अपराध लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
अपराध लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 19 मई 2024

₹78 लाख की स्मैक सहित महिला को अरेस्ट किया

₹78 लाख की स्मैक सहित महिला को अरेस्ट किया 

पंकज कपूर 
देहरादून। 78 लाख रूपये की स्मैक सहित बरेली की एक महिला तस्कर को एसटीएफ ने दून से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी महिला तस्कर का कहना है कि उत्तराखण्ड में नशे की बड़ी खपत के चलते उसने पिछले दो तीन सालों से दून में ही अपना ठिकाना बना लिया था।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने बताया कि बीते रोज एसटीएफ की एएनटीएफ टीम (एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स) द्वारा एक सूचना के बाद थाना डोईवाला पुलिस के साथ मिलकर एक संयुक्त कार्यवाही की गई। जिसमे संयुक्त टीम द्वारा डोईवाला क्षेत्र से महिला तस्कर ताहिरा खातून पत्नी जाकिर हुसैन निवासी ग्राम नई बस्ती कुडकावाला डोईवाला को 259 ग्राम स्मैक के साथ ’गिरफ्तार किया गया है। जिसने पूछताछ में बताया कि वह बरामद स्मैक बरेली से लेकर आई थी, इस पर एसटीएफ को आरोपी महिला से पूछताछ में अन्य कई ड्रग्स पैडलरो के नाम की जानकारी हुई है, जो डोईवाला क्षेत्र में ताहिरा खातून से स्मैक खरीदते थे और डोईवाला क्षेत्र में विशेष कर जॉली ग्रांट क्षेत्र में रहने वाले छात्रों को विक्रय करते थे। एसटीएफ द्वारा प्रकाश में आए इन सभी पैडलरों की लिस्ट तैयार की गई है, जिन पर अलग से कार्यवाही की जाएगी।
पकड़ी गई महिला तस्कर द्वारा बताया गया कि वह मूल रूप से बरेली उत्तर प्रदेश की रहने वाली है। जहां पर उसे इस धंधे के बारे में जानकारी हुई और वह बड़े ड्रग डीलरों से संपर्क में आई और फिर विगत 5-6 साल पहले डोईवाला के कुडकावाला क्षेत्र में रहने को आ गई और बरेली से यहां स्मैक सप्लाई करने लगी। जिसके लिए उसने डोईवाला के कुडकवाला वाले क्षेत्र में अपना एक मकान भी विगत दोख्नतीन साल में बना दिया है। जहां से यह सारा माल स्थानीय डोईवाला क्षेत्र में अपने पैडलरों के माध्यम से विक्रय कर देती थी। इस तस्कर के तार सीधा बरेली के बड़े तस्करों से जुड़े होने की जानकारी मिली है, जिन पर भी एसटीएफ द्वारा अब आगे की कार्रवाई करने की योजना बनाई जा रही है।
एसटीएफ के अनुसार यह महिला आरोपी पूर्व में भी ड्रग तस्करी के मामले जेल जा चुकी है। लेकिन जमानत में आने का बाद फिर ड्रग तस्करी में लिप्त है।

दो भाईयों ने 13 वर्षीय बहन से रेप किया, मुकदमा

दो भाईयों ने 13 वर्षीय बहन से रेप किया, मुकदमा 

इकबाल अंसारी 
गाजियाबाद। टीला मोड़ थानाक्षेत्र की एक काॅलोनी में दो भाईयों ने अपनी 13 साल की बहन से दुष्कर्म कर दिया। किशोरी 22 सप्ताह की गर्भवती हो गई है। उसकी अचानक तबीयत खराब होने के बाद दिल्ली के अस्पताल में अल्ट्रासाउंड हुआ। किशोरी अस्पताल में भर्ती है। डॉक्टर उपचार के साथ उसकी निगरानी में लगे हैं। किशोरी की मां ने दोनों बेटों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया है।
किशोरी काॅलोनी के एक निजी स्कूल की छात्रा है। उसके साथ दोनों भाई दो साल से अलग-अलग समय में दुष्कर्म कर रहे थे। कुछ दिनों से किशोरी के पेट में दर्द हो रहा था। वह स्कूल में शिक्षकों से पेट दर्द की शिकायत करती थी। दो दिन पहले मां बेटी को दिल्ली के अस्पताल में इलाज के लिए ले गई। वहां डॉक्टर ने उसका अल्ट्रासाउंड किया। रिपोर्ट आने पर किशोरी 22 सप्ताह की गर्भवती निकली। डॉक्टरों ने किशोरी की हालत बिगड़ता देख उसे भर्ती कर इलाज करना शुरू कर दिया।
मां ने बेटी से पूछा तो उसने बताया कि दोनों भाई अलग-अलग समय पर उसके साथ दुष्कर्म करते थे। मां ने घर पर फोन करके दोनों बेटों से घटना की जानकारी ली। वहीं, शुरुआत में बेटे घटना को टालने लगे लेकिन जब उन्होंने बेटी के गर्भवती होने के बारे में बोला तो दोनों कबूल किया। बाद में मां ने टीला मोड़ थाने में पुलिस से शिकायत की और दोनों बेटों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा कराया। एसीपी शालीमार गार्डन सिद्धार्थ गौतम का कहना है कि दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है।

रहीम ने खुद को पैरोल पाने का हकदार बताया

रहीम ने खुद को पैरोल पाने का हकदार बताया

राणा ओबरॉय 
चंडीगढ़। दुष्कर्म और हत्या के मामले में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम ने खुद को पैरोल पाने का हकदार बताते हुए पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में गुहार लगाते हुए कहा है कि इस साल उसके पास अभी भी 41 दिन की पैरोल बची हुई है, जिसका वह लाभ उठाना चाहता है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट पहुंचे डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम ने पैरोल या फरलो देने के आदेश पर लगी रोक को हटाने की डिमांड उठाई है। डेरा प्रमुख का कहना है कि इस साल उसके पास अभी भी 41 दिन की पैरोल बची हुई है और इसका लाभ उठाने के लिए वह पैरोल चाहता है, इससे पहले पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने इसी साल की 29 फरवरी को हरियाणा सरकार की ओर से बार-बार दी जाने वाली पैरोल पर भविष्य में रोक लगा दी थी। पैरोल मांगने के इस मामले में मुख्य बात यह है कि लोकसभा चुनाव के समय गुरमीत राम रहीम द्वारा यह पैरोल मांगी गई है। यह भी उल्लेखनीय है कि पंजाब एवं हरियाणा की कई लोकसभा सीटों पर बेर का प्रभाव रहता है।

शनिवार, 18 मई 2024

विभव ने कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की

विभव ने कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की सांसद स्वाति मालीवाल के ऊपर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के भीतर होना बताए जा रहे हमले के मामलें में अरेस्ट किए गए विभव कुमार की ओर से तीस हजारी कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की गई है। सीएम के पीए रहे विभव की जमानत अर्जी पर अदालत आज ही सुनवाई करेगी। शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पीए रहे विभव कुमार ने दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर करते हुए आम आदमी पार्टी की सांसद स्वाति मालीवाल के ऊपर होना बताए जा रहे हमले के मामले में अग्रिम जमानत मांगी है। तीस हजारी कोर्ट में दाखिल की गई जमानत अर्जी पर अदालत आज ही सुनवाई करने के लिए तैयार हो गई है। उधर दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद विभव कुमार के वकील सिविल लाइन थाने पहुंचे हैं। उन्होंने कहा है कि हम जांच में पुलिस का पूरा सहयोग करेंगे। मुख्यमंत्री के पीए रहे विभव कुमार पर लगे आरोपों को अधिवक्ताओं ने गलत करार दिया है।

शुक्रवार, 17 मई 2024

बदसलूकी के केस में लिखित शिकायत दर्ज करवाई

बदसलूकी के केस में लिखित शिकायत दर्ज करवाई

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। सीएम आवास पर बदसलूकी के मामलें में AAP सांसद स्वाति मालीवाल ने 3 दिन बाद आखिरकार लिखित शिकायत दर्ज करवाई। गुरुवार वो को दिल्ली पुलिस की एक टीम स्वाति के घर पहुंची और उनका बयान दर्ज किया। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के एडिशनल सीपी और एडिशनल डीसीपी नॉर्थ स्वाति के घर पहुंचे थे। टीम करीब 4 घंटे रही। दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव (PA) बिभव कुमार पर सीएम आवास में स्वाति के साथ बदसलूकी और मारपीट करने का आरोप है। इस बीच, राष्ट्रीय महिला आयोग ने बिभव कुमार को नोटिस भेजकर शुक्रवार को तलब किया है।

पहले स्वाति के साथ बदसलूकी के केस को समझिए

13 मई की सुबह 9:34 बजे दिल्ली के सीएम आवास से पुलिस के पास एक फोन आया। कॉलर ने सिर्फ एक लाइन में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने बताया, ‘हमें सुबह 9:34 बजे एक PCR कॉल मिली। कॉल करने वाले ने कहा कि उसके साथ CM आवास के अंदर मारपीट की गई है। उसके बाद लोकल पुलिस और SHO ने कॉल का जवाब दिया। कुछ समय बाद, सांसद स्वाति मालीवाल पुलिस स्टेशन सिविल लाइंस आईं। हालांकि, इस मामले में उनकी ओर से उस समय कोई शिकायत नहीं दी गई।’
14 मई को संजय सिंह ने कबूल किया कि मुख्यमंत्री आवास पर स्वाति मालीवाल के साथ अभद्रता हुई। उन्होंने मीडिया से कहा, ’13 मई को बहुत ही निंदनीय घटना घटित हुई। सुबह अरविंद केजरीवाल से मिलने स्वाति मालीवाल उनके आवास पर पहुंची थीं। ड्रॉइंग रूम में केजरीवाल का इंतजार कर रही थीं। इस बीच मुख्यमंत्री के पीए बिभव कुमार वहां पहुंचे और उनके साथ अभद्रता और बदतमीजी की।’

लखनऊ में आज केजरीवाल के साथ दिखे बिभव

इंडिया ब्लॉक की प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल होने के लिए केजरीवाल और संजय सिंह गुरुवार सुबह दिल्ली से लखनऊ पहुंचे। बिभव को लखनऊ एयरपोर्ट पर केजरीवाल के साथ देखा गया। मीडिया ने स्वाति मालीवाल केस को लेकर केजरीवाल से सवाल किया, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। इस दौरान दोनों को एक साथ गाड़ी में बैठा देखा गया।

सोमवार, 13 मई 2024

'पत्रकार' की गोलियों से भूनकर हत्या की, प्रदर्शन

'पत्रकार' की गोलियों से भूनकर हत्या की, प्रदर्शन 

संदीप मिश्र 
जौनपुर। बाइक पर सवार होकर जा रहे पत्रकार की दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई है। छाती और पेट में चार गोलियां लगने से बुरी तरह जख्मी हुए पत्रकार को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिवार वालों ने लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा है कि अगर पुलिस पत्रकार को सुरक्षा दे देती तो वह शायद आज जिंदा होते। उधर घटना के विरोध में पब्लिक ने रास्ता जाम करते हुए पुलिस के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया है। 
सोमवार को शाहगंज कोतवाली क्षेत्र के सबरहद के रहने वाले पत्रकार आशुतोष श्रीवास्तव रोजाना की तरह सवेरे के समय नाश्ता करने के बाद बाइक पर सवार होकर अपने घर से निकले थे।‌ अभी पत्रकार घर से निकलकर बामुश्किल 500 मीटर दूर ही चला था कि इसी दौरान बाइक पर सवार होकर पहुंचे दो बदमाशों ने घेराबंदी करते हुए पत्रकार पर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दी। हमलावरों के हथियार से निकली गोलियां पत्रकार के सीने एवं पेट में जाकर घुसी। गोली चलने की आवाज सुनते ही आसपास के इलाके में दहशत पसर गई। जब तक आसपास के लोग दौड़ धूप करते हुए मौके पर पहुंचते, उससे पहले ही हमलावर वहां से फरार हो गए। 
आसपास के लोग आशुतोष को आनन-फानन में अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां जांच के बाद डॉक्टर द्वारा उन्हें मृत घोषित कर दिया गया है। घटना के विरोध में पब्लिक ने रास्ता जाम करते हुए पुलिस की कार्य शैली को लेकर अपना रोष जताते हुए जोरदार प्रदर्शन किया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को मृतक पत्रकार के परिजनों एवं अन्य लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। आशुतोष के छोटे भाई पत्नी की पत्नी डोली श्रीवास्तव के मुताबिक 10 दिन पहले की कोतवाली पुलिस द्वारा आशुतोष को थाने बुलाकर कहा गया था कि आप घर से ना निकालिए और घर में ही रहिए, आपकी जान को खतरा है। क्योंकि दो शूटर आपको मारना चाहते हैं। इस पर जब आशुतोष ने पुलिस से सुरक्षा मांगी तो पुलिस ने उनकी डिमांड की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया, जिसका नतीजा यह रहा है कि हमलावरों ने आज आशुतोष को गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया है। पुलिस ने फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

सिसोदिया को 3 दिन की अवधि के लिए बेल दी गई

सिसोदिया को 3 दिन की अवधि के लिए बेल दी गई

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के तिहाड़ जेल के भीतर से निकलकर बाहर आने के बाद दिल्ली के डिप्टी चीफ मिनिस्टर रहे मनीष सिसोदिया के भी बाहर आने का इंतजाम हो गया है। हाईकोर्ट की ओर से मनीष सिसोदिया को तीन दिन की अवधि के लिए बेल दी गई है। सोमवार को आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों को उस समय एक बड़ी खुशी हासिल हुई है, जब हाईकोर्ट ने राज्य के डिप्टी चीफ मिनिस्टर रहे मनीष सिसोदिया की जमानत अर्जी को मंजूर करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया को तीन दिन की बेल दे दी है। प्रवर्तन निदेशालय द्वारा शराब घोटाला से जुड़े मनी लांड्रिंग के मामले में गिरफ्तार करके जेल भेजे गए राज्य के पूर्व डिप्टी चीफ मिनिस्टर मनीष सिसोदिया ने हाई कोर्ट में अर्जी देकर परिवार में आयोजित होने वाले शादी समारोह में शामिल होने के लिए जमानत मांगी थी। सोमवार को अदालत ने परिवार के शादी समारोह में शामिल होने के लिए मनीष सिसोदिया को तीन दिन के लिए जमानत पर बाहर भेजने का निर्देश दिया है।

गैंगरेप: 2 आरोपियों को 10-10 साल की सजा

गैंगरेप: 2 आरोपियों को 10-10 साल की सजा 

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव सूजडू में घर के भीतर अकेली मौजूद महिला के साथ तमंचे की नोंक पर गैंगरेप करने के मामलें में दोषी होना पाए गए दो आरोपियों को अदालत द्वारा 10-10 साल की सजा एवं 20- 20 हजार रुपये जुर्माना किया गया है। 
सोमवार को जिला अदालत की फास्टट्रैक कोर्ट में वर्ष 2012 की 3 जून को शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव सूजडू में घर के भीतर मौजूद अकेली महिला के साथ हथियारों की नोंक पर किए गए गैंगरेप के मामले की सुनवाई की गई। 
पीठासीन अधिकारी नेहा गर्ग की अदालत में हुई सुनवाई के दौरान आरोपियों को सजा दिलाने के लिए अभियोजन की ओर से शासकीय अधिवक्ता रेणु शर्मा द्वारा जोरदार पैरवी की गई। न्यायाधीश ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद आरोपी शहजाद एवं मोहम्मद शफी को दोषी करार देते हुए दोनों को 10-10 साल की कैद और उनके ऊपर 20-20 हजार रुपए का जुर्माना किये जाने की सजा सुनाई। 
अभियोजन के अनुसार पीड़िता ने आरोप लगाया था कि वर्ष 2012 की 3 जून की रात जब उसका पति काम पर गया हुआ था तो आरोपी शहजाद एवं मोहम्मद शफी उसे घर में अकेली देख उसके घर के भीतर घुस आए और तमंचे से आतंकित करते हुए उसके साथ गैंगरेप किया। दुष्कर्म के बाद दोनों आरोपियों ने उसे जान से मारने की धमकी भी दी थी।

गुरुवार, 9 मई 2024

चाचा की हत्या के मामलें में भतीजे को उम्रकैद

चाचा की हत्या के मामलें में भतीजे को उम्रकैद 

अविनाश श्रीवास्तव 
छपरा। बिहार में सारण जिले की सत्र अदालत ने गुरूवार को एक व्यक्ति की हत्या के मामलें में उसके भतीजा को उम्र कैद की सजा सुनाई है। सारण व्यवहार न्यायालय के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह उत्पाद अधिनियम के विशेष न्यायाधीश :द्वितीय: अतुलबीर सिंह ने अपने चाचा के हत्या के अभियुक्त को उम्रकैद की सजा सुनाई है। 
रसूलपुर थाना कांड संख्या 92/20 के सत्रवाद 195/20 के अनुसार जिले के रसूलपुर थाना क्षेत्र के बलिया निवासी 62 वर्षीय देवनाथ पांडेय ने 17 अगस्त 2020 को घायल अवस्था में एक प्राथमिकी दर्ज कराई थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह संघ्या चार बजे अपने दरवाजे पर थे तभी उनका भतीजा राजकिशोर पांडेय शराब पीकर आया और उन्हें गाली देने लगा। उन्होंने उसे गाली देने से मना किया तो वह हाथ मे चाकू लेकर आया और पेट में चाकू मारकर उन्हें घायल कर दिया। घायल को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे बेहतर इलाज के लिये पटना भेज दिया गया। 
पटना में इलाज के दौरान 01 सितंबर को देवनाथ पांडेय की मौत हो गई। इस मामले में विश्वनाथ पांडेय के पुत्र राजकिशोर पांडेय को भा.द.वि की धारा 304(।) के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

सोमवार, 6 मई 2024

हाईकोर्ट में याचिका खारिज, एससी का रुख किया

हाईकोर्ट में याचिका खारिज, एससी का रुख किया

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। झारखंड के मुख्यमंत्री रहे हेमंत सोरेन हाईकोर्ट द्वारा जमानत याचिका खारिज करने के बाद अब सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाना के लिए देश की राजधानी दिल्ली पहुंचे हैं। उन्होंने जमानत के मामले को लेकर तत्काल सुनवाई किए जाने की डिमांड उठाई है। सोमवार को झारखंड के मुख्यमंत्री रहे हेमंत सोरेन ने हाईकोर्ट में अपनी जमानत याचिका खारिज होने के बाद सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। 
प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जमीन घोटाला मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी और उनके डिमांड को गलत बताने वाली याचिका को झारखंड हाई कोर्ट द्वारा इसी महीने की 4 मई को खारिज कर दिया गया था। हेमंत सोरेन ने हाई कोर्ट में याचिका दायर करते हुए अपनी गिरफ्तारी और रिमांड को चुनौती दी थी।

शुक्रवार, 3 मई 2024

सिसोदिया की जमानत याचिका पर सुनवाई की

सिसोदिया की जमानत याचिका पर सुनवाई की

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। दिल्ली के डिप्टी चीफ मिनिस्टर रहे मनीष सिसोदिया को गुड न्यूज़ देते हुए हाईकोर्ट ने आप नेता को बड़ी राहत दी है। अदालत ने मनीष सिसोदिया को हफ्ते में एक बार अपनी पत्नी से मिलने की इजाजत देने के अलावा आप नेता की जमानत को लेकर प्रवर्तन निदेशालय एवं सीबीआई को नोटिस जारी करते हुए दोनों से जवाब भी मांगा है। 
शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार में डिप्टी चीफ मिनिस्टर रहे मनीष सिसोदिया की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए आप नेता को बड़ी राहत प्रदान करते हुए उन्हें हफ्ते में एक मर्तबा अपनी पत्नी से मुलाकात करने की इजाजत दे दी है। अदालत का कहना है कि हिरासत में मौजूद मनीष सिसोदिया अब हफ्ते में एक बार अपनी पत्नी से मुलाकात कर सकेंगे। अदालत ने मनीष सिसोदिया की जमानत की मांग वाली अर्जी पर प्रवर्तन निदेशालय एवं केंद्रीय जांच ब्यूरो को नोटिस जारी करते हुए दोनों केंद्रीय एजेंसियों से उनका जवाब मांगा है। हाई कोर्ट द्वारा अब इस मामले की सुनवाई आगामी 8 मई को की जाएगी।

गुरुवार, 2 मई 2024

अंतरराष्ट्रीय गिरोह के 9 आरोपितों को अरेस्ट किया

अंतरराष्ट्रीय गिरोह के 9 आरोपितों को अरेस्ट किया 

पंकज कपूर 
देहरादून। देहरादून पुलिस ने आईपीएल मैचों में ऑनलाइन सट्टा लगाने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह के नौ आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों के पास से बड़ी संख्या में मोबाइल फोन, लैपटॉप और नौ लाख रुपये नकद बरामद किए गए हैं। वहीं, उनके खातों से 20 करोड़ रुपए के ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के भी साक्ष्य पुलिस के हाथ लगे हैं। 
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि राजपुर थाना पुलिस को क्षेत्र में आईपीएल मैचों में ऑनलाइन सट्टा लगाने की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर पुलिस टीमों ने पुरकुल रोड स्थित ब्राह्मणवाला में बने एक फ्लैट में दबिश देखकर नौ आरोपितों को गिरफ्तार किया।
एसएसपी ने बताया कि ऑनलाइन सट्टे का पूरा नेटवर्क दुबई से शुभम नाम का व्यक्ति संचालित कर रहा था। वहीं देहरादून में सट्टे का काम सिराज मेनन देख रहा था। आरोपित मोबाइल फोन के जरिए ऑनलाइन सट्टे की साइट लेजर टाइगर तथा ऑल पैनल पर जाकर सट्टा खिलवा रहे थे। ऑनलाइन सट्टे की लिंक की आईडी व लिंक शुभम निवासी छत्तीसगढ़ उपलब्ध करवा रहा था।
आरोपितों की पहचान सिराज मेनन निवासी सिविल लाइन निकट साइन मंदिर जिला दुर्ग थाना सिविल लाइन छत्तीसगढ़, सौरव निवासी जिला चिलवाड़ा छत्तीसगढ़, विवेक अधिकारी निवासी कोरबा जिला कोरबा छत्तीसगढ़, लोकेश गुप्ता निवासी पीपल चौराहा मध्य प्रदेश, सोनू कुमार निवासी औरंगाबाद बिहार, मोनू निवासी अंबिकापुर जिला सरगवा छत्तीसगढ़, विकास कुमार निवासी थाना टिकरापारा जिला रायपुर छत्तीसगढ़ और शत्रुघ्न कुमार निवासी सरैया जिला मुजफ्फरपुर बिहार के रूप में हुई है।
पूछताछ में गिरफ्तार सट्टेबाजों ने बताया कि ऑनलाइन सट्टे का पूरा नेटवर्क दुबई से शुभम नाम के व्यक्ति संचालित करता है तथा देहरादून में सट्टे का काम सिराज मेनन देखता है, आरोपी मोबाईल फोन के जरिये ऑनलाइन सट्टे की साइट, लेजर, टाइगर तथा ऑल पैनल पर जाकर आँनलाईन सट्टा खिलवाते है तथा लोगो से पैसे लेकर बुकी का काम करते है। आनलाईन सटटे की साइटों की आईडी एंव लिंक अभियुक्तों को शुभम, निवासी छत्तीसगढ़ ने मोबाइल फोन के जरिये उपलब्ध करायी जाती है। शुभम पैसे लेकर अभियुक्तों को सटटे के ऑनलाइन प्वांइन्टस उपलब्ध कराये जाते है, जिन्हें आरोपी आगे लोगो को ऑनलाइन बेचकर उनसे पैसे लेकर सट्टा खिलवाया जाता है, जिससे उन्हें अच्छा मुनाफा हो जाता है। सटटे की सारी धनराशि ऑनलाईन गूगल पे के माध्यम से ली जाती है। आज भी अरोपी आईपीएल मैच में ऑनलाइन सट्टा लगाकर लगभग 9 लाख रुपए का क्लैक्शन किया था तथा पूरे मैच में आरोपी लगभग 1 करोड का क्लैक्शन करते, परन्तु मैच समाप्त होने से पूर्व ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। वर्तमान में चल रहे आईपीएल मैचो के दौरान पिछले एक माह में आरोपियों के खातों मंे लगभग 20 करोड़ रूपये के ट्राजेक्शन की पुलिस टीम को जानकारी प्राप्त हुई है। जिसके सम्बंध में विस्तृत जानकारी की जा रही है।

बुधवार, 1 मई 2024

एक साथ 10 राज्यों के 30 स्थानों पर छापेमारी

एक साथ 10 राज्यों के 30 स्थानों पर छापेमारी 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा ऐप आधारित धोखाधड़ी करने वाली निवेश योजना से संबंधित मामले को लेकर देश के 10 राज्यों के 30 स्थानों पर एक साथ की गई छापामार कार्यवाही से इस धोखाधड़ी से जुड़े लोगों में हड़कंप मच गया है। अभी तक ली गई तलाशी में मोबाइल फोन, कंप्यूटर, सिम कार्ड और एटीएम आदि जप्त किए गए हैं। बुधवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी सीबीआई की ओर से उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, कर्नाटक और तमिलनाडु समेत देश के 10 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के 30 स्थान पर एक साथ छापामार कार्यवाही की गई है। पूरे योजनाबद्ध तरीके से केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा की गई यह छापामार कार्यवाही ऐप आधारित धोखाधड़ी वाली निवेश योजना से संबंधित मामले को लेकर अंजाम दी गई है। ताबड़तोड़ छापामार कार्यवाही कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा अभी तक विभिन्न स्थानों पर ली गई तलाशी में मोबाइल फोन, कंप्यूटर हार्ड ड्राइव, सिम कार्ड, एटीएम एवं डेबिट कार्ड, ईमेल खाता तथा विभिन्न दस्तावेजों सहित अनेक महत्वपूर्ण डिजिटल सबूत जप्त किए गए हैं। देश भर के 10 राज्यों के 30 ठिकानों पर की गई इस कार्यवाही से धोखाधड़ी वाली निवेश योजना से जुड़े लोगों में अब हड़कंप मचा हुआ है।

मंगलवार, 30 अप्रैल 2024

फेक वीडियो के मामलें में दो लोगों को अरेस्ट किया

फेक वीडियो के मामलें में दो लोगों को अरेस्ट किया 

इकबाल अंसारी 
नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के वायरल हो रहे फेक वीडियो के मामलें को लेकर हरकत में आई पुलिस द्वारा दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिनका आम आदमी पार्टी और कांग्रेस से लिंक जुडा होना बताया गया है। उधर इस मामले में दिल्ली पुलिस तेलंगाना के मुख्यमंत्री को पहले ही पूछताछ के लिए तलब कर चुकी है। मंगलवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के फर्जी वीडियो के मामले को लेकर हरकत में पुलिस द्वारा आम आदमी पार्टी और कांग्रेस से जुड़े दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गुजरात की अहमदाबाद साइबर क्राइम टीम द्वारा की गई इस कार्यवाही के अंतर्गत अरेस्ट किए गए दोनों लोगों से फिलहाल पूछताछ की जा रही है। आज हुई दो लोगों की गिरफ्तारी से पहले सोमवार को असम पुलिस की ओर से भी दावा करते हुए कहा गया था कि उसने इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार करते हुए उसके कब्जे से एक लैपटॉप तथा दो मोबाइल फोन भी जप्त किए हैं। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने अपने राज्य से गिरफ्तार किए गए व्यक्ति का नाम रितौम सिंह बताया था। उल्लेखनीय है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा था कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भारतीय जनता पार्टी के तीसरी बार जीतने पर एससी एसटी एवं ओबीसी रिजर्वेशन को खत्म करने की बात कह रहे हैं। मामला उजागर होने के बाद की गई तहकीकात में पता चला कि शेयर किया जा रहा गृहमंत्री अमित शाह का यह वीडियो एडिट करके वायरल किया गया है। जबकि वास्तविक वीडियो वर्ष 2023 में तेलंगाना में दिए गए एक भाषण का था, जिसमें गृहमंत्री मुस्लिम कोटा खत्म करने की बात कह रहे थे।

सोमवार, 29 अप्रैल 2024

3 किलो 400 ग्राम चरस के साथ दो तस्कर अरेस्ट

3 किलो 400 ग्राम चरस के साथ दो तस्कर अरेस्ट 

पंकज कपूर 
देहरादून। एसटीएफ ने नशा तस्करों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए 3 किलो 400 ग्राम चरस के साथ दो नशा तस्करों को गिरफ्तार किया है। 
एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने ड्ग्स डीलरों के विरुद्र कार्यवाही के आदेश दिए जिस पर कार्रवाई करते हुए सीओ एसटीएफ आरबी चमोला के पर्यवेक्षण में एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स ने थाना रायपुर पुलिस के साथ संयुक्त रूप से छापेमारी करते हुए थाना रायपुर क्षेत्रअंतर्गत, तपोवन रोड के पास से एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स तस्कर धर्मराज धामी पुत्र हरी लाल निवासी नेपाल उम्र 43 वर्ष तथा आयुष रावत पुत्र त्रिलोक सिंह रावत निवासी ग्राम नेगर थाना देवप्रयाग जनपद टिहरी गढ़वाल को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से करीब 3 किलो 400 ग्राम चरस बरामद की गयी। मौके से दो चरस तस्कर नीरज कठैत व सौरभ चौहान भागने में सफल रहे। गिरफ्तार आरोपी पिछले कई सालों से उत्तराखंड में चरस की सप्लाई कर रहे थे, गिरफ्तार नशा तस्करों ने पूछताछ पर बताया कि वह यह चरस नेपाल से लेकर आते हैं।

गुरुवार, 25 अप्रैल 2024

अवैध तमंचा कारतूस के साथ अभियुक्त गिरफ्तार

अवैध तमंचा कारतूस के साथ अभियुक्त गिरफ्तार 

संदीपन घाट पुलिस ने अवैध तमंचा कारतूस के साथ अभियुक्त को किया गिरफ्तार

कौशाम्बी। संदीपनघाट पुलिस ने अवैध तमंचा कारतूस के साथ अभियुक्त को गिरफ्तार किया है।
अपराध एवं अपराधियो के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में थाना संदीपन घाट पुलिस उ0नि0 जयन्त गुप्ता मय हमराह पुलिस बल द्वारा अभियुक्त संजय कुमार गौतम पुत्र ब्रम्हानन्द गौतम निवासी उमरछा थाना संदीपन घाट को 01 तमंचा 315 बोर 01 जिन्दा कारतूस 315 बोर के साथ छीतापुर मोड़ के पास से गिरफ्तार किया है गिरफ्तारी व बरामदगी के आधार पर थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 122/24 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट पंजीकृत कर विधिक कार्यवाही के पश्चात अभियुक्त को न्यायालय भेजा गया है।
रजनीश कुमार

दो अंतर्राज्यीय गांजा तस्कर गिरफ्तार किए

दो अंतर्राज्यीय गांजा तस्कर गिरफ्तार किए 

बृजेश केसरवानी 
मिर्जापुर। थाना अहरौरा व एसटीएफ की संयुक्त पुलिस टीम द्वारा अनुमानित कीमत 45 रुपए लाख के अवैध गांजा व तस्करी में प्रयुक्त वाहन (डीसीएम-ट्रक) के साथ दो अंतर्राज्यीय गांजा तस्कर गिरफ्तार किए गए। 
बता दें कि पुलिस अधीक्षक अभिनन्दन द्वारा लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 तथा जनपद में शांति एवं कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाये रखने हेतु अपराध की रोकथाम एवं अपराधियों की धरपकड़, अवैध शराब एवं मादक पदार्थों की निर्माण/तस्करी व बिक्री पर अंकुश लगाते हुए संलिप्त अभियुक्तों की गिरफ्तारी/बरामदगी एवं प्रभावी कार्यवाही करने हेतु जनपद के समस्त प्रभारी निरीक्षक/थानाध्यक्षों को निर्देश दिए गए हैं।
उक्त निर्देश के अनुक्रम में मादक पदार्थों की तस्करी करने वालों के विरूद्ध लगातार अभियान चलाकर की जा रही कार्यवाही में अपर पुलिस अधीक्षक आपरेशन व क्षेत्राधिकारी आपरेशन के नेतृत्व में प्रभारी निरीक्षक थाना अहरौरा बृजेश सिंह, उपनिरीक्षक रणेन्द्र कुमार सिंह प्रभारी एसटीएफ फील्ड इकाई प्रयागराज मय पुलिस टीम व थाना अहरौरा पुलिस व एसटीएफ की संयुक्त पुलिस टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। बुधवार को मुखबिर के सूचना के आधार थाना अहरौरा पुलिस व एसटीएफ की संयुक्त पुलिस टीम द्वारा सघन वाहन चेकिंग कर डीसीएम ट्रक में सवार दो व्यक्तियों को पकड़ा गया। पकड़े गये अभियुक्तों द्वारा पूछताछ में अपना नाम पता राम सिंह पुत्र छेदी लाल सिंह निवासी ग्राम जगदीशपुर थाना जेठवारा जनपद प्रतापगढ़ व धर्मवीर सिंह पुत्र हरेन्द्र पाल सिंह निवासी ग्राम बरी पोस्ट किच्छा थाना फुलवट्टा जनपद उधमपुर, उत्तराखण्ड बताया गया तथा डीसीएम ट्रक में कच्चे नारियल के पीछे छिपाकर गांजा रखा हुआ है। पुलिस टीम द्वारा ट्रक की तलाशी ली गयी तो डीसीएम ट्रक में कच्चे नारियल के पीछे छिपाकर रखा हुआ कुल 152 किलोग्राम अवैध गांजा बरामद हुआ, उक्त गिरफ्तारी व बरामदगी के सम्बन्ध में थाना अहरौरा पर एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कर गिरफ्तार अभियुक्तों के विरूद्ध नियमानुसार अग्रिम विधिक कार्यवाही करते हुए न्यायालय/जेल भेजा गया तथा गांजा तस्करी में प्रयुक्त डीसीएम ट्रक को अन्तर्गत धारा 207 एमवी एक्ट में सीज किया गया। 
पुछताछ में पकड़े गये अभियुक्तों द्वारा पूछताछ में बताया गया कि वे उड़ीसा प्रान्त के रायगढ़ा से डीसीएम ट्रक में कच्चे नारियल के पीछे छिपाकर गांजा लादकर कानपुर ले जा रहे थे। जहां से मांग के अनुसार आसपास के जनपदों में सप्लाई करते हैं। जिससे प्राप्त पैसे को आपस में बांटकर भौतिक सुख-सुविधाओं का लाभ लेते है।

बुधवार, 24 अप्रैल 2024

शामली: तालाब में डूबने से 2 वर्षीय मासूम की मौत

शामली: तालाब में डूबने से 2 वर्षीय मासूम की मौत

भानु प्रताप उपाध्याय 
शामली। शामली में दो साल के मासूम बच्चे की तालाब में डूबकर मौत हो गई। बच्चे की मौत से परिवार में कोहराम मचा है और मां का रो-रोकर बुरा हाल है।
शामली में चौसाना के लव्वादाऊदपुर में दो वर्षीय बच्चे की तालाब में डूबने से मौत हो गई। हादसे के दौरान बच्चा तालाब के पास से गुजर रहा था और अचानक पैर फिसलने से तालाब में जा गिरा।
सूचना पर पुलिस एवं तहसीलदार ऊन मौके पर पहुंचे और पीड़ित परिवार से बात कर जानकारी ली। गुस्साई महिलाओं ने हंगामा किया। बाद में किसी तरह उन्हें शांत कराया गया।
चौसाना चौकी क्षेत्र के गांव लव्वादाउदपुर निवासी रामभूल खेतों में मजदूरी कर परिवार का पालन-पोषण करता है। बुधवार को वह खेत पर गया था। घर पर पत्नी मीनू बच्चे कुणाल की देखरेख के साथ गृह कार्य में लगी थी। तभी बच्चा कुणाल घर से निकल गया और तालाब में जा गिरा। करीब साढ़े ग्यारह बजे बच्चा घर पर नहीं मिला तो तलाश शुरू की गई। कुछ समय के बाद बच्चे का शव तालाब में मिला।
बच्चे के शव को तालाब से निकाला गया और पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों को मामले की जानकारी दी गई। हादसे की जानकारी मिलने पर तहसीलदार ऊन मृदुला दुबे चौसाना पुलिस के साथ मौके पर पहुंची और पीड़ित परिवार से मिली। इस दौरान तहसीलदार को गांव की महिलाओं ने घेरकर विरोध किया और तालाब को वर्षों से खुदाई कराने के बावजूद सौंदर्यीकरण नहीं कराने का आरोप लगाया। बाद में किसी तरह महिलाओं को शांत कराया गया। पुलिस ने बच्चे के शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरा और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, 9 युवक-युवतियां अरेस्ट

सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, 9 युवक-युवतियां अरेस्ट 

संदीप मिश्र 
रामपुर। पटवाई थाना क्षेत्र में पुलिस ने बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए आरोपी मकान मालिक समेत नौ युवक-युवतियों को गिरफ्तार किया है। 
पुलिस को मौके पर सेक्स वर्धक दवाएं भी मिलीं। क्षेत्र मे लंबे समय से ये गोरखधंधा चल रहा था। पुलिस ने सभी आरोपियों का चालान कर दिया। इनमें से कुछ मुरादाबाद और बरेली के भी हैं। सोमवार को पटवाई थाना की डायल 112 पुलिस को सूचना मिली थी कि पटवाई थाना क्षेत्र के नदनऊ गांव के एक घर में सेक्स रैकेट का करोवार काफी दिनों से चल रहा है। जिस कारण पास में रहने वाले बच्चों के साथ ही लोगों को काफी परेशानी होती है। मामले की सूचना मिलने पर डायल यूपी-112 ने जानकारी थाना पुलिस और सीओ को दी। सीओ बिलासपुर सूचना के बाद पटवाई थाने पहुंचे और पटवाई थाना पुलिस के साथ मकान पर छापा मार दिया। इस दौरान मकान में मौजूद लोगों में खलबली मच गई। पुलिस ने मौके से तीन युवतियां और छ: युवक पकड़ लिए। इनमें एक मकान स्वामी भी शामिल था। ये सभी आपत्तिजनक हाल में थे। जिस पर पुलिस ने सभी को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी। पुलिस की जांच में सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ। पुलिस का दावा है कि मौके से सेक्सवर्धक दवाएं भी बरामद की गई हैं। थाना प्रभारी पटवाई अजय शर्मा ने बताया कि पकड़े गए आरोपी बरेली, मुरादाबाद और रामपुर के है।

लाखों की चोरी कर फरार हुए बदमाश, लापरवाही

लाखों की चोरी कर फरार हुए बदमाश, लापरवाही 

मनोज सिंह ठाकुर 
नोरौजाबाद। कानून व्यवस्था को लेकर लोकसभा चुनाव के प्रचार में बड़े-बड़े दावे करने वाली राज्य सरकार की पुलिस की पोल दिनदहाड़े होने वाली चोरियां खोलकर सबके सामने रख रही है। इसके बावजूद मंत्री और नेता झूठे दावे करने से नहीं चूक रहे हैं। चोर उचक्के और बदमाश पिछले 50 दिनों के भीतर तकरीबन 50 लाख रुपए की दिनदहाड़े चोरियां कर पब्लिक को चपत लगा चुके हैं। इसके बावजूद पुलिस अभी तक किसी भी घटना का खुलासा नहीं कर पाई है। 
मंगलवार को सामने आई चोरी की एक बड़ी घटना के अंतर्गतरिश्तेदारी में गए परिवार की गैर मौजूदगी का फायदा उठाते हुए मकान में घुसे बदमाशों ने दिनदहाड़े ताले तोड़कर लाखों रुपए की नगदी और लाखों रुपए की कीमत सोने चांदी के जेवरात चोरी कर लिए और पुलिस सुरक्षा की पोल खोलते हुए आराम के साथ पुलिस को चुनौती देते हुए फरार हो गए। शहडोल जोन के एडीजीपी ने पीड़ित के घर पहुंच कर मामले के जल्द खुलासे का आश्वासन दिया है। उमरिया जिले के नौरोजाबाद थाना अंतर्गत छादा खुर्द वार्ड नं 7 मे रहने वीरेश कुमार मिश्रा के घर पर अज्ञात चोरों ने दिनदहाड़े एक बड़ी चोरी की घटना को अंजाम दिया है। घटनाक्रम के मुताबिक वीरेश कुमार मिश्रा अपनी पत्नी प्रार्थना मिश्रा एवं अपने पुत्र वेदू मिश्रा के साथ अपने निजी वाहन से जयसिंहनगर स्थित रिश्तेदारी में गए हुए थे! ज़ब वीरेश मिश्रा अपने परिवार के साथ वापस अपने घर छादा खुर्द पहुँचे और घर मे सामने के गेट मे लगे ताले को खोलकर अंदर गए तो दरवाजा अंदर से बंद होने के कारण नहीं खुला। फिर वे घर के पीछे के दरवाजे के पास गए तो उन्होंने देखा कि पीछे का दरवाजा टुटा हुआ है और अंदर मे लगा एलड्राप भी निकला हुआ है। 
उन्होंने घर के अंदर जाकर देखा तो अलमारी का ताला और लाॅकर भी टूटा हुआ है। टूटा लाॅकर देखने बाद पता चला कि लाॅकर मे रखे करीब साढ़े तीन लाख नगदी सहित, लगभग 40 लाख के सोने और चांदी के जेवरात अज्ञात चोरों के द्वारा चुरा लिए गए है। अपने घर मे हुई चोरी कि घटना कि सूचना वीरेश कुमार मिश्रा द्वारा नौरोजाबाद थाने में दी गई। नौरोजाबाद के छादा खुर्द वार्ड नं 7 मे हुई चोरी की बड़ी वारदात की गंभीरता को समझते हुए उमरिया एस पी ने घटना स्थल पहुंच कर मौका निरीक्षण किया। तत्पश्चात f. S. L टीम एवं बाँधवगढ़ पार्क से आए स्पेशल डॉग के द्वारा अज्ञात चोरो का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। नौरोजाबाद में दिन दहाड़े बड़ी चोरी होने की सूचना एडीजीपी शहडोल जोन दिनेश चंद्र सागर को लगी तो उन्होंने पीड़ित के घर पहुँचकर उनको आश्वासन दिया कि जल्द ही चोरी की घटना को अंजाम देने वाले अज्ञात चोर पुलिस के गिरफ्त मे होंगे। उन्होंने कहा चोरी करके फरार हुए बदमाशों पर 30000 रुपए का इनाम घोषित करते हुए कहा कि जो भी व्यक्ति हमें अज्ञात चोरों के बारे में सूचना देगा, उसको यह इनाम दिया जाएगा और उसका नाम गुप्त रखा जाएगा। उल्लेखनीय है कि इस घटना से पहले भी दिनदहाड़े चोरी की कई घटनाएं हो चुकी है। सभी पीड़ितों ने पुलिस को मामले की जानकारी देते हुए चोरी की घटनाओं के खुलासे की डिमांड की है। लेकिन रोजाना गस्त के दावे करने वाली पुलिस अभी तक चोरों का पता लगाकर दिनदहाड़े चोरी किए गए माल को बरामद करने में पूरी तरह से असफल रही है।

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट

25 मई को खुलेंगे 'हेमकुंड साहिब' के कपाट पंकज कपूर  देहरादून। हेमकुंड साहिब के कपाट आगामी 25 मई को खोले जाएंगे। इसके चलते राज्य सरका...