बुधवार, 12 जून 2019

ममता को दोष ना दे भाजपा सरकार: जदयू

बीएसएफ कराती है बांग्लादेशी घुसपैठियों को सरहद पार, ममता को दोष ना दे भाजपा: जदयू


भाजपा के सहयोगी जदयू ने कहा है कि केंद्र सरकार बांग्लादेश से होने वाली घुसपैठ के लिए पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को दोष देना बंद करे और इसके लिए कदम उठाए। जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने बुधवार को कहा कि बीएसएफ की मदद से बांग्लादेशी घुसपैठिए देश के अंदर आते है। बॉर्डर पर बीएसएफ अधिकारी 5 हजार रुपए में घुसपैठियों को सरहद पार कराते हैं। इसके लिए बीएसएफ जिम्मेदार है इसलिए भाजपा बार-बार इस मुद्दे पर बनर्जी को कटघरे में खड़ा करना बंद करे।


जदयू प्रवक्ता ने कहा कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को कोसने से काम नहीं चलेगा। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह मामले में कदम उठाने चाहिएं। उन्होंने कहा कि उन अधिकारियों की संपत्ति की जांच होनी चाहिए जो बांग्लादेश और बर्मा के बॉर्डर पर 10 साल से ज्यादा समय से तैनात हैं। संपत्तियों की जांच होने से ही बहुत से मामले सामने आ जाएंगे। आलोक ने कहा कि घुसपैठ पर रोक जरूरी है और फिर ये अब नहीं होगा तो कब होगा।


एक दिन पहले ही जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने ममता बनर्जी पर बड़ा हमला बोला था, जिसके बाद आज घुसपैठ के मुद्दे पर उनका बचाव किया है। मंगलवार को जदयू प्रवक्‍ता अजय आलोक ने कहा था कि ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल को 'मिनी पाकिस्‍तान' बना रही हैं। बिहारियों को पश्चिम बंगाल से बाहर निकाला जा रहा है। बिहार से किसी दूसरे राज्‍य के लोगों को नहीं भगाया जाता है लेकिन बिहार के लोगों के साथ दूसरी जगह पर ऐसा हो रहा है।


 


तीन तलाक को मिली कैबिनेट की मंजूरी

तीन तलाक बिल को केंद्रीय कैबिनेट ने दी मंजूरी


 नई दिल्ली ! केंद्रीय कैबिनेट ने तीन तलाक बिल को मंजूरी दे दी है। पीएम मोदी की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट की बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी जानकारी दी। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि सरकार आगामी संसद सत्र में तीन तालक विधेयक पेश करेगी।


इसके साथ ही जावड़ेकर ने कहा कि कैबिनेट ने जम्मू कश्मीर आरक्षण विधेयक, 2019 को मंजूरी दी है। जो अंतर्राष्ट्रीय सीमा से सटे क्षेत्रों में रहने वाले जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए राहत होगी। अब वे विभिन्न व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में सीधी भर्ती, पदोन्नति और प्रवेश में आरक्षण का लाभ उठा सकते हैं।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने अपने पिछले कार्यकाल के दौरान तीन तलाक विधेयक पेश किया था, लेकिन लोकसभा में मंजूरी मिलने के बावजूद यह विधेयक राज्यसभा में लंबित रह गया था। इस कारण पिछले महीने 16वीं लोकसभा का कार्यकाल खत्म होने के साथ ही यह बिल भी खत्म हो गया था।


केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी के बाद सबसे पहले 17 जून से शुरू हो रहे 17वीं लोकसभा के पहले सत्र में पेश किया जाएगा। पिछली बार राज्य सभा में सरकार के पास पर्याप्त बहुमत नहीं होने के कारण विपक्ष इस विधेयक को रोकने में सफल हो गई थी। ऐसे में इस बार इस विधेयक पर राज्य सभा के रुख पर सभी की निगाहें होंगी।


 


जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ी

जम्मू कश्मीर में और 6 महीने के लिए बढ़ा राष्ट्रपति शासन


 श्रीनगर ! जम्मू-कश्मीर में फिलहाल विधानसभा चुनाव होने की कोई संभावना होती नजर नहीं आ रही है। बुधवार के केंद्रीय कैबिनेट ने जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन की अवधि और 6 महीने के लिए बढ़ा दी है। राज्य में मुफ्ती सरकार गिरने के बाद राज्यपाल शासन लागू हो गया था। जिसके बाद उसे आगे बढ़ाते हुए रियासत में राष्ट्रपति लागू कर दिया था। जिसकी अवधि 3 जुलाई को समाप्त हो रही थी।आज हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में राष्ट्रपति शासन को 6 महीने के लिए और बढ़ा दिया गया। सूत्रों के मुताबिक, राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पिछले दिनों केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के साथ सूबे से जुड़े अन्य मुद्दों के साथ साथ इस बावत भी विचार-विमर्श किया था। जिसक बाद बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में राष्ट्रपति शासन को अगले 6 महीने के बढ़ाने को मंजूरी दी गई।


गौरतलब है कि 1 जुलाई से पवित्र अमरनाथ यात्रा शुरू हो रही है, जो 15 अगस्त तक चलेगी। इसके के बाद केंद्रीय चुनाव आयोग सूबे में विधानसभा चुनाव कराए जाने को लेकर हालात का जायजा लेने की कवायद शुरू कर सकता है।


 


पूर्व केंद्रीय मंत्री जेएनयू मे होंगे सम्मानित

निर्मला सीतारमण और एस जयशंकर जेएनयू में होंगे सम्मानित, मिलेगा ये अवॉर्ड


जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय अपने तीसरे दीक्षांत समारोह में भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मंत्री एस जयशंकर को एलुमनी अवॉर्ड से नवाजेगा। ये पहले एलुमनी हैं जिन्हें ये सम्मान मिल रहा है। जेएनयू प्रशासन ने यह निर्णय बुधवार को हुई कार्यकारी बैठक में लिया। इसके पीछे मुख्य वजह यह है कि ये दोनों ही मंत्री जेएनयू के स्टूडेंट रहे हैं। ज्ञात हो कि जेएनयू के तीसरे दीक्षांत समारोह में दोनों पूर्व छात्रों को सम्मानित किया जाएगा।


यह दीक्षांत समारोह अगस्त में आयोजित किया जाएगा। इसकी पूरी जानकारी जेएनयू प्रशासन ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके दी है। जेएनयू रजिस्ट्रार डॉ। प्रमोद कुमार का कहना है कि तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जेएनयू के स्कूल ऑफ सोशल साइंस से एम।ए और एमफिल डिग्री प्रोग्राम किया है। इसके अलावा विदेश मंत्री एस जयशंकर जेएनयू के स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज से एमफिल और शोध के छात्र रहे हैं। उन्होंने न्यूक्लियर डिप्लोमेसी पर स्पेशलाइजेशन किया है।प्रमोद कुमार का कहना है कि जेएनयू को अपने दोनों एलुमनाई पर गर्व है। निर्मला सीतारमण और एस।जयशंकर जेएनयू में पढ़ रहे अन्य छात्रों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत हैं। यह पहले एलुमनाई होंगे, जिन्हें जेएनयू सम्मानित कर रहा है!


शहीद के शव को देख, सभी हुए निस्तब्ध

संवाददाता-विवेक चौबे


कांडी(गढ़वा) ! सुबह मृतक रविन्द्र का शव उड़ीसा से एम्बुलेंस से उसके घर अधौरा पहुंचा,जिसे देखते ही उसके परिजन दहाड़ मारकर रोने लगे।पूरे गांव के लोगों की उमड़ गयी भीड़ ।मृतक की पत्नी- लीलावती देवी रोते-रोते बार-बार बेहोस हो जा रही थी।ढाई साल के एक पुत्र व लोगों को रोते देख पूरा गांव आवाक था ।पूरा माहौल गमगीन था।बिदित हो कि अधौरा गांव निवासी-गोपाल राम का 32 वर्षीय पुत्र-रविन्द्र राम की मृत्यु उड़ीसा में सोमवार को काम के दौरान हो गयी थी ।
मृतक के परिजनों ने बताया कि रविंद्र उड़ीसा राज्य के क्योंझर नामक स्थान पर मेंटो कार्लो नामक कंपनी के पेटी कांट्रेक्टर एस एस कंस्ट्रक्शन के साईट पर मजदूरी करता था ।जहाँ पर सोमवार को काम के दौरान रविन्द्र की मृत्यु हो गयी थी।उस वक्त साईट पर पुल के गाटर का निर्माण कार्य चल रहा था।उसके साथ काम कर रहे दूसरे साथी काम से छुट्टी के पश्चात शाम को जब डेरा वापस आ गए तो वहां पर रविन्द्र को नही देखा।एक दो साथी उसे खोजने निकल पड़े ।काफी खोज-बिन के बाद साईट के नजदीक जमीन पर वह पड़ा हुआ दिखा।सभी ने उसे उठा कर ईलाज के लिये नजदीक के अस्पताल लेकर गए ।जहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।
पंचायत के मुखिया-योगेंद्र राम ने भी मृतक के घर पहुंच परिजनों को सांत्वना दिया।अंतिम संस्कार सतबहिनी झरना के मुक्तिधाम पर कर दिया गया।जिसमें काफी लोग शामिल हुए।इस तरह गरीबी व पलायन की बलि बेदी पर एक और युवक की बली चढ़ गयी।


रेलवे पुलिस ने किया ऐसे गैंग का पर्दाफाश

रेलवे पुलिस ने ऐसे गैंग का पर्दाफाश
दो रुपये के सिक्के से लूट ली धौलाधार व अवध असम एक्सप्रेस
जींद। महज दो रुपये के सिक्के से धड़धड़ाती एक्सप्रेस ट्रेनों को आसानी से रोका जा सकता है। यकीन करना थोड़ा मुश्किल होगा लेकिन ये सच है। लुटेरों ने ऐसा कर दिखाया और ट्रेन लूट की वारदात को अंजाम दिया। लुटेरों ने जींद रेलवे लाइन पर धौलाधार एक्सप्रेस और अवध असम एक्सप्रेस के यात्रियों को निशाना बनाया। रेलवे पुलिस ने ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है।
रेलवे पुलिस ने जाटू रोड पानीपत निवासी संदीप, सांपला रोहतक निवासी रमन, माता दरवाजा रोहतक निवासी रमन, बालकनाथ कालोनी रोहतक निवासी भारत को काबू किया है। जबकि गिरोह का मुख्य सरगना गांव बड़ौदी निवासी मौजी, रोहतक निवासी विक्की व उसके दो साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए। पकड़े गए आरोपित संदीप ने खुलासा किया कि 7 मई को उसने मौजू, विक्की व तीन-चार अन्य के साथ मिलकर दिल्ली से पठानकोट जा रही धौलाधार एक्सप्रेस की स्लीपर व एसी डिब्बे में दो यात्रियों से चाकू के नोक पर नकदी व जेवरात लूटे थे। जबकि पकड़े गए आरोपित विवेक, रमन, भारत उनके साथ पहली वारदात को अंजाम देने के लिए आए थे।
वार को लुटेरे पंजाब की तरफ जा रही अवध असम एक्सप्रेस में सवार हो गए, लेकिन उनके इरादों की रेलवे पुलिस को पहले ही भनक लग गई। रेलवे पुलिस कर्मी सादे कपड़ों में ट्रेन में सवार हो गए। जब ट्रेन जींद रेलवे जंक्शन से निकलकर बरसोला रेलवे स्टेशन के निकट पहुंची तो आरोपितों ने खेतों में चेन पुङ्क्षलग कर दी और ट्रेन को रोक दिया। इसी दौरान आरोपित यात्रियों से चाकू की नोक पर लूटपाट करने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन इसी दौरान ट्रेन में सवार पुलिस कर्मी सक्रिय हो गए। जहां पर बदमाश पुलिस को देखते ही खेतों के रास्ते से फरार हो गए, लेकिन पुलिस कर्मियों ने उनका पीछा करके काबू कर लिया। जबकि आरोपित मौजी, विक्की अपने दो अन्य साथियों के साथ मौके से फरार हो गए।
पकड़े गए आरोपित संदीप ने खुलासा किया कि सात मई को गिरोह के सदस्यों ने पंजाब की तरफ जा रही धौलाधार एक्सप्रेस में यात्रियों से लूटपाट की थी। गिरोह का एक सदस्य जींद जंक्शन व बरसोला रेलवे स्टेशन के बीच में सुनसान जगह पर स्थित सिग्नल के पास एक आरोपित चला गया। जहां पर उन्होंने ग्रीन सिग्नल को रेड करने के लिए पटरियों के बीच में सिक्का डाल दिया और ट्रेन रूकते गिरोह के सदस्य ट्रेन में सवार हो गए और यात्रियों से लूटपाट करके खेतों के रास्ते से फरार हो गए थे।
पुलिस के अनुसार बदमाशों ने ट्रेन रोकने के लिए भौतिक-विज्ञान की साधारण तकनीक का इस्तेमाल किया। पटरियों के बीच जोड़ होता है, सर्किट को बंद करने इसमें इंसुलेटिंग मैैटेरियल (रोधक पदार्थ) भरा जाता है। ये लोग इस जोड़ में एक या दो रुपये का सिक्का डाल देते थे। ऐसा होने से पटरियों को अर्थ नहीं मिलता और सिग्नल हरे के बजाय लाल हो जाता था। ऐसा होने पर धौलाधार एक्सप्रेस के ड्राइवर को खतरे का आभास हुआ और उसने ट्रेन को रोक दिया। इसके बाद बदमाशों ने चाकू के बल पर यात्रियों से की लूटपाट।
सात मई को धौलाधार एक्सप्रेस में स्लीपर में यात्रा कर रहे यात्री गांव प्रियुगल जिला चंबा हिमाचल प्रदेश निवासी रमेश कुमार से बदमाशों ने एक सोने की चेन, दो कानों के झुमके, तीन सोने की अंगूठी, 4350 रुपये की नकदी, करीब 25 हजार रुपये के ब्यूटी प्रोडेक्ट, बच्चों के कपड़े सहित जरूरी कागजात लूटे थे। ट्रेन के दूसरे यात्री सेक्टर 23 गाजियाबाद यूपी निवासी हर्ष कुमार दस हजार रुपये की नकदी, एक मोबाइल, खान पीने का सामान लूटा था।
रेलवे पुलिस थाना इंचार्ज सुरेश कुमार ने बताया कि पूछताछ में खुलासा किया एक आरोपित सिग्नल के पास चला गया। जब ट्रेन जींद रेलवे जंक्शन से चली तो स्टेशन पर खड़े दूसरे युवक ने फोन करके उसे सूचित कर दिया। इसके बाद आरोपित सिक्का लगाने के बाद एक बदमाश पटरी से दूर हो जाता। सिग्नल ग्रीन से लाल होने पर ट्रेन रूकते ही आरोपितों ने लूटपाट की। पुलिस फरार चल रहे दूसरे आरोपितों से पूछताछ कर रही है।


विद्युत विभाग के बड़े स्तर पर जांच

विधुत विभाग द्वारा बड़े हाते पर चलाया गया विधुत चैकिंग अभियान


 


 



मुरादाबाद! आज  विधुत विभाग की टीम द्वारा असालतपुरा बड़े अहाते पर विधुत चेकिंग अभियान चलाया गया
जिसमे बड़े अहाते पर वार्ड 59 के पार्षद हाजी आरेफीन मदनी की जगह पर शहज़ाद क़ुरैशी पुत्र श्री मोहम्मद शफीक किराये पर लेकर ई रिक्शा चार्जिंग का कारोबार चल रहा था जिसमे शहज़ाद क़ुरैशी द्वारा चोरी का केबल डालकर 10 ई रिक्शा चार्जिंग की जा रही थी
विधुत विभाग का कहना है पार्षद की जगह पर रह रहे किरायेदार के यहाँ चोरी की लाइट से ई रिक्शा चार्जिंग का कार्य किया जा रहा था
मौके पर मौजूद सीतापुरी एसडीओ ब्रजेश कुमार ने बताया की वह जगह पार्षद जी की है पर पार्षद जी ने उस जगह को शहज़ाद क़ुरैशी नामक व्यक्ति को किराए पर दे रखा है वही किराएदार अवैध तरीके से विधुत चोरी कर रहा था और आगे उन्होंने बताया चेकिंग अभियान जारी रहेगा जो लोग विधुत चोरी कर रहे है उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।


 



रेहान अंसारी 


राजेश पायलट की पुण्यतिथि पर 62 विधायक उपस्थित


राजेश पायलट की पुण्य तिथि पर 62 विधायकों की मौजूदगी क्या राजस्थान में कांग्रेस की राजनीति पर असर डालेगी।


पता नहीं राहुल गांधी कांग्रेस संगठन में कब सक्रिय होंगे। इस बीच कांग्रेस को पंजाब से लेकर तेलंगाना तक में झटके लग चुके हैं। इसी क्रम में पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजेश पायलट की पुण्य तिथि पर एकत्रित हुए 62 विधायकों को लेकर राजस्थान की राजनीति एक बार फिर गर्म हो गई है। स्वर्गीय पायलट के पुत्र सचिन पायलट इस समय प्रदेश कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष होने के साथ-साथ सरकार में डिप्टी सीएम भी हैं। अपने पिता की पुण्य तिथि पर सचिन पायलट की ओर से दौसा के भडाना गांव में 11 जून को सर्वधर्म सभा आयोजित की गई थी। चूंकि इस सभा में पायलट स्वयं मौजूद रहे इसलिए 15 मंत्रियों सहित 62 विधायक उपस्थित हो गए। राजनीतिक दृष्टि से बहुजन समाज पार्टी के चार और चार निर्दलीय विधायकों की उपस्थिति को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। मौजूदा समय में 200 में से 100 कांग्रेस के विधायक हैं। वहीं कांग्रेस को बसपा 6 और 12 निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त है इसलिए कांग्रेस सरकार को कोई खतरा नहीं है। लेकिन राजेश पायलट की पुण्य तिथि के अवसर पर 62 विधायकों की उपस्थिति राजस्थान में कांग्रेस की राजनीति में हलचल उत्पन्न कर सकती है। हाल ही के लोकसभा चुनाव में राजस्थान में कांगे्रस को सभी 25 सीटों पर हार का सामना करना पड़ा। बुरी हार के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश अध्यक्ष पायलट के बीच मतभेद खुलकर सामने आए। गहलोत का कहना रहा कि हार में भी हिस्सेदारी होनी चाहिए और जब मेरे पुत्र वैभव गहलोत को जोधपुर से जीताने की जिम्मेदारी सचिन पायलट ने ली थी तो फिर वैभव की हार कैसे हो गई। इस पर मंथन होना चाहिए। हालांकि गहलोत के इस बयान पर पायलट ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, लेकिन माना जा रहा है कि पुण्य तिथि पर उपस्थित 62 विधायकों की उपस्थिति ही अशोक गहलोत को जवाब है। हालांकि सचिन पायलट और उनके समर्थक पुण्य तिथि पर उपस्थित विधायकों की संख्या को राजनीति से जोडऩे से इंकार करेंगे, लेकिन मौजूदा समय में इतने विधायकों की उपस्थिति चर्चा का विषय बनेगी। वहीं अशोक गहलोत के समर्थकों का कहना है कि 62 विधायकों की उपस्थिति कोई मायने नहीं रखती है। क्योंकि पुण्य तिथि प्रदेश कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष के पिता की थी। ऐसे में अनेक विधायकों और मंत्रियों ने शिष्टाचार के नाते उपस्थिति दर्ज करवाई है। इसे शक्ति परीक्षण के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए। यदि सीएम गहलोत भी परिवार का कोई कार्यक्रम आयोजित करें तो इससे ज्यादा विधायक और मंत्री उपस्थित हो सकते हैं।
एस.पी.मित्तल


 


बाबा ने किया चमत्कार पहाड़ के टुकड़े टुकड़े हो गए


मानव सेवा की खातिर चार माह से घर नहीं गए मसाणिया भैरव धाम के उपासक चम्पालाल महाराज। बाबा के चमत्कार से जब पहाड़ टुकड़े टुकड़े हो गया।


अजमेर के निकट राजगढ़ गांव में मसाणिया भैरव धाम अब मानव सेवा का प्रतीक बन गया है। प्रत्येक रविवार को स्थापित होने वाली भैरव बाबा की चौकी से आशीर्वाद लेने के लिए बीस हजार से भी ज्यादा श्रद्धालु देश भर से आते हैं। यानि एक माह में एक लाख से ज्यादा श्रद्धालु भैरव धाम आकर अपने कष्टों से मुक्ति पाते हैं। यह सिलसिला पिछले बीस वर्षों से लगातार चल रहा है। इससे लोगों का भरोसा ही कहा जाएगा कि हर बार श्रद्धालुओं की संख्या में वृद्धि हो रही है। चूंकि भैरव बाबा की चौकी सप्ताह में एक बार स्थापित होती है, इसलिए लोगों को परेशानी हो रही है। राजस्थान सहित पड़ौसी राज्यों से आने वाले पीडि़त चाहते हैं कि भैरव बाबा की चौकी सप्ताह में दो या तीन बार स्थापित हो ताकि अधिक से अधिक लोगों को फायदा मिले। विज्ञान के इस युग में भले ही भूत प्रेत की बात को न माना जाए, लेकिन रविवार को ऐसे महिला-पुरुष आते हैं जो कथित भूत पे्रत के रोग से मुक्ति पाते हैं। शारीरिक विकालंगता हो या अन्य कोई रोना सभी का इलाज का भैरव बाबा के आशीर्वाद से होता है। कैंसर जैसे असाध्य रोग के मरीज भी स्वस्थ हो रहे हैं।
कोई चढ़ावा नहीं:
आमतौर पर यह माना जाता है कि ऐसे चमत्कारिक अथवा धार्मिक स्थलों पर चढ़ावा लिया जाता है। चाहे प्रसाद के नाम पर अथवा पूजा सामग्री के नाम पर शुल्क लिया जाता है, लेकिन राजगढ़ के मसाणिया भैरव धाम पर किसी भी प्रकार से चढ़ावे का प्रावधान नहीं है। जो श्रद्धालु दूर दराज से आते हैं उन्हें चाय नाश्ते की सुविधा भैरव धाम प्रबंध समिति की ओर से की जाती है। भैरव बाब की चौकी पर बैठने वाले उपासक चम्पालाल जी महाराज किसी धनाढ्य व्यक्ति से दान भी नहीं लेते हैं। महाराज का शुरू से ही खनिज खान का कारोबार रहा है। राजगढ़ के निकट ही एक खान से होने वाली आय श्रद्धालुओं पर खर्च की जाती है। कोई दो वर्ष पहले महाराज को आभास हुआ कि राजगढ़ की खान में कीमती खनिज दबा हुआ है। चूंकि यह आभास स्वयं उपासक चम्पालाल जी को हुआ इसलिए खान खोदने का निर्णय लिया गया। महाराज का यह मानना रहा कि यदि कीमती खनिज निकला तो भैरव धाम को और श्रद्धालुओं को सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी, लेकिन सौ फुट खुदाई के बाद भी खान से खनिज नहीं निकला तो महाराज के परिवार वाले भी मायूस हो गए, लेकिन महाराज अपने संकल्प पर दृढ़ थे। इसलिए अपना निजी मकान बैंक में गिरवी रखकर लोन लिया और पहाड़ को काटने के लिए मशीन खरीदी। हालांकि सौ फुट की गहराई के बाद कोई एक हजार वर्ग गज के क्षेत्र में खुदाई करना जोखिम भरा काम था, लेकिन पहाड़ की इस चुनौती को महाराज ने अपने दृढ़ संकल्प से सामना किया। इसे भैरव बाबा का चमत्कार ही कहा जाएगा कि सौ फुट खुदाई के बाद पहाड़ अपने आप टुकड़े टुकड़े होने लग गया। ऐसा लगा कि मानों कीमती खनिज बाहर निकलने के लिए उतावला हो रहा है। 250 फुट की खुदाई पर कीमती खनिज निकल आया अब जो मिनरल निकल रहा है उसमें कांच, टाइल्स, चीनी के बर्तन आदि सामग्री बनाई जा रही है। उपासक चम्पालाल जी महाराज का कहना कि कीमती खनिज का भंडार अथाह है। यह सब चमत्कार लाखों करोड़ों श्रद्धालुओं के भरोसे की वजह से ही हुआ है। भैरव बाबा की ताकत श्रद्धालुओं के विश्वास से ही आती है।
चार माह से घर नहीं गए :
उपासक चम्पालाल जी महाराज अजमेर स्थित चन्दबरदाई आवास में रहते हैं, लेकिन पिछले चार माह से महाराज राजगढ़ की खान पर लगाए गए टेंट में रह रहे हैं। इस बार जब तापमान 50 डिग्री के पार जा रहा है तब तपती धूप में महाराज खनिज श्रमिकों के साथ खड़े हैं। टेंट में पंखे तक की सुविधा नहीं है। 11 जून को मेरी मुलाकात चम्पालाल जी महाराज से खान पर ही हुई। महाराज का कहना रहा कि मेरे लिए यही तपस्या है। खान से निकले कीमती खनिज को बेचकर सबसे पहले बैंक का कर्जा चुकाउंगा। इस खनिज से जो भी आय होगी उससे भैरव धाम के विकास और आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाओं पर खर्च किया जाएगा। इसे मैं भैरव बाबा का चमत्कार ही मानता हंू कि पहाड़ अपने आप टूट कर गिर गया। पिछले एक वर्ष से चल रहे खनन कार्य में कोई अप्रिय घटना नहीं घटी। यह बात सही है कि पिछले चार माह से अपने घर नहीं गए हैं, लेकिन संकल्प पूरा हो चुका है। इसलिए जल्द ही घर जाएंगे। नसीराबाद के एसडीएम राजीव चावला भी महाराज के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं। पिछले चार माह से एसडीएम चावला कई बार खान पर गए और महाराज से घर जाने का आग्रह किया।
सामाजिक सरोकार :
मसाणिया भैरव धाम प्रबंध समिति सामाजिक सरोकारों से भी जुड़ी हुई है। राजगढ़ क्षेत्र के अभाव ग्रस्त गांवों में टेंकर के जरिए पेयजल की सप्लाई की जाती है। भैरव धाम पर जरुरत मंद परिवारों के सामूहिक विवाह करवाए जाते हैं। दूल्हा-दुल्हन को सभी प्रकार का घरेलू सामान समिति की ओर से नि:शुल्क दिया जाता है। नशा मुक्ति के क्षेत्र में तो भैरव धाम पूरे देश में विख्यात हो गया है। रविवार को स्थापित होने वाली भैरव बाबा की चौकी पर बैठकर उपासक चम्पालाल जी महाराज स्वयं भले ही बाल्टी भरकर देशी विदेशी शराब का सेवन कर लें, लेकिन भैरव धाम पर आने वाले व्यक्ति को नशा न करने का संकल्प करवाया जाता है। आदतन शराबी या अन्य नशे का सेवन करने वाला व्यक्ति जब भैरव धाम पर संकल्प लेता है तो भविष्य में कभी भी नशा नहीं करता। भैरव धाम के चमत्कारिक और सामाजिक कार्यों की जानकारी मोबाइल नम्बर 9950001400 पर राहुल सेन तथा 9057407002 पर अविनाश सेन व 9414003232 पर प्रकाश रांका से ली जा सकती है।
एस.पी.मित्तल


आंधी तूफान से हुआ भारी नुकसान

आयी तेज "आंधी-तूफान" से हुआ भारी "नुकशान"


संवाददाता-विवेक चौबे


कांडी(गढ़वा) ! बुधवार को आंधी-तूफान का गजब दिखा दृश्य।चार बजे दिन में आयी तेज आंधी-तूफान के साथ वर्षा भी हुई। वर्षा के साथ ओलावृष्टि भी देखा गया।इस आंधी-तूफान व ओलावृष्टि से भारी नुकसान की खबर है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ओलावृष्टि से कई लोगों के खपड़ैल मकान को भारी नुकसान पहुंचा है।वहीं सैकड़ों पेड़ धाराशाई हो गए हैं। सोहगाड़ा गांव में सुन्डीपुर- मझिआंव मुख्य सड़क पर बड़ा पेड़ गिर जाने से रास्ता बंद हो गया है।हालांकि ग्रामीण पेड़ को हटाने का कार्य कर रहे थे। बहेरा गांव के दुर्गा मंडप का करकट उड़ गया है।अधौरा गांव के मुनेश्वर ठाकुर,सतीश गुप्ता के घर में पानी घुस गया।वहीं इसी गांव के धंन्नजय गुप्ता का सोलर प्लेट व संजय गुप्ता का वाटर टंकी भी टूट गया है।राणाडीह गांव में ग्यारह हजार का बिजली का तार टुट कर गिर गया है व कई लोगों के मिट्टी के घरों को नुकसान पहुंचा है। सेतो गांव के अफजल अंसारी का घर गिरने की खबर है। वहीं उसी गांव के बसरुदीन अंसारी व ऐनुल अंसारी के घर को भी नुकसान पहुंचा है।जबकि ग्रामपंचायत घटहुआ कला में बरन राम के घर के निकट लगाए गए सरकारी सोलर पाइप सहित टूट कर गिर गया है। खबर लिखे जाने तक कई अन्य गांवों से भी काफी नुकसान होने की खबर मिल ही रही थी।


वादकारीयो ने किया न्यायालय पर प्रदर्शन

 


  वाद कारीयो ने न्यायालय पर किया प्रदर्शन


कानपुर ! आज जनपद न्यायालय देहात माती में तहसील बिल्हौर वा घाटमपुर के प्रशासनिक क्षेत्राधिकार को कानपुर नगर से कानपुर देहात जनपद को वापस दिलाए जाने एवं न्यायिक क्षेत्राधिकार यथावत कानपुर देहात कोर्ट में बनाये रखने हेतु एकीकृत बार एसोसिएशन जनपद न्यायालय माती कानपुर देहात के आवाहन पर आहूत किए गए! धरना के दूसरे दिन न्याय भवन के प्रवेश द्वार संख्या 1 के बगल में सुबह 10:00 बजे से प्रारंभ हुआ ! प्रत्येक वाद कारी से आन्दोलन समिति के अधिवक्ताओं द्वारा प्रवेश न करने का विनम्रता पूर्वक आग्रह किया गया! यह आंदोलन जनहित में ही अधिवक्ताओं द्वारा किया जा रहा है !आंदोलन के दौरान किसी भी किस्म से न्यायालयों द्वारा विपरीत आदेश पारित नहीं किए जाएंगे का आश्वासन दिया गया !जिसे वादकारियों ने सहर्ष स्वीकार करते हुए न्याय भवन में प्रवेश नहीं किया । निगरानी समिति ने परिभ्रमण कर प्रत्येक न्यायालय कक्ष में किसी भी अधिवक्ता व वादकारियों के न होने द्वारा किसी किस्म का कोई न्यायिक कार्य किसी भी अदालत में जाकर नहीं किया गया! हाई कोर्ट के डे टुडे सुनवाई के एक मुकदमे में ए.डी.जे षष्टम की अदालत में केवल एक सरकारी गवाह का बयान दर्ज किया गया ! इसके अलावा अन्य कोई न्यायिक कार्य किसी भी किस्म से किसी भी अदालत में नहीं हुआ है ! आन्दोलन को सफल बनाने के लिए धरने में डी.एन. सचान , विश्वनाथ कटियार , सुरेन्द्र पाल शर्मा , सुधीर सिंह भदौरिया अध्यक्ष लायर्स एसोसिएशन तहसील मैथा, केशव प्रसाद चतुर्वेदी, राधेश्याम कटियार , अदीप गौतम, संजीव यादव आदि लोगों ने आर्थिक सहयोग करते हुए अपने अपने विचार भी व्यक्त जन भागीदारी बढाने और पत्राचार करने तथा जनप्रतिनिधियों से समर्थन पत्र हासिल करने पर बल दिया गया जिसके परिपेक्ष्य में एकीकृत बार एसोसिएशन अध्यक्ष रणधीर सिंह सिसोदिया ने मा. मुख्य न्यामूर्ति उच्च न्यायालय इलाहाबाद उ.प्र. को सम्बोधित ज्ञापन श्रीमान जनपद न्यायाधीश महोदय को दिया । इसी दौरान धरना स्थल पर ही अध्यक्ष सिसोदिया द्वारा विधान सभा क्षेत्र रसूलाबाद की विधायिका श्रीमती निर्मला संखवार द्वारा महामंत्री पाण्डेय व हरीशंकर चतुर्वेदी द्वारा लाकर दिये गये समर्थन पत्र तथा विधान सभा क्षेत्र सिकंदरा के विधायक श्री अजीत पाल जी द्वारा श्री विश्वनाथ कटियार, आशीष शुक्ल द्वारा लाकर दिये गये समर्थन पत्र की जानकारी दी गयी । कार्यक्रम संचालन प्रदीप पाण्डेय व शशि भूषण सिंह चौहान द्वारा करते हुए लगभग सायं लगभग पौने चार बजे संजय सिंह सिसोदिया द्वारा बताया गया कि उ.प्र. बार काऊँसिल की चेयरमैन कु.दरवेश की आगरा सिविल कोर्ट परिसर म़े स्वागत समारोह में गोली मारकर हत्या किये जाने की सूचना सोशल मीडिया में प्रसारित होना सूचित किया गया । जिसकी पुष्टि एसोसिएशन अध्यक्ष रणधीर सिंह सिसोदिया ने बार काऊँसिल के सहविजेता अध्यक्ष बनारस निवासी श्री हरीशंकर सिंह और लखनऊ निवासी बार काऊँसिल उपाध्यक्ष प्रशांत सिंह अटल से मोबाइल पर करके धरना धरना में तत् समय उपस्थित सभी अधिवक्ताओं ने शोक सभा करके आत्मा की शान्ति हेतु दो मिनट मौन प्रार्थना करके धरना समाप्त किया । रणधीर सिंह सिसोदिया एडवोकेट अध्यक्ष एकीकृत बार एसोसिएशन जनपद न्यायालय माती कानपुर देहात ।


 आशीष 


रक्तदान की विनम्र अपील

रक्तदान के लिए विनम्र अपील
अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से शुक्रवार, 14 जून, 2019 को विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़ और पंजाब के विभिन्न जगह स्वैच्छिक रक्तदान कैंपों का आयोजन कर रहा है। यह आयोजन 14 जून से अगले कई दिनों तक जारी रहेगा।
आप इन दिनों इन राज्यों में कहीं भी हों। स्वैच्छिक रक्तदान करके आप किसी अनजान की जान बचा सकते हैं और पुण्य के भागी बन सकते हैं।
रक्तदान महादान- रक्तदान करने से शरीर में कोई कमजोरी नहीं आती। आप भी करके देखिए अच्छा लगता है।


पवन कुमार
अमर उजाला
भिवानी
हरियाणा


काउंसलिंग अध्यक्षा की गोली मारकर हत्या

काउंसलिंग अध्यक्षा की गोली मारकर हत्या


आगरा ! उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष कुमारी दरवेश की दीवानी परिसर में गोली मारकर हत्या। अध्यक्ष बनने पर स्वागत समारोह के बाद वरिष्ठ अधिवक्ता अरविंद कुमार मिश्रा के चैम्बर में बैठी थी। वही पर पूर्व सहयोगी अधिवक्ता मनीष शर्मा ने अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष को तीन गोली मारी। इसके बाद खुद को भी मनीष ने दो गोली मारी। उसे सिकंदरा हाइवे स्थित रेनबो अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दरवेश को पुष्पांजलि अस्पताल में डॉक्टरों ने मृत घोषित किया। एडीजी अजय आनंद समेत अन्य अधिकारी और वरिष्ठ अधिवक्ता मौके पर पहुंचे। हत्या के कारणों का पता नही लग सका है।


महकमों के दिमाग में अभी मुख्यमंत्री महोदया


प्रशासनिक महकमे के दिमाग पर अब तक छायी है मुख्यमंत्री महोदया
सरकार की पत्रावलियों में अब तक किया जा रहा है महिला मुख्यमंत्री को संबोधित


 राजस्थान सरकार के स्वायत्त शासन विभाग ने जिले वार नगर निगम क्षेत्र में होने वाले बदलावों को लेकर एक अधिसूचना जारी की। जिसके तहत जिले वार निगम क्षेत्रों में जनसंख्या के अनुसार वार्डों के बढ़ने की जानकारी थी। इसी के तहत अजमेर में अब 60 की जगह 80 वार्ड होंगे। चलिए यह बात तो फिर दूसरे ब्लॉग में डिस्कस की जाएगी। जो अधिसूचना मीडिया को प्राप्त हुई उस अधिसूचना में, सारी जानकारी उपलब्ध तो थी ही । परंतु अंत में सूचनार्थ प्रतिलिपि की जगह लिखा था -मुख्यमंत्री महोदया राजस्थान सरकार। अब जाहिर है महोदया किसी पुरुष के लिए तो लिखा नहीं जा सकता। यह किसी महिला को ही संबोधित करती हुई शब्दावली है । जिस पर अगर विचार किया जाए तो अधिसूचना टाइप करने वाले स्टाफ ने मात्र पुराने पत्रों में लिखी जा रही शब्दावली को कॉपी पेस्ट कर दिया है।याँ फिर टाइप करने वाले के दिमाग में अभी तक पूर्व मुख्यमंत्री महोदया वसुंधरा राजे ही छाई हुई है।माना साहब !इस तरह की गलतियां टाइप करने में हो जाती है। परंतु, ऐसी गलतियां तब ज्यादा होती हैं जब मौजूदा प्रशासनिक प्रणाली के दिमाग में पुरानी हवा ज्यादा होती है। सरकार के प्रधान कार्यालय में टाइप की जाने वाली पत्रावलियों को आला अधिकारी भी बिना ध्यान से पढ़े बड़े आराम से मस्त होकर दस्तखत करके आदेश पारित कर रहे हैं। ये सब कुछ यह समझने के लिए काफी है, कि अभी तक राजस्थान प्रदेश के प्रशासनिक तंत्र में कांग्रेस सरकार की वह दहशत अभी कायम नहीं हुई है, जो कि एक मजबूत सरकार की होनी चाहिए। होगी भी कैसे ? क्योंकि राजस्थान प्रदेश को अभी तक यह मालूम ही नहीं है , कि आखिर उपमुख्यमंत्री की सुननी है या मुख्यमंत्री की ?
अब जब 10 जनपद से चलाई जा कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को ही अभी तक यह भ्रम है कि प्रदेश में राज करने वाली कांग्रेस की टीम के दो कर्णधार है। तो इन बेचारे राज्य कर्मचारियों से कोई क्या कहे ?जबकि कांग्रेस आलाकमान को अब यह सब इस्तीफा और प्रपंच खत्म कर के यथार्थ के धरातल पर आ जाना चाहिए। और मौजूदा मुख्यमंत्री को खुला हाथ देकर मजबूत प्रशासनिक माहौल तैयार करना चाहिए ।जिससे प्रशासनिक महकमें का भी भ्रम दूर हो जाये और प्रदेश में मजबूत सरकार दिखाई दे।
आखिर जनता से किये हुए वादे भी तो निभाने है !


 


नरेश राघानी


भाकियू का तीन दिवसीय चिंतन शिविर


भारतीय किसान यूनियन (अम्बावत ) द्वारा हरिद्वार में आयोजित 3 दिवसीय चिंतन शिविर का आज समापन हुवा।
चिंतन शिविर में देश के हर प्रदेश से किसान नेताओ ने भाग लिया।
इस अवसर पर (राष्ट्रीय अध्यक्ष) (श्री ऋषिपाल अम्बावत) ने कहा की आजादी के सैकड़ों वर्ष बाद भी किसान की हालत सबसे दयनीय है अगर किसान के पूरे परिवार की मेहनत का मूल्यांकन करे तो आज एक धहाडी मजदूर से भी बदतर हालत किसान की है सरकारे आती रही जाती रही लेकिन किसानों की सुध किसी ने नही ली हम वर्तमान सरकार को बता देना चाहते है यदि शीघ्र किसान आयोग का गठन कर अन्य समस्याओं का समाधान 20 दिन मैं नहीं हुआ तो लखनऊ मैं बड़ा आंदोलन शुरू किया जाएगा आंदोलन में देशभर से हजारों किसान भाग लेंगे फिर दिल्ली को घेरने को मजबूर होना पड़ेगा।


भारतीय किसान यूनियन (अंबावता) के (प्रदेश अध्यक्ष) प.सचिन शर्मा ने कहा की अजीब विडम्बना है मेहनत किसान करे ओर उसकी फसल का मूल्य सरकार तय करे क्या सरकार ने कभी सोचा है की जेठ की भीषण गर्मी व सर्दी के पाले की कड़कड़ाती ठंड में किसान ही है जो अपनी मेहनत के बल पर देश की सवा सौ करोड़ जनता का भरण पोषण कर रहा है इसके बावजूद भी सरकार के पास किसानों के हित की कोई ठोस नीति नही है और कहा लोनी नगर पालिका में हुए 300 करोड़ के घोटाले के सबूत पेस किए जाएंगे और माननीय मुख्यमंत्री जी से भ्रष्टाचारियों को गिरफ्तारी की मांग भी की जाएगी


इस अवसर पर प्रमुख रूप से युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक नागर राष्ट्रीय महासचिव,  प्रवीण शर्मा (नीटू  प्रदेश संयोजक जग्गी पहलवान, राष्ट्रीय सचिव मटरू नागर, नेतराम सूबेदार ,प्रवीण अंबावता, सोनू अंबावता, उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष पदम सिंह भाटी, हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष शमशेर सिंह दहिया,  गाजियाबाद के युवा जिला अध्यक्ष अतुल यादव, जिला उपाध्यक्ष केशव चौधरी,  पूर्व पार्षद जीतपाल कश्यप  ,हरिद्वार जिला अध्यक्ष पहल सिंह,  सीतापुर मेयर किरण सिंह, पदम सिंह भाटी, शमशेर सिंह दहिया, महेश कसाना, दादरी तहसील अध्यक्ष राजकुमार, अनूप दुबे, गंगा प्रसाद यादव, शालिनी मेहता


वाजिद अली,  नैन सिंह,  मुकीम अंसारी, रामपाल अंबावता  ,इरशाद खान,  लालू यादव,  राजकुमार पांडे,  लखन गुर्जर,  किशन वीर त्यागी,  धर्मपाल सिंह,  विपिन कुमार , रामरतन सिसोदिया नीरज कुमार,  मोहम्मद नफीस जावेद,  भीम सिंह सहारनपुर मंडल अध्यक्ष राठी ,  मोहम्मद आलम मुजफ्फरनगर जिला अध्यक्ष

मथुरा जिला अध्यक्ष अनिल शर्मा, मंडल अध्यक्ष संतोष भारद्वाज
तहसील अध्यक्ष मांट सन्तोष कटारा , मीडिया प्रभारी व कोषाध्यक्ष मांट हरीशंकर गुप्ता , ब्लॉक अध्यक्ष नौहझील चुनमुन चौधरी , संजू पुजारी जी , हरिओम कटारा , कन्हैया जी , कपिल शर्मा उर्फ़ मलिंगा


आगरा से मक्खन सिंह, संत गजेंद्र, ओंकार सिंह,  साहब सिंह किसान अधिवेशन मे गुजरात,  मध्य प्रदेश,  तेलंगाना , झारखंड,  दिल्ली,  राजस्थान  ,पंजाब  हरियाणा,  उत्तर प्रदेश,  उत्तराखंड,  महाराष्ट्र व भिन्न-भिन्न प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष वह समस्त राष्ट्रीय कार्यकारिणी सभी जिला अध्यक्ष पदाधिकारी और हजारों किसान मौजूद थे !


भाजपा ने किया संसदीय कार्यसमिति का गठन

बीजेपी ने किया संसदीय कार्यसमिति का गठन


 नई दिल्ली ! बीजेपी ने संसद का सत्र शुरू होने से पहले अपनी संसदीय कार्यसमिति का गठन कर दिया है। राज्यसभा में थावरचंद गहलोत को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की जगह पर सदन का नेता बनाया है। उच्च सदन में पार्टी के संसदीय दल के उप नेता रेल मंत्री पीयूष गोयल होंगे। इसके अलावा लोकसभा में पार्टी के उप नेता राजनाथ सिंह होंगे। सदन के नेता प्रधानमंत्री होते हैं।


इसके अलावा सरकार के चीफ विप प्रहलाद जोशी होंगे, जबकि लोकसभा में डेप्युटी चीफ विप अर्जुन राम मेघवाल को बनाया गया है। राज्यसभा में डेप्युटी चीफ विप की जिम्मेदारी वी. मुरलीधरण को दी गई है। लोकसभा में पार्टी के चीफ विप की जिम्मेदारी डॉ. संजय जायसवाल को दी गई है। राज्यसभा में यह जिम्मेदारी नारायण लाल पंचारिया के कंधों पर होगी।


इसके अलावा पार्टी के कोषाध्यक्ष की जिम्मेदारी गोपाल शेट्टी को दी गई है। गोपाल शेट्टी ने उत्तर मुंबई सीट से उतरीं अमिनेत्री उर्मिला मातोंडकर को चुनावी समर में मात दी थी। मातोंडकर कांग्रेस के टिकट पर चुनाव में उतरी थीं।


 


सम्मेलन में पाकिस्तान के ऊपर से नहीं जाएंगे पीएम

एससीओ सम्मेलन में पाकिस्तान के ऊपर से नहीं जाएंगे पीएम मोदी


शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से होकर नहीं जाएंगे। बुधवार को विदेश मंत्रालय ने बताया कि भारत सरकार के पास प्रधानमंत्री के वीवीआईपी प्लेन को बिश्केक में होने वाले एससीओ सम्मेलन में जाने के लिए दो रास्ते हैं।


सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री मोदी पाकिस्तान से नहीं, बल्कि ओमान, ईरान और सेंट्रल एशियन देशों से होते हुए बिश्केक जाएंगे। गौरतलब है कि शंघाई सहयोग संगठन के 2019 का शिखर सम्मेलन बिश्केक की राजधानी किर्गिस्तान में 13 और 14 जून को आयोजित होगा। इसमें भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी जाएंगे।


इससे पहले खबर थी कि किर्गिस्तान जाने के लिए पीएम मोदी पाकिस्तान के हवाई रूट का इस्तेमाल करेंगे, और इसके लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमारन खान ने इजाजत भी दे दी है, लेकिन समिट के ठीक एक दिन पहले विदेश मंत्रालय ने अपना फैसला सुनाया कि पीएम मोदी पाकिस्तान से नहीं जाएंगे।


 


साइक्लोन के चलते कई ट्रेनें रद्द

साइक्लोनः पोरबंदर-भावनगर समेत कई स्टेशनों के लिए ट्रेनें रद्द


भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान 'वायु' उत्तर-पश्चिम की तरफ से गुजरात की ओर तेजी से बढ़ रहा है, जिसके बाद गुजरात में भारी से भारी बारिश होने की आशंका है, इस वक्त गुजरात हाई अलर्ट पर है।


गुजरात में तूफान को देखते हुए आज शाम से 6 बजे से कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है, वेरावल, ओखा, पोरबंदर, भावनगर, भुज और गांधीधाम स्टेशनों के लिए ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं इसमें यात्री और माल गाड़ी दोनों शामिल हैं, पश्चिम रेलवे के मुताबिक इन स्टेशनों के लिए 14 जून तक फिलहाल ट्रेनें रद्द रहेंगी, साथ ही हर स्टेशन से एक स्पेशल ट्रेन का इंतजाम किया गया है जो तूफान वाले इलाकों में फंसे लोगों को बाहर निकालेगी।


तूफान के बारे में बात करते हुए आईसीजी रीजनल ऑपरेशन एंड प्लानिंग ऑफिसर कमांडेंट वी. डोगरा ने कहा कि हमारी सभी यूनिट तैयार हैं, अगर कोई मछुआरा या पोत समुद्र में पाया जाता है, तो हम उन्हें वापस बंदरगाह पर भेज रहे हैं, मैरीटाइम रेस्क्यू कोऑर्डिनेशन सेंटर क्षेत्र के सभी मछुआरों को भी सलाह दी गई है कि वो समुद्र में ना जाएं।


 


15 जुलाई को लो लॉन्च होगा चंद्रयान 2

15 जुलाई को लॉन्च होगा चंद्रयान-2 


इसरो (इंडियन स्पेस रीसर्च ऑर्गनाइजेशन) के वैज्ञानिक आखिरकार चांद पर भारत का दूसरा कदम रखने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। चांद पर जाने को तैयार भारत का स्पेस मिशन चंद्रयान-2 के लॉन्च का ऐलान बेंगलुरु में इसरो के चेयरमैन डॉ. के सिवान कर दिया। उन्होंने बताया है कि 15 जुलाई को सुबह 2 बजकर 51 मिनट पर चंद्रयान-2 को लॉन्च किया जाएगा। सिवान ने बेंगलुरु में इस मिशन से जुड़ी जानकारी के लिए वेबसाइट का लॉन्च भी किया।


इसरो चेयरमैन ने जानकारी दी कि चंद्रयान-2 को 15 जुलाई सुबह 2 बजकर 51 मिनट पर प्रक्षेपित किया जाएगा। इसमें तीन हिस्से होंगे- लैंडर, रोवर और ऑर्बिटर। रोवर एक रोबॉटिक आर्टिकल है, जिसका वजन 27 किलो और लंबाई 1 मीटर है। लैंडर का वजन 1.4 टन और लंबाई 3.5 मीटर है। ऑर्बिटर का वजन 2.4 टन और लंबाई 2.5 मीटर है।


सिवान ने बताया कि लैंडर को ऑर्बिटर के ऊपर रखा जाएगा। लैंडर, ऑर्बिटर और रोवर को एक साथ कंपोजिट बॉडी कहा गया है। इस कंपोजिट बॉडी को GSLV mk lll लॉन्च वीइकल के अंदर हीट शील्ड में रखा जाएगा। 15 जुलाई को लॉन्च के 15 मिनट बाद GSLV से कंपोजिट बॉडी को इजेक्ट कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रोपल्शन सिस्टम के जलने से कंपोजिट बॉडी चांद की ओर बढ़ने लगेगी। कुछ दिन बाद एक रेट्रो बर्न होने से यह चांद की कक्षा में पहुंच जाएगी।


बंगाल में बीजेपी मार्च पर पुलिस का लाठीचार्ज

पश्चिम बंगालः बीजेपी के मार्च पर पुलिस का लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले छोड़े


पश्चिम बंगाल में बुधवार को एक और बीजेपी कार्यकर्ता का शव मिलने के बाद सूबे में तनाव और बढ़ गया है। लगातार हिंसा के खिलाफ बीजेपी कार्यकर्ता बुधवार को कोलकाता में ममता सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर गए। पुलिस मुख्यालय की तरफ बढ़ते बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।


इसके अलावा पानी की तेज बौछार से बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की गई। दरअसल, बुधवार को तनाव उस समय और बढ़ गया जब मालदा में दो दिन से लापता बीजेपी कार्यकर्ता का शव मिला। पिछले कुछ दिनों से लगातार बीजेपी और आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्या से नाराज बीजेपी कार्यकर्ताओं का गुस्सा इससे और भड़क गया।


राजधानी कोलकाता में गुस्साए बीजेपी कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर ममता सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। अपनी नाराजगी जताने के लिए पुलिस मुख्यालय का घेराव करने के लिए आगे बढ़ रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। बड़ी संख्या में सड़क पर उतरे उग्र बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस को पानी की बौझार के साथ ही आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े।


पश्चिम बंगाल में हिंसा जारी, एक और शव मिला

पश्चिम बंगाल में हिंसा जारी: एक और बीजेपी कार्यकर्ता का शव मिला


पश्चिम बंगाल में हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब एक नए मामले में मालदा में दो दिन से लापता बीजेपी कार्यकर्ता का शव मिला है। इसके बाद से ही इलाके में तनाव है। सूबे में लगातार हिंसा को लेकर पहले से ही सत्तारूढ़ टीएमसी और बीजेपी आमने-सामने हैं। अब एक और बीजेपी कार्यकर्ता के शव मिलने के बाद तनाव और बढ़ता दिख रहा है।


प्रदेश में हिंसा को लेकर बीजेपी के कार्यकर्ता बुधवार को सड़क पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे पहले मंगलवार को पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के कांकीनारा में बम धमाके में 2 लोगों की मौत हो गई जबकि 4 लोग घायल हो गए। लोकसभा चुनाव के बाद से ही टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प जारी है। उत्तर 24 परगना में हिंसा के मामले ने इस विवाद को मंगलवार को और बढ़ा दिया।


 


मोदी की अध्यक्षता में पहली कैबिनेट मीटिंग

पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की पहली बैठक, कई बड़े फैसलों पर लगेगी मुहर


केंद्र में लगातार दूसरी बार सरकार बनने के बाद आज यानी बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की पहली बैठक होगी। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में प्रधानमंत्री अपनी सरकार के रोडमैप को सामने रखते हुए लघु एवं दीर्घकालिक एजेंडे पर चर्चा कर सकते हैं। बता दें कि उक्‍त बैठक पीएम मोदी की केंद्र के सभी सचिवों के साथ हुई बातचीत के अगले दिन हो रही है।


सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में पांच जुलाई को संसद में पेश किए जाने वाले केंद्रीय बजट की तैयारियों पर चर्चा हो सकती है। इसके अलावा कैबिनेट कुछ विधेयकों पर भी मुहर लगा सकती है जो पिछली सरकार में पास नहीं हो पाए थे। बता दें कि केंद्रीय मंत्रियों ने संबंधित मंत्रालयों को जिम्मेदारी संभाल ली है लेकिन राज्य मंत्रियों के काम का बंटवारा अभी तक नहीं हो पाया है। ऐसे में आज इनके काम का निर्धारण भी किया जा सकता है।


उल्‍लेखनीय है कि चुनाव प्रचार के दौरान कई जगह पर लोगों ने शिकायत की थी कि उनको प्रधानमंत्री किसान योजना का लाभ नहीं मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वादा भी किया था कि इससे कोई वंचित नहीं रहेगा। ऐसे में योजना को बेहतर तरीके से लागू करने के बारे में भी इस बैठक में चर्चा हो सकती है। सरकार के एजेंडे पर 10 अध्यादेशों की जगह लेने वाले कानूनों सहित कई अहम विधेयक भी हैं, जिन पर मंथन हो सकता है।


प्याज की कीमतें बढ़ी, सरकार ने बंद की सब्सिडी

प्याज की कीमतें बढ़ी, तो सरकार ने बंद की ये सब्सिडी


 नई दिल्ली ! सरकार ने घरेलू बाजार में प्याज की कीमत बढ़ने के मद्देनजर इसके ताजा और कोल्ड स्टोरोज की प्याज के निर्यात पर प्रोत्साहन को समाप्त कर दिया है। प्याज के निर्यातक पर मर्चेंडाइज एक्सपोर्ट्स फ्रॉम इंडिया स्कीम (एमईआईएस) के तहत निर्यात माल के एफओबी (लदान मूल्य) के 10 फीसदी के बराबर शुल्क की पर्ची का लाभ दिया जा रहा था। इस पर्ची का इस्तेमाल मूल आयात शुल्क सहित कई प्रकार के शुल्कों के भुगतान में इस्तेमाल किया जा सकता है।


9 जून को जारी एक सार्वजनिक सूचना में विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने कहा कि वह ताजा और कोल्ड स्टोरेज की प्याज के निर्यात के लिए दिए जाने वाले लाभों को समाप्त कर रहे है। इसमें कहा गया है प्याज पर एमईआईएस के लाभ को तत्काल 10 फीसदी से घटाकर शून्य कर दिया गया है।


पिछले साल दिसंबर में इस योजना के तहत प्याज निर्यात पर प्रोत्साहन की दर को 5 फीसदी से बढ़ाकर 10 फीसदी कर दिया था। इसे इस वर्ष 30 जून तक जारी रखना था। प्रोत्साहन को वापस लेने का निर्णय इस मायने में महत्वपूर्ण है कि केंद्र सरकार ने उत्पादक राज्यों में सूखे की स्थिति को देखते हुए आने वाले महीनों में कीमतों को अंकुश में रखने के लिए 50,000 टन प्याज का बफर स्टॉक बनाना शुरू कर दिया है।


बिजली कर्मी करेंगे प्रदेश व्यापी आंदोलन

विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति,उप्र


समस्याओं का समाधान न होने पर बिजली कर्मी अगले सप्ताह करेंगे प्रदेशव्यापी आन्दोलन की घोषणा 


 लखनऊ ! विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति उप्र की आज यहां हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि यदि बिजली कर्मचारियों व अभियन्ताओं की न्यायोचित समस्याओं का द्विपक्षीय वार्ता द्वारा समाधान न किया गया तो सभी ऊर्जा निगमों के तमाम बिजली कर्मचारी व अभियन्ता अगले सप्ताह प्रदेशव्यापी आन्दोलन की घोषणा करने को बाध्य होंगे।
प्रदेश के प्रमुख सचिव ऊर्जा एवं ऊर्जा निगमों के अध्यक्ष को पत्र प्रेषित कर आज विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने मांगों का समाधान न होने से कर्मचारियों व अभियन्ताओं में सरकार व प्रबन्धन के प्रति व्याप्त आक्रोश से अवगत कराते हुए कहा कि यदि द्विपक्षीय वार्ता द्वारा समस्याओं का समाधान न किया गया तो न्याय पाने हेतु बिजली कर्मियों के पास आन्दोलन के अलावा और कोई विकल्प नहीं होगा जिसकी सारी जिम्मेदारी सरकार व प्रबन्धन की होगी।
संघर्ष समिति ने बताया कि बिजली कर्मचारियों की मुख्य मांगें विद्युत परिषद के विघटन एवं निजीकरण के प्रयोग की पूर्णतया विफलता एवं निरन्तर बढ़ रहे घाटे को देखते हुए प्रदेश में बेहतर उपभोक्ता सेवा हेतु सभी ऊर्जा निगमों का एकीकरण कर उप्र राविप निगम लि का गठन किया जाये,आगरा फ्रेन्चाइजी, ग्रेटर नोएडा का निजीकरण, पारेषण में किया गया निजीकरण और विद्युत वितरण में राजस्व वसूली, ई सुविधा,मीटर आदि के नाम पर की जा रही निजीकरण की प्रक्रिया को पूरी तरह से निरस्त किया जाये,निजी घरानों से मंहगी बिजली खरीद के विगत में किये गये सभी बिजली क्रय करार रद्द किये जाये और प्राथमिकता पर सरकारी क्षेत्र के बिजली उत्पादन गृहों से बिजली क्रय की जाये और उन्हें बन्द न किया जाये,बिजली कर्मचारियों की वेतन विसंगतियों का द्विपक्षीय वार्ता द्वारा तत्काल निराकरण किया जाये,प्रबन्धन द्वारा कार्मिकों पर दबाव पूर्ण एवं उत्पीड़नात्मक पद्वति में तत्काल सुधार लाया जाये,वर्ष 2000 के बाद भर्ती हुए सभी कार्मिकों के लिए पुरानी पेन्शन प्रणाली लागू की जाये एवं पुरानी पेन्शन प्रणाली लागू होने तक एन पी एस की तरह सी पी एफ में भी नियोजक का अंशदान 14 प्रतिशत तत्काल किया जाये,सभी श्रेणी के समस्त रिक्त पदों पर नियमित भर्ती की जाये और नियमित प्रकृति के कार्यों में संविदा/ठेकेदारी प्रथा समाप्त कर संविदा कर्मियों को तेलंगाना सरकार के आदेश की तरह नियमित किया जाये एवं ई-सुविधा के माध्यम से मेसर्स मेधज कम्पनी लि से अनावश्यक रूप से किया गया करार रद्द किया जाये, कर्मचारियों/अभियन्ताओं के उत्पीड़न हेतु जारी की गयी स्थानान्तरण नीति तत्काल वापस ली जाये।
संघर्ष समिति की आज यहां हुई बैठक में मुख्य रूप से शैलेन्द्र दुबे, राजीव सिंह, गिरीश पाण्डेय, सदरुद्दीन राना,सुहैल आबिद, विपिन प्रकाश वर्मा, राजेन्द्र घिल्डियाल,वी सी उपाध्याय, परशुराम, पी एन राय, अशोक कुमार,भगवान मिश्र,पूसे लाल, ए के श्रीवास्तव, महेन्द्र राय, शशिकान्त श्रीवास्तव, करतार प्रसाद, के एस रावत, पी एन तिवारी, आर एस वर्मा, डीके मिश्रा, पवन श्रीवास्तव, शम्भू रत्न दीक्षित, कुलेन्द्र प्रताप सिंह, मो इलियास उपस्थित थे। बैठक की अध्यक्षता सदरूद्दीन राणा ने की।


अस्पताल में हो रहा भ्रष्टाचार एवं लापरवाही

गाजियाबाद ! नगर निगम वार्ड नंबर 39 के पार्षद एवं भाजपा नेता हिमांशु लव ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर गाजियाबाद एमएमजी राजकीय अस्पताल में हो रही लापरवाही व भ्रष्टाचार के संबंध में अवगत कराया है! पार्षद हिमांशु लव ने बताया कि एमएमजी राजकीय अस्पताल गाजियाबाद की ओर से मैं आपको अवगत कराना चाहता हूं कि गाजियाबाद भाजपा कार्यकर्ता संजय कुमार कामत अपने दोपहिया वाहन से कहीं जा रहे थे ! किसी अन्य वाहन द्वारा उनको टक्कर मार दी गई !जिस कारणवश उनकी दोनों टांग के घुटनों तथा अन्य हड्डियों टूट गई ! संजय कुमार को गंभीर जख्मी अवस्था में राजकीय अस्पताल एमएमजी जीटी रोड गाजियाबाद में दिनांक 6 जून 2019 को अर्जेंसी में दाखिल कराया गया ! संजय कुमार कामत का इलाज डॉक्टर अरुण कुमार हड्डी रोग विशेषज्ञ के द्वारा किया जा रहा था ! लगातार चार दिनों तक संजय कुमार कामत राजकीय अस्पताल एमएमजी में तड़पते रहे! डॉक्टरों के आपसी विवाद के कारण संजय कुमार कामंत की तरफ ध्यान किसी डॉक्टर द्वारा नहीं दिया गया ! डॉक्टरों द्वारा बताया गया कि वह आपके दोनों घुटनों में प्लेट पड़ेंगे ! आप बाजार से प्लेट मंगवा लो ! मरीज के परिवार द्वारा दोनों टांगों के लिए डॉक्टर द्वारा बताई गई प्लेट उपलब्ध करा दी गई! परंतु फिर भी डॉक्टर द्वारा उक्त मरीज का ऑपरेशन कर प्लेट नहीं डाली गई! किसी प्रकार का उपचार नहीं कराया गया! आखिरकार हार कर मजबूरन संजय कुमार के परिवार के लोग उनको एक निजी अस्पताल दिनांक 10 जून 2019 को ले गए!  वहां पर उसका ऑपरेशन कराया ! पार्षद ने मांग की है कि उपरोक्त घटनाक्रम का संज्ञान लेते हुए एवं जी राजकीय अस्पताल गाजियाबाद भ्रष्टाचार मे व्यस्त डॉक्टरों की लापरवाही और ड्यूटी के प्रति गैर जिम्मेदारी व्यवहार करने के प्रति कार्रवाई करने की मांग की!


ब्रेन हेमरेज क्या है?

ब्रेन हेमरेज क्या है


डा महेश सिन्हा की एक बहुत उपयोगी पोस्ट 
मस्तिष्क आघात के मरीज़ को कैसे पहचानें?


मस्तिष्क आघात --जी वही, जिसे कईं बार ब्रेन-स्ट्रोक भी कह दिया जाता है अथवा आम भाषा में दिमाग की नस फटना या ब्रेन-हैमरेज भी कह देते हैं।
इस के बारे में पोस्ट डाक्टर साहब लिखते हैं!


एक पार्टी चल रही थी, एक मित्र को थोड़ी ठोकर सी लगी और वह गिरते गिरते संभल गई और अपने आस पास के लोगों को उस ने यह कह कर आश्वस्त किया कि सब कुछ ठीक है, बस नये बूट की वजह से एक ईंट से थोड़ी ठोकर लग गई थी। (आस पास के लोगों ने ऐम्बुलैंस बुलाने की पेशकश भी की).
साथ में खड़े मित्रों ने उन्हें साफ़ होने में उन की मदद की और एक नई प्लेट भी आ गई। ऐसा लग रहा था कि इन्ग्रिड थोड़ा अपने आप में नहीं है लेकिन वह पूरी शाम पार्टी तो एकदम एन्जॉय करती रहीं। बाद में इन्ग्रिड के पति का लोगों को फोन आया कि कि उसे हस्पताल में ले जाया गया लेकिन वहां पर उस ने उसी शाम को दम तोड़ दिया।


दरअसल उस पार्टी के दौरान इन्ग्रिड को ब्रेन-हैमरेज हुआ था अगर वहां पर मौजूद लोगों में से कोई इस अवस्था की पहचान कर पाता तो आज इन्ग्रिड हमारे बीच होती।


ठीक है ब्रेन-हैमरेज से कुछ लोग मरते नहीं है --लेकिन वे सारी उम्र के लिये अपाहिज और बेबसी वाला जीवन जीने पर मजबूर तो हो ही जाते हैं।


जो नीचे लिखा है इसे पढ़ने में केवल आप का एक मिनट लगेगा 


स्ट्रोक की पहचान -


एक न्यूरोलॉजिस्ट कहते हैं कि अगर स्ट्रोक का कोई मरीज़ उन के पास तीन घंटे के अंदर पहुंच जाए तो वह उस स्ट्रोक के प्रभाव को समाप्त (reverse)भी कर सकते हैं---पूरी तरह से। उन का मानना है कि सारी ट्रिक बस यही है कि कैसे भी स्ट्रोक के मरीज़ की तुरंत पहचान हो, उस का निदान हो और उस को तीन घंटे के अंदर डाक्टरी चिकित्सा मुहैया हो, और अकसर यह सब ही अज्ञानता वश हो नहीं पाता।


स्ट्रोक के मरीज़ की पहचान के लिये तीन बातें ध्यान में रखिये --और इस से पहले हमेशा याद रखिये ----STR.


डाक्टरों का मानना है कि एक राहगीर भी तीन प्रश्नों के उत्तर के आधार पर एक स्ट्रोक के मरीज की पहचान करने एवं उस का बहुमूल्य जीवन बचाने में योगदान कर सकता है, इसे अच्छे से पढ़िये और मन में बैठा लीजिए !


S ---Smile आप उस व्यक्ति को मुस्कुराने के लिये कहिए।


T-- talk उस व्यक्ति को कोई भी सीधा सा एक वाक्य बोलने के लिये कहें जैसे कि आज मौसम बहुत अच्छा है।


R --- Raise उस व्यक्ति को दोनों बाजू ऊपर उठाने के लिये कहें।


अगर इस व्यक्ति को ऊपर लिखे तीन कामों में से एक भी काम करने में दिक्कत है , तो तुरंत ऐम्बुलैंस बुला कर उसे अस्पताल शिफ्ट करें और जो आदमी साथ जा रहा है उसे इन लक्षणों के बारे में बता दें ताकि वह आगे जा कर डाक्टर से इस का खुलासा कर सके।


नोट करें ---- स्ट्रोक का एक लक्षण यह भी है!


1. उस आदमी को जिह्वा (जुबान) बाहर निकालने को कहें।
2. अगर जुबान सीधी बाहर नहीं आ रही और वह एक तरफ़ को मुड़ सी रही है तो भी यह एक स्ट्रोक का लक्षण है।


एक सुप्रसिद्ध कार्डियोलॉजिस्ट का कहना है कि अगर इस ई-मेल को पढ़ने वाला इसे आगे दस लोगों को भेजे तो शर्तिया तौर पर आप एक बेशकीमती जान तो बचा ही सकते हैं, 
और यह जान आप की अपनी भी हो सकती है।
समय गूंगा नहीं
बस मौन है


शामली जीआरपी पुलिस की खुलेआम गुंडई

शामली में जीआरपी पुलिस की खुलेआम गुंडई,


खबर चलाने पर पत्रकार की बेरहमी से पिटाई,


 शामली ! जीआरपी एसओ अपने गुंडों से खुलेआम करा रहे न्यूज़ 24 के पत्रकार अमित शर्मा की पिटाई ! पिटाई का लाइव वीडियो कैमरे में कैद!पीड़ित पत्रकार ने ट्रेनों में चल रहे अवैध वेंडरों की चलाई थी खबर ! खबर चलने के बाद जीआरपी पुलिस को झेलना पड़ा था अधिकारियों का गुस्सा ! गुस्साए एसओ ने पत्रकार को किया हवालात में बंद, डंडे के बल पर पत्रकार का मोबाईल भी छीनाशामली रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी के डिब्बे स्लिप हो जाने की खबर कवरेज करने गया था पीड़ित पत्रकार अमित शर्मा!


 


बाप ने नाबालिग बेटी को बनाया हवस का शिकार

हैवान बाप की हैवानियत जो कि अपनी ही 14वर्षीय बेटी को बनाता आरहा था अपनी हवस का शिकार


बेहद शर्मनाक खबर सहारनपुर थाना रामपुर मनिहारान


थाना रामपुर मनिहारान पुलिस बनी हुई है मोन मां व बेटी ने श्री विद्यासागर जी ग्रामीण एस पी जिला सहारनपुर को सुनाई आपबीती
सहारनपुर ! थाना रामपुर मनिहारान के गांव छिदवना निवासी हैवान बाप मोहतरम पुत्र मुस्तकीम अपनी ही 14 वर्षीय पुत्री नाजरीन के साथ पिछले 6 माह से डरा धमका कर करता आ रहा था बलात्कार !
14 वर्षीय नाजरीन मासूम बच्ची पर जुल्म हुआ, वो कितना रोई होगी? सुनकर कलेजा फट जाता है, जरा सोचो उसकी माँ कैसे सोई होगी? " जी हां, हम बेहद शर्मिंदगी के साथ बात कर रहे हैं! 14 वर्षीय नाजरीन की जिसके बारे में सुनकर पढ़कर सबका कलेजा मुंह को आ गया है। लेकिन ये पहला काण्ड नहीं हैअब एक बार और दोराई कलयुगी बाप ने रिश्तो को शर्मसार करने वाली घटना !


उम्र कैदी ने जिला अस्पताल में तोड़ा दम

आजीवन की सजा काट रहे कैदी राजाराम ने डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में तोड़ा दम, बीपी हाई होने पर हुआ था भर्ती


परिजनों की मौजूदगी में आज होगा पीएम


सतना ! अपहरण के मामले में यहां सेण्ट्रल जेल में आजीवन की सजा काट रहे कैदी राजाराम वल्द शिवलोचन कुशवाहा (65 वर्ष) निवासी ग्राम भंवर थाना बरौंधा जिला सतना की देर रात जिला चिकित्सालय में उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। जेल सूत्रों के मुताबिक कैदी राजाराम को जेल में अचानक बीपी हाई होने से बेचैनी व घबराहट के कारण मंगलवार की रात 8 बजे के करीब जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। यहां देर रात लगभग 2:30 बजे उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। जेल प्रबंधन द्वारा कैदी के मौत की खबर उनके परिजनों तक भिजवा दी गई है। मृतक कैदी राजाराम के शव का पीएम आज उनके परिजनों की मौजूदगी में किया जाएगा। गौरतलब हो कि अपहरण के मामले में मृतक कैदी राजाराम को वर्ष 2006 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी, तबसे वह यहां सेण्ट्रल जेल में ही रहा। यहां ये बता दें कि पिछले दिनों जेल के उधोग कार्यालय में पंखे पर फंदा डाल फांसी लगाने वाले भंवर क्षेत्र के मृतक कैदी अनिल कुशवाहा और मृतक राजाराम के बीच चाचा भतीजे का रिश्ता था।


परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

युवक की संदिग्ध मौत,परिजनों ने पुलिस पर लगाया हत्या का आरोप


 



अहमदाबाद। अहमदाबाद के गोमतीपुर इलाके में पिछले दिनों पुलिस ने दबिश दी थी! इस दबिश के दौरान एक 28 साला नोजवान मोहसिन खान पठान गम्भीर घयाल हो गया था।घयाल अवस्था में मोहसिन को वी सी हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था। ज़िन्दगी और मौत के बीच जंग लड़ते हुए आज मोहसिन ने दम तोड़ दिया।मौत से गुस्साए परिवार वालो ने लाश लेने से मना कर दिया। परिवार वालो का आरोप था कि पुलिस कार्यवाही की वजह से मोहसिन की जान गई है। सुचना मिलने पर अहमदाबाद में मौजूद मानवाधिकार संगठन (NCHRO)के एड्वोकेट अन्सार इन्दौरी अस्पताल की मोर्चरी पर पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली।संगठन जल्द ही इस मामले में मानवाधिकार आयोग को शिकायत भेज कर कार्यवाही करने की मांग करेगा। परिवार जनों की मांग थी की जो पुलिस कर्मी दोषी हैं उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाये। मृतक के परिवार वालो को उचित मुआवजा दिया जाये।परिवार के एक सदस्य को सरकारी नोकरी दी जाए। मोर्चरी के बाहर अहमदाबाद के कई सामाजिक,राजनीतिक और नागरिक अधिकार कार्यकर्ता मौजूद थे।


अनियंत्रित जनसंख्या

अनियंत्रित जनसंख्या
जनसंख्या का घनत्व मानव जाति की उपज है और अब मानव जाति को प्रभावित करने का कार्य कर रहा है! विश्व में कई देश जनसंख्या नियंत्रित करने के उपाय कर रहे हैं ! कई देश जनसंख्या पर नियंत्रण रखते हैं! ज्यादातर विकसित राष्ट्रों में जनसंख्या पर नियंत्रण कर भी लिया गया है! परंतु भारत गणराज्य में जनसंख्या पूरी तरह अनियंत्रित है! सरकार के द्वारा किए गए पिछले सभी प्रयास नाकाफी सिद्ध हुए ! जागरूकताऔर व्यापक स्तर पर प्रचार भी किया गया! परंतु सामाजिक ढांचे में इसे स्थापित नहीं किया जा सका है ! भाजपा की सरकार को जनसंख्या नियंत्रण के संबंध में सफल प्रयास करना चाहिए! देश की समृद्धि और मानवीय विकास के क्षेत्र में यह कार्य समय की अपेक्षा भी है !जनसंख्या राष्ट्र के मूल विकास में बाधा उत्पन्न कर रही है! इसके विपरीत अनावश्यक वृद्धि का कोई भी समुचित प्रयोजन नहीं है ! अशिक्षा- कुपोषण से प्रभाव ग्रस्त आबादी को बढ़ाने से क्या लाभ है? देश की आबादी दुनिया की कुल आबादी में लगभग 6% की भागीदारी है ! यह दिन- प-दिन बढ़ती जा रही है ! जिसके चलते बेरोजगारी का ग्राफ भी रोज बढ़ता जा रहा है ! जनसंख्या घनत्व किसी भी परिस्थिति में उचित नहीं है! परिवार नियोजन जैसी योजनाओं को निम्न स्तर पर लागू करना अति आवश्यक है ! जब तक सरकार इस समस्या का स्थाई समाधान नहीं कर पाती है, तब तक जनसंख्या नियंत्रण के संबंध में व्यापक प्रचार- प्रसारआवश्यक है! जनता में जागरूकता लाने के प्रयासों पर बल देने की सख्त जरूरत है !जनसंख्या नियंत्रित करना राष्ट्र के विकास में मील का पत्थर साबित होगा!


 राधेश्याम  'निर्भयपुत्र'


राजनीति से संयास क्यों नहीं लेते छूट भैया

राजनीति से संयास क्यों नहीं लेते छूट भैया
गाजियाबाद ! मोदी और योगी के बहाव में विपक्ष की राजनीति की तेज धार दिशाहीन हो चुकी है !जनता का पूर्ण रूप से समर्थन का मंजर देख कर विपक्ष असंतुलित हो गया है! सपा बसपा और कांग्रेस पार्टी से जनता ने मुंह मोड़ लिया है! क्योंकि दलगत विचारधारा को छोड़कर निजी विचार को प्राथमिकता देने वाले, अवसरवादी नेताओं को यह भी समझ नहीं रह गई है कि वे राजनीति में क्यों है? सत्ता और टिकटों की राजनीति करने वालों की वास्तविक वास्तविकता यही है कि वह वास्तविक राजनीति से काफी दूर रहते हैं! पक्ष और विपक्ष दोनों ही राजनीतिक अखाड़े में एक-दूसरे के सामने खड़े रहते हैं ! एक तरफ आत्मविश्वास है दूसरी तरफ खिज! छूट भैया नेताओं को दल और विचारधारा से कोई संबंध नहीं होता है ! केवल अपने स्वार्थ के लिए भीड़ का हिस्सा बनते हैं! जो जनता की समस्या को लेकर सड़क चौराहों पर खड़े हैं! जनता के हित की नीति पर कार्य कर रहे हैं ! वह जनता के प्रिय होने के साथ-साथ राजनीति को समझने का भी प्रयास कर रहे हैं! सुस्त और सुक्त राजनीति में जनता केवल गालियां ही फटकारथी है !धर्म और जाति की राजनीति का समय काफी पीछे चला गया है !जनता शिक्षित बन रही है, हित और अहित की समझ रखती है !अपनी समस्याओं के लिए जूझ रही है ! जिस नेतृत्व की जनता को आवश्यकता रहती है! उस नेतृत्व के अभाव में जनता की समस्या विकराल भी होती रहती है! जो नेता विपक्षी बनने के लायक नहीं है ! उसे जनता कभी पसंद नहीं करती है! विपक्ष में चीखने-चिल्लाने वाले की आवाज ही जन जागरण बन जाती है! यदि छूटभैया विपक्ष भी बनने की स्थिति में नहीं है, तो सन्यास एक-मात्र उपाय शेष है!


एंटी रोमियो दस्ता फिर सक्रिय करेंगे: योगी

एंटी रोमियो दस्ता फिर सक्रिय किया जाए: योगी आदित्यनाथ


उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बालिकाओं के साथ बढ़ रहे अपराधों पर रोक लगाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त कदम उठाने के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिए हैं।


उन्होंने कहा कि प्रत्येक रेंज से नाबालिक बालिकाओं के साथ हुए जघन्य अपराधों के 10-10 मामलों को चिन्हित कर फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलवाया जाए। ऐसे अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाए। मुख्यमंत्री ने एंटी रोमियो दस्ते को तत्काल सक्रिय करने के निर्देश दिए हैं।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस अफसरों से कहा कि महिलाओं और बालिकाओं के उत्पीड़न से जुड़ी घटनाओं पर तत्काल प्रभावी कार्रवाई की जाए। प्रत्येक थाना क्षेत्र में पूर्व में महिलाओं और बालिकाओं के विरुद्ध अपराधों में संलिप्त रहे व्यक्तियों को चिन्हित कर उन्हें पाबन्द करने के निर्देश भी दिए।


मुख्यमंत्री ने पुलिसिंग के साथ ही डायल-100 तथा एंटी रोमियो दस्ते को और अधिक सक्रिय किये जाने के निर्देश दिए हैं। एंटी रोमियो दस्ते की कार्रवाइयों को पूरे जून माह अभियान के रूप में चलाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने भीड़भाड़ वाले तथा संवेदनशील स्थानों पर एंटी रोमियो दस्ते को निरन्तर सक्रिय रखने को कहा।


चरकनगर एसडीएम ने लिया खबरों का संज्ञान

 इटावा ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह क्षेत्रीय विकास में रातोदिन मेहनतकश युवा उपजिलाधिकारी इंद्रजीत सिंह अपने विकास के सभी अमले को लेकर मीडिया की खबर को संज्ञान लेते हुए गांव खिरीटी पहुंचे और विकास की स्थिति का जायजा लिया।
जानकारी के अनुसार विकासखंड चकरनगर के गांव खिरिटी स्वच्छता मिशन के तहत चल रही लापरवाही और अनियमितता से संबंधित मीडिया के द्वारा प्रसारित खबरों का संज्ञान लेते हुए अपने विकास के अमले को साथ में लेकर राजस्व गांव खिरीटी पहुंचे! जहां पर विकास व अनाधिकृत कब्जे से संबंधित और समाचार की सत्यता को परखने के लिए स्थिति को देखा और समस्याओं के समाधान हेतु संबंधित अधिकारियों को आदेशित किया! इस कार्यक्रम में खंड विकास अधिकारी चकरनगर प्रमोद कुमार, एडीओ पंचायत सूरज सिंह यादव, अपने तमाम अधिकारी और कर्मचारी के साथ मौके पर मौजूद रहे। क्षेत्रीय जनता ने उपजिलाधिकारी इंद्रजीत सिंह आईएएस का आभार जताते हुए धन्यवाद भी दिया!


ड्रोन हमले को 'गलती' के रूप में स्वीकार किया

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के एक शीर्ष सैन्य कमांडर ने काबुल हवाईअड्डे पर पिछले महीने हुए आत्मघाती धमाके के कुछ दिनों बाद ‘आईएसआईएस-के’के आतंकवा...