आंध्र प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
आंध्र प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, 12 अगस्त 2021

ईओएस-03 कक्षा में स्थापित, विफल रहा रॉकेट

अमरावती। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का जीएसएलवी रॉकेट भू-अवलोकन सैटेलाइट ईओएस-03 को कक्षा में स्थापित करने में बृहस्पतिवार को विफल रहा। रॉकेट के ‘कम तापमान बनाकर रखने संबंधी क्रायोजेनिक चरण’ में खराबी आने के कारण यह मिशन पूरी तरह संपन्न नहीं हो पाया।
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बताया कि पहले और दूसरे चरण में रॉकेट का प्रदर्शन सामान्य रहा था। इसरो की ओर से जारी एक अधिसूचना के अनुसार, 51.70 मीटर लंबे सैटेलाइट जीएसएलवी-एफ10/ईओएस-03 ने 26 घंटे की उलटी गिनती के समाप्त होने के तुरंत बाद सुबह पांच बजकर 43 मिनट पर श्रीहरिकोटा के दूसरे लॉन्च पैड (प्रक्षेपण स्थल) से सफलतापूर्वक उड़ान भरी थी।
पहले और दूसरे चरण में रॉकेट का प्रदर्शन सामान्य रहा था। ‘क्रायोजेनिक अपर स्टेज’ तकनीकी खराबी के कारण पूर्ण नहीं हो पाई। जैसी उम्मीद थी उस तरह मिशन सम्पन्न नहीं हो पाया। इसरो के अध्यक्ष के. सिवन ने कहा कि मिशन मुख्य रूप से क्रायोजेनिक चरण में एक तकनीकी विसंगति के कारण पूरी तरह से सम्पन्न नहीं किया जा सका।
यह प्रक्षेपण इस साल अप्रैल या मई में होना था लेकिन कोविड-19 वैश्विक महामारी की दूसरी लहर के चलते इसे टाल दिया गया था। फरवरी में ब्राजील के भू-अवलोकन सैटेलाइट एमेजोनिया-1 और 18 अन्य छोटे उपग्रहों के प्रक्षेपण के बाद 2021 में इसरो का यह दूसरा मिशन था। ‘मिशन कंट्रोल सेंटर’ के वैज्ञानिकों ने इससे पहले बताया था कि उड़ान भरने से पहले, ‘लॉन्च ऑथराइजेशन बोर्ड’ ने योजना के अनुसार सामान्य उड़ान भरने के लिए मंजूरी दी थी।
पहले और दूसरे चरण में रॉकेट का प्रदर्शन सामान्य रहा। कुछ मिनटों बाद हालांकि, वैज्ञानिकों को चर्चा करते देखा गया और रेंज ऑपरेशन्स निदेशक द्वारा मिशन कंट्रोल सेंटर में घोषणा की गई कि कुछ खराबी के कारण मिशन पूरी तरह से सम्पन्न नहीं हो सका। ‘मिशन कंट्रोल सेंटर’ में रेंज ऑपरेशन्स निदेशक की घोषणा की, ” क्रायोजेनिक चरण में, प्रदर्शन में विसंगति देखी गई। मिशन पूरी तरह से सम्पन्न नहीं हो सका।
इस अभियान का उद्देश्य नियमित अंतराल पर बड़े क्षेत्र की वास्तविक समय पर तस्वीरें उपलब्ध कराना, प्राकृतिक आपदाओं की त्वरित निगरानी करना और कृषि, वनीकरण, जल संसाधनों तथा आपदा चेतावनी प्रदान करना, चक्रवात की निगरानी करना, बादल फटने आदि के बारे में जानकारी प्राप्त करना था।
इसरो मिशन का कार्यक्रम फिर से तय किया जा सकता है। 
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के जीएसएलवी रॉकेट के भू-अवलोकन उपग्रह ईओएस-03 को कक्षा में स्थापित करने में बृहस्पतिवार को विफल रहने के बाद केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि इस उपग्रह के प्रक्षेपण का कार्यक्रम फिर से तय किया जा सकता है।
प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में राज्यमंत्री और अंतरिक्ष विभाग के प्रभारी सिंह ने कहा कि उन्होंने इसरो अध्यक्ष के. सिवन से मिशन को लेकर विस्तार से चर्चा की है। उन्होंने कहा कि प्रक्षेपण के पहले दो स्तर ठीक रहे लेकिन उसके बाद क्रायोजेनिक के ”अपर स्टेज” में तकनीकी खामी आ गयी।
सिंह ने ट्वीट किया, ”इसरो अध्यक्ष डॉ. के. सिवन से बात की और विस्तार से चर्चा की। पहले दो चरण ठीक रहे, लेकिन उसके बाद क्रायोजेनिक अपर स्टेज में दिक्कत आ गयी। मिशन का कार्यक्रम फिर से तय किया जा सकता है। गौरतलब है कि बृहस्पतिवार को सुबह प्रक्षेपित किया गया जीएसएलवी रॉकेट देश के नए पृथ्वी अवलोकन उपग्रह ईओएस-03 को अंतरिक्ष की कक्षा में स्थापित करने में नाकाम रहा। इसके बाद इसरो को यह घोषणा करनी पड़ी कि मिशन संपन्न नहीं हो सका।

सोमवार, 7 जून 2021

आंध्र प्रदेश: सरकार ने कर्फ्यू को 20 जून तक बढ़ाया

प्रमोद वेसले                
अमरावती। राज्य सरकार ने आंध्र प्रदेश में कोरोना का प्रकोप और बढ़ते मामलों को देखते हुए कर्फ्यू की सीमा बढ़ाने का फैसला किया है। राज्य में अब 20 जून तक लॉकडाउन लागू रहेगा। सोमवार को मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने अपने ताड़ीपल्ली स्थित कार्यालय में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में सरकार ने कर्फ्यू को इस महीने के 20 तक बढ़ा दिया है। साथ ही छूट की अवधि भी बढ़ा दी है। वर्तमान में छूट का समय सुबह छह बजे से दोपहर 12 बजे तक था। अब 11 जून से छूट का समय बढ़ाकर दोपहर 2 बजे करने का निर्णय लिया गया। साथ ही सरकारी कार्यालय और व्यापारिक प्रतिष्ठान सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक खुलेंगे।

शनिवार, 8 मई 2021

पत्थर की खदान में विस्फोट, 9 कर्मचारियों की मौत

कडपा। आंध्र प्रदेश के कडापा जिले में शनिवार को चूना पत्थर की एक खदान में हुए विस्फोट में 9 कर्मचारियों की मौत हो गई। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि विस्फोट स्थल पर क्षत-विक्षत शव बिखरे पड़े थे। कडापा जिले के पुलिस अधीक्षक के अंबुराजन ने बताया कि यह हादसा तब हुआ जब मामिल्लापल्ली गांव के बाहर स्थित चूना पत्थर की खदान पर जिलेटिन की छड़ों की एक खेप उतारी जा रही थी। धमाका इतना तेज था कि वाहन पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। जिलेटिन की यह छड़ें बुडवेल से लाई गई थीं।

दुर्घटनास्थल से एसपी ने बताया, “यह लाइसेंस प्राप्त खदान है और प्रमाणित संचालक द्वारा यह खेप लाई गई थी। धमाका तब हुआ जब छड़ों को वाहन से उतारा जा रहा था” हादसे की वजह का अब तक पता नहीं चला है।मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी एक बयान के मुताबिक, मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने कडापा जिले के अधिकारियों से बात कर घटना की जानकारी ली। इसमें कहा गया कि उन्होंने हादसे में जान गंवाने वालों के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की हैं।

रविवार, 14 मार्च 2021

एपी: सड़क हादसे में 6 मजदूरों की मौत, 8 घायल

अमरावती। आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में नुजिविदु के नजदीक रविवार सुबह एक सड़क हादसे में छह कृषि मजदूरों की मौत हो गई। जबकि, आठ अन्य घायल हो गए हैं। पुलिस ने बताया कि ये लोग विजयवाड़ा से 55 किलोमीटर दूर नुजिविदु के नजदीक लियोन टांडा नामक आदिवासी बस्ती के रहने वाले थे और ऑटोरिक्शे से नजदीकी गांव जा रहे थे। तभी अज्ञात वाहन ने उनके ऑटो में टक्कर मार दी। पुलिस ने बताया कि छह मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि, आठ लोग घायल हो गए। जिन्हें नुजिविदु और विजयवाडा के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। नुजिविदु के उप-खंड पुलिस अधिकारी श्रीनिवासुलु ने बताया, कि मामला दर्ज कर टक्कर मारने वाले वाहन की तलाश की जा रही है। आंध्र प्रदेश के राज्यपाल बिश्वभूषण हरिचंदन, उप मुख्यमंत्री (स्वास्थ्य) एकेके श्रीनिवास, गृहमंत्री एम सुचित्रा, तेलुगुदेशम पार्टी अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू और जन सेना के अध्यक्ष के पवन कल्याण ने इस हादसे पर शोक व्यक्त किया है। श्रीनिवास ने कृष्णा जिले के चिकित्सा अधिकारी को घायलों का बेहतर इलाज सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मृतकों के परिवार को सरकारी सहायता उपलब्ध कराने का भी आश्वासन दिया है।

शनिवार, 27 फ़रवरी 2021

46 साल के व्यक्ति ने खरीदी, 12 साल की लड़की

46 साल के व्यक्ति को 10,000 रुपये में 12 साल की लड़की बेची

नेल्लोर। आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में एक दंपति ने अपनी 12 साल की लड़की को 46 वर्षीय एक व्यक्ति को बेच दिया। दंपति ने ऐसा इसलिए किया, क्योंकि उन्हें अपनी बड़ी बेटी का इलाज करना था। उनकी बड़ी बेटी सांस के रोग से पीड़ित है। चिन्ना सुब्बैया ने नाबालिग से शादी की। हालांकि महिला और बाल विकास अधिकारियों ने लड़की को बचा लिया। नाबालिग को जिला बाल स्वास्थ्य केंद्र में स्थानांतरित कर दिया गया है। जहां उसकी काउंसलिंग की जा रही है।
कोट्टूर निवासी दंपति से उनके पड़ोसी सुब्बैया ने मुलाकात की। उसने कथित तौर पर 10,000 रुपये में सौदा किया। रिपोर्ट के अनुसार लड़की के माता-पिता ने 25,000 रुपये मागे थे। इस मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने कहा कि सुब्बैया की पत्नी ने झगड़े के बाद उसे छोड़ दिया था। नाबालिग से शादी करने के बाद वह उसे अपने रिश्तेदार के यहां धामपुर जिले में ले आया। जहां नाबालिग ने रोना शुरू कर दिया, जिसके बाद पड़ोसियों ने उससे पूछताछ की और गांव के सरपंच को मामले की जानकारी दी। गांव के सरपंच ने तब बाल विकास विभाग से संपर्क किया।

शनिवार, 13 फ़रवरी 2021

खाई में गिरी टूरिस्ट बस, 5 लोगों की मौत 13 घायल

खाई में जा गिरी टूरिस्ट बस, 5 लोगों की मौत, 13 घायल

विशाखापट्टणम। जिले में एक भीषण हादसा हो गए। जहां देर रात अरकु में एक दूरिस्ट बस अनंतगिरी में खाई में गिर गई। इस हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई और 13 लोग घायल हो गए। मृतकों में एक बच्चा भी शामिल है। ऐसा माना जा रहा है कि इस बस में 30 लोग सवार थे। विशाखापट्टनम इलाके के डीआईजी रंगा राव ने बताया कि घटनास्थल पर टीम पहुंच चुकी है। और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके अलावा एक और वरिष्ठ अधिकारी का कहना है। कि राष्ट्रीय आपदा राहत बल और राज्य अग्निशमन सेवा कर्मचारियों की ओर से बचाव कार्य किया जा रहा है।
स्थानीय लोगों की माने तो बस में सवार यात्री तेलंगाना के रहने वाले हैं। जो पहाड़ी इलाके अरकू को देखने आए थे। वहीं हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार वालों के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी संवेदना व्यक्त की हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया कि विशाखापट्टनम में हुए बस हादसे से आहत हूं। जिन लोगों ने इस हादसे में अपनी जान गंवाई है। उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं। घायलों के लिए प्रार्थना कि वो जल्द ठीक हो जाएं।
इसके अलावा आंध्र प्रदेश के विपक्षी पार्टी के नेता चंद्रबाबू नायडु ने भी इस हादसे के प्रतिझ अपना दुख प्रकट किया है। चंद्रबाबू नायडु ने ट्वीट किया कि अरकू घाट रोड में हुए भीषण बस दुर्घटना से बेहद दुख पहुंचा है। मैं मृतकों के परिवारजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। और घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।
टीआरएस नेता केटी रामा राव ने ट्विटर के जरिए कहा कि अरकू में हुए बसे हादसे को लेकर चिंतित हैं। और उन्होंने आंध्र प्रदेश सरकार से हर संभव मदद प्रदान करने की अपील की है।

सोमवार, 25 जनवरी 2021

अंधविश्वास के चलते दो बेटियों की बलि चढ़ाई

दुष्यंत टिकम  

चित्तूर। आंध्र प्रदेश में माता-पिता ने अंधविश्वास और अति भक्ति के कारण दो बेटियों की बेरहमी से हत्या कर दी। यह घटना राष्ट्रीय बालिका दिवस (24 जनवरी) पर रविवार रात को चित्तूर जिले के मदनपल्ली में हुई है। पुलिस के अनुसार, मदनपल्ली शहर के टीचर्स कॉलोनी शिवनगर निवासी वल्लुरुपल्ले पुरुषोत्तम नायडू और पद्मजा रह रहे हैं। पुरुषोत्तम नायडू महिला डिग्री कॉलेज में वाइस प्रिंसिपल और पद्मजा मास्टर माइंड स्कूल की प्रिंसिपल हैं। उन्हें दो बेटियां अलेख्या (27) और साईदिव्या (22) हैं।

इसी क्रम में रविवार को एकादशी के संदर्भ में मकान में विशेष पूजा-अर्चना करने की व्यवस्था की। इसी दौरान माता-पिता ने व्यायाम के लिए उपयोग में आने वाले डंबल से दो बेटियों की बेहरमी से हत्या कर दी। इस दौरान मकान में से चीख पुकार सुनाई दी। चीख पुकार सुनकर स्थानीय लोगों ने मकान में जाकर देखा तो अलेख्या और साईदिव्या की हत्या कर दी गई थी। उन्होंने पुलिस को इस घटना के बारे में खबर किया। पुलिस मौके पर पहुंची और पुरुषोत्तम नायडू और पद्मजा को हिरासत में लिया।

पूछताछ के दौरान पुरुषोत्तम और पद्मजा ने पुलिस से कहा, “सत्य की दुनिया लौटकर आएगी। हमारी बेटियों को हम बचा लेंगे। एक दिन का समय दीजिए। हमारी बेटियां जरूर उठकर आएगी।” पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। इस संबंध में अधिक जानकारी की प्रतीक्षा है।

मंगलवार, 15 दिसंबर 2020

तेज रफ्तार लॉरी ने मारी टक्कर, चार बच्चों की मौत

कुरनूल। आंध्र प्रदेश में कुरनूल- चित्तूर राज्य राजमार्ग पर मंगलवार को एक तेज रफ्तार लॉरी ने पैदल जा रहे लोगों को टक्कर मार दी, जिससे चार बच्चों की मौत हो गई और आठ अन्य घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि 40 से अधिक लोग पैदल एक सभा के लिये जा रहे थे।

सिरिवेला मंडल के येरागुंटुला गांव में एक तेज रफ्तार लॉरी ने उन लोगों को टक्कर मार दी। हादसे में झांसी (15), सुष्मिता (15), वम्शी (10) और हर्षवर्धन (10) की मौत हो गई। झांसी की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी, जबकि सुष्मिता, वामशी और हर्षवर्धन ने नांदयाल के सरकारी अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।घायलों को नांदयाल के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिनमें से दो की हालत गंभीर बतायी जा रही है। हादसे के बाद ड्राइवर ने लॉरी लेकर भागने की कोशिश की , लेकिन स्थानीय लोगों ने लॉरी का पीछा किया और बटुलुरु गांव में चालक को पकड़ लिया।

सचिव पलांडे भ्रष्टाचार के मामले में निलंबित किया

कविता गर्ग     मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के पूर्व निजी सचिव संजीव पलांडे को भ्रष्टाचार के मामले में न...