बुधवार, 7 अगस्त 2019

कश्मीर मे स्‍थिति सामान्य,100 गिरफ्‍तार

कश्मीर में स्थिति सामान्य, 100 से ज्यादा लोग गिरफ्तार


श्रीनगर । जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद सुरक्षा व्यवस्था कायम रखने के लिए घाटी में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है। ऐसी आशंका है कि पाकिस्तान के इशारे पर शरारती तत्व कानून-व्यवस्था हाथ में लेने के लिए लोगों को गुमराह कर सकते हैं।इसे देखते हुए राज्य में सुरक्षाबलों ने अपनी मुस्तैदी बढ़ा दी है और वे सभी उपाय कर रहे हैं जिनसे शांति व्यवस्था को कोई खतरा पैदा न हो। समाचार एजेंसी पीटीआई ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि सुरक्षा बलों ने बुधवार को राजनीतिक नेताओं एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं सहित 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया। 


इस बीच, राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक में कानून-व्यवस्था की समीक्षा की है। राज्यपाल ने कहा है कि राज्य की स्थिति संतोषजनक है और बाजारों में लोगों को जरूरत की चीजें खरीदतें देखा जा सकता है। राज्य में अस्पतालों की आपात सेवाएं चल रही हैं। लोगों को बिजली एवं पानी की आपूर्ति जारी है।बता दें कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को केंद्र सरकार की ओर से खत्म किए जाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित किए जाने के कदम के बाद ये गिरफ्तारियां हुई हैं। अधिकारियों ने समाचार एजेंसी को बताया कि कुछ एक जगहों पर पत्थरबाजी की घटनाओं को छोड़कर राज्य के तीनों हिस्सों में स्थिति 'सामान्य' बनी हुई है।जम्मू-कश्मीर प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि श्रीनगर में कुछ दुकानें खुलीं और पाबंदियों के बावजूद सड़क पर लोगों की आवाजाही ने जोर पकड़ी। अधिकारी ने बताया कि 'स्थिति अब संतोषजनक है।' अधिकारी ने कहा कि 'पत्थरबाजी की बहुत कम घटनाएं' हुई हैं और सड़कों पर लोगों को दोपहिए वाहन और कार का इस्तेमाल करते हुए देखा जा सकता है। इस दौरान सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो सामने आए हैं जिनमें लोगों को दुकानें खोलते, टहलते और वाहन चलाते हुए देखा जा सकता है।


चार क्विंटल गांजे के साथ एक गिरफ्तार

जगदलपुर । मामला थाना गोरेला क्षेत्र का है ,जिसमें गौरेला पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की एक एक्स यू वी नई गाड़ी, जिसमें नीली बत्ती लगी है अवैध गांजा भर कर बहुत तेजी से पेंड्रा तरफ से मध्य प्रदेश की ओर जा रही है। गौरेला पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए अपने वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया और प्राप्त निर्देश पर तत्काल ही नाकेबंदी कर दी । पुलिस की नाकाबंदी को देखकर आरोपी ज्योति पुर चौक से भगा। जिससे मध्य प्रदेश पुलिस को जो सीमावर्ती क्षेत्र के थाना हैं पुलिस को अलर्ट कर नाकाबन्दी करने के लिए निर्देश दिया गया। गौरेला पुलिस आरोपी वाहन का पीछा करते हुए मध्य प्रदेश के सीमा तक पीछा करती गई।जिससे आरोपी जैतहरी के पूर्व ग्राम खैरझिटी के ग्रामीण रास्ते से भागने के फिराक में पकड़ा गया ।आरोपी के पकड़े जाने पर आरोपी ने बताया कि यह 4 क्विटल गांजा उड़ीसा से पिकअप के द्वारा जगदलपुर लाया गया था। जगदलपुर से एक्सयूवी महिंद्रा की नई वाहन में और नीली बत्ती लगाकर रायपुर, बिलासपुर होते हुए इलाहाबाद उत्तर प्रदेश ले जाने की फिराक में थे। गौरेला पुलिस की दूसरी बड़ी अंतर राज्य तस्कर के विरुद्ध कार्रवाई है । गांजा की तस्करी मार्केट में कीमत करीब 16 लाख की बताई जा रही है । पकड़े गए आरोपी का नाम शेषमणि पटेल पिता फुलवारी पटेल उम्र 32 वर्ष निवासी व सुंदर मजली थाना मेजा जिला इलाहाबाद उत्तर प्रदेश का है। गौरेला पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मामले में धारा 20 बी एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना प्रारंभ कर दी है।


आत्मघाती हमले में 14 मरे,145 घायल

काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार को तालिबान के एक आत्मघाती हमले में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई और 145 घायल हो गए। काबुल में आज तालिबान ने कार बम विस्फोट किया। विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि आसमान में धुएं की चादर फैल गई और घटनास्थल से दूर स्थित दुकानों के भी शीशे टूट गए। गृह मंत्रालय ने बताया कि कार बम से यह विस्फोट किया गया। लेकिन हमले का जिम्मा लेने वाले तालिबान ने दावा किया कि यह बहुत बड़ा ट्रक बम था। एक अफगान सुरक्षा अधिकारी ने भी बताया कि यह ट्रक बम था। अफगान अधिकारियों ने बताया कि कम से कम 10 नागरिक और चार पुलिसकर्मी धमाके में मारे गए। घायल हुए 145 लोगों में 92 आम नागरिक हैं। एक स्थानीय पत्रकार ज़केरिया हसानी ने बताया 'धुआं छंटने पर मैंने कई महिलाओं को विस्फोट स्थल पर बदहवास हालत में अपने पति या बच्चों की तलाश करते देखा। अफगानिस्तान में 28 सितंबर को होने वाले चुनाव के मद्देनजर अमेरिका और तालिबान के बीच चल रही वार्ता के साथ ही हिंसा बढ़ गई है।


राष्ट्रपति की स्वीकृति,घोषणा सर्वमान्य

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाली संविधान की धारा 370 के प्रावधानों को निरस्त करने की घोषणा की है। दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में प्रस्ताव के पारित होने के बाद राष्ट्रपति ने यह घोषणा की है। आधिकारिक अधिसूचना में कहा गया है, “भारत के संविधान के अनुच्छेद 370 के खंड 1 के साथ पठित अनुच्छेद 370 के खंड 3 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए राष्ट्रपति संसद की सिफारिश पर यह घोषणा करते हैं कि छह अगस्त 2019 से उक्त अनुच्छेद के सभी खंड लागू नहीं होगे,सिवाय खंड 1 के।”


भाजपा नेतृत्व वाली नरेंद्र मोदी सरकार ने सरकार ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान की धारा 370 के प्रावधानों को निरस्त करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांटने का प्रस्ताव संसद में पेश किया था। यह उसी दिनराज्यसभा में पारित भी हो गया था। लोकसभा ने धारा 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने के प्रस्ताव संबंधी संकल्प को भारी बहुमत से मंगलवार को स्वीकृति दी।गौरतलब है कि भाजपा ने चुनाव में इसका वादा किया था जिसे मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के 90 दिनों के भीतर पूरा कर दिया।


पाक की चाह,राजनयिक संबंध खत्म

नई दिल्ली। धारा 370 को हटाने के बाद से पाकिस्तान ने बड़ा फैसला लिया है। कश्मीर मुद्दे पर बौखलाए पाकिस्तान ने भारत से राजनयिक संबंधों में कमी कर दी है। राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक के बाद पाकिस्तान ने फैसला करते हुए भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही पाकिस्तान ने भारत से सभी व्यापारिक रिश्ते तोड़ दिए हैं। वहीं अब पाकिस्तान भारत के साथ द्विपक्षीय समझौतों की समीक्षा करेगा। साथ ही कश्मीर मामले को यूएन में ले जाने की पाकिस्तान ने धमकी दी है। इसके अलावा पाकिस्तान भारत के राजदूत को भी वापस भेजेगा। वहीं इससे पहले इमरान खान के मंत्री फवाद चौधरी ने भारत के साथ राजनयिक संबंध खत्म करने की धमकी दी थी। पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा है कि मैं विदेश मंत्री से अनुरोध करता हूं कि जब भारत को हमसे बात करने में कोई दिलचस्पी नहीं है, तो उनके दूत अभी भी पाकिस्तान में क्यों हैं? हमें उनके साथ राजनयिक संबंधों को खत्म कर देना चाहिए। उनके दूत के यहां होने और हमारे दूत के वहां होने का क्या फायदा है?


सदस्यता अभियान में सुनी जन समस्याएं

संवाददाता-विवेक चौबे


गढ़वा । जिले के कांडी प्रखण्ड क्षेत्र अंतर्गत बुधवार को चौथे दिन भाजपा पार्टी का सदस्यता अभियान चलाया गया।बता दें की उक्त अभियान भाजपा युवा नेता-ईश्वर सागर चंद्रवंशी उर्फ़ मुन्ना चंद्रवंशी के नेतृत्व में चलाया गया।खुटहेरिया,शिवपुर,रानाडीह पंचायत के प्रत्येक बूथ पर अभियान चलाकर कई युवकों को भाजपा का सदस्य बनाया गया।वहीँ पूर्व विदेश मंत्री-सुष्मा स्वराज के निधन पर एक मिनट का मौन धारण किया भी किया गया।शिवपुर पंचायत के ग्रामीणों ने पेंशन,सड़क व देवी मंदिर पर एक चापाकल का मांग किया।कुछ लोगों ने राशन कार्ड बनवाने का भी मांग किया।ग्रामीणों ने शिवपुर पंचायत सचिवालय से बहेरा तक सड़क मरम्मतिकरण का भी मांग किया।उक्त सभी समस्याओं पर विचार करने को युवा नेता-मुन्ना चंद्रवंशी ने कहा।सबसे बड़ी बात तो यह की शिवपुर पंचायत के पंचायत सचिवालय में अब तक पंखा वैग्रह का भी व्यवस्था उपब्ध नहीं हो सका है।इस पंचायत के मुखिया-योगेन्द्र राम हैं।आखिर पंचायत मुखिया ने पंचायत के अंदर विकास कार्य क्या किया है,सोचनीय तथ्य है की इनके कार्यकाल अवधी के दौरान पंचायत सचिवालय के अंदर पंखा का भी व्यवस्था नहीं किया गया है।मुख्य बात यह की मुखिया पर सरकार व पदाधिकारीगण का कोई ध्यान नहीं।मौके पर-सांसद प्रतिनिधि-लखन प्रसाद, विधायक प्रतिनिधि-अजय सिंह,मंत्री प्रतिनिधि-ललित बैठा, शिवपुर मुखिया-योगेन्द्र राम,बीडीसी-शोभा देवी,लमारी कला पंचायत अध्यक्ष-रविन्द्र चंद्रवंशी,शिव साव, सूर्यदेव मेहता,बाबू राम बैठा, मानिक राम,कांडी पूर्व मुखिया प्रत्याशी-अंजू देवी,विजय बैठा सहित काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।


बसपा में बदलाव,मुनकाद अली प्रदेश अध्यक्ष

लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को संगठन में भारी फेरबदल करते हुए पूर्व राज्यसभा सांसद मुनकाद अली को पार्टी की उत्तर-प्रदेश इकाई का अध्यक्ष नियुक्‍त किया है। वहीं अब लोकसभा में पार्टी के नेता श्याम सिंह यादव होंगे। इससे पहले इस पद की जिम्मेदारी को अब तक दानिश अली निभा रहे थे।बसपा द्वारा बुधवार को जारी एक बयान में कहा गया कि बहुजन समाज पार्टी, देश व 'सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय'' की पार्टी है और राज्य की प्रदेश स्तरीय बसपा संगठन की कमेटी में कुछ जरूरी तब्दीली की गई है। साथ ही बयान में यह भी कहा गया है कि उत्तर प्रदेश राज्य का बसपा संगठन का प्रदेश अध्यक्ष पूर्व सांसद मुनकाद अली को नियुक्‍त किया गया है।


मुनाकाद अली को इतनी बड़ी जिम्‍मेदारी सौंपने के पीछे तर्क देते हुए बताया गया है कि मुनकाद ने अपनी राजनीति की शुरूआव बसपा से की और सुख-दुख की घड़ी में वह अपनी पूरी ऊर्जा व लगन से पार्टी की जिम्‍मेदारी को निभाया है।इसके साथ-साथ उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष रहे आरएस कुशवाहा को अब बसपा केंद्रीय इकाई का महासचिव बना दिया गया है। वहीं पिछड़े वर्ग से बसपा के जौनपुर के सांसद श्याम सिंह यादव को दनिश अली की जगह लोकसभा में बसपा का नेता बनाया है। जबकि रितेश पाण्डेय को लोकसभा में उपनेता नियुक्‍त किया गया है। इसके अलावा गिरीश चन्द्र जाटव लोकसभा सांसद पार्टी के लोकसभा में ''मुख्य सचेतक'' बने रहेंगे।


किन्नर निकालेगे मंगल कलश यात्रा

किन्नर समुदाय एक सौ आठ मंगल कलश यात्रा निकालेगा


रायपुर। किन्नर समुदाय 9 अगस्त को संतोषी नगर चौक से दोपहर 12 बजे 108 मंगल कलशों के साथ अच्छी वर्षा होने की कामना को लेकर कलश यात्रा निकालेगा। उक्त जानकारी प्रेसक्लब रायपुर में आयोजित पत्रकारवार्ता में सामाजिक कार्यकर्ता शैली राय। कार्यक्रम की संयोजक यास्मिन जान, तृतीय लिंग की राज्य स्तरीय पदाधिकारी विद्या राजपूत ने संयुक्त रूप से दी।


वार्ताकारों ने बताया कि उक्त कलशयात्रा सिद्धार्थ चौक स्थित नरहईया तालाब में कलशों के विसर्जन के साथ समाप्त होगी। मंगल कलशयात्रा के दौरान ढोल एवं नगाड़ों के बीच शहर के भक्त बड़ी संख्या में शामिल होंगे। शैली राय ने बताया कि किन्नर समाज को समाज की मुख्यधारा में शामिल करने के उद्देश्य से ऋषभ सोनी, राज साहू एवं फौजिया का विशेष सहयोग मिल रहा है। पत्रकारवार्ता में काजल, अंजलि, तनुश्री, बेबो, रवीना, दीपिका एवं बिंदिया शामिल थीं।


पुलिस बदमाशों के बीच मुठभेड़: मुरादाबाद

 राहुल श्रीवास्तव


पुलिस-बदमाशों के बीच मुठभेड़, दो घायल


मुरादाबाद । उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई है।इस मुठभेड़ में दो बदमाशों को गोली लगी है। गोली लगने से दोनों बदमाश घायल हो गए हैं। घटना में घायल दोनों बदमाश संभल जिले के रहने वाले हैं। वहीं, इस घटना से आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई है।पुलिस ने घायल बदमाशों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है


प्राप्त जानकारी के अनुसार, पुलिस ने घायल बदमाशों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। कहा जा रहा है कि दोनों बदमाशों के ऊपर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। मामला मुरादाबाद के कटघर थाना क्षेत्र का है।मुठभेड़ मयफेयर कॉलेज के पास हुई है। कहा जा रहा है कि मुरादाबाद की गजक पुलिस पेट्रोलिंग पर थी।इसी दौरान रास्ते में पुलिस ने बाइक सवार कुछ युवकों को रोका। इसके बाद बाइक सवार बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी बदमाशों पर गोली चलाई, जिससे दो बदमाश घायल हो गए।गोली दोनों के पैर में लगी है। शातिर बदमाश अज़ीम व ख़ालिद को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।


देश में लॉन्च होगी हुंडई ग्रैंड i10

नई दिल्ली । हुंडई की नई ग्रैंड आई10 कार 20 अगस्त को देश में लॉन्च होगी। नई कार Hyundai Grand i10 Nios नाम से बाजार में उतारी जाएगी। लॉन्चिंग से पहले ह्यूंदै ने बुधवार को इसकी बुकिंग शुरू कर दी। आप 11 हजार रुपये देकर इसे कंपनी की डीलरशिप पर या ऑनलाइन बुक कर सकते हैं। 


ह्यूंदै ने नई ग्रैंड आई10 से पर्दा उठा दिया है। यह तीसरी जनरेशन आई10 है। इसका लुक ग्रैंड आई10 के वर्तमान मॉडल से अलग है। साथ ही नाम भी बदला गया है। हालांकि, नई कार आने के बाद भी अभी मिलने वाली ग्रैंड आई10 बंद नहीं की जाएगी। कंपनी दोनों कारों, यानी ग्रैंड आई10 नियोस और ग्रैंड आई10 को बेचेगी। ग्रैंड आई10 नियोस की डिजाइन कुछ हद तक ह्यूंदै सैंट्रो से प्रेरित है। इसमें शार्प प्रोजेक्टर हेडलैम्प्स और कैस्केडिंग ग्रिल दी गई है, जिससे इसका फ्रंट लुक दमदार दिखता है। पीछे की तरफ चौड़ा बंपर है, जो वर्तमान मॉडल के मुकाबले थोड़ा नीचे लगा है। यह नई कार के रियर लुक को स्पोर्टी बनाता है।


सुषमा स्वराज के निधन पर शोक सभा

संवाददाता-विवेक चौबे


गढ़वा । जिले के कांडी प्रखंड कार्यालय के सभागार में बुधवार को प्रखण्ड विकास पदाधिकारी-गुलाम समदानी के नेतृत्व में पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर शोक सभा का आयोजन किया गया। जिसमें सभी प्रखंड कर्मी जनप्रतिनिधि एवं भाजपा कार्यकर्त्ता शोक सभा में शामिल हुए । इस शोक सभा में मृतक सुषमा स्वराज की तस्वीर पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए  मृत आत्मा की शांति हेतु एक मिनट का मौन रहकर ईश्वर से प्रार्थना की गई। शोक सभा में शामिल प्रखण्ड विकास पदाधिकारी-गुलाम समदानी ने कहा कि सुषमा स्वराज की निधन से हमारे देश को अपूर्णीय क्षति हुआ है।वे देश ही नही बल्कि पूरे विश्व में याद की जाती थीं।  शोक सभा में बीस सुत्री अध्यक्ष-रामलाला दुबे स्वच्छता के प्रखंड कोऑर्डिनेटर विपिन पांडेय ,भाजपा कार्यकर्ता- शशी रंजन दुबे, राम लखन चंद्रबंशी, विनोद चंद्रबंशी,कनीय अभियंता-अनिल कुमार चौधरी, अभिषेक कुमार,प्रधान लिपिक-  विजय राम सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे।


कश्मीर के हालात बिगड़ने का इंतजार


कश्मीर के हालात बिगडऩे के इंतजार में है अब्दुल्ला व मुफ्ती का परिवार। 
एनडीटीवी भी दे रहा है हवा। 

इधर लोकसभा का कश्मीर में अनुच्छेद 370 में बदलाव का बिल पास हुआ, उधर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जम्मू कश्मीर राज्य का विशेष दर्जा खत्म करने के आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए। अब जम्मू कश्मीर राज्य केन्द्र शासित होगा और देश का हर कानून जम्मू कश्मीर पर भी लागू होगा। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार ने 370 में बदलाव की सारी संवैधानिक प्रक्रिया पूरी कर ली और सारा ध्यान जम्मू कश्मीर पर लगा हुआ है। भले ही 7 अगस्त को पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अंतिम संस्कार में प्रधानमंत्री और गृहमंत्री अमित शाह की व्यस्तता रही हो, लेकिन नजरें कश्मीर पर लगी हुई थीं। सरकार का प्रयास है कि जिस प्रकार संवैधानिक लड़ाई जीती है उसी प्रकार जमीनी लड़ाई भी जीत ली जाए। मोदी सरकार के अधिकांश फैसले चौंकाने वाले होते हैं, इसलिए कश्मीर घाटी की तैयारियों का कोई अंदाजा नहीं हंै। मोटे तौर पर कहा जा सकता है कि घाटी में बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात हैं, इसलिए विरोध सामने नहीं आ रहा है, लेकिन घाटी में बैठे कौन कौन से नेता सरकार के समर्थन में आ जाएंगे, अभी कहा नहीं जा सकता है। सरकार का प्रयास है कि सुरक्षा इंतजमों में ढील देने के बाद भी घाटी में कोई पत्थरबाजी न हो और न ही पाकिस्तान के झंडे लहराए जाएं। लेकिन वहीं अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवरों से जुड़े लोग चाहते हैं कि घाटी में हालात बिगड़ें। यदि हालात नहीं बिगड़े तो फिर ऐसे नेताओं का क्या वजूद रहेगा? सब जानते हैं कि कश्मीर में अशांति करवाने में पाकिस्तान का हाथ है, ऐसे में न्यूज चैनल वाले भी खबरों का प्रसारण नहीं कर रहे हैं जो देश को नुकसान पहुंचाती है या फिर कश्मीर के हालात बिगड़ती है। लेकिन विचारों की अभिव्यक्ति और मीडिया की स्वतंत्रता की आड़ में एनडीटीवी के हिन्दू और अंग्रेजी चैनलों पर हवा देने वाली खबरों का प्रसारण हो रहा है। ऐसा प्रतीत होता है कि एनडीटीवी इन दिनों अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवारों का प्रवक्ता बना हुआ है। लोकसभा में केन्द्रीय गृहमंत्री अमितशाह ने कहा कि कश्मीर के लिए हम जान भी दे देंगे। लेकिन एनडीटीवी के लिए गृहमंत्री के बयान के बजाए पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्ला का बयान ज्यादा मायने रखता है। इसलिए फारुख के उस बयान का बार बार प्रसारण हो रहा है, जिसमें केन्द्र सरकार के खिलाफ जहर उगला गया है। एनडीटीवी ने महबूबा मुफ्ती की बेटी को भी ढूंढ निकाला है। बेटी का आरोप है कि उसे अपनी मां से नहीं मिलने दिया जा रह है। गिरफ्तारी के बाद मां को एक कमरे में रखा गया है। यानि हवा देने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। यह माना कि एनडीटीवी के मालिकों एवं सम्पादकों की मोदी सरकार से नाराजगी है, लेकिन राष्ट्रहित सबसे पहले होना चाहिए। यदि कश्मीर में हालात बिगड़ते हैं तो इसका असर पूरे देश भर में पड़ेगा। 
एस.पी.मित्तल


सुषमा और स्‍वराज (संपादकीय)


मरते दम तक सत्ता से चिपके रहने वाली नेता नहीं थीं सुषमा स्वराज। 
मृत्यु का आभास था इसलिए लोकसभा का चुनाव भी नहीं लड़ा। 

7 अगस्त को भारत की पूर्व विदेशी मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज का अंतिम संस्कार दिल्ली के लोधी रोड स्थित मोक्षधाम पर किया गया है। 67 वर्षीय सुषमा भाजपा के उन नेताओ मेंं से एक थी जिनका राजनीति में कद मौजूदा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से बड़ा था। मोदी जब गुजरात के सीएम थे, तब सुषमा लोकसभा में प्रतिपक्ष की नेता थी। सुषमा को अटल बिहारी वाजपेयी जैसे दिग्गज नेताओं के साथ काम करने का अवसर मिला। मोदी के प्रधानमंत्री बनने पर लालकृष्ण आडवानी के मन में कसक हो सकती है, लेकिन सुषमा उन नेताओं में से नहीं थी जो मरते दम तक सत्ता से चिपके रहना चाहती थी। पूरा देश जानता है कि विदेश मंत्री रहते हुए सुषमा ने लोकसभा चुनाव नहीं लडऩे की घोषणा कर दी थी। इसके पीछे उन्हें मृत्यु का आभास होना था। सुषमा की किडनी खराब होने की वजह से उन्हें बार बार इलाज की दरकार रहती थी, लेकिन सुषमा चाहती तो लोकसभा का चुनाव लड़कर मोदी सरकार में फिर से मंत्री बन सकती थी, लेकिन चुनाव न लडऩे का आग्रह सुषमा ने नरेन्द्र मोदी और अमित शाह जैसे नेताओं से कर दिया था। 2014 से 2019 तक सुषमा मध्यप्रदेश के विदिशा संसदीय क्षेत्र की सांसद थी। नरेन्द्र मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने पर चर्चा रही कि सुषमा को गवर्नर बनाया जाएगा। इन्हीं चर्चाओं के बीच पिछले दिनों न्यूज चैनलों पर खबर आई कि सुषमा को मध्यप्रदेश का गवर्नर नियुक्त किया ज रहा है। लेकिन थोड़ी ही देर में स्वयं सुषमा ने इस खबर का खंडन कर दिया। सुषमा चाहती तो बड़ी आसानी से गवर्नर बन सकती थी। लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। आमतौर पर सक्रिय राजनीति से अलग होने वाले नेता गवर्नर बन कर मरते दम तक सत्ता का उपभोग करते रहते हैं। भाजपा में भी ऐसे नेता भरे पड़े हैं। लेकिन सुषमा स्वराज भाजपा में अलग तरीके की नेता रही। कहा जाता है कि केन्द्रीय मंत्रिमंडल नरेन्द्र मोदी ही छाए रहते हैं। लेकिन सब जानते हैं कि विदेश मंत्री रहते हुए सुषमा ने अपनी अलग पहचान बनाई। ट्वीटर पर समस्याओं का समाधान कर देश में लोकप्रियता हासिल की तो विदेशों में शानदार तरीके से भारत का प्रतिनिधित्व किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी सुषमा का सम्मान बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। कई देशों की यात्रा के लिए सुषमा को इयर इंडिया का विशेष विमान दिया गया। विदेश मंत्री रहते हुए ही सुषमा ने मुस्लिम राष्ट्रों के सम्मेलन में भी भारत का ऐतिहासिक प्रतिनिधित्व किया। कोई 45 वर्ष के राजनीतिक सफर में सुषमा स्वराज सात बार सांसद और तीन बार विधायक रही। उनका राजनीतिक कद बताता है कि 7 अगस्त को उनके पार्थिव देह पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और तमाम मंत्रियों ने पुष्प चक्र चढ़ाए। इतना ही नहीं कांग्रेस की वरिष्ठ नेता श्रीमती सोनिया गांधी भी उनके निवास पर पहुंची। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब परिजनों से मिल रहे थे, तब उनकी आंखों में आंसू आ गए
एस.पी.मित्तल


चांदना:कांग्रेस की नीति से अलग सोच

राजस्थान के खेल मंत्री अशोक चांदना तो मुख्यमंत्री गहलोत के समर्थक हैं तो फिर मोदी सरकार के फैसले का स्वागत कैसे कर दिया? क्या कांग्रेस की नीति से अलग सोच रखते हैं चांदना।

जयपुर । केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 में बदलाव कर जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने और केन्द्र शासित प्रदेश बनाने का जो फैसला किया है, उस पर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि यह फैसला कश्मीरियों पर अत्याचार है। फैसले को राहुल ने देश के लिए घातक बताया, लेकिन वहीं राजस्थान में कांग्रेस सरकार के खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना ने मोदी सरकार के फैसले का स्वागत किया है। इसी प्रकार कांग्रेस के विधायक भंवरलाल शर्मा, नागौर की पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा आदि ने भी सरकार के फैसले का समर्थन किया है। विधायक भंवरलाल शर्मा और ज्योति मिर्धा के राजनीतिक कारण हो सकते हैं, लेकिन कांग्रेस सरकार में रहते हुए खेल राज्यमंत्री अशोक चांदना का समर्थन चौंकाने वाला है। सवाल उठता है कि क्या चांदना कांग्रेस और राहुल गांधी की नीति से अलग सोच रखते हैं? यदि ऐसा है तो यह उनकी समझदारी मानी जाएगी क्योंकि आज 370 में बदलाव के फैसले पर पूरा देश मोदी सरकार के साथ खड़ा है। ऐसे में यदि देश हित में चांदना कोई फैसला कर रहे हैं तो स्वागत किया जाना चाहिए। लेकिन सवाल यह भी है कि पार्टी लाइन से हट कर कोई बयान दिया जाता है तो क्या चांदना कांग्रेस सरकार में मंत्री रह सकते हैं? अशोक चांदना को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का समर्थक माना जाता है, गहलोत की पसंद की वजह से ही चांदना खेल राज्यमंत्री बने हैं। सूत्रों की माने तो पिछले दिनों ही दिल्ली में राहुल गांधी के सरकारी आवास  के बाहर चांदना ने अपने समर्थकों के साथ प्रदर्शन किया। चांदना और उनके समर्थकों ने नारे बाजी कर राहुल गांधी से इस्तीफा वापस लेने की मांग की। इस प्रदर्शन के पीछे मुख्यमंत्री गहलोत का इशारा रहा। 
एस.पी.मित्तल


बांसुरी ने की अंतिम संस्कार की रस्म

पंचतत्व में विलीन हुईं सुषमा स्वराज, बेटी बांसुरी ने पूरी की अंतिम संस्कार की रस्म


नई दिल्ली । पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का बीती रात दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। सुषमा के निधन पर देश और दुनिया के बड़े नेताओं ने दुख व्यक्त किया। बुधवार शाम को दिल्ली के लोधी रोड स्थित शवदाह गृह में उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी ने अंतिम संस्कार की रस्में पूरी कीं। उनके निधन को लेकर दिल्ली व हरियाणा में दो दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है।


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से लेकर तमाम दिग्गज लोगों ने सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि दी। पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल को देखते ही रो पड़े। पीएम मोदी और उपराष्ट्रपति नायडू की आखें भी नम थीं।सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को भाजपा मुख्यालय में दोपहर तीन बजे तक रखा गया था। इसके बाद अंतिम यात्रा लोधी रोड स्थित शवदाह गृह तक पहुंची। बीजेपी मुख्यालय से जब सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को ले जाया गया तो राजनाथ सिंह, जेपी नड्डा, रविशंकर प्रसाद और पीयूष गोयल ने उनको कंधा दिया।सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि अर्पित करने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, सोनिया गांधी, बाबा रामदेव, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, भाजपा सांसद हेमा मालिनी, केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी, दिल्ली के ले.गवर्नर अनिल बैजल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, बसपा प्रमुख मायावती, कैलाश सत्यार्थी, सपा सांसद राम गोपाल यादव समेत कई हस्तियां पहुंचीं। राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि वे मुझे रक्षाबंधन पर बहुत याद आएंगी।


नोबेल विजेता:टोनी मॉरीसन का देहांत

वाशिंगटन। नोबेल पुरस्कार विजेता एवं अमेरिकी लेखक टोनी मॉरिसन का न्यूयॉर्क के मोंटेफोरे मेडिकल सेंटर में निधन हो गया। वह 88 वर्ष की थीं। टोनी मॉरिसन के परिवार ने एक बयान में जानकारी दी, हमें बहुत दुख के साथ यह कहना पड़ रहा है कि संक्षिप्त बीमारी के बाद हमारी प्रिय मां टोनी मॉरिसन का सोमवार रात को निधन हो गया। निधन के समय परिवार के सदस्य और दोस्त उनके साथ थे। बयान में बताया गया, एक समर्पित मां, दादी-नानी, चाची टोनी मॉरिसन कल रात (सोमवार) इस दुनिया से चली गईं।
टोनी मॉरिसन को 1993 में साहित्य का नोबेल पुरस्कार मिला था और 1987 में उन्होंने अपने उपन्यास बिलवेड के लिए पुलित्जर पुरस्कार जीता था।


स्वतंत्रता दिवस पर बंद मीट की दुकान

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के पर्यावरण एवं नगरीय विकास विभाग के आदेश के परिपालन में नगर पालिक निगम रायपुर के स्वास्थ्य विभाग ने राजधानी रायपुर निगम क्षेत्र के समस्त 70 वार्डो में स्थित सभी पशुवध गृहों, समस्त मांस-मटन विक्रय केन्द्रों को शतप्रतिशत रूप से स्वतंत्रता दिवस पर्व 15 अगस्त, गुरूवार के पावन अवसर पर बंद रखने एवं मांस-मटन विक्रय पूरी तरह प्रतिबंधित करने का आदेश दिया है। उक्त आदेश का उल्लंधन करने पर नगर निगम प्रशासन के स्वास्थ्य विभाग द्वारा तत्काल मांस-मटन जब्त करके संबंधित दुकानदार व व्यक्ति के खिलाफ नियमानुसार कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाएगी।नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी एके हलदार ने निगम के समस्त जोन स्वास्थ्य अधिकारियों एवं जोन स्वच्छता निरीक्षकों को स्वतंत्रता दिवस पर्व 15 अगस्त, गुरूवार के पावन अवसर पर अपने-अपने क्षेत्रों में दिनभर सतत पर्यवेक्षण कर प्रतिबंध आदेश का पूर्ण व्यवहारिक परिपालन कड़ाई के साथ सुनिश्चित करवाने के आदेश दिए हैं। वहीं नगर निगम आयुक्त शिव अनंत तायल ने स्पष्ट चेतावनी दी है कि यदि स्वतंत्रता दिवस के राष्ट्रीय पर्व के पावन अवसर पर रायपुर निगम क्षेत्र में कही भी प्रतिबंध के बावजूद मांस-मटन की कोई भी दुकान खुली मिली तो उक्त क्षेत्र से संबंधित जोन कमिश्नर एवं जोन स्वास्थ्य अधिकारी पर कड़ीअनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। राज्य शासन के निर्देशों का पूर्ण व्यवहारिक परिपालन ना पाये जाने की स्थिति मे अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।


पाक:सईद को कोर्ट ने ठहराया दोषी

 इस्लामाबाद। मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद को पाकिस्तान की एक अदालत ने दोषी करार दिया गया है। हाफिज सईद से जुड़ा मामला अब लाहौर की अदालत से पाकिस्तान के गुजरात में शिफ्ट कर दिया गया है। पाकिस्तानी मीडिया की तरफ से ये दावा किया जा रहा है कि 17 जुलाई को गुजरांवाला जाते हुए हाफिज सईद को गिरफ्तार कर लिया गया था। अब पाकिस्तान मीडिया के मुताबिक, गुजरांवाला कोर्ट ने हाफिज सईद को दोषी करार दिया है। जिसके बाद उसके मामले के गुजरात शिफ्ट किया गया है। पाकिस्तान के काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट ने हाफिज सईद को मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग के मामले में गिरफ्तार किया था। गौरतलब है कि हाफिज सईद ही 2008 में हुए मुंबई आतंकी हमले का जिम्मेदार है। इसके अलावा भी उसके संगठन जमात उद दावा, लश्कर ए तैयबा ने हिंदुस्तान की जमीन में काफी आतंक फैलाया है।


एससी:अखाड़े के दस्तावेज ले गए डकैत

नई दिल्‍ली । निर्मोही अखाड़े के दस्तावेज और सबूत 1982 में डकैत ले गए। ये बात निर्मोही अखाड़े के वकील ने अयोध्‍या मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट में कही। अखाड़े के वकील ने यह बात कोर्ट में तब बताई जब चीफ जस्टिस ने अखाड़ा से कहा कि वह सरकार द्वारा 1949 में ज़मीन का अटैचमेंट करने से पहले के जमीन के मालिकाना हक को दर्शाने वाले दस्तावेज, राजस्‍व रिकॉर्ड या अन्य कोई सबूत कोर्ट के समक्ष पेश करे।निर्मोही अखाड़ा ने कहा कि इस मामले में वे असहाय हैं। वर्ष 1982 में अखाड़े में एक डकैती हुई थी। जिसमें उन्होंने उस समय पैसे के साथ उक्त दस्तावेजों को भी खो दिया था। इस पर चीफ जस्टिस (CJI) ने पूछा- क्या अन्य सबूत जुटाने के लिए केस से जुड़े दस्तावेजों में फेरबदल किया गया था?


इससे पहले जस्टिस बोबड़े ने पूछा- क्या निर्मोही अखाड़े को सेक्शन 145 सीआरपीसी के तहत राम जन्म भूमि पर दिसंबर 1949 के सरकार के अधिग्रहण के आदेश को चुनौती देने का अधिकार है? ऐसा इसलिए क्योंकि निर्मोही अखाड़े ने इस आदेश को क़ानून में तय अवधि समाप्त होने के बाद निचली अदालत में चुनौती दी थी। दरअसल अखाड़ा ने तय अवधि (6 साल) समाप्त होने पर 1959 में आदेश को चुनौती दी थी। इस पर अखाड़ा ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि 1949 में सरकार का अटैचमेंट ऑर्डर था और उस ऑर्डर के ख़िलाफ़ मामला 1959 तक निचली अदालत में लंबित था। लिहाजा 1959 में निर्मोही अखाड़े ने निचली कोर्ट में अपनी याचिका दायर की थी।उल्‍लेखनीय है कि राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट में छह अगस्‍त से नियमित सुनवाई शुरू हुई है। 18 पक्षकारों में सबसे पहले निर्मोही अखाड़ा अपना पक्ष रख रहा है। इस कड़ी में लगातार दूसरे दिन सुनवाई में निर्मोही अखाड़ा के वकील सुशील कुमार जैन की बहस जारी रही।


पहले दिन की सुनवाई
इससे पहले मंगलवार को जब पहले दिन की सुनवाई हुई तो निर्मोही अखाड़े के वकील ने कहा कि अयोध्‍या में विवादित स्‍थल पर 1934 में 5 वक्त की नमाज बंद हुई। हर शुक्रवार सिर्फ जुमे की नमाज होती रही है। 16 दिसंबर 1949 के बाद से ये भी बंद हो गई। विवादित स्थान पर वुज़ू (नमाज से पहले हाथ, पैर आदि धोने) की जगह मौजूद नहीं है। सुनवाई के दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील राजीव धवन के हस्तक्षेप करने पर सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई। कहा कोर्ट कि मर्यादा का ख्याल रखें। सीजेआई ने कहा कि कोर्ट आपका पक्ष भी सुनेगा। धवन का कहना था कि शक है कि हमें पर्याप्त समय मिलेगा। सीजेआई ने कहा कि ये कोर्ट में बर्ताव करने का सही तरीका नहीं है।जैन ने कहा- विवादित परिसर के अंदरूनी हिस्से पर पहले हमारा कब्ज़ा था जिसे दूसरे ने बलपूर्वक कब्ज़े में ले लिया। बाहरी पर पहले विवाद नहीं था। 1961 से शुरू हुआ। जैन ने कहा- मेरा केस दरअसल ज़मीन के उस टुकड़े के लिए है, जो अभी कोर्ट द्वारा नियुक्त रिसीवर के नियंत्रण में है।


मध्‍यस्‍थता पैनल भंग
इससे पहले अयोध्या पर मध्यस्थता विफल होने के बाद दो अगस्त को सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच ने मध्यस्थता पैनल को भंग कर दिया था और 6 अगस्त से खुली अदालत में रोज़ाना सुनवाई शुरू करने का निर्णय लिया था। मामले का 17 नवंबर 2019 तक फ़ैसला आने की उम्‍मीद है।


मौत:कार से मारी टक्कर,मामला दर्ज

जालंधर । सड़क पर 130 की स्पीड पर कार चला कईयो को उड़ाने वाले कार चालक की कार ने महिला के एेसे टक्कर मारी कि महिला 20 फ़ुट हवा में उड़ी। जिसके बाद कई अन्य वाहनों के टक्कर मारने के बाद कार चालक कार छोड़ फरार बोल गया। मौके पर महिला की दोनों टाँगे टूट गई पर इलाज के बाद उसकी मौत हो गई। घटना जालंधर के कस्बा कठार के बस स्टैंड के सामने की है। जहाँ एक तेज़ रफ़्तार कर ने एक राह चलती महिला को जबरदस्त टक्कर मार दी। घायल महिला को लोगों ने असपताल में भर्ती करवाया। घायल महिला की एक्सीडेंट के दौरान दोनों टंगे टूट गई और आज सुबह इलाज दौरान महिला ने दम तोड़ दिया । घायल महिला की पहचान गुरमेश कौर के रूप में हुई है ।


मृतका की बहू मनजीत कौर ने कहा कि उनकी सास कहीं काम से जा रहे थी कि तभी होशियारपुर रोड पर तेज रफ्तार कार ने टक्कर मारी ओर मौके से कार का ड्राइवर कार छोड़कर फरार हो गया और वहां खड़े लोगों की सहायता से गुरमेश कौर को अस्पताल पहुंचाया गया । वहीं मनजीत कौर का कहना है कि 5 दिन हो गए मेरी सास गुरमेश कौर अस्पताल में दाखिल है और कोई भी पुलिस अधिकारी नहीं पहुंचा और आज गुरमेश कौर की मृत्यु हो गई है । वहीं दूसरी ओर जब थाना आदमपुर के एएसआई नरेंद्र सिंह से बात की तो उन्होंने कहा कि कार का मालिक पकड़ लिया है और पर्चा दर्ज कर दिया गया है। दूसरी ओर जब एएसआई नरेंद्र से पूछा कि 5 दिन हो गए कोई भी पुलिस अधिकारी गुरमेश कौर के परिवार से नहीं मिला। जबकि पुलिस अधिकारियों का कहना है कि लगातार हमारा पुलिस मुलाजिम हस्पताल जाता था। अब पुलिस कार सवार पर मामला दर्ज कर लिया गया है और आगे की कावाई की जा रही है।


संस्था ने फौजियों को भेजी राखी

गाजियाबाद-लोनी। आज सनातन धर्म बालिका इंटर कालेज सरधना में पढ़ने वाली 1200 बहनो द्वारा बनाई गई राखियां सहयोग संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजेन्द्र त्यागी के नेतृत्व में बॉर्डर पर तैनात फौजी भाइयो के लिए दी गयी। इस अवसर पर स्कूल की संस्था के कोषाध्यक्ष मदन बंसल और प्रधानाचार्य वंदना मित्तल ने संस्था के अध्यक्ष को प्रतीक चिन्ह ओर तिलक कर अभिनन्दन किया । संस्था के कार्यो की सराहना की। कार्यक्रम में भाजपा जिला उपाध्यक्ष मेरठ अजय त्यागी ,अनुज त्यागी अनमोल चोहान ,गिरजेश तोमर ,सचिन पांडे स्कूल की शिक्षिका रेणु चौधरी ,स्वेता वर्मा ,वैशाली जैन अंकित कुमार ,आकांक्षा सैनी ,अम्रित सिरोही ,डॉली ,अदीबा,तनु शर्मा ,तनु सोम समेत हजारो बच्चे उपस्थित रहे।


ई-गवर्नेंस पर,शिलांग में 22 वा सम्मेलन

नई दिल्ली ।  प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग (डीएआरपीजी) इलेक्ट्रानिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार और मेघालय सरकार के साथ मिलकर 8-9 अगस्त, 2019 को शिलांग, मेघालय में ई- गवर्नेंस 2019 पर 22वें राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन करेगा।केन्‍द्रीय पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास, प्रधानमंत्री  कार्यालय, कार्मिक, जन शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्‍य मंत्री डॉ. जितेन्‍द्र सिंह इस आयोजन की अध्यक्षता करेंगे। मेघालय के मुख्यमंत्री श्री कोनार्ड कोंगल संगमा इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे। सम्मेलन का विषय  “डिजिटल भारत : सफलता से उत्कृष्टता” है।यह सम्मेलन नई सरकार के 100 दिन के भीतर डीएआरपीजी की ओर से उठाये गये कदमों का एक अंग होगा। यह पहला अवसर है जब इस कार्यक्रम का आयोजन देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र में किया जा रहा है। यह सम्मेलन शुरू से अंत तक डिजिटल सेवाएं प्रदान करने, समस्याओं के समाधान से संबंधित अनुभवों का आदान-प्रदान करने, जोखिमों में कमी लाने, मसलों का समाधान करने तथा सफलता की योजना बनाने के लिए टिकाऊ ई-गवर्नेंस से संबंधित कदमों की डिजाइनिंग और कार्यान्वयन की कारगर पद्धतियों के बारे में जानकारी का प्रसार करने का मंच उपलब्ध कराता है।सम्मेलन के पूर्ण अधिवेशन के दौरान 6 उपविषयों : इंडिया इंटरप्राइज आर्किटेक्चर (आईएनडीईए), डिजिटल अवसंरचना, समावेशन एवं समता निर्माण, व्यवसायियों के लिए उभरती प्रौद्योगिकी, सचिवालय सुधार, नेशनल ई-गवर्नेंस सर्विस डिलीवरी असेसमेंट (एनईएसडीए) -पर विचार-विमर्श किया जायेगा । इसके अलावा एक राष्ट्र एक मंच, नवोन्मेषकों एवं उद्योग के साथ संबंध, आदि से अंत तक डिजिटल सेवाएं : राज्य सरकारों की आईटी पहल उप-विषयों पर -चार ब्रेकआउट सत्रों का आयोजन किया जाएगा।इस सम्मेलन से पूर्वोत्तर क्षेत्र में ई-गवर्नेंस के प्रयासों को व्यापक गति मिलेगी। क्षेत्र के लोक सेवकों और उद्योगपतियों को एंड टू एंड सर्विस डिलिवरी में सुधार लाने के लिए ई-गवर्नेंस में अपने सफल हस्तक्षेपों को प्रदर्शित करने का अवसर मिलेगा। ब्रेकआउट सत्रों में 15 राज्य अपनी आईटी पहलों और सफलता की कहानियों को साझा करेंगे।


28 राज्यों और 8 संघशासित प्रदेशों ने इस सम्मेलन में भाग लेने की पुष्टि कर दी है और इसमें 500 से ज्यादा प्रतिनिधियों के भाग लेने की संभावना है। इस दौरान का प्रदर्शन का भी आयोजन किया जाएगा। जिसमें ई-गवर्नेंस के क्षेत्र में भारत की उपलब्धियों के अलावा हॉल ऑफ फेम, पुरस्कार विजेताओं पर फोटो प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी।मेघालय के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार तथा शहरी मामलों के विभाग मंत्री श्री हेमलेट्सन डोहलिंग  उद्घाटन सत्र को संबोधित करेंगे। इस सम्मेलन को प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत और पेंशन विभाग में सचिव श्री के.वी. ईपन, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में सचिव श्री अजय प्रकाश साहनी भी संबोधित करेंगे।


पुलिस कार ने मारी टक्कर,तीन की मौत

लुधियाना-दोराहा। दोराहा नजदीक मंगलवार सुबह भीषण हादसे में 3 युवकों की मौत हो गई। मृतकों की पहचान सोहन सिंह निवासी पटियाला, ज्ञान और हरकीरत के रूप में हुई है। जानकारी के अनुसार सोहण सिंह ने विदेश जाना था, जिसके लिए वह लुधियाना मैडीकल कराने के लिए अपने दोस्तों के साथ मोटरसाइकिल पर जा रहा था। इसी बीच जब तीनों ही दोराहा नजदीक पहुंचे तो पीछे से आ रही एक इनोवा कार ने मोटरासाइकिल को जबरदस्त टक्कर मार दी। कार में 3 पुलिस मुलाजिम सवार थे, जो हादसे के बाद मौके से फरार हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हादसा इतना दर्दनाक था कि मौके पर ही तीनों की मौत हो गई, जबकि मोटरसाइकिल के 2 टुकड़े हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों के कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी गई है।


मलबे में दबी यात्री बस पांच की मौत

देहरादून। बद्रीनाथ दर्शन कर लौट श्रद्धालुओं की लामबगड़ स्लाइड जोन में मलवे में दबने की सूचना है। बस के उपर मलबा गिरने की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पर रवाना हो गई। मौके पर एसडीआरएफ की टीम भी पहुंच गई है। बस में कुल 11 लोग सवार थे जिसमें से तीन को रैस्क्यू कर सुरक्षित निकाला गया। प्रारंभिक सूचना के अनुसार, 5 यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई है। दुर्घटना के समय बदरीनाथ से आ रही थी बस। बस में कुल 13 लोग सवार थे। बस के चालक, परिचालक सहित पांच लोगो पांडुकेशवर चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। बस में स्थानीय यात्रियों के अलावा 6 मुंबई के यात्री भी सवार थे। पहाड़ी से लगातार पत्थर गिरने से रेस्क्यू कार्य में दिक्कतें आ रही है। बस को हटाने के लिए जिला प्रशासन ने क्रेन मगाई गई है।


सामूहिक गैंगरेप के बाद, स्तन काटे

अंशिका गुप्ता 


पश्चिम चंपारण। इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना ब‍िहार के पश्च‍िम चंपारण ज‍िले से सामने आयी है। जहाँ एक लड़की के साथ सामूह‍िक गैंगरेप  के बाद उसकी नृशंस हत्या से इलाके में हडकंप मच गया। बताते चले इस दिल दहला देने वाली घटना ने द‍िल्ली के न‍िर्भया कांड की याद द‍िला दी। लड़की के साथ पहले पहले गैंगरेप हुआ और फ‍िर उसके स्तन काट डाले गए। उसके बाद चेहरे और शरीर पर तेजाब डालकर उसे न‍िर्वस्त्र हालत में गन्ने के खेत में फेंककर भाग गए।


सूत्रों के मिली जानकारी के मुताबिक बिहार में पश्च‍िम चंपारण के रामनगर इलाके के एक गांव में एक लड़की से हुए जघन्य कुकृत्य ने पूरे इलाके में दहसत का माहौल है। इन दरिंदो ने लड़की के साथ वहशीपन की हदें पार कर दी वही इस घटना में पुलिस ने मृतका के पिता के बयान पर एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बताते चले बीते रविवार को शौच के लिए खेत पर गई लड़की के साथ कुछ हैवानो ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम द‍िया। दरिंदगी की हद को पार करते हुए लड़कों ने लड़की के काले रंग के दुपट्‌टे को मुंह में ठूंस कर जबरन सामूहिक दुष्कर्म किया।


आगे बताते चले इन दरिंदो का इनते से मन नहीं भरा तो सामूहिक बलात्कार के बाद उसकी छाती चीर कर स्तन काट डाले और उसकी फिर उसके चेहरे व शरीर पर तेजाब फेंक दिया। घटना के दूसरे दिन चरवाहों की सूचना पर पुलिस ने न‍िर्वस्त्र हालत में लड़की की लाश बरामद की। मृतका के परिजनों के मुताबिक मृतका की सगाई पिछले महीने ही हुई थी। उसकी शादी पूर्वी चंपारण के रामगढ़वा थाना के पखनहिया गांव में रहने वाले बुद्धिलाल महतो के बेटे उमेश के साथ तय की गई थी। नवंबर-दिसंबर में उसकी शादी होने वाली थी।


नाले में मिली नवजात शिशु की लाश

राजिम। मंगलवार सुबह सहसपुर के पास सरगी नाला में एक अज्ञात नवजात शिशु की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पांडुका पुलिस ने लाश का पंचनामा कर पीएम के लिए छुरा भेज दिया गया है। पुलिस के अनुसार नवजात शिशु का जन्म किसी हॉस्पिटल में हुआ होगा तथा जन्म से ही मृत होने पर परिजनों ने नाले में किसी जगह दफना दिया होगा। ग्रामीणों के अनुसार हॉस्पिटलों में अवैध डिलीवरी कराई जाती है। नवजात शिशु का लाश दो दिन ही पुराना होने का अनुमान है। एसआई हिमांचल धु्रव ने बताया कि नाले में नवजात शिशु का लाश मिलना अनेक प्रश्न खड़ा करता है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही सब पता चल पाएगा।


आरएलडी:डीएम ऑफिस पर दिया धरना

अलीगढ | राष्ट्रीय लोकदल ने इगलास विधानसभा उपचुनाव से पहले ही जनसमस्याओं को लेकर भाजपा को घेरना शुरू कर दिया है | मंगलवार को रालोद के सैंकड़ो कार्यकर्ताओं ने तहसील इगलास के मुख्यालय पर धरना दिया और सरकार के खिलाफ हुंकार भरी | किसानो के मुद्दे पर योगी सरकार की जमकर खिंचाई की | तहसील दिवस में पहुंचे डीएम का घेराव कर जमकर नारेबाजी की | जिला अधिकारी से बातचीत करते समय, अपनी समस्याओं को बताते वक्त डीएम से रालोद नेताओं की नौंक झौंक भी हुई।


भाकियू:डीएम ऑफिस का किया घेराव

 सचिन विशौरिया


गाजियाबाद । जून माह में लोनी गाजियाबाद रोड स्थित भारत सिटी के द्वारा गड्ढे में एकत्रित किए जा रहे गंदे पानी में डूब कर तीन बच्चों की मृत्यु हो गई थी। जिनकी शिकायत पीड़ित परिवार ने लोनी उपजिलाधिकारी से की थी। एक महीने बाद भी कार्रवाई ना होने पर भारतीय किसान यूनियन की ओर से एक पंचायत का आज उसी सम्बंध में भारतीय किसान यूनियन (अम्बावत )के प्रदेश अध्यक्ष प.सचिन शर्मा के द्वारा जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव कर पीड़ितों को शीघ्र न्याय दिलाने की मांग की।


साथ ही साथ बिल्डर्स की  काली करतूत भी विस्तार से बताई। जिसके बाद उपजिलाधिकारी ने मुआवजे के रूप में भारत सिटी के बिल्डर सोमपाल सिंह से पांच लाख रुपए का चेक पीड़ित परिवार को दिलाया लेकिन पीड़ित परिवार ने बताया कि उपजिलाधिकारी ने उन्हें सरकारी मुआवजा कहकर बिल्डर से मुआवजे का चेक दिलाया जो कि गलत तरीका था। आज पीड़ितों को लेकर  जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव कर उपजिलाधिकारी व बिल्डर्स की मिली भगत की जांच कराने व विधि सम्मत मानकों के आधार पर कमी पाई गई थी तो वह मुआवजा दिया जाए। पहले राजस्व में जमा होना चाहिए था। उपजिलाधिकारी ने पीड़ितों को भ्रमित कर यह कार्रवाई की कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेकर उचित कार्यवाही करने का कष्ट करें। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष सचिन शर्मा के साथ यदि पीड़ित को न्याय नहीं मिला तो हम प्रदेश में चक्का जाम कर देंगे।


आज कलेक्ट्रेट पर हुवे इस अवसर पर प्रदर्शन में मुख्य रूप से भारतीय किसान यूनियन अंबावता के राष्ट्रीय


पीड़ितों के अधिवक्ता महकार कसाना (जावली) सुरेंद्र कुमार अध्यक्ष लोनी अधिवक्ता समिति अपने साथियों के साथ अपना समर्थन दिया। प्रदेश सचिव ठाकुर मुकेश सोलंकी, युवा प्रदेश सचिव केशव चौधरी, युवा महानगर अध्यक्ष गौरव यादव, दीपक सिंह, शंकर शर्मा ,महिपाल चौधरी, जिला महासचिव नीरज चौधरी, हरपाल कसाना, मुनेंद्र बैसला, नितिन अर्थला ,जॉनी गुर्जर, सचिन बालियान, सिद्धार्थ कसाना, हारुन पहलवान, अजीत गुर्जर,  नवीन बंसल, शाहिदा बेगम, गुड़िया देवी, लक्ष्मी देवी आदि सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


855 पेटी शराब के साथ तस्कर गिरफ्तार

कुशीनगर । उतर प्रदेश में सूबे की पुलिस शराब तस्करी पर नियंत्रण करने के साथ तस्करो के मंसूबे पर पानी फेरने के लिये निरन्तर प्रयासरत है। लेकिन तस्कर तू डाल -डाल तो मै पात पात वाली कहावत चिरतार्थ कर रहे है। फिर भी प्रदेश के आखिरी छोर पर बसा बिहार प्रदेश के गोपालगंज जिला को जोड़ने वाला कुशीनगर जनपद के डॉ राजीव नारायण मिश्र की पुलिस लगतार शराब तस्करो की कमर तोड़ने में दिन रात जुटी है! इस क्रम में बीती रात जनपद की कसया पुलिस ने एक ट्रक से बिहार जा रही शराब की खेप को उस समय पकड़ा, जब वह बिहार निकलने वाला ही था।


बीते छ अगस्त को कसया पुलिस ने राष्ट्रीय राज मार्ग 28 बरवा जंगल के समीप बबलू ढाबा पर अवैध शराब से लदा खड़ी एक ट्रक को पकड़ा। पुलिस ने ट्रक व खलासी को कब्जे में लेकर थाने लाई। जहाँ ट्रक को सीज करते हुए दो नामजद सहित तीन लोगों को सुसंगत धाराओं में मुकदमा परजीकृत कर जाँच पड़ताल में जुटी हुई है। जानकारी के अनुसार मंगलवार की देर रात एसएचओ कसया ज्ञानेन्द्र कुमार राय, उपनिरिक्षक रामचन्द्र सिंह यादव, उमेश यादव, सिपाही उदयभान मिश्रा, मनोज कुमार, विजय यादव आदि ने नेतृत्व में राष्ट्रीय राज मार्ग 28 पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा था। इसी दौरान बरवा जंगल के समीप स्थित बबलू ढाबा पर खड़ी ट्रक को पुलिस ने शक के आधार पर पूछताछ किया। इसी दौरान चालक पुलिस को देख मौके से फरार हो गया। पुलिस के जांच पड़ताल में ट्रक से 855 पेटी अवैध देशी शराब बंटी बबली बरामद हुआ। बताया जाता है कि ट्रक गोरखपुर से बिहार तस्करी के लिए जा रहा था। ट्रक व खलासी को कब्जे में लेते हुए थाने लाई। जहाँ ट्रक संख्या एचआर 46 सी 6872 को सीज करते हुए खलासी परबिंदर मेहता पुत्र मुनचंद्र निवासी बाबा कालोनी सोनपथ, हरियाणा, चालक विक्रम पुत्र अज्ञात निवासी विन्द गोहाना पंजाब व ट्रक मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर खलासी को जेल भेजने की कार्यवाई में जुटी हुई है। वही मौके से फरार अभियुक्त बिक्रम पुत्र अज्ञात निवासी पंजाब प्रदेश की सरगर्मी से तलाश की जा रही है ।इस बड़ी बरामदगी के बाद एक प्रश्न के जबाब में पुलिस अधीक्षक राजीव नारायण मिश्र कहते है की अबैध शराब के निष्कर्षण, परिगमन के विरुद्ध अभियान चलता ही रहेगा।तस्करो के रैकेट को चिंहत करने की भी कार्रवाई चल रहा है। जनपद पुलिस शराब तस्करी रोकने के लिये सदैव सक्रिय है। जिसका परिणाम है यह शराब बरामदगी का हिस्सा।


स्टेडियम में प्रैक्टिस के दौरान मारी गोली

स्टेडियम में प्रैक्टिस के दौरान खिलाड़ी को मारी गोली


सहारनपुर । उत्तर प्रदेश के सहारनपुर नगर में राष्ट्रीय प्रतियोगिता की तैयारी में जुटे एक खिलाड़ी को गोली मार दी गई। खिलाड़ी पर हमला उस वक्त किया गया, जब वह स्टेडियम में प्रेक्टिस कर रहा था। करीब आधा दर्जन हमलावरों ने इस वारदात को अंजाम दिया। खिलाड़ी को दो गोली लगी। गंभीर हालत के चलते उसे हायर सेंटर रैफर कर दिया गया है।


घटना सहारनपुर के थाना सदर बाजार क्षेत्र की है। जहां अम्बेडकर स्टेडियम में पंत विहार निवासी 24 वर्षीय यश प्रताप सिंह हैमर थ्रो और डिस्क थ्रो की प्रेक्टिस करने आते थे। वह राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेने की तैयारी कर रहे थे। मंगलवार को भी वह स्टेडियम में प्रेक्टिस कर रहे थे।तभी सफारी कार में सवार होकर करीब आधा दर्जन युवक स्टेडियम पहुंचे और यश पर हमला बोल दिया। यश उनसे बचने के लिए भागा लेकिन उन लोगों ने यश को निशाना बनाकर गोली चला दी। गोली सीधे यश के सीने में लगी और वह गिर पड़ा। बदमाश वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए।


उन्नाव-रेप:कोर्ट ने सेंगर को दोषी पाया

 नई दिल्ली। उन्नाव दुष्कर्म मामले की सुनवाई बुधवार को दिल्ली के तीस हजारी विशेष सीबीआइ कोर्ट में हुई। इस दौरान सीबीआइ ने जज से कहा कि, उन्नाव रेप मामले में हमने जांच में पाया कि पीड़िता के आरोप बिल्कुल सही हैं। चार जून 2017 को विधायक कुलदीप सेंगर ने शशि सिंह के साथ साजिश कर पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया था।पीड़िता के साथ रात आठ बजे रेप हुआ। तब पीड़िता की उम्र 18 साल से कम थी। पीड़िता ने ये बात सबसे पहले अपनी चाची को बताई इसी पर चार्जशीट दायर की गई थी। सीबीआइ ने कोर्ट को बताया कि शशि सिंह पीड़िता को नौकरी दिलाने के बहाने कुलदीप सिंह सेंगर के घर ले गई। पीड़िता ने सीबीआइ को जो बयान दिए उसको सीबीआइ ने जज के सामने रखा।


सीबीआइ ने कहा कि उस समय वहां (घर) पर कोई मौजूद नहीं था। वहां पर सुरक्षाकर्मी भी नहीं थे। पीड़िता ने अपने घर में किसी को भी नहीं बताई। पीड़िता ने सीबीआइ को बताया कि शशि मुझे पीछे के दरवाजे से घर के अंदर ले गई। मैं जैसे ही घर के अंदर प्रवेश कर रही थी तभी कुलदीप सिंह सेंगर मुझे दिखा, उसने मेरा हाथ खींचा और कमरे के अंदर ले गया।इससे पहले आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर दिया गया। हालांकि अभी भी आरोपित विधायक सेंगर खुद को निर्दोष बता रहे हैं।मालूम हो कि पीड़िता को भी इलाज के लिए एम्स लाया गया है। इससे पहले उन्नाव रेप केस के तीन मामलों की मंगलवार को तीस हजारी कोर्ट में सुनवाई हुई। कोर्ट ने सीबीआइ को आदेश दिया कि परिवारवालों के रहने की उचित व्यवस्था एम्स के आस-पास की जाए। साथ ही सीबीआइ से गवाहों की सुरक्षा पर सील बंद रिपोर्ट मांगी गई।


लोनी:पालिकाध्यक्ष ने की मदद,दी हिम्मत

गाजियाबाद-लोनी।भारतीय जनता पार्टी की लोनी नगरपालिका अध्यक्ष रंजीता धामा पूजा कालोनी मे पीड़ित परिवारों के बीच पँहुची व उनको सांत्वना दी।
पीडित परिवार के बीच इस दु:ख की घडी मे पँहुची श्रीमती रंजीता धामा ने घर की महिलाओं से बात की तथा घटना के विषय मे जानकारी ली । 
परिवार की महिलाओं ने घटना की जानकारी देते हुये बताया कि किस प्रकार से डकैतों ने एक हँसते-खेलते परिवार को दु:ख के सागर मे डुबो दिया । एक काली मनहूस रात ने उनके परिवार की खुशियाँ छीन ली । उपस्थित लोगों ने बताया कि बदमाशों ने डकैती का विरोध करने पर परिवार के मुखिया को व एक पडोसी जोकि सहायता के लिये आये थे उसको भी गोली मार दी। जिसमे एक की मृत्यु हो गयी व एक अस्पताल मे जिंदगी -मौत के बीच झूल रहा है। घायल का इलाज गुरू तेगबहादुर अस्पताल दिल्ली मे चल रहा है। जिसकी हालत अभी बहुत चिंताजनक बनी हुयी है ।
रंजीता धामा को स्वंय बहुत दु:ख हुआ,अपनी भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रख सकी, लोनी एसडीएम प्रंशात तिवारी से इस मामले मे बात की तथा पीडित परिवारों को सरकार की तरफ से आर्थिक मदद करवाने के लिये कहा ।
इतने पर भी रंजीता धामा को सुकून महसूस नही हुआ तो वो स्वंय पीडित महिलाओं को साथ लेकर एसडीएम साहब से मिली तथा उनकी कागजी कार्यवाही पूरी करायी व जल्द से जल्द उनको प्रशासन की तरफ से आर्थिक सहायता मिले इसके लिये एसडीएम प्रशांत तिवारी को कहाा गया है।
नगरपालिका अध्यक्ष को जानकारी मिली की पीडित परिवार बहुत ही गरीब है तथा आर्थिक रूप से भी बहुत कमजोर हैै। इनका राशन कार्ड भी नही बना है तो तुरंत राशन इंस्पेक्टर से पीडित परिवार को राशन उपलब्ध कराने व इनका राशन कार्ड जल्द से जल्द बनाने को कहा।अध्यक्ष ने ₹11हजार की आर्थिक सहायता अपनी तरफ से की तथा कहा कि आगे भविष्य मे भी किसी भी प्रकार की सहायता के लिये वो परिवारों के साथ हैं।


अश्वनी उपाध्याय


कब हटेगा प्रशासन की आंखों से पर्दा

गाजियाबाद-लोनी।नगर पालिका परिषद क सभी दावे झूठे करार साबित हो रहे हैं,की गई सभी कागजी कार्रवाई अपनी हकीकत बयां कर रही है। नगर की जनता अपनी मूलभूत आवश्यकताओं से वंचित है। पीने के पानी से लेकर आवागमन के लिए सुचारू रास्तों की व्यवस्था नहीं कर पाई। नगर की जनता नगर पालिका से किस प्रकार अपेक्षा रख सकती है। किस प्रकार नगर पालिका जनता की समस्या का समाधान कर सकती है ।जनता को उसके हाल पर छोड़ दिया गया है। नगर पालिका में भ्रष्टाचार का नंगा खेल किया जा रहा है।भ्रष्टाचार के खेल में अधिकारी और नेता अपने वास्तविक कर्तव्य से भटक गए हैं या यूं कहिए कि भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारी और नेता  जनसमस्याओं के प्रति उदार हो गए हैं। गांव बाग रानप, वार्ड नं 30 स्‍थित नटो के मोहल्ले में पानी की समस्या से जनता का बुरा हाल है।
यहां पानी की लाइन भी बिछी हुई है लेकिन इस पानी की लाइन मे साल में एक या दो बार ही पानी आता है। इस मोहल्ले मे दो पानी के हैंडपंप भी है जो काफी दिनों से खराब पड़े है। नगर पालिका में ठीक कराने का आवेदन भी करा रखाा है । जिस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। वार्ड के सभासद के पास जाते है सिकायत लेकर तो वो सिर्फ हमें आश्वासन दे देते है। आप चिंता मत करो ठीक हो जाएगी। लेकिन बाद में कोई कार्यवाही नहीं होती। और तो और यहां पर नगर पालिका सफाई कर्मचारी 1 महीने मे एक बार आते हैै।नाली की कीचड़ निकाल कर वहीं खडंजे पर छोड़ देते है फिर वो कीचड़ दुबारा से नाली मै चली जाती है।
कमल सिंह वाल्मीकि


नगर पालिका क्षेत्र में नगर पालिका की उदासीनता के चलते पानी की निकासी ना होने के कारण मंगलवार को हुई बरसात से दिल्ली सहारनपुर रोड शिव विहार,मेट्रो स्टेशन से लेकर इंदरपुरी दो नंबर तक एवं गाजियाबाद रोड पर रूपनगर तक जलमग्न हो गया। जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई। वहीं, क्षेत्र के कई गली-मोहल्लों में भारी जलभराव से लोगों को काफी समस्याएं होती है। गंदगी की भरमार हो रही है। जिससे बीमारी होने का खतरा बना हुआ है। वही लोनी क्षेत्र की कई पुलिस चौकियों में पानी भर गया है। जिसको निकालने के लिए पुलिसकर्मियों को पंप लगाने पड़ रहे हैं।


प्रमोद गर्ग


भारत ने वेस्टइंडीज का किया सूपड़ा साफ

गुयाना । भारत ने तीन टी20 मैचों की सीरीज में वेस्टइंडीज का सूपड़ा साफ कर दिया है। भारत ने मंगलवार को तीसरे और आखिरी टी20 मैच वेस्टइंडीज को सात विकेट से करारी शिकस्त दी। भारत ने पहले मैच में मेहमान टीम को चार विकेट जबकि बारिश से प्रभावित दूसरे मैच में डकवर्थ लुईस नियम के तहत 22 रन से हराया था।भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ उसकी धरती पर आठ साल बाद टी20 सीरीज जीती है। पिछली बार भारत ने 2011 में वेस्टइंडीज में 1-0 से सीरीज जीती थी। गुयाना के प्रोविडेंस स्टेडियम में खेले गए इस मैच में वेस्टइंडीज ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी की और भारत के सामने जीत के लिए 147 रन का लक्ष्य रखा। जवाब में भारत ने 19.1 ओवर में 3 विकेट के नुकसान पर 150 रन बनाकर जीत हासिल कर ली। भारत के लिए सबसे ज्यादा रन रिषभ पंत (नाबाद 65) ने बनाए। उन्होंने 42 गेंदों की अपनी पारी में 4 चौके और 4 छक्के मारे ।इससे पहले वेस्टइंडीज ने निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट गंवाकर 146 रन का स्कोर खड़ा किया। वेस्टइंडीज के लिए सर्वाधिक रन कीरोन पोलार्ड (58) ने बनाए। उनके अलावा रोवमैन पॉवेल (नाबाद 32), निकोलस पूरन (17), कार्लोस ब्रेथवेट (10), फेबियन एलन (नाबाद 8), एविन लुईस (10), सुनील नरेन (2) और शिमरोन हेटमायर ने 1 रन का योगदान दिया। भारत की तरफ से दीपक चाहर ने तीन, नवदीप सैनी ने दो और राहुल चाहर ने एक विकेट चटकाया। भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। मैदान गीला होने के कराण टॉस देर से हुआ। भारत ने अपनी टीम में तीन बदलाव किए। भारत ने रोहित शर्मा, रवींद्र जडेजा और खलील अहमद की जगह लोकेश राहुल, दीपक चाहर और राहुल चहर को अंतिम एकादश में शामिल किया। राहुल का यह अंतरराष्ट्रीय डेब्यू मैच है। वहीं, वेस्टइंडीज ने अपनी टीम में एक बदलाव किया। वेस्टइंडीज ने खेरी पियरे के स्थान पर फेबियन एलन को मौका दिया।


आयुक्त ने जारी किया अंतिम नोटिस

रायगढ़। आयुक्त नगर निगम राजेंद्र गुप्ता लोक निर्माण विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के साथ निर्माण कार्यो की बैठक ली गयी। जिसमे शहर में सीसी रोड मरम्मत और नाली निर्माण समेत अन्य निर्माण कार्यों से जुड़े गैर जिम्मेदार ठेकेदारों के खिलाफ अब कार्रवाई की तैयारी हो रही है। आयुक्त राजेंद्र गुप्ता ने नोटिस के बाद काी काम नहीं करने वाले ठेकेदारों को ब्लैकलिस्टेड करने की चेतावनी दी है।इस बार अब उनसे काम छिन लिया जाएगा और उन पर विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी। शहर में पिछले साल विभिन्न निर्माण में काम स्वीकृत हुए थे। इसी के तहत सीसी रोड मरम्मत, कावन निर्माण, नाली निर्माण समेत अन्य छोटे बड़े काम के लिए टेंडर जारी किया गया था। निगम में ऐसे दो दर्जन से अधिक ठेकेदार हैं जिन्होंने अकाी तक काम चालू नहीं किया। जबकि छह माह पहले ही उन्हें काम चालू करने का नोटिस दिया जा चुका है। निगम द्वारा ठेकेदारों को अंतिम नोटिस भी दिया जा चुका है। बावजूद इसके ठेकेदार कार्य प्रारम्भ नहीं कर रही हैं।


पंजाब सीएम की पत्नी से ठगे 23 लाख

राजेश शर्मा


पटियाला। पंजाब में इंटरनेट बैंकिंग से ठगी होना आम बात हो गई है। भोले भाले लोगो के बैंक कर्मी बनकर उनके खाते से लाखों रूपए निकाले जाते है पर पुलिस एेसे गिरोह को पकड़ने में नाकाम है। पर इस बार एक ठग ने एेसा किया कि पुलिस को इसे गिरफ़्तार करना ही पड़ा। बिहार के ठग ने पंजाब के सी एम कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की पत्नी परनीत कौर के खाते से 23 लाख निकाल लिए। ठग ने सी एम की पत्नी को फ़ोन करके कहा कि आपकी सेलरी डालनी है जो मोबाईल पर आया मैसेज बताए। जो उन्होंने मैसेज बताया तो उनके अकाउंट से 23 लाख निकल गए। वही पटियाला पुलिस ने बिहार मे रहने वाले अंसारी नाम के व्‍यकति को क़ाबू किया है।


महंगाई दर कम, मांग सुस्त पडी

नई दिल्ली। देश की अर्थव्यवस्था तमाम कोशिशों के बावजूद रफ्तार नहीं पकड़ पा रही है। बजट के कुछ प्रावधानों के बाद निवेशक लगातार बाजार से पैसा निकाल रहे हैं। महंगाई दर उम्मीद से कम है जिसकी वजह से मांग सुस्त पड़ी है।


मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का हाल बुरा है। खासकर ऑटो सेक्टर में प्रोडक्शन पर लगाम लगाया जा रहा है। कंपनियों के लिए तो स्टॉक खाली करना चुनौती बन गई है। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के कुल जीडीपी का आधा हिस्सा तो केवल ऑटोमोबाइल सेक्टर से आता है। ऐसे में इस सेक्टर में मंदी बड़ी चुनौती है।जिसके माडेनजर आज रिजर्व बैंक आरबीआई नीति का ऐलान करेगा। आर्थिक मामलों के जानकारों को उम्मीद है कि एकबार फिर से रेपो रेट को घटाया जाएगा। पिछली तीन मौद्रिक नीति में लगातार तीन बार रेट कट का ऐलान किया गया है।इस साल अब तक 75 बेसिक प्वाइंट्स की कटौती की जा चुकी है। वर्तमान में आरबीआई बैंकों को 5.75 फीसदी की दर पर ब्याज देता है। रिवर्स रेपो रेट 5.50 फीसदी है।


फर्जी मार्कशीट बनाने वाले गिरोह को दबोचा

बुलंदशहर । स्वाट टीम ने उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की फर्जी मार्कशीट बनाकर बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने 03 जालसाजों को फर्जी मार्कशीट, कम्प्यूटर आदि सहित गिरफ्तार किया है।जानकारी के मुताबिक 06 अगस्त को स्वाट टीम ने मुखबिर की सूचना पर थाना औरंगाबाद कस्बे में पवसरा रोड पर सर्वोदय कम्प्यूटर सेंटर से 3 व्यक्तियों को फर्जी मार्कशीट, सनद व कम्प्यूटर आदि सामान सहित गिरफ्तार किया गया है।गिरफ्तार जालसाज मोवीन पुत्र यामीन निवासी पवसरा रोड औरंगाबाद थाना औरंगाबाद जनपद बुलन्दशहर, उमेश पुत्र हरेन्द्र सिंह निवासी ग्राम सैदपुर थाना बीबीनगर जनपद बुलन्दशहर और अनुज पुत्र ब्रह्मपाल निवासी राजगढ़ी थाना औरंगाबाद है।


बरामदगी का विवरण
1- एक सीपीयू, 01 प्रिन्टर, 01 मॉनीटर, 01 नेटर्वक डिवाइस, 01 कीबोर्ड, 01 माउस।
2- 09 अदद कूट रचित अंक तालिकायें।
3- 04 अदद सादा पेपर, एक मोहर स्कूल की व पेड।


पुलिस के मुताबिक तीनो जालसाज मिलकर सर्वोदय कम्प्यूटर सेन्टर के नाम से दुकान चलाते हैं। जिसमे फर्जी मार्कशीट, सनद आदि कागजात तैयार करते है। अभियुक्तो द्वारा अब तक करीब 30-40 फर्जी मार्कशीट,सनद आदि कागजात तैयार कर बेचना बताया है।


पत्रकार कल्याण संघ ने किया आभार व्यक्त

रायपुर । छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार कल्याण संघ के प्रतिनिधिमंडल द्वारा मुलाकात कर मुख्यमंत्री को आभार व्यक्त की गयी। 
पहले पत्रकारों की पेंशन राशि 5 हज़ार से बढ़ाकर 10 हज़ार करने तथा ब्लॉक और तहसील स्तर के पत्रकारों को भी   अधिमान्यता देने 18 साल पुराने नियमों में बदलाव करने की घोषणा के परिपेक्ष्य में छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार कल्याण संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात कर उनके प्रति आभार व्यक्त किया । इस दौरान कल्याण संघ की ओर से आग्रह किया गया कि पेंशन के संदर्भ में 10 साल की अधिमान्यता की आवश्यकता के बिंदु पर भी गौर करते हुए शिथिलता लाई जाए, साथ ही जिला जनसंपर्क विभाग में पंजीकृत पत्रकारों को भी वे सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए जो कि अधिमान्य पत्रकारों को मिलती हैं, प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश अध्यक्ष बी. डी. निज़ामी, कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष सुरेश केड़िया और राशिद जमाल सिद्दीक़ी, प्रदेश उपाध्यक्ष अविनाश ठाकुर और सुरेंद्र कपूर काके शामिल थे ।


भैंस ने बछड़े को जन्म दिया : अद्भुत

पुरुषोत्तम पात्र


गरियाबंद। पशु-प्रेमियों एवं जीव विज्ञान पर काम कर रहे  वैज्ञानिकों के लिए यह एक अद्भुत अनुभव है। दो अलग अलग प्रवृति के जीवो पर वर्णसंकर आत्मक उपयोग की सिद्धि विज्ञान के क्षेत्र में अभूतपूर्व उपलब्धि है। वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों के अथक प्रयास से ही यह संभव हो सका है। भैंस और गोवंश से उत्पन्न यह बछड़ा अभी भी कई कसौटी पर खरा उतरने के लिए तैयार रहेगा। इस शोध और प्राकृतिक परिवर्तन से एक तरफ कई सवालों को जवाब जन्म भी दिया है। दूसरी तरफ विज्ञान की उपलब्धि के द्वारा ही यह सिद्ध हो पाया है।कि प्राकृतिक समावेश में असंभव कुछ भी नहीं है। इस प्रकार के उपयोग  प्राकृतिक संवर्धन का एक नया आयाम है,छत्‍तीसगढ मे वनभैंस खुशी ने बच्चे को जन्म देकर खुशखबरी दे दी है। खुशी पहली बार मां बनी है और बछड़े को जन्म दिया है। उदंती अभ्यारण्य में खुशी का माहौल है। पहले से ही अनुमान लगाया जा रहा था कि अगस्त के पहले सप्ताह में खुशखबरी सुनने को मिलेगी।


ब्रिटिश संसद में छाई रही अनुच्छेद 370

लंदन । ब्रिटिश सरकार ने मंगलवार को कहा कि वह कश्मीर की स्थिति पर बारीकी से नजर रख रही है। साथ ही उसने शांति का माहौल बनाये रखने का आह्वान किया है। जम्मू -कश्मीर राज्य के बंटवारे और अनुच्छेद 370 को हटाने संबंधी भारत सरकार के फैसले को लेकर ब्रिटिश सांसद बंटे दिखाई दिये। भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 संबंधी ज्यादातर प्रावधानों को समाप्त कर दिया है और राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेशों जम्मू -कश्मीर और लद्दाख में बांटने का प्रस्ताव पेश किया था।इस मुद्दे को लेकर कुछ ब्रिटिश सांसदों ने ”गंभीर चिंता” और कुछ ने ”मजबूत समर्थन” व्यक्त किया है। विदेश और राष्ट्रमंडल कार्यालय (एफसीओ) के एक प्रवक्ता ने कहा, ”हम घटनाक्रम पर बारीकी से गौर कर रहे हैं और स्थिति को शांत बनाये रखने का आह्वान करते है।” कश्मीर पर ब्रिटेन के 'ऑल पार्टी पार्लियामेंट्री ग्रुप” (एपीपीजी) ने ब्रिटेन के विदेश मंत्री डॉमिनिक राब को मानवाधिकारों की चिंताओं को लेकर एक पत्र लिखा है और पूछा है कि क्या ब्रिटेन सितंबर में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस मुद्दे को उठाएगा।विपक्षी लेबर पार्टी की सांसद और कश्मीर पर एपीपीजी की अध्यक्ष डेबी अब्राहम ने एफसीओ मंत्री को लिखे अपने पत्र में कहा, ”हम भारत के गृह मंत्री अमित शाह द्वारा भारतीय संविधान के उस अनुच्छेद 370 पर की गई घोषणा को लेकर चिंतित हैं जिसे राष्ट्रपति के आदेश द्वारा हटा दिया गया है। उन्होंने कहा, ”अनुच्छेद 370 को हटाने संबंधी भारत सरकार द्वारा लिया गया एकतरफा निर्णय जम्मू कश्मीर के लोगों के विश्वास के साथ धोखा है और उन्होंने चेताया कि इससे क्षेत्र में तनाव और बढ़ सकता है। यह अंतरराष्ट्रीय कानून का भी उल्लंघन करता है।”


अब्राहम ने ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त रुचि घनश्याम को भी एक पत्र जारी किया है और भारतीय सरकार की स्थिति पर चर्चा के लिए एक बैठक का आह्वान किया है। वहीं दूसरी ओर कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद बॉब ब्लैकमैन ने कहा, ”मैं अनुच्छेद 370 को हटाये जाने का पूर्ण रूप से समर्थन करता हूं।नरेन्द्र मोदी ने भाजपा के घोषणापत्र के अनुरूप फिर से उचित और मजबूत नेतृत्व दिखाया है। अब समय है कि जम्मू और कश्मीर को भारतीय संविधान में समुचित ढंग से समाहित किया जाए।


उन्होंने कहा, ”कश्मीरी पंडितों को वापसी के अधिकार की गारंटी दी जानी चाहिए और यह कदम किसी अन्य अल्पसंख्यक समूह को कश्मीर घाटी छोड़ने के लिए मजबूर करने से रोकेगा।” ब्लैकमैन ने कहा, ”घाटी में कृषि और सांस्कृतिक हस्तकला निर्यात, हाइड्रो-इलेक्ट्रिक पावर और पर्यटन के विकास के लिए उत्कृष्ट अवसर हैं। हालांकि सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र को आतंकवादियों से मुक्त कराना है क्योंकि सुरक्षा सर्वोपरि है।” ब्रिटेन में कश्मीरी मूल के काफी लोग रहते हैं और इनमें से कई समूह भारत सरकार के कदम पर अपनी प्रतिक्रिया में इसी तरह से बंटे नजर आये।


पार्थिव शरीर देख भावुक हुए प्रधानमंत्री

नई दिल्ली। पीएम मोदी पिछले कार्यकाल में अपने मंत्रिमंडल की सहयोगी रहीं सुषमा स्वराज का पार्थिव शरीर देखकर बेहद भावुक हो उठे। सुषमा के दिल्ली स्थित आवास पर रखे पार्थिव शरीर के सामने हाथ जोड़े खड़े प्रधानमंत्री की आंखें भर आईं। प्रधानमंत्री ने बेहद गमगीन माहौल में सुषमा की बेटी बांसुरी स्वराज के सिर पर हाथ फेर कर उनका ढांढस बंधाया। वही बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी सुषमा के पार्थिव शरीर की ओर शांत खड़े निहारते रहे।
बीजेपी की बेहद तेज तर्रार और लोकप्रिय नेता को श्रद्धांजलि देते हुए मोदी के चेहरे से पता चल रहा था कि उन्हें कितना गहरा आघात लगा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा भी कि सुषमा के निधन से उनकी व्यक्तिगत क्षति हुई है। प्रधानमंत्री जब सुषमा को श्रद्धांजलि देने पहुंचे तो उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू उनके साथ वहां मौजूद थे।
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014-19 के अपने पहले कार्यकाल में सुषमा स्वराज को विदेश मंत्रालय की बेहद अहम जिम्मेदारी दी थी। सुषमा ने कैबिनेट मंत्री की इस जिम्मेदारी को निभाते हुए काफी लोकप्रियता हासिल की।
विदेशों में फंसे भारतीयों की घर वापसी सुनिश्चित करवानी हो या फिर किसी को विदेश जाने में हो रही पासपोर्ट से लेकर अन्य किसी तरह की परेशानी में मदद का हाथ बढ़ाने की बात हो, इन सब में सुषमा ने इतिहास रच दिया।
बहरहाल, सुषमा को श्रद्धांजलि पहुंचे बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी भी बेहद भावुक नजर आए। उनकी पुत्री प्रतिभा आडवाणी सुषमा की पुत्री बांसुरी से लिपटकर रोने लगीं।इनसे पहले समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद रामगोपाल वर्मा को भी अत्यंत भावुक होते देखा गया। वह भी सुषमा का श्रद्धांजलि देने उनके आवास पर पहुंचे थे।


पुलिसकर्मी कर रहे,चरस की तस्करी

संवाददाता-विशाल अग्रवाल


कानपुर। खाकी पहनकर अपराधिक मानसिकता वाले कर्मचारी पुलिस विभाग में दाग लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला नजीराबाद पुलिस द्वारा पकड़े गये मादक पदार्थ तस्कर के खुलासे से सामने आया।


पुलिस ने तस्कर के पास से करीब साढ़े चार किलो चरस बरामद की। उससे जब चरस देने वाले के बारे में पूछा गया तो उसने बताया कि चकेरी थाने के एक सिपाही ने वह चरस उसे बेची है। मामले की जानकारी मिलने पर एसएसपी ने सीओ कैंट को मामले की जांच सौंपी है। नजीराबाद इंस्पेक्टर मनोज रघुवंशी ने चमनगंज निवासी सारिक अमीन को साढ़े चार किलो चरस के साथ गिरफ्तार किया था। सारिक शहर में लोगों को मादक पदार्थ सप्लाई करता था।इंस्पेक्टर ने जब उसे चरस देने वाले के बारे में पूछा तो उसने जो बताया उसे सुनकर इंस्पेक्टर के होश उड़ गये। पुलिस सूत्रों के मुताबिक सारिक ने इंस्पेक्टर को बताया कि चकेरी थाने के एक सिपाही ने उसे पांच किलो चरस बेची थी, जिसमें इतनी चरस उसके पास बची है।


सिपाही इन दिनों विभागीय कार्रवाई से गुजर रहा है। उसने एक गुडवर्क के दौरान चकेरी पुलिस को चरस बरामद करायी थी, जिसमें उसने आधी चरस थाने में जमा करा दी और आधी उसे बेच दी।इस जानकारी से आवाक इंस्पेक्टर ने मामले की जानकारी आला अधिकारियों को दी। इस पर एसएसपी ने सीओ कैंट को मामले की जांच सौंपी है। सीओ कैंट का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है, आरोपों में कितनी सच्चाई है, इसकी जांच की जा रही है।


स्वतंत्रता दिवस,रक्षाबंधन एक साथ

15 अगस्त को देशभर में रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाएगा।


इस बार क्यों खास है रक्षाबंधन


इस बार रक्षाबंधन का त्योहार गुरुवार के दिन पड़ेगा। ज्योतिष के अनुसार गुरुवार का दिन गुरु बृहस्पति को समर्पित होता है। पौराणिक मान्यता के अनुसार गुरु बृहस्पति ने देवराज इंद्र को दानवों पर विजय प्राप्ति के लिए इंद्र की पत्नी से रक्षासूत्र  बांधने के लिए कहा था जिसके बाद इंद्र ने विजय प्राप्ति की थी। राखी का त्योहार गुरुवार के दिन आने से इसलिए इसका महत्व काफी बढ़ गया है।


इस बार ग्रहण और भद्रा से मुक्त रहेगा रक्षाबंधन


रक्षाबंधन का त्योहार हमेशा भद्रा और ग्रहण से मुक्त ही मनाया जाता है। शास्त्रों में भद्रा रहित काल में ही राखी बांधने का प्रचलन है। भद्रा रहित काल में राखी बांधने से सौभाग्य में बढ़ोत्तरी होती है। इस बार रक्षा बंधन पर भद्रा की नजर नहीं लगेगी। इसके अलावा इस बार श्रावण पूर्णिमा भी ग्रहण से मुक्त रहेगी जिससे यह पर्व का संयोग शुभ और सौभाग्यशाली रहेगा।


क्या है भद्रा काल


मान्यता के अनुसार जब भी भद्रा का समय होता है तो उस दौरान राखी नहीं बांधी जा सकती। भद्राकाल के समय राखी बांधना अशुभ माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार भद्रा भगवान सूर्य देव की पुत्री और शनिदेव की बहन है। जिस तरह से शनि का स्वभाव क्रूर और क्रोधी है उसी प्रकार से भद्रा का भी है।भद्रा के उग्र स्वभाव के कारण ब्रह्माजी ने इन्हें पंचाग के एक प्रमुख अंग करण में स्थान दिया। पंचाग में इनका नाम विष्टी करण रखा गया है। दिन विशेष पर भद्रा करण लगने से शुभ कार्यों को करना निषेध माना गया है।इस बार रक्षाबंधन पर भद्राकाल नहीं रहेगा। इसलिये बहनें भाइयों की कलाई पर सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त के बीच किसी भी समय पर राखी बांध सकती हैं। 


शुभ महूर्त


रक्षा बंधन तिथि - 15 अगस्त 2019, गुरुवार


पूर्णिमा तिथि आरंभ 14 अगस्त -15:45


पूर्णिमा तिथि समाप्त 15 अगस्त- 17:58


भद्रा समाप्त- सूर्योदय से पहले


अनियंत्रित ध्वनि प्रदूषण के प्रभाव

मानव स्वास्थ्य पर प्रभाव 
ध्वनि प्रदूषण  मानसिक और शारीरिक  दोनों के प्रति  प्रतिकूल प्रभाव डालता है। व्यवहार और स्वास्थ्य प्रभाव दोनों की प्रकृति स्वास्थ्य और व्यवहार जैसी होती है। पसंद न की जाने वाली ध्वनि को ध्वनि शोर-शराबा कहा जाता है। यह अवांछित ध्वनि शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को हानि पहुंचा सकती है। ध्वनिक प्रदूषण चिड़चिड़ापन एवं आक्रामकता के अतिरिक्त उच्च रक्तचाप, तनाव, कर्णक्ष्वेड, श्रवण शक्ति का ह्रास, नींद में गड़बड़ी और अन्य हानिकारक प्रभाव पैदा कर सकता है। इसके अलावा, तनाव और उच्च रक्तचाप स्वास्थ्य समस्याओं के प्रमुख हैं, जबकि कर्णक्ष्वेड स्मृति खोना, गंभीर अवसाद और कई बार असमंजस के दौरे पैदा कर सकता है।


शोर-शराबा के प्रति लगातार प्रदर्शन से ध्वनि प्रजनित श्रवण शक्ति का ह्रास हो सकता है। गंभीरव्यावसायिक शोर-शराबा की प्रतिछाया में आने वाले पुरूषों में इससे दूर रहने वाले पुरूषों की तुलना में श्रंवण संवेदनशीलता का गंभीर ह्रास होता है, हालाँकि श्रवण संवेदनशीलता में अंतर समय के साथ-साथ कम होने लगते हैं और 79 वर्ष की आयु होते होते दोनों समूहों के पुरूषों में अंतर की पहचान करना कठिन हो जाता है। घूमने फिरने अथवा औद्योगिक शोर-शराबे के संपर्क में अधिक आने वाली माबान जनजाति की तुलना अमरीकी की आदर्श जनसंख्या से करने पर ऐसी जानकारी मिली है जिससे ज्ञात होता है कि पर्यावरणीय शोर श्राबे के हल्के उच्च स्तर के संपर्क में आने पर श्रवण शक्ति का ह्रास होता है।


शोर-शराबा का उच्च स्तर ह़दय संबंधी रोगों को जन्म दे सकता है तथा आठ घंटके की एकल अवधि के दौरान माध्यमिक उच्च स्तर केप्रभाव में आने से रक्त चाप में पांच से दस बिंदुओं तक की वृद्धि तथा तनाव एवं वेसोकन्सट्रिक्शन में बढोतरी हो सकती है। जिससे उच्च रक्तचाप के साथ-साथ कोरोनरी आर्टरी रोग हो सकते हैं।शोर प्रदूषण चिड़चिड़ेपन का भी एक कारण है। स्पेन के शोधकर्ताओं द्वारा 2005 में किए गए एक अध्ययन में पाया है कि शहरी क्षेत्रों में रहने वाले घरेलू लोग ध्वनि प्रदूषण में कमी लाने के लिए प्रति वर्ष लगभग चार यूरोस खर्च करना चाहते हैं। ध्वनि प्रदूषण में कमी लाने के लिए भारत में अत्यधिक प्रयास नहीं किए जा रहे हैं। जिसके कारण भविष्य में ध्वनि प्रदूषण के द्वारा मानव जीवन प्रभावित होने के अनुमान से मना नहीं किया जा सकता है। हो सकता है ध्वनि प्रदूषण से पड़ने वाला प्रभाव मानव के अनुमान से कहीं अधिक विशाल एवं भीमकाय रहे। अथवा उसके दुष्परिणाम अत्यंत गंभीर हो सकते हैं। आधुनिक व्यवस्था के विरुद्ध भविष्य में यह अपरोक्ष रूप से अत्यंत घातक सिद्ध हो सकता है। ध्वनि प्रदूषण पर नियंत्रण के प्रति अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य संगठन जिस प्रकार चिंतित एवं कार्यरत है। उसके विपरीत राष्ट्रीय व्यवस्थाओं के द्वारा इसे गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। जिसके परिणाम स्वरूप ध्वनि प्रदूषण आकार और स्वरूप में विकृत ही होता जाएगा।


अवधूतेश्वर अवतार का वर्णन

नंदीश्वर कहते हैं, सनतकुमार! अब तुम परमेश्वर शिव के अवधूतेश्‍वर नामक अवतार का वर्णन सुनो। जिसने इंद्र के घमंड को चूर-चूर कर दिया था। पहले की बात है, इंद्र संपूर्ण देवताओं तथा बृहस्पति जी को साथ लेकर भगवान शिव का दर्शन करने के लिए कैलाश पर्वत पर गए। उस समय बृहस्पति और इंद्र के शुभ आगमन की बात जानकर भगवान शंकर उन दोनों की परीक्षा लेने के लिए अवधूत बन गए। उनके शरीर पर कोई वस्त्र नहीं था, वह प्रज्वलित अग्नि के समान तेजस्वी होने के कारण महा भयंकर जान पड़ते थे ।उनकी आकृति बड़ी सुंदर दिखाई देती थी। वह राह रोक कर खड़े थे।बृहस्पति और इंद्र ने शिव के समीप जाते समय देखा, एक अद्भुत शरीर धारी पुरुष रास्ते के बीच में खड़ा है।इंद्र को अपने अधिकार पर बड़ा गर्व था। इसलिए वे साक्षात भगवान शंकर को नहीं जान सके। उन्होंने पूछा, तुम कौन हो? इस नगन अवधेश में कहां से आए हो? इंद्र के इस बारे में पूछने पर भी महान कर्म करने वाले अहंकार हारी महायोगी त्रिलोकी नाथ शिव कुछ नहीं बोले। इंद्र बोले, अरे मूड! तू बार बार पूछने पर भी उत्तर नहीं देता है। तुझे बज्र से मारता हूं। देखो, कौन तेरी रक्षा करता है। ऐसा कहकर उसकी और क्रोध पूर्वक देखते हुए इंद्र ने उसे मार डालने के लिए वज्र उठाया। यह देख भगवान शंकर ने शीघ्र ही उस वज्र का स्तंभन कर दिया। उसकी बांह अकड़ गई। इसलिए वह वज्र का प्रहार न कर सके। निरंतर वह पुरुष तत्कालीन क्रोध के कारण तेज से प्रज्जवलित हो चुका मानो इंद्र को जलाए देता हो। भुजाओं के स्तंभित हो जाने के कारण शचिवल्लभ इंद्र क्रोध से उस सांप की भांति जलने लगे। जिसका पराक्रम मंत्र के बल से अवरुद्ध हो गया। बृहस्पति ने उस पुरुष को अपने तेज से प्रज्जवलित होता देख तत्काल ही समझ लिया कि साक्षात भगवान 'हर' है। फिर तो वे हाथ जोड़कर प्रणाम करके, उनकी स्तुति करने लगे।स्तुति के पश्चात उन्होंने इंद्र को उनके चरणों में गिरा दिया और कहा दीनानाथ, महादेव। यह आपके चरणों में पड़ा है आप इसका और मेरा उद्धार करें। हम दोनों पर क्रोध नहीं, प्रेम करें। महादेव, शरणागत इंद्र की रक्षा कीजिए।आपके ललाट से प्रकट हुई यह आग इन्हें जलाने के लिए आ रही है। बृहस्पति की यह बात सुनकर अवधूत वेश धारी करुणासिंधु ,शिव ने हंसते हुए कहा, अपने नेत्र से रोष पूर्वक बाहर निकली हुई अग्नि को कैसे धारण कर सकता हूं? क्या सांप अपनी छोडी हुई केचुली को फिर ग्रहण करता है? बृहस्पति देव ,भक्त सदा ही कृपा के पात्र होते हैं आप अपने भक्तवत्सल नाम को चरितार्थ कीजिए और इस भयंकर तेज को कहीं अन्यत्र डाल दीजिए। रुद्र ने कहा, देवगुरु मैं तुम पर प्रसन्न हूं इसलिए इंद्र को जीवनदान देने के कारण आज से तुम्हारा एक नाम जीव भी होगा। मेरे नेत्र से जो यह आग प्रकट हुई है इसे देवता सह नहीं सकते। अतः इसको मैं बहुत दूर छोड़ दूंगा। जिससे कष्‍ट न दे सके। ऐसा कहकर अद्भुत अग्नि को हाथ में लेकर भगवान शिव ने समुद्र में फेंक दिया। फेंके जाते ही भगवान शिव का वह तेज तत्काल एक बालक के रूप में परिणित हो गया। जो सिंधु पुत्र जालंधर नाम से विख्यात हुआ। फिर देवताओं की प्रार्थना से भगवान शिव ने असुरों का वध किया। अवधूत रूप से ऐसी सुंदर लीला करने वाले,लोक कल्याणकारी शंकर वहां से अंतर्ध्यान हो गए। फिर सब देवता-संत निर्भय हो गये।एवं जिसके लिए उनका आना हुआ था मैं भगवान शिव का दर्शन पाकर कृतार्थ और अति प्रसन्नता पूर्वक अपने स्थान को चले गए। इस प्रकार मैंने तुमसे परमेश्वर शिव के अवधूतेश्वर अवतार का वर्णन किया है। जो दुष्टों को दंड एवं भक्तों को परम आनंद प्रदान करने वाला है। यह दिव्य वर्णन आपका निवारण करके स्वर्ग ,भोग ,मोक्ष तथा संपूर्ण मनोवांछित फल की प्राप्ति करने वाला है। जो प्रतिदिन एकाग्रचित्त हो इसे सुनाता है सुनता है। वह इस लोक में संपूर्ण सुखों का उपभोग कर के अंत में शिव की गति प्राप्त कर लेता है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1.अंक-05( वर्ष-01)
2. बृहस्पतिवार,8 अगस्‍त 2019
3.शक-1941,श्रावन शुक्‍लपक्ष अष्‍टमी,विक्रमी संवत 2076
4. सूर्योदय प्रातः 5:44,सूर्यास्त 7:07
5.न्‍यूनतम तापमान 26 डी.सै.,अधिकतम-33 डी.सै., हल्की बरसात की संभावनाा, हवा में आद्रता रहेगी!
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा!
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार लोनी गाजियाबाद 201102
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी गाजियाबाद 201102
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...