शुक्रवार, 10 मार्च 2023

2023-24 के बजट को गाजर का हलवा करार दिया 

2023-24 के बजट को गाजर का हलवा करार दिया 

कविता गर्ग 

मुंबई। पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले शिवसेना के गुट ने महाराष्ट्र सरकार के 2023-24 के बजट को गाजर का हलवा करार देते हुए शुक्रवार को आरोप लगाया कि एकनाथ शिंदे-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार चुनावी साल में घोषणाओं की बारिश कर लोगों को झूठे सपने दिखा रही है। अपने मुखपत्र सामना में पार्टी ने कहा कि उपमुख्यमंत्री एवं वित्त मंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बृहस्पतिवार को विधानसभा में बजट पेश करते हुए सिर्फ आश्वासनों की बौछार की लेकिन इस सप्ताह के शुरू में बेमौसम बारिश से नुकसान झेलने वाले किसानों के लिए मुआवजे की घोषणा करने में उदारता नहीं दिखाई

शिंदे सरकार का पहला बजट पेश करते हुए फडणवीस ने किसानों को छह हजार करोड़ रुपये की सहायता और फसल बीमा योजना का प्रस्ताव दिया। उन्होंने कामकाजी महिलाओं के लिए पेशेवर कर में राहत, महिलाओं के लिए सरकारी बसों के किराये में 50 फीसदी छूट और बच्चियों के लिए नई योजना का भी प्रस्ताव दिया। महाराष्ट्र में बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) समेत कई नगर निकायों के चुनाव होने हैं।

राज्य में अक्टूबर 2024 में विधानसभा चुनाव भी होने हैं। पार्टी ने मुखपत्र सामना में लिखे संपादकीय में कहा, बजट में घोषणाओं के नाम पर गाजर का सिर्फ हलवा देकर सरकार ने जनता को गुमराह ही किया है। उपमुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए शिवसेना (यूबीटी) ने कहा कि फडणवीस की घोषणाओं की तीव्रता दो दिन पहले राज्य के ज्यादातर हिस्सों में ओलावृष्टि एवं बेमौसम बारिश की तीव्रता से ज्यादा थी।

विधायक की विवादित टिप्पणी को लेकर हंगामा 

विधायक की विवादित टिप्पणी को लेकर हंगामा 

इकबाल अंसारी/कविता गर्ग 

दिसपुर/मुंबई। असम के लोगों की कथित तौर पर कुत्ते के मांस खाने की आदतों के बारे में महाराष्ट्र के एक विधायक की विवादित टिप्पणी को लेकर शुक्रवार को यहां विधानसभा में विपक्ष के सदस्यों ने हंगामा किया। उन्होंने राज्यपाल गुलाब चंद कटारिया के अभिभाषण को बाधित किया, और बाद में सदन से बर्हिगमन भी किया। कटारिया को बजट सत्र के पहले दिन अपना अभिभाषण 15 मिनट में ही खत्म करना पड़ा, क्योंकि विपक्षी सदस्य खड़े हो गये और नारेबाजी करने लगे। उन्होंने यह भी जानना चाहा कि (महाराष्ट्र के) विधायक के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है।

महाराष्ट्र विधानसभा के सदस्य बच्चू कडू ने कथित तौर पर सदन में एक प्रस्ताव रखा था कि आवारा कुत्तों की बढ़ती आबादी को नियंत्रित करने के लिए उन्हें असम भेजा जाए, क्योंकि इस पूर्वोत्तर राज्य में स्थानीय लोग इसका सेवन करते हैं। कटारिया ने जैसे ही अपना अभिभाषण शुरू किया, कांग्रेस विधायक कमलाख्या डे पुरकायस्थ ने यह मामला उठाया। उन्होंने कडू के खिलाफ असम सरकार की निष्क्रियता पर सवाल खड़ा किया। उन्होंने प्रधानमंत्री के खिलाफ कथित टिप्पणी को लेकर कांग्रेस नेता पवन खेड़ा की गिरफ्तारी के लिए नयी दिल्ली तक पुलिस टीम भेजने का भी हवाला दिया। कुछ देर के अंतराल के बाद जब सदन की कार्यवाही फिर से शुरू हुई तो विपक्ष ने इस मामले को फिर से सदन में उठाया।

ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) के विधायक रफीकुल इस्लाम ने अध्यक्ष विश्वजीत डैमरी से अपील की कि वह कडू की टिप्पणी के विरुद्ध विशेषाधिकार हनन का स्वत: संज्ञान लें और उन्हें असम विधानसभा आकर क्षमा मांगने को कहें। इस्लाम के सहयोगी अमीनुल इस्लाम ने दावा किया कि कडू उन विधायकों में शामिल थे, जिन्होंने पिछले साल महाराष्ट्र में सरकार बदलने के दौरान गुवाहाटी में डेरा डाला था। निर्दलीय विधायक अखिल गोगोई एवं मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के विधायक मनोरंजन तालुकदार ने भी महाराष्ट्र के विधायक के खिलाफ कार्रवाई की विपक्षी सदस्यों की मांग का समर्थन किया। कांग्रेस के सदस्य जैसे ही आसन के पास पहुंचे, डैमरी ने उनसे अपनी सीट पर लौट जाने और मामले को उचित माध्यम से उठाने को कहा। जोरदार हंगामे के बीच विपक्ष के सदस्यों ने सदन से बहिर्गमन किया।

लगातार तीसरी बार चीन के 'राष्ट्रपति' बनें जिनपिंग 

लगातार तीसरी बार चीन के 'राष्ट्रपति' बनें जिनपिंग 

अखिलेश पांडेय 

बीजिंग। अपने देश के इतिहास को बदलते हुए शी जिनपिंग एक बार फिर से चीन के राष्ट्रपति बन गए हैं। लगातार तीसरी बार शी जिनपिंग के हाथ में चीन की कमान सौंपी गई है। संसद ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित करते हुए शी जिनपिंग को लगातार तीसरी बार राष्ट्रपति का कार्यकाल सौंपने का फैसला लिया है। शुक्रवार को चीन की संसद ने सर्वसम्मति से पारित किए गए प्रस्ताव के अंतर्गत मौजूदा राष्ट्रपति शी जिनपिंग को लगातार तीसरी बार देश के राष्ट्रपति का कार्यभार सौंपने का फैसला लिया है।

शुक्रवार को पारित किए गए प्रस्ताव के बाद शी जिनपिंग ने चीन के बड़े नेता रहे माओ त्से तुंग की बराबरी कर ली है।शी जिनपिंग से पहले चीन के इतिहास में माओ त्से तुंग एकमात्र ऐसे इकलौते नेता रहे हैं, जो लगातार तीन बार चीन के राष्ट्रपति बने थे। पिछले वर्ष के अक्टूबर महीने में चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने 69 वर्षीय नेता श्री जिनपिंग को फिर से सीपीसी नेता के रूप में चुना था। सीपीसी की कांग्रेस की बैठक 5 साल में एक बार होती है। इसी के साथ चीन सीपीसी के संस्थापक माओ त्से तुंग के बाद 5 साल के तीसरे कार्यकाल के लिए चुने गए पहले चीनी नेता बन गए थे।

फरवरी में 2.92 लाख यात्री वाहनों की थोक बिक्री

फरवरी में 2.92 लाख यात्री वाहनों की थोक बिक्री

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारतीय वाहन विनिर्माताओं ने फरवरी, 2023 में लगभग 2.92 लाख यात्री वाहनों (पीवी) की थोक बिक्री की। यह अब तक की सर्वाधिक बिक्री है। सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) ने सोमवार को यह जानकारी दी। सियाम ने कहा कि माह के दौरान कार और यूटिलिटी (उपयोगिता) वाहनों की बढ़ती मांग से कुल यात्री वाहनों की बिक्री बढ़ी है। पिछले महीने वाहन कंपनियों ने डीलरों को 2,91,928 वाहनों की आपूर्ति की थी। यह फरवरी, 2022 में आपूर्ति कराई गई 2,62,984 इकाइयों से 11 प्रतिशत अधिक है। वहीं यात्री कारों की बिक्री फरवरी माह में बढ़कर 1,42,201 इकाई हो गई।

एक साल पहले की समान अवधि में 1,33,572 इकाइयां बिकी थी। इसी तरह, स्पोर्ट्स यूटिलिटी वाहनों (एसयूवी) सहित उपयोगिता वाहनों की बिक्री पिछले महीने 1,20,122 इकाइयों से बढ़कर 1,38,238 इकाई हो गई। मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने पिछले महीने डीलरों को 1,02,565 इकाइयां भेजीं। यह फरवरी, 2022 के 99,398 इकाइयों से तीन प्रतिशत अधिक है। वहीं, हुंदै मोटर इंडिया (एचएमआई) ने पिछले महीने 24,493 इकाइयां बेचीं। कंपनी ने एक साल पहले इसी महीने में 21,501 इकाइयों की बिक्री थी। इसी तरह कुल दोपहिया वाहनों की बिक्री भी आलोच्य महीने के दौरान आठ प्रतिशत बढ़कर 11,29,661 इकाई रही।

पिछले साल फरवरी में 10,50,079 दोपहिया वाहन बिके थें। मोटरसाइकिल की बिक्री भी पिछले महीने 6,58,009 इकाई से बढ़कर 7,03,261 इकाई पर पहुंच गई। इसी तरह, स्कूटर की बिक्री 3,56,222 इकाई से बढ़कर 3,91,054 इकाई हो गई। तिपहिया वाहनों की बिक्री 86 प्रतिशत बढ़कर 50,382 इकाई हो गई। सियाम के महानिदेशक राजेश मेनन ने कहा कि यह फरवरी में यात्री वाहनों की अब तक की सबसे अधिक बिक्री है। सियाम के अध्यक्ष विनोद अग्रवाल ने कहा कि बाजार में सकारात्मक धारणा बनी हुई है। यह उपभोक्ताओं के लिए आम बजट (2022-23) में उत्साहजनक घोषणाओं से भी प्रेरित है।

गोमांस ले जाने के संदेह में व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या

गोमांस ले जाने के संदेह में व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना/सारण। बिहार के सारण जिले में कथित तौर पर गोमांस ले जाने के संदेह में हिंसक भीड़ ने 55 वर्षीय एक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर दी। एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मृतक की पहचान सीवान जिले के हसनपुर गांव निवासी नसीम कुरैशी (55) के रूप में हुई है। अधिकारी के मुताबिक, यह घटना मंगलवार को उस समय हुई, जब नसीम और उसका भतीजा फिरोज कुरैशी सारण जिले के जोगिया गांव में अपने रिश्तेदारों से मिलने जा रहे थे। सारण के पुलिस अधीक्षक गौरव मंगला ने कहा, दोनों को स्थानीय लोगों ने एक मस्जिद के पास रोका और इसके बाद उनके बीच बहस हुई। फिरोज भागने में सफल रहा, लेकिन भीड़ नसीम की कथित तौर पर लाठियों से पिटाई करने लगी। 

मंगला के मुताबिक, बाद में भीड़ ने खुद नसीम को रसूलपुर गांव (सारण) में पुलिस को सौंप दिया, जिसके बाद उसे सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक ने एक न्यूज एजेंसी को बताया, तीन लोगों-सुशील सिंह, रवि साहा और उज्ज्वल शर्मा को भीड़ हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने घटना में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है। मामले की सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है। इससे पहले, 25 जनवरी को नवादा जिले में सरस्वती पूजा के लिए पर्याप्त चंदा देने से इनकार करने पर एक व्यक्ति को भीड़ द्वारा कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डालने का मामला सामने आया था। यह घटना सिरदल्ला थाना क्षेत्र के विजयपुर गांव में हुई थी।

बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु पोर्टल शुरू 

बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु पोर्टल शुरू 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने बिजली की अधिकतम मांग वाले मौसम के दौरान कुछ श्रेणियों के लिए 12 रुपये प्रति यूनिट की सीमा से अधिक कीमत पर बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एक पोर्टल शुरू किया है। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने इस पोर्टल की शुरुआत की। बिजली मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सरकार ने अगले दिन की आपूर्ति के लिये ऊंचे मूल्य के एक दिन पहले बाजार (एचपी-डीएएम) और सरप्लस बिजली पोर्टल (पीयूएसएचपी) पेश किया है। इससे पहले फरवरी में, बिजली नियामक सीईआरसी ने एचपी-डीएएम खंड को मंजूरी दी थी।

यहां पर बिजली को 50 रुपये प्रति यूनिट की कीमत पर बेचा जा सकता है। एचपी-डीएएम खंड महंगी बैटरी ऊर्जा भंडारण प्रणाली के जरिये बिजली की उपलब्धता भी सुनिश्चित करेगा। बयान में कहा गया है कि केवल उन्हीं उत्पादन संयंत्रों को एचपी-डीएएम में बिक्री की अनुमति दी जाएगी, जिनकी बिजली उत्पादन की लागत 12 रुपये प्रति यूनिट से अधिक है। मंत्रालय ने कहा कि सिंह ने बृहस्पतिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए एक समारोह में राज्य सरकारों और बिजली क्षेत्र के 200 से अधिक हितधारकों की उपस्थिति में पोर्टल को पेश किया। 

जेल की सलाखों के पीछे होंगे केजरीवाल: कांग्रेस 

जेल की सलाखों के पीछे होंगे केजरीवाल: कांग्रेस 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी(आप) को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ‘बी-टीम’ बताते हुए कहा है कि जिस दिन पार्टी नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भाजपा के हित में वोटों के बंटवारे का काम बंद कर देंगे उसी दिन वह जेल की सलाखों के पीछे होंगे। कांग्रेस प्रवक्ता अल्का लांबा ने शुक्रवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ‘आप’ और भाजपा के बीच देशभर में मिलाजुला खेल चल रहा है। केजरीवाल पूरे देश में भाजपा की लाइन पर काम कर रहे हैं। 

उन्होंने उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और गुजरात विधानसभा के चुनावों में यही खेल किया और भाजपा को फायदा देने के लिए वोटों का बंटवारा किया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल हर चुनाव में भाजपा के लिए इसी तरह का खेल खेलते हैं और देशभर में भाजपा के हित में वोट बांटने का उसकी की ‘बी-टीम’ बनकर करते हैं। उनका कहना था कि जब तक वह इसी तरह का काम करते रहेंगे और भाजपा को फायदा पहुंचाएंगे तब तक केजरीवाल खुली हवा में हैं। जिस दिन उन्होंने यह खेल बंद किया और खुद को दिल्ली तक सीमित रखा उसी दिन उन्हें जेल जाना पड़ेगा। 

प्रवक्ता ने कहा कि दिल्ली की शराब नीति का पूरा खाका केजरीवाल का था और उनकी सह पर ही यह काम चलता रहा। उन्होंने खुद फाइलों में दस्तखत नहीं किए और सारा काम आबकारी मंत्री मनीष सिसोदिया से कराते रहे हैं लेकिन वह जानती हैं कि सिसोदिया बहुत देर तक चुप नहीं रहने वाले नहीं हैं और वह देर-सबेर सब कुछ खुलासा कर देंगे और केजरीवाल को अंदर जाना ही पड़ेगा। 

धनशोधन जांच का सिलसिला, कई शहरों में छापेमारी 

धनशोधन जांच का सिलसिला, कई शहरों में छापेमारी 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने ‘नौकरी के बदले जमीन घोटाला’ मामलें में धनशोधन जांच के सिलसिले में शुक्रवार को बिहार के कई शहरों में छापेमारी की। इस मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने हाल ही में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता लालू प्रसाद और उनकी पत्नी राबड़ी देवी से पूछताछ की थी। अधिकारियों ने बताया कि छापेमारी पटना और फुलवारीशरीफ जैसे शहरों में राजद से जुड़े कुछ नेताओं के परिसरों पर जा रही है। 

उन्होंने कहा कि यह मामला, लालू प्रसाद के 2004 से 2009 के बीच रेल मंत्री के पद पर रहने के दौरान उनके परिवार को तोहफे में भूखंड प्राप्त होने या इसे बेचने के बदले में लोगों को रेलवे में कथित तौर पर नौकरी दिये जाने से संबद्ध है। अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने मामले में आपराधिक षड्यंत्र और भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के प्रावधानों के तहत प्रसाद, उनकी पत्नी एवं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और 14 अन्य के खिलाफ एक आरोपपत्र दाखिल किया था और सभी आरोपियों को 15 मार्च को तलब किया गया है।

ईडी का मामला सीबीआई की इस शिकायत से उपजा है, जिसे धनशोधन रोकथाम अधिनियम की आपराधिक धाराओं के तहत दर्ज किया गया है। हाल ही में इस मामले में लालू प्रसाद और राबड़ी देवी दोनों से सीबीआई ने पूछताछ की थी।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-148, (वर्ष-06)

2. शनिवार, मार्च 11, 2023

3. शक-1944, चैत्र, कृष्ण-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2079‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:23। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 17 डी.सै., अधिकतम- 28+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए  सरस्वती उपाध्याय  बेहद सुंदर और सुगंधित फूल 'गुलाब' गुणों की खान है और इसकी पं...