शुक्रवार, 10 जुलाई 2020

दक्षिण चीन के बडे क्षेत्र में आई बाढ़

बीजिंग। दक्षिणी चीन के एक बड़े क्षेत्र में मौसमी बारिश और बाढ़ के कारण हालात खराब हो गए हैं। चीन के सरकारी मीडिया ने कहा है कि इस साल पहले हुई बाढ़ों के कारण 120 से अधिक लोग मारे गए हैं या लापता हो गए हैं। चीन के राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने रविवार सुबह को मौसम की खराबी की चेतावनी दे दी थी। केंद्र ने देश के आधे दर्जन से अधिक प्रांतों और शंघाई और चोंगकिंग के शहरों के लिए खराब मौसम को पीला रंग दिया जिसका अर्थ मौसम के चार सबसे खराब स्तरों में से तीसरा खराब स्तर है।
सड़कों और खेतों में भर गया पानी, कई घर ढहे सोमवार दोपहर को मूसलाधार बारिश होने का अनुमान था। राज्य के प्रसारक सीसीटीवी ने अपनी फुटेज में दिखलाया कि हाल के दिनों में हुए आंधी-तूफान के बाद अनहुई प्रांत में सड़कों और खेतों में पानी भर गया है और जियांग्शी प्रांत के दक्षिण में 54 घर ढह गए है। जियांग्शी प्रांत से 8,000 से अधिक लोगों को बाहर निकाला गया है।        


फारुख खान


तेज बारिश से दिल्ली को मिली राहत

नई दिल्ली। कई दिनों की उमस के बाद आखिरकार आज दिल्लीवालों को थोड़ी राहत मिली है। दिल्ली, नोएडा और गुरुग्राम के कई इलाकों में शुक्रवार शाम झमाझम बारिश हुई वहीं एनसीआर में भी मौसम का मिजाज बदला-बदला नजर आया। कई जगहों पर रिमझिम बारिश हुई तो कहीं तेज हवाओं ने लोगों को गर्मी से राहत पहुंचाई। गुरुग्राम में भी हल्की बारिश हुई। दिल्ली में कई दिनों से लोग बारिश का इंतजार कर रहे हैं लेकिन यहां जमकर बारिश नहीं हो रही है। ऐसे में लोग उमस से परेशान हैं। यहां 25 जून को ही मॉनसून ने दस्तक दे दी थी लेकिन इसके बाद बारिश ज्यादा मेहरबान नहीं हुई। मौसम विभाग ने अब भी दिल्ली और आसपास के इलाकों में ज्यादा बारिश की उम्मीद नहीं जताई है वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्वी इलाकों समेत बिहार में अगले दो-तीन दिन तेज बारिश की उम्मीद है।             


राजू


तनाव को लेकर राजदूत का बयान जारी

नई दिल्ली/ बिजिंग। भारत और चीन में जारी तनाव को लेकर भारत में चीन के राजदूत सुन वेइदोंग ने अपना बयान जारी किया है। इस बयान में चीनी राजदूत ने कहा कि 15 जून को गलवान घाटी में जो कुछ भी हुआ उसे न तो भारत और न ही चीन को पसंद आया।


सुन वेइदोंग ने कहा है, ''पाँच जून को सीमा विवाद को लेकर चीन के विदेश मंत्री वांग यी और भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के बीच बातचीत हुई और दोनों देश तनातनी कम करने के लिए एक सकारात्मक सहमति तक पहुंचे। वर्तमान में हमारे सैनिक सैन्य कोर कमांडर के साथ हुई बातचीत के अनुरूप पीछे हट रहे हैं। गलवान घाटी में जो कुछ भी हुआ उसे लेकर दोनों देशों में बनी सहमति पर भारत में कुछ हलक़ों में संदेह जताए गए। इससे दोनों देशों के संबंधों को लेकर ग़लत धारणा बनी। ये चीज़ें दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों के लिए ठीक नहीं हैं। इसी को लेकर मैंने सोचा कि कुछ अहम बिंदुओ पर स्थिति स्पष्ट होनी चाहिए।


रूस में मृतक संख्या-11000 के पार

मास्को। रूस में मौत का आंकड़ा 11 हजार के पार पहुंच गया है। पिछले 24 घंटे में देश में 174 नई मौतें दर्ज हुई हैं, जिसके बाद कुल मरनेवालों का आंकड़ा 11017 हो गया है। दुनिया में चौथे नंबर पर संक्रमित देश में प्रत्येक दिन कोरोना का खतरा बढ़ रहा है। अबतक यहां पर संक्रमितों का आंकड़ा 7 लाख 13 हजार 936 हो गया है वहीं अबतक 4 लाख 89  हजार से ज्यादा मरीज ठीक भी हो चुके हैं। 


दुनिया में चौथा संक्रमित देशः बता दें कि रूस पहले पुरी दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा संक्रमित देश था। भारत में बढ़ते मामलों को बाद रूस चौथे नंबर पहुंच गया और भारत टॉप 10 की लिस्ट में तीसरे नंबर पहुंच गया है। भारत में इस वक्त 7 लाख 93 हजार 802 संक्रमित मामले हैं वहीं मरनवालों की संख्या 21,604  हो गई है। अमेरिका, ब्राजील और भारत सबसे ज्यादा संक्रमित देश पूरी दुनिया में इस वक्त अमेरिका सबसे ज्यादा संक्रमित देश है। यहां पर संक्रमितों का आंकड़ा 31 लाख 65 हजार के पार पुहंच गई है वहीं मरनेवालों की संख्या 1 लाख 35 हजार के पार पहुंच गई है। वहीं दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा प्रभावित ब्राजील है। यहां पर संक्रमितों का आंकड़ा 17 लाख 59 हजार के पार पहुंच गया है वहीं मरनेवालों की संख्या 69 हजार के पार पहुंच गई है। यानी तीनों देशों की तुलना में रूस में अबत सबसे कम लोगों की मौत हुई है।


मनोज सिंह ठाकुर


लॉकडाउन यूपी: क्या बंद, क्या खुलेगा ?

उत्तरप्रदेश मेएक बार फिर से लगेगा लॉक डाउन , जानें क्या खुलेगा , क्या रहेगा बंद
बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन ( Lockdown) फिर से लगाया जाएगा। लॉकडाउन आज रात 10 बजे से 13 जुलाई सुबह पांच बजे तक लागू रहेगा। हालांकि इस दौरान जरूरी सेवा में किसी तरह की बाधा नहीं आएगी। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए यूपी सरकार ने लॉक डाउन का फैसला लिया है।


उत्तर प्रदेश में लॉक डाउन की गाइडलाइन –
1. लॉकडाउन के दौरान पूरे राज्य में समस्त कार्यालय एवं समस्त शहरी व ग्रामीण हाट, बाजार, गल्ला, मंडी और व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।


2 स्वास्थ्य और चिकित्सकीय सेवाओं की आपूर्ति पहले की तरह ही खुले रहेंगे। कोरोना वॉरियर, स्वास्थ्य, स्वच्छता कर्मी, डोर स्टेप डिलेवरी से जुड़े लोगों के आने जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा।


3. रेलवे का आवागमन जारी करेगा। ट्रेन से आने वाले यात्रियों के आवागमन हेतु बसों की व्यवस्था सड़क परिवहन विभाग द्वारा की जाएगी।


4. मालवाहक वाहनों के आवागमन पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा। पेट्रोल पंप खुले रहेंगे।


5. ग्रामीण क्षेत्र में स्थित औद्योगिक कारखाने खुले रहेंगे। शहरी क्षेत्रों में निरंतर चालू रहने वाले औद्योगिक कारखानों को छोड़कर सभी बंद रहेंगे।


6. लॉकडाउन के दौरान एक्सप्रेसवे, बड़े पुल और सड़कों का निर्माण जारी रहेगा।


7. प्रत्येक जिला में मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों द्वारा संयुक्त भ्रमण किया जाएगा।


एलईडी बल्ब से 24,000 करोड़ की बचत

अकांशु उपाध्याय


दिल्ली/भोपाल/रीवा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि एलईडी के बल्व के उपयोग से देश में लगभग 24 हजार करोड़ रुपये की बचत हो रही है। मध्य प्रदेश रीवा में स्थापित एशिया की सबसे सौर उर्जा परियोजना रीवा अल्टा मेगा सोलर परियोजना का लोकार्पण करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले एलईडी बल्ब के उपयोग की लोग जरुरत महसूस करते थे, मगर महंगी होने के कारण उसे खरीद नहीं पाते थे।


अब इस बल्ब की कीमत दस गुना कम हुई है। इसी का नतीजा है कि देश मे अब तक 36 करोड़ एलईडी बल्ब वितरित किया जा चुके है। एक करोड़ सड़क बत्ती में इसका उपयेाग हो रहा है। मात्र एलईडी के उपयोग से बिजली की खपत में आई कमी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा एलईडी के उपयोग से हर साल 24 हजार करोड़ रुपये की बचत हो रही है। इतना ही नहीं पर्यावरण की रक्षा में भी मदद मिल रही है।

मोदी ने परियोजना राष्ट को समर्पित करते हुए कहा कि रीवा की पहचान पहले नर्मदा नदी और सफेद बाघ के कारण थी मगर अब सौर उर्जा के संयंत्र के कारण होगी। इसके साथ ही राज्य में अन्य परियोजनाओं के शुरू होने से मध्य प्रदेश सस्ती और साफ-सुथरी बिजली का हब बन जाएगा। इससे किसान, गरीब और मध्यम वर्ग को सस्ती बिजली मिलेगी।


उन्होंने कहा कि सौर उर्जा आने वाली सदी की ऊर्जा का बड़ा मध्यम बनने वाली है। यह उर्जा श्योर, प्योर व सिक्योर भी है। आत्म निर्भर भारत के लिए बिजली की आत्म निर्भरता आवश्यक है। इसमें सौर उर्जा बहुत बड़ी भूमिका निभाने वाली है।


यह परियोजना में स्थित सौर पार्क (कुल क्षेत्रफल 1500 हेक्टेयर) के अंदर 250 मेगावट की तीन सौर इकाइयां स्थित हैं। प्रत्येक इकाई 500 हेक्टेयर भूमि पर स्थापित है। सौर पार्क को मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम मर्यादित तथा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम सोलर एनर्जी कर्पोरेशन ऑफ इण्डिया की संयुक्त कम्पनी रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड (आरयूएमएसएल) द्वारा विकसित किया गया है।


यह सौर उर्जा परियोजना की क्षमता 750 मेगावाट है। इसमे तीन इकाईयां 250-250 मेगावाट की है। इस परियोजना की 24 प्रतिशत बिजली दिल्ली मैट्रो को दी जाएगी। यह एशिया की सबसे बड़ी सौर उर्जा परियोजना है। इस परियोजना का प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली से वर्चुअल लेाकार्पण किया। यह लगभग चार हजार करोड़ की लागत से स्थापित की गई परियोजना है। इस मौके पर भोपाल मे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, दिल्ली में केंद्रीय उर्जा मंत्री आर के सिंह, ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, धर्मेंद्र प्रधान, थावरचंद्र गहलोत, प्रहलाद पटेल मौजूद रहे।               


रक्षामंत्री ने पूर्वी लद्दाख का जायजा लिया

अकाशुं  उपाध्याय


नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ दो महीने से चले आ रहे गतिरोध के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज शीर्ष सैन्य नेतृत्व के साथ स्थिति की समीक्षा की। सूत्रों के अनुसार रक्षा मंत्री ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत , सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे, नौसेना प्रमुख एडमिरल कर्मबीर सिंह और वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया तथा वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा पर ताजा हालात की विस्तार से समीक्षा की। बैठक में जनरल नरवणे ने पेगांग झील के गलवान घाटी, गोगरा, हॉट स्प्रिंग और फिंगर 4 क्षेत्रों में सैनिकों के परस्पर पीछे हटने की प्रक्रिया के पहले चरण के बारे में ब्योरा दिया। सेना प्रमुख ने क्षेत्र में किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए सेना की तैयारियों के बारे में भी रक्षा मंत्री को जानकारी दी। उन्होंने पूर्वी लद्दाख, अरूणाचल प्रदेश, उत्तराखंड और सिक्किम में वास्तविक नियंत्रण रेखा से लगते संवेदनशील क्षेत्रों में स्थिति के बारे में भी ब्योरा दिया।


सरकारी सूत्रों का कहना है कि सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया का पहला चरण पूरा होने के साथ ही दोनों पक्षों के बीच अगले सप्ताह कोर कमांडर स्तर की चौथे दौर की वार्ता भी होने वाली है। इस दौरान सैनिकों को पीछे हटाने के अगले चरण के तौर तरीकों तथा अन्य मुद्दों पर बातचीत होने की संभावना है। दोनों सेनाओं के बीच मई के शुरू से ही पूर्वी लद्दाख में विभिन्न क्षेत्रों में गतिरोध बना हुआ है। इसी के चलते दोनों ओर के सैनिकों के बीच गत 15 जून को गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई थी जिसमें एक कर्नल सहित 20 सैनिक शहीद हो गये थे। चीन के भी बड़ी संख्या में सैनिक हताहत हुए थे।             


यूपी के पाठ्यक्रमों में होगी कटौती

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस के मद्देनजर सीबीएसई की तर्ज पर राज्य के स्कूली पाठक्रमों में कटौती की जाएगी। डॉ. शर्मा ने वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर वाराणसी के मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के मद्देनजर सीबीएसई की तर्ज पर राज्य के स्कूली पाठक्रमों में कटौती की जाएगी।


उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के स्कूली पाठ्यक्रमों में कटौती करने से पहले हर पहलू पर विचार-विमर्श किया जा रहा है। तमाम संबंधी पक्षों की राय लेने के बाद कोई फैसला लिया जाएगा। इसके लिए आवश्यक प्रक्रिया चल रही तथा जल्दी ही विस्तृत जानकारी दी जाएगी।

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि जिन कॉलेजों एवं विश्वविद्यालों में नामांकन के लिए परीक्षाएं की व्यवस्था पहले से चली आ थीं, वहां का प्रशासन कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न नई परिस्थियों के मद्देनजर अंक के आधार पर नामांकन करने या ऑनलाइन माध्यम से परीक्षाएं आयोजित करने या नहीं करने के बारे में खुद कोई फैसला ले सकता है।             


₹5000 में ले डाक विभाग की फ्रेंचाइजी

कविता गर्ग


नई दिल्ली। इस समय देश में लगभग 1.55 लाख पोस्ट ऑफिस हैं, लेकिन इसके बाद भी पोस्ट ऑफिस की हर जगह पहुंच नहीं बन पाई है। अपनी पहुंच को सभी जगह पहुंचाने के लिए पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी देता है। इस समय विभाग अपने नेटवर्क का तेजी से विस्तार कर रहा है, जिसका आप फायदा उठा सकते हैं। अगर आप अच्छी कमाई वाला काम करना चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी के माध्यम से यह किया जा सकता है। आज हम आपको बताते हैं कि आप कैसे सिर्फ 5000 रुपए में पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी ले सकते हैं-
पोस्ट ऑफिस इस समय दो तरही की फ्रेंचाइजी देता है। पहली आउटलेट फ्रेंचाइजी है और दूसरी पोस्टल एजेंट्स फ्रेंचाइजी है। आप इन दोनों में से कोई भी फ्रेंचाइजी ले सकते हैं। बता दें कि देशभर में कई ऐसी जगह हैं, जहां पोस्ट ऑफिस खोलने की जरूरत तो है, लेकिन वहां पोस्ट ऑफिस खोला नहीं जा सकता तो वहां लोगों तक सुविधाएं पहुंचाने के लिए फ्रैंचाइज आउटलेट खोला जाता है। इसके अलावा ऐसे एजेंट्स जो शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में पोस्टल स्टैम्प्स और स्टेशनरी घर-घर पहुंचाते हैं। इसको पोस्टल एजेंट्स फ्रेंचाइजी के नाम से जाना जाता है।


फ्रेंचाइजी लेने वाले व्यक्ति की आयु 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए। इसके अलावा कोई भी भरतीय व्यक्ति पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी ले सकता है। साथ ही फ्रेंचाइजी लेने वाले व्यक्ति के पास किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से आठवीं पास का सर्टिफिकेट होना भी जरूरी है। इसके लिए आपको 5000 रुपए खर्च करने होंगे।


अगर आप पोस्ट ऑफिस की फ्रैंचाइजी लेना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए 5000 रुपए का सिक्यॉरिटी डिपॉजिट देना होता है। फ्रैंचाइजी मिलने के बाद आपको आपके काम के हिसाब से एक निश्चित कमीशन दिया जाता है। यह हजारों रुपए महीने का हो सकता है।


इसके अलावा आपको ग्राहकों को पोस्ट ऑफिस से मिलने वाली सुविधाएं जैसे- स्टाम्प, स्पीड पोस्ट, आर्टिकल्स, स्टेशनरी, मनी ऑर्डर की बुकिंग के लिए आपको अपनी तरफ से सुविधाएं मुहैया करानी होती हैं। बता दें कि ये सुविधाएं ग्राहकों को पोस्टल एजेंट्स बनकर घर-घर भी पहुंचाई जा सकती हैं।


पोस्ट ऑफिस की फ्रैंचाइजी के लिए आपको आवेदन करना होगा. आवेदन करने के लिए आप (https://www.indiapost.gov.in/VAS/DOP_PDFFiles/Franchise.pdf) इस ऑफिशियल लिंक पर क्लिक कर सकते हैं। यहां से आप फॉर्म डाउनलोड करके फ्रेंचाइजी के लिए आवेदन कर सकते हैं। बता दें जिन भी लोगों को चुना जाएगा उनको पोस्ट डिपार्टमेंट के साथ एक एमओयू साइन करना होता है। इसके बाद ही वह ग्राहकों को सुविधाएं दे सकेंगे।


हिमाचल में हुआ 10,000 घरों का निर्माण







हिमाचल में हुआ दस हजार घरों का निर्माण
















श्रीराम मौर्य


शिमला। हिमाचल सरकार ने बीते अढ़ाई वर्षों के दौरान विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत राज्य में 10,000 घरों का निर्माण किया है। यह बात मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज शिमला से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न आवास योजनाओं के लाभार्थियों के साथ बातचीत करते हुए कही।


उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश, देश का एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां प्रत्येक लाभार्थी को घर निर्माण के लिए एक लाख 50 हजार रूपए प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आरम्भ में यह राशि एक लाख 30 हजार रूपए थी। यह राशि वर्तमान सरकार द्वारा गत वित्त वर्ष के दौरान बढ़ा दी गई थी। वर्तमान वित्त वर्ष में प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत 20 हजार रूपए की वृद्धि की गई है।







नौकरी से निकालेंं कर्मचारियों का धरना

विजय भाटी


ग्रेटर नोएडा। गौतम बुध नगर यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा के प्रशासन द्वारा सैकड़ों संविदाकार सफाई कर्मचारियों को नौकरी से निकाले जाने के खिलाफ आंदोलनरत कर्मचारियों का यूनिवर्सिटी के गेट पर कर्मचारियों का धरना आज भी जारी रहा। धरनारत श्रमिकों को सीटू जिला अध्यक्ष गंगेश्वर शर्मा व सीटू जिला महासचिव राम सागर ने संबोधित किया और कर्मचारियों के आंदोलन और उनकी जायज मांगों का समर्थन किया।" alt="" aria-hidden="true" />अखिल भारतीय किसान सभा के जिला प्रवक्ता डॉ रुपेश वर्मा ने संबोधित करते हुए मजदूरों के आंदोलन का समर्थन किया और कहा कि मजदूरों की लड़ाई में किसान भी उनके साथ हैं साथ ही उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन और सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों की कड़ी आलोचना किया और विश्वविद्यालय प्रशासन से कार्य से रोके गए सभी श्रमिकों को कार्य पर लिए जाने और उनका बकाया वेतन का भुगतान करने की मांग किया।कर्मचारियों को संबोधित करते हुए सीटू नेता गंगेश्वर दत्त शर्मा ने बताया कि गौतम बुध नगर विश्वविद्यालय ग्रेटर नोएडा का संचालन शुरू होने के समय से ही कार्यरत सैकड़ों सफाई कर्मचारी स्थाई रूप से कार्य करते चले आ रहे हैं, लेकिन उन्हें श्रम कानूनों के तहत मिलने वाली विधिक सुविधाओं से विश्वविद्यालय प्रशासन और उनके संविदाकार वंचित रखते आ रहे हैं जिस के संबंध में समय-समय पर कर्मचारियों द्वारा आवाज उठाई जाती रही है, कोविड-19 के चलते हुए लॉकडाउन के दौरान भी श्रमिकों को कार्य पर बुलाया गया लेकिन उस दौरान कार्य किए गए 2 माह का वेतन का भुगतान नहीं किया वेतन भुगतान और श्रम कानूनों का पालन की श्रमिकों द्वारा मांग करने पर श्रमिकों को 15 जून 2020 से गैरकानूनी तरीके से कार्य से रोक दिया तभी से कार्य पर लिए जाने और वेतन का भुगतान की मांग को लेकर यूनिवर्सिटी के समक्ष भयंकर गर्मी व धूप में श्रमिक धरने पर बैठे हैं लेकिन उनकी पीड़ा को कोई समझने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि समय रहते श्रमिकों को कार्य पर नहीं लिया तो सीटू मजदूरों के साथ बड़ा आंदोलन करने को विवश होगी जिसकी जिम्मेदारी यूनिवर्सिटी प्रशासन, जिला प्रशासन, श्रम विभाग और प्रदेश सरकार की होगी। धरने में संजय, अमित, कपिल, देवेंद्र, नरेश, मामचंद, मनोज, शोभा, कला, सुनीता, सुंदरी आदि श्रमिकों ने हिस्सा लिया।                   


बिना मास्क वालों का कटा चालान

बिना मास्क के निकले लोगो का कटा चालान


कौशाम्बी। कोरोनावायरस की महामारी में लोगों को बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने के निर्देश दिए गए हैं। लेकिन इसके बाद भी लोग खुले आम सड़कों पर बिना मास्क के लिए घूम रहे हैं जिससे कोरोनावायरस की महामारी के खतरे बढ़ रहे हैं।


इस महामारी को रोकने के लिए बिना मास्क लगाए लोगों को चालान करने का निर्देश शासन ने दिया है। इसी क्रम में कोतवाली प्रभारी मंझनपुर ने अपने हमराही के साथ समदा चौराहा पर चेकिंग लगाकर बिना मास्क के लोगों को चालान काटा है। चेकिंग के दौरान 11 लोगों को 100 रुपये की दर से 11 सौ रूपये की चालान काटी गई है थाना प्रभारी रामजीत एस आई आनिल कुमार मौजूद रहे।


राम प्रसाद गुप्ता 


किसानों का बिजली बिल माफ करेंं सरकार

किसानों के नलकूप का विद्युत बिल माफ करे सरकार: प्रेमचंद्र केसरवानी


किसानों के मुद्दों को लेकर समर्थ किसान पार्टी के तत्वावधान में चायल तहसील में प्रदर्शन, नारेबाजी


कौशाम्बी। समर्थ किसान पार्टी के तत्वावधान में जिलाध्यक्ष प्रेम चन्द्र केसरवानी की अगुवाई में किसानों ने चायल तहसील में प्रदर्शन किया और माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को संबोधित एक ज्ञापन तहसीलदार चायल को सौंपा। पार्टी नेता और जिलाध्यक्ष प्रेम चन्द्र केसरवानी ने इस अवसर पर कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर जमीनी हकीकत से तहसीलदार चायल को रूबरू कराते हुए कहा कि चायल तहसील का किसान परेशान है और चायल तहसील प्रशासन के जिम्मेदार लोग किसानों की समस्याओं की अनदेखी कर रहे हैं।
इस अवसर पर एक पांच सूत्रीय ज्ञापन भी सौंपा गया। सौंपे गए ज्ञापन में मांग की गई कि तत्काल किसानों के नलकूप का विद्युत बिल माफ किया जाए, केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य के अलावा प्रदेश सरकार द्वारा 100 रू प्रति कुंतल की दर से किसानों को बोनस दिया जाए, डेयरी संचालकों द्वारा किसानों के साथ हो रहे आर्थिक शोषण को रोका जाए और दूध विक्रेता किसानों को उनके दूध का समुचित दाम दिलाया जाए, आवारा पशुओं से किसानों की फसलों के हो रहे नुकसान के बचाव का समुचित प्रबंध किया जाए, क्षेत्र के बिगड़े राजकीय नलकूप बनवाए जाएं।
ज्ञापन स्वीकार करते हुए तहसीलदार चायल ने सभी मांगों पर जल्द ही समुचित कार्यवाही सुनिश्चित कराने का आश्वासन दिया।
इसके पूर्व समर्थ किसान पार्टी के तमाम कार्यकर्ताओं ने तहसील चायल में प्रदर्शन किया और नारेबाजी कर किसानों के हित में समुचित कार्यवाही सुनिश्चित किए जाने हेतु आवाज बुलंद की। जिलाध्यक्ष प्रेम चन्द्र केसरवानी ने इस अवसर पर कहा कि अगर किसानों के साथ प्रशासन द्वारा अन्याय किया गया तो सैकड़ों किसानों के साथ आंदोलन किया जाएगा जिसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी।


इस अवसर पर पूर्व जिलाध्यक्ष मनोज सोनी, जिला महासचिव जयदीप सिंह समेत, फूलचंद्र लोधी, राजू सोनी, राजेन्द्र सोनी वेद प्रकाश यादव, मन्नू यादव, दिलीप कुमार समेत पार्टी के तमाम कार्यकर्ता गण मौजूद रहे।


रामप्रसाद गुप्ता 


महामंत्री पर मुकदमा, आक्रोशित अधिवक्ता

महामंत्री पर मुकदमा दर्ज होने के बाद आक्रोशित हुए अधिवक्ता


कौशाम्बी। मॉडल डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन की एक बैठक जिला अध्यक्ष देव शरण त्रिपाठी एडवोकेट की अध्यक्षता में संपन्न हुई है। बैठक में अधिवक्ताओं ने कहा कि मॉडल डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के महामंत्री राजेंद्र प्रसाद द्विवेदी एडवोकेट को सराय अकिल पुलिस द्वारा फर्जी मुकदमे में फंसाया गया है। उन्होंने कहा, कि हमारे संघ के महामंत्री और उनके परिवार के विरुद्ध पुलिस द्वारा झूठे मुकदमे में फंसा कर जेल भेजने की तैयारी कर रही है, जबकि घटना के वक्त महामंत्री मौजूद नहीं थे।


अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष देव शरण त्रिपाठी की अगुवाई में अधिवक्ताओं ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर मुकदमा हटाए जाने की मांग की है, वही अधिवक्ता संघ ने राज्य विधिक परिषद के अध्यक्ष को भी पत्र भेजकर सराय अकिल पुलिस के इस साजिश से अवगत कराया है।


राजकुमार 


रिहाई के लिए चला हस्ताक्षर अभियान

कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन की रिहाई के लिए चला हस्ताक्षर अभियान।


म्योहर कौशाम्बी। कांग्रेस पार्टी के अल्पसंख्यक विभाग के उत्तर प्रदेश चेयरमैन शहनवाज आलम की रिहाई के लिए तीन दिवसीय हस्ताक्षर अभियान में आज कांग्रेसियों ने कैंप कार्यालय कसेंदा गांव में अभियान चलाया। पूर्व जिला अध्यक्ष तलत अज़ीम ने कहा कि शहनवाज आलम  को मजलूमों और अल्पसंख्यकों की आवाज़ उठाने के लिए जेल भेजा गया है और पूरी पार्टी उनके लिए आंदोलन कर रही है, जिला चेयरमैन तमजीद अहमद ने कहा कि किसी भी कीमत पर अल्पसंख्यकों कि आवाज़ दबने नहीं दी जाएगी और जब तक प्रदेश चेयरमैन की रिहाई नहीं होगी आंदोलन चलता रहेगा।


इस मौके पर मजहर लाईक,कामरान अज़ीम, मती उल्ला, इम्तेयाज अख्तर, तौहीद अहमद, सरवन यादव, सन्नी चौधरी, फैसल, नफीस, मुनव्वर, दिलशाद, अकील, मंज़र,मोहम्मद शाद, निक्के, समशाद, दुन्ने, अकमल,  आदि सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे।


सुशील दिवाकर 


पौधारोपण, विभाग की गंभीरता जरूरी

पौधारोपण के लिए जन जागरूकता एवं वन विभाग की गंभीरता ज़रुरी है। फतेहराम शर्मा


रतन सिंह चौहान


पलवल। होडल की सामाजिक संस्था आर एस योगा संस्थान मैं पौधारोपण कार्यक्रम के तहत औषधीय पौधों का पौधा रोपण किया। संस्था के संस्थापक सदस्य फतेह राम शर्मा ने कहा कि लोग पर्यावरण तो स्वच्छ चाहते हैं, लेकिन स्वच्छता को गंभीरता से नहीं लेते हैं। राज्य। सरकारें कितना भी पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित करें, लेकिन वह तब तक सफल नहीं हो सकता जब तक पौधा रोपण करने वाले लगाए गए पौधों के प्रति अपने कर्तव्यों को पूरा करने की पहल और सजगता नहीं दिखाएंगे।
संस्था के सदस्यों ने सरकारी स्कूल के प्रांगण में नीम के वृक्षों के नीचे गिलोय औषधि वेल रोपण किए और लोगों को पर्यावरण के अनुकूल फल, छायादार वृक्ष और औषधीय पौधों को रोपित करने की सलाह दी। सरकार एक बार फिर बड़े पैमाने पर पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित करने की तैयारी में है। प्रतिवर्ष लाखों पौधे लगाए जाते हैं लेकिन धरातल पर वही ढाक के तीन पात वाली कहावत चरितार्थ हो गई है।वन विभाग स्वयं लगाए गए पौधों के प्रति गंभीर नहीं दिखाई देता। पौधारोपण करने वालोें को जिम्मेदारी निभानी होगी तभी धरातल पर कार्यक्रम की सच्ची झलक दिखाई देगी।
स्वाभिमान ट्रस्ट के सदस्य उदयपाल ने कहा पर्यावरण संरक्षण का सर्वोत्तम उपाय पौधारोपण को माना जाता है। वृक्ष  प्रकृति का अनमोल उपहार है। पेड़ मानव जीवन के लिए अपरिहार्य है। पेड़ बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रित करते हैं और वर्षा लाने में सहायक है। उन्होंने कहा कि हमें अधिक से अधिक घरों में औषधीय पौधों को लगाना चाहिए और उनकी अच्छे से देखभाल करना चाहिए।                 


जल निकासीः तालमेल बनाए विभाग

बरसात के पानी की निकासी के लिए संबंधित विभाग तालमेल से कार्य करें।
रतन सिंह चौहान
पलवल शहर की सफाई व जल निकासी को लेकर एसडीएम ने दिए अधिकारियों को निर्देश
पलवल। उप मण्डल अधिकारी (ना.) कंवर सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि पलवल शहर की जल निकासी व सफाई का कार्य आगामी 17 जुलाई तक सभी विभाग के अधिकारी आपसी तालमेल कर करें ताकि आम जनता को बरसात के मौसम में कोई परेशानी न हो।
एसडीएम कंवर सिंह शुक्रवार को पलवल के विधायक दीपक मंगला व संबंधित अधिकारियों के साथ प्रात: शहर की सफाई व जल निकासी के कार्यों का निरीक्षण कर रहे थे। विधायक दीपक मंगला व एसडीएम ने शहर के ऐसे एक दर्जन से अधिक स्थानों का निरीक्षण किया जहां पर बरसात के मौसम में जलभराव होता है।
कंवर सिंह ने कहा कि बरसाती पानी की तत्काल निकासी का प्रबंध करें इसके लिए शहर के सभी सीवरेज,नालों तथा नालियों को साफ करवाएं। जहां पर नाले का लेवल ठीक नहीं है उसे ठीक करवाएं तथा जहां पर अधिक जल भराव होता है उसकी निकासी के पम्प का प्रयोग कर पानी की निकासी की जाए। उन्होंने कहा कि आमजन को मूलभूत सुविधा उपलब्ध करवाना प्रशासन का प्राथमिक दायित्व है। कोविड संक्रमण के चलते बरसात के मौसम में जलजनित बीमारियों की रोकथाम करने के लिए यह जरूरी है कि बरसात के पानी का ठहराव न होने दें। उन्होंने कहा कि ब्लॉकेज न रहे, मैन हॉल साफ हो ताकि बरसाती पानी निकलने में कोई बाधा न आए तथा जहां पर नाले में जाली लगाने की आवश्यकता है वहां पर जाली लगवाए ताकि पॉलीथीन आदि से रूकावट उत्पन्न न हो।  एसडीएम ने कहा कि जहां पर अतिक्रमण है। उस अतिक्रमण को भी हटवाएं ताकि आम नागरिक को कोई परेशानी न हो।
निरीक्षण के दौरान ओल्ड जी.टी. रोड़ स्थित कमेटी चौक मीनार गेट, बाल भवन के पास आर्यन अस्पताल, संजय कालोनी, धर्म नगर, मालगोदाम रोड़ शामशान घाट, सब्जीमंडी, राजीव नगर, बंसतगढ़ आदि विभिन्न स्थानों को दौरा कर जायजा लिया।
इस अवसर पर नगराधीश जितेन्द्र कुमार, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद मनिन्द्र सिंह, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता नरेन्द्र यादव, जनस्वास्थाय आभियांत्रिकी विभाग के कार्यकारी अभियंता रमेश चन्द्र गौड़, नगर परिषद के कार्यकारी अभियंता सतपाल सहित अन्य अधिकारी व पलवल निगरानी समिति के चेयरमैन मुकेश सिंगला, अधिवक्ता अविनाश शर्मा तथा नगर पार्षद भी मौजूद रहे।
बॉक्स  -- विधायक दीपक मंगला ने इस मौके पर कहा कि शहर को साफ-सुथरा रखने के लिए सभी अधिकारी मिलकर कार्य करें तथा शहर में एक दर्जन से अधिक स्थानों पर बरसात के मौसम में जलभराव होता है। उसके लिए अधिकारी तत्परता से कार्य कर समस्या का निदान करें। उन्होंने कहा कि जहां पर सीवरेज रूके हुए हैं। उनकी सफाई तुरंत प्रभाव से की जाए तथा जहां पर नए नाले बनाने की आवश्यकता है।


विहिप-बद की बैठक का आयोजन

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के लोनी नगर सह मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह ने वार्ड न. 4 और वार्ड न.14 मे बैठक का आयोजन किया। जिसमें हिंदू परिषद बजरंग दल की जिला कार्यकारिणी से जिलामंत्री पंडित जय भोले ने ओम का उचारण करके बैठक की शुरूआत की और सभी नए वार्ड सदस्यों को सनातन पद्धति और हिंदुत्व की शपथ दिलाई। संगठन की पूरी तरह से जानकारी दी और कार्य करने की रूपरेखा समझाई। देश मे बढ रही जनसंख्या को रोकने के लिए जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए सभी लोगो को जागरूक करने के लिए सुझाव दिया। हमारे जिलासंयोजक श्री हरदीप सिंह ने सभी कार्यकर्ताओं को अपने आसपास बढ़ रहे लव जिहाद जैसी विकृति के लोगों से हिंदू समाज को बचाने के लिए जागरूक किया और उन्हें बताया की अगर आपको ऐसी कोई जानकारी प्राप्त हो तो तुरंत अपने  वरिष्ठ अधिकारी को सूचित करें और लव जिहाद जैसी मानसिकता के लोगों से अपने हिंदू समाज को बचाना है और इसी बीच हमारे #लोनी नगर अध्यक्ष श्री अभय चौहान जी ने समाज में बढ़ रही जातिवादी व्यवस्था  पर कुठरघात करते हुए कहा कि यह  व्यवस्था हमारे हिंदू समाज को और हमारे सनातन धर्म को कमजोर कर रही है जब ही हम मजबूत नहीं हो पा रहे हैं इसके लिए हम सभी को अंतर राज्य विवाह संबंध स्थापित करने होंगे और जाति बंधनो से ऊपर उठकर हिंदू समाज की एकजुटता के लिए कार्य करने होगे और जिसमे जिला मंत्री पंडित जय भोले जी , जिला संयोजक श्री हरदीप सिहं जी, लोनी नगर अध्यक्ष श्री अभय चौहान जी, लोनी नगर संयोजक श्री इन्द्रपाल तेवतिया जी , लोनी नगर सहमंत्री  श्री भूपेंद्र सिंह जी, वार्ड नंबर 14 अध्यक्ष सुनील मंत्री, शिवम संयोजक, कुलदीप सुरक्षा प्रमुख, मोंटी गोरक्षा प्रमुख ,अवनीश ब्लू पासना प्रमुख,बिरजू सप्ताहिक मिलनप्रमुख ,अजय प्रचार प्रमुख ,विशाल संरक्षक ,सतीश चंद्र, वार्ड नंबर 4 अध्यक्ष सुधीर मलिक मंत्री सुनील कुमार संयोजक शिवम शर्मा सुरक्षा प्रमुख दीपक विलो पासना प्रमुख मनोज इत्यादि कार्यकर्ता सम्मलित हुए और जय श्री राम भारत माता की जय वंदेमातरम के साथ बैठक की समापना हुई।


मिठाई बांट एनकाउंटर की खुशी मनाई

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। राजीव गार्डन 100 फुटा रोड कैंप कार्यालय लोनी भाजपा नेता धर्मेंद्र त्यागी ने विकास दुबे के एनकाउंटर में मारे जाने पर मिठाई बांटकर खुशियां मनाई और कहा हिस्ट्रीशीटर बदमाश किसी भी धर्म संप्रदाय कहो उसका हमें साथ नहीं देना चाहिए। 9 पुलिसकर्मियों को दर्दनाक मौत के घाट उतार दिया और वह जवान शहीद हो गए अपनी कर्तव्य के पथ पर चलते हुए। राजनीतिक पार्टियों और राजनेताओं का आशीर्वाद प्राप्त था। जिस कारण इतना बड़ा हिस्ट्रीशीटर बना और उसने राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त मंत्री को थाने में घुसकर मार दिया था। कोई गवाही ना होने के कारण कोर्ट ने उसे बरी कर दिया था जिसके कारण उसके हौसले बढ़ते गए और आज वह इतनी बड़ी घटना को अंजाम दे दिया।


प्रदेश के मुखिया माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से भी निवेदन है। प्रदेश में हत्या बलात्कार लूट अपहरण कर्ताओं को भी ढूंढ ढूंढ कर एनकाउंटर में मार गिराने के लिए पुलिस को आजादी दी जाए। तभी प्रदेश में शांति रामराज्य स्थापित होगा जिस देश में राजा और प्रशासन का डर ना हो वहां इस तरह के आतंकवाद नक्सलवाद जैसी घटना को अंजाम देने वाले दुर्दांत पनपते रहेंग। विकास दुबे के पीछे पुलिस के कुछ गद्दार उनका साथ दे रहे थे और कुछ सफेद नकाबपोश चेहरे अपना राजनीतिक संरक्षण देकर अब तक उसे बचाते आ रहे थे। उनका भी चेहरा जनता के सामने आना चाहिए और उन्हें भी सजा मिलनी चाहिए प्रदेश सरकार से हमारी मांग है। 500000 का जो इनाम घोषित किया था विकास दुबे पर उस पैसे को शहीदों के परिवार को दे देना चाहिए। इस मौके पर मुख्य रूप से सुमित धामा प्रवीण गोस्वामी पंडित सुदामा मनोज विनोद कुमार सतपाल स्वामी शिवचरण भदोरिया आदि मौजूद रहे।


निकेतन स्कूलः 3 माह की फीस माफ

भानु प्रताप उपाध्याय


सहारनपुर। नगर की प्रमुख शिक्षण संस्था स्वामी शिक्षा निकेतन जूनियर हाईस्कूल की प्रधानाचार्य सुनिधि बजाज व प्रबंधक बलदेव बठला ने कोरोना वायरस के चलते अभिभावकों के सामने आए आर्थिक संकट के मद्देनजर स्कूल के बच्चों की तीन माह की फीस माफ करने का निर्णय लिया है। बेहट रोड, शालीमार गार्डन, प्रेमपुरी कालोनी स्थित स्वामी शिक्षा निकेतन जूनियर हाईस्कूल की प्रधानाचार्य सुनिधि बजाज व प्रबंधक बलदेव बठला ने बताया कि कोरोना वायरस
के चलते अनेक लोगों के रोजगार बंद होने के कारण उनके समक्ष आर्थिक संकट पैदा हो गया था। उन्होंने बताया कि अभिभावकों की आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए स्कूल प्रबंधन ने बच्चों की अप्रैल से जून माह की फीस माफ करने का निर्णय लिया है। उधर अभिभावक संघ के अध्यक्ष संजीव वालिया ने स्कूल प्रबंधन के इस निर्णय को सराहनीय कदम बताते हुए आभार जताया है।            


'हज हाउस' बनेगा कोविड का अस्पताल

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। जिले में लगातार बढ़ती कोविड-19 संक्रमितों की संख्या को ध्यान में रकते हुए जिला प्रशासन ने हिंडन नदी के तट पर बने ‘हज हाउस’ को कोविड-19 अस्पताल में बदलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस हज हाउस में अब 500 बिस्तरों वाला अस्पताल बनाया जा रहा है जहां कोविड 19 के इलाज की सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारियों द्वारा इसका निरीक्षण करते हुए पूरी रूपरेखा तैयार कर ली गई है।


आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के शासन काल में तुष्टीकरण की नीति के अंतर्गत सरकार द्वारा बनाए गए इस हज हाउस पर ₹51 करोड़ की लागत आई थी। 4.3 एकड़ में बने इस हज हाउस में  7 मंज़िले हैं, इस हज हाउस में 47 डॉरमेट्री हॉल और 36 वीआईपी कमरे भी शामिल हैं और इसमें करीब 2000 लोग एक साथ बैठ सकते हैं। इस हज हाउस का उद्घाटन तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया था।


हालांकि यहां पर सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट ना होने के कारण नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के द्वारा इस हज हाउस को सील भी कर दिया गया था। लेकिन सभी मानकों को पूरा करने के बाद दोबारा से हज यात्रियों के लिए यह खोल दिया गया है।


सभी सुविधाओं से लैस 500 बेड का बनेगा अस्थायी अस्पताल


इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए गाजियाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि जनपद में कोविड-19 संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार होते देख अब जिला प्रशासन द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि हिंडन पर स्थित हज हाउस को अब कोविड-19 अस्पताल बनाया जाएगा। हालांकि शुरुआती दौर में भी यहां अस्थाई अस्पताल बनाए जाने की योजना बनाई गई थी। लेकिन किसी कारणवश इसे रोक दिया गया था। लेकिन अब जिस तरह से एका-एक कोविड-19 संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए दोबारा से जिला प्रशासन द्वारा यहां 500 बेड का कोविड-19 ताल बनाया जा रहा है। इसकी अनुमति भी शासन से मिल गई है, और यह कोविड-19 अस्पताल सभी सुविधाओं से लैस होगा। उधर नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा भी यहां साफ सफाई का विशेष ध्यान रखे जाने की योजना बनाई गई है।             


2 लोगों ने को एक मकान अलॉटः जीडीए

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। मुस्कुराइए आप गाजियाबाद हॉट सिटी में हैं लेकिन सावधान जहां आपकी और आपके आशियाने की सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं है। कोई भी जेसीबी लाकर आपका घर तोड़ सकता है। गाजियाबाद के गोविंदपुरम में जेसीबी से घर तोड़ने की घटना सामने आई है जिससे नहीं लगता कि गाज़ियाबाद में दबंगों को कानून व्यवस्था की कोई परवाह है।  


दरअसल विजय पत्नी वीरेंद्र कुमार नाम की बुजुर्ग महिला ने एसएसपी को दिए एक पत्र में आरोप लगाया है कि सन 1994 में जीडीए द्वारा भवन संख्या 262 सिंगल स्टोरी उसके नाम आवंटित किया गया था जिसका जीडीए ने कब्जा लैटर देकर कब्जा भी दिया था लेकिन उसी भवन की फाइल को गायब करके जीडीए के अधिकारियों रजिस्ट्री नहीं की। बाद मे स्वाति कांत शर्मा नाम के व्यक्ति को भी वही भवन आवंटित कर दिया।  जिसके बाद गाजियाबाद न्यायालय द्वारा इस मकान पर विजया को स्टे भी दिया गया था।


विजय का कहना है कि वह यहां पर नहीं रहती है लिहाजा मकान में ताला लगा हुआ था दो दिन पहले स्वाति कांत शर्मा अपने साथियों के साथ जेसीबी लेकर पहुंचा और उसने पूरा घर तोड़ दिया साथ ही मकान में लगे हुए सभी दरवाजे चौखट विंडो व अन्य लाखों का सामान लेकर ट्रक में भरकर ले गया। इस मामले में गाजियाबाद के एसएसपी को शिकायत दी गई है पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है वही जीडीए के अधिकारी इस पूरे प्रकरण पर कहना है कि पूरे मामले को दिखवाया जा रहा है।               


प्राथमिकता से कूड़े का निस्तारण करें

अश्वनी उपाध्याय


मेरठ। नोडल अधिकारी व आबकारी आयुक्त पी0 गुरू प्रसाद ने आज गांवडी स्थित कूडा निस्तारण प्लांट का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि जनपद के कूडे का निस्तारण प्राथमिकता पर किया जाये। इस अवसर पर नगर आयुक्त, नगर मजिस्ट्रेट, सहायक नगरायुक्त व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


प्लांट के सहायक प्रभारी रविशंकर ने बताया कि गांवडी स्थित कूडा निस्तारण प्लांट करीब 55 एकड़ भूमि में बना है। उन्होंने बताया कि प्लांट में प्रतिदिन 150 टन कूड़े का निस्तारण किया जाता है। रविशंकर ने बताया कि प्लांट में लगी मशीनों के माध्यम से कूड़े से इनर्ट, कम्पोस्ट खाद, आरडीएफ (रिफयूस्ड ड्राईव फ्यूल) व एमआरएफ (मैटिरीयलस रिकवरी फैसिलिटी) मिलता है। उन्होंने बताया कि भूडबराल में आरडीएफ से मिथेन व मिथेन से बिजली के उत्पादन का प्लांट लगाये जाने पर नगर निगम कार्य कर रहा है, जिसमें प्रतिदिन 1 मेगावॉट बिजली मिलेगी। इस अवसर पर नगरायुक्त अरविन्द चैरसिया, नगर मजिस्ट्रेट सत्येन्द्र कुमार सिंह, सहायक नगरायुक्त ब्रजपाल सिंह व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।             


सक्षम अभिभावकों को देनी चाहिए फीस

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। नगर मजिस्ट्रेट शिव प्रताप शुक्ला की अध्यक्षता में हुई अभिभावक संघ और स्कूल फ़ैडरेशन की बैठक आशा के अनुरूप बे-नतीजा ही रही।  बैठक के दौरान जिला प्रशासन ने स्पष्ट कर दिया कि जहां एक ओर स्कूल किसी भी अभिभावक पर फीस जमा करने के लिए दबाव नहीं बनाएंगे, वहीं दूसरी ओर सक्षम अभिभावकों को अपने बच्चों की समय पर फीस जमा करानी चाहिए।


दरअसल अभिभावकों और स्कूलों के बीच लॉकडाउन के समय की फीस को लेकर लगातार बढ़ते हुए गतिरोध को समाप्त करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के शासनादेश द्वारा स्पष्ट कहा कि यदि कोई अभिभावक आर्थिक कारणों से बच्चों की फीस (लॉकडाउन के समय की) देने में असमर्थ है तो वह संबन्धित स्कूल के प्रिंसिपल को पत्र लिखकर आसान किस्तों में फीस देने की प्रार्थना कर सकता है। यदि स्कूल ऐसे अभिभावकों की प्रार्थना का संज्ञान नहीं लेता है तो जिला फीस नियामक समिति स्कूल के खिलाफ कार्यवाही करेगी।


वहीं दूसरी ओर अभिभावक संघ का कहना है कि चाहे अभिभावक सक्षम हो या न हों, हम किसी भी हालत में फीस जमा नहीं कराएंगे। अभिभावक संघ बच्चों की पढ़ाई की चिंता किए बिना ऑनलाइन क्लासों का भी विरोध कर रहा है।


आपको बता दें कि तीन महीने की फीस माफी की मांग को लेकर जिला अभिभावक संघ ने मुख्यालय पर भूख हड़ताल की थी। उस समय जिला विद्यालय निरीक्षक और सिटी मजिस्ट्रेट ने दोनों पक्षों को एक साथ बैठाकर मामले का हल निकालने का आश्वासन दिया था।  इसी क्रम में गुरुवार को एक वार्ता का आयोजन किया गया था। इस बैठक में स्कूल फ़ैडरेशन की ओर से सुभाष जैन, गुलशन भांबरी, जेके गौड़ और ज्योति गुप्ता ने भाग लिया जबकि पेरेंट्स एसोसिएशन की ओर से सीमा त्यागी, जगदीश बिष्ट, संजीव सिंह, एडवोकेट अशोक गहलोत आदि उपस्थित थे।


स्कूल फ़ैडरेशन ने गिनाई अपनी परेशानियाँ


बैठक में स्कूल फ़ैडरेशन के अध्यक्ष सुभाष जैन ने स्कूलों का पक्ष रखते हुए कहा कि हम योगी सरकार द्वारा जारी शासनादेश का पूर्णतः पालन करेंगे। वहीं अभिभावकों से फीस जमा कराने का अनुरोध करते हुए सुभाष जैन ने कहा कि पेरेंट्स को स्कूल का पक्ष भी देखना चाहिए। फीस जमा न कराने के कारण स्कूलों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। हमें अध्यापकों, ड्राइवरों और एडमिन स्टाफ को सैलरी के साथ-साथ बैंक लोन की किस्तें भी चुकनी हैं। इसके अलावा लॉकडाउन के दौरान स्कूल और गाड़ियों में मेंटीनेंस पर भी लगातार खर्च होता ही रहा है।  ऐसे में हम सक्षम अभिभावकों से अनुरोध करते हैं कि वे शासनादेश के अनुसार अपने बच्चों का भविष्य ध्यान में रखते हुए फीस जमा करा दें।      


भिभावक संघ में दिखाई दिए मतभेद


गुरुवार को जिला मुख्यालय पर हुई बैठक में अभिभावक संघ का मतभेद मीडिया के सामने उजागर हो गया।  बैठक में आए कुछ अभिभावकों का कहना था कि सभी केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारियों को समय पर सैलरी मिली है। इसी तरह प्राइवेट जॉब करने वाले अधिकतर अभिभावकों को भी सैलरी का बड़ा हिस्सा मिल चुका है। लेकिन अभिभावक संघ के दबाव में आकर ऐसे अभिभावक भी फीस नहीं जमा करा रहे हैं जिससे बच्चों की पढ़ाई में बाधा आ सकती है।  यदि आर्थिक संकट के कारण स्कूल अपने शिक्षकों को निकालते हैं तो इसका असर भी हमारे बच्चों के भविष्य पर ही पड़ेगा।             


शामली में दिनदहाड़े पेट्रोल पंप पर लूट

शामली में पेट्रोल पंप पर लूट, पुलिस मौके पर पहुंची


भानु प्रताप उपाध्याय (सहारनपुर मंडल प्रभारी)
 शामली। दिल्ली यमुनोत्री मार्ग पर दिनदहाड़े पेट्रोल पंप पर लूट की बात सामने आ रही है। पेट्रोल पंप के कर्मचारियों को गन प्वाइंट पर लेकर लूट की गई है. पेट्रोल पंप से लगभग डेढ़ लाख रुपए की लूट की गई। मोटरसाइकिल पर सवार तीन युवकों ने कर्मचारियों को गन प्वाइंट पर लेकर लूट की.यह मामला आदर्श मंडी थाना क्षेत्र के दिल्ली यमुनोत्री मार्ग पर स्थित पेट्रोल पंप पर हुआ है।


आपको बता दें मामला जन पद शामली के दिल्ली यमुनोत्री मार्ग पर हिंदुस्तान पेट्रोल पंप पर तीन बाइक सवार अज्ञात बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। दिल्ली यमुनोत्री राजमार्ग पर स्थित हिंदुस्तान पेट्रोलियम पंप के मालिक श्रीपाल गोयल ने बताया कि तीन बदमाश सीडी 100 बाइक पर मुंह लपेटे हुए आए और पेट्रोल पंप पर मौजूद सेल्समैन को पेट्रोल डलवाने के बहाने तीनों सेल्समैन को गन प्वाइंट पर लेकर सारा कैश लूट लिया।
उन्होंने बताया कि फिर बदमाशों ने मैनेजर रूम में जाकर मैनेजर से गन पॉइंट पर सारा कैश लूट लिया और पेट्रोल पंप के मैनेजर पर चाकू से वार भी किया। वही पेट्रोल पंप के मालिक ने बताया कि लगभग एक से सवा ₹200000 बदमाश लूट कर फरार हो गए। बदमाशों ने पेट्रोल पंप मालिक के ऑफिस रूम में भी एक फायर किया। जिसमें बैंक मैनेजर बाल बाल बच गए। बदमाश घटना को आजम देकर मोक से फरार हो गए। वही शातिर बदमाश सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर भी अपने साथ ले गए। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है।


दिव्यांगजन की सेवा हेतु नंबर जारी

भानु प्रताप उपाध्याय (सहारनपुर मंडल प्रभारी )


शामली। जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी, शामली, अंशुल चौहान ने बताया कि दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग जनपद शामली द्वारा दिव्यांग व्यक्तियों के कल्याणार्थ अनेक योजनाऐं क्रमशः दिव्यांग पेंशन, सहायक उपकरण योजना दुकान निर्माण/दुकान संचालन योजना, दिव्यांग शादी पुरस्कार योजना, यू0डी0आई0डी0 योजना संचालित की जा रही है। दिव्यांग व्यक्तियों की कठिनाईयों को दृष्टिगत रखते हुए जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी, शामली द्वारा मो0नं0-8791491011 जारी किया जा रहा है, ताकि दिव्यांग व्यक्ति घर बैठे ही इस नं0 पर फोन अथवा वाट्सऐप के माध्यम से अपनी शिकायत अथवा समस्या का निदान कर सकें।
अतः समस्त दिव्यांग व्यक्तियों को सूचित किया जाता है कि इस कार्यालय द्वारा जारी मो0नं0-8791491011 पर प्रातः 10 बजे से दोपहरः 11 बजे तक रविवार एवं शासकीय अवकाश को छोड़कर किसी भी कार्यालय दिवस में फोन कर विभागीय योजनाओं की जानकारी एवं अपनी समस्या का समाधान कर सकते है।


भागीरथ सेना ने बैठक कर की नियुक्ति

भागीरथ सेना द्वारा बैठक कर किए गए पदाधिकारी मनोनीत,,,


भानु प्रताप उपाध्याय (सहारनपुर मंडल प्रभारी)


सहारनपुर। नगर के अंतर्गत भागीरथ सेना के पदाधिकारियों द्वारा एक बैठक का किया गया। जिसमें दौरान  भगीरथ सेना के जिलाध्यक्ष डॉक्टर मुकेश सैनी द्वारा सैनी समाज की कर्मठ और ईमानदार क्रांतिकारी महिला बबीता सैनी को संगठन की महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष पद पर मनोनीत की गई। जहां पर इस दौरान बबीता सैनी ने समाज के सभी लोगों का आभार जताया जिलाध्यक्ष मुकेश सैनी ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि आज भी हमारे समाज में गरीब वर्ग के लोग ऐसे हैं जो कमजोरी के कारण अपने बच्चों को पढ़ाने लिखाने सक्षम नहीं है उन्होंने इस दौरान कहा कि ऐसे समाज के गरीब लोगों को चिन्हित कर उनकी मदद के लिए भी संगठन जल्द योजना बनाकर कार्य करेगा। कहा कि तभी समाज की तरक्की और राजनीतिक दलों में अधिक से अधिक भागीदारी मिलेगी वही महिला मोर्चा के जिला अध्यक्ष बबीता सैनी द्वारा भी अपने विचार में कहा की समाज के महिलाओं को भी अपने अधिकारों के लिए आगे बढ़ना होगा ताकि वह भी अपने अधिकारों को समझ सके कार्यक्रम के दौरान फैमिली ऑफ ब्लड डोनर्स ट्रस्ट के महासचिव योगेश पवार और अखिल भारतीय फार्मेसिस्ट के जिला अध्यक्ष रजत सैनी को भगीरथ सेना के पदाधिकारियों द्वारा करोना योद्धा सम्मान पत्र देकर उन्हें सम्मानित किया गया जहां पर सभी को बधाई दी गई। कार्यक्रम के दौरान राजेंद्र सैनी, प्रवीण सैनी, मोहित सैनी, आशु सैनी, बिट्टू सैनी, बबलू सैनी, गगन सैनी, मनोज सैनी, प्रवीण सैनी के अलावा दर्जनभर समाज के लोग मौजूद रहे।


विदेशी महिला से 2 महीने तक रेप

कविता गर्ग


नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलियाई महिला और पूर्व स्टार सर्फर कैरमन ग्रीनट्री ने बताया है कि साल 2004 में भारत यात्रा के दौरान उनके साथ कश्मीर में बंधक बनाकर 2 महीने तक रेप  किया गया था। कैरमन के मुतबिक एक स्थानीय कश्मीरी पुरुष ने उन्हें हाउसबोट पर दो महीने तक बंधक बनाकर रखा और उनका जबरदस्ती धर्मपरिवर्तन कराने की भी कोशिश की थी। इस दौरान ये शख्स कैमरन का दिन में कई-कई बार रेप करता था। कैरमन के मुताबिक उनकी उम्र तब सिर्फ 22 साल थी।


द सन की खबर के मुताबिक कैरमन अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सर्फर रही हैं और उन्होंने अपनी एक किताब में पूरी घटना का जिक्र किया है। कैमरन के मुताबिक उन्हें दुनिया घूमने का शौक है और इसी के चलते साल 2004 में वे भारत भी आयीं थीं। कश्मीर घूमने के दौरान उनकी मुलाक़ात एक स्थानीय व्यक्ति से हुई जिसने उन्हें होटल में न रहकर उसके हाउसबोट में रहने की सलाह दी। कैरमन उसकी बात मानकर चली गयीं लेकिन इसके बाद उन्हें हाउसबोट में बंधक बना लिया गया। कैरमन बताती हैं कि मुझे बंधक बनाने का एहसास तब हुआ जब मैं हिमाचल के धर्मशाला की बस पकड़ने के लिए निकल रही थी और इस शख्स ने मेरा रास्ता रोक लिया। मेरे जाने की जिद करने पर न सिर्फ मुझे पीटा गया बल्कि बांधकर भी रखा गया।


रेप हुआ और मुसलमान बनाने की कोशिश हुई


37 वर्षीय कैरमन ने अपनी किताब ‘ अ डेंजरस परसुइट ऑफ़ हैप्पीनेस’ में लिखा है कि मुझे ऐसा लगने लगा था कि मैं कभी इस बोट से बाहर नहीं निकल पाउंगी. वह शख्स रोज़ मेरा कई-कई आर रेप करता था और मैंने गिनती भी छोड़ दी थी कि मेरे साथ ऐसा कितनी बार हो रहा है। कैरमन ने बताया कि उन्हें उस शख्स और उसके दोस्तों की बातचीत सुनकर लगता था कि उन्होंने कई अन्य लड़कियों को भी इसी तरह बंधक बनाया हुआ है।


तीन बच्चों की मां कैरमन बताती हैं कि एक दिन वह शख्स अंग्रेजी में लिखी कुरान भी ले आया और मुझे जबरदस्ती पढ़ने के लिए कहा। इसके आलावा मुझसे जबरदस्ती 5 वक़्त नमाज़ पढवाई जाती थी। मुझे मुस्लिम महिलाओं की तरह हिजाब पहनने के लिए मजबूर किया जाता था। मैंने एक बार भागने की कोशिश की तो बोट को भारतीय सेना के इलाके में खड़ा कर दिया गया जिससे अगर मैं भागने की कोशिश करूं तो सेना के जवान मुझे आतंकी समझकर गोली मार दें।


ऐसे बची जान


कैरमन बताती हैं कि उन्होंने उस बोट से निकलने की पूरी उम्मीद छोड़ दी थी लेकिन तभी उनकी एक दोस्त ने उनसे संपर्क करने की कोशिश की और न हो पाने पर भारत में ऑस्ट्रेलियन दूतावास से संपर्क किया। मुझे लोग ढूंढ रहे हैं ये बात जैसे ही इस शख्स को पता चली इसने मुझे घर से फोन करके पैसे मंगाने को कहा लेकिन मैंने बातों-बातों में घरवालों को अपनी लोकेशन बता दी।


कांग्रेस नेता कुलदीप-रेणुका को नोटिस

साहब राम


नई दिल्ली। हरियाणा के कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई और उनकी पत्नी रेणुका बिश्नोई को स्विट्जरलैंड सरकार ने नोटिस जारी किया है। यह नोटिस भारतीय अधिकारियों द्वारा इन दोनों के स्विस बैंक खातों और अन्य वित्तीय संपत्तियों की जानकारी मांगे जाने के अनुरोध किया गया है।


स्विट्जरलैंड के गजट में सात जुलाई को प्रकाशित दो अलग-अलग नोटिस के अनुसार दस दिन के भीतर बिश्नोई दंपत्ति को खातों की पूरी जानकारी देनी होगी। ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड्स स्थित दो कंपनियों ग्रैंड मेसन लिमिटेड और होलीपोर्ट लिमिटेड के लिए भी इसी तरह के नोटिस जारी किए गए हैं। इन दोनों कंपनियों का संबंध भी बिश्नोई परिवार से होने का संदेह है। दोनों कंपनियों को 19 जुलाई, 1996 को एक साथ गठित किया गया था। इनका नाम ‘पनामा पेपर्स’ में भी आया था।


बताया जा रहा है कि आधिकारिक रिकॉर्ड के मुताबिक अगस्त 2014 से निष्क्रिय रहने के बाद अप्रैल 2016 में दोनों कंपनियों को कंपनी रजिस्ट्री से हटा दिया था। इस मामले में कुलदीप बिश्नोई की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई थी। नोटिस में बिश्नोई, उनकी पत्नी और दोनों फर्मो को अपील के अधिकार का प्रयोग करने के लिए 10 दिन के भीतर एक प्रतिनिधि नियुक्त करने को कहा गया है।               


पाकिस्तानी गोलाबारी में सैनिक शहीद

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास शुक्रवार को पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी में सेना का एक जवान शहीद हो गया। रक्षा विभाग के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने बिना किसी उकसावे के एक बार फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन कर आज सुबह राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की।


उन्होंने बताया कि भारतीय सैनिकों ने भी पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी का माकूल जवाब दिया। गोलीबारी में हवलदार सम्बुर गुरुंग गंभीर रूप से घायल हो गये। जिनकी कुछ समय बाद मृत्यु हो गई। उन्होंने कहा कि हवलदार सम्बुर गुरुंग एक बहादुर, अति उत्साही तथा ईमानदार सैनिक थे। देश उनके सर्वोच्च बलिदान और कर्तव्य के प्रति समर्पण को हमेशा याद रखेगा तथा उनका कृतज्ञ रहेगा।

25000 का इनामी, शातिर किया गिरफ्तार

थाना बडौत पुलिस व एसटीएफ मेरठ द्वारा बाद मुठभेड 25 हजार रूपये का ईनामी/टाॅप-10 शातिर अपराधी ‘‘राहुल‘‘ घायल/गिरफ्तार, कब्जे से अवैध तमंचा मय कारतूस व एक मो0सा0 बरामद
गोपीचंद सैनी


बागपत। थाना बड़ौत अंतर्गत 9 जुलाई रात्रि मुखबिर की सूचना पर चौकी मंडी से बिनौली रोड पर टयूबैल के पास बदमाश से हुई पुलिस मुठभेड में जबावी पुलिस कार्यवाही के दौरान 25 हजार रूपये का ईनामी/टाॅप-10 शातिर अपराधी राहुल पुत्र रामकुमार निवासी ग्राम सिसौली थाना भोराकलां जनपद मुजफ्फरनगर को गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वारा की गई आत्मरक्षार्थ फायरिंग में गोली लगने से राहुल घायल हो गया। जिसे उपचार हेतु अस्पताल में भर्ती कराया गया। घायल/गिरफ्तार अभियुक्त के कब्जे से एक तमंचा 315 बोर मय 01 खोखा व 02 जिंदा कारतूस व एक मोटरसाईकिल होण्डा हंक बरामद हुई। अभियुक्त राहुल शातिर किस्म का अपराधी है तथा जनपद बागपत की टाॅप-10 सूची का अपराधी है। अभियुक्त राहूल पर जनपद बागपत के थाना बडौत के मु0अ0सं0 382/19 धारा 302, 394 भादवि मेें जनपद बागपत से 25 हजार रूपये का ईनाम धोषित था। अभियुक्त राहूल के विरूद्व जनपद बागपत व मुजफ्फरनगर पर हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, गैंगस्टर आदि के करीब एक दर्जन मुकदमें पंजीकृत है।              


तुगलकी फरमान के खिलाफ दिया 'गुलाब'

हल्द्वानी। श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के बैनर तले आज हल्द्वानी मीडिया सेन्टर में पत्रकारों के बैठने पर प्रतिबंध लगाए जाने को लेकर  यूनियन के सभी सदस्यों द्वारा मीडिया सेंटर के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान देते हुए शांत तरीके से धरना प्रदर्शन कर विरोध दर्ज कराया गया, विरोध के बाद सूचना विभाग के अधिकारियों को गुलाब देकर तुगलकी फरमान वापस लेने की मांग की गई। इस कार्यक्रम में  प्रदेश उपाध्यक्ष कमल जगाती, प्रदेश सचिव गौरव गुप्ता, जिला महामंत्री भूपेंद्र रावत, जिला उपाध्यक्ष तारा जोशी, महानगर अध्यक्ष सर्वेन्द्र बिष्ट, महामंत्री योगेश शर्मा, सचिव हर्ष रावत, भुपेन्द्र गुप्ता, उवैस सिद्दीकी, अंकित शाह , खालिद खान, डॉ एएन तिवारी , सुमित जोशी, विनोद कांडपाल , गिरीश भट्ट, शैलेंद्र कुमार सिंह, हेमंत रावत, दीवान बिष्ट, जफर अंसारी, अवनीश चौधरी, पंकज पांडे, मुकेश कुमार, शेर अफगान आदि पत्रकार मौजूद रहे।               


संरक्षण कर्ताओं को रखा गया सुरक्षित

नई दिल्ली(यूए)। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने गैंगस्टर विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद शुक्रवार को प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा और सवाल किया कि अपराधी का तो अंत हो गया लेकिन उसके अपराध को संरक्षण देने वालों का क्या हो रहा है।


वाड्रा ने ट्वीट किया “अपराधी का अंत हो गया, अपराध और उसको सरंक्षण देने वाले लोगों का क्या।” कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा “विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया। कई लोगों ने पहले ही ये आशंका जताई थी पर अनेकों सवाल छूट गए।” उन्होंने इस संबंध में सरकार से पूछा “अगर उसे भागना ही था, तो उज्जैन में सरेंडर ही क्यों किया। उस अपराधी के पास क्या राज थे जो सत्ता-शासन से गठजोड़ को उजागर करते। पिछले 10 दिनों की कॉल डिटेल्ज़ जारी क्यों नहीं।”

गौरतलब है कि आठ पुलिसकर्मियों के हत्यारे पांच लाख रुपये के इनामी विकास को उज्जैन से कानपुर ला रही एसटीएफ की गाड़ी पलट गई और उसने पुलिस का हथियार छीकर भागने की कोशिश की जिसके बाद उसे मुठभेड़ में मार दिया गया।


एससी की निगरानी में हो एनकाउंटर जांच

नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने उत्तरप्रदेश के कानपुर कांड की जांच उच्चतम न्यायालय की निगरानी में कराने की मांग करते हुए कहा है कि इससे शहीद पुलिस कर्मियों को न्याय मिल सकेगा। मायावती ने शुक्रवार को एक ट्वीट श्रृंखला में कहा कि पुलिस और आपराधिक और राजनीतिक गठजोड़ की भी जांच की जानी चाहिए।


बसपा नेता ने कहा, ” कानपुर पुलिस हत्याकाण्ड की तथा साथ ही इसके मुख्य आरोपी दुर्दान्त विकास दुबे को मध्यप्रदेश से कानपुर लाते समय आज पुलिस की गाड़ी के पलटने व उसके भागने पर यूपी पुलिस द्वारा उसे मार गिराए जाने आदि के समस्त मामलों की माननीय सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। ”


मायावती ने कहा , ” यह उच्च-स्तरीय जांच इसलिए भी जरूरी है ताकि कानपुर नरसंहार में शहीद हुए आठ पुलिसकर्मियों के परिवार को सही इंसाफ मिल सके। साथ ही, पुलिस तथा आपराधिक राजनीतिक तत्वों के गठजोड़ की भी सही शिनाख्त करके उन्हें भी सख्त सजा दिलाई जा सके। ऐसे कदमों से ही यूपी अपराध-मुक्त हो सकता है।”               


खजुराहो-इंदौर एक्सप्रेस का हुआ विस्तार

खुजराहो-इंदौर एक्सप्रेस का हुआ विस्तार प्रयागराज तक जाएगी,जारी हुआ टाइम टेबल
 बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। रेल प्रशासन द्वारा सूचित किया जाता है की गाडी सं 19663/64 खजुराहो-इंदौर एक्सप्रेस (सप्ताह में 04 दिन) का विस्तार प्रयागराज तक कर दिया गया है, साथ ही साथ गाडी का नंबर भी बदलकर 14116/14115 प्रयागराज-डॉ. आंबेडकर नगर कर दिया गया है I गाडी सं 14116 प्रयागराज- डॉ. आंबेडकर नगर एक्सप्रेस सप्ताह में 04 दिन मंगल, शुक्र, शनि और रविवार) का प्रस्थान समय प्रयागराज से 15:20 बजे रहेगा, झाँसी मंडल के चित्रकूट स्टेशन पर इसका समय 17:43-17:45 बजे, बांदा स्टेशन पर इसका समय 18:55-19:00 बजे, महोबा स्टेशन पर इसका समय 19:48-19:50 बजे, खजुराहो स्टेशन पर इसका समय 21:00-21:20 बजे, छतरपुर स्टेशन पर इसका समय 21:53-21:53 बजे, खरगापुर स्टेशन पर इसका समय 22:36-22:38 बजे, टीकमगढ़ स्टेशन पर इसका समय 23:22-23:24 बजे, ललितपुर स्टेशन पर समय 00:48-00:50 बजे पहुचकर बीना, उज्जैन, इंदौर होते हुए अगले दिन सुबह 09:45 बजे डॉ. आंबेडकर नगर पहुंचेगी I
वापसी में डॉ. आंबेडकर नगर से गाडी सं 14115 का प्रस्थान(सोम, बुध, शनि, रविवार को) समय 11:15 बजे होगा, झाँसी मंडल के ललितपुर स्टेशन पर इसका समय 19:40-19:42 बजे, टीकमगढ़ स्टेशन पर इसका समय 20:33-20:35 बजे, खरगापुर स्टेशन पर इसका समय 21:21-21:23 बजे, छतरपुर स्टेशन पर इसका समय 22:02-22:04, खजुराहो स्टेशन पर इसका समय 22:55-23:00 बजे, महोबा स्टेशन पर इसका समय 00:13-00:15 बजे, बांदा स्टेशन पर इसका समय 01:30-01:35 बजे, चित्रकूट स्टेशन पर इसका समय 02:23-02:25 बजे रहेगा I अगले दिन यह गाडी प्रातः 06:00 बजे इंदौर, उज्जैन, बीना होते हुए प्रयागराज पहुंचेगी I
उक्त गाडी का प्रारंभ, सभी ट्रेनों के सामान्य संचालन प्रारंभ होने पर किया जायेगा I               


भाजपा अध्यक्ष को लेकर पीएम से मीटिंग

राणा ओबराय
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेशाध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर आज दिल्ली में नरेंद्र मोदी से करी मुलाकात
चंडीगढ़/नई दिल्ली। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज सुबह ही दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। बताया जा रहा है कि सीएम की यह मुलाकात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को लेकर हुई है। यहां पर पीएम मोदी के साथ करीब एक घंटे तक मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल सीधे रोहतक के लिए रवाना हो गए।आपको बता दें कि कल हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल दिल्ली पहुंचे थे। यहां पर उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी। वहीं प्रदेश में अध्यक्ष को लेकर अब लगभग नाम तय हो चुका है। अब राष्ट्रीय अध्यक्ष के बाद प्रधानमंत्री मोदी से भी विचार विमर्श किया गया है।            


नशा विरोधी अभियान में विभागीय साझा

नशा विरोधी अभियान में जिला रैड क्रास सोसायटी के सेमीनार में पुलिस एवं रोडवेज कर्मचारियों ने भाग लिया।


रतन सिंह चौहान
होडल पलवल। अंतराष्ट्रीय नशा विरोधी दिवस पखवाड़ा अभियान हरियाणा राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी के सहयोग से मनाया गया है। जिसमे मेडिकल, पैरामेडिकल, नेहरू युवा केंद्र, स्काउट्स एवं गाइड पुलिस कर्मियों के सहयोग आयोजन  किया ग‌या है।  नरेश कुमार, उपायुक्त एवं अध्यक्ष, एवं श्री  वाजिद अली, सचिव, जिला रैड क्रॉस सोसाइटी, पलवल के मार्गदर्शन में बस अड्डा, पलवल में  किया गया।  इस सेमीनार में 40 पुलिस कर्मी बस अड्डा पुलिस चौकी तथा  हरियाणा रोडवेज के चालक एवं परिचालकों ने हिस्सा लिया।  सर्वप्रथम श्री महेश मलिक, जिला प्रशिक्षण अधिकारी, रैड क्रॉस सोसाइटी, पलवल ने कोविड-19 संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए सभी से अनुरोध किया कि हम जागरूक रहेंगे तो सुरक्षित रहेंगे। इसके लिये जरूरी है कि हमें मास्क लगाना चाहिए, शारीरिक दूरी बनानी चाहिए और हाथों को साबुन-पानी से 69 सेकंड तक धोना चाहिए।
 S -सीधा, U-उल्टा, M-मुठ्ठी, A-अंगूठा, N-नाखून तथा K-कलाई विधि से संक्रमण रहित करने उपरांत ही चेहरे तक हाथ पहुँचने चाहिए। उसके अलावा उन्होंने बताया कि हमें जंक फ़ूड से बचना है और विटामिन सी वाले फल ऑरेंज, नींबू का सेवन करना चाहिए। 


डॉक्टर प्रशांत गुप्ता ने नशीले पदार्थों के सेवन लत पड़ने के कारण  बताये कि जो माता-पिता दोनों ही वर्किंग होने के कारण अपने बच्चों को समय नहीं देते, जो युवा दोस्तों के प्रभाव में आकर नशीली दवाओं का सेवन करते हैं, कुछ लोग बोरियत, अनिंद्रा, गुस्से से बचने के लिए इसका सेवन करते हैं या कुछ लोग दुख दर्द, जीवन की समस्याओं से पलायन करने के लिए नशीली दवाओं का सेवन करना आरम्भ कर देते हैं और आगे चलकर ये लत लग जाती है।  


इस अवसर पर डॉक्टर मुकेश ने सभी उपस्तिथ प्रतिभागियों को नशीली दवाओं के सेवन से बचने के लिए जागरूक किया। उन्होंने बताया कि  नशीले पदार्थों का सेवन किसी भी परिवार, व्यक्ति विशेष, समाज को दीमक की तरह नष्ट कर देता है। नशा, नशीली दवाओं का सेवन करने वाले व्यक्ति, परिवार, समाज  की सामाजिक, संसारिक, आर्थिक हालत को नष्ट कर देता है। हमें चाहिए कि हम स्वयं भी तथा आने वाली पीढ़ी को नशा तथा नशीले पदार्थो के सेवन से दूर रहने के लिए जागरूक करें। इस अवसर पर श्रीमती मीनाक्षी शर्मा परियोजना मैनेजर, टी0आई0 प्रोजेक्ट ने सभी पुलिस कर्मियों तथा चालक, परिचालकों को मास्क वितरित किये और पुलिस विभाग तथा हरियाणा रोडवेज के अधिकारियो का धन्यवाद किया। इस अवसर पर  श्री भोजपाल सहरावत, लेखाकार, टी0आई0 परियोजना, पलवल ने सभी को नशा, नशीले पदार्थों के सेवन से परहेज करने के लिए शपथ दिलाई। इस सेमीनार के आयोजन में श्री कुलबीर देशवाल,  आशीष कुमार का अहम योगदान रहा।              


संस्था-विभाग ने प्रशासन को सौंपी किटस

यारा फर्टिलाइजर्स इंडिया प्राईवेट लिमिटेड व श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय एवं कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अधिकारियों ने प्रशासन को सौंपे पी.पी.ई. किट्स व फेस मास्क 


रतन सिंह चौहान
होडल पलवल । यारा फर्टिलाइजर्स इंडिया प्राईवेट लिमिटेड के प्रतिनिधि धर्मेन्द्र उपाध्याय व श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय दुधौला के डिप्टी रजिस्ट्रार ललित कुमार शर्मा एवं कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उपमंडल कृषि अधिकारी कुलदीप तेवतिया ने गुरूवार को नगराधीश जितेन्द्र कुमार से वैश्विक महाकारी कोविड-19 के चलते पी.पी.ई. किट्स व मास्क वितरण के लिए मुलाकात की।
यारा फर्टिलाइजर्स इंडिया प्राईवेट लिमिटेड के प्रतिनिधि धर्मेन्द्र उपाध्याय ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में सहयोग देते हुए नगराधीश को 25 पी.पी.ई. किट सौपी। श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के डिप्टी रजिस्ट्रार ललित कुमार शर्मा ने सुरक्षा कवच अभियान के तहत 1 हजार 500 मास्क भी नगराधीश को सौपे।
नगराधीश जितेंद्र कुमार ने बताया कि कोरोना से जंग लड रहे यौद्धा भी तेजी से संक्रमित हो रहे है। ऐसी स्थिति में उनकी सुरक्षा के लिए यारा फर्टिलाइजर इंडिया प्राईवेट लिमिटेड एवं श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय ने जिला प्रशासन की सहायता करने में अपना योगदान दिया है। उन्होंने बताया कि यह पी.पी.ई. किट्स व मास्क जरुरतमंदो तक पहुंचाए जाएंगे ताकि कोविड-19 से लडने में रोकथाम की जा सके। नगराधीश ने इस कार्य के लिए सभी अधिकारियो का आभार व्यक्त किया।              


'युवा सेवा संगठन' ने चलाया अभियान

ग्रामीण युवा सेवा संगठन बंचारी ने चलाया स्वच्छता अभियान, खेल के मैदान को किया समतल।


रतन सिंह चौहान
होडल। बंचारी गांव के युवाओं के द्वारा गांव में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए एक अभियान चलाया गया। अभियान की शुरुआत युवाओं ने सरकारी स्कूल के मैदान से की। संगठन के कार्यकर्ता सरकार के सहयोग के बिना स्वयं अपने समर्थकों से अर्थ व्यवस्था अर्जित करते हुए सामाजिक कार्यों को पूरा करते हैं। संगठन को गांव के शिक्षाविद, सरकारी गैर-सरकारी कर्मचारियों से लेकर आम युवाओं का पूरा सहयोग मिलता है।
गांव के अध्यापक सुनील सौरोत ने गांव के युवाओं, छात्रों सरकारी, गैर सरकारी , बुद्धिजीवी , खिलाड़ियों और शिक्षा से जुड़े लोगों को एकजुट कर युवा सेवा संघठन का गठन किया और उन्हें गांव के विकास और स्वच्छ समाज के लिए कार्य करने को प्रेरित किया। युवाओं ने अध्यापक सुनील कुमार को आश्वस्त किया कि गांव के विकास  में गांव के लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए पूरी तरह तैयार है। संगठन ने स्कूल के मैदान में उग रहे जंगली झाड़ियों को ट्रेक्टर से साफ सफाई कर मैदान को समतल कर दिया है।
संगठन के कार्यकर्ताओं ने पूरे मैदान को समतल कर खंडित पड़े चबूतरे पर इंटरला‌‌किंग टाईल बिछाने का काम किया है। इसके अलावा संघठन ने गांव के युवा खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए एक बाॅलीबाल टीम का गठन किया है जो निरंतर अभ्यास कर ग्रामीण खेलकूद प्रतियोगिताओं में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। संगठन के संयोजक मा. सुनील ने बताया कि उनके गांव के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्तर पर खेल में अपना परचम लहराया है। इस अवसर पर फोरमैन राकेश कुमार, सुंदर सिंह, मा पूरन, उदयवीर, मा. राहुल, धर्मेंद्र पुलिसिया, सनेश फौजी, विनोद मिस्त्री, सुखबीर सुरक्षा बल, मा. नरेश, डॉ महेंद्र, गोपाल सिंह व प्रताप आदि अनेक ग्रामीण मौजूद थे।           


नीतीश के गृह जिले की खुली पोल

पटना। ठीक पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सरकार के खिलाफ लगातार हमलावर हो रहे हैं। तेजस्वी ने पिछले 24 घंटे के दौरान वीडियो के साथ दो ट्वीट भी किया है। इसमें पहला वीडियो पटना के  NMCH में दिख रही लापरवाही का है तो दूसरा वीडियो खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा से जुड़ा है, जिसमें कु्छ लोग एक गर्भवती महिला को खटिया पर लेकर हॉस्पिटल जा रहे हैं। 

इस विडियों को पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्विटर पर tweet करते हुए लिखा है कि 15 वर्षो के कथित विकास के साक्षात कहानी सुनिए और देखिए। गर्भवती महिला को एंबुलेंस और सड़क व्यवस्था नहीं होने के कारण खटिया पर  हॉस्पिटल ले जाया जा रहा है। यह video 15 वर्षीय  मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार जी के गृह जिला नालंदा का है। जहां 15 वर्षों से इनके विधायक और सांसद है, विज्ञापन सरकार अब कुछ कहे।              

आयु का नियम, शक्ति से लागू नहीं होगा

-दो-चार साल ऊपर होने पर भी मिल सकती है अहम जिम्मेदारी
-रायशुमारी का काम पूरा, पर्यवेक्षकों ने सोंपी प्रदेश नेतृत्व को सूची

हीरेन्द्र सिंह राठौड़


नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश भारतीय जनता पार्टी में मंडल, जिलों और प्रदेश संगठन के गठन का दौर जारी है। इस दौरान पार्टी में मंडल व जिला अध्यक्षों के लिए आयु सीमा तय होने की वजह से परेशान लोगों के लिए अच्छी खबर है। पार्टी मंडल व जिला अध्यक्षों के मामले में आयु सीमा के नियम को ज्यादा सख्ती से लागू नहीं करेगी। दो-चार साल ऊपर-नीचे वालों को पार्टी में अहम जिम्मेदारियां सोंपी जा सकती है।


बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने एटूजैड न्यूज को बताया कि आयु सीमा को लेकर पार्टी नेतृत्व का उद्देश्य बीजेपी में ज्यादा से ज्यादा युवाओं को नेतृत्व में भागीदारी देने का है। यदि कोई व्यक्ति आयु के मामले में थोड़ा-बहुत ऊपर-नीचे भी है तो भी मजबूत और काम करने वाले नेताओं को जिम्मेदारी दी जाएगी। पार्टी के नता मिल-बैठकर तय करेंगे कि किसको क्या जिम्मेदारी दी जा सकती है।


बता दें कि प्रदेश बीजेपी के कोर ग्रुप की बैठक में फैसला किया गया था कि मंडल अध्यक्ष के लिए 45 साल और जिला अध्यक्ष के लिए 55 साल की उम्र वाले व्यक्तियों के नामों पर ही विचार किया जाएगा। लेकिन अब पार्टी नेताओं के सुझावों के आने के बाद प्रदेश नेतृत्व इस मामले में कुछ ढील देने पर विचार कर रहा है। सूत्रों का कहना है कि इस उम्र के मामले में ज्यादा छूट नहीं दी जाएगी। ताकि संगठन में ज्यादा से ज्यादा सक्रियता बनी रहे।
खुद को रिटायर समझ रहे ज्यादा उम्र वाले
दिल्ली बीजेपी में मंडल व जिला अध्यक्षों के लिए आयु सीमा निर्धारित किए जाने के बाद पार्टी में ज्यादा उम्र वाले नेता खुद को रिटायर मानने लगे थे। पार्टी के जूनियर कार्यकर्ताओं ने भी अपने सीनियर कार्यकर्ताओं को पूछना बंद कर दिया है। बताया जा रहा है कि जूनियर कार्यकर्ताओं के मन में यह बात आ गई है कि जो व्यक्ति उम्र ज्यादा होने की वजह से पार्टी में खुद कुछ नहीं बन सकता, वह उन्हें क्या बनवा सकता है? ऐसे में दिल्ली बीजेपी में वर्षों से काम में जुटे नेता अपने आप को अलग थलग मानने लगे हैं।
गुटबाजी में भी निकल जाता समय
हर राजनीतिक संगठन की तरह दिल्ली बीजेपी में कई गुट हैं। एक गुट के वरिष्ठ नेता को बड़ी जिम्मेदारी में कई बार कई साल लग जाते हैं। ऐसे में पार्टी में यह चर्चा भी शुरू हो गई है कि एक गुट के हावी होने के बाद दूसरे गुट के नेताओं को पार्टी-संगठन में स्थान नहीं मिल पाएगा। दिल्ली बीजेपी के एक पदाधिकारी ने कहा कि राजनीतिक दलों में उम्र की सीमा तय करना गलत है। यदि उम्र सीमा ही तय करनी है तो वह सभी के लिए होनी चाहिए। फिर चाहे वह सांसद हो, विधायक हो या फिर राष्ट्रीय संगठन हो अथवा प्रदेश का संगठन।
पूरे संगठन की आयु सीमा तय होने का संदेश
प्रदेश बीजेपी में पूरे संगठन की आयु सीमा तय होने का संदेश गया है। मंडलों में चर्चा है कि जब मंडल अध्यक्ष ही 45 साल का होगा तो उसके साथ 45 से कम आयु वालों को ही रखा जाना तय है। लेकिन इसका असर मंडल के दूसरे लोगों पर पड़ना भी तय है। इसी तरह जिलों में जब अध्यक्ष की उम्र ही 55 साल तय होगी तो बाकी पदाधिकारियों और सदस्यों का इससे कम आयु का रखना भी तय माना जा रहा है। इससे बहुत से नेता अपने आपको अलग थलग पा रहे हैं।
कई मंडलों में नहीं मिल पाए ढंग के नाम!
दिल्ली बीजेपी में चर्चा है कि रायशुमारी के दौरान कई मंडलों में तो 45 साल की आयु सीमा तय किये जाने की वजह से ढंग के नाम ही नहीं मिल पाए। ऐसे मंडलों में वर्तमान अध्यक्षों को ही रिपीट किए जाने की बात कही गई है। वहीं कुछ मंडलों में 50 से 55 साल तक के लोगों के नाम भी सुझाए गए हैं। ऐसे में पार्टी नेतृत्व का आयु सीमा के मामले ढिलाई बरते जाने की पूरी संभावना है।             


एशिया के बड़े सोलर प्लांट का उद्घाटन

रीवा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को मध्यप्रदेश के रीवा स्थित एशिया के सबसे बड़े सौर प्लांट का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए इसकी शुरुआत की। राज्य में दोबारा शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में बनी भाजपा सरकार में प्रधानमंत्री मोदी पहली बार किसी बड़ी योजना की शुरुआत कर रहे हैं। मध्यप्रदेश के रीवा में 750 मेगावाट की सौर ऊर्जा परियोजना शुरू की जा रही है। इसके बारे में प्रधानमंत्री मोदी ने खुद जानकारी दी थी। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, '10 जुलाई को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मध्यप्रदेश के रीवा में बने 750 मेगावाट की सौर परियोजना का उद्घाटन करूंगा। यह सौर परियोजना 2022 तक नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता बढ़ाने की हमारी प्रतिबद्धता को गति प्रदान करती है।' रीवा की इस परियोजना में 250-250 मेगावाट की तीन सौर उत्पादन इकाइयां शामिल हैं। इससे लगभग 15 लाख टन कार्बन डाइऑक्साइड के बराबर कार्बन उत्सर्जन की संभावना है।            

 

26506 संक्रमित, आंकड़ा 8 लाख पार

नई दिल्ली। देश में तेजी से फैल रहा कोरोना अब भयावह आंकड़ों की ओर बढ़ चला है, देश में इस समय कोरोना संक्रमितों की संख्या लगभग आठ लाख के करीब पहुंच चुकी है, यही नहीं बीते 24 घंटों में सबसे बड़ी रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज की गई है, पिछले 24 घंटों में 26506 नए मरीज मिले हैं, यदि स्थिति यही रही, तो भारत संक्रमितों के मामले में नंबर-1 पर पहुंच जाएगा, इसलिए केंद्र और राज्य सरकारों को अभी सख्त लॉकडाउन लागू करने की जरूरत है, वरना आगे स्थिति भयावह हो सकती है | केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 26 हजार 506 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 475 लोगों की मौत हुई है, यह अब तक एक दिन में सबसे अधिक आंकड़ा है, इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 7 लाख 93 हजार 802 हो गई है, जिनमें से 2 लाख 76 हजार 685 सक्रिय मामले हैं, इस महामारी से 4 लाख 95 हजार 513 लोग ठीक हो चुके हैं. देश में अब तक 21 हजार 604 लोगों की मौत हो चुकी है |                


'अमरनाथ यात्रा' पर रोक के लिए याचिका


  • अमरनाथ यात्रा शुरू होने से कोरोना वायरस फैलने का खतरा

  • श्रद्धालुओं के लिए लाइव दर्शन के इंतजाम करने की मांग

  • अमरनाथ बर्फानी लंगर संगठन ने SC में लगाई है याचिका


नई दिल्ली। कोरोना संकटकाल में इस साल होने वाली अमरनाथ यात्रा पर रोक लगाने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। याचिका अमरनाथ बर्फानी लंगर संगठन ने दायर की है, जिसमें कहा गया है कि अमरनाथ यात्रा में सालाना 10 लाख से ज्यादा भक्त आते हैं। इतनी संख्या में लोगों के आने से कोरोना फैलने का खतरा बना रहेगा।


याचिका में मांग की गई कि अमरनाथ यात्रा पर रोक लगाने के साथ ही सरकार इंटरनेट और टीवी चैनलों के जरिए अमरनाथ गुफा में बाबा बर्फानी के लाइव दर्शन का इंतजाम कराए, ताकि कोरोना काल में भी करोड़ों भक्त बाबा बर्फानी के दर्शन कर सकें।


अमरनाथ बर्फानी लंगर संगठन ने याचिका में कहा कि अमरनाथ यात्रा पर रोक लगाना श्रद्धालुओं के हित में भी है। याचिका में सलाह दी गई कि मौजूदा हालात को देखते हुए श्रद्धालुओं और प्रशासन दोनों के लिए अमरनाथ यात्रा शुरू करना सही नहीं है।


अमरनाथ यात्रा के दौरान पुलिस, सुरक्षा बल, श्रमिकों, घोड़े वालों, सामान ढोने वालों और दुकानदारों का एक जगह इकट्ठा होना कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर सही नहीं होगा। इसीलिए अमरनाथ यात्रा इस बार आयोजित ही नहीं होनी चाहिए।


आपको बता दें कि अमरनाथ यात्रा शुरू करने को लेकर जोरशोर से तैयारियां चल रही हैं। इसके मद्देनजर सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए जा रहे हैं। इस बार सिर्फ बालटाल रूट से अमरनाथ यात्रा कराने की योजना बनाई जा रही है। हेलीकॉप्टर से यात्रा पर भी विचार किया जा रहा है, लेकिन अब तक इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है।


इनके साथ क्या रवैया अपनाएगी सरकार

अनिल मिश्रा


लखनऊ। राजनीति और अपराध जगत का आत्मीय संबंध भी सुर्खियों में आ जाता है। उत्तर प्रदेश की सियासी जमीन पर कई ऐसे नेता उपजे हैं। जिन्होंने इस सूबे की राजनीति को प्रभावित किया है। ऐसे ही यूपी का पूर्वांचल ऐसे ही प्रभावी नेताओं का गढ़ माना जाता है । अपराधियों को नेताओं का समर्थन हो या नेताओं की अपराधियों को कानून के शिकंजे से बचाने की कोशिश, आखिर दलों पर अपराधियों का ये कैसा असर है। छह दशक के भारतीय लोकतंत्र में अपराधी इतने महत्वपूर्ण हो गए हैं कि कोई भी राजनीतिक दल उन्हें नज़रअंदाज़ नहीं कर पा रहा। पार्टियां उन्हें नहीं चुनती बल्कि वे चुनते हैं कि उन्हें किस पार्टी से लड़ना है। उनके इसी बल को देखकर उन्हें बाहुबली का नाम मिला है


अतीक अहमद देश की सियासत में कई ऐसे नेता हैं जिन्होंने जुर्म की दुनिया से निकलकर राजनीति की गलियों में कदम रखा और वे राजनीति में आकर भी अपनी माफिया वाली छवि से बाहर नहीं निकल पाए। उनके कारनामों ने हमेशा उन लोगों को सुर्खियों में बनाए रखा। यूपी की सियासत का एक ऐसा ही नाम है अतीक अहमद। इलाहाबाद के रहने वाले अतीक अहमद को एक खतरनाक बाहुबली नेता के तौर पर जाने जाते हैं। अतीक अहमद फूलपुर से सांसद रह चुके हैं। इस लोकसभा सीट से कभी देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू सांसद चुने गए थे। अतीक के 2014 के चुनाव में अपने हलफनामे के अनुसार उनके खिलाफ 42 मामले लंबित हैं। जिसमें हत्या की कोशिश, 6 अपहरण, 4 हत्या का आरोप हैं। इसमें सबसे सनसनीखेज मामला बसपा विधायक राजू पाल का है।


राजनीति में पहला कदम अपराध की दुनिया में नाम कमा चुके अतीक अहमद को समझ आ चुका था कि सत्ता की ताकत कितनी अहम होती है। इसके बाद अतीक ने राजनीति का रुख कर लिया। वर्ष 1989 में पहली बार इलाहाबाद (पश्चिमी) विधानसभा सीट से विधायक बने अतीक अहमद ने 1991 और 1993 का चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़ा और विधायक भी बने। 1996 में इसी सीट पर अतीक को समाजवादी पार्टी ने टिकट दिया और वह फिर से विधायक चुने गए।


बसपा विधायक राजू पाल की हत्या का आरोप 2004 के आम चुनाव में फूलपुर से सपा के टिकट पर अतीक अहमद सांसद बन गए थे। इसके बाद इलाहाबाद पश्चिम विधानसभा सीट खाली हो गई थी। इस सीट पर उपचुनाव हुआ। सपा ने अतीक के छोटे भाई अशरफ को टिकट दिया था। मगर बसपा ने उसके सामने राजू पाल को खड़ा किया और राजू ने अशरफ को हरा दिया। उपचुनाव में जीत दर्ज कर पहली बार विधायक बने राजू पाल की कुछ महीने बाद 25 जनवरी, 2005 को दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में सीधे तौर पर सांसद अतीक अहमद और उनके भाई अशरफ को आरोपी बनाया गया था।


मुख्तार अंसारी पूर्वांचल से यू तो कई नेता आए लेकिन एक ऐसा भी नेता इस क्षेत्र से आया जो अपराध की दुनिया से राजनीति में आकर पूर्वांचल का रॉबिनहुड बन गया। उस बाहुबली नेता का नाम है मुख्तार अंसारी। प्रदेश के माफिया नेताओं में मुख्तार अंसारी का नाम पहले पायदान पर माना जाता है। मुख्तार अंसारी भी पूर्वांचल में बाहुबली नेता के तौर पर जाने जाते हैं। मऊ विधानसभा क्षेत्र में एक रिकॉर्ड चार बार से विधानसभा के एक सदस्य के रूप में निर्वाचित हो रहे हैं। उनके ऊपर बीजेपी के बाहुबली नेता कृष्णानंद राय की हत्या करवाने का आरोप है। हालांकि इस मामले में दोष सिद्ध नहीं हो सका है। कभी माफिया बृजेश सिंह और मुख्तार अंसारी के बीच शुरू हुई दुश्मनी से पूर्वांचल की धरती लाल हो गई थी। हालांकि दोनों गुटों के बीच हुए एक मुठभेड़ में बृजेश सिंह की मौत की खबर आई। लेकिन कई सालों के बाद बृजेश सिंह को नाटकीय अंदाज में जिंदा पकड़ लिया गया। अंसारी का कब्जा अब ठेकेदारी, खनन, स्क्रैप, शराब, रेलवे ठेकेदारी में है। जिसके दम उसने बहुत बड़ा व्यवसाय खड़ा कर लिया है। अब वह पूरी तरह राजनीति में सक्रिय है। 2014 के लोकसभा चुनाव में उसकी हर चाल ने प्रधानमंत्री पद के दावेदार नरेंद्र मोदी और और पूरी टीम को परेशान करके रख दिया था।


अपराध की दुनिया में कदम1988 में पहली बार हत्या के एक मामले में उनका नाम आया था। हालांकि उनके खिलाफ कोई पुख्ता सबूत पुलिस नहीं जुटा पाई थी। लेकिन इस बात को लेकर वह चर्चाओं में आ गए थे। 1990 का दशक मुख्तार अंसारी के लिए बड़ा अहम था। छात्र राजनीति के बाद जमीनी कारोबार और ठेकों की वजह से वह अपराध की दुनिया में कदम रख चुके थे। पूर्वांचल के मऊ, गाजीपुर, वाराणसी और जौनपुर में उनके नाम का सिक्का चलने लगा था।


राजनीति में पहला कदम और गैंगवार1995 में मुख्तार अंसारी ने राजनीति की मुख्यधारा में कदम रखा। 1996 में मुख्तार अंसारी पहली बार विधान सभा के लिए चुने गए। उसके बाद से ही उन्होंने ब्रजेश सिंह की सत्ता को हिलाना शुरू कर दिया। 2002 आते आते इन दोनों के गैंग ही पूर्वांचल के सबसे बड़े गिरोह बन गए। इसी दौरान एक दिन ब्रजेश सिंह ने मुख्तार अंसारी के काफिले पर हमला कराया। दोनों तरफ से गोलीबारी हुई इस हमले में मुख्तार के तीन लोग मारे गए। ब्रजेश सिंह इस हमले में घायल हो गया था. उसके मारे जाने की अफवाह थी। इसके बाद बाहुबली मुख्तार अंसारी पूर्वांचल में अकेले गैंग लीडर बनकर उभरे. मुख्तार चौथी बार विधायक हैं।


उत्तरप्रदेश की योगी सरकार क्या अब इन अपराधियो के साथ भी विकास दुबे जैसा व्यवहार करेगी।क्या इन बड़े माफियाओं की संपत्ति को भी जप्त या नष्ट करने का कार्य होगा।आम जनता को योगी सरकार से काफी अपेक्षा है।अपराध जगत से संलिप्त माफियाओं का सफाया होना ही चाहिए।ये अपराधी राजनीति में आकर अपने आपको सुरक्षित करना चाहते है।ऐसे अपराधियो का राजनीति में आना पूरी तरह से बंद होना चाहिए। इस विषय पर देश के सभी राजनितिक दलो को मनन करना चाहिए।जब तक अतीक अहमद और अंसारी जैसे अपराधियो को राजनीति में आना बंद नही होगा तब तक हम स्वस्थ समाज के साथ स्वस्थ राजनीती की अपेक्षा नही रख सकते है। अब इनके जैसे सभी अपराधियो के साथ विकास दुबे जैसा ही रवैया अपनाने का समय है।तब ही ये गंदगी दूर होगी।           


कार नहीं पलटती तो सरकार पलट जाती

अकाशुं उपाध्याय


कानपुर। विकास दुबे के एनकाउंटर के यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर पुलिस और सरकार की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाया है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने अपने ट्वीट में उस वाहन के दुर्घटनाग्रस्त होने पर सवाल उठाए हैं, जिसमें विकास दुबे को उज्जैन से कानपुर लाया गया था।


पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव ने अपने एक ट्वीट में लिखा, दरअसल ये कार नहीं पलटी है, राज़ खुलने से सरकार पलटने से बचाई गई है। अखिलेश यादव समेत तमाम राजनेताओं ने पहले ही इस बात का शक जताया था कि विकास दुबे के पीछे यूपी सरकार के तमाम रसूखदार लोगों का संरक्षण प्राप्त था।


पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव ने अपने ट्वीट में भी इसी तरह की बात का संकेत दिया है। अखिलेश ने ट्वीट में कहा है कि कार पलटने और विकास दुबे के मरने से सरकार के कई राज खुलने से बच गए हैं। आपको जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस के आठ जवानों की बर्बर हत्‍या का मुख्‍य आरोपी विकास दुबे फिल्‍मी अंदाज में मारा गया है। यूपी एसटीएफ की गाड़ी विकास को लेकर कानपुर आ रही थी। स्‍पीड तेज थी। पुलिस के मुताबिक, बर्रा के पास अचानक रास्‍ते में गाड़ी पलट गई। इस हादसे में विकास दुबे और एक सिपाही को भी चोटें आईं। इसके बावजूद विकास की नजरें पुलिस के चंगुल से बचकर भागने पर थी।


पुलिस का कहना है कि उसने मौका पाकर एसटीएफ के एक अधिकारी की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। इसी के बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। एसटीएफ ने विकास से हथियार रखकर सरेंडर करने को कहा। वह इसके बावजूद नहीं माना तो पुलिस को मजबूरन एनकाउंटर करना पड़ा।            


पाक एयरलाइंस उड़ानों पर लगी रोक

नीरज जिंदल


सिडनी। अमेरिका ने पाकिस्तान को एक बड़ा झटका देते हुए पाकिस्तान की सबसे बड़ी एयरलाइन पीआईए की उड़ानों को प्रतिबंधित कर दिया है। अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसपोर्टेशन ने कहा है कि हमने पाकिस्तानी इंटरनेशनल एयरलाइंस को परमिशन ​देने से जुड़ा फैसला बदल दिया है। इसके तहत पाकिस्तानी इंटरनेशनल एयरलाइंस अमेरिका में चार्टर फ्लाइट्स चला सकती थीं लेकिन अब इन्हें प्रतिबंधित कर दिया गया है। अमेरिका ने इसके पीछे पाकिस्तानी पायलटों के सर्टिफिकेशंस को लेकर फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन की चिंताओं का हवाला दिया है।
बता दें कि पाकिस्तान अपने कई पायलटों पर रोक लगा चुका है। पिछले महीने पाकिस्तान ने अपने तीसरे पायलट को फर्जी लाइसेंस के चलते हटा दिया था। वहीं अब यूरोपियन यूनियन एविएशन सेफ्टी एजेंसी ने पीआईए के ऑथराइजेशन को सस्पेंड कर दिया है यह रोक 6 महीने के लिए लगाई गई है।  पीआईए ने कहा कि एयरलाइंस को लेकर जिन जरूरी सुधारों की जरूरत है, उस पर वो काम करेगा। पाकिस्तान ने ऐसे पायलट जिनके लाइसेंस और क्वालिफिकेशंस को लेकर गलत जानकारियां दी गईं थीं, इनकी जांच एक विमान हादसे के बाद शुरू की थी। इसी साल मई में एक पीआईए जेट क्रैश हो गया थी फ्लाइट में सवार 97 यात्रियों की मौत हो गई थी।            


एनकाउंटर के साथ दफन हुए कई राज

नीरज जिंदल


कानपुर। गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी के 24 घंटों के अंदर ही उसका एनकाउंटर हो गया। उज्जैन से खुद की गिरफ्तारी करवाने वाले विकास दुबे ने आज यूपी वापसी के दौरान भागने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस ने उसे मुठभेड़ में मार गिराया। हालाँकि 7 दिनों से उसकी तलाश में लगी यूपी पुलिस ने कई बड़े खुलासे किये थे। कई पुलिसकर्मियों के साथ उसके सम्पर्क थे, वहीं नेताओं से भी उसका सम्बन्ध था। उम्मीद की जा रही थी कि विकास की गिरफ्तारी के बाद कई चेहरों से पर्दे हटेंगे लेकिन विकास की मौत के साथ ही ये राज बनकर दफ़न हो गए।  उज्जैन से महाकाल से विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद माना जा रहा था कि अब कई बड़े नामों का खुलासा हो सकता है। दरअसल, विकास को पहले से एनकाउंटर की जानकारी थी, वहीं इसके पहले भी उसने एक मंत्री की हत्या कर दी थीं। इन सब के बावजूद वह आजाद था। ऐसे में विकास के संबंध कई राजनेताओं और पुलिस के लोगों से होने की बात सामने आ रही थी लेकिन मुठभेड़ में मारे जाने के बाद अब ऐसा कोई खुलासा नहीं हो सकेगा।
कुख्यात गैंगेस्टर विकास दुबे का आपराधिक साम्राज्य बिना राजनीतिक संरक्षण के चलना मुश्किल था। उसपर प्रदेश के बड़े राजनीतिक दलों का हाथ रहा। विकास 15 साल बसपा, 5 साल बीजेपी और 5 साल सपा के साथ रहा था। वहीं पंचायत चुनाव में बसपा के समर्थन में रहा, जबकी उसकी पत्नी को सपा की आजीवन सदस्य्ता मिली थी। राजनीतिक दलों के संरक्षण में उसने कानपुर में अपना रसूख कायम किया। कई जमीनों पर अवैध कब्जे भी किए। एक दौर ऐसा आया कि जेल में बंद होने के बाद भी हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने शिवराजपुर से नगर पंचायत चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। राजनाथ सिंह की सरकार के कार्यकाल में 11 नवंबर 2001 को कानपुर के थाना शिवली के अंदर विकास दुबे ने मंत्री संतोष शुक्ला की गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी, हालाँकि जब कोर्ट में मामला गया तो कई पुलिसकर्मियों ने अपने बयान बदल दिए और वह बरी हो गया। कानपुर काण्ड के बाद जब वह फरार हुआ तो उसकी तलाश में लगी पुलिस ने कई बड़े खुलासे किये। उसके कॉल डिटेल निकलवाई तो पता चला कि 24 पुलिसकर्मियों के साथ विकास का सम्पर्क था। एनकाउंटर की रात भी विकास को पता था कि पुलिस रेड देने वाली है। वहीं उसके गाँव की बिजली भी थाने से कटवाई गयी। मामले में चौबेपुर थाने के दारोगा और कुछ सिपाही सस्पेंड हुए और पूरा थाना लाइन हाजिर हुआ। पूर्व एसएसपी अनंत देव भी जांच के दायरे में आ गए लेकिन विकास की मौत के बाद उसके वर्दी वाले साथी संगियों के नाम से पर्दा नहीं हट सका।           


गले की खराश, आजमाएं घरेलू नुस्खे

गले में ख़राश चिड़चिड़ापन पैदा करती है। हालांकि, ये कोरोना वायरस के शुरुआती कुछ लक्षणों में से भी है। गले में ख़राश के साथ सूखी खांसी का मतलब है वायरल संक्रमण, जिसका समय रहते इलाज न किया जाए तो कोफी बढ़ सकता है।
घरेलू उपाय आज़माएं :-
कोरोना वायरस में फौरन इलाज की ज़रूरत होती है, हालांकि, कुछ ऐसे घरेलू उपाय हैं, जो आपको गले की ख़राश से राहत दे सकते हैं। हम आज आपको बता रहे हैं ऐसे 5 उपाय जो आपकी ऐसे समय में मदद कर सकते हैं।
अदरक और शहद :-
अदरक और शहद का मिश्रण बिल्कुल काढ़े की तरह करता है और कीटाणु और फैलते संक्रमण से लड़ता है। अदरक, गले की खराश को कम करता है, तो शहद में मौजूद एंटी-इंफ्लामेट्री गुण इम्यूनिटी को मज़बूत करते के साथ गले में राहत पहुंचाता है। अदरक और शहद का मिश्रण बलग़म को ख़त्म करता है, साथ ही गले में ख़राश पैदा कर रही तकलीफ को दूर करता है।
इसके लिए आपको चाहिए :-
अदरक ( कद्दूकस किया हुआ)
कच्चा शहद
ज़ैतून का तेल
आटा
टिशू/रुमाल
गॉज़
टेप
शहद और आटे मिला लें, फिर इसमें कद्दूकस किया हुआ अदरक और ज़ैतून के तेल की 2-3 बूंदें मिला लें। जब ये तैयार हो जाए, तो एक रुमाल या टिशू में इसे रखें। फिर गॉज़ और टेप की मदद से इसे सीने पर लपेट लें। इसे सोने से पहले लगाएं।
नमक के पानी से ग़रारे :-
नमक के पानी से ग़रारे से बेहतर उपाय और कुछ नहीं है। ऐसा करने से न सिर्फ गले की ख़राश से राहत मिलती है, बल्कि रोगाणु और वायरस भी खत्म होते हैं। इसे रोज़ाना कम से कम 3-4 दिनों तक करना चाहिए, उसके बाद ही आपको इसका असर देखने को मिलेगा। हालांकि, ये अभी तक सिद्ध नहीं हो पाया है कि नमक का पानी कीटाणु या फिर कोरोना वायरस को ख़त्म कर सकता है। नमक का पानी गले में आई सूजन और ख़राश को कम कर सकता है। इसके लिए गुनगुने पानी में आधा बड़ा चम्मच नमक मिलाएं और ग़रारे करें। ध्यान रहे कि आप इसे निगले नहीं, बल्कि थूक दें। इसे दिन में 2-3 बार करें। याद रहे, कि गर्म पानी या नमक का पानी कोरोना वायरस को ख़त्म करने का तरीका नहीं है।
मुलैठी खाएं :-
मुलैठी एक आयुर्वेदिक जड़ीबूटी है, जिसे कई बार चाय में भी डाला जाता है। इसके अलावा कई लोग गले की ख़राश के लिए भी इसे खाते हैं। गले में ख़राश के वक्त खुजली से भी राहत दिलाती है मुलैठी। मुलैठी में ज़रूरी एंटी-वायरल गुण होते हैं, जो बीमारी फैलाने वाले वायरस को ख़त्म करती है।
सेब का सिरका भी है मददगार :-
एप्पल साइडर वेनेगर यानी सेब के सिरके में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण होते हैं। यह गले में ख़राश से राहत देने में विशेष रूप से सहायक है क्योंकि इसमें मौजूद एसिड खराब बैक्टीरिया को फैलाने वाले संक्रमण को ख़त्म करने में मदद करती है, जिससे गले में सूजन होती है। ख़राश से राहत पाने के लिए, गुनगुने पानी में एक बड़ा चम्मच सेब का सिरका मिला लें और इसे पी लें। स्वाद के लिए आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं।
नारियल तेल :-
गले की ख़राश को दूर करने का ये एक पारंपरिक तरीका है। नारियल तेल को मुंह में करीब 20 मिनट तक रखने के बाद थूक देने से कीटाणु ख़त्म होते हैं। ये साथ ही नासिका मार्ग को भी साफ करता है। नारियल तेल गले को राहत पहुंचाता है और इसके साइड-इफेक्ट भी नहीं होते।
इल लेख में दिए गए उपाय गले में ख़राश को दूर करने के लिए बताए गए हैं। हालांकि, ये उपाय कोरोना वायरस को ख़त्म नहीं कर सकते, लेकिन उसके लक्षणों में राहत ज़रूर दे सकते हैं। अगर आपको कोविड-19 के लक्षण महसूस होते हैं, तो फौरन डॉक्टर से संपर्क करें।                     


दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...