शुक्रवार, 31 जुलाई 2020

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ करें 'हज यात्रा'

सऊदी अरब: सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हज शुरू


रियाद। सऊदी अरब में बुधवार से हज शुरू हो गया। हालांकि, इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जा रहा है। एक बार में सिर्फ 20 जायरीनों को मक्का आने की इजाजत दी जा रही है। यहां आने से पहले सभी को एक दिन आइसोलेशन में रहना जरूरी है। हज के दौरान जायरीनों को मास्क लगाए रहना भी जरूरी होगा। इस बार किसी भी विदेशी जायरीन को यहां आने की इजाजत नहीं है।
सऊदी अरब में बुधवार को हज शुरू होने के बाद भी मक्का के पास जायरीनों का हुजूम नहीं आया। इस बार यहां विदेशी जायरीनों को आने की इजाजत नहीं है।              


इटली में 15 अक्टूबर तक लॉकडाउन लागू

इटली: लॉकडाउन 15 अक्टूबर तक बढ़ा


रोम/ अंकारा। इटली ने लॉकडाउन का समय 15 अक्टूबर तक बढ़ा दिया है। प्रधानमंत्री ​​​​​​ग्युसेप कोंटे ने बढ़ते मामलों को देखते हुए संसद में पाबंदियां बढ़ाने का सुझाव रखा था। मंगलवार को संसद के ऊपरी सदन में इस पर चर्चा होने के बाद इसे मंजूरी दे दी गई।इटली के प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री ग्युसेप कोंटे ने मंगलवार को संसद में लॉकडाउन बढ़ाने का प्रस्ताव रखा। इसे मंजूरी दे दी गई।
तुर्की: संक्रमण के 963 मामले


तुर्की में 24 घंटे में संक्रमण के 963 नए मामले आए हैं। कुल संक्रमितों की संख्या 2 लाख 27 हजार 982 हो गई है। अब तक यहां 5645 लोगों ने दम तोड़ा है। स्वास्थ मंत्री फहरेतिन कोजा ने बताया कि देश में 46 लाख 65 हजार 383 लोगों का टेस्ट किया गया है। तुर्की ने एक अगस्त से चार देशों के साथ फ्लाइट्स शुरू करने का फैसला किया है। ये देश भारत, रूस, कुवैत और साउथ अफ्रीका हैं।         


साइबर हमलों पर 'संघ' ने लिया एक्शन

साइबर हमलों को लेकर यूरोपीय संघ ने लिया है एक्शन


रूस, चीन, उत्तर कोरिया को हमले का बताया जिम्मेदार


मास्को/बिजिंग/ प्योंगयांग। साइबर हमलों को लेकर यूरोपीय संघ ने एक्शन लिया है।यूरोपीय संघ ने साइबर पाबंदी लगाते हुए रूस, चीन और उत्तर कोरिया को आड़े हाथों लिया है। संघ ने रूसी सैन्य एजेंटों, चीनी साइबर जासूसों और उत्तर कोरियाई फर्म सहित संगठनों पर कई आरोप लगाए हैं।


यूरोपीय संघ ने छह लोगों और तीन समूहों पर प्रतिबंध लगाए हैं, जिसमें रूस के जीआरयू मिलिट्री इंटेलिंजेंस एजेंसी भी शामिल है। यूरोपीय संघ के मुख्यालय की तरफ से जारी बयान में रैनसवेयर, मालवेयर और साइबर जासूसी के लिए उन्हें जिम्मेदार बताया है।


यूरोपीय संघ की विदेश नीति के प्रमुख जोसेप बोरेल ने गुरुवार को कहा कि प्रतिबंध के तहत यात्रा पर बैन, संपत्ति जब्त किए जाने का प्रावधान है। इसके तहत आरोपी लोगों और संस्थाओं को धन न मुहैया कराने का प्रावधान है। इस मामले में उन चार रूसी लोगों की पहचान की गई है जो जीआरयू के सदस्य हैं।         


'गोवंश' का कटान बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं

हिंदू युवा वाहिनी जिला शामली से पदाधिकारियों ने ईद मिलन को मद्देनजर रखते हुए उच्च अधिकारियों से मांग


शामली। हिंदू युवा वाहिनी जिलें के प्रभारी बिट्टू कुमार, जिला संयोजक चौधरी रविंदर सिंह कॉल खंडे, जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष अरविंद कौशिक ,आदि ने जिलाधिकारी महोदय व पुलिस अधीक्षक से मांग  करते हुए कहा पूरे भारत में करोना वायरस की महामारी तेजी के साथ फेल  रही है। जिस को मध्य नजर रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने शनिवार रविवार 2 दिन का संपूर्ण लॉक डाउन लगा रखा है और रविवार वाले दिन 1 अगस्त की बकरीद पड़ती है। इसलिए एक समुदाय के लोगों को लॉकडाउन का पालन करते हैं। बकरीद घर पर ही मनानी  चाहिए और सड़कों पर अवैध कटान लेकर ना जाए और गाय व गोवंश का कटान बिल्कुल ना हो l हिंदू युवा वाहिनी ने गाय व गोवंश का कटान पर कहा, किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं जाएगा।
 हिंदू युवा वाहिनी जिला उपाध्यक्ष सुधीर राणा, प्रदीप निरवाल, अनुराग गोयल जिला मंत्री, जिला मीडिया प्रभारी निशांत सरोहा, अनिल कौशिक, नगर प्रभारी पंकज गुप्ता, नगर संयोजक उपेंद्र  द्विवेदी, नगर अध्यक्ष मनोज  रोहिल्ला, नगर वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेश गुप्ता, नगर उपाध्यक्ष अमरीश शर्मा, नगर महामंत्री महेश गोयल, संगठन महामंत्री मांगेराम नामदेव, आदि ने  अपने पदाधिकारियों की मांग का समर्थन किया।         


प्रमुख स्थानों को देश के शहीदों का नाम

17 पंचायतों के शहीदों के पैतृक गांव के शिक्षण संस्थानों के नाम शहीदों के नाम पर परिवर्तित करने का प्रस्ताव आयाः उपायुक्त


रतन सिंह चौहान
पलवल। जिला पलवल में 17 ग्राम पंचायतों से शहीदों के पैतृक गांव के सरकारी शिक्षण संस्थानों का नाम परिवर्तित कर शहीदों के नाम पर करने का प्रस्ताव संबंधित ग्राम पंचायतों से प्राप्त हो चुके है।
उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि गांव रतिपुर के राजकीय उच्च विद्यालय रतिपुर का नाम शहीद लांस नायक मनोहर लाल, गांव सैलोटी के राजकीय उच्च विद्यालय का नाम सिपाही प्रेमराज, गांव बहरौला के राजकीय माध्यमिक विद्यालय का नाम सिपाही लायकराम, भुलवाना गांव के राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय का नाम हवलदार शमशेर सिंह, बिघावली गांव के राजकीय माध्यमिक विद्यालय का नाम हवलदार रामबाबू व राजकीय प्राथमिक पाठशाला का नाम लांस नायक अमरचंद, गांव मानपुर के राजकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय का नाम सिपाही मंगलराम, गांव स्यारौली के राजकीय माध्यमिक विद्यालय का नाम सिपाही फतेहसिंह, गांव बमारियाका के राजकीय प्राथमिक पाठशाला का नाम सिपाही खुशयाल सिंह, गांव मीरपुर कौराली के राजकीय उच्च विद्यालय का नाम नायब सूबेदार धर्मबीर, गांव छपरौला के राजकीय उच्च विद्यालय का नाम हवलदार सुरेशचंद, गांव सोफ्ता के राजकीय माध्यमिक विद्यालय का नाम लांस नायक जाकिर हुसैन, गांव बडौली के राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय का नाम लांस नायक राजबीर सिंह, गांव बलई के राजकीय माध्यमिक विद्यालय का नाम कांस्टेबल रामदेव सिंह, गांव टीकरी गुर्जर के राजकीय माध्यमिक विद्यालय का नाम नायक रमेशचंद, गांव रायपुर के राजकीय माध्यमिक विद्यालय का नाम लांस नायक श्रवण कुमार, हथीन के राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय का नाम नायक राजेंद्र सिंह के नाम पर रखने के लिए ग्राम पंचायतों से प्रस्ताव प्राप्त हो चुके हैं।
शहीदों के नाम पर उनके पैतृक गांव के सरकारी शिक्षण संस्थानों के नाम परिवर्तित करने के संबंध में उपायुक्त ने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए है कि वे इसकी पालना रिपोर्ट एक सप्ताह के अंदर उपायुक्त कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करें।
उन्होंने बताया कि सेना के युद्ध व विभिन्न ऑपरेशन में जिला के 39 शहीदों को शहादत प्राप्त करने का गौरव प्राप्त हुआ। जिला सैनिक एवं अद्र्धसैनिक कल्याण विभाग, जिला के सभी खंड विकास एवं पंचायत अधिकरी व नगर परिषद एवं पालिकाओं से प्राप्त विवरण  के अनुसार 20 शहीदों के नाम पर उनके पैतृक गांव व शहर के सरकारी व सहायता प्राप्त शिक्षण संस्थानों के नाम पहले ही परिवर्तित किए जा चुके हैं तथा 19 शहीदों के नाम पर परिवर्तित करने शेष हैं, जिनमें से अब 17 शहीदों के नाम पर शिक्षण संस्थानों के प्रस्ताव ग्राम पंचायतों से प्राप्त हो चुके हैं।
उल्लेखनीय है कि सेना के किसी भी युद्ध व विभिन्न ऑपरेशन में शहादत प्राप्त करने वाले शहीदों को सम्मान प्रदान करने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा उनके पैतृक गांव व शहर के सरकारी एवं सहायता प्राप्त शिक्षण संस्थान का नाम संबंधित ग्राम पंचायत तथा शहरी स्थानीय निकाय द्वारा प्रस्ताव पारित करने उपरांत शहीद के नाम पर परिवर्तित करने हेतु जिला उपायुक्त को प्राधिकृत किया गया है।             


पौधारोपण के साथ-साथ बाग का व्यापार

बागवानी विभाग हरियाणा के मिशन निदेशक डा. भगत सिंह सहरावत ने जिले के गांव कलसाडा में पौधा रोपण कर बाग लगाने के कार्य का किया शुभारंभ


रतन सिंह चौहान
पलवल। हरियाणा के बागवानी विभाग के मिशन निदेशक डा. भगत सिंह ने शुक्रवार को जिला पलवल के गांव कलसाडा के राजकीय उच्च विद्यालय के प्रांगण में फलदार पौधे का पौधारोपण कर बाग लगाने के कार्य का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा इस वर्ष जिला पलवल में 5 हजार एकड में अमरूद, नींबू वर्गीय पौधे, बेर व अनार के पौधे लगवाने का लक्ष्य रखा है। इसके तहत बागवानी विभाग किसानों को निशुल्क पौधे उपलब्ध करवा रहा है। इसके अतिरिक्त यदि कोई किसान अपने स्तर पर राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड, कृषि विज्ञान केन्द्र, कृषि विश्वविद्यालय अथवा किसी सरकारी संस्था से उपरोक्त पौधे खरीदकर लगाता है तो मिशन के तहत बागवानी विभाग द्वारा निश्चित किए गए रेट जोकि अमरूद के लिए 4 हजार 600 रुपए प्रति एकड, नींबू वर्गीय पौधो के लिए 4 हजार 800 रुपए प्रति एकड, बेर के लिए 3 हजार 400 रुपए प्रति एकड व अनार के लिए 6 हजार 360 रुपए प्रति एकड के आधार पर योग्य किसानो को भुगतान उनके खाते में डी.बी.टी. के माध्यम से कर दिया जाएगा। इसके लिए किसानों को एक प्रार्थना पत्र, खेत की फर्द (छ: महीने से पुरानी ना हो), आधार कार्ड की कापी, बैंक विवरण की कापी जोकि सभी किसानों द्वारा स्वयं सत्यापित होने चाहिए सम्बन्धित जिला उद्यान अधिकारी को जमा कराने होगें।
डा. सहरावत ने बताया कि आने वाले दिनों में जिला पलवल में स्थित एकीकृत बागवानी विकास केन्द्र होडल में भी फलदार पौधों की पौध को तैयार करने का कार्य प्रारम्भ किया जाएगा, जिससे किसानों को पौध हेतू दूर नहीं जाना पडेगा। इस अवसर पर डा. भगत सिंह ने स्कूल के लिए एक लाईब्रेरी की आधारशिला भी रखी।
           डा. अब्दुल रज्जाक जिला उद्यान अधिकारी ने बताया कि सरकार द्वारा मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत भी किसानों को धान की फसल के स्थान पर बागवानी फसल जैसे मिर्च, टमाटर, भिंडी, प्याज, गोभी, खीरा आदि सब्जियों के संकर बीज राष्ट्रीय बीज निगम से खरीदकर कास्त करता है तो उस पर 8 हजार रुपए प्रति एकड के हिसाब से अनुदान दिया जा रहा है। इस अवसर पर फ्री-लांस काउन्सलर नीलू सिंह सहरावत, जिला उद्यान अधिकारी डा. अब्दुल रज्जाक, जिला बागवानी सलाहकार डा. कृष्ण कुमार, किसान क्लब पलवल के चैयरमैन बिजेन्द्र सिंह दलाल, हथीन के खंड शिक्षा अधिकारी यशपाल गर्ग, मुख्याध्यापिका मीनू देवी, हितेष संरपंच, पूर्व सरपंच चौधरी उदल व चौधरी बदले ने भी पौधा रोपण किया तथा इसके अतिरिक्त ओमप्रकाश अलावलपुर, ओमबीर, बढा व अन्य किसान भी उपस्थित रहे।               


अभियान के आधारभूत महत्व को समझें

अभियान के आधारभूत महत्व को समझें
पौधारोपण अभियान को सफल बनाने के लिए अधिकारियों को सौंपी जिम्मेवारी
रतन सिंह चौहान
पलवल। उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि वर्षा ऋतु के दृष्टिïगत जिला में पौधारोपण अभियान की शुरूआत की गई है। यह पौधारोपण अभियान गत 20 जुलाई से जारी है जो कि आगामी 31 अगस्त तक सुचारू रूप से चलेगा। अभियान को सफल बनाने के लिए प्रशासनिक एवं जिलाधिकारियों को जिम्मेवारियां सौपी गई है।
पौधारोपण अभियान के लिए जिला के विभिन्न स्थानों को चिन्हित कर जिला व उपमंडल स्तर पर  अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा पौधारोपण किया जा रहा है।
पौधारोपण कार्यक्रम के अनुसार नगर परिषद व पालिक के कार्यकारी अधिकारी एवं सचिव ट्री-गार्ड उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करेंगे। जिला के आंगनवाडी सेंटर्स व राजकीय विद्यालयों में अधिकतर जामुन तथा राष्टï्रीय राजमार्ग के दोनो ओर गुलमोहर के पौधे लगाए जाएंगे।
उन्होंने बताया कि पौधारोपण अभियान के अंतर्गत पुलिस अधीक्षक एवं संबंधित उप पुलिस अधिक्षक द्वारा जिला पुलिस लाइन तथा जिला के पुलिस स्टेशनों में पौधारोपण कार्यक्रम चलाया जा रहा है।
इसी प्रकार दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम विभाग के सभी पावर स्टेशनों में दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के पलवल व होडल के कार्यकारी अभियंताओं के साथ अधीक्षक अभियंता, हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड के पावर हाऊस व एचवीपीएनएल की रिहायशी कॉलोनियों में एचवीपीएनएल के संबंधित उपमंडल अभियंताओं के साथ कार्यकारी अभियंता पौधारोपण करेंगे।
एसडीएम पलवल व एसडीएम हथीन ने क्रमश: आईटीआई पलवल व आईटीआई हथीन, अतिरिक्त उपायुक्त तथा जिला खेल अधिकारी ने आगरा चौक स्थित नेताजी सुभाषचंद्र बोस स्टेडियम, जिला उच्च शिक्षा अधिकारी पलवल ने संबंधित प्रधानाचार्यों के साथ राजकीय महाविद्यालय पलवल, होडल व हथीन, हरियाणा रोडवेज पलवल के महाप्रबंधक ने बस अड्डïा व हरियाणा रोडवेज के वक्र्सशॉप परिसर, प्रबंध निदेशक चीनी मिल पलवल ने चीनी मिल परिसर, नगराधीश व पलवल के एसडीएम ने बालभवन पलवल, नगराधीश और हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के कार्यकारी अभियंता ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के सेक्टर-2 (प्रवेश), अतिरिक्त उपायुक्त व नगराधीश एवं एसडीएम पलवल और भारतीय राष्टï्रीय राजमार्ग प्राधिकरण दिल्ली आगरा सेक्सन के प्रोजेक्ट निदेशक ने राष्टï्रीय राजमार्ग-19 पर देवीलाल पार्क से जिला सचिवालय तक पौधारोपण किया।
इसी क्रम में अतिरिक्त उपायुक्त व नगराधीश द्वारा जिलास्तर पर तथा संबंधित एसडीएम द्वारा उपमंडल स्तर पर जिला बागवानी अधिकारी द्वारा पहचान किए गए स्थानों पर, सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता संबंधित उपमंडल अधिकारियों के साथ जिला स्तर व उपमंडल स्तर पर सिंचाई विभाग के कार्यालय परिसर में, महिला बाल विकास विभाग के जिला संरक्षक अधिकारी संबंधित सीडीपीओ के साथ जिला संरक्षक अधिकारी द्वारा पहचान किए गए आंगनवाडी सेंटरों, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी संबंधित खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों व सरपंचों के साथ तथा जिला खेल अधिकारी व जिला आयुष अधिकारी गांवों के ग्राम सचिालयों, व्यायामशालाओं एवं तालाबों और शमशानघाटों के नजदीक, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग की उपनिदेशक अपने स्टॉफ सहित जिला के पशु चिकित्सा संस्थानों, संबंधित एसडीएम तथा सिविल सर्जन राजकीय स्वास्थ्य संस्थानों, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षक अभियंता संबंधित कार्यकारी अभियंताओं के साथ मिलकर जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग के बूस्टरों, अतिरिक्त उपायुक्त व नगराधीश तथा संबंधित एसडीएम जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी के साथ मिलकर राजकीय विद्यालयों, अतिरिक्त उपायुक्त व नगराधीश तथा संबंधित एसडीएम पलवल व होडल की राजस्व कॉलोनी परिसर व पलवल, होडल, हथीन की लघु सचिवालय परिसरों, संबंधित एसडीएम संबंधित कार्यकारी अधिकारी व सचिव के साथ मिलकर नगर परिषद व पालिका क्षेत्र में पौधा लगाकर पौधारोपण अभियान को सफल बनाएंगे। इसके अलावा संबंधित जिलाधिकारियों को पौधारोपण कार्यक्रम के उचित प्रबंध करने की जिम्मेवारी सौंपी गई है।         


त्यौहारों पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट की नियुक्ति

ईद-उल-जुहा तथा रक्षाबंधन त्यौहार के दृष्टिगत जिला में डयूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त


रतन सिंह चौहान


पलवल। ईद-उल-जुहा तथा रक्षाबंधन त्यौहार के दृष्टिगत 31 जुलाई से 03 अगस्त 2020 तक पलवल जिला क्षेत्र में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाए रखे जाने की दिशा में जिलाधीश नरेश नरवाल ने जिला क्षेत्र में डयूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त कर दिए हैं।
जिलाधीश द्वारा जारी आदेशानुसार पुलिस स्टेशन सिटी पलवल क्षेत्र के लिए आईटीआई पलवल के प्रधानाचार्य भगत सिंह, पुलिस स्टेशन सदर पलवल क्षेत्र के लिए पलवल के नायब तहसीलदार अशोक कुमार, पुलिस स्टेशन कैम्प पलवल क्षेत्र के लिए नगर परिषद के कार्यकारी अभियंता सतपाल, पुलिस स्टेशन गदपुरी क्षेत्र के लिए हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड के कार्यकारी अभियंता संजय, पुलिस स्टेशन मुडकटी क्षेत्र के लिए कृषि उपनिदेशक डा. महावीर सिंह, पुलिस स्टेशन होडल गामीण क्षेत्र के लिए सिंचाई विभाग होडल के उपमंडल अधिकारी ब्रह्मïपाल, पुलिस स्टेशन होडल शहरी क्षेत्र के लिए नगर परिषद होडल के पालिका अभियंता ओमदत्त, पुलिस स्टेशन हसनपुर क्षेत्र के लिए हसनपुर के नायब तहसीलदार मौहम्मद इब्राहिम को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है।
इसी प्रकार पुलिस स्टेशन हथीन क्षेत्र के लिए हथीन के खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी नरेंद्र सिंह मल्होत्रा, पुलिस स्टेशन उटावड क्षेत्र के लिए हथीन के नायब तहसीलदार कुलवंत सिंह, पुलिस स्टेशन बहीन क्षेत्र के लिए बहीन के नायब तहसीलदार गुलाब सिंह तथा पुलिस स्टेशन चांदहट क्षेत्र के लिए बडौली की खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी उपमा अरोडा को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है। जिलाधीश द्वारा जारी आदेशानुसार पलवल, होडल व हथीन उपमण्डलों के उपमण्डाधीश अपने संबंधित उपमण्डलीय क्षेत्रों के ओवरऑल इंचार्ज रहेंगे।           


औरंगाबाद में किया कायाकल्प असेसमेंट

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र औरंगाबाद में किया गया कायाकल्प असेसमेंट


रतन सिंह चौहान
पलवल। होडल उपमंडल के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र औरंगाबाद का कायाकल्प असेसमेंट किया गया। असेसमेंट के लिए फरीदाबाद की टीम मौजूद रही, जिसमें चिकित्सा अधिकारी डा. परीक्षित, क्वालिटी कन्सलटेंट डा. पल्लवी गुप्ता ने अस्पताल का स्वच्छता का निरीक्षण किया।
स्वच्छता निरीक्षण पूरे अस्पताल की साफ-सफाई व स्टाफ की ट्रेनिंग, इन्फेक्शन कण्ट्रोल का निरीक्षण किया गया। इस निरीक्षण के दौरान सीएचसी औरंगाबाद के एमओ इंचार्ज डा. पंकज राज, चिकित्सा अधिकारी डा. अजय, एएमओ डा. रूपलाल, जिला क्वालिटी प्रबंधक डा. अंजलि शर्मा भी मौजूद थे। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र औरंगाबाद में मौजूद हर्बल गार्डन का भी निरीक्षण किया गया और टीम ने उसकी भरपूर सराहना की।
सिविल सर्जन डा. ब्रह्मदीप ने कायाकल्प के महत्व को बताया। उन्होंने साफ-सफाई रखने की हिदायत देते हुए कहा की इसी से हम संक्रमण से बचे रह सकते है। उन्होंने कहा कोरोना महामारी के दौरान जिला पलवल स्वास्थ्य विभाग क्वालिटी टीम भी पूरी सजकता से कार्य कर रही है।             


शहीदी दिवस पर स्वेच्छा से किया रक्तदान

शहीदी दिवस पर गांव के 34 युवाओं ने स्वेच्छा से रक्तदान किया


रतन सिंह चौहान
पलवल। शहीद उधम सिंह शहीदी दिवस के उपलक्ष्य में स्वेच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन ज़िला रैड क्रॉस सोसाइटी, पलवल ने जीवन ज्योति फ़ार्मेसी एवं मेडिकल साईस, छज्जूनगर ने राजकीय उच्च विद्यालय, छज्जुनगर में किया। इस रक्तदान शिविर के आयोजन में समस्त ग्रामवासियों ने बढ़ चढ़ कर अपना योगदान दिया। शिविर में गाँव के 34 युवाओं ने  स्वेच्छा से रक्तदान किया।  इस शिविर की खास बात यह रही कि गांव के  देवरतन के पूरे परिवार सहित रक्तदान किया । मनोज पुत्र राजवीर ने 16 वी बार रक्तदान किया इस मौक़े पर जीवन ज्योति फ़ार्मेसी एवं मेडिकल साईस  के चेयरमैन धर्मवीर चौहान, गजेंद्र चौहान ने समस्त गांव वासियों का धन्यवाद किया। कार्यक्रम में रैड क्रास सोसायटी एवं जीवन ज्योति फार्मेसी के पदाधिकारी मौजूद रहे।          


सरकार के लिए अपना ली गलत नीति

जयपुर। राजस्थान में सियासी संग्राम के बीच अब विधायकों को सुरक्षित रखना बड़ी चुनौती बन गया है। 14 अगस्त को विधानसभा सत्र आहुत होगा। इससे पहले सभी विधायकों को एक जगह और सुरक्षित रखने के लिए अब जयपुर से दूसरी जगह शिफ्ट करने का प्लान बनाया गया है। सभी विधायकों से 15 दिन का सामान मंगाया गया है। इसके अलावा विधायकों को अपना आईडी कार्ड साथ रखने को कहा गया है। विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार, विधायकों को जैसलमेर के सूर्यगढ़ में शिफ्ट किया जा सकता है। यहां पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गई है। लेकिन ये भी माना जा रहा है कि सरकार इन विधायकों को कहीं दूसरी जगह भी शिफ्ट कर सकती है। गुरुवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई थी और आज (शुक्रवार को) भी विधायक दल की बैठक होनी है। गुरुवार को सीएम ने बैठक के बाद बीजेपी पर षड़यंत्र का आरोप लगाया था। इस बैठक में विधायकों को बताया कि 14 अगस्त को विधानसभा सत्र से पहले होटल से ही रहना है।
आपको बता दे कि सीएम गहलोत ने कहा था कि जब से विधानसभा सत्र का ऐलान हुआ है, तभी से हॉर्स ट्रेडिंग तेज हो गई है। गहलोत ने आरोप लगाया था कि अब विधायकों के दाम बढ़ गए है। इन सबके बीच कल स्पीकर और वैभव गहलोत के बीच बातचीत का वीडियो वायरल होने के बाद सरकार के सामने संकट बढ़ गया है। इससे बीजेपी को एक और मौका मिल गया। इससे साफ है कि गहलोत भी अपने विधायकों पर भरोसा नहीं कर रहे है। सरकार को संदेह है कि अगर विधायक टूटते है तो हल्ला करने के अलावा कुछ नहीं कर सकते इसलिए सभी विधायकों को सुरक्षित जगह पर शिफ्ट करने का प्लान किया जा रहा है।              


'राजा' ने कलाकार की आर्थिक मदद की


राजा भैया ने टीवी कलाकार को भेजी पांच लाख की आर्थिक सहायता


बृजेश केसरवानी




प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के रहने वाले टीवी कलाकार अनुपम श्याम ओझा इन दिनों गंभीर बीमारी के इलाज में आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। उनकी मदद के लिए फिल्म स्टार सोनू सूद के अलावा कई लोग आगे आ रहे हैं। इसी क्रम में कुंडा के बाहुबली विधायक व जनसत्ता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया भी अनुपम ओझा की मदद को आगे आए हैं। किडनी के संक्रमण से जूझ रहे कलाकार को राजा भैया ने पांच लाख रुपये की मदद की है। इसके अलावा आगे भी हरसंभव मदद करने का आश्वासन उनके परिजनों को दिया है।
बता दें प्रतापगढ़ शहर के स्टेशन के पास रहने वाले अनुपम श्याम ओझा की कुछ दिनों से किडनी में संक्रमण के चलते स्थिति गंभीर बनी हुई है। मुम्बई के लाइफलाइन अस्पताल में उनका गंभीर हालत में इलाज चल रहा है। डॉक्टरों ने भी किडनी ट्रांस्प्लाट की सलाह दी है लेकिन आर्थिक तंगी के चलते उनके इलाज में काफी दिक्कत आ रही थी। इसके बाद मजबूरन टीवी कलाकार ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों से मदद करने की गुहार लगाई। इसके बाद कुंडा के बाहुबली विधायक व जनसत्ता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया अपने जिले के टीवी कलाकार की मदद के लिए आगे आए। उन्होंने फौरन एकाउंट में 3 लाख रुपये की धनराशि भेजी और कहा है कि शेष दो लाख की धनराशि में जल्दी भेज दी जाएगी।
बता दें राजा भैया के अलावा अनुपम श्याम ओझा की फिल्म अभिनेता सोनू सूद, मनोज बाजपेई ने भी मदद की है। राजा भैया के मदद के बाद टीवी कलाकार के भाई कंचन ओझा ने उनका धन्यवाद दिया है। बता दें टीवी और फिल्म कलाकार अनुपम श्याम ओझा ने अपने करियर की शुरुआत फिल्मों से की थी, मगर उन्हें छोटे-मोटे किरदार ही निभाने का अवसर मिला। टीवी धारावाहिक प्रतिज्ञा में ठाकुर सज्जन सिंह के किरदार ने उन्हें प्रसिद्धि दिलाई। कई धारावाहिकों में भी उन्होंने जबरदस्त रोल की अदायगी की। देशभर में उनके लाखों चाहने वाले है।



नगर आयुक्त पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा


मेयर ने लगाया नगर आयुक्त पर भ्रष्टाचार का आरोप




पीसीएस एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं आरोपी नगर आयुक्त


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लखनऊ नगर निगम में हुए भ्रष्टाचार और उसमें नगर आयुक्त की भूमिका पर संदेह जताते हुए महापौर संयुक्ता भाटिया ने आला अधिकारियों की ईओडब्ल्यू और सतर्कता विभाग से जांच की सिफारिश कर दी है। महापौर ने इस संबंध में शासन को गोपनीय पत्र भेजकर नगर आयुक्त इंद्रमणि त्रिपाठी और चीफ इंजीनियर के खिलाफ भ्रष्टाचार और आय से अधिक संपत्ति की जांच की सिफारिश की है। इस संबंध में उन्होंने प्रमुख सचिव, लखनऊ के प्रभारी मंत्री, नगर विकास मंत्री और मुख्यमंत्री तक को पत्र भेजा है।
पत्र के मुताबिक नगर निगम के आला अधिकारियों ने अपने रिश्तेदारों के नाम बड़े पैमाने पर बेनामी संपत्तियां खरीद रखी हैं। इसके अलावा अधिकारी अपने रिश्तेदारों और चहेतों को टेंडर दिलाने का काम करते हैं लेकिन टेंडर न मिलने पर टेंडर तक निरस्त कर देने की शिकायतें हुई हैं। इस मामले में विरोध करने वालों की जांच कराकर फंसाने की कोशिश करने जैसी शिकायतों का हवाला देते हुए सतर्कता जांच की मांग की है। महापौर की ओर से लिखे गोपनीय पत्र के मुताबिक तेलीबाग निवासी शिकायतकर्ता ने प्रधानमंत्री को संबोधित करते हुए 28 जून को नगर आयुक्त और मुख्य अभियंता पर लूटपाट, भ्रष्टाचार, काले धन को ठिकाने लगाने के लिए बेनामी संपत्ति संग्रह को लेकर शिकायती पत्र लिखा था। शिकायतकर्ता ने पत्र के अलावा कई प्रपत्र और ऑडियो रिकॉर्डिंग भी उपलब्ध कराई है, जिसके आधार पर सतर्कता जांच निष्पक्ष कराने की मांग की गई है। शिकायतकर्ता ने अपने पत्र में विभाग में पहले भी हो चुके भ्रष्टाचार मामले में 81 लाख रुपये की रिकवरी का भी हवाला दिया है।


बता दें कि इससे पहले भी महापौर नगर आयुक्त लखनऊ व अध्यक्ष उत्तर प्रदेश पीसीएस एसोसिएशन डॉ इंद्रमणि त्रिपाठी के खिलाफ शासन को पत्र लिख चुकी हैं।
महापौर ने कोविड-19 के दौरान सैनिटाइजेशन के नाम पर हुए भ्रष्टाचार पर भी आपत्ति जताते हुए नगर आयुक्त इन्द्रमणि त्रिपाठी को एक पत्र भी लिखा था। महापौर ने अपने पत्र में आरोप लगाया था कि राजधानी के कोरोना हॉटस्पाट इलाकों में सैनिटाइजेशन के नाम पर भ्रष्टाचार कर लाखों रुपए हजम किए जा रहे हैं। इस पर उन्होंने जांच की अपील करते हुए दोषियों पर सख्त कार्यवही के निर्देश भी दिए थे। हालांकि नगर आयुक्त ने महापौर के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए बेबुनियाद बताया।



कमला बन सकती है अमेरिकी उपराष्ट्रपति


कमला हैरिस हो सकती हैं उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार




वाशिंगटन। दुनिया भर में हर क्षेत्र में भारतीयों ने अपना लोहा मनवाया है अब भारतीय मूल की एक महिला अमेरिका में उप-राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बन सकती हैं। ऐसी ख़बरें हैं कि अमेरिकी चुनावों के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी भारतीय मूल की कमला हैरिस को उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार घोषित कर सकती है।


ख़बरों के मुताबिक मंगलवार को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन के हाथों में संभावित उम्मीदवारों की लिस्ट देखी गयी थी जिसमें सबसे ऊपर कमला हैरिस का नाम था। फिलहाल अमेरिका में भारवंशियों का रुख ट्रंप की तरफ माना जा रहा है लेकिन कमला हैरिस की उम्मीदवारी पूरा समीकरण बदल सकती है। बता दें कि तीन नवंबर को होने जा रहे अमेरिकी चुनाव में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने वर्तमान उप राष्ट्रपति माइक पेंस को ही इस बार भी उम्मेदवार घोषित किया है। ऐसे में रिपब्लिकन के दोनों उम्मेदवार मैदान में हैं जबकि डेमोक्रेट अभी भी उप-राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी पर कन्फ्यूज नज़र आ रहे हैं। ट्रंप भी इस उलझन को लेकर डेमोक्रेट्स और बिडेन को निशाना बनाते रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि पार्टी में उम्मीदवारी को लेकर मतभेद हैं लेकिन कमला हैरिस का नाम फिर भी सबसे आगे चल रहा है।



अनलॉक-3 के लिए गाइडलाइन जारी

नई दिल्ली। दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने अनलॉक-3 के लिए गाइडलाइंस जारी कर दी है। राष्ट्रीय राजधानी में अब नाइट कर्फ्यू को खत्म कर दिया गया है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने साप्ताहिक बाजारों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ट्रायल पर खोलने का फैसला लिया है। सब सही रहने पर इन्हें नियमित रूप से खोल दिया जाएगा। दिल्ली में अब रेहड़ी-पटरीवालों के लिए तय समयसीमा को हटा दिया गया है। वह किसी भी समय अपनाा काम कर सकते  हैं। सरकार ने पहले ही होटलों को अस्पतालों के साथ डिलिंक करते हुए सामान्य कामकाज की अनुमित दे दी थी।


राजधानी में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए दिल्ली सरकार ने कई बडे फैसले लिए हैं। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के तरह जिम खोले जाएंगे। रात दस बजे से सुबह पांच बजे तक लगने वाला रात का कर्फ्यू अब नहीं लगेगा। दिल्ली के होटल अब अस्पतालों से जुड़े हुए नहीं हैं, इसलिए दिल्ली सरकार ने होटलों में समान्य कामकाज शुरू करने करने की अनुमति देने का फैसला किया है। पहले से ही हास्पिटलिटी सेवाओं की अनुमति केंद्र सरकार के अनलॉक-3 गाइडलाइंस के अनुसार दी गई है।           


हरियाणा: संक्रमित-630, ठीक हुए 920





चंडीगढ़। हरियाणा में कोरोना से चार और मरीजों की मौत हो गई है। फरीदाबाद में दो व अंबाला और नूंह में 1-1 मरीज ने दम तोड़ दिया है। उधर, हरियाणा में 623 संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं। जबकि 24 घंटों में 920 मरीज ठीक भी हुए हैं। चार और मौतों के बाद अब हरियाणा में संक्रमण से मरने वालों की संख्या 417 हो गई हैं। जबकि 131 मरीजों की हालत गंभीर है। संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 34254 पहुंच गया है। जिसमें से 27340 मरीज ठीक हो गए हैं। संक्रमण की दर भी घटकर 5.76 प्रतिशत हो गई है। जबकि रिकवरी रेट 79.82 प्रतिशत है। 5776 संदिग्धों की सैंपल रिपोर्ट आने का भी इंतजार है।
गुरुग्राम में 77, फरीदाबाद में 184, सोनीपत में 36, रोहतक में 43, रेवाड़ी में 32, करनाल में 34, अंबाला में 48, झज्जर में 12, पलवल में 15, महेंद्रगढ़ में 14, हिसार में 28, पानीपत में 16, नूंह में 7, कुरुक्षेत्र में 16, सिरसा में 7, फतेहाबाद में 7, पंचकूला में 34, यमुनानगर में 3, कैथल में कोरोना पॉजिटिव के 10 नए मामले सामने आए हैं। 


अब तक गुरुग्राम में 8989, फरीदाबाद में 8479, सोनीपत में 2877, रोहतक में 1432, भिवानी में 774, रेवाड़ी में 1635, करनाल में 1029, अंबाला में 1495, झज्जर में 814, पलवल में 880, महेंद्रगढ़ में 803, हिसार में 903, पानीपत में 1009, नूंह में 535, कुरुक्षेत्र में 423, सिरसा में 365, जींद में 273, फतेहाबाद में 318, पंचकूला में 532, यमुनानगर में 265, कैथल में 247 व चरखी दादरी में 142 संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। ठीक होने वालों में अब तक गुरुग्राम में 7877, फरीदाबाद में 6915, सोनीपत में 2471, रोहतक में 1118, भिवानी में 725, रेवाड़ी में 1168, करनाल में 636, अंबाला में 1182, झज्जर में 694, पलवल में 715, महेंद्रगढ़ में 572, हिसार में 611, पानीपत में 621, नूंह में 458, कुरुक्षेत्र में 245, सिरसा में 233, जींद में 191, फतेहाबाद में 197, पंचकूला में 253, यमुनानगर में 152, कैथल में 178 व चरखी दादरी में 93 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।             




तेलंगना में संक्रमितो की संख्या 62,703

हैदराबाद। तेलंगाना में कोरोना वायरस के एक दिन में सर्वाधिक 1,986 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 62,703 पहुंच गई हैं। राज्य सरकार के एक बुलेटिन में शुक्रवार को बताया गया है कि इस महामारी से 14 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 519 हो गई है।


स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि आंकड़े 30 जुलाई की रात आठ बजे तक के है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) से कोरोना वायरस संक्रमण के ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं रंगारेड्डी, मेडचल-मल्काजगिरि, संगारेड्डी, वारंगल अर्बन और करीमनगर से भी बड़ी संख्या में मामले सामने आ रहे हैं। बुलेटिन में बताया गया है कि सामने आए नए मामलों में से जीएचएमसी से 586 मामले हैं। इसके बाद मेडचल-मल्काजगिरि से 207, रंगारेड्डी जिले से 205 मामले सामने आए हैं। वहीं वारंगल अर्बन से 123, करीमनगर से 116, संगारेड्डी से 108 मामले सामने आए हैं।             


पीयूसी छात्रों के लिए सामान्य प्रवेश परीक्षा

बेंगलुरु। कर्नाटक में कोविड-19 से संक्रमित 60 छात्रों समेत लगभग 1.47 लाख छात्र बृहस्पतिवार से शुरू हुई सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीईटी) दे रहे हैं। राज्य के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर सी एन अश्वत्थ नारायण ने यह जानकारी दी। जन निर्देश विभाग द्वारा आयोजित एसएसएलसी परीक्षा और विश्वविद्यालय पूर्व परीक्षा की तर्ज पर कर्नाटक सरकार ने ‍‍पीयूसी छात्रों के लिये सामान्य प्रवेश परीक्षा आयोजित कराने फैसला लिया था। कर्नाटक में 497 केंद्रों पर बृहस्पतिवार और शुक्रवार दो दिन के परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। उप मुख्यमंत्री तथा उच्च शिक्षा मंत्री नारायण ने कुछ परीक्षा केंद्रों का दौरा करने के बाद यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इन परीक्षा के लिये पंजीकृत इन 1.94 लाख छात्रों में 1.47 लाख परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया । इनमें से बेंगलुरु के 83 केंद्रों पर परीक्षाएं दे रहे 40,200 छात्र भी शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि परीक्षा दे रहे कोरोना वायरस से संक्रमित 60 छात्रों में बेंगलुरु के 12 छात्र शामिल हैं। उप मुख्यमंत्री ने कहा, ''परीक्षा देने वाले कोरोना वायरस से संक्रमित छात्रों के लिये पर्याप्त प्रबंध किये गए हैं। उन्हें विभाग की एंबुलेंस से परीक्षा केंद्र लाया गया और परीक्षा के बाद वापस उनके संबंधित स्थानों पर छोड़ दिया गया।'' इन छात्रों के बैठने के लिये अलग से प्रबंध किये गए थे।           


बाढ़ के हालात में हो रहा है सुधार

दिसपुर। असम में बाढ़ की स्थिति में बृहस्पतिवार (30 जुलाई) को कुछ सुधार हुआ। हालांकि, एक और व्यक्ति की मौत के साथ ही प्रदेश में इस आपदा में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 108 हो गई है। सरकारी बुलेटिन में इसकी जानकारी दी गई है। बुलेटिन में कहा गया है कि ब्रह्मपुत्र एवं इसकी सहायक नदियों में आई बाढ़ के कारण प्रदेश के 22 जिलों में प्रभावित लोगों की संख्या अब घटकर 12 लाख रह गई है। बुलेटिन में कहा गया है कि बुधवार (29 जुलाई) को 21 जिलों में यह संख्या 17 लाख थी।


असम के राज्यपाल जगदीश मुखी ने बाढ़ प्रभावित बरपेटा और बक्सा जिलों का दौरा किया, जहां उफनती नदियों ने लाखों लोगों को बेघर कर दिया है। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की दैनिक रिपोर्ट के अनुसार मोरी गांव जिले में बाढ़ के पानी में डूबने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जिससे प्रदेश में इससे मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ कर 108 हो गई है।             


एपी में एमएलसी चुनाव का शेड्यूल जारी

अमरावती। आंध्र प्रदेश में रिक्त एमएलसी चुनाव के लिए शेड्यूल जारी किया गया है। चुनाव आयोग ने गुरुवार को इस्तीफा दे चुके मोपीदेवी वेंकटरमणा के पद की भर्ती के लिए शेड्यूल घोषित किया है।


इस चुनाव संबंधित अधिसूचना 6 अगस्त को जारी की जाएगी। नामांकन पत्र दाखिल करने की आखिरी तारीख 13 अगस्त है। 24 अगस्त को चुनाव होंगे। उसी दिन 5 बजे से वोटों की गिनती होगी। इसके बाद चुनाव परिणाम घोषित किये जाएंगे। मगर पिल्ली सुभाषचंद्र बोस के इस्तीफा दे चुके पद के लिए शेड्यूल जारी नहीं किया गया है। अगले साल मार्च में उस स्थान की समयावधि समाप्त हो रही है, इसीलिए एक ही स्थान के लिए शेड्यूल जारी किया गया है।


आपको बता दें कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के मंत्रिमंडल में रह चुके मोपीदेवी वेंकटरमणा और पिल्ली सुभाषचंद्र बोस राज्यसभा सदस्य चुने गये हैं। इसके चलते इन दोनों ने मंत्री और एमएलसी पदों से इस्तीफा दिया। हाल ही में इन दोनों ने राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथ भी ली है।           


पंजाब में शराब से 21 लोगों की मौत

अमृतसर, बटाला और तरनतारन में 21 लोगों की मौत


सीएम अमरिंदर सिंह ने दिए मजिस्ट्रियल जांच के आदेश


राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। पंजाब के अमृतसर, बटाला और तरनतारन में जहरीली शराब पीने से अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है। पुलिस ने जहरीली शराब बनाने वाले कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है।इसके साथ ही थाना तरसिक्क के एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया है। इस मामले में एसआईटी बनाई गई है, जो सारे मामले की जांच करेगी। मामले की जानकारी देते हुए डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा कि पहली पांच मौतें 29 जून की रात को अमृतसर ग्रामीण के थाना तरसिक्क में मुच्छल और तंग्रा से हुई थीं। 30 जुलाई की शाम को मुच्छल में संदिग्ध परिस्थितियों में दो और लोगों की मौत हो गई थी, जबकि एक व्यक्ति को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया।


इसके बाद दो और मौतें गांव मुच्छल में हुईं, जबकि दो लोगों की मौत बटाला शहर में हुई। आज फिर बटाला में पांच लोगों की मौत हुई है। यानी अब तक बटाला में जहरीली शराब पीने से 7 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा तरनतारन में चार लोगों की मौत हुई है।


इस मामले में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। इसकी जांच जालंधर के डिविजनल कमिश्नर को सौंपी गई है। मुख्यमंत्री ने डिविजनल कमिश्नर को छूट दी है कि वह किसी पुलिस अफसर या विशेषज्ञ की जांच में मदद ले सकते हैं। सीएम अमरिंदर ने कहा कि जांच में दोषी मिले लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।                          


झारखंड में 31 अगस्त तक लॉकडाउन

कोरोना से जंग की तैयारी:झारखंड में 31 अगस्त तक बढ़ा लाॅकडाउन...बाहर से आने वालों को लगेगी पक्की स्याही


धार्मिक स्थल, शिक्षण संस्थानों और सामूहिक कार्यक्रमों पर रोक जारी


कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने लाॅकडाउन अब 31 अगस्त तक बढ़ा दिया है। जिन मामलों में छूट मिली हुई है, वह जारी रहेगी। अलग से कोई राहत देने की संभावना नहीं है। धार्मिक स्थल, शिक्षण संस्थाएं, समूह में धार्मिक कार्यक्रम या अन्य कार्यक्रमों पर रोक जारी रहेगी। मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने गुरुवार रात लॉकडाउन बढ़ाने संबंधी आदेश जारी करते हुए लोगों के लिए एसओपी भी रिलीज किया है। तय गाइडलाइन का कड़ाई से पालन के लिए सभी डीसी को दिशा-निर्देश दिया गया है। आदेश में दूसरे राज्यों से आने वालों के होम क्वारेंटाइन पर विशेष जोर है। नए दिशा-निर्देश में कहा गया है कि बाहर से आने वाले लोगों को अंतरराज्यीय सीमा पर, रेलवे स्टेशन पर और एयरपोर्ट पर दाहिने हाथ के अंगूठे को छोड़कर सभी अंगुलियों के नाखून पर पक्की स्याही लगाई जाएगी। साथ ही क्वारेंटाइन अवधि में क्या करना है और क्या नहीं, इससे संबंधित आदेश की कॉपी दी जाएगी। अंतरराज्यीय सीमा पर बनेगा हेल्प डेस्कः सभी रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और अंतरराज्यीय सीमा पर हेल्प डेस्क बनेगा, जहां दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के रजिस्ट्रेशन की जांच होगी। जिनका रजिस्ट्रेशन नहीं है, उनका रजिस्ट्रेशन भी किया जाएगा।


होम क्वारेंटाइन वालों के घर के बाहर स्टिकर लगेगाः होम क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों के घर के बाहर स्टिकर चिपकाया जाएगा, जिसमें नाम और क्वारेंटाइन अवधि लिखा रहेगा। मोबाइल ट्रैकिंग के साथ नियमित मॉनिटरिंग भी होगी। निगरानी के लिए प्रशासनिक टीम बनेगी, जो क्वारेंटाइन व्यक्ति के घर जाएगी।


नियम नहीं मानने पर पेड क्वारेंटाइन सेंटर भेजे जाएंगेः प्रशासन को लगता है कि होम क्वारेंटाइन व्यक्ति यदि नियमों का पालन नहीं कर रहा है तो उसे पेड क्वारेंटाइन सेंटर भेजा जा सकता है। यानी प्रशासन जहां क्वारेंटाइन करेगा, संबंधित व्यक्ति को राशि का भुगतान करना होगा।


2-3 दिन में 3 लाख टेस्ट का लक्ष्य : सीएम


मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि 31 अगस्त तक लॉकडाउन में कोई बदलाव नहीं होगा। संक्रमण को लेकर सरकार की पैनी नजर है। अगले दो-तीन दिनों में से दो से तीन लाख लोगों के टेस्ट का लक्ष्य रखा गया है। उसकी रिपोर्ट आने के बाद सरकार परिस्थिति के अनुरूप बीच में कोई निर्णय लेगी।           


ओडिशा में 1,499 नए मामले आए

भुवनेश्वर। ओडिशा में कोविड-19 के 1,499 नए मामले आने के साथ ही संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 31,000 के पार हो गई है। वहीं राज्य में आठ और लोगों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या 177 पर पहुंच गई।


स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि राज्य में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या 31,877 है। जिन आठ और लोगों ने इस महामारी से दम तोड़ा है उनमें से चार की गंजम जिले और एक-एक मरीज की गजपति, खुर्दा, नयागढ़ और सुंदरगढ़ में मौत हुई। अधिकारी ने बताया, 'दुख के साथ यह सूचित करना पड़ रहा है कि अस्पतालों में इलाज के दौरान कोविड-19 के आठ मरीजों की मौत हो गई।' उन्होंने बताया कि राज्य के 30 में से 29 जिलों में संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं।               


नागालैंडः 31 अगस्त तक बढ़ा लॉकडाउन

कोहिमा। नागालैंड सरकार ने राज्य में तालाबंदी को 31 अगस्त तक बढ़ा दिया है। सीओवीआईडी ​​-19 की आज आयोजित एक उच्चाधिकार समिति, एचपीसी के दौरान यह निर्णय लिया गया। आकाशवाणी संवाददाता की रिपोर्ट, क्योंकि नागालैंड COVID-19 सकारात्मक मामलों में वृद्धि जारी है, नागालैंड सरकार ने 31 अगस्त तक चल रहे लॉकडाउन का विस्तार किया। नियोजन और समन्वय मंत्री, नीबा क्रोनू जो सीओवीआईडी ​​-19 के लिए सरकार की प्रवक्ता भी हैं, ने सूचित किया कि सीओवीआईडी ​​-19 पर उच्चाधिकार समिति ने आज नागालैंड में चल रहे लॉकडाउन उपायों को 31 अगस्त तक जारी रखने का फैसला किया।


एचपीसी ने संबंधित जिलों में कुल लॉकडाउन के विस्तार या लगाने पर निर्णय लेने के लिए सीओवीआईडी ​​-19 पर जिला टास्क फोर्स के सशक्तिकरण को भी दोहराया। तालाबंदी के दौरान स्कूल और कॉलेज बंद रहे। इस बीच, नागालैंड में आज सीओवीआईडी ​​-19 के 48 नए मामले सामने आए हैं, कुल पुष्टि मामलों को 1, 561 तक ले जाया गया है । नागालैंड में मुख्यमंत्री आवासीय परिसर में कुछ व्यक्तियों ने सीओवीआईडी ​​-19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया है। एक ट्वीट में मुख्यमंत्री कार्यालय, सीएमओ ने यह जानकारी दी। सभी एसओपी के बाद, परिसर को साफ किया जा रहा है और आवासीय कार्यालय 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सीएमओ का सामान्य कामकाज जारी है। 
सीएमओ ने यह भी बताया कि सुरक्षा एहतियात के तौर पर, मुख्यमंत्री नीफिउ रियो घरेलू संगरोध में हैं जबकि प्राथमिक और माध्यमिक संपर्कों के लिए एसओपी का कड़ाई से पालन किया गया है। यह भी कहा, नागालैंड सिविल सचिवालय में CMO सामान्य रूप से कार्य कर रहा है।             


सुनील पुरी


पीएचक्यू में पदस्थापना के आदेश दिए

रायपुर। पुलिस मुख्यालय में पदस्थ कई वरिष्ठ अफसरों के लिए नई पदस्थापना आदेश जारी किया गया है। इसमें एआईजी, आईजी, डीआईजी, एडीजी को नई पदस्थापना दी गई हैं।
राज्य पुलिस प्रमुख डीजीपी डीएम अवस्थी ने एक आदेश जारी करते हुए हिमांशु गुप्ता को अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक की जिम्मेदारी दी गई है। इसी तरह एचआर मनहर, उप पुलिस निरीक्षक, योजना प्रबंध, मनीष शर्मा, सहायक पुलिस महानिरीक्षक लेखा एवं कल्याण, आरपी साय, उप पुलिस महानिरीक्षक, लेखा एवं कल्याण शाखा की जिम्मेदारी मिली हैं।           


चीन पर हमला करनें वाला हैं 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी/ बिजिंग। साउथ चाइना सी में चीन और अमेरिका के बीच का तनाव अब तेजी से टकराव की तरफ बढ़ रहा है, ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि चीन ने अब दक्षिण चीन सागर में अपने सबसे शक्तिशाली बमवर्षक विमान के साथ युद्धाभ्यास किया है। जबकि अमेरिका ने एक बयान में कहा है कि चीन के दूतावास जासूसी की गुफाएं हैं। अमेरिका ने साउथ चाइना सी में दो हफ्ते पहले युद्धपोट निमित्ज के साथ अभ्यास किया था जिसका जवाब अब चीन की तरफ से आया है। चीन ने  H-6G और H-6J शक्तिशाली बॉम्बर के साथ अभ्यास किया।


H-6K दरअसल शियान एच-6 का एक बहुत बदला हुआ संस्करण है जो एयर-लॉन्च क्रूज मिसाइलों को ले जाने में सक्षम है। H-6K की मारक क्षमता 3,520 किलोमीटर तक बताई जाती है। जिसकी वजह से पूरा साउथ ईस्ट एशिया का इलाका उसकी जद में आता है। चीन ने पिछले साल जिस गैर परमाणु बम का परीक्षण किया था और मदर ऑफ ऑल बम करार दिया था, वो बम चीन ने H-6k जहाज से गिराया था।क्षऔर अब चीन ने साउथ चाइना सी में इन्हीं विमानों यानी H-6G और H-6J बॉम्बर के अभ्यास से अमेरिका को इशारा दिया है कि वो उसके युद्धपोतों पर हमला करने की ताकत रखता है।     


श्रीराम 'निर्भयपुत्र'     


नोडल अधिकारी ने कार्य समीक्षा की

फाईज़ अली सैफी


गाज़ियाबाद। कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासी कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बने रहे और पूरे जनपद में करोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकें। वहीं, दूसरी ओर कोरोना मृत्यु दर को कम करने के उद्देश्य से कोविड-19 के नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता करते हुए कोविड-19 महामारी को लेकर जिला अधिकारी के नेतृत्व में किए जा रहे प्रयासों की गहनता के साथ समीक्षा की गई हैं।
नोडल अधिकारी ने समीक्षा के दौरान पाया कि उनके द्वारा विगत बैठक में जनपद के अधिकारियों को करोना के वायरस के संक्रमण को रोकने के संबंध में जो दिशा-निर्देश दिए गए थे, उनका अक्षर से पालन अधिकारियों के द्वारा सुनिश्चित करते हुए अच्छा कार्य किया गया हैं और जनपद गाज़ियाबाद में कोरोना वायरस को कम करने तथा संभावित कोरोना व्यक्तियों की खोज करने एवं उनका यथा समय इलाज संभव करने की दिशा में जिला-प्रशासन पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा गुणवत्ता परक रूप से कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए कोरोना के संक्रमण को रोकने की दशा में महत्वपूर्ण कार्य किया गया हैं। जिससे जनपद में कोरोना मृत्यु दर में कमी आई हैं।
वहीं, दूसरी ओर कोरोना व्यक्तियों को यथा समय इलाज सरकार एवं शासन की मंशा के अनुरूप जनपद में उपलब्ध कराया जा रहा हैं। उन्होंने प्रशासन पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों को बैठक में आगे भी इसी क्षमता के साथ कार्य करने का आवाह्न किया हैं और सभी अधिकारियों के कार्यो की सराहना करते हुए उनका हौसला भी बढ़ाया गया हैं। नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी के द्वारा बैठक में सभी अधिकारियों का आवाह्न किया गया कि सरकार की मंशा के अनुरूप एंटीजन किट के माध्यम से जनपद में अभियान चलाकर संभावित संक्रमित कोरोना वायरस की खोज करते हुए उनका तत्काल इलाज संभव कराया जाए, ताकि जनपद में सभी नागरिक कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बने रहें, बैठक के उपरांत नोडल अधिकारी द्वारा विकास भवन में पहुंचकर कोविड-19 इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का भी स्थलीय निरीक्षण किया गया हैं।

जहां पर उन्होंने पाया कि कंट्रोल रूम पर कोविड-19 को लेकर प्रतिदिन लगभग 300 शिकायतें एवं समस्याएं प्राप्त हो रही हैं। संबंधित अधिकारियों के द्वारा सभी शिकायतों एवं समस्याओं का निराकरण उसी दिन किया जा रहा हैं। वहीं, दूसरी ओर कोरोना वायरस जिन मरीजों को होम आइसोलेशन की सुविधा प्रदान की गई हैं। कंट्रोल रूम के माध्यम से दिन में सुबह एवं शाम सभी मरीजों से बात करते हुए उनके हाल-चाल एवं इलाज की जानकारी प्राप्त की जा रही हैं और यथा समय किसी भी समस्या के संबंध में उनका निस्तारण संभव कराया जा रहा हैं, ताकि सरकार की इस योजना का सभी संक्रमित व्यक्तियों को लाभ प्राप्त हो सकें।

उन्होंने समीक्षा के दौरान यह भी पाया कि कंट्रोल रूम के माध्यम से आर.आर.टी टीम का मरीजों के शिफ्टिंग में लोकेट करने में कंट्रोल रूम द्वारा पूर्ण सहयोग दिया जा रहा हैं। जिसके कारण चिन्हित करोना संक्रमित व्यक्तियों को बहुत कम समय में अस्पताल में आइसोलेशन की सुविधा जिला-प्रशासन के द्वारा उपलब्ध कराई जा रही हैं। कंट्रोल रूम के द्वारा कोविड-19 को लेकर प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को शासन स्तर पर निरंतर विभिन्न सूचनाएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं। नोडल अधिकारी के द्वारा कंट्रोल रूम की कार्यो की गहनता के साथ समीक्षा करते हुए कंट्रोल रूम के नोडल अधिकारी एवं उनकी टीम के कार्यो की भूरी-भूरी प्रशंसा की गई हैं। नोडल अधिकारी की बैठक में जिला अधिकारी अजय शंकर पांडे ने उन्हें आश्वस्त किया कि कोविड-19 महामारी को लेकर उनके द्वारा जो मार्ग निर्देश दिए गए हैं, उनका जनपद में आगे भी इसी प्रकार अक्षर से पालन सुनिश्चित करते हुए कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी, ताकि जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से पूर्ण रूप से रोका जा सकें। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी, मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, अपर जिला अधिकारी प्रशासन, अपर जिलाधिकारी भूमि अर्जन, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एन.के गुप्ता व प्रशासन के अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित रहें हैं।          


अजूबाः 2 मुँह वाले बकरें का हुआ जन्म

रामकुमार यादव


अंबिकापुर। प्रकृति अजूबों से भरी पड़ी है। प्रकृति ने एक अजूबा अंबिकापुर के ग्राम चठीरमा में भी दिखाया है, जहां एक बकरी ने दो सिर वाले बच्चे को जन्म दिया है।









इस बकरे की तीन कान, चार आंखें हैं। बकरी दोनों सर से दूध पीती है और दोनों ही मुंह से आवाज निकालता है।














अंंबिकापुर के चठीरमा निवासी देवशरण राम पंडा के घर में 2 दिन पहले जन्मे बकरी के बच्चे को देखने लोग काफी दूर से पहुंच रहे हैं। बकरी के मालिक देव शरण का कहना है कि यह अजूबा ही है। अब बकरे के देखभाल की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है। क्योंकिं भविष्य में स्वास्थ्य संबंधी समस्या आ सकती है।         







याचिका की सुनवाई 10 तक टलीः एससी

नई ​दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने देश भर के महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में स्नातक पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 30 सितम्बर तक आयोजित करने के विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की गत छह जुलाई की अधिसूचना को चुनौती देने वाली याचिका की सुनवाई 10 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी है।


न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति आर. सुभाष रेड्डी और न्यायमूर्ति एम आर शाह की खंडपीठ ने शुक्रवार को सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता और याचिकाकर्ताओं के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद मामले की सुनवाई 10 अगस्त तक स्थगित कर दी। इस बीच मेहता ने कहा कि किसी विद्यार्थी को अभी फिलहाल यह धारणा नहीं बनानी चाहिए कि शीर्ष अदालत में मामला लंबित नहीं होने के कारण परीक्षा नहीं होगी और छात्रों को अपनी पढ़ाई की तैयारी जारी रखनी चाहिए। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता यश दुबे की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने दलील दी कि कई ऐसे विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन परीक्षा के लिए ज़रूरी सुविधा नहीं है, इस पर शीर्ष अदालत ने कहा कि ऑफ लाइन का भी विकल्प है। इस पर सिंघवी ने कहा, “लेकिन बहुत से लोग स्थानीय हालात या बीमारी के चलते ऑफलाइन परीक्षा नहीं दे पाएंगे। उन्हें बाद में परीक्षा देने का विकल्प देने से और भ्रम फैलेगा।”

इस पर फिर न्यायालय ने कहा कि यह तो छात्रों के हित में नजर आता है। इस बीच, न्यायालय ने महाराष्ट्र में राज्य आपदा प्रबंधन समिति की तरफ से लिये गए फैसले की कॉपी रिकॉर्ड पर रखने को कहा है और सुनवाई 10 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी। गौरतलब है कि यूजीसी ने गुरुवार को शीर्ष अदालत में हलफनामा दायर करके कहा था कि 30 सितम्बर तक अंतिम वर्ष की परीक्षाएं आयोजित करने को लेकर अधिसूचना का उद्देश्य विद्यार्थियों के अगले साल की पढ़ाई में विलम्ब होने से रोकना है। आयोग का कहना है कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम के तहत उन्हें बच्चों की उच्च शिक्षा के संदर्भ में नीतिगत फैसला लेने का अधिकार है। इसी अधिकार के तहत उन्होंने बच्चों के भविष्य की बेहतरी को देखते हुए ही 30 सितंबर तक अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराने का निर्देश दिया है। आयोग का कहना है कि अंतिम वर्ष महत्वपूर्ण होता है, जिसके परीक्षाफल के आधार पर छात्रों का आगे का भविष्य निर्भर करता है। इसलिए इसमें बिना परीक्षा के परिणाम घोषित नहीं किए जा सकते।


उधर, आयोग के हलफनामा के बाद याचिकाकर्ताओं ने देर शाम जवाबी हलफनामा दायर किया, जिसमें उन्होंने कहा कि आयोग उनकी शिकायतों पर सही तरीके से जवाब देने में असफल रहा है।   


फारूख खान                     


बंदरों पर वैक्सीन का सफल परीक्षण

वाशिंगटन डीसी। विश्व स्वास्थ्य संगठन भले ही कह रहा हो कि अभी कुछ वक़्त के लिए दुनिया को कोरोना वायरस के साथ जीना सीख लेना चाहिए। लेकिन इसकी वैक्सीन बना रहीं टीमों से भी अच्छी खबर आ रही हैं। दुनियाभर में करीब 25 वैक्‍सीन ह्यूमन ट्रायल के दौर में हैं जिनमें से दो भारत की है। दुनिया भर में 4 ऐसी वैक्सीन हैं जो इस दौड़ में सबसे आगे हैं और बंदरों पर इनका प्रयोग सफल रहा है। इन वैक्सीन का इंसानों की सीमित संख्या पर प्रयोग भी हो चुका है बस अब बड़े दलों और गंभीर मरीजों पर इनका परीक्षण शुरू कर दिया गया है।


परीक्षण के बेहद उत्साहपूर्ण नतीजे आ रहे हैं।इस वैक्सीन का तीसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल जारी है। वहीं, दूसरे चरण के नतीजों को लेकर कंपनी ने खुशी जताई है। जल्द ही इसका डेटा साइंस जर्नल में प्रकाशित किया जाएगा। कंपनी के चीफ एक्जिक्यूटिव पास्कल सोरिट्स ने कहा कि वैक्सीन का विकास बहुत अच्छा चल रहा है। हमें वैक्सीन के परीक्षण को लेकर अब तक का सबसे अच्छा डेटा मिल रहा है। इसे जिन वॉलंटियर्स को दिया गया था, उनके शरीर में वायरस के खिलाफ लड़ने वाली एंटीबॉडी के साथ-साथ वाइट ब्लड सेल्स के किलर सेल्स, भी पाए गए हैं। उधर ब्रिटेन में ही जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्‍सीन ने भी ऐसे ही नतीजे दिए है।


नीदरलैंड्स को भी वैक्‍सीन के ट्रायल में बड़ी कामयाबी मिली है। वैक्‍सीन की एक सिंगल डोज से बंदरों में कोरोना वायरस संक्रमण को पूरी तरह रोकने में मदद मिली। वैक्‍सीनेशन के बाद लगभग सारे बंदरों में एंटीबॉडीज बनीं और T सेल्‍स की।जब वायरस से बंदरों को एक्‍सपोज कराया गया तो सारे बंदरों के फेफड़ों में इन्‍फेक्‍शन नहीं हुआ। छह में से पांच बंदरों की नाक में भी वायरस की मात्रा नहीं मिली।
कोरोना वायरस की वैक्सीन विकसित करने के लिए दुनियाभर में करीब 180 विकल्पों पर इस वक्त काम चल रहा है और अलग-अलग रिसर्च में सकारात्मक नतीजे सामने आने लगे हैं। अमेरिका की वैक्सीन इंसानों पर पहले ट्रायल में सफल भी रही है। मॉडर्ना की वैक्‍सीन के बंदरों पर ट्रायल के नतीजे भी शानदार रहे थे. यानी अब तक कुल चार वैक्‍सीन ऐसी रही हैं जिन्‍होंने बंदरों में पूरी तरह कोरोना इन्‍फेक्‍शन को रोकने में कामयाबी पाई है।
रूस और चीन की एक-एक वैक्‍सीन दुनियाभर में सबसे आगे है। ये दोनों भी इंसानों पर ट्रायल के एडवांस्‍ड स्‍टेज में हैं। रूस ने 10 अगस्त तक दुनिया की पहली कोरोना वायरस की वैक्सीन को मंजूरी देने की योजना बनाई है। वैक्सीन के मंजूरी मिलने के तीन-चार दिन बाद संस्थान बाजार में वैक्सीन उतार सकता है। सूत्रों ने बताया, ‘पंजीकरण के दस्तावेज 10-12 अगस्त तक तैयार हो जाने चाहिए। इसके बाद बाजार में इसके 15-16 अगस्त तक उतरने की संभावना है। न्यूज चैनल सीएनएन ने बताया कि रूस 10 अगस्त तक वैक्सीन को मंजूरी देने की योजना बना रहा है, जिसे मॉस्को स्थित गामालेया महामारी संस्थान ने बनाया है। उधर चीन ने मई महीने में ही साल के अंत तक वैक्सीन ईजाद कर लेने का दावा किया था। चीन के एसेट्स सुपरविज़न एंड एडमिनिस्ट्रेशन कमीशन ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में कहा था कि चीन में बनी कोरोना वायरस की वैक्सीन इस साल के अंत तक वितरण के लिए मार्केट में आ सकती है। वुहान इंस्टिट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल प्रोडक्ट्स और बीजिंग इंस्टिट्यूटऑफ बायोलॉजिकल प्रोडक्टस की ओर से तैयार की गई वैक्सीन का ट्रायल 2000 लोगों पर करने का दावा किया गया था।             


भूमि-पूजन के लिए 1 लाख 1 हजार लडडू

अयोध्या। अयोध्या में पांच अगस्त को राम मंदिर निर्माण को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किए जाने वाले भूमि पूजन के बाद प्रसाद के रूप में लड्डु बांटा जायेगा। भूमि पूजन के लिए मणिराम दास छावनी में एक लाख 11 हजार लड्डू तैयार किए जा रहे हैं। इन्हें 11 थालियों में सजाकर रामलला को भोग लगाया जाएगा। भूमि पूजन के दिन ये लड्डू अयोध्या धाम व तीर्थ स्थलों में वितरित किए जाएंगे।             


मनोज सिंह ठाकुर


आज से कम होगी एलपीजी की कीमत

नई दिल्‍ली । एक अगस्‍त से एलपीजी सिलिंडर के दाम घट सकते हैं। इसे लेकर केंद्र सरकार के स्‍तर पर तैयारी चल रही है। अनलॉक -2 के दोनों चरण 31 जुलाई तक पूरे हो रहे हैं। इसके बाद केंद्र सरकार क्‍या तय करती है ? इस पर अब सबकी निगाहें हैं। तेल कंपनियों के वरीय अधिकारी की मानें या यह संभावना है कि एक अगस्‍त को रिवाइज होने वाले एलपीजी सिलिंडर के दाम घटेंगे और सब्सिडी सिलिंडर सस्‍ता हो सकता है।


मिली जानकारी के अनुसार दस से बीस रुपये तक एलपीजी सिलिंडर के दाम घट सकते हैं। दो महीने तक महंगी होने के बाद अगर एलपीजी सस्‍ती होती है तो उपभोक्‍ताओं के खाते में सब्सिडी कम आ सकती है। इस वक्‍त पटना में एलपीजी सिलिंडर की कीमत 689 रुपये है, जबकि जून में इसकी कीमत 685 रुपये थी। इसी साल फरवरी, मार्च और अप्रैल में लगातार तीन महीनों तक एलपीजी सिलिंडर के दाम घटे थे। इसके चलते सिलिंडर के दाम 275 रुपये तक कम हो गये थे।वहीं आप इंडियन ऑयल के उपभोक्ता हैं, तो आपके लिए अहम खबर है। अगले माह से सिलिंडर बुकिंग सिस्टम पूरी तरह ऑनलाइन हो जायेगा। फिलहाल उपभोक्ताओं की सुविधाओं का ख्याल रखते हुए ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन की सुविधा दी गयी है। इसे लेकर वितरक को सूचना भेजी जा चुकी है।


सूचना में कहा गया है कि सीबेल में वितरण की पुष्टि बंद कर दी जायेगी। केवल मोबाइल वितरण एप से अनुमति दी जायेगी और डिलिवरी ऑथेंटिकेशन कोड (डीएसी) ओवरराइड विकल्प भी उपलब्ध नहीं होगा। डिलिवरी की पुष्टि केवल डीएसी के साथ की जायेगी।


भारतीय नौसेना में करोड़ों का घोटाला


  • आईटी हार्डवेयर की आपूर्ति के नाम पर घोटाला

  • सीबीआई ने चार राज्यों के 30 ठिकानों पर की छापेमारी


नई दिल्ली। नौसेना में फर्जी बिल के जरिए घोटाले का मामला सामने आने के बाद केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने चार राज्यों दिल्ली, गुजरात, महाराष्ट्र और कर्नाटक के करीब 30 ठिकानों पर छापेमारी की. दरअसल, पश्चिमी नौसेना कमान को आईटी हार्डवेयर की आपूर्ति के लिए जाली बिल बनाकर 6.76 करोड़ रुपये के घपले का आरोप है। आरोप है कि कैप्टन अतुल कुलकर्णी, कमांडर मंदार गोडबोले और आरपी शर्मा और पेटी ऑफिसर एलओजी (एफ&ए) कुलदीप सिंह बघेल ने कथित रूप से 6.76 करोड़ रुपये के सात फर्जी बिल तैयार किए। छापेमारी के दौरान पुलिस को 10 लाख रुपये की नकदी मिली है। इसके अलावा कुछ अहम दस्तावेज भी मिले हैं।


क्या है पूरा मामला


यह पूरा मामला पश्चिमी नौसेना कमान में आईटी हार्डवेयर की आपूर्ति के लिए आकस्मिक व्यय बिल के भुगतान से जुड़ा हुआ है। इस पूरे घोटाले का खुलासा रक्षा मंत्रालय की आंतरिक जांच में हुआ। इसके बाद रक्षा मंत्रालय ने 23 अक्टूबर 2019 को सीबीआई को जानकारी दी। रक्षा मंत्रालय की हरी झंडी मिलने के बाद सीबीआई ने मामला दर्ज कर लिया।


6.76 करोड़ से अधिक हो सकता है घोटाला


सीबीआई के सूत्रों का कहना है कि यह घोटाला 6.76 करोड़ से बड़ा सकता है। मामले की तफ्तीश शुरू कर दी गई है और पुराने बिलों के भुगतान की भी पड़ताल की जा सकती है। फिलहाल, सीबीआई की ओर से नेवी अफसरों और कंपनियों से जानकारी जुटाई जा रही है।


किन लोगों पर दर्ज हुआ केस


बताया जा रहा है कि सीबीआई ने कैप्टन अतुल कुलकर्णी, कमांडर मंदर गोडबोले, कमांडर आर पी शर्मा, पेटी ऑफिसर एलओजी (एफ&ए) कुलदीप सिंह बघेल के अलावा एस एम देशमने, ए.के. के. विश्वास, इंदू कुंभरे, अनमोल कंदियाबूरू, प्रदीप चौहान, अमर देववाणी (प्राइवेट पर्सन), मेसर्स ACME नेटवर्क एंड आईटी सॉल्यूशन ( कंपनी), कौशल पंचाल साइबरस्पेस इंफोविजन प्राइवेट लिमिटेड के मालिक, जीतू मेहरा (मेसर्स मोक्ष इंफोसिस कंपनी के मालिक) और मेसर्स स्टार नेटवर्क कंपनी के मालिक लाल चंद यादव के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस   (हिंदी-दैनिक)


 अगस्त 01, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-352 (साल-01)
2. शुक्रवार, अगस्त 01, 2020
3. शक-1943, श्रावण,शुक्ल-पक्ष, तिथि- द्वादशी/त्रयोदशी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:20,सूर्यास्त 07:18।


5. न्‍यूनतम तापमान 22+ डी.सै.,अधिकतम-36+ डी.सै.। भारी बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


www.universalexpress.in


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)                


कौशाम्बी: जल जीवन मिशन अभियान की शुरुआत की

कौशाम्बी। समाज में जन जन को व प्रत्येक को घर को शुद्ध पेयजल लगाने हेतु नमामि गंगे तथा ग्रामीण जलापूर्ति विभाग उत्तर प्रदेश सरकार के तत्वाधान...