गुरुवार, 16 फ़रवरी 2023

यूके: हरिद्वार में फागुन माह की 'कांवड़' यात्रा शुरू 

यूके: हरिद्वार में फागुन माह की 'कांवड़' यात्रा शुरू 

पंकज कपूर 
देहरादून/हरिद्वार। 'महाशिवरात्रि' पर्व से पूर्व हरिद्वार में फागुन माह की कांवड़ यात्रा शुरू हो गई है। बड़ी संख्या में कांवड़िये गंगा तटों पर जल भरने पहुंच रहे हैं। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे ने कांवड़ मार्ग का निरीक्षण कर अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए। एसपी सिटी ने इस बार 40 लाख से ज्यादा कांवड़ियों के पहुंचने की उम्मीद जताई है।

जिलाधिकारी ने प्रशासन की तैयारियों के पुख्ता होने का दावा करते हुए बताया कि यात्रा सुगमता से चल रही है। नगर निगम को साफ-सफाई रखने के निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि जितने पुलिसकर्मी वर्दी में तैनात हैं, उतने ही सादी वर्दी में भी यात्रा पर नजर बनाएं हुए हैं। प्रशासन किसी भी चुनौती से निपटने को तैयार है।

'महाशिवरात्रि' पर्व को संपन्न कराने के संबंध में बैठक

'महाशिवरात्रि' पर्व को संपन्न कराने के संबंध में बैठक

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री की अध्यक्षता में गुरूवार को संगम सभागार में 'महाशिवरात्रि' पर्व को सकुशल ढंग से संपन्न कराएं जाने के संबंध में बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी उपजिलाधिकारियों एवं सहायक पुलिस आयुक्तों को अपने-अपने क्षेत्र में पड़ने वाले शिव मंदिरों का संयुक्त रूप से भ्रमण कर सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया है। दर्शनार्थियों को किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना न करना पड़े, इसके लिए सभी मुकम्मल व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के लिए कहा है। उन्होंने सभी अधिशाषी अधिकारी नगर पंचायतों को अपने-अपने नगर पंचायतों में साफ-सफाई, मोबाइल टाॅयलेट तथा अन्य आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में शिव मंदिरों तथा मार्गों पर साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने हेतु जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया है। उन्होंने पार्किंग, साफ-सफाई तथा सुरक्षा के व्यापक प्रबंध सुनिश्चित किए जाने के साथ-साथ यातायात की भी समुचित व्यवस्था करने तथा आवश्यकता नुसार ट्रैफिक डायवर्जन भी किए जाने के निर्देश दिए है। जिलाधिकारी ने जुलूस वाले स्थानों पर मजिस्ट्रेटों की भी ड्यूटी लगाये जाने के निर्देश दिए है। विद्युत विभाग को जुलूस वाले मार्गों पर खुले एवं जर्जर तारों को ठीक कराये जाने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही साथ उन्होंने विद्युत की व्यवस्था भी सुनिश्चित कराये जाने के लिए कहा है। चिकित्सा विभाग को सभी अस्पतालों में आकस्मिक कक्ष के साथ-साथ चिकित्सकों की टीम एवं दवाओं की उपलब्धता बनाये रखने के निर्देश दिए है।

उन्होंने मंदिरों पर चढ़ने वाले प्रसाद की शुद्धता बनाये रखने के निर्देश फूड अधिकारी को दिए है। उन्होंने घाटों पर नाव व गोताखोरों की भी तैनात सुनिश्चित करने के लिए कहा है। इस अवसर पर पुलिस उपायुक्त नगर, पुलिस उपायुक्त गंगापार अभिषेक अग्रवाल, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व जगदम्बा सिंह, एडीएम प्रोटोकाल मदन कुमार, एडीएम प्रशासन हर्षदेव पाण्डेय, सिटी मजिस्ट्रेट सत्यप्रिय सिंह सहित सभी सम्बंधित अधिकारीयों उपस्थित रहे।

केंद्र के फैसले को चुनौती, नई जनहित याचिका दायर 

केंद्र के फैसले को चुनौती, नई जनहित याचिका दायर 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। वर्ष 2002 के गुजरात दंगों पर बीबीसी के एक वृत्तचित्र को अवरुद्ध करने के केंद्र के फैसले को चुनौती देते हुए बृहस्पतिवार को उच्चतम न्यायालय में एक नई जनहित याचिका दायर की गई। शीर्ष अदालत इस मुद्दे पर वरिष्ठ पत्रकार एन राम, तृणमूल कांग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा, वकील प्रशांत भूषण और वकील एम एल शर्मा द्वारा दायर दो याचिकाओं पर पहले से ही सुनवाई कर रही है।

गत तीन फरवरी को न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति एम एम सुंदरेश की पीठ ने दो याचिकाओं पर संज्ञान लिया था और केंद्र सरकार को निर्देश दिया था कि वह वृत्तचित्र को अवरुद्ध करने के अपने फैसले से संबंधित मूल रिकॉर्ड पेश करे। मामले अब अप्रैल में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध हैं।

तीसरी नयी याचिका खुद को सामाजिक कार्यकर्ता बताने वाले मुकेश कुमार ने वकील रूपेश सिंह भदौरिया और मारीश प्रवीर सहाय के माध्यम से दायर की है। वकील भदौरिया भारतीय युवा कांग्रेस के कानूनी प्रकोष्ठ के प्रमुख भी हैं। 

राज्यपाल के पद का दुरुपयोग कर रही है सरकार 

राज्यपाल के पद का दुरुपयोग कर रही है सरकार 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि केंद्र सरकार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों, भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों और समझौता करने वाले पूर्व नौकरशाहों को राज्यपाल नियुक्त कर इस संवैधानिक पद का दुरुपयोग कर रही है। रिपोर्ट के अनुसार, कहा गया है कि उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश एस अब्दुल नजीर को आंध्र प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किया जाना इस बात का ज्वलंत उदाहरण है कि कैसे मोदी सरकार पदों को बंटवारा करती है।

उसने कहा, ‘‘हाल ही में छह राज्यपालों की नियुक्ति से इसका खुलासा हुआ है कि कैसे राज्यपाल के पद को देखा जाता है और कैसे मोदी सरकार इसका दुरुपयोग कर रही है।’’ माकपा ने अयोध्या मामले के फैसले का हवाला देते हुए दावा किया कि नजीर की नियुक्ति ‘लाभ के बदले लाभ पहुंचाने’ का मामले के रूप में देखा जा रहा है।

साजिश का रूप लेती जा रही है 'मोदी बैशिंग की सनक'

साजिश का रूप लेती जा रही है 'मोदी बैशिंग की सनक'

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बृहस्पतिवार को कहा कि दुनिया में भारत की बढ़ती धमक और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की धाक से बौखलाए लोगों की "मोदी बैशिंग की सनक" अब "भारत बैशिंग की साजिश" का रूप लेती जा रही है। नकवी के कार्यालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, उत्तर प्रदेश के रामपुर में एक किसान मेले का उद्घाटन के बाद नकवी ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में देश में सकारात्मक, सौहार्द पूर्ण, समावेशी सशक्तिकरण के माहौल से परेशान लोग "साज़िशों की फटी संदूक" और "बदनामी की फुकी बन्दूक" लेकर घूम रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता का यह भी कहना था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने "साम्प्रदायिक वोटों की ठेकेदारी" को "समावेशी विकास की हिस्सेदारी" से ध्वस्त कर दिया। उन्होंने दावा किया कि मोदी की धाक से बौखलाए लोगों की "मोदी बैशिंग की सनक", "भारत बैशिंग की साजिश" का रूप लेती जा रही है। नकवी ने कहा कि नरेंद्र मोदी के संकल्प, संस्कृति और सुशासन की शक्ति ने साबित कर दिया है कि "न सच परेशान हो सकता है न परास्त"।

महीने के आखिर में 'ब्रिटेन' जाएंगे गांधी, व्याख्यान देंगे

महीने के आखिर में 'ब्रिटेन' जाएंगे गांधी, व्याख्यान देंगे

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इस महीने के आखिर में ब्रिटेन जाएंगे जहां वह कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के बिजनेस स्कूल में व्याख्यान देंगे। राहुल गांधी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपना संस्थान रहे कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय जाऊंगा और बिजनेस स्कूल में व्याख्यान दूंगा।’’ राहुल गांधी ने कहा, ‘‘मैं भूराजनीति, अंतरराष्ट्रीय संबंध, ‘बिग डाटा’ और लोकतंत्र समेत कई क्षेत्रों के कुछ प्रतिभावान लोगों के साथ संवाद करने को लेकर उत्सुक हूं।’’

कैम्ब्रिज बिजनेस स्कूल ने कहा कि वह राहुल गांधी का फिर से स्वागत करके खुश है। उसने ट्वीट किया, ‘‘ राहुल गांधी केम्ब्रिज बिजनेस स्कूल में व्याख्यान देंगे और बिग डाटा और डेमोक्रेसी तथा भारत-चीन संबंधों पर संवाद करेंगे।’’ ब्रिटेन जाने से पहले राहुल गांधी रायपुर में 24-26 फरवरी को कांग्रेस के 85वें पूर्ण अधिवेशन में भाग लेंगे। 

लापरवाही: गाजियाबाद कोर्ट में फिर से तेंदुआ दिखा

लापरवाही: गाजियाबाद कोर्ट में फिर से तेंदुआ दिखा

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। गाजियाबाद कोर्ट में तेंदुए की दहशत बरकरार है। वकीलों का कहना है कि गुरुवार सुबह 7.45 बजे सीसीटीवी कैमरे में कचहरी परिसर में फिर से तेंदुआ दिखा है। इससे दहशत में आए वकील हड़ताल पर चले गए हैं। उन्होंने अपने-अपने चैंबर बंद कर दिए हैं। वकीलों की हड़ताल के चलते कोर्ट रूम भी नहीं खुल पाए हैं। कुछ न्यायिक अधिकारी अपने कोर्ट रूम में पहुंच गए थे, वे भी लौट गए हैं। कोर्ट के सभी दरवाजे बंद कर दिए गए हैं। 

 बार एसोसिएशन सचिव नितिन यादव ने कहा, न्यायालय परिसर गाजियाबाद में तेंदुआ दिखाई देने की वजह से अधिवक्ता और वादकारियों में भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई। हर किसी में दहशत का माहौल बना हुआ है। सुरक्षा को लेकर अधिवक्ता हड़ताल पर हैं। हमने वादकारियों से कहा है कि वे न्यायालय परिसर को खाली कर जल्द से जल्द अपने घरों में सुरक्षित पहुंच जाएं। बार एसोसिएशन गाजियाबाद ने गुरुवार को इस संबंध में एक बैठक आयोजित की है और हड़ताल का प्रस्ताव पास हुआ है। प्रस्ताव की कॉपी जनपद न्यायाधीश सहित सभी न्यायालयों को भेज दी गई है।

गांजे के विज्ञापन दिखाने वाला पहला प्लेटफॉर्म 'ट्विटर'

गांजे के विज्ञापन दिखाने वाला पहला प्लेटफॉर्म 'ट्विटर'

अखिलेश पांडेय 

वाशिंगटन डीसी। माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पहला ऐसा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बन गया है, जहां पर आपको गांजे के विज्ञापन देखने को मिल सकते हैं। दरअसल, ट्विटर ने अमेरिका में कंपनियों को अपने ब्रांड्स की मार्केटिंग करने की मंजूरी दे दी है। इससे पहले ट्विटर ने गांजे से बनने वाले सीबीडी टॉपिकल प्रोडक्ट्स के विज्ञापनों को मंजूरी दी थी।हालांकि, दूसरी दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक और उसकी सहायक कंपनियां इंस्टाग्राम और टिकटॉक, गांजे के विज्ञापन को नहीं दिखाने की नीति का पालन करती हैं, क्योंकि संघीय स्तर पर गांजा गैरकानूनी है।

अमेरिका के 21 राज्यों में गांजे के इस्तेमाल को कानूनी मंजूरी मिली हुई है। वहीं, 37 राज्यों में गांजे के मेडिकल इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है। हालांकि, केवल दो ऐसे राज्य – इडाहो, नेब्रास्का, हैं जो कि गांजे के कानूनी इस्तेमाल को मंजूरी नहीं देते हैं। ट्विटर ने कहा है कि वह कैनबिज कंपनियों को विज्ञापन की तब तक मंजूरी देगी जब तक कि उनके पास आवश्यक लाइसेंस है। कंपनी ने आगे कहा कि वह इस बात का ध्यान रखेगी कि कंपनियां केवल वहीं तक विज्ञापनों की पहुंच बना सकें जहां गांजे के कानूनी इस्तेमाल के लिए उन्हें लाइसेंस मिला हुआ है। इसके साथ ही, वह इस बात का भी ध्यान रखेगी कि कंपनियां 21 साल से कम उम्र के लोगों को निशाना न बना पाएं।

ट्विटर की इस घोषणा की, अधिकतर कैनबिज कंपनियों ने सराहना की। कई राज्यों में गांजे और उसके मेडिकल इस्तेमाल का कारोबार करने वाली कंपनी क्रेस्को लैब्स ने कहा कि यह गांजे के कानूनी मार्केट के लिए एक बड़ी जीत है। Trulieve Cannabis Corp ने बुधवार को ट्विटर पर एक साथ कई राज्यों के लिए विज्ञापन की शुरुआत कर दी।बता दें कि, कोविड-19 महामारी के बाद अमेरिका की कैनबिज इंडस्ट्री को रेगुलेटरी और आर्थिक चुनौतियों के कारण गिरावट का सामना करना पड़ा है।अवैध मार्केट भी उनके ग्राहकों में सेंध लगा रहा है जिसके कारण उनके दामों में गिरावट आ रही है। अमेरिकी कैनबिज कंपनी Curaleaf को हाल ही में अपने वर्कफोर्स में 10 फीसदी की कटौती करनी पड़ी और तीन अमेरिकी राज्यों में अपने अधिकतर कामकाज को रोकना पड़ा है।

व्रत: 18 फरवरी को मनाई जाएगी 'महाशिवरात्रि'

व्रत: 18 फरवरी को मनाई जाएगी 'महाशिवरात्रि'

सरस्वती उपाध्याय 

इस साल महाशिवरात्रि 18 फरवरी, शनिवार को है। इस दिन व्रत रखने और भगवान शिव की पूजा करने का विधान है। पौराणिक ग्रंथों के अनुसार, देवी सती का पार्वती के रूप में पुनर्जन्म हुआ था। मां पार्वती ने आरम्भ में अपने सौंदर्य से भगवान शिव को रिझाना चाहा, लेकिन वे सफल नहीं हो सकीं। इसके बाद त्रियुगी नारायण से पांच किलोमीटर दूर गौरीकुंड में कठिन ध्यान और साधना से उन्होंने शिवजी का मन जीत लिया। इसी दिन भगवान शिव और आदिशक्ति मां पार्वती का विवाह संपन्न हुआ। भगवान शिव का तांडव और माता भगवती के लास्यनृत्य के समन्वय से ही सृष्टि में संतुलन बना हुआ है। शिवजी को प्रसन्न करने और व्रत रखने कई महत्वपूर्ण नियम हैं, जिनका पालन करना जरूरी होता है। इन नियमों का पालन करने से महाशिवरात्रि व्रत का पूरा फल मिलता है और भगवान शिव की कृपा भी बनी रहती है।

व्रत की महिमा
महाशिवरात्रि व्रत परम मंगलमय और दिव्यतापूर्ण है ,यह व्रत चारों पुरुषार्थों धर्म, अर्थ,काम और मोक्ष को देने वाला माना गया है। इस दिन जो प्राणी परमसिद्धिदायक भगवान शिव का व्रत,अभिषेक और पूजन करते हैं वह परम भाग्यशाली होता है। भगवान श्री राम ने स्वयं कहा है कि-‘ शिव द्रोही मम दास कहावा ! सो नर मोहि सपनेहुँ नहिं  भावा !!’अर्थात जो शिव का द्रोह करके मुझे प्राप्त करना चाहता है वह सपने में भी मुझे प्राप्त नहीं कर सकता। यही वजह है कि इस दिन शिव आराधना के साथ ही श्री रामचरितमानस के पाठ का भी बहुत महत्त्व होता है । एक अन्य कथा के अनुसार माता पार्वती ने एक बार भगवान शिव से पूछा कि कौनसा व्रत उनको सर्वोत्तम भक्ति व पुण्य प्रदान  कर सकता है ,तब भोलेशंकर ने स्वयं इस दिन का महत्व बताया था कि फाल्गुन कृष्ण पक्ष के चतुर्दशी की रात्रि  को जो उपवास करता है ,वह मुझे प्रसन्न कर लेता है ।में अभिषेक,वस्त्र,धूप,अर्घ्य तथा पुष्प आदि से उतना प्रसन्न नहीं होता जितना कि  व्रत-उपवास से।

व्रत और पूजन विधि
भोलेनाथ की कृपा पाने के लिए श्रद्धालु  प्रातः स्नानादि करके शिवमंदिर जाएं ।पूजा में चन्दन  ,मोली ,पान, सुपारी,अक्षत, पंचामृत,बिल्वपत्र,धतूरा,फल-फूल,नारियल,इत्यादि शिवजी को अर्पित करें। भगवान शिव को अत्यंत प्रिय बेल को धोकर चिकने भाग की ओर से चंदन लगाकर चढ़ाएं । ‘ॐ नमः शिवाय’ मन्त्र का उच्चारण जितनी बार हो सके करें एवं शिवमूर्ति और भगवान शिव की लीलाओं का चिंतन करें। रात्रि के चारों प्रहरों में भगवान शंकर की  पूजा अर्चना करनी चाहिए ।अभिषेक के जल में पहले प्रहर में दूध, दूसरे में दही ,तीसरे में घी, और चौथे में शहद को शामिल करना चाहिए। दिन में केवल फलाहार करें, रात्रि में उपवास करें। हांलाकि रोगी, अशक्त और वृद्धजन रात्रि में भी फलहार कर सकते है । इस दिन शिव की पूजा करने से जीव को अभीष्ट फल की प्राप्ति अवश्य होती है।

महाशिवरात्रि पर प्रदोष व्रत का संयोग
हिंदू कैलेंडर के अनुसार इस बार महाशिवरात्रि पर बहुत ही शुभ संयोग बनने जा रहा है। 18 फरवरी,शनिवार को त्रयोदशी तिथि है और इस तिथि पर प्रदोष का व्रत रखा जाता है। प्रदोष व्रत भगवान शिव की पूजा-उपासना के लिए खास होता है। इस दिन त्रयोदशी तिथि की समाप्ति के बाद चतुर्दशी तिथि प्रारंभ हो जाएगी।

वजन और रक्त शर्करा में सुधार हो सकता है: बादाम

वजन और रक्त शर्करा में सुधार हो सकता है: बादाम

सरस्वती उपाध्याय 
नियमित रूप से बादाम खाने से अधिक वजन और मोटापे से ग्रस्त लोगों में शरीर के वजन और रक्त शर्करा दोनों में सुधार हो सकता है। एक अध्ययन में यह दावा किया गया है। फ्रंटियर्स इन न्यूट्रीशन जर्नल में प्रकाशित शोध में पाया गया है कि 12 सप्ताह तक रोजाना बादाम खाने से इंसुलिन प्रतिरोध कम हो गया, अग्नाशय के कार्य में सुधार हुआ और रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिली। 

शोधकर्ताओं ने कहा कि जिस समूह के लोगों को बादाम दिए गए थे उनके शरीर के वजन, बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) और कमर की परिधि में महत्वपूर्ण कमी आई और उनका कुल कोलेस्ट्रॉल भी कम हुआ। चेन्नई स्थित मद्रास डायबिटीज रिसर्च फाउंडेशन के अध्यक्ष और प्रमुख विश्वनाथन मोहन ने कहा, बादाम खाने वाले उपभोक्ताओं के शरीर के वजन और रक्त शर्करा, दोनों में सुधार हुआ। मोहन ने एक बयान में कहा, मोटापा दुनिया भर में देखी जाने वाली एक स्वास्थ्य समस्या है और हम जानते हैं कि मोटापा टाइप 2 मधुमेह जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ाता है।

हम यह भी जानते हैं कि यह एक जटिल समस्या है, जो मधुमेह से जुड़ी हुई है और हमें लगता है कि हमने एक सरल समाधान की पहचान की है। शोधकर्ताओं ने यह भी पाया कि बादाम खाने वाले लोगों में कुल कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर बेहतर था। दोनों मोटापे और मधुमेह का प्रबंधन करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। यह अध्ययन 25-65 वर्ष की आयु के 400 प्रतिभागियों पर किया गया था, जिनका बॉडी मास इंडेक्स 23 किलोग्राम प्रति वर्ग मीटर (किलोग्राम/एम 2) से अधिक था। शोधकर्ताओं ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र के बीएमआई दिशानिर्देशों का उपयोग किया, जिसमें कहा गया है कि 23 किलोग्राम/एम 2 से अधिक को। अधिक वजन और 25 किलोग्राम/ एम 2 से अधिक वजन मोटापा है। 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन









प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-127, (वर्ष-06)

2. शुक्रवार, फरवरी 17, 2023

3. शक-1944, पौष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-एकादशी, विक्रमी सवंत-2079‌।

4. सूर्योदय प्रातः 07:09, सूर्यास्त: 06:01। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 14 डी.सै., अधिकतम- 22+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया

'बुंदेलखंड' को निवेश का नया गंतव्य बनाया  संदीप मिश्र  लखनऊ। कभी पिछड़े क्षेत्र के रूप में पहचान रखने वाले बुंदेलखंड को योगी सरकार न...