बुधवार, 13 नवंबर 2019

मंदिर निर्माण में गुजर प्रतिनिधि रखेंगे

एसएल कश्यप
सहारनपुर। गृहमंत्री अमित शाह से अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण को बनाये जाने वाले ट्रस्ट में गुर्जर समाज ने अपना प्रतिनिधि रखने की मांग की है। 
गुर्जर नेता वीरेंद्र सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल डीएम आलोक कुमार से मिला और उन्हें गृहमंत्री अमित शाह के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए तीन माह के अंदर एक ट्रस्ट बनाये जाने के आदेश दिये गये हैं। उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए जाने वाले ट्रस्ट में गुर्जर समाज के प्रतिनिधि को भी शामिल करने की मांग की है। गुर्जर नेता वीरेंद्र सिंह मिरगपुर ने कहा कि अयोध्या में भारतीय पुरातत्व विभाग के निदेशक के.के मोहम्मद द्वारा खुदाई में मिले अवशेषों द्वारा बताया गया है कि 12 वीं शताब्दी में राम मंदिर गुर्जर प्रतिहार वंश द्वारा निर्मित किया गया था। जिसे सर्वोच्च न्यायालय द्वारा भी माना गया है। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट में गुर्जर समाज का प्रतिनिधि जरूर होना चाहिए। इस मौके पर देवेंद्र कुमार, लोकेश कुमार, अमर सिंह, प्रवीण आदि मौजूद रहे।


मोदी और अमित के दबाव में लिया फैसला

भोपाल। महाराष्ट्र में जारी सियासी धटनाक्रम पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने केन्द्र सरकार पर हमला बोला है। मंगलवार को राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पSहुंचे थे। यहां उन्होंने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा- महाराष्ट्र के राज्यपाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के दवाब में आकर राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की है। वहीं, उन्होंने शिवसेना को लेकर भी बड़ा बयान दिया है।
राज्यपाल ने अपनाई थी सही प्रक्रिया: दिग्विजय सिंह ने कहा- महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सरकार के गठन के लिए सही प्रक्रिया अपनाई थी। उन्होंने परिणाम आने के बाद पहले इंतजार किया। फिर उन्होंने प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया। उसके बाद उन्होंने प्रदेश की दूसरी और फिर तीसरी बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया। लेकिन जब राज्यपाल ने राकांपा को मंगलवार रात 8.30 बजे तक का वक्त दिया है तो फिर उन्होंने समय पूरा होने से पहले ही राष्टपति शासन की सिफारिश क्यों कर दी। निश्चित तौर पर प्रधानमंत्री और अमित शाह के दबाव के कारण उन्होंने यह फैसला लिया है और कांग्रेस को इस फैसले पर आपत्ति है। हालांकि पार्टियों को कितना समय देना है और कितना नहीं इस मामले में दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह राज्यपाल के विवेक पर निर्भर करता है कि वह किस दल का कितना समय देते हैं।
 
शिवसेना बदल रही है: वहीं, जब दिग्विजय सिंह से पूछा गया कि शिवसेना की विचारधारा कांग्रेस और राकांपा से अलग है तो फिर कांग्रेस उसे समर्थन क्यों दे रही है। इस सवाल के जबाव में दिग्विजय सिंह ने कहा- बिल्कुल शिवसेना की विचारधारा कांग्रेस और राकांपा से अलग है। लेकिन हाल के दिनों में शिवसेना में बदलाव हुआ है। महाराष्ट्र कांग्रेस ने सोच समझ कर समर्थन देने का निर्णय लिया है। दिग्विजय सिंह ने कहा- शिवसेना के साथ भाजपा ने वादाखिलाफी की है। 50-50 के फार्मूले पर गठबंधन तय हुआ था और दोनों दल साथ लड़े। महाराष्ट्र में इन्हें जीत भी मिली लेकिन भाजपा अपने वादे से मुकर गई। शिवसेना के नेता लगातार ढाई-ढाई साल के सीएम होने की बात कर रहे हैं जबकि अमित शाह खामोश हैं इसका मतलब है कि दोनों के बीच फार्मूला तय हुआ था।


पाकिस्तान की समझ में आया आतंकवाद

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में महंगाई तो पहले ही अपना रिकार्ड तोड़ चुकी है, अब स्थिति यह हो गई है कि लोगों में इसका आतंक व्याप्त हो चुका है। दूध-दही या मटन अपनी जगह, अब तो रोजाना इस्तेमाल में आने वाली आम सब्जियां भी किसी नेमत से कम नहीं रह गई हैं। स्थिति यह है कि रोजमर्रा इस्तेमाल में आने वाली 51 वस्तुओं में से 43 के दाम में बीते साल की समान अवधि की तुलना में बीते हफ्ते 289 फीसदी तक का इजाफा हुआ है। स्थिति की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पाकिस्तान (Pakistan) में टमाटर तो 200 से 300 रुपये किलो तक बिक ही रहा था, अब इस सीजन की सामान्य सब्जी गोभी भी यहां डेढ़ सौ रुपये किलो तक बिक रही है। अदरक का हाल यह है कि अगर इसे कोई एक किलो खरीदना चाहे तो उसे जेब से पूरे 500 रुपये निकालने होंगे। प्याज 200 रुपये किलो मिल रहा है जबकि एक किलो चीनी अभी 90 रुपये में मिल रही है।
अखबार 'जंग' की रिपोर्ट में बताया गया है कि पाकिस्तान (Pakistan) के इतिहास में पहली बार यह दिन आया है। जब कराची में टमाटर तीन सौ रुपये किलो तक पहुंच गया हैै। टमाटर की थोक कीमत ही 200 रुपये किलो से अधिक है। रिपोर्ट में बताया गया है कि टमाटर की इस कीमत की वजह देश में इसके पैदावार में कमी और पड़ोसी ईरान व अफगानिस्तान से इसकी कम आवक हैै।
रिपोर्ट में बताया गया है कि महंगाई के दानव ने किस तरह से अपने गिरफ्त में लोगों को जकड़ रखा है, इसे इस बात से समझा जा सकता है कि बीते एक साल की समान अवधि की तुलना में बीते हफ्ते रोजमर्रा इस्तेमाल में आने वाली 51 वस्तुओं में से 43 के दाम में 289 फीसदी तक का इजाफा हुआ हैै।
रिपोर्ट में बताया गया है कि फलों के दाम में भी ऐसी ही आग लगी हुई है। बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा में इस वक्त एक किलो पपीता 160 रुपये में मिल रहा हैै। एक दर्जन केले के लिए 120 रुपये खर्च करने पड़ रहे हैं। सेब, नाशपाती, अनार किसी भी फल का ऐसा ही हाल हैै। समस्या सिर्फ शाकाहार की ही नहीं है। मांसाहारी भी महंगाई से इतने ही त्रस्त हैं। बकरे का एक किलो मांस 900 रुपये किलो में मिल रहा है।
पूरे देश में महंगाई के कारण मचे हाहाकार ने सरकार की नींद उड़ाई हुई हैै। 'डॉन' की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री इमरान खान ने महंगाई पर निगाह रखने के लिए एक विशेष इकाई बनाई है। इमरान के आर्थिक मामलों के सलाहकार अब्दुल हफीज शेख व वित्त मंत्री हम्माद अजहर ने एक प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सरकार महंगाई पर काबू पाने के लिए लगातार कदम उठा रही है।
लेकिन, इसी प्रेस कांफ्रेंस में जब संवाददाताओं ने कहा कि टमाटर तो 300 रुपये किलो तक पहुंच गया है तो अब्दुल हफीज शेख ने कहा, "आप यह कीमत कहां से बता रहे हैं। कराची में तो टमाटर 17 रुपये किलो बिक रहा है।


प्रधान की दिनदहाड़े हत्या से हड़कंप

पटना। अभी-अभी पटना के बिहटा थाना क्षेत्र से एक बड़ी खबर सामने आई है। जहां बेखौफ अपराधियों ने पूर्व मुखिया (पूर्व सरपंच) की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी है। घटना के बाद से इलाके में दहशत और तनाव का माहौल व्याप्त है।
मिली जानकारी के अनुसार बिहटा थाना क्षेत्र के कृष्णा नगर में अपराधियों ने एक पूर्व मुखिया को दिनदहाड़े गोली मार दी। घटना में गंभीर रुप से घायल पूर्व मुखिया को इलाज के लिए अस्पताल ले जाएया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है। मृतक का नाम संजय राम था और वह तिशखोरा पंचायत का मुखिया रह चुका था।
घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच मामले की जांच में जुटी है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने मौके से एक देशी पिस्टल बरामद किया है। अपराधियों की अबतक पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस मामले की जांच और अपराधियों की धड़-पकड़ के लिए छापेमारी में जुटी है। इधर घटना के बाद से इलाके में दहशत और तनाव व्याप्त है।


ओवैसी पर उन्माद फैलाने का मामला दर्ज

हाथरस। भाजपा के नगराध्यक्ष मोहन पंडित ने सांसद और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसीके खिलाफ तहरीर दी है। उन पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को चुनौती देने और धार्मिक उन्माद फैलाने का भाषण देने का आरोप लगाया है। भाजपा नगर अध्यक्ष के साथ अन्य भाजपाई भी कोतवाली गए। भाजपा के नगराध्यक्ष मोहन पंडित ने कोतवाली प्रभारी प्रवेश राणा को दी तहरीर में कहा है कि अयोध्या विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को असदुद्दीन ओवैसी चुनौती दी है। ओवैसी ने अपने भाषण में कहा है कि मुस्लिम अपने हक के लिए लड़ेंगे। उन्हें मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन खैरात में नहीं चाहिए। तहरीर में कहा गया है कि ओवैसी ने धार्मिक उन्माद फैलाने व जनता को उकसाने का काम किया है।


भाजपा नगराध्यक्ष से रिपोर्ट दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की गई है। उनके साथ जिला महामंत्री संजय सक्सेना, हरीशंकर राना, अशोक गोला, धीरज जैन, नीरज गोस्वामी, दिनेश शर्मा, यश शर्मा, दिलीप चौधरी आदि थे। इस मामले में कोतवाली निरीक्षक प्रवेश राणा का कहना है कि तहरीर मिली है। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर जो कानूनी प्रक्रिया होगी, वह अपनाई जाएगी।


इंजीनियर ने लगाया मैनेजर पर रेप का आरोप

गौतमबुध नगर। नोएडा के एक होटल में महिला इंजीनियर से कथित तौर पर बलात्कार करने के आरोप में पुलिस ने एक बहुराष्ट्रीय कंपनी (एमएनसी) के प्रोजेक्ट मैनेजर को गिरफ्तार किया है।


थाना सेक्टर 20 के प्रभारी निरीक्षक राजवीर सिंह चौहान ने मंगलवार को बताया कि पेशे से इंजीनियर युवती ने छह दिन पूर्व थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। शिकायत में उसने आरोप लगाया कि विवेक कुमार सिंह नामक एक युवक ने सेक्टर-19 में स्थित ओयो कंपनी के होटल में उसके साथ बलात्कार किया।


थाना प्रभारी ने बताया कि मामले की जांच कर रही पुलिस ने मंगलवार को आरोपी विवेक को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद उसे अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी विवेक कुमार सिंह पहले से शादीशुदा है और एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में प्रोजेक्ट मैनेजर के पद पर तैनात है।


तारों की स्पायरिंग से घर का सामान राख

तार की चपेट में आने से घर जलकर राख 
बक्सर l सोमवार की शाम पांच बजे झूलते हुए बिजली तार की चपेट में आने से एक घर राख हो गया । यह घटना चकी प्रखंड क्षेत्र के पांडे डेरा गांव में हुई। पांडेय डेरा गांव के रहने वाले संजय गौड़ पिता बिरजा गौड़ की शाम में हुई। आग में लाखों के मूल्य की संपत्ति जलकर राख हो गई। ग्रामीणों के प्रयास से आग पर काबू पा लिया गया। घटना से पूरा परिवार परेशान हैै। अभी तक सरकारी स्तर पर पीड़ित परिवारों को सहायता उपलब्ध नहीं कराई गई है। ग्रामीणों ने बताया कि सोमवार की शाम घर में खाना बन रहे थे, तभी तार की चिंगारी निकलते हुए, आकर पलानी पर गिर गई ।जिससे किसी तरह झोपड़ीनुमा घर से सभी ने निकलकर अपनी जान बचाई। लेकिन आग की लपटों के बीच टीवी अनाज और कपड़े जलकर राख हो गए, घटना में किसी प्रकार की मानवीय क्षति नहीं हुई। आग पर काबू पा लिया गया।


816 बोरी धान लदी अवैध गाड़ी पकड़ी

बिना कागज 816 बोरी धान लदी गाड़ी पकड़ी गई


व्यापारी पर लगा मंडी शुल्क चोरी का आरोप।


कौशाम्बी। ड्राइवर बूटर सिंह निवासी राजस्थान प्रयागराज के व्यापारी का धान बिहार के फर्जी कागज से सहसों के बभनकुंयाँ नामक स्थान से पंजाब ले जा रहा था जिसे भरवारी की मंडी समिति की टीम कोखराज टोलप्लाज से पकड़ कर कागज दिखाने को कहा जिसे ड्राइवर ने बिहार का फर्जी कागज पकड़ा दिया समिति के लोगों को शंका होने पर बनारस टोल प्लाजा की पर्ची मांगी जो ड्राइवर के पास नही थी ,माल मालिक आकर फर्जी कागजों को फाड़कर  ड्राइवर को गाड़ी भगाने को बोला जिसे  भरवारी की मंडी समिति की टीम ने अझुवा मंडी समिति के प्रभारी गोपाल जी के सहयोग से खागा टोल प्लाजा से पकड़ कर मंडी समिति अझुवा में  माल सहित ट्रक को खड़ी करवाया! मंडी  समिति प्रभारी अझुवा गोपाल जी ने बताया आरोपी व्यापारी से  माल का मंडी शुल्क का 10 गुना सम्मन शुल्क वसूला जाएगा ।


सन्तलाल मौर्य


भाजपा के लिए उत्तराखंड बना,नई चुनौती

देहरादून। बुधवार को विकासनगर स्तिथ जनसंघर्ष मोर्चा के कार्यालय में पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया। जहां पत्रकारों से वार्ता के दौरान जनसंघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष रघुनाथ सिंह ने कहा कि, उत्तराखंड केंद्र शासित प्रदेश में तब्दील हो। क्योंकि माफियाओं का हो गया बोलबाला हत्या, लूट, बलात्कार के मामले में हुई अप्रत्याशित वृद्धि। शिक्षा/चिकित्सा के क्षेत्र में भी भारी गिरावट हो गई। पहाड़ों में भी तेजी से पलायन हो रहा है।


उत्तराखंड प्रदेश हो गया आर्थिक रूप से कंगाल और बेरोजगारी से युवा हो गए बेहाल। सामरिक दृष्टि से स्थिति चिंताजनक है। रेत-बजरी प्रति ट्रक 20-25 हजार में खरीदने को मजबूर है प्रदेशवासी। भ्रष्टाचार के मामले में उत्तराखंड बना देश का नम्बर वन राज्य। जनता को हर छोटे-बड़े काम के लिए जाना पड़ता है न्यायालय की शरण में। अगर यहां विकास के नाम पर कुछ हुआ है तो वह सिर्फ नेताओं का विकास। प्रधान बनने की हैसियत न रखने वाले बने गए सीएम/मंत्री/विधायक। मोर्चा अध्यक्ष नेगी ने यह भी कहा कि, राज्य गठन के 19 वर्षों के कार्यकाल में प्रदेश को अगर कुछ हासिल हुआ है, तो वह सिर्फ नेताओं की फौज। जिन लोगों की हैसियत प्रधान बनने की तक नहीं थी, वह आज मुख्यमंत्री, मंत्री और विधायक बने बैठे है। नतीजा यह हुआ कि, ब्यूरोक्रेट्स इनकी योग्यता को भापकर इनको अपने चाबुक से चलाने लगे, तथा कई मामलों में अधिकारियों ने इन नेताओं से सांठ-गांठ कर ठेकेदारी, मुनाफाखोरी का कार्य आरंभ कर दिया। रघुनाथ ने कहा दुर्भाग्य की बात है कि, राज्य गठन का उद्देश्य प्रदेश में सिर्फ और सिर्फ शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य, सुशासन, सुलभ न्याय आदि तमाम मुद्दों को लेकर हुआ था। पलायन भी बड़ा मुद्दा था, लेकिन जनता को न्याय मिलना तो दूर न्याय के बदले सिर्फ ठोकर ही मिली। राज्य गठन की सारी अवधारणा चूर-चूर होकर रह गई है, तथा प्रदेश में माफियाओं, लुटेरों, बलात्कारियों, जालसाओं का राज स्थापित हो गया है। स्वास्थ्य -शिक्षा के क्षेत्र में इतनी गिरावट आई है कि, हजारों स्कूल अस्पताल बंद हो गए, तथा सरकारी अस्पताल भी भगवान भरोसे चल रहे हैं। प्रदेश में युवाओं को रोजगार मिलना एक दिव्य स्वप्न हो गया है। सुविधाओं के अभाव में बहुत तेजी से पलायन हो रहा है। आलम यह है कि, प्रदेश में माफिया राज स्थापित होने के कारण रेत-बजरी 20-25 हजार प्रति ट्रक बिक रहे हैं। जनता को न्याय पाने के लिए न्यायालय का सहारा लेना पड़ रहा है। ब्यूरोक्रेसी इस कदर हावी है कि, अधिकारी अपने वरिष्ठ अधिकारी की बात मानने को तैयार नहीं है। मोर्चा लगातार प्रदेश की जनता के साथ हो रहे अत्याचारों के खिलाफ मुहिम। पत्रकार वार्ता में जनसंघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी, मोर्चा महासचिव आकाश पंवार, दिलबाग सिंह, मोहम्मद असद, सुशील भारद्वाज आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।


प्रेम-पीगें पढ़ रहे अध्यापक मर्जी के गुलाम

सरकारी बेतन लेने के बाद पढ़ाई छोड़ कर शिक्षक करते है महिला मित्रो से प्रेमालाप


अमुरा प्राथमिक विद्यालय के छात्रों ने खोला शिक्षक के कृत्य का राज


नैतिकता का पाठ पढ़ाने वाले शिक्षक का हुआ नैतिक पतन तो कैसे छात्रों का सँवरे गा भविष्य


कौशांबी। परिषदीय विद्यालयों की गिरती शिक्षा व्यवस्था के कारण स्कूल में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं का भविष्य चौपट हो चुका है और प्रदेश सरकार से मोटा वेतन लेने वाले अध्यापकों का नैतिक पतन इस कदर हो गया है कि स्कूल में छोटे छोटे छात्रों के सामने वह आपने महिला मित्रो से हंसते-बोलते मजाक करते मोबाइल फोन पर देखे सुने जाते हैं। जिसका सीधा असर स्कूली छात्र छात्राओं  के जीवन पर पड़ रहा है। शिक्षक के इस कृत्य को स्कूल में पढ़ने वाले छात्र और छात्राएं हंसकर स्वीकार भी कर रहे हैं। 


राज्य सरकार से मोटा वेतन लेने वाले परिषदीय स्कूल के अध्यापकों के स्कूल आने जाने का कोई समय निश्चित नहीं रह गया है। जब मर्जी हुई काम चोर शिक्षक स्कूल पहुंच गए और जब मर्जी हो गई तो बाइक स्टार्ट की और काम चोर शिक्षक स्कूल से गायब हो गए। जिससे परिषदीय स्कूल की शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो चुकी है।


हकीकत जानने के लिए मंझनपुर विकासखंड स्थित प्राथमिक विद्यालय अमुरा का बुधवार को जनसंदेश टाइम्स टीम ने निरीक्षण किया प्राथमिक स्कूल अमुरा पहुंचने पर देखा गया कि स्कूल के मैदान में लगभग 2 दर्जन छात्र छात्राएं बस्ता लेकर मैदान में टहल टहल कर अध्यापक के आने का इंतजार कर रहे हैं। 


प्राथमिक विद्यालय अमुरा के सभी कक्ष में ताला बंद है और 9:00 बजे खुलने वाले इस स्कूल में 9:30 बजे तक अध्यापक नहीं पहुंच सके हैं। एक भी अध्यापक आधा घंटा विलंब तक स्कूल नहीं पहुंचा है। जिससे शिक्षण कार्य बाधित था लगभग 10:00 बजे एक अध्यापक स्कूल पर आते हैं। और जब उनसे विलंब में आने का कारण पूछा गया तो उन्होंने बड़े ही गर्म जोशी लहजे में कहा कि बेसिक शिक्षा अधिकारी उनके रिश्तेदार हैं और उनकी जब मर्जी होगी तब स्कूल पहुंचेंगे उन्हें शासन प्रशासन शिक्षा अधिकारियों का तनिक भी भय नहीं है।


नैतिकता का पाठ पढ़ाने वाले इन शिक्षकों ने अपनी नैतिकता खूंटी पर टांग दी है अमुरा गांव के प्राथमिक विद्यालय के अध्यापक पर आरोप है कि स्कूल में छात्रों को पढ़ाने में वह मन नही लगाते हैं। बल्कि सरकार का बेतन लेने के बाद अपने महिला मित्रो से पूरे दिन मोबाइल में हंस-हंस कर प्रेमालाप की बात करते हैं।


ऐसे कृत्य करने वाले स्कूल के अध्यापक की निंदा स्कूल के छोटे-छोटे छात्रों ने भी की है। लेकिन अध्यापक की बेशर्मी की हद यह है कि इस अध्यापक के बेशर्मी के कृत उजागर हो जाने के बाद भी अध्यापक को शर्म नहीं आती और स्कूल के छोटे-छोटे छात्र-छात्राओं के सामने अपने महिला सहकर्मी मित्र से मोबाइल पर हंस-हंसकर अश्लील बातें करते हैं। इलाके के लोगों ने ऐसा करने वाले कामचोर अध्यापक को निलंबित करने की मांग शासन प्रशासन से की है। प्रेमालाप में पूरे समय लिप्त रहने वाले इस अध्यापक के कृत्य पर छुट्टी पर होने के चलते बीएसए से बात नही हो सकी। वही बार-बार फोन लगाने के बाद भी खण्ड शिक्षा अधिकारी से बात नही हुई।


सुशील केसरवानी 


विश्व चैंपियन सिंधु ने जीत का किया आवाज

हांगकांग। विश्व चैम्पियन पीवी सिंधू ने जीत के साथ आगाज किया, जबकि भारतीय बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल और समीर वर्मा हांगकांग ओपन के पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गए । पिछले कुछ टूर्नामेंटों में पहले दौर से बाहर हुई सिंधू ने 36 मिनट के भीतर दुनिया की 19वें नंबर की खिलाड़ी कोरिया की किम गा यून को 21 . 15, 21 . 16 से हरा दिया । अब उनका सामना थाईलैंड की बुसानन ओंगबामरूंगफान से होगा । वहीं आठवीं वरीयता प्राप्त साइना पिछले छह टूर्नामेंटों में पांचवीं बार पहले दौर में हारी है । इस साल जनवरी में इंडोनेशिया मास्टर्स जीतने वाली साइना को चीन की केइ यान यान ने लगातार दूसरी बार 21 . 13, 22 . 20 से हराया । पिछले सप्ताह भी वह केइ से हारी थी ।


दुनिया के 16वें नंबर के खिलाड़ी समीर 54 मिनट तक चले मुकाबले में चीनी ताइपै के वांग जू वेइ से 11 . 21, 21 . 13, 8 . 21 से हार गए । यह पहले दौर में उनकी लगातार तीसरी हार है । साइना और समीर दोनों को अगले सप्ताह ग्वांग्झू कोरिया मास्टर्स सुपर 300 टूर्नामेंट खेलना है । साइना पहले गेम से ही केइ की चुनौती के सामने टिक नहीं सकी । चीनी खिलाड़ी ने ब्रेक तक 11 . 4 से बढत बना ली और पहला गेम आसानी से जीत लिया । दूसरे गेम में साइना शुरू में 3 . 0 से आगे थी लेकिन केइ ने लगातार सात अंक लेकर 9 . 4 की बढत बना ली । ब्रेक के बाद उसकी बढत 17 . 11 की हो गई हालांकि साइना ने वापसी करके गेम अंक बनाया लेकिन लय बरकरार नहीं रख सकी । दूसरी ओर समीर ने पहला गेम गंवाने के बाद दूसरे गेम में वापसी की । तीसरे गेम में हालांकि वह बिल्कुल नहीं टिक सके और हार गए ।


मजबूती के बाद भी भारतीय मुद्रा सुस्त

नईदिल्ली। देश के शेयर बाजार में तेजी के बावजूद देसी करेंसी रुपये की चाल सुस्त पड़ गई है। डॉलर के मुकाबले रुपया बुधवार को पिछले सत्र से 29 पैसे की कमजोरी के साथ 71.75 रुपये प्रति डॉलर पर खुला जोकि करीब दो महीने के निचले स्तर पर चला गया। इससे पहले 17 सितंबर को एक डॉलर का हाजिर भाव 71.97 रुपये था। पिछले सत्र में डॉलर के मुकाबले रुपया करीब एक महीने के निचले स्तर पर 71.46 पर बंद हुआ था।


हालांकि शेयर बाजार में कुल मिलाकर इस महीने तेजी का रुख रहा और सेंसेक्स ने बीते सप्ताह आठ नवंबर को 40,749.33 के रिकॉर्ड स्तर को छुआ और निफ्टी 12,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर से ऊपर चला गया। हालांकि उसके बाद दोनों सूचकांक सीमित दायरे में बने हुए हैं। एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट ( करेंसी एवं एनर्जी रिसर्च) अनुज गुप्ता की मानें तो रुपये की कमजोरी के पीछे इस समय घरेलू और विदेशी दोनों प्रकार के कारक हैं।


गुप्ता ने कहा कि औद्योगिक उत्पादन के खराब आंकड़े, महाराष्ट्र में सरकार बनने को लेकर राजनीतिक अस्थिरता का माहौल, रेटिंग एजेंसी मूडीज द्वारा भारत के क्रेडिट रेटिंग आउटलुक को नकारात्मक बताए जाने से रुपये में कमजोरी आई है। कार्वी कॉमट्रेड लिमिटेड के करेंसी विशेषज्ञ सितेश ने कहा कि अमेािका-चीन के बीच व्यापारिक मसले को लेकर वार्ता पर अनिश्चितता भी एक वजह है जिसके कारण देसी करेंसी पर दबाव है जबकि डॉलर मजबूत हुआ।


केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने भी कहा कि मूडीज की रिपोर्ट से रुपये में कमजोरी बढ़ी है। उन्होंने कहा, अमेरिका-चीन के बीच व्यापारिक मसले को लेकर टकराव और ब्रेक्जिट का मसला अभी तक बना हुआ है। इसके अलावा आनेवाले दिनों में ओपेक सदस्यों द्वारा कच्चे तेल की आपूर्ति में कटौती को लेकर फैसला लिया जा सकता है, जिससे रुपये पर और दबाव आ सकता है। ओपेक की अगली बैठक छह दिसंबर को है।


केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेगा बढ़ा वेतन

नई दिल्ली। सातवें वेतन आयोग के तहत लंबे समय से सैलरी की बढ़ोतरी का इंतजार कर रहे लाखों केंद्रीय कर्मचारियों को बहुत जल्द ही बड़ी खुशखबरी मिल सकती है। केंद्र सरकार इन दिनों इन कर्मियों के न्यूनतम वेतन को बढ़ाने पर विचार-विमर्श में लगी है।


मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि 10 नवंबर के बाद सरकार की एक अहम बैठक होगी, जिसमें कई बड़े मुद्दों पर फैसले लिए जा सकते हैं। जिसमें सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को मंजूरी मिल सकती है। बता दें कि 2016 में ही सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को मंजूरी मिल गई थी, लेकिन अब तक उसे लागू नहीं किया जा सका। कर्मचारियों की मांगों के चलते इसे अब तक लागू नहीं किया जा सकता है। हालांकि बीच-बीच में डीए बढ़ोतरी का लाभ इन कर्मचारियों को मिलता रहा, लेकिन सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत वेतन बढ़ोतरी और भुगतान अब तक नहीं हो सका है, लेकिन माना जा रहा है कि जल्द ही ये खुशखबरी कर्मचारियों को मिलेगी।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार इसी बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन पर भी फैसला कर सकती है। सब कुछ ठीक रहा और कैबिनेट बैठक में अगर इस प्रस्ताव पर मुहर लग गई, तब जल्द ही वित्त मंत्रालय की तरफ से उसके संबंध में आधिकारिक ऐलान भी कर दिया जाएगा।


अज्ञात वाहन की चपेट में आने से दो की मौत

संतकबीरनगर। खलीलाबाद कोतवाली क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग मगहर एवं बीएसएनएल आफिस के निकट मंगलवार की देर रात अज्ञात वाहन की चपेट में आने से दो लोगो की मौत हो गई। घटना की सूचना पर पहुची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजा तथा मृतक के परिजनो को सूचना दी। पहली घटना मगहर चैकी के निकट बाईक सवार एक युवक को अज्ञात वाहन ने तेज रफ्तार से ठोकर मार दिया। जनपद बस्ती थाना लालगंज, जिगिना निवासी चन्द्रकेश चैधरी पुत्र रामकरन चैधरी के रूप में की गई। इसी तरह बीएसएनएल आफिस के निकट पैदल टहल रहे खलीलाबाद थाना क्षेत्र के बरई टोला निवासी राधेश्याम चैरसिया पुत्र राजमन को अज्ञात वाहन तेज रफ्तार से ठोकर मारते हुए फरार हो गया और घटना स्थल पर ही उनकी मृत्यु हो गई।


साइबेरिया में निकला सबसे कीमती हीरा

साइबेरिया। पूर्वी साइबेरिया में बसा 'मिरनी माइन' दुनिया की सबसे बड़ी हीरे की खदान है, यह मानव द्वारा निर्मित दुनिया का सबसे बड़ा गड्ढा है इसकी गहराई 1722 फीट और 3900 फीट चौड़ाई है।


यहां से बेहिसाब हीरे निकालें गए हैं इस खदान को सोवियत संघ के भू वैज्ञानिकों द्वारा 13 जून, 1955 को खोजा गया था, इस खदान में साल 1957 में काम शुरू किया गया थे।इसे खोदने के लिए कर्मचारियों ने जेट इंजन और डायनामाइट्स का इस्तेमाल किया था, इस खदान से रूस हर साल 10 मिलियन यानी एक करोड़ कैरेट हीरा निकालता था। इसका गड्ढा इतना बड़ा है की इसके ऊपर से गुजरने वाले हेलिकॉप्टर कई बार हवा के दबाव के कारण इसमें समा गए। बाद में इसके ऊपर किसी भी उड़ान को प्रतिबंधित कर दिया गया, साल 2011 में इस खदान को पूरी तरह बंद किया जा चुका है।


भीषण सड़क हादसे में 2 लोगों की मौत

रोहतास। सासाराम-डेहरी थाना अंतर्गत सुआरा मोड़ के समीप अनियंत्रित बोलेरो ने सड़क के किनारे खड़े टैंकर को टक्कर मार दिया। जिसमें 2 लोगों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई।


जानकारी के मुताबिक झारखंड के रामगढ़ के रहने वाले यह परिवार इलाहाबाद के उत्तर प्रदेश से संगम स्नान करके अपने घर वापस जा रहे थे। लिहाज़ा लौटने के क्रम में ही सुआरा गांव के समीप रात के वक्त सड़क हादसा हो गया। बताते चलें कि रात काफी होने की वजह से ड्राइवर को नींद आने लगी थी। लिहाजा नींद के दौरान ही ड्राइवर ने रोड के किनारे खड़े टैंकर में जाकर टक्कर मार दिया। जिसके बाद बोलेरो में सवार एक ही परिवार के 2 लोगों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। इसके अलावा तीन और लोग बुरी तरीके से घायल हो गए। जिसके बाद घायलों का इलाज सासाराम के सदर अस्पताल में किया जा रहा है।


लिहाजा घटना के बाद कोहराम मच गया लोगों ने आनन-फानन में घायलों को सासाराम के सदर अस्पताल इलाज के लिए भर्ती कराया। उसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सासाराम सदर अस्पताल भेज दिया। मृतक के रिश्तेदार ने बताया कि लौटने के क्रम में ही ड्राइवर के नींद आने की वजह से यह घटना हो गया। सभी परिवार अपने घर झारखंड के रामगढ़ वापस जा रहे थे।


सीजेआई के दफ्तर में आरटीआई लागू

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट एक और बड़ा फैसला लिया, सूचना के अधिकार के तहत आएगा चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया का दफ्तर। कोर्ट ने कहा- CJI का दफ्तर पब्लिक अथॉरिटी है। यदि जनता उसके विषय में किसी प्रकार की जानकारी चाहती है,तो वे उसका संवैधानिक अधिकार भी बनता है। इसी वजह से सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट का फैसला बरकरार रखा। फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सूचना देने से न्यायपालिका की स्वतंत्रता प्रभावित नहीं होती हैं। लेकिन कुछ सूचनाओं की निजता और गोपनीयता का ध्यान रखा जाना चाहिए।


'जाधव' का मामला सिविल कोर्ट में चलेगा

इस्लामाबाद। भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान बड़ा फैसला लेने जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, जाधव के मामले को सिविलियन कोर्ट में चलाने के लिए आर्मी एक्ट में बदलाव किया जाएगा। इसके बाद जाधव को अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ सिविलियन कोर्ट में अपील करना होगा।


इससे पहले पिछले महीने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के केस में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) ने पाकिस्तान को फटकार लगाई। आईसीजे के अध्यक्ष जज अब्दुलाकावी यूसुफ ने यूएन जनरल असेंबली को जानकारी देते हुए बताया कि कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान ने वियना कन्वेंशन के अनुच्छेद 36 के तहत अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं किया। पूरे मामले में आवश्यक कार्यवाही भी नहीं की गई।


पासपोर्ट पर पड़ सकता है आतंकवादी साया

ग्वालियर। भारत में बनने वाले पासपोर्टों पर पाकिस्तान और वहां के आतंकियों का साया पड़ सकता है? ग्वालियर के आशीष चतुर्वेदी की मानें तो हमारे देश से भविष्य में जारी होने वाले पासपोर्ट खतरे में पड़ सकते हैं। मालूम हो कि, आशीष चतुर्वेदी वही व्हिसिल ब्लोअर हैं जिन्होंने मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की सरकार में हुए व्यापम घोटाले को उजागर किया था। आशीष ने अब ई-पासपोर्ट मामले में घोटाले का खुलासा करते हुए वरिष्ठ अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाऐ हैं। उनका कहना है कि टेंडर की शर्तों का उल्लंघन करते हुए पाकिस्तान से सम्बन्ध रखने वाली कम्पनी को लाभ पहुंचाया जा रहा है। आशीष ने इसकी शिकायत पीएमओ सहित अन्य जगह की है।


आशीष चतुर्वेदी ने केंद्र सरकार द्वारा पूरी की गई ई पासपोर्ट टेंडर प्रक्रिया पर गंभीर आरोप लगाये है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने ई पासपोर्ट के लिए टेंडर जारी किया था, जिसमें बहुत सारी विदेशी कम्पनियों ने भी हिस्सा लिया। इनमें तीन से चार कम्पनियां अंतिम दौर में पहुंच गईं। जिसमें से फ़्रांस की कम्पनी जिमेल्टो को ये टेंडर दिया जाना लगभग तय है। आशीष का कहना है कि उनको जानकारी लगी कि ये कम्पनी पाकिस्तान से भी सम्बन्ध रखती है जबकि, शर्तों के हिसाब से चीन या पाकिस्तान से किसी भी तरह का सम्बन्ध रखने वाली कोई भी कम्पनी इस टेंडर में शामिल नहीं हो सकेगी। आशीष ने कहा कि जब उन्होंने इससे सम्बंधित दस्तावेज चेक किए तो बात सही निकली। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रक्रिया से जुड़े भारतीय विदेश सेवा और भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों ने इसको नजरंदाज किया। इंटेलिजेंस से कम्पनी का वेरिफिकेशन भी नहीं कराया गया।


आशीष का आरोप है  कि वरिष्ठ अधिकारियों ने पाकिस्तान और आई एस आई से जुड़ी कम्पनी की मदद की और उसे टेंडर प्रक्रिया के अंतिम दौर में पहुंचाया। जिसकी शिकायत उन्होंने पीएमओ, विदेश मंत्रालय, डायरेक्टर सीबीआई , पासपोर्ट एथोरिटी से की है। उन्होंने मांग की है कि इस प्रक्रिया को निरस्त किया जाये और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाये।


आरोपों के घेरे में महाराष्ट्र राज्यपाल

मुंबई। महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी आरोपों में घिरते जा रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस पीवी सावंत ने उनके फैसले को अवैध, अनुचित और पक्षपातपूर्ण बताया है तो शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा दिया।


महाराष्ट्र में पक्षपात; बीजेपी को 15 दिन का, दूसरे दलों को केवल एक दिन का मौका? 


उधर कांग्रेस ने भी राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की आलोचना करते हुए, कोशयारी पर खुला आरोप लगाया है कि उन्होंने 'न्याय का हनन' किया है और संवैधानिक प्रक्रिया का मजाक बनाया है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने महाराष्ट्र के राज्यपाल पर एनसीपी, शिवसेना और भाजपा को सरकार बनाने, बहुमत साबित करने के लिए 'मनमाने ढंग से' समय देने का आरोप भी लगाया।


महाराष्ट्र में तीसरी बार राष्ट्रपति शासन, शिवसेना सुप्रीम कोर्ट में


रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि, “ये बेईमानी से भरा हुआ और राजनीति से प्रेरित है।” उन्होंने ट्वीट किया- “राज्यपाल कोश्यारी ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश करके लोकतांत्रिक न्याय का हनन किया है और संवैधानिक प्रक्रिया का मजाक बनाया है”। जबकि दूसरी तरफ कोश्यारी के कार्यालय द्वारा ट्विटर पर जारी किए गए एक बयान में कहा गया- “उन्हें विश्वास है कि संविधान के अनुरूप सरकार का गठन नहीं किया जा सकता है (और इसलिए) आज संविधान के अनुच्छेद 356 के प्रावधानों को लागू करने की रिपोर्ट भेजी है।”


दबिश पर गए दरोगा को दौड़ाकर पीटा

फर्रुखाबाद। जिले के गांव दनियापुर हीरामन में अवैध शस्त्र के मुकदमे में वारंटी को पकड़ने गए दरोगा व सिपाही पर परिजनों व खेत में धान काट रहे ग्रामीणों ने हमला कर दिया। दोनों को दौड़ा-दौड़ाकर बुरी तरह पीटा गया। दरांती से हमले में दरोगा घायल हो गए। सिपाही भी जख्मी हो गया। वारंटी को परिजन पुलिस से छुड़ा ले गए। दरोगा व सिपाही ने किसी तरह भागकर जान बचाई। दोनों का मेडिकल कराया गया। दरोगा की तहरीर पर नौ नामजद व तीन अज्ञात महिलाओं पर जानलेवा हमले समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। नवाबगंज थाने की बबना चौकी के प्रभारी इंचार्ज दरोगा राजेश कुमार सोमवार रात सिपाही बंटू कुमार के साथ आईजी जोन के अभियान के तहत अवैध शस्त्र के मुकदमे में वारंटी अजय पाल निवासी गांव दनियापुर हीरामन की तलाश में गांव पहुंचे।


ऑटो चालकों को बताएं यातायात-नियम

इटावा। यातायात माह नवंबर 2019 के तहत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा श्री संतोष कुमार मिश्रा द्वारा रेलवे स्टेशन इटावा परिसर में ऑटो चालकों के लिए यातायात संबंधी कार्यशाला का आयोजन कर, यातायात नियमों के बारे में जागरूक किया गया एवं उनके पालनार्थ चालकों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए गए। साथ ही यातायात नियमों का पालन करते हुए, ऑटो चलाने वाले चालकों को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा द्वारा पुरस्कृत भी किया गया।


किराए पर लेकर,फौजी की कार रखी गिरवी

श्रीकान्त शाक्य


किरायें पर ले जाकर फौजी की कार रख दी गिरवी


फौजी ने दी थाने में तहरीर, पुलिस जांच में जुटी


मैनपुरी। भोगांव क्षेत्र के रहने वाले एक सैनिक की कार किराए पर ले गए शख्स ने 30 हजार रुपये में गिरवी रख दी। सैनिक ने इसकी शिकायत थाने में की। जिसके बाद पुलिस ने कार गिरवी रखने वाले युवक को पकड़ लिया, वहीं कार को मालिक के सुपुर्द कर दिया।
 भोगांव क्षेत्र के ग्राम नगला गिरधारी निवासी सतीक्षण राय सेना में तैनात हैं। वर्तमान में उनकी तैनाती आगरा में है। उन्होंने थाने में तहरीर देकर बताया कि गांव निवासी सतेंद्र सिंह उनकी कार चलाता था। 25 हजार रुपये महीने पर उसे कार किराए पर दे रखी थी। कुछ दिन तक गाड़ी सही ढंग से चलाई इसके बाद वह गायब हो गया। काफी तलाश करने के बाद भी उसका कोई पता नहीं लग सका। पता लगने के बाद वह छुट्टी लेकर घर आया। जब गांव आकर जानकारी की तो पता चला कि करीब डेढ़ माह पूर्व सतेंद्र ने उनकी स्कार्पियो 30 हजार रुपये में गांव महुली खेड़ा निवासी अंकुर यादव के यहां गिरवी रखी है। शिकायत मिलने के बाद पुलिस तत्काल कार्रवाई करते हुए गांव महौली खेड़ा पहुंची। वहां पता चला कि अंकुर मार्कण्डेय मेला गया है। जानकारी मिलने के बाद अंकुर गाड़ी लेकर थाने आ गया। पुलिस ने स्कार्पियो सैनिक के सुपुर्द कर दी। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि सैनिक ने तहरीर दी थी। जिसके चलते गिरवी रखने वाले युवक को हिरासत में लिया गया था। वादी की ओर से अब कोई कार्रवाई न करने की बात कही गई है।


कांग्रेस प्रत्याशी के कार्यालय का उद्घाटन

रुड़की नगर निगम कांग्रेस पार्टी प्रत्याशी रिशु राणा के कार्यालय का हुआ उद्घाटन।                 
रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी


रुडकी । जनसभा को संबोधित करते हुए पार्टी प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि 2017 विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा के झूठे वादों में आई प्रदेश की जनता के साथ जो छल भाजपा ने किया है। उसे जनता माफ करने वाली नहीं है । उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि सत्ता में आने के बाद प्रदेश के किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिलेगा। कारोबारियों को सहूलियत प्रदान की जाएगी। लेकिन हालात सबके सामने हैैं। भाजपा का किया गया एक भी वादा पूरा नहीं हुआ है। उन्होंने कांग्रेश प्रत्याशी के समर्थन में जनसभा में मौजूद लोगों से अपील करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हो रहे चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने का मौका न चुकें। कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में मतदान करें भाजपा रुड़की में चुनाव ही नहीं कराना चाहती थी। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर मजबूरी के तहत भाजपा चुनाव करा रही है । वर्ष 2017 में भाजपा ने जो वादे किए थे उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया । आज प्रदेश की जनता किसान व्यापारी मजदूर की हालत खस्ता है अब डबल इंजन की सरकार अपने ही वादों पर फैल होती जा रही है । कार्यक्रम में उपस्थित विधायक ममता राकेश पूर्व विधायक अमरेश कुमार मंगलोर विधायक काजी निजामुद्दीन पूर्व राज्यमंत्री संजय पालीवाल अध्यक्ष दिनेश कौशिक नगर अध्यक्ष कलीम खान चौधरी रकम सिंह हरिद्वार में अनीता शर्मा राम सिंह सैनी चौधरी रकम सिंह चौधरी राजेंद्र सिंह इत्यादि सम्मानित व्यक्ति कार्यक्रम में उपस्थित रहे और सभी कार्यक्रम में आए माता बहने बुजुर्ग भाई सभी ने रिशु राणा को आशीर्वाद दिया और उनकी सराहना की और कहा की हमें ऐसे ही ईमानदार युवा मेयर प्रत्याशी की जरूरत है।


नहाने का गलत तरीका करता है नुकसान

जिस तरह रोजाना 2 बार ब्रश करना जरूरी है, ठीक उसी तरह 2 बार नहाना भी जरूरी है। सुबह नींद से जागकर खुद को तरोताजा महसूस करवाने के लिए नहाना जरूरी है और रात में सोने से पहले दिनभर की थकान, पलूशन और गंदगी को दूर करने के लिए भी शावर लेना जरूरी है। लेकिन क्या आपके मन में कभी ये बात आयी है कि कहीं आपका नहाने का तरीका आपकी स्किन को नुकसान तो नहीं पहुंचा रहा? शायद आपने कभी सोचा भी नहीं होगा कि नहाने के दौरान की गई छोटी-छोटी गलतियों से स्किन को नुकसान पहुंच सकता है, लिहाजा इन गलतियों से पूरी तरह से बचें…. 
बहुत देर तक गर्म पानी से नहाना: ठंडे पानी की तुलना में गर्म पानी से नहाना ज्यादा बेहतर फील होता है, खासकर ठंड के मौसम में। लेकिन इस प्रक्रिया के दौरान अगर आप बहुत देर तक नहाते रहें तो शरीर में जरूरत से ज्यादा स्टीम पहुंच जाती है। इस वजह से स्किन में मौजूद इसेंशल ग्रीज खत्म हो जाती है जिस वजह से स्किन के पोर्स खुल जाते हैं जिससे स्किन में रेडनेस और खुजली की समस्या हो सकती है।
स्किन पर ज्यादा साबुन लगाना: साबुन का नेचर ऐसिडिक होता है और यह स्किन में मौजूद धूल और गंदगी को बाहर निकालने में मदद करता है। लेकिन ऐसा करने के दौरान बहुत ज्यादा साबुन अगर स्किन पर लगा ली जाए तो आपकी स्किन ड्राई और फ्लैकी हो जाएगी। साथ ही कई साबुन में परफ्यूम भी डाला जाता है ताकि उनके स्मेल आपको अट्रैक्ट करे लेकिन इस तरह के साबुन को भी यूज करने से बचना चाहिए।
बाल से कंडिशनर सही से क्लीन न करना: जब आप बालों के आखिरी सिरे पर कंडिशनर लगाती हैं लेकिन उसे पानी से सही तरीके से साफ नहीं करतीं तो यह कंडिशनर पीठ की स्किन के संपर्क में आता है जिससे स्किन के पोर्स बंद हो जाते हैं जिससे पीठ पर ऐक्ने और पिंपल्स की समस्या हो सकती है।
नहाने के बाद मॉइश्चराइजर यूज न करना: गर्म पानी से नहाने के बाद जैसे ही आप तौलिए से अपनी स्किन को सुखा लेती हैं, यह बेहद जरूरी है कि आप तुरंत स्किन पर मॉइश्चराइजर लगाएं ताकि स्किन के खुले रोमछिद्र बंद हो जाएं, वरना ड्राइनेस की वजह से स्किन में खुजली की समस्या हो सकती है। जब नहाने के बाद आपकी स्किन हल्की गीली हो तभी मॉइश्चराइजर लगा लें ताकि शरीर पर ड्राई कैक्स न पड़े।
शावर हेड को साफ करें: शावर बंद करने के बाद भी उसके सिरे से पानी लीक होता रहता है जिसमें कीटाणु जमा हो जाते हैं और यही कीटाणु आपकी स्किन पर बैक्टीरिया और फंगस छोड़कर स्किन को नुकसान पहुंचा सकते हैं।


रिंकल्स या झुर्रियां छिपाई जा सकती है

ढलती उम्र का असर शरीर के साथ-साथ चेहरे पर भी पड़ता है। स्किन ड्राई हो जाती है और झुर्रियां पडऩे लगती हैं। इसकी वजह से चेहरा बदसूरत लगने लगता है। लेकिन कुछ मेकअप ट्रिक्स के जरिए रिंकल्स यानी झुर्रियों को छिपाया जा सकता है। हालांकि मेकअप ऐसा होना चाहिए कि वह चेहरे पर दिखे न।
झुर्रियां हैं तो अलग तरह का फाउंडेशन: सबसे पहले तो चेहरे के लिए एक बेस या फाउंडेशन की जरूरत होगी। चूंकि चेहरे पर झुर्रियां हैं तो इसके लिए अलग तरह का फाउंडेशन चाहिए। रिंकल्ड स्किन के लिए ऐसे फाउंडेशन लें जिनमें कॉलेजन को बढ़ावा देने वाले तत्व जैसे कि रैटिनॉल, ऐंटी-ऑक्सिडेंट्स और पेप्टाइटड्स हों।
सैलिसिलिक ऐसिड वाला फाउंडेशन न लगाएं: फाउंडेशन ऐसा हो जिसमें मॉइश्चराइजर पर्याप्त मात्रा में हो। इससे यह होगा कि मेकअप के बाद भी स्किन ग्लोइंग लगेगी। ऐसे फाउंडेशन चुनें जिनमें सैलिसिलिक ऐसिड न हो क्योंकि इससे स्किन ड्राई हो जाती है।
एसपीएफ रिच सनस्क्रीन लगाएं: स्किन चाहे कैसी भी हो लेकिन उसे सूरज की खतरनाक पराबैंगनी किरणों से बचाना बहुत जरूरी होता है। इसलिए एसपीएफ रिच सनस्क्रीन जरूर लगाएं।
डेड स्किन रिमूव करने के लिए यह स्क्रब लगाएं: किसी भी स्किन टाइप पर मेकअप करने से पहले जरूरी है कि उसे एक्सफोलिएट कर लिया जाए। इसके लिए शहद और चीनी का स्क्रब सबसे बेस्ट है। 2 चम्मच शहद में 1 चम्मच चीनी मिलाकर पूरे चेहरे पर लगाएं और 5 मिनट बाद हाथों से रगड़कर गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।
मॉइश्चराइजर और प्राइमर लगाएं: अब चेहरा सूख जाए तो मॉइश्चराइजर लगाएं और फिर प्राइमर लगाएं। इससे पूरे चेहरे पर एक समान बेस बनेगा। झुर्रियों वाली जगह पर प्राइमर अच्छी तरह से लगाएं ताकि वे छिप जाएं।
स्पंज की मदद से लगाएं फाउंडेशन: फाउंडशेन लगाएं और ब्लशर की मदद से स्किन को स्मूद करें। चाहे तो स्पंज की मदद से फाउंडेशन लगा सकती हैं। इससे यह डीप पोर्स में सेट हो जाएगा। एक्स्ट्रा फाउंडेशन को ब्रश की मदद से रिमूव करें।
कंसीलर लगाएं: इसके बाद कंसीलर लगाएं और ऊपर से ट्रान्सलूसन्ट पाउडर लगाएं। इसकी मदद से फाउंडेशन और रिंकल्स को समान रूप से कवर किया जा सकता है।


स्पोर्ट्स ड्रामा 'मैदान' की रिलीज डेट फिक्स

मुंबई। बॉलिवुड ऐक्टर अजय देवगन की मोस्ट अवेटेड फिल्म मैदान की रिलीज डेट सामने आ गई है। फुटबाल के खेल पर केंद्रित यह स्पोर्ट्स ड्रामा 27 नवंबर, 2020 को सिनेमाघरो में रिलीज होगी। बता दें कि फिल्म का पोस्टर पहले ही रिलीज हो चुका है। 
मैदान में अजय देवगन के साथ नैशनल अवॉर्ड विनर ऐक्ट्रेस कीर्ति सुरेश नजर आएंगी। इस फिल्म में अजय देवगन फुटबॉल कोच सैयद अब्दुल रहीम का किरदार निभा रहे हैं। सैयद अब्दुल रहीम के नेतृत्व में भारतीय फुटबॉल टीम ने 1951 और 1962 में एशियाई खेल जीते। 
फिल्म में 1952-1962 का 10 सालों का भारतीय फुटबाल का दौर दिखाया जाता है जिसे भारतीय फुटबाल का सुनहरा दौर कहा जाता है। सैयद अब्दुल रहीम के नेतृत्व में भारतीय फुटबाल टीम 1956 के ओलिंपिक्स में सेमीफाइनल तक पहुंची थी। 
फिल्म की शूटिंग चल रही है और मार्च, 2020 तक पूरी हो जाएगी। अजय देवगन इस समय कोलकाता में फिल्म के तीसरे शेयड्यूल की शूटिंग कर रहे हैं। फिल्म का डायरेक्शन बधाई हो फेम डायरेक्टर अमित रविंद्रनाथ शर्मा कर रहे हैं। वहीं, फिल्म को बोनी कपूर, आकाश चावला और अरुणावा जॉय सेनगुप्ता प्रड्यूस कर रहे हैं।


यामी के किरदार 'परी' ने फैंस को चौंकाया

मुंबई। फिल्म बाला को क्रिटिक्स और फैंस का भरपूर प्यार मिल रहा है। फिल्म के हर किरदार से फैंस खुद को रिलेट कर पा रहे हैं। आपको बता दें, फिल्म में यामी गौतम के किरदार परी ने फैंस को बहुत चौंका दिया है। फिल्म में टिकटॉक सुपरस्टार बनीं यामी की ऐक्टिंग को देखकर ऐसा बिलकुल नहीं लगता है कि उन्हें असल जिंदगी में टिकटॉक चलाना नहीं आता था। 
आपको शायद यकीन न हो, लेकिन यामी असल जिंदगी में टिकटॉक की दुनिया से कोसों दूर हैं। बकौल यामी, फिल्म में मेरा किरदार टिकटॉक को बहुत पसंद करता है और दिन भर विडियोज बनाता रहता है। असल जिंदगी में मुझे टिकटॉक का ट भी नहीं पता है। मुझे तो टिकटॉप ऑपरेट भी करना नहीं आता था। जब मैंने पहली बार अपना अकाउंट बनाया, तो देखकर हैरान हो गई। टिकटॉक तो एक अलग ही दुनिया है। यह बहुत ही फनी और एंटरटेनिंग है, हालांकि वहां लोग विडियोज को बहुत ही सीरियसली और प्रफेशनल तरीके से बनाते हैं। दस सेकंड के विडियो में उन्हें अपनी क्रिएटिविटी भी दिखानी है।
मैंने विडियोज देखकर यही सोचा कि यह तो मैं हूं ही नहीं। मैं खुद को इस तरह से नहीं देख पा रही थी। चूंकि किरदार के लिए यह सब करना था, तो मैंने अलग अकाउंट से खुद के विडियोज बनाए हैं, हालांकि उसे पोस्ट आजतक नहीं किया है। शूटिंग के बाद मैंने अब टिकटॉक खोला ही नहीं है, क्योंकि यह मुझसे नहीं हो पाएगा।


'निकम्मा' से अभिनय में 'शिल्पा' की वापसी

मुंबई। ऐक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी का कहना है कि 13 साल तक फिल्मों से दूरी बनाने का फैसला उनका खुद का था और ऐसा उन्होंने सोच-समझकर ही किया था। शिल्पा शब्बीर खान की ऐक्शन फिल्म निकम्मा से ऐक्टिंग की दुनिया में वापसी करने जा रही हैं। इस 13 साल लंबे ब्रेक के बारे में बात करते हुए शिल्पा ने कहा, मैं इस इंडस्ट्री का हिस्सा पहले भी रही हूं और अभी भी कहीं न कहीं मैं इसका हिस्सा बनी रही हूं। 


जब आप लाइमलाइट में नहीं रहते हैं तो आप इस चीज को मिस करते हैं, आपको लगने लगता है कि आप फेम से दूर होते जा रहे हैं, लोग आपको भूलते जा रहे हैं। मैंने इसे कभी मिस नहीं किया, क्योंकि मैं तभी भी टेलिविजन में काम कर रही थी।
ब्रेक लेने का फैसला मेरा खुद का और यह सोचा-समझा था। साल 2007 में आई फिल्म लाइफ इन ए मेट्रो और अपने में शिल्पा आखिरी बार बड़े पर्दे पर नजर आई थीं। ऐक्टिंग में अपने अब तक के सफर को पीछे मुड़कर देखते हुए शिल्पा कहती हैं, ऐक्टर बनना किस्मत में था।
15 साल की थी तब एक इवेंट में गई हुई थी वहां एक आदमी ने मुझे देखा और मुझे अपनी तस्वीरें खिंचवाने को कहा। अगले दिन, एक शो के सेट पर उन तस्वीरों को बांट दिया गया और तब मुझे काम मिलना शुरू हुआ। शिल्पा ने लव, लाफ, लाइव शो के एक एपिसोड में अपने करियर और अपनी निजी जिंदगी का खुलासा किया है।


'वाणी' ने बटोरी नकारात्मक वाह-वाही

मुंबई। ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ स्टारर फिल्म वॉर में अपने स्टाइल और अंदाज को लेकर सुर्खियों में आईं बॉलीवुड एक्ट्रेस वाणी कपूर एक बार फिर चर्चा में हैं। चर्चा इस बार पॉजिटिव नहीं बल्कि निगेटिव रूप से हो रही है। दरअसल वाणी ने अपने सोशल अकाउंट इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की है जिसपर विवाद हो गया है। फैंस इस तस्वीर को देख एक्ट्रेस की काफी लानत-मलानत कर रहे हैं। तस्वीर में वाणी कपूर बिकनी में दिख रही हैं। अब आप कहेंगे बिकनी पहनना किसी एक्ट्रेस के लिए आम बात है इसमें बखेड़ा खड़ा करने जैसी क्या बात है। लेकिन वाणी ने जो बिकनी पहनी है उस पर हरे राम लिखा हुआ है। बस इसी बात पर उनके फैंस नाराज हो गए हैं। कई तरह की नसीहतें दे रहे हैं।



एक यूजर ने लिखा- 'कुछ तो शर्म करो भगवान राम का नाम लिखे हुए कपड़े पहन रखे हैं।' एक अन्य यूजर ने कमेंट में लिखा- मैंने आज तक किसी भी पिक पर कमेंट नहीं किया है। ना ही मैं आपको ट्रोल कर रहा हूं। लेकिन मैम प्लीज हमारे धर्म का इस तरह मजाक ना बनाएंं।


एक यूजर लिखता है-राम नाम का काम रावण का। वहीं एक और यूजर ने लिखा- राम नाम को मत पहनों मैम अच्छा नहीं।


इसके साथ ही एक फॉलोवर ने वाणी को लिहाज करने की बात कही। ये कुछ कमेंट्स हैं लेकिन और भी कई सारे कमेंट्स हैं जिनमें एक्ट्रेस को ट्रोल किया गया है। हालांकि कुछ ने उनकी तस्वीर की तारीफ भी कर रहे हैं लेकिन बहुत से कमेंट्स नाकारात्मक हैं। वाणी ने तस्वीर के साथ लिखा है- 'जीवन को ज्यादा गंभीरता से ना लें। जीते जी इससे कोई बाहर नहीं आ पाया है।'
वाणी कपूर ने अपने करियर की शुरुआत छोटे पर्दे के शो राजुबेन से की थी। इसके बाद वह सुशांत सिंह राजपूत के साथ शुद्ध देसी रोमांस में नजर आईं थीं। इस फिल्म में उनकी एक्टिंग की लोगों ने काफी तारीफेंं की थीं। बेहतरीन अभिनय के लिए वाणी को फिल्मफेयर अवार्ड के बेस्ट डेब्यू इन फीमेल से भी नवाजा गया था। वाणी इसके बाद बेफिक्रे और हाल में वॉर में नजर आईं थीं।


बोलिविया: चुनाव-धांधली हिंसा में 7 की मौत

सूक्रे । बोलिविया में चुनाव में हुई धांधली के विरोध में जारी प्रदर्शन और हिंसा में अब तक सात लोग की मौत हो चुकी है, जबकि 12 लोग घायल हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह जानकारी मंगलवार को स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स में दी गई। पहले दो लोगों के मारे जाने की सूुचना आई थी।


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक तीन लोग कोचबम्बा, दो लोग ला पाज, औरदो लोग संता क्रूज में मारे गए हैं। राहत सेवा के प्रवक्ता ने बताया कि इस विरोध प्रदर्शन में 12 लोग घायल भी हुए हैं। स्थानीय पुलिस के मुताबिक 169 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया है।


स्नान के दौरान 22 की मौत, 6 लापता

पटना । राज्य में कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के दौरान 22 लोगों की मौत डूबने से हो गई। छपरा, नवादा, सीतामढ़ी और नालंदा में तीन-तीन लोगों की मौत होने की खबर है जबकि पटना के बाढ़, पटना सिटी, मुजफ्फरपुर और मोतिहारी में दो-दो लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही औरंगाबाद और अरवल में एक-एक व्यक्ति की मौत की खबर है। इन हादसों में विभिन्न जगहों से छह लोग लापता हैं।
नालंदा से मिली खबर के अनुसार स्नान करने गईं तीन बच्चियों की मौत हो गई है। यह हादसा जिले के गिरियक थाना क्षेत्र के घोसरावा गांव के करीब से गुजरने वाली सकरी नदी में हुई है। ग्रामीणों के सहयोग से एसडीआरएफ की टीम ने तीनों के शव बरामद कर लिये हैंं। मरने वालों में दो सगी बहनें हैं। मृतक बच्चियों की पहचान घोसरवा गांव के ही अजय सिंह की पुत्री सोनम और अंशु कुमारी तथा दीपू सिंह की पुत्री प्रीति कुमारी के रूप में की गई है।
नवादा में सेखोदेवरा स्थित सूर्य मंदिर तालाब में कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर स्नान करने गई दो युवतियों की डूबने से मौत हो गई। इन युवतियों को बचाने के प्रयास में सोखोदेवरा जेपीएन स्पोर्टिंग क्लब के अध्यक्ष अविनाश कुमार उर्फ राकेश सिंह की डूबकर मौत हो गई है। मोतिहारी में स्नान करने के दौरान डूबने से दो लोगों की मौत हो गई है। पहली घटना चकिया में हुई। यहां पर स्नान करने गए एक बच्चे की डूबने से मौत हो गई है। जबकि दूसरी घटना में मोतिहारी के पकड़ी दयाल के डूमड़ीघाट पर एक 18 वर्षीय युवक की मौत डूबने से हो गई है।
सीतामढ़ी से मिली खबर के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान करने के दौरान बैरगनिया के बागमती नदी में चार लोग डूब गये, जिनमें तीन का शव बरामद कर लिया गया है। एक व्यक्ति को बचा लिया गया है। यहां डूबने वालों की पहचान सीतामढ़ी के बैरगनिया के रहने वाले राहूल झा, पंकज मिश्रा, सुधांशु मिश्रा और प्रकाश झा नहाने के लिए बागमती नदी के पार चले गए थे। हालांकि पहले से वहां भीड़ थी, लेकिन गहरे पानी मे जाने की वजह से चारों तेज धार में बह गए। इसमें तीन की मौत हो गई लेकिन एक को बचा लिया गया।
मुजफ्फरपुर के अहियापुर थाना क्षेत्र स्थित बड़ी गंडक नदी के संगम घाट पर स्नान करने के दौरान दो बच्चे डूब गए। घटना की सूचना मिलने के बाद स्थानीय प्रशासन ने एसडीआरएफ व स्थानीय गोताखोरों को दोनों की खोज में लगाया है। लेकिन घंटों बाद भी दोनों नहीं मिलेेे। इससे नाराज लोगों ने सड़क जाम कर दिया। बताया गया है कि अहियापुर थाना क्षेत्र के संगमघाट पर कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर गंगा स्नान के लिए लोग गए थे। इसी दौरान दो बच्चे गहरे पानी में चले जाने के कारण डूब गए। डूबे बच्चों में एक लड़का और एक लड़की शामिल है। बच्चों की पहचान दादर गाव निवासी 10 वर्षीय राहुल कुमार और 12 वर्षीय संजना कुमारी के रूप में हुई है। मौके पर कांटी सीओ और बीडीओ मौजूदगी में बच्चों की खोज की कोशिश की गई।


धूल और धुएं का कहर लगातार जारी

नई दिल्ली। प्रदूषण की शिकार दिल्ली को बुधवार को भी राहत नहीं मिली है, उल्टा आज यहां पर धूल, धुएं और कोहरे का तिहरा वार हुआ है। इसने लोगों को और भी तंग कर दिया है और सबसे परेशानी की बात ये है कि दिल्ली-एनसीआर के लोगों को आने वाले दिनों में भी राहत नहीं मिलने वाली है। बुधवार सुबह दिल्ली में ओवरऑल ऐक्यूआई का स्तर 457 पहुंचा, जो स्वास्थ्य के लिहाज से बेहद हानिकारक है। दिल्ली के साथ ही नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भी हाल काफी खराब हो गई है। नोएडा के सेक्टर 62 में एक्यूआई 472 के स्तर पर पहुंच गया है तो वहीं ग्रेटर नोएडा में यह स्तर 458 रिकॉर्ड किया गया।


'वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान एवं अनुसंधान प्रणाली (सफर) ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर बुधवार को बेहद गंभीर या आपातकालीन श्रेणी में पहुंचने की आशंका है। इस बारे में पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव माधवन राजीवन ने ट्वीट किया था कि पूर्वानुमान के मुताबिक हवा की गुणवत्ता 14 नवंबर तक बेहद गंभीर श्रेणी में पहुंचने की आशंका है, जिसमें दिल्ली वालों की चिंता और बढ़ा दी है। मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि सर्दियों के आगाज के साथ ही, न्यूनतम तापमान में गिरावट से हवा में ठंडक बढ़ गई है और भारीपन आ गया है, जिससे प्रदूषक तत्व जमीन के निकट जमा हो रहे हैं।
दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण काफी खतरनाक स्तर पर है, ऐसे में आपको अपना ख्याल खुद ही रखना होगा। घर से बाहर निकलते समय मास्क जरूर पहनें। हरियाली बढ़ाएं, इम्युनिटी बढ़ाने वाली चीजें खाएं घर से आसपास कचरा न जलाएं। छोटे बच्चों को ऐसे पार्क में खेलने न भेजें, जिसके आसपास से बहुत ज्यादा ट्रैफिक गुजरता है। इसके बजाए इनडोर एक्टिविटीज पर ही जोर दें। खानपान में ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन बढ़ाएं। संतुलित भोजन करें और पर्याप्त नींद लें। नियमित एक्सरसाइज करें। खासतौर पर फेंफड़ों के लिए फायदेमंद प्राणायाम करें।


3 दिन में केवल एक हजार श्रद्धालु पहुंचे

नई दिल्ली। करतारपुर गलियारा शुरू होने के बाद पहले तीन दिन में गुरुद्वारा दरबार साहिब तक केवल एक हजार लोग गए हैं। लोगों का मानना है कि ऑनलाइन पंजीयन की प्रक्रिया के बारे में जानकारी का अभाव, पासपोर्ट की जरूरत और पाकिस्तान की ओर से करीब 1600 रुपये (20 डॉलर) का सेवा शुल्क वसूला जाना इसके लिए जिम्मेदार है। लोगों ने यह भी बताया कि पाकिस्तान जाने के बाद अमेरिका और अन्य देशों का वीजा नहीं मिलने के डर के कारण भी लोग और विशेष कर युवा वहां बड़ी तादाद में नहीं जा रहे हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नौ नवंबर को किए गए इस गलियारे के भव्य उद्घाटन के बाद शुरुआती तीन दिन में केवल 897 श्रद्धालु करतारपुर गलियारे के माध्यम से करतारपुर साहिब गए हैं। इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट पर एक आव्रजन अधिकारी ने यहां बताया कि 10, 11 और 12 नवंबर को क्रमश: 229, 122 और 546 श्रद्धालु करतारपुर गए हैं। ये उन संख्याओं से काफी कम हैं, जिन पर भारत और पाकिस्तान सहमत हुए थे। दोनों देशों के बीच समझौता हुआ था कि रोज पांच हजार श्रद्धालु ऐतिहासिक गुरुद्वारे में मत्था टेकने के लिए सीमा पार कर सकते हैं।


टाटा ट्रस्ट का भाजपा को 356 करोड चंदा

नई दिल्ली। भाजपा को साल 2018-19 के दौरान टाटा समूह द्वारा नियंत्रित एक चुनावी ट्रस्ट से 356 करोड़ रुपये का चंदा मिला। सत्तारूढ़ दल ने यह जानकारी निर्वाचन आयोग में जमा किए गए दस्तावेजों में दी है। भाजपा द्वारा निर्वाचन आयोग को 31 अक्टूबर को दी गई जानकारी के अनुसार पार्टी को वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान चेक और ऑनलाइन भुगतान के दौरान कुल 700 करोड़ रुपये से अधिक का चंदा मिला। इसमें से लगभग आधा चंदा-356 करोड़ रुपये-टाटा समूह द्वारा नियंत्रित 'प्रोग्रेसिव इलेक्टोरल ट्रस्ट' से मिला।


दस्तावेजों के अनुसार भारत के सबसे धनी ट्रस्ट-द प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट ने पार्टी को 54.25 करोड़ रुपये का चंदा दिया। इस ट्रस्ट को भारती ग्रुप, हीरो मोटोकोर्प, जुबिलैंट फूडवर्क्स, ओरियंट सीमेंट, डीएलएफ, जेके टायर्स जैसे कॉरपोरेट घरानों का समर्थन प्राप्त है। उपलब्ध कराई गई सूचना 20 हजार रुपये या इससे अधिक के चंदे से जुड़ी है, जिसका भुगतान चेक के जरिये या ऑनलाइन किया गया। दस्तावेज में कहा गया कि भाजपा को व्यक्तियों, कंपनियों और चुनावी ट्रस्टों की ओर से भी चंदा मिला। चुनाव संहिता के अनुसार राजनीतिक दलों के लिए वित्त वर्ष के दौरान मिलने वाले समूचे चंदे का खुलासा करना आवश्यक है। वर्तमान में राजनीतिक दलों के लिए ऐसे लोगों और संगठनों के नामों का खुलासा करने की अनिवार्यता नहीं है,जो 20 हजार रुपये से कम का चंदा देते हैं या फिर जो लोग चुनावी बांड के रूप में चंदा देते हैं।


शरीफ को इलाज के लिए मिली इजाजत

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को आखिरकार इलाज के लिए विदेश जाने की अनुमति मिल गई है। पाक प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में नवाज शरीफ का नाम उन लोगों की सूची से हटा दिया गया है जिनके विदेश जाने पर रोक है। हालांकि, इसके साथ ही मंत्रिमंडल ने शर्त रखी है कि अगर वह इलाज करवाकर वापस लौटने और भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना करने का वादा करते हुए जमानत पत्र पर दस्तखत करते हैं तो ही उन्हें अनुमति दी जाए। पाक रेल मंत्री राशिद अहमद ने बताया कि मंत्रिमंडल ने शर्तों के साथ नवाज शरीफ को विदेश जाने की अनुमति दी है। बता दें कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) के प्रमुख नवाज शुक्रवार को डॉक्टरों की सलाह मानते हुए इलाज के लिए ब्रिटेन जाने को राजी हो गए थे, लेकिन सूची में अपना नाम के चलते वह ऐसा कर नहीं पाए।


बता दें कि पीएमएल-एन की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने सोमवार को ट्वीट किया था कि डॉक्टरों के अनुसार, शरीफ के विदेश जाने की प्रक्रिया में तेजी लाने की आवश्यकता है। बता दें कि शरीफ कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे हैं। जिसमें उनका गिरता हुआ प्लेटलेट काउंट भी शामिल है। वर्तमान में शरीफ की देखभाल लाहौर के नजदीक आवास पर हो रही है। जहां एक आईसीयू स्थापित किया गया है।


मालिक की अर्थी के पीछे श्मशान आई 'गाय'

विकास जायसवाल


बारां। पालतू जानवर अपने मालिक को खूब पहचानते हैं। उनके बीच एक भावनात्मक रिश्ता होता है। ऐसा ही एक भावुक दृश्य बारां शहर में गुरुवार को देखने को मिला। अपने मालिक की मौत से मायूस एक गाय अर्थी के पीछे-पीछे श्मशान घाट तक पहुंची। वो वहां तब तक खड़ी रही, जब तक चिता पूरी तरह नहीं जल गई। इस दौरान लोगों ने गाय की आंखों से आंसू टपकते देखे। गाय लगातार जलती हुई चिता को देख रही थी। वो एकदम शांत खड़ी रही। लोगों ने भी उसे वहां से हटाने की कोशिश नहीं की।



अपने हाथों से रोज रोटी खिलाता था मालिक


भावुक करने वाली यह कहानी तलावड़ा गांव की है। यहां रहने वाले लक्ष्मीनारायण का गुरुवार को निधन हो गया था।उन्होंने कुछ साल पहले एक गाय खरीदी थी। यह गाय कई साल तक उनके साथ रही। इसके बाद उसकी मौत हो गई। हालांकि उसने एक बछिया दी थी। इसकी उम्र अब करीब 4 साल बताई जाती है। इस बछिया से लक्ष्मीनारायण को बड़ा स्नेह था। वे रोज उसके साथ थोड़ा वक्त गुजारते थे। उसे दुलारते और रोटी खिलाते।


घंटों चिता के पास खड़ी रही गाय


गांव के लोगों ने बताया कि गुरुवार को जब लक्ष्मीनारायण का अंतिम संस्कार किया जा रहा था, तब गाय श्मशान घाट पर मौजूद रही। यहां तक कि लोग नहा-धोकर अपने-अपने घर चले गए, लेकिन गाय श्मशान से नहीं हटी। वो कुछ घंटे वहीं खड़ी रही। फिर लोग उसे वापस ले आए। अपने मालिक की मौत के बाद से गाय मायूस है।गांव के लोगों ने बताया कि गुरुवार को जब लक्ष्मीनारायण का अंतिम संस्कार किया जा रहा था, तब गाय श्मशान घाट पर मौजूद रही। यहां तक कि लोग नहा-धोकर अपने-अपने घर चले गए, लेकिन गाय श्मशान से नहीं हटी। वो कुछ घंटे वहीं खड़ी रही। फिर लोग उसे वापस ले आए। अपने मालिक की मौत के बाद से गाय मायूस है।


छात्रों ने कक्षा मे अध्यापक की पिटाई

रायबरेली। देवानंदपुर में संचालित गांधी सेवा निकेतन में यहां अध्ययनरत छात्रों ने बाल कल्याण अधिकारी (शिक्षिका) की पिटाई कर दी। शिकायत पर जिला बाल संरक्षण अधिकारी जांच करने पहुंचे और बच्चों के बयान दर्ज किए। पीड़िता ने संस्था के प्रबंधक पर साजिशन छात्रों से हमला कराने का आरोप लगाया है।


उक्त संस्थान में बाल कल्याण अधिकारी ममता दुबे बच्चों को पढ़ा रही थीं। इसी दौरान किसी बात को लेकर बच्चे भड़क गए और उनके साथ हाथापाई करने लगे। एक बच्चे ने तो उन पर कुर्सी दे मारी। वह किसी तरह कक्षा से बचकर बाहर निकली। सूचना मिलने पर संस्था के प्रबंधक अरुण कुमार मिश्र और जिला प्रोबेशन विभाग से बाल संरक्षण अधिकारी वीरेंद्र पाल वहां आ गए। बच्चों ने आरोप लगाया कि ममता दुबे उन्हें अनाथ कहकर बुलाती हैं। पढने और खेलने कूदने में रोक-टोक करती हैं। इसी वजह से उन्होंने मारपीट की।


कार्यवाहक जिला प्रोबेशन अधिकारी सुनीता चौरसिया ने बताया कि गांधी सेवा निकेतन की शिक्षिका ममता दुबे और प्रबंधक के बीच मनमुटाव है। इसी मामले ने तूल पकड़ा है। बच्चों के द्वारा शिक्षिका से मारपीट की जानकारी हुई है। जांच कराई जा रही है। जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी जाएगी। इसके बाद आदेशानुसार कार्रवाई होगी।


दिल्ली विधानसभा चुनाव में हिंदू महासभा

पांच एकड़ जमीन मुस्लिम पक्ष को दिए जाने पर असंतुष्ट हिन्दू महासभा सर्वोच्च न्यायालय में पुनर्विचार याचिका दायर करेगी


रविन्द्र कुमार द्विवेदी
हिन्दू महासभा दिल्ली प्रदेश ने विधानसभा चुनाव के लिए जारी किया आवेदन प्रपत्र


नई दिल्ली। अखिल भारत हिन्दू महासभा दिल्ली प्रदेश के पदाधिकारियों की बैठक विद्युत कॉलोनी निजामुद्दीन में हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रविन्द्र कुमार द्विवेदी के सान्निध्य और प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उपाध्याय की अध्यक्षता में हुई । बैठक में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए ९ नवंबर को सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय पर प्रसन्नता जताते हुए निर्णय को ऐतिहासिक बताया गया ।
हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रविन्द्र कुमार द्विवेदी ने बैठक में कहा कि हिन्दू महासभा जिला फैजाबाद अध्यक्ष गोपाल सिंह विशारद ने जिला सिविल न्यायालय में वाद प्रस्तुत किया था , उस वाद के पक्ष में सर्वोच्च न्यायालय ने अपने निर्णय की मोहर ९ नवंबर को लगा दी । सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय से अखिल भारत हिन्दू महासभा और देश  एक अरब। सधिक हिन्दू आबादी की धार्मिक आस्था की जीत है ।
रविन्द्र कुमार द्विवेदी ने मुस्लिम पक्षकारों को पांच एकड़ जमीन देने के निर्णय पर असंतोष जताया और कहा  हिन्दू महासभा इस निर्णय पर सर्वोच्च न्यायालय में पुनर्विचार याचिका दायर करने पर अपने अधिवक्ताओं से परामर्श लें रही है । सर्वोच्च न्यायालय में हिन्दू महासभा के पैरोकार अधिवक्ता शिशिर चतुर्वेदी और हिन्दू महासभा के अधिवक्ता हरि शंकर जैन से हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय पदाधिकारी निरंतर संपर्क में है। डॉ रामेश्वर उपाध्याय ने बताया असद्दुदीन ओवैसी को सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय पर भड़काऊ भाषण देने पर गिरफ्तार करना चाहिए अनुमोदन हिन्दू स्वराज्य सेना प्रदेश कार्यसमिति की सदस्य सुनीता और खोड़ा मंडल अध्यक्ष निशा ने किया ।
यह जानकारी देते हुए हिन्दू महासभा की प्रदेश संगठन मंत्री रीता मिश्र ने बैठक के बाद जारी बयान में बताया  बैठक में प्रदेश अध्यक्ष गुरबचन सिंह बडसीवाल ने दिल्ली विधानसभा चुनाव २०२० की तैयारियों का आगाज करते हुए प्रत्याशियों के चयन के  लिए आवेदन प्रपत्र जारी किया । उन्होंने कहा कि हिन्दू महासभा के टिकट पर चुनाव लडने के इच्छुक हिन्दू प्रत्याशी चयन समिति के अध्यक्ष महेश चंद चोला से आवेदन प्रपत्र प्राप्त कर सकते है । आवेदन प्रपत्र भरकर चयन समिति के अध्यक्ष के पास ही जमा करवाना होगा । बैठक में सीमा रानी को हिन्दू महिला सभा का प्रदेश अध्यक्ष का नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया ।
रीता मिश्र के अनुसार  बैठक में प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष डॉक्टर  रामेश्वर उपाध्याय ने सीमा रानी के महिला अध्यक्ष होने पर शुभकामनाए दी और उन्हें  दिल्ली महिला सभा की प्रदेश कार्यसमिति गठित करने का निर्देश जारी किया । अपने संबोधन में कुछ सदस्यों के साप्ताहिक बैठक के विरोध का जवाब देते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव के दृष्टिकोण  साप्ताहिक बैठक का क्रम विधानसभा चुनाव संपन्न होने तक जारी रहेगा । कार्यकारी अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उपाध्याय ने चुनाव प्रभारी आचार्य विजय प्रकाश मानव से हुई फोन वार्ता से भी पदाधिकारियों को अवगत करवाया । 
बैठक में उपस्थित राष्ट्रीय मंत्री केशव चौहान ने एक दिसम्बर के प्रदेश कार्यक्रम की तैयारियों की जानकारी मांगी । प्रदेश पदाधिकारियों ने सौंपी जाने वाली हर जिम्मेदारी को पूरा करने का संकल्प लिया।


पराविद्या की दीक्षा

गतांक से...
 मेरे प्यारे मुझे स्मरण आता रहता है, उन्होंने कहा कि जब यज्ञ में क्रियाकलाप का आयोजन होता है। यज्ञ अपनी आभा में विचित्र बना रहता है, पवित्रतम बना रहता है। उन्होंने यज्ञ के लिए जो आज्ञा दी, तो महर्षि विश्वामित्र ने वहां से गमन किया, विचार किया। मेरे समीप ब्रह्मचारी जन इस विद्या का अध्ययन करने वाले हैं, ऋषि विश्वामित्र वहां से भ्रमण करते हुए, उस स्थली तक पहुंचे। जहां राजा दशरथ विद्यमान थे। राजा दशरथ ने ऋषि को दृष्टिपात किया। अपने आसन को त्याग करके, ऋषि के चरणों की वंदना की और वंदना के पश्चात उन्होंने कहा। ऋषिवर यह मेरा सौभाग्य है कि आप यहां गमन कर रहे हो। हमारे यहां वासित हो रहे हो। प्रभु यह कैसा आपका नृत्य है? उन्होंने कहा भगवान ऐसा विचार मन में आता रहता है, तो राजा ने कहा प्रभु आज आपका आगमन कैसे हुआ? सब ऋषि-मुनियों की एक योगिता उनके हृदय में समाई है। कि दंडक वन में यज्ञशाला, धनुर्विद्या का अभ्यास किया जाए। मेरे राजा ने कहा "संभव" यज्ञ की रक्षा होनी चाहिए। रक्षा बहुत अनिवार्य है। यदि यज्ञ की रक्षा नहीं होती, तो यह अपने में अधूरे परिणत हो जाता है। बेटा यह क्या है? वह है, जिसे प्राणी अपने में समाधिस्थ कर देता है। तो वह यज्ञ का अधिकृत बन जाता है। हमारे यहां दो प्रकार के यज्ञ माने गए हैं। एक यज्ञ शुद्धि यज्ञ कहलाता है। वास्तव में यज्ञ बहुत प्रकार के हैं। परंतु संक्षिप्त में दो प्रकार के यज्ञ, एक-दूसरे में संगठित रहता हुआ, विचारवान बनता हुआ, जो अपनी आत्मा को प्रसन्न कर रहा है। वह प्रथम यज्ञ की प्रतिभा कहलाती है। उन्होंने धनुष यज्ञ के लिए बड़ा बल दिया और यह कहा है। विश्वामित्र तुम धनुष यज्ञ परायण हो जाओ। उन्होंने इस बात को स्वीकार कर लिया और स्वीकार करने के पश्चात विचार में आता रहा। वेद का आचार्य यह कहता है कि जब अमृतमान राजा ने यह कहा प्रभु में आपके यज्ञ को पूर्ण कर आऊंगा। मुझे आप आज्ञा दीजिए। महर्षि विश्वामित्र ने कहा राजन यह यज्ञ तो राजकुमारों का है। राजा दशरथ और विश्वामित्र की चर्चाएं हो रही थी। हमारे यहां नियमावली पुरातन काल से ही बनी हुई है। जैसे न्यायालय में पुरुष न्याय करता है। उसी प्रकार दिव्या भी न्यायालय में न्याय करती रही हैं और उन सब का सहयोग रहा है। वह अपने में अपनेपन का भान करती हुई। नाना प्रकार के लोगों का विश्लेषण करती और विचार भी देती रही है। मैं कुछ विवेचना देना नहीं चाहता हूं। विचार यह है कि यज्ञ अपने में बड़ा उत्तम क्रियाकलाप है। यह श्रेष्ठतम कहलाता है। जब विश्वामित्र ने यह उपदेश यज्ञ को संपन्न कराने का, अपना यह क्रियाकलाप बनाया। तब बेटा देवियों ने जब यह सुना कि आज यहां ऋषि विश्वामित्र का आगमन हो रहा है। बारी-बारी से ऋषि के चरणों की वंदना की। सब को आशीर्वाद देते हुए आचार्य अपने आसन पर विद्यमान हो गए। देवियों ने कहा कि भगवान यह हमारा कैसा सौभाग्य है,भगवान आप भयंकर वनो से आए हैं और आने की कोई सूचना नहीं दी। उन्होंने कहा हे दिव्या, हमारा यह सौभाग्य है,जो हम इस प्रकार से भ्रमण करते हैं। उन्होंने कहा प्रभु आज्ञा दीजिए क्या आज्ञा है "अमृतांम भू: अस्तातं वर्णन दण्डधनं अस्ति दिव्याम्"।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


नवंबर 14, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-100 (साल-01)
2. बृहस्पतिवार, नवंबर 14, 2019
3. शक-1941, मार्गशीर्ष-कृष्ण पक्ष, तिथि- दूज, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:35,सूर्यास्त 05:34
5. न्‍यूनतम तापमान -14 डी.सै.,अधिकतम-25+ डी.सै., छिटपुट बरसात की संभावना रहेगी।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित


 


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...