनी

रांची। मां-बेटी की सोमवार को फंदे से लटकी लाश मिली है। इससे इलाके में सनसनी फैल गई है। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों शवों को फंदे से उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। मामला झारखंड के पलामू जिले के हैदरनगर थाना क्षेत्र के राजबंधा गांव का है। मिली जानकारी के अनुसार 40 वर्षीया महिला वर्ष 2016 से राजबंधा के जितेंद्र पासवान के घर उसकी दूसरी पत्नी बन कर रह रही थी। बताया जा रहा है कि वर्ष 2016 में महाराष्ट्र के नागपुर में लव मैरिज करने के बाद जितेंद्र पासवान संगीता और उसकी बेटी अंजली को लेकर अपने घर राजबंधा आ गया था। महिला उसके बाद से अपनी 12 वर्षीय पुत्री अंजली के साथ रह रही थी। 

आईपीएल का दूसरा चरण भारत में नहीं खेला जाएगा

आबुधाबी। नाइट राइडर्स (केकेआर) के कप्तान इयोन मोर्गन ने यहां रविवार को आईपीएल मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत के बाद कहा कि उन्होंने जितना सोचा था, विकेट उससे ज्यादा धीमा रहा। इन परिस्थितियों में गेंद पावरप्ले में जल्दी स्विंग हुई।लेकिन यह पिच सुस्त थी।
मोर्गन ने कहा, " हमें अच्छी गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण की जरूरत थी और हमने यह किया। शुभमन ने बहुत अच्छा खेला और लक्ष्य का पीछा किया। शाकिब के आने से टीम की बल्लेबाजी को गहराई मिलती है। उनके आने से बहुत बड़ा प्रभाव पड़ा है। हमें नहीं पता था कि आईपीएल का दूसरा चरण भारत में नहीं खेला जाएगा।लेकिन हमने यहां की परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन किया है और अच्छी तरह से इसमें ढले हैं। हमारा ध्यान अच्छा क्रिकेट खेलने पर है और हमने पिछले तीन हफ्तों में ऐसा किया है। ड्रेसिंग रूम में गेम प्लान का अच्छा असर पड़ा है और लोग हाथ बढ़ा रहे हैं। हमने धीमी परिस्थितियों के अनुकूल होने के लिए अच्छा प्रदर्शन किया और मैं इससे खुश हूं। 

हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ धाराओं के तहत मुकदमा

हरिओम उपाध्याय       
कानपुर। भारतीय जनता युवा मोर्चा में प्रदेश मंत्री बनाए गए हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। भाजयुमो प्रदेश मंत्री अरविंद राज त्रिपाठी उर्फ छोटू के अलावा उसके चार साथियों पर एससी-एसटी एक्ट के अलावा धोखाधड़ी की धाराओं में पीड़ित की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है। आरोप है कि नामजद कराए गए लोगों ने लाखों की कीमती जमीन लेने के बाद बेचने वाले को उसकी कीमत का भुगतान नहीं किया। पीड़ित ने जब रुपए मांगे तो घर में घुसकर उसे जान से मारने की धमकी दी गई।
सोमवार को अशोक नगर निवासी मनोज कुमार की ओर से नजीराबाद थाने में दी गई तहरीर में बताया गया है कि वह मूल रूप से बैकुंठपुर बिठूर के रहने वाले हैं। उन्होंने गांव की 487 वर्ग मीटर जमीन का सौदा भाजयुमो नेता अरविंद राज त्रिपाठी उर्फ छोटू, जुगराज सिंह, विपिन सिंह, महेंद्र सिंह और गिरिजेश कुमार कटियार के साथ किया था। मनोज कुमार ने बताया है कि जमीन खरीदनें वाले पांचों लोग जमीन की लिखा पढ़ी कराने के लिए उसे अपने एक वकील के पास ले गए थे। जमीन का एग्रीमेंट टाइप होने के बाद जब उन्होंने उसे पढ़ने का प्रयास किया तो उन पांचों ने कहा है कि चाचा आप बिल्कुल भी परेशान मत हो। हम लोगों के बीच जो भी सौदा तय हुआ है वही होगा।

केन्द्रीय गृहमंत्री अजय को बर्खास्त करने की मांग की

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर, उनसे उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग की। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे को लेकर किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान रविवार को लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया इलाके में भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई।
संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने पत्र में कहा कि केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को उनके पद से बर्खास्त किया जाना चाहिए और उनके खिलाफ हिंसा भड़काने तथा सांप्रदायिक नफरत फैलाने का मामला दर्ज किया जाना चाहिए। केन्द्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा ‘मोनू’ और उसके साथी गुंडों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए और उन्हें तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।
किसान संगठनों के प्रमुख मंच ने इसक साथ ही उच्चतम न्यायालय की निगरानी में एक विषेश जांच दल (एसआईटी) से घटना की जांच कराने की मांग की। उसने किसानों के खिलाफ की गई हरियाण के मुख्यमंत्री एमएल खट्टर की कथित टिप्पणी के मामले में उन्हें पद से हटाने की भी मांग की।
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने चंडीगढ़ में रविवार को भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा की एक बैठक के दौरान कथित तौर पर ‘जैसे को तैसा’ (टिट फॉर टैट) करने की बात कही थी। उन्होंने वहां मौजूद लोगों से 500 से 1000 लोगों का समूह बनाने और जेल जाने के लिये भी तैयार रहने को कहा था।

प्रमाण-पत्र में कोरोना को मौत का कारण नहीं बताया

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को कहा कि किसी भी राज्य को कोविड-19 के कारण मारे गए लोगों के परिजन को 50,000 रुपए की मुआवजा देने से केवल इस आधार पर इंकार नहीं करना चाहिए कि मृत्यु प्रमाण-पत्र में कोरोना वायरस को मौत का कारण नहीं बताया गया है। कोविड-19 के कारण मारे गए लोगों के परिजन को 50,000 रुपए की अनुग्रह राशि देने की सिफारिश राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने की थी। 
न्यायमूर्ति एम आर शाह और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ ने कहा कि कोविड-19 की वजह से मृत्यु होना प्रमाणित किए जाने और आवेदन जमा करने के 30 दिन के भीतर राज्य आपदा राहत कोष से मुआवजा वितरित किया जाएगा। पीठ ने राज्यों और केंद्र को यह भी आदेश दिया कि वह प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिए इस योजना का व्यापक प्रचार करें।
पीठ ने एनडीएमए के दिशा-निर्देशों को मंजूरी देते हुए कहा कि पहले से जारी मृत्यु प्रमाण पत्र और परिवार के किसी सदस्य के असंतुष्ट होने पर परिजन उपयुक्त प्राधिकारी से संपर्क कर सकते हैं। शीर्ष अदालत ने कहा कि आरटीपीसीआर जांच जैसे आवश्यक दस्तावेज दिखाए जाने पर संबंधित प्राधिकारी मृत्यु प्रमाण पत्रों में संशोधन कर सकते हैं और यदि वे इसके बाद भी असंतुष्ट रहते हैं, तो परिवार के सदस्य शिकायत निवारण समिति के पास जा सकते हैं।
पीठ ने कहा कि कोई भी राज्य इस आधार पर अनुग्रह राशि देने से इनकार नहीं करेगा कि मृत्यु प्रमाण पत्र में मौत का कारण कोविड-19 नहीं बताया गया है। शीर्ष अदालत ने कहा कि शिकायत निवारण समिति मृतक के चिकित्सकीय रिकॉर्ड की समीक्षा करने के बाद 30 दिन में फैसला कर सकती है और मुआवजा देने का आदेश दे सकती है। इससे पहले, एनडीएमए ने कोविड-19 से जान गंवा चुके लोगों को परिजन को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि देने की सिफारिश की थी।

यूके: छात्रवृत्ति में बढोतरी का शासनादेश जारी किया

पंकज कपूर         
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की घोषणा के क्रम में डॉ. शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति और श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति में बढोतरी का शासनादेश जारी कर दिया गया है। अब डॉ. शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति रूपए 250 प्रतिमाह से बढ़ाकर  रूपए 1500 प्रति माह कर दिया गया है। साथ ही यह छात्रवृत्ति 11 बच्चों की बजाय 100 बच्चों को प्रदान की जाएगी। इसी प्रकार श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति में भी वृद्धि करते हुए इसे रूपए 150 प्रति माह से बढ़ाकर रूपए 1000 प्रतिमाह कर दिया गया है।  श्री देव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति योजना में प्रत्येक विकास खंड से 5 छात्र-छात्राओं का चयन कर राज्य भर से प्रतिवर्ष 475 छात्र-छात्राओं को इस छात्रवृत्ति का लाभ दिया जाएगा।गौरतलब है कि शिक्षा विभाग के एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ये घोषणाएं की थीं।

चारधाम यात्रा की समीक्षा के दौरान निर्देश दियें

पंकज कपूर             
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास स्थित कैम्प कार्यालय में चारधाम यात्रा की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाय प्रदेश में आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को हर संभव सुविधा दी जाय।
मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धालु एवं पर्यटक देवभूमि उत्तराखण्ड से अच्छा संदेश लेकर जाएं, यह सबकी जिम्मेदारी है। 
श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों के प्रति किसी भी प्रकार की अभद्रता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में यदि एक भी यात्री को परेशानी होगी तो प्रदेश का मुख्य सेवक होने के नाते मुझे परेशानी होगी।
मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जुड़े रूद्रप्रयाग, चमोली एवं उत्तरकाशी के जिलाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाय कि चारधाम यात्रा के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सभी व्यवस्थाएं अच्छी हों। गाईडलाइन के अनुसार श्रद्धालु दर्शन कर सकें। पर्यटक स्थलों पर जाने वाले यात्रियों को भी कोई परेशानी न हो।मुख्यमंत्री ने चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं से अपील की है कि चारधाम यात्रा के लिए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के बाद जिन लोगों को परमिशन मिली है। वही लोग उत्तराखण्ड के चारधाम यात्रा के लिए आयें।
बैठक में मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु, डीजीपी अशोक कुमार, मुख्यमंत्री के अपर प्रमुख सचिव अभिनव कुमार, सचिव दिलीप जावलकर, गढ़वाल कमिश्नर रविनाथ रमन, डीआईजी गढ़वाल श्रीमती नीरू गर्ग, अपर सचिव युगल किशोर पंत उपस्थित थे।

मामले की जांच में जुटी पुलिस की टीम के उड़ें होश

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। देश में आए दिन ह्यूमन ट्रैफिकिंग और सेक्स रैकेट  के भंडाफोड़ की खबरें सामने आती हैं। ताजा मामले में मध्य प्रदेश से पकड़े गए एक युवक के खुलासे के बाद मामले की जांच में जुटी पुलिस की टीम के होश उड़ गए। आरोपी का नाम मुनीर है। जिसे इंदौर पुलिस ने सूरत से गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान मुनीर ने सबसे पहले ये बात कबूली कि उसके निशाने पर बांग्लादेशी लड़कियां और महिलाएं होती थीं। वो 5 साल से देह व्यापार के धंधे में शामिल था।  मुनीर ने कबूला कि वो हर महीने करीब 55 लड़कियों को अपना शिकार बनाता था। इसी सिलसिले में मुनीर 200 से ज्यादा बांग्लादेशी लड़कियों को भारत लाकर जिस्मफिरोशी के धंधे में धकेल चुका था। देश में आए दिन ह्यूमन ट्रैफिकिंग और सेक्स रैकेट  के भंडाफोड़ की खबरें सामने आती हैं। ताजा मामले में मध्य प्रदेश से पकड़े गए एक युवक के खुलासे के बाद मामले की जांच में जुटी पुलिस की टीम के होश उड़ गए। आरोपी का नाम मुनीर है जिसे इंदौर पुलिस ने सूरत से गिरफ्तार किया।
पूछताछ के दौरान मुनीर ने सबसे पहले ये बात कबूली कि उसके निशाने पर बांग्लादेशी लड़कियां और महिलाएं होती थीं। वो 5 साल से देह व्यापार के धंधे में शामिल था। मुनीर ने कबूला कि वो हर महीने करीब 55 लड़कियों को अपना शिकार बनाता था। इसी सिलसिले में मुनीर 200 से ज्यादा बांग्लादेशी लड़कियों को भारत लाकर जिस्मफिरोशी के धंधे में धकेल चुका था। दैनिक भाष्कर में प्रकाशित खबर के मुताबिक आरोपी मुनीर पर 10 हजार रुपए का इनाम था। वह बांग्लादेश के जसोर का है। उसने ज्यादातर लड़कियों के साथ शादी की और फिर इंडिया में लाकर बेच दिया. उसके पीछे बड़ा नेटवर्क है। मध्य प्रदेश पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने ये भी बताया कि वो किसी भी परेशानी से बचने के लिए 75 लड़कियों के साथ शादी भी कर चुका है. आरोपी लड़कियों को बांग्लादेश और भारत के पोरस बॉर्डर पर नाले के रास्ते लाता था और बॉर्डर के पास के छोटे गांव में एजेंट्स के जरिये लड़कियों को मुर्शिदाबाद और आसपास के ग्रामीण इलाकों में लाकर ही भारत में एंट्री करवाते थे।
दरअसल, इंदौर पुलिस ने 11 महीने पहले लसूड़िया और विजय नगर इलाकों में ऑपरेशन चलाकर 21  बांग्लादेशी लड़कियों को रेस्क्यू ककर छुड़ाया था जिसमें 11 बांग्लादेशी युवतियां और बाकी अन्य युवतियां थीं। मामले में सागर उर्फ सैंडो, आफरीन, आमरीन व अन्य लोग आरोपी बनाए गए थे, मुनीर भाग निकला था।उसे गुरुवार को सूरत से पकड़कर इंदौर लाया गया।

धरना-प्रदर्शन स्थलों पर पुलिस बलों की संख्या बढ़ीं

हरिओम उपाध्याय             
लखनऊ। घटना के मद्देनजर दिल्ली में सोमवार को सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। राष्ट्रीय राजधानी के गाजियाबाद, सिंघु और टिकरी बॉर्डरों पर केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। किसानों के धरना-प्रदर्शन स्थलों पर पुलिस बलों की संख्या बढ़ा दी गई है। उत्तर प्रदेश और हरियाणा से दिल्ली में प्रवेश के सभी मार्गों पर पुलिस बैरिकेडिंग कर आवश्यक जांच कर रही है।
इसकी वजह उत्तर प्रदेश की सीमाओं पर कई-कई स्थानों पर लोगों को घंटों यातायात जाम का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली पुलिस ने अचानक लोगों से राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या नौ और 24 के बंद किए जाने के संबंध में ट्विटर पर जानकारी दी तथा राहगीरों को वैकल्पिक मार्गों का उपयोग करने की सलाह। अचानक आए इन दिशा निर्देशों की वजह से गाजियाबाद और नोएडा की ओर से दिल्ली के विभिन्न भागों में अपने कार्यालयों और अन्य कामों पर आने वाले लोगों को बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ा।
करीब सवा 12 बजे हालांकि दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्विटर पर जानकारी दी कि जिन दो मार्गों पर आवाजाही रोकी गई थी, उन्हें खोल दिया गया है और अब इस इलाके में यातायात सामान्य हो रही है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने लोगों से राष्ट्रीय राजमार्ग 24 और नौ का इस्तेमाल नहीं करनी की सलाह दी थी। एहतियातन यातायात रोकने और जगह-जगह सुरक्षा जांच के कारण आनंद विहार , चिल्ला, डीएनडी फ्लाईओवर आदि क्षेत्रों में हजारों लोग जहां-तहां तक सड़कों पर काफी समय तक फंसे रहे। उल्लेखनीय है कि लखीमपुर खीरी में रविवार को कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं किसानों ने उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव मौर्या का उनके एक कार्यक्रम में आने से पहले ही विरोध शुरू कर दिया था। जो बाद में हिंसक हो गया। आंदोलनकारी किसानों ने हेलीपैड पर कथित रूप से कब्जा कर लिया था।
इसके बाद आरोप है कि केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र ने अपने वाहन से सड़क पर विरोध कर रहे हैं किसानों कुचल दिया था जिससे चार लोगों की मृत्यु हो गई थी। हालांकि, अजय मिश्र ने किसानों के आरोपों का खंडन किया है। उनका आरोप है कि भारतीय जनता पार्टी के तीन सदस्य सदस्यों और एक वाहन चालक पर प्रदर्शनकारियों ने हमला किया। जिससे उनकी मौत हो गई किसानों के आंदोलन में शामिल कुछ उपद्रवियों ने उनकी कई गाड़ियों को निशाना बनाया। तोड़फोड़ कर उसे आग के हवाले कर दिया था।

निखरी व मुलायम त्वचा पाना चाहता है हर व्यक्ति

आज के समय में हर व्यक्ति खूबसूरत, निखरी और मुलायम त्वचा पाना चाहता है। बदलते मौसम के साथ त्वचा शुष्क होकर फटने लगती है, इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए लोग तमाम तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि कई बार ये केमिकलयुक्त प्रोडक्ट्स फायदे की जगह नुकसान पहुंचा देते हैं। ऐसे में कुछ टिप्स हैं, जिनके जरिए आप नेचुरल तरीके से मुलायम और ग्लोइंग स्किन पा सकते हैं। कुछ चीजें हैं, जिन्हें नहाने के पानी में डालकर इस्तेमाल करने से आपकी स्किन बच्चों की तरह मुलायम बन जाती है।
आज के समय में हर व्यक्ति खूबसूरत, निखरी और मुलायम त्वचा पाना चाहता है। बदलते मौसम के साथ त्वचा शुष्क होकर फटने लगती है, इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए लोग तमाम तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि कई बार ये केमिकलयुक्त प्रोडक्ट्स फायदे की जगह नुकसान पहुंचा देते हैं। ऐसे में कुछ टिप्स हैं, जिनके जरिए आप नेचुरल तरीके से मुलायम और ग्लोइंग स्किन पा सकते हैं। कुछ चीजें हैं, जिन्हें नहाने के पानी में डालकर इस्तेमाल करने से आपकी स्किन बच्चों की तरह मुलायम बन जाती है।
नारियल तेल: भारतीय घरों में नारियल के तेल का इस्तेमाल सदियों से होता आ रहा है। एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर नारियल का तेल दाग-धब्बे हटाने के साथ ही त्वचा को मुलायम भी बनाता है। इसके लिए पानी में थोड़ा-सा नारियल का तेल मिलाकर नहाएं। नियमित तौर पर इस नुस्खे को अपनाने से त्वचा मॉइश्चराइज होती है। साथ ही मुंहासे, चक्ते और खुजली आदि की समस्या भी दूर हो जाती है।
जैतून का तेल: अपने नहाने के पानी में जैतून का तेल मिला लें। इसके बाद इस पानी से शॉवर लें। जैतून का तेल प्राकृतिक तरीके से स्किन को मुलायम बनाता है। आप चाहें तो अपने शरीर पर जैतून के तेल से मालिश कर सकते हैं। अगर आपकी कोहनी, घुटने और पैरों की त्वचा सूख गई है तो जैतून के तेल के इस्तेमाल से इस समस्या से भी छुटकारा पाया जा सकता है।
ग्रीन टी: वैसे तो ग्रीन टी स्वास्थ्य के लिए बेहद ही फायदेमंद होती है। लेकिन साथ ही यह त्वचा को मुलायम बनाने में भी मदद करती है। ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स स्किन को डीप मॉइश्चराइज करते हैं। इसके लिए आप नहाने के पानी में टी-बैग्स को मिला लें। फिर इस पानी से शॉवर लें। इस नुस्खे के इस्तेमाल से एजिंग की प्रक्रिया भी धीमी हो जाती है।एप्सम सॉल्ट: एप्सम सॉल्ट त्वचा को डिटॉक्सीफाई करता है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम स्किन को नरम और चिकना बनाता है। आप चाहें तो नहाते वक्त पानी में एप्सम सॉल्ट भी मिला सकते हैं।

यूपी: किसानों व सरकार के बीच समझौता हुआ

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी में किसानों और सरकार के बीच समझौता हुआ। इसमें सरकार सभी मृतक किसानों को 45-45 लाख रुपये देगी। वहीं घायलों को 10-10 लाख रुपये मिलेंगे। मामले की न्यायिक जांच होगी, इसके अलावा परिवार के 1 सदस्य को सरकारी नौकरी मिलेगी।
कल लखीमपुर खीरी में मारे गए 4 किसानों के परिवारों को सरकार 45 लाख रुपये और एक सरकारी नौकरी देगी। घायलों को 10 लाख रुपये दिए जाएंगे। किसानों की शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज़ की जाएगी। हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज मामले की जांच करेंगे।

योगी सरकार का फैसला। लखीमपुर खीरी मामले में न्यायिक जांच के आदेश, मृतकों के परिजनों को 45-45 लाख, घायलों को 10 लाख का मुआवजा
योगी सरकार का फैसला। लखीमपुर खीरी मामले में न्यायिक जांच के आदेश, मृतकों के परिजनों को 45-45 लाख, घायलों को 10 लाख का मुआवजा।
पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू, पंजाब के कांग्रेस विधायक और अन्य नेता आज पंजाब में राज्यपाल दफ्तर के बाहर प्रदर्शन करेंगे। इनकी मांग है कि लखीमपुर खीरी मामले में आरोपी मंत्री के बेटे को गिरफ्तार किया जाए। इसके अलावा हरियाणा सीएम के बयान, प्रियंका गांधी को हिरासत में लिए जाने पर भी आपत्ति जताई गई है।
आम आदमी पार्टी का डेलीगेशन नेता विपक्ष हरपाल सिंह चीमा की अगुवाई में लखीमपुर खीरी के लिए रवाना होगा। डेलीगेशन में पंजाब मामलों के सहप्रभारी राघव चड्ढा विधायक कुलतार सिंह संधवां में विधायक प्रो बलजिंद्र कौर शामिल होंगे। ये डेलीगेशन दोपहर 3 बजे रवाना होगा।चंद्रशेखर आजाद लखीमपुर खीरी पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि 3 घंटे के लिए गिरफ्तार किया गया था लेकिन इसके बावजूद मैं यहां पर पहुंचा हूं।
लखीमपुर हिंसा पर बवाल बढ़ता ही जा रहा है। हिंसा और किसानों की मौत के खिलाफ यूपी के साथ-साथ हरियाणा के अंबाला और कर्नाटक के बेंगलुरु में भी प्रदर्शन हो रहा है।

मृतकों के परिवार को 45 लाख रूपये का मुआवजा

आदर्श श्रीवास्तव        
लखीमपुर खीरी। लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में सरकार और किसानों के बीच हुए समझौते के तहत सरकार की ओर से मृतकों के परिवार को 4500000 रूपये का मुआवजा देने का ऐलान किया गया है। इसके अलावा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। 8 दिन के भीतर घटना की न्यायिक जांच कराते हुए आरोपियों को अरेस्ट करने का वादा भी सरकार की ओर से किया गया है। लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की जांच उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त जज करेंगे। हिंसा में घायल हुए लोगों को भी 10-10 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।
लखीमपुर में रविवार को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री एवं डिप्टी सीएम के दौरे के दौरान हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या फिलहाल 9 हो गई है। सरकार और किसानों के बीच इस मामले को लेकर समझौता हो गया है। सरकार ने मृतकों के परिवार को 4500000 रूपये का मुआवजा दिए जाने की घोषणा की है। सरकार की घोषणा के मुताबिक मरने वाले किसानों के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। घटना की न्यायिक जांच और 8 दिन के भीतर आरोपियों को अरेस्ट करने का वादा भी सरकार ने किसान नेताओं से किया है। इस मामले की न्यायिक जांच हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज द्वारा की जाएगी। लखीमपुर हिंसा में घायल हुए लोगों को भी सरकार की ओर से 10-10 लाख रूपये का मुआवजा देने का ऐलान किया गया।

प्रियंका को लखीमपुर जाते समय गिरफ्तार किया

आदर्श श्रीवास्तव          
लखीमपुर खीरी। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा को लखीमपुर जाते समय गिरफ्तार किए जाने के बाद जिस गेस्ट हाउस में रखा गया है। वह साफ सफाई के लिहाज से पूरी तरह गंदा था। गिरफ्तारी के बाद गेस्ट हाउस में रखी गई कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव ने खुद ही वहां पर झाड़ू लगाते हुए वहां पर बैठने का माहौल तैयार किया है।
लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद पीड़ित किसानों का हाल-चाल जानने के लिए रविवार की रात को ही घटनास्थल पर जा रही कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा को गिरफ्तार किए जाने से पहले राजधानी लखनऊ में ही रोका गया था। लेकिन जब उनका काफिला लखीमपुर खीरी जाने से नहीं रूका तो उन्हें सीतापुर में रोककर पुलिस द्वारा हिरासत में ले लिया गया। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को गिरफ्तार किए जाने के बाद सीतापुर के एक गेस्ट हाउस में रखा गया है। इस दौरान सोशल मीडिया पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव द्वारा गेस्ट हाउस में झाड़ू लगाए जाने की वीडियो वायरल हो रही है। बताया जा रहा है कि यह वीडियो उसी गेस्ट हाउस का है जहां पर प्रियंका गांधी वाड्रा को गिरफ्तारी के बाद हिरासत में रखा गया है। इससे पहले प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में लेने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस का दम फूल गया था। चप्पे-चप्पे पर की गई नाकेबंदी और हर रास्ते पर की गई बड़े बड़े अधिकारियों की तैनाती के बाद प्रियंका गांधी वाड्रा तमाम व्यवस्थाओं को चकमा देते हुए आगे बढ़ती रही। जैसे ही प्रशासन को पता चला कि प्रियंका गांधी वाड्रा ने रास्ता बदल दिया है वैसे ही अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में लेने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस को रात भर मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने उनके साथ धक्का-मुक्की भी की है। जहां तक विपक्षी दलों के नेताओं की लखीमपुर खीरी जाने की बात है तो उनमें कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा पहले स्थान पर रही है, क्योंकि उन्होंने ही सबसे पहले लखीमपुर जाने के लिए रात होने की परवाह किये बगैर अपने लाव लश्कर के साथ कूच किया था।

सोशल मीडिया पर पैनी निगाह रखने के निर्देश दिएं

हरिओम उपाध्याय        
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लखीमपुर जिले की घटना के बाद आये सियासी भूचाल के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना की निष्पक्ष जांच और अफवाह से बचाव के लिये सोशल मीडिया पर पैनी निगाह रखने के निर्देश दिये हैं।
आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि सरकार घटना में मारे गये लोगों के परिजनों के साथ खड़ी है और उन्हे पूरा न्याय दिलाया जायेगा।  योगी ने लखीमपुर खीरी जिले में हालात नहीं बिगड़ने देने के लिये सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश अधिकारियों को दिये है।
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी से बातचीत में  योगी ने कहा कि आवेश में हुयी हिंसा से दोनो पक्षों को नुकसान हुआ है। सरकार पीडितों के साथ खड़ी है और घटना के जिम्मेदार तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री ने हालात सामान्य करने के लिए ज्यादा फोर्स लगाने के निर्देश दिये है। ताकि शरारती तत्वों को किसी भी हरकत का मौका न मिले। घटना की जांच निष्पक्ष तरीके से जांच होनी चाहिए, जिसकी ओर से पहली गलती की गयी है, उसे ही घटना का जिम्मेदार माना जायेगा।

इजाजत नहीं मिलने पर दिल्ली रवाना हुएं सीएम

हरिओम उपाध्याय      
लखनऊ। लखनऊ आने की इजाजत नहीं मिलने पर आज सीएम भूपेश बघेल दिल्ली रवाना हो गए। दिल्ली रवाना होने से पहले सीएम भूपेश बघेल ने यूपी सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए और कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार को तत्काल बर्खास्त कर देना चाहिए। माना जा रहा है कि सीएम बघेल की पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ बैठक हो सकती है। इसमें यूपी में कार्यक्रमों पर चर्चा होगी। दोपहर दिल्ली पहुंचने के बाद पार्टी के सीनियर नेताओं के साथ बैठक कर यूपी चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेंगे।
इससे पहले सीएम सीएम बघेल का लखनऊ दौरा स्थगित हो गया है। वहां लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत का मामला गरमा हुआ है, और सीएम लखीमपुर खीरी जाने वाले थे, लेकिन यूपी सरकार ने उन्हें लखनऊ में आने की इजाजत नहीं दी।

एटीएम के द्वारा भी ऑनलाइन खरीददारी में छूट दीं

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। इस फेस्टिव सीजन में आपके लिए सुनहरा मौका लेकर आया है। अगर आप भी एक ड्रीम कार के बारे में सोच रहे हैं और आपके पास प्रोसेसिंग फीस व इंटरेस्‍ट रेट चुकाने के पैसे कम है तो एसबीआई के इस ऑफर के बारे में जानना चाहिए। स्‍टेट बैंक कार लोन कम इंटरेस्‍ट रेट दे रहा है। इस ऑफर की खास बात है कि इस लोन की प्रोसेसिंग फीस नहीं देनी है। इसके अलावा अगर आप अन्‍य किसी चीज की भी खरीदारी करना चाहते हैं तो एसबीआई के एटीएम के द्वारा भी ऑनलाइन खरीददारी में छूट दी जा रहीं है।
एसबीआई कार लोन 7.75 प्रतिशत की ब्याज दर पर उपलब्ध है, लेकिन अगर आप इसे योनो के माध्‍यम से आवेदन करते हैं तो आपको 0.50 प्रतिशत की अतिरिक्‍त छूट दी जाती है। यानी आपको अब इंटरेस्‍ट रेट 7.25 फीसदी हो जाती है। SBI कार लोन की अवधि तीन से सात वर्ष तक होती है। 21 से 67 वर्ष के आयु वर्ग का कोई भी व्यक्ति एसबीआई कार लोन के लिए आवेदन कर सकता है।
ग्राहक कार लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए लिंक पर क्लिक कर सकते हैं। इसके बाद आवश्यक विवरण भरें। पात्रता की जांच करें और लोन कोटेशन प्राप्त करें।

मुफ्त में इलाज के लिए आयुष्‍मान कार्ड योजना शुरू

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। आयुष्‍मान योजना के तहत कामगारों के लिए बड़ी राहत की बात सामने आई है। ई श्रम पोर्टल पर रजिस्‍ट्रेशन होते ही कामगारों को योजना का तुरंत लाभ मिलेगा। अभी तक रजिस्‍ट्रेशन के एक माह बाद इस योजना के तहत सुविधा दी जा रही है। इतना ही नहीं कामगार एक बार अगर रजिस्‍ट्रेशन करा लेते हैं तो बाद में इस योजना के तहत देश में कहीं भी इलाज करा सकते हैं। रजिस्‍ट्रेशन के दौरान ही 12 अंकों का यूएन नंबर दिया जाएगा। जिसके बाद इस यूएन नंबर से कहीं भी इलाज कराया जा सकेगा।
गरीब परिवारों को मुफ्त में इलाज देनें के लिए केंद्र सरकार ने आयुष्‍मान कार्ड योजना शुरू की है। जिसके तहत सालाना पांच लाख तक का मुफ्त इलाज गरीब परिवारों को दिया जाता है। लेकिन इसके लिए आपको आयुष्‍मान योजना का पात्र होना होता है, जिसके बाद आयुष्‍मान कार्ड योजना विभाग की ओर से जारी किया जाता है। रजिस्‍ट्रेशन होने व कार्ड बनने के बाद कहीं भी व और उसका परिवार मुफ्त में इलाज करा सकते हैं। आइए जानते हैं, वह पूरी प्रक्रिया जिसके तहत आयुष्‍मान कार्ड योजना का लाभ लिया जा सकता है।
सबसे पहले प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
आप 14555 और 1800111565 हेल्पलाइन नंबरों पर कॉल करके भी चेक कर सकते हैं।
ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए छह कैटेगरी में से कम से कम एक में आना जरूरी है। कच्ची दीवारों और कच्ची छत के साथ केवल एक कमरा हो, 16 से 59 साल की उम्र के बीच कोई वयस्क नहीं हो, जिन परिवारों में 16 से 59 साल की उम्र के बीच कोई वयस्क पुरुष सदस्य मौजूद नहीं है। दिव्यांग सदस्य, अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति परिवार, भूमिहीन परिवार, जिनकी आय का बड़ा हिस्सा कैजुअल लेबर से आ रहा है। इन लोगों को योजना का लाभ मिलता है।
इसके अलावा शहरी इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए, स्कीम में कर्मचारियों को 11 कामकाज की कैटेगरी में बांटा गया है। कूड़ा उठाने वाला, भिखारी, घरेलू कर्मी, रेहड़ी-पटरी वाले, फेरीवाले या सड़कों पर कोई दूसरा काम करने वाले कंस्ट्रक्शन वर्कर, प्लंबर, लेर, वेलडर, सिक्योरिटी गार्ड, कुली, स्वीपर, सैनिटेशन वर्कर, माली, हैंडिक्राफ्ट वर्कर, टेलर, ट्रांसपोर्ट वर्कर, ड्राइवर, कंडक्टर, ड्राइवर का हेल्पर, रिक्शा खींचने वाला, दुकान का कर्मचारी, असिस्टेंट, छोटे प्रतिष्ठान में पियून, हेल्पर, डिलीवरी असिस्टेंट, अटेंडेंट, वेटर, इलेक्ट्रिशियन, मैकेनिक, असेंबलर, रिपेयर वर्कर, वॉशर मैन, चौकीदार आदि को योजना का लाभ मिलता है।

पटाखे फोड़ने और बेचने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया

नरेश राघानी             
जयपुर। गहलोत सरकार ने राजस्थान में 1 अक्टूबर से 31 जनवरी 2022 तक सभी तरह के पटाखे फोड़ने और बेचने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। गृह विभाग ने गुरुवार को इस संबंध में आदेश जारी किया। सरकार ने कोरोना महामारी  के चलते मरीजों को होने वाली दिक्कत के चलते यह फैसला लिया गया है।
आदेश में कहा गया है कि कई विशेषज्ञों ने कोविड -19 के मामलों में बढ़ोतरी और तीसरी लहर का संकेत दिया है। अब त्यौहारी सीजन के चलते पटाखों को फोड़कर बड़े पैमाने पर समारोहों के परिणामस्वरूप न केवल सोशल डिस्टेंसिंग की गाइडलाइन का उल्लंघन होगा, बल्कि उच्च स्तर का वायु प्रदूषण भी दिल्ली में गंभीर स्वास्थ्य मुद्दों को जन्म देगा।
आगे कहा गया, वायु प्रदूषण और श्वसन संक्रमण के बीच महत्वपूर्ण संबंध को देखते हुए, कोविड-19 संकट के तहत पटाखे फोड़ना बड़े सामुदायिक स्वास्थ्य के लिए अनुकूल नहीं है। पिछले साल भी कोरोना से संकमित व्यक्तियों को आतिशबाजी से होने वाले वायु प्रदूषण से श्वसन तंत्र में होने वाली संभावित खराबी के कारण आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया गया था।

 

कोरोना वैक्सीनेशन प्रोग्राम को तेजी से आगे बढ़ाया

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्लीे। देश में कोरोना की जंग जीतने के लिए कोरोना वैक्सीनेशन प्रोग्राम को तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है। अभी तक देश में 18 साल के ऊपर के लोगों को ही कोरोना वैक्सीहन लगाई जा रही है। अब हर किसी को बच्चों की कोरोना वैक्सीीन का इंतजार है। बच्चो की कोरोना वैक्सी्न को बहुत जल्द मंजूरी दी जा सकती है। दरअसल भारत में विकसित की जा रही कोविड-19 वैक्सी न कोवैक्सिन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक ने शनिवार को डीसीजीआई को 2-18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों के लिए परीक्षण डाटा भेजा है। 
भारत बायोटेक के प्रबंध निदेशक डॉ. कृष्णा एला ने बताया कि सिंतबर के महीने में  की कोरोना वैक्सी‍न का फेज-2 और फेज-3 का ट्रायल पूरा किया गया था और अब डीसीजीआई की मंजूरी के लिए ट्रायल डाटा जमा किया गया है। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है क‍ि विश्व स्वस्थ्य  संगठन की ओर से भारत बायोटेक के कोवैक्‍सीन के लिए अंतिम।
अप्रूवल इस महीने के आखिर तक मिल सकता है।
डॉ. कृष्णा एला ने कहा कि कंपनी ने वैक्‍सीन से जड़ा सभी डाटा डब्यूतक एचओ को सौंप दिया है। बता दें कि भारत बायोटेक की अन्य वैक्सी‍न को मंजूरी मिल चुकी है। बता दें कि जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन को भारत में 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों को लगाने की मंजूरी दी जा चुकी है।



केंद्रीय मंत्री अजय के बेटे पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप

आदर्श श्रीवास्तव         
लखीमपुर खीरी। नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को रविवार को दो कार ने रौंद दी।जिससे 8 लोगों की मौत हो गई। किसानों ने यूपी के लखीमपुर खीरी में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप लगाया है। आक्रोशित भीड़ ने 2 कारों में आग लगा दी। किसानों ने प्रशासन के सामने चार मांगें रखी है। पहली मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त किया जाए, अजय मिश्रा के बेटे को गिरफ्तार किया जाए, तीसरी मृतकों के परिजन को एक-एक करोड़ का मुआवजा मिले और चौथी मृतकों के परिजन को सरकारी नौकरी मिले। उत्‍तर प्रदेश में सियासत अचानक गरम हो गई है प्रदेश में अगले साल चुनाव से पहले लखीमपुर कि घटना ने विपक्ष को भाजपा सरकार को घेरने का मौका दे दिया है। आज लखीमपुर खीरी में विपक्षी दलों के नेताओं का जमावड़ा देखने को मिल सकता है। केंद्र सरकार के तीन कृषि कानून के विरोध में किसानों का प्रदर्शन पहले ही तीखा हो गया था, अब इसे और धार मिलने के आसार हैं। हर दल राजनीतिक रोटियां सेंकने की फिराक में है। प्रियंंका गांधी वाड्रा, राहुल गांधी, भूपेश बघेल, अखिलेश यादव, चंद्रशेखर आजाद रावण, सतीश मिश्रा, राकेश टिकैत समेत विपक्षी दलों के तमाम नेताओं ने लखीमपुर खीरी पहुंचने का ऐलान किया है।
यूपी के लखीमपुर खीरी में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के वहां पहुंचने से पहले ही रविवार वहां बड़ा बवाल हो गया। लखीमपुर खीरी में तिकुनिया के पास किसान, केशव प्रसाद मौर्य को काले झंडे दिखाने के लिए खड़े हो गए। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच बवाल शुरू हो गया और देखते ही देखते यह हिंसक हो गया। आरोप है कि इस दौरान किसानों पर गाड़ी चढ़ा दी गई. वहीं गुस्साए किसानों ने गाड़ियों में आग लगा दी। इस पूरे मामले पर यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव समेत विपक्ष के तमाम नेताओं ने सरकार पर हमला बोला है। अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि कृषि कानूनों का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे किसानों को भाजपा सरकार के गृह राज्यमंत्री के पुत्र द्वारा, गाड़ी से रौंदना घोर अमानवीय और क्रूर कृत्य है। प्रदेश भाजपाइयों का ज़ुल्म अब और नहीं सहेगा। यही हाल रहा तो उप्र में भाजपाई न गाड़ी से चल पाएंगे, न उतर पाएंगे।
किसान अपनी मांगों को लेकर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर किसान डटे हुए हैं तो वहीं यूपी में हर जिले में किसान महा पंचायत का आयोजन किया जा रहा है। लखीमपुर खीरी मामले में मायावती, प्रियंका गांधी वाड्रा, राहुल गांधी सहित विपक्ष के तमाम बड़े नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है। प्रियंका गांधी ने आज लखीमपुर खीरी जाने का ऐलान किया है।
वहीं इस पूरी घटना पर भारतीय किसान यूनियन के नेता व प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों के ऊपर गाड़ियां चढ़ाई गईं। फायरिंग की गई है और कई लोगों के मरने की खबर है। राकेश टिकैत ने कहा कि वो लखीमपुर के लिए निकल रहे हैं।
मामला बढ़ता देख सीएम योगी आदित्याथ के आदेश पर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार मौके के लिए रवाना कर दिया था। बताया जा रहा है कि पीएसी की 3 कम्पनी भी मौके पर भेज दी गई है वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद अपने आगामी कार्यक्रम रद्द कर गोरखपुर से लखनऊ लौट आएं वही लखीमपुर मे देर रात से सभी इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।
लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में किसानों समेत आठ की मौत के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष समेत 14 लोगों के खिलाफ तिकुनिया पुलिस थाने में हत्या साजिश रचने और बलवे के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। किसानों ने प्रशासन के सामने 4 बड़ी मांग रखी है। मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त किया जाए, अजय मिश्रा के बेटे को गिरफ्तार किया जाए, मृतकों के परिजन को 1-1 करोड़ का मुआवजा मिले और मृतकों के परिजन को सरकारी नौकरी मिले। 
खीरी तिकुनिया जा रहे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को हाउस अरेस्ट किया गया है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को पुलिस टीमों ने सीतापुर के पास से हिरासत में ले लिया। प्रियंका गांधी की पुलिस अधिकारियों के साथ तीखी नोकझोंक हुई उन्होंने कहा कि वह कोई अपराध करने नहीं जा रही हैं। उन्हें तिकुनिया जाने से क्यों रोका जा रहा है। पीड़ित परिवारों से मिलने और उनका दर्द साझा करने के लिए जा रही हैं। लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें आगे नहीं जाने दिया गया।


दिल्ली कैपिटल्स ने 12 मैचों में 9 जीत हासिल की

आबुधाबी। इंटरनेशनल स्टेडियम की पिच बल्लेबाजी के लिए अनुकूल है। लेकिन शुरुआत में गेंदबाजों के लिए भी मदद है। टॉस जीतकर अगर टीमें पहले बल्लेबाजी का फैसला लेती हैं तो उन्हें 170 से ऊपर के स्कोर पर नज़रें रखनी होगी। 
आईपीएल 2021 में चेन्नई सुपरकिंग्स का फॉर्म शानदार है और वह 12 मैचों में 9 जीत के साथ पहले स्थान पर हैं, वहीं दिल्ली कैपिटल्स ने भी 12 मैचों में 9 जीत हासिल की है। लेकिन नेट रन रेट के मामले में चेन्नई के पीछे दूसरे स्थान पर है। ऋषभ पंत (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन, श्रेयस अय्यर, अमित मिश्रा, आवेश खान, अक्षर पटेल, इशांत शर्मा, कगिसो रबाडा, पृथ्वी शॉ, रविचंद्रन अश्विन, ललित यादव, मार्कस स्टोइनिस, शिमरोन हेटमायर, बेन ड्वारशुइस, एनरिक नॉर्टजे, स्टीव स्मिथ, उमेश यादव, रिपल पटेल, लुकमान मेरीवाला, टॉम करन, सैम बिलिंग्स, प्रवीन दुबे, विष्णु विनोद, कुलवंत खेजरोलिया
महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), सुरेश रैना, एन जगदीशन, ऋतुराज गायकवाड़, केएम आसिफ, कर्ण शर्मा, अम्बाती रायडू, दीपक चाहर, फाफ डू प्लेसी, शार्दुल ठाकुर, मिचेल सैंटनर, ड्वेन ब्रावो, लुंगी एनगीडी, सैम करन, रविंद्र जडेजा, इमरान ताहिर, रॉबिन उथप्पा, मोईन अली, कृष्णप्पा गौतम, चेतेश्वर पुजारा, एम हरिशंकर रेड्डी, के भगत वर्मा, सी हरी निशांत, आर साई किशोर, जोश हेजलवुड। ऋषभ पंत (कप्तान), शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, श्रेयस अय्यर, शिमरोन हेटमायर, अक्षर पटेल, ललित यादव, रविचंद्रन अश्विन, आवेश खान, एनरिक नॉर्टजे, कगिसो रबाडा।


लखीमपुर खीरी में हुई घटना से 10 लोगों की मौंत

आदर्श श्रीवास्तव            
लखीमपुर खीरी। लखीमपुर खीरी में हुई घटना से सियासत भी गर्मा गई है। इस हादसे में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी हैं। इस मामले पर नेताओं के ट्वीट आ रहे हैं। इसी बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं लोकसभा सांसद वरूण गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट से बीजेपी का नाम हटा लिया है।
बता दें कि वरूण गांधी भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य और पार्टी के इतिहास में सबसे युवा राष्ट्रीय महासचिव हैं। वरूण गांधी भारतीय संसद के निम्न सदन लोकसभा के पीलीभीत लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से सदस्य हैं। इससे पूर्व में वह 16वीं लोकसभा में सुलतानपुर (कुशभवनपुर) लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से सांसद रह चुके हैं। वरूण गांधी ने अपनी मां मेनका गांधी के साथ 2008 में भाजपा की सदस्यता प्राप्त की।

केंन्द्रों में शिविर लगाकर लोगों का टीकाकरण कराया

अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीनेशन से छूटे लोगों को देखते हुए नगर पंचायत प्रशासन ने नगर के सभी वार्डों में पुनः निर्धारित केंन्द्रों में शिविर लगाकर लोगों का टीकाकरण कराया जायेगा। उक्त टीकाकरण केन्द्रों का शुभारंभ आज वार्ड नम्बर तीन स्थित हनुमान मंदिर से किया जायेगा।
जानकारी देते हुए नगर पंचायत कि अधिशासी अधिकारी राजू नाबियल ने बताया कि कोरोना टीकाकरण से छूटे लोगों को देखते हुए नगर पंचायत के विभिन्न वार्डो में जगह-जगह शिविर लगाकर टीकाकरण कराया जायेगा, शिविर में दोनों ही टीकाकरण कराए जाएंगे।उन्होंने कोरोना के खिलाफ लोगों को एकजुट होकर लड़ने के साथ हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया। उन्होंने कहा कि शिविर नगर के हर वार्ड में पुनः लगाए जा रहे हैं जिससे टीकाकरण से छूटे लोगों को परेशानी न हो और उनको आराम से वैक्सीन लग सके ताकि सभी को इसका लाभ मिले सके। उन्होंने लोगों से अधिक से अधिक सख्या में पहुंच कर टीकाकरण लगवाने की अपील की है।

सीएम योगी का पुतला फूंकते हुए इस्तीफे की मांग

आदर्श श्रीवास्तव           
लखीमपुर खीरी। यूपी के लखीमपुर खीरी में भाजपा नेताओं की गाड़ी से कुचले गए किसानों के मामले में आज यूपी समेत पूरे उत्तराखंड में कांग्रेस पार्टी यूपी की योगी सरकार का जमकर विरोध कर रही है, तो वही आज हल्द्वानी में भी यूपी की योगी सरकार के विरुद्ध कांग्रेस सड़कों पर एकजुट होकर जमकर विरोध प्रदर्शन करते हुए नजर आई इस दौरान कांग्रेस ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पूतला फूंकते हुए उनके इस्तीफा की मांग की है।
साथ ही तिकोनिया चौराहा से लेकर कोतवाली हल्द्वानी तक पैदल मार्च कर के कांग्रेसियों ने हल्द्वानी कोतवाली में भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन करते हुए अपनी गिरफ्तारी भी दी। इस दौरान कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता दीपक ब्ल्युटिया उत्तराखंड कांग्रेस की मीडिया प्रभारी जरीता लैफ्तलांग ने कहा की यूपी की योगी सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पूरी तरह से तानाशाही पर उतर चुकी हैं,
जिस तरह से किसानों को लखीमपुर खीरी में भाजपा नेताओं की गाड़ी से कुचला गया वो नरसंहार कोई नहीं भूल सकता है, प्रदेश की योगी सरकार ने जिस तरह से किसानों के साथ बर्बरता दिखाई है उसको किसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलेगा कांग्रेस पार्टी हर तरीके से किसानों के समर्थन में खड़ी है और किसान आंदोलन में पूरा समर्थन कांग्रेस पार्टी और उनके नेताओं का किसानों के साथ है।

यूपी: कुछ और राहत देने की तैयारी में हैं सरकार

पंकज कपूर      
देहरादून। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर स्थिति नियंत्रण में होने के बाद सरकार अब प्रदेश में लागू कोविड कर्फ्यू में कुछ और राहत देने की तैयारी में है। इसके तहत विवाह समारोह में शामिल होने के लिए कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता से छूट दी जा सकती है।
साथ ही शवयात्रा में अधिकतम 50 व्यक्तियों के ही शामिल होने की बंदिश से छूट देने पर विचार किया जा रहा है। इसके अलावा चारधाम यात्रा के लिए अब सिर्फ देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड में ही पंजीकरण का प्रविधान किया जा सकता है। राज्य में दो हफ्ते आगे बढ़ाए जा रहे कोविड कर्फ्यू में ये रियायत दी जा सकती हैं। कर्फ्यू की मानक प्रचालन कार्यविधि (एसओपी) आज सोमवार को जारी होगी प्रदेश में लागू कोविड कर्फ्यू की अवधि मंगलवार सुबह छह बजे समाप्त हो रही है।
हालांकि, अब कोरोना संक्रमण के नए मामले 10 से 15 के बीच ही आ रहे हैं, लेकिन सरकार कर्फ्यू को फिलहाल जारी रखने के पक्ष में है।
अलबत्ता, त्योहारी सीजन और शादी-ब्याह के सायों को देखते हुए कर्फ्यू में कुछ और रियायत देने के लिए खाका खींच लिया गया है। सूत्रों के मुताबिक त्योहारी सीजन के मद्देनजर बाजार खुलने की अवधि एक घंटे बढ़ाई जा सकती है। वर्तमान में बाजार सुबह आठ से रात्रि नौ बजे तक खुल रहे हैंवर्तमान में लागू कर्फ्यू की एसओपी में विवाह समारोह में विवाह स्थल अथवा वेडिंग प्वाइंट की क्षमता के 50 फीसद व्यक्तियों को सम्मिलित होने की इजाजत है।
इसके साथ विवाह में शामिल होने वाले व्यक्तियों के लिए कोविड वैक्सीनेशन की दोनों डोज का प्रमाणपत्र अथवा कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य है। अब जबकि कोरोना संक्रमण के मामले बेहद कम हो गए हैं तो विवाह में शामिल होने को कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट से छूट दी जा सकती है।
सूत्रों ने बताया कि प्रदेश में चारधाम यात्रा के लिए पंजीकरण को लेकर उत्पन्न हो रही गफलत की स्थिति भी एसओपी में दूर की जाएगी। वर्तमान में अन्य राज्यों से उत्तराखंड आने वालों के लिए देहरादून स्मार्ट सिटी पोर्टल पर पंजीकरण अनिवार्य है। इस बीच राज्य में चारधाम यात्रा शुरू होने पर इसके लिए देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ई-पास जारी कर रहा है। पंजीकरण व ई-पास के लिए एक ही तरह अभिलेख पोर्टल पर अपलोड कराए जा रहे हैं। अब ये प्रविधान किया जा रहा है कि चारधाम यात्रा के लिए सिर्फ देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के पोर्टल पर ही पंजीकरण होगा। सूत्रों के अनुसार सोमवार को होने वाली उच्च स्तरीय बैठक में इन सभी बिंदुओं पर मुहर लगने की संभावना है।


नेता प्रतिपक्ष ने रक्षामंत्री के बयान पर कटाक्ष किया

पंकज कपूर        
देहरादून। नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के उस बयान पर कटाक्ष किया है। जिसमें राजनाथ सिंह ने उत्तराखण्ड के सीएम पुष्कर धामी को धाकड़ बल्लेबाज कहा था। अब प्रीतम सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री पुष्कर धामी टेस्ट मैच के अंतिम खिलाड़ी हैं और उन्हें समय काटने के लिए आखिरी ओवरों में भेजा गया है ऐसे खिलाड़ी को नाइटवॉचमैन कहा जाता है , प्रीतम सिंह ने कहा कि आगामी चुनावों में जनता सिर्फ धामी का ही मूल्यांकन नहीं करेगी बल्कि पूर्व में बदले गए दो मुख्यमंत्रियों त्रिवेंद्र सिंह रावत और तीरथ सिंह रावत के कार्यकाल और 5 साल में सरकार के कामों को भी जरूर देखेगी और इन सब को देखकर नहीं लगता कि भारतीय जनता पार्टी सत्ता में वापस लौटेंगी।

हत्या करने के केस में दो आरोपियों को अरेस्ट किया

संदीप मिश्र        
बरेली। सपा नेता यूनुस गद्दी के भाई आदिल गद्दी की सरेआम गोली मारकर हत्या करने के मामले में किला पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूछताछ में दोनों आरोपियों ने हत्या की बात स्वीकार कर ली है। उन्होंने गोली मारने वाले का नाम भी बताया है।
किला थाना क्षेत्र के जसोली निवासी डेयरी संचालक आदिल गद्दी की 1 अक्टूबर की देर शाम सरेआम सीने में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। आदिल के भाई यूनूस गद्दी की तहरीर पर किला पुलिस ने जसोली के रहने वाले पांच आरोपियों अंजुम, अनम, फरीदी, सलीम व एनुल के खिलाफ हत्या, समेत कई गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की थी।
जांच के दौरान वारदात से दो दिन पहले आदिल व अंजुम के बीच झगड़ा-फसाद होने की बात सामने आई थी। जिसमें किला पुलिस द्वारा दोनों पक्षों में समझौता करा दिया गया था। हालांकि अंजुम पक्ष ने दो दिन बाद ही दोबारा आदिल को रास्ते में उस समय रोक कर झगड़ा शुरू कर दिया जब वह अपने दोस्त के साथ होटल से खाना लेकर वापस आ रहा था। झगड़े के दौरान अंजुम ने आदिल के सीने से सटाकर गोली मार दी। वहीं आदिल के साथी नदीम के सिर पर तमंचे की बट से हमला कर उसे भी लहूलुहान कर दिया था।
वहीं हत्याकांड के तीन दिन बाद किला पुलिस ने अनम व सलीम दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं अनम और सलीम ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि हत्या वाले दिन वह और उनके अन्य साथी शराब के नशे में थे। विवाद के दौरान पहले आदिल और नदीम की जमकर पिटाई की उसके बाद अंजुम ने आदिल गद्दी के सीने में गोली उतार दी। वहीं अन्य आरोपियों के बारे में पूछने पर उनकी कोई जानकारी न होने की बात कही।
आदिल की हत्या में शामिल अनम और सलीम को गिरफ्तार कर लिया गया है, बाकी फरार आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यूपी: जर्जर हालत में है रोडवेज की अधिकतर बसें

संदीप मिश्र          
बरेली। रोडवेज की अधिकतर बसें जर्जर हालत में है। कई बसों से फ‌र्स्ट एड बॉक्स भी गायब है। वही बसों में अंदर से सीटें भी फटी हुई हैं। अधिकारियों के दावे हवा-हवाई साबित हो रहे हैं। इससे कभी भी अपातकाल में रोडवेज की बसों में सफर कर रहे यात्रियों की जान मुसीबत में पड़ सकती है। लेकिन जिम्मेदार अधिकारी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे है। रोडवेज बसों में यात्रियों की सुविधा, सुरक्षा के नाम पर सभी प्रकार के मानकों की अनदेखी की जा रही है। अधिकतर बसों से अग्निशमन यंत्र के साथ फ‌र्स्ट एड बॉक्स भी नदारद हैं। यात्रियों को सुविधा के नाम पर केवल बैठने के लिए फटी-टूटी सीटें मिलती हैं। जबकि नियमानुसार प्रत्येक बस में आपात स्थित से निपटने के लिए अग्निशमन यंत्र, यात्री को अचानक फ‌र्स्ट एड बॉक्स इत्यादि की सुविधाएं मुहैया करवाना जरूरी है।
आधे से अधिक बसों में अग्निशमन यंत्र पूरी तरह से गायब है या उनकी तारीख एक्सपायर हो चुकी है, जिसके चलते आपात स्थिति में उनका प्रयोग किया जाना संभव नहीं है। कुछ नई बसों को छोड़ दिया जाए तो अधिकतर बसों की सीटें काफी जर्जर हो चुकी हैं। वही जर्जर हो चुकी खिड़कियों, हिलते शीशे को भी ठीक करने का प्रयास भी नहीं किया गया है। इस बारे में एआरएम आरके त्रिपाठी ने बताया कि अधिकतर बसें सही हालत में सड़क पर दौड़ रही हैं, अगर कुछ बसों में दिक्कत है तो उन्हें सही कराया जाएगा।


सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-415 (साल-02)
2. मंगलवार, अक्टूबर 5, 2021
3. शक-1984,सावन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-अमावस्या, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त 06:13।
5. न्‍यूनतम तापमान -26 डी.सै., अधिकतम-35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया आदर्श श्रीवास्तव लखीमपुर खीरी। अपनी बदहाली सेे लडता किसान गणतंत्र की गहरी खाई में जा पहुंचा हैं। मध-म...