शुक्रवार, 15 मई 2020

2649 की मौतें, संक्रमित-81,970

शुक्रवार को कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर 81 हजार, 970 पहुंच गई है।
देश में कोरोना से अबतक 27 हजार, 919 लोग ठीक हो गए हैं।


नई दिल्ली। देश में कोरोना पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन किया गया है। इसके बावजूद भी संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर 81 हजार, 970 पहुंच गई है। हालांकि राहत की बात यह है कि 27 हजार, 919 लोग ठीक हो गए हैं। इस समया कोरोना के 51 हजार, 401 मामले सक्रीय हैं। वहीं, अबतक 2649 लोगों की मौत हो गई है। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दी गई है।  संक्रमित संख्या 80 हजार के पार हो गई है।


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना से पिछले 24 घंटों के दौरान 100 लोगों की मौत हुई है, जबकि 3967 नए मामले आए सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में 51401 लोगों का उपचार चल रहा है जबकि अब तक 27919 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और एक मरीज देश से बाहर जा चुका है। अब तक 33.63 फीसदी मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।


आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र में अब तक 1019, गुजरात में 586, मध्य प्रदेश में 237, पश्चिम बंगाल में 215, राजस्थान में 125, दिल्ली में 115, उत्तर प्रदेश में 88, तमिलनाडु में 66 और आंध्र प्रदेश में 48 लोगों की मौत हुई। तेलंगाना में 34, कर्नाटक में 35, पंजाब में 32, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर में 11-11 तथा बिहार में सात और केरल में 4 लोगों की मौत हुई। 


मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार झारखं और ओडिशा में कोविड-19 से तीन-तीन लोगों की मौत हुई। वहीं हिमाचल प्रदेश और असम में दो-दो लोगों की मौत हुई। मेघालय, उत्तराखंड और पुडुचेरी में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई। 


इधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड-19 से निपटने के लिये भविष्य की तैयारियों, प्रतिक्रियाओं और नयी परिस्थितियों के अनुकूल ढालने के लिए विकासशील देशों की मुख्य क्षमताओं का निर्माण और उन्हें मजबूत बनाना जरूरी है। हर्षवर्धन ने वीडियो लिंक के जरिये राष्ट्रमंडल देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों की 32वीं बैठक में सभी मौजूदा और नए चिकित्सा उत्पादों तथा प्रौद्योगिकियों तक सार्वभौमिक और किफायती पहुंच पर जोर दिया है। 


एक बयान में उनके हवाले से कहा गया है, कोरोना वायरस से निपटने के लिये निष्पक्ष और न्यायसंगत ढंग से इनकी उपलब्धता होनी चाहिये।'' इस बैठक का विषय 'कोविड-19 को राष्ट्रमंडल देशों की प्रतिक्रिया' था। हर्षवर्धन ने कहा कि भारतीय वैज्ञानिक सरकार के सक्रिय समर्थन से टीके, दवाओं, नैदानिक किट और विभिन्न जीवन रक्षक उपकरण विकसित कर रहे हैं। भविष्य की तैयारियों, प्रतिक्रिया और नयी परिस्थितियों के अनुकूल ढालने के लिए विकासशील देशों की मुख्य क्षमताओं का निर्माण और उन्हें मजबूत करना जरूरी है।


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भारत में इस वायरस के प्रसार को रोकने के लिए दुनिया के सबसे बड़े लॉकडाउन को लागू किया गया। इसका उद्देश्य बीमारी के विस्फोटक प्रसार को रोकना और यह सुनिश्चित करना है कि देश की स्वास्थ्य व्यवस्था श्वास संबंधी दिक्कतों के मामलों में तेजी से वृद्धि का सामना करने में सक्षम हो।


'राष्ट्रपति' वेतन का 30% दान करेंगे

नई दिल्ली। राष्ट्रपति भवन द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कोविड-19 संकट के मद्देनजर एक वर्ष तक अपने वेतन का 30 प्रतिशत हिस्सा दान करेंगे। आत्मनिर्भर भारत मुहीम का समर्थन करते हुए राष्ट्रपति भवन द्वारा कहा गया है कि वो अपने संसाधनों के इस्तेमाल में कटौती करेगा और कोविड-19 को लेकर मदद करने में अपना योगदान देगा।


राष्ट्रपति ने खर्च को कम करने, संसाधनों का बचाकर उपयोग करने, कोविड-19 का मुकाबला और लोगों की आर्थिक दुर्दशा को कम करने के लिए निर्देश दिए हैं। राष्ट्रपति के अनुमान में, यह भारत को आत्मनिर्भर बनाने की सरकार की दृष्टि को साकार करने के लिए एक छोटा लेकिन महत्वपूर्ण योगदान होगा और देश को महामारी से लड़ने और विकास और समृद्धि की हमारी यात्रा को एक साथ जारी रखने के लिए सक्रिय करेगा।


राष्ट्रपति कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के कर्मचारियों से खर्चें कम करने और बचे हुए पैसे कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में देने को कहा है। राष्ट्रपति भवन अपने खर्च को कम करने के लिए कई उपाय करेगा। जिसमें कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020-21 में कोई नया पूंजीगत कार्य नहीं किया जाएगा। केवल पहले से चल रहे कामों को ही पूरा किया जाएगा। मरम्मत और रखरखाव का काम केवल संपत्ति के उचित रखरखाव को सुनिश्चित करने के लिए किया जाएगा।


कार्यालय उपभोग्य सामग्रियों के उपयोग में पर्याप्त कमी होगी। उदाहरण के लिए, राष्ट्रपति भवन अपव्यय से बचने और कार्यालय को पर्यावरण के अनुकूल बनाने के लिए कागज के उपयोग में कटौती करने के लिए ई-तकनीक का उपयोग करेगा। उनके उपयोग को तर्कसंगत बनाकर ऊर्जा और ईंधन की बचत के प्रयास किए जाएंगे। राष्ट्रपति ने लिमोजीन की खरीद को स्थगित करने का फैसला किया है जो कि औपचारिक अवसरों के लिए इस्तेमाल किया जाता है. राष्ट्रपति भवन और सरकार के मौजूदा संसाधनों को ऐसे अवसरों के लिए उपयोग किया जाएगा।


राष्ट्रपति का 1 ओर 'सराहनीय कदम'

पालमपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने कहा कि भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की ओर से कोरोना संकट के समय एक बहुत ही सराहनीय कदम उठाया है। उन्होंने पूरे देश को रास्ता दिखाने की कोशिश की है। पूरे देश को उनकी इस सराहनीय पहल को अपने-अपने स्थान पर लागू करना चाहिए। कोरोना संकट के कारण पूरे देश में प्रत्येक वर्ग पर आर्थिक मंदी की सबसे बड़ी समस्या होगी। कोरोना संकट लंबा चलेगा। हर परिवार, समाज और सरकारों को आर्थिक मंदी का मुकाबला करने के लिए बचत के सुनहरी असूलों को अपनाना होगा। सबके लिए सबसे जरूरी यह मंत्र है कि अब केवल जरूरत और आवश्यकता के अनुसार ही खर्च करना होगा। न सुविधा, न आराम और शानो शाैकत तो अब एक बहुत बड़ा अपराध और पाप हो जाएगा।


राष्ट्रपति ने 30 प्रतिशत अपने वेतन की कटौती के साथ राष्ट्रपति भवन के खर्च में 20 फीसद की कटौती का निर्णय किया है, इससे 45 करोड़ रुपये की बचत होगी। वह अपने लंबे अनुभव के आधार पर कह सकते हैं कि सभी सरकारों में सभी जगह भयंकर फिजूलखर्ची होती है। भयंकर शब्द का प्रयोग जानबूझ कर किया है। अति गरीब देश की सरकारें कर्इ बार नवाबी तरीकों से खर्च करती हैं। शांता कुमार ने कहा मैं विस्तार में नहीं जाना चाहता। 1977 में सब प्रकार की बचत करके छोटे से हिमाचल में दो साल में 50 करोड़ रुपये की बचत की थी। इस प्रकार कर्इ लाख करोड़ रुपये बचेंगे। भारत सरकार का कुल बजट करीब 30 लाख करोड़ रुपये का है। गैर योजना 25 लाख करोड़ का। यदि इसमें 20 प्रतिशत की बचत की जाए तो भारत सरकार ही 5 लाख करोड़ की बचत कर सकती है।


हिमााचल सरकार का वार्षिक बजट लगभग 50 हजार करोड़ रुपये का है, उसमें गैर योजना 40 हजार करोड़ रुपये है। यदि हिमाचल 20 प्रतिशत की बचत करे तो छोटे से हिमाचल की बचत ही 8 हजार करोड़ रुपये हो जाएगी। इसी तरह पूरे देश की सभी राज्य सरकारें 20 प्रतिशत बचत कर सकती हैं। उन्होंने केंद्र समेत प्रदेश की सरकारों से आग्रह किया है कि वे अपने गैर योजना बजट में कम से कम 20 प्रतिशत की कटौती का निर्णय अति शीघ्र करें। इस कदम से देशवासियों को एक बहुत अच्छा संदेश जाएगा।


विभाग के प्रधान सचिव बने 'महाबीर'

राणा ओबराय

हरियाणा शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव डॉ महाबीर सिंह बने अतिरिक्त मुख्य सचिव


चण्डीगढ़। हरियाणा शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव डॉ महावीर सिंह आईएएस (1989) पदोन्नति पाने के बाद अतिरिक्त मुख्य सचिव बन गए हैं। हरियाणा सरकार द्वारा जारी आदेश अनुसार पदोन्नति पाने के बाद अतिरिक्त मुख्य सचिव बने डॉ महावीर सिंह अपने वर्तमान विभाग में ही कार्य करते रहेंगे। इसी के साथ विवेक जोशी को भी अतिरिक्त मुख्य सचिव के पद पर पदोन्नत किया गया है। वह वर्तमान में केन्द्र में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।


भीड़ को लेकर हाईकोर्ट का बड़ा फैसला

यूपी में दूसरे राज्यों से आ रही भीड़ को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला


प्रयागराज। हाईकोर्ट ने हर चार सौ लोगों पर एक अधिकारी नियुक्त करने को कहा। हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने यूपी सरकार को दिया आदेश।बाहर से आने वाले सभी लोगों का रिकार्ड तैयार कर उनकी मानीटरिंग कराने का आदेश। चार सौ लोगों की मानीटरिंग करे कोई ज़िम्मेदार अफ़सर। कोरोना के केस होने पर बचाव व रोकथाम के मद्देनजर दिया आदेश। चीफ जस्टिस गोविंद माथुर और जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा की डिवीजन बेंच का आदेश। कवारन्टीन सेंटर्स और अस्पतालों की बदहाली पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने दिया आदेश। वकील गौरव गौर ने दाखिल की थी अर्जी। 18 मई को फिर होगी मामले की सुनवाई।


बृजेश केसरवानी


ऐसे नहीं जीती जा सकती 'वायरस जंग'

अतुल त्यागी


हापुड़ ऐसे नहीं जीती जा सकती कोरोना वायरस जंग


हापुड़। हापुड़ के गांव वझीलपुर निवासी व राष्ट्रीय सैनिक संस्था के जिला अध्यक्ष ज्ञानेंद्र त्यागी ने बताया कि गांव वझीलपुर में क्रिकेट खेलने वाले बच्चों को उनके द्वारा अनेकों बार सामाजिक दूरी बनाने को लेकर समझाने के बावजूद बच्चे क्रिकेट खेलने से बाज नहीं आ रहे हैं। जिसकी सूचना उन्होने सम्बन्धित चौकी प्रभारी साईलो द्वितीय को दे दी थी। और दो तीन बार चौकी प्रभारी सब इंस्पेक्टर मनोज सेहरावत व बीट अधिकारी प्रमोद कुमार ने भी गांव में आकर बच्चों व बच्चों के अभिभावकों को समझा भी दिया। लेकिन उसके बावजूद बच्चे नहीं मान रहे हैं। ज्ञानेन्द्र त्यागी ने मांग की है कि तुरंत गांव किक्रेट बन्द करा दिया जाए।


किसानों की फसल हुई बर्बाद, नुकसान

आंधी पानी से गेहू की कटाई मड़ाई हुई बंद


किसानों का हुवा भरी नुकसान गेहू की फसल हुई बर्बाद


सुनील पुरी


फतेहपुर। शुक्रवार को देर शाम तेज आंधी के साथ हुई बारिश से बिंदकी क्षेत्र के  कई गाँव में अभी किसानों की खेती कटाई मड़ाई लगभग 50 बीघा खेती पड़ी हुई है। खजुहा विकास  खण्ड क्षेत्र के बसन्ती खेड़ा, अमेना,छीछा,दरिया पुर  मंडराव, कोरवा दिलावल पुर ऐसे कई गांव की खेती अभी पड़ी हुई है वहीं तेज आंधी और बारिश से किसानों की फसलों को भी भारी नुकसान हुआ। आंधी से किसानों के खेतों में कटी पड़ी गेहूं की फसल उड़ गई तो वही बारिश  होने से कटाई मड़ाई का कार्य भी कुछ दिनों के लिए स्थगित हो गया।


तेज आंधी से किसानों की आम को की फसल को भी भारी नुकसान हुआ है। आम के पौधों में छोटे-छोटे फल ही लगे थे जो कि आंधी से झड़ गए।अरगल गांव के किसान सभा जीत सिंह ने बताया की लगातार कई दिनों से हो रही है रुक रुक बारिश से किसानों के खेतों में कटी पड़ी गेहूं की फसल नष्ट होने की आशंका है।लाखों जद्दोजहद कर के किसान अन्ना मवेशियों से फसल बचाने में कामयाब हुए तो आंधी और बारिश से किसानों को भारी नुकसान हो रहा है।


गैस-सिलेंडर से लगी आग, संपत्ति खाक

गैस सिलेंडर से घर में लगी आग लाखों की संपत्ति खाक


ग्रामीणों ने मिलकर काफी प्रयास के बाद बुझाया आग


सुनील पुरी


फतेहपुर। गैस चूल्हे में खाना बनाते समय अचानक गैस सिलेंडर में आग लग गई देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और घर धू धू कर जलने लगा ग्रामीणों ने मिलकर काफी मशक्कत और प्यास के बाद आग को बुझाया सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड गांव के किनारे तक पहुंची लेकिन रोड खराब होने और उसमें पानी भरे होने के कारण मौके तक नहीं पहुंच पाई।


जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के शाहपुर गांव में रामदास कुशवाहा की पत्नी विनती देवी अपने घर के अंदर गैस चूल्हे में खाना बना रही थी तभी अचानक गैस चूल्हे से सिलेंडर में आग लग गई इससे पहले कि महिला कुछ समझ पाती आग ने विकराल रूप धारण कर लिया महिला ने घर से भागकर अपनी जान बचाई मलवा गांव वालों ने घर में लगी आपको देखा तो हड़कंप मच गया लोगों ने समरसेबल चलाकर आपको बुझाने का प्रयास किया काफी मशक्कत और प्रयास के बाद आप को बुझाया जा सका तब तक नगदी कपड़ा अनाज व सामान सहित लाखों की संपत्ति जलकर खाक हो गई ग्रामीणों ने बड़ी हिम्मत से गैस सिलेंडर में लगी आग को बुझाया और गैस सिलेंडर को घर से दूर जाकर फेंका यदि गैस सिलेंडर फट जाता तो हादसा बड़ा हो सकता था कई लोगों की जान भी जा सकती थी लेकिन खुशकिस्मती रही कि गैस सिलेंडर फटा नहीं और ग्रामीणों ने गैस सिलेंडर में लगी आग को बुझा दिया सूचना मिलने पर 112 नंबर पुलिस भी मौके पर पहुंची उधर सूचना होने पर भी शाहपुर गांव के किनारे तक पहुंची लेकिन रास्ता खराब होने तथा उसमें भी कीचड़ और पानी भरा होने से मौके तक नहीं पहुंची हालांकि तब तक ग्रामीण आग बुझाते थे ग्रामीणों का कहना था कि कई बार जनप्रतिनिधियों तथा प्रशासनिक अधिकारियों से मांग की गई कि सड़क को पक्का करा दिया जाए लेकिन अभी तक सड़क कच्ची है कच्ची सड़क में पानी भरा रहता है जिसके चलते निकलना मुश्किल हो जाता है। इसी कारण फायर ब्रिगेड नहीं पहुंच पाई।


उच्चतम न्यायालय ने केंद्र को दिया निर्देश

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को केन्द्र को निर्देश दिया कि कोविड-19 के मरीजों का इलाज कर रहे डाक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के अस्पतालों के निकट ही पृथकवास के लिये उठाये गये कदमों के बारे में उसे अवगत कराया जाये। न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव, न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूति बी आर गवई की पीठ ने इस मामले की वीडियो कांफ्रेन्सिंग के माध्यम से सुनवाई के दौरान केन्द्र को यह निर्देश दिया। पीठ ने केन्द्र की ओर से पेश सालिसीटर जनरल तुषार मेहता से कहा कि वह इस बारे में जानकारी प्राप्त करके अगले सप्ताह उसे अवगत करायें। इस मामले में याचिकाकर्ता डा आरूषि जैन की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने कहा कि सरकारी अस्पतालों के रेजीडेन्ट डाक्टरों को सात से 14 दिन की ड्यूटी करने के बाद पृथकवास किया जाना चाहिए। लेकिन इन चिकित्सकों को उन स्थानों पर पृथकवास कराया जा रहा है जहां उन्हें कमरे, बाथरूम साझा करने पड़ रहे हैं जबकि व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए जिसमें सामाजिक दूरी बनी रहे। रोहतगी ने कहा कि इस तरह की व्यवस्था पृथकवास के मकसद को ही विफल करेगी और कोरोना योद्धा बीमार पड़ेंगे।


दक्षिण-पूर्व एशिया में वायरस केस बढें

नई दिल्ली। दक्षिण-पूर्व एशिया में कोविड​​-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए डब्ल्यूएचओ ने शुक्रवार को इस क्षेत्र के देशों को स्वास्थ्य और सामाजिक सुरक्षा के लिए स्थानीय महामारी विज्ञान का सावधानीपूर्वक मूल्यांकन करने और पुख्ता सूचना पर आधारित कार्रवाई करने को कहा है। पूर्वी एशिया में संक्रमण के 122,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से 4,000 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक भारत में कोविड-19 के 81,970 मामले सामने आए हैं जबकि संक्रमण से मरने वालों की संख्या 2,649 पहुंच गई है। डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया की क्षेत्रीय निदेशक डॉ पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा कि इस क्षेत्र के देशों में संचरण के विभिन्न परिदृश्य दिख रहे हैं और मामले लगातार बढ़ रहे हैं। हर संचरण परिदृश्य में तेजी से पता लगाने, जांच, पृथकवास, देखभाल और संपर्कों की पहचान करना जैसे मुख्य सार्वजनिक स्वास्थ्य उपाय हैं। सिंह ने आगे बढ़ते हुए कहा‘‘हमें इन उपायों की क्षमता बढ़ाने की आवश्यकता है।’’ उन्होंने कहा कि कोविड​​-19 के स्थानीय महामारी विज्ञान पर ध्यान दिया जाना चाहिए, ताकि हॉट-स्पॉट यानी संक्रमण प्रभावित क्षेत्रों की पहचान हो सके और व्यवस्था को देखते हुए पृथकवास, जांच, संपर्कों की पहचान और उपचार जैसे कदम उठाए जा सकें।


2 अरब डॉलर की धोखाधड़ी, मनी लांड्रिंग

लंदन। ब्रिटेन की अदालत ने हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले पर सुनवाई सितंबर तक टाल दी है। मोदी भारत में करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग मामले में वांछित है। अदालत अब इस मामले पर सुनवाई सात सितंबर से दोबारा शुरू करेगी। लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत के जिला जज सैमुअल गूजी ने 49 वर्षीय मोदी को दक्षिण-पश्चिम लंदन की वैंड्सवर्थ जेल से उनकी 28 दिन की रिमांड सुनवाई कॉल पर वीडियो लिंक के जरिये पेश होने की तारीख 11 जून तय की है। इस मामले पर चार दिन की आंशिक सुनवाई पूरी होने के बाद न्यायधीश ने मोदी से कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि सितंबर तक जेल से आवाजाही पर लागू अंकुश समाप्त हो जाएगा। उस समय आप व्यक्तिगत रूप से अदालत में उपस्थित होकर सुनवाई में शामिल हो सकते हैं।’’ कोरोना वायरस की वजह से लागू लॉकडाउन की वजह से इस मामले में इस सप्ताह अंकुशों के बीच सुनवाई हुई।


दिल्ली में भूकंप के झटके किए 'महसूस'

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार को कम तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र ने बताया कि रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 2.2 मापी गई है।


भूकंप का केंद्र उत्तरी दिल्ली के पीतमपुरा में था। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र ने बताया कि यह भूकंप 11 बजकर 28 मिनट पर आठ किलोमीटर की गहराई में आया। यह केंद्र पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तहत काम करने वाला एक निकाय है।


ट्रक दुर्घटना में 40 की मौत, 5 घायल

शिशुपाल। शिशुपाल जिले में सड़क दुर्घटना में 40 की मौत हो गई और पांच लोग घायल हो गए। ट्रक चालक मौके से फरार हो गया।इस बीच, जालौन के पुलिस अधीक्षक सतीश कुमार ने बताया कि बृहस्पतिवार रात थाना एट के गिर थान के पास डीसीएम मेटाडोर को ट्रक ने टक्कर मार दी और मेटाडोर गहरे खड्डे में जा गिरी जिससे दो लोगों की घटनास्थल पर मौत हो गई । यह मेटाडोर चार दिन पहले मुंबई से चली थी और 46 लोगों को लेकर उत्तर प्रदेश आ रही थी । मरने वालो में सुंदरी नामक महिला और शेर बहादुर नामक पुरूष शामिल है। चालीस प्रवासी मजदूरों को घायल अवस्था में उरई मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है ।


पीएम ने की डेनमार्क पीएम से बातचीत

कोरोना वायरस को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने की डेनमार्क के प्रधानमंत्री से बातचीत


नई दिल्ली/ कोपेनहैगन। भारत समेत पूरा विश्व इस समय कोरोना वायरस (COVID-19)से  जूझ रहा है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेट्टे फ्रेडेरिकसेन से इसे लेकर बातचीत की। पीएम मोदी ने खुद ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि डेनमार्क की प्रधानमंत्री फ्रेडेरिकसेन से बातचीत के दौरान कोरोना वायरस के कारण उभरी चुनौती और कोरोना काल के बाद दोनों देश के बीच सहयोग को मजबूती प्रदान करने को लेकर बातचीत हुई। 


एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने कहा कि चिकित्सा अनुसंधान, स्वच्छ ऊर्जा और जलवायु परिवर्तन जैसे क्षेत्र दोनों देशों को ग्रीन स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप के लिए एक साथ लाने में शानदार अवसर प्रदान करते हैं। दोनों नेताओं के बीच फोन पर बातचीत हुई।


फ्रांस में विदेश मंत्रालय ने किया 'तलब'

इस आक्रामकता के ख़तरे


पेरिस/ बीजिंग। पैरिस में चीन के राजदूत लु शाये को फ्रांस के विदेश मंत्रालय ने तलब किया। दरअसल पैरिस में चीनी दूतावास ने अपनी वेबसाइट पर टिप्पणी प्रकाशित की थी कि फ़्रांस ने अपने बुज़ुर्गों को कोविड-19 से मरने के लिए केयर होम्स में छोड़ दिया है। लु को इस कमेंट पर अपना पक्ष रखने के लिए तलब किया गया था।


चीनी राजनयिकों को सबसे कड़ी प्रतिक्रिया अफ्ऱीका में देखने को मिली है, जहां नाइजीरिया, कीनिया, यूगांडा, घाना और अफ्ऱीकी यूनियन में तैनात चीनी राजदूतों को उनके संबंधित मेहमान देशों ने तलब करके हाल के सप्ताह में चीन के अंदर अफ्ऱीकी लोगों के साथ नस्लीय आधार पर भेदभाव का मसला उठाया है।


नाइजीरिया के हाउस ऑफ़ रिप्रेजेंटेटिव के स्पीकर फ़ेमी गाबाजाबियमिला ने चीनी राजदूत के साथ जताई गई अपनी आपत्ति वाला वीडियो प्रकाशित किया है। फ़ॉरेन अफे़यर्स पत्रिका में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री केविन रड ने एक लेख लिखा है जिसमें उन्होंने कहा कि चीन को अपनी नई रणनीति की क़ीमत चुकानी होगी। उन्होंने लिखा है, "चीन के 'वुल्फ़ वॉरियर्स' राजनियक चीन में चाहे जो भी रिपोर्ट करते हों लेकिन वास्तविकता में चीन की छवि को काफी नुक़सान पहुंच रहा है (दुर्भाग्य यह है कि 'वुल्फ़ वॉरियर्स' उसे ठीक करने की जगह और नुक़सान पहुंचा रहे हैं)।


केविन रड ने यह भी लिखा कि, "कोरोना वायरस के प्रसार को लेकर दुनिया भर में चीन विरोधी प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं. चीन पर नस्लीय भेदभाव वाले आरोप भारत, इंडोनेशिया और ईरान जैसे देशों में भी लगे हैं। चीन सॉफ़्ट पावर की छवि तार-तार होने का ख़तरा उत्पन्न हो गया है।


सरकार ने दी समर्थन देने की बात, संकेत

धमकी देते चीनी राजदूत


सिडनी। ऑस्ट्रलिया में मौजूद चीनी राजदूत चेंग जिन्ग्ये अपने मेहमानों से संघर्ष में लगे हुए हैं। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने जब कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच करने के लिए स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय जांच को समर्थन देने की बात की तब चेंग जिन्ग्ये ने संकेत दिया कि चीन ऑस्ट्रेलियाई उत्पादों का बॉयकॉट कर सकता है।


एक इंटरव्यू में उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई फ़ाइनेंशियल रिव्यू से कहा, "आम लोग भी तो कह सकते हैं कि हम क्यों ऑस्ट्रेलियाई शराब पिएं या ऑस्ट्रेलियाई बीफ़ खाएं?"


ऑस्ट्रेलियाई मंत्रियों ने चीन पर आर्थिक दादागिरी करने की धमकी देने का आरोप लगाया। ऑस्ट्रेलिया के विदेश और कारोबार मंत्रालय ने राजदूत को अपना पक्ष रखने के लिए तलब किया। इसके जवाब में चीनी राजनयिक ने दूतावास की वेबसाइट पर बातचीत का एक हिस्सा प्रकाशित किया है जिसमें वे ऑस्ट्रेलिया से राजनीतिक खेल खेलना बंद करने की अपील कर रहे हैं। चीन ने इसी सप्ताह ऑस्ट्रेलियाई बीफ़ प्रोसेस करने वालों से आयात पर पाबंदी लगाई है और ऑस्ट्रेलियाई बार्ली पर शुल्क बढ़ाने की भी धमकी दी है।


गर्म होती है, चीन की 'कूटनीति'

गर्म होती चीनी कूटनीति


बिजिंग। 'वुल्फ़ वॉरियर' और 'वुल्फ़ वॉरियर-2' बेहद पॉपुलर फिल्में हैं जिसमें चीन की एलीट स्पेशल फ़ोर्स अमरीकी नेतृत्व वाले भाड़े के सैनिकों और दूसरे लोगों से टक्कर लेती है। इसमें चीनी स्पेशल फ़ोर्स के लोग हिंसक और कट्टरता की हद तक राष्ट्रवादी दिखाई देते हैं।


एक आलोचक की नज़र में ये "चीनी ख़ासियतों से भरे रैम्बो" हैं। एक प्रोमोशनल पोस्टर में मुख्य किरदार अपनी मिडिल फ़िंगर को उठाते हुए कहता है, "जो चीन को नुक़सान पहुंचाएगा, वह चाहे कितना भी दूर क्यों नहीं हो, नष्ट कर दिया जाएगा। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स में हालिया प्रकाशित संपादकीय में कहा गया है चीनी लोग नरम लहज़े वाले कूटनीतिक भाषा शैली से संतुष्ट नहीं थे। इस संपादकीय में कहा गया है कि चीन के नए 'वुल्फ़ वॉरियर्स डिप्लोमेसी' की आंच पश्चिमी देशों को महसूस होने लगी है।


अर्थव्यवस्थाः अरबों डॉलर का नुकसान

वैश्विक अर्थव्यवस्था को हो सकता है 8,800 अरब डॉलर का नुकसान


नई दिल्ली। एशियाई विकास बैंक (एडीबी) ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी के चलते वैश्विक अर्थव्यवस्था को 5,800 अरब से 8,800 अरब डॉलर तक नुकसान हो सकता है। इसमें दक्षिण एशिया के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) पर 142 अरब से 218 अरब डॉलर तक असर होगा। एडीबी ने एक रिपोर्ट में कहा, ‘‘कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी वैश्विक अर्थव्यवस्था को 5,800 अरब से 8,800 अरब डॉलर तक नुकसान हो सकता है, वैश्विक जीडीपी के 6.4 प्रतिशत से 9.7 प्रतिशत के बराबर है।’’ एडीबी ने कोविड-19 के संभावित आर्थिक असर के नए मूल्यांकन में कहा कि दक्षिण एशिया की जीडीपी में 3.9 प्रतिशत से छह प्रतिशत तक कमी आएगी। ऐसा बांग्लादेश, भारत और पाकिस्तान में सख्त प्रतिबंधों के चलते होगा। मनीला स्थित इस बहुपक्षीय एजेंसी ने कहा कि एशिया और प्रशांत क्षेत्र में आर्थिक नुकसान 1,700 अरब डॉलर से 2,500 अरब डॉलर के बीच हो सकता है। वैश्विक उत्पादन में होने वाली कुल कमी में इस क्षेत्र की 30 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। रिपोर्ट के मुताबिक चीन में 1,100 अरब से 1,600 अरब डॉलर के बीच नुकसान हो सकता है।


बिक्री में भाग लेने के लिए 'हस्ताक्षर'

सिडनी/ नई दिल्ली। इंडिगो एयरलाइंस की सबसे बड़ी शेयरधारक इंटरग्लोब एंटरप्राइजेज ने शुक्रवार को कहा कि उसने वर्जिन ऑस्ट्रेलिया की बिक्री में भाग लेने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। यह समझौता ऑस्ट्रेलियाई विमानन कंपनी द्वारा कोरोना वायरस महामारी के चलते दिवालिया होने की घोषणा के तीन सप्ताह बाद हुआ। अरबपति राहुल भाटिया के स्वामित्व वाली इंटरग्लोब की इंडिगो में 37.87 प्रतिशत हिस्सेदारी है, जबकि भारत की इस सबसे बड़ी एयरलाइन में राकेश गंगवाल, उनके परिवार के सदस्यों और उनके परिवारिक ट्रस्ट की 36.64 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वर्जिन ऑस्ट्रेलिया 21 अप्रैल को बंद हो गई थी, जिसके चलते 16,000 लोगों की नौकरी खतरे में पड़ गई। ऑस्ट्रेलिया की दूसरी सबसे बड़ी विमानन कंपनी वर्जिन ऑस्ट्रेलिया ने ऋण संकट के चलते अपनी वित्तीय स्थिति को मजबूत करने के लिए दिवाला प्रक्रिया के तहत संरक्षण मांगा था और इस संबंध में लेखा फर्म डेलॉयट को दिवाला प्रशासक के रूप में नियुक्त किया था।


आंध्र प्रदेश में संक्रमित संख्या-2,307

अमरावती। आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के 102 नए मामले सामने आए हैं, जहां संक्रमित लोगों की कुल संख्या 2,307 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। विभाग ने शुक्रवार सुबह नौ बजे तक पिछले 24 घंटों का अपडेट दिया, जिसमें कहा गया कि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 48 है। 102 नए मामलों में से, 45 रोगी अन्य राज्यों के हैं। इलाज के बाद विभिन्न अस्पतालों से 60 लोगों को छुट्टी दे दी गई, जिसके साथ ही इस बीमारी से उबर चुके लोगों की संख्या 1,252 तक पहुंच गई। ताजा मामलों में, नेल्लोर और चित्तूर जिलों में 14-14, कृष्णा जिले में नौ, कुरनूल में आठ, अनंतपुर में चार, विजयनगरम में तीन, विशाखापत्तनम और कडप्पा में दो-दो और पूर्वी गोदावरी में एक मामला सामने आया है।


राज्य ने केंद्र को पत्र लिख की 'अपील'

दिसपुर। असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने शुक्रवार को कहा कि राज्य ने केंद्र को पत्र लिखकर लॉकडाउन को 18 मई से दो और हफ्तों के लिए बढ़ाने की अपील की है। कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन का तीसरा चरण 17 मई को समाप्त होना है। यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सोनोवाल ने कहा कि सभी राज्यों को लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने को लेकर शुक्रवार तक अपनी प्रतिक्रिया देनी थी और असम सरकार पहले ही अपने पक्ष से केंद्र को अवगत करा चुकी है। सोनोवाल ने कहा कि उन्होंने बंद के चौथे चरण में उन रियायतों पर भी अपने विचार रख दिए हैं जो वह राज्य के लिए चाहते हैं। उन्होंने कहा, “भारत सरकार को इस पर विचार करने दिया जाए। मैं अभी इसके बारे में ज्यादा नहीं कहना चाहता। सभी राज्यों ने केंद्र को लिखा है जो बंद की अवधि बढ़ाए जाने पर फैसला लेगा।


कर्नाटक में 45 नए मामले आए सामने

बेंगलुरु। कर्नाटक में कोविड-19 संक्रमण के 45 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1,000 के पार चला गया। राज्य स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। राज्य में संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1032 हो गई। विभाग ने अपने अपडेट में कहा कि पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 45 नए मामले सामने आए हैं। 520 लोग अब भी संक्रमित हैं। अब तक 35 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 476 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दी जा चुकी है।’’ इन 45 नए मामलों में से 16 दक्षिण कन्नड़, 13 बेंगलुरु शहर. पांच उडुपी, तीन-तीन बीदर और हसन, दो चित्रदुर्ग और एक-एक कोलर, शिवमोगा और बालाकोट जिलों से सामने आये हैं। बुलेटिन के मुताबिक सभी मरीज पहले संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं।


अमेरिका में 14.5 मामलों की हुई पुष्टि

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका ने कोरोना वायरस महामारी के कारण स्वास्थ्य पेशेवरों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए एच-1बी कार्य वीजाधारक चिकित्सकों को टेलीमेडिसिन से सलाह देने और स्थानीय अस्पतालों में मदद करने की इजाजत दी है। अमेरिका में कोविड-19 संक्रमण के करीब 14.5 लाख मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 86,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है। अमेरिकी नागरिकता एवं अप्रवासन सेवा (यूएससीआईएस) ने कोविड-19 महामारी के दौरान चिकित्सा सेवाओं की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए टेलीमेडिसिन से सलाह देने और स्थानीन अस्पतालों में मदद करने के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। एच-1बी वीजा एक गैर-आप्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को कुछ खास व्यवसायों में, जहां सैद्धांतिक या तकनीकी विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है, स्नातक स्तर के श्रमिकों को नियुक्त करने की अनुमति देता है। इससे पहले कुछ विधि विशेषज्ञों ने कहा था कि एच-1बी वीजाधारक चिकित्सों को कोरोना वायरस महामारी के दौरान सहायता की अनुमति देनी चाहिए, जिसके बाद नए दिशानिर्देश आए हैं। खासतौर से ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाएं बहुत हद तक एच-1बी वीजा कार्यक्रमों पर निर्भर हैं।


पंजाब में बुजुर्ग की मौत, पत्नी घायल

चंडीगढ़। पंजाब में अज्ञात व्यक्तियों ने घर में घुसकर पर एक बुजुर्ग व्यक्ति और उनकी पत्नी पर रॉड से हमला कर दिया जिसमें बुजुर्ग व्यक्ति की मौत हो गई जबकि उनकी पत्नी घायल हो गई। पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। सदर थाना प्रभारी अमरजीत सिंह ने मृतक की पहचान महंत-मेहली फगवाड़ा बाईपास रोड के साथ गुरु नानक नगर निवासी 70 वर्षीय कश्मीर सिंह के रूप में की। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार को हमलावरों ने वृद्ध के सिर पर रॉड से हमला किया, जिससे उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया। उनकी 60 वर्षीय पत्नी सुपीता को हल्की चोटें आईं। हत्या के पीछे का मकसद पता नहीं चल पाया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया गया है। एसएचओ ने कहा कि हमलावरों के खिलाफ भादसं की धारा 302 (हत्या) सहित कई अन्य प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है।


शराब की कीमत पर 'विशेष कोरोना शुल्क'

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने राष्ट्रीय राजधानी में सभी ब्रांडों की शराब की कीमत पर 70 फीसदी ‘विशेष कोरोना शुल्क’ वसूलने को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं पर दिल्ली सरकार से अपना पक्ष रखने को कहा है। मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति सी हरि शंकर की एक पीठ ने दिल्ली सरकार को नोटिस जारी करते हुए इस पर 29 मई तक प्रतिक्रिया देने को कहा है। याचिकाकर्ताओं ने चार मई को विशेष शुल्क वसूलने संबंधी जारी अधिसूचना को खारिज करने की मांग की है। याचिकाकर्ताओं में से एक ललित वेल्चा ने बताया कि नोटिस जारी करते हुए अदालत ने कहा कि वह दिल्ली सरकार के जवाब का इंतजार करेंगे और फिलहाल के लिए इस पर अंतरिम स्थगन लगाने से इनकार कर दिया। दिल्ली सरकार के स्थायी वकील रमेश सिंह ने प्रशासन की तरफ से नोटिस स्वीकार कर लिया और अतिरिक्त वसूली को वैध ठहराने का संकेत देते हुए कहा कि इस संबंध में विस्तृत जवाब दायर किया जाएगा। दिल्ली सरकार ने तीन मई को 150 सरकारी शराब दुकानों को खोले जाने को मंजूरी दी थी लेकिन उसके एक दिन बाद ही सरकार ने शराब पर ‘विशेष कोरोना शुल्क’ लगा दिया ।


वायरस से निपटने के लिए किया 'गठन'

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए सरकारी और निजी अस्पतालों के बीच बेहतर समन्वय के लिए राज्य और जिला स्तर पर दो समितियों का गठन किया है। सरकार के अनुसार भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) के प्रतिनिधियों और महाराष्ट्र के मुख्य सचिव अजय मेहता के बीच एक बैठक के बाद गुरुवार को समन्वय पैनल गठित करने का निर्णय लिया गया। 14 मई को जारी एक सरकारी प्रस्ताव (जीआर) में कहा गया कि समितियां महामारी को नियंत्रित करने के लिए उठाए जा रहे कदमों और चिकित्सा दिशा-निर्देश संबंधी सभी जानकारियों को उपलब्ध कराए जाने संबंधी सरकार के सभी फैसलों को क्रियान्वित करने का काम करेंगी। पैनल यह भी जांच करेंगे कि निजी अस्पतालों में चिकित्साकर्मियों को पीपीई किट, दस्ताने और मास्क उपलब्ध कराए जाते हैं या नहीं। जीआर में कहा गया कि समितियां यह सुनिश्चित करने के लिए भी कदम उठाएंगी कि चिकित्सा कर्मियों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जाए और उनके साथ सम्मान के साथ व्यवहार किया जाए। 14 मई तक, महाराष्ट्र में कोविड-19 के 27,524 मामले हो चुके हैं।


विधायक सहित 10 लोगों की हत्या, अरेस्ट

ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश में एक पूर्व विधायक और 10 अन्य लोगों की हत्या के सिलसिले में वांछित एनएससीएन (आईएम) के एक उग्रवादी को लोंगडिंग जिले में सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार किया। रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल सुमित कुमार शर्मा ने बताया जिला पुलिस के साथ एक संयुक्त अभियान में भारतीय सेना के जवानों ने स्वघोषित 'सार्जेंट मेजर' पुमान वांगसु नामक उग्रवादी को जिले के लोंगफोंग गांव के पास एक जंगल से पकड़ा। एक विशिष्ट खुफिया सूचना के आधार पर संयुक्त टीम ने गांव के करीब स्थित जंगल में एक अभियान शुरू किया। प्रवक्ता ने बताया कि पिछले मंगलवार को तलाशी अभियान के दौरान सैनिकों ने उग्रवादी को पकड़ा, जब वह वहां से भागने की कोशिश कर रहा था। प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार किए गए उग्रवादी को आगे की जांच के लिए लोंगडिंग पुलिस स्टेशन को सौंप दिया गया। एक अन्य मामले में सुरक्षा बलों ने पिछले 12 मई को अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले से नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालिम (खापलांग-कितोवी) के स्व-घोषित कॉर्पोरल को गिरफ्तार किया था। प्रवक्ता ने बताया कि तोनलांग पंगथा नामक उग्रवादी को असम राइफल्स और चांगलांग जिला पुलिस की एक संयुक्त अभियान के दौरान सांखा हावी के पास गिरफ्तार किया गया था।


इंफालः एक मरीज संक्रमित, क्षेत्र सील

इंफाल। मणिपुर के पूर्वी इम्फाल जिले में एक सामुदायिक पृथक केंद्र को वहां रह रहे मरीज के कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद सील कर दिया गया है। पूर्वी इम्फाल की उपायुक्त रंगीताबाली वाइकहोम ने कहा कि निर्देशित पृथक केंद्र जामिया गलीना अजीज बालिका विद्यालय को मणिपुर महामारी बीमारी कोविड-19 नियमन 2020 के तहत ‘‘निरुद्ध क्षेत्र’’ और इमारत को “पूरी तरह सील” घोषित किया गया है। उपायुक्त द्वारा जारी आदेश में कहा गया, “उक्त इमारत को पूरी तरह सील कर दिया गया है और किसी भी नियंत्रण कार्य का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति/ संस्थान/ संगठन को लेकर माना जाएगा कि उसने भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत दंडनीय अपराध किया है।” इसमें कहा गया कि लोगों का इमारत में प्रवेश प्रतिबंधित है। केंद्र में पृथक-वास में रखा गया 31 साल का युवक 13 मई से यहां रह रहा था और बृहस्पतिवार को कोविड-19 की जांच में संक्रमित पाया गया।


बंगाल नागरिकों की वापसी का इच्छुक

कोलकाता। पश्चिम बंगाल सरकार ने शुक्रवार को कहा कि उसने केन्द्र सरकार को बहुत पहले ही यह जानकारी दे दी थी कि उसने खाड़ी समेत दूसरे देशों में फंसे अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए इंतजाम कर लिए हैं। विदेशों से किसी भी विशेष विमान के पश्चिम बंगाल नहीं आने को लेकर केन्द्र द्वारा लगाए गए आरोपों के एक दिन बाद यह बयान आया है। राज्य के गृह विभाग ने ट्वीट किया ‘‘ पश्चिम बंगाल राज्य सरकार विभिन्न देशों में फंसे हमारे लोगों को वापस लाने को इच्छुक है और काफी समय पहले भारत सरकार को इसकी जानकारी दी गई थी। इसके साथ वापस आने वाले लोगों को पृथक रखने के इंतजाम की भी जानकारी दी थी। पत्र संलग्न है। बंगाल विमानों का इंतजार कर रहा है।’’ पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने बृहस्पतिवार रात कहा था कि केन्द्र ने विदेशों से आ रहे विमानों के बंटवारे को लेकर भेदभाव किया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव पार्थ चटर्जी के इस आरोप के जवाब में कहा था कि वह राज्यों के बीच भेदभाव नहीं करता है और केन्द्र का वंदे भारत मिशन सभी फंसे हुए भारतीयों के लिए है। सरकार ने कोरोना वायरस पाबंदियों के चलते विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए सात मई को वंदे भारत मिशन शुरू किया था।


जमातियों को रिहा करने का फैसला

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय को शुक्रवार को सूचित किया गया कि आम आदमी पार्टी की सरकार ने तबलीगी जमात के उन सदस्यों को रिहा करने का फैसला किया है जिन्होंने आवश्यक पृथक-वास अवधि पूरी कर ली है और जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण नहीं हैं। एक याचिका पर सुनवाई के दौरान यह हलफनामा दिया गया। याचिका में मांग की गई थी कि तबलीगी जमात के करीब 3300 सदस्यों को रिहा किया जाए जिन्हें करीब 40 दिनों से अलग-अलग पृथक-वास केंद्रों में रखा गया है और कोविड-19 की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बावजूद उन्हें छुट्टी नहीं दी जा रही है। मुख्य न्यायाधीश डी. एन. पटेल और न्यायमूर्ति सी. हरिशंकर की पीठ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सुनवाई की। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि वे याचिका को वापस लेना चाहते हैं क्योंकि दिल्ली सरकार ने तबलीगी जमात के ऐसे सदस्यों को रिहा करने का निर्णय कर लिया है जिनमें कोविड-19 के लक्षण नहीं हैं।


राशन की दुकानों पर लगी 'लंबी-कतारें'

गौतमबुद्ध नगर। गौतम बुद्ध नगर जिले में उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश पर शुक्रवार से सभी राशन कार्ड धारकों को पांच किलोग्राम चावल और एक किलोग्राम चना नि:शुल्क दिया जा रहा है। नि:शुल्क खाद्यान्न वितरण के मद्देनजर सुबह से ही जिले में सरकारी राशन की दुकानों पर लंबी कतारें लगी हैं। जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण लोगों को खाद्यान्न की कोई परेशानी ना हो, इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रत्येक राशन कार्ड धारक को पांच किलोग्राम चावल तथा एक किलोग्राम चना नि:शुल्क देने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि इसके तहत शुक्रवार को जिला आपूर्ति विभाग ने राशन बांटने का काम शुरू कराया है। चौहान ने बताया कि यहां राशन की सभी दुकानों पर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए राशन वितरित किया जा रहा है। राशन विक्रेताओं को संक्रमण से बचाव के लिए पीपीई किट उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने बताया कि सरकार के आदेशानुसार सभी राशनकार्ड धारकों को राशन उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है। नि:शुल्क राशन मिलने की सूचना पाकर भारी संख्या में श्रमिक सुबह से ही राशन की दुकानों पर कतार में खड़े हो गए। कई जगह अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया, लेकिन पुलिस ने स्थिति को संभाल लिया।


संक्रमण मामलों में लगातार वृद्धि जारी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के बीच 25 मार्च से देश भर में लागू लॉकडाउन के तीसरे चरण का आज 12वां दिन है। वहीं, संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि भी जारी है। भारत में इस बीमारी से अब तक 2649 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 81970 हो गई  है। इसमें एक्टिव कोरोना केस 51401 हैं। वहीं, 27919 मरीज ठीक/डिस्चार्ज भी हुए हैं। इन सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन-4 के साफ संकेत भी दे दिए हैं। दूसरी ओर सरकार आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए आर्थिक पैकज और राहत का ऐलान भी कर रही है। इसी कड़ी में गुरुवार को आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज की दूसरी किस्त में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रवासी मजदूरों, फेरी वालों और छोटे किसानों के लिए अहम घोषणाएं की।


नहीं निकला रोजे का ऐतिहासिक जुलूस

लखनऊ। 21वें रमजान को नहीं निकला ऐतिहासिक जुलूस। कॅरोना महामारी और लॉक डाउन को देखते हुए धर्मगुरुओं ने लिया बड़ा फैसला। आज 21 रमज़ान को पहले इमाम हजरत अली हुए थे शहीद। हजरत अली की याद में हर साल निकलता था ऐतिहासिक जुलूस। पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों ने धर्मगुरुओं के साथ बैठक कर सभी से की थी जुलूस ना निकालने की अपील। शिया मुसलमानो ने नहीं निकला 21 रमजान में भीड़भाड़ वाला जुलूस। सुबह की नमाज़ के बाद निकाला जाता था जुलूस यह जुलूस नजफ़ से निकलकर जाता था तालकटोरा कर्बला। लाखों की संख्या में लोग जुलूस में करते थे शिरकत। पुलिस प्रशासन की अपील के बाद सभी जायरीनो ने घर में ही मातम कर किया हजरत अली की शहादत को याद। पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों ने सभी जायरीनों का किया धन्यवाद।


चप्पे-चप्पे पर अधिकारियों का जाल

कानपुर। (सूरज कश्यप/गुड्डू सिंह) बीते दिनों पूरी दुनिया में आए कोरोना जैसी वैश्विक महामारी को देखते हुए भारत में जो लॉक डाउन किया गया था । उसके बाद कई मजदूर अपने-अपने घरों के लिए सैकड़ों मील पैदल चलने को तैयार हो गए थे और बिना किसी सुविधा के ये मजदूर अपने-अपने घरों के लिए निकल पड़े थे । जिसके बाद कई जगह इन मजदूरों के साथ कई घटनाये हुई थी इन सब घटनाओं को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने समस्त मजदूरों को यथास्थिति पर रहने को कहा था और अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों को वापस लाने के लिए बस व ट्रेन चलाने की बात कही थी जिसके बाद भी काफी संख्या में यह मजदूर पैदल ही अपने-अपने घरों के लिए पलायन करने लगे इस स्थिति को देखकर कानपुर प्रशासन भी पूरी तरह मुस्तैद रहकर लॉक डाउन के बाद से आम जनमानस की जान माल के सुरक्षा को लेकर आला अधिकारियों ने चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई थी ऐसे ही एक तेजतर्रार पुलिसकर्मी इंस्पेक्टर राजकुमार की ड्यूटी नौबस्ता चौराहे पर लगाई गई जिनके द्वारा प्रतिदिन कई जरूरतमंदों को भोजन व पानी जैसी जरूरतमंद चीजें उपलब्ध कराई जा रही थी इन सबको देखते हुए गुरुवार को पुलिस अधीक्षक दक्षिण ने स्वयं सड़कों पर आकर कानपुर आ रहे प्रवासी मजदूरों की सुरक्षा व खानपान और रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था का निरीक्षण किया आपको बता दें जहाँ एक ओर बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर अपने-अपने घरों के लिए पैदल चलने को मजबूर हैं तो वही कानपुर प्रशासन भी इन सभी की सुरक्षा व भूख प्यास को ध्यान में रखकर सड़कों पर रहकर कार्य कर रहा है ऐसा ही एक कार्य कानपुर की पुलिस अधीक्षक अपर्णा गुप्ता के द्वारा देखने को मिला जिन्होंने नौबस्ता चौराहा पर मौजूद रहकर वहाँ से गुजर रहे प्रवासी मजदूरों से खाने व पानी व अन्य समस्याओं के बारे में पूछा और उन समस्याओं को दूर किया इस कार्य में पुलिस अधीक्षक अपर्णा गुप्ता का साथ देने के लिए इंस्पेक्टर राजकुमार थाना प्रभारी नौबस्ता आशीष कुमार शुक्ला के साथ भारी पुलिस बल मौजूद रहा ।


 


कांग्रेस का जरूरतमंदों को राशन वितरण

कानपुर। लॉकडाउन के कारण ग्रामीण क्षेत्रों के मजदूर जिले में जहां तहां फंस गए हैं, होटल आदि बंद होने के कारण लोगों को भोजन नहीं मिल रहा है। ऐसी स्थिति में कांग्रेस पार्टी के नेताओं की ओर से आज गरीब व जरूरतमंदों के बीच कच्चा राशन वितरण कर नेकी का काम किया गया। 
कांग्रेस नेता अंबुज शुक्ला लॉकडाउन की सबसे ज्यादा मार गरीबों और मजदूरों पर पड़ी है। वहीं कांग्रेस नेता अंबुज शुक्ला और उनकी सहयोगी अनकृति प्रतीक त्रिपाठी गरीबों और मजदूरों को कच्चा राशन मुहैया करा रहे हैं।
 
कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने आज संयुक्‍त रूप से काकादेव क्षेत्र में गरीब एवं जरूरतमंदों को खाना एवं पानी का वितरण किया। वितरण करने की ये मुहिम बड़े नेताओं  के निर्देश पर चलाई जा रही है। इनका कहना है कि कोई गरीब परेशान होने न पाए, कोई गरीब भूखा सोने न पाए। कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने गरीब एवं जरूरतमंदों को खाना एवं पानी का वितरण करने की आज जो मुहिम चलाई गई उसमें कांग्रेस नेता अंबुज शुक्ला अनुकृति प्रतीक त्रिपाठी शम्भू शंकर दिनेश दीक्षित दिनेश तिवारी ऋषभ त्रिपाठी ओम प्रकाश मौर्या आदि लोग मौजूद रहे ।
 
 
 


4 राज्यों में वायरस ने पकड़ी रफ्तार

बृज बिहारी दुबे


नई दिल्ली । देश में कोरोना के नए मामले आने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। खासकर महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु और गुजरात में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में रोजाना बढ़ने वाले कुल नए मामलों में से 70 फीसदी यही से रिपोर्ट हो रहे हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक अकेले महाराष्ट्र में ही कोरोना के 40 फीसदी नए मामले सामने आए हैं। दूसरे नंबर पर तमिलनाडु है जहां 11 फीसदी मामले सामने आए हैं। तीसरे नंबर पर दिल्ली है, जहां 10 फीसदी नए मामले दर्ज हुए। जबकि चौथे स्थान पर गुजरात है, जहां से आठ फीसदी नए मामले रिपोर्ट हुए हैं। यानि इन चार राज्यों में ही 70 फीसदी मामले सामने आ रहे हैं। देश में कोरोना के कुल 81,970 मामले सामने आ चुके हैं।
गोवा और छत्तीसगढ़ से भी आए कोरोना के नए मामले
कोरोना मुक्त हो चुके गोवा में शुक्रवार को कोरोना के सात नए मामले सामने आए हैं। इससे पहले गोवा में सात मामले आए थे और सभी स्वस्थ हो चुके थे। लिहाजा यह राज्य कोरोना मुक्त हो चुका था। छत्तीसगढ़ में भी कई दिनों से कोरोना का एक भी नया मामला सामने नहीं आया था। वहां भी कोरोना का एक मामला सामने आया है। यहां कुल 60 कोरोना मरीजों में से 56 मरीज ठीक हो चुके हैं।
देश में मरीजों के स्वस्थ्य होने की रफ्तार 34 फीसदी
देश में कुछ राज्यों में मरीजों के स्वस्थ होने की रफ्तार तेज है, जिसमें छत्तीसगढ़, केरल, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड शामिल हैं। इन राज्यों में स्वस्थ होने की रफ्तार 93 प्रतिशत से लेकर 53 प्रतिशत तक है।


विधि-विधान से से खोले बद्रीनाथ के कपाट

प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सहित पर्यटन – धर्मस्व मंत्री सतपाल जी महाराज ने श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने पर शुभकामनाएं दी हैं।


श्री बदरीनाथ धाम। विश्व प्रसिद्ध श्री बदरीनाथ धाम के कपाट निर्धारित तिथि पर आज प्रात: 4 बजकर 30 मिनट ब्रह्म मुहूर्त में खुल गये है। शुक्रवार, जेष्ठ माह, कृष्ण अष्टमी तिथि, कुंभ राशि धनिष्ठा नक्षत्र, ऐंद्रधाता योग के शुभ मुहूर्त पर कपाट खुले। इस अवसर पर सीमित उपस्थिति रही। तथा शोसियल डिसटेंसिंग का पालन हुआ, मास्क पहने गये। कल 14 मई दिन में आदि गुरू शंकराचार्य जी की पवित्र गद्दी सहित रावल जी, श्री उद्धव जी, श्री कुबेर जी एवं गाडूघड़ा( तेलकलश ) योग ध्यान बदरी मंदिर पांडुकेश्वर से श्री बदरीनाथ धाम पहुंच गये थे। इस बार सेना के बैंड की सुमधुर ध्वनि, भक्तों का हुजूम, भजन मंडलियों की स्वर लहरियां बदरीनाथ धाम में नहीं सुनायी दी। इस यात्रा वर्ष कोरोना महामारी के कहर का प्रभाव उत्तराखंड के चार धामों पर भी पड़ा है। बदरीपुरी में आश्रम,दुकाने, छोटे-बड़े होटल, रेस्टोरेंट,ढाबे बंद है। कपाट खुलने के बाद वेद मंत्रों की ध्वनियों से बदरीशपुरी गुंजायमान जरूर हो गयी। तथा मंदिर फूलो की सजावट के साथ बिजली की रोशनी से जगमगा रहा था । इस यात्रा वर्ष कोरोना महामारी को देखते हुए चार धाम यात्रा शुरू नहीं हो सकी है‌। केवल कपाट खोले गये हैं। कपाट खुलने को लेकर देवस्थानम बोर्ड ने तैयारियां पूरी कर ली थी। इसी के तहत प्रात: तीन बजे से श्री बदरीनाथ धाम में कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू होने लगी। देवस्थानम बोर्ड के अधिकारी/ सेवादार -हक हकूकधारी मंदिर परिसर के निकट पहुंच गये।


श्री कुबेर जी बामणी गांव से बदरीनाथ मंदिर परिसर में पहुंचे तो रावल जी एवं डिमरी हक हकूकधारी भगवान के सखा उद्धव जी एवं गाडू घड़ा तेल कलश लेकर द्वार पूजा हेतु पहुंचे। वैदिक मंत्रों के उच्चारण के साथ द्वार पूजन का कार्यक्रम संपन्न हुआ तत्पश्चात प्रात: 4 बजकर 30 मिनट पर रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी द्वारा श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खोल दिये गये। श्री बदरीनाथ मंदिर के कपाट खुलते ही माता लक्ष्मी जी को मंदिर के गर्भ गृह से रावल जी द्वारा मंदिर परिसर स्थित लक्ष्मी मंदिर में रखा गया।श्री उद्धव जी एवं कुबेर जी बदरीश पंचायत के साथ विराजमान हो गये। कपाट खुलने के पश्चात मंदिर में शीतकाल में ओढे गये घृत कंबल को प्रसाद के रूप में वितरित किया गया। माणा गांव द्वारा तैयार हाथ से बुने गये घृतकंबल को कपाट बंद होने के अवसर पर भगवान बद्रीविशाल को ओढ़ाया जाता है। श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के साथ ही मानवमात्र के रोग शोक की निवृत्ति, आरोग्यता एवं विश्व कल्याण की कामना की गयी‌। भगवान बदरीविशाल की प्रथम पूजा-अर्चना देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की तरफ से मानवता के कल्याण आरोग्यता हेतु संपन्न की जा रही है। आन लाईन बुक हो चुकी पूजाओं को यात्रियों की ओर से उनके नाम संपादित किया जायेगा। श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के साथ ही मंदिर परिसर में स्थित माता लक्ष्मी मंदिर,श्री गणेश मंदिर, हनुमान जी, भगवान बदरी विशाल के द्वारपाल घंटाकर्ण जी का मंदिर परिक्रमा स्थित छोटा मंदिर तथा आदि केदारेश्वर मंदिर, आदि गुरू शंकराचार्य मंदिर के द्वार खुल गये। माणा के निकट स्थित श्री माता मूर्ति मंदिर तथा श्री भविष्य बदरी मंदिर सुभाई तपोवन के कपाट भी श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के साथ ही खुल गये है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बदरीनाथ स्थित खाक चौक में हनुमान मंदिर के द्वार भी आज खुल गये है।


प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने पर देश-विदेश के श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने आशा प्रकट की है कि शीघ्र कोरोना महामारी समाप्त हो जायेगी। यथा शीघ्र उत्तराखंड चारधाम यात्रा शुरू होगी तथा तीर्थ यात्री दर्शनों के लिए पहुंच सकेंगे। प्रदेश के पर्यटन मंत्री सतपाल जी महाराज ने श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि भगवान बदरीविशाल के कपाट खुलते ही अब उत्तराखंड के चारों धामों के कपाट खुल गये है। उचित समय पर चार धाम यात्रा भी शुरू हो जायेगी। इसके लिए वह केंद्र से भी लगातार संपर्क में हैं। चारधाम विकास परिषद के उपाध्यक्ष आचार्य शिव प्रसाद ‌ममगाई‌ ने भी श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने पर प्रसन्नता जताई है। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने अनुसार बदरीनाथ धाम के कपाट खुलते ही उत्तराखंड चारधाम के कपाट खुलने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है आगे पर्यटन-,तीर्थाटन को गति दिये जाने हेतु शासन स्तर पर निरंतर कार्य गतिमान है। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के सीईओ/ गढ़वाल आयुक्त रमन रविनाथ ने बताया कि श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के दौरान देवस्थानम बोर्ड द्वारा उच्च स्तरीय दिशानिर्देशों का पालन सुनिश्चित किया गया। कपाट खुलने के अवसर पर रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी सहित देवस्थानम बोर्ड के प्रभारी अधिकारी बी.डी.सिंह, नायब तहसीलदार प्रदीप नेगी, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल,अपर धर्माधिकारी सत्यप्रसाद चमोला, थानाध्यक्ष सत्येंद्र सिंह, अभिसूचना निरीक्षक सूर्य प्रकाश शाह आदि मौजूद रहे। इस बार श्री बदरीनाथ पुष्प सेवा समिति ऋषिकेश के दानी दाताओं के सहयोग से बदरीनाथ धाम को फूलों से सजाया गया । मंदिर से सटे पुराने पुल से लेकर मुख्य मंदिर परिसर तक विभिन्न पुष्पों एवं तोरण द्वार से सजाया गया । श्री बदरीनाथ धाम में लाक डाउन का पूरी तरह लागू है दुकाने, होटल, ढाबे, आश्रम आदि बंद है। निकटवर्ती गांवों बामणी एवं माणा में भी आवाजाही नहीं है। तप्त कुंड, ब्रह्म कपाल तथा स्नान घाट भी शांत है अलकनंदा नदी का धीमा स्वर सुनाई दे रहा है।


उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने बताया कि कोरोना लाक डाउन के मद्देनजर शोसियल डिस्टेंसिंग सहित सरकारी एडवाइजरी का पालन किया गया। मास्क पहने गये एवं साफ सफाई का ध्यान रखा गया। यहां यह भी उल्लेखनीय है उत्तराखंड के चार धामों के कपाट खुल चुके हैं जबकि कोरोना महामारी संकट टलने के बाद शीघ्र चारधाम यात्रा शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है। बताया कि श्री केदारनाथ धाम के कपाट 29 अप्रैल तथा श्री गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम के कपाट अक्षय तृतीया पर 26 अप्रैल को खुल चुके हैं। द्वितीय केदार मद्महेश्वर जी के कपाट कपाट 11 मई को खुल चुके हैं जबकि तृतीय केदार तुंगनाथ जी के कपाट 20 मई को तथा चतुर्थ केदार रुद्रनाथ जी के कपाट 18 मई को प्रात: खुल रहे है। भगवान श्री बदरीनाथ के कपाट आज शुक्रवार को सुबह ठीक 4-30 बजे पूरे विधान के साथ खोल दिए गए। इस बार बेहद सादगी के साथ कपाट खोले गए। कपाटोद्घाटन मे मुख्य पुजारी रावल, धर्माधिकारी भूवन चन्द्र उनियाल, राजगुरु, हकहकूकधारियो सहित केवल 11 लोग ही शामिल हो सके। इस दौरान मास्क के साथ सोशल डिस्टेसिग का पालन किया गया। इससे पूर्व पूरे मंदिर परिसर को सेनेटाइज्ड किया गया।


 


वर्ल्ड बैंक भारत को देगा 1 बिलियन डॉलर

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच भारत को वर्ल्ड बैंक ने बड़ी राहत दी है। सरकार के कार्यक्रमों के लिए वर्ल्ड बैंक ने एक बिलियन डॉलर के पैकेज का ऐलान किया है। यह पैकेज सामाजिक सुरक्षा पैकेज होगा। इससे पहले कोरोना से जंग के लिए भारत को ब्रिक्स देशों के न्यू डेवलपमेंट बैंक ने एक अरब डॉलर की आपातकालीन सहायता राशि देने का ऐलान किया था।


विश्व बैंक के एक बिलियन डॉलर (करीब 7600 करोड़) सामाजिक सुरक्षा पैकेज का इस्तेमाल देश में कोरोना वायरस रोगियों की बेहतर जांच, कोविड-19 अस्पताल के उच्चीकरण और लैब को बनाने में किया जा सकता है. वर्ल्ड बैंक ने पहले ही 25 विकासशील देशों को पैकेज देने का प्रस्ताव किया था। इससे पहले न्यू डेवलपमेंट बैंक ने भारत को एक अरब डॉलर की आपातकालीन सहायता राशि देने का ऐलान किया था। उसका कहना था कि यह लोन इसलिए दे रहे हैं ताकि भारत को कोविड​​-19 के प्रसार को रोकने में मदद मिले और कोरोना वायरस महामारी से होने वाले मानवीय, सामाजिक और आर्थिक नुकसान को कम किया जा सके। इसके अलावा एशियाई विकास बैंक (ADB) ने कोरोना से मदद के लिए भारत को 1.5 अरब डॉलर का पैकेज देने का ऐलान किया था। इसका उद्देश्य भारत सरकार को COVID -19 के प्रसार को रोकने की लड़ाई में शामिल करना और कोरोनो वायरस के कारण होने वाले मानवीय, सामाजिक और आर्थिक नुकसान को कम करना है।


गौरतलब है कि भारत में कोरोना के आंकड़े लगातार बढ़ते जा रहे हैं। शुक्रवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों को देखें तो देश में कुल कोरोना केस की संख्या करीब 82 हजार के करीब जा पहुंची है। कुल मरने वालों का आंकड़ा 2650 के करीब जा पहुंच गया है और ठीक होने वाले लोगों की तादाद 27 हजार से ज्यादा है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मई 16, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-279 (साल-01)
2. शनिवार, मई 16, 2020
3. शक-1943, ज्येठ, कृष्ण-पक्ष, तिथि- नवमीं, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:50,सूर्यास्त 07:05।


5. न्‍यूनतम तापमान 22+ डी.सै.,अधिकतम-36+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)



शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...