शनिवार, 13 जून 2020

रिकॉर्डः 386 की मौत, 11458 संक्रमित

नई दिल्ली। भारत में अब तक कोरोना संक्रमण के कुल मामले 3 लाख के पार हो चुके हैं। कोरोना के पिछले 24 घंटे के दौरान 11458 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 386 लोगों की मौत हो गई। इसके बाद देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,08,993 हो गई।


कोरोना संक्रमण से अब तक मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 8,884 हो चुकी है। कोरोना के आज नए मामले आने के बाद अब  कुल एक्टिव कोरोना केस की संख्या बढ़कर 1 लाख 45 हजार 779 हो गई है। हालांकि, कोरोना से अब तक 1 लाख 54 हजार 330 लोग ठीक हो चुके हैं।कोरोना वायरस महामारी फैलने के बाद से भारत संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3 लाख के पार चला गया। पिछले 10 दिन के भीतर ही एक लाख मामले सामने आने के मद्देनजर सरकार ने महामारी की रोकथाम के लिए सख्त उपाय अपनाने की जरूरत पर जोर दिया। वहीं, केंद्र ने शुक्रवार को राज्यों से कोविड-19 के उभरते केंद्रों पर विशेष ध्यान देने और कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए सख्त कदम उठाने की जरुरत है।


आगरा में जांच हुई कम, मांगा जवाब

आगरा। कोरोना वायरस की जांच अचानक कम क्यों हो गई? सरकार को इस सवाल का जवाब देना होगा। शहर के अधिवक्ता अरुण कुमार दीक्षित की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई हुई। सरकार की ओर से एडिशनल अटॉर्नी जनरल मनीष गोयल ने जवाब देने के लिए समय मांगा है। अगली सुनवाई 19 जून को होगी।

अरुण कुमार दीक्षित ने बताया कि नोएडा में कोरोना के 58 मामले आने पर सरकार ने वहां के जिलाधिकारी को हटा दिया था। आगरा में 1000 केस होने पर भी जिम्मेदार अफसरों पर कार्रवाई नहीं की गई है। अमर उजाला व्यवस्था की खामियों को लगातार उजागर कर रहा है। 

इस पर उन्होंने जनहित याचिका दायर की। इसमें कोरोना जांच ही नहीं, और भी कई मुद्दे शामिल किए गए हैं। मामले की सुनवाई जस्टिस मनीष चंद त्रिपाठी और रमेश सिन्हा की बेंच में चल रही है। एडिशनल अटॉर्नी जनरल ने जवाब देने के लिए समय मांगा है।

अफसरों के जाते ही संक्रमण कैसे घटा?

दीक्षित का कहना है कि लखनऊ से प्रमुख सचिव के नेतृत्व में अफसरों की टीम आई थी। वो 11 मई को लौट गई। टीम के जाते ही आगरा में कोरोना केस अचानक से कैसे कम हो गए? टीम के आने से पहले एक दिन में 50 केस तक मिले। टीम के जाने के बाद ये कई दिन 10 से भी कम रहे। आखिर ऐसा क्या हुआ जिससे केस घटे?

मृत्यु के बाद रिपोर्ट क्यों आ रही?

1. जनहित याचिका में सवाल यह भी है कि संक्रमित की मृत्यु के बाद रिपोर्ट क्यों आ रही है? इसका अर्थ यही है कि जांच समय से नहीं की जा रही।

2. गैर कोरोना मरीजों के उपचार की व्यवस्था अभी भी मुकम्मल नहीं है। लोग उपचार के लिए भटक रहे हैं। इस पर कार्रवाई क्यों नहीं?

3. अन्य जिलों में बड़ी संख्या में प्रवासी संक्रमित मिले हैं। आगरा में न के बराबर हैं, इसकी वजह क्या है? कितने टेस्ट हुए हैं?

स्वास्थ्य विभाग खेल रहा है मौत का खेल

पालूराम


फरीदाबाद। स्वास्थ्य विभाग कोरोना से हुई मौतों को क्यों छुपा रहा है, यह अपने आप में बड़ी खबर है। स्वास्थ्य विभाग जहां कोरोना से हुई मौतों की संख्या 21 बता रहा था, वहीं नगर निगम फरीदाबाद ने यह आंकड़ा 37 बताया है। आपको बता दें कि यह  आंकड़े 15 अप्रैल से 11 जून तक के  हैं। हालांकि दोनों ही विभाग अपने स्तर पर यह आंकड़े जाहिर नहीं होने दे रहे, मगर मीडिया ने अपने सूत्रों के जरिए यह पूरा विवरण खोज निकाला है। बता दें कि फरीदाबाद जिले में कोरोना संभावित व सक्रंमित शवों के दाह संस्कार का जिम्मा नगर निगम के पास है। निगम के कर्मचारी ही कोरोना से होने वाली मौतों का दाहसंस्कार कर रहे हैं। नगर निगम की रिपोर्ट के अनुसार 15 अप्रैल से 11 जून तक कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या 43 है। इनमें से 6 लोग कोरोना संभावित भी हैं, दाहसंस्कार करने तक उनकी कोरोना रिपोर्ट नहीं आई थी, इसलिए उन्हें सूची में संभावित के तौर पर शामिल किया गया है, जबकि कोरोना पॉजीटिव के तौर पर 37 लोगों का दाहसंस्कार किया गया है। जबकि यह संख्या जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा 21 बताई गई थी। विभाग के अनुसार कोरोना से जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें से कुछ लोग दिल्ली व गुरूग्राम के भी हैं। बता दें कि सूची के अनुसार 37 में से सात लोग गुरूग्राम और दिल्ली के हैं। यदि 37 में से सात मृतकों को हटा दिया जाए तो भी 31 कोरोना शव बचते हैं, इसे देखते हुए भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा 9 मामले छुपाए जाने का संदेह है। आपको बता दें कि फरीदाबाद में अब तक जिन शवों का दाह संस्कार किया गया है, उनमें फ्रेंडस कालोनी, फरीदाबाद, हाऊसिंग बोर्ड सैक्टर 18, सैक्टर 28, शिव शारदा कालोनी बल्लभगढ़, भारत कालोनी खेड़ी रोड फरीदाबाद, सैक्टर 18 फरीदाबाद, सैक्टर 19 फरीदाबाद, सार्इंकालोनी गांव मवई रोड फरीदाबाद, एनआईटी नंबर 2 बी ब्लाक, बाढ़ मौहल्ला ओल्ड फरीदाबाद, एसजीएम नगर फरीदाबाद, आदर्श कालोनी एनआईटी नंबर-4 फरीदाबाद, सैक्टर-7 बी, सैक्टर 37 फरीदाबाद, एसजीएम नगर फरीदाबाद, सैक्टर 8 फरीदाबाद,बसेलवा कालोनी फरीदाबाद,डीएस डोर अनंगपुर, सैक्टर 23 फरीदाबाद, कृष्णा कालोनी फरीदाबाद, डबुआ कालोनी गाजीपुर रोड , अनाजमंडी बल्लभगढ़, सैक्टर 23 फरीदाबाद, सैक्टर 28 फरीदाबाद, बाईपास रोड ओल्ड फरीदाबाद, स्प्रिंग फील्ड कालोनी, अलीगढ़ रोड नजदीक जीवन धारा अस्पताल, इंद्रा कंपलैक्स ग्रेटर फरीदाबाद एवं एक अज्ञात शव शामिल हैं। इनके अलावा दिल्ली और गुरूग्राम  के जिन एरिया का यह दाहसंस्कार किया गया है, उनमें श्रीनिवासपुरी नई दिल्ली, बुद्ध अपार्टमेंट नई दिल्ली, प्रेमपुर गुरूग्राम, संगम विहार दिल्ली, दक्षिण दिल्ली शामिल हैं। इनमें अलावा जिन कोरोना संभावित मरीजों की मौत के बाद दाहसंस्कार किया गया है, वे लोग संजय कालोनी, एनआईटी नंबर -4, सैक्टर 88 एफ ब्लाक, सैक्टर 21 बी, एसी नगर नीलम बाटा रोड  तथा डबुआ कालोनी डी ब्लाक फरीदाबाद के हैं। वहीं इस मामले को लेकर जिला उपायुक्त यशपाल यादव का कहना है कि वह इस मामले की जांच करवाएंगे कि आखिर दोनों सरकारी विभागों के आंकड़े अलग अलग क्यों हैं। उन्होंने कहा कि दोनों विभागों की एक बैठक करवाकर सभी शवों का मिलान करवाया जाएगा कि आखिर यह अलग अलग क्यों हैं। उनके  अनुसार कई बार दाहसंस्कार कोविड 19 के अंतर्गत पहले कर दिया जाता है और रिपोर्ट बाद में निगेटिव आती है। इसके बावजूद वह नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग  से कहेंगे कि इसमें कोई चूक नहीं होनी चाहिए। आपको बता दें कि  अमर उजाला के फरीदाबाद संस्करण ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया है।


डीएम ने योजनाओं से संबंधित बैठक की

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। जिलाधिकारी प्रयागराज श्री भानु चंद्र गोस्वामी में आज संगम सभागार में नगर निगम के अधिशासी अधिकारियों के साथ बैठक की । उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना एवं राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत  दिए जा रहे लोन एवं अन्य कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों से स्ट्रीट वेंडर एवं स्वरोजगार जैसे सिलाई बुनाई कढ़ाई ई रिक्शा चालक ऑटो चालक इत्यादि को दिए जा रहे लोन के बारे में विस्तार से जानकारी  ली। उन्होंने सभी अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिया कि किसी भी व्यक्ति को लोन प्राप्त करने में बैंक से या आप की तरफ से किसी प्रकार की समस्या नहीं आनी चाहिए ।इसके लिए आप लोग शासन की गाइडलाइन्स के तहत बैठकर एक कार्य योजना बना लीजिए।शासन की मंशा के अनुसार कोरोना के कारण बहुत से मजदूर बाहर से आए हुए हैं जिन्हें रोजगार के लिए लोन की आवश्यकता है। इसलिए हमें तत्परता से एवं समय बद्ध तरीके से इस कार्य को पूरा करना है। हमें अपने कार्यों में प्रगति दिखानी होगी एवं साथ ही साथ यह भी ध्यान देना होगा की जिम्मेदार एवं कर्मठ व्यक्तियों को ही एवं जरूरतमंद को लोन समय से दिलाई जा सके। इसके लिए उन्होंने एक रैंडम सर्वे करने के भी निर्देश अधिशासी अधिकारियों को दिए।उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में 1000 रुपये की सहायता  प्रधानमंत्री राहत योजना के तहत मज़दूरों एवं गरीबों को दिया गया है उसको आधार मानते है  कम से कम 10 प्रतिशत लोगों को लोन देने का टारगेट शीघ्र पूरा करना है।  बैठक में नगर आयुक्त श्री रवि रंजन एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।


प्रयागराज में मास्क-सैनिटाइजर वितरण

भाजपा महानगर अध्यक्ष ने वितरित किए मास्क, सैनिटाइजर, एवं प्रधानमंत्री जी की पाती

बृजेश केसरवानी

प्रयागराज। भाजपा महानगर अध्यक्ष श्री गणेश केसरवानी ने मास्क, सैनिटाइजर ,वितरण कार्यक्रम में मुट्ठीगंज क्षेत्र  के निवासियों को मास्क, हैंड सेनीटाइजर एवं प्रधानमंत्री की चिट्ठी को वितरित किया। इस अवसर पर उन्होंने मोदी एवं योगी सरकार की उपलब्धियों को बताते हुए कोरोना संक्रमण से बचने के उपाय भी बताएं। कार्यक्रम के संयोजक नीरज केसरवानी एवं संचालन अजय गुप्ता ने किया

कार्यक्रम में मुख्य रूप से राजेश केसरवानी, प्यारेलाल  जायसवाल, नीरज केसरवानी रितेश केसरवानी, अजय गुप्ता, परमानंद वर्मा, किशन जायसवाल, रेखा यादव ,श्याम प्रकाश पांडे ,अभिलाष केशरवानी आदि उपस्थित रहे।

गाजियाबाद पुलिस ने किए बड़े बदलाव

रिक्ति के सापेक्ष तथा जनहित में दरोगाओं के कार्य क्षेत्र में  किये गये बदलाव

 अकाशुं उपाध्याय

गाजियाबाद। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री कलानिधि नैथानी द्वारा जनपद की विभिन्न चौकियों पर रिक्ति के सापेक्ष व जनहित में तथा थानों पर विवेचकों की कमी  और स्कूल कॉलेज बंद होने के कारण  ट्रैफिक पर भार कम होने के कारण ट्रैफिक से 24 उपनिरीक्षक तथा पुलिस लाइन से 12 उपनिरीक्षकों को थानों पर तैनाती दी गई है जोकि अधिकांशतः नए बैच के उपनिरीक्षक हैं। वहीं जनपद के 12 चौकियों पर तैनात लापरवाह चौकी प्रभारियों को हटाकर उनकी जगह 14/15/16 बैच के उपनिरीक्षक ट्रैफिक से हटाकर चौकी प्रभारी तैनात किए गए हैं । इस प्रकार कुल 36 उपनिरीक्षकों के कार्य क्षेत्र में बदलाव किया गया है

इसी क्रम में ट्रैफिक से फाइटर मोबाइल में लगे हुए करीब 15 चारपहिया वाहन तथा लाइन से 15 अतिरिक्त चारपहिया वाहन कुल 30 वाहन थानों को उपलब्ध कराए जा रहे हैं ।

एसएसपी द्वारा  लंबित विवेचनाओं के त्वरित निस्तारण  तथा अपराधियों पर अंकुश लगाने हेतु  उक्त कदम उठाए गए हैं, वहीं सभी नवनियुक्त उपनिरीक्षक को जनहित में  पारदर्शिता के साथ कार्य करने हेतु  निर्देशित किया गया है।

कांग्रेस का मौन प्रतिवाद व्रत दूर तक फैला

कांग्रेस अध्यक्ष की गिरफ्तारी सरकार की प्रवासी मजदूर विरोधी रणनीति को दर्शाती है--अरुण

मौन प्रतिवाद: कांग्रेसियों ने प्रदेश अध्यक्ष के रिहाई के लिए गांधी चबूतरे पर किया मौन विरोध

जिला अध्यक्ष अरुण विद्यार्थी ने गिरफ्तारी को बताया असंवैधानिक

करारी कौशांबी। उत्तर प्रदेश सरकार ने असंवैधानिक तरीके से कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को गिरफ्तार किया है। इसके विरोध में जिले के कांग्रेस कार्यकर्ता सड़क पर उतर कर विरोध कर रहे हैं। सरकार को इस मामले को संज्ञान में लेते हुए तत्काल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष की रिहाई करनी चाहिए उक्त बातें पार्टी जिला अध्यक्ष अरुण विद्यार्थी ने शनिवार को कांग्रेसियों को संबोधित करते हुए जिला मुख्यालय स्थित ब्लॉक परिसर में गांधी चबूतरे में मौन प्रतिवाद के दौरान कही।

इस मौके पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश अध्यक्ष जब प्रवासी मजदूरों के लिए बसों को लेकर गए थे। ऐसे में प्रदेश सरकार ने प्रवासी मजदूरों तक सहायता पहुंचाने के उद्देश्य से उन्हें फर्जी तरीके से मुकदमे में फंसा कर जेल भेज दिया। जो कि सरकार की प्रवासी मजदूर विरोधी रणनीति को दिखाती और दर्शाती है। इस मौके पर बोलते हुए पार्टी नेता वेद प्रकाश सत्यार्थी ने कहा कि यदि सरकार हमारे प्रदेश अध्यक्ष को जल्द से जल्द रिहा नहीं करती तो पार्टी कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर संघर्ष करने के लिए तैयार है। कार्यक्रम के दौरान हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर बैठे कांग्रेसी कार्यकर्ता अपने नेता की रिहाई की मांग करते हुए दिखे इस मौके पर प्रमुख रूप से शाहिद सिद्दीकी,  राजेंद्र त्रिपाठी, आशीष कुमार मिश्रा पप्पू, रजनीश पांडे, तमजीद अहमद, बरसाती पंडा, सरदार हुसैन रिजवी, देवेश श्रीवास्तव, वेद प्रकाश सत्यार्थी ,राजकुमार, अनिल पांडे, इजहार अब्बास, भारत गौतम, राजेंद्र भारती, मकसूद कुरेशी सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

पत्रकार ज़ैगम अब्बास 

70 दिन में 2000, 11 में 4000 संक्रमित



76 दिनों में आए दो हजार रोगी तो 11 दिन में चार हजार


राणा ओबरॉय/महावीर जैन


चंडीगढ़। हरियाणा में कोरोना के दृष्टिकोण से जून का महीना बेहद घातक साबित हो रहा है। एक तरफ जो लॉकडाउन में छूट दी जा रही है वहीं कोरोना पॉजिटिव रोगियों की संख्या में जहां अचानक वृद्धि हो रही है वहीं इससे मरने वालों की संख्या में भी भारी उछाल आया है। मई माह के दौरान हरियाणा रिकवरी दर जहां समूचे उत्तर भारत में सर्वाधिक थी वहीं पिछले 11 दिनों के भीतर इसमें गिरावट आई है। आलम यह है कि वर्तमान में हरियाणा में रोजाना औसतन 44 पॉजिटिव केस आ रहे हैं वहीं रोजाना चार मौतें हो रही हैं। प्रदेश में अब तक मरने वालों का आंकड़ा 64 पर पहुंच गया है। हरियाणा में कोरोना बेहद घातक दौर में प्रवेश कर चुका है और स्वास्थ्य विभाग अभी भी कम्यूनिटी ट्रांसमिशन से इनकार कर रहा है। शुक्रवार को 181 नए मामलों से संक्रमितों की संख्या 6149 पर पहुंच गई, जबकि 11 मरीज ठीक होकर घर लौटे। चिंता की बात यह है कि हरियाणा के अस्पतालों में अभी भी 48 रोगी ऐसे हैं जिनकी हालत गंभीर बनी हुई है। इनमें 33 की सांसें आक्सीजन के सहारे चल रही हैं तो 15 वेंटीलेंटर पर हैं।


हरियाणा में कोरोना का पहला मामला 17 मार्च को आया था। इसके बाद 1 हजार केस तक पहुंचते-पहुंचते 65 दिन लगे थे। 21 मई को आंकड़ा एक हजार पहुंच गया था। 31 मई को ठीक 11 दिन बाद प्रदेश में 2 हजार मरीज थे। इसके बाद 4 जून को 3 हजार मरीज महज 5 दिन में हो गए। सात जून को चार दिन में 4 हजार मरीजों की संख्या हो गई। नौ जून को महज 3 दिन में कुल पांच हजार संक्रमित हो गए। फिर से चार दिन में 12 जून को कुल संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 6 हजार को पार कर गया है। हरियाणा में पिछले 11 दिनों के भीतर करीब चार हजार कोरोना पॉजिटिव केस आए हैं। प्रदेश में अब रोजाना औसतन 360 तथा प्रत्येक एक मिनट में 15 कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं। इसी तरह एक जून से 11 जून तक रोजाना औसतन चार लोगों की मौत हुई है। इस लिहाज से प्रदेश में प्रत्येक छह घंटे में एक कोरोना पॉजिटिव की मौत हो रही है।


प्रदेश में पॉजिटिव रेट जहां 3.86 फीसद पर पहुंच गया है वहीं रिकवरी रेट 36.93 फीसद है जबकि मामलों के दोगुने होने की अवधि 8 दिन पर पहुंच गई है। प्रत्येक 10 लाख पर जांच का आंकड़ा 6429 है। जिसे दस हजार तक पहुंचाने का दावा किया जा चुका है। कोरोना से 64 मौतों से मृत्युदर 1.04 फीसद पर पहुंच गई है।


प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या
जिला संख्या
गुरुग्राम 2815
फरीदाबाद 967
सोनीपत 0502
रोहतक 0257
पलवल 1168
झज्जर 0119
अंबाला 0152
करनाल 0125
नारनौल 0113
नूंह 0104
हिसार 0109
पानीपत 0087
भिवानी 0086
जींद 0068
रेवाड़ी 0073
सिरसा 0066


 



हरियाणा-पंजाब बॉर्डर किया गया सील



 नितिन अग्रवाल


सिरसा। पंजाब पुलिस ने हरियाणा-पंजाब बॉर्डर को सील कर दिया है। शनिवार और रविवार को सामान्य आवाजाही बंद कर दी गई है। केवल पास धारक को ही आने जाने की छूट दी जा रही है। मालवाहक वाहन भी जा रहे हैं। बिना पास किसी को एंट्री नहीं मिल रही। सिरसा से सटे गांव झंडा कलां में पुलिस ने नाका लगायाा है। बता दें, पंजाब में सप्‍ताहंत (वीकेंड) व सार्वजनिक छुट्टियों के दिन लॉकडाउन की घोषणा की है। एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए ई-पास धारकों को ही अनुमति दी जा रही है।
यही नहीं, पंजाब सरकार ने हफ्ते में दो दिन एक जिले से दूसरे जिले में यातायात पर भी रोक लगाई है। रविवार को सिर्फ जरूरी वस्तुओं की दुकानें ही खुलेंगी, जबकि शनिवार को पांच बजे तक ही दुकाने खुलेंगी। शनिवार और रविवार को अंतर-जिला यातायात को ई-पास के साथ ही अनुमति मिल सकेगी। यह पास सिर्फ जरूरी काम के लिए जारी होगा। मेडिकल इमरजेंसी के लिए किसी प्रकार के पास की जरूरत नहीं है।
सिरसा से सटे गांव झंडा कलां में पंजाब बार्डर पर लोग जब सुबह रोजमर्रा की तरह काम काज के लिए जाने लगे तो पंजाब पुलिस ने वाहनों को वापस लौटा दिया। केवल उन्हीं लोगों को जाने दिया गया, जिनके पास ई-पास थे। दरअसल, कई लोगों को पंजाब में वीकेंड लॉकडाउन की जानकारी नहीं थी। इसके कारण उन्हें परेशानी झेलनी पड़ी। खासकर दूर से आने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।


 



अवैध कब्जे के विरुद्ध पस्त हुए एसडीएम

रिपोर्ट वीरेन्द्र सिंंह बरेली


देवरनियां/ बरेली। थाना क्षेत्र के गांव वसुधरन जागीर में जूनियर स्कूल के खेल मैदान की जमीन पर गांव के ही दबंग व्यक्ति मोहम्मद शफी पुत्र तुल्लन ने जबरन अवैध रूप से झोपड़ी डालकर कब्जा कर लिया है। जिसे गांव के दबंग व्यक्ति मोहम्मद शफी द्वारा जूनियर स्कूल के खेल मैदान की जमीन को कब्जामुक्त कराने के लिये जूनियर स्कूल के प्रधानाध्यापक सुबोध कुमार ने एसडीएम बहेडी सुधीर कुमार से स्कूल के खेल मैदान पर दबंग व्यक्ति मोहम्मद शफी द्वारा किया गया अवैध कब्जा को हटवाने की शिकायत की थी।


जिस पर एसडीएम बहेडी सुधीर कुमार ने स्कूल के खेल मैदान की जमीन से दबंग व्यक्ति द्वारा किये गये अवैध कब्जा को हटवाने के लिये देवरनियां इंस्पेक्टर दयाशंकर को तत्काल आदेश किया था।लेकिन जूनियर स्कूल के प्रधानाध्यापक सुबोध कुमार ने बताया कि दबंग व्यक्ति मोहम्मद शफी स्कूल के खेल मैदान की जमीन पर अव दो दिन से लगातार झोपड़ी के अन्दर से चुपचाप पक्का निर्माण कार्य करा रहा है और मना करने पर जान से मारने की धमकी देता है।जिसकी सूचना देवरनियां पुलिस को लगातार दे रहे हैं। लेकिन देवरनियां पुलिस स्कूल के खेल मैदान पर दबंग मोहम्मद शफी द्वारा किये गये अवैध कब्जे को हटवाना नहीं चाह रही है। वहीं देवरनियां पुलिस के सामने अव एसडीएम के आदेश भी वौने नजर आ रहे हैं । वहीं दबंग द्वारा स्कूल के खेल मैदान पर कब्जाई जमीन पर दो दिन से लगातार पक्का निर्माण कार्य जारी है।और पुलिस ने इस मामले पर चुप्पी साध रखी है। क्षेत्र में स्कूल के खेल मैदान की जमीन पर दबंग द्वारा अवैध कब्जा करने से क्षेत्र में भारी रोष व्याप्त है।


जिला न्यायालय को किया हॉटस्पॉट घोषित

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। जिला न्यायालय के वकीलों ने सीएमओ द्वारा हॉटस्पॉट के संबंध में दी गई रिपोर्ट पर सवाल उठाया है। बृहस्पतिवार को सीएमओ द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर ही प्रभारी जिला जज ने न्यायिक कार्य स्थगित कर अग्रिम आदेश तक के लिए शुक्रवार से जिला न्यायालय बंद कर दिया है।


अधिवक्ता संघ के मंत्री राकेश कुमार दुबे का कहना है कि सीएमओ द्वारा 11 जून को जिला जज को भेजी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि पुराना कटरा में कोविड-19 के चार पॉजिटिव मामले पाए जाने के बाद संपूर्ण क्षेत्र को हॉटस्पॉट घोषित किया गया है। अपनी रिपोर्ट में उन्होंने कंटेनमेंट जोन के लिए गृह विभाग द्वारा 17 मई को जारी गाइड लाइन का हवाला देते हुए कहा है कि शहरी क्षेत्र में एक पॉजिटिव केस पाए जाने पर 250 मीटर के रेडियस और एक से अधिक पाए जाने पर 500 मीटर के रेडियस में कंटोनमेंट जोन और बफर जोन किया जाता है।  पुराना कटरा में चार पॉजिटिव केस पाए जाने पर उक्त क्षेत्र हॉटस्पॉट घोषित किया गया है। सीएमओ ने रिपोर्ट में जिला न्यायालय को भी इसकी परिधि में बताया है। मंत्री सहित अन्य अधिवक्ताओं ने सवाल उठाया है कि जिला न्यायालय परिसर अगर हॉटस्पॉट की परिधि में आ रहा है, तो पुराना कटरा से लगा हुआ कचहरी पोस्ट ऑफिस, सदर तहसील, विकास भवन, कोषागार कार्यालय, पीडब्ल्यूडी , एसएसपी कार्यालय और कलेक्ट्रेट परिसर को क्यों छोड़ दिया गया जबकि शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सहित सभी कार्यालय खोले गए और मुख्य सड़क पर आवागमन भी जारी रहा।


मंत्री का कहना है कि यह पक्षपात पूर्ण रिपोर्ट है और संक्रमण का खतरा पूरे क्षेत्र में है। उन्होंने जिलाधिकारी से तत्काल संज्ञान लेकर उचित कदम उठाने की मांग की है और कहा है कि अगर संपूर्ण क्षेत्र हॉटस्पॉट क्षेत्र घोषित है तो अन्य कार्यालयों को भी बंद करके रोकथाम की जाए ताकि बाहर से आनेवाले कर्मचारियों और फरियादियों को संक्रमण का खतरा न रहे।


एक्सप्रेस-वे पर पलटी मिनी बस, 14 घायल

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर पलटी मिनी बस, 14 प्रवासी घायल, मची चीख-पुकार



उन्नाव। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर उन्नाव जिले के औरास थाना क्षेत्र में लोधाटीकुर गांव के सामने हरियाणा के नालागढ़ से प्रवासियों को लेकर बिहार के दरभंगा जिला जा रही मिनी बस बेकाबू होकर पलट गई। हादसे में छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, जबकि आठ अन्य चोटहिल हो गए। घटना की जानकारी मिलते ही संबंधित थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने घायलों को सीएची औरास में भर्ती कराया है। जहां से 6 को जिला अस्पताल रेफर किया गया है।



गंभीर रूप से घायलों में बिहार राज्य के दरभंगा जिला बहेरा गांव निवासी सुरेंद्र (35) पुत्र बच्चालाल, उसकी 30 वर्षीय पत्नी रूना देवी, 4 वर्षीय बेटा सोनू, इसी गांव के 23 वर्षीय जोगेंद्र, बीना (40) पत्नी महावीर, महेंद्र (44) शामिल हैं। इसके अलावा फूलदेवी पत्नी महेंद्र, उसकी 17 वर्षीय बेटी पूजा देवी, 8 वर्षीय बेटा गौरव, गांव के राजेन्द्र साहनी (37) मामूली चोटहिल हैं।



कांग्रेसियों ने मौन प्रतिवाद व्रत किया

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद । गांधी पार्क पर जिला अध्यक्ष बिजेद्र यादव के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने मौन प्रतिवाद व्रत किया ।
उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की अनैतिक गिरफ्तारी के विरोध में राष्ट्रीय महासचिव उत्तर प्रदेश प्रभारी श्रीमती प्रियंका गांधी के आह्वान पर जिला अध्यक्ष बिजेद्र यादव के नेतृत्व मे आज शनिवार को राष्ट्र पिता महात्मा गांधी की प्रतिमा लोहिया नगर पर प्रदेश सरकार के खिलाफ सांकेतिक मौन प्रतिवाद व्रत किया। कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की रिहाई के लिए मौन प्रतिवाद व्रत किया । मौन व्रत जिला कांग्रेस व महानगर कांग्रेस कमेटी के संयुक्त तत्वधान में किया । प्रदेश महासचिव व गाजियाबाद जिला प्रभारी विदित चौधरी मुख्य रुप से प्रतिवाद व्रत में शामिल रहे ।
महानगर अध्यक्ष मनोज कौशिक, पूर्व विधायक हरेद्र अग्रवाल, पूर्व प्रदेश सचिव डा सजीव शर्मा, पूर्व महानगर उपाध्यक्ष सलीम अहमद (सैफी ) पीसीसी सदस्य अनीस खान, एन एस यू अध्यक्ष राहुल शर्मा, मनोज चौधरी, पार्षद दल नेता जाकिर अली, हाजी रियायत अली, उमा शकर शर्मा, राजा राम भारती, अलीमुद्दीन कसार, हनीफ चीनी, श्रीपाल सिह, अभय त्यागी राजू, चौधर विरेद्र सिह, शिवदत्त, राकेश कुमार, कमल मावी, जितेंद्र गौड, अनुज तैवतिया, रिषि पाल धिगाना, सेवा दल अध्यक्ष मागे राम त्यागी, त्रिलोक सिह आदि मौजूद रहे ।


रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन के आदेश

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश समेत पूरे भारत में कोरोना की वजह से हर कोई त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रहा हैं। कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या में तेजी से इज़ाफा हो रहा हैं, जिसकी वजह से मुजफ्फरनगर प्रशासन ने एक अहम फैसला लिया हैं। रविवार को मुजफ्फरनगर में संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा। रविवार को सभी प्रकार के व्यापारिक प्रतिष्ठान, दुकाने, होटल, मॉल और रेस्टोरेंट आदि बंद रहेंगे। वहीं सभी प्रकार का आवागमन पर भी प्रतिबंध रहेगा। इसकी पुष्टी एडीएम फाइनेंस आलोक कुमार ने की हैं। बता दे कि कोरोना वायरस के कहर के कारण पहले भी देशव्यापी लॉकडाउन किया गया था। लेकिन 31 मई के बाद से अनलॉक कर दिया गया और छूट दी गई, जिसकी वजह से लोगों ने बाजार में आना शुरू कर दिया और फिर बाजार में भारीं संख्या में लोगों की भीड़ देखी गई। जनपद में शुक्रवार को 19 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आने से प्रशासन में हड़कंप मच गया। जिसको देखते हुए प्रशासन ने रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन करने के आदेश जारी किए हैं। मुजफ्फरनगर में अब कुल 83 एक्टिव केस हैं।


सीएम का हस्तक्षेप, विधायक के तेवर ठंडे

शिमला। बीजेपी के संगठन मंत्री पवन राणा पर सीधे-सीधे हमलावर रूख अपनाने वाले ज्वालामुखी के विधायक रमेश धवाला  कुछ घंटों के अंतराल में ही ठंडे पड गए हैं। सीएम जयराम ठाकुर से बीती रात मुलाकात के बाद बैकफुट पर आए धवाला ने पार्टी को सौंपे एक पत्र में कहा है कि बीती 11 जून को मीडिया के समक्ष भावुकता में आकर कुछ बातों का जिक्र किया था,जिसके प्रति वह खेद प्रकट करते हैं।  साथ ही उन्होंने संगठन और सरकार की मजबूती के लिए सहयोग की बात कही है।


संगठन-सरकार की मजबूती के लिए हमेशा अपना सहयोग देंगे


धवाला ने पत्र में लिखा है कि ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्रसे चार बार विधायक चुनकर आए हैं और संगठन के समर्पित कार्यकर्ता हैं। उनकी संगठन व सरकार को कोई भी नुकसान पहुंचाने की मंशा नहीं थी। उन्होंने हमेशा संगठन को मजबूत करने के लिए अपना भरसक सहयोग दिया है। जो उनके कुछ विषय थे, उनके बारे उन्होंने सीएम जयराम ठाकुर के समक्ष अपना पक्ष रखा है। सीएम ने आश्वासन दिया है कि उनके द्वारा उठाए विषयों की संगठन के अंदर चर्चा कर उनके समाधान का प्रयत्न किया। धवाला ने कहा कि संगठन और सरकार को मजबूत करने के लिए हमेशा अपना सहयोग देता रहा हूं और आगे भी देता रहूंगा। संगठन का समर्पित कार्यकर्ता होने के नाते भावुकता में पूर्व में दिए गए अपने बयानों पर खेद प्रकट करता हूं।


रक्षा मंत्री सिंह ने बैठक कर समीक्षा की

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुखाें के साथ पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पिछले एक महीने से भी अधिक समय से चले आ रहे गतिरोध के कारण उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की। लद्दाख के मुद्दे पर रक्षा मंत्री की चीफ आफ डिफेंस स्टाफ और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ एक सप्ताह में यह दूसरी बैठक है। इससे पहले उन्होंने गत 8 जून को भी इन अधिकारियों के साथ बैठक कर स्थिति का जायजा लिया था।


सूत्राें के अनुसार आज की बैठक में जमीनी हालातों के साथ मौजूदा स्थिति पर चर्चा की गयी। सैन्य अधिकारियों ने रक्षा मंत्री को वस्तु स्थिति और सेना की तैयारियों से अवगत कराया। बैठक में आगे की रणनीति पर भी चर्चा की गयी। दोनों सेनाओं के बीच गत 6 जून को चीन की चुशूल मोल्डो सीमा चौकी पर लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की वार्ता हुई थी। इसके बाद बुधवार को भी दोनों पक्षाें के बीच मेजर जनरल स्तर की बातचीत हुई। इस बीच सूत्रों के अनुसार चीनी सेना ने सिक्किम और अरूणाचल प्रदेश से लगती सीमा पर भी सैनिकों का जमावड़ा बढा दिया है।


छत्तीसगढ़ः वायरस के खिलाफ कमर कसी

रायपुर। कोरोना से पूरा देश लड़ रहा है। कोरोना को लेकर जगह-जगह आइसोलेशन वार्ड बनाए जा रहे हैं। इस जंग में रेलवे ने भी संक्रमित मरीजों की जिंदगी बचाने के लिए 55 कोच को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया गया है। कोरोना वायरस के संक्रमण से पीड़ित रोगियों की संख्या में वृद्धि होने पर इन कोचों का उपयोग किया जाएगा। इसके लिए इन कोचों को सैनिटाइज करके मेडिकल इक्विपमेंट्स लगाकर आइसोलेशन वार्ड में परिवर्तित कर दिया गया है। इसके साथ ही क्वारंटाइन सेंटर भी बनाया गया है।
ज्ञात हो कि रायपुर रेलवे मंडल के अंतर्गत 55 कोच में कुल 440 आइसोलेशन वार्ड तथा रेलवे के कम्युनिटी सेंटर, रेलवे इंस्टीट्यूट और आरपीएफ बैरक में क्वारंटाइन सेंटर के 122 बेड बनाए गए हैं। रेलवे द्वारा कोच में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में मुख्य रूप से दो शौचालयों को फर्श लगाकर स्नान कक्ष में बदला गया। स्नान कक्ष में हैंड शॉवर, एक बाल्टी और मग रखे गए हैं। मिडिल बर्थ को हटा दिया गया है। अलग-अलग पार्टिशंस, चार बोटल होल्डर्स लगाए गए हैं


नेहरू स्टेडियम को दोबारा बनाने का निर्णय

नई दिल्ली। केंद्रीय खेल मंत्रालय ने दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम को दोबारा से बनाने का फैसला किया है। खेल मंत्रालय इस स्टेडियम की रूप रेखा बदलने के लिए इस पर 8000 करोड़ रुपये खर्च करने वाला है, जिससे कि ये स्टेडियम विश्व स्तर का बनेगा।इस बात को लेकर खेल मंत्रालय का कहना है कि इस स्टेडियम को इस तरह से तैयार किया जाएगा। जो भविष्य में ओलंपिक और अन्य बड़ी अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं की मेजबानी कर सके। स्टेडियम का पुनर्विकास करने का सुझाव नीति आयोग ने खेल मंत्रालय को दिया है। खेल मंत्रालय ने पांच सदस्यीय परामर्श टीम के गठन की सिफारिश की है, जिसमें एक खेल बुनियादी ढांचा प्रबंधन विशेषज्ञ शामिल होगा। देश की राजधानी दिल्ली के अलावा अहमदाबाद के मोटेरा में एक विश्व स्तरीय क्रिकेट स्टेडियम बन चुका है, जिसमें अन्य सुविधाएं भी शामिल हैं।


वायरस ने चीन में जमाई है अपनी जड़

बीजिंग। 56 दिनों के अंतराल के बाद गुरुवार (11 जून) को कोविड-19 का पहला मामला समाने आया था। शुक्रवार (12 जून) को दो और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। इसके साथ ही बीजिंग के अधिकारियों की चिंताएं बढ़ गई हैं, क्योंकि स्थानीय स्तर पर संक्रमित आखिरी मरीज को नौ जून को अस्पताल से छुट्टी देने के बाद शहर सामान्य जनजीवन की ओर लौट रहा था।फेंगताई जिले के उपाध्यक्ष झांग जेइ ने मीडिया को बताया कि दोनों संक्रमित जिले के चाइना मीट फूड रिसर्च सेंटर के कर्मचारी हैं। बीजिंग में लगातार तीन दिनों में दो मामले आने से शहर में चिंता बढ़ गई है क्योंकि सरकार ने गत महीनों शहर को अपेक्षाकृत अलग-थलग रखा था। सरकार ने यह सुनिश्चित किया था कि कोई अंतरराष्ट्रीय उड़ान या विदेश में फंसे चीनी नागरिकों को वापस लेकर आ रहे विमान बीजिंग में नहीं उतरे। सभी उड़ानों को अन्य शहरों की ओर मोड़ा गया और 14 दिनों के पृथक-वास सहित जांच अनिवार्य बनाया गया।


निलंबित आईपीएस की मुश्किलें बढ़ाई

रायपुर। निलंबित आईपीएस अफसर मुकेश गुप्ता की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है। हाईकोर्ट ने उनकी एक और याचिका खारिज कर दी है, जिसमें उन्होंने एमजीएम अस्पताल को लेकर ईओडब्ल्यू में दर्ज प्राथमिक रिपोर्ट को खारिज करने की मांग की थी। हाईकोर्ट ने उसकी यह याचिका खारिज कर दिया है। एमजीएम अस्पताल के प्रबंधकों जिनमें ईओडब्ल्यू ने आईपीएस मुकेश गुप्ता, उनके पिता जयदेव गुप्ता और डॉ दीपशिखा अग्रवाल को आरोपी बनाते हुए अपराध क्रमांक 18/2020 दर्ज किया था। ईओडब्ल्यू में दर्ज इस रिपोर्ट में आरोप है कि सरकार से इस अस्पताल को तीन करोड़ रुपए ऑपरेशन के लिए दिए गए पर इस प्रबंधन ने इसका उपयोग लोन चुकाने में कर दिया। हाईकोर्ट जस्टिस गौतम भादुड़ी ने इस याचिका की सुनवाई की थी। इस पर फैसला बीते 9 जून को रिज़र्व कर दिया गया था, जो कि आज सार्वजनिक किया गया है।


वायरस ने अफरीदी को चपेटे में लिया

इस्लामाबाद। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद आफरीदी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। पूर्व क्रिकेटर शाहिद आफरीदी ने कोरोना टेस्ट करवाया था। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि लोग मेरे जल्द ठीक होने की दुआ करें।


आफरीदी ने ट्वीट किया कि मैं गुरुवार से अस्वस्थ महसूस कर रहा हूं। मेरा शरीर बुरी तरह से दर्द कर रहा था। मेरा कोरोना का टेस्ट हुआ और दुर्भाग्य से रिपोर्ट पॉजिटिव आई। शीघ्र स्वस्थ होने के लिए दुआ की आवश्यकता है। कोरोना वायरस के बाद से ही आफरीदी पाकिस्तान में लगातार गरीबों और जरूरतमंदों की मदद कर रहे थे। वो अपनी टीम के साथ पाकिस्तान के अलग-अलग इलाकों में राहत सामग्री पहुंचा रहे थे। अपनी तूफानी बल्लेबाजी के लिए जाने जाने वाली आफरीदी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। वह अपने बयानों को लेकर भी सुर्खियों में बने रहते हैं। आफरीदी ने बीते दिनों कश्मीर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ विवादित टिप्पणी की थी, जिसके बाद पूर्व भारतीय खिलाड़ियों युवराज सिंह और हरभजन सिंह ने उनसे संबंध तोड़ लिया था। शाहिद अफरीदी ने कहा था कि कोरोना से बड़ी बीमारी मोदी के दिल और दिमाग में हैं और वह बीमारी मजहब की बीमारी है। उस बीमारी को लेकर वह सियासत कर रहे हैं और हमारे कश्मीर कश्मीरी भाई-बहनों और बुजुर्गों के साथ जुल्म कर रहे हैं. उन्हें इसका जवाब देना होगा।


गरीब बन जाएंगे 1 अरब से ज्यादा लोग

नई दिल्ली/लंदन। कोरोना संक्रमण से पूरी दुनिया को बड़ा झटका लगेगा। अब ऐसा कहा जा रहा है कि इससे ग्लोबल ग्रोथ रेट के धराशायी होने और बड़े पैमाने पर गरीबी बढ़ने की आशंका और गहरा गई है। अब एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया भर में एक अरब से ज्यादा लोग भयंकर गरीबी में फंस सकते हैं। गौरतलब, दुनिया में मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। कोरोना संक्रमितों की संख्या अब 3 लाख से ज्यादा हो चुकी है।

ग्लोबल गरीबी का नया चेहरा

किंग्स कॉलेज लंदन और ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी ने यूनाइटेड नेशन यूनिवर्सिटी वर्ल्ड इंस्टीट्यूट फॉर डेवलपमेंट इकोनॉमिक रिसर्च (UNU-WIDER) के साथ मिल कर जो पेपर प्रकाशित किया है उसके मुताबिक मध्य आय वाले विकासशील देशों में गरीबी बेहद तेजी से बढ़ सकती है। इससे ग्लोबल गरीबी का एक नया चेहरा सामने आ सकता है।

 इस पेपर में गरीबी बढ़ने को लेकर जो अनुमान लगाए गए हैं उसके मुताबिक दक्षिण एशिया के देशों में मौजूद 40 करोड़ गरीबों में और 20 करोड़ लोग जुड़ सकते हैं। दुनिया में गरीबी की रेखा 1.90 डॉलर प्रति दिन की कमाई है। इसमें 20 फीसदी की और गिरावट आ सकती है। इस तरह से देखें तो भारत जैसे दक्षिण एशियाई देश इससे सबसे ज्यादा प्रभावित नजर आते हैं। भारत में आबादी ज्यादा है और इसका काफी बड़ा गिस्सा गरीबी में फंसा है। कोरोना संक्रमण इस गरीबी में और इजाफा कर सकता है। इसके बाद अफ्रीकी देशों के गरीबों की तादाद बढ़ सकती है। यहां भयंकर गरीबी में और 11 करोड़ से ज्यादा लोग फंस सकते हैं।

भारत की स्थिति नाजुक

इस अध्ययन में कहा गया है कि कोविड-19 की वजह से पूरी दुनिया के गरीबों का 50 करोड़ डॉलर की कमाई का नुकसान हो रहा है। भारत में कोरोनावायरस संक्रमण से रुकी आर्थिक गतिविधियों की वजह से आर्थिक विकास दर को गहरा झटका लगने का अंदेशा है। उत्पादन में गिरावट की वजह से रोजगार सेक्टर की ग्रोथ लगभग खत्म हो गई है। नई नौकरियां पैदा होने की रफ्तार बेहद धीमी है। ऐसे में भारत में ज्यादा लोग गरीबी के चंगुल में फंस सकते हैं।

हर हाल में हो दोषियों पर कार्रवाई

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के जौनपुर और आजमगढ़ जिलों में दलितों के साथ हुए अत्याचार पर मायावती ने चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा है कि दोषी चाहे किसी भी धर्म और जाति का क्यों न हो उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई हो।

 मायावती ने तोड़ी चुप्पी 

मायावती ने ट्वीट किया, यूपी में चाहे आजमगढ़, कानपुर या अन्य किसी भी जिले में खासकर दलित बहन-बेटी के साथ हुए उत्पीड़न का मामला हो या फिर अन्य किसी भी जाति व धर्म की बहन-बेटी के साथ हुए उत्पीड़न का मामला हो, उसकी जितनी भी निंदा की जाये, वह कम है।

 मायावती ने कहा कि चाहे इसके दोषी किसी भी धर्म, जाति व पार्टी के बड़े से बड़े नेता व कितने भी प्रभावशाली व्यक्ति क्यों ना हो, उनके खिलाफ फौरन और सख्त कानूनी कार्रवाई होनी चहिए. बीएसपी का यह कहना व सलाह भी है।

बसपा प्रमुख ने कहा कि खासकर अभी हाल ही में आजमगढ़ में दलित बेटी के साथ हुए उत्पीड़न के मामले में कार्रवाई को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री देर आए पर दुरुस्त आए, यह अच्छी बात है। लेकिन बहन-बेटियों के मामले में कार्रवाई आगे भी तुरन्त व समय से होनी चाहिये तो यह बेहतर होगा।

चीन सीमा पर हालात नियंत्रणः जनरल मुकुंद

देहरादून। भारतीय सैन्य अकादमी (आइएमए) की पासिंग आउट परेड में शनिवार को बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे सेना प्रमुख जनरल मुकुंद नरवणे ने कहा कि चीन सीमा पर हालात नियंत्रण में हैं।


सेना प्रमुख ने कहा, कि वे पूरे देश को भरोसा देना चाहते हैं कि चीन के साथ बॉर्डर पर हालात नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि चीन के साथ कई स्तर पर बातचीत चल रही है। जिसकी शुरुआत कमांडर लेवल वार्ता से हुई, इसके बाद दोनों पक्षों के बीच कमांडर लेवल की बातचीत हुई है उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है । नेपाल के मुद्दे पर सेना प्रमुख ने कहा, “हमारे नेपाल के साथ संबंध बहुत मजबूत हैं। हमारे नेपाल के साथ सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और धार्मिक संबंध हैं। हमारे नेपाल से संबंध हमेशा मजबूत रहे हैं और भविष्य में मजबूत रहेंगे।


वायु सेना- 14 जुलाई तक करें आवेदन

ऑनलाइन आवेदन करें: – AFCAT परीक्षा 2020 आवेदन फॉर्म जमा करने की प्रक्रिया Air force की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से शुरू।


नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना ने ग्रेजुएट/ B.E./B.Tech उम्मीदवारों से IAF AFCAT (02/2020) के पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किया है जो भारतीय वायु सेना एएफसीएटी (02/2020) के लिए आवेदन कर सकते हैं। भारतीय वायु सेना ने ग्राउंड ड्यूटी (तकनीकी और गैर-तकनीकी) शाखाओं में फ्लाइंग ब्रांच और परमानेंट कमीशन (PC) और शॉर्ट सर्विस कमीशन (एसएससी) में भर्ती के लिए AFCAT 02/2020 अधिसूचना जारी की है। जो उम्मीदवार आवेदन करना चाहते हैं, वे विवरण पढ़ सकते हैं और नीचे आधिकारिक अधिसूचना देख सकते हैं। उम्मीदवार 15 जून 2020 से 14 जुलाई 2020 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।


भारतीय वायु सेना AFCAT (02/2020) अधिसूचना


पोस्ट नाम: AFCAT Entry (वायु सेना कॉमन एडमिशन टेस्ट) 02/2020
रिक्ति संख्या : 234
वेतनमान : 56100 – 110700 / – (लेवल -10)


पोस्ट नाम: NCC Special Entry
रिक्ति संख्या : निर्दिष्ट नहीं
वेतनमान : 56100 – 110700 / – (लेवल -10)


पोस्ट नाम: Meteorology Entry
रिक्ति संख्या :22
वेतनमान : 56100 – 110700 / – (लेवल -10)


AFCAT परीक्षा 2020 के लिए पात्रता मानदंड



शैक्षणिक योग्यता- कैरियर एयरफोर्स 2020 आवेदन फॉर्म के तहत कई पद हैं और प्रत्येक पद के लिए योग्यता भी अलग है-


फ्लाइंग शाखा – उम्मीदवारों ने न्यूनतम 60% के साथ किसी भी विषय में स्नातक किया होगा और उन्हें भौतिक विज्ञान और गणित भी 10 + 2 स्तर चाहिए या B.E/ B tech होना चाहिए या Aeronautical society of India की Section A & B परीक्षा में न्यूनतम 60% के साथ चाहिए।


ग्राउंड ड्यूटी (टेक्निकल) – आवेदक ने 10 + 2 स्तर पर भौतिकी और गणित के साथ न्यूनतम 60% अंकों के साथ किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री या चार साल का स्नातक या प्रौद्योगिकी में स्नातकोत्तर या Aeronautical society of India की Section A & B परीक्षा में न्यूनतम 60% के साथ चाहिए।


ग्राउंड ड्यूटी (गैर तकनीकी) – NCC Air Wing Senior Division ’C’ certificate and Other Details as per Flying Branch Eligibility


NCC Special Entry:


AFCAT परीक्षा 2020 की आयु सीमा (01.07.2021 को)-



  • फ्लाइंग शाखा- 20 से 24 साल

  • ग्राउंड ड्यूटी (तकनीकी/गैर तकनीकी) – 20 से 26 साल

  • NCC Special Entry: 20 से 24 साल


एयर फाॅर्स ट्रेनिंग 2020 समय अवधि: –



  • फ्लाइंग ड्यूटी शाखाएं: – 74 सप्ताह

  • ग्राउंड ड्यूटी तकनीकी शाखा: 74 सप्ताह

  • ग्राउंड ड्यूटी गैर तकनीकी शाखा: 52 सप्ताह


आवेदन कैसे करें: पात्र उम्मीदवा भारतीय वायु सेना की वेबसाइट (सीधे लिंक नीचे दिया गया है) पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।


इच्छुक उम्मीदवार वेबसाइट https://careerindianairforce.cdac.in या https://afcat.cdac.in फॉर्म के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।


AFCAT 2020 के लिए महत्वपूर्ण तिथियां


ऑनलाइन आवेदन जमा करने की तिथि: 15 जून 2020
ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि: 14 जुलाई 2020


परीक्षा की तिथि : 19 और 20 सितंबर 2020


महत्वपूर्ण लिंक:


विज्ञापन लिंक- http://careerairforce.nic.in/tview3.asp?link_temp_id=583&lid=248
ऑनलाइन आवेदन करें – https://afcat.cdac.in/AFCAT/


AFCAT 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के निर्देश



  • शुरूआत में careerairforce की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं

  • वहां आपको AFCAT 2020 आवेदन पत्र के लिए लिंक होना चाहिए।

  • उस लिंक में दर्ज करें और सभी आवश्यक विवरण भरें जो आवेदन पत्र में पूछ रहे हैं

  • सभी संबंधित दस्तावेजों को स्कैन करें और AFCAT 2020 के लिए आवेदन शुल्क का भुगतान करें।

  • सबमिट बटन पर क्लिक करें और भविष्य में उपयोग के लिए उसी का प्रिंटआउट लें।


AFCAT 2020 प्रवेश पत्र कार्ड- AFCAT 2020 आवेदन पत्र भरने के पूरा होने के बाद AFCAT के लिए प्रवेश पत्र आधिकारिक प्राधिकारी द्वारा जारी किया जाएगा।


चयन प्रक्रिया: चयन लिखित परीक्षा, फिजिकल टेस्ट पर आधारित होगा।


आवेदन शुल्क: AFCAT एंट्री 250 / – डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, ई चालान के माध्यम से परीक्षा शुल्क का भुगतान करें, एनसीसी स्पेशल एंट्री के लिए NO शुल्क


AFCAT परिणाम 2020: परिणाम आधिकारिक पोर्टल पर प्रशासन द्वारा चरण के अनुसार घोषित किया जाएगा।


वायरस की जद में कई मंत्रालय और विभाग

नई दिल्ली। अब कोरोना की चपेट में मंत्रालय और सरकारी विभाग भी आ रहे हैं। जानकारी मिली है कि श्रम मंत्रालय के 24 अधिकारी और कर्मचारी कोरोना पॉज़ीटिव पाए गए हैं। इसके अलावा  जल संसाधन मंत्रालय में एक और ऊर्जा मंत्रालय में भी एक कोरोना पॉज़िटिव मिला है। इन मामलों के मिलने के बाद श्रम शक्ति भवन को दो दिनों के लिए बंद किया गया है। पूरी बिल्डिंग का सैनिाइजेशन किया जा रहा है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार इन पॉजिटिव के संपर्क में आए सभी कर्मचारियों पर कोविड-19 का हाई रिस्क माना जा रहा है, ऐसे में इन सभी को अगले सात दिनों के लिए होम क्वारनटाइन के निर्देश दिए गए हैं।


डीजल-पेट्रोल के मूल्य में लगातार वृद्धि

नई दिल्ली। शनिवार को पेट्रोल की कीमत में 59 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमतों में 58 रुपये प्रति लीटर की बढ़त देखने को मिली। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार 7वें दिन बढ़ोतरी देखने को मिली है।दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें 74.57 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 75.16 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं जबकि डीजल की कीमतें 72.81 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 73.39  रुपये प्रति लीटर हो गई हैं। यह जानकारी सरकारी ऑयल मार्केट कंपनियों के प्राइस नोटिस पर आधारित है।पूरे देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ी है। हालांकि यह बढ़त अलग-अलग राज्यों में लागू स्थानीय अथवा वैट टैक्स की वजह से अलग-अलग हो सकती है। पेट्रोल और डीजल की कीमत देश की राजधानी दिल्ली में आज 1 लीटर पेट्रोल की कीमत 75.16 रुपये है। वहीं 1 लीटर डीजल की कीमत 73.39 रुपये प्रति लीटर पर है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में अब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत बढ़कर 82.10 रुपये हो गई है। वहीं 1 लीटर डीजल के दाम 72.03 रुपये प्रति लीटर पर आ गए हैं। बात करें अगर कोलकाता की तो एक 1 लीटर पेट्रोल की कीमत 77.05 रुपये है। वहीं 1 लीटर डीजल के दाम 69.23 रुपये प्रति लीटर पर है। चेन्नई में अब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत 71.64 रुपये है। वहीं 1 लीटर डीजल 78.99 रुपये प्रति लीटर पर है।


नबाम निर्विरोध निर्वाचित किये घोषित

ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश से राज्यसभा के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नबाम राबिया शुक्रवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किये गये। निर्वाचन अधिकारी कागो हाबुंग ने नबाम राबिया का नामांकन पत्र वैध पाये जाने के बाद उनके निर्विरोध निर्वाचन की घोषणा की।


राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनाव के लिए नामाकंन भरने वाले वह एकमात्र उम्मीदवार थे। नबाम राबिया के निर्वाचन की घोषणा के दौरान विधानसभा अध्यक्ष पी डी सोना, मुख्यमंत्री पेमा खांडू, राज्य के मंत्री, विधायक एवं अन्य मौजूद थे।


सरकार विरोधी पोस्ट,आईएएस पर मामला

लखनऊ। सेवानिवृत्त आईएएस डा. सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ सोशल मीडिया पर सरकार विरोधी पोस्ट करने के मामले में लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। यह रिपोर्ट सचिवालय चौकी प्रभारी सुभाष सिंह ने दर्ज कराई है।


पुलिस के मुताबिक सूर्य प्रताप ने बुधवार को एक ट्वीट किया था। इसमें कोविड-19 से निपटने को बनाई टीम-11 की बैठक के बाद मुख्य सचिव द्वारा जिलाधिकारियों को अधिक कोरोना टेस्ट करने पर टोके जाने का जिक्र था। पूर्व आईएएस ने मुख्य सचिव के हैण्डल को टैग कर यह ट्वीट किया था। इसमें कोरोना से निपटने को यूपी की नो टेस्ट-नो कोरोना का जिक्र भी था। इंस्पेक्टर हजरतगंज अंजनी कुमार पाण्डेय ने बताया कि महामारी अधिनियम व दुष्प्रचार करने की धारा में रिपोर्ट दर्ज कराई है। कर्मचारी नेता सलमान जमीर ने बताया कि मूलतः बुलंदशहर के रहने वाले डा. सूर्यप्रताप नैनीताल, बरेली, मुज़फ्फरनगर व बदायूं के जिलाधिकारी भी रहे। उन्होंने उर्दू लिखना -पढ़ना बरेली में सीखा। बरेली में उनके कार्यकाल के दौरन पढ़ो और पढ़ाओ, कुछ कर दिखाओ का नारा सरकारी कर्मचारी /अधिकारी, जन प्रतिनिधियों के बीच खूब चर्चित रहा था।


दिल्ली में वायरस ने 'रौद्र' रूप दिखाया

नई दिल्ली। राजधानी में कोरोना संक्रमण ने पिछले 24 घंटों में अब तक का सबसे रौद्र रूप दिखाया और 2137 रिकार्ड नये मामलों से कुल संक्रमितों का आंकड़ा 36 हजार पहुंच गया है। वहीं रिकॉर्ड 71 मरीजों की मौत से मृतकों की संख्या 12 सौ को पार कर गई।


दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार रात जारी आकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 2137 रिकार्ड मामले आए और संक्रमितों की कुल संख्या 36824 पर पहुंच गई। आंकड़ों में मृतक 71 बताये गये हैं और कुल संख्या 1214 बताई गई है। हालांकि, कल के 1085 की तुलना में वायरस से मरने वालों की कुल संख्या में 129 की बढ़ोतरी हुई है।


मंत्रालय के मुताबिक दिल्ली में वायरस से आज 667 मरीज संक्रमण मुक्त हुए और अब तक 13398 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। फिलहाल राजधानी में 22212 मामले सक्रिय हैं। दिल्ली सरकार के मुताबिक 17261 कोरोना मरीज़ों को उनके घरों में ही आइसोलेशन में रखा गया है। अब तक 277436 लोगों की कोरोना की जांच की गई। कंटेन्मेंट जोन की संख्या बढ़कर 222 हो गई। दिल्ली में अस्पतालों में कुल कोरोना बेड 9558 हैं जिसमें से 5361 भरे हुए हैं जबकि 4197 बेड खाली हैं। आईसीयू बेड और वेंटिलेटर कुल 598 हैं जिसमें 345 पर मरीज हैं जबकि 254 रिक्त हैं।


शहीदः अंतिम संस्कार में पहुंचे नेता-मंत्री

मोटाहल्दू। भारतीय सेना की सिक्स कुमाऊँ रेजीमेंट में सूबेदार के पद पर तैनात 38 वर्षीय यमुना प्रसाद पनेरू गुरुवार को जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में पेट्रोलिंग के दौरान शहीद हो गए थे। उनके शहीद होने की खबर मिलते ही पूरे क्षेत्र में मातम पसर गया है उनके यहां अर्जुनपुर गोरापडाव स्तिथ आवाज में दुख प्रकट करने वालों का तांता लगा हुआ है। सिक्स कुमाऊं रेजीमेंट में सूबेदार यमुना प्रसाद कुशल पर्वतारोही थे, वह एवरेस्ट फतह करने वाले सिक्स कुमाऊं रेजिमेंट के पहले फौजी बने इसके अलावा उन्होंने कंचनजंगा, नंदा देवी, के 2 आदि हिम श्रृंखलाओं को आसानी से पार किया था।


उनके परिजनों से प्राप्त जानकारी के अनुसार शहीद यमुना प्रशाद का पार्थिव शरीर श्रीनगर से रवाना हो चुका है और देर शाम तक हल्द्वानी पहुंचने के आसार हैं, खराब मौसम के कारण यहां पहुंचने में काफी दिक्कतें आ रही है, संभवतः रविवार प्रातः उनका सैन्य सम्मान के साथ हल्द्वानी स्थित चित्रशाला घाट में अंतिम संस्कार किया जाएगा। शहीद के घर सांत्वना देने के लिए पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हरेन्द्र बोरा, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, दिनेश खुल्बे के साथ पूर्व सैनिक व हल्द्वानी यूनिट से सैन्य अधिकारी पहुंचे। परिजनों ने यमुना के शहीद होने पर तो नाज किया लेकिन देश के लीडरों से पाकिस्तान को धूल चटाने को भी कहा।


सीएम केजरीवाल से इस्तीफे की मांग की

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को लेकर भाजपा, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आक्रामक है। इसी कड़ी में शनिवार को दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से इस्तीफे की मांग की है।


मनोज तिवारी ने आरोप लगाया है कि नेशनल डिजास्टर मेनेजमेंट एक्ट के प्रावधान के अनुसार दिल्ली के मुख्यमंत्री के पास समुचित निर्णय लेने का अधिकार है, इसके बावजूद मुख्यमंत्री दिल्ली में स्वास्थ्य सबंधी ढांचा खड़े करने के साथ-साथ सभी मोर्चे पर नाकामयाब साबित हुये हैं।



ध्यान रहे इससे पहले शुक्रवार को देश के सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर गंभीर टिप्पणी की थी। इसके बाद भाजपा ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुये कहा था कि कोविड-19 से निपटने में दिल्ली सरकार की सच्चाई बाहर आ गई है। दिल्ली में स्वास्थ्य व्यवस्था बुरी तरह चरमरा गई है और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ‘विफल’ हो गए हैं।


इस बीच देश में कोरोना महामारी ने बेहद गंभीर रुख अख्तियार कर लिया है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार को जारी किये गये आकड़ों के मुताबिक अकेले दिल्ली में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 36,824 हो गई है। इसमें 22,212 लोग अभी भी कोरोना पीड़ित हैं। 13,398 लोग स्वस्थ हो चुके है। वहीं दिल्ली में मरने वालों की संख्या 1,214 हो गई है। उधर देश भर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा तीन लाख के पार हो गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश भर में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 3,08,993 हो गया है।


निपटने के उपायों पर चर्चा करेंगे पीएम

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अगले सप्ताह मंगलवार और बुधवार को राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ इस महामारी से निपटने के उपायों पर चर्चा करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी दो समूहों में राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ दोनों दिन शाम तीन बजे बैठक करेंगे। मंगलवार को 21 तथा बुधवार को 15 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की जायेगी।


प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले सप्ताह मंगलवार और बुधवार को विभिन्न राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा करेंगे। ट्वीट के साथ वीडियो कांफ्रेन्स के माध्यम से होने वाली बातचीत का कार्यक्रम देते हुए यह बताया गया है कि प्रधानमंत्री किस राज्य के मुखिया से किस दिन बात करेंगे।





सीएम योगी की 'माया' ने की सराहना

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश के जौनपुर,आजमगढ़ तथा अन्य जगहों पर दलितों पर एक विशेष समुदाय के लोगों की ओर से हाल में किये गये हमलों की शनिवार को निंदा की और हमलावरों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से की गई कार्रवाई की सराहना की।


एक समुदाय विशेष की ओर से किये गये हम हमलों पर अब तक मायावती की चुप्पी पर राजनीतिक गलियारों में सवाल उठाये जा रहे थे कि वो मुसलमानों के वोट की खातिर कुछ नहीं बोल रही हैं लेकिन उन्होंने शनिवार को एक के बाद एक तीन ट्वीट किये। उन्होंने कहा कि यूपी में चाहे आजमगढ,कानपुर देहात हो या जौनपुर में दलित समाज की बहन बेटियों पर हमले और उनके उत्पीड़न का मामला हो ,इसकी जितनी निंदा की जाय कम है। उन्होंने दूसरे ट्वीट में कहा कि इसके दोषी किसी भी जाति,धर्म सम्प्रदाय के हो या बड़े से बड़ा नेता हो उसे बख्शा नहीं जाना चाहिये । उन सभी के खिलाफ तुरंत कड़ी कार्रवाई होनी चाहिये। मायावती ने तीसरे ट्वीट में कहा कि आजमगढ़ में दलित बेटी के उत्पीड़न पर यूपी के सीएम ने कड़ी कार्रवाई की है,यह अच्छी बात है। वो देर आये लेकिन दुरूस्त आये। बहत बेटियों के उत्पीड़न के मामले में तुरंत और समय से कार्रवाई हो तो बेहतर होगा।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले मंगलवार को जौनपुर में समुदाय विशेष के लोगों की ओर दलितों के घर जलाये जाने पर कड़ी कार्रवाई की और समाजवादी पार्टी के एक नेता समेत 35 लोगों पर गैगेस्टर तथ रासुका के तहत गिरफ्तार कराया।


भूकंपः कई पहलुओं पर शोध जारी

संजीव गुप्ता

नई दिल्ली। पिछले 2 महीने के दौरान दिल्ली-एनसीआर में बार-बार आ रहे भूकंपों की एक बड़ी वजह धरती की सूखती कोख भी है। भूजल स्तर में लगातार आ रही गिरावट से धरती के भीतर स्थित फाल्ट लाइनों का लोड असंतुलित हो रहा है। हालांकि अध्ययन अभी लगातार जारी है। इसके अन्य पहलुओं पर भी शोध चल रही है।

फाल्ट लाइन की एडजस्टमेंट के कारण भी आता है बार-बार भूकंप

गौरतलब है कि धरती का वजूद सात टेक्टोनिक प्लेटों पर टिका है। ये प्लेटें जब आपस में टकराती हैं या धरती के गर्भ में कुछ हलचल होती है तो हमें भूकंप का एहसास होता है। भारत जिस प्लेट पर टिका है उसे इंडो आस्ट्रेलियन प्लेट कहते हैं। बहुत बार भूकंप की वजह इस प्लेट का यूरेशियन प्लेट से टकराना होती है तो बहुत बार भूकंप फाल्ट लाइन की एडजस्टमेंट के कारण भी आता है।

फॉल्ट लाइन ही रहा है भूकंपों की वजह

दिल्ली -एनसीआर के अधिकेंद्र वाले भूकंपों की प्रमुख वजह आमतौर पर फाल्ट लाइन ही रही है। जानकारी के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर में जमीन के नीचे मुख्यतया पांच लाइन दिल्ली-मुरादाबाद, दिल्ली-मथुरा, महेंद्रगढ़-देहरादून, दिल्ली सरगौधा रिज और दिल्ली- हरिद्वार रिज मौजूद है। लॉकडाउन के दौरान आए भूकंपों का अधिकेंद्र इन फाल्ट-लाइन लाइनों के आसपास ही रहा।

भूजल के गिरते स्तर से हो रहा फाल्ट लाइनों का लोड असंतुलित

केंद्र सरकार के निर्देश पर हैदराबाद स्थित राष्ट्रीय भूभौतिकीय अनुसंधान संस्थान (National Geophysical Research Institute) इस दिशा में शोध कर रहा है। प्राथमिक स्तर पर इन भूकंपों की एक वजह भूजल का गिरता स्तर भी सामने आ रहा है। भू वैज्ञानिकों के अनुसार भूजल को धरती के भीतर लोड (भार) के रूप में देखा जाता है। यह लोड फाल्ट लाइनों के संतुलन को बरकरार रखने में मददगार होता है। भूजल के गिरते स्तर से फाल्ट लाइनों का लोड असंतुलित हो रहा है, इसीलिए पिछले दिनों आए भूकंपों की गहराई भी धरती के भीतर अधिकतम 18-20 किलोमीटर तक यानी उस दायरे में रही, जहां अब भूजल नहीं मिलता। दूसरी तरफ एनजीआरआइ के भू वैज्ञानिकों ने उन सभी अनुमानों और आंकलनों को भी भ्रामक करार दिया है जो इन छोटे भूकंपों को किसी बड़्रे भूकंप की आशंका से जोड़ रहे हैं। उनका तर्क है कि पूर्व में ऐसा कोई रिकाॅर्ड नहीं है।

भूकंप मापने का नेटवर्क बढ़ा

इन भू वैज्ञानिकों का यह भी कहना है रिक्टर स्केल पर तीन से चार तक की तीव्रता वाले छोटे भूकंप पहले भी आते रहे हैं, लेकिन इनकी निगरानी नहीं हो पाती थी। वहीं, अब दिल्ली एनसीआर में भूकंप मापने का नेटवर्क विस्तार पा रहा है, इसीलिए एक दो तीव्रता वाले भूकंप भी रिकॉर्ड हो रहे हैं।

भूकंप की अन्य वजहों की पड़ताल जारी

डॉ. विनीत के. गहलोत (मुख्य वैज्ञानिक, एनजीआरआइ) का कहना है कि दिल्ली एनसीआर के भूकंपों को लेकर अध्ययन चल रहा है। भूजल का गिरता स्तर भी एक वजह सामने आ रही है। अन्य कारणों की पड़ताल जारी है। हालांकि इस तरह के शोधपरक अध्ययन में चूंकि वक्त लगता है, लिहाजा निष्कर्ष के लिए अभी इंतजार करना पड़ेगा।

सुप्रसिद्ध कुमाऊंंनी कलाकार का निधन

नई दिल्ली। उत्तराखंड में कुमाऊंनी के सुप्रसिद्ध लोकप्रिय गीतकार, संगीतकार एवं गायक हीरा सिंह राणा का शनिवार तड़के दिल का दौरा पड़ने से यहां निधन हो गया। वह 77 वर्ष के थे। राणा अल्मोड़ा जिले के मानिला गांव के रहने वाले थे और वर्तमान में पूर्वी दिल्ली के विनोद नगर में रहते थे।


लोक गायक वर्तमान समय में राजधानी में गठित कुमाऊंनी, गढ़वाली और जौनसारी भाषा अकादमी के उपाध्यक्ष थे। उनके निधन से देवभूमि के संगीत जगत को अपूरणीय क्षति हुई है। उन्हें लोग हीरदा कुमाऊंनी के नाम से भी पुकारते थे। महज 15 साल की उम्र से पहाड़ की संस्कृति से जुड़कर लोक गीतों की रचना करने वाले राणा का नाम उत्तराखण्ड के प्रमुख गायक कलाकारों में प्रथम पंक्ति में आता है। हीरदा ने रामलीला, पारंपरिक लोक उत्सव और वैवाहिक कार्यक्रमों से अपने गायन का सफ़र शुरू किया और बाद में आकाशवाणी नजीबाबाद, दिल्ली, लखनऊ ही नहीं अपितु देश-विदेश में भी अपनी बेहद सुरीली आवाज में पहाड़ी लोक गीतों की धाक जमायी है। उनका अंतिम संस्कार आज निगम बाेध घाट पर किया जाएगा।


बहू की रिपोर्ट पॉजिटिव, मचा हड़कंप

रुद्रपुर। बीते दिनों शहर के एक प्रतिष्ठित उद्योगपति की पुत्रवधू की प्राईवेट लैब में कोरोना जांच रिपोर्ट पाॅजिटिव आने से हड़कम्प मच गया था। अब स्वास्थ्य विभाग द्वारा भेजे गये सैंपलों में उक्त महिला सहित परिवार के अन्य 17 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जिससे परिजनों ने राहत की सांस ली है। बता दें 11 जून को शहर के प्रतिष्ठित उद्योगपति के घर में कोरोना की दस्तक की खबर से शहर में हड़कम्प मच गया था। उद्योगपति की पुत्रवध को सांस में तकलीफ और बुखार की शिकायत थी। जिस पर परिजनों ने प्राइवेट लैब से उनका कोरोना टेस्ट कराया था। जिसमें उनकी रिपोर्ट पाॅजिटिव निकली। जिसके बाद आनन फानन में स्वास्थ्य विभाग ने उद्योगपति के परिवार समेत 17 लोगों के सैंपल लिए थे और पुत्रवधू को जिंजर होटल में आइसोलेट कर दिया था। स्वास्थ्य विभाग ने महिला सहित 17 लोगों के सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे थे। आज वहां से आई रिपोर्ट में उद्योगपति की पुत्रवधू समेत 17 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जिसके बाद परिजनों समेत शहर वालों ने राहत की सांस ली है। वहीं उद्योगपति के परिवार ने पूर्व मंे जांच रिपोर्ट पाॅजिटिव बताने वाले प्राईवेट संचालक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


 जून 14, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-306 (साल-01)
2. रविवार, जूूून 14, 2020
3. शक-1943, अषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि-नवमी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:36,सूर्यास्त 07:28।


5. न्‍यूनतम तापमान 24+ डी.सै.,अधिकतम-40+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


सैन्य गठजोड़ ने क्षेत्र पर सवालों को जन्म दिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। चीन के खिलाफ अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य गठजोड़ ने प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर ने सवालों को जन्म ...