शुक्रवार, 20 अक्तूबर 2023

माता कालरात्रि को समर्पित 'नवरात्रि' का सातवां दिन

माता कालरात्रि को समर्पित 'नवरात्रि' का सातवां दिन 

सरस्वती उपाध्याय 
माँ दुर्गा की सातवीं शक्ति कालरात्रि के नाम से जानी जाती हैं। दुर्गा पूजा के सातवें दिन माँ कालरात्रि की उपासना का विधान है। इस दिन साधक का मन 'सहस्रार' चक्र में स्थित रहता है। इसके लिए ब्रह्मांड की समस्त सिद्धियों का द्वार खुलने लगता है। देवी कालरात्रि को व्यापक रूप से माता देवी - काली, महाकाली, भद्रकाली, भैरवी, मृत्यू-रुद्राणी, चामुंडा, चंडी और दुर्गा के कई विनाशकारी रूपों में से एक माना जाता है। रौद्री , धूम्रवर्णा कालरात्रि मां के अन्य कम प्रसिद्ध नामों में हैं।

कालरात्रि- नवदुर्गाओं में सप्तम्

यह ध्यान रखना जरूरी है कि मां काली और कालरात्रि का उपयोग एक दूसरे के परिपूरक है, हालांकि इन दो देवीओं को कुछ लोगों द्वारा अलग-अलग सत्ताओं के रूप में माना गया है। डेविड किन्स्ले के मुताबिक, काली का उल्लेख हिंदू धर्म में लगभग ६०० ईसा के आसपास एक अलग देवी के रूप में किया गया है। कालानुक्रमिक रूप से, कालरात्रि महाभारत में वर्णित(लगभग 3200) ईसा पूर्व वर्तमान काली का ही वर्णन है।
माना जाता है कि देवी के इस रूप में सभी राक्षस,भूत, प्रेत, पिशाच और नकारात्मक ऊर्जाओं का नाश होता है, जो उनके आगमन से पलायन करते हैं।
शिल्प प्रकाश में संदर्भित एक प्राचीन तांत्रिक पाठ, सौधिकागम, देवी कालरात्रि का वर्णन रात्रि के नियंत्रा रूप में किया गया है। सहस्रार चक्र में स्थित साधक का मन पूर्णतः माँ कालरात्रि के स्वरूप में अवस्थित रहता है। उनके साक्षात्कार से मिलने वाले पुण्य (सिद्धियों और निधियों विशेष रूप से ज्ञान, शक्ति और धन) का वह भागी हो जाता है। उसके समस्त पापों-विघ्नों का नाश हो जाता है और अक्षय पुण्य-लोकों की प्राप्ति होती है।

श्लोक
एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता | लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी || वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा | वर्धन्मूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयन्करि ||

वर्णन
इनके शरीर का रंग घने अंधकार की तरह एकदम काला है। सिर के बाल बिखरे हुए हैं। गले में विद्युत की तरह चमकने वाली माला है। इनके तीन नेत्र हैं। ये तीनों नेत्र ब्रह्मांड के सदृश गोल हैं। इनसे विद्युत के समान चमकीली किरणें निःसृत होती रहती हैं।

कालरात्रि का रक्तपान
माँ की नासिका के श्वास-प्रश्वास से अग्नि की भयंकर ज्वालाएँ निकलती रहती हैं। इनका वाहन गर्दभ (गदहा) है। ये ऊपर उठे हुए दाहिने हाथ की वरमुद्रा से सभी को वर प्रदान करती हैं। दाहिनी तरफ का नीचे वाला हाथ अभयमुद्रा में है। बाईं तरफ के ऊपर वाले हाथ में लोहे का काँटा तथा नीचे वाले हाथ में खड्ग (कटार) है।

महिमा
माँ कालरात्रि का स्वरूप देखने में अत्यंत भयानक है, लेकिन ये सदैव शुभ फल ही देने वाली हैं। इसी कारण इनका एक नाम 'शुभंकारी' भी है। अतः इनसे भक्तों को किसी प्रकार भी भयभीत अथवा आतंकित होने की आवश्यकता नहीं है।
माँ कालरात्रि दुष्टों का विनाश करने वाली हैं। दानव, दैत्य, राक्षस, भूत, प्रेत आदि इनके स्मरण मात्र से ही भयभीत होकर भाग जाते हैं। ये ग्रह-बाधाओं को भी दूर करने वाली हैं। इनके उपासकों को अग्नि-भय, जल-भय, जंतु-भय, शत्रु-भय, रात्रि-भय आदि कभी नहीं होते। इनकी कृपा से वह सर्वथा भय-मुक्त हो जाता है।
माँ कालरात्रि के स्वरूप-विग्रह को अपने हृदय में अवस्थित करके मनुष्य को एकनिष्ठ भाव से उपासना करनी चाहिए। यम, नियम, संयम का उसे पूर्ण पालन करना चाहिए। मन, वचन, काया की पवित्रता रखनी चाहिए। वे शुभंकारी देवी हैं। उनकी उपासना से होने वाले शुभों की गणना नहीं की जा सकती। हमें निरंतर उनका स्मरण, ध्यान और पूजा करना चाहिए।

मंत्र
या देवी सर्वभू‍तेषु माँ कालरात्रि रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

अर्थ : हे माँ! सर्वत्र विराजमान और कालरात्रि के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ। हे माँ, मुझे पाप से मुक्ति प्रदान कर।

ॐ ऐं ह्रीं क्रीं कालरात्रै नमः |

सर्राफा व्यापारी से हुई लूट का खुलासा, 3 गिरफ्तार

सर्राफा व्यापारी से हुई लूट का खुलासा, 3 गिरफ्तार 

03 दिन पूर्व हुई सर्राफा व्यापारी की लूट में कौशांबी पुलिस को मिली बड़ी  सफलता लूट का  किया गया खुलासा

कौशाम्बी। तीन दिन पहले सर्राफा व्यापारी से हुई लूट का पुलिस अधीक्षक कौशांबी बृजेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा खुलासा किया गया। पुलिस और एसओजी टीम ने तीन लुटेरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस को इनके पास से लूट का 20 ग्राम सोना चांदी का डेढ़ किलो गहना और नगदी रुपए बरामद हुआ है। आरोपियों के पास से पुलिस ने अवैध तमंचा, कारतूस और लूट में प्रयुक्त बाइक भी बरामद की है। पुलिस ने तीनों को लिखापढ़ी कर जेल भेज दिया है।
जानकारी के मुताबिक कोखराज थाना क्षेत्र के शहजादपुर में तीन दिन पहले सराफा व्यापारी अनिल सोनी से दुकान बंद कर घर जाते समय लूट हुई थी। लूट की सूचना पर तत्काल पुलिस पहुंची थी लेकिन लुटेरे फरार हो गए थे,जबकि एक लुटेरे को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया था,जांच के दौरान पुलिस ने अंकित तिवारी, अमित पाण्डेय निवासी बेती हाथगवा और मनीष कुमार निवासी शहजादपुर को गिरफ्तार कर लिया और लूट में प्रयुक्त बाइक,लूटे हुए सोने चांदी के गहने और नगद रुपया बरामद कर लिया है।
पुलिस अधीक्षक कौशांबी बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि कोखराज थाना क्षेत्र के शहजादपुर में एक सराफा व्यापारी से लूट हुई थी, जिसमे लुटेरे सराफा व्यापारी से सोने चांदी के गहने और नगदी 12 हजार रुपए लूट लिए थे।
पुलिस ने घटना का सफल अनावरण करते हुए लूट का सारा सामान बरामद कर लिया है।एसपी ने बताया कि इसमें से अंकित तिवारी पर प्रतापगढ़ जनपद के कई थानों में चोरी और लूट के कई मामले दर्ज है,यह लोग बैंक से रुपए निकालने वालो,व्यापारियों की रेकी करते थे और उसे आगे जाकर लूट लेते थे,उन्होंने बताया कि तीनों आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है।
सुशील केसरवानी

पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर धज्जियां उड़ाई

पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर धज्जियां उड़ाई 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। विश्व कप के आज के मैच में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर धज्जियां उड़ाई। ऑस्ट्रेलिया ने मात्र 30.4 ओवर में 208 रन बना डाले। गौरतलब है कि आज ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच विश्व कप का मैच खेला जा रहा है। पाकिस्तान ने पहले टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला लिया। पाकिस्तानी कप्तान का फैसला तब पलटा हुआ नजर आया जब ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डेविड वार्नर और मिशेल मार्श ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाने शुरू कर दी। 
पाकिस्तान के मुख्य गेंदबाज माने जाने वाले हारिश रउफ के तीन ओवर में तो 47 रन बना डाले। पाकिस्तानियों की जमकर धज्जियां उड़ाते हुए ऑस्ट्रेलिया के दोनों बल्लेबाजों ने 30.4 ओवर में 208 रन का स्कोर तेजी से पूरा कर लिया है। डेविड वार्नर 85 बॉल में 6 छक्कों और 7 चौकों की मदद से 100 रन तो मिशेल मार्श 100 बॉल में 9 चौकों और 6 छक्कों की मदद से 101 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद है।

विंध्याचल में उमड़ा माता भक्तों का सैलाब

विंध्याचल में उमड़ा माता भक्तों का सैलाब 

संदीप मिश्र 
मिर्जापुर। मिर्जापुर जिले के विंध्याचल में विराजमान मां विंध्यवासिनी के दरबार में शारदीय नवरात्र की षष्ठी तिथि पर शुक्रवार को विंध्याचल में माता भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। श्रद्धालुओं ने मां विंध्यवासिनी के कात्यायनी स्वरूप का दर्शन पूजन किया। मंगला आरती के बाद से शुरू हुआ दर्शन-पूजन अनवरत जारी है। सुबह से दोपहर 12 तक डेढ़ लाख से अधिक भक्तों ने माता दरबार में पहुंचकर सुख, समृद्धि की मंगलकामना की। गंगा घाटों पर शुक्रवार की भोर से ही स्नान-ध्यान का सिलसिला चलता रहा। 
त्रिकोण पथ पर स्थित अष्टभुजा और कालीखोह मंदिरों पर भी भक्तों की भारी भीड़ रही। मां के दर्शन पूजन के लिए बिहार, झारखंड, गोरखपुर, वाराणसी, आजमगढ़, बलिया, कानपुर, लखनऊ, प्रतापगढ़, दिल्ली और मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों के बड़ी संख्या में लोग निजी वाहनों से विंध्यधाम पहुंचे । मां का दर्शन पूजन करने से पहले भक्तों ने गंगा स्नान किया। हाथों में नारियल-चुनरी लिए श्रद्धालु मंदिर के बाहर लंबी कतारों में लगे रहे। धाम की सातों गलियां देवी भक्तों से पटी रहीं। माता के जयकारे गुंजते रहे। मंगला आरती के बाद कपाट खुलते ही गुड़हल, कमल व गुलाब पुष्पों सहित रत्न जड़ित हार से माता के हुए भव्य श्रृंगार का दर्शन कर देवी भक्त निहाल हो उठे।
शारदीय नवरात्र मेले के छठवें दिन देवी मंदिर पर स्थानीय सहित देश के कोने-कोने से पहुंचे भक्तों ने हाजिरी लगाई। दर्शन-पूजन के बीच घंटा, घड़ियाल, शंख और नगाड़ा के साथ पहाड़ा वाली के जय- जयकारे से मंदिर परिसर गुंजायमान रहा। गंगा घाटों पर मुंडन संस्कार कराने वाले भक्तों का तांता लगा रहा। गर्भगृह की ओर जाने वाले मार्ग पर लंबी कतार देख अधिकांश श्रद्धालुओं ने झांकी से ही मां विंध्यवासिनी की एक झलक पाकर धन्य हुए। मां विंध्यवासिनी के दर्शन-पूजन के पश्चात त्रिकोण मार्ग पर निकले श्रद्धालुओं से कालीखोह स्थित काली व अष्टभुजा मंदिर गुलजार रहा। दोनों मंदिरों पर श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लगी रहीं। कालीखोह में माता काली के दर्शन-पूजन के पश्चात बगल में स्थित सीढ़ियों के रास्ते भक्त अष्टभुजा मंदिर की ओर प्रस्थान करते दिखे। लगभग ढाई किलोमीटर दुर्गम पहाड़ी रास्तों के बीच गुजरते वक्त श्रद्धालुओं को तेज धूप का सामना करना पड़ रहा था।

योजनाओं कार्यों की विस्तृत समीक्षा की: कौशाम्बी

योजनाओं कार्यों की विस्तृत समीक्षा की: कौशाम्बी 

मण्डलायुक्त ने की स्वास्थ्य विभाग से सम्बन्धित योजनाओं की विस्तृत समीक्षा

कौशाम्बी। मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त द्वारा मुख्य चिकित्साधिकारी सभागार में स्वास्थ्य विभाग से सम्बन्धित योजनाओं कार्यों की विस्तृत समीक्षा की गई। मण्डलायुक्त ने परिवार कल्याण कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति तथा जननी सुरक्षा योजना के तहत शेष रह गये।लाभार्थियों का भुगतान शीघ्र सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने आशा कार्यकत्रियों के रिक्त पदों की संख्या की जानकारी प्राप्त करते हुए रिक्तियों को शीघ्र भरने के निर्देश दिये। उन्होंने मातृ मृत्यु सूचना एवं आडिट की समीक्षा के दौरान मानक के अनुसार गुणवत्तापूर्ण आडिट कराने के निर्देश दिए। उन्होंने नियमित टीकाकरण में अपेक्षित प्रगति लाने तथा कार्ययोजना बनाकर छूटे हुए बच्चों का टीकाकरण कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियां को प्रत्येक सप्ताह आशा एवं ए0एन0एम0 के साथ बैठक कर विभिन्न योजनाओं/कार्यक्रमों की प्रगति की विस्तृत समीक्षा करते हुए प्रगति लाने के निर्देश दिए। इसके साथ उन्होने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को संचारी रोगों के नियंत्रण/रोकथाम के लिए प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रवार बजट के सापेक्ष व्यय की समीक्षा के दौरान अपेक्षित व्यय न पाये जाने पर सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को नियमानुसार व्यय में प्रगति लाने के निर्देश दिए इस अवसर पर जिलाधिकारी सुजीत कुमार, पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव एवं मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सुष्पेन्द्र कुमार सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।
सुशील केसरवानी

पिकअप के खाई में गिरने से एक की मौत, 2 घायल

पिकअप के खाई में गिरने से एक की मौत, 2 घायल 

पंकज कपूर 
देहरादून। पहाड़ों में लगातार हादसे हो रहे है। अब सोमेश्वर क्षेत्र में एक पिकअप हादसे का शिकार हो गई। अल्मोड़ा के पथरिया-मजखाली सड़क पर पत्थरों से भरी एक पिकअप के खाई में गिरने से पिकअप सवार एक युवक की मौत हो गई। जबकि चालक सहित दो लोग घायल हो गए। 
हादसा गुरूवार शाम का है। पथरिया-मजखाली सड़क पर हिलेछीना के पास पत्थरों से भरी पिकअप 40 मीटर गहरी खाई में गिर गई।
हादसे मेें चालक जीत सिंह उम्र 68 वर्ष, राजेंद्र कुमार उम्र 52 वर्ष निवासी भाट नयाल जुला और मनोज कुमार उम्र 40 वर्ष निवासी ज्यूला ग्वालाकोट को खाई से निकालकर 108 एंबुलेंस की मदद से सरकारी अस्पताल पहुंचाया। लेकिन वहां चिकित्सकों ने मनोज को मृत घोषित कर दिया। जबकि गंभीर रूप से घायल चालक जीत सिंह को हायर सेंटर रेफर किया गया। राजेंद्र को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया।

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में शुक्रवार को संगम सभागार में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित की गई। जिलाधिकारी ने आगामी बैठक में सभी सम्बंधित अधिकारियों को उपस्थित रहने एवं आज की बैठक में अनुपस्थित रहने वाले सभी अधिकारियों को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए है। जिलाधिकारी ने सर्वप्रथम गत बैठक में लिए गए निर्णय के अनुपालन की प्रगति की समीक्षा की। जिलाधिकारी ने सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी से अनुपालन प्रगति की समीक्षा करते हुए जनपद में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए की गयी प्रवर्तन की कार्रवाई व ओवर स्पीड़िंग रोकने के लिए क्या उपाय किए गए है, की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने ओवर स्पीडिंग रोकने के लिए जनपद में उपलब्ध इंटरसेप्टर की जानकारी लेते हुए कैमरे व ज्यादा से ज्यादा साइनेज लगवाने के निर्देश दिए है। उन्होंने सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस विभाग के द्वारा की गयी प्रवर्तन की कार्रवाई का विस्तृत आंकड़ा तुलनात्मक चार्ट के साथ सूचीबद्ध ढंग से हर माह प्रस्तुत करने एवं माह में किए गए चालान व जुर्माना वसूली का विवरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने दुर्घटनाओं के कारणों के बारे में ठीक ढंग से जानकारी इकट्ठा करने के साथ ओवर स्पीडिंग, रांग साइड ड्राइविंग, वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करने, हेलमेट, सीट बेल्ट न लगाने वाले के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए है, जिससे कि सड़क दुर्घटनाओं को रोकने हेतु प्रभावी कार्रवाई की जा सके। बैठक में सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी के द्वारा बताया गया कि विगत 04 माह से जनपद में स्थित टोल प्लाजा द्वारा ओवरलोड़ वाहनों सूची उपलब्ध नहीं करायी जा रही है, जिस पर जिलाधिकारी ने एनएच के अधिकारियों से परिवहन विभाग को ओवरलोड़ वाहनों की सूची उपलब्ध कराने के लिए कहा है। उन्होंने डिवाइडर पर पेंट व रिफ्लेक्टर लगाये जाने व टूटे हुए डिवाईडरों की मरम्मत कराये जाने के लिए कहा है।
जिलाधिकारी ने सम्बंधित अधिकारियों को विशेष रूप से स्कूल बसों की फिटनेस की जांच कराकर स्कूल बसों हेतु निर्धारित मानकों का पूर्णतः पालन कराये जाने तथा चालक व परिचालकों के नेत्र एवं स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य कराये जाने के निर्देश दिए है। जिलाधिकारी ने पूर्व में चिन्हित 07 दुर्घटना बाहुल्य वाले हाॅटस्पाट स्थानों व अन्य दुर्घटना बाहुल्य स्थानों पर दुर्घटनाओं में कमी लाने हेतु कृतकार्यवाही से अवगत कराने एवं पुलिस, परिवहन, पीडब्लूडी व अन्य सम्बंधित विभागों की संयुक्त समिति के द्वारा अन्य ब्लैक स्पाॅटों की पहचान कर सुधार सम्बंधी आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। उन्होंने साइन बोर्ड, स्पीड गन एवं कैमरा अनिवार्य रूप से लगाये जाने के निर्देश पीडब्लूडी, एनएच एवं अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को दिए है।
बैठक में टीआई पवन कुमार पाण्डेय-प्रचार प्रभारी द्वारा बताया गया कि कुछ स्थानों पर रोड़ मार्किंग नहीं है, कुछ चौराहे पर स्टाॅप लाइन, जेब्रा लाइन स्पष्ट नहीं है, जिससे कि कैमरे के द्वारा चालान की कार्रवाई ठीक तरह से नहीं हो पा रही है एवं सिग्नल की ऊंचाई कम होने तथा सिग्नल के पास पेड़ों कटाई-छटाई नहीं होने से सिग्नल स्पष्ट नहीं दिखायी दे रहे है, जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बंधित अधिकारियों को स्टाॅप लाइन, जेब्रा लाइन को पेंट कराने, सिंग्नल के आगे कोई अवरोध न हो, इसके लिए पेड़ो की कटाई-छटाई कराये जाने के निर्देश दिए है। इस अवसर पर नगर मजिस्ट्रेट विनोद सिंह, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी व अन्य सम्बंधित अधिकारीयों के अलावा ऑटो यूनियन के अध्यक्ष विनोद चन्द्र दुबे, महामंत्री रमाकांत रावत, संगठन मंत्री शिवम रावत, ऑटो यूनियन के महामंत्री रघुनाथ द्विवेदी व अन्य लोग उपस्थित रहे।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  


1. अंक-334, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शनिवार, अक्टूबर 21, 2023

3. शक-1944, आश्विन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त: 06:13।

5. न्‍यूनतम तापमान- 15 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...