बुधवार, 18 नवंबर 2020

सर्दी, फीवर को सामान्यतः नहीं लेंं

अकांंशु उपाध्याय


नई दिल्ली। रातों में बढ़ती ठड़, कोहरे और दिन की धूप से तापमान में काफी परिवर्तन हो रहा है। इससे वायरल फीवर, सर्दी, मलेरिया और डेंगू के मरीज बढ़ रहे हैं। वायरल फीवर में सर्दी, खांसी, जुकाम के साथ बुखार भी आता है। यही लक्षण कोरोना के मरीज में भी सामान्यत: देखने को मिलते हैं। ऐसे में लोगों और डॉक्टरों के लिए यह पहचान पाना मुश्किल है कि मरीज को वायरल फीवर है, या मलेरिया, या फिर कोरोना का संक्रमण है।


वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. वागीश वैश्य ने बताया कि इस समय वायरल फीवर, मलेरिया, डेंगू तेजी से फैल रहा है। कोरोना भी दोबारा बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। खास बात यह है कि इन सभी बीमारियों से थोड़ी सी सावधानी बरतने पर बचा जा सकता है। डॉ. वागिश का कहना है कि बुखार, जुकाम, खांसी को लोग हलके में ले कर खुद से भी दवा ले लेते हैं। इससे हालत ज्यादा गंभीर हो जाती है। डेंगू मलेरिया और कोरोना को केवल जांच द्वारा ही पहचाना जा सकता है। इसलिए इन लक्षणो में किसी विशेषज्ञ को ही दिखाना चाहिए।


वायरल फीवर —खांसी, जुकाम, गले में दर्द के साथ बुखार आता है। सांस लेने में भी दिक्कत हो सकती है।


कोरोना वायरस –जुकाम, खांसी, गले में खराश व दर्द, बुखार, आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ होना अहम लक्षण हैं।


मलेरिया और डेंगू —मलेरिया में ठंड या बिना ठंड के बुखार आता है। डेंगू में बुखार के साथ प्लेटलेट कम होती हैं। सिर दर्द और घबराहट हो सकती है।


कोरोना से करें बचाव—डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कोरोना से बचने के उपाय हाथों को बार-बार साबुन से धोएं या एल्कोहल युक्त सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। खांसते और छींकते वक्त टिशू का इस्तेमाल करें और इस्तेमाल करने के बाद इसे तुरंत फेंक दें। टिशू ना हो तो बांह से मुंह ढंककर छींके या खांसे। आंख, नाक और मुंह को न छुएं। लेकिन अगर ऐसा करना जरूरी है तो छूने से पहले और छूने के बाद अपना हाथ जरूर धोएं या उसे सैनिटाइजर से साफ करें। कोशिश करें कि किसी भी सर्दी-जुकाम से पीडि़त व्यक्ति के संपर्क में न जाएं। कुछ भी खाने से पहले हाथ को अच्छे से साबुन या हैंडवाश से धुलें। धुलने का समय कम से कम 20 सेकेंड का होना चाहिए।


मच्छरों को पैदा होने से रोकने के उपाय
घर या ऑफिस के आस-पास पानी जमा न होने दें, गड्ढों को मिट्टी से भर दें, रुकी हुई नालियों को साफ करें।
अगर पानी जमा होने से रोकना मुमकिन नहीं है तो उसमें केरोसिन ऑयल डालें।
रूम कूलरों, फूलदानों का सारा पानी हफ्ते में एक बार और पक्षियों को दाना-पानी देने के बर्तन को रोज पूरी तरह से खाली करें, उन्हें सुखाएं और फिर भरें। घर में टूटे-फूटे डिब्बे, टायर, बर्तन, बोतलें आदि न रखें। अगर रखें तो उलटा करके रखें। डेंगू के मच्छर साफ पानी में पनपते हैं, इसलिए पानी की टंकी को अच्छी तरह बंद करके रखें। रात को सोते समय मच्छरदानी लगाएं।                                      


दो से 3 गुना तक बढ़ सकते हैं मतदान केंद्र

दो से तीन गुना तक बढ़ाए जा सकते हैं पंचायत चुनाव के मतदेय स्थल


बलरामपुर। कोरोना काल में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कराने की चुनौतियां काफी बढ़ गई हैं। वोटिंग कराने के लिए एक मतदान केंद्र पर सिर्फ छह बूथ ही बनाए जा सकेंगे। एक बूथ पर 1200 की जगह इस बार 800 वोटरों के मतदान कराने की व्यवस्था बनाए जाने की संभावना है। पंचायत चुनाव के मतदेय स्थलों में दो से तीन गुना तक बढ़ोत्तरी हो सकती है। नए पोलिंग केंद्र बनाने के साथ पुरानों में बूथों की संख्या बढ़ाना चुनौती बन गई है। नए पोलिंग बूथ बनाने में जिम्मेदारों की परेशानी बढ़ गई है।


गौरतलब हो कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्य कराया जा रहा है। निर्वाचन आयोग के निर्देश पर 15 सितंबर से मतदाता सूची में नाम बढ़ाने की प्रक्रिया गतिमान है। 930 बीएलओ ने 12 नवंबर तक घर-घर जाकर गणना व सर्वेक्षण कार्य पूरा कर लिया है और ऑनलाइन आवेदन पत्रों की घर-घर जाकर जांच भी की जा चुकी है।
13 नवंबर से पांच दिसंबर तक ड्राफ्ट नामावलियों की कंप्यूटरीकृत पांडुलिपि तैयार की जाएगी। ड्राफ्ट मतदाता सूची का छह दिसंबर को प्रकाशन किया जाएगा। छह से 12 दिसंबर तक ड्राफ्ट के रूप में प्रकाशित निर्वाचक नामावली की निरीक्षण किया जाएगा। 13 से 19 दिसंबर तक दावे व आपत्तियों का निस्तारण कराया जाएगा।
20 से 28 दिसंबर तक दावे और आपत्तियों के निस्तारण के बाद पूरक सूचियों की पांडुलिपियां तैयार करके उन्हें मूल सूची में यथा स्थान समाहित किया जाएगा। 29 दिसंबर को जन सामान्य के लिए मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन कर दिया जाएगा। प्रकिया पूरी होने के बाद जिले के 800 ग्राम पंचायतों, 997 क्षेत्र पंचायतों व 40 जिला पंचायतों के क्षेत्रों में आरक्षण की कार्रवाई पूरी कराई जाएगी। इसके बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का बिगुल बजेगा। इस बार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कराना काफी चुनौतीपूर्ण होगा।
कोविड-19 महामारी के चलते पोलिंग बूथों पर भीड़भाड़ न बढ़े इसके लिए निर्वाचन आयोग की तरफ से पोलिंग बूथों में बढ़ोत्तरी की जा सकती है। कोविड-19 महामारी की चुनौती से निपटने के लिए एक मतदान केंद्र पर सिर्फ छह बूथ बनाए जाएंगे। एक बूथ पर 1200 की जगह 800 वोटरों के मतदान की व्यवस्था कराई जा सकती है।
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2015 में जिले के सभी नौ ब्लॉकों में 101 न्याय पंचायतों में पर्यवेक्षकों को तैनात किया गया था जिनकी निगरानी में 801 ग्राम पंचायतों, 10053 ग्राम पंचायत सदस्यों, 997 क्षेत्र पंचायतों व 40 जिला पंचायत क्षेत्रों के चुनाव कराए गए थे। जिले में 927 मतदान केंद्रों पर 2037 पोलिंग बूथ बनाए गए थे। 2015 चुनाव में कुल 1478743 वोटर थे। इस बार एक ग्राम पंचायत की संख्या घट गई है।
अब कुल 800 ग्राम पंचायतों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कराए जाएंगे। इस बार 449 मतदेय स्थल बढ़ाए गए हैं अब जिले में 2486 मतदेय स्थल हो गए हैं।जिले में अब तक 34315 वोटर भी बढ़ गए हैं। वोटरों की कुल संख्या अब 1513058 तक हो चुकी है।
अभी तक पोलिंग बूथ बढ़ाने का नहीं मिला निर्देश
निर्वाचन आयोग की तरफ से त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अभी तक पोलिंग बूथ बढ़ाने के संबंध में कोई निर्देश नहीं मिला है। कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखकर लोगों की सुरक्षा के लिए आयोग की तरफ से जारी निर्देश का पालन किया जाएगा।                                     


भारतः वायरस संक्रमितो की संख्या 89,12,907

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश में कोविड- 19 से संक्रमित लागों की संख्या बुधवार को 89 लाख को पार कर गई। हालांकि इनमें से 83 लाख से अधिक लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही मरीजों के ठीक होने की दर 93.52 प्रतिशत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे अद्यतन आंकड़ों के अनुसार एक दिन में कोविड-19 के 38,617 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमित लोगों की कुल संख्या बुधवार को बढ़कर 89,12,907 हो गयी । इसमें कहा गया है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण से 474 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,30,993 हो गई।


आंकड़ों के अनुसार देश में लगातार आठ दिनों से उपचाराधीन संक्रमितों की संख्या पांच लाख से कम है। अभी 4,46,805 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 5.01 प्रतिशत है। इसके अनुसार देश में अभी तक 83,35,109 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही मरीजों के ठीक होने की दर 93.52 प्रतिशत हो गई। वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.47 प्रतिशत है।


भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख के पार चली गई थी। वहीं, कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख और 29 अक्टूबर को 80 लाख के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार 17 नवम्बर तक कुल 12,74,80,186 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई, जिनमें से 9,37,279 नमूनों का परीक्षण मंगलवार को ही किया गया।                                       


सहायक शिक्षक भर्ती मामले में फैसला सुनाया

पालूराम


नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को उतर प्रदेश के 69 हजार सहायक शिक्षकों के भर्ती मामले में बड़ा फैसला सुनाया। अदालत ने इस मामले में यूपी शिक्षा मित्र एसोसिएशन द्वारा दायर अपील को खारिज करने के साथ ही कट-ऑफ में छूट नहीं देते हुए शिक्षा मित्रों को संबंधित परीक्षाओें में भाग लेने का अंतिम मौका दिया है।


उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार को मई में घोषित परिणामों के आधार पर सहायक बेसिक शिक्षकों के 69,000 रिक्त पदों पर भर्ती करने की बुधवार को अनुमति दे दी। न्यायमूर्ति यू यू ललित की अगुवाई वाली पीठ ने सहायक बेसिक शिक्षकों के चयन के लिए कट ऑफ अंक बरकरार रखने के इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश को चुनौती देने वाली ‘उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ’ की याचिका समेत अन्य याचिकाओं को खारिज कर दिया।

शीर्ष अदालत ने कहा कि राज्य को उत्तर प्रदेश में शिक्षा मित्र शिक्षकों को सहायक बेसिक शिक्षकों के तौर पर चयन के लिए फिर से प्रतियोगिता में भाग लेने का एक और मौका देने की अनुमति होगी। संघ ने उत्तर प्रदेश सरकार के सात जनवरी, 2019 के आदेश को चुनौती दी थी। इस आदेश में कहा गया था कि सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा 2019 को उत्तीर्ण करने के लिए सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों को कम से कम 65 अंक और आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 60 अंक हासिल करने होंगे।                                


सार्वजनिक स्थलों पर पूजा पर रोक सहीः एचसी

रोशन कुमार


नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने कोविड-19 के मद्देनजर दिल्ली सरकार द्वारा सार्वजनिक स्थलों तालाबों, नदी तटों और अन्य स्थलों पर छठ पूजा के आयोजन पर लगाए गए प्रतिबंध में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएम) के अध्यक्ष द्वारा जारी प्रतिबंध के आदेश को चुनौती देने वाली एक याचिका को उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया। डीडीएमए ने अपने आदेश में कहा था कि 20 नवंबर को छठ पूजा के लिए सार्वजनिक स्थलों पर कोई भीड़ जुटने की अनुमति नहीं होगी।


न्यायमूर्ति हिमा कोहली और न्यायमूर्ति सुब्रह्मण्यम प्रसाद वाली एक पीठ ने कहा कि पूजा के लिए लोगों को जमा होने की अनुमति देने से संक्रमण का प्रसार हो सकता है। यह कहते हुए पीठ ने याचिका खारिज कर दी। पीठ ने कहा कि मौजूदा समय में इस तरह की याचिका जमीनी सच्चाई से परे है।                                    


कार्ड धारको को कम राशन देने पर होगी कार्रवाईं

जो कोटेदार राशन कार्ड धारकों को कम राशन देगा उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाई होगीः विधायक संजय


कौशाम्बी। नेवादा ब्लॉक के तिलगोड़ी में धान क्रय केंद्र का चायल विधायक संजय कुमार गुप्ता द्वारा निरीक्षण किया गया। चायल विधायक संजय कुमार गुप्ता ने कहा कि कोटेदार द्वारा राशन कार्ड धारकों को कम राशन देना और यह तर्क देना की गोदाम से राशन कम तौल में मिलता है। इसी शिकायत के क्रम में गोदाम में कोटेदारों को राशन वितरण की निकासी को चेक किया गया। उन्होंने कहा कि राशन गोदाम में पहुंचकर कई बोरी की तौल कराई तौल में राशन पूरा निकला कोटेदारों द्वारा कम तौल की कही जा रही बात पूर्णतया गलत साबित हुई।निरीक्षण के दौरान चायल विधायक संजय कुमार गुप्ता ने कहा कि जो कोटेदार राशन कार्ड धारकों को कम राशन देगा उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाई होगी।


गणेश साहू 


उलझी हुई गुत्थी को सुलझानें में मिलीं कामयाबी

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। सिहानी गेट पुलिस ने मुरादनगर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक अजीत पाल त्यागी के मामा की हत्या के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी का नाम जितेंद्र त्यागी है, जो हिंदू युवा वाहिनी का पूर्व जिला अध्यक्ष है। आरोपी ने बताया है कि वारदात में विधायक अजीत पाल त्याागी का बड़ा भाई ही मुख्य रूप से शामिल था। आपको बता दें कि बीती 9 अक्टूबर को गाजियाबाद के सिहानी गेट थाना क्षेत्र में बीजेपी विधायक अजीत पाल त्यागी के मामा नरेश त्यागी की लोहिया नगर में हत्या कर दी गई थी। वारदात को 1 महीने से ज्यादा का वक्त बीत जाने के बाद पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी की है। आरोपी ने चौंकाने वाला खुलासा किया है।                                                     


जवानों की बुद्धिमता से बचीं युवती की जान

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। रेलवे स्टेशन पर आज दो जवानों की समझदारी से एक महिला की जान बच गई। स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर 1 महिला अवध-आसाम एक्सप्रेस ट्रेन में चढ़ने की कोशिश कर रही थी। लेकिन ट्रेन अचानक तेज गति से चलने लगी। इसी दौरान महिला का बैलेंस बिगड़ गया और वो प्लेटफार्म से पटरियों की ओर गिर गई। तभी स्टेशन पर तैनात आरपीएफ़ के दो सिपाहियों की नज़र महिला पर पड़ी और उन्होंने सूझबूझ से महिला को बचा लिया। इतना ही नहीं जवानों ने ट्रेन को रुकवा कर महिला को उसमें बैठाने में भी मदद की।                                     


हरियाणाः मंत्री की सादगी को देख कायल हुए

राणा ऑबरॉय


नारनौल। सत्ता की कुर्सी पर विराजमान होते ही नेताओं के स्वभाव में परिवर्तन आ जाता है। ऐसी सोच को इस दृश्य ने पूरी तरह बदल दिया है। हरियाणा सरकार में मंत्री पद के औहदे पर विराजमान सादगी से परिपूर्ण ओमप्रकाश यादव के लिए यह आम दिनचर्या है। यह तस्वीर मंगलवार सुबह की है। दरअसल, नारनौल शहर में महावीर बुक डिपो के संचालक राधेश्याम भारद्वाज का हाल ही में निधन हो गया। वह मोहल्ला फ्रांसखाना में रहते है। वहां मंत्री ओमप्रकाश यादव को शोक बैठक में जाना था। सरकारी गाड़ी के चालक अपनी ड्यूटी पर था। इसी दौरान मंत्री घर से बाहर निकले और वहां पहले से ही मौजूद भाजपा के जिला कोषाध्यक्ष अनिल शर्मा थे। कोषाध्यक्ष को स्कूटी पर देखा तो अपनी सरकारी गाड़ी व सुरक्षा में तैनात पुलिस जवानों को छोड़ मंत्री उनके पास गए और अनिल शर्मा से कहा कि अगर आपकी स्कूटी पर बैठकर वहां चले तो आपको कोई दिक्कत तो नहीं। जवाब में अनिल शर्मा का कहना था कि यह तो सौभाग्य होगा। इसके बाद मंत्री ओमप्रकाश यादव उनकी स्कूटी पर बैठ गए। स्कूटी से मोहल्ला फ्रांसखाना पहुंचे। इस बीच रास्ते में जिन्होंने भी स्कूटी पर सवार मंत्री को देखा तो सब उनकी इस सादगी के कायल हो गए। मिट्टी से जुड़ी पंचायती नेता को इस तरह सरकारी गाड़ी व बिना पुलिस जवानों के स्कूटी पर बैठकर शहर में निकलता देख दिनभर इसकी चर्चा रही।                                 


ब्लैकस्पॉट के पास एंबुलेंस की व्यवस्था की जाएंं

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी, प्रवीण कुमार


ब्लैक स्पॉट के निकटतम एंबुलेंस की व्यवस्था की जाएं।  दुर्घटना होने पर घायल व्यक्ति को तत्काल मिल सके चिकित्सा सुविधाः जयनाथ यादव


अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित की हुई जनपद स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक


हापुड़। जनपद हापुड़ में जिलाधिकारी अदिति सिंह के आदेशों के क्रम में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में अपर जिलाधिकारी जयनाथ यादव ने सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी एवं संबंधित अधिकारियों के साथ जनपद स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक को संबोधित किया। बैठक का संचालन करते हुए सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रवर्तन) महेश कुमार शर्मा ने अपर जिलाधिकारी को अवगत कराया कि परिवहन विभाग के द्वारा प्रवर्तन की निरंतर कार्रवाई की जा रही है तथा जनपद के अलग-अलग स्थानों पर  निरंतर  चेकिंग अभियान चलाकर  वाहनों के  चालान भी किए जा रहे हैं। बैठक में उपस्थित उप निरीक्षक यातायात पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई का विवरण प्रस्तुत किया गया। अपर जिलाधिकारी द्वारा यातायात पुलिस को निर्देशित किया गया कि वाहनों की चेकिंग मुख्य मार्गो पर अधिक से अधिक की जाये, जिससे चेकिंग का अधिक से अधिक लाभ हो सकें। ब्लैक स्पॉट की समीक्षा में थाना हाफिजपुर के अंतर्गत ग्राम सादिकपुर, थाना हापुड़ देहात के अंतर्गत ततारपुर टोल के पास, बुलंदशहर रोड पर सलारपुर पलवाड़ा ब्लैक स्पॉट का पुनः सर्वे कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए। अपर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि ब्लैक स्पॉट के निकटतम स्थान पर एंबुलेंस अवश्य खड़ी होनी चाहिए जिससे दुर्घटना होने पर घायल व्यक्ति को तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सके। बैठक के अंत में उपस्थित अधिकारियों एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों को सड़क सुरक्षा संबंधित जानकारी उपलब्ध कराई गई। बैठक में सड़क सुरक्षा समिति के अधिकारी /प्रतिनिधि विद्यालयों के प्रधानाचार्य/ प्रबंधक ऑटोमोबाइल डीलर एसोसिएशन, बस /ट्रक यूनियन, पेट्रोल पंप डीलर एनजीओ के चेयरमैन उपस्थित रहे।                                     


रेल उपरिगामी सेतु का भूमि पूजन, शिलान्यास

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य बक्शी बांध पर 5292.36 लाख रूपये की लागत से बनने वाले रेल उपरिगामी सेतु का किया भूमि पूजन एवं शिलान्यास


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य बुधवार को प्रयाग रेलवे स्टेशन के निकट बक्शी बांध पर 5292.36 लाख (लगभग 53 करोड़) रूपये की लागत से बनने वाले रेल उपरिगामी सेतु का भूमि पूजन एवं शिलान्यास किया। रेल उपरिगामी सेतु की लम्बाई 803.420 मीटर निर्धारित की गयी है। रेल उपरिगामी सेतु का निर्माण कार्यदायी संस्था उ0प्र0 राज्य सेतु निर्माण निगम के द्वारा किया जायेगा। कार्य को पूर्ण करने का समय एक वर्ष निर्धारित किया गया है। इस अवसर पर लोगो को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इस रेल उपरिगामी सेतु के निर्माण से बघाड़ा, दारागंज से आने-जाने वाले लोगो को रेलवे क्रासिंग पर लगने वाले जाम से निजात मिलेगी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा माघ मेला व कुम्भ मेला में आने वाले स्नानार्थिंयों के लिए भी यह उपरिगामी सेतु अत्यधिक उपयोगी सिद्ध होगा। कहा कि यह उपरिगामी सेतु प्रयागराज के विकास में एक और कड़ी के रूप में है। उन्होंने सेतु निगम के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि उपरिगामी सेतु का निर्माण कार्य प्रत्येक दशा में एक वर्ष के अन्दर पूर्ण कर लिया जाये। मा0 उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की प्रेरणा से प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सबका साथ, सबका विकास सबका विश्वास के सिद्धांत पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार गांव, गरीब, किसान, व्यापारी सहित सभी के विकास के लिए निरंतर तेजी से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही प्रयागराज में सलोरी में आरओबी का निर्माण कार्य भी कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि रिंग रोड के निर्माण कार्य की कार्यवाही चल रही है। गंगा नदी पर फाफामऊ के पास मलाकहरहर से बनने वाले 6 लेन पुल का निर्माण कार्य भी शीघ्र ही शुरू हो जायेगा। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रयागराज के साथ-साथ प्रदेश के सभी जनपदों में सड़कों का जाल बिछाया गया है। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है। कहा कि रामवनगमन मार्ग के निर्माण कार्य के पूर्ण हो जाने पर चित्रकूट से अयोध्या तक के आवागमन का मार्ग सुगम हो जायेगा और बहुत ही कम समय में लोग यात्रा पूरी कर लेंगे, जिससे समय की बचत होगी। कार्यक्रम में बोलते हुए सांसद फूलपुर श्रीमती केशरी देवी पटेल ने कहा कि इस उपरिगामी सेतु के निर्माण से बघाड़ा-दारागंज आने-जाने वाले लोगो के लिए अत्यधिक सुविधाजनक हो जायेगा और क्रासिंग पर लगने वाले जाम से मुक्ति मिल जायेगी। उन्होंने इसके लिए उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य को धन्यवाद ज्ञापित किया। शहर उत्तरी के विधायक हर्षवर्धन वाजपेयी इस उपरिगामी सेतु के लिए उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि इससे रेलवे क्रासिंग पर लगने वाले जाम से लोगो को राहत मिलेगी तथा आवागमन सुगम हो जायेगा। इस अवसर पर फाफामऊ के मा0 विधायक-श्री विक्रमाजीत मौर्य सहित अन्य जनप्रतिनिधिगणों के अलावा काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती रंजना त्रिपाठी के द्वारा किया गया।                                


संगम में विसर्जित की गई रमा की अस्थियां

संगम में विसर्जित की गई रमा मिश्रा की अस्थियां


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा "मोना" की सास समाजसेविका रमा मिश्रा (79) का आकस्मिक निधन हो गया था। जिनकी अस्थियां बुधवार को संगम में विसर्जित की गई। कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य प्रमोद तिवारी भी अस्थियां विसर्जन के दौरान संगम घाट पर मौजूद रहे। प्रमोद तिवारी ने बताया की हर वर्ग के लिये रमा मिश्रा के उत्कृष्ट कार्यो को कभी भूला नहीं जा सकता। सी एल पी लीडर आराधना मिश्रा मोना ने अपनी सास के निधन को बड़ी छति बताते हुए भाउक हो गई। अस्थियां विसर्जन के दौरान बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद रहे। पूर्व विधायक विजय प्रकाश, सुधाकर तिवारी, महेश तिवारी, मुकुन्द तिवारी, हसीब अहमद, दीपचंद्र शर्मा, गौरव पाण्डेय, सुरेश यादव समेत आदि लोग मौजूद थे।                                       


मंडलः राजस्व वसूली के कड़े दिशा-निर्देश दिए

मण्डलीय समीक्षा बैठक सम्पन्न राजस्व वसूली में वृद्धि लाने के दिए निर्देश


योजनाओं को पारदर्शी ढंग से क्रियान्वित करते हुए पात्रों को लाभान्वित कराये


आयुष्मान योजना के अन्तर्गत गोल्डेन कार्ड बनाये जाने के कार्य में लाये तेजी


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। मण्डलायुक्त आर रमेश कुमार की अध्यक्षता में बुधवार को आयुक्त कार्यालय के गांधी सभागार में मण्डलीय समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक में राजस्व विभाग, लघु सिंचाई, ऊर्जा, लोक निर्माण, कृषि, सहकारिता, पशुधन, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, पंचायतीराज, नगर विकास, ग्राम्य विकास, नमामि गंगे, खाद्य्य एवं रसद, मत्स्य, उद्यान, समाज कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, बाल विकास पुष्टाहार, दुग्ध विकास, बेसिक शिक्षा, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास, श्रम, खाद्य्य सुरक्षा एवं औषधी प्रशासन सहित अन्य विभागों की संचालित योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा करते हुए मण्डलायुक्त ने सभी विभागों के सम्बंधित अधिकारियों को उपलब्ध धन के सापेक्ष निर्माण कार्यों को गुणवत्ता एवं समयबद्धता के साथ पूर्ण करने एवं संचालित योजनाओं को पारदर्शी ढंग से क्रियान्वित करते हुए पात्रों को लाभान्वित कराये जाने का निर्देश दिया है। मण्डलायुक्त ने सभी विभागों के अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि कार्यों में लापरवाही या उदासीनता कदापि न बरती जाये। उदासीनता या लापरवाही पाये जाने पर सम्बंधित अधिकारी के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। बैठक में राजस्व विभाग के कर-करेत्तर राजस्व संग्रह की समीक्षा करते हुए मण्डलायुक्त ने स्टाम्प एवं रजिस्टेªशन, आबकारी, विद्युत, खनन, परिवहन के द्वारा अर्जित राजस्व वसूली की जानकारी लेते हुए परिवहन विभाग द्वारा जनपद प्रतापगढ़ में राजस्व संग्रह में कम वसूली पर नाराजगी जताते हुए लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत वसूली करने के निर्देश दिये। खनन विभाग की राजस्व समीक्षा में मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि खनन से सम्बंधित शेष पट्टों की नीलामी की प्रक्रिया को जल्द पूरा करें, जिससे राजस्व में वृद्धि हो। इसी प्रकार विद्युत विभाग के द्वारा बिल की वसूली के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में कैम्प लगाये जाये व जन सुविधा केन्द्रों पर बिल जमा करने के लिए लोगो को प्रचार-प्रसार के माध्यम से प्रेरित करें। विद्युत विभाग की समीक्षा में विद्युत विभाग के अभियंता के द्वारा बताया गया कि सरकारी कार्यालयों में बेसिक शिक्षा विभाग एवं ग्राम पंचायत विभाग पर विद्युत बकायें की अधिक धनराशि लम्बित है। इसके अलावा अन्य विभागों पर भी विद्युुत देय बकाया है। मण्डलायुक्त ने मण्डल के सभी जिला विकास अधिकारियों एवं विद्युत विभाग के अधिकारी व सम्बंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बकाये धनराशि के सम्बंध में बैठक कर मामले का जल्द से जल्द निस्तारण कराने के निर्देश दिये। नई सड़कों के निर्माण/चैड़ीकरण/ सुदृढ़ीकरण के कार्य में शिथिलता न बरती जाये। अवमुक्त धनराशि के सापेक्ष 100 प्रतिशत कार्य पूर्ण किया जाये। साथ ही फतेहपुर में सड़क निर्माण के कार्य धीमी गति से होने पर नाराजगी जताते हुए आवश्यक निर्देश दिये। सेतु निर्माण के कार्यों की समीक्षा करते हुए जमीन अधिग्रहण से सम्बंधित समस्या बताये जाने पर मण्डलायुक्त ने किसानों से बातचीत कर सहमति से इस सम्बंध में आवश्यक कार्रवाई करते हुए जमीन अधिग्रहण की कार्यवाही सुनिश्चित कराये जाने के लिए निर्देशित किया है। साथ ही कौशाम्बी एवं प्रतापगढ़ में बन रहे सेतु निर्माण की प्रगति धीमे पाये जाने पर कार्य में तेजी लाने के लिए निर्देशित किया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की समीक्षा करते मण्डलायुक्त ने आधार फीडिंग या अन्य कारणों से जो किसान योजना का लाभ नहीं पा रहे है, ऐसे पात्र किसानों को भी लाभान्वित कराये जाने का निर्देश दिया है।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा में मण्डलायुक्त ने मण्डल के उप निदेशक कृषि को जागरूकता अभियान चलाकर अधिक से अधिक किसानों को फसल बीमा हेतु प्रेरित किए जाने के लिए कहा है। साथ ही जिने किसानों को बीमा कम्पनी द्वारा अपात्र घोषित किया गया है, वहां पर स्वंय जाकर मामले की जांच करें। गोवंशीय एवं महिषवंशीय पशुओं की इयर टैगिंग की प्रगति अच्छी न पाये जाने पर सभी मुख्य पशुचिकित्साधिकारियों को कार्य में तेजी लाते हुए इयर टैगिंग के कार्य को लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया है। चिकित्सकों की उपलब्धता के विषय में जानकारी लेते हुए मण्डलायुक्त ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों का लगातार निरीक्षण करते रहने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान बिना किसी सूचना के अनुपस्थित पाये जाने वाले लापरवाह चिकित्सकों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए शासन को रिपोर्ट प्रस्तुत करें। आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत गोल्डेन कार्ड बनाये जाने की प्रगति अच्छी न पाये जाने पर मण्डलायुक्त ने संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य को कार्य का अनुश्रवण करते हुए गोल्डेन कार्ड बनाये जाने के कार्य में तेजी लाये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि यह योजना गरीबों के लिए बहुत ही लाभकारी है। कठिन समय में इस योजना का लाभ उठाकर अच्छे से अच्छा इलाज प्राप्त किया जा सकता है। इस पर विशेष ध्यान देते हुए लक्ष्य बनाकर काम करें। प्रचार-प्रसार के माध्यम से एवं ग्राम प्रधानों के सहयोग से कैम्प लगाकर ज्यादा से ज्यादा पात्र लोगों का गोल्डन कार्ड बनवाना सुनिश्चित करें। टीकाकरण के कार्य को भी लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत सुनिश्चित कराये जाने के लिए कहा है। पंचायतीराज विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए मण्डलायुक्त ने पंचायत भवनों एवं सामुदायिक शौचालय के निर्माण कार्य को गुणवत्ता के साथ समय से पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि मण्डल के जिन जनपदों में चिन्हित स्थानों पर सामुदायिक शौचालय बनाने का कार्य नहीं शुरू हुआ है या कोई व्यवधान है, सम्बंधित जिले के मुख्य विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि उनके द्वारा खुद मानीटरिंग कर रूके हुए या किन्हीं कारणों से न शुरू हो पाये कार्यों को शुरू करायें। नगर विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए अमृत योजना के तहत घरों में पानी के कनेक्शन दिए जाने के कार्य में तेजी लाये जाने का निर्देश दिया है। स्मार्ट सिटी योजना के सम्बंध में उन्होंने सम्बंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि इस योजना के अन्तर्गत कार्यरत कार्यदायी संस्थाओं के साथ लगातार बैठक करते हुए कार्य में तेजी लाये। राष्ट्रीय खाद्य्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत रिक्त दुकानों के आवंटन हेतु कार्यवाही करते हुए दुकानों के आवंटन की कार्यवाही को नवम्बर माह तक पूर्ण किए जाने का निर्देश दिया है। मत्स्य पालन हेतु तालाबों के आवंटन में प्रतापगढ़ में तालाबों का आवंटन कम पाये जाने पर नाराजगी जताते हुए तालाबों के आवंटन के कार्य को लक्ष्य  के सापेक्ष पूरा करने के निर्देश दिये। पेंषन योजनाओें की समीक्षा करते हुए मण्डलायुक्त ने लाभार्थिंयों की निर्धारित किश्त समय से उनके खाते में प्रेषित कराये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिया है। आंगनबाड़ी केन्द्रों के निर्माण कार्य में कौशाम्बी व प्रतापगढ़ में निर्माण प्रगति धीमी होने पर दिसम्बर माह तक गुणवत्ता के साथ पूर्ण किये जाने का निर्देश दिये है। दुग्ध विकास विभाग की समीक्षा करते हुए दुग्ध समितियों का गठन एवं पुनर्गठन के कार्य को पूरा करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रयागराज- आशीष कुमार तथा अन्य सम्बंधित विभागों के मण्डलस्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे। यह जानकारी जिला सूचना विभाग के द्वारा प्राप्त हुई।                        


मनरेगा पार्क विकसित गांवो की डीएम ने सूची मांगी

जौनपुर। जिलाधिकारी दिनेश सिंह ने समस्त उपजिलाधिकारी को निर्देश दिया कि वे अपने खंड विकास अधिकारियों से उन गांवों की सूची प्राप्त करें जहां पर मनरेगा पार्क विकसित किया जा रहा है। जनपद में ऐसे 45 गांव में पार्कों को विकसित किया गया है। इन सभी गांव को आदर्श गांव बनाना है। उन्होंने कहा कि एक सप्ताह तक इन गांवों में स्वयं जाकर के पब्लिक मीटिंग करें और इस बैठक में शिक्षा विभाग के एबीएसए और गांव के विद्यालय के सभी अध्यापकगण, बाल विकास की सुपरवाइजर और आंगनवाड़ी, स्वास्थ्य विभाग की एएनएम और आशा, पंचायत सचिव रोजगार सेवक किसान सहायक, ग्राम प्रधान सहित अन्य पुरुष व महिलाएं उपस्थित रहे। 


उन्होंने कहा कि गांव को आदर्श शिक्षित गांव बनाना, गांव में सभी पात्र विधवा, विकलांग, वृद्धावस्था, किसान सम्मान निधि, सुमंगला योजना आदि के सभी पात्र लोगों का आनलाइन आवेदन कराकर उसकी स्वीकृति करायी जाय, ताकि कोई पात्र वंचित न रहने पाए। स्कूल की दीवारों का पुरातन छात्र जो किसी न किसी अच्छी पद पर हो उनका नाम, मोबाइल नंबर के साथ लिखवाना और प्रत्येक माह की 1 तारीख को उन्हें बुलाकर सम्मान करना सुनिश्चित हो। इसके अलावा अन्य जानकारी देते हुये दिशा निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी ने कहा कि उक्त सभी कार्य करके गांव को आदर्श बनाया जाने हेतु उपजिलाधिकारी की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। पूरे जुनून और ताकत के साथ इन गांव को आदर्श बनाकर मॉडल बना दें जिससे अन्य गांव इनसे प्रेरणा लेकर अपने गांव में भी सुधार करें। किये गये कार्यों की सूचना प्रतिदिन मेरे व्हाट्सएप पर भी अवगत करायें। एक सप्ताह बाद इस कार्यों की बैठक करके कार्यों की समीक्षा गांववार की जाएगी।                                


नामजद आरोपियों ने अधीक्षक का सम्मान किया

बिजनौर। नहटौर एनआरसी व सीएए के नामजद आरोपियों द्वारा पुलिस अधीक्षक को सम्मानित कर फ़ोटो वायरल सोशल मीडिया पर डालने पर विभाग में हड़कंप मच गया । जिसके बाद पुलिस अधीक्षक के आदेश पर स्थानीय पुलिस ने कार्यवाही करते हुये शांति भंग में चालान कर दिया।


दरसल 20 दिसम्बर को हुए एनआरसी व सीएए को हुए बवाल में मौहल्ला छापेग्रान निवासी डॉक्टर ख़ुर्शीद व हुजैफा अबरार भी नामजद आरोपी थे इन दोनों ने शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुच कर शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया था व फोटो सोशल मीडिया पर डाल दिया था एनआरसी के आरोपियों द्वारा सम्मानित करने की बात जैसे ही पुलिस अधीक्षक को पता चली उन्होंने तत्काल दोनो को गिरफ्तार करने के आदेश दे दिए ।


अदालत ने दोनो आरोपियों को एनआरसी व सीएए के आरोप में अदालत में पेश करने से इनकार दिया । आदेश का पालन करते हुए प्रभारी निरीक्षक ने शांति भंग में चालान कर दिया व 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।


रिपोर्ट :आक़िफ़ अंसारी                              


कोर्ट के फैसले को सीएम योगी ने स्वागत किया

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का योगी सरकार ने किया स्वागत, जल्द होंगी बाकी 37 हजार शिक्षक भर्तियां


बृजेश केसरवानी


नई दिल्ली/लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने 69 हजार सहायक शिक्षकों की भर्ती मामले में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का स्वागत किया है और कहा कि मामले में बाकी 37 हजार से ज्यादा पदों की भर्ती प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी।


प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि इससे बेसिक शिक्षा परिषद में 69 हजार सहायक अध्यापकों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है। बाकी बचे पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जल्द पूरी की जाएगी। उन्होंने भर्ती प्रक्रिया में शिक्षामित्रों को एक और मौका देने का भी स्वागत किया।
उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय के इस फैसले ने योगी सरकार के हर बच्चे को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के फैसले पर भी मुहर लगा दी। मैं सहायक शिक्षक भर्ती में शामिल सभी अभ्यर्थियों को बधाई देता हूं। बता दें कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने सहायक शिक्षकों की भर्ती मामले में यूपी शिक्षा मित्र एसोसिएशन द्वारा दायर अपील को खारिज कर दिया। शीर्ष अदालत ने शिक्षा मित्रों को संबंधित परीक्षाओं में भाग लेने का एक अंतिम मौका दिया है। इससे पहले 24 जुलाई को सर्वोच्च न्यायालय ने इस मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।
शीर्ष अदालत ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले को सही ठहराते हुए कहा है कि कट ऑफ 60 से 65 ही रहेगा। इससे उत्तर प्रदेश में प्राथमिक शिक्षकों के रूप में योग्यता प्राप्त करने के लिए लगभग 38 हजार शिक्षा मित्रों को कट-ऑफ अंकों में छूट नहीं मिलेगी। हालांकि, सभी शिक्षा मित्रों को एक मौका और मिलेगा।


शिक्षक भर्ती मामले में पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 19 सितंबर को 31661 पदों को एक हफ्ते के अंदर भरने का निर्देश दिया था। इन पदों पर यूपी सरकार के मौजूदा कट ऑफ 60-65 के आधार पर भर्ती होगी। न्यायालय ने सुनवाई के दौरान यूपी सरकार के हलफनामे को रिकॉर्ड में लिया इसमें कहा गया था कि नए कट ऑफ की वजह से नौकरी से वंचित रह गए शिक्षा मित्र को अगले साल एक और मौका दिया जाएगा।
शिक्षामित्रों ने दी थी ये दलील
छात्रों के एक गुट का कहना था कि सरकार का परीक्षा के बाद कट ऑफ निर्धारित करना गलत है। छह मार्च को इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने यूपी सरकार के फैसले को सही मानते हुए भर्ती प्रक्रिया को तीन महीने के अंदर पूरी करने का आदेश दिया था। मगर शिक्षामित्रों ने कट ऑफ मार्क्स को लेकर इसका विरोध किया और इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी।


शिक्षामित्रों का कहना है कि लिखित परीक्षा में टोटल 45,357 शिक्षामित्रों ने फॉर्म डाला था, जिसमें से 8,018 शिक्षामित्र 60-65 प्रतिशत के साथ पास हुए लेकिन इसका कोई डाटा नहीं है कि कितने शिक्षामित्र 40-45 के कटऑफ पर पास हुए। इसी वजह से 69 हजार पदों में से 37,339 पद रिजर्व करके सहायक शिक्षक भर्ती की जाए या फिर पूरी भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगाई जाए।                            


जर्मनी युवती की तलाश में रात भर भागी पुलिस

जर्मनी से भारत आई युवती की तलाश में रातभर दौड़ी पुलिस जानिए साध्वी वेश में मिली युवती ने क्या मांगी मदद


आनंद भट्टाचार्य


आगरा। जर्मनी की एक युवती बरहन के आंवलखेड़ा क्षेत्र में है। वह किसी मुसीबत में है। सोमवार देर रात एसएसपी आवास पर मिली इस सूचना ने पुलिस के होश उड़ा दिए। सूचना सदर के जंगजीत नगर क्षेत्र निवासी एक युवक ने दी थी। पुलिस रातभर विदेशी युवती की तलाश में जुटी रही। मंगलवार की सुबह युवती पुलिस को मिली। वह साध्वी के वेश में थी। पुलिस से बोली कि अब उसका नाम योगिनी उदयनाथ पार्वती है। वह खुश है। उसकी वीजा की अवधि बढ़वा दी जाए।


सोमवार की रात जंगजीत नगर निवासी विनय शर्मा ने एसएसपी कार्यालय पर सूचना दी कि जर्मनी की युवती उनकी व्हाट्स एप फ्रेंड है। उसने बताया कि उसकी सहेली आंवलखेड़ा में है। वह किसी मुसीबत में है।


सूचना देने वाले ने विदेशी युवती का मोबाइल नंबर भी पुलिस को दिया। एसओ बरहन कुलदीप दीक्षित रातभर विदेशी युवती की तलाश में जुटे रहे। मोबाइल नहीं उठा। मंगलवार की सुबह पुलिस ने उसे खोज निकाला। वह विक्रांत एकेडमी की छत पर बने कमरे में मौजूद थी। पुलिस पहुंची तो साध्वीके वेश में मिली। उसने पुलिस को बताया कि उसका नाम मिजारम क्रेटज है। अब उसने अपना नाम योगिनी उदयनाथ पार्वती रख लिया है। वह अकेली नहीं है। जींद, हरियाणा के राजगढ़ ढोबी निवासी बाल योगी कर्णनाथ उसके साथ हैं। वह सात-आठ दिन पहले ही आगरा आए हैं। विदेशी युवती ने पुलिस को अपना वीजा और पासपोर्ट भी दिखाया। उसका वीजा 21 अक्टूबर 2019 से 19 अक्टूबर 2020 तक था।


युवती ने पुलिस को बताया कि वह बाबा कर्ण नाथ से एक वर्ष पहले नेपाल के काठमांडू में मिली थी। वहां बाबा ओमनाथ का स्थान है। बाबा कर्णनाथ से दीक्षा लेने के बाद उन्हीं के साथ रहने लगी। काठमांडू से दोनों बनारस आ गए। वहां से कुछ दिन के लिए हरियाणा आ गए। वापस बनारस लौट गए। लॉकडाउन लग गया। वे बनारस में ही रुक गए। कुछ दिन पहले ही आगरा आए। गांधी नगर में हंसना भैरव मंदिर में तीन दिन रुके। उसकी तबियत खराब हो गई। ड्रिप लगी। दवा खाई। पांच दिन पहले बाबा के साथ उनके शिष्य आंवलखेड़ा निवासी अभय शर्मा के यहां आ गए। उन्होंने उन्हें आंवलखेड़ा स्थित विक्रांत एकेडमी में रुकवा दिया। अब वह काठमांडू जाना चाहती है। एसओ बरहन कुलदीप दीक्षित ने बताया कि विदेशी युवती अपने स्वेच्छा से बाबा के साथ रह रही है। साध्वी बन गई है। उसकी वीजा अवधि बढ़वाने के लिए अधिकारियों को बताया गया है। पुलिस ने युवती से हुई बातचीत को थाने की जनरल डायरी में भी दर्ज किया है।                                      


एलवीबी बैंक पर आरबीआई ने लगाई पाबंदी

इस प्राइवेट बैंक पर RBI ने लगाई पाबंदी नहीं निकाल पाएंगे 25,000 रुपये से ज्यादा की रकम


मोमिन मलिक


नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने निजी क्षेत्र के ऋणदाता लक्ष्मी विलास बैंक (एलवीबी) पर एक महीने के लिए पाबंदियां लगा दी हैं। आरबीआई ने बैंक के निदेशक मंडल को बर्खास्त कर दिया और जमाकर्ताओं के लिए निकासी की सीमा तय की है। आरबीआई के आदेश के मुताबिक बैंक का प्रत्येक जमाकर्ता अधिकतम 25,000 रुपये तक की ही निकासी कर पायेगा। निकासी की सीमा 16 दिसंबर तक लागू रहेगी. बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मंगलवार को सिंगापुर के DBS बैंक की भारतीय सहायक कंपनी के साथ लक्ष्मी विलास बैंक (LVB) को विलय करने का प्रस्ताव दिया है।


केंद्रीय बैंक ने अपनी वेबसाइट पर कहा यह एक ड्राफ्ट विलय का प्रस्ताव है और इसका अंतिम निर्णय RBI द्वारा सदस्यों, जमाकर्ताओं और बैंकों के लेनदारों के इनपुट्स और आपत्तियों के बाद लिया जाएगा। केंद्र सरकार ने बैंकिग नियमन अधिनियम, 1949 की धारा 45 के अंतर्गत लक्ष्मी विलास बैंक पर यह पाबंदियां लगाई हैं. आरबीआई ने कहा कि आज से 30 दिन के लिए बैंक पर पाबंदी लगार्ई गई है. सीमा बचत, चालू तथा अन्य सभी प्रकार के खातों पर लागू होगी।


आरबीआई ने डीबीएस बैंक की भारतीय इकाई के साथ लक्ष्मी विलास बैंक की विलय योजना का खाका भी सार्वजनिक किया है। एक रिपोर्ट के अनुसार डीबीएस बैंक इंडिया एलवीबी में अग्रिम तौैर पर 2,500 करोड़ रुपये की अतिरिक्त पूंजी लगाएगा. लक्ष्मी विलास बैंक लंबे समय से वित्तीय संकट का का सामना कर रहा है।


पिछले साल उसने इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनैंस के साथ विलय की योजना भी बनाई थी लेकिन इसे आरबीआई खारिज कर दिया था. बाद में एलवीबी ने क्लिक्स समूह के साथ बातचीत शुरू की. 30 जून, 2020 तक, डीबीएस बैंक की कुल विनियामक पूंजी 7,109 करोड़ रुपये थी और इसके सकल एनपीए और शुद्ध एनपीए क्रमशः 2.7 प्रतिशत और 0.5 प्रतिशत थे।                                         


धमाके के साथ उड़ी छत, इलाके में फैली दहशत

मेरठ जोरदार विस्फोट से कई घरों की उड़ गई छत इलाके में दहशत


शेरदीन खान


मेरठ। जिले के एक गांव में देर शाम हुए जोरदार विस्फोट से कई घरों की छत उड़ गई। विस्फोट में दो लोगों के मरने और दर्जन लोगों के घायल होने की सूचना है।


विस्फोट से गांव में दहशत फैल गई


मौके पर पुलिस पहुंची और घायलों को अस्पताल पहुंचाया। घटना थाना फलावदा क्षेत्र के गांव रसूलपुर की है। जहां देर शाम अचानक विस्फोट होने से चार मकानों की छतें उड़ गई। विस्फोट से गांव में दहशत फैल गई।विस्फोट में कई परिवार मलबे में दब गए।


जानकारी के अनुसार फलावदा क्षेत्र के गांव रसूलपुर में साबिर, एजाज,निसार, सलेक के मकान पास पास ही बने हुए हैं। यहां मंगलवार को निसार के मकान में अचानक भीषण विस्फोट हुआ। जिसके चलते चारों मकानों की छतें उड़ गईं।भीषण विस्फोट में चारों परिवारों के कई लोग मलबे में दब गए। हादसे की जानकारी लगते ही ग्रामीण मौके पर एकत्र हो गए और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर एक परिवार के चार लोगों को मलबे से निकालकर उपचार के लिए भेजा। वहीं पुलिस मलबे में दबे अन्य लोगों को भी निकालने में जुटी है।                                        


मुंबईः 8000 से अधिक अपराधियों की तलाश

लॉकडाउन मे नियमों का उल्लंघन करना पड़ेगा भारी, ८ हजार से अधिक आरोपियों की तलाश जारी


कविता गर्ग


मुंबई। मुंबई मे कोरोना के कोहराम से लोगों को बचाने के लिए मनपा प्रशासन द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने वाले अब पुलिस की रडार पर आ गए हैं। ८ हजार से अधिक लोगों के उपर मामला दर्ज किया गया है। जिनके उपर जल्द ही भविष्य मे कार्यवाई की जाएगी। इस मामले को लेकर मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल काफी सख्ती दिखा रहे हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए शहर में लगाए गए लॉकडाउन नियमों का पालन कई लोग नहीं कर रहे हैं। पुलिस ने अब तक आईपीसी की धारा १८८ के तहत ५४, ७११ मामले दर्ज किए हैं। मुंबई पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार २५ मार्च से जारी लॉकडाउन अवधि में मुंबई पुलिस द्वारा दर्ज ५४ हजार ७११ मामलों में ८, ५३४ आरोपियों की तलाश हैं। हालांकि इनमें से कई आरोपी मुंबई से बाहर चले गए हैं, जिन्हें खोजना और गिरफ्तार करना पुलिस के लिए चुनौती है लेकिन लॉकडाउन पूरी तरह से खत्म होते ही इनका तलाशी अभियान तेज कर दिया जाएगा। पुलसि ने अब तक २४,५७० आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि २१ हजार से अधिक आरोपियों को नोटिस देकर छोड़ा है।                                


नर्मदा नदी पार कर, महिला व बाल पोषण कार्य

पौष्टिकता के लिए निस्वार्थ सेवा


नंदुरबार। नर्मदा नदी पर सफर करना हर किसी के बस की बात नहीं। नदी की विशालता देखकर इसके ऊपर से गुजरने वालों का दिल दहल जाता है। एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व से 18 किलोमीटर का सफर करती हैं। रेलू महाराष्ट्र के नंदुरबार जिले के सुदूरवर्ती आदिवासी गांव चिमलखाड़ी में आंगनबाड़ी में कार्यकत्री हैं। उनका काम छह साल से कम उम्र के बच्चों और गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य और उनके विकास पर नजर रखना है। वह उनके वजन की जांच करती हैं और उन्हें सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली पोषण संबंधी खुराक देती है। मार्च में लॉकडाउन की घोषणा होने के बाद, नर्मदा के दूसरे छोर के दोनों हिस्सों के आदिवासियों ने आंगनवाड़ी में आना बंद कर दिया। रेलू ने बताया, ‘आमतौर पर, बच्चे और गर्भवती महिलाएं भोजन एकत्र करने के लिए अपने परिवारों के साथ नाव से हमारे केंद्र पर जाती हैं। लेकिन उन्होंने वायरस के डर से आना जाना बंद कर दिया है।’ अपने पति रमेश के विपरीत, रेलू बचपन से तैराकी और रोइंग में माहिर हैं। दो छोटे बच्चों की मां रेलू छह महीने से लगातार नर्मदा नदी पार करके इन आदिवासी गांव तक पहुंच रही हैं। यहां तक की जुलाई में भी उन्होंने यहां जाना बंद नहीं किया जब नर्मदा में बाढ़ आई थी। रेलू सुबह 7.30 बजे आंगनवाड़ी पहुंचती है और दोपहर तक वहां काम करती है। दोपहर के भोजन के एक घंटे बाद, वह अपनी नाव से बस्तियों में जाती है और देर शाम को ही लौटती हैं। ज्यादातर बार वह भोजन की खुराक और बच्चे के वजन वाले उपकरणों के साथ अकेली जाती है। कभी-कभी उसकी रिश्तेदार संगीता, जो एक आंगनबाड़ी में काम करती है, उनके साथ जाती है। नाव से नदी पार करने के बाद रेलू को पहाड़ी इलाके पर चढ़ना पढ़ता है और फिर वह आदिवासियों तक पहुंचती हैं। रेलू ने कहा, ‘हर दिन नाव चलाना आसान नहीं होता है। जब शाम को मैं घर वापस आती हूं तो मेरे हाथों में दर्द होता है। लेकिन इसकी मुझे कोई चिंता नहीं है। यह महत्वपूर्ण है कि बच्चे और गर्भवती महिलाओं तक पौष्टिक भोजन पहुंच सके। जब तक कोविड को लेकर स्थितियां सुधर नहीं जाती, तब तक मैं इन इलाकों तक ऐसे ही पहुंचती रहूंगी।’ आदिवासी रेलू की निस्वार्थ सेवा से अभिभूत हैं। अलीगाट के रहने वाले शिवराम वासेव ने कहा कि रेलू उनके यहां तीन वर्षीय भतीजे गोमता की जांच करने के लिए आती हैं। उन्होंने कहा, ‘रेलू हमें बच्चे की देखभाल करने के लिए मार्गदर्शन करती है और हर बार जब वह यहां आती हैं तो हम लोगों के स्वास्थ्य के बारे में हमसे सवाल करती हैं। हम बच्चे की स्वास्थ्य को लेकर उनके ऊपर निर्भर हैं।’                                       


गैंगस्टर रवि पुजारी को मुंबई लाने की तैयारी

गैंगस्टर रवि पुजारी को मुंबई लाने की तैयारी !


मुंबई । इसी साल दक्षिण अफ्रीका में गिरफ्तार कुख्यात गैंगस्टर रवि पुजारी को जल्द ही मुंबई लाया जाएगा। 10 दिसंबर से पहले उसे बेंगलुरु से मुंबई लाने की अनुमति मिल गई है। पिछले हफ्ते शुक्रवार को मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच की ऐंटी एक्सटॉर्शन सेल के आवेदन को बेंगलुरु कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है। बता दें कि रवि पुजारी को इसी साल अफ्रीका से भारत लाया गया था।


कोर्ट ने क्राइम ब्रांच को 10 दिसंबर से पहले किसी भी वक्त 10 दिनों के लिए रवि पुजारी को मुंबई ले जाने की इजाजत दी है। मुंबई पुलिस 2015 में एमएनएस नेता राजू पाटील की हत्या की साजिश के संबंध में रवि पुजारी से पूछताछ करेगी। पुलिस ने मुंबई कोर्ट में केस के लंबित होने का हवाला देते हुए बेंगलुरु अडिशनल सिटी सिविल और सेशन जज एसआर माणिक्य के समक्ष अर्जी लगाई थी।


केस में छह लोगों के खिलाफ ट्रायल पहले से ही खत्म हो चुका है और स्पेशल कोर्ट दिसंबर में अपना फैसला सुनाएगी। हालांकि रवि पुजारी जो इतने सालों तक गिरफ्त से बाहर था और उसका नाम भी वांटेड आरोपी में शामिल था, इसलिए उसका ट्रायल अलग चलाया जाएगा।


मुंबई में मामले के ट्रायल देख रहे स्पेशल कोर्ट जज ने हाल ही में बेंगलुरु कोर्ट को लेटर जारी करके जेल प्रशासन को पुजारी की कस्टडी मुंबई पुलिस को देने की गुजारिश की थी। पुजारी के वकील ने हालांकि आपत्ति दाखिल की थी और तर्क दिया था कि जिस केस के लिए उसकी कस्टडी मांगी जा रही है उसका जिक्र प्रत्यर्पण आदेश में नहीं था।


रवि पुजारी को मुंबई कब लाया जाएगा, इस बारे में क्राइम ब्रांच के अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘दिवाली के तुरंत बाद ही, हम उसे मुंबई लाएंगे।’ मुंबई में पुजारी करीब 49 केस में आरोपी है। इनमें से 26 केस मकोका के कहत दर्ज हैं। 11 केसों में उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी हो चुकी है।


गैंगस्टर रवि पुजारी रंगदारी और हत्या समेत करीब 200 मामलों में वॉन्टेड है। रॉ, आईबी और कर्नाटक पुलिस के अधिकारी उसे दक्षिण अफ्रीका के सेनेगेल से फरवरी में भारत लाए थे। अबू सलेम, छोटा राजन, एजाज लकड़वाला के बाद पुजारी को भारत लाया जाना एक बड़ी सफलता के तौर पर देखा गया था। पुजारी पहले सेनेगल में पकड़ा गया था और फिर जमानत पर रिहा होने के बाद 13 महीने पहले फरार हो गया था।


बिल्डर और सांसद की हत्या की कोशिश का आरोप
रवि पुजारी के खिलाफ बॉलिवुड स्टार्स और कई नामचीन कारोबारियों को उगाही के लिए धमकाने, हत्या सहित करीब 200 केस दर्ज है। इनमें से 90 केस कर्नाटक के हैं जिनमें से 39 बेंगलुरु और 36 मेंगलुरु के हैं। सबसे चर्चित मामला बिल्डर ओमप्रकाश कुकरेजा की हत्या और सांसद मजीद मेमन की हत्या की कोशिश का था। इंटरपोल ने पुजारी और उसकी पत्नी पद्मा दोनों के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटस जारी किया था।                            


मुंबई में पारा लुढ़का, बड़ी गुलाबी ठंड

मुंबई में पारा लुढ़का, बढ़ी गुलाबी ठंड, मौसमी बीमारियों का खतरा भी बढ़ा


कविता गर्ग


मुंबई। दिवाली के मौसम मे ठंड गरम का उतार चढ़ाव शुरु हो गया है दिन मे पसीना निकालने वाली गर्मी रहती है, तो रात मे तापमान अचानक कम हो जाता है जिससे मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। दिन में गर्मी की मार झेल रहे मुंबईकरों को रात में हल्का हल्का ठण्ड का एहसास होने लगा है जिससे शहर में गुलाबी ठंड ने दस्तक दे दी है, इसकी गवाही मौसम विभाग के आंकड़े भी दे रहे हैं। मुंबई उपनगर का न्यूनतम तापमान पिछले ३ दिनों से २० डिग्री सेल्सियस से नीचे जा लुढ़का है। मौसम विशेषज्ञों की माने तो उत्तर से आने वाली ठंड हवा जे चलते रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। इसका ही परिणाम है कि कपड़ों की दुकानों में गरम कपड़ों की बिक्रि शुरु हो गई है।


चादर और कंबल का उपयोग शुरु


न्यूनतम तापमान मे गिरावट का असर अब मॉर्निंग वॉक के समय भी महसूस किया जा रहा है। मुंबई के आसपास के क्षेत्र में रात के तापमान इतनी गिरावट हुई है कि लोगों ने चादर और कंबल का उपयोग भी शुरु कर दिया है। क्षेत्रीय मौसम विभाग से प्राप्त आंकड़ों पर नजर डाले तो १२ नवंबर को मुंबई उपनगर का न्यूनतम तापमान १९.८ डिग्री सेल्सियस और शहर का तापमान २२.८ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि दिन में सूरज के तेवर अब भी कड़े हैं।


ठंडी हवा का दक्षिण की ओर प्रवाह


गुरुवार को उपनगर का अधिकतम तापमान ३३.८ डिग्री सेल्सियस और शहर का ३३.२ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मुंबई के उपनगरीय इलाके जैसे बोरीवली में तो पारा १८ डिग्री सेल्सियस तक जा लुड़का है। मौसम का अनुमान लगाने वाली प्राइवेट संस्था स्काइमेट के प्रमुख मेट्रोलाजिस्ट महेश पालावत ने कहा कि देश के उतरी हिस्से राजस्थान से ठंडी हवा का दक्षिण की ओर प्रवाह शुरु हो गया है। जिसका हल्का असर मुंबई पर भी देखने को मिल रहा है। आने वाले दो दिनों में न्यूनतम तापमान में भी २ से ३ डिग्री की बढ़त देखने को मिल सकती है क्योंकि दक्षिण पूर्व से मुंबई की ओर आने वाली गर्म हवाएं प्रबल हो जाएंगी। अब २२ नवम्बर के बाद ही मुंबई में एक बार फिर तापमान में गिरावट होगी।


महाराष्ट्र के कई हिस्सों में ठंड


उत्तर से आनेवाली ठंड हवाओंके चले महाराष्ट्र के कई हिस्सों में जमकर ठंड पड़ रही है। हालांकि क्षेत्रीय मौसम विभाग के उपनिदेशक के एच होसालिकर ने बताया कि महाराष्ट्र का न्यूनतम तापमान १५ डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। जबकि मुंबई का न्यूनतम तामपान २० डिग्री सेल्सियस के आसपास ही रहेगा।                                     


भाजपा के मिशन बंगाल से घबराई टीएमसी

बीजेपी के मिशन बंगाल से हिली टीएमसी 


कोलकाता। बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे भी घोषित नहीं हुए थे। और भाजपा का मिशन बंगाल बहुत तेजी से शुरू हो गया। हालांकि यह कहना भी पूरी तरह सही नहीं है। क्योंकि भाजपा का मिशन बंगाल तो उसी समय से शुरू हो गया था। जब केशरीनाथ त्रिपाठी को राज्य पाल बनाकर भेजा गया था। केशरीनाथ त्रिपाठी ने नींव रखी थी। उस पर दीवार जगदीप धनखड ने खड़ी कर दी है। पश्चिम बंगाल में भाजपा के सामने हालात भिन्न हैं। अब तक भाजपा ने जहां-जहां कब्जा जमाया है। वहां के मजबूत दल को अपने साथ जोड़ा है। कभी प्रत्यक्ष रूप से और कभी अप्रत्यक्ष रूप से यह कूटनीति अपनायी गयी है। बिहार का ही उदाहरण ले लें तो स्पष्ट रूप से पता चलता है। कि वहाँ के बड़े दल जनता दल यूनाइटेड को भाजपा अपने साथ न रखती तो बिहार की सत्ता उसके पास नहीं आ सकती थी। भाजपा को 2015 में विधानसभा चुनाव में पराजय का सामना करना पड़ा था। सोचने वाली बात यह कि लगभग एक साल पहले ही लोकसभा चुनाव में भाजपा ने जबर्दस्त सफलता हासिल की थी। इससे यह भी पता चलता है। कि लोकसभा चुनाव और राज्य के विधानसभा चुनाव में मतदाताओं का रुख बदल जाता है। पश्चिम बंगाल में भी भाजपा को ऐसे ही हालात का सामना करना पड सकता है।
भाजपा ने 2019 के लोकसभा चुनाव में जिस तरह से सफलता प्राप्त की थी। उसको विधानसभा चुनाव में दोहराया जाएगा यह दावे के साथ नहीं कहा जा सकता है। भाजपा को यहां से कोई ऐसा साथी दल मिलने की संभावना भी नहीं दिखाई पड रही जो मजबूत हो जैसा बिहार में जेडीयू है। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ तृणमूल कांग्रेस के विपक्ष में कांग्रेस और वामपंथी दल हैं। ये दोनों दल कभी भी भाजपा के साथ नहीं जा सकते। इस प्रकार एक ही रास्ता भाजपा के लिए बचता है। और वो यह है । कि सत्ताधारी दल किसी तरह कमजोर हो जाए। तृणमूल कांग्रेस में यही हो रहा है।
पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं।चुनाव के लिए कुछ ही महीने बचे हैं। चुनाव से पहले ही वहां राजनीतिक समीकरण बनने-बिगड़ने लगे हैं। राज्य में वाम शासन के दौरान नंदीग्राम और सिंगूर आंदोलन में तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और फिलहाल राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथी रहे लोग अब उनसे दूरी बना रहे हैं। नंदीग्राम आंदोलन में ममता के साथ रहे सुवेंदु अधिकारी ने हाल ही में ममता से अलग रैली कर ली थी। इसके बाद से इस बात के कयास लगाए जाने लगे थे। कि वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं। टीएमसी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बीते दिनों अधिकारी के पिता से बात की थी। वहीं भाजपा की बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा था कि अधिकारी पार्टी में शामिल होंगे या नहीं, उन्हें यह नहीं पता। अब सिंगूर में ममता के साथ रहे रबीन्द्रनाथ भट्टाचार्जी ने पार्टी से इस्तीफा देने की बात कह दी है। भट्टाचार्जी ने टाटा के नैनो कारखाने के खिलाफ टीएमसी के आंदोलन में ममता का साथ दिया था। इस आंदोलन में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी। इन सबके बाद अब हरिपाल से विधायक बेचाराम मन्ना के इस्तीफे ने पार्टी को हुगली जिले में परेशान कर दिया है। रबीन्द्रनाथ भट्टाचार्जी के साथ मतभेदों पर सार्वजनिक होने के बाद मन्ना ने 12 नवम्बर को सिंगूर सीट से विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। भट्टाचार्जी ने भी हाल ही में पार्टी छोड़ने की धमकी दी थी। बीते दिनों सीएम ममता बनर्जी ने पार्टी के ब्लॉक प्रेसिडेंट महादेब दास को हटा दिया था। दास को भट्टाचार्जी का करीबी माना जाता है। इसी तरह का बदलाव हरिपाल ब्लॉक में भी किया गया जिसके चलते मन्ना भी नाराज हो गए।
तृणमूल नेतृत्व ने मन्ना से कहा कि वह दास को फिर से उनके पद पर वापस नियुक्त कर दें। इसके बाद ही मन्ना ने इस्तीफा देने का मन बना लिया। पार्टी के महासचिव सुब्रत बख्शी ने कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस मुख्यालय में मन्ना को बुलाया और कथित तौर पर, इस्तीफे को वापस लेने और दिमाग शांत रखने के लिए कहा। मन्ना ने कथित तौर पर बनर्जी (ममता) से हाल के घटनाक्रमों के मद्देनजर भी बात की है। इसी के चलते 13 नवम्बर सुबह उत्तरपारा के विधायक, प्रबीर घोषाल ने मन्ना से उनके आवास पर बात की। उन्होंने बताया कि दोनों नेताओं के बीच गलतफहमी थी। लेकिन मेरा मानना है। कि मामला अब सुलझ गया है। अब कोई समस्या नहीं हैं। बेचाराम मन्ना सिंगूर आंदोलन का चेहरा हैं। और पार्टी इसे स्वीकार करती है। हालांकि मन्ना काफी समय तक मीडिया से दूर रहे। उन्होंने उस बयान को खारिज करने का कोई प्रयास नहीं किया लेकिन उनके समर्थकों ने दास को बहाल करने के पार्टी के राज्य नेतृत्व के फैसले के खिलाफ सिंगुर में विरोध प्रदर्शन किया। स्थानीय नेताओं का कहना है। कि मन्ना अभी भी पार्टी से खुश नहीं हैं। दूसरी ओर भट्टाचार्जी को लगता है कि मन्ना का इस्तीफा नाटक है। उनका कहना है। कि अपनी मांग मनवाने के लिए यह उनकी दबाव बनाने की रणनीति हो सकती है। इन सबके बीच हुगली से बीजेपी सांसद लॉकेट चटर्जी ने इस मामले को लेकर तंज कसा। चटर्जी ने कहा कि श्तृणमूल कांग्रेस अब गुटबाजी से लड़ रही है। हुगली में टीएमसी नेता यह जानते हुए बाहर जाने की कोशिश कर रहे हैं। कि पार्टी यहां अपने वादों को पूरा नहीं कर पाई। सिंगूर ने ममता को सत्ता दिलाई थी। और यही जगह उनसे सत्ता छीनेगी भी। वहीं नंदीग्राम में टीएमसी के नेता सुवेंदु अधिकारी पिछले कुछ महीनों से पार्टी और कैबिनेट की बैठकों से दूर रह रहे हैं। वह पूर्वी मिदनापुर जिले में रैलियां कर रहे हैं। और इनमें वह पार्टी के बैनरों और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पोस्टरों का उपयोग नहीं कर रहे हैं। सुवेंदु अधिकारी ने अपनी रैलियों में कहा है। कि बहुत कम उम्र से कठिन परिश्रम करके वह जमीनी स्तर से यहां तक पहुंचे हैं और उन्हें कभी किसी ने कुछ भी थाली में सजाकर नहीं दिया। हालांकि उन्होंने कभी किसी का नाम नहीं लिया है। उनके इन कदमों की पार्टी के कुछ नेताओं ने आलोचना भी की है। एक तरफ ममता बनर्जी अपनी पार्टी के नेताओं से परेशान हैं। तो दूसरी तरफ भाजपा ने मिशन पश्चिम बंगाल के तहत गृहमंत्री अमित शाह को कमान सौंप दी है। अमित शाह कहते हैं। भले ही भाजपा को देश भर में लोकसभा की 300 से ज्यादा सीटें मिली हैं। लेकिन हमारे जैसे कार्यकर्ताओं के लिए बंगाल की 18 सीटें अहम हैं। उन्होंने याद दिलाया कि 2014 से राज्य में परिवर्तन के लिए 100 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ताओं ने जान गंवाई, उनका त्याग 'सोनार बांग्ला' बनाने में काम आएगा। अमित शाह कहते हैं। हम ऐसे दल नहीं हैं। जो 10-10 साल तक सत्ता में बैठे रहें और बाद में दूसरे पर आरोप लगाएं। गृह मंत्री की बंगाल में वर्चुअल रैली हुई। अमित शाह बोले- ममता दीदी ने श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेनों को कोरोना एक्सप्रेस नाम दिया यह उनके बंगाल से बाहर जाने वाली एक्सप्रेस साबित होगी। उन्होंने यह भी कहा कि ममता सीएए का विरोध कर रही हैं। जिस दिन विधानसभा चुनाव की मतपेटियां खुलेंगी जनता उन्हें राजनीतिक शरणार्थी बना देगी। भाजपा ने ममता के 9 साल के कार्यकाल पर 9 बिंदुओं का आरोपपत्र जारी किया । पार्टी ने सोशल मीडिया पर 'आर नोई ममता (ममता का शासन अब और नहीं) अभियान भी चलाया है। अमित शाह कहते हैं। कि बंगाल की धरती में कई महापुरुषों ने जन्म लिया। इस भूमि में रामकृष्ण परमहंस स्वामी विवेकानंद, रवींद्रनाथ टैगोर जैसे अनेकानेक लोगों ने भारतीय संस्कृति को दुनिया भर में फैलाने का काम किया है। मैं बंगभूमि पर जन्मे सभी महान लोगों को प्रणाम करता हूं। जब कभी बंगाल का इतिहास लिखा जाएगा तो आपके परिवार के त्याग और बलिदान को याद किया जाएगा।                             


पीएम मोदी ने बाइडन को फोन पर बधाईंं दी

मोदी ने लगाया बिडेन को टेलीफोन


नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जोसेफ आर बिडेन से टेलीफोन पर बात कर उन्हें बधाई दी है। नरेंद्र मोदी ने अमेरिका का राष्ट्रपति चुने जाने पर जोसेफ आर बिडेन को गर्मजोशी के साथ बधाई दी और कहा कि इस चुनाव से अमेरिका की लोकतांत्रिक परंपराओं की मजबूती का पता चलता है। प्रधानमंत्री ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति निर्वाचित सीनेटर कमला हैरिस को भी बधाई और शुभकामनाएं दी।
बातचीत के दौरान नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2014 और 2016 की अपनी अमेरिका यात्राओं का उल्लेख करते हुए जोसेफ आर बिडेन के साथ अपनी मुलाकात तथा बातचीत को याद किया। दोनों नेताओं ने साझा मूल्यों और समान हितों पर आधारित भारत अमेरिका व्यापक वैश्विक सामरिक साझेदारी को और मजबूत बनाने के लिए काम करने पर सहमति व्यक्त की। उन्होंने कोविड महामारी से निपटने के लिए किफायती वैक्सीन उपलब्ध कराने जलवायु परिवर्तन की चुनौती से निपटने और हिंद प्रशांत क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने जैसी प्राथमिकताओं के बारे में भी चर्चा की।                                                    


मेला कैसा है यह जनता तय करेंः ट्विंकल

ट्विंकल ने कहा मेला कैसा है ये जनता तय करे


मुम्बई। कलाकार से लेखक बनीं ट्विंकल खन्ना ने अपनी फिल्म मेला को ट्रिब्यूट देने के लिए एक तस्वीर शेयर की ये तस्वीर एक ट्रक के बैक की है। ये व्हाट्सएप फोरवर्ड तस्वीर है। इस तस्वीर में एक ट्रक के पीछे मेला का पोस्टर लगा हुआ है। इस पोस्टर में फिल्म में विलेन गुर्जर का किरदार निभाने वाले टीनू वर्मा की तस्वीर है। यह फिल्म साल 2000 में आई थी। इसे लेकर उन्होंने एक मजाक भी किया है।
ट्विकंल के इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा उन्हें नहीं पता कि ये फिल्म देखने के बाद लोगों को डर लगा या फिल्म बेहतरीन लगी ट्विकंल खन्ना ने लिखा कुछ चीजें मुझे लगता है। टाइमलेस हैं। यह मेरे मैसेज में आज भी आया है। और मैं क्या कह सकती हूं सिवाय इसके कि मेला निश्चित रूप से लोगों पर एक छाप या दाग छोड़ गई है। जो भी आप इसे और मेरे देश के बाकी हिस्सों पर देखते हैं।                              


चित्रगुप्त की जयंती, पूजन कार्यक्रम आयोजित

आदर्श श्रीवास्तव


लखीमपुर खीरी। भगवान श्री चित्रगुप्त जी की जयंती के शुभ अवसर पर सामूहिक यम द्वितीया दुइज पूजन एवम कलम पूजन कार्यक्रम स्थानीय श्री दुर्गे चित्रगुप्त मंदिर शाहपुरा कोठी में श्री  चित्रगुप्त कायस्थ सभा के संयोजन में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। कार्यक्रम का सुआरम्भ सभाध्यक्ष शशिकांत श्रीवास्तव जी द्वारा कुल देवता भगवान श्री चित्रगुप्त जी के विधि विधान पूजन , एवं श्री चित्रगुप्त चौराहे पर कलम दवात पूजन तत्पश्चात आरती एवं प्रसाद वितरण किया  गया। इस अवसर पर श्री चित्रगुप्त कायस्थ सभा एवं अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के सभी पदाधिकारी, राजीव रतन खरे, डा0 इरा श्रीवास्तव, एड0 राजेश सक्सेना ,ओमप्रकाश श्रीवास्तव, ज्ञानेन्द्र सक्सेना, एड0  राजेश श्रीवास्तव ,डा0 ओ0 पी0 श्रीवास्तव, प्रदीप सक्सेना मुकेश,श्रीमती शशी श्रीवास्तव,नीरज सक्सेना,  सौरभ सिन्हा,  प्रशांत सक्सेना, विक्की सक्सेना, गौरव श्रीवास्तव, अजय श्रीवास्तव, नितिन श्रीवास्तव,आशीष श्रीवास्तव,   कुलदीप समर , शिप्रा श्रीवास्तव,  राकेश श्रीवास्तव, अचल श्रीवास्तव, प्रशांत श्रीवास्तव,  सुधाकर लाला, मनीष श्रीवास्तव,  संजय अस्थाना , विकास अस्थाना , इ0 विनय श्रीवास्तव,अंशू सक्सेना, मितुल श्रीवास्तव , डा0 संतोष श्रीवास्तव, श्रीमती श्वेता सहित  काफी संख्या मे भक्तों ने प्रसाद एवं आशीर्वाद प्राप्त किया ।                                   


टावर से बैटरी चोरी करते युवक गिरफ्तार किया

टावर से बैटरी चोरी करते युवक को पकड़कर भेजा जेल आदर्श श्रीवास्तव


धौरहरा/लखीमपुरखीरी। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर क्षेत्राधिकारी धौरहरा के नेतृत्व व प्रभारी निरीक्षक धौरहरा की अगुवाई मे वांछित वारंटी धरपकड़ अभियान के तहत बैटरी चोरी करते हुए एक युवक को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया।  सिसैया खुर्द धौरहरा स्थित दूरसंचार विभाग के टावर से बैटरी चोरी करते समय अभियुक्त नसीम पुत्र छोतन्ने निवासी ग्राम समर्दाहरी थाना ईसानगर को मैं माल सहित टावर के चौकीदार ने पकड़ लिया और कोतवाली के उप निरीक्षक राजेश कुमार यादय को सौंप दिया। कोतवाली प्रभारी विद्या सागर पाल द्वारा मु.आ.स.551/2020 धारा 379,411 IPC पंजीकृत कर जेल भेजा गया।                                        


इंस्पेक्टर ने क्षेत्र के बैंकों का निरीक्षण किया

इंस्पेक्टर धौरहरा ने कस्बे की बैंको का किया निरीक्षण


धौरहरा/लखीमपुर खीरी। ऑपरेशन ऑल आउट के तहत प्रभारी निरीक्षक धौरहरा ने पुलिस फोर्स के साथ कस्बे की समस्त बैंको का निरीक्षण किया और बैंको के आस पास खड़े संदिग्ध लोगों को चेक किया गया और दुकानदारों को हिदायत दी की आस पास अनावश्यक लोगो को खड़ा न होने दे। पुलिस अधीक्षक खीरी के निर्देशानुसार चलाये जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट के तहत प्रभारी निरीक्षक धौरहरा विद्या सागर पाल ने दल बल के साथ कस्बा धौरहरा की भारतीय स्टेट बैंक, इंडियन बैंक,आर्यावर्त बैंक जिला सहकारी बैंक को चेक किया गया और बैंक के आसपास खड़े संदिग्ध व्यक्तियों की जमा तलासी ली गई व उनको हिदायत चेतावनी देकर छोड़ा गया। इसके साथ ही चाय की दुकान पान की दुकान व जलपान गृह के मालिको को हिदायत दी गई अपने आसपास अनावश्यक लोगों की भीड़ एकत्रित ना होने दें। निरीक्षण के दौरान संदिग्ध व्यक्तियों व वाहनों की गहन छानबीन व चेकिंग की गई।                                         


मम्मी-पापा की तरह शोहरत बटोर रहा तैमूर

मम्मी-पापा की तरह शोहरत बटोर रहे तैमूर


मुम्बई। तैमूर अली खान अपने पिता सैफ अली खान और मां करीना कपूर खान से कही ज्यादा हो शोहरत बटोर रहे है। उनकी तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर आते ही वायरल हो जाती है। कई बार इन वीडियो और तस्वीरों को लेकर वह ट्रेंड पर भी हो जाते हैं। और जब सैफ करीना और तैमूर एक ही वीडियो और तस्वीर में हो, तो वह काफी तेजी से वायरल होती है। ऐसा ही एक वीडियो सामने आया है।
इस वीडियो में सैफ अली खान, करीना कपूर खान और तैमूर अली खान है। यह एक बर्थडे सेलिब्रेशन का वीडियो का है। इस वीडियो में सैफ अली खान के एक दोस्त भी हैं। जो पटौदी परिवार के साथ अपना बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। वीडियो में देखा जा सकता है। कि जैसे ही सैफ अली के दोस्त केक काटने लगते हैं। करीना और सैफ बर्थडे सॉन्ग गाने लगते हैं।                                     


बस्तीः 75,000 वाहनों का रजिस्ट्रेशन हुआ खत्म

15 साल पुराने 75 हजार वाहनों का रजिस्ट्रेशन हुआ खत्म


बस्ती। उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले मे 75 हजार दो पहिया तथा चार पहिया वाहनो का रजिस्ट्रेशन समाप्त हो गया है। क्योंकि ये वाहन 15 साल का समय पूरा कर चुके है। वाहन स्वामियो को दूसरा री-रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। आधिकारिक सूत्रो ने बुधवार को यहां कहा कि नये वाहन लेने के बाद उनका री-रजिस्ट्रेशन 15 साल के लिए होता है। वाहन स्वामियो को 15 साल के बाद रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है। जिले मे 75 हजार गाडि़यो का रजिस्ट्रेशन समाप्त कर दिया गया है। जो कि वे अपने 15 साल का समय पूरा कर चुके हैं । आरटीओ विभाग ऐसे सभी वाहन स्वामियो को री-रजिस्ट्रेशन के लिए नोटिस जारी करेगा । री-रजिस्ट्रेशन न करवाने वाले वाहन स्वामियो के विरूद्व कार्यवाही भी की जायेगी ।                                


लॉक डाउन की मना, बाजार हो सकते हैं बंद

दिल्ली में लॉकडाउन बिल्कुल नहीं,बाजार किए जा सकते हैं बंद सत्येंद्र जैन


अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन की अटकलें बढ़ गई थीं। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन बिल्कुल नहीं होगा। यहां इसकी कोई आवश्यकता नहीं है। कुछ स्थानीय प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं।अभी अधिकतम टेस्ट किए जा रहे हैं। जिसकी संख्या और बढ़ पाएगी।
जब उनसे छठ पूजा को लेकर बात की गई तो वह बोले कि छठ पूजा के दौरान भारी भीड़ इकट्ठी होने से कोरोना वायरस बड़ी मात्रा में फैल सकता है। इसलिए घाटों पर पूजा पर रोक लगाई गई है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा दिल्ली सरकार का लॉकडाउन लगाने का कोई इरादा नहीं है। लॉकडाउन कोरोना से लड़ने का उपाय नहीं है। इससे लड़ने का एकमात्र उपाय मेडिकल मैनेजमेंट है। अभी दिल्ली में 26000 लोग होम आइसोलेशन में हैं। हमारे पास 16000 बेड हैं जिनमें से 50/ बेड खाली हैं।                                  


डीके ठाकुर लखनऊ के नए कमिश्नर बने

डी के ठाकुर बने लखनऊ के नए पुलिस कमिश्नर


संदीप मिश्र


लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार देर रात भारतीय पुलिस सेवा के चार अधिकारियों का तबादला कर दिया। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत कुमार को अपर पुलिस महानिदेशक एटीसी के पद पर भेजा गया है। वहीं एटीएस के अपर पुलिस महानिदेशक ध्रुव कुमार ठाकुर का तबादला सुजीत कुमार के स्थान पर लखनऊ के पुलिस कमिश्नर के पद पर किया गया है।
उन्होने बताया कि प्रतीक्षारत आईपीएस अधिकारी जीके गोस्वामी को एटीएस में अपर पुलिस महानिदेशक बनाया गया है। वहीं एक और प्रतीक्षारत राजकुमार को पुलिस मुख्यालय में अपर पुलिस महानिदेशक नियुक्त किया गया है।                                         


प्रत्येक विकलांग को आत्मनिर्भर बनाऐंगेः स्मृति

पालघर। केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा है कि प्रत्येक विकलांग व्यक्ति को आत्मनिर्भर बनाना केंद्र सरकार की मुख्य प्राथमिकताओं में से एक है। स्मृति ईरानी ने मंगलवार की शाम को यहां दहानू नगर परिषद की ओर से विकलांगों को फंड वितरण करने के लिए आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार नागरिकों को जमीनी स्तर पर बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है तथा निर्वाचित प्रतिनिधियों को उन तक बुनियादी सुविधाएं पहुंचाने के लिए अधिक से अधिक प्रयास करना चाहिए।


उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान कपड़ा मंत्रालय को पीपीई किट की आवश्यकता थी और तब स्वदेशी पीपीई किट के निर्माण का जोखिम उठाया गया जिसमें हम सफल रहे। उन्होंने कहा कि आज देश पीपीई किट के मामले में आत्मनिर्भर है। केंद्रीय मंत्री ने विकलांग व्यक्तियों के कल्याण के वास्ते अलग से फंड रखने के लिए दहानू नागरिक निकाय की सराहना की। इस मौके पर दहानू नगर परिषद ने करीब 300 विकलांगों को 10,000 रुपये की सहायता राशि वितरित की।                                    

भारत के निर्माण में हरसंभव योगदान देंः सिंह

अकांंशु उपाध्याय


नई दिल्ली। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज युवाओं का आह्वान किया कि वे संविधान के मूल्यों को आत्मसात करते हुए नये भारत के निर्माण में हरसंभव योगदान दें। राजनाथ सिंह ने छठे संविधान दिवस से एक सप्ताह पहले आज यहां युवा संगठनों द्वारा, ‘कॉन्स्टिट्यूशन डे यूथ क्लब एक्टिविटीज’ के उद्घाटन के अवसर पर कहा कि युवाओं के इस देश में, युवा शक्ति को मज़बूत करने, और उसे आगे ले जाने के लिए राष्ट्रीय कैडेट कोर, नेहरू युवा केंद्र संगठन, राष्ट्रीय सेवा योजना , हिंदुस्तान स्काउट्स एंड गाइड्स, भारत स्काउट्स एंड गाइड्स और ‘रेड क्रॉस सोसाइटी’ जैसी अनेक संस्थाएं काम कर रही हैं।


उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने भी समय समय पर सभी युवा संगठनों से एक प्लेटफार्म पर आकर, देश और समाज से जुड़े मुद्दों पर लोगों में जागरूकता फैलाने तथा नये भारत के निर्माण में योगदान का आह्वान किया है। संविधान के मूल्यों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यह किसी न किसी रूप में देश का सबसे अहम मार्गदर्शक है। यह न केवल हमारी परंपरा और सांस्कृतिक विरासत, बल्कि दुनिया के अनेक संविधानों के श्रेष्ठ विचारों का यह निचोड़ है। राजनाथ सिंह ने कहा कि संविधान निर्माताओं का मानना था कि भारत जैसे विविधता वाले राष्ट्र को, एक सूत्र में बांधकर रखने वाला हमारा संविधान ही है। यह संविधान दुनिया भर में भारत की पहचान है क्योंकि यह भारत के लोगों का, भारत के लोगों द्वारा, और भारत के लोगों के लिए है।


उन्होंने कहा कि बाबा साहेब आंबेडकर ने अपने पहले ही साक्षात्कार में यह स्पष्ट किया था, कि संविधान का अच्छा या बुरा साबित होना उसके नियमों पर नहीं, बल्कि उसे अमल में लाने वाले लोगों पर निर्भर करेगा। यानी हम और आप पर यह निर्भर करता है, कि हमारा देश, हमारी व्यवस्था, कैसे, और किस दिशा में प्रगति करेगी। संविधान में उल्लिखित कर्तव्यों तथा अधिकारों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी कहते थे कि हमारे कर्तव्य में ही हमारा अधिकार भी निहित है।                                 


बिहारः भ्रष्टाचार के आरोपी को बनाया मंत्री

पटना। बिहार सरकार में जदयू कोटे से डॉ. मेवालाल चौधरी को मंत्री बनाये जाने को लेकर राजद नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा। तेजस्वी ने नीतीश कुमार से पूछा कि असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति में भ्रष्टाचार करने के आरोपी को शिक्षामंत्री बनाकर क्या उन्हें लूटने की खुली छूट प्रदान की गयी है? तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा कि भ्रष्टाचार के अनेक मामलों के भगोडे़ आरोपी को शिक्षामंत्री बना दिया। अल्पसंख्यक समुदायों में से किसी को भी मंत्री नहीं बनाया। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में सत्ता संरक्षित अपराधियों की मौज है और रिकॉर्डतोड़ अपराध की बहार है।


तेजस्वी ने नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा कि कुर्सी की खातिर अपराध, भ्रष्टाचार और साम्प्रदायिकता पर मुख्यमंत्री जी प्रवचन जारी रखेंगे। राजद नेता ने सवाल किया कि मुख्यमंत्री ने असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति और भवन निर्माण में भ्रष्टाचार के गंभीर मामलों में भारतीय दंड संहिता की धारा 409, 420, 467, 468, 471 और 120ब के तहत आरोपी मेवालाल चौधरी को शिक्षामंत्री बनाकर क्या भ्रष्टाचार करने का इनाम एवं लूटने की खुली छूट प्रदान की है? इससे पहले राजद ने आधिकारिक ट्वीट में कहा कि तेजस्वी पर फर्ज़ी केस करवा कर वह इस्तीफा मांग रहे थे और यहां खुद एक भ्रष्टाचारी मेवालाल को मंत्री बना रहे हैं।


गौरतलब है कि जदयू विधायक डॉ. मेवालाल चौधरी राज्य की तारापुर विधानसभा सीट से निर्वाचित हुये हैं। उन्हें नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। राजनीति में प्रवेश से पहले मेवालाल भागलपुर कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति थे।                                 


पत्रकार को पत्नी सहित पीट-पीट कर मार डाला

शशांक तिवारी की रिपोर्ट


लखनऊ । एक हिन्दी दैनिक में संवाददाता रह चुके एक पत्रकार और उसकी पत्नी को सोनभद्र जिले के बरवाडीह गांव में बेरहमी से पीट-पीट कर मार डाला गया। पीड़ित उदय पासवान की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उनकी पत्नी शीतला ने मंगलवार को वाराणसी के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया। घटना की वजह एक पूर्व ग्राम प्रधान के साथ पुरानी दुश्मनी है। मृतक ने अपने और अपने परिवार की सुरक्षा को खतरे में देखकर पुलिस से संपर्क भी किया था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। अब 3 पुलिस कर्मियों को हटाया गया है।


सोनभद्र के एसपी आशीष श्रीवास्तव ने बुधवार को कहा, “इस संबंध में कोन पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर, एक सब-इंस्पेक्टर और एक कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है। 6 आरोपियों में से 5 को गिरफ्तार भी कर लिया गया है, मुख्य आरोपी गांव का पूर्व प्रधान केवल पासवान फरार है, उसे पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है।”आरोपियों से धमकी मिलने के बाद उदय और उनकी पत्नी शीतला सोमवार सुबह कोन पुलिस स्टेशन गए थे। जब वे शाम को मोटरसाइकिल से घर लौट रहे थे, उन पर लाठी और डंडों से हमला किया गया। दंपति मदद के लिए पुकारते रहे लेकिन कोई आगे नहीं आया। उदय की मौके पर ही मौत हो गई और शीतला को गंभीर चोटें आईं और मंगलवार की शाम को उसने भी दम तोड़ दिया। उदय के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।


श्रीवास्तव ने कहा, “उदय के बेटे विनय पासवान की शिकायत पर पूर्व ग्राम प्रधान केवल पासवान, उनकी पत्नी कौशल्या, बेटे जितेंद्र, गब्बर, सिकंदर और उनके प्रतिनिधि एलाक आलम के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148 और 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है।”केवल और उसके परिवार के साथ उदय के परिवार की दुश्मनी थी। 2016 और 2018 में भी दोनों के खिलाफ मामले दर्ज हुए थे। विनय ने कहा, “मेरे पिता ने लखनऊ में मुख्यमंत्री के जनता दरबार में भी शिकायत की थी। मुख्यमंत्री कार्यालय से निर्देश जारी होने के बावजूद सोनभद्र पुलिस ने कोई ध्यान नहीं दिया।”                               


मुस्लिम धर्मगुरु कल्बे सादिक की हालत गंभीर

अभिषेक श्रीवास्तव 


लखनऊ। आल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष विख्यात मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक की हालत गम्भीर मगर स्थिर है। मौलाना सादिक के बेटे कल्बे सिब्तैन नूरी ने बुधवार को बताया कि निमोनिया की गम्भीर बीमारी से जूझ रहे उनके 82 वर्षीय पिता की हालत अब भी गम्भीर, मगर स्थिर है।


उन्होंने बताया कि पिता राजधानी लखनऊ स्थित एरा मेडिकल कॉलेज में पिछले करीब डेढ़ महीने से भर्ती हैं। नूरी ने बताया कि उनके पिता को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। हालांकि कोविड-19 जांच रिपोर्ट में उनमें इस संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। उनके रक्तचाप और आक्सीजन के स्तर में लगातार गिरावट होने पर उन्हें मंगलवार की शाम आईसीयू में दाखिल किया गया था।


सिब्तैन नूरी ने बताया कि हालांकि पिता (मौलाना कल्बे सादिक) की स्थिति गम्भीर है मगर उसमें और गिरावट नहीं आयी है। गौरतलब है कि आल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष मौलाना कल्बे सादिक पूरी दुनिया में अपनी उदारवादी छवि के लिये जाने जाते हैं।                                    


एमएलसी चुनाव को लेकर भाजपा की बैठक

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। भारतीय जनता पार्टी के जिला कार्यालय पर एमएलसी चुनाव को लेकर एक बैठक पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ की गई। जिसमें मुख्य अतिथि राज्यसभा सांसद एवं  जिला प्रवासी डॉ अनिल अग्रवाल व एमएलसी चुनाव प्रभारी सुनीता दयाल , जिन्होंने मतदाता से बात कर केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार की नीतियों व योजनाओं के बारे में जानकारी दी और पार्टी के प्रत्याशी को विजय बनाने के लिए प्रत्येक कार्यकर्ता से चुनाव में लगने के लिए कहा। जिस में उपस्थित जिला अध्यक्ष उमेश राणा जिले के वरिष्ठ पदाधिकारी उपस्थित रहे।                              


अभय हमेशा तोड़ने की बात करते हैंः चौटाला

राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। जननायक जनता पार्टी के नेता दिग्विजय चौटाला ने इनेलो नेताओं की जेजेपी पर टिप्पणी के खिलाफ सख्त जवाबी हमला बोला है। दिग्विजय चौटाला ने मीडिया में आए इनेलो नेताओं के उस बयान की कड़ी निंदा की जिसमें जेजेपी के टुकड़े टुकड़े होने की बात कही गई थी। उन्होंने कहा कि यह सोच देशविरोधी तत्वों की सोच से मेल खाती है और इतिहास गवाह है कि ऐसे लोगों का अंजाम कभी अच्छा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि इनेलो नेता अभय चौटाला हमेशा तोड़ने की बात करते हैं जो उनकी पार्टी के हस्र की प्रमुख वजह है।


दिग्विजय चौटाला ने कहा कि दो साल पहले तानाशाही कर डॉ अजय सिंह चौटाला और तत्कालीन सांसद दुष्यंत चौटाला को इनेलो से निकालकर अभय सिंह ने अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारी थी और उनकी इस हरकत को आज इनेलो से जुड़े लोग भुगत रहे हैं। अभय चौटाला की ओर से जेजेपी को टुकड़े टुकड़े गैंग कहे जाने पर दिग्विजय ने कहा कि गैंग और गैंगस्टर जैसे शब्द सुनते ही हरियाणा के लोगों के जहन में किसका चेहरा आता हैयह किसी से छिपा नहीं है। उन्होंने कहा कि डॉ अजय सिंह चौटाला और जेजेपी की छवि सकारात्मक और विकासवादी राजनीति की है जबकि इनेलो और इनेलो नेताओं को आज अपने अस्तित्व का खतरा हो गया है। दिग्विजय ने हैरानी जताई कि इनेलो की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में जेजेपी को लेकर मंथन किया गया है। उन्होंने कहा कि खुद के भविष्य में इनेलो को कोई गुंजाइश नजर नहीं आती इसलिए दूसरों के प्रति भड़ास निकाल कर ही दिल को बहलाया जा रहा है। दिग्विजय ने कामना की कि भगवान इनेलो नेताओं को सदबुद्धि दे।                                         


 

 


फर्शे अज़ा सिखाता है जिंदगी का सलीक़ा

फर्शे अज़ा सिखाता है ज़िन्दगी को अच्छी तरबीयत के साथ जीने का सलीक़ा


(मौलाना मो०अली गौहर)


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। इन्सान को वालीदैन की अज़मत और खिदमतगुज़ारी की नाफरमानी नहीं करनी चाहिये।माँ बाप को दूखी रखने और उसकी क़ुरबत न हासिल करने के बाद भी जितनी दौलत और सरमाया जमा कर लिया जाए अल्लाह उससे कभी राज़ी नहीं होता।अगर इनसान चाहता है की अल्लाह को राज़ी रखा जाए तो अपने वालीदैन के साथ हुसने सुलूक से पेश आओ।उक्त बातें मौलाना मो०अली गौहर साहब क़िबला ने दायरा शाह अजमल स्थित इमामबाड़ा नवाब अब्बन मरहुम के अज़ाखाने मे स्व सै०हसन अब्बास सफवी (सग़ीर) की बरसी की मजलिस को सम्बोधित करते हुए इल्म हासिल करने के साथ वालीदैन के साथ बच्चों का कैसा सुलूक होना चाहिये इस पर तफसीली गुफ्तुगु की।मौलाना गौहर ने कहा माले दुनिया हासिल कर लेना ही बेहतरीन तरबीयत का तक़ाज़ा नहीं।अपने को जन्म देने वाले माँ और बाप से हुसने सुलूक से पेश आना ही अल्लाह की रज़ा और क़ुरबत हासिल करने का ज़रीया है। वालीदैन की खुशनूदी हासिल करने का मेयार है की जब भी अपने वालीदैन को कुछ दो तो एक हाँथ से नहीं दोनों हाँथों से दो ताकी उनका हाँथ तुमहारे हाँथों से उपर रहे।और उनहे नीचे झूकना न पड़े।मौलाना ने हराम की ग़ेज़ा से बचने की ताकीद करते हुए करबला वालों से सीखने की नसीहत की कहा हुसैन और खानदाने रिसालत ने भूखा रहना गवारा किया लेकिन माले हराम को ग़ेज़ा नहीं बनाया।मौलाना की तक़रीर से पहले शहनशाह हुसैन सोनवी ने मर्सियाख्वानी से मजलिस का आग़ाज़ किया।शायर डॉ०क़मर आब्दी,अनवार अब्बास और नायाब बलयावी ने ताज़ियती नज़्म के ज़रीये खेराजे अक़ीदत पेश की।नायाब बलयावी ने अपने तास्सुरात का कुछ इस अन्दाज़ मे   तंज़ कसने वालों पर प्रहार किया कहा:- तनज़ीया अश्के ग़में शाह पे हसने वालों!
मुरदा होने से जो बचना है तो रोना होगा!!
ग़ैर होकर भी तरफदार ए अज़ा दिखता है!
हो न हो उसने तबर्रुक़ कभी खाया होगा!!
कोरोना काल में मात्र पाँच लोगों की इजाज़त मिलने पर कहा। पाँच अफराद की मजलिस मे इजाज़त थी मिली!
पंजतन आँएगे तो रौशन अज़ाखाना होगा!!
मजलिस में स्व हसन अब्बास सफवी की मग़फिरत को दुआ भी की गई।इस मौक़े पर मंज़र कर्रार,जलाल हैदर,ज़ाकिरे अहलेबैत रज़ा अब्बास ज़ैदी,सै०मो०अस्करी,क़मर भाई,रज़ा इसमाईल सफवी,अस्करी अब्बास,ज़ेया इसमाईल सफवी,अर्श अब्बास,काज़िम अब्बास,अहमद जावेद,बाक़र मेंहदी,ज़रग़ाम हैदर,जावेद रिज़वी करारवी,तसवीर मुस्तफा,अनवर मुस्तफा,शादाब रज़ा,शादाब मसीहउज़्ज़माँ,शबीह अब्बास जाफरी,कामरान रिज़वी,माजिद अली समेत अन्य लोग मौजूद रहे।


महिला दरोगा ने कोतवाल पर लगाए आरोप

भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। कैराना कोतवाली पर तैनात एंटी रोमियो प्रभारी अंजू का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में अंजू कह रही है कि 'मैं उपनिरीक्षक अंजू, मेरी पोस्टिग थाना कैराना जनपद शामली में हैं। मेरी यहां पर 25 जुलाई में कांधला थाने से पोस्टिग हुई है। आरोप लगाया कि एसएचओ प्रेमवीर राणा मेरे ऊपर अनावश्यक रूप से दबाव बनाते हैं या फिर मैं उनकी कोई बात नहीं मानती, तो फिर मेरी रपट लिख देते हैं। मैं नारी सशक्तिकरण में एंटी रोमियो प्रभारी हूं। दारोगा आगे बताती है कि मैं सात बजे से रात के आठ बजे तक ड्यूटी करती हूं। कभी-कभी यह हमारे साथ में भी जाते हैं। कभी 10 बज जाते हैं, यानि कि मैं 16-17 घंटे ड्यूटी करती हूं।


आरोप है कि उसके बावजूद मुझे सभी के सामने निकम्मा कहते हैं। यह निकम्मी हैं, कुछ काम नहीं करती। मैं यदि किसी वजह से अनुपस्थित हो जाती हूं, कोई परेशानी हो गई या कमरे पर दवाई लेने गई, तो मुझे उत्पीड़न करते हैं और रपट लिख देते हैं। दारोगा कह रही है मैंने उच्च अधिकारियों से शिकायत की। कहती है कि कप्तान साहब के यहां गई, वे त्योहारों की वजह नहीं थे। उसके बाद मैं डीआईजी के यहां सहारनपुर आई। डीआईजी ने कहा कि वह इस मामले को संज्ञान में लेंगे। दारोगा ने कहा कि मैं यह चाहती हूं, जिस तरह से महिला सशक्तिकरण चल रहा है, यदि मैं एंटी रोमियो प्रभारी हूं और मुझे परेशान किया जा रहा है तो मैं महिलाओं को कैसे इंसाफ दिला सकती हूं। इस मामले में एसपी नित्यानंद राय का कहना है कि एंटी रोमियो प्रभारी एसआई अंजू द्वारा थाना प्रभारी के ऊपर ड्यूटी को लेकर कुछ आरोप लगाए गए हैं। वीडियो संज्ञान में लिया गया है तथा क्षेत्राधिकारी कैराना से इसकी जांच कराई जा रही है। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ दंडनात्मक कार्रवाई की जाएगी।                                       


पुलिसकर्मी को बातों में उलझा कर फरार हुआ

पंकज कपूर


देहरादून। सहसपुर पुलिस की गिरफ्त में आए में एनडीपीएस ऐक्ट के तीन आरोपियों को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाना था। जिसके चलते आरोपियों को सरकारी गाड़ी में लेकर दो सिपाही और दो होमगार्ड रवाना हुए। दोपहर में आरोपियों की कोर्ट में पेशी के बाद उन्हें सुद्दोवाला जेल लाया गया। यहां पेशी के दौरान दोनों सिपाही और होमगार्ड वाहन से उतर गए जबकि तीनों आरोपियों को भी उतारा गया।




इसी दौरान पुलिसकर्मी मेडिकल के कागजात चेक करा रहे थे, जबकि अन्य पुलिसकर्मी-होमगार्ड भी बातों में लग गए। इसी दौरान वहीद दीवार फांदकर फरार हो गया। किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। पुलिसकर्मियों को यह भी नहीं पता चल पाया कि आरोपी वहीद किस समय फरार हुआ। काफी खोजबीन के बाद भी आरोपी का पता नहीं चल पाया। पुलिस अभिरक्षा से भागे आरोपी की तलाश की जा रही है। मामले में जांच के आदेश दिए हैं। आरोपी को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।                                        



शराब की बोतल से गले पर वार किया, अरेस्ट

काशीपुर। मारपीट कर गंभीर रूप से घायल करने के मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। जबकि पुलिस ने मुकदमे में धारा 307 की बढ़ोतरी भी की है। बता दें कि जसपुर खुर्द निवासी नरेश पुत्र राम ने खाना आईटीआई में 14 नवंबर 2020  की रात्रि को उसके पुत्र नितिन को अज्ञात व्यक्तियों ने मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था जिसको लेकर उसने थाना आईटीआई में अभियोग पंजीकृत कराया था।


पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच प्रारंभ की घटना का खुलासा करते हुए थाना आईटीआई प्रभारी विद्या दत्त जोशी ने बताया कि घटना 14 नवंबर 2020 की रात्रि की है नितिन नामक युवक को अज्ञात व्यक्तियों ने मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। पुलिस जांच में पता चला कि 14 नवंबर 2020 की रात्रि को नितिन अपने दोस्तों के साथ मोटेश्वर महादेव मंदिर के पीछे आम के बगीचे में खा पी रहे थे। इसी दौरान किसी बात को लेकर नितिन की झड़प जसपुर खुर्द निवासी विकास पुत्र भीमसेन से हुई। बात इतने बड़े के दोनों में मारपीट हो गई जिस पर विकास ने दारू की बोतल तोड़कर नितिन के गले पर बाहर कर दिया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। घायल को विकास तथा उसके मित्रों द्वारा ही राजकीय चिकित्सालय में उपचार के लिए भर्ती कराया गया था। पुलिस ने आरोपी विकास पुत्र भीमसेन निवासी जसपुर खुर्द को गिरफ्तार कर लिया है जबकि जांच में पुलिस ने धारा 307 की बढ़ोतरी भी की है।                                        


नॉएडाः 48 घंटों में 5 लोगों ने आत्महत्या की

विजय भाटी


गौतम बुध नगर। दिल्ली से सटे नोएडा में खुदकुशी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। 48 घंटे में 5 लोगों ने आत्महत्या की है। वहीं, नोएडा में इस साल अब तक 250 से ज्यादा लोगों ने खुदकुशी की है। हैरानी की बात ये है कि खुदकुशी की 24 घटनाएं अप्रैल में हुईं, जबकि मई में 31 और जून के महीने में 34 लोगों ने आत्महत्या की।


इसी तरह जुलाई में 30 और अगस्त में 26 खुदकुशी के मामले देखने को मिले। मरने वालों में ज्यादातर कामगार या रोजमर्रा के कामकाज करने वाले लोग थे। गौतमबुद्ध नगर जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में 27 अक्टूबर को 24 घंटे के अंदर 9 लोगों के आत्महत्या करने की घटना सामने आई थी। इस बारे में पुलिस ने बताया कि आत्महत्या करने वालों में ज्यादातर ने मानसिक तनाव के चलते यह घातक कदम उठाया। वहीं, कुछ ने घरेलू कलह के चलते आत्महत्या की। सुसाइड नोट और पुलिस जांच में पता चला कि ज्यादातर लोगों ने आर्थिक तंगी, कारोबार डूबने और कर्ज में दबे होने के कारण जान दी। बड़ी बात यह है कि कोरोना वायरस का संक्रमण शुरू होने और इस महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन के बाद आत्महत्या करने वालों की संख्या दोगुनी हो गई है।                                 


दिल्ली-नॉएडा बॉर्डर पर रैंडम टेस्ट शुरू किया

विजय भाटी


गौतम बुध नगर। दिल्ली में फिर कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा हुआ है। मंगलवार रात जारी हुए आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटों में राजधानी में 6396 नए केस दर्ज किए गए हैं जबकि 99 लोगों ने जान गंवाई है। नए मामलों के साथ ही एक्टिव केस की कुल संख्या 42 हजार तक पहुंच गई है। दिल्ली के आंकड़ों की बात की जाए तो अन्य किसी भी राज्य के मुकाबले ये कहीं आगे नजर आते हैं। दिल्ली में कोरोना से होने वाली मरीजों की मृत्यु दर और तेजी बढ़ रहे केस की संख्या डरा रही है। दिल्ली में कोरोना की रफ्तार फिलहाल काबू में आती नहीं दिख रही।


 इस वजह से अब दिल्ली के आस पास इलाकों में कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी दिख रही है। नोएडा प्रशासन ने संक्रमण पर रोक लगाने के लिए बॉर्डर पर रैंडम टेस्टिंग का फैसला किया है। दिल्ली में कोरोना के बढते मामलों को देखते हुए फिर से लॉकडाउन के संकेत मिल रहे हैं। केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा है कि भीड़भाड वाले बाजारों को बंद कर दिया जाए। साथ ही दिल्ली सरकार ने शादी समारोहों में 200 की जगह सिर्फ 50 मेहमानों को इजाजत देने की भी सिफारिश की है।

लुटेरों ने उड़ाए 50 करोड़ के एप्पल आईफोन

लुटेरों ने उड़ाए 50 करोड़ के एप्पल आईफोन


नॉथैंम्पटनशायर। कुछ लुटेरों ने ड्राइवर और सिक्योरिटी गार्ड बंधक बनाकर एक ट्रक से करीब 50 करोड़ रुपये के सामान लूट लिए। ट्रक में एप्पल कंपनी के आईफोन, आईपैड और घड़ियां रखी हुई थीं। पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है। करीब 50 करोड़ रुपये के एप्पल के गैजेट की लूट का ये मामला ब्रिटेन के नॉर्थैंम्पटनशायर का है।


मंगलवार रात आठ बजे के करीब लुटेरों ने घटना को अंजाम दिया था। लुटेरों ने ट्रक हाइजैक कर लिया और ड्राइव करके किसी अन्य जगह पर ले गए। इसके बाद उन्होंने ट्रक में लादे गए सामान को दूसरे ट्रक में डाला और फिर फरार हो गए। पुलिस ने घटना में शामिल दूसरा ट्रक बरामद कर लिया है। समझा जा रहा है कि लुटेरों ने कुछ दूरी के बाद तीसरी गाड़ी में लूटे गए सामानों को डाला था। जांच कर रही ब्रिटेन की पुलिस ने कहा है कि घटना को लेकर किसी के पास भी कोई जानकारी हो तो पुलिस से साझा करे। पुलिस ऐसे किसी व्यक्ति का पता लगाने की कोशिश कर रही है जिन्हें संभवत: लूटा गया एप्पल प्रोडक्ट बेचा गया हो। पुलिस ने कहा है कि हो सकता है कि लुटेरे सस्ते दामों में लूटे गए सामानों को बेच रहे हों।                                      


रेप में नाकाम होने पर नाबालिक की नाक काटी

बागेश्वर। यहां के राजस्व पुलिस क्षेत्र काफलीगैर के गांव में एक 17 वर्षीय किशोरी से बलात्कार का प्रयास और असफल रहने पर उसकी नाक काटने का मामला सामने आया है। आरोपियों ने विरोध करने पर किशोरी के माता पिता के साथ भी मारपीट की । राजस्व पुलिस को दी गई तहरीर में किशोरी के पिता ने दो व्यक्तियों पर उनकी बेटी के साथ छेड़छाड़ करने, उसकी नाक काटने और उन पर हमला करने के अलावा ₹20000 की नकदी व सोने के जेवर लूटने का आरोप लगाया है। राजस्व पुलिस मामले की जांच कर रही है।


मिली जानकारी के अनुसार काफलीगैर क्षेत्र के एक गांव में सोमवार की रात गिरीश परिहार और संजय मनकोटी नामक व्यक्ति एक घर में घुस गए। जहां उन्होने 17 वर्षीय किशोरी से बलात्कार का प्रयास किया। लड़की ने विरोध किया तो दोनों ने धारदार हथियार से उसकी नाक काट दी। जब किशोरी के माता पिता मौके पर पहुंचे और उन्होंने उनका विरोध किया तो आरोपियों ने उन्हें भी मारा पीटा। बाद में तीनों का जिला चिकित्सालय बागेश्वर में उपचार किया गया। राजस्व पुलिस मामले की जाँच कर रही है।                                


समझ नहीं आता विकास हो रहा है या 'विनाश'

हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि देश की आर्थिक स्थिति की हालत को देखते हुए समझ नहीं आ रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकास हो रहा है या विनाश। राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि सकल घरेलू उत्पाद-जीडीपी तो पहले से ही गिरावट पर और बेरोजगारी चरम पर थी लेकिन अब महंगाई भी आसमान छूने लगी है। बैंक मुसीबत में आ गए हैं और लोगों का पैसा बैंकों में फंस गया है उन्होंने सामाजिक स्थिति को लेकर भी सरकार को घेरा और कहा कि सामाजिक न्याय को जिस तरह से कुचला जा रहा है और इससे जो हालात बन रहे हैं उन्हें देखते हुए लोगो का मनोबल टूट रहा है और सरकार से विश्वास खत्म हो रहा है।


राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “बैंक मुसीबत में हैं और जीडीपी भी। महँगाई इतनी ज़्यादा कभी नहीं थी, ना ही बेरोज़गारी। जनता का मनोबल टूट रहा और सामाजिक न्याय प्रतिदिन कुचला जा रहा है। विकास या विनाश।”                            


बड़ोदराः हादसे में 11 की मौत, 16 घायल

वडोदरा। गुजरात के वडोदरा शहर की बाहरी इलाके में बुधवार की सुबह एक मिनी ट्रक के एक अन्य ट्रक से टकराने की घटना में कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई और 16 अन्य घायल हो गए। हताहत हुए सभी लोग मिनी ट्रक में सवार थे। पुलिस ने इसकी जानकारी दी। वडोदरा के पुलिस आयुक्त आर. बी. ब्रह्मभट्ट ने बताया कि हादसा वाघोडिया सर्कल पर हुआ जब मिनी ट्रक के चालक ने वाहन पर से नियंत्रण खो दिया और ट्रक को पीछे से टक्कर मार दी। उन्होंने बताया कि जिन 11 लोगों की मौत हुई वे सभी सूरत शहर के वराछा इलाके के थे और पंचमल जिले के पावागढ़ जा रहे थे।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सड़क हादसे में 11 लोगों की मौत पर दुख व्यक्त किया है। मोदी ने एक ट्वीट संदेश में कहा, “वडोदरा में हुई सड़क दुर्घटना से दुखी हूं। इस हादसे में अपने प्रियजनों को खोने वालों के प्रति मेरी संवेदनाएं। प्रार्थना है कि इस हादसे में घायल हुए लोग जल्द ठीक हो जाएं। दुर्घटना स्थल पर प्रशासन हर संभव मदद और सहयोग कर रहा है।”                                         


एमपी: परिजन ने मिट्टी का तेल डालकर लगाईं आग

मनोज सिंह ठाकुर       भोपाल। मध्य प्रदेश के सागर जिले के एक गांव में 25 वर्षीय युवक पर कथित तौर पर प्रेम प्रसंग के चलते युवती के परिजन ने मि...