शनिवार, 19 जून 2021

मौत का भंवर 'संपादकीय'

मौत का भंवर     'संपादकीय'   
दुनिया के सभी राष्ट्रों में दूरदराज व दुर्गम स्थानों पर निवास करने वाला प्रत्येक व्यक्ति कोविड-19 कोरोना वायरस से पूरी तरह परिचित हो गया है। बल्कि यूं कहिए कि कई देशों में तो वायरस ने 'मौत' का कहर ढ़हाने का काम किया है। महामारी से पूरी दुनिया विचलित भी है और पीड़ित भी है। यदि समय रहते टीकाकरण किया गया तो काफी लोगों को बचाया जा सकता है। लेकिन कई राष्ट्रों में टीकाकरण की लचर व्यवस्था के कारण परिणाम को प्राप्त करना दुर्लभ है। जिसमें भारत को विशेष स्थान पर रखा जाए तो किसी प्रकार की कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।
विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रतिदिन नई-नई चेतावनी, जानकारी व योजनाओं के विवरण बताता रहता है। लेकिन भारत में इस पर ध्यान कम दिया जाता है। केवल विकसित राष्ट्रों की कार्यशैली की असली नकल करने का प्रयास किया जाता है। सरकार के द्वारा जारी मौतों के प्रमाणित आंकड़े और जमीनी हकीकत में एक बड़े अनुपात का अंतर है। पक्ष-विपक्ष एक दूसरे पर मौतों के आंकड़ों की धांधली के आरोप भी लगा रहे हैं। इससे केवल यह सिद्ध होता है कि राजनीतिक गलियारे में चमक बनी रहे। परंतु इस प्रकार जनता को भ्रमित करने के पीछे सरकार की क्या मंशा है ? झूठ की बैसाखी के सहारे साख को नहीं बचाया जा सकता है। 
दुनिया भर के वैज्ञानिकों के कयासों के हिसाब से तीसरी लहर भी दूसरी लहर की तरह प्रभावशाली हो सकती है। यदि इन दावों पर विश्वास कर लिया जाए तो भारत की निम्न आय वाला वर्ग, जो लोग डिजिटलाइजेशन की मुख्यधारा से पीछे छूट गए हैं। ऐसे वर्ग अथवा समुदाय को तीसरी लहर सर्वाधिक प्रभावित करेगी। आएंं दिन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महामारी को लेकर संदेश जारी करते रहते हैं। ज्यादातर अखबार और टीवी चैनलों पर ऐसे संदेश आसानी से मिल जाएंगे। महामारी से 'स्वयं को रक्षित करें और दूसरों की सुरक्षा भी निर्धारित करें'। अत्यधिक आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकले। परंतु यदि इसके विपरीत हम विचार करें और वैज्ञानिकों के अनुसार मान लिया जाए कि हवा में ही वायरस है। तब उन्हें घर पर कौन-कैसे बचाएगा ? प्राथमिकता के आधार पर ऐसे वर्ग को टीकाकरण में सम्मलित ना करना सरकार की बड़ी चूक है। 
सक्षम आदमी हजारों रुपए खर्च कर टीका लगवा सकता है। लेकिन अक्षम के लिए तो यह 'मौत के भंवर' के जैसा है। नागरिकों को भी किसी भी व्यवस्था पर पूर्ण रूप से निर्भर नहीं रहना चाहिए। प्रत्येक नागरिक को निर्णायक स्थिति की संरचना का प्रयास करते रहना चाहिए। 
राधेश्याम 'निर्भयपुत्र'

गाजियाबाद में फिर मिलें 2 नए संक्रमित, वायरस

अश्वनी उपाध्याय             

गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अब गाज़ियाबाद समेत पूरे प्रदेश में अपने अंत की ओर जा रही है। गाजियाबाद में केवल 2 नए संक्रमित मिले और अब जनपद में 93 सक्रिय संक्रमित हैं। मेरठ जिले में 16 नए संक्रमित मिले और 10 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। जनपद में एक मरीज की मौत भी दर्ज की गई।  अब यहाँ 195 सक्रिय संक्रमित हैं। गौतमबुद्ध नगर जिले में 8 नए संक्रमित मिले और 26 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। अब यहाँ 133 सक्रिय संक्रमित हैं। बुलंदशहर जिले में 3 नए संक्रमित मिले और 20 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। जनपद में एक मरीज की मौत भी दर्ज की गई। अब यहाँ 89 सक्रिय संक्रमित हैं।

सदस्यों को सेक्रेटरी ने गोपनीयता की शपथ दिलाईं

कौशाम्बी। सिराथू तहसील के ग्रामसभा बरीपुर प्राथमिक विद्यालय में नवनिर्वाचित प्रधान विवेक कुमार मौर्य और सदस्यों को सेक्रेटरी जगजीत ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई है। इस अवसर पर नवनिर्वाचित नवयुवक प्रधान विवेक मौर्य ने अपने ग्राम सभा के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हम अपने गांव का विकास बिना भेदभाव के सबको साथ लेकर चलने का संकल्प लेते हैं। इस समय कोरोना संक्रमण का दौर चल रहा है।गांव में इस महामारी को रोकने के लिए ग्राम प्रधानों की सबसे बड़ी भूमिका है। 
हम सभी ग्रामवासी मिलकर इस महामारी की रोकथाम के लिए पूरा प्रयास करेंगे ताकि हमारी ग्रामसभा कोरोना मुक्त रहे। ग्राम प्रधान पवन मौर्य उर्फ विवेक मौर्य ने कहा कि लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करेंगे प्रधान ने कहा ग्राम समाज का विकास मेरी पहली प्राथमिकता है। ग्रामीणों का विकास और सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता होगी। इस अवसर पर अझुवा चौकी इंचार्ज हरि कुमार सिंह मय हमराही मौजूद रहे।
सन्तलाल मौर्य 

पंचकर्मा वेलनेस सेंटर का उद्घाटन करेंगे सीएम खट्टर

राणा ओबराय           
चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस से एक दिन पूर्व 20 जून को मोरनी हिल्स के पास टिक्करताल क्षेत्र में पैराग्लाइडिंग और ट्रेकिंग जैसी एडवेंचर गतिविधियों का निरीक्षण करेंगे और इनका ट्रायल भी देखेंगे तथा थापली में पंचकर्मा वेलनेस सेंटर का उद्घाटन करेंगे। एक सरकारी प्रवक्ता ने इस संबंध में अधिक जानकारी बताया कि शिवालिक पहाड़ियों के बीच बसे पंचकूला को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है। पंचकूला आसपास के क्षेत्र में ऐसा स्थान होगा। जहां इस तरह के एडवेंचर खेलों की शुरुआत होगी।
प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री 20 जून को एडवेंचर खेलों का निरीक्षण करेंगे। इसके उपरांत वह थापली में पंचकर्मा वेलनेस सेंटर का उद्घाटन करेंगे। तत्पश्चात नक्षत्र वाटिका, राशि वन, सुगंध वाटिका की आधारशिला रखेंगे और नेचर ट्रैक का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री थापली नेचर कैंप से थापली गांव तक छोटे से ट्रैक के लिए बच्चों के एक समूह को झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। प्रवक्ता ने बताया कि राज्य सरकार ने ‘स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन का वास होता है’ के मंत्र पर जोर देते हुए पैराग्लाइडिंग, कयाकिंग, रोलर ज़ोरबिंग, हॉट एयर बैलून, पैरा-सेलिंग, ट्रेकिंग जैसे एडवेंचर खेल शुरू करने का लक्ष्य रखा है। साथ ही, दैनिक तनाव से आगंतुकों के तन और मन को तनाव मुक्त करने के लिए पंचकर्मा वेलनेस सेंटर की शुरुआत की है।

24 घंटे में कोरोना के 294 नए मामलें सामने आएं

हरिओम उपाध्याय           
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में 294 कोरोना के नए केस सामने आए हैं। वहीं, 592 मरीज ठीक होकर घर चले गए हैं। यहां कुल 4 हजार 957 सक्रिय केस हैं। यह जानकारी शनिवार को अपर मुख्य सचिव, सूचना नवनीत सहगल ने दी। उन्होंने बताया कि राज्य में कुल एक्टिव केस 5000 से कम हो गए हैं। 03 हजार 350 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में रिकवरी रेट बढ़कर 98.4 प्रतिशत दर्ज हुई है। उन्होंने बताया कि 24 घंटे में 1 लाख 25 हजार 140 आरटीपीसीआर टेस्ट हुए हैं। वहीं, पॉजिटिविटी रेट 0.1 प्रतिशत दर्ज हुई है। बता दें कि, प्रदेश में साप्तांश लॉकडाउन लगा है। कया लगाए जा रहे हैं कि 21 जून को मॉल, रेस्टोरेंट आदि को लेकर योगी सरकार बड़ा निर्णय ले सकती है। कल 4 लाख 60 हजार लोगों को वैक्सीन लगाई गई। 

दिल्ली: गैस लीक होने पर लगीं आग, 13 लोग झुलसे

अकांशु उपाध्याय         

नई दिल्ली। दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके के एक घर में सिलेंडर से गैस लीक होने पर भीषण आग लग गई। जब तक आग पर काबू पाया जाता। इस हादसे में 13 लोग झुलसे गए। आग में झुलसे 13 लोगों को आननफानन अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है। बता दें कि मंगोलपुरी इलाके के एक घर में शनिवार शाम करीब साढ़े 6 बजे सिलेंडर से गैस लीक होने पर आग लग गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। जिससे इलाके में हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने फौरन पुलिस को फोन कर हादसे की जानकारी दी। सूचना पाकर मंगोलपुरी से पुलिस टीम और 2 फायर टेंडर मौके पर पहुंचे। कुछ ही देर में आग पर काबू पा लिया गया लेकिन तब तक हादसे में 13 लोग झुलस चुके थे।

अनलॉक: लापरवाही हो सकतीं हैं खतरनाक साबित

अकांशु उपाध्याय            

नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को आगाह किया है कि देश भर में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी के मद्देनजर किये जा रहे अनलॉक के दौरान किसी भी तरह की लापरवाही या ढिलायी खतरनाक साबित हो सकती है। इसलिए उचित कोविड व्यवहार के साथ साथ टेस्ट, ट्रेक, उपचार और टीकाकरण की पांच सूत्री रणनीति पूरी तरह अपनाये जाने की सख्त जरूरत है। केन्द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को शनिवार को लिखे पत्र में कहा है कि कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी के मद्देनजर विभिन्न क्षेत्रों को खोला जाना जितना जरूरी है। 

उतना ही जरूरी यह भी है कि इस दौरान पूरी तरह से सावधानी और सतर्कता बरती जाये तथा जमीनी स्थिति के आकलन के आधार पर ही निर्णय लिये जायें। उन्होंने जोर देकर कहा कि अनलाॅक के दौरान पांच सूत्री रणनीति को सख्ती से अपनाये जाने की जरूरत है। इसमें उचित कोविड व्यवहार के साथ साथ कोरोना जांच, संक्रमित व्यक्ति के संपर्कों का पता लगाना, संक्रमितों का उपचार और टीकाकरण जरूरी है।

संतुलन बनाएं रखते हुए प्रदेश अध्यक्षों की घोषणा की

हरिओम उपाध्याय             

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी की ओर से पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में संतुलन बनाए रखते हुए मोर्चा के प्रदेश अध्यक्षों की घोषणा कर दी गई है। गाजियाबाद और मेरठ को पश्चिमी उत्तर प्रदेश से जगह मिली है। जिसके चलते पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हिस्से में दो पद आये है। शनिवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पार्टी के विभिन्न मोर्चों के प्रदेश अध्यक्षों के नामों की घोषणा कर दी है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने फर्रुखाबाद के प्रांशु दत्त द्विवेदी को युवा मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। औरैया की राज्यसभा सांसद गीता शाक्य को महिला मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी गई है। गोरखपुर के कामेश्वर सिंह के कंधों पर किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी डाली गई है।

पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी, त्राहिमाम कर उठे

अकांशु उपाध्याय                   

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर ऑल इंडिया माइनॉरिटी फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सैयद मोहम्मद आसिफ ने कहा है कि तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से खुदरा और थोक महंगाई दर में बेतहाशा बढ़ोतरी हो गई है। कोरोना के कारण लगाये गये लॉकडाउन में बढ़ी कंगाली में पेट्रोल डीजल के दाम में बढ़ोतरी से देश त्राहिमाम त्राहिमामकर उठा है। शनिवार को डॉ आसिफ ने राजधानी में जारी बयान में कहा कि एक तरफ कोरोना महामारी की वजह से लगाये गये लॉकडाउन के कारण लोगों का रोजगार छिन गया है। ऊपर से खाद्य तेल व डीजल पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के कारण लोग महंगाई की मार झेल रहे हैं। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पिछले 4 वर्षों से जब जब डीजल पेट्रोल के दाम में बढ़ोतरी हुई है। 

उन्होंने पेट्रोलियम पदार्थो से होने वाली सरकार की कमाई का खर्च जनकल्याण के ऊपर करने को बताया है। कभी बताया है कि पेट्रोल डीजल से होने वाली आमदनी का खर्च देश की सड़कों के लिए किया जा रहा है। कभी कहा जाता है कि इसकी आमदनी रोजगार सृजन के लिए किए जा रहे उपायों पर खर्च की जा रही हैं। कभी बयान दिया कि इससे होने वाली आमदनी का खर्च केंद्र सरकार रेल हवाई जहाज में सफर करने वालों हवाई अड्डे और रेलवे प्लेटफार्म को आधुनिक बनाने के लिए खर्च किए जा रहे हैं। कभी उनका जवाब होता है कि ठंड के कारण पेट्रोल की कीमत में उछाल आया है। ठंड कम होते ही पेट्रोल के दाम कम हो जाएंगे। कभी कहते हैं कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमत में बढ़ोतरी हुई है। इसलिए तेल की कीमत में बढ़ोतरी हो रही है। 

कभी कहते हैं कि पेट्रोल और डीजल पर बढ़ रही कीमतें कंट्रोल करने का अधिकार केंद्र सरकार को नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार अब बहाने बनाने से बाज आये। बहाने सुन सुनकर लोग उब चुके हैं। जब विपक्षी पार्टियां पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर आवाज उठाते हैं तो धर्मेंद्र प्रधान का जवाब होता है कि कांग्रेस पार्टी महाराष्ट,ª पंजाब, छत्तीसगढ़, राजस्थान में अपने सरकार से वेट कम करने के लिए क्यों नहीं कहती। पेट्रोल के दाम अपने आप कम हो जाएंगे। अगर केंद्र सरकार अपनी एक्साइज ड्यूटी और टैक्स को कुछ कम कर दे तो बढ़ते तेल की कीमतों से लोगों को महंगाई में राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में जितनी एक्साइज ड्यूटी पेट्रोल और डीजल पर लगी हुई थी। उस हिसाब से वसूल करे तो लोगों को महंगाई से राहत मिल जाएगी। 

पेट्रोल और डीजल पर टैक्स लगाकर 2013-14 में 52,537 करोड़ रुपया मुनाफा हुआ। वही 2019-20 में बढ़कर 2,13 लाख करोड़ रुपया हो गया। 2020-21 में 2,94 लाख करोड़ों रुपया हो गया है। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ताजा बयान दिया है कि कोरोना वैक्सीन के लिए 35 हजार करोड़ रुपया का बजट रखा गया है। उस पर खर्च किया जा रहा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना वैक्सीन पर खर्च किए जाने वाले बजट की भरपाई करने में पेट्रोल डीजल से प्राप्त पैसे को खर्च किया जाएगा। सदन में ऐसा नहीं कहा, एक्सरसाइज टैक्स में 83ः की बढ़ोतरी हो गई। 

पेट्रोलियम धर्मेंद्र प्रधान ने सितंबर 2017 में कहा था कि जीएसटी लागू हो जाने के बाद केवल एक टैक्स लगेगा। जिससे पेट्रोल की कीमत में भारी कमी आ जाएगी। जबकि उन्हीं की पार्टी के नेता कहते हैं कि अभी 10 सालों तक पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा जाएगा। डॉ आसिफ ने कहा राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि देश की आर्थिक स्थिति चरमरा गई है। पिछले 7 सालों में धीरे धीरे आमदनी के स्रोत बंद होते चले गए। उस आर्थिक स्थिति को संभालने के लिए ही लोगों पर महंगाई का मार डाल कर पेट्रोल और डीजल से कमाई की जा रही है। आज देश की आर्थिक स्थिति नाजुक दौर से गुजर रही है। देश को अभी कृषि और पेट्रोल ही का सहारा है। सरकार पेट्रोलियम पदार्थ पर से एक्साइज ड्यूटी 50 प्रतिशत कम कर दें तो लोगों को महंगाई से राहत मिल जाएगी।

भर्ती की कार्यवाही को ढंग से पूर्ण करने के निर्देश दिएं

हरिओम उपाध्याय              

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 69000 सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया के रिक्त पदों एवं अनुसूचित जाति वर्ग के पूर्व के रिक्त पदों पर भर्ती की कार्यवाही को समयबद्ध ढंग से पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। राज्य सरकार के प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि इस संबंध में शासनादेश जारी करते हुए सम्पूर्ण प्रक्रिया की समय सारिणी निर्धारित कर दी गई है।

करीब 6000 सहायक अध्यापकों की परिषदीय विद्यालयों में नियुक्ति की जाएगी। जबकि 17 मई को जारी शासनादेश के तहत, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र द्वारा विकसित सॉफ्टवेयर के जरिये तैयार चयन एवं जिला आवंटन सूची पर कार्यवाही निर्धारित समय सारिणी के अनुसार की जाएगी।


बांह पर काली पट्टी बांधकर खेलेंगी क्रिकेट टीम

साउथम्पटन। भारतीय क्रिकेट टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल के दूसरे दिन फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह के प्रति सम्मान स्वरूप बांह पर काली पट्टी बांधकर खेलेगी। मिल्खा सिंह का कोरोना संक्रमण से जूझने के बाद कल देर रात चंडीगढ में निधन हो गया। कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री समेत शीर्ष भारतीय खिलाड़ियों ने ट्विटर पर शोक संदेश पोस्ट किया है। इसके अलावा पूरी भारतीय टीम बांह पर काली पट्टी बांधकर खेल रही है। ओलंपिक खेल के किसी महान खिलाड़ी की याद में भारतीय क्रिकेट टीम के बांह पर काली पट्टी बांधकर खेलने का यह दुर्लभ मौका है।

बीसीसीआई की मीडिया सेल ने पोस्ट किया, ‘भारतीय क्रिकेट टीम मिल्खा सिंह की याद में बांह पर काली पट्टी बांधकर खेल रही है।’’ इससे पहले कोहली ने ट्वीट किया ,‘‘ उन्होंने पूरे देश को उत्कृष्टता के लिये प्रेरित किया। उन्होंने कभी हार नहीं मानने और अपने सपने पूरे करने के लिये कोशिश करने की प्रेरणा दी । रेस्ट इन पीस मिल्खा सिंह। आपको कभी भुलाया नहीं जा सकेगा।


6 कर्मियों के परिवारों को 1-1 करोड़ रुपये की राशि

अकांशु उपाध्याय               

नई दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को कहा कि अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए जान गंवाने वाले वायुसेना, दिल्ली पुलिस और असैन्य सुरक्षा के छह कर्मियों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। सिसोदिया ने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली सरकार देश की सेवा करते हुए शहीद हुए जवानों के परिवारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। उन्होंने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘जवानों का शहीद होना एक अपूरणीय क्षति होती है। केजरीवाल सरकार ने सत्ता में आने के बाद ऐसे कर्मियों के परिवारों को अनुग्रह राशि मुहैया करने के लिए योजना शुरू की है, ताकि यह उनके लिए आय का स्रोत बन सके और वे गरिमा के साथ जीवन जी सकें।’’

मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में 6 नए जजों की नियुक्ति हुईं

मनोज सिंह ठाकुर                     
भोपाल। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में 6 नए जजों की नियुक्ति हुई है। कॉलेजियम की अनुशंसा पर राष्ट्रपति द्वारा 6 न्यायिक अधिकारियों को हाईकोर्ट जज बनाए जाने के आदेश भी जारी किए गए हैं। इंदौर बेंच के प्रिंसिपल रजिस्टर अनिल वर्मा भी हाईकोर्ट के जज बन गए हैं। सर्वोच्च न्यायालय के कॉलेजियम ने वरिष्ठ जिला एवं सत्र न्यायाधीश अनिल वर्मा, अरुण कुमार शर्मा, सत्येंद्र कुमार सिंह ,सुनीता यादव, दीपक कुमार अग्रवाल तथा राजेंद्र कुमार वर्मा को मध्यप्रदेश हाईकोर्ट का न्यायाधीश बनाने की अनुशंसा राष्ट्रपति से की थी।
मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में न्यायाधीशों के 53 पद हैं। वर्तमान में मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में न्यायाधीशों की संख्या 23 है, जिसमें से चार न्यायाधीश इसी वर्ष सेवानिवृत्त होने वाले हैं। सर्वोच्च न्यायालय की कॉलेजियम ने पूर्व में अधिवक्ता प्रणय वर्मा, अधिवक्ता विवेक शरण तथा अधिवक्ता निधि पाटनकर को न्यायाधीश बनाने की अनुशंसा की थी, जिस पर निर्णय लिया जाना लंबित है।
मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में न्यायाधीशों की संख्या 29 हो गई है। इसके बाद भी हाईकोर्ट में न्यायाधीशों के 24 पद रिक्त हैं। बता दे इंदौर खंडपीठ में पदस्थ प्रिंसिपल रजिस्टर अनिल वर्मा लगभग 4 साल पहले इंदौर खंडपीठ में रजिस्ट्रार बनकर आए थे।

घोटाला: आरोपित मिशेल की जमानत याचिका खारिज

अकांशु उपाध्याय                   
नई दिल्ली। दिल्ली के राऊज एवेन्यू कोर्ट ने अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले के आरोपित क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका खारिज कर दी है। स्पेशल जज अरविंद कुमार ने जमानत खारिज करने का आदेश दिया। कोर्ट ने पिछले 22 अप्रैल को सीबीआई और ईडी को नोटिस जारी किया था। 3600 करोड़ रुपये के इस घोटाले में ईडी ने मिशेल को जनवरी 2019 में गिरफ्तार किया था। मिशेल को दुबई से प्रत्यर्पित कर दिसंबर 2018 में भारत लाया गया था। 23 अक्टूबर, 2020 को कोर्ट ने सीबीआई की ओर से दायर पूरक चार्जशीट पर संज्ञान लिया था। चार्जशीट में 13 को आरोपित बनाया गया है। 
इस मामले में सीबीआई ने 19 सितंबर, 2020 को पूरक चार्जशीट दाखिल की थी। चार्जशीट में क्रिश्चियन मिशेल, राजीव सक्सेना, अगस्ता वेस्टलैंट इंटरनेशनल के डायरेक्टर जी सापोनारो और वायुसेना के पूर्व प्रमुख एसपी त्यागी के रिश्तेदार संदीप त्यागी समेत 13 को आरोपित बनाया गया है। इस चार्जशीट में पूर्व सीएजी और पूर्व रक्षा सचिव शशिकांत शर्मा को आरोपित नहीं बनाया गया है, क्योंकि उनके खिलाफ अभियोजन चलाने के लिए अभी सीबीआई को कोई स्वीकृति नहीं मिली है।

सरकार ने न्याय की उम्मीद का गला घोट दिया: प्रियंका

अकांशु उपाध्याय              
नई दिल्ली। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने आगरा के अस्पताल में मरीजों की ऑक्सीजन बंद करके की गई माॅकड्रिल पर की गई जांच में सरकार की ओर से दी गई। क्लीनचिट पर गहरी चिंता जताते हुए कहा है कि मरीजों के परिजनों की गुहार को अनसुना करते हुए सरकार ने न्याय की उम्मीद का गला घोट दिया है। शनिवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि आगरा में पिछले दिनों अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस मरीजों की ऑक्सीजन बंद करते हुए अस्पताल की ओर से माॅकड्रिल करते हुए कई लोगों की मौत का रास्ता साफ कर दिया था। 
इस मामले को लेकर देषभर में मचे हो-हल्ले के बाद भाजपा की योगी सरकार ने तमाम घटनाक्रम की जांच कराई। जिसमें जांच करने वाली टीम ने आरोपी अस्पताल के अधिकारियों के ही बयान लिए और अस्पताल प्रबंधन को क्लीन चिट देकर तमाम जांच पड़ताल की मॉकड्रिल कर दी है। उन्होंने कहा है कि सरकार की ओर से माॅकड्रिल पर दी गई क्लीनचिट से सरकार और अस्पताल दोनों का रास्ता साफ हो गया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि मॉकड्रिल में मौत का शिकार हुए मरीजों के परिजनों की न्याय की गुहार को अनसुना करते हुए सरकार ने न्याय की उम्मीद का गला घोट दिया है। उन्होंने सरकार से पूछा है कि क्या यही उसका न्याय है।

मिल्खा के निधन पर सीएम योगी ने जताया शोक

हरिओम उपाध्याय                    
लखनऊ। 'फ्लाइंग सिख' के नाम से विख्यात भारत के मशहूर एथलीट मिल्खा सिंह का शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात चंडीगढ़ के अस्पताल में निधन हो गया। उनके निधन पर शनिवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई नेताओं ने शोक जताया है। ट्वीट करके मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि मिल्खा सिंह का निधन खेल जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। उनका जीवन राष्ट्र के लिए अप्रतिम प्रेरणा है। प्रभु श्रीराम दिवंगत पुण्यात्मा को अपने परम धाम में स्थान एवं शोकाकुल परिजनों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।
समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भारत के जाने-माने एथलीट एवं 'फ़्लाइंग सिख' के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह के कोरोना से निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। उन्होंने शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करत हुए कहा कि ईश्वर उन्हें सहने की शक्ति प्रदान करें। श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मिल्खा सिंह जिदंगी से अपनी जंग हार गये। परिजनों के प्रति गहरी संवेदनाएं। ओलंपिक की यह ऐतिहासिक तस्वीर भारत को समूचे विश्व में गौरवान्वित करती है। 
उप्र विधानसभा अध्यक्ष हृदयनाराण दीक्षित ने कहा कि उनका निधन देश के लिए बेहद दुखद एवं अपूरणीय क्षति है। जिद और जुनून से भरा उनका जीवन सभी के लिए एक प्रेरणा है। उल्लेखनीय है कि कोरोना से संक्रमित होने के बाद चंडीगढ़ के पीजीआईएमईआर में 91 वर्षीय मिल्खा सिंह को भर्ती कराया गया था। बुधवार को रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उनको कोविड अस्पताल से आईसीयू में शिफ्ट किया गया था।
उन्होंने 400 मीटर की दौड़ में एशियाई खेलों के साथ-साथ कॉमनवेल्थ खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था। 

राज्य के हालात पर चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने और उसके दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजन के करीब तीन साल बाद जल्द ही एक बड़ी राजनीतिक पहल शुरू होने वाली है। खबर है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अगले सप्ताह राज्य के हालात पर चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई है। बैठक में राजनीतिक गतिरोध के अलावा जम्मू कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा देने सम्बंधी विषयों पर चर्चा हो सकती है। बैठक में जम्मू-कश्मीर में होने वाले विधानसभा चुनाव पर भी चर्चा की उम्मीद है।
इसके पहले गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को गृह मंत्रालय में एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, गृह सचिव अजय भल्ला, इंटेलिजेंस ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार, रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) प्रमुख सामंत कुमार गोयल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिदेशक कुलदीप सिंह और जम्मू- कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह शामिल हुए। ज्ञातव्य है कि इसके पहले गृह मंत्री ने जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा से भी बातचीत की थी। ये दोनों बैठकें जम्मू-कश्मीर के लिए महत्वपूर्ण मानी जा रही हैं।
खबर है कि राज्य से जुड़े मसलों पर अंदरखाने इस तरह की उच्चस्तरीय बैठकें चल रही हैं। अब प्रधानमंत्री के साथ होने वाली बैठक के लिए सभी दल के नेताओं को सूचना भेज दी गई है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर इसकी जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई है।
राज्य के विशेष दर्जे की समाप्ति के बाद वहां 2018 से चुनाव भी लंबित हैं। उस समय तब महबूबा मुफ्ती की पार्टी पीडीपी और भाजपा के बीच सत्तारुढ़ गठबंधन टूट गया था। बाद में विपक्ष ने गुपकार समूह बनाया था और हाल में इस समूह ने भी केंद्र सरकार से बातचीत पर नरम रुख अपनाने के संकेत दिए थे।
ज्ञातव्य है कि अगस्त 2019 में केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया था। इसके साथ राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू - कश्मीर और लद्दाख में विभाजित किया गया था। तब महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला समेत कई बड़े नेताओं को उनके घरों में ही नजरबंद कर लिया गया था। वैसे अब ये नेता रिहा किए जा चुके हैं।

कोरोना की दूसरी लहर में बच्चे भी प्रभावित हुएं

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की सीरो प्रवलेंस स्टडी रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना महामारी की दूसरी लहर में बच्चे भी प्रभावित हुए। लेकिन उनमें लक्षण काफी कम दिखाई दिये। शुक्रवार को आयोजित प्रेस वार्ता में नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि संभावित तीसरी लहर में भी बच्चों पर अधिक असर नहीं देखा जाएगा। सीरो सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार पहली और दूसरी लहर में सभी लोग समान रूप से प्रभावित हुए हैं। इसलिए संभावित तीसरी लहर में यह कहना गलत होगा कि यह सिर्फ बच्चों को प्रभावित करेगा।
लेकिन केन्द्र सरकार कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए सभी तैयारियां कर रही है। 
नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने बताया कि एम्स के सीरो सर्वे के अनुसार 18 साल से कम और अधिक उम्र में कोरोना संक्रमण की दर लगभग एक समान है। 18 साल से कम उम्र वाले लोगों में संक्रमण दर 59 प्रतिशत और 18 साल से ज्यादा उम्र वाले में 69 प्रतिशत है। शहरी क्षेत्र में दोनों उम्र की श्रेणी में संक्रमित लोगों का प्रतिशत 78 और 79 प्रतिशत है। 
वहीं, ग्रामीण क्षेत्र में 18 साल से कम उम्र में 56 प्रतिशत संक्रमित लोग थे, जबकि 18 साल से अधिक उम्र वाले वर्ग में यह 63 प्रतिशत है। इससे यह पता चलता है कि कोरोना लहर में बच्चे भी संक्रमित हुए, लेकिन उनमें लक्षण बेहद कम रहे। 
इसी तरह संभावित तीसरी लहर में भी संक्रमण का यही ट्रेंड रह सकता है। टीका लगवाने वाले संक्रमित लोगों में अस्पताल जाने की संभावना 75-80 प्रतिशत कम। नीति आयोग के सदस्य ने बताया कि टीका लगवाने वाले लोगों में कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में भर्ती होने की संभावना 75-80 प्रतिशत कम होती है। इसके साथ सिर्फ आठ प्रतिशत लोगों को ही ऑक्सीजन की आवश्यकता देखी गई है। छह प्रतिशत लोगों को आईसीयू में भर्ती कराने की जरूरत होती है। 

सोना-चांदी की कीमत में एक बार फिर तेजी का रुख

अकांशु उपाध्याय             
नई दिल्ली। लगातार दो कारोबारी सत्र से गिरावट का रुख दिखाने के बाद शुक्रवार को सोना और चांदी दोनों की कीमत में एक बार फिर तेजी का रुख बना। आज मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर अगस्त वायदा के लिए सोने का भाव 155 रुपये बढ़कर 47,113 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच गया। इसी तरह वायदा बाजार में चांदी की कीमत में भी 981 रुपये की तेजी आई। जिसके बाद चांदी का जुलाई डिलीवरी वाला वायदा भाव 68,580 रुपये प्रति किलो हो गया।  
इसके पहले भारतीय सर्राफा बाजार में गुरुवार को सोने और चांदी की कीमत में तेज गिरावट देखी गई थी। दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना प्रति 10 ग्राम 861 रुपये लुढ़क गया था, जबकि चांदी की कीमत में 1,709 रुपये प्रति किलो की कमी आ गई थी। आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोना और चांदी की कीमत में तेजी का रुख बना। अगस्त का फ्यूचर गोल्ड कॉन्ट्रैक्ट 1,774.80 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर पहुंच गया। वहीं चांदी का जुलाई कॉन्ट्रैक्ट 25.86 डॉलर के स्तर पर आ गया। 
 बताया जा रहा है कि यूएस फेड रिजर्व ब्याज दरों पर जल्दी ही फैसला लेने वाला है। ब्याज दरों को लेकर होने वाले फैसले का असर अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने और चांदी की कीमत पर भी पड़ेगा। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने और चांदी की कीमत पर पड़ने वाला कोई भी असर सोने के आयात पर निर्भर करने वाले भारत जैसे देश के घरेलू बाजार पर भी पड़ेगा। 
जानकारों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय परिस्थितियों के कारण सोने और चांदी के निवेश को लेकर सतर्क रहना जरूरी है। बाजारी में जारी उतार चढ़ाव के बीच निवेशिकों को काफी सोच समझ कर ही सोने या चांदी में निवेश करने का फैसला लेना चाहिए। छोटे निवेशकों को अभी बाजार से दूरी बनाकर रखना चाहिए। सर्राफा बाजार के जानकारों के मुताबिक अगर सोना या चांदी में निवेश करना जरूरी भी हो, तो बाजार की उतार-चढ़ाव वाली स्थिति को देखते हुए वायदा बाजार में पैसा लगाने की जगह निवेशकों को हाजिर सौदों पर ध्यान देना चाहिए। 

भारतीय सेना ने एटीएजीएस के परीक्षण शुरू किएं

अकांशु उपाध्याय              
नई दिल्ली। भारतीय सेना ने पूरी तरह स्वदेशी रूप से विकसित किए गए एडवांस्ड टोड आर्टिलरी गन सिस्टम (एटीएजीएस) के परीक्षण शुरू कर दिए हैं। विभिन्न इलाकों और मोड में फायरिंग से जुड़े आकलनों के बाद परियोजना की गहन समीक्षा की जाएगी। इसे पहली बार 26 जनवरी, 2017 को 68वें गणतंत्र दिवस परेड में सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित किया गया था। ​डीआरडीओ ने भारतीय सेना में पुरानी तोपों को बदलने के लिए यह परियोजना 2013 में आधुनिक 155 मिमी. आर्टिलरी गन के साथ शुरू की थी। ​एटीएजीएस​ ​ने 2017 में 47.2 किलोमीटर की दूरी तक राउंड फायर करके 155 मिमी​.​ तोप का विश्व रिकॉर्ड तोड़ा था​​। स्कूल ऑफ आर्टिलरी का ट्रायल विंग चल रहे परीक्षणों को अंजाम दे रहा है।
जिसके बाद इस पर एक व्यापक रिपोर्ट सेना प्रशिक्षण कमान को भेजी जाएगी ताकि भविष्य की कार्रवाई के बारे में निर्णय लिया जा सके।इन परीक्षणों के ​दौरान टैंक के आकार ​और लक्ष्यों पर दिन​-रात की फायरिंग, पांच राउंड बस्ट के लिए परीक्षण, लगभग तीन मिनट में 15 राउंड की रैपिड-फायर दर और हर घंटे 60 राउंड की निरंतर फायरिंग ​क्षमता आंकी जानी है। ​एटीएजीएस​ के ​गतिशीलता परीक्षण​​ ​रेगिस्तान​ में ​​रेत के टीलों पर नेविगेशन ​के साथ होंगे ​और 70 सड़कों पर ​हाई-स्पीड ट्रायल भी होंगे।​ एडवांस्ड टोड आर्टिलरी गन सिस्टम (​​​​​​एटीएजीएस) 155 मिमी/52 कैलिबर हॉवित्जर है जिसे रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने भा​​रतीय सेना के लिए विकसित ​किया है​।​ ​एटीएजीएस​ को ​भारत फोर्ज लिमिटेड​ ​और टाटा पावर एसईडी कम्पनियों ने निर्मित किया है। उन्नत टोड आर्टिलरी गन सिस्टम (एटीएजीएस) परियोजना 2013 में ​​डीआरडीओ ने भारतीय सेना में पुरानी तोपों को बदलने के लिए आधुनिक 155 मिमी. आर्टिलरी गन के साथ शुरू की थी। 
​​एटीएजीएस​ को विकसित करने में ​डीआरडीओ प्रयोगशाला आयुध अनुसंधान और विकास प्रतिष्ठान (एआरडीई) ने निजी कंपनियों ​​भारत फोर्ज लिमिटेड, महिंद्रा डिफेंस नेवल सिस्टम, टाटा पावर स्ट्रेटेजिक इंजीनियरिंग डिवीजन और सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई आयुध निर्माणी बोर्ड (ओएफबी) के साथ भागीदारी की। 
डीआरडीओ ने 14 जुलाई​,​ 2016 को 155/52 कैलिबर एडवांस्ड टोड आर्टिलरी गन सिस्टम के लिए आयुध की प्रूफ फायरिंग की​ जो पूरी तरह सफल रहा। ​​आर्टिलरी गन ने ​14 दिसम्बर, 2016 को ओडिशा के बालासोर में प्रूफ एंड एक्सपेरिमेंटल एस्टाब्लिशमेंट (पीएक्सई) में अपने पहले राउंड गोला बारूद को दागा।​ ​2017 में परीक्षण के दौरान​ ​​​एटीएजीएस​ ​ने 47.2 किलोमीटर की दूरी तक राउंड फायर करके 155 मिमी​.​ तोप का विश्व रिकॉर्ड तोड़ा​​। एटीएजीएस ने उच्च विस्फोटक-बेस ब्लीड (​एचई-​बीबी) गोला-बारूद के साथ अधिकतम 48.074 किलोमीट​​र की दूरी दर्ज करके इस श्रेणी में किसी भी आर्टिलरी गन सिस्टम द्वारा दागी गई अधिकतम सीमाओं को पार किया। 
इस​के साथ ही आर्टिलरी गन सिस्टम ने सफलतापूर्वक ​विकास ​परीक्षण ​पूरे कर लिए जिसके बाद 40 तोपों की पहली खेप का निर्माण ​किया गया।​ सितम्बर, 2020 में उपयोगकर्ता ​​परीक्षण ​के दौरान राजस्थान के पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में ​​एक ​​बैरल फटने ​से तीन विशेषज्ञ घायल ​हो गए। ​​बैरल फटने​ का कारण पता लगाने ​के लिए एक समिति गठित की गई जो अभी भी जांच ​कर रही है। ​नवम्बर, 2020 में​ ​एक जांच के बाद आगे के परीक्षणों के लिए मंजूरी ​मिलने के बाद अब फिर से भारतीय सेना ने​ एटीएजीएस के परीक्षण शुरू ​किये हैं।

विश्वविद्यालय ने परीक्षाओं का कार्यक्रम जारी किया

संदीप मिश्र                  
बरेली। महात्मा जोतिबा फुले रुहेलखंड विश्वविद्यालय ने स्नताक और स्नातकोत्तर की मुख्य परीक्षाओं का कार्यक्रम शनिवार को जारी कर दिया है। स्नातक की द्वितीय और तृतीय वर्ष की परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी। जिसमें एक विषय का एक ही प्रश्नपत्र कराया जायेगा। स्नातकोत्तर में अंतिम वर्ष की परीक्षाएं होंगी, जिसमे सभी प्रश्न पत्र शामिल होंगे। परीक्षाएं 15 जुलाई से शुरू होंगी। 
स्नातक की परीक्षाएं 7 अगस्त को समाप्त होंगी और स्नातकोत्तर की परीक्षाएं 2 अगस्त को समाप्त हो जाएंगी। परीक्षाओं का समय डेढ़ घंटा निर्धारित किया गया है। स्नातकोत्तर की परीक्षा सुबह की पाली में 9 बजे से 10 बजे तक होंगी। स्नातक द्वितीय वर्ष की परीक्षा द्वितीय पाली में 12 बजे से 1:30 बजे तक होंगी और तृतीय वर्ष की परीक्षा 3 बजे से 4:30 बजे तक होंगी।

51 साल के हुएं राहुल गांधी, जन्मदिन पर बधाई दी

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को 51 साल के हो गए। उनके जन्मदिन के मौके पर कांग्रेस और कई अन्य दलों के प्रमुख नेताओं उन्हें बधाई दी और उनके स्वस्थ रहने एवं दीर्घायु होने की कामना की। राहुल गांधी का जन्म 19 जून, 1970 को हुआ था। वह पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के पुत्र हैं। उन्होंने कोरोना महामारी के कारण पैदा हुए हालात के मद्देनजर इस साल जन्मदिन नहीं मनाने का फैसला किया है। हालांकि इस मौके पर पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ‘सेवा दिवस’ मनाते हुए जरूरतमंद लोगों को राशन, मेडिकल किट और मास्क बांटें।
पार्टी ने पहले ही प्रदेश कांग्रेस कमेटियों, पार्टी के विभिन्न संगठनों एवं विभागों को पत्र लिखकर कह दिया था कि वे राहुल गांधी के जन्मदिन के मौके पर किसी तरह के जश्न का आयोजन नहीं करें तथा कोई होर्डिंग या पोस्टर नहीं लगाएं, बल्कि अपने पास उपलब्ध संसाधन का उपयोग जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए करें। राहुल गांधी के जन्मदिन पर कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेताओं तथा दूसरे दलों के भी कई प्रमुख नेताओं ने उन्हें बधाई दी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘राहुल गांधी जी को जन्मदिन की बहुत शुकमामनाएं। उनके लंबे और स्वस्थ जीवन की कामना करता हूं।’’ उन्होंने यह भी कहा, ‘‘राहुल जी गरीबों और वंचितों के कल्याण को लेकर बहुत फिक्रमंद रहते हैं। मैं उनके प्रयासों में सफलता की कामना करता हूं।
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरेन्दर सिंह ने भी राहुल गांधी को बधाई दी। बघेल ने कहा, ‘‘नफ़रतों के बीच मोहब्बत की बात, भय के बीच निडर होने की बात, तार-तार होती राजनीतिक शुचिता के बीच मूल्यों की बात। आसान नहीं होता विपरीत धाराओं के बीच खड़े होकर उनका रुख मोड़ना। लेकिन समझौतों से ऊपर की यही राजनीति आपको राहुल गांधी बनाती है। जननेता को जन्मदिन की शुभकामनाएं। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने राहुल गांधी के जन्मदिन पर भारतीय युवा कांग्रेस की ओर से आयोजित राशत एवं राहत सामाग्री वितरण कार्यक्रम में पहुंचकर जरूरतमंदों के बीच राहत सामाग्री बांटीं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘राहुल जी एक सच्चे नेता हैं जो सच्चाई, ईमानदारी, करुणा और साहस के साथ चुनौतियों का सामना करते हैं। वह ऐसे नेता हैं जिनके लक्ष्य से ज्यादा सही रास्ते का होना महत्वपूर्ण है। राहुल गांधी जी को जन्मदिन की बधाई।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा, सचिन पायलट और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने राहुल गांधी को जन्मदिन की बधाई दी। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष को बधाई दी और उनके लंबे एवं स्वस्थ जीवन की कामना की। पूर्व प्रधानमंत्री और जनता दल (एस) के नेता एचडी देवगौड़ा ने कहा, ‘‘राहुल गांधी जी एक अच्छे इंसान और मानवीय एवं समावेशी समाज को लेकर बहुत प्रतिबद्धित हैं। मैं उन्हें जन्मदिन की बधाई देता हूं और कामना करता हूं कि उनका नजरिया और संवेदनशीलता हमारे चारो तरफ मौजूद संकीर्णता को पराजित करे।
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी को बधाई देते हुए ट्वीट किया, ‘‘राहुल गांधी जी को जन्मदिन पर शुभकामनाएं। ईश्वर आपको दीर्घायु करें।’’ लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, द्रमुक नेता एवं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, झामुमो के नेता एवं झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला, राजद नेता तेजस्वी यादव और कई अन्य नेताओं ने राहुल गांधी को जन्मदिन की बधाई दी।

एम्स चीफ के बयान ने लोगों की चिंताएं बढ़ाईं, लहर

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। कोरोना वायरस की दूसरी लहर से मौजूदा समय में थोड़ी राहत मिलती हुई दिखाई दे रही है। लेकिन यह अभी तक पूरी तरह से हमारे बीच से गई नहीं है और देश भर में रोजाना लगभग सभी राज्यों में थोड़े बहुत कोरोना संक्रमित लोग मिल रहे हैं। इस बीच कोरोना से बचाव के नियमों के प्रति लापरवाह होते हुए देखकर एम्स चीफ के बयान ने लोगों की चिंताएं बढ़ा दी हैं। उन्होंने बयान कहा है कि अगले 6 से लेकर 8 हफ्तों में अर्थात 2 माह के भीतर भारत में कोविड-19 की तीसरी लहर आते हुए दस्तक दे सकती है। शनिवार को एम्स चीफ रणदीप गुलेरिया ने एक टीवी चैनल से बातचीत करते हुए बयान दिया है कि मौजूदा समय में कोरोना वायरस की दूसरी लहर की रफ्तार धीरे धीरे कम हो रही है। 
जिसके चलते कोरोना संक्रमण के मामलों में देश में रोजाना तेजी के साथ कमी आती दिखाई दे रही है। उन्होंने कहा है कि अगले 6 से लेकर 8 हफ्तों में अर्थात 2 माह के भीतर कोविड-19 की तीसरी लहर भारत में अपनी दस्तक दे सकती है। एम्स चीफ ने कहा है कि देश भर में दूसरी लहर को थामने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के अनलॉक की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। लेकिन कोरोना के नियमों का पालन करने में लोगों की खुलेआम लापरवाही देखी जा रही है। हालातों को देखकर ऐसा लग रहा है कि देश में कोरोना वायरस की पहली और दूसरी लहर के दौरान जो कुछ हुआ है, हमने उससे कुछ भी सीखा नहीं है। बाजारों में जगह-जगह फिर से भारी भीड़ का जमावड़ा हो रहा है। लोग इकट्ठे होकर कोरोना के प्रति बेपरवाह होते हुए अपने कामकाज निपटा रहे हैं। 
उन्होंने कहा है कि राज्य स्तर पर कोरोना संक्रमण के आंकड़े बढ़ने में समय लगेगा। लेकिन अगले 6 से लेकर 8 हफ्तों में कोरोना की तीसरी लहर के चलते संक्रमण के मामले बढ़ने लगेंगे या कुछ और देर से। यह सब निर्भर करता है कि हम कैसे कोरोना के नियमों का पालन कर रहे हैं और भीड़ को इकट्ठा होने रोक रहे हैं। कोरोना संक्रमण ने दुनियाभर में अब तक 40 लाख से ज्यादा लोगों की जान ले ली है। इसमें 50 फीसदी हिस्सेदारी भारत, अमेरिका, ब्राजील, रूस और मेक्सिको शामिल हैं। वहीं, भारत में बीते 24 घंटे के अंदर कोरोना वायरस के 60 हजार 753 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके बाद अब देश में ऐक्टिव मामले घटकर 7 लाख 60 हजार के पास पहुंच गए हैं।

बस के पलटने से 27 लोगों की मौंत, कई घायल

लीमा। पेरू के अयाकुचो में शुक्रवार को एक अंतरप्रांतीय बस के पलट जाने से कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।
स्थानीय मीडिया ने पुलिस के हवाले से अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी।
रिपोर्ट के मुताबिक दुर्घटना स्थानीय समयानुसार तड़के लगभग 03:00 बजे उस समय हुई , जब वारी पालोमिनो कंपनी की बस खनिकों और उनके परिवारों के एक समूह को लेकर अयाकुचो क्षेत्र से अरेक्विपा जा रही थी। इसी दौरान बस इंटरओशनिक हाईवे पर अनियंत्रित होकर पलट गयी और करीब 250 मीटर गहरी खाई में गिर गयी।
घटना की सूचना मिलते ही बचाव दल, दमकलकर्मी और पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। घायलों को समीप के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इंडिया लिमिटेड की हुंडई को लॉन्च करने की घोषणा

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। यात्री वाहन बनाने वाली कंपनी हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड ने बहुप्रतिक्षित एसयूवी हुंडई अलकजार को आज लॉन्च करने की घोषणा की। जिसकी शुरुआती कीमत 16.30 लाख रुपये है। कंपनी ने यहां जारी बयान में कहा कि छह और सात सीटों के विकल्प के साथ आने वाली प्रीमियम एसयूवी अलकजार को कंपनी के डीलरशिप पर या ऑनलाइन 25,000 रुपये के डाउन पेमेंट के साथ बुक किया जा सकता है। ग्राहक कंपनी की आधिकारिक डीलरशिप पर या कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर इसे बुक कर सकते हैं।
उसने कहा कि नई अलकजार को भारत में तीन इंजन के साथ लॉन्च किया गया है। 
अलकजार में दो-लीटर पेट्रोल और 1.5-लीटर डीजल के दो इंजन विकल्पों में छह-स्पीड ऑटोमैटिक और छह-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन का विकल्प होगा। इसका इसका 1.5 लीटर टर्बो-डीजल इंजन 138 बीएचपी और 1.4 लीटर टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन 115 पीएस की अधिकतम शक्ति पैदा करेगा।

फुटबॉल संघ ने ट्विटर पर प्रतिबंध की निंदा की

ब्रासीलिया। ब्राजील में खेले जा रहे कोपा अमेरिका फुटबॉल टूर्नामेंट की आलोचना करने वाले बोलिविया के एक स्ट्राइकर मार्शेलो मार्टिंस को कोनमेबोल (दक्षिण अमेरिका फुटबॉल परिसंघ) ने एक मैच के लिए निलंबित करके 20000 डॉलर का जुर्माना ठोक दिया। कोनमेबोल के अनुशासन आयोग ने शुक्रवार को मार्टिंस को चेताया कि गलती दोहराने पर प्रतिबंध एक साल का किया जा सकता है। 
बोलिविया फुटबॉल संघ ने ट्विटर पर इस प्रतिबंध की निंदा की। मार्टिंस समेत बोलिविया के तीन खिलाड़ी शनिवार को कोरोना पॉजिटिव पाये गए थे। उन्होंने सोशल मीडिया पर कोनमेबोल की निंदा करते हुए कहा था,‘‘ इस सभी के लिए शुक्रिया कोनमेबोल। सारी गलती आपकी है। कोई मर गया तो आप क्या करोगे। आपके लिये सिर्फ पैसा मायने रखता है। खिलाड़ियों की जिंदगी की कोई कीमत है या नहीं। ’’उन्होंने बुधवार को माफी मांग ली थी और इसके लिए अपनी कम्युनिकेशन टीम को दोषी ठहराया था।

टीकाकरण जैसी 'महत्वपूर्ण’ 5 रणनीतियां अपनाएं

अकांंशु उपाध्याय                   
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने शनिवार को राज्यों से अपील की है कि वह कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए लॉकडाउन खोलते समय कोविड अनुकूल व्यवहार, जांच, निगरानी, इलाज, टीकाकरण जैसी ‘अति महत्वपूर्ण’ पांच रणनीतियां अपनाएंं। सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को भेजे संदेश में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि संक्रमण के प्रसार की कड़ी को तोड़ने के लिए मौजूदा परिदृश्य में कोविड-19 रोधी टीकाकरण बेहद अहम है। 
उन्होंने कहा कि ऐसे में राज्य और केंद्र शासित प्रदेश टीकाकरण की गति तेज करें। गृह सचिव ने कहा कि महामारी की दूसरी लहर के दौरान कई राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में संक्रमण के मामलों में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई और कइयों ने संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रतिबंध लगाए। उन्होंने कहा कि संक्रमण के मामलों में कमी को देखते हुए कई राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने प्रतिबंधों में राहत देना शुरू किया है, ऐसे में मैं यह रेखांकित करना चाहूंगा कि लॉकडाउन खोलने की प्रक्रिया सावधानीपूर्वक व्यवस्थित और जमीनी स्थिति के आकलन के आधार पर हो।

महत्वपूर्ण दौर से गुजर रही है भारतीय 'वायुसेना'

हैदराबाद। भारतीय वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने शनिवार को कहा कि तेजी से बदल रही सुरक्षा चुनौतियों और पड़ोस एवं अन्य क्षेत्रों में बढ़ती भू-राजनीतिक अनिश्चितताओं के मद्देनजर भारतीय वायुसेना (आईएएफ) प्रौद्योगिकियों को तेजी से शामिल करके परिवर्तन के महत्वपूर्ण दौर से गुजर रही है।भदौरिया ने यहां वायु सेना अकादमी में संयुक्त स्नातक परेड (सीजीपी) को संबोधित करते हुए कहा कि वायुसेना परिवर्तन के एक महत्वपूर्ण दौर से गुजर रही है। 
हमारे अभियानों के हर पहलू में प्रौद्योगिकियों और लड़ाकू शक्ति का जितनी तेजी से समावेश अब हो रहा है, उतना पहले कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि यह मुख्य रूप से हमारे पड़ोस और अन्य क्षेत्रों में बढ़ती भू-राजनीतिक अनिश्चितताओं के अलावा हमारे सामने मौजूद अभूतपूर्व और तेजी से बदल रहीं सुरक्षा चुनौतियों के कारण है। भदौरिया ने कहा कि पिछले कुछ दशकों ने हर संघर्ष में जीत हासिल करने में वायु शक्ति की महत्वपूर्ण भूमिका स्पष्ट रूप से स्थापित की है और इसी के मद्देनजनर भारतीय वायुसेना की क्षमता में जारी वृद्धि काफी महत्व रखती है। उन्होंने आगे कहा कि इंटीग्रेटेड थिएटर कमांड पर चर्चा चल रही है। क्षमता बढ़ाने के लिहाज से राफेल और एलसीए के बाद हमने दो-तीन बड़े कदम उठाए हैं।
उसमें एएमसीए का सबसे बड़ा है। पांचवीं पीढ़ी का एयरक्राफ्ट जो देश में बनेगा उसका निर्णय ले लिया गया है। इससे पहले, वायुसेना प्रमुख ने परेड की समीक्षा की। उन्होंने कोविड-19 महामारी के खिलाफ राष्ट्रीय लड़ाई में वायुसेना की महत्वपूर्ण भूमिका का भी जिक्र किया।

पूर्व भारतीय लीजेंड स्प्रिंटर मिल्खा सिंह की मृत्यु हुईं

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। पूर्व भारतीय लीजेंड स्प्रिंटर मिल्खा सिंह की मृत्यु हो गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मिल्खा सिंह संक्रमित थे। जिनकी 19 मई को कोरोना रिपोर्ट पाॅजिटिव आई थी। जिसके बाद उन्हें चंडीगढ़ के पीजीआईएमईआर में भर्ती कराया गया था। जहां 15 दिनों से उनका उपचार चल रहा था। 3 जून को आक्सीजन लेवल गिरने के चलते उन्हें आईसीयू में भर्ती करवाया गया। वहीं रिकवरी के दौरान शुक्रवार को रात 11ः30 बजे उनकी मृत्यु हो गई।
बता दें मिल्खा सिंह का जन्म 20 नवंबर 1929 को गोविंदपुरा (जो अब पाकिस्तान का हिस्सा है) के एक सिख परिवार में हुआ था। उन्हें खेल और देश से बहुत लगाव था, इस वजह से वे विभाजन के बाद भारत आ गए और भारतीय सेना में शामिल हो गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार मिल्खा सिंह को 1959 में पद्मश्री अवॉर्ड दिया गया था। 2001 में उन्हें अर्जुन अवॉर्ड दिए जाने की घोषणा की गई थी, लेकिन उन्होंने इसे लेने से इंकार कर दिया था। बाद में उन्होंने इसकी वजह बताते हुए कहा था कि आजकल अवॉर्ड मंदिर में प्रसाद की तरह बांटे जाते हैं। मुझे पद्मश्री अवॉर्ड के बाद अर्जुन अवॉर्ड के लिए चुना गया।

सरकार के साथ काम, कोशिश कर रहा डबल्यूएचओ

अकांशु उपाध्याय                 ..
नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) एस्ट्राजेनेका, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) और भारत सरकार के साथ काम करने की ”तत्काल” कोशिश कर रहा है। ताकि उन देशों को कोविड​​-19 टीकों की खेप पहुंचाना फिर से शुरू किया जा सके। जो आपूर्ति बाधित होने के कारण अपने देशवासियों को टीकों की दूसरी खुराक नहीं लगा पाए।संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम गेब्रेयसस के वरिष्ठ सलाहकार ब्रूस आयलवर्ड ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ”ऐसे कई देश हैं। 
जिन्हें टीकों की दूसरी खुराक देने की प्रक्रिया निलंबित करनी पड़ी। आयलवर्ड ने कहा, ”30 या 40 देश ऐसे हैं, जिन्हें एस्ट्राजेनेका टीके की दूसरी खुराक की आवश्यकता है, लेकिन वे ऐसा नहीं कर पाएंगे।” उन्होंने कहा कि ”हम एस्ट्राजेनेका, एसआईआई और भारत सरकार के साथ काम करने की ”तत्काल” कोशिश कर रहे हैं। ताकि उन देशों को कोविड​​-19 टीकों की खेप पहुंचाना फिर से शुरू किया जा सके, जो आपूर्ति बाधित होने के कारण टीकों की दूसरी खुराक नहीं लगा पाए, क्योंकि अब अंतराल बढ़ रहा है। आयलवर्ड ने कहा कि विशेष रूप से उप-सहारा अफ्रीका, लातिन अमेरिका, मध्य पूर्व और दक्षिण एशिया में कई देश इससे बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा कि भारत में संक्रमण की दूसरी लहर कारण इन टीकों की आपूर्ति बाधित हुई।

सिल्वर स्क्रीन पर जासूस का किरदार निभाएंगे सलमान

कविता गर्ग                   
मुंबई। बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान सिल्वर स्क्रीन पर जासूस का किरदार निभाते नजर आ सकते हैं। बॉलीवुड में चर्चा है कि निर्देशक राजकुमार गुप्ता ब्लैक टाइगर के नाम से मशहूर भारतीय जासूस रवींद्र कौशिक की जिंदगी पर फिल्म बनाने जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि यह फिल्म थ्रिलर होगी, जो भारतीय इतिहास की सच्ची घटना पर आधारित है। बताया जा रहा है कि राजकुमार गुप्ता करीब पांच सालों से रवींद्र कौशिक की जिंदगी पर रिसर्च कर रहे हैं। यह फिल्म रवींद्र कौशिक की अचीवमेंट्स और विरासत पर आधारित होगी। 
बताया जा रहा है कि राजकुमार गुप्ता इस फिल्म की स्क्रिप्ट को सलमान खान को सुना चुके हैं, जिसे सुनकर सलमान ने इस रोल को करने के लिए हां कह दी है। भारतीय जासूस रवींद्र कौशिक पर बन रही फिल्म में दर्शकों को थ्रिलर और एक्शन देखने को मिलेगा।

24 घंटे में कोरोना के 60,753 नए मामलें दर्ज किए

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के 60,753 नए मामले दर्ज किए गए हैं तथा 1,647 मरीजों को इसके संक्रमण से जान गवानी पड़ी। इस बीच शुक्रवार को 33 लाख 85 लोगों को कोरोना के टीके लगाये गये। देश में अब तक 27 करोड़ 23 लाख 88 हजार 783 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में 60,753 नये मामले सामने आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 2,98,23,546 हो गया। इस दौरान 97 हजार 743 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद इस महमारी को मात देने वालों की कुल संख्या बढ़कर दो करोड़ 86 लाख 88 हजार 390 हो गई हैं।सक्रिय मामले 38 हजार 637 कम होकर सात लाख 60 हजार 19 रह गये हैं। 
इसी अवधि में 1,647 मरीजों की जान जाने के बाद मृतकों का आंकड़ा बढ़कर तीन लाख 85 हजार 137 हो गया है। देश में सक्रिय मामलों की दर कम होकर 2.55 फीसदी, रिकवरी दर बढ़कर 96.16 फीसदी और मृत्यु दर 1.29 फीसदी हो गई है। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 5197 सक्रिय मामलों में कमी आने के बाद इनकी संख्या घटकर 137851 रह गयी है। इसी दौरान राज्य में 14347 और मरीजों के स्वस्थ हाेने के बाद कोरोनामुक्त होने वालों की तादाद बढ़कर 56,99,983 हो गयी है जबकि 648 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 116674 हो गया है। केरल में इस दौरान सक्रिय मामले 876 कम हुए हैं और इनकी संख्या अब 108117 रह गयी है तथा 12147 मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोना को मात देने वालों की संख्या बढ़कर 2665354 हो गयी है जबकि 90 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या 11833 हो गयी है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-308 (साल-02)
2. रविवार, जून 20, 2021
3. शक-1984, ज्येठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दसमीं, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:42, सूर्यास्त 07:16।
5. न्‍यूनतम तापमान -20 डी.सै., अधिकतम-36+ डी.सै.।
बरसात की संभावना
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया

वाशिंगटन डीसी/ नई दिल्ली। भारत और अमेरिका ने शुक्रवार को एक मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया। जिसके तहत सहयोगी देशों को कनेक्टिवि...