शनिवार, 27 अप्रैल 2024

लोगों के लिए 'पेयजल आपूर्ति' सुनिश्चित की जाएं

लोगों के लिए 'पेयजल आपूर्ति' सुनिश्चित की जाएं 

इकबाल अंसारी 
चेन्नई। तमिलनाडु में गर्मी दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि लोगों के लिए पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जाएं। राज्य के कई हिस्सों में लू के कारण मुख्यमंत्री ने शनिवार को राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि गर्मी अपने साथ दो परेशानी लाती है, पहली- अत्यधिक गर्मी और दूसरी- पीने के पानी की बढ़ती मांग।
बैठक में मुख्य सचिव और अन्य विभागों के सचिवों ने मुख्यमंत्री को पेयजल की कमी के कारण के बारे में बताया। इसके अलावा, मौसम विभाग की मानें तो दक्षिण-पश्चिम मानसून के दौरान एक या दो महीने बारिश की मात्रा अपेक्षाकृत कम रह सकती है। बैठक में सीएम स्टालिन ने कहा कि हम लोग फिलहाल कठिन स्थिति में हैं। हमें पानी का संयम से उपयोग करना होगा। अगले दो महीनों के लिए पीने की पानी की मांग बढ़ेगी। हमें पानी की आवश्यकताओं को पूरा करना होगा। सीएम ने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि पेयजल समस्या से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करें और स्थिति का जायजा कर समस्याओं का तुरंत समाधान किया जाए। बता दें, राज्य के 22 जिले पहले ही सूखाग्रस्त घोषित कर दिया गया है। जल आपूर्ति कार्यों के लिए राज्य आपदा कोष से 150 करोड़ रुपये तय किए गए हैं।
सीएम ने अधिकारियों से कहा कि उन्हें संयुक्त पेयजल योजनाओं के कामकाज की निगरानी करनी चाहिए। अधिकारी लोगों से मिले और समस्याओं का तुरंत समाधान करें। उन्होंने कहा कि जहां बोरवेल सूख गए हैं, वहां टैंकरों से पेयजल उपलब्ध कराएं। गर्मी में पानी की मांग अधिक होती है लेकिन पानी की उपलब्धता कम होती है, इसलिए जनहित में एकजुट होकर प्रयास करें। गौरतलब है कि पिछले पूर्वोत्तर मानसून के दौरान तमिलनाडु के तटीय इलाकों में भारी बारिश हुई, जिससे इलाके में बाढ़ आ गई। बावजूद इसके तमिलनाडु के पश्चिमी जिलों में कम बारिश हुई। 
केंद्रीय जल आयोग ने बताया था कि गर्मियां शुरू होने के साथ ही देश में जल संकट गहराना शुरू हो गया है। दक्षिण भारत में स्थिति ज्यादा खराब है। दक्षिण भारत के राज्य गंभीर जल संकट का सामना कर रहे हैं और स्थिति ये है कि जल भंडारण जलाशयों की क्षमता घटकर केवल 17 प्रतिशत रह गई है। दक्षिण भारत के राज्यों में आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु आते हैं। सीडब्ल्यूसी द्वारा भारत के विभिन्न क्षेत्रों के जलाशयों के भंडारण स्तर के संबंध में बृहस्पतिवार को जारी बुलेटिन में बताया गया कि दक्षिणी क्षेत्र में आयोग की निगरानी के तहत 42 जलाशय हैं जिनकी कुल भंडारण क्षमता 53.334 बीसीएम (अरब घन मीटर) है। ताजा रिपोर्ट के अनुसार, इन जलाशयों में मौजूदा कुल भंडारण 8.865 बीसीएम है, जो उनकी कुल क्षमता का केवल 17 प्रतिशत ही है।

1500 से ज्यादा लोगों ने बीजेपी का दामन थामा

1500 से ज्यादा लोगों ने बीजेपी का दामन थामा 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। दिल्ली और पंजाब से आने वाले सिख समुदाय के 1500 से ज्यादा लोगों ने शनिवार (27 अप्रैल) को बीजेपी का दामन थाम लिया। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ, पार्टी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा और दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा की मौजूदगी में सिख समुदाय के लोग पार्टी में शामिल हुए। ये लोग ऐसे समय में बीजेपी के साथ आए हैं, जब देश में 2024 लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग करवाई जा रही है।
इस मौके पर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डी ने कहा, “हम जानते हैं कि हमारे सिख भाइयों ने किस तरीके से देश के लिए अपनी कुर्बानी दी, देश के लिए बलिदान दिया। देश पर जितने भी आक्रमण हुए, उन सबको मुंहतोड़ जवाब देने और विजय हासिल करने में सिख भाइयों का बहुत बड़ा योगदान है।” उन्होंने कहा, “ऐसे सिख कौम के लोग बीजेपी में शामिल हों, ये हमारे लिए गौरव और खुशी की बात है।”

पीएम मोदी ने सिख समुदाय के लिए किया काम: जेपी नड्डा

जेपी नड्डा ने कहा, “बीजेपी अकेली ऐसी पार्टी है, जिसके माध्यम से हम देश की एकता, अखंडता और सुरक्षा को आगे बढ़ा सकते हैं। इसमें बहुत बड़ा योगदान आपका है, आपके शामिल होने से हम इस काम और तीव्र गति से आगे बढ़ाएंगे।” उन्होंने कहा, “सिख कौम के लिए अगर सही मायने में किसी ने काम किया है, तो वो हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है। मोदी जी लंबे समय तक पंजाब के प्रभारी रहे, इसलिए उन्हें आपसे बहुत लगाव है।”

1984 के दंगों पर पीएम मोदी ने गठित करवाई एसआईटी: नड्डा

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, “1984 में जिस तरह से मानवता और इंसानियत का गला घोंटा गया, वो हम सबने देखा है। प्रधानमंत्री मोदी ने 1984 के दंगों पर एसआईटी का गठन किया और आज उन दंगों के दोषी जेल में हैं। आपके योगदान को पहचानना, उसकी इज्जत करना और आपको मुख्यधारा में शामिल करते हुए, पूरी ताकत के साथ आपको आगे बढ़ाना अगर संभव है, तो ये भाजपा में ही संभव है।”

बीजेपी अध्यक्ष ने गिनवाई सरकार की उपलब्धियां

जेपी नड्डा ने कहा कि लंबे समय तक एफसीआरए का रेगुलेशन नहीं हुआ, वो काम पीएम मोदी ने किया। लंगर पर जब जीएसटी की बात हुई, तब लंगर पर कोई टैक्स नहीं लगेगा यह बात भी हमारी सरकार ने की। हमारी सरकार ने करतारपुर साहिब कॉरिडोर बनवाया। 1984 दंगों के दोषी आज जेल में हैं। आज वीर बाल दिवस मनाया जा रहा है। दिल्ली और पंजाब के विकास में हम लोग मिलते रहेंगे।

कांग्रेस ने हमारे ऊपर अत्याचार किए: मनजिंदर सिंह सिरसा

बीजेपी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि 1947 से लेकर अब तक हमारे ऊपर जुल्म हुआ है। बेगुनाह सिखों को मारा गया। कांग्रेस की सरकार ने हमारे ऊपर अत्याचार किए और 1984 के सिख दंगों में लोगों को जिंदा जलाया गया। उन्होंने कहा कि उस समय के प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने उस दंगे की जिम्मेदारी ली थी और कहा था कि बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है‌।

कांग्रेस ने करतापुर कॉरिडोर को पाकिस्तान के हवाले किया: सिरसा

सिरसा ने कहा कि देश के सिख पीएम मोदी से प्यार करते हैं। कांग्रेस 1984 के कातिलों को मंत्रियों का पद देती रही है। कांग्रेस ने करतारपुर कॉरिडोर को पाकिस्तान के हवाले कर दिया। पीएम मोदी ने 1984 के कातिलों को जेल में डाला. उन्होंने कहा कि पीएम गुरू तेगबहादुर की जय जयकार करते हैं। उन्होंने गुरू गोबिंद सिंह के बेटों नाम पर 26 दिसंबर को राष्ट्रीय बाल दिवस घोषित किया। गुरूग्रंथ साहिब को मानने वाला सिख कांग्रेस जैसी खूनी पार्टी को वोट नहीं डाल सकता है।

आज खूनी पंजा हाथ में झाड़ू लेकर घूम रहा: वीरेंद्र सचदेवा

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि जहां वीरता करूणा शौर्य होगी वहां सिख होगा। सिख समुदाय के लोगों का समाज में दया पैदा करना काम है। आज खूनी पंजा हाथ में झाड़ू लेकर घूम रहा है। 2024 का चुनाव भारत की तस्वीर बदलने वाला चुनाव है।

बीजेपी में शामिल होने वाले सिखों में कौन-कौन शामिल ? 

बीजेपी में शामिल हुए सिख लोगों में जसमेंन सिंह नोनी, परमिंदर सिंह लक्की, भूपेंदर सिंह गिन्नी, रमनदीप सिंह थापर, रामनजोत सिंह मीता, हरजीत सिंह पप्पा और मंजीत सिंह औलख जैसे नाम शामिल हैं‌।

रेल मंत्रालय ने 'समर स्पेशल' ट्रेन की शुरूआत की

रेल मंत्रालय ने 'समर स्पेशल' ट्रेन की शुरूआत की 

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। रेल मंत्रालय ने यात्रियों की सुविधा को देखते हुए दिल्ली आनंद विहार से जम्मूतवी होते हुए उधमपुर तक के लिए समर स्पेशल ट्रेन की शुरूआत की है। इससे जहां मां वैष्णो देवी के दर्शन को जाने वाले श्रद्धालुओं को सुविधा मिलेगी वहीं गर्मी छुट्टी में एक-दूसरे प्रांत में जानेवाले रेल यात्रियों को भी सफर करने में आसानी होगी। बता दें कि मां वैष्णो देवी जाने के लिए अभी तक सिर्फ शालीमार एक्सप्रेस ट्रेन का ही संचालन हो पा रहा था।
रेल मंत्रालय ने जनपद मुजफ्फरनगर सहित आसपास के जिलों को समर स्पेशल ट्रेन की सौगात दी है। यह ट्रेन आनंद विहार दिल्ली से चलकर शहीद कैप्टन तुषार महाजन उधमपुर के बीच चलेगी। इसका संचालन गत 26 अप्रैल को शुरू हो गया है। खास बात यह है कि ट्रेन का संचालन आगामी 28 जून तक प्रत्येक शुक्रवार को होगा। खास बात यह है कि आनंद विहार से चलकर समर स्पेशल ट्रेन प्रत्येक शुक्रवार को गाजियाबाद, मेरठ व मुजफ्फरनगर होते हुए अन्य गतंव्य स्टेशनों के लिए रवाना होगी। मां वैष्णो देवी के दर्शन को जाने वाले श्रद्धालुओं को यह अतिरिक्त ट्रेन की सौगात मिली है। इसकी पुष्टि सीनियर स्टेशन अधीक्षक पवन चौधरी ने दी है।

ये हैं समर स्पेशल ट्रेन का समय सारिणी

1. ट्रेन संख्या 04017 प्रत्येक शुक्रवार को रात्रि 11.55 बजे आनंद विहार से चलेगी। उसके बाद गाजियाबाद में रात्रि 12.40 बजे, मेरठ 1.22 बजे, मुजफ्फरनगर 2.08 बजे, सहारनपुर 3.30 बजे पहुंचेगी। इसके बाद अंबाला, जालंधर, पठानकोट, जम्मूतवी होते हुए शनिवार दोपहर 12.40 बजे उधमपुर पहुंचेगी।

2. ट्रेन संख्या 04018 शनिवार को उधमपुर रेलवे स्टेशन से दोपहर 3.55 बजे चलेगी। मेरठ रात्रि 3.15 बजे आएगी तथा रविवार सुबह पांच बजे आनंद विहार पहुंचगी।

15 दिन में बिजली का बिल भरना होगा, बदलें नियम

15 दिन में बिजली का बिल भरना होगा, बदलें नियम

पंकज कपूर 
देहरादून। उत्तराखंड में बिजली के दामों में बढ़ोतरी के साथ ही कुछ नियम भी बदल गए है। बताया जा रहा है कि नियामक आयोग ने नई दरें जारी करते हुए तीन एमवीए और उससे अधिक अनुबंध मांग वाले उद्योगों के लिए बिलिंग अवधि घटा दी है। जिसके बाद अब उद्योगों को हर 15 दिन में बिजली का बिल भरना होगा। इतना ही नहीं अब केवल उन उपभोक्ताओं को ही 24 घंटे, सातों दिन लगातार बिजली आपूर्ति का विकल्प दिया जाएगा, जिनके उद्योग इसी हिसाब से चलते होंगे।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार उद्योगों के लिए टैरिफ संरचना को सरल बनाने के लिए नियामक आयोग ने एलटी उद्योगों की दो उप श्रेणियों को हटाकर उनकी एकल श्रेणी 75 किलोवाट बनाई है। आयोग ने ये भी स्पष्ट कर दिया कि तीन एमवीए या इससे अधिक क्षमता वाले उद्योगों को 30 के बजाए 15 दिन में बिजली बिल जमा कराना होगा। इससे इन उद्योगों खासकर फर्नेश उद्योगों पर बिजली बिल बकाया में देरी, जुर्माने से राहत मिलेगी। वहीं, नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों के माध्यम से बिजली लेने वाले उद्योगों के लिए हरित टैरिफ 28 पैसे प्रति किलोवाट आवर स्वीकृत किया गया है।
बताया जा रहा है कि आयोग ने पीक आवर में टैरिफ को सामान्य घंटे के टैरिफ के 130 प्रतिशत के बराबर रखा है, तो ऑफ पीक आवर में छूट को 20 से बढ़ाकर 25 प्रतिशत कर दिया है। यूपीसीएल की ओर से महीने में प्रतिदिन 18 घंटे औसत बिजली आपूर्ति न देने पर एचटी उपभोक्ताओं को डिमांड में 20 फीसदी की छूट मिलेगी। वहीं एलटी उद्योगों में 25 किलोवाट तक फिक्स चार्ज 170 रुपये प्रति किलोवाट से बढ़कर 185 रुपये प्रति किलोवाट होगा। बिजली की दरें 5.18 रुपये प्रति किलो वोल्ट एंपीयर आवर से बढ़ाकर 5.40 रुपये कर दी गई हैं।
वहीं 25 किलोवाट से अधिक के कनेक्शन पर फिक्स चार्ज 175 से बढ़ाकर 185 रुपये प्रति किलोवाट किया गया है, जबकि बिजली की दरें 5.15 रुपये से बढ़ाकर 5.40 रुपये प्रति किलो वोल्ट एंपीयर आवर किया गया है। एचटी उद्योगों में 1000 किलोवाट तक फिक्स चार्ज 390 से बढ़ाकर बिल डिमांड पर 410 रुपये प्रति किलोवाट, इससे अधिक पर 460 से बढ़ाकर 480 रुपये किया गया है। बिजली की दरें अब छह रुपये से लेकर 6.40 रुपये तक होंगी।

वनाग्नि को रोकने हेतु प्रयासों की समीक्षा की

वनाग्नि को रोकने हेतु प्रयासों की समीक्षा की 

पंकज कपूर 
देहरादून। मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को वन प्रशिक्षण अकादमी सभागार में वनाग्नि को रोकने के लिए किए जा रहे प्रयासों की गहनता से समीक्षा की। उन्होंने वनाग्नि को रोकने के लिए अधिकारियों को हर समय सतर्क रहने के निर्देश दिए है। मुख्यमंत्री ने सख्त निर्देश दिये कि जब तक वनों में लगी आग पूरी तरह नियंत्रित नहीं हो जाती है। तब तक वनाधिकारियों के अवकाश पर जाने पर रोक लगाई जाए। केवल गम्भीर बीमारी के मामलों में ही छूट दी जाय।
मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये है कि वनाधिकारी हर समय वनाग्नि से प्रभावित क्षेत्रों में रहकर इसे नियंत्रित करने का प्रयास करें। इस कार्य में लगे अधिकारियों को अनावश्यक रूप से बैठक में प्रतिभाग हेतु देहरादून न बलाये जाने के भी निर्देश मुख्यमंत्री ने दिये है। उन्होंने कहा कि वनाग्नि की रोकथाम के लिए वन विभाग के अलावा अन्य विभाग भी अलर्ट मोड पर रहें। वनाग्नि की घटनाओं को रोकने के लिए सूचना तंत्र और मजबूत किया जाए। क्विक रिस्पांस टाईम कम से कम किया जाए। वनाग्नि पर प्रभावी रोकथाम के लिए स्थानीय स्तर पर लोगों का सहयोग लिया जाए।
उन्होंने कहा कि इस में सेना का भी सहयोग लिया जा रहा है। जो भी लोग वनों में आग लगाये जाने के दोषी पाये जायेंगे उनके विरूद्ध कार्यवाही किये जाने के भी निर्देश उन्होंने दिये है। मुख्यमंत्री ने लीसा डिपो के आस पास बनाग्नि के नियंत्रण पर ध्यान देने को कहा तथा फायर ब्रिगेड को भी एक्टिव करने को कहा। ताकि लीसा डिपो या अन्य संस्थानों को कोई नुकसान न हो। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने वनाग्नि से प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण कर स्थिति का जायजा लिया। उन्होनें कहा कि सभी के प्रयासों से वनाग्नि की घटनाएं नियंत्रित हो रही है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने बढते तापमान के दृष्टिगत पेयजल की कमी को दूर करने के भी निर्देश अधिकारियों को दिए।
इस अवसर पर विधायक श्रीमती सरिता आर्य, आयुक्त कुमांऊ श्री दीपक रावत, जिलाधिकारी श्रीमती वन्दना के साथ ही वन एवं पुलिस विभाग के उच्चाधिकारी एवं अन्य जन प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

50 बच्चों से भरी बस पलटी, 10 बच्चे घायल

50 बच्चों से भरी बस पलटी, 10 बच्चे घायल 

विजय भाटी 
गौतमबुद्ध नगर। ग्रेटर नोएडा में शनिवार दोपहर को एक बड़ा हादसा हो गया। करीब 50 बच्चों से भरी एक स्कूल की बस पलट गई। इस घटना के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई। मामले की जानकारी पुलिस को मिली तो तत्काल टीम मौके पर पहुंची। सभी बच्चों को बस से बाहर निकाला गया। बस का इमरजेंसी गेट तोड़कर बच्चों को कड़ी मेहनत के बाद बाहर निकाला गया। आसपास मौजूद कुछ लोगों का कहना है कि बस अनियंत्रित होकर पलट गई, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ। हालांकि, पुलिस ने इसको लेकर अभी तक कोई बयान नहीं दिया है। फिलहाल पुलिस घटना की जांच कर रही है। पुलिस ने बताया कि इस घटना में करीब 10 बच्चों को गंभीर रूप से चोट लगी है। उनको इलाज के लिए अस्पताल में एडमिट करवाया गया है। राहत की बात रही की इस घटना में कोई जनहानि नहीं हुई। पुलिस का कहना है कि अगर शिकायत मिलती है तो आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी। यह पूरा मामला ग्रेटर नोएडा के बीटा-2 थाना क्षेत्र में स्थित मित्रा गोल चक्कर के पास का है।

एमसीएमसी एवं कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया

एमसीएमसी एवं कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया 

पेड न्यूज पर रक्खी जाए विशेष निगरानी--व्यय प्रेक्षक

व्यय प्रेक्षक ने एमसीएमसी एवं कन्ट्रोल रूम का किया निरीक्षण

क्षेत्रों में ड्यूटी कर रहें एफएसटी टीम की गाड़ियों की लोकेशन को जीपीएस ट्रैकिंग के माध्यम से किया अवलोकन व सत्यापन

कौशाम्बी। व्यय प्रेक्षक विनय कुमार थामी ने शनिवार को एमसीएमसी एवं कंट्रोल रूम का निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने एमसीएमसी के निरीक्षण के दौरान पेड न्यूज के सम्बन्ध में आवश्यक निर्देश देते हए कहा कि पेड न्यूज पर विशेष निगरानी रखी जाय। इसके साथ ही उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया/प्रिन्ट मीडिया में प्रसारित/प्रकाशित विज्ञापन की रिपोर्टिंग के सम्बन्ध में भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।  
व्यय प्रेक्षक ने कन्ट्रोल रूम के निरीक्षण के दौरान सी-विजिल पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों का अवलोकन एवं शिकायत निस्तारण की गुणवत्ता की भी जॉच की। उन्होंने क्षेत्रों में ड्यूटी कर रहें एफएसटी टीम की गाड़ियों की लोकेशन को जीपीएस ट्रैकिंग के माध्यम से अवलोकन एवं सत्यापन किया। इसके साथ ही सोशल मीडिया-एक्स, फेसबुक एवं इंस्टाग्राम आदि के माध्यम से मतदाता जागरूकता एवं निर्वाचन से सम्बन्धित किये गये पोस्ट का अवलोकन किया। सोशल मीडिया-एक्स में फॉलोवर की जानकारी ली, जिसमे 31 हजार 800 फॉलोवर हैं। उन्होंने मतदाता जागरूकता से सम्बन्धित सोशल मीडिया में पोस्ट किये गये गतिविधियों की सराहना की। उन्होंने डिस्ट्रिक कॉल सेन्टर एवं मतदाता हेल्पलाइन-1950 पर प्राप्त शिकायतों की जानकारी प्राप्त करते हुए शिकायती रजिस्टर का अवलोकन कर निस्तारण की गुणवत्ता की जॉच की निरीक्षण के दौरान उप जिला निर्वाचन अधिकारी अरूण कुमार गोंड एवं प्रभारी व्यय लेखा/वरिष्ठ कोषाधिकारी रवीन्द प्रताप सिंह, प्रभारी कन्ट्रोल रूम/अधिशासी अभियंता सिंचाई जगदीश लाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुरेश कुमार गुप्ता एवं ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर कीर्त कुमार सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहें।
सुशील केसरवानी

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-190, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. रविवार, अप्रैल 28, 2024

3. शक-1945, बैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 29 डी.सै., अधिकतम- 15+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। इस समय देश में सभी देशवासियों का गर्मी से हाल बेहाल है और अभी...