गुरुवार, 29 जून 2023

7 जुलाई को छत्तीसगढ़ दौरे पर रहेंगे 'पीएम'

7 जुलाई को छत्तीसगढ़ दौरे पर रहेंगे 'पीएम'

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 7 जुलाई को छत्तीसगढ़ दौरे पर रहेंगे। बताया जा रहा है कि मोदी रायपुर आ सकते हैं। सात जुलाई को छत्तीसगढ़ दौरा प्रस्तावित है। विस्तृत कार्यक्रम अभी जारी नहीं हुआ है। बता दें कि इससे पहले अगस्त में पीएम मोदी के आने की खबर सामने आई थी।

चर्चा है कि प्रधानमंत्री मोदी केंद्र सरकार की पिछले 9 साल की उपलब्धियों को गिनाएंगे। कुछ वर्गों के साथ संवाद कार्यक्रम करेंगे।

साथ ही भिलाई में बनकर तैयार हुए आईआईटी के उद्घाटन समारोह में भी पीएम मोदी शामिल हो सकते हैं, जिसके लिए आईआईटी ने प्रस्ताव भेजा था।

वृद्धाश्रम में होने वाली परेशानियां बयां की

वृद्धाश्रम में होने वाली परेशानियां बयां की

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। अपनों से सताए और भगाए वृद्धजनों के लिए बनाए गए वृद्धाश्रम में भी वृद्धों को अपनत्व नहीं मिल पा रहा। प्रयागराज के आधारशिला वृद्धाश्रम में कई वृद्धों ने गुरुवार को भावुक होते हुए वृद्धाश्रम में होने वाली परेशानियां बयां की।

वृद्धों ने जिम्मेदारों पर परेशान करने के आरोप लगाए हैं। प्रयागराज के नैनी स्थित आधारशिला वृद्धाश्रम के शंकररचित वृद्ध निवासी झारखंड ने बताया कि वृद्धाश्रम में न तो समय से खाना मिलता है न चाय-पानी मिलती है। बुजुर्ग लोग नित्य-क्रिया के लिए भी काफी परेशान रहते हैं। कर्मचारी किसी वृद्ध की कोई बात नहीं सुनते। ज्यादा शिकायत पर निकालने की धमकी देते हैं। 

वृद्ध रामदुलार ने बताया कि चार-पांच दिन पहले पानी मांगा पानी नहीं मिला, खाना मांगने पर फटकारते हुए खाना मिला तो वृद्ध ने खाना नहीं खाया। उसे डांटा, फटकारा गया। 

वृद्ध रामसागर विश्वकर्मा निवासी मिर्जापुर ने बताया कि पानी व चाय मांगने पर नहीं मिलती है। बोलो तो धमकी देते हैं कि निकल जाओ यहां से। 5 मिनट 52 सेकेंड के वीडियो में कई वृद्धों ने अपनी व्यथा व्यक्त करते हुए खाना, पानी, तेल, साबुन न समय से न मिलने का आरोप लगाया है।

बिहार आने के लिए हर कोई स्वतंत्र: सीएम 

बिहार आने के लिए हर कोई स्वतंत्र: सीएम 

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की बृहस्पतिवार को बिहार के लखीसराय की यात्रा से पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हर कोई राज्य में आने के लिए स्वतंत्र है। पटना में 23 जून को हुई विपक्षी दलों की बैठक के बाद शाह का बिहार दौरा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के किसी शीर्ष नेता की पहली यात्रा है।

विपक्षी दलों के बैठक का मकसद अगले वर्ष होने वाले आम चुनाव में भाजपा के खिलाफ एकजुट होने और पार्टी को हराने की रणनीति तैयार करना था। नीतीश ने यहां संवाददाताओं से बातचीत के दौरान वह समान नागरिक संहिता पर प्रधानमंत्री की पुरजोर वकालत के मामले में प्रश्न से साफ बचते नजर आए। शाह की लखीसराय की यात्रा के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि ‘‘यहां आने के लिए हर कोई स्वतंत्र है।

बिहार आने का हक सभी को है।’’ विपक्षी दलों की बैठक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘बैठक समाप्त हो चुकी है...हम इस पर बाद में बातचीत करेंगे।’’ शाह का आज दोपहर यहां जय प्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने का कार्यक्रम है। शाह हेलीकॉप्टर से मुंगेर जिले के लखीसराय के लिए रवाना होंगे, जहां वह एक रैली को संबोधित करेंगे।

पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सम्राट चौधरी और बिहार के केंद्रीय मंत्रियों सहित भाजपा के वरिष्ठ नेता उनका स्वागत करेंगे। शाह जनसभा को संबोधित करने से पहले भगवान शिव और देवी पार्वती के प्रसिद्ध मंदिर अशोक धाम में पूजा-अर्चना भी करेंगे। शाह तीन महीने पहले बिहार आए थे। इस बीच शाह के आगमन से पहले सत्तारूढ़ महागठबंधन दलों के समर्थकों ने तथा भाजपा के समर्थकों ने हवाई अड्डे के निकट तथा पटना के अन्य स्थानों पर पोस्टर लगाए हैं। विपक्षी दलों के पोस्टर में मणिपुर में हिंसा के लिए साथ ही केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो, प्रवर्तन निदेशालय तथा आयकर विभाग के दुरुपयोग के लिए भाजपा नेतृत्व की आलोचना की गई है।

इसके विपरीत भाजपा समर्थकों के पोस्टर में विपक्षी दलों की एकता पर कटाक्ष किया गया है। पोस्टर युद्ध के बारे में पूछे जानेपर सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा, ‘‘पार्टी का इन पोस्टर से कोई लेना-देना नहीं है। यह पार्टी कार्यकर्ताओं की परिकल्पना है और उन्होंने ही पोस्टर शहर में लगाए हैं।’’

ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त ने खड़गे से मुलाकात की

ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त ने खड़गे से मुलाकात की

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ'फैरेल ने गुरुवार को यहां कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से उनके आवास पर मुलाक़ात की और दोनों देशों के संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के बारे में विचार-विमर्श किया।

खड़गे ने ट्वीट करके यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, "भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ'फैरेल ने आज मुझसे मुलाकात की और हमने दोनों देशों के बीच संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने के बारे में गहनता से चर्चा की।"

उन्होंने कहा,"भारत और ऑस्ट्रेलिया में कई समानताएं हैं, जो परस्पर सहयोग बढ़ाने और व्यापक स्तर पर बातचीत की नींव के तौर पर काम करती हैं। हमारी रणनीतिक साझेदारी मजबूती के साथ महत्वपूर्ण दिशा में बढ़ी है।"

'मौत' की सजा सुनिश्चित, ठोस सबूत तैयार 

'मौत' की सजा सुनिश्चित, ठोस सबूत तैयार 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने बृहस्पतिवार को कहा कि शाहबाद डेरी इलाके में 16 वर्षीय लड़की की हत्या सोच-समझकर की गई और उन्होंने आरोपी को मौत की सजा सुनिश्चित करने के लिए ठोस सबूत तैयार किया है। विशेष पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने कहा, ‘‘ यह हत्या सोच-समझकर बदला लेने की मंशा से की गई।  

हमारे पास सभी सबूत हैं और घटना के एक महीने के भीतर हमने आरोपपत्र दाखिल कर दिया ताकि लड़की के परिवार को न्याय मिल सके।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने साक्षी की हत्या के मामले में पेशेवर रवैये तथा सतर्क दृष्टिकोण से जांच की और रिकॉर्ड समय में अदालत के समक्ष आरोपपत्र दाखिल किया।’’

पाठक ने कहा, ‘‘... हमने ठोस सबूत तैयार करने की कोशिश की है ताकि आरोपी को मौत की सजा मिले।’’ दिल्ली पुलिस ने 28 मई को राष्ट्रीय राजधानी के शाहबाद डेरी इलाके में सरेआम 16 वर्षीय लड़की की बर्बर तरीके से हत्या करने वाले साहिल के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल किया है।अदालत से जुडे़ सूत्रों ने बताया कि यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम की धारा 12 (किसी बच्चे का यौन उत्पीड़न करने की सजा) और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम की धाराओं के तहत मंगलवार को पॉक्सो अदालत के समक्ष 640 पन्नों का आरोपपत्र दाखिल किया गया।

आरोपी पर भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या), 354 ए (यौन उत्पीड़न) और 509 (किसी महिला की लज्जा भंग करने के इरादे से किया गया कृत्य) के साथ शस्त्र अधिनियम के प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए हैं। पुलिस ने घटना के बाद बताया था कि लड़की के शरीर पर 34 घाव थे और उसके सिर को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। साहिल को 29 मई को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस के अनुसार, जांच में पता चला कि साहिल और साक्षी के बीच प्रेम संबंध थे, लेकिन उनके बीच अक्सर झगड़े होते रहते थे। दोनों के बीच 27 मई को झगड़ा हुआ था जिसके बाद साहिल ने बदला लेने की मंशा से अगले दिन उसकी बेरहमी से हत्या कर दी थी।

अमरनाथ की तीर्थयात्रा, पंजीकरण प्रक्रिया शुरू 

अमरनाथ की तीर्थयात्रा, पंजीकरण प्रक्रिया शुरू 

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। प्रशासन ने दक्षिण कश्मीर हिमालय क्षेत्र स्थित अमरनाथ गुफा मंदिर की तीर्थयात्रा के लिए यहां आने वाले श्रद्धालुओं के वास्ते बृहस्पतिवार को मौके पर ही पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी। हिमालय क्षेत्र में 3,880 मीटर की ऊंचाई पर प्राकृतिक रूप से बनने वाले हिम शिवलिंग के दर्शन के लिए आगामी एक जुलाई से शुरू होने वाली यात्रा के वास्ते साधुओं सहित 1,500 से अधिक तीर्थयात्री जम्मू शहर पहुंच चुके हैं।

शहर के शालीमार क्षेत्र में जहां अपंजीकृत तीर्थयात्रियों के लिए मौके पर ही पंजीकरण के वास्ते केंद्र स्थापित किया गया है, वहीं पुरानी मंडी स्थित राम मंदिर परिसर में साधुओं के पंजीकरण के लिए एक विशेष शिविर स्थापित किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच, 1000 से अधिक तीर्थयात्री आगे की यात्रा के लिए यहां भगवती-नगर आधार शिविर पहुंच चुके हैं।

यह 62 दिवसीय तीर्थयात्रा दो मार्गों- अनंतनाग जिले में पारंपरिक 48 किलोमीटर लंबे नुनवान-पहलगाम मार्ग और गांदरबल जिले में 14 किलोमीटर लंबे बालटाल मार्ग से शुरू होगी। उपमंडल मजिस्ट्रेट नर्गेश सिंह ने पीटीआई-भाषा को बताया कि देश के सभी हिस्सों से आने वाले गैर-पंजीकृत तीर्थयात्रियों का पंजीकरण यहां काउंटर पर मौके पर ही शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि सुचारू पंजीकरण के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं।

तहसीलदार जय सिंह ने कहा, "जम्मू में साधुओं का पंजीकरण आज से शुरू हो गया है। साधुओं को सर्वोत्तम संभव सुविधाएं देने के लिए सभी इंतजाम किए गए हैं।" यात्रा के लिए यहां पहुंचने वाले तीर्थयात्रियों में उत्साह देखते ही बनता है। उत्तर प्रदेश के संजीव कुमार ने कहा कि वह चौथी बार अमरनाथ यात्रा कर रहे हैं।

दिल्ली से आए 69 वर्षीय जगदेश राज ने कहा, "अपने पूरे जीवन में, मैं तीर्थयात्रा की इच्छा रखने वाले लोगों को सुविधा प्रदान करता रहा हूं, लेकिन खुद दर्शन करने नहीं पहुंच सका। हालांकि, मुझे बहुत खुशी है कि अब मैं अमरनाथ के दर्शन करने जा रहा हूं।" उत्तराखंड स्थित यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम की चारधाम यात्रा पूरी करने के बाद साधु यहां पहुंचे हैं। वहीं, एक अन्य तीर्थयात्री रमेश चंद्र गिरि ने कहा, "हम यहां पंजीकरण के लिए आए हैं, जो आज से शुरू हुआ...यह छठी बार है, जब मैं अमरनाथ जा रहा हूं।"

शांति व सद्भाव में मनाया 'बकरीद' का पर्व

शांति व सद्भाव में मनाया 'बकरीद' का पर्व


इस्लाम में हज़रत इब्राहीम की सुन्नत पर अमल करने का नाम है ईद ए क़ुरबां

ईदगाह सहित शहर भर की सभी छोटी बड़ी मस्जिदों में अदा की गई ईदुल अज़हा की विशेष नमाज़

फजिर की नमाज़ के बाद से ईद उल अज़हा की नमाज़ के बाद देर शाम तक बारगाहे खुदावन्दी में दी जाती रही दुम्बों और बकरों की कुर्बानी 

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। बकरीद यानी ईद-उल-अजहा का पर्व हज़रत इब्राहीम के देखे ख्वाब की तामील को अमली जामा पहनाते हुए आज अक़ीदत व ऐहतेराम के साथ शांति व सद्भाव में मनाया गया। 

उम्मुल बनीन सोसायटी के महासचिव सैय्यद मोहम्मद अस्करी के अनुसार प्रातः 6 बजे से 10 :30 बजे तक ईदगाह सहित शहर भर की मस्जिदों इबादतगाहों और घरों में ईद उल अज़हा की खास नमाज़ ओलमा की क़यादत में अदा की गई। ईदगाह ,चौक जामा मस्जिद ,चक ज़ीरो रोड शिया जामा मस्जिद, रौशन बाग़ शाह वसी उल्ला मस्जिद, करैली बीबी खदीजा मस्जिद, बख्शी बाज़ार मस्जिद क़ाज़ी साहब, दायरा शाह अजमल की खानकाह मस्जिद, अटाला व रसूलपुर की बड़ी मस्जिद, दायरा शाह अजमल की मस्जिद ए नूर, बैदन टोला, सियाहमुर्ग़, धोबी घाट की हरी मस्जिद करैली लेबर चौराहे की मस्जिद ए मोहम्मदी, दरियाबाद की इमाम रज़ा मस्जिद , बैतुस्सलात, मुसल्ला ए ज़ीशान, इबादतखाना,मदरसा जमीयतुल अब्बास वीआईपी कालोनी सहित शहर भर की सैकड़ों मस्जिदों में तय समय पर ईद उल अज़हा की खास नमाज़ अदा की गई।मस्जिदों में रिज़्क़ सेहत बरकत आपस में यकजहती सभी धर्मों का आदर करने के साथ मुल्क ए हिन्द को हमेशा कामयाबी और कामरानी के साथ आगे बढ़ते रहने की दुआ मांगी गई।

अना,हसद,ग़ुस्सा ,तकब्बुर ,गुमराही को क़ुरबान करना ही सही मायनों में ईद ए क़ुरबॉ का असली मक़सद (मौलाना जवादुल हैदर रिज़वी )

मस्जिद क़ाज़ी साहब बख्शी बाज़ार में ईद-उल-अजहा यानी ईद ए क़ुरबां पर बाद नमाज़ खुतबे मे मौलाना सैय्यद जव्वादुल हैदर रिज़वी ने ईद क़ुरबॉ की फज़ीलत बयान की कहा हज़रत इब्राहीम को तीन मर्तबा ख्वाब में अल्लाह ने अपने बेटे को राहें खुदा में क़ुरबान करने का हुक्म दिया, तो उस ख्वाब को उन्होंने अपनी बीवी और बेटे हज़रत इस्माईल को बताया।

बीवी और बेटे की रज़ामन्दी के बाद हज़रत इब्राहीम मेना की पहाड़ी पर बेटे को राहें खुदा में क़ुरबान करने को ले कर गए।रास्ते में तीन शख्स ने अलग अलग तरीकों से उनहे इस अहकाम से रोकने की कोशिश की लेकिन दोनों ने उनको नकारते हुए यही कहा की तुम शैतान हो।आज काबे में हज के बाद उन्हीं तीन शैतानों पर हाजी कंकड़ी मारते हैं।

जब तक इस रस्म की अदायगी नहीं होती, तब तक हज मुकम्मल नहीं होता। 

हज़रत इब्राहीम ने जब खुदा के हुक्म से बेटे इस्माईल के गर्दन पर छूरी फेरनी चाही तो अल्लाह की तरफ से ग़ैब से उस जगहा पर दुम्बा ज़िबहा पाया और ऑख की पट्टी खोली तो देखा दुम्बा क़ुरबान हो चुका था और बेटे हज़रत इस्माईल बग़ल में सही सलामत खड़े मुस्कुरा रहे हैं।

इसी सुन्नत को अमल में लाते हुए दुनिया भर में मुसलमान आज के दिन दुम्बों व बकरों की कुर्बानी देते हैं। इस तहरीक से लोगों को चाहिये की आज से अहद लें कि सिर्फ जानवर ही नहीं अना हसद ग़ुस्सा तकब्बुर गुमराही को भी क़ुरबान कर अच्छे और सच्चे मोमिन बन जाएं, ताकि अल्लाह हमारी क़ुरबानी को क़ुबूल करें।

बैठक: नए हवाई सेवा समझौते को मंजूरी दी

बैठक: नए हवाई सेवा समझौते को मंजूरी दी

अकांशु उपाध्याय

नई दिल्ली। भारत-फिलीपिंस संयुक्‍त द्वि‍पक्षीय सहयोग आयोग की पांचवीं बैठक नई दिल्‍ली में हुई। बैठक में विदेश मंत्री डॉक्‍टर एस जयशंकर ने कारोबार, रक्षा सहयोग, हिन्‍द-प्रशांत क्षेत्र में स्थिरता की आवश्‍यकता और समावेशी बहुलवाद के मुद्दों पर फिलिपींस के विदेश मंत्री एनरिक मनालो के दृष्टिकोण का स्‍वागत किया। डॉक्‍टर जयशंकर ने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि इस बैठक के सकारात्‍मक परिणाम निकलेंगे।

फिलिपींस के विदेश मंत्री मनालो ने कहा कि विज्ञान, प्रौद्योगिकी और अंतरिक्ष सहयोग में भारत फिलिपींस का मुख्‍य भागीदार है। उन्‍होंने यह भी कहा कि वाणिज्यिक उडानों के कारण फिलिपींस में पिछले पांच वर्षों में भारतवंशियों की आवाजाही बढी है। श्री मनालो ने कहा कि फिलिपींस ने भारत के साथ नए हवाई सेवा समझौते को मंजूरी दे दी है।

5 महीनों तक शुभ कार्यों पर पूर्णता विराम

5 महीनों तक शुभ कार्यों पर पूर्णता विराम

सरस्वती उपाध्याय 

देवउठनी एकादशी से लगभग 5 महीने पहले हर साल आषाढ़ मास की शुक्ल-पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी मनाई जाती है, जो इस साल आज यानी 29 जून मनाई जा रही है। साल की सभी एकादशीयों में देवशयनी एकादशी अपना एक विशेष महत्व रखती है। मान्यता है कि इस दिन से भगवान विष्णु 5 महीने के लिए योग निद्रा में चले जाते हैं। इसके बाद भगवान विष्णु सीधे 5 महीनों के बाद ही जागते हैं। यही वजह है कि देवशयनी एकादशी से हिंदू धर्म में पूर्णता 5 महीनों तक शुभ व मांगलिक कार्यों पर पूर्णता विराम लग जाता है।

कर्मकांड ज्योतिषी व भागवताचार्य मनीष उपाध्याय का कहना है कि सभी एकादशी में निर्जला, देवउठनी और देवशयनी एकादशी का अधिक महत्व है। देवशयनी एकादशी से भगवान विष्णु योग निद्रा में चले जाते हैं। जिसके बाद नारायण सीधे देवउठनी एकादशी के दिन भी जागते हैं। उन्होंने बताया कि इस साल चातुर्मास 29 जून यानी देवशयनी एकादशी से प्रारंभ होने जा रहा है। जिसके चलते आज से हिंदू धर्म में सभी मांगलिक कार्य होने बंद हो जाएंगे।

5 माह तक रहेगा चातुर्मास

ज्योतिषी के मुताबिक 29 जून से शुरू होने वाला चातुर्मास इस साल 5 महीने तक रहने वाला है। उन्होंने बताया कि हर साल चातुर्मास 4 महीने का होता है। लेकिन इस साल दो बार सावन होने की वजह से भगवान का विश्राम काल बढ़ गया है।

श्रीहरि की पूजा रहेगी फलदाई

पंडित मनीष उपाध्याय बताते हैं कि देवशयनी एकादशी से श्री हरि विश्राम के लिए क्षीर सागर में चले जाते हैं। ऐसे में जो भी इस दिन भगवान विष्णु की सच्चे मन से आराधना करता हैं, तो उसे कई गुना अधिक फल प्राप्त होता है।

युवती ने मुंह बोला भाई बताकर, शादी रचाई

युवती ने मुंह बोला भाई बताकर, शादी रचाई

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। प्रेम प्यार के जंजाल में फंसे युवाओं के लिए रिश्तो की कोई अहमियत नहीं रह गई है। युवती के साथ छेड़छाड़ और मारपीट करने के मामले में पकड़े गए जिस युवक को युवती ने अपना मुंह बोला भाई बताकर थाने से छुड़वा लिया था। अब युवती ने उसी के साथ लाल जोड़ा पहनकर लोकलाज को बुलाते तांक पर रखकर इत्मीनान के साथ शादी रचा ली है। 

दरअसल, जनपद मुजफ्फरनगर के जानसठ कस्बे में चार दिन पहले राह चलती लड़की से सुनसान गली में छेड़छाड़ किए जाने के मामले का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। तेजी के साथ वायरल हुए इस वीडियो का संज्ञान लेते हुए पुलिस ने भागदौड़ करते हुए सुनसान गली में युवती के साथ छेड़छाड़ करने वाले युवक को दबोच कर थाने की हवालात में डाल दिया था।

लेकिन, जैसे ही इस मामले का छेड़छाड़ की शिकार हुई युवती को पता चला तो वह सीधे थाने में जा धमकी और हवालात में छेड़छाड़ के आरोप में बंद किए गए युवक को अपना मुंह बोला भाई बताया और उसे पुलिस के हाथों से छुड़वा लिया।

अब सोशल मीडिया पर उसी युवक और उसी युवती का एक वीडियो तेजी के साथ वायरल हो रहा है, जिसमें दुल्हन का लाल जोड़ा पहने युवती उसी युवक के साथ दुल्हन के रूप में दिखाई दे रही है, जिसे उसने अपना मुंह बोला भाई बताकर छुड़ाया था। युवक भी पूरी तरह से दूल्हे के लिबास में सुसज्जित है और उसने शेरवानी पहनने के साथ सिर पर दूल्हे की पगड़ी भी लगा रखी है। 

दोनों ने मंदिर में पहुंचकर एक दूसरे के गले में जयमाला डाली और एक दूसरे के साथ शादी के बंधन में जुट गए। 4 दिन पहले जिस युवक-युवती में सरेराह मारपीट होने की वीडियो वायरल हुई थी अब उन्हीं के शादी के बंधन में बंद जाने की वीडियो वायरल होने पर लोग अस्त-व्यस्त होते सामाजिक ताने-बाने को लेकर चिंतित दिखाई देने लगे हैं।

केदारनाथ-बदरीनाथ की यात्रा पर पहुंचे पर्यटक, फंसे 

केदारनाथ-बदरीनाथ की यात्रा पर पहुंचे पर्यटक, फंसे 

पंकज कपूर 

देहरादून। मूसलाधार बारिश की वजह से चमोली जिले में छिनका के पास हुए भूस्खलन से बदरीनाथ की तरफ जाने वाला हाईवे पूरी तरह से ब्लॉक हो गया है, जिसके चलते केदारनाथ और बद्रीनाथ की यात्रा पर पहुंचे टूरिस्ट रास्ते में ही फंस गए हैं। बृहस्पतिवार को उत्तराखंड के चमोली जिले में हो रही मूसलाधार बारिश की वजह से हुए भूस्खलन से बदरीनाथ की तरफ जाने वाला हाईवे तकरीबन पूरी तरह से बाधित हो गया है। 

हाईवे पर पहाड़ टूट कर गिरने का एक वीडियो सामने आया है, जो बेहद खौफनाक दिखाई दे रहा है। बद्रीनाथ हाईवे पर टूटकर गिरा पहाड़ अलकनंदा नदी में समा गया है। पहाड़ टूटने के बाद सड़क से लेकर नदी तक पहाड़ का मलबा दूर तक बिखर गया है। जिसके चलते बदरीनाथ नेशनल हाईवे बंद हो गया है। बदरीनाथ हाईवे मलबा आने की वजह से सवेरे से बंद पड़ा हुआ है। चार धाम यात्रा पर गए श्रद्धालु जगह-जगह फंसे हुए हैं। जिला प्रशासन ने एहतियाती कदम उठाते हुए रेस्क्यू अभियान शुरू करा दिया है।

राशन की दुकानों तक पहुंचने में समस्या, संज्ञान

राशन की दुकानों तक पहुंचने में समस्या, संज्ञान


राशन की दुकानों तक पहुंचना होगा आसान, गलियों की बजाए सुगम स्थलों पर होंगी दुकानें

आम जनता के साथ खाद्यान्न वाहनों की सुविधा को देखते हुए योगी सरकार ने जारी किया आदेश

मनरेगा के अंतर्गत फूड ग्रेन स्टोरेज का निर्माण कर उनका उपयोग उचित दर दुकानों के रूप में कर सकती है सरकार

बरेली संभाग द्वारा विकसित कराए गए मॉड्यूल के आधार पर हो सकती है, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की उचित दर दुकानों के निर्माण की कार्यवाही

संदीप मिश्र 

लखनऊ। तंग संकरी गलियों में सरकारी राशन की दुकानों तक खाद्यान्न पहुंचने में होने वाली समस्या के साथ ही आम जनता को होने वाली दुश्वारियों का संज्ञान लेते हुए योगी सरकार ने महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। सरकार ने ऐसी दुकानों को सुगम स्थलों में नई दुकानों में शिफ्ट करने का आदेश जारी किया है। इन दुकानों तक आम लोगों की पहुंच आसान करने के साथ ही खाद्यान्न ले जाने वाले वाहन भी दुकानों तक सीधे पहुंच सकें, इसके लिए मंडलायुक्त बरेली व संभागीय खाद्य नियंत्रक, बरेली संभाग द्वारा विकसित कराए गए मॉड्यूल के आधार पर दुकानों को विकसित किए जाने का सुझाव दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 की धारा 24(2)(ए) में यह व्यवस्था दी गई है कि प्रदेश सरकार सब्सिडाइज्ड दरों पर खाद्यान्न केंद्र सरकार के नियत गोदामों से प्राप्त कर अधिकृत एजेंसियों के माध्यम से उचित दर की दुकानों (राशन दुकानों) तक डोर स्टेप डिलीवरी कराएगी। संकरी गलियों में दुकानें होने से आ रही समस्या के दृष्टिगत यह निर्णय लिया गया है। 

पंचायत भवन एवं सामुदायिक भवनों के नजदीक होंगी दुकानें

खाद्यान्न के डोर स्टेप डिलीवरी के सिंगल स्टेज व्यवस्था के अंतर्गत खाद्यान्न के वाहनों का उचित दर दुकान तक सुगमतापूर्वक पहुंचना अत्यंत आवश्यक है, लेकिन उचित दर विक्रेताओं की दुकानें संकरी गलियों में अवस्थित होने के कारण खाद्यान्न के वाहन सुगमतापूर्वक नहीं पहुंच सकते हैं। इसके साथ ही आम जन-मानस को खाद्यान्न प्राप्त करने के लिए दुकान तक पहुंचने में कठिनाई होती है। 

ऐसी स्थिति में पूर्व में जारी आदेश में ये व्यवस्था दी गई है कि ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम सभाएं तथा शहरी क्षेत्रों में नगर पंचायत, नगर पालिका परिषद, नगर निगम अपने आर्थिक स्रोतों, मनरेगा आदि योजनाओं से राशन की दुकानों का निर्माण करेंगे। ये निर्माण ग्रामीण क्षेत्र में यथासंभव पंचायत भवन एवं शहरी क्षेत्रों में सामुदायिक भवनों के नजदीक स्थान की उपलब्धता के आधार पर किए जाने चाहिए।

फूड ग्रेन स्टोरेज का भी किया जा सकता है उपयोग

आदेश में ये भी कहा गया है कि सचिव, भारत सरकार उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय एवं ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा यह अवगत कराया गया है, कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के कार्यान्वयन के लिए फूड ग्रेन स्टोरेज के निर्माण का कार्य मनरेगा के अंतर्गत अनुमन्य है। अतः राज्य सरकार मनरेगा के अंतर्गत फूड ग्रेन स्टोरेज का निर्माण कर उनका उपयोग उचित दर दुकानों के रूप में कर सकती है। ऐसे भवनों का निर्माण केवल सरकारी भूमि पर किया जाएगा। 

उचित दर दुकानों की व्यवहार्यता बढ़ाने के लिए राज्य सरकार द्वारा उचित दर दुकानों के माध्यम से विद्युत देयकों का भुगतान, सीएससी सेवाएं, पीएम वाणी के अंतर्गत ब्रॉडबैंड सेवा उपलब्ध कराने के साथ-साथ आम जन मानस की रोजमर्रा की आवश्यकता की वस्तुओं के बिक्री की भी अनुमति प्रदान की गई है। 

समस्त ब्लाकों में किया जाएगा निर्माण

संयुक्त सचिव संत लाल द्वारा सभी मंडलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को प्रेषित आदेश के अनुसार, निर्मित की जाने वाली उचित दर दुकानों का मानक निश्चित न होने के कारण जनपदों में संबंधित प्राधिकारियों द्वारा इनका निर्माण सुनिश्चित नहीं कराया जा पा रहा है। ऐसे में मंडलायुक्त बरेली व संभागीय खाद्य नियंत्रक, बरेली संभाग द्वारा विकसित कराए गए मॉड्यूल को आधार बनाते हुए सार्वजनिक वितरण प्रणाली की उचित दर दुकानों के निर्माण की कार्यवाही की जा सकती है। 

दुकानों की प्रस्तावित डिजाइन, ले-आउट व स्थान के चयन के संबंध में संबंधित जिलाधिकारी स्वयं के स्तर पर निर्णय लेते हुए आवश्यक कार्यवाही कराएंगे। मॉड्यूल के अनुसार निर्मित उचित दर दुकान का कुल क्षेत्रफल लगभग 484 वर्ग फीट होगा। उचित दर दुकान का निर्माण एक वृहद कक्ष में किया जाएगा, जिसमें दुकान तथा सीएससी के लिए अलग-अलग स्थान होगा। दुकान के समक्ष एक 24 फीट x 04 फीट का बरामदा भी होगा, जोकि उचित दर विक्रेताओं के लिए वेटिंग हाल के रूप में रहेगा। बरामदे में तीन स्थानों पर नोटिस बोर्ड तथा एक स्थान पर सूक्ष्म वृक्षारोपण के लिए जगह सम्मिलित है। नवीन उचित दर दुकानों का निर्माण सबसे पहले प्रदेश के समस्त ब्लाकों में किया जाएगा। 

इसके बाद भारत सरकार के निर्देशानुसार प्रत्येक जनपद में 75 दुकानों का निर्माण कराया जाएगा।

भ्रष्टाचार के खतरे का खात्मा किया जाएं: एचसी

भ्रष्टाचार के खतरे का खात्मा किया जाएं: एचसी

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने मैसूर चंदन साबुन घोटाला मामलें में कथित रूप से रिश्वत देने वालों द्वारा दायर दो याचिकाओं को खारिज करते हुए कहा है कि अब समय आ गया है कि रिश्वत लेने वालों की तरह रिश्वत देने वाले को भी इसके लिए जिम्मेदार ठहराकर भ्रष्टाचार के खतरे का खात्मा किया जाए।

न्यायमूर्ति एम. नागप्रसन्ना ने 26 जून के अपने फैसले में एमएस कर्नाटक अरोमास कंपनी के मालिकों कैलाश एस. राज, विनय एस. राज और चेतन मारलेचा की याचिका और अल्बर्ट निकोलस एवं गंगाधर की एक अन्य याचिका को खारिज कर दिया। बीडब्ल्यूएसएसबी के खातों के तत्कालीन वित्त सलाहकार और मुख्य लेखा नियंत्रक प्रशांत कुमार एमवी के कार्यालय में इन सभी के पास 45-45 लाख रुपये मिले थे। प्रशांत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के तत्कालीन विधायक और मैसूर चंदन साबुन के निर्माता कर्नाटक साबुन एवं डिटर्जेंट लिमिटेड के अध्यक्ष मदल विरुपक्षप्पा के बेटे हैं।

विरुपक्षप्पा के खिलाफ शिकायत के बाद लोकायुक्त पुलिस ने उनके बेटे प्रशांत के दफ्तर पर छापा मारा। अल्बर्ट निकोलस और गंगाधर को प्रशांत के कार्यालय में नकदी ले जाते हुए पाया गया। इस संबंध में दर्ज एक अलग शिकायत में इन दोनों के साथ-साथ कर्नाटक अरोमास कंपनी के तीन मालिकों को आरोपी बनाया गया है।

यह वह मामला है, जिसे उन पांचों ने दो अलग-अलग याचिकाओं में चुनौती दी थी। दावा किया जा रहा है कि जब्त की गई रकम कथित तौर पर रिश्वत थी, जो विरुपक्षप्पा को उनके बेटे प्रशांत के जरिए दी गई थी। उच्च न्यायालय ने सुनवाई के दौरान मामला रद्द करने की उनकी याचिका खारिज करते हुए कहा, जब कानून आपको भ्रष्ट लोगों से नहीं, बल्कि भ्रष्ट लोगों को आपसे बचाता है, तो जान जाइए कि देश बर्बाद हो गया है।

उच्च न्यायालय ने कहा कि यह पता लगाने के लिए जांच जरूरी है कि दोनों नकदी क्यों ले जा रहे थे। अदालत ने कहा, सवाल ये है कि वे आरोपी नंबर एक (जो एक लोक सेवक है) के निजी कार्यालय में क्यों बैठे थे। आखिर वे बैग में 45-45 लाख रुपये की नकदी लेकर आरोपी नंबर एक का इंतजार क्यों कर रहे थे, यह जांच का विषय है।

ईद-उल-अजहा पर दिली मुबारकबाद, कामना की

ईद-उल-अजहा पर दिली मुबारकबाद, कामना की

हरिशंकर त्रिपाठी 

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडगे, पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ईद-उल-अजहा पर मुबारकबाद देते हुए देश में शांति, प्रगति, खुशहाली और समृद्धि की कामना की है। 

खडगे ने कहा ''ईद-उल-अजहा का त्यौहार त्याग, विश्वास और क्षमा के महान मूल्यों का प्रतीक है।

खुशी के इस अवसर पर, आइए हम सभी भाईचारे के बंधन को मजबूत करने और एक शांतिपूर्ण, सामंजस्यपूर्ण और प्रगतिशील समाज का निर्माण करने का दृढ़ संकल्प लें।

ईद मुबारक।'' गांधी ने कहा ''ईद मुबारक। यह शुभ अवसर सभी के लिए शांति, समृद्धि और खुशहाली लाए।'' श्रीमती वाड्रा ने कहा ''ईद की दिली मुबारकबाद। ये पावन त्यौहार सबके जीवन में ढेर सारी खुशियां, बरकत और अमन लेकर आए।

दिल्ली: 27.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा तापमान 

दिल्ली: 27.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा तापमान 

मोमीन मलिक 

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में बृहस्पतिवार सुबह बारिश होने से लोगों को गर्मी से राहत मिली और न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम हो कर 27.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। बारिश के बारण दिल्ली के कई हिस्सों में जलजमाव हुआ। मौसम विभाग ने ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है।

विभाग ने दिन में हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक 114 दर्ज किया गया, जो कि मध्यम की श्रेणी में आता है।

गौरतलब है कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई अच्छा, 51 से 100 के बीच संतोषजनक, 101 से 200 के बीच मध्यम, 201 से 300 के बीच खराब, 301 से 400 के बीच बहुत खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर माना जाता है।

भारत: 1 दिन में संक्रमण के 47 नए मामलें

भारत: 1 दिन में संक्रमण के 47 नए मामलें

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 47 नए मामलें सामने आने के बाद देश में अभी तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या 4,49,94,144 हो गई है। वहीं उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 1,549 रह गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में संक्रमण से अभी तक 5,31,905 लोगों की मौत हुई है। अभी तक कुल 4,44,60,690 लोग संक्रमण मुक्त हुए हैं और मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.81 प्रतिशत है। वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.18 प्रतिशत है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, भारत में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 220,67,38,165 खुराक लगाई जा चुकी हैं। गौरतलब है कि भारत में सात अगस्त 2020 को कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी।

संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2020 को 50 लाख, 28 सितंबर 2020 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2020 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2020 को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर 2020 को ये मामले एक करोड़ से अधिक हो गए थे। चार मई 2021 को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ और 23 जून 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी। पिछले साल 25 जनवरी को संक्रमण के कुल मामले चार करोड़ के पार चले गए थे।

बकरीद: विशेष नमाज अदा, हिस्सा लिया 

बकरीद: विशेष नमाज अदा, हिस्सा लिया 

नरेश राघानी 

अजमेर। राजस्थान में ख्वाजा की नगरी अजमेर में आज कुर्बानी के पर्व ईद-उल-अजहा (बकरीद) पर केसरगंज स्थित ईदगाह पर सार्वजनिक विशेष नमाज अदा की गई, जिसमें बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज ने हिस्सा लिया। इस मौके पर ख्वाजा साहब की दरगाह स्थित जन्नती दरवाजे को भी सुबह तड़के खोल दिया गया।

अजमेर में ईदगाह पर नमाजियों ने शहर काजी तौसिफ अहमद सिद्दकी की सदारद में नमाज अदा की। ईदुल अजाह पर्व पर नमाजी कतार बद्ध बैठे और परम्परागत तरीके से नमाज अदा की। अल्ला से दुआ कर अमन, चैन,खुशहाली की कामना की।

बाद में सभी ने परस्पर एकदूसरे को गले मिलकर बकरीद की मुबारक बाद दी। अब दिन में घरों पर कुर्बानी दी जायेगी । नमाज के दौरान जहां व्यवस्था के लिये प्रशानिक एवं पुलिस अधीकारी मौजूद रहे वहीं कांग्रेसियों , आप पार्टी , भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की ओर से भी मुस्लिम बिरादरी को मुबारकबाद दी गई।

अजमेर दरगाह शरीफ स्थित शाहजहानी मस्जिद, संदली मस्जिद, कचहरी मस्जिद, मस्जिद क्लाकटावर, सूफी मस्जिद सोमलपुर में भी ईदुलजुहा की नमाज अदा कर बड़ी संख्या में मुसलमानों ने अमन, शांति, सौहार्द के लिये दुआ की। दरगाह में जन्नती दरवाजे से आस्ताना शरीफ जाने के लिए अकीदतमंदों की लम्बी कतार लगी रही।

खास बात ये रही कि ईदुल अजहा की नमाज के समय मौसम पूरीतरह साफ रहा, जिससे सभी ने राहत की सांस ली। अजमेर जिले के नसीराबाद, पीसांगन, ब्यावर, गगवाना , किशनगढ़ से भी ईद की नमाज अदा करने के समाचार है। नमाज अता करने के बाद अब दिनभर मुस्लिम परिवारों में कुर्बानी का दौर चलेगा। कुछ परिवार में मिठाई और मुबारकबाद के साथ "बकरीद" मनाई जाएगी।

₹20,000 करोड तक का निवेश करेगी 'लिमिटेड'

₹20,000 करोड तक का निवेश करेगी 'लिमिटेड'

मोनू खान 

नई दिल्ली। अडाणी समूह और फ्रांसीसी कंपनी टोटलएनर्जीज की संयुक्त उद्यम अडाणी टोटल गैस लिमिटेड अगले आठ-दस वर्षों में गैस वितरण के लिए बुनियादी ढांचा खड़ा करने पर 20,000 करोड़ रुपये तक का निवेश करेगी।

अडाणी टोटल गैस लिमिटेड (एटीजीएल) की वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि वाहनों के लिए सीएनजी की खुदरा बिक्री और घरों एवं उद्योगों को पाइप से गैस पहुंचाने के लिए बुनियादी ढांचे के विस्तार पर अगले आठ से 10 वर्षों में 18,000 करोड़ रुपये से लेकर 20,000 करोड़ रुपये तक का निवेश किया जाएगा।

कंपनी देश के 124 जिलों में वाहनों के लिए सीएनजी की खुदरा बिक्री करने के अलावा पाइप से घरेलू रसोई गैस की आपूर्ति भी करती है। देश में इसके 460 सीएनजी स्टेशन हैं और पाइप से रसोई गैस के करीब सात लाख उपभोक्ता हैं।

नवीनतम वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने अतिरिक्त बुनियादी ढांचे के निर्माण पर वित्त वर्ष 2022-23 में 1,150 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया है। कंपनी के मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) पराग पारिख ने कहा, "दीर्घकालिक नजरिये से हम गैस कारोबार की संभावनाओं को लेकर आशावादी हैं।

कंपनी बुनियादी ढांचे के निर्माण और नेटवर्क के विस्तार में अधिक निवेश करने पर विचार कर रही है।" उन्होंने कहा, "अपने शहरी गैस वितरण कारोबार के लिए अगले आठ-दस वर्षों में बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए हमारा लगभग 18,000-20,000 करोड़ रुपये का निवेश करने का इरादा है।

यह हमारे ग्राहक आधार को व्यापक बनाने के साथ राजस्व वृद्धि को कायम रखेगा।" एटीजीएल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सुरेश पी मंगलानी ने कहा कि कंपनी की रणनीति अपने लाइसेंस वाले इलाकों में स्टील पाइपलाइन बिछाने में तेजी लाने और सीएनजी स्टेशन बढ़ाने की है। उन्होंने कहा कि कंपनी अगले सात से 10 वर्षों में 1,800 से अधिक सीएनजी स्टेशन बनाने जा रही है।

गांधी के काफिले को बिष्णुपुर में रोका 

गांधी के काफिले को बिष्णुपुर में रोका 

इकबाल अंसारी 

इंफाल। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के काफिले को मणिपुर पुलिस ने हिंसा की आशंका के चलते बृहस्पतिवार को बिष्णुपुर में रोक दिया। राहुल हिंसा प्रभावित मणिपुर के अपने दो दिवसीय दौरे के लिए बृहस्पतिवार को इंफाल पहुंचने के बाद चुराचांदपुर जिले के लिए रवाना हुए थे।

जिले में राहुल की, हिंसा के कारण विस्थापित हुए लोगों से राहत शिविरों में मिलने की योजना है। इससे पहले कांग्रेस की राज्य इकाई के अधिकारियों ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि अपने दो दिवसीय दौरे पर वह नागरिक संगठनों के प्रतिनिधियों, बुद्धिजीवियों और अन्य लोगों से भी बातचीत करेंगे।

राज्य में कांग्रेस के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, ‘‘ इस दौरे का मकसद मणिपुर में जातीय संघर्ष से प्रभावित लोगों को सांत्वना देना है।’’ मणिपुर में इस साल मई में जातीय संघर्ष शुरू होने के बाद से 300 से अधिक राहत शिविरों में करीब 50,000 लोग रह रहे हैं।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कीशम मेघचंद्र ने गांधी के दौरे से पहले कहा, ‘‘ मणिपुर में हालात अच्छे नहीं हैं...हिंसा अब भी जारी है और गोलीबारी होती रहती है।’’ उन्होंने दावा किया कि लोगों को ‘‘भाजपा (भारतीय जनता पार्टी) की डबल-इंजन सरकार पर भरोसा नहीं है।

’’ कांग्रेस की मणिपुर इकाई के प्रभारी डॉ. अजॉय कुमार ने दौरे की शुरुआत में ‘पीटीआई वीडियो’ से कहा, ‘‘ सरकार को लोगों की बात सुननी चाहिए... (मणिपुर के मुख्यमंत्री) बीरेन सिंह सरकार को हटाया जाना चाहिए।’’ कांग्रेस पार्टी से जुड़े सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी की शुक्रवार को इंफाल में राहत शिविरों का दौरा करने और बाद में कुछ नागरिक संगठनों के सदस्यों से बातचीत करने की भी योजना है।

गौरतलब है कि मणिपुर में मेइती और कुकी समुदाय के बीच मई की शुरुआत में भड़की जातीय हिंसा में 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। मणिपुर में अनुसूचित जनजाति (एसटी) का दर्जा देने की मेइती समुदाय की मांग के विरोध में तीन मई को पर्वतीय जिलों में ‘आदिवासी एकजुटता मार्च’ के आयोजन के बाद झड़पें शुरू हुई थीं।

मणिपुर की 53 प्रतिशत आबादी मेइती समुदाय की है और यह मुख्य रूप से इंफाल घाटी में रहती है। वहीं, नगा और कुकी जैसे आदिवासी समुदायों की आबादी 40 प्रतिशत है और यह मुख्यत: पर्वतीय जिलों में रहती है।

उल्लास के साथ मनाया 'ईद-उल-अजहा' का पर्व 

उल्लास के साथ मनाया 'ईद-उल-अजहा' का पर्व 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को ईद-उल-अजहा का पर्व पारंपरिक उत्साह और उल्लास के साथ मनाया गया। बारिश और बूंदाबांदी के बावजूद ऐतिहासिक जामा मस्जिद और फतेहपुरी मस्जिद सहित अन्य मस्जिदों में विशेष नमाज के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे।

लोगों ने अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को बधाइयां दीं और औपचारिक कुर्बानी के बाद भोजन भी साझा किया। दिल्ली के उपराज्यपाल वी के सक्सेना ने इस अवसर पर लोगों को ट्विटर के जरिए बधाई दी।

उन्होंने कहा, त्याग और बलिदान का पर्व ईद-उल-अजहा की आप सबको दिली मुबारकबाद... दुआ है कि यह त्योहार आपकी जिंदगी में खुशी, दिलों में मोहब्बत और मुल्क में अमन लाए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस अवसर पर लोगों को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट किया, सभी देशवासियों को ईद-उल-अज़हा की दिली मुबारक़बाद। यह त्योहार आप सभी के जीवन में ख़ूब तरक़्क़ी लेकर आए, आप हमेशा ख़ुश रहें, स्वस्थ और समृद्ध रहें। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने ईद-उल-जुहा की पूर्व संध्या पर बुधवार को देशवासियों को बधाई दी और सभी से समाज में आपसी भाईचारे और सौहार्द को बढ़ावा देने की दिशा में काम करने का संकल्प लेने को कहा।

राष्ट्रपति मुर्मू ने अपने संदेश में कहा, ईद-उल-जुहा के अवसर पर मैं सभी देशवासियों को हृदय से बधाई देती हूं, खासतौर पर भारत और देश से बाहर रहने वाले मुस्लिम भाइयों एवं बहनों को। उन्होंने कहा, ईद-उल-जुहा प्रेम और बलिदान का पवित्र त्योहार है।

यह त्योहार हमें मानवता की नि:स्वार्थ सेवा करने और बलिदान के मार्ग का अनुसरण करने को प्रेरित करता है। राष्ट्रपति ने कहा, इस दिन हम सभी को समाज में आपसी भाईचारे और सौहार्द को बढ़ावा देने की दिशा में काम करने का संकल्प लेना चाहिए।

इस्लामी मान्यता के अनुसार, पैगंबर हज़रत इब्राहिम अपने बेटे हज़रत इस्माइल को इसी दिन अल्लाह के हुक्म पर खुदा की राह में कुर्बान करने जा रहे थे, तो अल्लाह ने उनके बेटे इस्माइल को जीवनदान दे दिया। इसी की याद में यह त्योहार मनाया जाता है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-259, (वर्ष-06) पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शुक्रवार, जून 30, 2023

3. शक-1944, आषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि- द्वादशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:20, सूर्यास्त: 07:15। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 20 डी.सै., अधिकतम- 33+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'भाजपा' ने दस साल में महंगाई, बेरोजगारी बढ़ाई

'भाजपा' ने दस साल में महंगाई, बेरोजगारी बढ़ाई संदीप मिश्र  लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार न...