गुरुवार, 2 जनवरी 2020

'शहीद का शव' देख पत्नी ने दी जान

रांची। झारखंड से एक द‍िल दहलाने वाली खबर आई है। यहां एक गांव में जब त‍िरंगे में ल‍िपटकर सैन‍िक का शव पहुंचा तो उसकी पत्नी अपने होश नहीं संभाल सकी और उसने कुएं में छलांग लगाकर जान दे दी। यह दर्दनाक घटना झारखंड के रांची ज‍िले की है।


झारखंड में रांची के बहेरा टोली गांव में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। मनीता उरांव के पति बजरंग उरांव फौज में थे। जानकारी के अनुसार और जम्मू कश्मीर में ही 30 दिसंबर को बजरंग की गिरकर मौत हो गई थी।


सैनिक का शव गांव पहुंचते ही सैनिक की पत्नी ने कुएं में छलांग लगा दी। सैनिक की पत्नी की भी मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार, बजरंग उरांव जम्मू कश्मीर में पोस्टेड थे। 30 दिसंबर को बजरंग उरांव की अचानक गिर जाने के बाद मौत हो गई थी। एक जनवरी को सैनिक बजरंग उरांव का पार्थिव शरीर गांव पहुंचा था लेकिन इस दुख को उनकी पत्नी नहीं झेल पाई और कुएं में कूदकर जान दे दी।


नए अध्यादेश पर योगी ने लगाई रोक

संतकबीरनगर। उत्तर प्रदेश बुनकर सभा की आवश्यक बैठक खलीलाबाद के अन्सार टोला में जिला अध्यक्ष हाजी इमामुद्दीन अंसारी की अध्यक्षता मे हुई। बैठक मे बुनकरो ने जिला अध्यक्ष हाजी इमामुद्दीन अंसारी का माल्यार्पण कर, मिठाई खिला कर खुशी का इजहार किया।
बैठक को संबोधित करते हुए हाजी इमामुद्दीन ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी के विधान परिषद सदस्य अशोक धवन, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने हमारी समस्याओं को सुना और प्रदेश सरकार ने बुनकरो की बात सुनकर नये अध्यादेश पर रोक लगाई।
श्री अंसारी ने कहा सरकार गरीब बुनकरों से चाहती है कि पॉवरलूम का कारोबार तरक्की करे और बुनकरों के सामाजिक हालात बेहतर हों, सरकार के ऊपर अधिक बोझ भी न हो और बुनकर भी खुशहाल रहे। ज्ञात हो कि बुनकरों के 2006 के बिजली बिल, फ्लैट रेट के आदेश को निरस्त करते हुए 4 दिसम्बर को नया आदेश जारी कर दिया था, और नए आदेश से प्रदेश भर के बुनकरों में हड़कंप मच गया था बीते 28 और 29 दिसम्बर को बुनकरों ने बनारस और गोरखपुर में प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी जी की मुलाकात करके अपनी परेशानी से अवगत कराया था।


इसके अलावा बुनकरों के प्रतिनिधि मंडल ने 30 और 31 दिसम्बर को लखनऊ में संसदीय कार्य मंत्री और हथकरघा मंत्री से भी मुलाकात की और शाम को फिर लोकभवन में मुख्यमंत्री से मिलकर अपनी समस्या बताई। इन सभी भागदौड़ का नतीजा रहा कि मेहनत रंग लाई, हुआ यह कि 31 दिसम्बर की शाम तक सरकार ने अपने आदेश दिनांक 04 दिसम्बर वाले आदेश को वापस ले लिया और स्थायी रोक लगा दी । ये जानकारी बुनकर सभा के जिला अध्यक्ष हाजी इमामुद्दीन अंसारी ने दी है। हाजी इमामुद्दीन अंसारी ने कहा कि उत्तर प्रदेश बुनकर सभा के प्रदेश अध्यक्ष हाजी इफ्तिखार अन्सारी, अकिल अहमद बनारस, हाजी मनजूर अहमद अन्सारी बनारस रईसूददीन अन्सारी मेरठ, हाजी राजू अन्सारी गोरखपुर, तफजूल हुसेन अन्सारी बाराबंकी, फखरुद्दीन अन्सारी मऊ, आदि के संघर्ष से यह काम मुमकिन हुआ है बैठक में श्री अंसारी ने जिला प्रशासन का भी आभार व्यक्त किया कि हमारी बात सरकार तक पहुंचाई, बैठक मे मुख्य रूप से मो0 इलियास अंसारी, मो0 जमा अंसारी, कौशर अली अंसारी, सेराज अंसारी, अनवर अंसारी, हिमायतुललाह अन्सारी, योगेश प्रसाद वर्मा, सरफुद्ववजा अंसारी, वसी अंसारी, नियाज अन्सारी आदि मौजूद रहे ।बैठक का संचालन बुनकर नेता रमाशंकर पासवान ने किया।


अयोध्या मामलाः गृह-मंत्री ने बनाई डेस्क

नई दिल्ली। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के आए फैसले के करीब दो महीने बाद केंद्र सरकार ने इससे संबंधित सभी मामले को देखने के लिए एक अलग से डेस्क बनाई है। इसकी अध्यक्षता अडिशनल सेक्रटरी स्तर के अधिकारी करेंगे। गृह मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि अयोध्या मामले और कोर्ट के फैसलों से जुड़े मामले को तीन अधिकारी देखेंगे। इस टीम का नेतृत्व अडिशनल सेक्रटरी ज्ञानेश कुमार करेंगे। अयोध्या से संबंधित सभी मामलों को देखेगी नई डेस्क
अयोध्या विवाद पर 9 नवंबर के सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद सरकार का यह कदम काफी महत्वपूर्ण है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में विवादित जमीन पर राम मंदिर निर्माण की इजाजत दी है। इसके अलावा कोर्ट ने केंद्र सरकार को राम मंदिर निर्माण के लिए 3 महीने के भीतर ट्रस्ट बनाने और 5 एकड़ जमीन सुन्नी वक्फ बोर्ड को देने का आदेश दिया है। अब ज्ञानेश कुमार की अगुआई वाली गृह मंत्रालय की नई डेस्क अयोध्या मामले से जुड़े सभी मामलों को देखेगी। गृह मंत्रालय में पहले भी रह चुका है अयोध्या के लिए अलग से सेल
ऐसी रिपोर्ट्स हैं कि उत्तर प्रदेश सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को एक प्रस्ताव भेजा है जिसमें अयोध्या में 3 भूखंडों का जिक्र किया गया है, जिसमें से किसी एक को यूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड को दिया जा सकता है। एक अधिकारी ने कहा, 'इस तरह के सभी मामलों को गृह मंत्रालय की नई डेस्क हैंडल करेगी।' बता दें कि गृह मंत्रालय में 1990 के दशक से लेकर 2000 के दशक के शुरुआती वर्षों में अयोध्या से संबंधित एक अलग विभाग था लेकिन लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट पेश होने के बाद इसे बंद कर दिया गया।


आर्टिकल 370 पर ऐतिहासिक फैसले से भी जुड़े रहे हैं ज्ञानेश कुमार
खास बात यह है कि ज्ञानेश कुमार गृह मंत्रालय की जम्मू-कश्मीर और लद्दाख से जुड़े विभाग के भी प्रमुख रहे हैं। आर्टिकल 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को मिले विशेष दर्जे को खत्म किए जाने और सूबे को 2 केंद्रशासित प्रदेशों के रूप में बंटवारे के ऐतिहासिक फैसले में भी कुमार की अहम भूमिका थी। यह था ऐतिहासिक फैसला शीर्ष अदालत ने सालों से लंबित अयोध्या के विवादित मुद्दे का समाधान करते हुए नवंबर में ऐतिहासिक फैसला सुनाया था। तत्कालीन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने अयोध्या में 2.77 एकड़ की विवादित भूमि पर राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ कर दिया था। इसके साथ ही मामले के वादी सुन्नी वक्फ बोर्ड को शहर में ही दूसरी जगह 5 एकड़ वैकल्पिक भूमि दिए जाने का आदेश दिया था।


मोदी पर हमला 'CAA', संसद मे आंदोलन

नई दिल्ली। संशोधित नागरिकता कानून के बजाय पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों का विरोध करने की प्रधानमंत्री मोदी की नसीहत पर कांग्रेस ने तगड़ा पलटवार किया है। पीएम मोदी पर जवाबी हमला बोलते हुए कांग्रेस ने न सिर्फ अपने शासनकाल में हुए युद्धों में पाकिस्तान को सिखाए गए सबकों की याद दिलाई बल्कि यह भी कहा कि मौजूदा आंदोलन भारतीय संसद के खिलाफ नहीं, मोदी सरकार की बांटने वाली नीतियों के खिलाफ है।'पाकिस्तान को जवाब देना है तो बंद करें बिरयानी, आम का खेल'
कर्नाटक के तुमकुरू की रैली में प्रधानमंत्री मोदी के दिए बयान पर बीजेपी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कांग्रेस ने लिखा, 'मोदीजी, ये आंदोलन संसद नहीं, आपके विभाजनकारी कारनामों के खिलाफ हो रहा है। हम आपको देश नहीं तोड़ने देंगे। रही बात पाकिस्तान की, तो इसी हिंदुस्तान ने 1948, 65, 71, करगिल में जो घाव उसे दिए हैं, वो अब तक नहीं उबर पाया। पाकिस्तान को जवाब ही देना है तो बिरयानी और आम का खेल बंद कीजिए।' कांग्रेस ने क्यों कहा 'बिरयानी और आम का खेल'?
'बिरयानी और आम का खेल' के जरिए कांग्रेस का इशारा पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तरफ प्रधानमंत्री मोदी द्वारा अतीत में उठाए गए दोस्ताना कदमों की तरफ हो सकता है। 25 दिसंबर 2015 को प्रधानमंत्री मोदी तत्कालीन पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं देने के लिए अचानक लाहौर पहुंच गए थे। इसी को लेकर कांग्रेस अक्सर प्रधानमंत्री पर तंज कसती रहती है कि वह नवाज के हाथों 'बिरयानी' खाने के लिए लाहौर गए थे। उसी साल जुलाई में नवाज शरीफ ने ईद के मौके पर पीएम मोदी को आम भिजवाए थे। तुमकुरू रैली में पीएम मोदी ने बोला था कांग्रेस पर हमला
गुरुवार को कर्नाटक के तुमकुरू की एक रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने संशोधित नागरिकता कानून के विरोध को लेकर कांग्रेस और उसके सहयोगियों पर तीखा हमला बोला था। प्रधानमंत्री ने CAA का विरोध करने वालों को पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हो रहे जुल्म के खिलाफ आवाज उठाने की नसीहत दी थी। पीएम मोदी ने कहा, 'पाकिस्तान धार्मिक आधार पर बना था और इसके चलते हिंदुओं, सिखों, जैनों और ईसाइयों जैसे अल्पसंख्यकों पर वहां अत्याचार बढ़ गए हैं। लेकिन कांग्रेस और उसके सहयोगी पाकिस्तान के खिलाफ नहीं बोलते।' तुमकुरू रैली में पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगी धार्मिक आधार पर उत्पीड़न को रोकने और महिलाओं को यौन उत्पीड़न से बचाने के लिए उठाए गए कदमों के खिलाफ रैलियां निकालते हैं और प्रदर्शन करते हैं। मोदी ने सवाल किया कि जो सीएए के खिलाफ हैं वे पाकिस्तान के अत्याचारों के खिलाफ क्यों नहीं बोल रहे हैं? प्रधानमंत्री ने पूछा कि उन्हें ऐसा करने से कौन सी बात रोकती है। उन्होंने सीएए का मजबूती से बचाव करते हुए कहा कि इसे संसद द्वारा एक ऐतिहासिक कदम के तहत पारित किया गया था लेकिन कांग्रेस और उसके सहयोगी अब इस संस्थान के ही खिलाफ हैं।


रुड़की स्टेशन पर मिला लावारिस बच्चा

रुड़की। आज दिनांक 2.01.2020 को एक बच्चा रेलवे स्टेशन रुड़की के पास सड़क मे लावारिश हालत में मिला है, जो अपना नाम पता बताने में असमर्थ है। इसे सुरक्षा की दृष्टि से थाना गंगनहर में लाया गया है। उक्त बालक का हुलिया निम्नवत है।


उम्र लगभग 10 वर्ष


कद लगभग 3 फीट,


रंग गेहुआ


सिर में लंबे बाल,


काले रंग का लोवर व हरे रंग की प्रिंटेड जर्सी पहने है।


बोलने में असमर्थ है। इशारों में बात करता है। इस संबंध में कोई जानकारी होने पर थाना गंगनहर से संपर्क करने का कष्ट करें। 01332 274160, 9411112832


गृह-मंत्रालय ने प्रभागो का किया विलय

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को आंतरिक सुरक्षा प्रभाग (इंटरनल सिक्योरिटी डिवीजन) के दो प्रभागों का विलय कर उन्हें एक में बदल दिया। अधिकारियों ने कहा कि आंतरिक सुरक्षा प्रभाग का पुनर्गठन करने के साथ ही तत्काल प्रभाव से संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी को इसके काम की जिम्मेदारी सौंप दी गई है।


बता दें कि आंतरिक सुरक्षा-2 (आईएस-2) प्रभाग को आंतरिक सुरक्षा-1 (आईएस-1) के साथ मिला दिया गया है और अब इसका नाम आंतरिक सुरक्षा (आईएस) प्रभाग होगा। मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि यह परिवर्तन अचानक लिया गया निर्णय नहीं है और आंतरिक सुरक्षा प्रभाग के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए लंबे समय से इस पर विचार किया जा रहा था। महिला सुरक्षा मामलों की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव अपने स्वयं के प्रभार के अलावा आंतरिक सुरक्षा प्रभाग का काम भी देखेंगी।


जिले में दिन-दहाड़े दूसरी हत्याः आक्रोष

हल्द्वानी। भीमताल रोड पर सलडी के पास उस वक्त सनसनी फैल गई जब स्कूटी सवार दो युवकों ने दिन दहाड़े एक युवक को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। मृतक युवक की पहचान बनभूल पुरा निवासी नाजिम के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि नाजिम एक महिला के साथ बाइक से हल्द्वानी की तरफ आ रहा था। इसी दौरान स्कूटी सवार दो युवकों ने चंदा देवी चौकी के पास नाजिम को कनपटी पर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। 15 दिन के भीतर जिले में दूसरी दिनदहाड़े हत्या की वारदात से पूरा जिला थरथरा गया घटना की खबर सुनते ही मौके पर एसएसपी सुनील कुमार मीणा पूरी फोर्स के साथ पहुंचे। घटनास्थल की बारीकी से निरीक्षण के बाद एसएसपी ने एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव , एसपी नैनीताल राजीव मोहन सहित एसओजी टीम को मामले की छानबीन के लिए लगाया गया है , फिलहाल पुलिस टीम काठगोदाम से लेकर भीमताल तक के सभी बड़े पॉइंट पर सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। एसएसपी सुनील कुमार मीणा के अनुसार जल्द घटना का खुलासा कर लिया जाएगा। वहीं सूत्रों के अनुसार यह पता चल रहा है कि मामला आपसी रंजिश का है जिसमें प्रेम प्रसंग का मामला भी शामिल है गौरतलब है कि 15 दिन पूर्व ही हल्द्वानी शहर में दिनदहाड़े भूपी पांडे हत्याकांड को अंजाम दिया गया था उसके बाद शहर की आबोहवा में अभी शांति फैली भी नहीं थी कि दूसरे हत्या की वारदात में नैनीताल जिले को हिला कर रख दिया है।


हल्द्वानी भीमताल मार्ग पर चंदा देवी के जंगल में गोली मारकर युवक की हत्या के मामले में पुलिस युवक के साथ घटना के समय मौजूद महिला से पूछताछ कर रही है। पुलिस को संदेह है कि महिला से पूछताछ में हत्यारों के बारे में महत्वपूर्ण सुराग हाथ लग सकते हैं। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार बनफूल पुरा निवासी यह महिला पिछले 15 सालों से मारे गए युवक नाजिम के साथ प्रेम संबंध में थी। 2 वर्ष पूर्व उसका विवाह हो गया था और 28 नवंबर 2019 को नाजिम का विवाह भी यूपी के रामपुर के टांडा क्षेत्र की रहने वाली युवती से हुआ था। आशंका जताई जा रही है के विवाह के बाद भी नाजिम और उसकी पूर्व प्रेमिका के बीच संपर्क लगातार बना हुआ था। नाजिम के बड़े भाई राजू के अनुसार नाजिम हल्द्वानी के एक रेडीमेड गारमेंट की दुकान में काम करता था। अमूमन वाह अपने पास दो मोबाइल रखता था। राजू के अनुसार आज सुबह लगभग 11:15 बजे नाजिम स्कूटी पर निकला था। उधर नाजिम के साथ मौके पर उपस्थित युवती के अनुसार नाजिम और वह चंदा देवी के जंगल में सड़क के किनारे बैठे थे कि अचानक एक युवक उनके पास आया और उसने उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी इस पर नाजिम में उसका विरोध किया। युवक ने फोन करके दो अन्य युवकों को बुला लिया तीनों ने मिलकर नाजिम के साथ गाली गलौज की और उसकी पिटाई भी कर दी। इन्हीं में से एक युवक ने रिवाल्वर निकालकर नाजिम पर गोली दाग दी। मिल रही जानकारी के अनुसार गोली नाजिम के कनपटी पर लगी है नाजिम के साथ पाई गई महिला ने ही नाजिम के बड़े भाई राजू को फोन करके घटना की जानकारी दें। इसके बाद राजू और उनके अन्य परिजन चंदा देवी के जंगल में और गंभीर रूप से घायल नाजिम को हल्द्वानी लेकर आए। पुलिस सूत्रों के अनुसार नाजिम का एक बड़ा फोन मौके से बरामद नहीं हुआ है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस को महिला द्वारा सुनाई गई कहानी मे असलियत कम ही नजर आ रही है फिर भी पुलिस उससे पूछताछ में लगी है ।


3 करोड़ 56 लाख रुपए का लगाया जुर्माना

फ्लैशबैक 2019 स्पेशल रिपोर्ट चंडीगढ़। कान पर मोबाइल लगाने से 4.58 करोड़ रु. जुर्माना, 73 हजार ने बिना लाइसेंस दौड़ाए वाहन, 16.13 करोड़ के चालान करा


अमित शर्मा


चंढीगढ। 11 महीने में सड़क हादसों से संबंधित 10 हजार केस दर्ज
4,613 जानें गईं, वाहन गति पर लगाम नहीं, 48 हजार ने तोड़े नियम। गलत दिशा में वाहन चलाते 1,51,704 पर कार्रवाई
मोबाइल पर आने वाली कॉल से जान कहीं अधिक कीमती है, पर हरियाणवी लोग ड्राइविंग के समय कॉल को प्राथमिकता देते हैं। जी हां, 11 महीने में ट्रैफिक पुलिस ने 7,559 ऐसे चालकों को पकड़ा, इन पर करीब 4.58 करोड़ रुपए जुर्माना लगाया गया। डेंजर्स ड्राइविंग पर 40,682 के चालान हुए हैं और पांच करोड़ से अधिक जुर्माना लगवा बैठे। 73,892 ने बिना ड्राइविंग लाइसेंस के वाहन चलाना शान समझी, 16 करोड़ से अधिक का जुर्माना लगा, लेकिन बाज नहीं आए। गति सीमा से अधिक तेज वाहन चलाने के फेर में भी 48,020 पकड़े गए, तीन करोड़ से अधिक जुर्माना लगाया गया है। वहीं बिना हेल्मेट के दोपहिया वाहन चलाने में 44,1167 वाहन चालक पकड़े, 5.28 करोड़ रुपए की राशि जुर्माने के रूप में अदा कर दी। 11 महीने में हादसों से संबंधित 10 हजार से अधिक केस दर्ज हुए, 4613 लोगों की जान चली गई और 8500 से अधिक घायल हो गए हैं। वर्ष 2019 के प्रथम 11 माह में प्रदेश में गलत वाहन चलाने वाले काफी संख्या में पकड़े गए। इनकी संख्या 1,51,704 रही, तीन करोड़, 56 लाख रुपए जुर्माना लगाया गया है। 6438 ने डेंजर्स यू टर्न ले लिया और 9,61,300 जुर्माना लगा। गलत पार्किंग करने पर 1,74,374 पकड़े गए।


स्काई होटल में मृत अवस्था में मिली युवती

चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया स्थित एक होटल में युवती की हत्या कर युवक फरार


अमित शर्मा


चंढीगढः नए साल का जश्न मनाने के लिए 30 दिसंबर को यहां आकर ठहरे थे युवक-युवती
चंडीगढ़। नए साल के पहले दिन इंडस्ट्रियल एरिया फेज-2 स्थित होटल स्काई में एक युवती मृत अवस्था में पाई गई है। इसकी सूचना मिलते ही होटल स्टाफ और अन्य लोगाें में हड़कंप मच गया। पुलिस और सीएफएसएल की टीम ने आकर जांच शुरू की। होटल में जमा आईडी के मुताबिक मृत युवती की पहचान संगरूरनिवासी सरबजीत कौर जबकिआरोपी युवक की पहचान सेक्टर-30 चंडीगढ़ निवासी मनिंदर सिंह केरूप में हुई है। पुलिस ने मामले में हत्या समेत अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मिली जानकारी के मुताबिक दोनों ने 30 दिसंबर को होटल में चेक इन किया था। नए साल की लेट नाइट पार्टी के बाद दोनों अपने कमरे में चले गए थे। चूंकी पार्टी काफी देर तक चली थी, इसलिए होटल स्टाफ ने गेस्ट को सुबह डिस्टर्ब नहीं किया।
दोपहर में जब हाउसकीपिंग स्टाफ ने डोरबेल बजाई तो दरवाजा नहीं खुला। दरवाजा खोलकर देखा तो पाया कि लड़की कमरे मेंमृत पड़ी हुई है। इसके बाद जब उसके साथ ठहरे युवक को ढूंढा तो वह फरार पाया गया।इसके बाद सेक्टर-31 थाना पुलिस घटना की सूचना दी गई।


फिर अंगीठी ने ली 4 लोगों की जान

जलती अंगीठी ने बुझाई चार जिंदगियां, एक कमरे में मिलीं चार लाशें, घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल


 आमित शर्मा


महोली- मोहाली के सेक्टर-69 में एक व्यापारी के घर न्यू ईयर पार्टी में कैटरिंग के लिए आए चार लोगों की मौत हो गई। हादसा उस समय उस जब चारों युवक पार्टी के बाद सर्वेंट क्वार्टर में अंगीठी जलाकर सो रहे थे। अंदेशा है कि दम घुटने से चारों की मौत हो गई। मृतकों की पहचान धर्मपाल सिंह (25), अमित (20) और रजनीश (17) गांव कांसल व द्वारिका (30) मौलीजागरां चंडीगढ़ के रूप में हुई है। पुलिस ने चारों शव फेज-छह स्थित सिविल अस्पताल में रखवा दिए हैं। थाना फेज-आठ के एसएचओ शिवदीप सिंह बराड़ ने बताया कि शव सिविल अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिए हैं। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत का कारण साफ हो पाएगा। इसके बाद पुलिस द्वारा उचित कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के मुताबिक सेक्टर-69 स्थित व्यापारी जतिंदर पाल सिंह के घर में मंगलवार को न्यू ईयर की पार्टी थी। ऐसे में एक लोकल कैटरर के माध्यम से धर्मपाल सिंह, अमित, रजनीश और द्वारिका काम के लिए गए थे। सभी ने रात साढ़े 11 बजे तक काम किया। इसके बाद उन्होंने अपने घर भी आने की सूचना दे दी थी। 
सूत्रों के मुताबिक इसके बाद धुंध और ठंड अधिक देखकर चारों लोग घर जाने की बजाय कोठी में बने सर्वेंट क्वार्टर में ही रुक गए थे। इस दौरान उन्होंने वहां पर कोयले की अंगीठी जलाकर रख ली। इसके बाद वे सो गए। जब बुधवार सुबह व्यापारी के किसी मुलाजिम ने वहां पर जाकर देखा तो चारों कमरे में बेसुध पड़े थे। इसके बाद चारों को सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।परिवारों को पता तलाशने में काफी दिक्कत
जब बुधवार सुबह सेक्टर-69 में चारों लोगों की मौत का मामला सामने आया तो किसी को भी इनके पते के बारे में जानकारी नहीं थी। इस पर उस कैटरर से संपर्क किया तो उस व्यक्ति ने उनके दो जानकारों को बुलाया। इसके बाद मृतकों के पते के बारे में पता चला तो परिवार को सूचित किया। हमें एक बार बच्चों का चेहरा तो दिखा दो...
सूचना मिलने के बाद सारे लोगों के परिजन फेज-आठ थाने पर पहुंच गए। इस दौरान परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था। उनका कहना था कि पहले उस व्यक्ति को बुलाया जाए जिस व्यक्ति ने उन्हें काम पर बुलाया था। इसके बाद वह कहने लगे कि घटनास्थल दिखाया जाए या फिर बच्चों का चेहरा दिखाया जाए लेकिन उनकी आंखें से आंसू बह रहे थे।


अर्थव्यवस्था में गोबर 'आत्ममंथन'

अर्थव्यवस्था में गोबर की उपयोगिता- डॉ प्रमोद कुमार श्रीवास्तव



मैं डॉक्टर प्रमोद कुमार श्रीवास्तव जगतपुर पीजी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर (अर्थशास्त्र) विभाग में हूं।मैंने अर्थव्यवस्था में गोबर की क्या उपयोगिता है।इस पर एक छोटा सा लेख लिखकर अपने विचारों को आप सभी लोगों के सामने प्रस्तुत कर रहा हूं। मेरा मानना है कि शिक्षा जगत के शिरोमणि महा मना पंडित मदन मोहन मालवीय भारतीय समाज की समृद्धि और प्रगति के लिए गोवंश के परिपालन को अनिवार्य मानते थे।वे कहते थे कि यह राष्ट्र मूलतः ऋषि-कृषि प्रधान है।ऋषि और कृषि दोनों गोवंश पर निर्भर है,हमारी समुचि संस्कृति गोवंश पर अवलंबित है,अतः गो-पाल,गो-सेवा और गो-रक्षा पूरे राष्ट्र का कर्तव्य है। भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद का कहना था "गो-रक्षा भारत का सनातन धर्म है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा "गाय प्रगति व समृद्ध का स्रोत है,कई मायनों में यह मां से बेहतर है।"भूतपूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह का कहना था गाय हमारी अर्थव्यवस्था का आधार है इंसान और पशु दोनों ही एक दूसरे के पूरक और जीवन का आधार है।उनमें भी गोवंश सर्वोपरि है। भारतवर्ष में तो गायक का धार्मिक महत्व है,भावनात्मक महत्व है और आर्थिक महत्व है जो सकारण है तर्क सहित है।आधुनिकता के साथ-साथ अपनी परंपराओं से जुड़े रहने में ही हमारा कल्याण है क्योंकि यह परंपराएं हमारे ऋषि-मुनियों ने गहन शोध के बाद विकसित की है।उनमें नए आयाम तो जोड़े जा सकते हैं किंतु उन्हें समाप्त करना हमारे हित में नहीं है हमारे देश के प्रमुख वैज्ञानिक संस्थाओं, काउंसिल आफ साइंटिफिक इंडस्ट्रियल रिसर्च,इंडियन काउंसिल आफ एग्रीकल्चर रिसर्च तथा इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च ने भी पदार्थों अर्थात गोबर,गोमूत्र,गोदुग्ध,गोघृत और गाय के दूध के दही को औषधीय गुणों से परिपूर्ण बताते हुए इसे इको फ्रेंडली ऊर्जा का स्रोत बताया है।दक्षिण अफ्रीका में संपन्न हुए पृथ्वी सम्मेलन में सभी इको फ्रेंडली अर्थव्यवस्था पर जोर दिया जा चुका है।सभी मानते हैं कि हम इको फ्रेंडली ऊर्जा स्रोत पर ध्यान दे तो यह पर्यावरण के साथ-साथ मानव स्वास्थ्य के लिए भी हितकर होगा।इसका मुख्य कारण था गोबर व गोमूत्र आधारित कृषि और बैलो पर निर्भर कृषि।सन 2002 में दिल्ली में संपन्न विज्ञान सम्मेलन में आंध्र से आए किसान राजीव यादव ने साइंस कांग्रेस में भाग लेने वाले कृषि वैज्ञानिकों के समक्ष बताया कि मैं आम के पेड़ में उन्हें पत्ते व गोबर की खाद ही डालता हूं और एक पेड़ से 40 हज़ार तक का आम प्राप्त कर लेता हूं कभी-कभी आवश्यकता पड़ने पर जरूरत के अनुसार न्यूट्रेशन डाल देता हूं आज कोई भी किसान रासायनिक खादों के बल पर इतने आम पैदा कर सकता है क्या? रासायनिक खादों के दुष्प्रभावो से आज पश्चिमी देश चिंतित हो रहे हैं।वहां ग्रीन एग्रीकल्चर के लिए प्रचंड आंदोलन हो रहे हैं।यांत्रिक खेती और रासायनिक खादो के चलते अमेरिका में बड़े-बड़े बोर्ड लगे हैं जिन पर लिखा है 'अबेनडेंड' अर्थात अनुपयोगी।चूँकि अमेरिका में हमसे तीन गुनी जमीन है और जनसंख्या हमारी चौथाई,इसीलिए विशेष फर्क नहीं पड़ रहा है।किंतु यही हाल रहा तो सौ-दो-सौ वर्षों में पूरा अमेरिका रेगिस्तान बन जाएगा।अतः वहाँ भी जैविक खेती के स्वर तेजी से गूंजने लगेंगे लगे हैं।हालैंड में ऐसी दुकानें हैं जहां जैविक खेती के उत्तम अनाज सब्जियां और फल-फूल ही मिलते हैं।इन दुकानों को रिफॉर्मेस्ट शॉप कहते हैं।वहां जैविक उत्पादों की मांग इसी इसलिए भी बढ़ रही है कि विभिन्न शोधों द्वारा यह उजागर हो चुका है कि रासायनिक खादों से उत्पन्न अन्य के सेवन से मानव शरीर में 0.27 मिलीग्राम जहर नित्य प्रवेश कर जाता है।यदि 365 दिनों का हिसाब लगाएं तो वर्ष में 100 ग्राम के लगभग विष हमारे शरीर में प्रवेश कर जाता है जिससे एक साथ खाने पर इंसान तुरंत मर जाता है।लेकिन धीमा जहर हमें मौत के मुंह में धकेल रहा है।आज भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में भी हृदय रोगियों की संख्या बढ़ रही है35 से 40 के बीच के 9 जवानों के हृदय की रक्त वाहिनियों में अवरोध पैदा होने लगा है।इसके लिए अतिरिक्त मधुमेह,गुर्दे के रोग,रक्त विकार,उच्च रक्तचाप जैसे अनेक रोग रासायनिक खादों की देन है।जब बात की जाती है जैविक खादों की तो उसके लिए पशुधन के अलावा कोई विकल्प ही नहीं है उनमें भी गोवंश प्रमुख है।पशु गणना के अनुसार संसार में जितनी गायें हैं उनका 15%प्रतिशत भारत में है।जिसमें 5 करोड़ 47 लाख गायें,4 करोड़ 33 लाख बैल और 6 करोड़ 68 लाख बछड़ा-बछड़ी है।इनमें हरियाणा,सिंधी,गीर,थारपारकर, साहिवाल और राठी आदि नस्ले प्रमुख है।वर्तमान जनसंख्या को देखते हुए हमें कम से कम 20 करोड़ गायें व 12 करोड बैल चाहिए।किंतु ट्रैक्टरों पर निर्भरता के चलते हम बैलों से खेत की जुताई को घाटे का सौदा मानने लगे हैं जबकि स्थिति इसके विपरीत है।बैलों से जुताई करने पर जल की जरूरत एक तिहाई रह जाती है और जल की कमी से आम जनता जूझ रही है।गोबर की खाद के उपयोग में पृथ्वी की जन ग्रहण क्षमता भी बढ़ती है।जल का वाष्पीकरण भी कम होता है। बैलों द्वारा जुताई करने से खेत का समतलीकरण ठीक से होता है और हल्की सिंचाई से ही काम चल जाता है।इसके अधिक व्यक्तियों को रोजगार मिलता ही है,डीजल पर खर्च हो रही भारी भरकम धनराशि की तुलना में खर्च भी कम होता है।श्रम शक्ति के अभाव में बड़े किसानों की मजबूरी तो समझ में आती है किंतु छोटी जोत के किसानों के लिए तो ट्रैक्टर से जुताई निःसन्देह घाटे का सौदा है।इससे पर्यावरण पर तो बुरा असर पड़ता है देश की बहुमूल्य मुद्रा पेट्रोलियम पदार्थों पर खर्च होती है जो व्यक्ति व समाज कि नहीं राष्ट्र की अपूर्णिया क्षति है।ट्रैक्टर की चलन से बैलों को अनुपयोगी मान लिया गया है फलस्वरूप 65 प्रतिशत बैल व बछड़े काटे जा रहे हैं।पशुधन की ऐसी बर्बादी के चलते हम जैविक खेती को हर किसान के खेतों तक कैसे पहुंचा सकते हैं?सर्वे के अनुसार पृथ्वी पर जितनी भी जमीन है उसका 10%प्रतिशत बर्फ से ढका है 15.5%प्रतिशत रेगिस्तानी,पथरीली अथवा रेत से ढकी है 6.5%प्रतिशत दलदली है।2%प्रतिशत खदानों व सड़कों ने और 50%प्रतिशत आबादी ने घेर रखी है।करीब 3%प्रतिशत अनूपजाऊ है।इस प्रकार कृषि योग्य भूमि मात्र 12%प्रतिशत ही शेष रह गई है।यदि उसे भी रासायनिक खादों ने उसर बना दिया तो अन्न कहां से पैदा होगा? अतः धरती व पर्यावरण दोनों को बचाने के लिए पूरे विश्व को जैविक खादों पर निर्भरता बढ़ानी होगी और इसके लिए पशुधन बढ़ाना होगा देश में लगभग 4 हज़ार बूचड़खाने 150 छोटी बड़ी मांस प्रसंस्करण इकाइयां खोली गई।इन सबके की मूल में है  पेट्रोल डॉलर के लोभःमें विदेशियों को भेजना जो वास्तव में घाटे का सौदा है।यदि गांव-गांव में ऐसी योजना चलायी जाए कि उनका सारा गोबर व गोमूत्र गोबर गैस प्लांटों में खप जाए तो भारत की आधी आबादी को रसोई गैस मिल सकती है जिसे ईंधन के रूप में गोबर का इस्तेमाल नही होगा तथा जंगल भी विनाश के बच जाएंगे तथा ढाई करोड़ टन  नाइट्रोजन व फास्फेट आदि तत्वों को धारण करने वाली जैविक खाद मिलने लगेगी जिसे रासायनिक खादों पर खर्च होने वाले 12 हज़ार 690 करोड रुपए की सब्सिडी भी बच जाएगी वैसे भी 10 किलो गोबर को 1टन कचरे में मिलाकर उत्तम खाद बनाई जा सकती है।गोबर-गोमूत्र दूध,दही और घृत का उपयोग आज अनेक विकसित गौ शालाओं एवं सामाजिक संस्थाओं में सुरक्षा एवं सौंदर्य प्रसाधनों के उत्पाद बनाने में किया जा रहा है, जैसे साबुन,दंत,मंजन,फेस पाउडर,डिस्टेंपर,शैंपू,अगरबत्ती, डिटर्जेंट पाउडर,मच्छर
अगरबत्ती,क्वायल,केंचुआ खाद, विभिन्न रोगों की दवाएं।इनके उत्पात से सहकारी निजी संगठनों द्वारा गांव-गांव में गृह उद्योग स्थापित कर वहां की बेरोजगारी दूर की जा सकती है।पशुधन से भारत की अर्थव्यवस्था,पर्यावरण और स्वास्थ्य में उल्लेखनीय परिवर्तन आएगा।इसमें संदेह नहीं कि इसके लिए आवश्यक है कि भारत में मांस के निर्यात पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया जाए और गोवंश का वध संपूर्ण भारत में रोक दिया जाए क्योंकि गोवंश से अधिक उपयोगी पशु संपूर्ण दृष्टि में नहीं है हमारे शास्त्रों में इसे कामधेनु अनायास ही नहीं कहा गया है कामधेनु का अर्थ होता है समस्त मनोरथ पूर्ण करना गौ माता के लिए यह संबोधन यथार्थ के धरातल पर शत-प्रतिशत सही उतरता है क्योंकि गोदुग्ध स्वास्थ्य एवं बल बुद्धि का विकास होता है गोबर और गोमूत्र से जैविक खाद बनती है जिसे भरपूर अन्न उपजता है गोघृत एवं अन्न द्वारा हवन करने से पर्यावरण शुद्ध होता है यज्ञ के प्रभाव से भरपूर वर्षा होती है जिससे अन्य फल फूल व पशुओं के लिए प्राप्त होता है।भरे पेट,स्वास्थ्य तन और मन से इंसान की बुद्धि का विकास होता है जिसे यह अपनी समस्त आवश्यकताएं पूरी करता ही है नित नई नई खोजों से नए कीर्तिमान स्थापित करने लगता है। बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के लिए हितकारी है ऐसा गुण सिर्फ मां के दूध में होता है अतः गाय के लिए गौ माता का संबोधन सर्वदा उपयोग है आयुर्वेद में गो दूध को अमृत कहा गया है जो अनन्यास ही नहीं बल्कि ऋषि-मुनियों शोध पर आधारित है किंतु विकास की चरम सीमा पर पहुंचने का दम भरने वाले अमेरिकी वैज्ञानिकों के गले के नीचे यह सत्य न सका कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों की एक टीम ने गो दूध के परीक्षण हेतु अभिनव प्रयोग किया।उन्होंने एक गाय को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में हल्का जहर देना शुरू किया और उसके दूध एवं शरीर का परीक्षण भी प्रारंभ कर दिया उन्होंने पाया कि विष की मात्रा दिन प्रतिदिन शरीर में फैल रही है किंतु उनके दूध को तनिक भी प्रभावित नहीं कर पा रही है इसके प्रभाव से 30वे दिन गाय मर गई किंतु मृत्यु वाले दिन तक उसके दूध में विष का एक भी कर नहीं पाया गया उन्हें स्वीकार ही करना पड़ा की गाय का दूध अमृत तुल्य है तभी तो उस पर विश का असर नहीं हुआ भावनात्मक दृष्टिकोण से देखा जाए तो मां अपने प्राण देकर भी संतान की रक्षा करती है।और यही काम गौ माता ने किया उसने विष को अपनी शरीर में ही रोक लिया और मर गई किंतु दूध तक नहीं पहुंचने दिया।क्योंकि उसका सेवन हम इंसान भी करेंगे जो उसे मां कहते हैं।भारत की सनातन संस्कृति वेदों पर आधारित है जिसमें गाय को अर्थ धर्म काम व मोक्ष प्रदायिनी कहा गया है सभी मनोरथ को पूर्ण करने वाली कामधेनु कहा गया है जो शाश्वत सत्य है कृषि प्रधान देश होने के कारण पशुपालन हमारे यहां सदियों से होता जा रहा है किंतु उसमें सर्वाधिक महत्व गोपालन को दिया गया है प्राचीन काल से ही गोवंश हमारी सामाजिक आर्थिक और धार्मिक मान्यताओं को केंद्र रहा है हर जाति व धर्म के लोग यहां गोपालन करते चले आ रहे हैं गोमाता के लिए जैसी श्रद्धा भारतवासियों के दिलों में है वैसी विश्व में कहीं नहीं है।हिंदी के प्रसिद्ध कवि मोहम्मद इब्राहिम पठान "रसखान" ने तो अपने काब्य के माध्यम से यह कामना की है कि मेरा अगला जन्म गोकुल में हो पशु बनू तो नंद बाबा की गायों के झुंड में रहूं।मनुष्य बनू तो बृजमंडल में गाय चराकर जीवन धन्य बना लूं कृषि भारतीय अर्थतंत्र की रीढ़ है और यहां की करीब 70%आबादी गांव में बसती है हमारी बढ़ती जनसंख्या की अधिक उपज कम लागत में पौष्टिक अन्न एवं धरती की उर्वराशक्ति के संरक्षण हेतु गोवंश की सर्वाधिक आवश्यकता है इनके गोबर और गोमूत्र जैविक खाद तैयार होती है बल्कि ऊसर सुधार कार्यक्रम भी चलाए जा रहे हैं वैज्ञानिक शोधों से प्राप्त हुआ है कि गोबर में 16 प्रकार के और गोमूत्र में 24 प्रकार के खनिज पाए जाते हैं साथ ही गोबर में विभिन्न प्रकार के 120 करोड़ कीटाणु पाए जाते हैं कृषि पर्यावरण एवं स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभकारी है।अमेरिका के वैज्ञानिकों का मानना है कि गोबर में 500 प्रकार के ऐसे कीटाणु रहते हैं जिनकी उपस्थिति मात्र गांवों,कस्बो एवं शहरों के कचरो में पनपने वाले हानिकारक कीटाणु स्वत ही समाप्त हो जाते हैं।अतः इंसान को पर्यावरण एवं अपने अस्तित्व की रक्षा हेतु गोपालन में वृद्धि करनी होगी, अन्यथा हमारे समस्त भौतिक विकास बेमानी हो जाएंगे इसके लिए विश्वभर के कृषि प्रधान देश का संरक्षण एवं सवर्धन करना होगा एवं गोहत्या पर पूर्णह प्रतिबंध लगाना होगा।
*इनका दूध बढ़ाने के लिए उपाय अत्यंत कारगर है।*
1-  गांव को प्रतिदिन हरी घास खिलाएं।
2- एक भाग गुड तथा तीन भाग जौ को एक साथ पकाकर खिलाएं।
3- गोपी व पत्ता गोभी की पत्तियां चलाएं।
4- कच्चा पपीता उसकी पत्तियों को पीसकर उसमें गुड़ मिलाकर खिलाएं।
5- रस निकालने के बाद शेष बची गन्ने की खोई खिलाएं।
6- उबले मटर के साथ तीसी की खली मिलाकर खिलाएं।
7- गेहूं के साथ केसरी की दाल को उबालकर खिलाएं।
8- कच्ची अथवा पक्के बेल को खिलाएं।
9- पलाश सेमल के फूल खिलाए।


  डॉ. प्रमोद कुमार श्रीवास्तव
        असिस्टेंट प्रोफेसर
      (अर्थव्यवस्था विभाग)                     
 


अवैध हथियारों के साथ युवक गिरफ्तार

अतुल त्यागी जिला प्रभारी
रिंकु सैनी रिपोर्टर
बाबूगढ़ पुलिस को रात्रि गश्त के दौरान मिली बड़ी सफलता, 315 बोर की नाजायज़ राइफल व जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार


हापुड़। जनपद हापुड़ के थाना बाबूगढ़ पुलिस को मिली रात्रि गश्त के दौरान बड़ी सफलता 315 की राइफल सहित जिंदा कस्तूर के साथ एक युवक गिरफ्तार, राठौर जी ने बताया आरोपी फरमान गांव सरावनी का रहने वाला है पुलिस रास्ते के दौरान गश्त कर रही थी मुखबिर की सूचना पर आरोपी को गांव आरिफपुर के पास से आरोपी को दबोचा, आरोपी किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में था, जिसके अंदर बीते कल भी बाबूगढ़ पुलिस ने प्राप्त की थी एक सफल था, जिसके पास से अवैध तमंचा व कारतूस के साथ गिरफ्तारी की गई थी, बाबूगढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक उत्तम सिंह राठौर जी जिस थाने के अंदर जाते हैं उसी थाने के अंदर क्राइम पर अंकुश लगाने के अंदर जो है हिम्मत व दिलेरी से लड़ते हैं, प्रभारी निरीक्षक उत्तम सिंह राठौर जी के कुशल नेतृत्व में पुलिस टीम को मिल रही है बड़ी सफलता, अब से पहले भी इन्होंने बाबूगढ़ थाने के अंदर ही गाड़ी दारू सहित कब्जे में की थी, राठौर जी अच्छे कार्य के लिए जाने जाते हैं तथा थाने के अंदर कई बार मीटिंग भी लेते हैं क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाने के लिए।


खुलेआम लेकर घूम रहे है अवैध हथियार

अतुल त्यागी 


हापुड़। कानून का खुलेआम उड़ा मजाक, युवक खुलेआम हवा में अवैध हथियार देसी तमंचे को हवा के अंदर लहराते नजर आए। साल के शुभ अवसर पर, कानून का खुलेआम उड़ाता मजाक, युवक खुलेआम हवा में अवैध हथियार देसी तमंचा लहराता हुआ। हापुड़ पुलिस का नहीं है इस युवक को बिल्कुल भी खौफ। आखिरकार नए वर्ष के शुभ अवसर पर पुलिस प्रशासन को दी, एक युवक ने खुली चुनौती। अवैध देसी हथियार को खुलेआम हवा के अंदर लहराते हुए, जनपद हापुड़ के अंदर नए साल के शुभ अवसर पर सभी व्यस्त हैं।  मगर हापुड़ क्षेत्र के सिंभावली थाना क्षेत्र के अंतर्गत हुआ एक सोशल मीडिया पर फोटो वायरल, युवक का अवैध देसी हथियार के साथ हुआ सोशल मीडिया पर फोटो  हुआ वायरल, खुलेआम देसी तमंचे को लेकर नए साल के शुभ पावन अवसर पर कानून को दी गई खुली चुनौती युवक के द्वारा आखिर क्यों, इस युवक को नहीं है हापुड़ पुलिस का बिल्कुल भी को खुलेआम देसी तमंचे को लहरा रहा है हवा के अंदर , अवैध देसी हथियार के साथ, आखिर नव वर्ष के शुभ अवसर पर, वह भी एक कानून के साथ बड़ा खिलवाड़ आखिर कब होगी इस युवर कार्यवाही, मामला जनपद हापुड़ के थाना सिंभावली क्षेत्र का बताया जा रहा है, अब देखने वाला भी चाहिए बन चुका है की सिंभावली पुलिस कितने समय के अंदर  इस युवक को कर पाती है गिरफ्तार जिसने खुलेआम दी है कानून को चुनौती वह भी अवैध असले के साथ खुलेआम फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होता हुआ देसी तमंचे।


यूपी में बिजली मूल्य-वृद्धि का बढ़ा विरोध

बृजेश केसरवानी 


लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने बिजली की कीमतों में एक बार फिर बढ़ोतरी की है। हालांकि इस निर्णय से प्रदेश की जनता थोड़ी सी खफा जरूर है। बीजेपी की वर्तमान सरकार में बिजली की कीमतों में कई बार इजाफा किया जा चुका है। हालांकि अभी भी यह जारी है और भविष्य में इस पर अभी रोकथाम स्थापित करने का कोई अंदेशा नजर नहीं आता है।  सरकार के द्वारा 66 पैसे तक 'प्रति यूनिट' सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए बढ़ाए गए हैं। यह मूल्यवृद्धि नियामक आयोग की मंजू के विरुद्ध बड़ी है। इस प्रकार की सूचना भी प्रसारित की जा रही है कि यूपीपीसीएल के द्वारा यह निर्णय लिया गया है। नियामक आयोग में यूपीपीसीएल के खिलाफ याचिका प्रेषित की गई है। आम-आदमी से लेकर किसान, उद्योगपति और आम उपभोक्ता इस बढ़ोतरी का विरोध कर रहा है।


बच्चे,पीड़ित महिला को पब्लिक ने बचाया

दो बच्चों संग ट्रेन से कटकर जान देने आई महिला को आस- पास मौजूद लोगो ने बचाया


सास व ननद की प्रताड़ना से तंग आकर महिला ने मौत को गले लगाना चाहा


पुरामुफ्ती-कौशाम्बी। सराय अकिल थाना क्षेत्र के घोसिया निवासिनी सुषमा देवी पत्नी मनोज कुमार घरेलू कलह से परेशान होकर दो बच्चों संग मनौरी रेलवे फाटक के पास ट्रेन से कटकर जान देने आई महिला को आस- पास मौजूद लोगों ने बचाया। आस - पास मौजूद लोगों ने महिला से खुदखुशी करने का कारण पूछा तो महिला ने बताया कि चार वर्ष पूर्व गांव के बगल के युवक से गाढ़ा प्रेम प्रसंग हो जाने के कारण उसने मनोज कुमार पुत्र लल्लू निवासी घोसिया के रहने वाले युवक से भाग कर घर वालो की मर्जी के खिलाफ मंदिर में जाकर शादी कर ली। सब कुछ ठीक - ठाक चलता रहा और उनके दो पुत्र हुए। लेकिन सास व ननंद के द्वारा प्रताड़ना जारी रही और आए दिन अभद्र टिप्पडी का शिकार होना पड़ता। जिसकी शिकायत मायके वालों से भी नहीं कर सकती थी। क्योंकि घर वालों की मर्जी के खिलाफ उसने भाग कर शादी की है। प्रतिदिन की प्रताड़ना से तंग आकर महिला ने खुद-खुशी करना उचित समझा। लेकिन आस - पास मौजूद लोगों ने उस महिला को आत्महत्या करने से रोक लिया। पुरामुफ्ती पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंचे उप-निरीक्षक अरुण कुमार मौर्य की मौजूदगी में महिला के जेठ अशोक कुमार पुत्र लल्लू को सौंप दिया गया।


रिपोर्टः बृजेश केसरवानी यूनिवर्सल एक्सप्रेस संवाददाता


'हेलो डॉक्टर' चिकित्सा की बात

"हेलो डॉक्टर" चिकित्सा की बात
मैदानी क्षेत्रों में शीत लहर के कारण वातावरण में काफी ठंड बढ़ रही है। तापमान निम्न स्तर पर चला जाता है, जिससे शारीरिक क्रियाओं पर प्रभाव पड़ता है। ऐसे मौसम में हड्डी-जोड़ो व नसों में दर्द की समस्या काफी बढ़ जाती है। खासकर बुजुर्गों को यह समस्या अधिक होने लगती है। इस समस्या में क्या सावधानी बरतनी चाहिए ? घरेलू क्या उपाय करने चाहिए और समस्या अधिक बढ़ने पर क्या करना चाहिए? इसके लिए सभी पाठकों को डॉ. दीपक बसोया देंगे "निशुल्क परामर्श" वह भी रोजाना। सभी पाठकगण हड्डी-जोड़ों, नस दर्द की समस्या के बारे में फोन के माध्यम से भी जान सकते हैं।


समय :- प्रातः 8:00 बजे से 10:00 बजे तक 
संपर्क करेंः- 8459399911


जनवरी के पहले हफ्ते में ही बढ़ेगी ठंड

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। दिल्ली-एनसीआर में लोग सर्दी के कारण ठिठुरने पर मजबूर हैं। हाड़ कंपा देने वाली शीतलहर के चलने से दिल्ली में पारा लगातार नीचे गिर रहा है। सोमवार को दिल्ली की ठंड ने 119 साल का रिकॉर्ड तोड़ा। 2019 के दिसंबर महीने में 1901 के बाद सबसे ज्यादा ठंड पड़ी। अधिकतम तापमान सामान्य से 11 डिग्री नीचे 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार, आज दिल्ली में अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस रहेगा।


नए साल के पहले सप्ताह में हो सकती है बारिश


दिल्ली में नए साल के पहले दिन हल्की धूप खिलने से लोगों को ठंड से हल्की राहत मिल सकती है। हालांकि पहाड़ों से आने वाली शीतलहर के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। मौसम विभाग के पुर्वानुमान के मुताबिक, नए साल के पहले वीक में दिल्ली में हल्की बारिश होने की भी संभावना हैं।
साल के पहले हफ्ते में कैसा रहेगा मौसम


मौसम विभाग का अनुमान है कि 6 जनवरी को हवा फिर से उत्तर पश्चिमी हो जाएगी। ऐसे में बर्फीली हवाओं के कारण एक बार फिर से दिल्ली-एनसीआर में ठंड बढ़ सकती है।


टेडे बता, 1400 के दांतों में लगाया तार

भगत


रायपुर। रायपुर से लगे अभनपुर के 6 गांव में 3 महीने के अंदर 1400 बच्चो के दांतों पर तार लगाने वाले दो अस्पतालों छत्तीसगढ़ डेंटल कालेज और श्री साई डेंटल क्लीनिक को 80 लाख का जुर्माना देना होगा।इन दोनों हॉस्पिटलों में स्मार्ट कार्ड से 10-10हजार खाने के चक्कर मे बच्चो के मुह में तार लगा दिया गया।जबकि कई बच्चों के दांत तो तेढ़े भी बहुत ही कम थे फिर भी तार लगा दिया गया।
छत्तीसगढ़ डेंटल कालेज छोटापरा को 52 लाख का और श्री साई डेंटल क्लीनिक को 28 लाख का जुर्माना एक हफ्ते के अंदर जमा करने को कहा गया है।वही साई डेंटल के संचालक डॉ मनीष पंडित रायपुर से बाहर होने की बात कर रहे है साथ ही रिकवरी की नोटिस मिलने की जानकारी नही है ,बता रहे है। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने जांच के आदेश दिए थे ।स्वास्थ्य विभाग के चार एजेंसियो ने जांच की और सभी की जांच में ये घोंटाले की बात सही निकली। फिर इन दोनों हॉस्पिटलों को नोडल एजेंसी आयुष्मान भारत योजना ने नोटिस जारी कर 52 और 28 लाख जमा करने को कहा।


गर्म कपड़ों के साथ छात्रों को दी शुभकामना

समाज सेवी डॉ मनोज एव सफदर रिहान ने मदरसे के बच्चों को दिए नववर्ष के उपहार


अरशद अली


स्योहारा। जाने माने समाजसेवी डॉ मनोज कुमार वर्मा ने अपने साथी व एमक्यू इंटर कालेज के प्रधान लिपिक सफदर रिहान के साथ, उन्ही के निवास पर मदरसे के लगभग 35 बच्चों को नव वर्ष की पूर्व संध्या पर गर्म जर्सियाँ उपहार स्वरूप देते हुए, उनको नव वर्ष की शुभकामनाएं दीं।
जिनको पाकर जहां बच्चे भी खुशी से झूम उठे, तो वहीं नगर भर में समाजसेवियों की इस पहल की खूब तारीफ भी हुई। क्योंकि सर्दियों में मदरसे में पढ़ने वाले इन परदेसी बच्चों को कुछ राहत देने के इस प्रयास से समाजिक ही नही बल्कि कुदरती पूण्य भी हासिल हुआ है।
इस मौके पर वरिष्ठ शिक्षक मोहित रस्तोगी भी मौजूद रहे।


मोदी दौरे से पहले 'हिरासत में विरोधी'

तुमकुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दो दिन के दौरे पर कर्नाटक पहुंचेंगे। पीएम मोदी को यहां कई क्रार्यक्रमों में हिस्सा लेना है। PM मोदी के तुमकुर पहुंचने से पहले कुछ किसानों को हिरासत में लिया गया है। ये किसान प्रधानमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करने और काले झंडे दिखाने की तैयारी में थे।


प्रधानमंत्री आज दोपहर 2 बजे के आसपास तुमकुर पहुंचेंगे, जहां पर उन्हें श्री सिद्धगंगा मठ का दौरा करना है। यहां पर प्रधानमंत्री एक म्यूजियम की नींव रखेंगे। जिसके बाद उन्हें तुमकुर में एक जनसभा को भी संबोधित करना है।


किसानों को नए साल का तोहफा देंगे प्रधानमंत्री


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहुंचने से पहले एक तरफ तो किसानों को हिरासत में लिया गया है। लेकिन आज ही प्रधानमंत्री करोड़ों किसानों को नए साल का तोहफा भी देना है। केंद्र सरकार के द्वारा लॉन्च की गई प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को जो 6000 रुपये सालाना की राशि मिलती है। उसकी तीसरी किस्त को आज पीएम मोदी जारी करेंगे। प्रधानमंत्री कर्नाटक में ही एक जनसभा के दौरान तीसरी किस्त को जारी करेंगे। करीब 12000 करोड़ रुपये की राशि से देश के 6 करोड़ किसानों को दिसंबर की किस्त दी जाएगी। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार ने इस स्कीम को लॉन्च किया था।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से पहले कर्नाटक में सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया गया है। स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप के अधिकारियों ने प्रधानमंत्री के पहुंचने से पहले राज्य के अधिकारियों के साथ बैठक की और रूट में पुलिस जवानों की तैनाती को लेकर बातचीत की। प्रधानमंत्री जिस वक्त तुमकुर जिले में होंगे, तब ड्रोन का इस्तेमाल नहीं किया जा जाएगा। इसके अलावा भी कुछ नियम जारी किए गए हैं।


तनाव से दुखी पति ने काटा प्राइवेट पार्ट

चेन्नई। शादी के बाद बच्चा नहीं हुआ तो पत्नी-पत्नी में तनाव रहने लगा। ऊपर से पत‍ि को शराब पीने की लत थी। इससे मामला तलाक तक पहुंच गया। नए साल की पार्टी के दौरान एक फ‍िर दोनों में झगड़ा हुआ तो पत्नी मायके चली गई। इस बात से दुखी होकर पत‍ि ने अपना प्राइवेट पार्ट काट ल‍िया। हैरान कर देने वाली यह घटना तमिलनाडु की राजधानी चेन्नै के वॉशरमैनपेट में मंगलवार शाम की है।


पुलिस के अनुसार, सुनामी क्वॉर्टर में एक कपल रहता है ज‍िसका नाम बाबू (40) और देवी (35) है। इस कपल का कोई बच्चा नहीं है और इस बात पर दोनों में अक्सर विवाद होता रहता था। देवी को अपने पति बाबू की शराब पीने की आदत पसंद नहीं थी।


देवी, बाबू से तलाक चाहती थी और सोमवार को घर छोड़कर मायके चली गई। हालांकि, नये साल के सेलिब्रेशन  के ल‍िए वह मंगलवार को लौट आई थी। इसी दौरान बाबू के शराब पीने पर दोनों के बीच झगड़ा शुरू हो गया। देवी फ‍िर से अपनी मां के घर चली गई।


झगड़े के बाद पत्नी के मायके लौटने से पति का इतना द‍िमाग खराब हुआ कि उसने एक भयानक कदम उठाया। पत्नी के इस व्यवहार से दुखी होकर बाबू किचन में गया और चाकू से अपना गुप्तांग काट दिया। उसकी चीख सुनकर पड़ोसी दौड़े आए और सरकारी हॉस्प‍िटल में उसे भर्ती कराया। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।


विराट ने अंडर-19 विश्वकप को दिया श्रेय

नई दिल्ली। दुनिया के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज़ और भारत की तीनों फार्मेंट टीमों के कप्तान विराट कोहली ने इतनी गगनचुंबी ऊंचाइयों पर पहुंचने का श्रेय अपनी कप्तानी में देश को अंडर-19 विश्वकप का चैंपियन बनाने को दिया है। विराट अंडर-19 विश्वकप खिताब जीतने के बाद चर्चा में आए थे। भारत ने विराट की कप्तानी में वर्ष 2008 में मलेशिया में फरवरी-मार्च में हुआ अंडर-19 विश्वकप जीता था। इससे पहले भारत की सीनियर टीम ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में सितंबर 2007 में दक्षिण अफ्रीका में हुआ पहला टी-20 विश्वकप जीता था। विश्वकप विजेता सीनियर टीम और अंडर-19 की विश्वकप विजेता भारतीय टीम का राजधानी दिल्ली में एक साथ सम्मान समारोह हुआ था जिसमें धोनी और विराट एक साथ बैठे थे।
हालांकि विराट उस समय भारतीय टीम के स्टार खिलाडिय़ों के मुकाबले चर्चा में कहीं नहीं थे। लेकिन इस प्रतिभाशाली बल्लेबाज़ ने इसके बाद बल्लेबाजी में एक के बाद एक नये कीर्तिमान बनाये और फिर धोनी की जगह तीनों फार्मेट में भारतीय टीम के कप्तान बने। अंडर-19 विश्वकप ने विराट का जीवन ऐसा बदला कि आज वह दुनिया के महानतम खिलाडिय़ों की श्रेणी में शुमार हो गए हैं। विराट ने कहा, आईसीसी अंडर-19 विश्वकप मेरे करियर का सबसे महत्वपूर्ण मोड़ था। इसने मुझे करियर में आगे बढऩे और खुद को स्थापित करने में मदद की। मेरे दिल और दिमाग में इस टूर्नामेंट की विशेष जगह है। आपको हाथ आये मौके का फायदा उठाना चाहिये और उसका सम्मान करना चाहिये। वर्ष 2008 में हुये इस विश्वकप में उन्होंने 47 के औसत से 235 रन बनाए थे।


हॉकी खिलाड़ी सुनीता की संन्यास की घोषणा

नई दिल्ली। भारतीय महिला हाकी टीम की डिफेंडर सुनीता लकड़ा ने गुरूवार को घुटने की चोट के कारण अंतरराष्ट्रीय हाकी से संन्यास की घोषणा की। वह 2018 के एशियाई खेलों में रजत पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा थीं। उन्होंने कहा कि उन्हें चोट के कारण दोबारा घुटने की सर्जरी करानी पड़ेगी। इस तरह 28 साल की खिलाड़ी का तोक्यो ओलंपिक के लिये भारतीय टीम में जगह बनाने का सपना टूट गया। हाकी इंडिया द्वारा जारी बयान के अनुसार उन्होंने कहा, ”आज मेरे लिये बहुत भावुक दिन है क्योंकि मैंने अंतरराष्ट्रीय हाकी से संन्यास लेने का फैसला किया है।


सुनीता ने 2008 से टीम से जुडऩे के बाद 2018 की एशियाई चैम्पियंस ट्राफी के दौरान भारत की कप्तानी की जिसमें टीम दूसरे स्थान पर रही थी। उन्होंने भारत के लिये 139 मैच खेले और वह 2014 के एशियाई खेलों की कांस्य पदक विजेता टीम का भी हिस्सा रहीं। उन्होंने कहा, ”मैं भाग्यशाली रही कि 2016 में रियो ओलंपिक में खेल सकी जिसमें तीन दशक में पहली बार भारतीय महिला टीम ने शिरकत की। लेकिन घुटने की चोटों ने तोक्यो ओलंपिक के लिये भारतीय टीम का हिस्सा बनने का मेरा सपना तोड़ दिया।


टाटा संस, मिस्त्री के खिलाफ पहुंचा एससी

नई दिल्ली। टाटा संस ने सायरस मिस्त्री को कंपनी के चेयरमैन के तौर पर बहाल किए जाने के फैसले के खिलाफ गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया। कंपनी ने नेशनल कंपनी लॉ अपीलाट ट्रिब्यूनल (एनसीएलएटी) के निर्णय पूर्ण आदेश को चुनौती दी और नौ जनवरी को होने वाली टीसीएस की बोर्ड की बैठक को देखते हुए इसे स्थगित करने की मांग की।टाटा के वकीलों ने इस मामले पर तत्काल सुनवाई की मांग की है। सुप्रीम कोर्ट हालांकि छह जनवरी को खुलेगा।


दिसंबर 2019 में एनसीएलएटी ने मिस्त्री को टाटा समूह के कार्यकारी चेयरमैन के रूप में बहाल कर दिया था और आदेश दिया था कि एन. चंद्रशेखरन की टाटा समूह के कार्यकारी चेयरमैन के रूप में नियुक्ति अवैध है। एनसीएलएटी की दो सदस्यीय पीठ ने टाटा संस को इस आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने के लिए चार सप्ताह का समय दिया था।


दृष्टिबाधित ऐप से पहचान सकेंगे नोट

मुंबई। रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 'मनी' नाम से एक मोबाइल ऐप जारी किया है जिसकी मदद से दृष्टिबाधित लोग भी करेंसी नोट का मूल्य जान सकेंगे। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांता दास ने बुधवार को 'मोबाइल एडेड नोट आइडेंटिफायर' (मनी) ऐप जारी किया। केंद्रीय बैंक ने बताया कि मनी ऐप महात्मा गाँधी सीरीज और महात्मा गाँधी (न्यू) सीरीज के बैंक नोटों की पहचान करने में सक्षम है। ऐप बैंक के अगले या पिछले भाग या किसी हिस्से की पहचान करने में भी यह ऐप सक्षम है। साथ ही यह एक बार मोड़कर रखे नोटों की भी पहचान कर सकता है। यह विभिन्न कोणों से और विभिन्न रौशनी तीव्रता में भी नोटों की पहचान कर सकेगा। 
नोट की पहचान के बाद ऐप आवाज के माध्यम से हिंदी और अंग्रेजी में नोट का मूल्य बतायेगा। आरबीआई ने स्पष्ट किया कि यह ऐप विशेषताओं के आधार पर नोट के मूल्य की पहचान करेगा, लेकिन असली और नकली नोट में फर्क नहीं करेगा। एंड्रॉयड और एप्पल दोनों के लिए यह ऐप तैयार किया गया है। इसे प्लेस्टोर और आईओएस ऐप स्टोर से नि:शुल्क डाउनलोड किया जा सकता है। एक बार इंस्टाल करने के बाद ऐप के इस्तेमाल के लिए इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत नहीं होगी।
केंद्रीय बैंक ने कहा कि आरबीआई ने महात्मा गाँधी सीरीज और महात्मा गाँधी (न्यू) सीरीज के बैंक नोटों में कई ऐसी विशेषताओं का समावेश किया है जिनसे दृष्टिबाधित व्यक़्ति नोटों के मूल्य के बारे में पता कर सकता है। इनमें उभरी हुई छपाई, छूकर महसूस किये जा सकने वाले चिह्न, नोटों के आकार में अंतर आदि शामिल हैं। अब प्रौद्योगिकी के विकास के साथ दृष्टिबाधितों के लिए इनकी पहचान और आसान करने का समय आ गया है ताकि रोजमर्रा के उनके काम आसान हो सकें।


एयरटेल ने रिचार्ज किया 95 प्रतिशत महंगा

नयी दिल्ली। दिसंबर के पहले हफ्ते में भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और रिलायंस जियो ने लगभग एक साथ अपने प्रीपेड प्लान महंगे किये थे। इसके बाद भी ये तीनों कंपनियाँ अपने ग्राहकों को कई झटके दे चुकी हैं। अब एयरटेल ने अपने ग्राहकों के लिए एक नया प्लान महंगा कर दिया है। आपको पता होगा कि एयरटेल का नंबर एक्टिव रखने के लिए आपको हर महीने कम से कम 23 रुपये का रिचार्ज करवाना जरूरी था। मगर अब एयरटेल ने हर महीने 23 रुपये से बढ़ा कर 45 रुपये का रिचार्ज करवाना जरूरी कर दिया है। अगर आप एयरटेल ग्राहक हैं और अपना नंबर चालू रखना चाहते हैं तो आपको हर महीने कम से कम 45 रुपये का रिचार्ज करवाना ही होगा। वरना आपके नंबर पर इनकमिंग कॉल भी आनी बंद हो जायेगी। यह एक ऐसा कदम है जो दर्शाता है कि एयरटेल आमदनी में सुधार लाने और बैलेंस शीट की हाल बेहतर करने के लिए टैरिफ बढ़ाने से नहीं कतरा रही है। कंपनी का नया नियम आज से ही लागू है।


28 दिनों के लिए 45 रुपये का रिचार्ज जरूरी


एयरटेल के नये कदम से इसके ग्राहकों को हर 28 दिन के लिए 45 रुपये का कम से कम से रिचार्ज करवाना होगा। अभी तक 23 रुपये का रिचार्ज जरूरी थी। अब आपको 22 रुपये का अतिरिक्त कम से कम रिचार्ज करवाना होगा। आपको बता दें कि ये समस्या उन के लिए बड़ी है जो एयरटेल के साथ कोई दूसरा नंबर पर भी रिचार्ज करवाते हैं। ऐसे ग्राहक एयरटेल के अलावा दूसरी सिम पर रिचार्ज करवाने में संकोच करेंगे। क्योंकि उन्हें नंबर चालू रखने के लिए एयरटेल भी कम से कम 45 रुपये का रिचार्ज करवाना होगा। ऐसा न करने पर सभी सेवाएं रोक दी जायेंगी।


वोडाफोन पर 23 रुपये का रिचार्ज जरूरी


आपको बता दें कि वोडाफोन आइडिया पर भी हर महीने 23 रुपये का रिचार्ज जरूरी है। एयरटेल के बाद ग्राहकों की नजर वोडाफोन पर होगी कि वे भी अपने न्यूनतम मासिक रिचार्ज में बढ़ोतरी करती है या नहीं। देखा गया है कि ये दोनों कंपनियाँ आगे-पीछे लगभग एक जैसे ही फैसले लेती हैं। हर महीने का कम से कम रिचार्ज इन कंपनियों ने एक साथ ही शुरू किया था। इसके बाद प्लान भी दोनों ने एक ही दिन महंगे किये थे। इन दोनों कंपनियों ने प्लान महंगे करने के साथ ही अपने नेटवर्कों से अन्य नेटवर्कों पर मुफ्त कॉलिंग सीमित कर दी थी, जिसके बाद आपको 6 पैसे प्रति मिनट चुकाने पड़ते। मगर फिर दोनों एक ही ये चार्जेस हटा दिये।


एआरपीयू बढ़ाने पर है जोर


टेलीकॉम कंपनियों का ध्यान इस समय अपना एआरपीयू बढ़ाने पर है। एआरपीयू का मतलब है हर उपभोक्ता से औसत आमदनी, जो किसी टेलीकॉम कंपनी के लिए बेहद जरूरी है। हाल ही में प्लान महंगे किये जाने के बाद जानकारों को वोडाफोन का एआरपीयू मौजूदा 107 रुपये से अगली दो तिमाहियों में 14 रुपये तक बढ़ने की उम्मीद है। वहीं एयरटेल के एआरपीयू के 128 रुपये से 145-150 रुपये तक बढ़ने की उम्मीद है।


केरल को सीएए हटाने का अधिकार नहीं

तिरुवनंतपुरम। केरल विधानसभा में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए)को हटाने के लिए पास हुए प्रस्ताव को राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने गलत करार दिया है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि किसी राज्य को केंद्रीय विषयों पर प्रस्ताव पास करने का अधिकार ही नहीं है। राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने कहा, नागरिकता का मामला केंद्र सरकार का विषय है, इसको लेकर राज्य सरकार के प्रस्ताव पारित करने का कहीं कोई संवैधानिक आधार नहीं है।


मुख्यमंत्री पिनराई विजयवन ने मंगलवार को विधानसभा में सीएए हटाने के लिए प्रस्ताव पेश किया था जिसे बाद में विधानसभा ने पारित किया था। इस प्रस्ताव का कांग्रेस ने समर्थन किया था वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कड़ा एतराज जताया था।
प्रस्ताव पास कराने के पीछे मुख्यमंत्री पी विजयन ने कहा था कि केरल में सेक्युलरिज्म (धर्म निरपेक्षता) का सुनहरा इतिहास रहा है। ऐसे में इस परंपरा को बनाए रखने के लिए ऐसे कानून का विरोध जरूरी है।


मेट्रो की एक्सप्रेस लाइन पर फ्री वाई-फाई

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर अब वाई-फाई की सुविधा शुरू होने जा रही है। अब तक कुछ मेट्रो स्टेशनों पर ही वाई-फाई की सुविधा है। यह देश में पहली ऐसी मेट्रो होगी, जिसमें पैसेंजर्स को वाई-फाई की सुविधा मिलेगी। दिल्ली मेट्रो के सूत्रों का कहना है कि गुरुवार को यह सुविधा शुरू हो सकती है। फिलहाल मेट्रो पैसेंजर्स को फ्री वाई फाई की सुविधा दी जाएगी।
डीएमआरसी के अधिकारी ने अधिकारी ने बताया कि पहले से ही ब्लू लाइन और एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन के प्लेटफार्मों पर वाई-फाई की सुविधा है। यह सेवा दिल्ली मेट्रो के अन्य रूटों पर भी शुरू की जा सकती हैं। यानी आने वाले समय में अन्य रूटों पर भी ट्रेन के डिब्बों में फ्री वाई-फाई की सुविधा दी जा सकती है। फिलहाल डीएमआरसी की तरफ से इस मामले में कोई औपचारिक बयान सामने नहीं आया है।
मार्च में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में मेट्रो फेज-4 में छह मेट्रो कॉरिडोर में से तीन को कैबिनेट की मंजूरी मिल गई थी। इसमें आरके आश्रम-जनकपुरी (पश्चिम), मुकुंदपुर-मौजपुर के अलावा एयरो सिटी-तुगलकाबाद शामिल हैं।


महिलाओं पर नहीं उम्र का प्रभाव

ताइवान। युवावस्था के बाद बढ़ती उम्र भला किसे पसंद होती है। बच्चे भले ही चाहते हैं कि वे जल्दी बड़े हो जाएं, लेकिन हम जब युवा हो जाते हैं तो प्रौढ़ या वृद्धावस्था नहीं पसंद करते हैं। न केवल महिलाएं, बल्कि पुरुष भी बूढ़ा होना नहीं चाहते हैं। सभी को अपनी उम्र से कम दिखने की चाहत होती है और इसके लिए वो काफी पैसे भी खर्च करते है, लेकिन क्या आपको मालूम है कि एक ऐसा भी देश है, जहां की महिलाओं पर बढ़ती उम्र का असर ही नहीं होता है।


जी हां, हम बात कर रहे हैं ताइवान की। यह एक द्वीप है, जो अपने आसपास के कई द्वीपों को मिलाकर चीनी गणराज्य का हिस्सा है। ताइवान से एक देश के रूप में विश्व के 17 देशों से ही संबंध रह गए हैं। यह द्वीप अपने आप में कई सामाजिक सांस्कृतियों को समेटे हुए है। ताइवान की आबादी करीब 2.36 करोड़ है। यहां के 70 प्रतिशत लोग बौद्ध धर्म को मानते हैं। इस देश की महिलाएं खूबसूरत भी होती हैं और लंबे समय तक जवां दिखती हैं। इसके पीछे इनका खानपान या फिर मेकअप कारण नहीं है, बल्कि इनकी खूबसूरती का अलग ही राज है। इस देश में रहने वाली लड़कियां अपने रंग-रूप को लेकर ज्यादा ही सजग रहती हैं। इस कारण वे धूप में ज्यादा बाहर नहीं निकलतीं, क्योंकि इनका ऐसा मानना है कि धूप में निकलने से चेहरा काला और खराब हो जाता है।


ताइवान के लोगों का मानना है कि धूप में निकलने से उम्र घट जाती है और इसलिए चाहे कितना भी जरूरी काम क्यों ना हो, लोग धूप में बिलकुल भी नहीं निकलते। यहां के लोग खेलों में भी काफी दिलचस्पी दिखाते हैं और इसलिए भी वो बहुत फिट रहते हैं।


हममें से कई लोगों को बारिश में भींगना काफी पसंद करते हैं, लेकिन ताइवान के लोग हमसे देश से उलट, बारिश में भींगना बिल्कुल पसंद नहीं करते। खासकर यहां की महिलाओं को बारिश में भींगने से खास एलर्जी है। एक अध्ययन में ये बात सामने आई है कि यहां के लोग काफी मेहनतकश होते हैं। मेहनत करके लोग पूरे दिन में 10 घंटे काम करते हैं। यहां के लोग कम उम्र में ही धनवान बन जाते हैं।


यहां के स्कूलों-कॉलेजों में गणित और विज्ञान पर ज्यादा जोर दिया जाता है। यहां वैसे तो हाई-स्पीड ट्रेन, मेट्रो और बसें भी हैं, लेकिन बड़ी संख्या में लोग स्कूटर चलाते हुए दिख जाएंगे। यहां के लोग मेहमाननवाजी के लिए जाने जाते हैं।


कम कीमत पर देख सकेंगे अधिक चैनल

ग्राहक कम कीमत पर अधिक चैनल देख


नई दिल्ली। उपभोक्ता हितों के संरक्षण के लिए भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने बुधवार को केबल और प्रसारण सेवाओं के लिए नई नियामकीय रूपरेखा पेश की। इसके तहत केबल टीवी के ग्राहक कम कीमत पर अधिक चैनल देख सकेंगे। खास बात यह है कि नियामक ने उपभोक्ताओं द्वारा सभी 'फ्री टू एयर' चैनलों के लिए दिए जाने वाले मासिक शुल्क की सीमा 160 रुपए तय कर दी है।
ट्राई ने बयान में कहा कि कई टीवी वाले घर यानी जहां एक से अधिक टीवी कनेक्शन एक व्यक्ति के नाम पर हैं, वहां दूसरे और अतिरिक्त टीवी कनेक्शनों के लिए घोषित नेटवर्क क्षमता शुल्क (एनसीएफ) का अधिक 40 प्रतिशत तक लिया जाएगा। विभिन्न प्रावधानों की समीक्षा के बाद ट्राई ने 200 चैनलों के लिए अधिकतम एनसीएफ शुल्क (कर रहित) को घटाकर 130 रुपए कर दिया है। 


इसके अलावा नियामक ने फैसला किया है कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने जिन चैनलों को अनिवार्य घोषित किया है, उन्हें एनसीएफ चैनलों की संख्या में नहीं गिना जाएगा। इसके अलावा ट्राई ने वितरण प्लेटफार्म परिचालकों (डीपीओ) को लंबी अवधि यानी छह महीने अथवा अधिक के सब्सक्रिप्शन पर रियायत देने की भी अनुमति दे दी है।


ब्लास्ट के बाद ढही इमारत, फंसे लोग

नई दिल्ली। दिल्ली के उद्योग नगर के पीरागढ़ी की एक फैक्ट्री में आग लग गई। आग सुबह 4 बजे लगी। इसके बाद दमकल विभाग की 7 गाड़ियां आग बुझाने पहुंची। आग बुझाते वक्त ही फैक्ट्री में एक धमाका हुआ और बिल्डिंग ढह गई, जिसमें कुछ लोगों के साथ कई दमकलकर्मी भी फंस गए हैं। स्थानीय लोगों के मुताबिक, फैक्ट्री में सुबह आग लगी। आग की लपटें इतनी तेज थी कि पलभल में चारों तरफ फैल गई। हादसे के बाद जोरदार ब्लास्ट हुआ, जिसकी वजह से फैक्ट्री की इमारत ढह गई। इमारत की चपेट में आने से कुछ लोग फंस गए हैं। आग बुझाने के दौरान कुछ दमकल कर्मी भी घायल हुए हैं। फिलहाल राहत बचाव का काम जारी है। आग कैसे लगी फिलहाल इसका खुलासा नहीं हुआ है। दिल्ली में बीते एक महीने के अंदर आग लगने की तीसरी बड़ी घटना है। सबसे पहले दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में आग लगी थी, जिसमें 43 मजदूरों की मौत हो गई थी। इसके बाद किराड़ी के फैक्ट्री में आग लगी थी, जिसमें 9 लोगों की मौत हुई थी।


बीते सोमवार को 7 लोक कल्याण मार्ग स्थित प्रधानमंत्री आवास में आग लग गई थी। दमकल की 7 गाड़ियों ने आग पर काबू पा लिया था। आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट थी। आग प्रधानमंत्री आवास में नहीं लगी बल्कि एसपीजी रिसेप्शन इलाके में लगी थी।


सड़क हादसाःसपना हो सकती है गिरफ्तारी

गुरूग्राम। एक बार फिर हरियाणवी डांसर सपना चौधरी सुर्खियों में है। मीडिया में आई खबर के मुताबिक, पिछले हफ्ते एक सड़क हादसे को लेकर वो गिरफ्तार हो सकती है। ये बयान गुरूग्राम सदर थाना के एसएचओ ने दिया है। आपको बता दें कि कुछ दिन पहले उनकी गाड़ी और एक कैंटर के बीच टक्कर हुई थी। जिसको लेकर कैंटर चालक की तरफ से शिकायत दी गई। पुलिस ने दोनों पार्टियों को नोटिस भेज जवाब मांगा था लेकिन सपना की तरफ से कोई जवाब नहीं दिया गया है। इसी को लेकर गुरुग्राम सदर थाना के एसएचओ ने कहा कि अगर सपना चौधरी पुलिस का सहयोग नहीं करती हैं तो उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।


शिकायतकर्ता अमर ने पुलिस से कहा कि वह अपना कैंटर लेकर जा रहा था। इसी बीच तेज गति से रफ ड्राइविंग तरीके से एक फॉच्र्यूनर गाड़ी ने कैंटर को ओवरटेक किया और उनके आगे आकर ब्रेक लगा दिये। इससे कैंटर को नुकसान पहुंचा। हालांकि उनकी गाड़ी को भी नुकसान हुआ। पता करने पर यह बात सामने आई कि वह गाड़ी सिंगर सपना चौधरी के नाम पर पंजीकृत है।


छः विदेशी युवतियों को किया गिरफ्तार

गुरूग्राम। हरियाणा की साइबर सिटी गुरूग्राम से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां पुलिस ने 6 विदेशी युवतियों को गिरफ्तार किया है जो अवैध तरीके से शहर में रह रही थी। डीएलएफ फेज-1 स्थित सिटी कोर्ट के पास झगड़ा कर रहीं केन्या की छह युवतियों को पुलिस ने जब पकड़ा तो पुलिस दंग रह गई। जब इनसे दस्तावेज दिखाने के लिए कहा तो इन युवतियों के पास पासपोर्ट और वीजा नहीं मिला। वह अवैध रूप से ही गुरुग्राम में रह रहीं थीं। जिसके बाद युवतियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।


पुलिस के अनुसार वो देर रात टीम गश्त कर रही थी। इस दौरान उन्हें सिटी कोर्ट के पास हंगामा होने की खबर मिली। इस पर दुर्गा शक्ति टीम को मौके पर भेजा गया, वहां पर छह युवतियां झगड़ा कर रहीं थीं। जांच के दौरान युवतियों को पास से पासपोर्ट और वीजा नहीं मिला।


आयोग ने की स्कूलों छुट्टी की अनुशंसा


भोपाल में स्कूलों की छुट्टी के लिए बाल आयोग ने की अनुशंसा


भोपाल। शहरवासियों को इन दिनों कड़कड़ाती सर्दी का सामना करना पड़ रहा है। साल 2020 की शुरुआत भी कोल्ड-डे से हुई। पांच साल बाद साल की शुरुआत सर्द दिन से हुई है। इसके पहले 2015 की शुरुआत कोल्ड-डे से हुई थी। इस दिन अधिकतम तापमान 14.2 डिग्री दर्ज किया गया था, जो सामान्य से 10 डिग्री कम था। इधर, बढ़ती ठंड में बच्चों के स्वास्थ्य को देखते हुए बाल संरक्षण आयोग ने शीतकालीन अवकाश और बढ़ाने की अनुशंसा की है।


आयोग ने इस संबंध में कलेक्टर को पत्र लिखा है। आयोग ने कहा है प्रदेश में शीतलहर की स्थिति लगातार बनी हुई है। कोहरा भी छाया हुआ है। ऐसी स्थिति में बच्चों को स्कूल जाने में काफी कठिनाई हो रही है और इससे उनका स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है। आयोग के सदस्य ब्रजेश चौहान के अनुसार मौसम की स्थिति को देखते हुए शीतकालीन अवकाश शीतलहर समाप्त होने तक बढ़ाने की अनुशंसा की गई है। जनवरी की शुरुआत से ही सर्दी के तेवर तीखे नजर आ रहे है। बुधवार को सुबह से ही शहर में कोहरा छाया रहा, साथ ही बादल भी छाए रहे, सर्द हवाओं के कारण लोगों को दिन में भी गर्म कपडे, टोपे लगाकर बाहर निकलना पड़ा।
आलम यह था कि दोपहर 12 बजे तक लोगों को दिन में काफी तेज सर्दी का सामना करना पड़ा, दोपहर बाद बादलों के बीच सूरज की लुकाछिपी चलती रही और कुछ पल गुनगुनी धूप भी आती रही, लेकिन मौसम सर्द ही रहा। बुधवार को शहर का अधिकतम तापमान 20.3 और न्यूनतम तापमान 9.7 डिग्री दज किया गया, जबकि मंगलवार को अधिकतम तापमान 18.5 और न्यूनतम 6.7 डिग्री दर्ज किया गया था। मंगलवार के मुकाबले बुधवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी हुई है, लेकिन सर्दी का असर बरकरार है।


'भुजः द प्राइड ऑफ इंडिया' में अजय

मुंबई। अजय देवगन को फैंस हर किरदार में पसंद करते हैं, फिर चाहे वो कॉमेडी हो या फिर रोमांस, लेकिन अजय देवगन के एक्शन को लोगों से ज्यादा वाहवाही मिली है। अजय देवगन की फीमेल फैंस उन्हें ऑफिसर लुक में खूब पसंद करती हैं। फिल्म 'जमीन' में अपने एग्रेसिव और जिद्दी आर्मी ऑफिसर के किरदार से उन्होंने लोगों का दिल जीत लिया था। अजय देवगन ने मेज़र साब, जमीन, टैंगो चार्ली, हिंदुस्तान की कसम, सिंघम जैसी फिल्मों में दमदार एक्शन किए हैं। इन फिल्मों के बाद अब अजय देवगन अपनी नई फिल्म फिल्म 'भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया' में एयरफोर्स ऑफिसर के लुक में नजर आएंगे। फिल्म का फर्स्ट लुक रिलीज हो चुका हैं। इस लुक में वाकई अजय देवगन काफी स्मार्ट लग रहे हैं।
अजय देवगन की 100वीं फिल्म तानाजी: द अनसंग वॉरियर 10 जनवरी 2020 को सिमेमाघरों में रिलीज होने वाली है। फिल्म का ट्रेलर काफी शानदार है, सोशल मीडिया पर लोगों ने ट्रेलर की काफी तारीफ की थी अब फिल्म कैसी होगी ये तो रिलीज के बारे में ही पता चलेगा। अजय देवगन की फिल्म तानाजी: द अनसंग वॉरियर की रिलीज से पहले अजय ने अपनी अगली फिल्म की घोषणा कर दी है। इस बार अजय फिल्म 'भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया' में अपने पसंदीदा किरदार में नजर आएंगे।
फिल्म 'भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया' भारत पाकिस्तान के 1971 के युद्ध पर आधारित है और अजय इसमें इंडियन एयरफोर्स के विंग कमांडर विजय कार्णिक का किरदार निभा रहे हैं। विंग कमांडर विजय कार्णिक वो वीर है जिन्होंने अपने अदम्य साहस से 1971 के युद्ध में पाकिस्तानी की बमबारी के बावजूद एयरबेस को ऑपरेशनल रखा था।
फिल्म के डायरेक्टर अभिषेक दुधाइया ने सोशल मीडिया पर अजय देवगन के फिल्म 'भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया' से फर्स्ट लुक रिलीज किया। फर्स्ट लुक को रिलीज करते हुए उन्होंने लिखा, 'मेरी फिल्म 'भुज द प्राइड ऑफ इंडिया' से स्क्वॉड्रन लीडर विजय कार्णिक के रूप में अजय देवगन सर का फर्स्ट लुक शेयर करना मेरी खुशनसीबी है।'


बच्चा पैदा करने में नंबर-1 बना भारत

नई दिल्ली। बच्चे पैदा करने के मामले में भारत नंबर-1 बन गया है। इस मामले में चीन को पछाड़ते हुए भारत ने नया रिकॉर्ड बनाया है। संयुक्त राष्ट्र की संस्था UNICEF के मुताबिक नए साल के पहले दिन भारत में रिकॉर्ड 67,385 बच्चे पैदा हुए हैं, जो दुनियाभर में किसी भी देश में नए साल के दिन पैदा हुए सबसे ज्यादा बच्चे हैं।


इस आंकड़े के मुताबित नए साल के पहले दिन हर एक मिनट में लगभग 47 बच्चे पैदा हुए हैं। भारत ने बच्चा पैदा करने के मामले में चीन को पीछे छोड़ दिया है। बच्चे पैदा करने के मामले में भारत पहले नंबर पर है, वहीं दूसरा नंबर चीन का है। चीन में नए साल के पहले दिन 46, 299 बच्चे पैदा हुए हैं। चीन के बाद नाईजिरिया में 26039, पाकिस्तान में 16787, इंडोनेशिया में 13020 और अमेरिका में 10452 बच्चे नए साल के दिन पैदा हुए हैं। UNICEF के मुताबिक दुनियाभर में नए साल के पहले दिन 3,92,078 बच्चे पैदा हुए हैं जिनमें से भारत की हिस्सेदारी 17 प्रतिशत है। आंकड़ों के मुताबिक नए साल के पहले दिन का पहला बच्चा फिजी में पैदा हुआ है और सबसे आखिर में जन्म लेने वाला बच्चा अमेरिका का है।


हार्दिक पांड्या और नताशा ने रचाई सगाई

नई दिल्ली। इंडियन क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर प्लेयर हार्दिक पंड्या प्यार की पिच पर क्लीन बोल्ड हो गये हैं। बादशाह के गाने 'डीजे वाले बाबू' की एक्ट्रेस और डांसर नताशा स्टानोविक के साथ क्रिकेटर हार्दिक पंड्या ने सगाई रचा ली है। नताशा सर्बिआ की रहने वाली हैं और लम्बे समय से हार्दिक के साथ उनका अफेयर चल रहा था। अपनी गर्लफ्रेंड नताशा स्टानोविक के साथ बुधवार को पंड्या ने सगाई कर ली। हार्दिक ने सोशल मीडिया पर नताशा के साथ कई तस्वीरें शेयर की और लिखा, 'मैं तेरा, तू मेरी जान, सारा हिंदुस्तान। हार्दिक और नताशा के अफेयर की खबरें अगस्त से ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। दोनों कई बार एक साथ नजर भी आए। डांस रियलिटी शो नच बलिए-9 में भाग ले चुकी नताशा के लिए हार्दिक ने वोट भी मांगे थे। आपको बता दें कि पिछले साल के वर्ल्ड कप के दौरान हार्दिक पंड्या को लोअर बैक की शिकायत हुई थी। चोट के बाद वापसी करने वाले हार्दिक को न्यूजीलैंड दौरे पर इंडिया- A टीम में शामिल किया गया है। इस टीम में पृथ्वी शॉ, मयंक अग्रवाल, रविचंद्रन अश्विन और उमेश यादव को भी A टीम के साथ जाने को कहा गया है। टीम इंडिया फरवरी में न्यूजीलैंड जाएगी जहां वो 3 टी-20 और 2 टेस्ट मैच खेलेगी।


7 करोड़ किसानों को मिलेंगे 14,000 करोड़

पीएम मोदी देश के 7 करोड़ किसानों को देंगे 14,000 करोड़ का तोहफा।
 
नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी  Modi)गुरूवार को कर्नाटक में आयोजित एक सभा के दौरान किसान सम्मान निधि योजना के तहत दी जाने वाली राशि की दूसरी किश्त जारी करेंगे। पहले चरण में सिर्फ 8.5 करोड किसानों को ही इसका फायदा मिला है। इस बार इसके लिए बजट घटा कर 55,000 करोड़ किया जा सकता है। पहले चरण में इसका बजट 87 हजार करोड़ रुपए रखा गया है। इस बार करीब 7 करोड़ किसानों को 14,000 करोड़ रुपए का तोहफा मिल सकता है। आने वाले आम बजट में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि जारी रखने का ऐलान कर सकती हैं। इस योजना के तहत किसानों को सालाना 6,000 रुपए खाते में मिलेगा। देश के सभी 14.5 करोड़ किसानों को इस योजना का लाभ मिलेगा। स्कीम के तहत अभी तक 9.2 करोड़ किसानों का डेटा केंद्र सरकार के पास है। बताया जा रहा है कि किसानों के पास करीब 50,000 करोड़ रुपए की राशि पहुंच चुकी है। योजना का लाभ लेने के लिए ये हैं शर्तें एमपी, एमएलए, मंत्री और मेयर भले ही वो किसानी को भी लाभ नहीं दिया जाएगा। केंद्र या राज्य सरकार में अधिकारी एवं 10 हजार से अधिक पेंशन पाने वाले किसानों को लाभ नहीं दिया जाएगा। पेशेवर, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील, आर्किटेक्ट, जो कहीं खेती भी करता हो उसे लाभ नहीं मिलेगा। पिछले वित्तीय वर्ष में इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले इस लाभ को नहीं ले पाएंगे। केंद्र और राज्य सरकार के मल्टी टास्किंग स्टाफ/चतुर्थ श्रेणी/समूह डी कर्मचारी इसका लाभ ले पाएंगे।


सीबीएसई बोर्डः 75 परसेंट अटेंडेंस जरूरी

नई दिल्ली।  CBSE यानी सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ स्कूल एजुकेशन ने 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा (Board Exam)देने वाले स्टूडेंट्स के लिए 75 फीसदी अटेंडेंस अनिवार्य कर दी है।  विभाग ने इस संबंध में सभी स्कूलों को नोटिस भेज कर सभी छात्रों की अटेंडेस की गिनती करने को कहा है जो इस साल कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं के लिए हिस्सा लेंगे। 
बता दें, बोर्ड द्वारा भेजे गए नोटिस में सभी छात्रों का 2020 तक का डेटा बुलाया गया है। कहा गया है कि जिन भी छात्रों की अटेंडेंस 75 फीसदी से कम होगी उन्हें परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा। गौर हो, CBSE बोर्ड परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू हो रही हैं । एडमिट कार्ड केवल उन छात्रों के लिए जारी किए जाएंगे जो अनिवार्य उपस्थिति सहित सभी मापदंडों पर खरे उतरेंगे। कम उपस्थिति वाले छात्रों की सूची क्षेत्रीय कार्यालयों तक भेजी जाएगी और आखिरी फैसला 7 जनवरी को या उससे पहले लिया जाएगा।


 


समिति ने 15 कन्याओं का विवाह कराया

मां भगवती पूजा समिति ने 15वें निर्धन कन्या विवाह के अंतर्गत 11 निर्धन जोड़ों की सगाई की कराई सगाई,15 को शादी


सन्दीप मिश्रा


रायबरेली। मां भगवती पूजा समिति बेलीगंज फाटक द्वारा आगामी 14 जनवरी दिन मंगलवार को होने वाले 15 वे निर्धन कन्या विवाह समारोह के अंतर्गत मंगलवार को 11 निर्धन जोड़ों की सगाई की रस्म धूमधाम से विभिन्न आयोजनों के माध्यम से संपन्न कराई गई। सर्वप्रथम सभी जोड़ों द्वारा समिति की ओर से विशेष रूप से बनवाए गए 11 किलोकके केक को काटकर समिति के पदाधिकारियों एवं जोड़ों के अभिभावकों में वितरित किया गया। इसके पश्चात सभी जोड़ों ने समिति की ओर से दी गई अंगूठी को एक दूसरे को पहनाकर सगाई की रस्म अदायगी की। समिति द्वारा सभी जोड़ों को विवाह के अवसर पर पहनने वाले एक ही तरह के वैवाहिक परिधान प्रदान किए जिसमें कन्याओं को साड़ी ब्लाउज तथा वर को सूट प्रदान किए गए। समिति द्वारा जांच पड़ताल के उपरांत 11 जोड़ो दिव्यांशी सोनी निवासी पुलिस लाइन चौराहा संग विश्व कुमार निवासी प्रगति पुरम, रोशनी साहू निवासी दीन शाह गौरा संग लव कुश निवासी उन्नाव, आरती मौर्या निवासी गदागंज व मुकेश मौर्य निवासी बाबूगंज, राधना निवासी जगतपुर संघ वीरेंद्र कुमार निवासी जगतपुर, अर्चना देवी निवासी गुरबख्शगंज संग अमरजीत यादव निवासी खीरों, रूपरानी निवासी महाराजगंज संग राजेश कुमार निवासी तेलिया कोट, सुषमा निवासी अमेठी संग कौशल निवासी हैदर गढ़, अनीता निवासी फुरसतगंज संग राम मिलन निवासी राही, मधुलिका निवासी सलोन व आशीष निवासी सोनिया नगर, नेहा साहू निवासी डील व दिनेश साहू निवासी प्रतापगढ़, पूजा सोनी निवासी बछरावां व अनमोल सोनी निवासी बछरावां को आशीर्वाद प्रदान किया। इस अवसर पर समिति के अनुसार सभी जोड़ों का शासन द्वारा वैवाहिक पंजीकरण भी इस बार कराया जाएगा, जिसके प्रभारी डॉ आर एन बैजल बनाए गए। इस आयोजन में अध्यक्ष व मुख्य व्यवस्थापक रत्नेश कुमार गुप्ता, महामंत्री एवं मुख्य सलाहकार महेश नारायण अग्रवाल, कोषाध्यक्ष रमेश कुमार सिंह, मुख्य संरक्षक महेंद्र अग्रवाल, राधारमण अग्रवाल, शिव कुमार अग्रवाल, प्रेम नाथ गुप्ता सहित वैश्य समाज के जिला प्रभारी अतुल गुप्ता, जिला अध्यक्ष संदीप जैन, प्रभाकर गुप्ता, राजेश चंद्र अग्रवाल, गोपाल नारायण अग्रवाल, नरेश बिंदल आशीष गुप्ता संतोष मुरारका अश्विनी श्रीवास्तव पवन अग्रवाल भावेश अग्रवाल सहित समिति की महिला पदाधिकारी सुमन गुप्ता,मनीषा अग्रवाल अलका सिंह अंजली सिंह आशा बैजल यशोदा अग्रवाल सुधा गुप्ता नेहा जैन सहित समाजसेवी पूनम कपूर किरण गुप्ता रश्मि बंसल चंद्र प्रकाश गुप्ता गोपाल गुप्ता अजय बंसल सोम प्रकाश अग्रवाल रोहन बिंदल पल्लवी अग्रवाल आदि शामिल रहे।


'ॐ नमः शिवाय्' से नववर्ष का स्वागत

21 सालों से रामकृपाल चौराहे पर नए साल का हो रहा है ओम नमः शिवाय के जाप से स्वागत


सन्दीप मिश्रा


रायबरेली । वर्ष 2020 का आगमन पूरे देश में अपने अलग अलग अंदाज में स्वागत किया जाता है। लेकिन रायबरेली शहर के रामकृपाल चौराहे पर शिव भक्तों ने नए साल का स्वागत ओम नमः शिवाय के अनवरत जाप से किया। शिव भक्तों ने रामकृपाल चौराहे पर स्थित शिव मंदिर में नए वर्ष के आने तक ओम नमः शिवाय का जाप किया। इस दौरान वार्ड नंबर 32 के सभासद राम खेलावन बारी ने बताया कि विगत 21 सालों से नए साल के आगमन और पुराने साल की विदाई चौराहे पर ओम नमः शिवाय के जाप से दी जाती रही है । जिसमें सभी स्थानीय लोग अपना भरपूर सहयोग देते हैं।


पूर्व सांसद डीपी त्रिपाठी का निधन

एनसीपी के सीनियर नेता डीपी त्रिपाठी का निधन, राज्यसभा से विदाई में दिया था सेक्स पर ऐतिहासिक भाषण
मनोज सिंह ठाकुर
    


नई दिल्ली। एनसीपी के सीनियर नेता और पूर्व सांसद डीपी त्रिपाठी का गुरुवार को निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमारियों से पीड़ित थे। दिल्ली के अस्पताल में उनका निधन हुआ। एनसीपी के सीनियर नेता प्रफुल्ल पटेल ने पूर्व सांसद डीपी त्रिपाठी के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने कहा, 'अपने सहयोगी डीपी त्रिपाठी के निधन से गहरा सदमा लगा है। उन्हें कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।' एनसीपी के मुखिया शरद पवार का उन्हें बेहद करीबी माना जाता था।


फिलहाल डीपी त्रिपाठी एनसीपी के महासचिव के तौर पर जिम्मेदारी संभाल रहे थे। पिछले साल ही राज्यसभा से उनका कार्यकाल समाप्त हुआ था। अपने विदाई भाषण में उन्होंने सेक्स के मुद्दे को उठाते हुए कहा था कि आज तक इस पर संसद में चर्चा नहीं हुई, जबकि गांधी जी और लोहिया ने भी इस पर बात की थी। उन्होंने कहा था कि सेक्स से जुड़ी बीमारियों के चलते मौतें होती हैं, लेकिन कभी इस पर बात नहीं हुई।


त्रिपाठी ने कहा था, जहां कामसूत्र लिखा, वहां संसद में सेक्स पर बात क्यों नहीं
उन्होंने कहा कि जिस देश में कामसूत्र जैसी पुस्तक लिखी गई थी, वहां की संसद में सेक्स जैसे विषय पर कभी बात नहीं की गई। इस पुस्तक को लिखने वाले वात्स्यायन को ऋषि का दर्जा प्राप्त था। अजंता-अलोरा की गुफाएं और खजुराहो के स्मारक इसी पर समर्पित हैं, लेकिन कभी संसद तक में यह मसला नहीं उठा। 1968 में राजनीति में आए डीपी त्रिपाठी को संसद के अच्छे वक्ताओं में शुमार किया जाता था। आपातकाल में आंदोलन के चलते वह जेल भी रहे थे।


बाढ़ ने जश्न को गम में बदला,16 की मौत

जकार्ता। इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में भीषण बाढ़ के कारण नए साल का जश्न गम में तब्दील हो गया और इसके कारण कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई और हजारों अन्य लोग विस्थापित हो गए. बाढ़ के कारण एक हवाईअड्डे को बंद करना पड़ा.


राष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण एजेंसी के प्रवक्ता अगुस विबोवो ने बृहस्पतिवार को बताया कि मानसून की बारिश और उफनती नदियों की वजह से कम से कम 169 इलाके जलमग्न हो गए. जकार्ता के बाहरी जिलों बोगोर और दीपोक जिलों में भूस्खलन हुआ. उन्होंने बताया कि बाढ़ के कारण कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई. एजेंसी की ओर से जारी वीडियो और तस्वीरों में पानी में तैरती कारें दिखाई दे रही हैं.


विबोवो ने बताया कि बाढ़ के कारण हजारों घर और इमारतें डूब गईं और प्राधिकारियों को बिजली और जलापूर्ति रोकनी पड़ी. उन्होंने बताया कि कुछ स्थानों पर बाढ़ के पानी के आठ फुट ऊपर तक पहुंच जाने के कारण 31000 से अधिक लोगों को अस्थायी आश्रयगृहों में शरण लेनी पड़ी. नागर विमानन के महानिदेशक पोलाना प्रमेस्ती ने बताया कि बाढ़ से जकार्ता हलीम पेरडानाकुस्माह घरेलू हवाईअड्डे का रनवे डूब गया और अधिकारियों को इसे बंद करना पड़ा।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


जनवरी 03, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-148 (साल-01)
2. शुक्रवार, जनवरी 03, 2020
3. शक-1941, पौष - शुक्ल पक्ष, तिथि- सप्तमी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 07:15,सूर्यास्त 05:37
5. न्‍यूनतम तापमान -5 डी.सै.,अधिकतम-15+ डी.सै., बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


 


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...