शनिवार, 27 अप्रैल 2019

नशे के चलते एक और खुदकुशी

गाजियाबाद ! सिहानी थाना क्षेत्र के अंतर्गत नंद ग्राम  मे अनीश पुत्र हबीब खान (38 साल) नाम के युवक ने फांसी लगाकर की खुदकुशी!


जानकारी के अनुसार युवक अपनी पत्नी और एक बेटी के साथ किराए पर करीब 2 साल से रहता था! युवक की पत्नी के अनुसार वह नशे का आदी था !और पारिवारिक क्लेश के चलते उसने खुदकुशी की ! मौके पर पुलिस टीम ने पहुंचकर युवक की लाश को कब्जे में लिया और पंचनामा भरकर उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है मूल रूप से पीलीभीत का रहने वाला है!,universalexpress.page


महिलाओं के नवाज के मामले में सुप्रीम कोर्ट का संज्ञान

महिलाओं के नमाज के मामले में सुप्रीम कोर्ट का संज्ञान
नई दिल्ली ! मस्जिद में महिलाओं को नमाज पढ़ने की मांग से जुड़ी याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को सुनवाई हुई! जिसके बाद कोर्ट ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, राष्ट्रीय महिला आयोग और सेंट्रल वक्फ काउंसिल को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है! साथ ही कोर्ट ने यह भी पूछा है कि सरकार का इसमें क्या रोल है?
महिलाओं के मस्जिद में प्रवेश को लेकर पुणे के एक मुस्लिम दंपति ने याचिका दायर की हैै! इस याचिका में मांग की गई है कि सुप्रीम कोर्ट में मुस्लिम महिलाओं को नमाज पढ़ने की अनुमित होनी चाहिए!
याचिका पर मंगलवार को सुनवाई के दौरान अलग-अलग दलीलें दी गईं! एक पक्ष ने बताया कि कनाडा में मस्जिद के अंदर महिलाओं को प्रवेश की इजाजत है! जबकि दूसरी दलील ये दी गई कि सऊदी अरब के मक्का में मस्जिद में महिलाओं को इजाजत नहीं है!
इन तमाम दलीलों के बीच पीठ ने पूछा कि क्या इस मसले पर अनुच्छेद 14 का इस्तेमाल किया जा सकता है,क्या मस्जिद और मंदिर सरकार के हैं? जैसे आपके घर में कोई आना चाहे तो आपकी इजाजत जरूरी है! कोर्ट ने पूछा कि इस मामले में सरकार की क्या भूमिका है?
याचिकाकर्ता ने अपनी अपील में सु्प्रीम कोर्ट को बताया है कि भारत में मस्जिदों के अंदर महिलाओं को नमाज पढ़ने की इजाजत न होना न सिर्फ अवैध है, बल्कि संविधान की मूल आत्मा का भी उल्लंघन है!universalexpress.page


 


आपदा झेल रहे किसानों की परवाह नहीं

 आपदा झेल रहे किसानों की परवाह नहीं


गाजियाबाद! लोनी के मीरपुर हिंदू गांव के किसानों की गेहूं की सैकड़ों बीघा फसल मैं आग लगने के कारण हुए नुकसान से मन बहुत आहत है! किसान दिन रात मेहनत करके लागत(रूपये) लगाकर महीनों तक फ़सल पकने का लम्बा इंतज़ार करते हैं, कैसा महसूस होता है, जब किसी आपदाओं के कारण फ़सल नष्ट हो जाएं! सोचकर भी रूह कांपती है! इस दुखद अन्तृआत्मा को कपा देने वाली घटना पर अपने अन्नदाता बड़े छोटे किसान भाइयों से केवल इतना ही कहेंगे! इस दुखद घटना में हम सब साथ हैं! जितना हो सकेगा शासन प्रशासन से किसानों के नुक़सान की भरपाई के लिए अधिक से अधिक मदद दिलाने की हर सम्भव कोशिश करेंगे! अशोक त्यागी universalexpress.page


मतदान केंद्रों पर व्हीलचेयर पहुंचाया गया

मतदान केंद्रों पर व्हीलचेयर पहुचाया गया


संवाददाता-विवेक चौबे


कांडी(गढ़वा) ! लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रखंड के दिव्यांग मतदाताओं की सुविधा के लिए व्हीलचेयर सभी कलस्टर सहित अन्य मतदान केन्द्रों पर पहुचाया गया। बीडीओ-गुलाम समदानी ने अपने देखरेख में प्रखंड मुख्यालय से सभी 6 कलस्टरों के अंतर्गत आने वाले मतदान केन्द्रों के लिए व्हीलचेयर रवाना किये।प्रखंड मुख्यालय से व्हीलचेयर रवाना करने के बाद बीडीओ-गुलाम समदानी ने प्रखंड के सभी 6 कलस्टरों सहित कई मतदान केन्द्रों का भ्रमण भी किये। उन्होंने कलस्टर प्रभारी को उपलब्ध करवाये गये सभी व्यवस्था को बरकरार रखने का निर्देश देते हुए यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि कलस्टर पर पहुंचने वाले मतदान कर्मियों को किसी भी प्रकार का दिक्कत का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि दिव्यांग मतदाताओं की सुविधा के लिए मतदान केन्द्रों पर व्हीलचेयर की व्यवस्था किया गया है। साथ ही कहा की दिव्यांग मतदाताओं को किसी भी प्रकार की कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा। मौके पर- कई कर्मी उपस्थित थे।universalexpress.page


विधायक ने किया मेधावी छात्रों का सम्मान

विधायक ने किया मेधावी छात्रों का सम्मान


गाजियाबाद ! आज उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने हाई स्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए है। प्रदेश भर में मेधावी और टॉपर्स छात्रों को सम्मानित किया जा रहा है। लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने क्षेत्र के मेधावी छात्रों का बलराम नगर कार्यालय पर सम्मानित करते हुए भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा ऐसे ही शिक्षा के क्षेत्र में परिवार, क्षेत्र का नाम रौशन करते रहे और आगे चलकर प्रतिष्ठित नौकरियों में चयन होकर देश की सेवा करें। गाजियाबाद जनपद में क्रमशः 7 और 8 वां स्थान प्राप्त करने वाले बादल और शिवम विधायक से मिले उत्साहवर्धन से उत्साहित नजर आएं। विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा कि आज लोनी के विद्यार्थी शिक्षा के क्षेत्र में हर स्तर पर लोनी का नाम रौशन कर रहे हैं चाहे वो हाल ही में यूपीएससी की प्रतिष्ठित परीक्षा से आईएएस बनना हो या इंजीनियरिंग की परीक्षा, लोनी के लाल हर जगह क्षेत्र का नाम बुलंद कर रहे हैं। हम भी विद्यार्थी की मनोबल को बढ़ाने के लिए हर कदम उनके साथ है क्षेत्र में डिग्री कॉलेज, ITI, स्कूलों में आधारभूत ढांचे में परिवर्तन कर उनका उत्साहवर्धन कर रहे हैं। आने वाले दिनों में लोनी शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी स्थानों में गिना जाएगा। साथ ही आपको बताते चलें कि विधायक नंदकिशोर गुर्जर के छोटे पुत्र नागेश गुर्जर ने भी 12वीं कक्षा में 82.9 प्रतिशत अंकों से प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण किया है!


वैभव की हार जीत का असर गहलोत की राजनीति पर पड़ेगा

universalexpress.page
वैभव की हार जीत का असर गहलोत की राजनीति पर पड़ेगा।

इस बार लोकसभा चुनाव के परिणाम राजस्थान के दो बड़े राजनेताओं के भविष्य पर भी असर डालेंगे। मौजूदा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत जोधपुर से कांग्रेस के उम्मीदवार है तो पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के पुत्र दुष्यंत सिंह झालावाड़ से भाजपा के उम्मीदवार हैं। पिछले 25 वर्षों से ये दोनों ही पांच पांच वर्ष के लिए मुख्यमंत्री बन रहे हैं। लेकिन पहला अवसर है कि अशोक गहलोत ने अपने गृह नगर जोधपुर से बेटे वैभव को उम्मीदवार बनवाया है। वसुंधरा राजे ने तो अपने बेटे दुष्यंत को दस वर्ष पहले ही झालावाड़ के मैदान में उतार दिया है। यूं ये दोनों नेता भले ही प्रदेशभर में अपनी पार्टी के उम्मीदवारों को जीताने के लिए दौरे कर रहे हों, लेकिन दोनों ने अपने अपने गृह जिलों से ही बेटों को उतारा है। गहलोत की तरह राजे भी झालावाड़ से सांसद रह चुकी हैं। कांग्रेस की राजनीति में गहलोत के सामने सचिन पायलट चुनौती बन कर खड़े हैं तो भाजपा में अब वसुंधरा राजे का पहले जैसा रुतबा नहीं रहा है। मौजूदा लोकसभा चुनाव में तो राजे अलग-थलग हैं। संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर ने जो रणनीति बनाई है उसमें राजे की भूमिका बहुत कम हो गई है। वैसे भी राजे का ध्यान झालावाड़ में अपने बेटे को जीताने में लगा हुआ है। राजे को भी पता है कि यदि दुष्यंत हार गए तो फिर प्रदेश की राजनीति में प्रभाव को बनाए रखना मुश्किल होगा। यही हाल कांग्रेस की राजनीति का है। अशोक गहलोत को भी पता है कि तीन माह पहले सचिन पायलट के मुकाबले में वे किस प्रकार मुख्यमंत्री बने हैं। ऐसे में यदि वैभव की हार होती है तो प्रदेश की राजनीति में उनका असर कम होगा। यही वजह है कि वैभव को जीताने के लिए गहलोत ने पूरी सरकार को जोधपुर में लगा दिया है। पर्दे के पीछे से कई आईएएस, आरएएस इंजीनियर आदि भी जोधपुर में सक्रिय हैं। वैभव के लिए यह भी चुनौती है कि उनका मुकाबला मौजूदा सांसद और केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत से है। भले ही अशोक गहलोत की छवि मारवाड़ के गांधी की हो, लेकिन मधुर व्यवहार में शेखावत भी पीछे नहीं है। पिछले पांच वर्ष शेखावत ने जोधपुर का चहुंमुखी विकास भी करवाया। मोदी लहर से जोधपुर भी अछूता नहीं है। भाजपा की नजर में जोधपुर की सीट कितनी मायने रखती है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पीएम मोदी की सभा और अमितशाह का रोड शो हो चुका है। वैभव को हराने के लिए जोधपुर की सड़कों पर भीषण गर्मी में ड्रीमगर्ल हेमा मालिनी का रोड शो भी हो रहा है। भाजपा के चौतरफा हमले को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को वार्ड वार दौरे करने पड़ रहे हैं। कोई पांच बार जोधपुर के सांसद रह चुके अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री के पाद पर रहते हुए वार्ड स्तर पर चुनावी सभाएं करनी पड़ रही है। तो मुकाबले का अंदाला लगाया जा सकता है।
जोधपुर को सूर्य नगरी भी कहा जाता है। 27 अप्रैल को जब तापमान 45 डिग्री के पार था, तब भीषण गर्मी में जोधपुर की सड़कों पर अशोक गहलोत अपने बेटे वैभव के लिए घर घर जाकर वोट मांग रहे थे। सूत्रों की माने तो जोधपुर के जातीय समीकरणों को देखते हुए ही वैभव को जालौर, सिरोही संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार बनाने पर विचार हुआ था, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट के हस्तक्षेप की वजह से वैभव को जोधपुर से ही चुनाव लडऩा पड़ा। अब पायलट कहते हैं कि वैभव को जीतवाने की जमानत राहुल गांधी के सामने मैंने दी है। इसलिए मैं वैभव को जोधपुर का सांसद बनवा कर रहूंगा। राजनीति में जमानत कैसे दी जाती है, यह अशोक गहलोत को भी पता है। वैभव गहलोत और दुष्यंत सिंह की हार जीत राजस्थान में भाजा और कांग्रेस की राजनीति का असर डालेगी। फिलहाल 23 मई तक इन दोनों बड़े नेताओं को नींद आना मुश्किल है।
एस.पी.मित्तल


अमेरिका के पूर्व गृहमंत्री का निधन

अमेरिका के पूर्व गृह मंत्री का  निधन


रिपब्लिकन सांसद और बाद में अमेरिकी गृह मंत्री के रूप में 20 साल तक अमेरिका की सेवा करने वाले मैनुअल लुजान जूनियर का निधन हो गया। वह 90 वर्ष के थे।


न्यू मैक्सिको के गवर्नर एवं उनके दूर के रिश्तेदार मिशेल लुजान ग्रिशम ने कहा कि लूजान का बृहस्पतिवार को अल्बुकर्क स्थित उनके घर में निधन हो गया। उन्हें काफी लंबे समय से उनको हृदय संबंधी बीमारी थी और 1986 में दिल का दौरा पड़ने के बाद उनकी ट्रिपल-बाइपास सर्जरी हुई थी।universalexpress.page


कांग्रेस में पड़ गया है सिंधी समाज की लीडरशिप का अकाल

 कांग्रेस में पड़ गया है सिंधी समाज की लीडरशिप का अकाल


नरेश राघानी


इस लोकसभा चुनाव में सिंधी समाज के लोगों को इकट्ठा करने के लिए अजमेर की कांग्रेस बहुत प्रयास किया लेकिन पूरी सफलता नहीं मिली । क्योंकि *पिछले विधानसभा चुनाव में सिन्धी समुदाय को पूरी तरह से दरकिनार कर चुकी कांग्रेस अब सिंधियों के पास जाए तो कैसे ?* लगभग सभी *मजबूत चेहरे कांग्रेस छोड़कर चले जाने से अब संगठन के अंदर ही सिंधी नेतृत्व का टोटा पड़ गया है।* आपको बता दें उत्तर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी ने , *प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य दीपक हासानी* को विधानसभा टिकट जैसे सब्जबाग दिखाए थे। दीपक हासानी पूरी तरह से धनबल और जनबल लगा कर विधायक बनने के अभियान में जुट भी गए। *परंतु प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट द्वारा ऐन वक्त पर यहां से प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव महेंद्र सिंह रलावता को टिकट दे दिया गया।* जो कि एक बार फिर कांग्रेस के लिए *शहर में घातक सिद्ध हुआ।* अजमेर जिले के सिंधी समुदाय के *लगभग 90 हज़ार वोटों ने इस से रुष्ट होकर ,अजमेर उत्तर में तो एकमुश्त मतदान भाजपा के सिन्धी प्रत्याशी पूर्व मंत्री रहे वासुदेव देवनानी के पक्ष में किया।और बाकी विधानसभाओं जिसमें प्रमुखता से अजमेर दक्षिण में भी कांग्रेस को समर्थन नहीं दिया। और अजमेर शहर में कांग्रेस को मूँह की खानी पड़ी।* पायलट के वादाखिलाफ रवैये के बाद *सिंधी समुदाय का शायद पूर्ण रूप से अजमेर में कांग्रेस से अब मोह भंग हो चुका है।* यह बात इस बार लोकसभा चुनाव के दौरान सिंधी मतदाताओं को लुभाने हेतु किए गए कांग्रेस के *असफल प्रयासों से सिद्ध होती है।* कांग्रेस ने सिन्धी समुदाय का टिकट काटने के बावजूद इस लोकसभा चुनाव के दौरान प्रदेश कांग्रेस सदस्य दीपक हासानी को बिल्कुल भी नहीं गांठा। उस पर न जाने किस *ज्यादा समझदार नेता* के निर्देश पर, एक नए सिंधी नेता की तलाश शुरू कर दी।और अगरबत्ती व्यवसायी *राजकुमार लुधानी* को समाज की मीटिंग ,कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी झुनझुनवाला के पक्ष में रखने को कही गई। *इस मीटिंग में मुश्किल से 10 सिंधी लोग पहुंचे। और आनन-फानन में होटल ब्राविया के हॉल में आयोजित इस मीटिंग में कांग्रेस को अपनी इज्जत बचाने के लिये अन्य लोगों को उस हाल में बिठाना पड़ा था।*


इस असफल प्रयास के बाद यह जिम्मेदारी राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव *ललित भाटी ने संभाली।* जिन्होंने सिंधी समुदाय के व्यापारियों की एक बैठक होटल कनक सागर में कल रात आयोजित की। *हालांकि यह मीटिंग पहली वाली मीटिंग से बेहतर थी।लेकिन इस बैठक में भी मुश्किल से वही सिंधी चेहरे नजर आए जिनमें अधिकांश कांग्रेस संगठन के अंदर पदों पर आसीन लोगों के परिजन ही थे।* ललित भाटी के इस आयोजन पर सर्व सिन्धी समाज के अध्यक्ष सोना धनवानी, महेश और रश्मि हिंगोरानी, राजेश आनंद,राजकुमार तुलसियानी,निशा जेसवानी, गिरधर तेजवानी सहित सिन्धी समुदाय के कांग्रेसी चेहरे वहाँ मौजूद थे। लेकिन जैसे ही *डॉ बाहेती और महेंद्रसिंह रलावता लोकसभा प्रत्याशी रिजु झुनझुनवाला के साथ गाड़ी से उतरे, वहाँ मौजूद कुछ लोगों के के दिमाग का दही हो गया ।* और वहां मौजूद लोग मुखर होकर कांग्रेस पार्टी द्वारा सिन्धी समुदाय के साथ किये गए कुठाराघात पर रिजु के सामने बोलने लगे। मौजूद लोगों ने रिजु के समक्ष यह तक कहा कि - *प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट तक ने सिन्धी समुदाय के साथ कुठाराघात करने वालों को अपने साथ रख रखा है। और समाज को टिकट देने का वादा करके वादाखिलाफी की है। जिसके परिणाम स्वरूप अजमेर शहर की दोनों सीटें कांग्रेस विधानसभा में हारी है।*
सुनकर बाहेती और रलावता चुप खड़े रहे लेकिन *ललित भाटी ने मोर्चा संभालते हुए कहा - देखिए !!! क्योंकि आज रिजु ऐसा कोई निर्णय करने की स्थिति में नहीं है। परंतु यदि आप लोग अपना मत समर्थन और हिम्मत लोकसभा प्रत्याशी को दें देंगे तो एक नया रास्ता ज़रूर खुलेगा।*
भीड़ में खड़ा एक युवक बोला कि *कांग्रेस के सचिव राजकुमार कलवानी के बेटे दिनेश के देहांत तक पर एक भी वरिष्ठ कांग्रेसी चेहरा नज़र नहीं आया साहब !!!* जिस पर सोना धनवानी ने बात संभालने की कोशिश की। माहौल की नाजुकता देखते हुए आखिर बात रिजु ने खुद ही संभालते हुए बहुत सरलता से मस्त लहज़े में कहा - *चलिये ... आराम से बैठ कर बात करें ? और मंच पर ही एक अबोध बालक की तरह ज़मीन पर बैठ गए। रिजु का यह मित्रवत व्यवहार देखते ही वहां मौजूद लोगों ने भी रिजु के इस सादेपन को स्वीकार किया और रिजु को चारों तरफ से घेर कर बैठ गए।फिर सबने बारी बारी अपनी बात कही।*
सबकी सुनने के बाद कहा - कि *देखो भाई !!! मैं पॉलिटिक्स में बिल्कुल नया हूँ , इसलिए ये सब पोलिटिकल बातें कम समझता हूँ । मुझे यहां आकर ही आप लोगों से यह सब मालूम हुआ है। इसलिए ,आप लोगों से ऐसा कोई भी झूठा वादा मैं नहीं करूंगा , जो की बाद में पूरा ना कर सकूं। हाँ यह जरूर कहूंगा कि आप मुझे मजबूती दो और यदि मैं आपकी कृपा और आशीर्वाद से यह चुनाव जीत जाता हूं, तो हम सब मिलकर फिर इसी तरह साथ बैठेंगे । और जो भी उचित निर्णय होगा सिंधी समुदाय के हित में, वही करेंगे।* रिजु के इतना कहते ही वहां मौजूद लोगों उत्साह वश खड़े होकर रिजु भैया जिंदाबाद के नारे लगाने लगे।


यह तो था मीटिंग का ब्यौरा अब जरा इतिहास पर नज़र डालते हैं। सिंधी समुदाय से कांग्रेस में वरिष्ठ एवं कद्दावर नेता *स्वर्गीय किशन मोटवानी उत्तर क्षेत्र से वर्षों तक विधायक और मंत्री बनते रहे।* उनकी मृत्यु उपरांत कांग्रेस संगठन के ही *कुछ अन्य नेताओं ने शहर की फिजाओं में सिंधी बनाम गैर सिंधी का जहर घोलना शुरू कर दिया। और कांग्रेस के आला नेताओं की आंखों पर गलत चश्में पहना पहना कर यह सीट सदा सदा के लिए भाजपा को परोस कर दे दी गयी।*
यह सब उन नेताओं के निजी स्वार्थों की पूर्ति और अजमेर उत्तर सीट पर खुद के कब्जे की मनोवृति से किया कृत्य है।
*अजमेर एक अपवाद के रूप में पूरे राजस्थान में देखा जाता था, जहाँ कांग्रेस के टिकट पर एक सिन्धी समुदाय का प्रत्याशी लगातार निर्बाध रूप से जीतता आया है।* परंतु अब उसी अजमेर की कांग्रेस पार्टी में सिंधी समुदाय की लीडरशिप खत्म हो गयी है। धीरे धीरे *सिन्धी समाज के सभी प्रभावशाली लोग कांग्रेस से किनारा करने लगे हैं।* प्रणाम स्वरूप कुछ स्वार्थी तत्वों द्वारा सिंधी बनाम गैर सिंधी का नारा देकर *जो खिलवाड़ शहर के कांग्रेस जनाधार के साथ लोकल नेताओं द्वारा किया गया है वह अब कांग्रेस को भारी पड़ने लगा है। जिसकी वजह से अजमेर उत्तर और दक्षिण दोनों ही भाजपा का गढ़ बन कर रह गए हैं।* अब देखना यह है कि क्या रिजु का *हाईटेक प्रचार* और *फिल्मी सितारों की चमक* अजमेर शहर रूपी इस भाजपा के गढ़ को भेद पाती है या नहीं ?


जय universalexpress.page


आरबीआई ने जारी की ₹20 के नोट की अधिसूचना

आरबीआई ने जारी की 20 रुपए के नोट की अधिसूचना


नई दिल्ली !आरबीआई जल्द ही महात्मा गांधी सिरीज में 20 रुपए के नए नोट जारी करेगा। इन पर आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास के हस्ताक्षर होंगे। यह नोट हल्के पीले रंग के होंगे और इन पर पीछे की ओर एलोरा की गुफाएं अंकित होंगी। केंद्रीय बैंक ने शुक्रवार 26 अप्रैल को नए नोट की अधिसूचना जारी की है। इस नोटिफिकेशन के मुताबिक नए नोट जारी होने के बाद भी पुराने नोट चलन में बने रहेंगे।


नोटिफिकेशन में दिए गए नए नोट के डिजाइन की बात करें तो इसके अगले हिस्से पर महात्मा गांधी का चित्र बीच में है। हिंदी और अंग्रेजी के अंकों में नोट का मूल्य RBI, भारत India और 20 माइक्रो लेटर्स में लिखा होगा। नोट के अगले हिस्से पर गारंटी क्लॉज, गवर्नर के हस्ताक्षर, आरबीआई का emblem महात्मा गांधी के चित्र के दाहिनी ओर होगा। अशोक स्तंभ नोट के दाहिनी तरफ होगा। नोट का नंबर बाएं से दाहिनी ओर बढ़ते आकार में छपा होगा।


नोट का पलटने पर देश की सांस्कृतिक विरासत कर झलक मिलेगी। नोट के पिछले हिस्से पर एलोरा के गुफाओं का चित्र अंकित होगा। नोट के पिछले हिस्से पर बायीं तरफ वर्ष, स्वच्छ भारत का लोगो स्लोगन के साथ और भाषा की पट्टी होगी। नए नोट की लंबाई 129 मिलीमीटर और चौड़ाई 63 मिलीमीटर होगी।universalexpress.page


विशेष सूचना

विशेष सूचना


आप सभी विद्यार्थियों को सूचित किया जाता है हाईस्कूल व इंटरमीडिएट का रिजल्ट घोषित हो चुका है सभी विद्यार्थियों से निवेदन है कि वे जो पास हुए हैं ज्यादा उत्साहित ना हो वह जो फेल हुए हैं वह किसी भी प्रकार की चिंता ना करें क्योंकि किसी भी प्रकार की टेंशन लेने से आपके आपके परिवार को आपकी चिंता होगी सबसे निवेदन है कि जो इस परीक्षा में कामयाब नहीं हुए हैं उन से अनुरोध है कि कोई ऐसा कदम ना उठाएं जिससे आपके परिवार को परेशानी हो परिश्रम ही सफलता की कुंजी है! 1 दिन होंगे कामयाब 


नीरज गौतम universalexpress.page


कर्तव्य निष्ठा के मार्ग पर भारत रक्षा मंच

भारत रक्षा मंच के लोनी विधानसभा अध्यक्ष माननीय चन्द्रपाल भक्त जी द्वारा श्री राजू भारद्वाज जी की कार्यशेली और संगठन मे अटूट विश्वास को देखते हुए लोनी नगर का नगर अध्यक्ष नियुक्त किया है और विश्वास प्रकट किया है कि वह लोनी नगर मे व्याप्त भ्रष्टाचार और लोनी के विकास के लिए निरन्तर सर्घंष करेगे ! संदीप गुप्ता !universalexpress.page


इला सुरक्षा (पोल -खोल)

महिला सुरक्षा(पोल-खोल)
रायबरेली ! जहाँ महिला सांसद, महिला विधायक, महिला जिलाधिकारी अर्थात महिलाएं के हाथ रायबरेली का शासन प्रशासन पर इन जनप्रतिनिधियों और सरकारी अधिकारियों को रायबरेली मे महिलाओं के प्रति गैर जिम्मेदाराना रवैया ।
यहां पर रेलवे स्टेशन व बस स्टेशन पर जिस प्रकार की अभ्रदता महिलाओं के साथ होती है क्योंकि यहाँ पर न तो पुलिस न महिला पुलिसकर्मी कोई भी सुरक्षा के लिए नहीं होता है ।
रेलवे स्टेशन पर जीआरपी मे भी एक भी महिला का पुलिसकर्मी का न होना सरकार के महिला सुरक्षा के दावों की पोल खोलता है दिन या रात रेलवे स्टेशन पर तमाम प्रकार के नशेड़ियों का जमावड़ा लगा रहता है क्योंकि रेलवे स्टेशन के ठीक सामने आपको सरकारी दारू के ठेके है
जिनकी वजह से यत्रियों व अकेले यात्रा करनेवाली महिलाओं को दिन प्रतिदिन अभ्रदता छेडछाड जैसे तमाम घटनाएं घटित होती है और शासन प्रशासन अनिभिज्ञ है
रोजाना यात्रा करनेवाली महिलाओं के साथ भी ऐसी घटना घटित होती है
रेलवे स्टेशन पर आटो चालको व ई रिक्शा चालकों दृवारा रास्ते मे आटो लगाकार महिलाओं को जबर्दस्ती आटो मे बैठाना और विरोध करने पर महिलाओं और सह यत्रियों से अभ्रदता ये घटना अनेकों बार घटित हो चुकी ।
इतना सबकुछ होता देखकर भी रेलवे प्रशासन सिर्फ धृतराष्ट्र बनकर अवैध आटो स्टैंड रेलवे स्टेशन को बनाकर सिर्फ अवैध धन उगाही की मलाई खा रहा है ।
शाम के समय रेलवे स्टेशन पर स्मैक ,दारुबाजो की महफिल लग जाती जिससे आम राहगीरों को भी दिक्कत का समाना करना पडता है ।
अभी दो वर्षों पहले एक छोटी बच्ची का रेप इन रेलवे प्रशासन की लापरवाही से हुआ था क्योंकि रेलवे स्टेशन पर रात्रि के समय कोई पुलिसकर्मी ध्यान नहीं रखता यात्रियों की सुरक्षा का ।
पर शासन प्रशासन सिर्फ महिला सुरक्षा पर भाषण ही दे सकते है



आदर्श कुमार कसौधंनuniversalexpress.page


स्मार्ट फोन से फायदे और नुक्सान?

स्मार्ट फ़ोन से फ़ायदा और नुक़सान ?
आज के सूचना प्रधौगिकी युग में जहाँ हमे घर बैठे देश दुनिया की जानकारी मिल रही है ,दुनिया आसान सी हो गई है,वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया से कई दुष्प्रभाव भी सामने आ रहे है,आये दिन खबरों में सुनने को मिलता है कि फलाँ युगल को fb पर प्यार हुआ,व्हाट्सअप से आपस में बात चीत होती थी,और आखिर में क्या,लड़की का रेप,अवैध सम्बन्धों के चलते हत्या आदि,ये सब आज की आम खबरे हो रही है,कुछ खबरे इस तरह की भी होती है कि 4 बच्चो की माँ प्रेमी संग फरार,fb पर हुआ था दोनों को प्यार,आखिर हम कहाँ की तरफ जा रहे हैं?आखिर भारतीय संस्कृति को कैसे ये सब देखना पड़ रहा है,इन सबके लिए कहीं न कहीं हम सभी जिम्मेदार है।हम लोग अपने बच्चों,बहू, बेटी,भाई बहन पर ध्यान ही नही दे पा रहे है कि वो किस तरफ जा रहे हैं, आखिर वो कहाँ बिजी है,हमारी बेटी या बहु हर वक्त फोन को हाथ में रखकर किसके साथ बात कर रही है या देर रात तक किसके संग व्यस्त है,जबकि परिवार के सदस्यों से उनका लगाव या उनका व्यवहार एकदम बदल सा रहा है,आखिर हमारा बेटा सोशल मीडिया में किस तरह की गतिविधियों में व्यस्त है,कहीं वो कोई गलत रास्ते की तरफ तो नही?कहीं वो पोर्न साइट्स में ही तो व्यस्त नही?और यदि हमारा बेटा ,बेटी,बहू दिन रात मोबाइल के ही आगोश में है तो घर के बड़ो का दायित्व बनता है उनकी गतिविधियों पर सवाल करने का,बड़े बुजुर्ग अपने बच्चो के मोबाइल चेक कर सकते हैं कि आखिर इनके जीवन में ऐसा क्या परिवर्तन हो रहा है जिससे ये परिवार से तो दूर हो रहे हैं और मोबाइल के पास जा रहे हैं।ऐसे मामलो में पति पत्नी का भी कर्तव्य बनता है कि वो अपने साथी की गतिविधियों को ध्यान दे ताकि उनका घर टूटने से बचे।पति पत्नी जासूसी नही बल्कि खुले मन से एक दूसरे के मोबाइल को देखकर पूछ सकते हैं कि किसी व्यक्ति से उन्हें कोई परेशानी तो नही,कोई उन्हें बेवजह परेशान तो नही कर रहा है,ये पूछने का हक भी पति पत्नी को है ही कि अत्यधिक सोशल साइट्स पर हमारे साथी की क्या गतिविधि रहती है,कहीं उसके सम्पर्क में कोई गलत व्यक्ति तो नही,कहीं वो गलत रास्ते पर या गलत तरह के सोशल साइट्स का आदि तो नही है।यदि हम सब अपने करीबी लोगों या पारिवारिक सदस्यों के साथ खुले मन से बात कर सके और उनकी गतिविधियों पर नजर रखते हुए समय रहते उनकी गलत आदतों को सुधार सकते हैं, अच्छा होगा कि घर की बात घर में ही निपट जाये और न ही हमारे नौनिहाल गलत रास्ते पर जा सके।सभी लोग बच्चो व पारिवारिक सदस्यों की गतिविधियों पर नजर रखें तो कई तरह के अपराध होने से बचाये जा सकते हैं,आजकल सोशल मीडिया के युग में कई तरह के गलत कामों में अपराधों में तेजी आ रही है,इसे रोकने के लिए सभी को अपने घर से ही पहल करनी होगी।आभासी दुनिया के चक्कर में अपने हँसते खेलते परिवार की तिलांजलि न दे|
हरीश असवाल


क्या देश भक्ति गलत है ?

क्या देश भक्ति  गलत है?


 विरोधी दल प्रचार कर रहे हैं कि भाजपा देशभक्त पार्टी मोदी  देश भक्त हैं! अपने भाषणों में इस बात को उठाने वाले विरोधी दलों से मैं यह पूछना चाहता हूं कि क्या देश भक्ति गलत है मैं तो कहता हूं देश का हर बच्चा देशभक्त है !इसीलिए वह मोदी  के साथ है देशभक्तों ने ही मोदी  को नेता बनाया है और पिछली बार भी मोदी जी प्रधानमंत्री बने थे और इस बार भी देशभक्ति मोदी  को प्रधानमंत्री बनाए अगर ऐसा हुआ तो आतंकवाद का तो सर्वनाश हो ही जाएगा औरत देश के गद्दार जेल की सलाखों के पीछे होंगे यह बात वरिष्ठ भाजपा नेता एवं अखिल भारतीय क्षत्रिय सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष व वरिष्ठ भाजपा नेता ठाकुर गौरव राणा ने कहा कि आज मोदी लहर चल रही है देश की जनता फिर से मोदी को प्रधानमंत्री पद पर विराजमान करना चाहती है! विरोधी दलों के पास कोई मुद्दा ही नहीं है! इस कारण वे कभी राफेल का मामला उठा कर अपने मुंह की खाते तो कभी मोदी को देश भक्त बता कर कहते हैं! कि मोदी ने देश भक्ति को मुद्दा बनाया है मैं पूछना चाहता हूं कि क्या देशभक्त होना गलत है! हम तो चाहते हैं! की विरोधी दल के नेता भी देश भक्त हो और वह आतंकवाद के पनाहगारो को अपना शत्रु समझे और आतंकवाद का सर्वनाश करने में मोदी के कंधे से कंधा मिलाकर साथ दें वह भी देश भक्त बने सत्ता पाने के लिए इस तरह की भाषण बाजी ठीक नहीं है !ठाकुर गौरव राणा ने कहा कि आतंकवाद के मुद्दे पर और मोदी द्वारा करवाई गयी स्ट्राइको पर पूरा देश एक साथ था! देश के जर्रे जर्रे ने कहा की मोदी द्वारा आतंकवादियों के घर में घुसकर उनको मार देने का जजबा सराहनीय है और 56 इंची सीने वाला मर्द ही इस तरह के ठोस निर्णय ले सकता है !इस पर विरोधी दल स्वयं ही मोदी को देश भक्त बता रहे हैं और देश भक्ति में रंगने की बात कह रहे हैं! अगर कोई व्यक्ति अपने देश को सुरक्षित और मजबूत कर सत्ता है तो वह देश भक्ति ही कर सकता है !जो नेता मौत से डरता हो और केवल अपने स्वार्थ की राजनीति करता हो वह कभी देश को मजबूत नहीं कर सकता है !इसका उदाहरण देशवासियों के सामने है! कांग्रेस ने भी देश की सत्ता चलाई है देश कहां तक सुरक्षित था जब देश की कमान देश की जनता ने कांग्रेस के हाथों में दी है !देश में आतंकी घटनाओं में इजाफा हुआ है !कांग्रेस इसका जवाब तक नहीं दे पाई है! आज मोदी का डंका पूरी दुनिया में बज रहा है!  तक भारत की कमान मोदी जैसे 56 इंची सीमा रखने वाले मर्द के हाथ में है! देश सुरक्षित रहेगा और सरकार मजबूत होगी मोदी ने जो कार्य किए हैं! आज उनकी सराहना हो रही है, इससे विरोधी दल बौखला गए हैं! वह किसी तरह से मोदी को बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं! लेकिन देश की जनता सब कुछ जानती है! इस कारण वह किसी भी झांसे में आने वाली नहीं है!


राज्य मंत्री बाबू निषाद को कश्यप समाज ने सौंपा ज्ञापन

राज्य मंत्री बाबूराम निषाद को कश्यप समाज ने सौंपा ज्ञापन


कानपुर ! घरों से दूषित जल गिरने से गंगा हो रही है मैली भारत सरकार तथा उत्तर प्रदेश सरकार के आदेशों द्वारा कानपुर के भगवतदास घाट मे गंगा की साफ-सफाई रखते हुवे तथा गंगा की सेवा भी करते हैं निवासी कानपुर के भगवत दास घाट पर आज गंगा घाट पर घरों से गंदा पानी गिरने से घाट निवासियों ने नाराज होकर महिला तथा पुरुषों ने राज्य मंत्री उत्तर प्रदेश बाबूराम निषाद को सौंपा ज्ञापन क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि दबंग सुरेश कुमार वा दुर्गा प्रसाद चारों घाटों पर अपना अपना निवास घाटों पर कब्जा कर बनाए रखे हैं तथा जनाने घाट पर अपना मुख्य द्वार बनाए हैं जिससे सभी घरों की गंदगी गंगा में आ जाती है इसके कारण गंगा मैया दूषित हो रही है जिसका हम सभी क्षेत्रवासियों ने कई बार विरोध किया तो दबंग सुरेश उनका पुत्र उनकी पत्नी ने हम लोगों को गंदी-गंदी तथा भद्दी भद्दी गालियां देकर झगड़े पर उतारू हो गए और भगा दिया और धमकी देते हुए कहा कि जो करना है जाओ करो जाकर मेरा कुछ नहीं कर पाओगे मेरी मिलेट्री में बहुत अच्छी पकड़ है मिलेट्री बुलवाकर हम पूरी बस्ती तुड़वा दूंगा हम सभी क्षेत्रवासी सरकार से पूरी उम्मीद करते हैं कि दबंग सुरेश कुमार का अतिक्रमण हटवा कर गंगा में जा रहा दूषित पानी पर रोक लगाई जाए राज्य मंत्री बाबूराम निषाद ने घाट निवासियों से यह कहा कि एक बार भी आप लोग का साथ चाहिए तभी इस देश तथा सभी घाटों का विकास हो पाएगा आप लोग मोदी सरकार को एक बार फिर भारी मतों से विजय बनाएं उन्होंने बताया कि मोदी सरकार ने गरीबों के लिए कुछ स्कीमें भी निकाली है जिसका लाभ आपको सरकार बनने के बाद बहुत जल्द मिलेगा साथ ही घाट पर गिर रहा दूषित जल पर भी जल्द ही रोक लगेगी और घाटों पर कब्ज़ा करने और गंगा मैली करने पर रोक लगेगी ना मानने पर उसके ऊपर कानूनी कार्यवाही भी होगी इस मौके पर बेला कश्यप , फूलमती ,रजनी , ममता निषाद,नीलम,संतोष कश्यप, विशाल, राजन,आशीष, संजय् मालवी , आदि लोग मौके पर मौजूद रहेuniversalexpress.page


शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...