शुक्रवार, 27 अगस्त 2021

'हिमालय' की चोटियों पर कब्‍जा करने का अभ्‍यास

बीजिंग। चीन की सेना पीएलए ने तिब्‍बत में हिमालय की चोटियों पर कब्‍जा करने का बड़ा अभ्‍यास किया है। इस अभ्‍यास में चीनी सेना की 10 से ज्‍यादा लड़ाकू टुकड़‍ियों ने 'शत्रु' के कब्‍जे वाली हिमालय की एक चोटी फिर से कब्‍जा करने का व्‍यापक अभ्‍यास किया है। चीनी विशेषज्ञों का कहना है कि चीनी सेना के इस अभ्‍यास का मकसद भारत को चेतावनी देना था। इससे पहले भारत ने लद्दाख विवाद के दौरान चीनी सेना को चौकाते हुए कैलाश रेंज की चोटियों पर कब्‍जा कर लिया था।

माना जा रहा है कि इसी का जवाब देने के लिए चीनी सेना ने तिब्‍बत में चोटियों पर फिर से कब्‍जा करने का अभ्‍यास किया है। साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्‍ट की रिपोर्ट के मुताबिक भारत से लगी सीमा को देखने वाले पश्चिमी थिएटर कमांड ने अपनी सेना के कई ब्रिगेड को इकट्ठा किया और उसे दो टीमों में बांट दिया गया। एक का नाम पीएलए और दूसरे का नाम 'ब्‍लू आर्मी' दिया गया था।

कजाकिस्तान के भंडार में विस्फोट होने से 9 की मौंत

एस्टाना। अफगानिस्तान के काबुल स्थित एयरपोर्ट पर हुए भयावह बम धमाकों के बाद शुक्रवार को कजाकिस्तान के शस्त्र भंडार में विस्फोट होने की खबर मिल रही है। समाचार एजेंसी के मुताबिक कजाकिस्तान के शस्त्र भंडार में हुए धमाकों में 9 लोगों की जान चली गई है। कहा जा रहा है कि यह धमाके जाम्बिल स्थित सैन्य अड्डे पर हुए हैं। धमाके में 9 कर्मचारियों की मौत हो चुकी है और तकरीबन एक सैकडा लोग घायल हुए हैं।

कजाकिस्तान के रक्षामंत्री ने बताया है कि शस्त्र भंडार में हुए धमाके के बाद आग के भारी बवंडर उठे हैं और आग ने देखते ही देखते आसपास के हथियारों के गोदामों को अपनी चपेट में ले लिया। मंत्रालय की ओर से शुरुआत में कहा गया था कि 6 धमाके हुए हैं। लेकिन कुछ अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि कजाकिस्तान में 10 से भी ज्यादा धमाके हुए हैं। इन धमाकों का एक वीडियो भी सोशल मीडिया के माध्यम से सामने आया है। इसमें आग एक बड़े बवंडर का रूप लेते हुए चारों तरफ फैल रही है। धमाकों के बाद प्रशासन की ओर से सैन्य अड्डे के आसपास रहने वाले लोगों को वहां से हटाया गया है। अभी तकरीबन 1000 लोगों ने सैन्य अड्डे के समीप से अस्थाई तौर पर अपना घर बार छोड़ दिया है। धमाकों के बाद रेलवे लाइन भी बंद कर दी गई है। धमाके के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। इस बीच कजाकिस्तान के रक्षा मंत्री नुर्लान येरमेकबायेव ने इन धमाकों के चलते अपना इस्तीफा देने की पेशकश की है। गौरतलब है कि इससे पहले बृहस्पतिवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित एयरपोर्ट पर दो बम धमाके हुए थे। इन धमाकों में 13 अमेरिकी सैनिकों की मौत हो गई थी। हमले में कुल 95 लोगों के मौत की खबर सामने आई है।

बस्ती में 1 व्यक्ति ने पत्नी की गला दबाकर हत्या की

नरेश राघानी      

बाड़मेर। राजस्थान में बाड़मेर जिले के सेड़वा थाना क्षेत्र में भीलों की बस्ती में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार सुबह पति-पत्नी के बीच आपस में बहस हो गई। गुस्साये पति भंवराराम ने पत्नी चंपादेवी (26) की गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस को सूचना मिलने पर घटनास्थल पहुंची और भंवराराम को गिरफ्तार कर लिया। मृतका के पीहर पक्ष ने पति, सास और ससुर पर हत्या का आरोप लगाया है। 

मोर्चा: 25 सितंबर को भारत बंद का आह्वान किया

अकांशु उपाध्याय           

नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा का राष्ट्रीय अधिवेशन सर्वसम्मति से देश के हर गाँव में अपने आंदोलन का विस्तार करने और 25 सितंबर को भारत बंद का आह्वान करने के साथ शुक्रवार को संपन्न हुआ। इसने किसानों से यह भी आह्वान किया कि वे मुजफ्फरनगर में एसकेएम की रैली को विरोध का एक विशाल प्रदर्शन बनाने के लिए पूर्ण प्रयास करें। विभिन्न किसानों, कृषि श्रमिकों, ट्रेड यूनियनों, महिलाओं, छात्रों, युवाओं, व्यापारी निकायों के 90 वक्ताओं को, 2000 से अधिक प्रतिनिधियों ने तीन कृषि अधिनियमों को रद्द करने, स सभी कृषि उपज की खरीद की कानूनी गारंटी करने, नए बिजली बिल को निरस्त करने और एनसीआर में वायु गुणवत्ता के नाम पर किसानों पर मुकदमा चलाने पर प्रतिबंध लगाने की मांग को गई।

सभा ने बार-बार अल्पसंख्यकों पर सांप्रदायिक हमलों करने और देश की प्राकृतिक संपत्ति और सार्वजनिक क्षेत्र को कॉर्पाेरेट और बहुराष्ट्रीय कंपनियों को बेचने के खिलाफ भी नारे लगाए। इन तथा अन्य संबंधित विषयों पर प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। इस अवसर पर आयोजन समिति के संयोजक, डॉ आशीष मित्तल ने कहा कि यह बिल्कुल स्पष्ट है कि आज पूरा किसान समुदाय कृषि, खाद्य भंडारण और कृषि बाजार के सभी पहलुओं पर कॉर्पाेरेट और बहुराष्ट्रीय कंपनियों के नियंत्रण से लड़ने के लिए मजबूर है। इन परिवर्तनों से किसान ऋण, आत्महत्या और भूमि से विस्थापन में व्यापक वृद्धि होगी।

लेकिन यह हमला किसानों और खेतिहर मजदूरों तक सीमित नहीं है। यह भारत के मेहनतकश लोगों के सभी वर्गों पर चौतरफा हमला हैं। देश की संपत्ति, जो अपने लोगों को रोजगार और सुरक्षा प्रदान करने के लिए है, जैसे रेलवे, पावर ट्रांसमिशन लाइन, प्राकृतिक गैस संसाधन, दूरसंचार परियोजनाएं, खाद्य भंडारण, बीमा, बैंक, आदि, को बेचे जा रहा है। गरीबों के लिए कल्याण और सेवा क्षेत्र, विशेष रूप से सब्सिडी और राशन पर निशाना साधा जा रहा है। आवश्यक वस्तुओं, विशेषकर ईंधन की कीमतों में भारी वृद्धि की जा रही है। सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं और शिक्षा क्षेत्र का निजीकरण किया जा रहा है और इन क्षेत्रों के विकास में केवल कॉरपोरेट का वर्चस्व है। ऐतिहासिक किसान संघर्ष, जिसने अपने उपर सरकार के हमले को चुनौती दी है, केवल अपने अस्तित्व की लड़ाई नहीं है। यह देश को भारतीय और विदेशी कॉरपोरेट्स द्वारा, पूरी तरह से अपने कब्जे में लेने से बचाने की लड़ाई है। यह वास्तविक आत्म-निर्भर विकास का मार्ग है, जो अपने देशभक्त नागरिकों के जीवन और आजीविका की रक्षा करता है। इसने करोड़ों लोगों के विश्वास को प्रेरित किया है और आने वाले दिनों में भी।

इस कन्वेंशन ने तीन कानूनों, एमएसपी और अन्य की मांग पर चर्चा की और प्रत्येक पहलू पर एक विस्तृत प्रस्ताव को मंजूरी दी। इसने किसानों से राज्य / जिला एसकेएम इकाइयों का गठन करने और सभी सहायक संगठनों के साथ राज्यों और जिलों में संघर्ष करने, सम्मेलनों, रैलियों का आयोजन करने, टोल वसूली का विरोध करने और किसानों की मांगों को स्वीकार करने से इनकार करने के लिए भाजपा और एनडीए नेताओं के खिलाफ विरोध करने का आह्वान किया 

कनेक्शन ना होने पर अधिकारी को निर्देशित किया

अतुल त्यागी
हापुड़। जिलाधिकारी अनुज सिंह, पुलिस अधीक्षक दीपक भूकर के साथ वन स्टॉप सेंटर का निरीक्षण कर रहे थे। निरीक्षण के दौरान वन स्टॉप सेंटर की छोटी इमारत को देखते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि इसे बड़ी इमारत में स्थानांतरित करें। वन स्टॉप सेंटर में विद्युत कनेक्शन ना होने पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय से विद्युत कनेक्शन करा कर विद्युत कार्य सुचारू कराएं और इनवर्टर की व्यवस्था भी की जाए। जिससे जहां तक आने वाली पीड़िताओ को समस्या ना आए। उन्होंने संबंधित को निर्देश दिए कि यहां पर आने वाली पीड़िताओं की समस्या महिला पुलिस अधिकारी तसल्ली पूर्वक सुनकर उनका निस्तारण कराना सुनिश्चित करें साथ ही वहां पर साफ सफाई और अच्छी प्रकार करने हेतु निर्देश दिए। उन्होंने यह भी कहा कि वन स्टॉप सेंटर पर आने वाली बालिका एवं महिलाओं के भोजन की व्यवस्था भी की जाए। निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी विशाल यादव सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। 

अफगानिस्तान से निकासी उड़ानें फिर से शुरू की

काबुल। अफगानिस्तान काबुल एयरपोर्ट पर बम धमाके के बाद अब स्थितियां सामान्य करने की कोशिशें की जा रही हैं। जिसके लिए बम धमाकों के एक दिन बाद ही अफगानिस्तान से निकासी उड़ानें फिर से शुरू कर दी गई हैं। यहां रेस्क्यू का काम तेजी से किया जा रहा है।
अफगानिस्तान के काबुल में एयरपोर्ट के बाहर एक के बाद एक तीन सीरियल धमाकों में 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई, जिसमें 90  अफगान नागरिक हैं। वहीं 150 से ज्यादा लोग इसमें घायल हैं। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक एयरपोर्ट के बाहर धमाकों में अमेरिका के 13 सैनिकों की भी मौत हुई है।
आईएस से संबद्ध इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रांत (आईएसकेपी) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। यह समूह तालिबान से कहीं अधिक कट्टरपंथी है। वहीं काबुल हमले को लेकर व्हाइट हाउस से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि हम माफ नहीं करेंगे। हम नहीं भूलेंगे। हम आपका शिकार करेंगे और आपको इसकी कीमत चुकानी होगी।
अफगानिस्तान से अमेरिकी लोगों की वापसी के अभियान की निगरानी कर रहे जनरल फ्रैंक मैकेंजी ने कहा कि अफगानिस्तान से बाहर जाने के इच्छुक लोगों को लाने के लिए वैकल्पिक मार्ग इस्तेमाल किए जा रहे हैं। करीब 5,000 लोग हवाई अड्डे पर उड़ानों का इंतजार कर रहे हैं।

साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप को खत्म किया

नरेश राघानी                
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अहमदाबाद के साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप को खत्म कर इसे आधुनिक बनाने के केन्द्र और गुजरात सरकार के फैसले को गलत बताया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह गांधी की विरासत को मिटाने का प्रयास है। गहलोत ने ट्वीट किया कि केन्द्र सरकार एवं गुजरात सरकार द्वारा अहमदाबाद के साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप को खत्म कर इसे आधुनिक बनाने का फैसला पूरी तरह गलत है।
भारत ही नहीं दुनियाभर में इस फैसले की आलोचना हो रही है। गहलोत के अनुसार इस फैसले से साबरमती आश्रम की सादगी एवं शुचिता खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने अपना पूरा जीवन सादगी के साथ आजादी की लड़ाई एवं मानवता की सेवा में लगा दिया। सादगी से जीवन जीने वाले महात्मा के आश्रम में अत्याधुनिक एवं लग्जरी अवसंरचना बनाना उनके जीवन की मौलिकता के विपरीत है। साबरमती आश्रम में बापू के विचारों और सिद्धांतों की परछाई है।
गहलोत ने कहा कि इसके मूल ढांचे से छेड़छाड़ कर सरकार महात्मा गांधी की विरासत को मिटाने का प्रयास किया जा रहा है। तमाम बुद्धिजीवियों ने केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर इसपर विरोध जताया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं केन्द्र सरकार से पुन: अपील करता हूं कि साबरमती आश्रम के मूल स्वरूप से कोई छेड़छाड़ ना करें। इससे धनार्जन के प्रयास करने के बजाय इसे चिंतन-मनन का केन्द्र रहने दें।


काबुल में हुए आतंकवादी हमलों की कड़ी निंदा की

काबूल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में हुए आतंकवादी हमलों की कड़ी निंदा करते हुए भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा है कि ये हमले आतंकवाद और आतंकवादियों को पनाहगाह मुहैया कराने वालों के खिलाफ विश्व के एकजुट होकर खड़े होने की आवश्यकता को प्रबल करते हैं।
दो आत्मघाती हमलावरों और बंदूकधारियों ने काबुल के हवाईअड्डे पर अफगानों की भीड़ पर बृहस्पतिवार को हमला किया, जिसमें कम से कम 60 अफगान और 13 अमेरिकी सैनिक मारे गए। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि एवं सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष राजदूत टी एस तिरुमूर्ति ने बृहस्पतिवार को कहा कि मैं काबुल में आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करता हूं।
हम इस आतंकवादी हमले के पीड़ितों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। इथियोपिया पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की ब्रीफिंग में तिरुमूर्ति ने कहा कि काबुल में हुए हमले आतंकवाद और आतंकवादियों को शरण देने वाले सभी लोगों के खिलाफ एकजुट होने की विश्व की आवश्यकता को मजबूत करते हैं। अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट से संबद्ध ‘इस्लामिक स्टेट-खुरासान प्रांत’ (आईएसकेपी) ने काबुल हवाईअड्डे के बाहर हुए हमलों की जिम्मेदारी ली है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने काबुल में हुए हमलों में मारे गए लोगों की जान का बदला लेने का संकल्प लिया है। बाइडन ने बृहस्पतिवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा, ”इस हमले को अंजाम देने वाले और अमेरिका को नुकसान पहुंचाने की मंशा रखने वाले ध्यान रखें कि हम तुम्हें बख्शेंगे नहीं। हम यह भूलेंगे नहीं। हम तुम्हें पकड़कर इसकी सजा देंगे। मैं अपने देश के हितों और लोगों की रक्षा करूंगा।

राहुल के बुलावे पर सीएम भूपेश दिल्ली रवाना हुए

दुष्यंत टीकम         
रायपुर। छत्तीसगढ़ में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर चल रही रस्साकसी के बीच राहुल गांधी के बुलावे पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज दिल्ली रवाना हो गए है। भूपेश बघेल ने विमानतल पर पत्रकारों से बातचीत में कहा कि..पार्टी महासचिव वेणुगोपाल का मैसेज उनके पास आया था जिसमें राहुल गांधी के आज उन्हे बुलावे की सूचना दी गई थी। राहुल जी के बुलावे पर वह दिल्ली जा रहे है।
उन्हे इसके अलावा अन्य कोई जानकारी नही है। राहुल जी पार्टी के वरिष्ठ नेता है और वह किसी भी नेता कार्यकर्ता को बुला सकते है। उन्होने कुछ मंत्रियों विधायकों और अन्य पार्टी नेताओं के दिल्ली कूच करने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि उऩ्हे फिलहाल इसकी जानकारी मीडिया से ही मिल रही है।वैसे इसमें कोई खास बात नही है।
बगैर बुलावे के भी लोगो को अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मिलने का पूरा हक है।कोरोना काल की वजह से लम्बे समय से लोग वैसे भी दिल्ली नही जा पाए है। भूपेश बघेल ने दिल्ली में डेरा जमाए स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव के बयान के बारे में कोई टिप्पणी करने से यह कहते हुए मना कर दिया कि किसी के निजी बयान पर वह कुछ नही बोलेंगे।पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर उन्होने कहा कि किससे मुलाकात होंगी कह नही सकता,जहां तक वह समझते है कि राहुल जी से मुलाकात होंगी।

मलविंदर ने प्रमुख सिद्धू के सलाहकार का पद छोड़ा

श्रीनगर। कश्मीर पर अपनी विवादित टिप्पणियों को लेकर आलोचनाओं से घिरे मलविंदर सिंह माली ने शुक्रवार को पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार का पद छोड़ दिया। हालांकि, माली ने इसे ‘इस्तीफा’ नहीं कहा। 
माली ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा, ”मैं विनम्रतापूर्वक कहता हूं कि मैं नवजोत सिंह सिद्धू को सुझाव देने के लिए दी गई अपनी सहमति वापस लेता हूं।” माली ने एक अन्य फेसबुक पोस्ट में दावा किया कि उनके इस्तीफे का सवाल ही नहीं उठता क्योंकि उन्होंने कभी इस पद को स्वीकार नहीं किया था।
उन्होंने पंजाबी में किये गए एक पोस्ट में कहा, ”न तो कोई पद स्वीकार किया था और न ही किसी पद से इस्तीफा दिया है।” पंजाब में सत्ता संघर्ष के बीच मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने रविवार को सिद्धू से कहा था कि वह अपने सलाहकारों को काबू में रखें। सिंह ने यह बात सिद्धू के दो सलाहकारों द्वारा कश्मीर और पाकिस्तान जैसे संवेदनशील मुद्दों पर ”बेतुकी” टिप्पणी के बाद कही थी।
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत ने भी कहा था कि दोनों सलाहकारों को जाने की जरूरत है। सिद्धू ने 11 अगस्त को पूर्व सरकारी शिक्षक एवं राजनीतिक विश्लेषक माली और बाबा फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ एंड साइंसेज के पूर्व रजिस्ट्रार प्यारे लाल गर्ग को अपना सलाहकार नियुक्त किया था।
माली ने हाल ही में एक सोशल मीडिया पोस्ट में संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द करने के मुद्दे पर बात की थी, जिसके तहत तत्कालीन राज्य जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्राप्त था। उन्होंने कथित तौर पर कहा था कि यदि कश्मीर भारत का हिस्सा था तो अनुच्छेद 370 और 35ए की क्या जरूरत थी।
उन्होंने यह भी कहा था, ”कश्मीर कश्मीरी लोगों का देश है।” सिद्धू के एक अन्य सलाहकार गर्ग ने मुख्यमंत्री द्वारा पाकिस्तान की आलोचना किये जाने पर कथित तौर पर सवाल उठाया था। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ”ऐसी आपत्तिजनक और बेतुकी टिप्पणियों को लेकर आगाह किया था जो राज्य और देश की शांति व स्थिरता के लिए संभावित रूप से खतरनाक हैं।

नदियों में जलस्तर बढ़ जाने से आपदा के हालात हुए

हरिओम उपाध्याय                 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में हो रही लगातार बारिश के चलते डोईवाला के रानीपोखरी भोगपुर क्षेत्र की नदियों में अचानक जलस्तर बढ़ जाने से आपदा के हालात हो गये हैं। भारी बारिश के चलते ऋषिकेश देहरादून हाईवे पर कई वर्षों पुराना पुल, जो कि इस मार्ग को जोड़ता था अचानक भरभरा कर गिर गया है।
इस हादसे के दौरान पुल के ऊपर से गुजर रही गाड़ियां भी नदी में जा गिरीं। देहरादून से ऋषिकेश सप्लाई करने जा रहे हैं एक छोटा हाथी का चालक भी गंभीर रूप से घायल हुआ है। 108 की मदद से घायल को इलाज अस्पताल भेजा गया मौके पर पुलिस पुल पर लोगों का जमावड़ा लगा हुआ है।

तीसरे दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतें यथावत रही

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। अंतर्रष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों पर बने दबाव के वावजूद शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतें यथावत रही। मंगलवार को इन दोनों की कीमतों में 15-15 पैसे प्रति लीटर की कमी की गयी थी।
आज दिल्ली में आज इंडियन ऑयल के पंप पर पेट्रोल जहां 101.49 रुपये प्रति लीटर पर औैर डीजल 88.92 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर रहा। ।तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, आज दिल्ली में पेट्रोल 101.49 रुपये प्रति लीटर पर और डीजल 88.92 रुपये प्रति लीटर पर रहा।
अमेरिकी बाजार में कल कारोबार की समाप्ति के समय ब्रेंट क्रूड 1.18 डॉलर प्रति बैरल टूट कर 71.07 डॉलर प्रति बैरल तक और डब्ल्यूटीआई क्रूड भी 0.92 डॉलर प्रति बैरल नरम होकर 67.42 डॉलर पर आ गया था।

विक्रांत के साथ काम करती नजर आएंगीं सारा अली

कविता गर्ग                 
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री सारा अली खान, विक्रांत मैसी के साथ काम करती नजर आ सकती हैं।
बॉलीवुड फिल्मकार रमेश तौरानी इन दिनों सैफ अली खान और अर्जुन कपूर को लेकर फिल्म भूल पुलिस बना रहे हैं। भूत पुलिस की रिलीज के बाद रमेश तौरानी एक और फिल्म बनाने जा रहे हैं। इस फिल्म में सारा अली खान लीड किरदार में नजर आ सकती है। फिल्म में सारा के साथ विक्रांत मैसी भी नजर आ सकते हैं।
रमेश तौरानी ने बताया, इन दिनों हम फिल्म की प्लानिंग में जुटे हुए हैं। अभी कुछ भी कहना थोड़ी जल्दबाजी होगी।

कानपुर-आगरा हाइवे पर खड़े ट्राले से टकराईं बस

हरिओम उपाध्याय             
इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के बकेवर इलाके में कानपुर-आगरा हाइवे पर रोडवेज़ बस सड़क पर खड़े ट्राले से टकरा गई। जिससे उसपर सवार एक बच्चे व महिला समेत चार लोगों की मृत्यु हो गई जबकि 31 यात्री गंभीर रूप से घायल हो गये।
पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) ओमवीर सिंह ने आज यहां बताया कि आगरा डिपो की रोडवेज बस कानपुर से आगरा जा रही थी । बकेवर थाना पार करने के बाद तेज रफ्तार बस खडे द्वारका गांव के समाने सड़क पर वहां खड़े ट्राले से टकरा गई। इस हादसे में बस का एक तरफ का पूरा हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। उन्होंने बताया कि हादसे में दो लोगों की मौके पर जबकि दो की अस्पताल ले जाते समय रास्ते में मृत्यु हो गई। मृतकों में एक साल के मासूम अलीगढ़ के आदित्य, हमीरपुर के 42 वर्षीय निरपत और 62 वर्षीय अमर मृदगुल और 22 वर्षीय श्रीमती गीतेश शामिल हैं। बस लगभग 50 यात्री सवार थे।
उन्होंने बताया कि दुर्घटनाग्रसत बस में कानपुर, इटावा, शिकोहाबाद, फिरोजाबाद, आगरा, अलीगढ़ के यात्री सवार थे। रात करीब सवा दो बजे बस इटावा के बकेवर क्षेत्र से गुजर रही थी, तभी वह हाइवे पर खड़े 22 चक्का ट्राला के पीछे टकरा गई। बस की कन्डक्टर साइड के आधे हिस्से के परखचे उड़ गए।
पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) ओमवीर सिंह ने बताया कि हादसे की सूचना पर पुलिस मौके पर पहंची और बस में फंसे घायल यात्रियों को एम्बुलेन्स व निजी वाहनों की मदद से जिला अस्पताल भिजवाया । जिला अस्पताल में सीएमएस एमएम आर्या समेत पांच डाक्टरों की टीम घायलों के इलाज में जुटी। इस बीच पांच लोगों की हालत नाजुक देखते हुए उन्हें सैफई मेडिकल यूनीवसिर्टी भेज दिया गया है।
उन्होंने बताया कि हादसे मे घायल परिचालक विजय सिंह का कहना है कि वो भी सो गया था एकाएक हुए हादसे के बीच वो अन्य यात्रियो के साथ वह भी घायल हो गया है जबकि चालक मौके से फरार हो गया। घायल बस यात्रियों ने बताया कि चालक कानपुर से ही बहुत तेज बस चला रहा था, जिससे कई यात्रियों को झटके लग रहे थे, लेकिन उसने किसी की नहीं सुनी। नतीजा ये हुआ कि आखिर में बस हादसे का शिकार हो गई और यात्रियों की जान चली गई। कई जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। कोरोना का टीका
बस हादसे में घायल अंजना खंडेलवाल आगरा,सुधीर आगरा,अमर इटावा,शैलजा कानपुर नगर,दीपक जैन फिरोजबाद,दीपक कानपुर,अशोक भदोही,सुलेखा कानपुर,गौरव आगरा,अनुराग फिरोजाबाद,राहुल फिरोजबाद,रेनु आगरा,दिनेश कानपुर,नीलेश शाहाजहॉपुर,महेंदी हसन एटा,विजय सिंह आगरा,नीतू फहेतपुर,सुरजीत फतेहपुर,रामू सीतापुर, शिवशंकर गोंडा,संजय सीतापुर, अनूप फतेहपुर,रानू उन्नाव, रूपेंद्र उन्नाव,रोहित सीतापुर,रंजेश सीतापुर,विनीता अलीगढ के अलावा हमीरपुर निवासी आदिल शामिल है।

आईपीएस अमिताभ ने दल बनाने की घोषणा की

हरिओम उपाध्याय                   
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विरुद्ध विधानसभा का चुनाव लड़ने की घोषणा करने वाले पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने नया राजनीतिक दल बनाने की घोषणा की है। नई पार्टी के गठन के ऐलान के बाद ही पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के घर के बाहर पुलिस का पहरा लग गया है। पूर्व आईपीएस को एक बार फिर से घर में ही नजरबंद कर दिया गया है। पूर्व आईपीएस ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए इस बात की जानकारी दी है। अब उन्होंने सुरक्षाकर्मियों से लिखित आदेश मांगते हुए कहा है कि यदि 1 घंटे के भीतर उन्हें लिखित आदेश नहीं मिलता है तो वह अपने पहले से प्रस्तावित अयोध्या में रामलला के दर्शन कर चुनावी प्रचार पर गोरखपुर के लिए निकल जाएंगे।
शुक्रवार को पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि मेरी अयोध्या-गोरखपुर यात्रा के निकट आने और नई राजनीतिक पार्टी की घोषणा करते ही मुझे फिर से नजरबंद कर दिया गया है। यह बडी ही अजीबोगरीब स्थिति है। ऐसा लग रहा है मानो कानून का नहीं बल्कि किसी व्यक्ति विशेष का राज हो। आखिर इतना डर क्यों सरकार?
पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने बताया है कि वह एक नए राजनीतिक दल के गठन की घोषणा कर रहे हैं। उन्होंने वीडियो बयान जारी करते हुए कहा है कि तमाम सहयोगियों और शुभचिंतकों व जानकार लोगों से मिले सुझावों और चर्चा के बाद विचार विमर्श कर नए राजनीतिक दल के गठन का निर्णय लिया गया है। अमिताभ ठाकुर ने राजनीतिक दल का नाम अधिकार सेना प्रस्तावित करते हुए अपने सहयोगियों से पार्टी के उद्देश्य और स्वरूप के संबंध में सुझाव देने का निवेदन किया है।

जौहर की फिल्म में काम करते नजर आएंगे सिद्धार्थ

कविता गर्ग                         
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा एक बार फिर करण जौहर की फिल्म में काम करते नजर आ सकते हैं। सिद्धार्थ मल्होत्रा ने करण जौहर निर्मित फिल्म ‘शेरशाह’ में काम किया है। बॉलीवुड में चर्चा है कि करन जौहर ने सिद्धार्थ मल्होत्रा को अब अपनी एक नई एरियल एक्शन ड्रामा फिल्म के लिए साइन किया है। इस अनटाइटल्ड फिल्म को बड़े पैमाने पर बनाया जाएगा, जिसमें सिद्धार्थ कभी न देखे गए अवतार में दिखाई देंगे।
इस फिल्म का निर्देशन पुष्कर और सागर करेंगे। पुष्कर और सागर लगभग एक साल से इस फिल्म पर काम कर रहे हैं और इसके लिए उन्होंने रेकी भी पूरी कर ली है। इस साल नवंबर से इस फिल्म का प्रोडक्शन शुरू होने की उम्मीद है।
बताया जा रहा है कि इसे फिल्म को बड़े पैमाने पर बनाया जाएगा, जिसमें कई एक्शन सीन्स और ड्रामाटिक विजुअल्स देखने को मिलेंगे।सिद्धार्थ इस फिल्म की शूटिंग ‘मिशन मजनू’ और ‘थैंक गॉड’ खत्म होने के बाद ही शुरू करेंगे।

व्हाट्सऐप की याचिकाओं पर केंद्र से जवाब मांगा

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने फेसबुक और व्हाट्सऐप की उन याचिकाओं पर शुक्रवार को केंद्र से जवाब मांगा। जिसमें सोशल मीडिया मध्यवर्ती संस्थानों के लिए उन नये सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) नियमों को चुनौती दी गई है। जिसके तहत मेसेजिंग ऐप के लिए यह पता लगाना जरूरी है कि किसी संदेश की शुरुआत किसने की। इन याचिकाओं के जरिये नये नियमों को इस आधार पर चुनौती दी है कि वे निजता के अधिकार का उल्लंघन करते हैं और असंवैधानिक हैं। मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की पीठ ने नोटिस जारी करके केंद्र को इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के माध्यम से याचिका के साथ ही नियमों के कार्यान्वयन पर रोक लगाने के लिए अर्जी पर भी जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है।
अदालत ने मामले को 22 अक्टूबर को आगे की सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया है। केंद्र के वकील ने मुख्य अधिवक्ता उपलब्ध नहीं होने के आधारपर सुनवाई स्थगित करने का अनुरोध किया जिसका वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे और मुकुल रोहतगी ने विरोध किया, जो क्रमशः व्हाट्सऐप और फेसबुक की ओर से पेश हुए थे।
फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी, व्हाट्सऐप ने अपनी याचिका में कहा कि मध्यवर्ती संस्थानों के वास्ते सरकार या अदालत के आदेश पर भारत में किसी संदेश की शुरुआत करने वाले की पहचान करना की आवश्यकता ‘एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन’ और इसके लाभों को “जोखिम में” डालती है।
व्हाट्सऐप एलएलसी ने उच्च न्यायालय से मध्यवर्ती संस्थानों के लिए नियमों के नियम 4 (2) को असंवैधानिक, आईटी अधिनियम का अधिकारातीत और अवैध घोषित करने का आग्रह किया है और अनुरोध किया है कि नियम 4 (2) के किसी भी कथित गैर-अनुपालन के लिए उस पर कोई आपराधिक दायित्व नहीं लगाया जाए जिसके तहत संदेश की शुरुआत करने वाले की पहचान करने की आवश्यकता है।

7 पैसे की तेजी, 74.15 रुपये पर खुला शेयर बाजार

कविता गर्ग            
मुंबई। घरेलू शेयर बाजारों में सुस्ती के बीच भारतीय रुपया शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले सात पैसे की तेजी के साथ 74.15 रुपये पर खुला। विदेशी मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि निवेशक अमेरिकी फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल के अहम भाषण से संकेतों का इंतजार कर रहे हैं, जिसके चलते घरेलू इकाई सीमित दायरे में कारोबार कर रही है।
इसके अलावा विदेशी बाजारों में डॉलर की मजबूती और कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों ने भी निवेशकों की धारणा को प्रभावित किया। 
अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले 74.17 पर खुला और फिर पिछले बंद भाव के मुकाबले सात पैसे बढ़कर 74.15 पर पहुंच गया। रुपया बृहस्पतिवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 74.22 पर बंद हुआ था। इसबीच वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 1.04 प्रतिशत बढ़कर 71.81 डॉलर प्रति बैरल हो गया।

रोड बंद होने से यातायात व्यवस्था पूरी तरह चरमराईं

पंकज कपूर                
 हरिद्वार। ओल वेदर रोड बंद होने से यातायात व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग 94 पर फ़कोट के पास ऑल वेदर रोड की सड़क पूरी तरह से हुई नष्ट हुई। जिससे आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया। 
आपको बता दें कि रात भर से हो गई लगातार तेज बारिश के चलते ऑल वेदर रोड की सड़क फ़कोट और आगरा खाल के बीच पूरी तरह से दो हिस्से में बंट गई।जिससे ऋषिकेश से चंबा आने जाने वाले सड़क कट गई है। इस सड़क का निर्माण कार्य करने वाली कंपनी की लापरवाही के चलते घटिया निर्माण की पोल खुलती ही जा रही है।
लेकिन अभी तक आश्चर्य की बात है कि यह ऑल वेदर रोड इसलिए बनाई गई थी कि बरसात हो य आपदा के समय में या सड़क 24 घंटे खुली रहेगी। परंतु निर्माण करने वाली कंपनी के द्वारा घटिया निर्माण किये जाने पर यह सड़क सिर्फ नाम मात्र की ऑल वेदर रोड सड़क रह गई वीडियो में आप देख सकते हैं कि किस तरह से यह सड़क बीच से दो हिस्सों में बट गई।

प्रियंका ने नौकरी देने के झूठे प्रचार की होर्डिंग लगवाईं

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। कांग्रेस की  राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने युवाओं को सचेत करते हुए कहा है कि भाजपा सरकार नौकरी देने के झूठे प्रचार की बड़ी-बड़ी होर्डिंग लगवा चुकी है। इस संबंध में विज्ञापन भी छपवाए जा रहे हैं। लेकिन युवा सरकार के इस झूठ के झांसे में ना आकर अपना हक मांगने से पीछे नहीं हटे। क्योंकि न्याय की हर एक आवाज युवाओं के साथ है। 
शुक्रवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ को अपने निशाने पर लेते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट कर युवाओं को सचेत किया है। उन्होंने ट्विटर हैंडल पर किए ट्वीट में कहा है कि आगामी वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को जीतने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार झूठ का सहारा ले रही है। भाजपा सरकार की ओर से युवाओं को नौकरी देने के झूठे प्रचार की बड़ी-बड़ी होर्डिंग जगह जगह लगवाई जा चुकी हैं। इसके अलावा अन्य संचार माध्यमों के जरिए भी विज्ञापन प्रकाशित करवाए जा रहे हैं जबकि वास्तविक स्थिति यह है कि जब उत्तर प्रदेश के युवा अपना रोजगार का हक मांगने सरकार के पास जाते हैं तो सरकार उन्हें रोजगार ना देकर उनके ऊपर लाठीचार्ज करवाते हुए उन्हें अपमानित करती है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने युवाओं का हौसला बढ़ाते हुए कहा है कि वह अपना हक मांगने में जरा भी हिचकिचाहट ना दिखाएं और अपनी आवाज को प्रमुखता के साथ उठाएं। क्योंकि न्याय की हर एक आवाज युवाओं के साथ खड़ी हुई है। युवाओं को नौकरी देने का काम सरकार का है। लेकिन उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अपने कर्तव्य से भाग रही है और युवाओं को झूठे प्रचार से भ्रमाने की कोशिश कर रही है।

अनाथ आश्रम में 18 बच्चे कोरोना पॉजिटिव मिलें

कविता गर्ग             
मुबंई। देश में एक बार फिर कोरोना संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली है। इस बीच मुंबई के आगरी पाड़ा इलाके से कोरोना को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां मौजूद सेंट जोसेफ अनाथ आश्रम में 18 बच्चे कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से चार बच्चों को मुंबई के नायर अस्पताल में भर्ती कराया गाय है, जो कि 12 साल की उम्र से कम के है। जानकारी के मुताबिक कोरोना संक्रमित पाए गए 18 बच्चों में 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों को रिचर्ड्सन एंड क्रूडस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। 
बता दें कि अनाथ आश्रम में कुछ लोगों के कोरोना से संक्रमित होने की बात मालूम चली थी जिसके बाद यहां परीक्षण के लिए एक केम्प आयोजित कराया गया। कोरोना टेस्ट के दौरान कुल 18 बच्चों समेत कुल 22 लोग वायरस से संक्रमित पाए गए। नायर अस्पताल के डॉ. के अनुसार जिन बच्चों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है, उनमें कोरोना का हल्के लक्षण हैं। जानकारी के अनुसार सभी लोगों को कोरोना टेस्ट 23 अगस्त 2021 को किया गया था और इनकी रिपोर्ट 24 अगस्त को कोविड पॉजिटिव की खबर मिली। अनाथ आश्रम से एक साथ इतनी तादात में कोरोना संक्रमण के मामलों के सामने आने से प्रशासन में हड़ंकप मच गया।

जूनियर सचिवालय सहायक के पदों पर भर्ती निकाली

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। राष्ट्रीय अनुसंधान परिषद की घटक प्रयोगशाला राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान, लखनऊ ने जूनियर सचिवालय सहायक के पदों पर भर्ती निकाली है। संस्थान की ओर से जारी विज्ञापन के अनुसार, सामान्य, वित्त एवं लेखा और भंडार एवं क्रय विभाग में कुल 09 वैकेंसी है। इन पदों के लिए 7वें वेतन आयोग के पे-मैट्रिक्स लेवल-2 (रु. 19,900 – रु.63,200) के अनुसार वेतन निर्धारित है। अभ्यर्थियों को आवेदन ऑफलाइन करना है। इसके लिए एनबीआरआई की वेबसाइट पर जाकर आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर 2021 है। अभ्यर्थी आवेदन डाक से भेजने की बजाए सीधे ले जाकर जमा भी कर सकते हैं।
आवेदन पत्र भेजने का पता है- नियंत्रक प्रशासन, सीएसआईआर-एनबीआरआई, राणा प्रताप मार्ग, लखनऊ-226001। आवेदन के साथ 100 रुपये का डिमांड ड्राफ्ट भी संलग्न करना होगा जो कि निदेशक, सीएसआईआर-एनबीआरआई के पक्ष में लखनऊ में देय होना चाहिए।
एनबीआरआई भर्ती 2021 के लिए वैकेंसी का विवरण
जूनियर सचिवालय सहायक (सामान्य)- 05 पद
जूनियर सचिवालय सहायक (वित्त एवं लेखा)- 03 पद जूनियर सचिवालय सहायक (भंडार एवं क्रय)- 02 पद
जूनियर सचिवालय सहायक (सामान्य)- 12वीं पास होने के साथ अंग्रेजी में 35 शब्द और हिंदी में 30 शब्द प्रति मिनट की दर से टाइपिंग में दक्षता. डीओपीटी द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार कंप्यूटर पर काम करना आना चाहिए।
जूनियर सचिवालय सहायक (वित्त एवं लेखा)- 12वीं अकाउंटेंसी के साथ पास होना चाहिए. साथ ही अंग्रेजी में 35 शब्द और हिंदी में 30 शब्द प्रति मिनट की दर से टाइपिंग में दक्षता। डीओपीटी द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार कंप्यूटर पर काम करना आना चाहिए।

कर्मचारियों को धमकाने के मामले पर सियासत शुरू

मनोज सिंह ठाकुर                 
भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बार फिर अफसरों और कर्मचारियों को धमकाने के मामले पर सियासत शुरू हो गई है। इस बार पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरु हुआ है। एक दिन पहले कमलनाथ द्वारा अफसरों को दी गई चेतावनी पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है। शिवराज ने कहा कि 15 महीने सरकार थी, तब क्या कर रहे थे, जो अब कर्मचारियों को धमका रहे हैं। दूेख लूंगा, मिटा दूंगा और जांच करवा दूंगा। यह धमकाने वाला अंदाज अलोकतांत्रिक है। प्रदेश के अधिकारी-कर्मचारी कर्तव्यनिष्ठ हैं।
शिवराज ने आगे कहा कि मध्यप्रदेश के नेता कह रहे हैं कि कांग्रेस में किसी की कदर नहीं है। उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को नसीहत देते हुए कहा कि वे पहले अपने घर को संभाल लें। इनसे (कमलनाथ) घर संभल नहीं रहा और कर्मचारियों को धमकाने निकले हैं।
गौरतलब है कि कमलनाथ ने 26 अगस्त को भोपाल में 'संस्कृति बचाओ' यात्रा के समापन के मौके पर सरकारी तंत्र को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि BJP का बिल्ला जेब में रखकर काम मत करो। 2 साल बाद सरकार बदल जाएगी। यदि रिटायर हो जाओगे तो भी फाइल खुल सकती है। पुलिस महकमे की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस को वर्दी की इज्जत रखनी चाहिए।
कमलनाथ ने यह भी कहा था कि मंदिर-मस्जिद को लेकर सड़क पर उतरने से रोज़गार नहीं बनते हैं। रोजगार निवेश से आएगा। मेरा लक्ष्य मध्यप्रदेश को विकास की राह पर लाना था। कांगेस की सरकार गिराने के लिए प्रदेश में सौदेबाजी हुई, लेकिन मैंने सौदा नहीं किया, क्योंकि मैं विकास का पक्षधर हूं। उन्होंने कहा -प्रदेश की जनता मुझे बताए कि मेरा क्या दोष है, मैंने कौन सा पाप किया।

लखनऊ में बनेगा बुलेट ट्रेन का जंक्शन, निर्णय लिया

हरिओम उपाध्याय             
लखनऊ। लखनऊ में बनेगा बुलेट ट्रेन का जंक्शन। एक साथ दो रूटों के लिए मिलेगी सुव‍िधा तो हो जाइए तैयार बुलेट ट्रेन की सवारी के लिए क्योंकि अब आपके अपने शहर लखनऊ में भी बनेगा बुलेट ट्रेन जंक्शन। करीब 300 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक की गति वाली बुलेट ट्रेन लखनऊ को तीन शहरों से जोड़ेगी। लखनऊ से जहां वाराणसी और दिल्ली को बुलेट ट्रेन जोड़ेगी। वहीं अब अयोध्या के लिए भी एक अलग बुलेट ट्रेन का नेटवर्क बनाने की तैयारी है। हालांकि अभी लखनऊ से अयोध्या रूट को केंद्र सरकार की मंजूरी नहीं मिली है।
941 किलोमीटर रूट का डीपीआर केंद्र को सौंपा जाएगा
नेशनल हाइ स्पीड रेल कारपोरेशन लि (एनएचएसआरसीएल) अगले माह दिल्ली-वाराणसी के बीच 941 किलोमीटर रूट पर बुलेट ट्रेन चलाने का फाइनल डीपीआर केंद्र सरकार को सौंप देगा एनएचएसआरसीएल ने दिल्ली-वाराणसी के बीच बुलेट ट्रेन चलाने के लिए भूमि अलाइनमेंट, ट्रेन में सफर करने वालों की संख्या, उसके सिग्नल और इलेिक्ट्रक लाइन जैसे सभी महत्वपूर्ण पहलुओं का राडार सर्वे कर लिया है। इस स्टडी को अब फाइनल किया जा रहा है। अगले माह फाइनल डीपीआर सौंपा जाएगा तो उसमें इस प्रोजेक्ट की लागत , बुलेट ट्रेन के माडल भी तय होंगे।
केंद्र की मंजूरी के बाद खुलेगा रास्ता
फाइनल डीपीआर को केंद्र सरकार मंजूरी देगी तब मुंबई-अहमदाबाद की तरह दिल्ली-वाराणसी कारिडोर पर बुलेट ट्रेन का काम शुरू हो सकेगा। इस प्रोजेक्ट में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सबसे महत्वपूर्ण केंद्र बनेगा लखनऊ से अयोध्या को बुलेट ट्रेन से जोड़ने की तैयारी चल रही है।
इसका एक सर्वे भी हो रहा है। एनएचएसआरसीएल के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक दिल्ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन कारिडोर में लखनऊ से ही अयोध्या के लिए एक अलग कारिडोर बनाने का एक प्रस्ताव है। इसे स्वीकृति देने के बाद लखनऊ से अयोध्या रूट का डीपीआर फाइनल होगा।
बुलेट ट्रेन जंक्शन लखनऊ में बनना तय
लखनऊ बुलेट ट्रेन के लिए एक जंक्शन बनेगा। जहां से यात्री अयोध्या, वाराणसी और दिल्ली की ओर जा सकेंगे एनएचएसआरसीएल के फाइनल अलाइनमेंट में बुलेट ट्रेन का रूट नोएडा, ग्रेटर नोएडा, मथुरा, आगरा, इटावा, लखनऊ, रायबरेली, प्रयागराज, भदोही, वाराणसी तय किया गया है। ऐसे में इस 941 किलोमीटर के रूट में लखनऊ से अयोध्या करीब 135 किलोमीटर का नया कारिडोर जोड़ने की तैयारी है।

8वीं तक के छात्रों के स्कूल खोलने का फैसला होगा

मनोज सिंह ठाकुर             
भोपाल। मध्य प्रदेश में कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्रों के स्कूल खुलेंगे या नहीं। इसका फैसला 4 दिन बाद किया जाएगा। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का कहना है कि  मध्य प्रदेश में पहली से आठवीं तक स्कूल खोलने को लेकर फिलहाल कोई निर्णय नहीं है। अभी दूसरे राज्यों में स्थितियां ठीक नहीं है और हम अभी और स्थितियों का आकलन करेंगे। इस हफ्ते स्कूल खोलने को लेकर महत्वपूर्ण बैठक ली जाएगी।
दरअसल, मप्र के स्कूल शिक्षा विभाग  की पहली से आठवीं कक्षा तक के स्कूलों को 15 सितंबर 2021 से खोलने की तैयारी है, ऐसे में जिला क्राइसिस मैनेजमेंट, स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी और प्रिंसिपल के साथ स्कूलों खोलने को लेकर तमाम मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। ज्यादा समय तक स्कूलों को बंद नहीं रखा जा सकता है, सितंबर के दूसरे सप्ताह में खोलने पर विचार किया जा रहा है।अगले 4 दिन में यानी 30 अगस्त तक स्कूल में बच्चे कैसे आएं और क्लास कैसे शुरू हों, इस पर फैसला लेंगे और अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का होगा।
दो दिन के अंदर सभी के साथ मीटिंग कर स्कूलों को लेकर रणनीति तैयार करेंगे। इसके बाद 30 अगस्त तक फैसला लिया जाएगा कि स्कूल खोले या नहीं। वही माना जा रहा है कि  9 से 12वीं तक की कक्षाओं का संचालन पूरी क्षमता के साथ करने की अनुमति भी दी जा सकती है।वर्तमान में 50% क्षमता के साथ 9वीं से 12वीं की क्लास लग रही हैं, ऐसे में कयास लगाए जा रहे है कि 6वीं से 8वीं तक की कक्षाएं सप्ताह में दो दिन लगाई जा सकती है। 5वीं की कक्षाओं को सितंबर के दूसरे सप्ताह से शुरू किया जा सकता है। साथ ही ये कक्षाएं सप्ताह में एक दिन संचालित की जा सकती हैं, हालांकि अंतिम फैसला होना अभी बाकी है।

पटवारियों की हड़ताल, याचिका पर सुनवाई हुईं

मनोज सिंह ठाकुर              
जबलपुर। जबलपुर हाईकोर्ट  में दायर प्रदेश में पटवारियों की हड़ताल के ख़िलाफ़ याचिका पर आज सुनवाई हुई। हाईकोर्ट ने इसे अवैध घोषित करते हुए पटवारियों को तत्काल काम पर लौटने का आदेश दिया। वही राज्य सरकार को भी हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि पटवारियों की माँगो पर विचार करें। हाईकोर्ट ने कहा कि पटवारियों से मीटिंग कर जायज़ मांगों को पूरा करने पर विचार किया जाए। पटवारियों की समस्याओं का 60 दिन के भीतर सरकार निराकरण करें।
दरअसल, यह याचिका मनोज कुशवाहा सहित किसानों ने लगाई है। जिसमें पटवारियों की हड़ताल को चुनौती दी गई थी। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर बीते 10 अगस्त से प्रदेश भर के पटवारियों ने काम बंद हड़ताल कर रखी है, जिसके चलते सरकारी कामकाज के साथ राजस्व का काम बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। वही लोग भी परेशान हो रहे है।इधर मामला मध्य प्रदेश हाईकोर्ट पहुंचा तो हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए निर्देश दिए कि प्रदेश भर के सभी पटवारी तुंरत काम पर वापस लौटे। साथ ही हाईकोर्ट ने पटवारियों की हड़ताल को अवैध घोषित करार किया है।
मध्यप्रदेश हाईकोर्ट  के न्यायाधीश प्रणव वर्मा और चीफ जस्टिस मोहम्मद रफीक की डिवीजन बैंच में चली सुनवाई में पटवारियों के साथ साथ हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को भी आदेश दिए है कि आप पटवारियों से बात करें और जाने की उनकी मांगे कितनी जरूरी है।  इसके अलावा पटवारियों के साथ बैठक भी करें और उनकी मांगों पर विचार करें।हाई कोर्ट की डिवीजन बैंच ने पटवारियों की बीते 17 दिनों से चल रही हड़ताल पर राज्य सरकार को यह भी आदेश दिए है कि वह आगामी 60 दिनों के भीतर उनकी समस्याओं का निराकरण कर रिपोर्ट दें।
गौरतलब है कि पटवारियों की हड़ताल को लेकर सबसे ज्यादा कोई परेशान हो रहा था वह थे किसान ।लिहाजा मनोज कुशवाहा सहित किसानों ने पटवारियों की हड़ताल को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी जिसका निराकरण आज हाई कोर्ट ने किया है।  प्रदेश भर के पटवारियों ने 2 एवं 3 अगस्त को सामूहिक अवकाश लिया था और उसके बाद पुनः 9 अगस्त से काम बंद हड़ताल कर दी थी। पटवारियों की मुख्य मांग थी कि उनका समयमान और वेतनमान बढ़ाया जाए साथ ही उनसे सिर्फ राजस्व संबधित काम लिया जाए।

यूके: विद्यालयों में शिक्षा कार्यक्रम का शुभारंभ किया

पंकज कपूर            
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के 200 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने राज्य के विभिन्न विद्यालयों के छात्र छात्राओं, अभिभावकों व अध्यापकों से वर्चुअल संवाद भी किया। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी विद्यालयों में छात्राओं के लिए अलग से शौचालय की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। मुख्यमंत्री ने शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति की राशि को 250 रूपये से बढाकर 1500 रूपये करने और साथ ही इसके लाभान्वितों की संख्या को 11 से बढाकर 100 करने की घोषणा की। उन्होंने श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति की राशि को 150 रूपये से बढाकर 1000 रूपये करने की भी घोषणा की। 
मुख्यमंत्री ने सभी को शुभकामनायें देते हुए कहा कि माध्यमिक विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा कार्यक्रम में 8 ट्रेड प्रारंभ किये गये हैं। इससे हमारे बच्चों का स्किल डेवलपमेंट होगा जो कि उनके कैरियर में सहायक होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में प्रारंभ नई शिक्षा नीति में भी स्किल डेवलपमेंट पर बल दिया गया है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों के लिये अच्छे से अच्छा जो भी हो सकता है, सरकार कर रही है। कोशिश है कि आम बच्चों तक क्वालिटी एजुकेशन की पहुंच बने। कोविड काल में आनलाईन एजुकेशन की महत्ता बढी है। सरकार राज्य के राजकीय विद्यालयों के 10 वीं और 12 वीं के छात्र छात्राओं को प्री लोडेड कंटेंट के साथ मोबाईल टैबलेट जल्द उपलब्ध कराएगी। 500 विद्यालयों में वर्चुअल क्लास की स्थापना की गई है।जबकि 600 और विद्यालयों में वर्चुअल क्लास प्रस्तावित हैं।  सभी विद्यालयों में एनसीईआरटी की पुस्तकें अनिवार्य की गई हैं। 189 अटल उत्कृष्ट विद्यालय सीबीएसई मान्यता के साथ इंग्लिश मीडियम में प्रारंभ किये गये हैं। 

काबुल हवाईअड्डे के बाहर हुए हमलों की जिम्मेदारी

काबूल। अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट से संबद्ध ‘इस्लामिक स्टेट-खुरासान प्रांत’ (आईएसकेपी) ने काबुल हवाईअड्डे के बाहर हुए हमलों की जिम्मेदारी ली है। अफगान और अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार, काबुल हवाईअड्डे के पास दो आत्मघाती हमलावरों और बंदूकधारियों ने अफगानों की भीड़ पर किए गए हमले में कम से कम 72 लोगों की मौत हो गई। जबकि कई अन्य के घायल होने की खबर है।
मृतकों में 12 अमेरिकी सैनिक और अफगानिस्तान के 60 लोग शामिल हैं। आईएस से संबद्ध आईएसकेपी ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि उसने अमेरिकी सैनिकों और उसके अफगान सहयोगियों को निशाना बनाया। बयान के साथ एक तस्वीर भी साझा की गई।आतंकवादी संगठन ने कहा कि यह वही हमलावर है, जिसने हमले को अंजाम दिया। तस्वीर में कथित हमलावर को काले आईएस झंडे के सामने विस्फोटक बेल्ट के साथ खड़ा देखा जा सकता है, जिसके चेहरे पर एक काला कपड़ा बंधा है और केवल उसकी आंखें दिख रही हैं। बयान में दूसरे आत्मघाती हमलावर या बंदूकधारियों का कोई जिक्र नहीं था। दावे को स्वतंत्र रूप से सत्यापित नहीं किया जा सका है।

भारत में संक्रमितों की संख्या 3,26,03,188 हुईं

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 44,658 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,26,03,188 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 3,44,899 हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से 496 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,36,861 हो गई।
देश में अभी 3,44,899 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 1.03 प्रतिशत है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.63 प्रतिशत है। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी।
वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख के पार चले गए। देश में 19 दिसम्बर को ये मामले एक करोड़ के पार, चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे।

450 पदों पर भर्ती कराने के लिए प्रक्रिया शुरू की

पंकज कपूर                
देहरादून। सरकारी नौकरी की चाह रखने वाले उत्तराखंड के युवाओं के लिए अच्छी है कि ग्राम्य विकास विभाग में 450 पदों पर भर्ती कराने के लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग जल्द ही विज्ञापन जारी करेगा। भर्ती के लिए कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने आयोग को गाइड लाइन जारी करते हुए तत्काल प्रक्रिया कराने को निर्देशित किया है।
कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने उत्तराखंड ग्राम्य विकास विभाग में रिक्त पदों की सूची तैयार कराई है। सभी पदों की सूची तैयार कराते हुए उन्होंने उत्तराखंड लोक सेवा आयोग में भर्ती कराने के लिए पूरा खाका भेज दिया है। प्रस्ताव मिलने पर उत्तराखंड लोक सेवा आयोग के अधिकारियों ने प्रक्रिया शुरू करा दी है। उम्मीद है कि जल्द ही विज्ञापन जारी कराते हुए आवेदन भरवाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इससे प्रदेश के युवाओं को बड़ा अवसर प्रदान होगा।
कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद का कहना है कि प्रदेश के युवाओं को रोजगार मिले और विभागीय कार्य भी समय पर हो, इसके लिए भर्ती प्रक्रिया बहुत ही जरूरी है।

काबुल में हुए हमलों के लिए चरमपंथी जिम्मेदार

वाशिंगटन डीसी/ काबूल। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने काबुल में हुए हमलों के लिए इस्लामी चरमपंथियों को जिम्मेदार ठहराया और हमले में मारे गए लागों की जान का बदला लेने का संकल्प लेते हुए कहा, ” हम तुम्हें (हमलावरों को) पकड़कर इसकी सजा देंगे।
काबुल हवाईअड्डे के पास दो आत्मघाती हमलावरों और बंदूकधारियों द्वारा भीड़ पर किए गए हमले में कम से कम 73 लोगों की मौत हो गई जबकि कई अन्य के घायल होने की खबर है। मृतकों में अमेरिका 13 सैनिक और अफगानिस्तान के 60 लोग शामिल हैबाइडन ने बृहस्पतिवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा, ” इस हमले को अंजाम देने वाले और अमेरिका को नुकसान पहुंचाने की मंशा रखने वाले ध्यान रखें कि हम तुम्हें बख्शेंगे नहीं। हम यह भूलेंगे नहीं। हम तुम्हें पकड़कर इसकी सजा देंगे। मैं अपने देश के हितों और लोगों की रक्षा करूंगा। 
राष्ट्रपति ने कहा कि काबुल में हामिद करज़ई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे और उसके पास एक होटल पर हुए भयावह हमले के पीछे आईएसआईएस-के का हाथ है। बाइडन ने कहा, ” जैसा कि आप सभी जानते हैं, जिन आतंकवादी हमलों के बारे में हम बात कर रहे थे और जिनके बारे में खुफिया तंत्र चिंतित था, उसे आईएसआईएस-के नामक संगठन ने अंजाम दिया। उन्होंने हवाईअड्डे पर तैनात अमेरिकी सेवा के सदस्यों की जान ली और कई को गंभीर रूप से घायल भी कर दिया। उन्होंने कई असैन्य लोगों की भी जान ली और कई को घायल भी किया।” 
बाइडन ने कहा कि उन्होंने अपने कमांडरों को आईएसआईएस-के के ठिकानों, नेतृत्व और सुविधाओं पर हमला करने की योजना तैयार करने के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि काबुल में निकासी अभियान को 31 अगस्त तक पूरा करने के लिए वह अब भी प्रतिबद्ध हैं।
बाइडन ने कहा, ” हम अभियान पूरा कर सकते हैं और जरूर करेंगे। मैंने उन्हें यही आदेश भी दिया है। हम आतंकवादियों के आगे घुटने नहीं टेकेंगे। हम उन्हें हमारा अभियान रोकने नहीं देंगे। हम निकासी अभियान जारी रखेंगे।” राष्ट्रपति ने कहा कि यह तालिबान के हित में है कि वह आईएसआईएस-के को अफगानिस्तान में और पैर ना पसारने दे।
बाइडन ने कहा, ” यह तालिबान के हित में है कि वह आईएसआईएस-के को अफगानिस्तान में और पैर ना पसारने दे।” उन्होंने साथ ही कहा कि हवाईअड्डे पर हमले को अंजाम देने में तालिबान और आईएसआईएस की मिलीभगत का अब तक कोई सबूत नहीं मिला है।

सरकार की किरकिरी, दो अधिकारियों पर गाज गिरीं

पंकज कपूर                
देहरादून। कुंभ कोरोना टेस्टिंग घोटाले में धामी सरकार की किरकिरी होने के बाद दो अधिकारियों पर गाज गिरा दी गई। उनमें से एक है। कुंभ मेला स्वास्थ्य अधिकारी डा. अर्जुन सिंह सेंगर। गजब की बात यह है कि उनका कुंभ के बाद प्रमोशन भी हुआ। लेकिन पोस्टिंग के बजाय उनका निलंबन हो गया। कुंभ के बाद डा. अर्जुन सिंह सेंगर का सहायक निदेशक में प्रमोशन हो चुका है। लेकिन कोरोना जांच फर्जीवाड़े ने उनकी नई पोस्टिंग में दाग लग गया है। इस कार्रवाई के बाद एसआईटी जांच को लेकर कइयों की धडक़नें बढ़ गई हैं।
कोरोना की दूसरी लहर के बीच हुए कुंभ कोरोना टेस्टिंग में फर्जीवाड़ा सामने आया था। लैबों से लगभग ढाई लाख श्रद्धालुओं की जांच करने का दावा किया गया था। फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद शासन के निर्देश पर तत्कालीन जिलाधिकारी सी रवि शंकर ने 12 जून को मुख्य विकास अधिकारी सौरभ गहरवार की अध्यक्षता में जांच कमेटी का गठन किया था।
इसके बाद मुख्य विकास अधिकरी सौरभ गहरवार ने 14 अगस्त को दो माह बाद जांच रिपोर्ट नए डीएम विनय शंकर पांडेय को सौंप दी थी। जिलाधिकारी ने भी जांच रिपोर्ट को शासन को भेज दिया था। जिसके बाद सरकार ने एक्शन लेते हुए मई 2020 में कुंभ मेला स्वास्थ्य अधिकारी बनाए गए डॉ. अर्जुन सिंह सेंगर और फरवरी 2021 में कोरोना जांच के नोडल अधिकारी बनाए गए डॉ. एनके त्यागी को कोरोना टेस्टिंग घोटाले में सस्पेंड कर दिया गया है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-377 (साल-02)
2. शनिवार, अगस्त 28, 2021
3. शक-1984,सावन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:44, सूर्यास्त 07:10।
5. न्‍यूनतम तापमान -22 डी.सै., अधिकतम-37+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...