शनिवार, 5 मार्च 2022

यूपी: 54 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव प्रचार थमा

यूपी: 54 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव प्रचार थमा    

संदीप मिश्र       

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में नौ जिलों की 54 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव प्रचार शनिवार को थम गया। इस चरण के मतदान वाले आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, चन्दौली, वाराणसी, मिर्जापुर, भदोही एवं सोनभद्र जिले के 54 विधानसभा क्षेत्रों में 07 मार्च को सुबह 07:00 बजे से मतदान होगा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय की ओर से प्राप्त जानकारी के मुताबिक राज्य में सातवें चरण के निर्वाचन के लिये तीन विधानसभा क्षेत्रों चकिया (सु), राबर्ट्सगंज और दुद्धी (सु) के लिए चुनाव प्रचार शनिवार शाम चार बजे थम गया जबकि शेष 51 सीटों पर शाम छह बजे प्रचार अभियान बंद हुआ। 

चुनाव आयोग ने सुरक्षा की दृष्टि से इन तीन विधानसभा क्षेत्रों को संवेदनशील घोषित किया है। पूर्व निर्धारित चुनाव कार्यक्रम के मुताबिक तीन सीटों चकिया (सु), राबर्ट्सगंज और दुद्धी (सु) सीट पर शाम चार बजे तक मतदान होगा। शेष 51 सीटों पर शाम छह बजे तक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। अंतिम चरण के मतदान में 2.05 करोड़ मतदाता कुल 613 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीएम में दर्ज करेंगे। इस चरण में 1.09 करोड़ पुरुष और 96.4 लाख महिला मतदाता हैं। जबकि 1014 मतदाता थर्ड जेंडर श्रेणी में हैं।

विपक्षी दलों के गठबंधन की सरकार बनने का दावा

विपक्षी दलों के गठबंधन की सरकार बनने का दावा      

संदीप मिश्र        

जौनपुर। समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के अब तक छह चरण के मतदान में सपा के पक्ष में धुआंधार वोटिंग होने के आधार पर इस बार विपक्षी दलों के गठबंधन की सरकार बनने का दावा किया है। अखिलेश ने शनिवार को सातवें और अंतिम चरण के मतदान के लिये चुनाव प्रचार खत्म होने से पहले जौनपुर में कहा कि अब तक के चुनाव में सपा के पक्ष में धुआंधार वोटिंग हुई है। उन्होंने भाजपा और मुख्यमंत्री येागी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा, "इस बार धुआं वाले धुआं-धुआं हो जाएंगे। सपा प्रत्याशियों की रिकॉर्ड मतों से जीत होगी और सपा की सरकार बनने जा रही है।"

उन्होंने जौनपुर जिले की मल्हनी विधानसभा सीट पर सपा प्रत्याशी एवं विधायक लकी यादव के पक्ष में मीरगंज में इस चुनाव की अपनी अंतिम चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वैसे तो भाजपा दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन काम और वादों का आंकलन करेंगे तो दुनिया की सबसे झूठी पार्टी भी भाजपा ही है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार किसानों को समय पर खाद नहीं दे पाई। खाद मिली तो बोरी से पांच किलो खाद की चोरी हो गई। उन्होंने मतदाताओं को आगाह किया कि अगर ये भाजपा वाले दोबारा आ गए तो खाद की बोरी से 10 किलो खाद की चोरी कर लेंगे। अखिलेश ने कहा कि छठवें चरण में भाजपा के पसीने छूट गए हैं और सातवें चरण में सत्ताधारी दल का सात समंदर पार जाना तय है। उन्होंने वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा रोडशो में भगवा टोपी पहनने पर कटाक्ष करते हुए कहा, "ये भाजपा के लोग हमारी टोपी को बदनाम करते थे, अब जनता ने उन्हें टोपी पहनने के लिए मजबूर कर दिया। ये अलग बात है कि उन्होंने रंग बदलकर टोपी पहनी है। ये रंग बदलने वाले लोग हैं।"

अखिलेश ने योगी पर जमकर भी तंज भरे तीर चलाये। उन्होंने कहा, "जिन्हें गोरखपुर जाना है ,उन्होंने अपनी टिकट बुक करा ली है। हम परिवार वाले लोग उनको राय दे रहे हैं, जब घर जाएं तो 'गुल्लू' के लिए बिस्कुट ले जाएं। इस बार सांड ने भाजपा का वोट चर लिया है।" सपा अध्यक्ष ने कहा कि ये संविधान और उत्तर प्रदेश के भविष्य काे बचाने का चुनाव है। यह चुनाव देश की राजनीति की दिशा को तय करेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में 11 लाख पद खाली है। सत्ता में आने पर भर्ती निकाली जाएगी। सरकार बनेगी तो 24 घंटे बिजली दी जाएगी और 300 यूनिट फ्री बिजली दी जाएगी। किसानों की सिंचाई माफ होगी, नौकरी और रोजगार के अवसर मिलेंगे।

डकैती मामलें में 3 लोगों को गिरफ्तार करने का दावा

डकैती मामलें में 3 लोगों को गिरफ्तार करने का दावा   

अश्वनी उपाध्याय     

गाज़ियाबाद। जनपद पुलिस ने बिल्डर निखिल भाटी के नेहरू नगर स्थित घर में हुई डकैती के मामलें में तीन लोगों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। पुलिस का कहना है कि 22 फरवरी को हुई इस घटना में रोहतक के राजस्व निरीक्षक (कानूनगो) की बेटी व बेटे सहित 6 लोग शामिल हैं। जिनमें से 3 अभियुक्त अभी भी फरार हैं। पुलिस ने अभियुक्तों के कब्जे से दो तमंचे, कारतूस व 29 हजार रुपये भी बरामद किए हैं।

पत्रकारों को मामले की जानकारी देते हुए एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित रोहतक के सापला थाना क्षेत्र में अटायल गांव निवासी ज्योति उर्फ सुचारिता, उसका भाई रविदत्त व विशाल हैं। जबकि उनके साथी अंकित, राहुल व विक्की फरार हैं। विक्की हत्या और राहुल चोरी के आरोप में रोहतक से जेल जा चुका है। ज्योति के पिता राज सिंह कानूनगो हैं। ज्योति पूर्व में दो साल निखिल के राकेश मार्ग स्थित मकान में किराये पर रही थी और फोन पर बातचीत करती रहती थी।

विवाह: वैदिक मंत्रों के साथ भगवान गणेश का आह्वान

विवाह: वैदिक मंत्रों के साथ भगवान गणेश का आह्वान  

नरेश राघानी        
उदयपुर। नारायण सेवा संस्थान में शनिवार को गणपति स्थापना व हल्दी की पारम्परिक रस्म अदायगी के साथ 37वें दिव्यांग एवं निर्धन सामूहिक विवाह की धूम शुरू हुई। संस्थापक कैलाश ‘मानव’, कमला देवी अग्रवाल, अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल, वंदना अग्रवाल, देवेन्द्र चौबीसा, पलक अग्रवाल ने वैदिक मंत्रों के साथ भगवान गणेश का आह्वान व पूजन किया।
संस्थान अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि वैदिक संस्कृति के रीति-रिवाजों में विवाह संस्कार से पूर्व विनायक स्थापना, हल्दी, मेहन्दी एवं महिला संगीत जैसी रस्में निभाना शुभ एवं सगुनभरी मानी गई है। जिसके चलते पीले परिधानों में सजे-धजे दिव्यांग एवं निर्धन जोड़ों की सुखमयी गृह-गृहस्थी बसानें के लिए उनके हाथों से गणपति पूजन करवाकर उन्हें हल्दी का उबटन लगाया गया। 
हल्दी समारोह में 21 जोड़ों की हल्दी रस्म अदायगी की गयी। ऐसा कहा जाता है कि गणेश जी को चढ़ने वाली दूर्वा से झुक-नम कर जीवन जीना तथा हल्दी से सौदर्यवान बनें रहने का आशीर्वाद-प्रेरणा मिलती है।
हल्दी की रस्म में आकर्षण का केन्द्र रहा नीमच निवासी मोहन ओर नागौर निवासी पूजा नाम का जोड़ा। जो नेत्रहीन है। पिछले तीन वर्ष से निर्धनता एवं दिव्यांगता के ग्रहण के चलते विवाह नहीं कर पा रहे थे। शादी के बंधन में बंधने से पूर्व खुशी जाहिर करते हुए कहा हमारी हमसफर बन मन की आंखों से दुनिया देखने की जिद थी जो नारायण सेवा संस्थान के प्रयास से पूरी हो रही है।

यूके: 24 घंटे में कोरोना के 48 नए मामलें मिलें

यूके: 24 घंटे में कोरोना के 48 नए मामलें मिलें         

पंकज कपूर      

देहरादून। उत्तराखंड में वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण का प्रकोप अब तेजी के साथ घटने लगा है। राज्य में कोरोना वायरस मामलों में निरंतर कमी आ रही है, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के सभी 13 जनपदों में कोरोना वायरस के कुल 48 नये मामले सामने आए है। वहीं, राहत की बात है कि शनिवार को किसी भी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई।

शनिवार को उत्तराखंड स्टेट कंट्रोल रूम देहरादून द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के कुल 48 नए मामलें सामने आए है। जबकि राज्य में 40 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। वही, दैनिक पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो 0.71 फ़ीसदी पर पहुंच गई है।

'महाराष्ट्र पैटर्न' को राज्य गोवा में दोहराया गया: राउत

'महाराष्ट्र पैटर्न' को राज्य गोवा में दोहराया गया: राउत   

कविता गर्ग     

मुंबई। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत ने शनिवार को कहा कि राजनीतिक विरोधियों के फोन अवैध रूप से टैप करने के “महाराष्ट्र पैटर्न” को अब पड़ोसी राज्य गोवा में दोहराया जा रहा है। जहाँ अगले सप्ताह विधानसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा की जानी है। राउत ने यहां संवाददाताओं से कहा कि ऐसा ही ‘पैटर्न’ उत्तर प्रदेश में भी काम कर रहा होगा जहां 10 मार्च को मतगणना होनी है। उन्होंने कहा कि फोन टैप करने का डर गोवा के एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता द्वारा व्यक्त किया गया था जिससे वह हाल में मिले थे।

राउत ने कहा कि, मैं गोवा कांग्रेस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत से मिला था जिन्होंने इसकी आशंका जताई थी कि उनका फोन टैप किया जा रहा था। मैं कहता हूं कि केवल उनका (कामत) ही नहीं बल्कि एमजीपी नेता सुदिन धवलीकर और गोवा फॉरवर्ड पार्टी (एफजीपी) के विजय सरदेसाई के फोन भी टैप किये जा रहे हैं। महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) ने तृणमूल कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा है। जीएफपी ने कांग्रेस के साथ गठजोड़ किया है। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का नाम लिए बिना राउत ने आरोप लगाया, “महाराष्ट्र में राजनीतिक विरोधियों के फोन टैप करने की शुरुआत दो साल पहले 2019 विधानसभा चुनाव के बाद हुई थी। इसमें (फोन टैपिंग) शामिल एक महिला अधिकारी के विरुद्ध दो प्राथमिकी दर्ज की गई थी। इस महाराष्ट्र पैटर्न का मुखिया गोवा चुनाव का प्रभारी भी था। राउत ने दावा किया कि अगर गोवा में किसी को बहुमत नहीं मिलता है तो केंद्रीय जांच एजेंसियों का ध्यान गोवा पर केंद्रित होगा। उन्होंने कहा, “हम सब ध्यान रख रहे हैं। मैंने दिगंबर कामत से बात की और उनके साथ एकजुटता प्रदर्शित की।

चुनाव: भाजपा की सांसद का बेटा, सपा में शामिल

चुनाव: भाजपा की सांसद का बेटा, सपा में शामिल    

संदीप मिश्र       

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी शनिवार को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने आजमगढ़ में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, “भारतीय जनता पार्टी की सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी आज समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। इससे पहले जनवरी में रीता बहुगुणा जोशी ने लखनऊ छावनी सीट से यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में अपने बेटे के लिए भाजपा से टिकट मांगा था। रीता बहुगुणा जोशी ने यह भी कहा था कि अगर उनके बेटे को लखनऊ कैंट सीट से टिकट नहीं मिला तो वह अपनी लोकसभा सदस्यता छोड़ देंगी। लेकिन जब उनके बेटे को टिकट नहीं दिया गया तो उन्होंने कहा कि वह “पार्टी के फैसले का सम्मान करती हैं।”

रीता बहुगुणा जोशी ने 2017 का चुनाव लड़ा था और लखनऊ छावनी से तत्कालीन सपा उम्मीदवार अपर्णा यादव को हराया था। उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों के लिए सात चरणों में मतदान 10 फरवरी से जारी है। उत्तर प्रदेश में छह चरणों में 10, 14, 20, 23, 27 फरवरी और 3 मार्च को मतदान हुआ था और सातवें चरण का मतदान 7 मार्च को होगा। मतों की गिनती 10 मार्च को होगी।

2022-23 के लिए 9 मार्च को बजट पेश करेंगे सीएम

2022-23 के लिए 9 मार्च को बजट पेश करेंगे सीएम   

दुष्यंत टीकम    

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र 7 मार्च से शुरू होगा। 8 तारीख को अभिभाषण पर चर्चा होगी। इसके बाद 9 तारीख को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल वर्ष 2022-23 के लिए बजट पेश करेंगे। इस स्तर में 13 बैठकें होंगी। 
विधानसभा अध्यक्ष चरण दास महंत ने आज बजट सत्र की जानकारी देते हुए बताया कि बजट सत्र में प्रश्न उत्तर ऑनलाइन ही मंगाए गए थे। जिसके बाद, प्रश्न, उत्तर और मुद्रण भी ऑनलाइन किया गया। इसमें कुल 1682 प्रश्न आए जिसमें 1499 प्रश्न 90 प्रतिशत ऑनलाइन आएं। इनमें 114 ध्यानाकर्षण की सूचना, 10 स्थगन की सूचना है। वहीं सदन में 1 विधेयक सदन रखे जाने की सूचना है। उल्लेखनीय है कि बजट सत्र के काफी हंगामेदार होने की संभावना है। राज्य की प्रमुख विपक्षी पार्टी भाजपा भी पिछले सप्ताह भर से बजट सत्र में सरकार को घेरने की रणनीति बनाने में जुटी है।


फेसबुक, ट्विटर के साथ-साथ यूट्यूब को बैन किया

फेसबुक, ट्विटर के साथ-साथ यूट्यूब को बैन किया    
सुनील श्रीवास्तव     
कीव/ मास्को। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मीडिया आउटलेट्स और सोशल मीडियो प्लेटफॉर्म पर कार्रवाई तेज कर दी है। उन्होंने फेसबुक और ट्विटर के साथ-साथ यूट्यूब को भी बैन कर दिया है। इसके लिए एक बिल पर हस्ताक्षर किया है। इस कानून के तहत देश के सशस्त्र बलों के बारे में झूठी सूचना फैलाने पर किसी व्यक्ति को 15 साल तक की जेल की सजा हो सकती है।
सोशल मीडिया दिग्गजों के खिलाफ कदम के साथ बीबीसी, अमेरिकी सरकार द्वारा वित्त पोषित वॉयस ऑफ अमेरिका और रेडियो फ्री यूरोप/रेडियो लिबर्टी, जर्मन प्रसारक डॉयचे वेले और लातविया स्थित वेबसाइट मेडुजा को भी ब्लॉक कर दिया गया था। रूसी भाषा में समाचार प्रकाशित करने वाले विदेशी आउटलेट्स के खिलाफ सरकार की व्यापक कार्रवाई ने पुतिन के तेवर साफ कर दिए हैं। 
रूस लगातार इस बात का आरोप लगाता रहा है कि यूक्रेन पर आक्रमण के बारे में घरेलू दर्शकों को गलत सूचना दी जा रही है। रूस की ओर से यूक्रेन पर शुरू किए गए हमलों को अब 10 दिन हो चुके हैं। इसके बावजूद यूक्रेन के कई शहर अब भी रूसी सेना के नियंत्रण से बाहर हैं। अब अमेरिका और नाटो के अधिकारियों ने आशंका जताई है कि यूक्रेन पर अपना कब्जा जमाने के लिए रूस तब तक बम बरसाएगा, जब तक सभी शहर खुद आत्मसमर्पण नहीं कर देते। अफसरों ने कहा कि रूस के हवाई हमलों की वजह से आने वाले दिनों में आम नागरिकों के मारे जाने का आंकड़ा और ज्यादा बढ़ सकता है। गौरतलब है कि इससे पहले नाटो ने खुद यूक्रेन के हवाई मार्ग को नो फ्लाई जोन घोषित करने से इनकार कर दिया था।

युद्ध के 10वें दिन भी रूस आक्रामक नजर आ रहा है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया है कि उसने पूर्वी यूक्रेन पर ड्रोन से अटैक कर आइदर बटालियन पोस्ट को तबाह कर दिया। यूक्रेन की एक मीडिया रिपोर्ट के हवाले से बताया गया है कि रूस ने एक सप्ताह के भीतर यूक्रेन पर 500 से अधिक मिसाइलों से हमला किया है। हर दिन 24 अलग-अलग मिसाइलें भी लॉन्च कर रहा है।

सीएम योगी ने 'बीजेपी' की बंपर जीत का दावा किया

सीएम योगी ने 'बीजेपी' की बंपर जीत का दावा किया   

संदीप मिश्र     

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव व आखिरी चरण की ओर है। जिसमें 7 मार्च को वोटिंग होनी है। सभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव में परचम फहराने के लिए दिन रात एक किए हुए हैं। बीजेपी सत्ता में बने रहने के लिए अपने विकास कार्य का गुणगान कर रही है तो विपक्ष दल बेरोजारी, भ्रष्टाचार, महंगाई और सुरक्षा जैसे मुद्दों को लेकर सरकार पर हमलावर हैं। बड़े नेता 6 चरणों के चुनाव को लेकर अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। इस बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपनी जीत को लेकर बड़ा बयान दिया है। योगी आदित्यनाथ ने चंदौली में चुनाव प्रचार में कहा कि बीजेपी की बंपर जीत का दावा किया। दरअसल, उन्होंने कहा कि रुझान बताते हैं कि बीजेपी का स्कोर पौने 300 पार कर चुका है। उन्होंने चंदौली में चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि 10 मार्च को जब चुनाव परिणाम आएंगे तब पूर प्रदेश में सिर्फ बीजेपी ही दिखाई देगी और इस भय से एसपी-बीएसपी के कई नेताओं ने अभी से विदेश भागने के लिए अपनी बुकिंग करनी शुरू कर दी है।

सीएम योगी ने कहा कि डबल इंजन बीजेपी सरकार ने चारों ओर शिक्षा-कौशल का विकास किया है। चंदौली के चकिया में दो राजकीय आईटीआई व सैयदराजा में महामाया पॉलीटेक्निक और राजकीय महिला महाविद्यालय की स्थापना से युवाओं को तकनीकी व उच्च शिक्षा से जुड़ने का आसान माध्यम मिला है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर समाज हमारी प्राथमिकता है। चंदौली में बाढ़ की समस्या पर को लेकर सीएम ने कहा कि भाजपा सरकार सिंचाई, बाढ़ नियंत्रण और बाढ़ परियोजनाओं के विकास हेतु संकल्पबद्ध है। हमने चंदौली जनपद के चकिया क्षेत्र में नौगढ़ बांध का पुनरुद्धार कर इसी संकल्प को और सशक्त किया है। जन-जन की खुशहाली हेतु हम लगातार काम कर रहे हैं। चंदौली के ‘ब्लैक राइस’ के बारे में सीएम ने कहा कि इसे वैश्विक पटल पर नई पहचान दिलाने हेतु भाजपा सरकार ने अनेक सराहनीय प्रयास किये हैं। इससे ब्लैक राइस की खेती कर रहे चंदौली के किसानों की आय में वृद्धि हुई है और उनका जीवन सुगम हुआ है। उन्होने कहा कि ‘किसान-कल्याण’ हमारी सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है।

स्वदेश लौटने वाले छात्रों को बड़ी राहत देने की तैयारी

स्वदेश लौटने वाले छात्रों को बड़ी राहत देने की तैयारी   

अकांशु उपाध्याय        

नई दिल्ली। भारत सरकार ऑपरेशन गंगा के तहत रूस-यूक्रेन के जंग के मैदान से जान बचाकर स्वदेश लौटने वाले मेडिकल छात्रों को बड़ी राहत देने की तैयारी कर रही है। केंद्र सरकार ने इस संबंध में फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट लाइसेंसिंग एक्ट में बड़े बदलाव करने का फैसला किया है, ताकि यूक्रेन से लौटे बच्चों का भविष्य खराब न हो और समय भी बेकार न जाए। केंद्र सरकार ने इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, नेशनल मेडिकल कमीशन और नीति आयोग को एफएमजीएल एक्ट-2021 में राहत और मदद देने की संभावनाएं तलाशने को कहा है।

इसके साथ ही यह भी पता लगाना होगा कि यूक्रेन से लौटे विद्यार्थियों के लिए देश और विदेश के प्राइवेट कॉलेजों में पढ़ने की क्या व्यवस्था की जा सकती है? सूत्रों के अनुसार, इसका समाधान खोजने के लिए जल्द ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, नेशनल मेडिकल कमीशन और नीति आयोग के अधिकारी एक बैठक कर विकल्पों पर चर्चा करेंगे और मानवीय आधार पर राहत देने के लिए जमीनी स्तर पर संभावनाएं तलाशेंगे। नेशनल मेडिकल कमीशन के एफएमजीएल एक्ट 2021 के प्रावधानों के अनुसार पूरे पाठ्यक्रम के दौरान पूरी पढ़ाई, प्रशिक्षण और इंटर्नशिप या क्लर्कशिप आदि सभी भारत के बाहर एक ही विदेशी संस्थान, विश्वविद्यालय या कॉलेज में किए जाने चाहिए। इसके साथ ही प्रावधानों में यह भी कहा गया है कि चिकित्सा प्रशिक्षण और इंटर्नशिप का कोई भी हिस्सा भारत में या उस देश जहां से प्राथमिक चिकित्सा योग्यता यानी ग्रेजुएट स्तर की पढ़ाई पूरी की गई है, के अलावा किसी अन्य देश में नहीं किया जा सकता है।

आधिकारिक सूत्र ने बताया कि वर्तमान में मेडिकल छात्रों को समायोजित करने के लिए नेशनल मेडिकल कमीशन के नियमों के तहत ऐसा कोई मानदंड और नियम नहीं हैं, जो विदेश में पढ़ रहे छात्रों को अकादमिक सत्र के बीच में भारतीय मेडिकल कॉलेजों या संस्थानों में समायोजित करने की अनुमित देता हो। हालांकि, ऐसी असाधारण परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए मानवीय आधार पर इस मुद्दे की समीक्षा की जाएगी और सहानुभूतिपूर्वक राहत देने की संभावना तलाशी जाएगी।यूक्रेन से लौट रहे और पूर्व में चीन से लौटे छात्रों के भविष्य को लेकर अधिकारियों को माथापच्ची करनी पड़ेगी, तब कहीं जाकर समाधान की संभावनाएं तलाशी जाएंगी। एनएमसी के प्रावधानों में छूट की संभावना का पता लगाने या ऐसे छात्रों को निजी मेडिकल कॉलेजों में अपना पाठ्यक्रम पूरा करने या दूसरे देशों में कॉलेजों में स्थानांतरण की छूट देना भी आसान नहीं है। अधिकारियों के अनुसार, यूक्रेन में छह साल का एमबीबीएस कोर्स और दो साल का इंटर्नशिप प्रोग्राम है और यह भारत के निजी मेडिकल कॉलेजों की तुलना में काफी किफायती है।

2,000 से अधिक भारतीयों को निकालने की उम्मीद

2,000 से अधिक भारतीयों को निकालने की उम्मीद  

अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। ऑपरेशन गंगा के तहत शनिवार को 2,000 से अधिक भारतीय नागरिकों को निकाले जाने की उम्मीद है। केंद्र ने उन भारतीयों को निकालने के लिए एक एयरलिफ्ट अभियान शुरू किया है। जो युद्धग्रस्त यूक्रेन के पड़ोसी देशों में अपना रास्ता खोज चुके हैं। नागरिकों को वापस लाने के लिए कई विशेष चार्टर के साथ-साथ भारतीय वायु सेना की उड़ानें भी तैनात की हैं।
नागरिक उड्डयन मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है, “कल, 11 विशेष नागरिक उड़ानों के 2,200 से अधिक भारतीयों को वापस लाने की उम्मीद है, जिसमें 10 नई दिल्ली और एक मुंबई में उतरेगी।
“पांच उड़ानें बुडापेस्ट से, 2 रेजजो से और 4 सुसेवा से शुरू होंगी। चार सी -17 विमान रोमानिया, पोलैंड और स्लोवाकिया के लिए हवाई हैं, जिनके कल देर रात और सुबह जल्दी पहुंचने की।
शुक्रवार को यूक्रेन के पड़ोसी देशों से 17 विशेष उड़ानें भारत वापस आईं, जिनमें 14 नागरिक उड़ानें और तीन सी-17 आईएएफ उड़ानें शामिल हैं। “नागरिक उड़ानों में 3,142 लोग थे, सी -17 उड़ानों ने 630 यात्रियों को निकाला।”
बयान के अनुसार, अब तक 43 विशेष नागरिक उड़ानों द्वारा 9,364 से अधिक भारतीयों को निकाला गया है। “सी-17 की सात उड़ानों ने अब तक 1,428 यात्रियों को निकाला है और 9.7 टन राहत सामग्री पहुंचाई है। नागरिक उड़ानों में बुखारेस्ट से 4, कोसिसे से 2, बुडापेस्ट से 4, रेजजो से 3 और सुसेवा से 2 उड़ानें शामिल हैं, जबकि आईएएफ ने बुखारेस्ट से 2 और बुडापेस्ट से 1 उड़ानें भरीं। केंद्र ने चार केंद्रीय मंत्रियों- हरदीप सिंह पुरी, किरेन रिजिजू, ज्योतिरादित्य सिंधिया और जनरल वी.के. सिंह (सेवानिवृत्त) – यूक्रेन से सटे देशों को चल रहे निकासी कार्यों का समर्थन और पर्यवेक्षण करने के लिए पहुंचे हैं।

3 पदाधिकारियों को 6 साल तक निष्कासित किया

3 पदाधिकारियों को 6 साल तक निष्कासित किया    

पंकज कपूर      

हल्द्वानी। विधानसभा चुनाव के नतीजे आने में कम ही दिन बाकी हैं। लेकिन उससे पहले कांग्रेस ने पार्टी में बगावत करने वालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।कांग्रेस ने तीन पदाधिकारियों को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। जिन के ऊपर पार्टी अनुशासन के खिलाफ कार्य करने का आरोप लगा है।कांग्रेस कमेटी की ओर से पार्टी विरोधी गतिविधियों एवं विधानसभा चुनाव में पार्टी अनुशासन के खिलाफ कार्य करने वालों को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित किया गया है। गौरतलब है कि, कांग्रेस के कद्दावर नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत लालकुआं से मैदान में हैं।

जहां चुनाव प्रचार में हरीश रावत के खिलाफ दुष्प्रचार करने पर कांग्रेस ने तीन पदाधिकारियों को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। कांग्रेस के नैनीताल जिलाध्यक्ष सतीश नैनवाल के आदेश पर जिला उपाध्यक्ष कांग्रेस भूपाल सिंह सम्मल, जिला संगठन मंत्री मनोज पौडियाल और न्याय पंचायत क्षेत्र अध्यक्ष भगवान सिंह सम्मल को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।

नागरिकों को निकालने के लिए युद्धविराम की घोषणा

नागरिकों को निकालने के लिए युद्धविराम की घोषणा   

अखिलेश पांडेय         

कीव/मास्को। रूस ने मानवीय गलियारे के जरिये नागरिकों को निकालने के लिए युद्धविराम की घोषणा कर दी है। रूस और यूक्रेन के बीच जंग 10वें दिन तक आते-आते बहुत खतरनाक होती जा रही है। इसमें सैकड़ों लोगों की मौत हो रही है और करोड़ों की संपत्ति का नुकसान हो रहा है। इस बीच यूक्रेन में तबाही का मंजर साफ देखा जा सकता है। यही नहीं, दोनों देशों में हो रही जंग के कारण आमजन को काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में रूसी मीडिया स्पुतनिक की ओर से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। समाचार एजेंसी एएनआई ने स्पुतनिक के हवाले से बताया कि रूस ने नागरिकों के लिए मानवीय गलियारे खोलने के लिए यूक्रेन में 07:00 जीएमटी (ग्रीनविच मीन टाइम जोन) से युद्धविराम की घोषणा की है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि रूस ने यूक्रेनी शहरों मारियुपोल और वोल्नोवाखा से लोगों को बाहर निकालने के लिए मानवीय गलियार बनाने की अनुमति देने के लिए शनिवार को आंशिक संघर्ष विराम की घोषणा की है। वहीं, एएनआई ने यूक्रेन के द कीव इंडिपेंडेंट के हवाले से बताया है कि मानवीय गलियारों को स्थापित करने के लिए मारियुपोल और वोल्नोवाखा में अस्थायी युद्धविराम शुरू हो गया है। गलियारे के जरिये नागरिकों को निकालने और दुनिया से कटे हुये शहरों में भोजन और दवा पहुंचाने का काम करेंगे।

कंपनी मदर डेयरी ने दूध में 2 रुपये तक वृद्धि की

कंपनी मदर डेयरी ने दूध में 2 रुपये तक वृद्धि की    

अकांशु उपाध्याय    

नई दिल्ली। अमूल के बाद अब दूध कंपनी मदर डेयरी ने भी दूध के दाम बढ़ा दिए हैं। मदर डेयरी के अलग-अलग दूध के वैरिएंट में 2 रुपये तक वृद्धि हुई है। अब मदर डेयरी का दूध खरीदने पर ग्राहकों को दो रुपये और ज्यादा देने होंगे नई दरें 6 मार्च, 2022 से लागू हो रही हैं।

मदर डेयरी ने दिल्ली-एनसीआर में दूध की कीमतों में दो रुपये तक की बढ़ोतरी करने का ऐलान किया है। दिल्ली-एनसीआर में दूध की सबसे ज्यादा सप्लाई करने वाली डेयरी कंपनी मदर डेयरी ने बताया कि लागत में इजाफा होने के चलते दूध की कीमतों में इजाफा किया जा रहा है।

भारत सरकार ने तटस्थ भूमिका का निर्वाहन किया

भारत सरकार ने तटस्थ भूमिका का निर्वाहन किया   

सुनील श्रीवास्तव    
कीव/ मास्को/नई दिल्ली। शनिवार को हर जगह केवल रूस-यूक्रेन संकट की चर्चा है और साथ ही पूरी दुनिया की निगाहें इस संकट पर भारत की भूमिका पर हैं। भारत सरकार ने अभी तक इस प्रकरण पर बहुत ही संतुलित व तटस्थ भूमिका का निर्वाहन किया है। संयुक्त राष्ट्र महासभा सहित जिन मंचों पर रूस के खिलाफ निंदा प्रस्ताव या अन्य जितने भी प्रस्ताव पास हुए हैं। उन सभी में मतदान के दौरान भारत अनुपस्थित ही रहा है। यह पंक्तियाँ लिखे जाने तक भारत के रूख से रूस और अमेरिका सहित विश्व के सभी देश खुश हैं। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व और विदेश के बड़े नेताओं के साथ उनकही मैत्री का ही परिणाम है कि जंग के खतरनाक दौर में भी रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन जहां उनसे फोन पर बात कर रहे हैं और भरतीय छात्रों की सकुशल वापसी के लिए सुरक्षित मार्ग दे रहे हैं। वहीं दूसरी ओर यूक्रेन भी भारत की ओर देख रहा है और नरेंद्र मोदी से मदद की अपील कर रहा है। ताकि युद्ध को रोका जा सके, यूक्रेन के पड़ोसी देश भारतीय छात्रों की वापसी में सहयोग कर रहे हैं।

आज भारत ने जो तटस्थ नीति अपनायी है जहां उसकी जहाँ पूरे विश्व में प्रशंसा हो रही है वहीं मोदी विरोधी मीडिया इस बात पर भी अपना नकारात्मक प्रवचन चला रहा हैं। पष्चिमी जगत के मीडिया की नकल करने वाला मीडिया का एक वर्ग यह भी कह रहा है कि भारत को इस युद्ध में रूस के निंदा प्रस्ताव में रूसी कार्यवाही के विरोध में अपना मत देना चाहिए था , आखिर क्यों ? भारत ने अंतरराष्ट्रीय मंचों पर अपनी जो भूमिका निभायी है उसके कारण भारत के दो धुर विरोधी चीन और पाकिस्तान भी हैरान हो रहे हैं तथा वहां के टीवी चैनलों पर बड़ी बहसें हो रही हैं कि आखिर मोदी जी के दिमाग में चल क्या रहा है।

भारत की वर्तमान रणनीति की पृष्ठभूमि पर हम सभी को नजर डालनी होगी और अपना विस्मृत ज्ञान का भंडार फिर से ताजा करना होगा क्योंकि यूक्रेन एक ऐसा देश रहा है जिसने कभी भी किसी भी संकट में भारत का साथ नहीं दिया है और वह सदा ही भारत विरोध का रवैया अपानाता रहा है।। यूक्रेन की सरकार ने न तो पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेयी सरकार के कार्यकाल में परमाणु परीक्षण के मुददे पर भारत का साथ दिया और नहीं आतंकवाद के मुददे पर। यूक्रेन सदा पाकिस्तान व चीन के साथ खड़ा रहा है।

अमेरिका व अन्य पश्चिमी देश भारत पर इस बात का दबाव बना रहे हैं कि वह रूस के खिलाफ मतदान करे। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि इन देशों ने आज तक आतंकवाद के मुददे पर भारत को कोई सहयोग कभी नहीं दिया। इतिहास गवाह है कि अमेरिका व ब्रिटेन जैसे देश पाकिस्तान के साथ मिलकर जम्मू कश्मीर व पाक अधिकत कश्मीर को मिलाकर एक स्वतंत्र देश बनाने का सपना देख रहे हैं और कई बार उनकी यह साजिशें उन देशों के नेताओं की जुबान पर आ भी जाती हैं। जब गलवान में चीन ने सोची समझी साजिश के तहत हमला किया तब भी ये देश भारत के पक्ष में नहीं बोले तो आज भारत इन देशों का साथ क्यों दे ?
भारत में बैठे पश्चिमी मीडिया के पिछलग्गू बुद्धिजीवि सरकार से यह आशा कर रहे है कि वह यूक्रेन का साथ दे तो उनकी बुद्धि पर तरस ही आता है । वर्ष 1998 में जब भारत ने पोखरण में परमाणु परीक्षण किया था उस समय संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में भारत पर कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाने के लिए एक प्रस्ताव आया था इस प्रस्ताव को दुनिया के जिन 25 देशों ने प्रस्तुत किया था उसमें यूक्रेन प्रमुख था। भारत के परमाणु कार्यक्रम को रोकने के लिये यूक्रेन ने पाकिस्तान का साथ दिया था।
सबसे खतरनाक पहलू यह है कि पिछले तीन दशकों से पाकिस्तान को हथियार बेचने वाला सबसे बड़ा देश यूक्रेन बना हुआ है। पाकिस्तान को हथियारों की जरूरत यूक्रेन ही पूरा करता है और वह अब तक पाकिस्तान को 12 हजार करोड़ रूपये के हथियार बेच चुका है आज पाकिस्तान के पास जो 400 टैंक हैं वो यूक्रेन के द्वारा ही बेचे गये हैं। यूक्रेन पाकिस्तान की सेना को मजबूत करने में लगातार सहयोग कर रहा था और वह भारत के लिये बहुत बड़ा खतरा बन चुका था। यूक्रेन पाकिस्तान को चोरी छिपे परमाणु हथियारो की सप्लाई भी कर रहा था।रूस -यूक्रेन संकट पर यूक्रेन के प्रति सहानुभूति दिखा रहे लोगों को यह याद रखना चाहिए कि यूक्रेन का रवैया हमेशा भारत का विरोध ही रहा है और वह कभी नहीं सुधरेगा। आज जब आपरेशन गंगा को सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है तब उस समय भी यूक्रेन की ओर से ही बाधा खड़ी की जा रही है।

अब अमेरिका की पृष्ठभूमि पर भी नजर डालते हैं। इतिहास गवाह है कि अमेरिका के नेतृत्व में पश्चिमी जगत कभी नहीं चाहता कि भारत एक शक्तिशाली और आत्मनिर्भर देश बन जाये । यह सभी देश भारत को एक बाजार के नजरिये से ही देखते हैं और यही कारण है कि वह समय -समय पर भारत को धमकियां देते रहे हैं और भारत के आंतरिक मामलों में भी हस्तक्षेप करने का प्रयास करते रहते हैं। भारत के खिलाफ विषवमन करते रहते हैं। अमेरिका और ब्रिटेन के अखबारों में भारत विरोधी लेख लिखे जाते हैं उन्हीं के आधार पर भारत के विरोधी दल सरकार के खिलाफ एक माहौल बनाने का प्रयास करते रहते हैं।
जरा याद करें जब 1971 के युद्ध में अमेरिका ने भारत को युद्ध रोकने की धमकी दी थी और तब पाकिस्तान की हार आसान लग रही थी उस समय किसिंजर ने पूर्व राष्ट्रपति निक्सन को बंगाल की खाड़ी में परमाणु संचालित विमानवाहक पोत यूएसएस इंटरप्राइज के नेतृत्व में यूएस 7वी फ्लीट भेजने के लिए प्रेरित किया था। उस समय यह दुनिया का सबसे बड़ा विमानवाहक पोत समुद्र की सतह पर चलता फिरता एक राक्षस था जबकि भारतीय नौसेना के बेड़े का नेतृत्व 20,000 टन के विमानवाहक पोत विक्रांत जिसके पास 20 हल्के लड़ाकू विमान थे ने किया था और उस समय रूस की पनडुब्बियों ने ही 1971 की जंग में अमेरिका के विरूद्ध ढाल बनकर भारतीय नौसेना की रक्षा की थी।
रूस ने हर कदम -कदम पर भारत का भरपूर सहयोग किया है जब पूर्व सोवियत संघ था तब भी और आज के समय में जब पूर्व सोवियत संघ खंड- खंड हो चुका है उस समय भी रूस भारत के साथ खड़ा दिखाई देता रहा हैं। जम्मू -कश्मीर के मुददे पर तो रूस ने सदा हर मंच पर भारत का ही साथ दिया है और वह कई बार पाकिस्तान को कड़ी फटकार भी लगाता रहा है। पूर्व सोवियत संघ ने भारत के परमाणु परीक्षण के समय भी भारत का खुलकर विरोध नहीं किया था। अफगानिस्तान में भारत की भूमिका पर भी वह भारत के ही साथ रहा है। आज अगर रूस यूक्रेन को कमजोर कर रहा है और उसकी सेना की कमर को ध्वस्त कर रहा है तो फिर परोक्ष रूप से पाकिस्तान की ताकत को भी कमजोर कर रहा है। वैसे भी पाकिस्तान की हालत बहुत दयनीय हो चुकी है और वह बहुत दबाव में है तथा खिसियाहट में वह भी कोई बड़ी गलती करने का दुस्साहस कर सकता है ।
उन सभी लोगों को जो लोग आज यह कह रहे हैं कि भारत को यूक्रेन का समर्थन करना चाहिए अगर कल को भारत की ओर से पाकिस्तान की धरती पर चल रहे भारत विरोधी आतंकी ठिकानों पर कार्यवाही करनी पड़ जाये तब यह सभी देश क्या करेंगे? अभी भारत को पाक अधिकृत कश्मीर भी आजाद कराना है जबकि पाकिस्तान कश्मीर का राग अलाप रहा है और चीन की नजर अरूणांचल व लददाख में लगी हुयी है तथा वह कई बार सीमा का उल्लघन भी कर चुका है यह तो बहुत अच्छा है कि इस समय एक देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक मजबूत सरकार चल रही है और देशहित में बड़े फैसले कर रही है।

रूस- यूक्रेन विवाद के बीच एक बड़ी खबर यह भी आ गयी कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने रूस की निंदा वाले प्रस्ताव से एक बार फिर दूरी बनाकर सभी को चौका दिया है । यह प्रस्ताव रूस की सैन्य कार्रवाइयों में मानवाधिकार उल्लंघन के संबंध में लाया गया था। यहां पर 32 सदस्यों ने रूस के निंदा प्रस्ताव का समर्थन किया और भारत सहित 13 देशों ने हिस्सा नहीं लिया। वहीं दो देषों ने प्रस्ताव के खिलाफ वोट किया। इसी के साथ मानवाधिकार उल्लंघन की जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच आयोग के गठन पर मुहर लग गयी। यूक्रेन पर हमले के बाद संयुक्त राष्ट्र के अलग अलग निकाय रूस के खिलाफ निंदा प्रस्ताव ला चुके हैं।
जबकि वास्तविकता यह है कि मानवाधिकार परिषद कई मामलों में चुप्पी साध जाती है। यह वही मानवाधिकर परिषद है जिसमें आज तक कश्मीर में आतंकवाद पर चर्चा नहीं की गयी और नहीं कश्मीर पंडितो पर हुए अत्याचारों की जांच के लिए कभी कोई किसी प्रकार की पहल की गयी। हां, अगर भारत में किसी अल्पसंख्यक पर कोई आंच आती है तो यह सदस्य सक्रिय हो जाते हैं। मानवाधिकार परिषद ने आज तक पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में वहां की सेना जो अत्याचार कर रही है और पाकिस्तान व बांग्लादेश में जिस प्रकार से अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहे हैं तथा उनके मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है उस पर यह सभी संस्थायें मौन हो जाती हैं।
यही कारण है कि आज भारत रूस- यूक्रेन संकट पर तटस्थ रणनीति अपना रहा है और यह अब तक कि सबसे सफल रणनीति मानी जायेगी वर्तमान समय में अंतरराष्ट्रीय मंचों पर बहुत मजबूत स्थिति में खड़ा है जबकि चीन और पाकिस्तान सहित भारत विरोधी एजेंडा चलाने वाले लोग हैरान और परेशान है। यही कारण है कि आज भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विश्वगुरु बनने की ओर अग्रसर है।

स्मार्टफोन-लावा एक्स 2 के लॉन्च होने की घोषणा

स्मार्टफोन-लावा एक्स 2 के लॉन्च होने की घोषणा    

अकांशु उपाध्याय      

नई दिल्ली। भारतीय मोबाइल फोन कंपनी लावा इंटरनेशनल लिमिटेड ने भारत में अपनी नई एक्स के तहत ऑनलाइन एक्सक्लुज़िव स्मार्टफोन-लावा एक्स 2 के लॉन्च होने की घोषणा की है। यह एमज़ॉन स्पेशल मॉडल उपभोक्ताओं के खरीददारी के व्यवहार को ध्यान में रखते हुए लॉन्च किया गया है, जो तेज़ी से ई-कॉमर्स की ओर रूख कर रहे हैं। लावा एक्स2 पहला भारतीय स्मार्टफोन है जो मात्र रु 6599 की कीमत पर मीडिया टेक ऑक्टा कोर प्रोसेसर के साथ आता है। वर्तमान में यह स्मार्टफोन रु 6599 की डिस्काउन्टेड कीमत पर एमज़ॉन पर प्री-बुकिंग के लिए उपलब्ध है। लावा एक्स2 बड़े 6.5’’ एचडी+ आईपीएस नॉच डिस्प्ले, 20:9 आस्पेक्ट रेशो के साथ आता है जो यूज़र को शानदार व्यूइंग और बेहतरीन साउण्ड का बेजोड़ अनुभव प्रदान करता है।

उपभोक्ता नॉन-स्टॉप एंटरटेनमेन्ट का लुत्फ़ उठा सकें, इसे लिए यह स्मार्टफोन 5000 एमएएच की बड़ी बैटरी के साथ आता है। लावा एक्स2 मीडिया टेक हेलियो ऑक्टा कोर प्रोसेसर, 2 जीबी रैम और 32 जीबी स्टोरेज के साथ शानदार परफोर्मेन्स देता है। लावा एक्स2 उन लोगों को भी खूब लुभाएगा जो फोटोग्राफी के शौकीन हैं। क्योंकि इतने कम बजट में भी इसका 8 एमपी ड्यूल रियर कैमरा और 5 एमपी सेल्फी कैमरा बेहतरीन तस्वीरें लेते हैं।

ब्रह्मोस मिसाइल के एडवांस वर्जन का सफल परीक्षण

ब्रह्मोस मिसाइल के एडवांस वर्जन का सफल परीक्षण   

अकांशु उपाध्याय     

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना ने ब्रह्मोस मिसाइल के एडवांस वर्जन का सफल परीक्षण किया है। परीक्षण के दौरान मिसाइल ने सटीक निशाने पर हमला करने में सफलता हासिल की है। बता दें कि यह ब्रह्मोस मिसाइल का एक एडवांस वर्जन है। इसमें कई अपडेशन किए गए हैं। अपडेशन के बाद इसकी मारक क्षमता और ज्यादा बढ़ गई है। भारत के इस सफल परीक्षण को आत्मनिर्भर भारत मिशन की सफलता के लिए मील का पत्थर माना जा रहा है।

बता दें कि ब्रह्मोस मिसाइल का समुद्री वैरिएंट्स आईएनसी विशाखापत्तनम के मिलकर दुश्मन की नींद हराम कर देगा। समुद्र से दागने के लिए ब्रह्मोस मिसाइल के चार वैरिएंट्स हैं। पहला- युद्धपोत से दागा जाने वाला एंटी-शिप वैरिएंट, दूसरा युद्धपोत से दागा जाने वाला लैंड-अटैक वैरिएंट। ये दोनों ही वैरिएंट भारतीय नौसेना में पहले से ऑपरेशनल हैं। तीसरा- पनडुब्बी से दागा जाने वाला एंटी-शिप वैरिएंट और चौथा- पनडुब्बी से दागा जाने वाला लैंड-अटैक वैरिएंट।

हादसा: खाई में गिरा वाहन, 5 की मौंत, 1 घायल

हादसा: खाई में गिरा वाहन, 5 की मौंत, 1 घायल    

इकबाल अंसारी     

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के सांबा जिले से दर्दनाक खबर आ रही है। दरअसल यहां शनिवार सुबह भीषण सड़क दुर्घटना हो गई। हादसे में पांच लोगों के मारे जाने की खबर है और एक गंभीर रूप से घायल हो गया। सांबा के थाना प्रभारी ने बताया कि, सांबा जिले के मानसर क्षेत्र में शनिवार की सुबह-सुबह हुए सड़क हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई और एक घायल हो गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, एक वाहन सांबा से श्रीनगर जा रही थी। इसी दौरान सांबा के पास गहरी खाई में गिर गई।

बताया जा रहा है कि गाड़ी में छह यात्री सवार थे। जिनमें से पांच यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक गंभीर रूप से घायल हो गया। अधिकारियों ने बताया कि मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया गया है और घायल को पुलिस ने इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। फिलहाल सभी की पहचान करने की कोशिश की जा रही है ताकि उनके परिजनों को हादसे की सूचना दी जा सके।

चुनाव: काशी के करिश्मे पर टिकी भाजपा की उम्मीदें

चुनाव: काशी के करिश्मे पर टिकी भाजपा की उम्मीदें  

संदीप मिश्र     
लखनऊ। चुनावी चक्रव्यूह का अंतिम द्वार भेदने को भाजपा की उम्मीदें, पूरी तरह काशी के करिश्मे पर टिकी हैं। पार्टी काशी को लखनऊ का प्रवेश द्वार बनाने को पूरी ताकत से जुट गई है। अंतिम चरण में 54 सीटों पर होने वाले सियासी संग्राम में चुनावी हवा को भाजपा के पक्ष में मोड़ने का जिम्मा फिर ब्रांड मोदी के कंधों पर है।प्रधानमंत्री मोदी इस मिशन-54 के लिए काशी में 54 घंटे डेरा डालने को गुरुवार को ही पहुंच गए थे। अंतिम चरण के लिए काशी ही पार्टी का वार रूम बना हुआ है। यूपी के सत्ता संग्राम में इस बार कई नए रंग देखने को मिले हैं। मतदाताओं के रहस्यमय रुख से किसी के पक्ष में इकतरफा बयार बहने की स्थिति तो अभी नहीं दिखी है। हालांकि भाजपा ने इस बार भी 300 पार का ही नारा बुलंद किया है। वर्ष 2014, 2017 और 2019 में भाजपा की जीत का सेहरा पीएम मोदी के ही सिर बंधा था। मिशन-2022 को पूरा करने के लिए भी प्रधानमंत्री अब तक छह चरणों में हर इलाके में चुनावी रैलियां कर चुके हैं। इस बार सात चरणों के चुनावी चक्रव्यूह को पार करने की कवायद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ हैं।भाजपा ने चुनाव पूर्व ही काशी मॉडल को बेहद शानदार ढंग से पेश किया था। इसे अयोध्या के बाद काशी, मथुरा के एजेंडे पर पार्टी के आगे बढ़ने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम माना गया। दिव्य काशी-भव्य काशी का जलवा देश-दुनिया को दिखाया गया। अब पूर्व की भांति एक बार फिर पीएम मोदी काशी के मोर्चे पर आ डटे हैं। पिछले चुनावों में उनका यह प्रयोग काफी प्रभावी सिद्ध होता रहा है। भाजपा को मुफ्त राशन की डबल डोज के चुनावी असर की पूरी आस है। पीएम हर सभा में इसका जिक्र जोर-शोर से करते रहे हैं। दूसरी ओर सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के सहारे हिन्दुत्व के एजेंडे को भी धार दी जा रही है। इस मुहिम में भाजपा ही नहीं आरएसएस भी सक्रियता से मोर्चा संभाले है।

पीएम मोदी अंतिम चरण में शामिल जिलों में से चार जनपदों में चुनावी रैलियां कर चुके हैं। इनमें गाजीपुर, सोनभद्र, चंदौली और जौनपुर शामिल हैं। इसके अलावा अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में उनकी मौजूदगी विभिन्न आयोजनों के बहाने लगातार बनी हुई है। हाल ही में उन्होंने बूथ से जुड़े हजारों पदाधिकारियों के बीच पहुंच कर सीधा संवाद किया था। भाजपा ने प्रमुख विपक्षी सपा गठबंधन के कई जातीय क्षत्रपों को उन्हीं के गढ़ में घेरने को मजबूत किलेबंदी की है। यही कारण है कि छठे चरण के चुनाव में पडरौना से फाजिलनगर सीट पर पहुंचे स्वामी प्रसाद मौर्य को अंत तक एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा। ओपी राजभर को जहूराबाद सीट पर घेरने को भी पार्टी ने उनके पुराने प्रतिद्वंदी पर ही दांव लगाया है। इसी तरह मऊ सदर सीट पर मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास के खिलाफ भी कड़ी मोर्चाबंदी की गई है। वहीं भाजपा के अपने सहयोगियों निषाद पार्टी और अपना दल सोनेलाल की चुनावी दोस्ती का असल इम्तिहान भी इस चरण में है।

अभिनेत्री ने यूक्रेन में शूटिंग का एक्सपीरियंस बताया

अभिनेत्री ने यूक्रेन में शूटिंग का एक्सपीरियंस बताया   

कविता गर्ग      
मुंंबई। ग्लैमर गर्ल उर्वशी रौतेला यूक्रेन और रूस के बीच जंग शुरू होने से पहले यूक्रेन में शूटिंग कर रही थीं। यूक्रेन के कीव और  में उर्वशी अपकमिंग तमिल फिल्म की शूटिंग कर रही थीं। गनीमत रही कि 21 फरवरी को रूस के जंग का ऐलान करने से 2 दिन पहले उर्वशी रौतेला भारत लौट आई थीं। एक इंटरव्यू में एक्ट्रेस ने तनाव के बीच यूक्रेन में शूटिंग करने का एक्सपीरियंस बताया।
उर्वशी रौतेला ने कहा- जब हम शूट कर रहे थे तब भी दोनों देशों के बीच काफी तनाव चल रहा था। लेकिन हमने एक बार में एक दिन लिया। जब मैंने यूक्रेन में लैंड किया, मेरा भाई मेरे लिए काफी डरा हुआ था। मेरे पिता भी यूक्रेन काम के लिए गए थे। हालांकि मैं डरी हुई थी लेकिन क्योंकि मेरे पिता भी वहां थे तो मुझे सिक्योर फील हो रहा था।
रूस और यूक्रेन के बीच बढ़ते टेंशन की वजह से उर्वशी  को शूटिंग रोकनी पड़ी थी। सभी क्रू को वापस घर जाना पड़ा था। एक्ट्रेस ने कहा- हम यूक्रेन के प्रधानमंत्री  से मिलने वाले थे। लेकिन रूस के साथ चल रहे तनाव की वजह से हमें ये प्लान कैंसिल करना पड़ा था। मैं यूक्रेनियन म्यूजिशियन  के साथ म्यूजिक कोलैबोरेशन भी करने वाली थी।
उर्वशी रौतेला ने यूक्रेन के लोगों के लिए चिंता भी जताई है। वे कहती हैं- ये बहुत भयानक है। मेरे फ्रेंडस और फैमिली वहां रहते हैं। मैं लगातार उनके संपर्क में हूं। मां अपने बच्चों को इसलिए जन्म नहीं देती कि वे जंग में शहीद हो जाए। जंग किसी बात का हल नहीं है। इससे बुरा कुछ नहीं हो सकता। जब मैं उन परिवारों के बारे में सोचती हूं जिन्हें इस भयावह मंजर से गुजरना पड़ रहा है तो मैं वॉर की व्यर्थता के बारे में सोचना बंद नहीं कर पाती।

टीवी इंडस्ट्री के सबसे महंगे कलाकार, जानिए नाम

टीवी इंडस्ट्री के सबसे महंगे कलाकार, जानिए नाम     

कविता गर्ग       

मुंंबई। बॉलीवुड हमारे टीवी इंडस्ट्री में कई ऐसे सितारे है। जिन्होंने अपनी मेहनत और काबिलियत के दमपर इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाये है और ये सितारे आज के समय में लोगो के दिलो पर राज करते है और पॉपुलैरिटी के मामलेतो ये बॉलीवुड इंडस्ट्री के सितारों को भी पीछे छोड़ चुके है। बता दे इन सितारों की लोकप्रियता जितनी अधिक है, उतनी ही अधिक इनकी फीस भी है और ये टीवी शो के एक एपिसोड करने के लिए मेकर्स से तगड़ी फीसवसूलते है और टीवी के सबसे महंगे कलाकारों की लिस्ट में शुमार हो चुके है तो आइये जानते है, इस लिस्ट में कौन-कौन से नाम शामिल है।

इस लिस्ट में पहला नाम शामिल है कपिल शर्मा का जो की हमारे देश के नंबर वन कोमेडिया है और ये टीवी के सबसे महंगे स्टार्स में से के है वही बात करें इनकी फीस की तो कपिल शर्मा एक एपिसोड के लिए 60 से 80 लाख रुपये तक की फीस चार्ज करते है। टीवी और बॉलीवुड इंडस्ट्री के जाने माने अभिनेता सुनील ग्रोवर का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है और सुनील ग्रोवर टीवी के आल राउंडर एक्टर्स में से एक है और ये टीवी शो के एक एपिसोड के लिए करीब 10 से 12 लाख रुपये की फीस चार्ज करते है|

हिना खान

टीवी इंडस्ट्री की सबसे मशहूर और खुबसूरत एक्ट्रेस हिना खान का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है और आज के समय में हिना टीवी की सबसे महंगी एक्ट्रेस के लिस्ट में शामिल हो चुकी है और ये आज के टाइम में एक एपिसोड के लिए हिना खान 2 से 3 लाख रुपये तक की। टीवीइंडस्ट्री के जाने माने अभिनेता राम कपूर की बात करें तो राम कपूर आज के समय में टीवी के एक बड़े सुपरस्टार बन चुके है और ये एक एपिसोड के लिए करीब 1 से 1.5 लाख रुपये तक की फीस चार्ज करते है

दिव्यांका त्रिपाठी

टीवी इंडस्ट्री की सबसे खुबसूरत और टैलेंटेड एक्ट्रेस दिव्यांका त्रिपाठी आज के समय में टीवी की टॉप एक्ट्रेस के लिस्ट में शामिल हो चुकी है और इन्होने टीवी के कई सुपरहिट शोज में काम किया है और वही बात करें दिव्यांका के फीस की तो दिव्यांका त्रिपाठी आज के समय में एक एपिसोड के लिए करीब 1 से 1.5 लाख रुपये की फीस चार्ज करती है। मिशाल रहेजा जो की टीवी इंडस्ट्री के एक जाने माने एक्टर है औरमिशाल हर एक एपिसोड के लिएकरीब 1.5 लाख रुपयेतक की फीस चार्ज करते है।

रोनित रॉय

टीवी के मशहूर अभिनेता रोनित रॉय का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है और रोनित आज के समय में एक एपिसोड के लिए करीब 1.25 लाख रुपये की फीस चार्ज करते है। टीवी एक्ट्रेस साक्षी तंवर की बात करे तो साक्षी आज के समय में एक एपिसोड के लिए लिए 1.25 लाखरुपये तक की फीस चार्ज करती है।

टीवी एक्टर करण पटेल का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है और करणआज के समय में एक एपिसोड के लिए करीब 1 लाख रुपये तक की फीस चार्ज करते है|

जेनिफर विंगेट

टीवी एक्ट्रेस जेनिफ़र विंगेट भी आज के समय की एकबेहद पोपुलर एक्ट्रेस है और जेनिफ़र मौजूदा समय में हर एक एपिसोड के लिए करीब 80 से 85 हजार रुपये तक की फीस चार्ज करती है।

ऑलराउंडर जडेजा ने खास रिकॉर्ड अपने नाम किया

ऑलराउंडर जडेजा ने खास रिकॉर्ड अपने नाम किया   

मोमीन मलिक       

नई दिल्ली/कोलंबो। रवींद्र जडेजा ने एक और बड़ा कारनामा किया है। भारत और श्रीलंका के बीच मोहाली में खेल जा रहे पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन शनिवार को स्टार ऑलराउंडर जडेजा ने खास रिकॉर्ड अपने नाम किया है। मैच के दूसरे दिन वे लंच तक 102 रन बनाकर खेल रहे हैं। यह उनके टेस्ट करियर का दूसरा शतक है। उनके इंटरनेशनल करियर में 5,034 रन हो गए हैं। वे भारत की तरफ से इंटरनेशनल क्रिकेट में 5 हजार रन और 400 विकेट लेने वाले सिर्फ दूसरे क्रिकेटर हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड सिर्फ पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव के नाम था। लंच तक भारत ने 7 विकेट पर 468 रन बना लिए हैं।

पूर्व कप्तान कपिल देव ने भारत के लिए 356 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 9,031 रन निकले। इसके अलावा कपिल ने 687 विकेट भी झटके। नाबाद 175 रन की सबसे बड़ी पारी भी खेली। वहीं, रवींद्र जडेजा मोहाली में अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर का 284वां मैच खेल रहे हैं। उन्होंने अपनी शतकीय पारी के दौरान इंटरनेशनल क्रिकेट में 5 हजार रन भी पूरे किए। इसके अलावा जडेजा क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में 468 विकेट भी ले चुके हैं। वे चोट से वापसी कर रहे हैं। लेकिन अब तक कमाल का प्रदर्शन किया है। इससे पहले टी-20 सीरीज में भी उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था।

अभिनेता वरूण ने सारा के साथ तस्वीर शेयर की

अभिनेता वरूण ने सारा के साथ तस्वीर शेयर की    

कविता गर्ग             

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता वरूण धवन ने सारा अली खान के साथ थ्रोबैक तस्वीर शेयर की है। वरुण धवन ने सारा अली खान के साथ कुली नंबर वन की शूटिंग के समय की एक तस्वीर शेयर की है। इस तस्वीर में वरूण को लड़की के अवतार में देखा जा सकता है। वरुण धवन ने फोटो शेयर करते हुए लिखा है, यदि मैं सच बात कहूं मुझे लड़की की तरह नजर आना था और सारा अली खान बहुत उत्साहित थी।

वरुण की पोस्ट पर बॉलीवुड के कई कलाकारों ने इमोजी शेयर की है। वहीं सारा अली खान ने लिखा है, यह करने में काफी मजा आया था। वरुण धवन जल्द फिल्म जुग जुग जियो में नजर आएंगे। इस फिल्म में उनके अलावा नीतू कपूर, अनिल कपूर और कियारा आडवाणी की अहम भूमिका होगी। सारा अली खान जल्द विकी कौशल के साथ एक फिल्म में नजर आएंगी।

पाकिस्तानी ड्रोन दिखाई देने पर गोलीबारी: बीएसएफ

पाकिस्तानी ड्रोन दिखाई देने पर गोलीबारी: बीएसएफ   

इकबाल अंसारी      

श्रीनगर। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने यहां अंतरराष्ट्रीय सीमा पर शनिवार को संदिग्ध पाकिस्तानी ड्रोन दिखाई देने पर उस पर गोलीबारी की। अधिकारियों ने बताया कि यह सुनिश्चित करने के लिए सघन तलाश अभियान चलाया गया कि कहीं ड्रोन से हथियार अथवा मादक पदार्थ तो नहीं गिराए गए। बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने कहा कि बल के जवानों ने उड़ने वाली संदिग्ध वस्तु पर उस समय गोलीबारी की जब वह अरनिया के नागरिक इलाके में सुबह करीब चार बजकर 10 मिनट पर दाखिल हुआ।

प्रवक्ता ने कहा,”अरनिया के इलाके में बीएसएफ के जवानों ने सुबह 4:10 बजे एक संदिग्ध ड्रोन की आवाज सुनी। सैनिकों ने आवाज की दिशा में गोलियां चलाई।” उन्होंने बताया कि पुलिस की मदद से इलाके की घेराबंदी की गई और तलाश अभियान चलाया गया। अधिकारियों ने कहा कि बीएसएफ के जवानों ने ड्रोन देखने के 10 मिनट के भीतर करीब 18 गोलियां चलाईं।

अगले सप्ताह पोलैंड व रोमानिया जाएंगी उपराष्ट्रपति

अगले सप्ताह पोलैंड व रोमानिया जाएंगी उपराष्ट्रपति   

सुनील श्रीवास्तव     .          

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस यूक्रेन पर रूसी आक्रमण के खिलाफ अपने यूरोपीय सहयोगियों को एकजुट करने के लिए अगले सप्ताह पोलैंड और रोमानिया जाएंगी। कमला हैरिस की उप प्रेस सचिव सबरीना सिंह ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। सिंह ने कहा कि उपराष्ट्रपति की यह यात्रा नाटो गठबंधन की ताकत और एकता को प्रदर्शित करेगी साथ ही रूसी आक्रमण के मद्देनजर नाटो (उत्तर अटलांटिक संधि संगठन) के पूर्वी सहयोगियों के लिए अमेरिकी समर्थन दिखाएगी।

यह दौरा यूक्रेन के लोगों का समर्थन करने के हमारे सामूहिक प्रयासों को भी उजागर करेगा।” अमेरिकी उपराष्ट्रपति 9-11 मार्च के बीच पोलैंड के वारसॉ और रोमानिया के बुखारेस्ट जाएंगी। सिंह ने कहा, ”पोलैंड और रोमानिया के नेताओं के साथ अपनी बैठकों के दौरान, उपराष्ट्रपति रूस के यूक्रेन पर अकारण और अनुचित आक्रमण के मद्देनजर अमेरिका और दोनों यूरोपीय देशों के बीच निकट सहयोग एवं समन्वय को आगे बढ़ाएंगी।

चीन ने अपने रक्षा बजट में 7.1 प्रतिशत की वृद्धि की

चीन ने अपने रक्षा बजट में 7.1 प्रतिशत की वृद्धि की   

अखिलेश पांडेय      

बीजिंग। चीन ने शनिवार को अपने रक्षा बजट में 7.1 प्रतिशत की वृद्धि कर 230 अरब डॉलर करने का प्रस्ताव किया है। जो पिछले साल के 209 अरब डॉलर के मुकाबले 21 अरब डॉलर अधिक है। सरकारी अखबार ‘चाइना डेली’ ने प्रधानमंत्री ली केकियांग द्वारा नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) में शनिवार को पेश मसौदा बजट के हवाले से बताया कि चीन की सरकार ने वित्त वर्ष 2022 के लिए 1.45 खरब (ट्रिलियन) युआन के रक्षा बजट का प्रस्ताव किया है, जो पिछले साल के मुकाबले 7.1 प्रतिशत अधिक है।

इस वृद्धि के साथ चीन का रक्षा बजट भारत के रक्षा बजट (लगभग 70 अरब डॉलर) के मुकाबले तीन गुना हो गया है। पिछले साल चीन का रक्षा बजट 200 अरब डॉलर के पार गया था। चीन ने वित्त वर्ष 2021 में अपने रक्षा बजट में 6.8 प्रतिशत की वृद्धि की थी जिससे उसका कुल रक्षा बजट 209 अरब डॉलर हो गया था।चीनी प्रधानमंत्री ने संसद में पेश कार्य रिपोर्ट में ”पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की युद्ध तैयारी को वृहद तरीके से मजबूत’ करने पर जोर दिया। चीन द्वारा रक्षा बजट में वृद्धि का प्रस्ताव भारत के साथ पूर्वी लद्दाख में गतिरोध और अमेरिका के साथ बढ़ते राजनीतिक और सैन्य तनाव के बीच आया है। चीन रक्षा बजट पर खर्च करने के मामले में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है।

करोड़ों का भुगतान, संहिता का उल्लंघन नहीं ठहराया

करोड़ों का भुगतान, संहिता का उल्लंघन नहीं ठहराया   

अकांशु उपाध्याय    

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने शनिवार को कहा कि मणिपुर विधानसभा चुनाव से ठीक पहले राज्य सरकार द्वारा ‘प्रतिबंधित चरमपंथी संगठनों को करोड़ों रुपये का भुगतान किए जाने’ को निर्वाचन आयोग ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं ठहराया है और ऐसे में अब वह उच्चतम न्यायालय का रुख करेंगे। मणिपुर के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ पर्यवेक्षक रमेश ने ट्वीट किया, ”निर्वाचन आयोग ने गत एक फरवरी और एक मार्च को मणिपुर सरकार की ओर से प्रतिबंधित चरमपंथी संगठनों को किए गए भुगतान को आश्चर्यजनक ढंग से आचार संहिता का उल्लंघन नहीं ठहराया है।

मैं उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर कर रहा हूं। उन्होंने दावा किया कि लंबे अंतराल के बाद चुनाव के समय भुगतान किया गया और इससे राज्य की 11 विधानसभा सीटों पर चुनाव को प्रभावित किया गया है। कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को आयोग के पास इस मुद्दे और कुछ अन्य विषयों को लेकर शिकायत की थी। इस प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश और सलमान खुर्शीद शामिल थे। आयोग के समक्ष अपना पक्ष रखने के बाद रमेश ने कहा था कि ‘सस्पेंशन ऑफ ऑपरेशन’ (गतिविधि के निलंबन) के तहत गत एक फरवरी को चरमपंथी संगठनों को लगभग 15 करोड़ रुपये और एक मार्च को लगभग 95 लाख रुपये का भुगतान किया गया जो आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन है। मणिपुर विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान 28 फरवरी को हुआ था। दूसरे एवं आखिरी चरण का मतदान शनिवार को हो रहा है।

11.40 प्रतिशत लोगों ने 'मताधिकार' का प्रयोग किया

11.40 प्रतिशत लोगों ने 'मताधिकार' का प्रयोग किया   

इकबाल अंसारी    
इम्फाल। मणिपुर में विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण के लिए शनिवार सुबह 22 सीटों के लिए सात बजे मतदान शुरू हुआ और यहां नौ बजे तक 11.40 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। कड़ी सुरक्षा और कोविड-19 प्रोटोकॉल के सख्त पालन के बीच राज्य के छह जिलों के 1,247 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ।
इस चरण में कुल 8.38 लाख मतदाता हैं। चुनाव अधिकारियों ने बताया कि अब तक कहीं से किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना की कोई सूचना नहीं है। शुरुआती मतदाताओं में कांग्रेस नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री ओ इबोबी सिंह ने थौबल जिले में अपना वोट डाला। मतदान करने के बाद इबोबी सिंह ने कहा कि, कांग्रेस निश्चित रूप से पूर्ण बहुमत के साथ जीत हासिल करेगी, लेकिन अगर हमें बहुमत के लिए आवश्यक सीटों से एक या दो सीटें कम मिलती हैं, तो पार्टी गठबंधन के लिए तैयार है।

ग्रीन कॉरिडोर बनाने के लिए 'सीजफायर' का ऐलान

ग्रीन कॉरिडोर बनाने के लिए 'सीजफायर' का ऐलान   

अखिलेश पांडेय    

नई दिल्ली/ मास्को। रूस ने सीजफायर का ऐलान कर दिया है और भारतीय समय के अनुसार, सुबह 12:30 बजे से सीजफायर लागू किया। यूक्रेन में मारियुपोल और वोल्नोवाखा में सीजफायर लागू किया। ग्रीन कॉरिडोर बनाने के लिए सीजफायर का ऐलान हुआ है। यूक्रेन के सूमी में जबरदस्त बमबारी शुरू हो गई है। पूरे शहर से धमाकों की आवाज सुनाई पड़ रही है। वही, लगातार लोगों से सुरक्षित जगह पहुंचने को कहा जा रहा है। शहर के लोग दहशत में हैं। 

बता दें, सूमी में इस वक्त बड़ी संख्या में भारतीय छात्र मौजूद हैं। सूमी में फंसे छात्रों ने कहा- अभी तक एंबेसी हम तक नहीं पहुंची सकी है। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन त्रूदो रूस के खिलाफ नए प्रतिबंधों का समन्वय करने और यूक्रेन के लिए समर्थन दिखाने के लिए मार्च 6-11 से यूरोप का दौरा करेंगे। ट्रूडो यूनाइटेड किंगडम, लातविया, जर्मनी और पोलैंड की यात्रा करेंगे, जिसकी घोषणा 4 मार्च को प्रधानमंत्री कार्यालय ने की थी।

बीएसएनएल ने यूजर्स के लिए नया प्लान लॉन्च किया

बीएसएनएल ने यूजर्स के लिए नया प्लान लॉन्च किया   

अकांशु उपाध्याय     

नई दिल्ली। अगर आप भी भारतीय संचार निगम लिमिटेड यानी बीएसएनएल के यूजर है तो यह खबर आपको खुश कर देगी। क्योंकि, बीएसएनएल ने एक ऐसा प्लान लॉन्च किया है। जिसके आगे जियो-एयरटेल का प्लान फीका पड़ गया हैं। बीएसएनएल अपने प्रीपेड प्लान के साथ यूजर्स को एक खास ऑफर दे रहा है, जो 31 मार्च, 2022 को खत्म हो जाएगा। हम जिस प्लान्स के बारे में बात कर रहे हैं, वे 2,999 रुपये और 2,399 रुपये में आते हैं। चलिए जानते हैं आपको कैसे फायदा होगा। बता दे कि 2,999 रुपये के प्रीपेड प्लान को 90 दिन की एडिशनल वैलिडिटी के साथ पेश कर रहा है। यूजर को प्रीपेड प्लान के साथ लगभग तीन महीने की मुफ्त सेवा प्रदान की जाएगी, यदि वह 31 मार्च, 2022 से पहले रिचार्ज करते हैं। आमतौर पर, यह प्लान 365 दिन की वैलिडिटी प्रदान करता है। लेकिन 90 दिन की एडिशनल सर्विस के साथ, उपयोगकर्ताओं को 455 दिन की वैलिडिटी मिलेगी। इसके अलावा, 3जीबी डेली डेटा, अनलिमिटेड वॉयस कॉल और डेली 100 एसएमएस मिलते हैं।

2399 रुपये का प्रीपेड प्लान भी 365 दिनों की वैलिडिटी के साथ आता है। हालांकि, 31 मार्च, 2022 तक स्पेशल ऑफर के तहत यूजर्स को इस प्लान के साथ 60 दिनों की एक्स्ट्रा सर्विस मिलेगी। प्लान में कुल वैलिडिटी 425 दिनों की होगी। इस प्लान के साथ यूजर्स को डेली 2जीबी डेटा, डेली 100 एसएमएस और अनलिमिटेड कॉल की सुविधा मिलती है।

629 भारतीयों को लेकर हवाई अड्डे पर उतरे विमान

629 भारतीयों को लेकर हवाई अड्डे पर उतरे विमान   

अकांशु उपाध्याय        

नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना के तीन सी-17 परिवहन विमान शनिवार सुबह यूक्रेन-रोमानिया, स्लोवाकिया और पोलैंड से 629 भारतीय नागरिकों को लेकर हिंडन हवाई अड्डे पर उतरे। आईएएफ ने कहा इन उड़ानों से भारत ने 16.5 टन राहत सामग्री को इन देशों तक पहुंचायी।आईएएफ ने कहा ऑपरेशन गंगा के तहत भारतीय वायुसेना ने अब तक 2056 यात्रियों को वापस लाने के लिए 10 उड़ानें भरी हैं। जबकि युद्धग्रस्त यूक्रेन के लिए 26 टन राहत वहां पहुंचायी। ऑपरेशन गंगा के तहत अब तक यूक्रेन से 11500 भारतीय नागरिकों को निकाला जा चुका है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-148, (वर्ष-05)
2. रविवार, मार्च 6, 2022
3. शक-1984, फाल्गुन, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 15 डी.सै., अधिकतम-27+ डी सै.। बर्फबारी, उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...