गुरुवार, 15 फ़रवरी 2024

करीब 20 मोबाइलों को रखते हैं गूगल के सीईओ

करीब 20 मोबाइलों को रखते हैं गूगल के सीईओ 

अखिलेश पांडेय 
नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। एक शख्स के लिए वैसे तो एक ही मोबाइल पर्याप्त होता है या फिर कुछ लोग दो से तीन रख लेते हैं। लेकिन एक से ज्यादा मोबाइल कैसे मैनेज करते होंगे, कहीं ना कही मुश्किल भी होता होगा।
क्या आपने कभी सोचा है कि टेक कंपनी गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई कितने मोबाइल रखते होंगे। आप को जानकर हैरानी होगी कि पिचाई करीब 20 मोबाइल को रखते हैं और सभी मोबाइल का इस्तेमाल भी करते हैं। पिचाई ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वह 20 मोबाइल का उपयोग करते हैं। कहा कि 20 मोबाइल को रखना ये भी उनके काम का हिस्सा है। गूगल की तमाम सर्विस के टेस्ट के लिए उन्होंने इतने मोबाइल की जरूरत होती है।

पिचाई मोबाइल के नहीं बदलते पासवर्ड
इंटरव्यू में पिचाई ने यह भी बताया कि वह बार बार मोबाइल के पासवर्ड नहीं बदलते हैं। पिचाई का कहना है कि बार बार पासवर्ड को चेंज करने से याद करने में समस्या होती, मतलब भूलने के चांस बढ़ जाते हैं, इसलिए पासवर्ड में बदलाव नहीं करते।

अयोध्या दर्शन को पहुंचे सीएम सावंत व कैबिनेट

अयोध्या दर्शन को पहुंचे सीएम सावंत व कैबिनेट 

संदीप मिश्र 
अयोध्या। मुख्यमंत्री के साथ राम की नगरी अयोध्या पहुंची गोवा सरकार की कैबिनेट राम मंदिर पहुंचकर रामलला के सम्मुख नतमस्तक हुई। एयरपोर्ट पर उतरी कैबिनेट का परंपरागत अंदाज में भव्य स्वागत किया गया। बृहस्पतिवार को गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत अपनी पूरी कैबिनेट के साथ रामलला के दरबार में हाजिरी लगाने के लिए अयोध्या दर्शन को पहुंचे।  अयोध्या एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के साथ उतरे कैबिनेट के सभी 51 सदस्यों का परंपरागत अंदाज में भव्य स्वागत किया गया। एयरपोर्ट से मुख्यमंत्री और उनकी कैबिनेट का काफिला सीधा राम जन्मभूमि परिसर में पहुंचा। ई- बस में सवार होकर राम मंदिर पहुंची गोवा कैबिनेट ने रामलला के दरबार में पहुंचकर अपनी हाजिरी लगाई और भगवान राम का दर्शन पूजन किया। एयरपोर्ट पर उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री सतीश शर्मा, अयोध्या विधायक वेद प्रकाश गुप्ता एवं महापौर महंत गिरीश पति त्रिपाठी तथा जिला पंचायत अध्यक्ष रोली सिंह द्वारा सभी का गर्म जोशी के साथ स्वागत किया गया।

भाजपा पर समस्या पैदा करने का आरोप लगाया

भाजपा पर समस्या पैदा करने का आरोप लगाया 

मिनाक्षी लोढी 
कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर अशांत संदेशखालि में समस्या पैदा करने का आरोप लगाया और कहा कि इलाके में शांति बहाल करने के लिए हरसंभव आवश्यक कार्रवाई की गई है। बनर्जी ने राज्य विधानसभा में कहा कि अशांत संदेशखालि क्षेत्र में 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और किसी भी तरह की गैरकानूनी गतिविधि में शामिल किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा।
सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के नेताओं द्वारा स्थानीय लोगों पर कथित अत्याचारों को लेकर जिस क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन हो रहा है, उसका जिक्र करते हुए बनर्जी ने विधानसभा में कहा कि उन्होंने कभी किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया है और न ही होने देंगी। उन्होंने कहा, ‘‘हम संदेशाखालि की स्थिति पर नजर रख रहे हैं।
किसी भी गलत काम में शामिल किसी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा। मैंने वहां राज्य महिला आयोग को भेजा है और संदेशाखालि के लिए एक पुलिस दल गठित किया है।’’ बनर्जी ने कहा, ‘‘क्षेत्र में अशांति फैलाने के लिए एक भयानक साजिश रची जा रही है और राज्य सरकार ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई की है।’’
बुधवार को लगातार सातवें दिन संदेशखालि में विरोध प्रदर्शन जारी रहा, बड़ी संख्या में महिलाएं सड़कों पर उतर आईं और तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख और उनके सहयोगियों की गिरफ्तारी की मांग की। शाहजहां शेख और उनके साथियों के खिलाफ आरोप हैं कि वे जबरन जमीन पर कब्जा करते हैं और महिलाओं का यौन उत्पीड़न करते हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘यह पता चला है कि किस तरह भाजपा कार्यकर्ताओं को लाया गया और योजनाबद्ध तरीके से हिंसा भड़काई गई। मुख्य निशाना शाहजहां शेख थे और ईडी ने उन्हें निशाना बनाते हुए इलाके में प्रवेश किया।’’ बनर्जी ने कहा, ‘‘इसके बाद उन्होंने वहां से सभी को बाहर निकाला और इसे आदिवासियों तथा अल्पसंख्यकों की लड़ाई की तरफ पेश किया।’’ तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘यह नई बात नहीं है।
वहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का आधार है। वहां 7-8 साल पहले दंगे हुए थे। यह दंगों के लिहाज से सबसे संवेदनशील स्थानों में से एक है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस का एक दल लोगों की शिकायतें सुनने के लिए उनके घरों पर पहुंच रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘हम बताए जाने वाले मुद्दों पर जरूर ध्यान देंगे। लेकिन मुझे कार्रवाई करने के लिए मामला पता होना जरूरी है।’’

लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेगी गांधी, लिखा पत्र

लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेगी गांधी, लिखा पत्र 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। कांग्रेस संसदीय दल की प्रमुख सोनिया गांधी ने अपने निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली की जनता के नाम एक पत्र लिखकर कहा है कि वह स्वास्थ्य और बढ़ती उम्र के चलते आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेगी। उन्होंने रायबरेली की जनता का आभार जताया और कहा कि वह भले ही सीधे तौर पर उनका प्रतिनिधित्व न करें, लेकिन उनका मन-प्राण सदा वहां की जनता के साथ रहेगा।
सोनिया गांधी ने पत्र में कहा, " अब स्वास्थ्य और बढ़ती उम्र के चलते मैं अगला लोकसभा चुनाव नहीं लडूंगी। इस निर्णय के बाद मुझे आपकी सीधी सेवा करने का अवसर नहीं मिलेगा, लेकिन यह तय है कि मेरा मन-प्राण हमेशा आपके साथ रहेगा।"
सोनिया गांधी ने चिट्टी में बहुत ही भावुक बातें लिखीं। सोनिया ने कहा कि रायबरेली ने मेरे परिवार के बहुत गहरे रिश्ते रहे हैं। आजादी के बाद आपने मेरे ससुर फिरोज गांधी जी को जिताकर दिल्ली भेजा। उसके बाद आपने मेरी सास स्वर्गीय इंदिरा गांधी जी को यहीं से जिताकर ना केवल दिल्ली भेजा बल्कि अपना बना लिया। तभी से यह सिलसिला जिंदगी के उतार चढ़ाव और मुश्किल भरी राह पर प्यार और जोश के साथ आगे बढ़ता गया और इसपर हमारी आस्था और मजबूत होती गई। 
इसी रौशन रास्ते पर आपने मुझे भी चलने की जगह दी।  सास और जीवनसाथी को खोकर मैं आपके पास आई और आपने अपना आंचल मेरे लिए फैला दिया। आज मैं जो कुछ भी हूं आप ही की वजह से हूं और मैंने इस भरोसे को निभाने की भरसक कोशिश की है।  
बता दें कि सोनिया गांधी ने बुधवार को राज्यसभा चुनाव के लिए राजस्थान से नामांकन दाखिल किया। पहली बार वह उच्च सदन में जा रही हैं। वह 1999 से लोकसभा की सदस्य हैं। वह 2004 से रायबरेली का लोकसभा में प्रतिनिधित्व कर रही हैं।

टिकैत की मासिक बैठक आयोजित की गई

टिकैत की मासिक बैठक आयोजित की गई 

संदीप मिश्र 
बरेली। भारतीय किसान यूनियन टिकैत की बृहस्पतिवार को मासिक बैठक आयोजित की गई। जिसमें 16 फरवरी को बुलाए गए भारत बंद को सफल बनाने के लिए चर्चा कर रणनीति बनाई गई। इसके साथ ही निराश्रित गोवंश और गन्ना के बकाया भुगतान को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान बैठक में उपस्थित किसान संगठन के सभी पदाधिकारियों ने अपने-अपने विचार रखे। 
आपको बता दें कि बैठक की अध्यक्षता भारतीय किसान यूनियन टिकैत के प्रदेश प्रभारी बलजिंदर सिंह मान ने की। इस बैठक में संगठन के जिला महासचिव यामीन मलिक, मीडिया प्रभारी चौधरी अजीत सिंह, अनीस मलिक, सार्थक संधु, करीम टिकैत, नुक्ता प्रसाद, कुलवीर सिंह राठी, अमर पाल सिंह, धनीराम समेत तमाम पदाधिकारी बैठक में उपस्थित रहे।
किसान एकता संघ का आज शाम कैंडल मार्च 
दिल्ली में किसान आंदोलनकारियों पर केंद्र सरकार की तरफ से की जा रही ज्यादती के विरोध मे आज शाम छह बजे चौकी चौराहा स्थित सेठ दामोदर स्वरूप पार्क से कैंडल मार्च निकाला जाएगा। इसको लेकर किसान एकता संघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री डॉ. रवि नागर ने बताया कि कैंडल मार्च के माध्यम से सरकार को सचेत किया जाएगा कि किसान आंदोलन के समय समझौते के अनुसार किसानों की मांगें जल्दी स्वीकर की जाएं। 
ऐसा नहीं होने पर संयुक्त किसान मोर्चा आर-पार की लड़ाई के लिए तैयार है। किसान नेता ने आगे कहा कि शुक्रवार को संयुक्त किसान मोर्चा के ग्रामीण भारत बंद के आह्वान पर बरेली भी प्रभावित रहेगा। जिसमें संयुक्त किसान मोर्चा के साथ केंद्रीय श्रम महासंघ, खेत मजदूर यूनियन और स्वतंत्र फेडरेशन के तमाम संगठन भी शामिल रहेंगे।

शीर्ष अदालत के हर फैसले का सम्मान करना चाहिए

शीर्ष अदालत के हर फैसले का सम्मान करना चाहिए 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बृहस्पतिवार को चुनावी बॉन्ड पर उच्चतम न्यायालय के फैसले को तवज्जो नहीं देने का प्रयास करते हुए कहा कि शीर्ष अदालत के हर फैसले का सम्मान किया जाना चाहिए। पार्टी ने विपक्षी दलों पर इस मुद्दे का राजनीतिकरण करने का आरोप भी लगाया।
भाजपा प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा कि विपक्ष इस मुद्दे का राजनीतिकरण कर रहा है क्योंकि उसके पास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और उनकी सरकार द्वारा किए गए सकारात्मक कार्यों से मुकाबले का कोई विकल्प नहीं है। भाजपा की यह प्रतिक्रिया लोकसभा चुनाव से पहले उच्चतम न्यायालय द्वारा चुनावी बॉन्ड योजना को रद्द करने के एक ऐतिहासिक फैसले के बाद आई है।
कोहली ने पीटीआई से कहा, ‘‘हम अदालतों में वकालत करते हैं और रोजाना मामले जीते और हारे जाते हैं।’’ उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय के किसी भी आदेश या उसके फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए और उसका सम्मान किया जाना चाहिए।
उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘लेकिन जो राजनीतिक दल इसे राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं, वे मुख्य रूप से इस आधार पर ऐसा कर रहे हैं क्योंकि उनके पास मोदीजी के नेतृत्व और उनकी सरकार द्वारा किए गए सकारात्मक कार्यों का कोई जवाब या विकल्प नहीं है, जिनसे करोड़ों लोग लाभान्वित हुए हैं।’’
कोहली ने कहा कि भारत अब 10वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था से दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है और प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में यह तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ये राजनीतिक दल खुद ऐसी स्थिति में हैं कि जिस गठबंधन को वे बनाने की कोशिश कर रहे थे, वह लगभग खत्म हो रहा है या यह अपने पैरों पर खड़ा होने से पहले ही खत्म हो गया है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए इसका राजनीतिकरण करने का उनका कारण बहुत स्पष्ट है।’’ कोहली ने कहा कि सरकार चुनावों में काले धन के इस्तेमाल के मुद्दे के समाधान के लिए चुनावी बॉन्ड योजना लाई थी। भाजपा नेता ने कहा, ‘‘सबसे बड़ा परिप्रेक्ष्य यह है कि यह कई दशकों से चिंता का एक विषय रहा है कि काले धन या धन को चुनावी प्रक्रिया में आने से कैसे रोका जाए।’’
उन्होंने कहा, ‘‘चंदा देने वालों की पहचान को ध्यान में रखते हुए एक (चुनावी बॉन्ड) योजना आई। उच्चतम न्यायालय ने माना है कि इस प्रारूप में यह योजना नहीं हो सकती थी। इसलिए, इसने कुछ निर्देश पारित किए हैं।’’ कोहली ने कहा कि शीर्ष अदालत ने ‘मूल रूप से’ आज कहा है कि चुनावी बॉन्ड से संबंधित जानकारी बाहर आनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘उच्चतम न्यायालय के किसी भी आदेश या उसके फैसले को स्वीकार करना होगा।’’
शीर्ष अदालत ने कहा कि सरकार की चुनावी बॉन्ड योजना अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के संवैधानिक अधिकार के साथ-साथ सूचना के अधिकार का उल्लंघन करती है। शीर्ष अदालत ने भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) को आदेश दिया कि वह निर्वाचन आयोग को छह साल पुरानी योजना में योगदान देने वालों के नामों का खुलासा करे। विपक्षी दलों ने उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत किया और सत्तारूढ़ भाजपा पर हमला बोला।
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि न्यायालय ने मोदी सरकार की ‘काला धन सफेद करने की’ योजना को रद्द कर दिया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि मोदी सरकार भविष्य में ऐसे विचारों का सहारा लेना बंद कर देगी और उच्चतम न्यायालय की बात सुनेगी ताकि लोकतंत्र, पारदर्शिता और समान अवसर कायम रहें।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-118, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. शुक्रवार, फरवरी 16, 2024

3. शक-1945, पौष, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 07:13, सूर्यास्त: 06:52।

5. न्‍यूनतम तापमान- 15 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। इस समय देश में सभी देशवासियों का गर्मी से हाल बेहाल है और अभी...