मंगलवार, 25 जुलाई 2023

हम प्यार नहीं करते, सिर्फ दोस्त हैं: नसरुल्लाह

हम प्यार नहीं करते, सिर्फ दोस्त हैं: नसरुल्लाह

अखिलेश पांडेय 

इस्लामाबाद। अंजू फेसबुक पाकिस्तानी दोस्त नसरुल्लाह से 21 जुलाई को मिलने पाकिस्तान पहुंची थी। जैसे ही मीडिया में यह बात आई तो चारों तरफ सुर्खियां बनने लगीं। अभी सीमा हैदर का विवाद शांत भी नहीं हुआ था कि अंजू की कहानी सामने आ गई। इस प्रकरण ने मंगलवार को तब और जोर पकड़ा जब मीडिया में खबर आई कि अंजू ने पाकिस्तान में इस्लाम धर्म अपना लिया है और उसका नया नाम फातिमा हो गया है।

हालांकि, थोड़ी देर बाद जब रिपोर्टर ने अंजू से पाकिस्तान में बात कर इस बात की सच्चाई जानी तो अंजू ने कहा कि ये सारी खबरें अफवाह है और उसने इस्लाम कबूल नहीं किया है। जब अंजू से पूछा गया कि वह आज कोर्ट क्यों गईं थीं तो इस पर उन्होंने कहा कि वह और उसके दोस्त नसरुल्लाह सुरक्षा मांगने के लिए वहां पहुंचे थे। अंजू ने जानकारी दी कि कोर्ट से उन्हें सुरक्षा मिल गई है और 50 पुलिस वाले अब उसकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे।

इसके अलावा नसरुल्लाह से जब पूछा गया कि क्या वह अंजू से प्यार करते हैं तो उन्होंने कहा नहीं। हम प्यार नहीं करते हैं सिर्फ दोस्त हैं। शादी के सवाल उन्होंने कहा कि अगर अंजू चाहेगी तो वह शादी करने के लिए तैयार हैं। इसके अलावा पूछा गया कि आज अंजू बुर्का पहनकर कोर्ट क्यों गई थी, इस पर नसरुल्लाह ने कहा कि यहां रिवाज है कि महिलाएं घर से बाहर बुर्का पहनकर ही निकलती हैं। वैसे अंजू को भी बुर्का पहनना अच्छा लगता है।

बता दें, कि अंजू की चार वर्ष पहले पाकिस्तानी नागरिक नसीरुल्ला से दोस्ती हुई थी। इसके बाद बताया गया कि दोनों की दोस्ती प्यार में तब्दील हो गई। प्रेमी के बार-बार बुलाने पर अंजू पाकिस्तान चली गई। अंजू के पति ने बताया कि उसकी पत्नी गुरुवार को जयपुर जाने की बात कहकर घर से गई थी और फिर पता चला कि वो लाहौर के रास्ते पाकिस्तान जा पहुंची है।

फेसबुक से दोस्ती के बाद पाकिस्तान पहुंची अंजू ने सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अपना वीडियो वायरल किया है। जिसमें वह कह रही हैं कि वह सीमा हैदर की तरह नहीं हैं। वह पाकिस्तान जरूर आई है, लेकिन वीजा के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने आई है और जल्द ही भारत आ जाएंगी। उन्होंने कहा कि उनके परिवार व रिश्तेदारों को परेशान न किया जाए।

आपस में टकराई 2 बाईके, दो की मौत, दो घायल

आपस में टकराई 2 बाईके, दो की मौत, दो घायल

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर जनपद के नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के भोपा रोड पर दाे बाइक आपस में टकरा गई। हादसे दो युवकों की मौत हो गई, जबकि दो युवक घायल है। उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

गांव मखियाली में सिद्धबली धर्म कांटे के पास दोपहर के समय हादसा हुआ। एक बाइक पर सवार होकर मोहल्ला मिमलाना रोड निवासी योगेंद्र, रजत, हर्षित सवार भोपा की ओर जा रहे थे, जबकि दूसरी बाइक पर भोपा के गांव ककराला निवासी नवाब सवार था। उनकी बाइक एक दूसरे से टकरा गई तब चारों युवक घायल हो गए। चारों घायल युवकों को अस्पताल ले जाया गया। वहां योगेंद्र व नवाब को मृत घोषित कर दिया।

थाना सिविल लाइन क्षेत्र के मोहल्ला महमूदनगर निवासी अफसरुन (20) की शहर कोतवाली के गांव मलीरा में काली नदी में नहाते समय डूबने से मौत हो गई। परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया। पुलिस के अनुसार, अफसरुन अपने बड़े भाई एहतेशाम व मोहल्ले के आधा दर्जन साथियों के साथ नदी में दोपहर बाद नहाने आया था।

इस दौरान वह गहरे पानी में डूब गया। उसके भाई व साथियों ने शोर मचाया तब आसपास मौजूद लोगों ने युवक की तलाश की। मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से युवक को तलाश लिया। सूचना पाकर पहुंचे परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया और शव को साथ ले गए।

शुक्ल-पक्ष की पंचमी तिथि को मनेगी 'नाग पंचमी'

शुक्ल-पक्ष की पंचमी तिथि को मनेगी 'नाग पंचमी'

सरस्वती उपाध्याय 

नाग पंचमी का त्योहार सावन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है। इस बार नाग पंचमी 21 अगस्त 2023 को है। नाग पंचमी के अवसर पर नाग देवता की पूजा की जाती है। इस दिन पूजा करने पर कई तरह की परेशानियों से छुटकारा मिलता है। पौराणिक काल से ही सांपों को देवताओं की तरह पूजा जाता है। मान्यता है, नाग पंचमी के दिन नाग देवता की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। साथ ही राहु-केतु के बुरे प्रभाव एवं कालसर्प दोष से भी मुक्ति मिलती है। वहीं शास्त्रों में कुछ ऐसी बातों का भी जिक्र किया है, जिन्हें गलती से भी नाग पंचमी के दिन नहीं करना चाहिए, वरना पुण्य की पाप लग सकता है और कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में चलिए जानते हैं कौन से वे कार्य हैं, जिन्हें नाग पंचमी के दिन नहीं करना चाहिए…!

नाग पंचमी के दिन नाग देवता की पूजा की जाती है। ऐसे में इस दिन सांपों को कोई कष्ट न पहुंचाएं। इस दिन उनकी पूजा करें और उनकी रक्षा करने का संकल्प लें।

नाग पंचमी के दिन जीवित सांप को दूध न पिलाएं, क्योंकि सांप के लिए दूध जहर के समान हो सकता है। साथ ही इस दिन गलती से भी जीवित नाग की पूजा करने और उसे कष्ट देने से पाप लगता है। इस दिन नाग देवता की मूर्ति या फोटो की पूजा करें और उनकी प्रतिमा का दूध से अभिषेक करें।

धार्मिक शास्त्रों में कहा जाता है कि नाग पंचमी के दिन तवा और लोहे की कढ़ाई में भोजन नहीं पकाना चाहिए। ऐसा करने से नाग देवता को कष्ट होता है। साथ ही इस दिन किसी भी नुकीली और धारदार वस्तुओं जैसे सुई, चाकू, का इस्तेमाल अशुभ माना जाता है।

नाग पंचमी के दिन भूमि की खुदाई भी नहीं करनी चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से मिट्टी या जमीन में सांपों के बिल या बांबी के टूटने का डर रहता है।

नाग पंचमी के दिन तांबे के लोटे से शिवलिंग या नाग देव को दूध अर्पित नहीं करना चाहिए। जल चढ़ाने के लिए हमेशा तांबे और दूध के लिए पीतल के लोटे का इस्तेमाल करें।

गन्ना सर्वे का गांव-गांव प्रदर्शन, टीमें लगाई 

गन्ना सर्वे का गांव-गांव प्रदर्शन, टीमें लगाई 

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। जिले में गन्ना सर्वे का गांव-गांव प्रदर्शन किया जा रहा है। आठ चीनी मिलों के क्षेत्र में सट्टा सर्वे के लिए 215 टीम लगाई गई है।

सर्वे प्रदर्शन का अभियान 30 अगस्त तक चलेगा। एक लाख 72 हजार हेक्टेयर पर केवल गन्ने की खेती हो रही है।

मिलों और गन्ना विभाग ने संयुक्त रूप से गन्ना सट्टा सर्वे के प्रदर्शन का अभियान चलाया है। 20 जुलाई से शुरू हुए अभियान में अब तक 30 गांवों में गन्ने के सट्टे का प्रदर्शन हो चुका है। पेराई सत्र 2023-24 के सर्वे प्रदर्शन मे किसानों को उनका सम्पूर्ण डाटा दिखाया जा रहा है। यह अभियान 31 अगस्त तक चलेगा।

जिला गन्ना अधिकारी संजय सिसौदिया ने बताया कि गन्ना सर्वे प्रदर्शन के लिए 215 टीम लगाई गई है। 30 गांवों में गन्ना सट्टे के सर्वे का कार्य पूर्ण हो गया है।

जिला गन्ना अधिकारी संजय सिसौदिया का कहना है कि गन्ना विभाग आगामी सत्र की तैयारी में जुट चुका है। किसान देख लें कि रिकार्ड में उसकी फसल को लेकर कोई त्रुटि तो नहीं है। वह अपनी समस्याओं का निराकरण मौके पर ही करा सकता है।

₹500 के नोट को सर्कुलेश से बाहर करने पर विचार 

₹500 के नोट को सर्कुलेश से बाहर करने पर विचार 

इकबाल अंसारी 

नई दिल्ली। आरबीआई ने 2000 के नोटों को 19 मई 2023 को सर्कुलेशन से बाहर करने के लिए कहा था। बैंक ने लोगों को राहत देने के लिए सितंबर तक टेंडर में बने रहने की बात कही थी। अब 2000 के नोटों को बैंक में जमा करने की तारीख करीब आ रही है। लोगों के बीच चर्चा है कि 2000 के नोट बंद होने के बाद 500 रुपए के नोटों के बारे में तरह तरह की बाते हो रही हैं कि कहीं 2000 रुपए के नोट की तरह 500 रुपए के नोटों को सर्कुलेशन से बाहर किया जाएगा या नहीं।

500 रुपए के नोट को वापस लेने के लिए सरकार ने दिया जवाब

500 रुपए के नोटों के बंद होने की चर्चाओं के बीच संसद के मॉनसून सत्र में वित्त मत्रालय से सवाल किया गया। ये भी पूछा कि 1000 रुपए के नोट दोबारा शरू होंगे या नहीं। जवाब में वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने ऐसी खबरों को साफ इनकार दिया।

कहा कि 500 रुपए के नोटों को बंद करके दोबारा 1000 रुपए के नोटों को शुरू नहीं करने जा रही है। कहा कि सरकार ने 2000 रुपये के नोटों को चरणबद्ध तरीके से मार्केट से हटाया है। इसके साथ ही सरकार ने इसके बदले 500 रुपये के नोटों की पर्याप्त मात्रा में बफर स्टॉक रखा है, लेकिन 2000 रुपए के नोट की तरह 500 रुपए के नोट सर्कुलेश से बाहर नहीं किए जाएंगे।

रंजिश: बुरी तरह पीटा, फिर मुंह में पेशाब किया   

रंजिश: बुरी तरह पीटा, फिर मुंह में पेशाब किया   

संदीप मिश्रा 

आगरा। एक युवा को कुछ बदमाशों ने पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया और युवक और पीड़ित व्यक्ति दोनों साथी हैं। एक ही गैंग के सदस्य हैं। युवक वीडियो में मुझे मत मारो, नहीं तो मैं मर जाऊंगा। वीडियो वायरल होने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। वायरल होने के कुछ घंटों के अंदर, आरोपी युवक और उसके साथी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

वायरल वीडियो में एक व्यक्ति पेशाब करता है। आदित्य इंदौलिया है। पीड़ित आदित्य और आरोपी आदित्य के बीच एक पुरानी रंजिश चल रही थी। आदित्य ने पहले अपने साथियों के साथ मिलकर युवा को जमकर पीटा। उसने फिर उसके चेहरे पर पेशाब फेंका। साथ ही आदित्य ने युवक के चेहरे पर पेशाब करते हुए वीडियो बनाया। यह वायरल वीडियो लगभग 3 से 4 महीने पहले का बताया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारी की समीक्षा   

स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारी की समीक्षा   

ओमप्रकाश चौबे 

ग्वालियर। भारतीय स्वाधीनता की 76 वीं वर्षगांठ जिले में हर्षोल्लास, धूमधाम एवं गरिमामय ढंग से मनाई जायेगी। स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर जिले का मुख्य समारोह यहाँ कम्पू स्थित एसएएफ ग्राउण्ड पर आयोजित होगा। इस गरिमामयी समारोह में मुख्य अतिथि ध्वजारोहण कर संयुक्त परेड की सलामी लेंगे। मुख्य समारोह में स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों, कारगिल शहीदों की विधवाओं एवं लोकतंत्र सैनानियों को भी सम्मानित किया जायेगा। इस अवसर पर स्कूली बच्चों द्वारा रंगारंग व मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जायेगी।

कलेक्टर अक्षयकुमार सिंह ने सोमवार को जिला पंचायत के सभागार में संबंधित अधिकारियों की बैठक लेकर मुख्य समारोह की तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारियों एवं व्यवस्थाओं की रूप रेखा पर विस्तार से चर्चा हुई। साथ ही मुख्य समारोह के लिये अधिकारियों को जिम्मेदारियाँ सौंपी गईं।

बहुरंगी सांस्कृतिक विरासत पर केन्द्रित होंगे कार्यक्रम

मुख्य समारोह में स्कूली बच्चों द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम ऐसे होना चाहिए, जिनमें खासतौर पर मध्यप्रदेश की सांस्कृतिक विविधता के दर्शन हों। उन्होंने प्रदेश के विभिन्न अंचलों की संस्कृति व लोक रंगों पर केन्द्रित कार्यक्रमों को शामिल करने पर बल दिया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का चयन 5 अगस्त तक कर लिया जाए, ताकि स्कूली बच्चे बेहतर ढंग से तैयारी कर सकें। सांस्कृतिक कार्यक्रमों को अंतिम रूप देने के लिये एक समिति का गठन किया गया है।

लाड़ली बहना सेना व कोटवार की टुकड़ीं भी शामिल होंगीं।

कलेक्टर ने मुख्य समारोह में निकलने वाली संयुक्त परेड में बीएसएफ, सीआरपीएफ, जिला पुलिस बल, होमगार्ड, एनसीसी व स्काउट गाइड इत्यादि के साथ लाड़ली बहना सेना और कोटवार की टुकड़ियों को शामिल करने के लिये भी कहा।

उत्कृष्ट रचनात्मक कार्य करने वाले गैर शासकीय व्यक्ति भी होंगे सम्मानित

जिले के मुख्य स्वतंत्रता दिवस समारोह में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शासकीय सेवकों के साथ-साथ पर्यावरण, स्वच्छता, चिकित्सा, समाज कल्याण इत्यादि क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले गैर शासकीय व्यक्तियों को सम्मनित कराने के निर्देश भी कलेक्टर ने बैठक में दिए। कलेक्टर ने कहा उन्हीं शासकीय सेवकों के नाम प्रस्तातिव किए जाएँ, जिनके द्वारा अति उल्लेखनीय उपलब्धि अर्जित की गई है।

इंडिया मुजाहिद्दीन ने भी आगे 'इंडिया' लिखा है   

इंडिया मुजाहिद्दीन ने भी आगे 'इंडिया' लिखा है   

अकाशुं उपाध्याय   

नई दिल्ली। मानसून सत्र के दौरान संसद में मणिपुर हिंसा को लेकर विपक्ष का लगातार सदन में हंगामा जारी है। आज सुबह संसद की कार्यवाही शुरू होने से पहले भाजपा संसदीय दल की बैठक हुई। मानसून सत्र शुरू होने के बाद बीजेपी संसदीय दल की यह पहली बैठक है। यह बैठक संसद के लाइब्रेरी बिल्डिंग में हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस बैठक में शामिल हुए। बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने विपक्ष के नए नाम INDIA पर तंज कसा और कहा कि ईस्ट इंडिया कंपनी में भी इंडिया था और इंडियन मुजाहिदीन में भी इंडियन है लेकिन सिर्फ इंडिया नाम रखने से इंडिया नहीं हो जाता।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विपक्ष पूरी तरह से दिशाहीन है। प्रधानमंत्री ने कहा कि विपक्ष हताश और निराश है और उसके आचरण से पता चलता है कि उन्होंने लंबे समय तक विपक्ष में रहने का ही मन बना लिया है। ईस्ट इंडिया कंपनी और पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया जैसे नामों का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि केवल देश का नाम इस्तेमाल करके ही लोगों को गुमराह नहीं किया जा सकता। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि ‘विपक्षी पार्टियों ने इंडिया नाम, लोगों को गुमराह करने के लिए रखा है। विपक्ष, सत्ता में नहीं आना चाहता। लोगों को गुमराह करने के लिए ही इंडिया नाम का इस्तेमाल किया जा रहा है।

इस बैठक में बीजेपी संसदीय दल की बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत तमाम बड़े नेता उपस्थित हुए। प्रधानमंत्री के बयान पर कांग्रेस ने एतराज जताया। राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा, इतने सारे प्रतिनिधि संसद में 267 के तहत नोटिस दे रहे हैं। हम मणिपुर के बारे में बात कर रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री ईस्ट इंडिया कंपनी के बारे में बात कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने राज्यसभा में कहा, सरकार राजस्थान और छत्तीसगढ़ में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अत्याचार के 177 नोटिसों पर चर्चा के लिए तैयार है। पूरे देश में, अगर महिलाओं के खिलाफ कोई अपराध है, तो सरकार चर्चा के लिए तैयार है। हमें इन मुद्दों पर चर्चा करनी चाहिए।

पूर्व भाजपा विधायक ने इच्छा मृत्यु की मांग की

पूर्व भाजपा विधायक ने इच्छा मृत्यु की मांग की

कुंदन सिंह  

धनबाद। झारखंड के झरिया से पूर्व बीजेपी विधायक संजीव सिंह ने धनबाद जिला सत्र न्यायालय के समक्ष इच्छा मृत्यु की मांग की है। मंगलवार को संजीव सिंह ने न्यायालय में इस संदर्भ में आवेदन दिया है। संजीव सिंह के वकील मो. जावेद ने इस बात कि पुष्टि की है। अधिवक्ता मो. जावेद ने बताया कि मंगलवार को पूर्व विधायक संजीव सिंह ने जिला एवं सत्र न्यायालय 16 में याचिका दायर की है।

संजीव सिंह फिलहाल धनबाद स्थित एसएनएमएमसीएच अस्पताल में इलाजरत है। बीती 10 जुलाई को जेल वार्ड में कुर्सी से गिर पर चोटिल हो गए थे। जिसके बाद उन्हें एसएनएमएमसीएच अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गौरतलब है कि संजीव सिंह बीते 6 महीने से लगातार बीमार चल रहे हैं। तामाम दवा और इलाज के बावजूद उनका ब्लड प्रेशर स्थिर नहीं रह रहा है और रह-रहकर उन्हें बेहोशी आ जाती है। उनके लगातार गिरते स्वास्थ्य को लेकर न्यायालय ने रिम्स रांची में इलाज के लिए जेल प्रशासन को आदेश दिए हैं। लेकिन सुरक्षा कारणों से संजीव सिंह रिम्स रांची में इलाज के लिए जाने को तैयार नहीं हैं।

संजीव सिंह और उनके परिजनों का कहना है कि रिम्स रांची में उनकी जान को खतरा है। परिजनों ने न्यायालय से अपील की है कि धनबाद अथवा बाहर किसी हायर हेल्थ सेंटर में संजीव सिंह को अपने खर्च पर इलाज करवाने की अनुमति दें। परिजन बताते हैं कि संजीव सिंह जिस मामले में जेल में बंद हैं, उस केस का सूचक सत्तारूढ़ दल से जुड़ा हुआ है। ऐसे में रांची रिम्स में सरकारी तंत्र से जान का खतरा है। संजीव सिंह कि पत्नी रागिनी सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि हो सकता है कि रिम्स रांची में संजीव सिंह का सही इलाज ना हो।

साल 2017 को धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह सहित तीन लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। नीरज सिंह हत्या मामले में नीरज सिंह के चचेरे भाई और झरिया से बीजेपी के पूर्व विधायक को मुख्य अभियुक्त बनाया गया था। नीरज सिंह के भाई के आवेदन पर संजीव सिंह के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज कराया गया था। जिसके बाद संजीव सिंह ने न्यायालय में आत्म समर्पण कर दिया था। बहरहाल पूर्व विधायक संजीव सिंह द्वारा न्यायालय में इच्छा मृत्यु की मांग किए जाने से हर कोई सकते में हैं। गौरतलब है कि बीते कुछ महीनों से स्वास्थ्य खराब रहने के कारण संजीव सिंह डिप्रेशन में चल रहे हैं। ऐसे में इच्छा मृत्यु की मांग पर न्यायालय अगली तारीख अपनी कोई प्रतिक्रिया देगी।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-283, (वर्ष-06) पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. बुधवार, जुलाई 26, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-अष्टमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:14, सूर्यास्त: 07:10। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 28 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

कांग्रेस-आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बनी

कांग्रेस-आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बनी  अखिलेश पांडेय  नई दिल्ली। कांग्रेस और आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बन गई है। दिल्ली में आप चार ...