सोमवार, 17 जुलाई 2023

शरीर में पानी की कमी, डिहाइड्रेशन की समस्या

शरीर में पानी की कमी, डिहाइड्रेशन की समस्या

सरस्वती उपाध्याय 

शरीर के स्वस्थ कामकाज के लिए शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए। पानी की कामी से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। ध्यान रहे कि अभी गर्मियों का मौसम खत्म नहीं हुआ है इसलिए किसी भी तरह पानी कम न करें। हाइड्रेटेड रहने के लिए सिर्फ पानी पीना ही काफी नहीं है। इसके लिए आपको अपनी डेली की डाइट पर ध्यान रखना जरूरी है।

बहुत से ऐसे लोग हैं, जो जाने अनजाने में ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं, जो शरीर में पानी की मात्रा कम करते हैं। ध्यान रहे कि शरीर में पानी की कमी से आपको प्यास ज्यादा लगना, गहरा पीला, तेज गंध वाला पेशाब आना, सामान्य से कम बार पेशाब आना, चक्कर आना या सिर घूमना, थकान महसूस होना, मुंह, होंठ और जीभ का सूखना और आंखों का धंसना जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। फैट टू स्लिम की डायरेक्टर और न्यूट्रिशनिस्ट एंड डाइटीशियन शिखा अग्रवाल शर्मा आपको बता रही हैं कि रोजाना खाए जाने वाले कौन-कौन से खाद्य पदार्थ शरीर में पानी को सूखा सकते हैं।

बहुत से लोगों को कॉफी पीना पसंद है। इसमें मौजूद कैफीन को खोई हुई ऊर्जा को वापस पाने के लिए जाना जाता है लेकिन यह डिहाइड्रेशन की वजह भी बन सकती है। कैफीन को अधिक मात्रा में लेने से यह मूत्रवर्धक के रूप में काम करती है जिससे आपके शरीर में पानी की मात्रा में असंतुलन पैदा हो सकता है।

ग्रीन टी को एक हेल्दी ड्रिंक माना जाता है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सिडेंट और फ्लेवोनोइड की अधिक मात्रा होती है। लेकिन यह आपको डिहाइड्रेशन भी कर सकती है। कॉफी की तरह ग्रीन टी में भी कुछ मात्रा में कैफीन होता है, जो एक नैचुरली पेशाब बढ़ाने का काम करता है। इससे शरीर में पानी की कमी हो सकती है, जिससे आप थका हुआ और सुस्त महसूस कर सकते हैं।

चुकंदर में पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है, जो आपके शरीर से तरल पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करने के लिए जाना जाता है। इसलिए, यदि आप विशेष रूप से गर्मियों के दौरान चुकंदर का अधिक सेवन करते हैं, तो यह आपके शरीर पर कई नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

वजन कम करने और मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने के लिए हाई प्रोटीन फूड्स का खूब सेवन किया जाता है। बेशक प्रोटीन के सेवन से कई फायदे होते हैं लेकिन यह डिहाइड्रेशन की वजह भी बन सकता है। मूल रूप से प्रोटीन शरीर में नाइट्रोजन का निर्माण करता है जो चयापचय के लिए अतिरिक्त पानी का उपयोग करता है। इससे अक्सर शरीर में द्रव असंतुलन हो जाता है।

सोडा और पैकेज्ड जूस में चीनी की अधिक मात्रा अधिक होती है, जिससे शरीर पर हाइपरनेट्रेमिया प्रभाव पड़ता है। इसका मतलब है, चीनी कोशिकाओं और ऊतकों से पानी खींचती है, जिससे शरीर में तरल पदार्थ का स्तर कम हो जाता है।

हत्याकांड के आरोपी टिकैत को बरी किया

हत्याकांड के आरोपी टिकैत को बरी किया

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुज़फ्फरनगर। राष्ट्रीय किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे दिवंगत चौधरी जगबीर सिंह हत्याकांड में कोर्ट ने आरोपी भाकियू के अध्यक्ष व बालियान खाप के चौधरी नरेश टिकैत को सबूत के अभाव में बरी कर दिया है।

गत 6 सितंबर 2003 को ग्राम अलावलपुर में जगबीर सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस मामले में बचाव पक्ष के वरिष्ठ अधिवक्ता अनिल जिंदल ने यह जानकारी दी। आज एड़ीजे 5 अशोक जुमार ने यह फैसला सुनाया।

आप अवगत ही हैं कि मुजफ्फरनगर के थाना भौराकलां में राष्ट्रीय किसान संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी जगबीर सिंह की 6 सितंबर 2003 को नृशंस हत्या कर दी गई थी। इस हत्या में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत समेत अलावलपुर गांव के प्रवीण और बिट्टू को नामजद किया गया था, जिनमें प्रवीण और बिट्टू की मौत हो चुकी है जबकि नरेश टिकैत अकेले अभियुक्त हैं, जिनके विषय में अदालत में सुनवाई चल रही थी।

निर्यात: रूस-यूक्रेन को समझौते से बाहर किया 

निर्यात: रूस-यूक्रेन को समझौते से बाहर किया 

अखिलेश पांडेय 

मॉस्को। रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन को एक बड़ा झटका दिया है। रूस-यूक्रेन को काला सागर से अनाज निर्यात की अनुमति देने वाले समझौते से बाहर हो गया है। रूस ने सोमवार को कहा है कि वो संयुक्त राष्ट्र की मध्यस्थता वाले काला सागर समझौते से हट रहा है, क्योंकि उसकी शर्तों को पूरा नहीं किया गया है‌। यह समझौता इसलिए भी बेहद अहम था क्योंकि इसके कारण वैश्विक खाद्य की कीमतों को 20 प्रतिशत तक कम रखने में मदद मिली थी। रूस और यूक्रेन बड़े स्तर पर गेहूं निर्यात करते हैं।

 रूस ने इस घोषणा से कुछ घंटे पहले ही कहा था कि क्रीमिया के उसके पुल पर हमला यूक्रेन ने किया था। क्रीमिया के 19 किलोमीटर लंबे पुल पर हमला अक्टूबर 2022 में हमला हुआ था।

काला सागर और अजोव सागर को जोड़ने वाला क्रीमिया का पुल रूस के लिए आर्थिक रूप से बेहद अहम है। क्रीमिया ब्रिज पर हमले से यूक्रेनी सेना ने इनकार किया था। उसका कहना था कि यह हमला रूस ने खुद ही किया होगा।

 हालांकि, कुछ महीनों बाद यूक्रेन ने क्रीमिया ब्रिज पर हमले की बात अप्रत्यक्ष रूप से स्वीकार ली थी। लेकिन अब यूक्रेन की मीडिया ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि इसके पीछे यूक्रेन की सुरक्षा सेवा थी‌। रिपोर्ट के मुताबिक, अब रूस का कहना है कि पुल पर हमला यूक्रेन ने किया था, जिसमें दो लोग मारे गए थे। रूस ने इस घटना को आतंकवादी कृत्य करार दिया है। कहा जा रहा है कि इसे लेकर ही रूस ने यूक्रेन के साथ अपने अनाज समझौते पर रोक लगा दी है। लेकिन रूसी राष्ट्रपति भवन क्रेमलिन की तरफ से कहा गया है कि संयुक्त राष्ट्र और तुर्की की मध्यस्थता में हुए काला सागर अनाज समझौते से रूस के अलग होने का इससे कुछ लेना-देना नहीं है।

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा, 'सच कहें तो, काला सागर समझौता आज से वैध नहीं रहा। दुर्भाग्य से, रूस इन काला सागर समझौतों का जो हिस्सा लागू करवाना चाहता था, उसे लागू नहीं किया गया, इसलिए अब हम समझौते से अलग हो रहे हैं।'

नकली नोट बनाने वाले दो अभियुक्त गिरफ्तार 

नकली नोट बनाने वाले दो अभियुक्त गिरफ्तार 

भानु प्रताप उपाध्याय 

सहारनपुर। सहारनपुर जनपद की थाना बड़गांव पुलिस ने दो शातिर अभियुक्तों को नकली नोट और नकली नोट बनाने के उपकरणों के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। सोमवार को नकली करेंसी बनाने की घटना का अनवरण कर पत्रकारों को जानकारी देते हुए एसपी देहात सहारनपुर सागर जैन ने बताया कि थाना बड़गांव पुलिस ने नकली नोट बनाने वाले दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से पुलिस ने 51750 रुपए की नकली नोटों की करेंसी, एक लैपटॉप, एक प्रिंटर अन्य उपकरण के साथ एक बाइक भी बरामद की है।

गिरफ्तार दोनो अभियुक्त उत्तराखंड के लक्सर के रहने वाले रवि और जसवंत है। एसपी देहात सागर जैन ने बताया कि पुलिस द्वारा बरामद किए गए सभी नोट ₹50 और ₹100 के नकली नोट है।

उन्होंने बताया कि आरोपियों से गहनता से पूछताछ की जा रही है। ताकि उनके अन्य सहयोगियों को भी गिरफ्तार किया जा सके।

पर्यावरण के प्रति जागरूक रहने का आह्वान 

पर्यावरण के प्रति जागरूक रहने का आह्वान 

विकास कुमार 

गाजियाबद। गाजियाबाद के कमला नेहरू नगर स्थित 8वीं  बटालियन एनडीआरएफ एक ओर जहाँ उत्तर प्रदेश, दिल्ली और हरियाणा के बाढ़ग्रस्त भागों में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाये हुए है। वहीं, गाज़ियाबाद स्थित कैंपस में वृहद् पौधरोपण, कार्यक्रम का आयोजन गाजियाबाद वानिकी विभाग के साझा प्रयासों से करके लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक रहने का आह्वान किया जा रहा है। 

मुख्य अतिथि गाज़ियाबाद से सांसद श्री अनिल अग्रवाल के साथ एनडीआरएफ चीफ मेडिकल अधिकारी डॉ. अमित मुरारी, वन विभाग डीऍफ़ओ मनीष सिंह और एनडीआरएफ के तमाम बटालियन पदाधिकारी इस मौके पर कार्यक्रम में उपस्थित रहे। 

कार्यक्रम में गाज़ियाबाद रेडिएंट स्कूल के बच्चों और स्कूल प्रिंसिपल विनीता त्यागी सहित स्कूल की शिक्षिकाओं ने पौधरोपण में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। पौधरोपण कार्यक्रम में  लगभग 1100 सेब, अनार और अमरुद का पौधारोपण किया गया।

मुख्य अतिथि डॉ. अनिल अग्रवाल ने इस मौके पर प्रकृतिक आपदों का एक मुख्य कारण पर्यवरण असंतुलन बताया और प्राकृतिक आपदाओं से बचने और बेहतर पर्यावरण संतुलन के लिए अधिक पौधे लगाने का आह्वान किया।

नगर आयुक्त ने सफाई अवस्था का जायजा लिया

नगर आयुक्त ने सफाई अवस्था का जायजा लिया

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। कचरा निस्तारण की कार्यवाही हेतु नगर आयुक्त डॉ. नितिन गौड़ लगातार प्रयासरत है, जिसके लिए शाहपुर तथा पाइपलाइन का समय-समय पर निरीक्षण भी कर रहे हैं। प्रातः भ्रमण के दौरान संबंधित अधिकारियों के साथ नगर आयुक्त ने सफाई व्यवस्था का जायजा लिया, जिसके क्रम में शाहपुर तथा पाइपलाइन का स्थलीय निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण के दौरान पाया गया कि डंपिंग ग्राउंड की कनेक्टिंग रोड पूर्ण रूप से खराब है।

नगर आयुक्त महोदय द्वारा पाइपलाइन तथा शाहपुर की कनेक्टिंग रोड की मरम्मत हेतु निर्माण विभाग को मौके पर निर्देश दिए गए, गाड़ियों के आवागमन को सरल बनाने हेतु मार्गों को दूरस्थ करने के लिए कहा कचरे का उठान तथा एकत्रीकरण स्थलों पर कार्य की रफ्तार को बढ़ाने के लिए नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथिलेश को निर्देश दिए।

महापौर सुनीता दयाल तथा नगर आयुक्त डॉ नितिन गौड़ शहर की सफाई व्यवस्था को सुदृढ़ करने हेतु लगातार योजना बना रहे हैं।जिनके निर्देश अनुसार संबंधित टीम कार्य में लगी हुई है। नगर आयुक्त महोदय द्वारा लगातार निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य विभाग को कार्य करने के निर्देश दिए जा रहे हैं, जिस के क्रम में शहर से बारी-बारी कूड़ा उठ रहा है।

कांवड़ यात्रा के उपरांत कूड़ा उठान की प्रक्रिया में तेजी लाने हेतु टीम को मोटिवेट किया गया, क्षेत्रीय पार्षदों द्वारा भी गाजियाबाद नगर निगम का विशेष सहयोग किया जा रहा है।

कवि व शायरों ने गोष्ठी में चार चांद लगाए

कवि व शायरों ने गोष्ठी में चार चांद लगाए

इकबाल अंसारी 

गाजियाबाद। कारवाने ग़ज़ल और तरुणिमा साड़ीज़ द्वारा काव्य गोष्ठी बाज़गश्त का आयोजन शायरा तरुणा मिश्रा के शास्त्रीनगर स्थित निवास पर किया गया। काव्य गोष्ठी में विभिन्न शहरों से कवि व शायर आए और अपनी रचनाओं से गोष्ठी में चार चांद लगा दिए।

 कारवाने ग़ज़ल के संस्थापक अध्यक्ष आरिफ़ मीर को श्रद्धांजलि अर्पित कर काव्य गोष्ठी की शुरूआत की गई। शकील जमाली साहब को उर्दू अकादमी दिल्ली से अवार्ड मिलने पर सम्मानित किया गया। कारवाने ग़ज़ल के राकेश मिश्रा,  गोविंद गुलशन व आलोक यात्री ने शॉल व श्रीफल से शकील जमाली का सम्मान किया। 

शकील जमाली ब गोविंद गुलशन, अलीना इतरत, शाहिद अंजुम, प्रोफेसर रहमान मुसव्विर, आलोक यादव, तरुणा मिश्रा, माला कपूर गौहर, खुश्बू सक्सेना, छाया शर्मा, शगुफ़्ता असलम, नितिन नायाब, डॉण् ख़ालिद अख़लाक़, नितिन कबीर, असलम राशिद ने अपनी रचनाओं से चार घंटे तक श्रोताओं की वाह-वाही बटोरी।

सोमवती अमावस्या की बधाई, शिव की पूजा करें

सोमवती अमावस्या की बधाई, शिव की पूजा करें

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। सिद्धपीठ श्री दूधेश्वर नाथ मठ महादेव मंदिर के पीठाधीश्वर श्रीमहंत नारायण गिरि ने सभी भक्तों को हरियाली सोमवती अमावस्या की बधाई दी। उन्होंने कहा कि सोमवती अमावस्या को भगवान शिव की पूजा-अर्चना करने से सभी प्रकार के विकारों, कष्टों व संकटों से छुटकारा मिलता है और भगवान शिव की कृपा प्राप्त होती है। 

श्रीमहंत नारायण गिरि ने बताया कि हिंदू धर्म में सोमवती अमावस्या का विशेष महत्व है। जब अमावस्या सोमवार को पडती है तो उसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है। सावन मास की अमावस्या को हरियाली अमावस्या भी कहा जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान शिव की पूजा-अर्चना करने, आराधना करने, जलाभिषेक करने से भगवान शिव की विशेष कृपा प्राप्त होती है। 

आज सावन का दूसरा सोमवार भी है, इस कारण इसका महत्व और भी बढ गया है। श्रीमहंत नारायण गिरि ने बताया कि सोमवती अमावस्या को भगवान शिव का व्रत रखने से भगवान प्रसन्न होते हैं। इस दिन नमकीन या खटटा नहीं सिर्फ मीठा भोजन वह भी एक समय शाम को ही करना चाहिए। इस दिन पवित्र नदी में स्नान करने व दान करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। कालसर्प दोष से पीडित व शनि प्रकोप से पीडित लोगों तथा ऐसे व्यक्ति जिनके अज्ञात शत्रु है, उनके लिए भी यह अमावस्या खास है। 

इस दिन भगवान शिव की पूजा करने से कालसर्प दोष, शनि प्रकोप से मुक्ति मिलती है। सावन का सोमवार भी पडने से भगवान शिव के साथ माता पार्वती की पूजा-अर्चना करने के साथ कई गुना फल की प्राप्ति होगी। पीपल के पेड की पूजा करने, जल चढाने, उसकी 108 परिक्रमा करने व तुलसी की पूजा करने से भी सभी प्रकार के विकारों, कष्टों व संकटों का निवारण होता है। नमः शिवाय या ओम नमः शिवाय का जाप करने से भी भगवान प्रसन्न होते हैं। भगवान शिव की पूजा करने से पितरों को भी तृप्ति मिलेगी और पितरों का आशीर्वाद भी प्राप्त होगा। 

साथ ही सभी देवी-देवताओं व ऋषि-मुनियों का आशीर्वाद भी मिलेगा।

उत्पीड़न व कुकर्म के मामलें में सजा सुनाई: कोर्ट 

उत्पीड़न व कुकर्म के मामलें में सजा सुनाई: कोर्ट 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। जनपद में दहेज के लिए विवाहिता का उत्पीड़न करने व पति द्वारा आप्राकृतिक कुकर्म करने के मामले में दोष सिद्ध पाये जाने पर अपर जिला सत्र न्यायाधीश रेशमा चौधरी ने मुजरिम पति, सास, ननद व ननदोई को सजा सुनाई।

सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता अशोक पुंडीर व पीड़िता के अधिवक्ता शगुन मित्तल ने बताया कि 9 जुन 2015 को थाना भवन थाने पर एक विवाहिता ने अपने पति विजय, सास मंजू, ननद पुष्पा व ननदोई मुकेश निवासी अवध बिहार मुजफ्फरनगर के विरूद्ध दहेज उत्पीड़न व मारपीट के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पति पर अप्राकृतिक कुकर्म का भी आरोप लगा था।

पुलिस ने आरोप पत्र न्यायालय में प्रेषित कर दिए थे। अभियोजन पक्ष की और से 6 गवाह पेश किए गये। सोमवार को दोनों पक्षों की बहस सुनने व पत्रावलियों का अवलोकन करने के बाद अपर जिला सत्र न्यायाधीश रेशमा चौधरी ने दोष सिद्ध पाये जाने पर पति विजय को 7 साल कारावास व 19 हजार रुपये अर्थदण्ड़, सास मंजू को 2 साल कारावास व 9 हजार रुपये अर्थदण्ड, ननद पुष्पा को 2 साल कारावास व 9 हजार रुपये अर्थदण्ड तथा ननदोई मुकेश को 3 साल कारावास व 17 हजार रुपये अर्थदण्ड़ की सजा सुनाई।

कर्नाटक से हुई 'भाजपा के पतन' की शुरुआत

कर्नाटक से हुई 'भाजपा के पतन' की शुरुआत

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु‌। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने सोमवार को कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करेगा और भाजपा के पतन की शुरुआत कर्नाटक से हो गई है, जहां पार्टी मई में विधानसभा चुनाव हार गई थी। सिद्धरमैया ने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) लोकसभा चुनाव हार जाएगी क्योंकि पार्टी को स्पष्ट जनादेश नहीं मिलेगा।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद, महंगाई आ गई और अर्थव्यवस्था बर्बाद हो गई। किसानों, दलितों और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए गुजारा करना मुश्किल हो गया है। सांप्रदायिकता के कारण लोगों ने अपनी शांति भी खो दी है। लोग भय में जी रहे हैं। यह भाजपा का उपहार है।’’

भाजपा नेताओं के इस आरोप पर कि विपक्षी नेता मोदी के डर से एकजुट हो रहे हैं, सिद्धरमैया ने कहा, ‘‘क्या हमने मोदी का सामना नहीं किया? क्या हम कर्नाटक में मजबूत नहीं हैं? (विधानसभा चुनाव के दौरान) मोदी जहां कहीं भी प्रचार के लिए गए, वहां कांग्रेस ने जीत हासिल की। भाजपा का पतन कर्नाटक से शुरू हो गया है।’’

जनता दल (सेक्युलर) के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से हाथ मिलाने की संभावना पर मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा के नेतृत्व वाली पार्टी (जद-एस) की कोई विचारधारा नहीं है क्योंकि उसने राज्य में सरकार बनाने के लिए एक बार भाजपा के साथ गठबंधन किया था।

अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ संयुक्त लड़ाई की योजना तैयार करने के लिए 23 विपक्षी दलों के नेताओं के सोमवार और मंगलवार को बेंगलुरु में एकत्र होने की उम्मीद है।

9 अभ्यार्थियों को अधिकारियों के रूप में नियुक्त करें

9 अभ्यार्थियों को अधिकारियों के रूप में नियुक्त करें

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को केंद्र को निर्देश दिया कि वह चयनित नौ अभ्यर्थियों को 31 अगस्त तक औद्योगिक न्यायाधिकरणों के पीठासीन अधिकारियों के रूप में नियुक्त करें। न्यायालय ने यह निर्देश तब दिया जब इसे सूचित किया गया कि हाल ही में शीर्ष अदालत के न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली समिति ने नामों को मंजूरी दे दी है।

प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़, न्यायमूर्ति पीएस नरसिम्हा और न्यायमूर्ति मनोज मिश्र की पीठ ने केंद्र की ओर से पेश हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल बलबीर सिंह की इन दलीलों पर गौर किया कि नियुक्तियों के लिए नौ लोगों का चयन किया गया है।

पीठ ने कहा, "केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्रालय 31 अगस्त को या इससे पहले इन नियुक्तियों को अधिसूचित करेगा।" न्यायालय ने इसके साथ ही ‘लेबर लॉ एसोसिएशन’ द्वारा दायर जनहित याचिका का निपटारा कर दिया। हालाँकि, पीठ ने एसोसिएशन को किसी भी शिकायत के मामले में फिर से अदालत का रुख करने की छूट प्रदान कर दी।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-275, (वर्ष-06) पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. मंगलवार, जुलाई 18, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-प्रतिपदा, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:16, सूर्यास्त: 07:11। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 21 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

कांग्रेस-आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बनी

कांग्रेस-आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बनी  अखिलेश पांडेय  नई दिल्ली। कांग्रेस और आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बन गई है। दिल्ली में आप चार ...