अपराध लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
अपराध लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, 7 जून 2021

300 लड़कियों की खरीद-फरोख्त, बहू भी बेच दी

सुनील पुरी   
बाराबंकी। शादी के लिए 300 से अधिक लड़कियों की खरीद फरोख्त कर चुके एक शख्स ने बहू का सौदा 80,000 रुपये में कर दिया। गुजरात से आठ लोग आए और डील फाइनल कर दी। पैसों का भुगतान भी कर दिया। पुलिस ने युवती को खरीदने वाले गुजरात निवासी आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इनके खिलाफ मानव तस्करी की धारा में मुकदमा दर्ज किया है। युवती को उसके पति के सुपुर्द कर दिया गया है।
एएसपी नॉर्थ अवधेश सिंह ने बताया कि शनिवार रात करीब 12बजे एक युवक ने पुलिस को फोन कर बताया कि उसकी पत्नी को उसके पिता ने गुजरात के लोगों के हाथ 80,000 में बेच दिया है।
रेलवे स्टेशन पर पकड़ा
पति की सूचना पर पुलिस बाराबंकी रेलवे स्टेशन पर पहुंची और युवती को बरामद कर उसे खरीद कर ले जा रहे आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अहमदाबाद के थाना उमेड़ा के आडेव आदिनाथ नगर के साहिल पंचा,पप्पू भाई शर्मा, अपूर्व पंचा, गीता बेन, नीता बेन, शिल्पा बेन, राकेश व अजय भाई पंचा को गिरफ्तार कर लिया।
बेटे ने भी ऐप से दोस्ती कर असम की युवती से किया था विवाह
पूरा मामला रामनगर थाना क्षेत्र के ग्राम मल्लापुर का है। यहां रहने वाले चन्द्रराम वर्मा का बेटा प्रिंस वर्मा (19) गाजियाबाद में टैक्सी चलाने का काम करता है। पांच वर्ष पूर्व 2016 में उसकी बातचीत एक ऐप के माध्यम से असम की एक लड़की से शुरू हुई। तीन साल बाद दोनों ने लखनऊ के एक मंदिर में जाकर शादी कर ली। इसके बाद पत्नी को लेकर गाजियाबाद चला गया।
साजिश रचकर बहू को अकेले ससुराल बुलाया

पूछताछ में सामने आया कि इसी गांव में रहने वाला रामू गौतम लॉकडाउन में अहमदाबाद (गुजरात) से घर आया तो प्रिंस के पिता चन्द्र राम वर्मा से अहमदाबाद के साथी साहिल पंचा के बारे में बताया कि उसकी शादी नहीं हो रही है अगर शादी हो जाए तो मोटी रकम मिल जाएगी। इस पर चन्द्र राम वर्मा ने अपनी बहू को बेच देने की बात कही। साजिश के तहत झूठ बोलकर तबीयत खराब होने के बहाने बहू को गाजियाबाद से बुला लिया।

गुजरात के लोगों के साथ भिजवाया
चार जून को बहू मल्लापुर आ गई। फिर पिता ने 60,000 खुद ले लिया और 20,000 बेटे के बैंक खाते में डलवा दिए। इस बीच युवती का पति पांच जून को आ गया। बेटे को झांसा देकर युवती के ससुर ने गुजरात से आए लोगों के हाथ यह कहकर भिजवा दिया कि यह तुमको गाजियाबाद के कमरे पर छोड़ देंगे।

पत्नी की कर दी थी हत्या

इधर, गुजरात से आए खरीददारों को कहा कि बेटी पहली बार जा रही है, कुछ कहे तो ध्यान न देना। पुलिस ने आठ खरीददारों के अलावा बेचने वाले युवती के ससुर व बिचौलिया रामू गौतम की तलाश कर रही है। युवती के पति ने बताया कि उसके पिता हत्या के एक मामले में आरोपी हैं, मुकदमा चल रहा है। मां को इसने पिटाई कर मार डाला था। बहन से भी बदनीयती की थी। उसके पिता अब तक 300 से अधिक बिहार और पूर्वांचल की युवतियों को खरीदकर बेचा है।

शनिवार, 15 मई 2021

जेल में गैंगवार हत्याकांड,योगी ने सख्त कार्रवाई की

विनोद मिश्रा
बांदा। चित्रकूट धाम मंडल के चित्रकूट जिला कारागार में शुक्रवार सुबह गैंगवार के दौरान हुए हत्याकांड में उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। जेल में दो बंदियों की हत्या और पुलिस की जवाबी फायरिंग में अपराधी अंशू दीक्षित के मारे जाने के मामले में जेल अधिकारियों व कर्मियों की लापरवाही सामने आई है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर चित्रकूट जेल के अधीक्षक एसपी त्रिपाठी व जेलर महेंद्र पाल समेत पांच कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। डीजी जेल आनन्द कुमार ने इसकी पुष्टि की है।

चित्रकूट जेल में हुई जघन्य घटना में सुरक्षा बंदोबस्त में बड़ी लापरवाही सामने आई है। अधिकारियों का कहना है कि जेल में पिस्टल कैसे पहुंची, यह अभी पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो सका है। घटना की न्यायिक जांच होगी, जिसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। घटना में चित्रकूट पुलिस एफआइआर दर्ज कर रही है। पुलिस विवेचना में कई तथ्य पूरी तरह से स्पष्ट हो सकेंगे।निलंबित किए गए कर्मियों में जेल के हेड वार्डर के अलावा सुरक्षा-व्यवस्था में तैनात पीएसी का एक सिपाही भी है। डीजी जेल आनन्द कुमार का कहना है कि सभी बिंदुओं पर जांच कराई जा रही है।

रविवार, 9 मई 2021

हरियाणा की सगी बहनों की पीट पीटकर हत्या की

भानु प्रताप उपाध्याय  
शामली। उत्तर प्रदेश के शामली में हरियाणा के पानीपत की रहने वाली दो सगी बहनों की पीट पीटकर हत्या कर दी गई है। हत्या का आरोप सगी बहनों के ससुराल वालों पर है। हत्या के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच की जा रही है।जानकारी के मुताबिक हरियाणा के पानीपत जिले के रिशपुर निवासी सरोज उर्फ शिवानी की शादी यूपी के शामली में हुई थी। अब इनका किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था और रिश्तेदारी से भी लोग आए हुए थे।

मृतका डिंपल के पति ने बताया कि वो पानीपत जिले के रहने वाले हैं। उसकी पत्नी डिंपल अपनी छोटी बहन सरोज और उसके पति विक्रम से समझौता करने के लिए झिंझाना आई थी।आरोप है कि छोटी बहन के पति और उसके तीन भाइयों ने मिलकर दोनों बहनों की पीट-पीटकर हत्या कर दी। पीड़ित ने अपनी साली के पति और उसके तीन भाइयों पर दोनों बहनों की हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। आरोपी दो भाई हिरासत में हैं जिनसे पूछताछ की जा रही है।शनिवार सुबह गांव रिसपुर, जनपद पानीपत, हरियाणा निवासी ऋषिपाल पुत्र आभेराम ने थाना झिंझाना में तहरीर देते हुए बताया कि शुक्रवार को उसकी पत्नी डिंपल अपनी छोटी बहन सरोज के घर आई थी। बताया कि सरोज का अपने पति विक्रम से मनमुटाव चल रहा था, जिसमें डिंपल ने दोनों समझा बुझाकर सुलहनामा कराने लगी थी। आरोप है इसी बीच विक्रम ने अपने तीन भाइयों विपिन, सुशील, अंकुर के साथ मिलकर उसकी पत्नी डिंपल और उसकी साली सरोज पीटकर हत्या कर दी। 

सूचना पर एसपी सुकीर्ति माधव व सीओ कैराना जितेन्द्र सिंह भी घटना स्थल पर पहुंचे। मामले की जानकारी की।थाना प्रभारी श्यामवीर सिंह ने बताया दो सगी बहनों की हत्या की सूचना मिली थी, दोनों बहनों डिम्पल व सरोज के शवों को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मृतका डिंपल के पति ऋषिपाल की तहरीर पर मृतका सरोज उर्फ शिवानी के पति विक्रम व उसके तीन भाईयों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी दो भाई हिरासत में हैं जिनसे पूछताछ की जा रही है।बताया जा रहा है कि करीब तीन महीने पहले भी पति-पत्नी का झगड़ा हुआ था। पति विक्रम ने शिवानी पर गंभीर आरोप लगाए थे और गांव के ही एक युवक के साथ झगड़ा करके 112 पर कॉल करके उसे पुलिस से पकड़वाया था। उसके बाद गांव के ही गणमान्य लोगों ने दोनों पक्षों का फैसला करा दिया था।

बुधवार, 7 अप्रैल 2021

5 लोगों की हत्या के 7 दिन बाद आरोपी अरेस्ट

अविनाश श्रीवास्तव  
पटना। इस वक्त की बड़ी खबर मधुबनी से आ रही है, जहां 5 लोगों के मर्डर के 7 दिन बाद  पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मधुबनी नरसंहार कांड के आरोपी प्रवीन झा को गिरफ्तार कर लिया है। प्रवीन झा के गिरफ्तार किए जाने की पुष्टि एडीजी मुख्यालय ने की है।
 बता दें कि मधुबनी हत्याकांड के बाद प्रवीन झा की गिरफ्तारी पुलिस के लिये एक चुनौती बनी हुई थी। मधुबनी हत्याकांड के बाद से ही प्रवीण झा उर्फ रावण को गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही चार अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि प्रवीण झा की गिरफ्तारी नेपाल से हुई है, लेकिन पुलिस अधिकारियों का कहना है कि प्रविण झा को बिहार से ही गिरफ्तार किया गया है। लेकिन अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है। वहीं प्रवीण झा का छोटा भाई नवीन झा अभी भी पुलिस की गिरफ्त से फरार बताया जा रहा है।

रविवार, 28 फ़रवरी 2021

पति-सास ने मिट्‌टी का तेल डालकर आग लगाईं

दहेज की भेंट चढ़ी फिर एक नवविवाहिता सास और पति ने किया आग के हवाले अब हुआ ये
ग्वालियर। ससुराल वालों ने नवविवाहित को आग के हवाले कर दिया। घर के भीतर पति और सास ने मिट्‌टी का तेल डालकर बहू को आग लगा दी।
इस घटना में नवविवाहिता जमुना जाटव 70 फीसदी तक जल गई। जिसके गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। जानकारी मिल रही है। कि 2 साल पहले ही शादी हुई थी।
शादी के बाद से ससुरालवाले दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। महिला की शिकायत पर आरोपी पति सोनू जाटव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सास कस्तूरी बाई घर से फरार हो गई है। यह मामला मध्यप्रदेश के ग्वालियर सेवा क्षेत्र के सेवा नगर का है।

बुधवार, 24 फ़रवरी 2021

पुलिस को मिली सफलता, अंतर्जनपदीय लुटेरे अरेस्ट

अश्वनी उपाध्याय  
 गाजियाबाद। लोनी बॉर्डर पुलिस को मिली बड़ी सफलता पांच अंतर्जनपदीय लुटेरे गिरफ्तार लूटी गई दो मोटरसाइकिल एक मोबाइल फोन तीन तमंचे पांच कारतूस दो चाकू बरामद किए।
 लोनी क्षेत्र अधिकारी अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि अनिल पुत्र प्रताप सिंह निवासी अंबिका विहार करावल नगर अपने दूसरे घर दीवान एनक्लेव 22 दिसंबर को मोटरसाइकिल से जा रहे थे। रात को 10:00 बजे नहर रोड अंडरपास के पास बदमाशों ने मोटरसाइकिल मोबाइल फोन एवं कुछ नकदी लूट ली थी। पुलिस ने तत्काल मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी थी। पांचों बदमाश मेरठ सहित पूरे एनसीआर में लूटपाट की घटना को अंजाम देते थे। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में थाना प्रभारी विश्वजीत सिंह, सेवा धाम चौकी इंचार्ज कृष्ण कुमार, उपनिरीक्षक आर्यवीर सिंह, हेड कांस्टेबल इनाम, विपिन चौधरी, एसओजी कांस्टेबल अनुज, विकास बालियान, कुलदीप सिंह आदि के द्वारा एसओजी संयुक्त टीम बनाकर विक्की, गुड्डू साईं एंक्लेव, मनीष, नीरज व सचिन निवासी शांति विहार लोनी बॉर्डर को गिरफ्तार कर जेल भेजा।

40 लाख की रंगदारी मांगने वाले गिरफ्तार किए

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। कोतवाली पुलिस ने चेकिग के दौरान टिम्बर कारोबारी से मोबाइल फोन पर 40 लाख रुपये की रंगदारी मांगने वाले दो बदमाशों को मंगलवार सुबह खन्ना नगर कालोनी के पास से गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 1 तमंचा और 2 कारतूस बरामद हुए हैं। बदमाश ने कारोबारी से रंगदारी मांगने के लिए लखीमपुर खीरी से खरीदी थी मोबाइल की सिम। क्षेत्राधिकारी लोनी अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि 03 फरवरी 2021 को लोनी-गाजियाबाद मार्ग स्थित लक्ष्मी टिम्बर स्टोर संचालक विनोद कुमार गुप्ता के मोबाइल फोन पर काल कर बदमाशों ने 40 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस से की। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने चार फरवरी को रिपोर्ट दर्ज कर मामले का पर्दाफाश करने के लिए चार टीम का गठन किया था। 

जांच में मोबाइल नंबर के लखीमपुर खीरी स्थित मोबाइल की दुकान से फर्जी आइडी से खरीदे जाने का पता चला। जिस पर पुलिस ने 14 फरवरी को फर्जी आईडी पर सिम बेचने वाले दुकानदार समेत तीन आरोपितों(दिवाकर, अवनीश, हारून) को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उन्होंने बताया कि मंगलवार सुबह पुलिस ने खन्ना नगर कालोनी कट के पास से दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से एक तमंचा और दो कारतूस बरामद हुए। पूछताछ में इन्होंने अपने नाम पवन और खुर्शीद निवासी खन्ना नगर कालोनी बताए।पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में पवन ने बताया कि वह टिम्बर कारोबारी की दुकान के सामने वाले घर में गाड़ी चलाता था। जिसके कारण टिम्बर कारोबारी के यहाँ उठना बैठना हो गया। साथ ही कारोबारी के व्यापार और लेन देन के बारे में जानकारी भी मिल गई। नौकरी छूटने पर उसने अपने साथी की सहायता से कारोबारी से रंगदारी मांगने की योजना बनाई। जिस पर खुर्शीद और पवन ने लखीमपुर खीरी पहुँच कर फर्जी आइडी की सहायता से मोबाइल सिम खरीदा। बाद में दोनों ने कारोबारी को तीन, चार, छह और आठ फरवरी को चार बार फोन कर कारोबारी से रंगदारी मांगी थी।


गन पॉइंट पर लेकर नाबालिग से 5 ने दुष्कर्म किया

राणा ओबरॉय 

कुरुक्षेत्र। हरियाणा की धर्मनगरी में अधर्म की बड़ी खबर सामने आई है। कुरुक्षेत्र में 12वीं कक्षा की एक 17 वर्षीय छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई है। आरोप है कि नाबालिग को देसी कट्‌टे के बल पर अगवा किया गया, फिर उसके साथ 5 युवकों ने गैंगरेप किया। इस मामले में शिकायत के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है, वहीं परिजनों ने एक आरोपी को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। मामला बाबैन थाना क्षेत्र का है। पास के एक ग्रामीण ने पुलिस में को दी शिकायत में बताया कि उसके चार बच्चे हैं। उसकी 17 वर्षीय बड़ी लड़की 12वीं कक्षा की छात्रा है। 22 फरवरी को सुबह सात बजे वह अपनी बेटी को बाबैन के एक प्राइवेट स्कूल में छोड़कर आया था। डेढ़ बजे स्कूल की छुट्टी के बाद वह इंग्लिश स्‍पीकिंग कोर्स के लिए कोचिंग जाती है। वहां से वह रोज साढ़े चार बजे घर आती है।

सोमवार को वह घर नहीं पहुंची तो उसने बाबैन में अपने भाई से कोचिंग पर पूछताछ करने के लिए कहा। पूछने पर पता चला कि वह आज कोचिंग के लिए नहीं आई। उन्होंने अपने स्तर पर उसकी तलाश शुरू की। शाम सात बजे वह, उसके भाई व मौसेरा भाई बराड़ा चौक बाबैन खड़े थे। घर से छात्रा की फोटो मंगवाकर पुलिस में रिपोर्ट देने के लिए जाना था।

इसी दौरान एक बाइक पर दो लड़के बीच में लड़की को बैठा कर लाडवा की तरफ से आए। उन्होंने छात्रा के स्कूल के कपड़ों से उसे पहचान लिया। बाइक पर पीछे बैठे लड़के ने छात्रा पर देसी कट्टा ताना हुआ था। उन्होंने बाइक को घेर लिया और छात्रा को उनके चंगुल से छुड़वाया। इस दौरान एक लड़के ने उन पर देसी कट्टा तान लिया। एक लड़के ने अपना नाम लाडवा निवासी रौनिक बताया। दूसरे ने अपना नाम गांव बन निवासी नितिन बताया। थोड़ी देर में मौके पर भीड़ जुट गई। भीड़ देखकर आरोपी नितिन भीड़ का फायदा उठाकर मौके से भाग गया। उधर, छात्रा के परिजन ने जब उसे संभाला तो वह नशे की हालत में थी। वो छात्रा और रौनिक को पुलिस थाने में ले गए। छात्रा के परिजनों ने शिकायत में कहा कि उनकी 17 वर्षीय नाबालिग पुत्री को एक युवक अपने साथ बहला-फुसलाकर ले गया। इस युवक के साथ अन्य साथी भी शामिल थे। पुत्री को कुरुक्षेत्र के एक होटल में ले जाकर शराब पिलाई और बलात्कार की घटना को अंजाम दे डाला। इस बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी।

जांच अधिकारी एसआई प्रवीण कौर ने बताया कि पुलिस ने छात्रा का मेडिकल कराया है। छात्रा के बयान मजिस्ट्रेट के समक्ष कराए जाएंगे। इसमें पांच युवकों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है। दावा है कि उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

शराब माफियाओं ने दारोगा की हत्या की,1 गंभीर

अविनाश श्रीवास्तव  

पटना। शराब माफियाओं का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है। बिहार, जहां कि शराबबंदी है, वहां शराब माफियाओं ने दिन दहाड़े दबिश देने गए दारोगा की गोली मारकर हत्या कर दी, जबकि एक पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं पुलिस की गोली लगने से एक शराब माफिया भी ढेर हो गया।

बिहार में शराब पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध है। बिहार का इलाका सीतामढ़ी जो कि नेपाल के बाॅर्डर से सटा हुआ है, वहां पर पुलिस को अवैध रूप से शराब का व्यापार करने की सूचना मिल रही थी। सीतामढ़ी के मेजगंज थाने पर दारोगा दिनेश राम की हाल ही में पोस्टिंग हुई थी। दारोगा अपनी टीम के साथ कई दिनों से शराब माफियाओं की तलाश में छापामार कार्रवाई कर रहे थे। आज दोपहर के समय दिनेश राम को सूचना मिली कि शराब माफिया रंजन सिंह अपने कुछ साथियों के साथ छिपा हुआ है।

मामले की जानकारी जब दारोगा रंजन सिंह को मिली, तो वह एक कांस्टेबिल और चौकीदार के साथ मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंच गया। जब पुलिस टीम उक्त स्थान पर पहुंची, तो शराब माफियाओं ने फायरिंग कर दी। पुलिस की ओर से भी फायरिंग की गई। शराब माफियाओं द्वारा चलाई गई एक गोली दारोगा दिनेश राम को लगी तथा एक गोली लाला बाबू चौकीदार को लगी। दोनों ही गंभीर रूप से घायल हो गए।

इसकी जानकारी जब पुलिस महकमे को लगी, तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा और दोनों घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां दारोगा की मौत हो गई। वहीं जब पुलिस फोर्स ने शराब माफियाओं की तलाश में काम्बिंग की, तो शराब माफिया रंजन सिंह की डैड बाॅडी पुलिस को बरामद हुई। पुलिस ने शराब माफिया के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एसपी अमित कुमार भी मौके पर पहुंच गये। माफिया के अन्य साथियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है।

दो दोस्तों की हत्या की, शव खेत से किए बरामद

अमरोहा। उत्तर प्रदेश में अमरोहा जिले गजरौला क्षेत्र दो दोस्तों की हत्या कर दी, जिनके शव खेत से बरामद किए गये। पुलिस अधीक्षक सुनीति ने बुधवार को यहां बताया कि गजरौला इलाके में कासमाबाद निवासी रामनिवास (45) तथा सूफियाना (38) के शव मोहमदाबाद स्थित शराब के ठेके के निकट खेत में पड़े मिले। उन्होंने बताया कि एक की हत्या धारदार हथियार से जबकि दूसरे की गला दबाकर हत्या किए जाने का अनुमान है। दोनों शव एक दूसरे से करीब 500 मीटर की दूरी पड़े थे।

उन्होंने बताया कि दोनों लोग आपस में दोस्त थे और कल शाम घर से खेत जाने के लिए निकले थे। उन्होंने बताया कि दो दिन पहले इन्हें सुल्तान नामक शराब ठेकेदार ने धमका कर उनका मोबाइल भी छीन लिया था, परिजनों ने दोनों की हत्या का शक सुल्तान पर जताया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

उन्नाव कांड: किशोरी को आया होश, खोले राज

उन्नाव। थाना असोहा क्षेत्र के बबुराहा गांव की तीसरी किशोरी को होश आ गया है। एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट के सामने होश में आई लड़की ने घटना वाले दिन का सारा मामला उनके सामने रखा और एक ही सांस में सारी कहानी कह सुनाई। किशोरी से मिली जानकारी के बाद पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

एसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया की उन्नाव कांड में बेहोश हुई तीसरी लड़की ने होश में आने के बाद अपने बयान में बताया है कि घटना वाले दिन आरोपी विनय और उसका दोस्त खेत पर आया था। उस समय उसके साथ दो अन्य लड़कियों पशुओं के लिए चारा इकट्ठा कर रही थी। दोस्त के साथ खेत पर आए विनय ने लड़कियों के सामने नाश्ते की पेशकश की। जिसे लड़कियों ने तुरंत ही अस्वीकार कर दिया। इसके बाद विनय ने तीनों लड़कियों को पानी पिलाया। जिसे पीने के बाद वह बेहोश हो गई। एसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि लड़की ने अपने बयान में कहा है कि आरोपी ने तीनों लड़कियों में से किसी के साथ यौन उत्पीड़न नहीं किया है।

पुलिस के मुताबिक आरोपी ने तीनों लड़कियों को पानी में कुछ कीटनाशक मिलाकर पिलाया था। होश में आई लड़की ने बताया है कि पानी पीने के बाद वह बेहोश हो गई थी। लेकिन उनके साथ किसी भी तरीके की छेड़खानी या यौन उत्पीड़न की घटना नहीं हुई है। एसपी उन्नाव आनंद कुलकर्णी ने बताया कि लड़की द्वारा दिए गए बयान को दर्ज कर लिया गया है, जिसे आगे की विवेचना में शामिल कर पुलिस अगली कार्यवाही में जुट गई है।

मंगलवार, 9 फ़रवरी 2021

गाजियाबादः चोरी की घटना का खुलासा,3 दबोचे

रोशन कुमार  

गाज़ियाबाद। थाना टीला मोड़ पुलिस ने कृष्णा विहार इलाके में स्थित बिजली की दुकान में हुई चोरी का खुलासा करते हुए तीन चोरों को गिरफ़्तार किया हैं। पुलिस को इनके पास से मिक्सर-जूसर, टीवी-रिमोट व एलइडी बल्ब भी बरामद हुए हैं।

पुलिस को पकड़े गए अभियुक्तों ने अपना नाम वीरेंद्र पुत्र राजपाल निवासी थाना लोनी, दूसरे ने अमन पुत्र राजेश निवासी थाना टीला मोड़ और तीसरे ने छोटू पुत्र सतीश निवासी थाना साहिबाबाद गाज़ियाबाद बताया हैं।आपको बताते चलें कि गत् 16 जनवरी को कृष्णा विहार स्थित एक बिजली की दुकान में अज्ञात चोरों द्वारा चोरी कर ली गई थी। जिसमें दुकान में रक्खा बिजली का सामान चोरी कर लिया गया था। जिसके चलते थाना हाजा पर मुकदमा दर्ज किया गया था तथा अज्ञात चोरों की तलाश की जा रही थी।

आपको बता दें कि इसी कड़ी में थाना टीला मोड़ पुलिस ने सोमवार देर रात्रि चेकिंग के दौरान मिली मुखबिर की सूचना पर सामुदायिक भवन के पास कोयल एनक्लेव से बिजली दुकान में चोरी करने वाले तीनों चोरों को गिरफ़्तार कर लिया हैं,,जिनके पास से एक मिक्सर-जूसर, छह टीवी-रिमोट व सात एलईडी बल्ब भी बरामद हुए हैं। थाना टीला मोड़ प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक पकड़े गए अभियुक्त शातिर किस्म के अपराधी हैं, जिनके विरुद्ध कई मुकदमें दर्ज हैं। पुलिस ने इनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करके इनको जेल भेज दिया हैं।

करोड़ो के बेशकीमती रत्नों के साथ तस्कर गिरफ्तार

किशोर 
महासमुन्द। बेशकीमती बहुमूल्य रत्नों के एक तस्कर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है और आरोपी के कब्जे से कई प्रकार के करोड़ों रुपए की कीमती रत्न भी बरामद हुए हैं। आरोपी उत्तर प्रदेश का रहने वाला बताया गया है तथा बहुमूल्य रत्नों की तस्करी में लिप्त था जिसकी सूचना पर पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई है मामले को लेकर मिली जानकारी के अनुसार पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर को विगत दिनो से सूचना मिल रही थी कि सरायपाली बसना व पिथौरा क्षेत्र में भारी मात्रा में रत्न का अवैध व्यापार किया जा रहा हैै। दीगर राज्यों से बहुमूल्य रत्न लाकर सरायपाली, बसना, महासमुन्द क्षेत्र में खपाया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक द्वारा सूचना को गंभीरता से लेते हूुये समस्त थानाचौकी प्रभारियों व सायबर सेल टीम को ऐसे लोगो को पहचान करने व इस गोरख धंधे में संलिप्त आरोपियों पर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया था। मुखबिर से सूचना मिली कि बसना क्षेत्र के शहर में एक व्यक्ति विभिन्न प्रकार के बहुमूल्य रत्न जैसे को रखा है एवं बिक्री करने हेतु ग्राहक तलाश कर रहा है कि सूचना को गंभीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक महोदय ने सायबर सेल महासमुन्द तथा थाना बसना पुलिस की टीम को त्वरीत कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया जिस पर संयुक्त टीम के द्वारा मुखबिर के निशानदेही पर मौका बसना के सराफा माॅर्केट के पास पहुचे जहाॅं एक संदिग्ध व्यक्ति काले बैग रखा हुआ सोहन सोनी ज्वेलर्स दुकान में खडा था जिसे पकडा गया। जिनसे पूछताछ करने पर अपना नाम भूपेन्दर सिंह चैहान पिता नारायण सिंह उम्र 43 वर्ष सा0 वार्ड नं0 5 मोहल्ला खेड़ा चकबंदी के पास हल्दौर थाना हल्दौर जिला बिजनौर उ0प्र0 का रहने वाले बताया। जिसकी तलाशी ली गई तो काले बैग से अलग-अलग पैकेटों में विभिन्न प्रकार के बहुमूल्य रत्न कुल 2600 नग मिला जिसकी मुल्य लगभग 1 करोड़ रूपयें है। विभिन्न प्रकार के रत्न कुल 2600 नग को मौके पर जप्त किया गया। आरोपी के विरूद्ध थाना बसना में अप धारा 102 जौ.फौ के तहत कार्यवाही गयी है। आरोपी से उक्त विभिन्न प्रकार के बहुमूल्य रत्न कुल 2600 नग के बारे पूछताछ करने पर बताया कि यह रत्न वेनु गोपाल जेन्स जौहरीबाजार जयपुर, राजस्थान से लाकर मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ, ओडिशा राज्यों घुम-घुम कर ज्वेलरी दुकानों में बेचता है उक्त रत्नों का अपने पास किसी प्रकार का खरीदी बिक्री का एवं रत्न से संबंधित प्रमाणित दस्तावेज नही होना बताया। यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेम्भुरकर साहू एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस सरायपाली विकास पाटले के निर्देशन में थाना बसना प्रभारी निरीक्षक लेखराम ठाकुर व सायबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक संजय सिंह राजपूत, सउनि सिकन्दर भोई, नवधा राम खाण्डेकर, प्रआर. श्रवण कुमार दास, प्रकाश नंद, मिनेश ध्रुव, प्रविण शुक्ला, आर. छत्रपाल सिन्हा, ललित यादव, देव कोसरिया, शुभम पाण्डेय, रवि यादव, चम्पलेश ठाकुर, संदीप भोई, शैलेश ठाकुर, युगल पटेल, हेमन्त नायक, योगेन्द्र दुबे, अजय जांगडे, विरेन्द्र नेताम, दिनेश साहू, लाला राम कुर्रे के द्वारा की गई।

शनिवार, 6 फ़रवरी 2021

एसटीएफ की टीम ने अपराधी को बंगाल में दबोचा

देहरादून/ कोलकाता। डीजीपी अशोक कुमार के निर्देशों पर एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह की टीम ने पश्चिम बंगाल से बैंक खाते हैक कर लाखो की ठगी करने वाले गिरोह का मास्टर माइंड कोलकाता से गिरफ्तार किया है। चम्पावत निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर शिकायत दर्ज करायी की उन्हे अज्ञात मोबाईल नम्बर द्वारा फोन एवं एस0एम0एस0 के माध्यम से सम्पर्क किया गया तथा इंटरनेट बैंकिग का एक्सेस प्राप्त कर उनके से 30 लाख रुपये की ऑनलाईन निकासी कर दी गयी है। जिसके सम्बन्ध में वादी द्वारा की गई शिकायत के आधार पर मुकदमा अपराध संख्या 20/2020 पंजीकृत किया गया। प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुये प्रकरण के अनावरण, अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु विवेचना साईबर थाने में नियुक्त निरीक्षक विकास भारद्वाज को सुपूर्द कर एक टीम का गठन किया गया।

सोमवार, 1 फ़रवरी 2021

देह व्यापार, 10 महिलाओं सहित 70 गिरफ्तार किए

राणा ओबरॉय  
चंडीगढ़। पटियाला के बनूड़ के एक पैलेस में जुए और जिस्मफरोशी के अड्डे का पर्दाफाश करते हुए 10 महिलाओं सहित 70 लोगों को गिरफ्तार किया है। आर्गेनाइज्ड क्राइम कंट्रोल यूनिट से मिली जानकारी के मुताबिक इस पैलेस का मालिक यहां बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के लिए जुएं, मनपसंद भोजन के साथ लड़कियों से जिस्मफरोशी का धंधा भी करवाता था। एसपी जसकीरत का कहना है कि पकड़ी गई महिलाएं कहां से हैं यह अभी जांच चल रही है। बताया जा रहा है कि यह महिलाएं रूस, नागालैंड और नेपाल से पंजाब लाई गई हैं।
मीडिया रिर्पोट्स के मुताबिक जांच टीम में 40 के करीब अधिकारी और पुलिस कर्मी हैं। पुलिस अधिकारियों में डीएसपी वभीर कुमार, डीएसपी राजपुरा गुरविंदर सिंह, राजपुरा सिटी के थाना प्रभारी गुरुप्रताप सिंह व एसआई अभिषेक शर्मा शामिल हैं। यह पैलेस बनूड़ थाने से लगभग डेढ़ किलोमीटर दूर है, यहां पर सप्ताह में 3 दिन यह गोरख धंधा चलता था। इसके अलावा मेन चौक पर दिन भर ट्रैफिक पुलिस और रात को थाना पुलिस का नाका लगा रहता है। पैसेल पुलिस नाके से 500 मीटर की दूरी पर है। ऐसे में पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी लोगों ने सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। 
रेड के दौरान पुलिस ने जुए खाने से 8-8 करोड़ रुपए के लेन देन का भी खुलासा किया है। सारा रिकॉर्ड सील कर दिया गया है, जिसकी गहनता से जांच की जा रही है। रिकॉर्ड में आठ-आठ करोड़ की 2 , एक 7 करोड़, एक 5 करोड़ और 2 से 2.5 करोड़ की अन्य एंट्रियां शामिल हैं। पुलिस के के मुताबिक रिंकू मेहता नाम के शख्स को भी गिरफ्तार किया है। इस शख्स के बड़े राजनेताओं व पुलिस अफसरों से संबंध होने की बात कही जा रही है।
गौरतलब है कि चंडीगढ़ की सीमा से सटे जीरकपुर और राजपुरा का इलाका सट्टेबाजी की गतिवधियों का केंद्र बनता जा रहा है। यहां मैचों पर सट्टेबाजी, इलेक्शंस पर अवैध शराब और जुए आदि की गतिविधियां लगातार बढ़ रही हैं।

शुक्रवार, 29 जनवरी 2021

बिहार: 6 गिरफ्तार, सेक्स रैकेट का खुलासा किया

अविनाश श्रीवास्तव  
 नवादा। जिले में एक बार फिर सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ है जहां से पुलिस ने 4 लड़कियों और 2 लड़कों को आपत्तिजनक हालत में बरामद किया है। मामला जिले के मुफस्सिल थाने के अतौआ रोड का है जहां एक घर में सेक्स रैकेट का संचालन हो रहा था। बुधवार की देर रात्रि पुलिस ने छापेमारी कर दो युवकों के साथ चार महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया है। मौके पर से शराब की खुली बोतलें और पीकर बची हुई शराब भी बरामद की गई है। बरामद की गई चार लड़कियों में से तीन ने खुद को पीड़ित बताया है और सेक्स रैकेट की संचालक गीता देवी पर बहला-फुसलाकर धंधा कराने का आरोप लगाया है।

लिहाजा उन्हें परिजनों को सौंपा जा रहा है जबकि रैकेट की संचालक गीता देवी तथा साथ में पकड़े गए केंदुआ निवासी सुबोध कुमार और सिंटू कुमार को जेल भेज दिया गया है। मुफस्सिल थाना के थानाध्यक्ष लाल बिहारी पासवान ने बताया कि अतउआ रोड स्थित एक घर में सेक्स रैकेट चलने की सूचना मिली थी। वरीय अधिकारियों के निर्देश पर बुधवार की देर रात घर की नाकेबंदी कर छापेमारी की गई तो इसका खुलासा हो गया ।

कई वर्षों से इस धंधे में लिप्त है आरोपी गीता, कई शहरों में चल रहा व्यापार
बताया जाता है कि पुलिस के हत्थे चढ़ी सेक्स रैकेट संचालक गीता देवी कई वर्षों से इस धंधे में लिप्त है और जिला सहित अन्य शहरों से लड़कियों को लाकर दे व्यापार कर आ रही थी। बताया जाता है कि गीता देशभर के मामले में ही पहले भी जेल जा चुकी है । और पुलिस ने उसे नवीनगर से गिरफ्तार किया था । वेल पर छूटने के बाद उसने फिर से गोरख धंधा शुरू कर दिया । पुलिस उससे पूछताछ कर रही है । पूछताछ के दौरान कई लोगों के नाम उजागर होने की संभावना है ।

हिसुआ, रजौली और वारसलीगंज में भी आ चुके हैं देह व्यापार के मामले
बता दें कि जिले में देह व्यापार के मामले रह-रहकर सामने आते रहे हैं। कुछ साल पहले रजौली में जब सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ था तो प्रशासनिक महकमे में भी खलबली मच गई थी । तब पंचायत सचिव और सरकारी कर्मचारी भी पकड़े गए थे । हिसुआ और वारिसलीगंज में भी इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं । हाल ही में बारिसलीगंज थाना क्षेत्र से लड़कियों को राजगीर ले जा कर देह व्यापार कराने का मामला भी सामने आया है । अब एक बार फिर बड़े सेक्स रैकेट का खुलासा होने के बाद हड़कंप मचा हुआ है ।

बहला-फुसलाकर 3 लड़कियों से करा रही थी देह व्यापार
थानाध्यक्ष ने बताया कि छापेमारी के दौरान काफी देर तक घर का दरवाजा बंद रहा। करीब पौन घंटे बाद दरवाजा खुला तो 4 महिलाओं के साथ मुफस्सिल थाने के केंदुआ गांव के संटू कुमार व सुबोध कुमार को गिरफ्तार किया गया । दोनों ही युवक नशे में धुत थे । इस दौरान सेक्स रैकेट चलाने वाली गीता देवी के अलावा हिसुआ, रजौली और गया कि 3 लड़कियों को भी बरामद किया गया । बरामद तीन लड़कियों ने गीता देवी पर बहला-फुसलाकर धंधा करवाने का आरोप लगाया है । आवश्यक पूछताछ के बाद तीन लड़कियों को उनके परिजनों को सौंपा गया है ।

शहर से एकांत में बनाया था अय्याशी का ठिकाना
बता दे कि जहां छापेमारी की गई वह इलाका नवादा शहर से सटा लेकिन एकांत इलाका है और वहां काफी दिनों से शराब और शबाब का गंदा खेल चल रहा था । पकड़े गए दोनों युवक शराब के नशे में धुत मिले हैं । इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां शराब और शबाब का गंदा खेल रोज चल रहा था । जिस घर में इस काले धंधे का खुलासा हुआ है वह घर एक सैनिक का बताया जा रहा है । सेक्स रैकेट चला रही गीता ने घर के फ्लैट को किराए पर ले रखा था।

गुरुवार, 28 जनवरी 2021

बहू ने सास की हत्या की, फिर निकाल लीं आंख

लखनऊ। कभी-कभी इंसान गुस्से में वो कदम उठा लेता है जो उसके लिए तो परेशानी बनता ही और कई लोगों की भी मुसीबत बढ़ जाती है। ऐसा ही एक मामला पटना के परसा बाजार गांव से भी सामने आया। जहां एक बहू ने अपनी 55 साल की सास की पहले तो चाकू से गोदकर हत्या कर दी और फिर घबराई बहू ने आग लगाकर अपनी जीवन लीला भी समाप्त करनी चाही। इस बेरहम बहू ने ना केवल अपनी सास को मौत के घाट उतारा बल्कि उसके मरने के बाद शरीर में से आंख भी निकाल ली। हत्यारिन बहू का नाम ललिता देवी बताया जा रहा है औऱ उसने हत्या की इस वारदात को उस समय अंजाम दिया जब महिला का पति और बेटा घर मौजदू नहीं था। क्रोध में आकर इसने वो कदम उठाया जिसके बाद अब इसके पास पछताने के अलावा कुछ ओर नहीं है।

बाइक से आए लुटेरे, बैंक से 40 लाख रूपये लूटे

अविनाश श्रीवास्तव

 हाजीपुर। इस वक्त की बड़ी खबर वैशाली से आ रही है। यहां पर अपराधियों ने एक्सिस बैंक में करीब 40 लाख रुपए लूट लिया है। यह घटना विदुपुर के कंचनपुर की है।

घटना के बारे में बताया जा रहा है कि चार बाइक सवार अपराधी बैंक में ग्राहक बनकर गए और इस घटना को अंजाम दिया है। सूचना मिलने के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची हुई है। अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस कई जगहों पर छापेमारी में जुट गई है। फिलहाल पुलिस लूट की अधिकारिक पुष्टि नहीं कर रही है। बताया जा रहा है कि सभी अपराधी नकाबपोश थे। सभी के पास हथियार था। दो बाइक से आए थे और चारों अपराधी ग्राहक बनकर बैंक में घुस गए। एक साइड में ग्राहकों को हथियार दिखाकर साइड कर दिया और बाकी अपराधी बैंक के कर्मियों पर पिस्टल दिखाकर अपने कब्जे में कर लिए। इस दौरान करीब 40 लाख रुपए बैग में भरे और अपराधी फरार हो गए। बताया जा रहा है कि अपराधियों ने इस दौरान बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे को भी क्षतिग्रस्त कर दिया है।

सोमवार, 18 जनवरी 2021

3 किलो चरस की खेप समेत जाल में फंसा आरोपी

हिमाचल: तीन किलो चरस की खेप समेत पुलिस के जाल में फंसा आरोपी

शिमला। हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी में पुलिस के हाथ एक बड़ी चरस की खेप लगी हुई है। मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस थाना बालीचौकी के तहत पुलिस ने एक युवक से 3 किलो चरस की खेप बरामद करने में सफलता हांसिल की है। बताया जा रहा है कि जब युवक बाजार में एक चरस से भरा बैग लेकर जा रहा था। तो उसी दौरान पुलिस की एस आई यू टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर युवक को धर दबोचा।
टीम ने युवक को मौके पर गिरफ्तार कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। यह सफलता पुलिस को उस दौरान लगी जब टीम को गुप्त सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति द्वारा बाजार में चरस से भरा बैग लाया गया है जिसके तहत पुलिस ने अपनी टीम का जाल बिछा दिया और युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

रविवार, 17 जनवरी 2021

अशोक राठी गैंग के 3 कुख्यात शूटर्स अरेस्ट किए

राणा ओबेरॉय 

गुरुगांव। क्राइम ब्रांच ने अशोक राठी गैंग के तीन कुख्यात शूटर्स को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्ज़े से भारी मात्रा में हथियार बरामद कर दर्जनों मामलों का खुलासा किया है। दरअसल क्राइम ब्रांच को 15 जुलाई 2020 के दिन भोंडसी थाना क्षेत्र के अलीपुर गांव के सरपंच मनोज की हत्या के खुलासे का टास्क मिला था। इसी मामले में इन्वेस्टिगेशन के दौरान वारदात में शामिल तीन कुख्यात शूटर्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस की माने तो तीनों शूटर्स चार से पांच लोगों की हत्या की वारदातों को अंजाम देने की फ़िराख में थे। क्राइम ब्रांच सेक्टर-17, सेक्टर-40, सेक्टर-39 की क्राइम यूनिट ने संयुक्त प्रयास कर यूपी के भरत, गुरुग्राम के पुनीत और बल्लभगढ़ के मोहित लम्बा को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने पूछताछ में खुलासा किया कि तीनों ने बदमाशों ने यूपी, बल्लभगढ़ और गुरुग्राम में चार से पांच लोगों की हत्या की वारदात को अंजाम देना था। क्राइम ब्रांच ने इनके कब्ज़े से 6 पिस्टल, 3 देसी कट्टों के साथ दर्जनों जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। जिसमें अकेले मोहित लम्बा के कब्ज़े से 6 पिस्टल के साथ दो मोबाइल, एक डोंगल, 30 जिंदा कारतूस बरामद कि गाँव अलीपुर के सरपंच मनोज की गोली मारकर हत्या करने के मामले में वान्छित 1-1 लाख रुपयों के 02 ईनामी व 01 अन्य साथी सहित कुल 03 कुख्यात बदमाशों को अपराध शाखा सैक्टर-40, अपराध शाखा सैक्टर-39 व अपराध शाखा सैक्टर-17, गुरुग्राम की पुलिस टीमों ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए गिरफ्तार किरोपियों के कब्जे से कुल 05 पिस्टल, 04 देशी कट्टा, 36 जिन्दा कारतूस, 02 मोबाईल फोन व 01 wifi डोंगल पुलिस टीम द्वारा बरामद किए गए है। ये अपने साथी अशोक राठी की हत्या का बदला लेने की नियत से आरोपियों ने अपने साथियों के कहने पर इस वारदात को अंजाम दिया था।

इससे पहले इस मामले में 05 हजार रुपयों के ईनामी बदमाश सहित कुल 04 आरोपियों किया जा चुका है गिरफ्तार, जिनके कब्जा से वारदात में प्रयोग की गई 01 देशी पिस्तौल व 03 जिन्दा कारतूस भी किए गए थे बरामद। अब तक इस मामले में कुल 07 आरोपियों को काबू किया जा चुका है। दिनाँक 15.07.2020 को थाना शहर सोहना, गुरुग्राम में एक सूचना कृष्ण अस्पताल के सामने किसी अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गोली मारने की वारदात को अंजाम दिए जाने के संबंध में प्राप्त हुई।

इस सूचना पर थाना शहर सोहना, गुरुग्राम की पुलिस टीम बिना किसी देरी के घटनास्थल पर पहुँच गई जहां पर पुलिस टीम को पता चला कि गोली लगने वाला व्यक्ति मनोज कुमार पुत्र जुगल किशोर मौजूदा सरपंच गाँव अलीपुर है जिसे गोली लगी हुई है। पुलिस टीम ने घायल अवस्था मे उसी की गाड़ी में डालकर उसे ईलाज के लिए मेदंता हस्पताल, गुरुग्राम दाखिल करा दिया। कुछ ही देर में पीड़ित/घायल के परिजन भी हस्पताल में हाजिर आ गए और हस्पताल परिसर में पीड़ित के भाई कुलदीप उर्फ काले पुत्र जुगल किशोर निवासी अलीपुर थाना भोंडसी जिला गुरुग्राम, उम्र 45 वर्ष ने पुलिस टीम को बतलाया कि यह रोड़ी करेसर सप्लाई का काम करता है ये 4 भाई है व 1 बहन है। दिनांक 15.07.2020 को समय लगभग 3.15 PM पर इसका भाई मनोज कुमार अपनी बेटी को दवाई दिलाने के लिए कृष्णा हस्पताल सोहना अपनी गाड़ी में सवार होकर गया था। गाड़ी में इसका भाई व उसकी बेटी ही थे। समय लगभग 04:30 PM पर इसके दूसरे भाई धनराज का इसके पास फोन आया जिसने बताया कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने इनके भाई मनोज को गोली मार दी है जो घटना को अंजाम देने वाले पहले ही घात लगाये बैठे थे जिन्होंने इसके भाई मनोज पर जान से मारने की नियत से फायर किए। यह सूचना पाकर यह मेदंता हस्पताल पहुँचा जहां पर इसका भाई दाखिल है और डॉक्टर ने ईलाज के लिए भर्ती किया हुआ है।उपरोक्त अभियोग में कार्यवाही करते हुए गुरुग्राम पुलिस ने अपने गुप्त सूत्रों की सहायता से व अपनी समझबूझ से उपरोक्त अभियोग की वारदात में शामिल 04 आरोपियों (1. पुष्कर निवासी हाजीपुर पातली, गुरुग्राम 2. महेश उर्फ निशु निवासी अलीपुर, गुरुग्राम, 3. अंकित पुत्र तेजराम निवासी गाँव कुलताना थाना सांपला, जिला रोहतक व 4. मुकेश कुमार उर्फ प्रिंस पुत्र खेमचन्द निवासी मकान नंबर 1493 वार्ड नंबर-5 न्यू अग्रवाल कॉलोनी कोशी कलां, जिला मथुरा उत्तर-प्रदेश, उम्र-23 वर्ष (05 हजार रुपयों का ईनामी) को काबू करके अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया था।
  1. भारत पुत्र संजय निवासी गाँव टूमोला, थाना कोशीकलां, जिला मथुरा, उत्तर-प्रदेश, 20 वर्ष। (इस आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-40, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने गाँव वजीरपुर नजदीक KMP फ्लाईओवर से काबू किया गया)
  2. मोहित पुत्र बीरसिंह निवासी श्याम कॉलोनी, रामबाग, बल्लभगढ, जिला फरीदाबाद, उम्र-27 वर्ष। (इस आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-39, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने फरुखनगर से 03 पिस्टल, 03 देशी कट्टे, 30 जिन्दा कारतूस, 02 मोबाईल फोन्स व 01 wifi डोंगल सहित काबू किया गया)
  3. पुनीत पुत्र धनराज निवासी हाजीपुर पातली, थाना फरुखनगर, जिला गुरग्राम, उम्र 24 वर्ष। (इस आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-17, गुरुग्राम की पुलिस टीम द्वारा KMP नजदीक पंचगाँव चौक, गुरग्राम से 02 पिस्टल, 01 कट्टा व 06 जिन्दा कारतूस सहित काबू किया गया)

आरोपियों से प्रारम्भिक पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि ये सभी अशोक राठी गिरोह के सदस्य है और इन्हें शक था कि उपरोक्त अभियोग में मृतक मनोज सरपंच ने इसके साथी अशोक राठी की हत्या करवाई है, जिसका बदला लेने के लिए अपने उपरोक्त साथी पुष्कर व अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर उपरोक्त अभियोग की वारदात को अंजाम दिया था।

दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...