शुक्रवार, 15 जनवरी 2021

स्वच्छता सर्वेक्षण: एड़ी से चोटी का जोर लगाया

अश्वनी उपाध्याय    

गाजियाबाद। स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में बेहतर रैंकिग हासिल करने के लिए गाजियाबाद नगर निगम एड़ी से चोटी तक का जोर लगा रहा है। म्युनिसिपल कमिश्रर महेंद्र सिंह तंवर द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में बेहतर रैंकिग हासिल करने के लिए खुद लगातार सफाई कार्यों का निरीक्षण किया जा रहा है। म्युनिसिपल कमिश्रर का कहना है कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में अच्छी रैकिंग के लिए शहर की सफाई व्यवस्था में आमजन का सहयोग बेहद जरूरी है। जो इस बार भरपूर मिल रहा है। सफाई के प्रति भी आम नागरिक जागरूक हो रहा है। क्योंकि हर सभ्य संभ्रात नागरिक अपने शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने के लिए अपना योगदान दे रहा है। शहर को खूबसूरती संवारने में नगर निगम भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है। पार्षदों तथा जनता की शिकायतों के आधार पर म्युनिसिपल कमिश्रर स्वयं निरीक्षण की तिथि निर्धारित कर वहां पहुंचते हैं तथा तत्काल मौके पर समस्या का समाधान कराते हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को म्युनिसिपल कमिश्रर महेंद्र सिंह तंवर ने निगम के पांचो जोन में विभिन्न वार्डों का निरीक्षण कर सफाई कार्यो का जायजा लिया। वार्ड 59 पार्षद राजेश शर्मा, वार्ड 39 पार्षद हिमांशु लव, वार्ड 19 पार्षद साक्षी नारंग, वार्ड 21 पार्षद आनंद गौतम, वार्ड 84 पार्षद राजेंद्र त्यागी, वार्ड 65 पार्षद राजकुमार, वार्ड 28 पार्षद विभा देवी, वार्ड 16 पार्षद प्रवीण तथा अन्य पार्षदों के क्षेत्र में म्युनिसिपल कमिश्रर महेंद्र सिंह तंवर ने पहुंचकर व्यवस्थाएं सुचारू रूप से कराई। आंतरिक गलियों में नालियों की समस्या अवैध रूप से बने रैम्प की समस्या आंतरिक गलियों से जुड़े हुए नालों की समस्या,कूड़ा घर की समस्या, लाइट की समस्या तथा जन जीवन से जुड़ी गाजियाबाद नगर निगम से संबंधित समस्याओं का समाधान मौके पर कराया गया। म्युनिसिपल कमिश्रर की इस प्रकार की कार्यशैली को देखकर पार्षदों एवं आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों द्वारा आभार जताया गया। निरीक्षण के दौरान एसबीएन के नोडल अधिकारी अरूण कुमार मिश्रा, नगर स्वास्थ अधिकारी डॉ. मिथलेश, चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन, सीटीओ डॉ. संजीव सिन्हा, उद्यान प्रभारी डॉ. अनुज कुमार सिंह आदि अधिकारी मौजूद रहें।

सेना दिवस: पीएम और राष्ट्रपति ने किया नमन

सेना दिवस: कोविंद, मोदी ने सेना के शौर्य और बलिदान को ऐसे किया नमन
अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। 73वें सेना दिवस के अवसर पर शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सैनिकों को बधाई दी और सेना के शौर्य के साथ ही सैनिकों के बलिदान को याद कियें। रामनाथ कोविंद ने  ट्वीट सेना दिवस पर किया। भारतीय सेना के सभी बहादुर पुरुषों और महिलाओं को बधाई। हम उन बहादुरों को याद करते हैं। जिन्होंने राष्ट्र की सेवा में सर्वोच्च बलिदान दिया। भारत साहसी एवं प्रतिबद्ध सैनिकों, सेवानिवृत्त जवानों और उनके परिवारों का सदा आभारी रहेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा मां भारती की रक्षा में पल-पल मुस्तैद देश के पराक्रमी सैनिकों और उनके परिजनों को सेना दिवस की हार्दिक बधाई। हमारी सेना सशक्त, साहसी और संकल्पबद्ध है। जिसने हमेशा देश का सिर गर्व से ऊंचा किया है। समस्त देशवासियों की ओर से भारतीय सेना को मेरा नमन।
नड्डा ने सेना दिवस पर सैनिकों और उनके परिजनों को शुभकामनाएं दीं। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने ट्वीट कर कहा, “राष्ट्र की सुरक्षा को अपना कर्त्तव्य मानकर सर्वस्व अर्पण करने वाले वीरता, शौर्य एवं बलिदान के प्रतीक सेना के बहादुर जवानों तथा उनके परिवारों को भारतीय सेना दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। माँ भारती की सेवा में प्रतिपल समर्पित आपके त्याग और सेवा को मैं नमन करता हूं।
हर्षवर्धन ने दी सेना दिवस की बधाई...
डॉ. हर्षवर्धन ने ट्वीट किया सेना दिवस पर सभी सैनिकों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों का हार्दिक अभिनंदन। भारतीय सीमा की रक्षा और प्राकृतिक आपदाओं में नागरिकों की सहायता में अग्रणी भूमिका निभाने वाली भारतीय सेना के साहस व उनकी अमूल्‍य सेवाओं के समक्ष यह देश सदैव नतमस्तक रहेगा। शौर्य को सलाम। वर्ष 1949 में आज ही के दिन भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर के स्थान पर तत्कालीन लेफ्टिनेंट जनरल के एम करियप्पा भारतीय सेना के कमांडर इन चीफ बने थे। इसीलिए हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाता है। सेना दिवस के अवसर पर पूरा देश थल सेना की वीरता, अदम्य साहस, शौर्य और उसकी कुर्बानी को याद करता है।

ऑपरेशन, विभाग कसेगा डग्गामार वाहनों पर लगाम

अश्वनी उपाध्याय   

गाजियाबाद। सड़क पर दौड़ रहे डग्गामार वाहनों पर लगाम लगाने के लिए ऑपरेशन नकेल चलाया जा रहा है। इसी क्रम में यातायात पुलिस लगातार नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों के खिलाफ कार्यवाही कर रही है। यातायात पुलिस व उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की टीम द्वारा संयुक्त अभियान चलाकर अवैध तरीके से संचालित की जा रही तीन फर्जी रोडवेज बसों को कौशांबी बस डिपो के पास से बरामद किया गया है। वहीं उनके मालिक, चालक व परिचालक सहित कुल 7 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि जांच में सामने आया है कि उक्त अभियुक्त उत्तर प्रदेश परिवहन रोडवेज बसों की तरह ही अपनी प्राइवेट बसों पर UPSRTC का स्लोगन एवं मोनोग्राम आदि बनाकर कौशांबी रोडवेज बस डिपो के पास से सवारियों को भ्रमित करते हुए आवाज लगाकर बिठा लेते थे। यात्री सामान्यत: रोडवेज बस में बैठ जाते थे बाद में जब किराए। टिकट की जानकारी करने पर उन्हें पता चलता था कि यह रोडवेज बस नहीं है। बसों के मालिकों चालकों व परिचालकों द्वारा रोडवेज के उसी रंग रूप से संचालित पर यात्रियों को धोखा देकर इनके द्वारा उत्तर प्रदेश परिवहन निगम को आर्थिक हानि पहुंचाई जा रही थी एवं अवैध लाभ अर्जित किया जा रहा था। सभी अभियुक्त गणों के विरुद्ध थाना लिंक रोड पर मुकदमा अंतर्गत धारा 419, 420, 482 में वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।

अमेरिकी सांसद ने भारत की योजना की तारीफ की

अमेरिकी सांसद ने की भारत की इस योजना की तारीफ, बोले- ये देखकर अच्छा लगा

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के एक वरिष्ठ सांसद ने पड़ोसी देशों और दुनिया में अपने सहयोगी देशों को कोविड-19 टीके की आपूर्ति करने की भारत की योजना की सराहना की है। सांसद ब्रैड शरमन ने ट्वीट किया यह देखकर अच्छा लगा कि हमारा सहयोगी देश भारत कोविड-19 टीकों की लाखों खुराक को खरीद रहा है। और स्वदेश में निर्मित टीकों की अपने पड़ोसियों और दुनियाभर में सहयोगी देशों को आपूर्ति कर रहा है।
शरमन ने कहा भारत दुनिया में सबसे बड़े टीका निर्माता देशों में से एक है। ऐस वक्त में जब समूचे अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इसकी सख्त जरूरत है। तब भारत ने इस महामारी से निपटने में दुनिया की मदद के लिए कदम बढ़ाया है। भारत की कोविड-19 टीकों की लाखों खुराक खरीदने और नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान, सेशेल्स तथा मॉरीशस में इनकी आपूर्ति कराने की योजना है।

भूकंप: 26 लोगों की मौत, 600 से ज्यादा घायल

इंडोनेशिया फिर भूकंप से कांपा, 26 लोगों की मौत, 600 से ज्यादा घायल

जकार्ता। इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप पर आधी रात के बाद आये तेज भूकंप के कारण हुये भूस्खलन की वजह से कई लोगों को रात के अंधेरे में अपना घर छोड़ना पड़ा। भूकंप एवं भूस्खलन की घटना में 26 लोगों की मौत हो गयी है। जबकि 600 से ज्यादा घायल हुए हैं। बचावकर्मी अब भी घायलों की तलाश कर रहे हैं।
राष्ट्रीय आपदा शमन एजेंसी की ओर से जारी की गई। एक वीडियो में एक बच्ची एक घर के मलबे में फंसी और मदद की गुहार लगाती नजर आ रही है। बच्ची यह भी कहती दिखी कि उसकी मां जिंदा है। लेकिन बाहर नहीं निकल पा रही। वहीं बचावकर्मियों ने उससे कहा कि वह उसकी मदद करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।
टीवी चैनलों की खबर के अनुसार भूकम्प से एक अस्पताल का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया और मरीजों को बाहर अस्थायी आपात तंबुओं में पहुंचाया गया। अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे ने बताया कि करीब दो हजार लोगों को कई अस्थायी आश्रय स्थलों में रखा गया है। उसने बताया कि शुक्रवार तड़के आए भूकंप की तीव्रता 6.2 थी। इसका केन्द्र पश्चिम सुलावेसी प्रांत के मामुजु जिले में 18 किलोमीटर की गहराई में था। इसी क्षेत्र में बृहस्पतिवार को समुद्र के अंदर 5.9 की तीव्रता का भूकंप आया था।

फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, पांच शातिर अरेस्ट

देहरादून- एसटी एफ को मिली बड़ी कामयाबी, इंटरनेशनल कॉल सेंटर का खुलासा, ऐसे करते थे काम...
पंकज कपूर
देहरादून। उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने वसंत विहार इलाके में एक इंटरनेशनल कॉल सेंटर का भंडाफोड़ करते हुए पांच शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से भारी मात्रा में कंप्यूटर मोबाइल सहित अन्य उपकरण भी जप्त किए हैं। शुरुआती दौर में यह पता चला है कि यह कॉल सेंटर विदेशों में बैठे बुजुर्गों को अपनी ठगी का शिकार बनाता था यही नहीं स्पेशल टास्क फोर्स को इस कॉल सेंटर के जरिए करोड़ों की ट्रांजैक्शन का पता चला है। एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि एक सीनियर सिटीजन की शिकायत पर जब स्पेशल टास्क फोर्स द्वारा जांच की गई तो इन शातिर ठगों तक पुलिस पहुंची और रात भर चले ऑपरेशन के बाद दिल्ली से चार और एक अन्य को गिरफ्तार किया गया है। यह शातिर थक विदेशों व दिल्ली मुंबई जैसे बड़े शहरों में बुजुर्गों को ठगी का शिकार बनाते थे। इनके पास से लगभग ₹4 लाख कैश और करोड़ों रुपए के ट्रांजैक्शन का भी पता चला है। फिलहाल अभी इन्वेस्टिगेशन जारी रहैगा।

विश्व में कोरोना से 9.30 करोड़ लोग संक्रमित

विश्व में कोरोना से 9.30 करोड़ लोग संक्रमित, अब तक इतने लोगों ने गंवाई जान

वाशिंगटन डीसी। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप कम नहीं हो रहा है और विश्वभर में अब तक 9.30 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हो चुके हैं। जबकि 19.92 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक विश्व के 191 देशों में कोरोना वायरस से अब तक नौ करोड़ 30 लाख 51 हजार 654 लोग संक्रमित हुए हैं। तथा 19 लाख 91 हजार 997 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं। कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 2.33 करोड़ हो गयी है। जबकि 3.88 लाख से अधिक मरीजों की मौत हुई है। भारत में संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ पांच लाख 27 हजार से अधिक हो गया। कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या एक करोड़ एक लाख 62 हजार 738 हो गयी है। जबकि मृतकों का आंकड़ा 1,51,918 हो गया है। ब्राजील में कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 83.24 लाख से ज्यादा हो गयी है जबकि इस महामारी से 2.07 लाख से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है। रूस में कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या 34.59 लाख हो गयी है जबकि 63,016 लोगों की मौत हो गई है। ब्रिटेन में 32.69 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 86,163 लोगों की मौत हुई है। फ्रांस में करीब 29.10 लाख लोग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं और 69,452 मरीजों की मौत हाे चुकी है। तुर्की में कोविड-19 से अब तक करीब 23.65 लाख लोग प्रभावित हुए हैं तथा 23,495 लाेगों की मौत हुई है। इटली में अब तक 23.36 लाख से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं और 80,848 लोगों की मौत हो चुकी है। स्पेन में इस महामारी से अब तक करीब 22.12 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 53,079 लोगों की मौत हुई है।
जर्मनी में इस वायरस की चपेट में 20.04 लाख से ज्यादा लोग आ चुके हैं तथा 44,672 लोगों की मौत हुई है। कोलंबिया में इस जानलेवा वायरस से अब तक 18.49 लाख लोग संक्रमित हुए हैं। तथा 47,491 लोगों ने जान गंवाई है। अर्जेंटीना में कोविड-19 से 17.70 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं तथा 45,125 लोगों की मौत हो चुकी है। मेक्सिको में कोरोना से करीब 15.72 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और लगभग1.38 लाख लोगों की मौत हो चुकी है।
पोलैंड में संक्रमण के 14.14 मामले सामने आए हैं तथा 32,456 लोगों की मौत हो गई है। ईरान में इस महामारी से अब तक करीब 13.12 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 56,538 लोगों की मौत हो गई है। दक्षिण अफ्रीका में करीब 12.97 लोग प्रभावित हुए हैं। तथा 35,552 लोग काल के गाल में समा गए हैं। यूक्रेन में 11.75 लाख से ज्यादा लाेग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं जबकि 21,300 लोगों की मौत हो चुकी है।
पेरू में इस वायरस से अब तक 10.40 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 38,399 लोगों की मौत हो चुकी है। नीदरलैंड में कोरोना से 9.08 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं तथा 12,875 लोगों की मौत हुई है। इंडोनेशिया में संक्रमितों की संख्या 8.69 लाख हो गयी है और मृतकों का आंकड़ा 25,246 तक पहुंच गया है। चेक गणराज्य में कोरोना से अब तक 8.66 लाख लोग प्रभावित हुए हैं तथा 13,856 लोगों की मौत हुई है। कनाडा में अब तक 6.99 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं। जबकि 17,559 लोगों की मौत हुई है। रोमानिया में कोरोना से करीब 6.85 लाख लोग संक्रमित हुए हैं। जबकि 17,035 लोगाें की मौत हो चुकी है।
बेल्जियम में करीब 6.70 लाख लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 20,294 लोगाें की मौत हो चुकी है। चिली में कोविड-19 से 6.56 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 17,294 लोगों ने जान गंवाई है। इराक में संक्रमितों की संख्या 6.06 लाख और मृतकों का आंकड़ा 12,922 तक पहुंच गया है। इजरायल में इस महामारी से करीब 5.30 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। और 3,870 लोगों की जान जा चुकी है।बंगलादेश में संक्रमितों की संख्या 5.25 लाख को पार कर गयी है। और 7849 लोगों की मौत हो चुकी है।
स्वीडन में इस महामारी से 5.12 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 9,834 लोगों की मौत हुई है। पुर्तगाल में कोरोना में 5.17 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 8384 लोगों की मौत हो चुकी हैं।पाकिस्तान में कोरोना से अब तक करीब 5.12 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 10,863 लोगों की मौत हो चुकी है। फिलीपींस में 4.94 लाख लोग इसकी चपेट में हैं तथा 9739 लोगों की मौत हो चुकी है। स्विट्ज़रलैंड में इस महामारी से करीब 4.93 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और 8586 लोगों की मौत हो चुकी है।
मोरक्को में इस महामारी से 4.56 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और 7884 लोगों की जान जा चुकी है। ऑस्ट्रिया में कोरोना से 3.89 लाख लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 6921 लोगों की मौत हो चुकी हैं। सऊदी अरब में कोरोना से 3.64 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 6310 लोगों की मौत हो चुकी हैं। कोरोना वायरस से इक्वाडोर में 14,246, बोलीविया में 9530, मिस्र में 8421, ग्वाटेमाला में 5151 तथा चीन में 4,796 लोगों की मौत हो चुकी है।

ऐलान: यूपी और उत्तराखंड में चुनाव लड़ेगी 'बसपा'

मायावती का ऐलान- यूपी और उत्तराखंड में अकेले चुनाव लड़ेगी बसपा

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती ने शुक्रवार को कहा कि अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के विधानसभा चुनावों में उनकी पार्टी किसी दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी और अपने दम पर सरकार बनाएगी। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने जन्मदिन के मौके पर केंद्र सरकार से यह आग्रह भी किया कि वह सभी नागरिकों को मुफ्त में टीका लगाए जाने की सुविधा प्रदान करे तथा तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने समेत किसानों की सभी मांगें भी स्वीकार करे। मायावती आज 65 साल की हो गईं। उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं और समर्थकों से ‘जनकल्याणकारी दिवस’ के रूप में उनका जन्मदिन मनाने की अपील की। जन्मदिन के मौके पर उन्होंने अपनी पुस्तक ‘मेरे संघर्षमय जीवन और बीएसपी मूवमेंट का सफरनामा’ का विमोचन भी किया।
उन्होंने एक बयान में कहा, ”उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जल्द विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। बसपा इन दोनों राज्यों में किसी भी दल के साथ किसी तरह का चुनावी समझौता नहीं करेगी। इसका मतलब यह है कि बसपा इन दोनों राज्यों में सभी सीटों पर अपने दम पर चुनाव लड़ेगी और सरकार बनाएगी।”
बसपा प्रमुख ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में पहले के सपा और कांग्रेस के शासनकाल तथा अब भाजपा के शासनकाल को भी लोग पसंद नहीं कर रहे हैं। वे बसपा को मौका देना चाहते हैं। उत्तराखंड में भी यही स्थिति है। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में अगले साल फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है। दोनों राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं।
उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया, ”विरोधी पार्टियों ने तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर बसपा को सत्ता में आने से रोका है। अब तो ये पार्टियां ख्ररीद-फरोख्त करके और पर्दे के पीछे से दूसरे संगठन बनवाकर कमजोर वर्गों के वोट बांट रही हैं। ये पार्टियां अंग्रेजों की तरह से ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति पर चलकर गरीबों और कमजोरों पर राज करती आ रही हैं।
मायावती ने कहा, ”हमें गरीबों, कमजोरों और उपेक्षित वर्गों के वोटों को बंटने नहीं देना है। हमें इन वर्गों को फिर साथ करके सत्ता हासिल करनी है। 2003 के अनुभवों से प्रेरणा लेकर बसपा को फिर से सत्ता में आना है। उस समय की मेहनत का नतीजा था कि 2007 में बसपा की बहुमत की सरकार बनी थी। उसी तरह से एक बार फिर सत्ता प्राप्त करनी है।” उन्होंने कहा, ”अगर कार्यकर्ता मेहनत करके उत्तर प्रदेश और दूसरे राज्यों में बसपा की सरकार लाते हैं तो यही मेरे जन्मदिन का तोहफा होगा।”
किसान आंदोलन का उल्लेख करते हुए उन्होंने केंद्र से आग्रह किया, ”सरकार को तीनों कानूनों को वापस लेने समेत किसानों की सभी मागों को स्वीकार करना चाहिए।” मायावती ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार की ओर से सबको कोरोना का टीका मुफ्त लगाया जाना चाहिए और अगर वह ऐसा नहीं करती है तो फिर राज्य सरकारों को लोगों को यह सुविधा देनी चाहिए। उन्होंने कहा, ”अगर उत्तर प्रदेश में टीके की सुविधा मुफ्त में नहीं दी जाती है। तो हमारी सरकार बनने के बाद लोगों को मुफ्त में टीका लगाया जाएगा।

आंदोलन बढ़ने से सरकार की हलचल ज्यादा हुई

राणा ओबराय
चंडीगढ़। किसान आंदोलन को लेकर इन दिनों हरियाणा सरकार में कुछ ज्यादा हलचल मची हुई है। पहले अमित शाह के पास मुलाकात के लिए जजपा विधायक गये और चंडीगढ़ में लंच दिया गया। सरकार बचाने के लिए या यह कहे अपनी कुर्सी बचाने के लिए निर्दलीय विधायकों को चौ. रणजीत सिंह चौटाला ने लंच दिया। सरकार में बैठे मंत्री को लंच डिप्लोमेसी की जरूरत क्यों आन पड़ी। क्या सरकार में सब कुछ ठीक नही चल रहा है? हरियाणा कांग्रेस किसान अधिकार दिवस मना रही है और राज्यपाल से सत्र बुलाने का आग्रह कर चुकी है। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा कह रहे हैं कि खुद गिरती है जन भावनाओं के खिलाफ चलने वाली सरकार। दीपेंद्र सिंह हुड्डा कह रहे हैं कि सरकार किसानों के हित की तरफ ध्यान दे। सैलजा बाॅर्डरों पर जाकर किसानों के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रही है। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत का भी दर्द छलक उठा और वे कह रहे हैं कि सरकार बनाने में हमारा योगदान है। लेकिन हमारे लोगो को पूरा महत्व मिल नहीं रहा। इधर जजपा विधायकों रामकुमार गौतम और जोगीराम सोहाग के घरों के बाहर प्रदर्शन यह दबाब बनाने के लिए कि छोड़ दो किसानों के हक में लड़ने के लिए विधायक पद। वैसे रामकुमार गौतम के सुर सरकार बनने के बाद से ही सरकार के खिलाफ हैं। जोगीराम ने चेयरमैन बनने से इनकार कर दिया। ये किसानों के पक्ष में ही खड़े दिखाई दे रहे हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा के कार्यक्रमों के विरोध को देखते हुए यह आदेश जारी हुए हैं कि पंचायतों का आयोजन स्थगित कर दिया जाये। जब जनता गाड़ियों के काफिले पर डंडे मारने लगी तो यही सही कदम है। यही है राइट च्वाइस नेता। गंगवा के लिए गांवों में हुक्का पानी बंद करने के पोस्टर भी लग गये हैं। भाजपा में शामिल होने के बावजूद वरिष्ठ नेता प्रो सम्पत सिंह और,उनके बेटे गौरव सिंह की बोली किसानों के पक्ष में है और गौरव तो एक टाॅल प्लाजा पर जाकर किसानों का समर्थन भी कर आए हैं। यह भी राइट च्वाइस बेबी कहने को दिल कर रहा है। वैसे सम्पत सिंह यह महसूस करने लगे हैं कि शायद इस समय भाजपा छोड़ने में ही भलाई है पर यह कदम कब उठायेंगे? कही सम्प्पत सिंह को देर न हो जाये! केन्द्र सरकार बातचीत के अगले दौर में प्रवेश कर रही है जिससे कोई हल निकलने की उम्मीद अब भी नहीं है। कमेटी सदस्य भूपेंद्र मान ने कमेटी में शामिल होने से इंकार कर दिया है। यह किसानों के लिए शुभ संकेत है।

चंडीगढ़-हिसार के बीच हवाई सेवा की शुरुआत

राणा ओबराय
हरियाणा में हवाई सेवाओं की दिशा में आज एक नए अध्याय की हुई शुरुआत: सीएम खट्टर

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट से चंडीगढ़ और हिसार के बीच हवाई सेवा की शुरुआत की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर इस उड़ान के पहले यात्री को बोर्डिंग पास दिया एवं हवाई पट्टी पर जाकर जहाज के बारे में जानकारी ली। यह सेवा एयर टैक्सी एविएशन कम्पनी ने शुरू की है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में हवाई सेवाओं की दिशा में आज एक नए अध्याय की शुरुआत हुई है। उन्होंने कहा कि आज मकर संक्रांति के शुभ दिन चंडीगढ़ से हिसार हवाई सेवा शुरु होने पर मैं सभी को शुभकामनाएं एवं बधाई देता हूँ। एयर टैक्सी कम्पनी ने चार सीटर हवाई जहाज मंगाए हैं। इसमें एक समय में पायलट के अलावा तीन लोग यात्रा कर सकेंगे। इस हवाई जहाज से चंडीगढ़ से हिसार की दूरी 45 मिनट में तय की जा सकेगी। यह सेवा भारत सरकार की ‘उड़ान’ स्कीम के तहत शुरू हुई है। इस स्कीम की शुरुआत प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने की थी जिनका सपना है कि हवाई चप्पल वाला भी हवाई यात्रा करे। ‘उड़ान’ स्कीम के तहत शुरू हुई यह विमान सेवा प्रधानमंत्री के सपने को साकार करेगी। उन्होंने कहा कि कम्पनी ने हिसार से चंडीगढ़ तक के लिए 1755 रुपये का बहुत ही किफायती किराया तय किया है। इसकी बुकिंग http://flyairtaxi.in पर ऑनलाइन हो सकेगी। कम्पनी ने प्राइवेट बुकिंग की सुविधा भी रखी है जिसका किराया अलग होगा। हिसार से चंडीगढ़ के बीच हर रोज आवागमन की एक उड़ान निर्धारित समय पर होगी भले ही एक यात्री ने बुकिंग कराई हो। आज से चंडीगढ़-हिसार हवाई सेवा की शुरुआत करने के बाद कम्पनी 18 जनवरी, 2021 से हिसार से देहरादून और 23 जनवरी, 2021 को हिसार से धर्मशाला के लिए हवाई सेवा शुरू करेगी।

गोपाल ने मलाकराज-बैरहना इलाके का भ्रमण किया

बृजेश केसरवानी
प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के नागरिक उडडयन, अल्पसंख्यक कल्याण, राजनीतिक पेंशन हज एवं वक्फ विभाग मंत्री श्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने अपने शहर दक्षिणी विधान सभा क्षेत्र के मलाकराज और बैरहना इलाके का भ्रमण किया। बूथ अध्यक्षों व सेक्टर संयोजक के आवास पर जाकर उनसे मुलाकात की। विधायक, मंत्री से अपनी बात कहने में झिझकने वाले लोगों ने मंत्री नन्दी को पकड़ पकड़ कर परिवार के मुखिया की तरह अपनी समस्याएं बताई। मंत्री नन्दी ने कई स्थानों पर बैठ कर अपने हाथों से लोगों की समस्याएं नोट की। संबंधित अधिकारियों से तत्काल मोबाइल पर वार्ता कर समस्याओं के निस्तारण का निर्देश दिया। बूथ अध्यक्षों व सेक्टर संयोजकों के साथ परिवार के सदस्यों ने मंत्री नन्दी का अपने घर पर जोरदार स्वागत किया। मंत्री नन्दी ने शुक्रवार को मलाकराज में रेखा यादव, नीलेश केसरवानी, सनी सोनकर, राधिका कुमारी, अमर सिंह, दिलीप केसरवानी, मनीष त्रिवेदी, रमेश केसरवानी के आवास पर वहीं बैरहना में अमर बहादुर, अमरेन्द्र प्रताप सिंह, संतोष दुबे, मंजू देवी, राजीव वर्मा के आवास पर जाकर लोगों से मुलाकात की। मंत्री नन्दी ने कहा कि पार्टी के एक एक कार्यकर्ता का परिवार उनके परिवार की तरह है। लोगों की समस्याओं का समाधान करने का हर संभव प्रयास किया जाएगा।

आयोजन की तैयारियों के सम्बंध में बैठक सम्पन्न

मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में मण्डलीय फल, शाक-भाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी के आयोजन की तैयारियों के सम्बंध में बैठक सम्पन्न
बृजेश केसरवानी
प्रयागराज। मण्डलायुक्त रमेश कुमार शुक्रवार को कार्यालय कक्ष में मण्डलीय फल, शाक-भाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी के आयोजन की तैयारियों के सम्बंध में बैठक की। बैठक में चन्द्रशेखर आजाद पार्क की उद्यान अधीक्षिका सीमा सिंह ने मण्डलीय फल, शाकभाजी पुष्प् प्रदर्शनी के बारे में मण्डलायुक्त को जानकारी देते हुए बताया कि प्रदर्शनी का आयोजन 1975 से किया जाता रहा है। जिसके क्रम में इस वर्ष यह आयोजन 20 एवं 21 फरवरी, 2021 को कराया जाना प्रस्तावित है। प्रदर्शनी को कुल 22 विभागों में बाटा गया है। जिसमें गमलों में लगे मौसमी फूल, शोभाकार हरे भरे पौध, कैक्टस, शाकभाजी, फल, बंगला उद्यान आदि की प्रतियोगिता होती है। इसी क्रम मेें बंगला उद्यान प्रतियोगिता होती है। जो पुष्प प्रदर्शनी से 10-12 दिन पहले आयोजित की जाती है। जिसके क्रम में यह प्रतियोगिता दिनांक 13, 14 व 15 फरवरी, 2021 को किया जाना प्रस्तावित है। प्रदर्श प्रतियोगिता में विभिन्न वर्गों में गमलों में लगे पुष्प, कट फ्लावर, फल, शाकभाजी आदि के प्रदर्श आते है। जिनकी जजिंग विशेज्ञनोें द्वारा की जाती है। विजेताओं को पुष्प प्रदर्शनी के दूसरे दिन पुरस्कृत किया जाता हैै। मण्डलायुक्त ने कोविड-19 के गाइडलाइन का पूर्णतः अुनपालन कराते हुए व्यवस्थित ढंग से प्रदर्शनी का आयोजन कराने के लिए कहा है। मण्डलीय पुष्प प्रदर्शनी का उद्देश्य पुष्प कृषकों, बागवानों एवं पुष्पों में अभिरूचि रखने वाले नागरिकों के लिए अपने सर्वश्रेष्ठ उत्पाद प्रदर्शित करने के साथ ही साथ वैचारिक अदान-प्रदान एवं तकनीकी स्थानातरण का महत्वपूर्ण अवसर प्रदान करती है। प्रदर्शनी में प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत किये जाने से जहां एक ओर उनमें प्रतिस्पर्धा का भाव उत्पन्न होता है। वहीं दूसरी ओर दर्शकों को नवीनतम जानकारी प्राप्त होती है। इस अवसर पर पीडीए के सचिव श्री दयानंद प्रसाद सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारीणग उपस्थित रहे।

श्रद्धालुओं के लिए 'खिचड़ी' प्रसाद की व्यवस्था की

बृजेश केसरवानी
प्रयागराज। जनपद की अतिथिदेवोभव: एवं गंगा-यमुनी तहजीब की परम्परा के अनुरूप गुरूवार को मकर संक्रांति स्नान पर्व पर अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार एशोसिएशन की ओर से ट्रांसपोर्ट नगर चौराहे पर श्रद्धालुओं के लिए खिचड़ी प्रसाद की व्यवस्था की गयी।  कोविड-19 की गाइड लाइन अनुपालन कराते हुए मास्क लगाकर एवं लाइन में दो गज की दूरी बनाकर लोगों को खिचड़ी प्रसाद एवं वितरण अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार एशोसिएशन के चेयरमैन सुरेश सिंह तोमर व महानगर अध्यक्ष महेन्द्र नाथ सिंह,अमित कुशवाहा,संतोष सिंह, सुधीर वर्मा ,प्रदीप केसरवानी , विदेश प्रकोष्ट हसन नकवी,श्रमती अनीता के साथ सभी कर्मचारियों  ने मिलजुलकर श्रद्धालुओं को खिचड़ी प्रसाद एवं मास्क सेनिटाइजर वितरित किया। इस अवसर पर चेयरमैन सुरेश सिंह तोमर ने कोरोना काल पर चर्चा करते हुए सभी सदस्यों प्रदाधिकरियों को कोविड-१९ के पालन व मास्क और सोशल डिस्टेसिंग के पालन करने के निर्देश दिये और शपथ ग्रहण व राष्ट्रीय गान के साथ अपनी बात को समाप्त किया। मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर महानगर अध्यक्ष महेन्द्र नाथ सिेह ने कहा कि प्रयाग की गौरवमयी परम्परा अतिथिदेवोभव: की रही है। शुक्रवार से से नही अनादि काल से रही है। इसी परम्परा को जीवंत बनाये रखने के उद्देश्य से माँ त्रिवेणी की गोद में आये हुए सभी श्रद्धालुओं का अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार एशोसिएशन और हमारी प्रयागराज की पूरी टीम उनका स्वगत करती है। आए हुए श्रद्धालुओं से अपील करते है कि मास्क जरूर लगाएं, और दो गज दूरी का पालन जरूर करें। कार्यक्रम के अयोजन दिनेश केसरवानी ने हर वर्ष करी तरह इस वर्ष भी खिचड़ी प्रसाद की व्यवस्था का अयोजन किया और इस मौके पर महामंत्री लल्लन मिश्रा,सैन्य प्रकोष्ठ अध्यक्ष  इन्द्रजीत राय व युवा प्रकोष्ट अध्यक्ष अभिनव केसरवानी, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष हर्षिता गुप्ता तथा अन्य सैकेडों लोग उपस्थित रहे।

शामली: मंदिर-कॉलेजो में मकर संक्रांति का पर्व

भानु प्रताप उपाध्याय
शामली। अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान से सम्बद्ध सरस्वती विद्या मन्दिर, इण्टर काॅलिज, शामली में मकर संक्रान्ति का पर्व बड़े हर्ष एवं उल्लास के साथ मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के प्रधानाचार्य आनन्द प्रसाद शर्मा ने की। कार्यक्रम का संचालन आचार्य नीटू कश्यप ने किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ सरस्वती वन्दना से हुआ। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आचार्य प्रीतम सिंह प्रीतम ने मकर संक्रान्ति को समरसता का एक बड़ा पर्व मानते हुए ‘‘भेदभाव मिटाइये, धर्म को बचाइये‘‘ कविता पाठ करके सभी का मन मोह लिया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता सोमदत्त आर्य ने मकर संक्रान्ति के पौराणिक, वैज्ञानिक, सामाजिक महत्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि यह भारत विविध मान्यताओं को मानने वाला देश है। यहाँ मनाया जाने वाला प्रत्येक त्यौहार अपने आप में कोई न कोई शिक्षा देने वाला है। मकर संक्रान्ति पर्व भी नकारात्मकता से सकारात्मकता का सन्देश देता है जो जीवन का आधार है जिसे हमें अपनाना चाहिए। कार्यक्रम में संस्था के प्रधानाचार्य आनन्द प्रसाद शर्मा ने भी छात्रों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम समरसता के परिचायक रहे, उन्होंने भेदभाव को छोडकर छोटे बड़ों को साथ लेकर, भिलनी के भावपूर्ण झूठे बेर खाकर पूरे मानव समाज को मानवता का संदेश दिया जो हम सबके लिए अनुकरणीय है। कार्यक्रम के पश्चात् सभी ने खिचड़ी के प्रसाद का सहभोज किया। 
इस अवसर पर मुख्य रूप से संस्था के उपप्रधानाचार्य मलूक चन्द, अर्पित कुमार (नगर विस्तारक- राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ), अशोक कुमार, महेन्द्र सिंह, पवन कुमार, अंकुर कुमार, मधुबन शर्मा, पुष्पेन्द्र शर्मा, योगेन्द्र सैनी, सुखदेव सैनी, अक्षय कुमार, सचिन कुमार, अंकित भार्गव सहित समस्त आचार्य उपस्थित रहे। 

श्रीराम मंदिर निर्माण, रिद्धि-सिद्धि ने 5 लाख दिए

विधायक संजय गुप्ता की बेटियां रिद्धि-सिद्धि ने 5 लाख रुपए मंदिर निर्माण हेतु किया दान

कौशाम्बी। अयोध्या में बन रहें प्रभु श्रीराम के मंदिर के लिए धन संग्रह का कार्य से प्रारंभ हुआ। इस संबंध में एक महत्वपूर्ण बैठक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचारक आदरणीय रमेश एवं भाजपा के प्रदेश सह संगठन मंत्री भवानी सिंह ने विधायक चायल संजय कुमार गुप्ता के आवास से शुरुआत किया। प्रभु श्रीराम की भव्य मंदिर के निर्माण में सर्वप्रथम चायल विधायक संजय कुमार गुप्ता की बेटियां रिद्धि और सिद्धि ने 5 लाख रुपए की धनराशि मंदिर निर्माण हेतु दान किया। विधायक चायल संजय गुप्ता ने कहा 500 वर्ष के संघर्ष के बाद प्रभु श्री राम के मंदिर का निर्माण हो रहा है। यह हम सब का सौभाग्य है, हमें भी मंदिर निर्माण रूपी अनुष्ठान में आहुति करने का अवसर प्राप्त हो रहा है। मेरी देवी स्वरूपा बेटी रिद्धि और सिद्धि के पवित्र हाथों से उनके नाम का यह दान प्रदान किया जा रहा है। अभी इसके अलावा भी मैं अपने नाम से और अपने विधानसभा रूपी परिवार से भी दान संग्रह करके इस मंदिर के निर्माण में अपने विधानसभा का योगदान प्रस्तुत करूंगा। इस अवसर पर भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री एवं कौशांबी सांसद विनोद सोनकर फूलपुर की सांसद केसरी देवी पटेल, विधायक विक्रमाजीत मौर्य, हर्षवर्धन बाजपेई, प्रवीण पटेल, डॉ. अजय भारती, लाल बहादुर शीतला प्रसाद, श्रीमती नीलम करवरिया वा पूर्व विधायक दीपक पटेल मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन जिलाध्यक्ष श्रीमती अनीता त्रिपाठी और जिला अध्यक्ष गणेश केसरवानी ने किया।
गणेश साहू 

थाने में महिला की फरियाद पर कार्रवाई नहीं हुई

अतुल त्यागी, प्रवीण कुमार
हापुड़। एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सभी थानों में मिशन शक्ति अभियान चलाकर महिला हेल्प टैक्स का आयोजन कर आ चुके हैं। ताकि महिलाओं को अपनी परेशानी बताने में कोई झिझक ना हो। लेकिन जनपद के धौलाना थाने में अपनी फरियाद लेकर पहुंची महिला कार्रवाई से निराश होकर रोती हुई इस्पेक्टर के हाथ जोड़कर नीचे जमीन पर रोते हुए बैठ गई। घंटों एप्लीकेशन देने के बाद भी महिला की कोई कार्यवाही नहीं हुई। उसी दौरान सारा मामला मीडिया कर्मी ने अपने कैमरे में कैद कर लिया। जब इस संबंध में थाना इंचार्ज से बात की गई तो थाना इंचार्ज ने कार्रवाई का आश्वासन देते हुए पल्ला झाड़ लिया देखना यह है। महिला को न्याय मिलेगा या कागजों में सिमट कर रह जाएंगे महिला के आंसू।

असफलता: किसान व सरकार फिर आमने-सामने

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। देश में कृषि सुधार के लिए पारित तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनकारी किसानों के साथ आज सरकार फिर बातचीत हो रही है। केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच नौवें दौर की बातचीत जारी है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा विशेषज्ञ समिति को लेकर जारी विवाद के बीच आज ये बैठक हो रही है। कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के मुताबिक अब तक किसी भी प्रस्ताव पर सहमति नहीं बन पाई है। फिलहाल लंच ब्रेक के बाद किसानों और सरकार के बीच बातचीत दोबारा चल रही है। इससे पहले सरकार और किसान संगठनों के बीच आठ दौर की बातचीत हो चुकी है। आठ जनवरी को आठवें दौर की वार्ता में भी कोई हल नहीं निकल सका था। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि सरकार खुले मन से बैठक में शामिल होगी और किसानों की शंकाओं को दूर करेगी।
केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा है कि सरकार और किसानों के बीच तीनों कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए चल रही बैठक में लंच तक किसी भी प्रस्ताव पर सहमति नहीं बन पाई है। ब्रेक के बाद न्यूनतम समर्थन मूल्य(एमएसपी) गारंटी अधिनियम पर चर्चा की जाएगी। दिल्ली के विज्ञान भवन में किसान नेताओं और सरकार के बीच हुई बातचीत में लंच ब्रेक हुआ है। किसान नेता फिलहाल लंच कर रहे हैं। दिल्ली के विज्ञान भवन में किसान नेताओं और केंद्र सरकार के बीच 9वें दौर की बैठक शुरू हो गई है। इस बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और सोमप्रकाश मौजूद हैं।केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर जल्द ही कृषि कानूनों पर किसानों के साथ बातचीत करने के लिए विज्ञान भवन पहुंचे। यहां पहुंचने से पहले कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से बातचीत से पहले कहा कि सरकार, किसानों के आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत करती है। सरकार समिति (न्यायालय द्वारा नियुक्त) के समक्ष अपने विचार रखेगी। हम बातचीत के जरिए मुद्दे को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं। किसान नेता नए कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार के साथ नौवें दौर की बातचीत करने के लिए विज्ञान भवन पहुंच गए हैं। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार को तीन कानूनों को रद्द करने और एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी देने की योजना तैयार करने की आवश्यकता है।
अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हन्ना मोल्ला ने कहा है कि हम बहुत उम्मीद नहीं करते हैं, सरकार के साथ अंतिम दौर की वार्ता विफल रही और अब उन्हें अदालत से सहायता प्राप्त करने का अवसर मिला है। मुझे लगता है कि सरकार चर्चाओं को आगे बढ़ाने वाली नहीं है। 3 खेती कानूनों पर और सुधार का कोई मौका नहीं है। टिकरी बॉर्डर पर आज 51वें दिन भी कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि सरकार के साथ हमारी पहले भी 8 बार बैठक हो चुकी है, जिसमें कोई हल नहीं निकला। किसानों को उम्मीद नहीं है कि इस बार भी बैठक में कुछ निकलेगा।

पोस्टर विवाद, मैडम चीफ मिनिस्टर ने दी सफाई

कविता गर्ग  
मुम्बई। अदाकारा ऋचा चड्डा ने अपनी आने वाली फिल्म ‘मैडम चीफ मिनिस्टर’ के पोस्टर को लेकर हुए विवाद पर सफाई दी और इसे ”अनजाने में हुई चूक” बताया। ऋचा की आने वाली फिल्म का एक पोस्टर पांच जनवरी को जारी किया गया था, जिसमें दलित समुदाय को रूढ़िवादी धारणा के तहत दिखाने की सोशल मीडिया पर कई लोगों ने काफी आलोचना की थी। ऋचा पोस्टर में हाथ में झाड़ू लिए नजर आ रही थीं। वहीं उस पर ‘अनटचेबल, अनस्टॉपेबल’ भी लिखा था।कई लोगों ने पोस्टर ‘अनटचेबल’ (अछूत) शब्द को लेकर भी आपत्ति जतायी थी। अदाकारा ने कहा कि फिल्म में काम करते समय उन्होंने काफी कुछ सीखा। ऋचा ने एक बयान में कहा, ” फिल्म के पहले पोस्टर की काफी आलोचना हुई, वह भी सही कारणों की वजह से… मेरे लिए वह केवल किरदार द्वारा इस्तेमाल किया गया, एक सामान था, जोकि कई लोगों को दलित समुदाय को लेकर बनी हुई रूढ़िवादी धारणा को प्रतिबिंबित करने वाला दिखा।”

उन्होंने कहा कि तुरंत ही गलती का एहसास कर लिया गया और अगले दिन ही एक नया पोस्टर जारी किया गया। उन्होंने कहा, ” यह खेदजनक और पूरी तरह से अनजाने में हुई एक चूक थी, किसी ने जानबूझकर ऐसा नहीं किया। हम माफी चाहते हैं।”

3 फुट 3 इंच की आईएएस, मुकाम हासिल किया

राणा ओबरॉय  
चंडीगढ़। आप में अगर कुछ कर दिखाने का जज्बा है तो किसी भी तरह की चुनौती आप को रोक नहीं सकती। मुसीबतें चाहे जितनी भी हों लेकिन वो इंसान कुछ कर गुजरता है जिसके सपने बड़े होते हैं। ऐसी ही एक प्रेरणादायक कहानी है। आईएएस आरती डोगरा की जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर वो मुकाम हासिल किया। जिसे आज हर कोई सलाम करता है |कद तीन फुट तीन इंच होने के चलते आरती डोगरा ने वो सब कर दिखाया जो लोगों की मानसिकता को बदलकर रख देगा। दरअसल, उत्तराखंड के देहरादून में जन्मी आरती डोगरा का जन्म एक पढ़े-लिखे परिवार में हुआ। उनके पिता राजेंद्र डोगरा भारतीय सेना में कर्नल के पद पर कार्यरत हैं और मां कुमकुम डोगरा एक स्कूल में प्रधानाध्यापिका हैं। शादी के बाद उनके घर में पहली बेटी के रूप में आरती डोगरा ने जन्म लिया लेकिन जन्म के दौरान डॉक्टरों ने कहा था कि शारीरिक रूप से आरती कमजोर है। जिसके बाद माता पिता ने फैसला लिया कि वो दूसरे बच्चे को जन्म ना देकर आरती का ही अच्छे तरीके से पालन पौषण करेंगे। उम्र बढ़ने के साथ-साथ आरती डोगरा का कद नहीं बढ़ पा रहा था जिसके चलते आसपास से गुजरने वाले लोग उन्हें देखकर मजाक बनाते थे लेकिन आरती ने अपने सपने काफी बड़े और ऊंचे रखे थे। उन्होंने ऐसे लोगों से दूरी बनाई और जीवन में कुछ करने की ठानी। आरती ने अपनी स्कूली शिक्षा देहरादून के ही वेल्हम गर्ल्स स्कूल से की। आरती पढ़ाई में शुरू से ही अच्छी रही और ग्रेजुएशन के लिए दिल्ली गई जहां उन्होंने लेडी श्रीराम कॉलेज कार्मस में दाखिला लिया और अर्थशास्त्र में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की। 
ग्रेजुएशन के बाद यूपीएससी पास करने का सपना
अपने सपनों को पूरा करते हुए आरती डोगरा ने कभी अपने कद को सफलता के आड़े नहीं आने दिया और ग्रेजुएशन के बाद यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी शुरू की दी। दिन रात मेहनत कर 2006 में पहली ही बार में आईएएस की परीक्षा पास कर ली और लोगों के मुंह बंद कर अपने माता-पिता का मान बढ़ाया। आरती डोगरा की इस उपलब्धि से परिवार में खुशी की लहर दौड़ पड़ी और छोटी सोच रखने वाले के लिए एक चुनौती बनी। 
आईएएस बनने के बाद लोगों की सेवा में आरती डोगरा जुट गई और उनकी पोस्टिंग बीकानेर में हुई जहां उन्होंने लोगों की सेवा करते हुए बंका बिकाणों अभियान चलाया और लोगों से इस अभियान का हिस्सा बनने की अपील की। आरती डोगरा ने लोगों से अनुरोध किया कि वो स्वच्छता बनाने के लिए खुली जगहों में शौच ना करें और कूड़ेदान का उपयोग कर अपने इलाके को स्वच्छ बनाएं। इस अभियान को सफल बनाने के लिए उन्होंने गांवों में शौचालयों का निर्माण करवाया और करीब 195 ग्राम पंचायतों में शौचालय बनवाए गए। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की तारीफ
समय बीतने के साथ ही आईएएस आरती डोगरा का बंका बिकाणों अभियान सफल होने लगा और दूसरे जिलों के लोग भी स्वच्छता के प्रति जागरूक होने लगे। देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भी आरती डोगरा द्वारा चलाए गए इस अभियान की तारीफ की। आईएएस आरती डोगरा आज कई लोगों के लिए मिसाल हैं। उन्होंने कर के दिखाया कि आपकी शारीरिक सरंचना आपके सपनों के बीच में नहीं आ सकती। छोटे कद से बड़े सपने देखे और उन्हें पूरा किया जा सकता है। पर जरूरत है तो सच्ची लग्न और खुद पर विश्वास रखने की।

गाजियाबाद पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह लगा

गाजियाबाद पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह 
अश्वनी उपाध्याय  
गाजियाबाद। लोनी नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन मनोज धामा की गिरफ्तारी कर पाने में असमर्थ पुलिस अधिकारियों की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह अंकित हो जाता है। जबकि पूर्व चेयरमैन क्षेत्र में स्वतंत्र रूप से भ्रमण कर रहा है। ऐसी स्थिति में यह स्पष्ट हो जाता है कि पीड़ित महिला का लंबे समय तक पुलिस के द्वारा मानसिक शोषण किया गया है। गौरतलब हो कि मनोज धामा पर नगर के विकास कार्यों से संबंधित प्रस्तावित धन राशि के गबन का भी आरोप लगा है। सामान्य दृष्टिकोण से मनोज धामा के विरुद्ध विधिक कार्रवाई से अपराधिक प्रवृत्ति की ओर संकेत होता है। हालांकि, यह न्यायालय ही बता पाएगा की वास्तविकता क्या है ? लेकिन यह अपराधिक कृत्य ही है या राजनीतिक द्वेष की प्रपंच संरचना है। इसका निर्णय भी न्यायालय के निर्णय के बाद ही हो पाएगा। बहरहाल, मनोज धामा के राजनीतिक जीवन को भारी क्षति पहुंची है। जनता के बीच प्रतिस्थापित गरिमा और प्रतिष्ठा पर गहरा दुष्प्रभाव पड़ना स्वाभाविक है। यह सामान्य-सी बात है यदि कोई अपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति जन प्रतिनिधित्व करने की दावेदारी करता है तो जनता कहीं न कहीं अपराधिक प्रवृत्ति के दृष्टिकोण से ही आकलन करती है। जिसके कारण जनता ऐसे नेतृत्व को स्वीकार नहीं करती है। बल्कि, जनता ऐसे व्यक्ति से अपने संबंधों को भी सीमित करने की सदा पक्षकार बनी रहती है। जनता अपराधिक कृत्यों में संलग्न किसी भी राजनेता का सानिध्य नहीं चाहती है। वहीं, मनोज धामा के जीवन का सबसे ज्यादा बुरा दौर शुरू हो गया है। सामूहिक दुष्कर्म के आरोप के परिणाम से भी अलग, यह आरोप पूर्व चेयरमैन की छवि पर काले दाग के समान है।
कहीं ना कहीं यह बात भी स्पष्ट होती है कि मनोज धामा का इस अपराध से गहरा संबंध है। राजनीतिक संरक्षण के चलते ही पुलिस पूर्व चेयरमैन को गिरफ्तार करने में अपने हाथ सिकौड़ रही है। पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़ा हो गया है। जिसके चलते क्षेत्र में अपराध का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है। लेकिन राजनीतिक संरक्षण अथवा अन्य कोई संबंध संवैधानिक प्रक्रिया के आगे बहुत छोटा होता है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को लापरवाह पुलिस अधिकारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करनी चाहिए।

क्रिकेट के भगवान का बेटा अर्जुन पिच पर उतरा

मुंबई। बायें हाथ के उभरते हुए तेज गेंदबाज अर्जुन तेंदुलकर ने शुक्रवार को यहां हरियाणा के खिलाफ सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के एलीट ई लीग ग्रुप मैच में मुंबई की सीनियर टीम के लिये पदार्पण किया। महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का 21 साल का बेटा अर्जुन अब इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी के लिये क्वालीफाई कर लेगा क्योंकि उसने मुंबई की टीम के लिये अपना पदार्पण कर लिया है। मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। तेंदुलकर जूनियर को एक अन्य तेज गेंदबाज कृतिक हनागावाड़ी के साथ मुंबई की टीम में शामिल किया गया है। जिसका चयन सलिल अंकोला वाली चयन समिति ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड के कुल 22 खिलाड़ियों को चुने जाने की अनुमति के बाद किया। अर्जुन मुंबई के लिये विभिन्न उम्र के ग्रुप टूर्नामेंट में खेलते रहे हैं और वह उस टीम का भी हिस्सा थे जो आमंत्रण टूर्नामेंट खेलती है। अर्जुन को भारत की राष्ट्रीय टीम के नेट में भी गेंदबाजी करते हुए देखा गया और उन्होंने 2018 में श्रीलंका का दौरा करने वाली अंडर-19 टीम में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया था। श्रीराम 'निर्भयपुत्र'

किसान: खेत से सड़क पर आ गए

ज़ाकिर घुरसेना/कैलाश यादव

पिछले 6 से 7 सप्ताह से चल रहे किसान आंदोलन रुकने का नाम नहीं ले रहा है। उनकी सिर्फ एक ही मांग है कि तीनों कृषि कानून को वापस लो। सरकार भी इसे प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाकर कानून वापसी की बात छोड़कर हर बात मानने तैयार है। लेकिन पेंच फंस गया इसी बात पर । आखिर में सुप्रीमकोर्ट को दखल देना पड़ा,चार सदस्यों की कमेटी को कानून की समीक्षा करने को कहा। इससे किसान भड़क गए एवं वे चार सदस्यों की निष्पक्षता पर ही सवाल उठाने लगे। जनता में खुसुर-फुसुर है कि दिल्ली बार्डर में सिर्फ हरियाणा, पंजाब के किसानों की संख्या को देखकर ये अंदाजा न लगाया जाए कि कानून से केवल इन्हें तकलीफ है, जबकि वास्तविकता ये है कि इससे पूरे देश के किसान चिंता जाहिर कर चुके है। अब सरकार को हठ छोड़कर इनकी मांगों पर गंभीरता से विचार कर उनके हक में फैसला देना चाहिए।

बाबा भारती की याद आ गई:- पिछले दिनों बाबा भारती और डाकू खड़कसिंह की याद ताजा हो गई। दरअसल हुआ ये कि लिफ्ट मांग कर दो युवकों ने तीसरे युवक की बाइक और मोबाइल छीन कर भाग गए। ये तो नेकी कर और जूते खा वाली बात हो गई। जनता में खुसुर-फुसुर है कि वो बात अलग थी कि बाबा भारती ने डाकू खड़कसिंह से कहा कि इस घटना की जिक्र कही भी मत करना वर्ना भरोसा उठ जाएगा। यहां बाबा भारती की जगह पुलिस है क्या एक्शन होगा जनता को मालूम है।

बघेल जी को चापड़ा चटनी खिलाया कि नहीं:- पिछले दिनों छग के कैबिनेट मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि बस्तर में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है, और कोरोना की रामबाण दवा है चापड़ा चटनी। उन्होंने बताया कि ये कोई जनप्रतिनिधि या मैं नहीं बल्कि उड़ीसा हाई कोर्ट ने कहा है। लखमा ने कहा कि बस्तर में लाल चीटी का चापड़ा चटनी चाव से खाया जाता है। यही वजह है कि बस्तर में कोरोना नहीं फैला। जनता में खुसुर-फुसुर है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बस्तर दौरे पर थे और लोग जानना चाहते है कि लखमा ने भूपेश बघेल को चापड़ा चटनी खिलाया कि नहीं। लोगों ने यह सुझाव दिया कि छत्तीसगढ़ में चापड़ा चटनी सेंटर भी खोल दिया जाए।

कांग्रेसी जासूसी भी करते हैं :- बात यह है कि भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय 100 क्विंटल धान बेचे हैं, और उनके खाते में एक लाख 86 हजार रुपए आ गए हैं। ऐसी जानकारी कांग्रेस प्रवक्ता ने दी है। कांग्रेसी राजनीति के साथ-साथ अब भाजपाइयों की जासूसी भी करने लग गए हैं। जनता में खुसुर-फुसुर है कि कांग्रेसियों की राजनीति नहीं चलने पर कम से कम देश के खुफिया विभाग में सेवा तो ली जा सकती है।

तंज कसना भारी पड़ गया:- पिछले दिनों भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने तंज कसते हुए कहा था कि गोबर को राजकीय चिन्ह बना दिया जाये। अब केंद्र सरकार द्वारा गोबर के पेंट की लांचिंग पर भूपेश बघेल गदगद हैं और विधायक जी को बोल रहे हैं कि गोबर उन्हीं के मुँह पर पड़ा। जनता में खुसुर फुसुर है कि धान से एथेनॉल बनाने का प्रोजेक्ट हो या गोबर खरीदी योजना दोनों छत्तीसगढ़ का प्रोजेक्ट है। ख़ुशी की बात है कि चलिए केंद्र ने यहाँ की योजनाओं का अनुसरण कर छत्तीसगढिय़ो का मान तो बढ़ाया।

छजकां की सत्ता में आदिवासी मुख्यमंत्री:- पिछले दिनों जनता कांग्रेस के मीडिया प्रमुख इकबाल अहमद रिजवी का बयान आया कि छत्तीसगढ़ में जनता कांग्रेस की सत्ता आएगी तो मुख्यमंत्री आदिवासी ही होगा। जनता में खुसुर-फुसुर है कि छजकां अगर सत्ता में आई तो आदिवासी मुख्यमंत्री नकली आदिवासी बनेगा या असली आदिवासी बनेगा, ये भी बताते जाएं। बहरहाल सत्ता तो दूर है कम से कम छजकां के मुख्य पदों पर ही आदिवासियों को बैठाकर शुरूआत तो कीजिए, पूछती है जनता।

लगता है जनता नासमझ है:- कांग्रेसी किसानों के लिए धरना प्रदर्शन कर भाजपा और केंद्र सरकार पर किसानों की हालात को लकेर दोष मढ़ रही है, दूसरी तरफ भाजपाई भी किसानों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। धरना प्रदर्शन कर रहे है। कांग्रेस वाले बोल रहे हैं केंद्र सरकार बारदाना दे ,भाजपाई बोल रहे हैं भूपेश सरकार बारदाना दे , समझ में नहीं आ रहा कि बारदाना आखिर है कहाँ। जनता में खुसुर-फुसर है कि समझ में नहीं आ रहा है कि हो क्या रहा है। लगता है जनता को नेता लोग ना समझ मान लिए है।

तीनों कानूनों को वापस लेना ही होंगा: राहुल-प्रियंका

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस ने केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ शुक्रवार को यहां प्रदर्शन किया। जिसमें पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और कई अन्य नेता शामिल हुए। उप राज्यपाल के निवास के निकट आयोजित इस विरोध प्रदर्शन में राहुल गांधी ने कहा कि तीनों कानूनों को सरकार को वापस लेना पड़ेगा और जब तक ये वापस नहीं लिए जाते। तब तक कांग्रेस पीछे नहीं हटेगी। उप राज्यपाल के निवास के निकट आयोजित कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन में शामिल राहुल गांधी ने कहा, ”कुछ साल पहले केंद्र सरकार ने भूमि अधिग्रहण विधेयक के माध्यम से किसानों की जमीन छीनने का प्रयास किया था। कांग्रेस ने उसे रोका। भाजपा एक बार फिर किसानों पर आक्रमण कर रही है।” उन्होंने आरोप लगाया, ”ये तीनों कानून किसानों की मदद करने के लिए नहीं हैं, बल्कि उन्हें खत्म करने के लिए हैं। सरकार कुछ उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाना चाहती है।” कांग्रेस नेता ने कहा, ”कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है। सरकार को ये तीनों कानून वापस लेने होंगे। सरकार जब तक ये कानून वापस नहीं लेगी तब तक कांग्रेस पीछे नहीं हटने वाली है।” राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने जंतर-मंतर पहुंचकर, पंजाब से पार्टी के उन सांसदों के साथ एकजुटता प्रकट की जो पिछले करीब 40 दिनों से कृषि कानूनों के विरोध में धरने पर बैठे हैं। पंजाब से ताल्लुक रखने वाले कांग्रेस के लोकसभा सदस्य जसबीर गिल, गुरजीत औजला, रवनीत सिंह बिट्टू और कुछ अन्य नेता कृषि कानूनों के खिलाफ खुले आसमान के नीचे धरना दे रहे हैं। उनकी मांग तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की है। राहुल गांधी और प्रियंका कुछ देर तक पार्टी के इन सांसदों के साथ धरना स्थल बैठे और उनके साथ एकजुटता प्रकट की।

नए कृषि कानूनों को लेकर देश में मचा घमासान

वाशिंगटन डीसी/ नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) का मानना है कि ‘तीनों हालिया कानून’ भारत में कृषि सुधारों को आगे बढ़ाने की दिशा में उठाया गया महत्वपूर्ण कदम है। हालांकि आईएमएफ ने यह भी जोड़ा कि नयी व्यवस्था को अपनाने की प्रक्रिया के दौरान प्रतिकूल प्रभाव झेलने वाले लोगों के बचाव के लिये सामाजिक सुरक्षा का प्रबंध जरूरी है। आईएमएफ के एक संचार निदेशक (प्रवक्ता) गेरी राइस ने यहां कहा कि नये कानून बिचौलियों की भूमिका को कम करेंगे और दक्षता बढ़ायेंगे। उन्होंने बृहस्पतिवार को वाशिंगटन में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ”हमारा मानना है कि इन तीनों कानूनों में भारत में कृषि सुधारों को आगे बढ़ाये जाने का प्रतिनिधित्व करने की क्षमता है।” राइस ने कहा, ”ये कानून किसानों को खरीदारों से प्रत्यक्ष संबंध बनाने का मौका देंगे। इससे बिचौलियों की भूमिका कम होगी, दक्षता बढ़ेगी, जो किसानों को अपनी उपजी की बेहतर कीमत हासिल करने में मदद करेगा और अंतत: ग्रामीण क्षेत्र की वृद्धि को बल देगा।” उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया में जिन लोगों की नौकरियां जायेंगी, उनके लिये कुछ ऐसी व्यवस्था की जानी चाहिये कि वे रोजगार बाजार में समायोजित हो सकें।” राइस ने कहा कि निश्चित रूप से इन सुधारों के लाभ प्रभावशीलता और उनके कार्यान्वयन के समय पर निर्भर होंगे। इसलिये सुधार के साथ इन मुद्दों पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है। उल्लेखनीय है कि हाल ही में पारित इन तीनों कानूनों का विरोध में हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर पिछले कई सप्ताह से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों का आरोप है कि ये कानून न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की व्यवस्था समाप्त कर देंगे और किसानों को कॉरपोरेट खेती की ओर धकेल देंगे। हालांकि सरकार इन कानूनों को बड़े कृषि सुधारों के तौर पर पेश कर रही है।

सीएम ने डिजिटल डायरी एप का लोकार्पण किया

गोरखपुर (ड़ेस्क)। मकर संक्रांति के मौके पर गोरखनाथ मंदिर सेमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों को एक और सौगात दी। मुख्यमंत्री ने सूचना विभाग की डिजिटल डायरी एप का लोकार्पण किया जिसके जरिये राज्य के जनप्रतिनिधियों, विभागों और अधिकारियों तक जन-जन की पहुंच और आसान हो सकेगी। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने डाक विभाग द्वारा तैयार खिचड़ी मेले के विशेष डाक टिकट भी अनावरण किया।

उन्‍होंने कहा कि आज जमाना तकनीकी का है। इसके प्रयोग से हम अपने हर क्षेत्र में व्यापक सुधार ला सकते हैं। अच्छी बात यह है कि हम भी जमाने के साथ बदल रहे हैं। सूचना विभाग ने डिजिटल डायरी-एप के जरिये एक अभिनव पहल की है। अब मोबाइल में ही डायरी होगी। लोग नि:शुल्क इस एप को अपने मोबाइल में डाउनलोड कर राज्य के हर विभाग से संपर्क स्थापित कर सकेंगे। सीएम योगी ने कहा कि तकनीकी के माध्यम से ही हम कोरोना संक्रमण के दौर में आमजन को बेहतरीन सेवाएं देने में सफल हो सके। जनधन खातों में सहायता राशि, पेंशन, भरण पोषण भत्ता, छात्रवृत्ति आदि लोगों को घर बैठे मिल सकी। तकनीकी के जरिये ही 2.35 करोड़ किसानों के खातों में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि और 44 लाख प्रवासियों को भरण पोषण भत्ता दिया जा सका।

जबकि अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने बताया देश में सूचना विभाग की पहली बार इस तरह की डिजिटल डायरी बनी है कोई भी व्यक्ति अपने मोबाइल में प्लेस्टोर से UPIDINFO एप निशुल्क डाउनलोड कर सकता है। उसमें सभी जनप्रतिनिधियों, विभागों, अधिकारियों और मीडिया के लोगों के नाम, फोन नंबर और ईमेल एड्रेस दर्ज हैं।

घेराव करने जा रहे कांग्रेस अध्यक्ष, हिरासत में लिया

हरिओम उपाध्याय 

लखनऊ। केंद्र के तीन नये कृषि कानूनों के विरोध में शुक्रवार को राजभवन का घेराव करने जा रहे उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने बताया कि पार्टी के ‘किसान अधिकार कार्यक्रम’ के तहत प्रदेश अध्यक्ष लल्लू शुक्रवार दोपहर बाद पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ राजभवन का घेराव करने जा रहे थे। तभी डॉलीबाग के पास से पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। राजभवन की ओर जुलूस के रूप में जा रहे पार्टी कार्यकर्ता ‘जय जवान जय किसान’ का नारा लगा रहे थे। प्रवक्ता ने बताया कि नये कानूनो के विरोध में आज पूरे देश में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता अपने अपने प्रदेशों में राजभवन का घेराव कर रहे हैं।

अर्थव्यवस्था की मजबूती को राष्ट्रपति का बड़ा कदम

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के मनोनीत राष्ट्रपति जो बिडेन ने गुरुवार को कोरोना वायरस महामारी से बुरी तरह प्रभावित अमेरिकी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में मदद करने के लिए 19 खरब डॉलर की प्रोत्साहन योजना पेश की। यदि संसद इस प्रोत्साहन पैकेज को पारित कर देती है, तो इसमें घरों के लिए 10 खरब डॉलर का प्रावधान होगा, जिसके तहत सभी अमेरिकियों को 1,400 डॉलर का प्रत्यक्ष भुगतान किया जायेगा। राहत प्रस्ताव में महामारी से लड़ने के लिए 415 अरब डॉलर और सबसे बुरी तरह प्रभावित हुए छोटे व्यवसायों के लिए 440 अरब डॉलर प्रदान करने का भी प्रावधान है। बिडेन ने अपने पूर्ववर्ती राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की तुलना में वायरस से बेहतर तरीके से निपटने का संकल्प लिया है। ये नये प्रस्ताव ऐसे समय में आये हैं जब कोरोना वायरस के मामलों में सर्दियों के दौरान काफी वृद्धि देखी जा रही है और उसने पिछला रिकॉर्ड तोड़ दिया है। बिडेन ने यह भी कहा कि वह एक देशव्यापी टीकाकरण कार्यक्रम शुरू करना चाहते हैं जिसमें सामूहिक टीकाकरण केंद्र स्थापित करना और दूरदराज के क्षेत्रों में मोबाइल इकाइयों को भेजना शामिल है और इसके लिए वह 20 अरब डॉलर का आवंटन करने का प्रस्ताव रखते हैं।

सपा के प्रत्याशियों ने दाखिल किया नामांकन पत्र

संदीप मिश्र  

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान परिषद के चुनाव के लिये शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी अहमद हसन और राजेंद्र चौधरी ने नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। चुनाव अधिकारी बी बी दुबे ने बताया कि हसन और चौधरी ने शुक्रवार दोपहर को परिषद के आगामी चुनाव के लिये अपना पर्चा दाखिल किया है। समाजवादी पार्टी के इन दोनों वरिष्ठ नेताओं के नामांकन के समय पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव, विधानसभा में विपक्ष के नेता राम गोविंद चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम सहित कई नेता मौजूद थे। विधान परिषद की 12 सीटें 30 जनवरी को रिक्त हो रही है क्योंकि इन सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को नए कृषि कानूनों को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा पर जमकर निशाना साधा और आरोप लगाया कि भगवा पार्टी गरीब किसानों की कीमत पर मुट्ठी भर लोगों को लाभ पहुंचाने के लिये काम कर रही है। सपा अध्यक्ष ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ”भाजपा का यह कैसा फैसला है कि गरीब किसान खत्म हो जाएं और मुट्ठी भर लोग लाभान्वित हों।”

देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार हो रही धीमी

देश में कोरोना की रफ्तार पड़ रही धीमी, अब सिर्फ इतने मामले हैं सक्रिय
अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। कोरोना महामारी के खिलाफ शनिवार से शुरू हो रहे देशव्यापी टीकाकरण अभियान के पहले ही कोविड-19 संक्रमण की रफ्तार धीमी पड़ती जा रही है जिसके कारण सक्रिय मामलों की दर घटकर 2.02 प्रतिशत रह गयी है। वहीं मौतों की दैनिक संख्या दूसरे दिन भी 200 से नीचे रहा।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 15,590 नये मामले सामने आये जिससे संक्रमितों की संख्या एक करोड़ पांच लाख 27 हजार से अधिक हो गयी है। इसी दौरान 15,975 मरीज स्वस्थ हुए जिसके साथ कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या एक करोड़ एक लाख 62 हजार 738 हो गयी और रिकवरी दर बढ़कर 96.53 प्रतिशत हो गयी।सक्रिय मामले 576 कम होकर 2.13 लाख रह गये हैं। इसी अवधि में 191 मरीजों की मौत हो गयी और मृतकों का आंकड़ा एक लाख 51 हजार 918 हो गया है। मृत्यु दर अभी 1.44 फीसदी है।
केरल में पिछले 24 घंटों के दौरान सर्वाधिक 1134 सक्रिय मामले बढ़े और इनकी संख्या 66,713 हो गयी है। वहीं सबसे ज्यादा 4,337 मरीज स्वस्थ भी हुए जिसे मिलाकर कोरोना को मात देने वालों की तादाद 7.61 लाख से अधिक हो गयी है जबकि 19 और मरीजों की मौत से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 3392 हो गया है। सक्रिय मामलों में केरल अभी पहले स्थान पर है। महाराष्ट्र में भी सक्रिय मामले 200 बढ़े हैं और इनकी संख्या 53,744 हो गयी है। राज्य में कोरोनामुक्त होने वालों का आंकड़ा 18.77 लाख हो गया है वहीं 70 और मरीजों की मौत से मृतकों की संख्या 50,291 हो गयी है।
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी सक्रिय मामलों में निरंतर कमी आ रही है और अब इनकी संख्या 2937 रह गयी है। वहीं चार और मरीजों की मौत हुई है जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 10,722 हो गयी है। दिल्ली में 6.17 लाख से ज्यादा मरीज कोरोनामुक्त हुए हैं। दक्षिणी राज्य कर्नाटक में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 8747 रह गयी है। राज्य में मृतकों का आंकड़ा 12,155 हो गया है तथा अब तक 9.09 लाख से अधिक मरीज स्वस्थ हुए हैं।
आंध्र प्रदेश में सक्रिय मामले 2338 रह गये हैं। वहीं 7138 लोगों की जानें जा चुकी है और 8.76 लाख से अधिक लोग संक्रमणमुक्त हुए हैं। आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों में सक्रिय मामले 52 कम होकर 10,080 रह गये। इस महामारी से 8543 लोगों की मौत हो चुकी है तथा अब तक 5.76 लाख से अधिक मरीज स्वस्थ हुए हैं। तमिलनाडु में सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 6488 रह गयी है तथा अभी तक 12,246 लोगाें की मौत हुई है। राज्य में 8.10 लाख से अधिक मरीज संक्रमणमुक्त हुए हैं।
ओडिशा में सक्रिय मामले 11 बढ़कर 2035 हो गये हैं , वहीं 3.28 लाख लोग इस संक्रमण से निजात पा चुके हैं जबकि मृतकों की संख्या 1896 हो गयी है। तेलंगाना में सक्रिय मामले 53 बढ़कर 4442 रह गये हैं और 1574 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 2.85 लाख से अधिक लोग इस महामारी से ठीक हुए हैं। पश्चिम बंगाल में कोरोना के सक्रिय मामले 31 कम होकर 7272 रह गये हैं और 10010 लोगों की मौत हुई है। राज्य में अब तक 5.46 लाख से अधिक लोग स्वस्थ हुए हैं।
पंजाब में सक्रिय मामले 50 घटकर 2767 हो गये हैं तथा संक्रमण से निजात पाने वालों की संख्या 1.61 लाख से अधिक हो गई है जबकि 5473 मरीजों की जान जा चुकी है। मध्य प्रदेश में सक्रिय मामले 186 कम हुए हैं और इनकी संख्या 7108 रह गयी है तथा अब तक 2.39 लाख से ज्यादा लोग स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 3740 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है।
छत्तीसगढ़ में सक्रिय मामले 373 घटकर 7418 रह गये हैं। राज्य में 2.81 लाख लोग कोरोनामुक्त हो चुके हैं वहीं 10 और मरीजों की मौत होने के साथ मृतकों की संख्या 3537 हो गयी है। गुजरात में सक्रिय मामले 7056 रह गये हैं तथा 4357 लोगों की मौत हुई है और 2.42 लाख से अधिक लोग इस बीमारी से स्वस्थ भी हुए हैं। बिहार में सक्रिय मामले 55 घटकर 4170 रह गये हैं। राज्य में कोरोना से 1447 लोगों की मौत हुई है जबकि 2.51 लाख से अधिक लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं।
कोरोना महामारी से अब तक हरियाणा में 2972, राजस्थान में 2744, जम्मू-कश्मीर में 1915, उत्तराखंड में 1596, असम में 1065, झारखंड में 1048, हिमाचल प्रदेश में 963, गोवा में 752, पुड्डुचेरी में 640, त्रिपुरा में 390, मणिपुर में 365, चंडीगढ़ में 330, मेघालय में 144, सिक्किम में 130, लद्दाख में 128, नागालैंड में 86, अंडमान निकाेबार द्वीप समूह में 62, अरुणाचल प्रदेश में 56, मिजोरम में नौ तथा दादर-नागर हवेली एवं दमन-दीव में दो लोगों की मौत हुई है।

उपचुनाव: भाजपा ने उम्मीदवारों की सूची जारी की

यूपी विधान परिषद चुनाव: भाजपा ने उम्मीदवारों की सूची की जारी, जानिए किसको मिला टिकट
हरिओम उपाध्याय
लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के पूर्व अधिकारी अरविंद कुमार शर्मा को विधान परिषद के द्विवार्षिक चुनाव में आज अपना प्रत्याशी घोषित किया। भाजपा के महासचिव अरुण सिंह ने बताया कि भाजपा की केन्द्रीय समिति ने अरविंद कुमार शर्मा को प्रत्याशी घोषित करने के साथ ही प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव, राज्य के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा एवं लक्ष्मण प्रसाद आचार्य को उत्तर प्रदेश विधान परिषद की चार सीटों के लिए उम्मीदवार बनाया है। उत्तर प्रदेश विधान परिषद के 12 सदस्‍यों का कार्यकाल 30 जनवरी, 2021 को समाप्‍त हो रहा है। इसके लिए 28 जनवरी को चुनाव होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के करीबी माने जाने वाले अरविंद कुमार शर्मा ने गुरूवार को लखनऊ में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की थी। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने शर्मा को पार्टी मुख्यालय में एक सादे समारोह में पार्टी की सदस्यता ग्रहण करायी। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री डाॅ. दिनेश शर्मा भी मौजूद थे।
गुजरात कैडर के अरविंद कुमार शर्मा ने हाल ही में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली थी। अरविंद कुमार मऊ जिले के एक पिछड़े गांव से ताल्लुक रखते हैं। उन्हें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दिये जाने के कयास लगाये जा रहे हैं।

विश्व: सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का आगाज

कोरोना टीकाकरण। सरकार की गाइडलाइन जारी, जानें किन्हें लगेगा और किन्हें नहीं
अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। 16 जनवरी से भारत में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का आगाज हो रहा है। टीकाकरण अभियान से पहले सरकार ने एक गाइडलाइन जारी की है, जिसमें स्पष्ट रूप से बताया गया है। कि किन लोगों को अभी टीका नहीं लगवाना है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 टीकों की विनिमयशीलता (इंटरचेंजिंग) की अनुमति नहीं है और गर्भवती और दूध पिलाने वाली महिलाएं टीके न लगवाएं क्योंकि उन्हें अभी तक किसी भी कोरोना वायरस-रोधी टीके के क्लिनिकल ट्रायल का हिस्सा नहीं बनाया गया है। बकायदा इसके लिए केंद्र सरकार ने राज्यों को पत्र लिखा है। और यह एहतियात बरतने को दिशा-निर्देश जारी किया है। मंत्रालय ने सभी राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेश को लिखे पत्र में आपातकालीन परिस्थितियों में इनके इस्तेमाल को रेखांकित करते हुए कहा कि कोविड-19 टीके केवल 18 साल या उससे अधिक आयु के लोगों के लिए हैं। आवश्यकता पड़ने पर कोविड-19 टीकों और अन्य टीकों के बीच कम से कम 14 दिन का अंतराल लिया जा सकता है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव मनोहर अगनानी द्वारा भेजे गए पत्र में कहा गया है, ‘कोविड-19 टीकों की विनिमयशीलता (एक टीका अलग, दूसरा अलग) की अनुमति नहीं है। दूसरी खुराक भी उसी टीके की लेनी होगी, जो पहले टीके की ली गई है। पत्र में कहा गया है। गर्भवती तथा दूध पिलाने वाली महिलाओं को अभी तक किसी भी टीके के क्लिनिकल ट्रायल का हिस्सा नहीं बनाया गया है। लिहाजा गर्भवती या अपने गर्भवती होने को लेकर अनिश्चित महिलाएं इस समय कोविड-19 टीके न लगवाएं।

नपुसंकता के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री का जवाब

अकांशु उपाध्याय  

 नई दिल्ली। देश में डेढ़ लाख से अधिक लोगों की जान ले चुके करोना वायरस पर काबू पाने के लिए टीकाकरण शुरू होने जा रहा है। लेकिन इस बीच कोराना टीकों को लेकर कई तरह के भ्रम और अफवाहें भी फैलाईं जा रही हैं। कई तरह के साइड इफेक्ट्स के दावों की वजह से लोगों के मन में दुविधा पैदा हो रही है। इस बीच देश के स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने खुद इन अफवाहों को दूर करने की कोशिश की है। कोरोना टीकों के साइड इफेक्ट्स को लेकर कुछ लोग यह भी दावा कर रहे हैं कि यह नपुंसक बना सकता है। पिछले दिनों एक राजनीतिक पार्टी के नेता की ओर से दावा किए जाने के बाद यह भ्रम और तेजी से फैला।

स्वास्थ्य मंत्री ने इसको लेकर कहा, ”कोई वैज्ञानिक सबूत ऐसा नहीं है जो बताता हो कि कोविड वैक्सीन से महिला या पुरुष में बांझपन आ सकता है। कृपया इस तरह के अफवाहों या अप्रमाणित स्त्रोतों से आने वाली सूचनाओं पर पर ध्यान ना दें। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कोरोना टीकाकरण से होने वाले साइड इफेक्ट्स की जानकारी देते हुए कहा, ”कोविड-19 (Covid-19) वैक्सीन लगाए जाने के बाद कुछ लोगों को हल्के बुखार, टीके वाली जगह पर दर्द, शरीर में दर्द जैसी शिकायतें हो सकती हैं। ये साइड इफेक्ट्स दूसरे टीकों की तरह ही हैं। ये दिक्कतें कुछ समय में खुद ही दूर हो जाने की उम्मीद है।” इस भ्रम को दूर करते हुए स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा, ”कोविड-19 (Covid-19) वैक्सीन लगाए जाने की वजह से आपको कोरोना संक्रमण नहीं हो सकता है। यदि आपको टीका लगने के बाद अस्थायी साइड इफेक्ट के रूप में हल्का बुखार आता है तो इसे कोविड ना समझें।

दिल्ली के 6 अस्पतालों में टीके की खेप पहुंची

अकांंशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के खिलाफ बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान शुरू करने के लिए अंतिम रूप से 81 अस्पतालों में स्टॉक किए गए दो कोविड-19 टीके की खेप को 6 सरकारी अस्पतालों में भेजा है।

हालांकि, वितरण पैटर्न ने कई लोगों की नाराजगी बढ़ा दी है, भारत बायोटेक का कोवैक्सीन अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), सफदरजंग और राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) सहित केवल छह केंद्र संचालित अस्पतालों में आवंटित किया गया है। दिल्ली सरकार द्वारा आवंटित टीकों के साथ अस्पतालों की एक सूची से इस बात का खुलासा हुआ है। इस बीच, 75 अस्पताल जिनमें राज्य-संचालित और निजी अस्पताल शामिल हैं, को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के साथ ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित कोविशील्ड मिलेगा, जो देश में अपने विपणन और उत्पादन को संभाल रहा है।

हालांकि, वैक्सीन के वितरण पैटर्न के पीछे दिल्ली सरकार द्वारा कोई आधिकारिक स्पष्टीकरण या कारण प्रस्तुत नहीं किया गया है, लेकिन राज्य के स्वास्थ्य विभाग के एक शीर्ष अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि यह केंद्र के निर्देश पर किया गया। अधिकारी ने कहा, “वैक्सीन और इसकी खुराक केंद्र सरकार के विशेष निर्देशों के अनुसार आवंटित की गई है। हालांकि, इस कदम से विवाद की आशंका है क्योंकि स्वास्थ्यकर्मियों के पास पहले से ही भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को लेकर आशंका है जिसे तीसरे चरण के ट्रायल की प्रभावकारिता की डेटा प्रस्तुत किए बिना भारत के ड्रग रेगुलेटर द्वारा आपातकालीन उपयोग के लिए अनुमोदन मिला।

कई स्वास्थ्य कर्मियों ने आईएएनएस से बात की, उन्होंने कोवैक्सीन के प्रति अपनी आशंकाओं को प्रकट किया। केंद्र संचालित लेडी हार्डिग मेडिकल कॉलेज (एलएचएमसी) के एक ईएनटी विशेषज्ञ ने कहा, “मैं टीका लगवाने के लिए तैयार हूं लेकिन कोवैक्सीन नही लगवाऊंगा। एलएचएमसी के स्वास्थ्यकर्मियों को कोवैक्सीन दी जाएगी क्योंकि इसके संबद्ध अस्पताल कलावती सरन को 6 केंद्र संचालित अस्पतालों में सूचीबद्ध किया गया है जो भारत बायोटेक का टीका प्राप्त करेंगे। सफदरजंग के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर और प्रमुख जुगल किशोर ने कहा कि किसी भी विवाद से बचने के लिए सभी केंद्रों पर एक वैक्सीन कैंडीडेट उपलब्ध कराया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, “बेहतर होता कि सरकार सभी केंद्रों पर एक वैक्सीन कैंडीडेट उपलब्ध कराती ताकि लोगों के मन में कोई भ्रम न पैदा हो।”कोवैक्सीन विवादों में रहा है क्योंकि केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की विषय विशेषज्ञ समिति द्वारा प्रतिबंधित आपातकालीन उपयोग के लिए सिफारिश की गई थी। बाद में, इसे कोविड टीकाकरण कार्यक्रम में रोल-आउट के लिए 3 जनवरी को मंजूरी दी गई।

अपराधी कोई भी हो बख्शा नहीं जाएगा: सीएम

अविनाश श्रीवास्तव  

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कहा कि सरकार अपराध नियंत्रण के लिए पूरी तरह से मुस्तैद है और अपराधी कोई भी हो उसे बख्शा नहीं जाएगा ।

कुमार ने शुक्रवार को पटना के आर. ब्लॉक से दीघा के बीच 379.57 करोड़ रुपये की लागत से बनी 6.7 किलोमीटर लंबी सड़क जिसका नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर ‘अटल पथ’ रखा गया है, का उद्घाटन करने के बाद राज्य में अपराध की बढ़ती घटना के संबंध में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए। कहा कि सरकार अपराध नियंत्रण के लिए पूरी तरह मुस्तैद है। अपराध में संलिप्त चाहे जो भी हो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पटना में इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की हत्या के मामले में पुलिस हर बिंदु पर जांच कर रही है और अपराधी जल्द ही पकड़े जाएंगे । इस हत्याकांड में संलिप्त अपराधी का स्पीडी ट्रायल करा कर उसे सजा दिलाई जाएगी। उन्होंने खुद इस मामले में पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) से बात की है और अपराधियों की तुरंत गिरफ्तारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है ।

हिमाचलः तेंदुए ने सड़क पर लोगों से किया प्यार

तेंदुए ने सड़क पर आकर लोगों से किया प्यार

कुल्लू। तेंदुए द्वारा पालतू जानवर और लोगों पर हमले की खबरें, वीडियो और तस्वीरें तो आपने बहुत देखीं और सुनी होंगी। लेकिन हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले की तीर्थन घाटी से जो वीडियो सामने आया है वो वाक्य हैरान कर देने वाला है। दरअसल, यहां एक तेंदुए का शावक सड़क पर निकल आया। इस दौरान तेंदुए के शावक को देख लोगों की भीड़ जुट गई और सड़क पर जाम लग गया। तेंदुए (Leopard) के शावक के साथ लोग खेलने लगे और उसके साथ सेल्फी लेनी शुरू कर दी। इस दौरान तेंदुआ वहां करीब एक घंटे तक घूमता रहा और लोग भी तेंदुए को देखने के लिए गाड़ियों से उतर आए। जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जानकारी के मुताबिक, यह वायरल वीडियो कुल्लू जिले के तीर्थन घाटी की शरची पंचायत के बंदल स्थित नगलाड़ी-शरची सड़क का है। सुबह करीब सात बजे के आसपास लोगों ने तेंदुए को देखा। बिना किसी डर के सड़क पर घूमते तेंदुए को देखने के लिए जहां आसपास गांव के लोगों को तांता लगा गया, वहीं सड़क पर भी गाड़ियों की लंबी लाइन गई। इस दौरान कई लोग गाड़ियों से बाहर आए और तेंदुए को बिस्कुट फैंकने लगे। सड़क के करीब 300 मीटर पर तेंदुए ने करीब एक घंटे तक डेरा जमाए रखा और लोग उसके वीडियो बनाते रहे।

कोहरे से परेशान हैं 'उत्तर भारत', 6348 ट्रेनें रद्द

घने कोहरे से परेशान उत्तर भारत, आज 6348 ट्रेनें रद्द, फ्लाइट पर भी असर
अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। दिल्ली से लेकर दक्षिण तक सर्दी का कहर बुरी तरह से जारी है। राजधानी दिल्ली में आज कोहरे ने कोहराम मचाया हुआ है। दृश्यता काफी कम हो गई है, जिससे लोगों को आने-जाने में खासी दिक्कत हो रही है। यही नहीं घने कोहरे की वजह से उत्तर रेलवे क्षेत्र में 14 ट्रेनें देरी से चल रही हैं। कुछ ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। देश में आज 6348 ट्रेनें रद्द हैं। तो वहीं 13 ट्रेनों को आंशिक तौर पर रद्द किया गया है। यहीं नहीं कोहरे का असर फ्लाइट्स पर भी पड़ा है। विमान कंपनी स्पाइसजेट ने ट्वीट करते हुए जानकारी दी है। कि घने कोहरे और खराब मौसम के कारण बागडोगरा की उड़ानें प्रभावित हो सकती हैं। ऐसे में यात्री यात्रा से पहले अपनी फ्लाइट का स्टेटस जरूर चेक कर लें। केवल दिल्ली ही नहीं आज उत्तर राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम और त्रिपुरा में घना कोहरा छाया हुआ है।

इंसान के जीवन को बर्बाद कर सकती हैं 'शराब'

शराब छोड़ना नहीं होगा आसान, अगर

पालूराम  
नई दिल्ली। शराब या किसी अन्य नशे की लत इंसान के जीवन को बर्बाद कर सकती है। इससे इंसान के न सिर्फ करियर पर असर पड़ता है। बल्कि उसका स्वास्थ्य भी कमजोर होता है। नशे की लत धीरे-धीरे इंसान का आत्म विश्वास भी कमजोर कर देती है। यूं तो नशे के पीछे लोग कई तरह के बहाने बनाते हैं, लेकिन इसकी एक वजह कुंडली के ग्रहों का प्रभाव भी होता है। मानव जीवन में जितनी भी बुरी लत होती हैं। उनका कारक राहु है। अगर कुंडली में राहु पहले, दूसरे, सातवें या 12वें भाव में है। तो जातक के नशे का शिकार होने की पूरी संभावना होती है। इसका सबसे ज्यादा प्रभाव दूसरे भाव पर होता है। राहु से जुड़े नशों में धूम्रपान सबसे ऊपर है। चंद्रमा को मादक पदार्थों और शराब का कारक माना गया है। शराब को सोमरस के नाम से भी पुकारा जाता है। जो चंद्रमा से ही संबंधित है। इसलिए, अगर कुंडली में चंद्रमा पर राहु का प्रभाव हो या दोनों ग्रह साथ में हों तो जातक शराबी हो जाता है। इतना ही नहीं उसके लिए शराब छोड़ना आसान नहीं होता है। अगर कुंडली में शुक्र के साथ राहु विराजमान हैं। या दोनों ग्रह संबंध बना रहे हों तो भी व्यक्ति शराबी हो सकता है। इस युति में अगर शुक्र नीच का है तो व्यक्ति शराब के साथ दूसरे नशे का आदी भी हो सकता है। अगर इन पर शनि और मंगल का प्रभाव हो तो हालात और भी ज्यादा बिगड़ सकते हैं। हालांकि अगर चंद्र-राहु और शुक्र-राहु की युति पर बृहस्पति की दृष्टि हो तो जातक नशे की लत से आसानी से मुक्ति पा सकता है।

महाराष्ट्र: एक्ट्रेस कंगना पर लगा चोरी का आरोप

मनोज सिंह ठाकुर
मुंबई। कंगना रनौत ने अपनी फिल्म मणिकर्णिका फ्रेंचाइजी को आगे बढ़ाने का ऐलान किया। ‘पंगा गर्ल’ जल्द ‘मणिकर्णिका रिटर्न्स : द लीजेंड ऑफ दिद्दा’ में दिखाई देंगी। मणिकर्णिका में ‘झांसी की रानी’ की कहानी दिखाई गई थी। वहीं, इस फिल्म में ‘कश्मीर की रानी’ के बारे में बताया जाएगा, लेकिन फिल्म ऐलान के बाद ही एक्ट्रेस पर चोरी का आरोप लग गया। ‘दिद्दा’ के राइटर आशीष कौल ने आरोप लगाया कि कंगना ने उनकी कहानी चुरा ली है। आशीष कौल ने कंगना रनौत पर अब कॉपीराइट का आरोप लगाया है। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा कि अपने अधिकारों के लिए लड़ने वाली कंगना क्या मेरे जैसे राइटर के अधिकारों का खुलेआम हनन नहीं कर रही हैं। राइटर ने कहा कि कंगना ने अधिकारों का घोर उल्लंघन किया है। यह गैरकानूनी है। और उसी देश के आईपीआर और कॉपीराइट कानूनों का पूर्ण उल्लंघन है। उन्होंने आगे कहा कि कंगना का यह अंदाज समझ नहीं आया मैं इसे एक इंटेलेक्चुअल चोरी कहूंगा।

कर्नाटक: 2 वाहनों की टक्कर में 11 लोगों की मौत

कर्नाटक में बड़ा सड़क हादसा, दो वाहनों की टक्कर में 11 लोगों की मौत

बैंगलुरू। कर्नाटक में धारवाड जिले के इटागट्टी के पास शुक्रवार तड़के टैम्पो और टिप्पर में टक्कर होने से कम से कम 11 लोगों की मौके पर मौत हो गयी, जिनमें अधिकतर महिलाएं हैं, जबकि कई अन्य घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि दुर्घटना के समय पीड़ित दावणगेरे से गोवा की ओर जा रहे थे।
क्षतिग्रस्त हो गए हैं और शवों की पहचान के लिए उनके रिश्तेदारों को दावणगेरे से बुलाया गया है। वहीं घायलो को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती किया गया है। इस सिलिसेल में धारवाड ग्रामीण पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और जांच की जा रही है। विस्तृत विवरण की प्रतिक्षा की जा रही है।

971 करोड़ की लागत से संसद भवन का निर्माण

 नए संसद भवन का निर्माण कार्य शुरू, जानिए कितनी आएगी लागत
अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। नए संसद भवन का निर्माण कार्य शुक्रवार को शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सरकार की महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास योजना के तहत एक महीने से अधिक समय पहले इस परियोजना की आधारिशला रखी थी। नया संसद भवन त्रिकोणीय आकार का होगा। साल 2022 में देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस तक इसके तैयार होने की उम्मीद है। सरकार साल 2022 का मानसून सत्र नए भवन में आहूत करना चाहती है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 10 दिसंबर को इस परियोजना की आधारशिला रखी थी। भवन का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के तहत किया जा रहा है। इस परियोजना पर 971 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। इस सप्ताह की शुरुआत में 14 सदस्यीय धरोहर समिति ने नए संसद भवन के निर्माण को मंजूरी दे दी थी। इसके अलावा उसने सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना को भी हरी झंडी दी थी।
उच्चतम न्यायालय ने निर्माण कार्य शुरू करने से पहले केन्द्र को समिति तथा अन्य संबंधित प्राधिकरणों की मंजूरी लेने का आदेश दिया था। निर्माण कार्य पहले इसलिये शुरू नहीं हो सका था क्योंकि सरकार ने उच्चतम न्यायालय को आश्वासन दिया था कि जब तक न्यायालय मामले में लंबित याचिकाओं पर फैसला नहीं ले लेता, तब तक न तो निर्माण और न ही विध्वंस कार्य शुरू किया जाएगा।

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के 5 विकेट पर बनाए 274 रन

ऑस्ट्रेलिया के पांच विकेट पर बनाए 274 रन

सिडनी। भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और निर्णायक टेस्ट के पहले दिन शुक्रवार को अपनी एकादश में चार बदलाव किए जबकि मेजबान टीम में मार्नस लाबुशेन (108) के शानदार शतक से शुरुआती झटकों से संभलकर स्टंप्स तक पांच विकेट पर 274 रन बना लिए। पहले दिन का खेल खत्म होने तक कप्तान टिम पेन 62 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 38 रन और कैमरुन ग्रीन 70 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 28 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं। दोनों बल्लेबाजों के बीच छठे विकेट के लिए अबतक 61 रन की साझेदारी हो चुकी है। सिडनी में तीसरा टेस्ट ड्रॉ कराने के बाद भारतीय टीम अपनी चोटिल खिलाड़ियों की समस्या से जूझ रही थी और उसने मैच की पूर्व संध्या तक अपनी एकादश का ऐलान नहीं किया। सुबह मैच के लिए टॉस होने के बाद जो एकादश सामने आयी उसमें चार बदलाव किए गए थे। चोटिल होने के कारण तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, अनुभवी ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, मध्यक्रम के बल्लेबाज हनुमा विहारी और रवींद्र जडेजा की जगह टीम में बाएं हाथ के तेज गेंदबाज टी नटराजन, ऑलराउंडर वाशिंगटन सुंदर, शार्दुल ठाकुर और मयंक अग्रवाल को शामिल किया गया है।
इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया को शुरुआती झटके लगे और उसके तीन विकेट 87 रन पर ही गिर गए। इसके बाद लाबुशेन ने लड़खड़ाती ऑस्ट्रेलियाई पारी को संभाला और शानदार बल्लेबाजी करते हुए 204 गेंदों में नौ चौकों की मदद से 108 रन बनाए।
भारत के गेंदबाजों ने लंच तक ऑस्ट्रेलिया के दो विकेट 65 रन पर गिराकर उसे शुरुआती झटके दिए। तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने पहले ही ओवर में बाएं हाथ के अनुभवी सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर को रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट कराकर ऑस्ट्रेलिया को पहला झटका दे दिया। वार्नर ने चार गेंदों में एक रन बनाए। सिराज ने वार्नर को इस सीरीज में दूसरी बार अपना शिकार बनाया।
चोटिल विल पुकोवस्की की जगह टीम में शामिल किए गए मार्कस हेरिस भी कुछ ख़ास नहीं कर सके और अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे शार्दुल ठाकुर ने वाशिंगटन सुंदर के हाथों कैच कराकर उनका विकेट लिया। हेरिस ने 23 गेंदों में केवल पांच रन बनाये। ऑस्ट्रेलिया का पहला विकेट चार जबकि दूसरा विकेट 17 रन के स्कोर पर गिरा।
इन दोनों सलामी बल्लेबाजों के आउट होने के बाद स्टीवन स्मिथ और लाबुशेन ने हालांकि लड़खड़ाती ऑस्ट्रेलियाई पारी को संभालने की कोशिश की और दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए 70 रन की साझेदारी की। यह साझेदारी और बड़ी होती उससे पहले ही वाशिंगटन सुंदर ने स्मिथ को रोहित के हाथों कैच कराकर पवेलियन भेजा। स्मिथ ने 77 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 36 रन बनाए।
स्मिथ का विकेट 87 के स्कोर पर गिरा और यहां से लाबुशेन ने मैथ्यू वेड के साथ पारी को आगे बढ़ाया और शानदार बल्लेबाजी करते हुए चौथे विकेट के लिए 113 रन की साझेदारी की तथा अपने टेस्ट करियर का पांचवां शतक जड़ा। अपना पहला टेस्ट मुकाबला खेल रहे बाएं हाथ के तेज गेंदबाज टी नटराजन ने ठाकुर के हाथों कैच कराकर वेड को आउट कर कंगारु टीम को चौथा झटका दिया। वेड ने 87 गेंदों में छह चौकों की मदद से 45 रन बनाए।
वेड के आउट होने के बाद नटराजन ने एक बार फिर शानदार गेंदबाजी करते हुए रिषभ पंत के हाथों आउट कराकर लाबुशेन को पवेलियन भेजा। नटराजन का मैच में यह दूसरा विकेट था और लाबुशेन को आउट कर उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को बड़ा झटका दिया। लाबुशेन का विकेट 213 रन के स्कोर पर गिरा। इसके बाद पेन और ग्रीन ने पारी को आगे बढ़ाया और टीम को मजबूती दी। दोनों बल्लेबाज दिन का खेल खत्म होने तक क्रीज पर डटे रहे। पेन और ग्रीन ने अंत के ओवरों में भारतीय गेंदबाजों को खासा परेशान किया और उन्हें विकेट लेने का कोई मौका नहीं दिया।
यह दोनों बल्लेबाज दूसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई पारी को गति देने की कोशिश करेंगे और टीम को मजबूत स्कोर पर ले जाना चाहेंगे जबकि भारतीय गेंदबाज कंगारु टीम की पारी को जल्द समेट कर मैच में वापसी करना चाहेंगे। भारत की ओर से नटराजन ने 20 ओवर में 63 रन देकर दो विकेट, सिराज ने 19 ओवर में 51 रन देकर एक विकेट, सुंदर ने 22 ओवर में 63 रन देकर एक विकेट और ठाकुर को 18 ओवर में 67 रन देकर एक विकेट मिला जबकि नवदीप सैनी 21 रन देकर खाली हाथ रहे। श्रीराम 'निर्भयपुत्र'

महिला पर डायन का आरोप लगा कर हत्या की

रांची। झारखंड के बोकारो में एक महिला को डायन बताकर पीट-पीटकर मार डालने का मामला सामने आया है। इस घटना में 11 लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। साथ ही, उन सभी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी गई है। पुलिस मामले की जांच भी कर रही है। साथ ही, पूरी घटना की वजह पता लगाने की कोशिश में जुटी हुई है। जानकारी के मुताबिक, यह पूरा घटनाक्रम बोकारो जिले के बेरमो अनुमंडल में आने वाले तेनुघाट ओपी थाना क्षेत्र के उलगड़ा पंचायत स्थित बारू टुंगरी टोला का है। यहां 60 वर्षीय बुजुर्ग महिला रुक्मिणी देवी को गांव के कुछ लोगों ने डायन बताया। इसके बाद उसे पीट-पीटकर मार डाला। 

किसान एकता संघ की बैठक में संगठन विस्तार किया

प्रमोद शर्मा
 गौतम बुध नगर। किसान एकता संघ (रजि०) की बैठक। नोएडा महानगर में नव नियुक्त महानगर अध्यक्ष कमल यादव के आवास गढ़ी चौखण्डी गाँव में आहुत की गई। बैठक में संगठन विस्तार किया गया। इस अवसर राष्ट्रीय अध्यक्ष सोरन प्रधान ने कहा जब तक ये तीन कृषि काले कानून रद्द नही किये जायेंगे। तब तक देश का किसान सड़कों पर आंदोलन करता रहेगा। सरकार को एम०एस०पी पर कानून बनाया जाये। स्वामीनांथन आयोग की रिपोर्ट जल्द से जल्द लागू की जाये। राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रमोद शर्मा ने सरकार को चेताया कि आंदोलन में शहीद हुए किसानों के परिवार को एक एक करोड़ रुपए की आर्थिक मदद दी जाए वरना आने वाले चुनाव में सरकार को इसका नतीजा भुगतना होगा। इस अवसर पर राष्ट्रीय संरक्षक चौधरी बाली सिंह अम्बावत,राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सोरन प्रधान जी,राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रमेश कसाना, राष्ट्रीय महासचिव बृजेश भाटी,राष्ट्रीय प्रवक्ता पंडित प्रमोद शर्मा,मेरठ मण्डल प्रभारी पप्पू प्रधान,प्रदेश महासचिव सतीश कनारसी,प्रदेश सचिव धर्मपाल प्रधान,महानगर प्रभारी अर्जुन प्रजापति,महानगर अध्यक्ष कमल यादव,रवि प्रजापति,जिला मीडिया प्रभारी राजेन्द्र चौहान, अशोक शर्मा,मोहित भाटी आदि लोग उपस्थित रहे।

सुख-शांति के लिए मकर संक्रांति पर हवन किया

भंडारा, आश्रम में वृद्ध लोगों को कम्बल वितरण

मेरठ। मानव उत्थान सेवा समिति के प्रणेता सदगुरुदेव श्री सतपाल महाराज की प्रेरणा से  मकर संक्रांति के उपलक्ष्य में मानव धर्म मंदिर, शाखा मेरठ में प्रभारी महात्मा दर्शनी बाई व धनिष्ठा बाई जी द्वारा दिल्ली रोड स्थित कुष्ठ आश्रम में वृद्ध लोगों की आवश्यकता अनुसार भंडारा एवं कम्बल वितरण किया गया। इस दौरान शाखा प्रधान, आश्रम सदस्य तथा यूथ टीम के सदस्य भी मौजूद रहे।

कमरकसी, शांति से संपन्न होगें पंचायती 'चुनाव'

श्रीराम मौर्य  

कांगड़ा। जिला कांगड़ा में पंचायतीराज चुनावों को शांतिपूर्वक ढंग से संपन्न करवाने के लिए पुलिस व होमगार्ड्स के जवान वीरवार को ड्यूटी स्थल के लिए रवाना हो गए। पुलिस मैदान धर्मशाला में जवानों को ड्यूटी बारे ब्रीफ किया गया। प्रथम चरण के चुनाव 17 जनवरी को होने हैं। वीरवार को पंचायती राज चुनावों के लिए 17, 19 व 21 जनवरी को होने वाले मतदान के लिए पुलिस प्रशासन ने 2000 के लगभग पुलिस व होमगार्ड व विभिन्न बटालियानों के जवानों को 15 ब्लॉकों में संबंधित ड्यूटी स्थल के लिए रवाना कर दिया। प्रथम चरण में 17 जनवरी को होने वाले मतदान के लिए सुरक्षा व्यवस्था हेतू पुलिस प्रशासन की ओर से पुलिस व होमगार्ड जवानों को विभिन्न मतदान केंद्रों में तैनात किया गया है। पुलिस जवानों के लिए पुलिस विभाग की बसें उपलब्ध करवाई गई, वहीं होमगार्ड जवानों को भेजने के लिए एचआरटीसी की 15 बसों की व्यवस्था की गई है। वीरवार को भेजे गए जवानों में 1000 के लगभग पुलिस जवान, 450 के लगभग महिला पुलिस और 550 के लगभग होमगार्ड के जवान शामिल हैं। प्रथम चरण के लिए सुरक्षा के लिए पुलिस व होमगार्ड के जवान भेजे गए हैं, वहीं से इन्हें दूसरे व तीसरे चरण के मतदान के लिए तैनाती दी जाएगी। जिला कांगड़ा में सामान्य, अति संवेदनशील व संवेदनशील मतदान केंद्रों के हिसाब से जवानों की तैनाती की गई है। जिला कांगड़ा में प्रथम चरण में पंचायती राज चुनावों के लिए 276 पंचायतों के 1708 बूथों, दूसरे चरण में 274 पंचायतों के 1612 बूथों, जबकि तीसरे चरण में 264 पंचायतों के 1482 मतदान केंद्रों पर मतदान होना है। उधर, ए.एस.पी. कांगड़ा राजेश कुमार ने बताया कि पंचायती राज चुनावों के लिए 2000 के लगभग पुलिस, होमगार्ड व महिला पुलिस की डयूटी लगाई गई है। वीरवार को 15 ब्लाकों के लिए जवानों को पंचायत चुनाव के प्रथम चरण के लिए भेजा गया है। इसके बाद उन्हें दूसरे व तीसरे चरण के लिए तैनाती दी जाएगी।

पौधारोपण के नाम पर करोड़ों का घोटाला किया

बांदा। बुंदेलखंड के विध्यांचल क्षेत्र में पौधरोपण, वन्यजीव व पर्यावरण संरक्षण के नाम पर करोड़ों खर्च को लेकर जनहति याचिका ने वन विभाग को आफत में डाल रखा है। हालत मैं क्या करू हाय राम हाये की सी हो गई है। पीआइएल पर सुनवाई करते हुए उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस गोविद माथुर व जस्टिस सौरभ श्याम की मुख्य पीठ ने बुधवार को खर्च राशि का रिकार्ड तलब किया है। इस मामले में 15 फरवरी को सुनवाई होगी।वरिष्ठ अधिवक्ता धर्मपाल सिंह, सत्यव्रत त्रिपाठी, सिद्धार्थ निरंजन ने पीआइएल पर बहस की । बुंदेलखंड के सात जनपदों में वन विभाग द्वारा पौधरोपण, वन समृद्धिकरण, वन्यजीवों के संरक्षण से जुड़ा यह मामला है। सितंबर 2020 से इस मामले की पैरवी हो रही हैं। वर्ष 2011-12 में सीएजी की आडिट रिपोर्ट का हवाला है।बुंदेलखंड में तत्कालीन बसपा सरकार के समय विशेष पौधरोपण अभियान सात जनपदों में हुआ, जिसमें दस करोड़ पौधरोपण पर 40 करोड़ रुपये का घोटाला खुलासे होने पर सितंबर 2020 को मुख्य वन संरक्षक अनुश्रवण एवं मूल्यांकन इकाई लखनऊ को शिकायत की गई थी। तत्कालीन आइएफएस अधिकारी पवन कुमार ने जांच बुंदेलखंड जोन के मुख्य वन संरक्षक पीपी सिंह झांसी को सौंप दी। वन संरक्षक झांसी ने यह जांच चित्रकूट डीएफओ कैलाश प्रकाश को दी। उन्होंने उप प्रभागीय वन अधिकारी आरके दीक्षित को जांच देकर किनारा कर लिया। जांच आठ माह तक लटकी रही और आरटीआइ से जवाब मांगने पर डीएफओ चित्रकूट ने बरगढ़ ब्लाक की वन रेंज देशाह में सात जनपद की जांच आख्या निपटा दी। जनहित याचिका

शपथपत्र व साक्ष्यों को उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर की, जिसे पीआइएल में परिवर्तित कर रिट दाखिल हुई। बुंदेलखंड परिक्षेत्र के अंदर एक दशक के दौरान तीन सौ करोड़ के घोटाले और सीएजी की ऑडिट रिपोर्ट पर कार्यवाही न होने को आधार बनाया गया। बांदा के गिरते वन क्षेत्र 1.21 हे. सहित अन्य जनपदों के आरटीआइ से जुटाए आंकड़े शामिल करके हर साल करोडों के पौधरोपण खेल के लिए वनविभाग को जिम्मेदार ठहराया गया।
इलाहाबाद मुख्य न्यायपीठ ने बुधवार को आदेश देकर प्रदेश सरकार से पौधरोपण पर खर्च धनराशि व उपलब्धि का जिलेवार ब्यौरा मांगा है। आरटीआई कार्यकर्ता आशीष सागर दीक्षित ने बताया की बांदा को रिट आदेश में विशेष तौर पर इंगित किया गया है।

सोनीपत: लड़की ने जहर खाकर की आत्महत्या

सोनीपत। सोनीपत जिले के कुंडली क्षेत्र के प्रेम नगर में रहने वाली युवती को उसके सहकर्मी युवक ने अपने इकतरफा प्यार के चलते इतना परेशान किया कि परेशान होकर लड़की ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। लड़की युवक की हरकतों की वजह से काफी समय से परेशान थी। कल युवक ने लड़की को मुरथल ढाबे पर बुलाया और घर से ही जहर लेकर आरोपी से मिलने ढाबे पर पहुंची। जहां सहकर्मी ने शादी का दबाव बनाया और लड़की ने जहर का सेवन कर लिया। लड़की की सोनीपत के निजी अस्पताल में मौत हो गई। मुरथल थाना पुलिस ने लड़की की मां के बयान पर केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया है। मध्यप्रदेश के छत्तरपुर निवासी महिला ने बताया कि वह कुंडली की प्रेम कॉलोनी में रहती है। उनकी बेटी (21) बड़ी औद्योगिक क्षेत्र स्थित कपिल इंटर प्राइजेज कंपनी में काम करती थी। उसकी बेटी के साथ उसकी कंपनी में बिहार के जिला छपरा के गांव रसोली का रणधीर उर्फ मुन्ना भी काम करता था। आरोपी कंपनी में रहता है। रणधीर उसकी बेटी रेखा से एकतरफा प्यार करने लगा। उसने रेखा से शादी करने का दबाव बनाया, लेकिन उसकी बेटी ने मना कर दिया।उसकी बेटी जब 12 जनवरी को घर से ड्यूटी पर जा रही थी तो आरोपी ने उसे जबरन मुरथल स्थित हैप्पी ढाबा पर उतरने को कहा। आरोपी बार-बार जिद कर रहा था जिसके चलते उसकी बेटी ढाबा पर उसे समझाने के लिए चली गई। उसकी बेटी ने आरोपी को कई बार समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं हुआ और धमकी देने लगा। जिस पर उसकी बेटी ने आरोपी के दबाव से परेशान होकर जहर खा लिया। उसकी बेटी की ऑस्कर अस्पताल सोनीपत में मौत हो गई। मृतका की मां का आरोप है कि जब उनकी बेटी ने ढाबे पर जहर का सेवन किया तो उसकी तबीयत बिगड़ गई। इस पर आरोपी रणधीर ने ही उन्हें बेटी के जहर खाने की सूचना दी और भाग गया। इसके बाद ढाबा संचालकों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस व परिजनों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई। आरोपी रणधीर ने पुलिस पूछताछ में बताया कि युवती के पास जहर था। वह उससे मिलने आई तो अपने साथ जहर की गोली लाई थी। जांच अधिकारी श्रीकृष्ण ने कहा कि एकतरफा प्यार से परेशान लड़की ने ढाबे पर जहर खाया था। उसकी अस्पताल में मौत हई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अब जेल में है। आरोपी रणधीर ने कबूल किया कि वह उससे प्यार करता था, लेकिन लड़की उसे नजरअंदाज करती थी। वह पिछले महीने से उसे शादी के लिए प्रपोज कर रहा था। वह इंकार कर रही थी। 12 जनवरी को सुबह उससे बात की थी। उसे फोन पर कसम देकर ढाबे पर बुलाया। उसने फिर उसके सामने शादी का प्रस्ताव रखा। लड़की ने कहा कि वह उससे परेशान हो गई है और आज तेरे इस इकतरफा प्यार का अंत कर दूंगी। उसने पर्स से जहर की गोली निकाली और खा ली।

दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...