शनिवार, 15 मई 2021

26 मई को ‘काला दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। कृषि कानूनों का विरोध कर रहे 40 किसान संघों के प्रधान संगठन संयुक्त किसान मोर्चा ने शनिवार को कहा कि दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे प्रदर्शन के छह माह होने पर 26 मई को ‘काला दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा। डिजिटल तरीके से संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में लोगों से 26 मई को अपने घरों, वाहनों, दुकानों पर काला झंडा लगाने की अपील की है। राजेवाल ने कहा, ”26 मई को इस प्रदर्शन के छह महीने हो जाएंगे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सरकार बनाने के सात साल पूरे होने के अवसर पर यह हो रहा है। हम इसे काला दिवस के तौर पर मनाएंगे।” केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत पानी की बौछारों और अवरोधकों का सामना करते हुए बड़ी संख्या में किसान 26 नवंबर को दिल्ली की सीमाओं पर आए थे।

पीएम ने देश में महामारी की स्थिति की समीक्षा की

अकांशु उपाध्याय                

नई दिल्ली। कोरोना महामारी का प्रकोप देश के ग्रामीण हिस्सों में बढ़ने के कारण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वास्थ्य संसाधन पुख्ता करने और घर-घर जाकर जांच करने तथा निगरानी करने पर जोर दिया है। प्रधानमंत्री ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेन्स के माध्यम से एक उच्च स्तरीय बैठक में देश में कोरोना महामारी की स्थिति की समीक्षा की। प्रधानमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य देखभाल संसाधनों पर फोकस करने तथा घर-घर जाकर जांच करने और निगरानी बढ़ाये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को समुचित उपकरण तथा संसाधन दिया जाना जरूरी है। इन क्षेत्रों में आसान तथा सरल भाषा में दिशा निर्देशों का प्रसार किये जाने की जरूरत पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि इससे घरों में उपचार करा रहे लोगों को आसानी होगी।

लॉकडाउन: योगी आदित्यनाथ अंतिम फैसला लेंगे

हरिओम उपाध्याय               

लखनऊ। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा या नहीं। इसका फैसला रविवार शाम तक लिए जाने की उम्मीद है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, रविवार शाम होने वाली कैबिनेट बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ अंतिम फैसला लेंगे।

हालांकि माना जा रहा है कि अब तक लॉकडाउन से मिली सफलता को देखते हुए इसे एक सप्ताह और बढ़ाया जा सकता हैं। इससे पहले सरकार ने वीकेंड कोरोना कर्फ्यू को 17 मई सुबह सात बजे तक बढ़ा दिया था। आपको बता दें कि प्रदेश में 30 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लागू है। शुरू में इसे 3 मई तक लागू रहना था, लेकिन बाद में इसकी अवधि 6 मई तक बढ़ा दी गई थी। बाद में इसे और विस्तार देते हुए 10 मई तक कर दिया गया था और जिसे अब बढ़ाकर 17 मई किया गया है। बता दें कि यूपी में 30 अप्रैल के बाद से ही आंशिक कोरोना कर्फ्यू है। इसका असर यह हुआ कि कोरोना के सक्रिय मामलों में 60 हजार की कमी आ गई है। यही नहीं, उत्तर प्रदेश सरकार 18 से 44 साल के लोगों का कोविड वैक्सीनशन कराने के लिए तेजी से काम कर रही है।


गाजियाबाद: 24 घंटे में 527 रिपोर्ट्स पॉजिटिव मिली

अश्वनी उपाध्याय               
गाजियाबाद। राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दैनिक बुलेटिन के अनुसार, जिलें में 24 घंटों की अवधि में 527 कोरोना रिपोर्ट्स पॉज़िटिव आई हैं। आपको यह जानकार आश्चर्य होगा कि विभाग द्वारा कल जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार नए संक्रमितों की संख्या भी 527 ही रही।  हालांकि आज की रिपोर्ट में 898 मरीज डिस्चार्ज और 7 मरीजों की मृत्यु दिखाई गई है। रिपोर्ट के अनुसार, अब गाज़ियाबाद में 4320 सक्रिय संक्रमित हैं।
रिपोर्ट के अनुसार, गौतम बुद्ध नगर में 480 नए संक्रमित मिले हैं। जबकि 1250 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया।  इस अवधि में यहाँ 10 मरीजों की मौत दर्ज की गई और सक्रिय संक्रमितों की संख्या 6850 हो गई है।

वायरस की रोकथाम, 8 दिवसीय महायज्ञ प्रारंभ किया

कौशाम्बी। कोरोना की तीसरी लहर और भी भयावह है। इसकी रोकथाम को लेकर जहां सरकार तमाम प्रयास कर रही है। वहीं आमजन ने भी देश दुनिया को महामारी से मुक्ति दिलाने के लिए धार्मिक अनुष्ठान, यज्ञ, महायज्ञ कर देवी देवताओं को आहूति देना शुरू कर दिया है। शनिवार को कड़ा वासिनी के दरबार में भक्तों ने मृत्यु पर विजय दिलाने वाली देवी तारा की आराधना कर कोरोना से मुक्ति की कामना किया। कड़ा समिति के प्रमुख तीर्थ पुरोहित लालचंद पंडा की अगुवाई में मां शीतला धाम प्रांगण में आठ दिवसीय महायज्ञ का शुभारंभ किया गया। तीर्थ पुरोहित ने कहा कि आदिकाल से संसार समय-समय पर महामारियों से पीडि़त होता आया है। जब मेडिकल साइंस किसी महामारी का इलाज खोजने में कामयाब नहीं होता तो उस समय महामारियों से मुक्ति के लिए  देवी-देवताओं को समर्पित धार्मिक अनुष्ठान,यज्ञ, महायज्ञ से महमारी को नियंत्रण किया जाता था। महामारियों के नियंत्रण के संदर्भ में दुर्गा सप्तशती में मृत्यु पर विजय प्राप्त करने की देवी तारा तथा भय कलह एवं शोक की अधिष्ठात्री देवी मां धूमावती की आराधना का उल्लेख किया गया है। आयोजित यज्ञ में इन्हीं देवियों को प्रसन्न करने के लिए आठ दिवसीय महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। यज्ञ के माध्यम से संपूर्ण संसार को कोरोना वायरस से मुक्ति के लिए माता से मन्नत की जा रही है। कार्यक्रम में तीर्थ पुरोहितं कृपाशंकर पंडा, शिवदर्शन पंडा, गुरुप्रसाद पंडा, कुन्ना, नरेश पंंडा, बादल पंडा दीपचंद मौजूद रहे।
सुशील केसरवानी 

मेहंदी के निधन पर शोक प्रकट, श्रद्धांजलि अर्पित की

बृजेश केसरवानी              
कौशाम्बी। दिव्यांग अधिवक्ता सैय्यद आफताब मेहंदी उर्फ बाबा भाई के पिता मोहम्मद मेहंदी का मंगलवार को उनके पैतृक निवास चमनगंज नगर पंचायत करारी कौशांम्बी में आकस्मिक बीमारी के बाद निधन हो गया। 87 वर्षी के मोहम्मद मेहंदी हमेशा से समाज की सेवा में समर्पित रहे हैं। उन्होंने काफी संघर्ष से समाज में अपना एक मुकाम बनाया था। अपने पोते सज्जाद मेहंदी के साथ हमेशा सामाजिक कार्य में हिस्सा लेते थे और हर तरीके से गरीब की मदद करना उनका उद्देश रहा है।वृद्धाओ के लिए मोहम्मद मेहंदी एक मिसाल थे। उन्होंने इस 87 की उम्र में भी समाज की सेवा करनी नहीं छोड़ी। मंगलवार को करारी कर्बला में उन्हें सुपूर्दे खाक किया गया। निर्बल विकास एवं उत्थान समिति के कार्यकर्ताओं ने उनके निधन पर विनम्र शोक प्रकट करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की।

ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीन की पहली डोज के टीके नहीं

अतुल त्यागी           
हापुड़। जनपद केे गांव वझीलपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लगभग तीन हफ्ते से ताला लगा हुआ है। जिसके कारण दर्जनों गांवों के लोगों को कोविड वैक्सीन की पहली डोज के टीके नहीं लग रहें हैं। राष्ट्रीय सैनिक संस्था के जिला अध्यक्ष ज्ञानेंद्र त्यागी ने बताया, कि उनके गांव वझीलपुर में लगभग पांच दशक पूर्व से स्थापित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर दर्जनों गांवों के लोगों को प्राथमिक उपचार मिल रहा है। करोना महामारी के चलते यहां पर शुरुआती दिनों में कोविड वैक्सीन के पहली डोज के टीके लगाए गए। लेकिन त्रिस्तरीयत पंचायत चुनाव के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ताला लगा हुआ है। जिसके कारण लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है। ज्ञानेंद्र त्यागी ने शासन प्रशासन के अधिकारियों से मांग करते हुए कहा कि अगर गांवों में करोना महामारी ने पर पसार लिए तो हालात जल्दी से काबू में नहीं आ पाएंगे क्योंकि दोमयी, धनौरा, खडखडी, असरा, मुरादपुर, सूदना आदि नजदीकी गांवों में करोना के मरीजों की मौत का आंकड़ा सैकड़ों के पार होने वाला है। सरकार के नुमाइंदों को ग्रामीण क्षेत्रों में कठोर कदम उठाने की जरूरत है।

गाजा में हवाई हमला, 10 लोगों की मौत 30 घायल

गाजा। गाजा में अल-शाती शरणार्थी शिविर में इजरायल की सेना के हवाई हमले में कम से कम आठ लोगों की मौत हो गयी। अल-जजीरा प्रसारक ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी। एक प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक हवाई हमले में 10 लोग मारे गये हैं जबकि 30 अन्य घायल हुए हैं।फिलीस्तीनी विद्रोहियों और इजरायली सेना के बीच गाजा पट्टी सीमा पर सोमवार से संघर्ष जारी है। फिलिस्तीनी आतंकवादियों ने इज़राइल की ओर लगभग 2,000 रॉकेट लॉन्च किए हैं, जबकि इज़राइल हमास इस्लामी आंदोलन के खिलाफ कई जवाबी हमले कर रहा है।

संदिग्ध परिस्थितियों में 217 भेड़ों की मौत, हड़कंप

संदीप मिश्र  
लखनऊ। गाजीपुर के जमानिया कोतवाली क्षेत्र के मलसा गांव में गुरुवार कि देर रात करीब 2 बजे संदिग्ध परिस्थिति में 217 भेड़ों से मरने से गांव में हड़कंप मच गया। गांव सहित आस पास के क्षेत्रों में चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। बड़ी संख्या में भेड़ों कि मौत की सूचना पर तहसील‚ पुलिस एवं पशुपालन विभाग की टीम ने मौका मुआयना किया। अंग परीक्षण के बाद भेड़ों को दफना दिया गया।
मलसा गांव निवासी राघवशरण पाल एवं भैरोनाथ पाल ने बताया कि प्रतिदिन कि भांति बुधवार को भी शाम 4 बजे भेड़ों को चराने के बाद हाते में बंद कर दिया। रात करीब 9 बजे खाना खाने के बाद सो गये। देर रात हाते में कोई चहल पहल नहीं सुनाई दिया। जिसके बाद हाते में जा कर देखा तो एक के ऊपर एक भेड़ मरी पड़ी थी।जिसके बाद वह चिखने चिल्लाने लगा। आस पास के लोग मौके पर पहुंच गये। जिसके बाद मौजूद लोगों ने घटना की सूचना पुलिस एवं तहसील के अधिकारी कर्मचारी को दी। घटना की सूचना पर तहसील प्रशासन के साथ पशुपालन विभाग के अधिकारी कर्मचारी भी मौके पर पहुंच गए। पशुपालन विभाग के डॉक्टर ने भेड़ों का अंग परीक्षण किया। वही अंग परीक्षण के बाद सभी भेड़ों को गड्ढा कर उसमें दफना दिया गया।

इस दौरान तहसीलदार घनश्याम ने ग्रामीणों को समझाया कि यह किसी महामारी के कारण नहीं हुआ है। भेड़ों का परीक्षण डॉक्टर द्वारा किया गया है। डॉक्टरों ने वहां के लोगों को कोविड के नियमों का पालन करने की सलाह दी। इस संबंध में पशु डॉक्टर डॉ. संतोष कुमार ने बताया कि कुल 217 भेड़ मृत पाये गये है। जिसमें से राघवशरण पाल का 170 और भैरोनाथ पाल का 47 भेड़ है। मृत भेड़ो में 58 नर‚ 159 मादा है।

परीक्षण के बाद ज्ञात हुआ कि इन भेंड़ो कि मौत फूड प्वाइजनिंग की वजह से हुई थी। एक दिन पूर्व घर में तिलक था, जिसका बचा हुआ खाना भेड़ो को खिलाया गया था। जिस कारण से फूड प्वाइजनिंग हो गयी थी और भेड़ों कि मौत हुई है। गांव में अफवाह उड़ाया जा रहा है जो ठीक नहीं है। इस अवसर पर निलेश मौर्य‚ राजेन्द्र यादव‚ लेखपाल बेचू राम सहित अन्य दर्जनों लोग मौजूद रहे। एक साथ बड़ी संख्या में भेड़ों के मरने का कारण लोग गंगा के पानी को बताते रहे। लोगों का कहना है कि गंगा का पानी कोरोना की वजह से दूषित हो गया है और इस दूषित पानी को पी कर भेड़ों कि मौत हुई है।

शेफाली को क्रिकेट के सभी प्रारूपों में शामिल किया

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। युवा भारतीय महिला बल्लेबाज शेफाली वर्मा को पहली बार भारतीय महिला वनडे टीम में जगह मिली है। आगामी इंग्लैंड दौरे के लिए उन्हें सभी प्रारूपों (टेस्ट, वनडे, टी-20) में टीम में शामिल किया गया है। वहीं अनुभवी ऑलराउंडर शिखा पांडे और विकेटकीपर बल्लेबाज तानिया भाटिया की भी टीम में वापसी हुई है। दोनों हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू वनडे और टी-20 सीरीज से टीम से बाहर थी।राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने इंग्लैंड दौरे के लिए दो टीमों की घोषणा की है। इकलौते टेस्ट और तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए मिताली राज के नेतृत्व में 18 सदस्यीय टीम बनाई गई है और टी-20 के लिए अलग 17 सदस्यीय टीम घोषित की गई है, जिसकी कमान हरमनप्रीत कौर को दी गई है। 
शेफाली के अलावा अनकैप्ड विकेटकीपर इंद्राणी रॉय ने भी दोनों टीमों में जगह बनाई है, जबकि कोरोना से न उबर पाने के कारण लेग स्पिनर राजेश्वरी गायकवाड़ को ड्राप आउट (छोड़) किया गया है।उल्लेखनीय है कि भारतीय महिला टीम 16 जून को ब्रिस्टल में टेस्ट मैच के साथ अपना अभियान शुरू करेगी। इसके बाद वह तीन वनडे और तीन टी-20 खेलेगी। इस दौरे पर रमेश पोवार दो साल बाद भारतीय महिला टीम के मुख्य कोच के रूप में वापसी करेंगे।

भारत की महिला टेस्ट एवं वनडे टीम: मिताली राज (कप्तान), स्मृति मंधाना, हरमनप्रीत कौर (उप कप्तान), पूनम राउत, प्रिया पूनिया, दीप्ति शर्मा, जेमिमाह रोड्रिग्स, शेफाली वर्मा, स्नेह राणा, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), इंद्राणी रॉय (विकेटकीपर), झूलन गोस्वामी, शिखा पांडे, पूजा वस्त्रकर, अरुंधति रेड्डी , पूनम यादव, एकता बिष्ट, राधा यादव।

भारत की महिला टी-20 टीम: हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना, दीप्ति शर्मा, जेमिमाह रोड्रिग्स, शेफाली वर्मा, ऋचा घोष, हरलीन देओल, स्नेह राणा, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), इंद्राणी रॉय (विकेटकीपर), शिखा पांडे, पूजा वस्त्रकर, अरुंधति रेड्डी, पूनम यादव, एकता बिष्ट, राधा यादव, सिमरन दिल बहादुर।

सबसे ज्यादा देखी जाने वाली फिल्म बनाया: शुक्रिया

कविता गर्ग   

मुंबई। बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान अपनी फिल्म ‘राधे: योर मोस्ट वांटेड भाई’ को मिल रही सराहना से खुश हैं। प्रभुदेवा के निर्देशन में बनीं सलमान ख़ान की फिल्म ‘राधे योर मोस्ट वांटेड भाई’ ईद के अवसर पर रिलीज हो गयी है। ‘राधे: योर मोस्ट वांटेड भाई में सलमान खान के साथ दिशा पटानी, रणदीप हुड्डा और जैकी श्रॉफ भी प्रमुख भूमिकाओं में हैं। फिल्म को काफी ज्यादा पसंद भी किया जा रहा है।

राधे को इतना ज्यादा प्यार मिलता देख सलमान खान ने भी फैन्स के लिए एक प्यारा सा नोट शेयर किया है। सलमान ने ट्विटर पोस्ट शेयर किया है। सलमान ने लिखा, “पहले तो ईद की ढेर सारी शुभकामनाएं और मेरी फिल्म राधे को इतना ज्यादा प्यार देने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद। फिल्म इंडस्ट्री आपके प्यार और समर्थन पर ही कायम है। आपका बहुत-बहुत शुक्रिया कि आप लोगों ने इस फिल्म को पहले ही दिन सबसे ज्यादा देखी जाने वाली फिल्म बना दिया है।”

जिलों में 200-200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक बनेगें

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज से दिल्ली में कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक शुरू करने की घोषणा की है जिसके तहत होम आइसोलेशन के जरूरतमंद मरीजों की मांग पर दो घंटे में उनके घर यह ऑक्सीजन कंसंट्रेटर निशुल्क पहुंचाया जाएगा। केजरीवाल ने कहा कि अगर कोरोना मरीज को समय पर ऑक्सीजन दे दी जाए, तो उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने से बचाई जा सकती है। इसी के मद्देनजर सभी जिलों में 200-200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक बनाया गया है। चिकित्सकों की टीम होम आइसोलेशन के जरूरतमंद मरीजों की मांग पर दो घंटे में उनके घर यह निःशुल्क ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पहुंचाएगी। अस्पताल से ठीक होकर घर लौटे जिन मरीजों को डाॅक्टर ने ऑक्सीजन लेने की सलाह दी है, उन्हें भी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दिया जाएगा। साथ ही, जो अभी होम आइसोलेशन का हिस्सा नहीं हैं, वे भी 1031 पर काॅल कर इसका हिस्सा बनकर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की मांग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि डॉक्टर्स की टीम पहले यह सुनिश्चित करेगी कि क्या आपको वाकई ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की जरूरत है भी या नहीं, तभी भिजवाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज कोरोना के और भी कम मामले आए हैं। पिछले 24 घंटे में दिल्ली में करीब 6,500 केस आए हैं, जबकि कल 8,500 केस आए थे। पिछले 24 घंटे में संक्रमण दर और भी कम हो गई है। अब संक्रमण दर गिर कर 11 फीसद हो गई है, जबकि कल संक्रमण दर 12 फीसद थी। दिल्ली में धीरे-धीरे कोरोना कम हो रहा है। भगवान से यही प्रार्थना है कि इसी तरह से कम होते-होते पूरी तरह से खत्म हो जाए और फिर से न बढ़े, लेकिन हम अपने काम में किसी भी तरह से ढिलाई नहीं कर रहे हैं।

पूरा जीवन बिना पानी के आसानी से रहता है चूहा

दुनिया में एक ऐसा विचित्र जंतु भी है, जिसको अपने पूरे जीवन पानी की जरूरत नहीं होगी। उसे कंगारू रैट भी कहा जाता है। ये चूहे और कंगारू का मिला-जुला रूप होता है। छलांग लगाता है, तेजी से भागता है लेकिन बगैर पानी के आराम से रह सकता है। सभी पेड़-पौधों और जीव-जंतुओं की जिंदा रहने के लिए पानी की जरूरत होती है। क्या आप सोच सकते हैं कि कोई जंतु ऐसा भी होगा, जो जिंदगीभर बगैर पानी पिये रह सकता है लेकिन एक ऐसा विचित्र जंतु जरूर जो ऐसा कर सकता है। शायद वो दुनिया में इस तरह का अकेला जंतु होगा। ये विचित्र जंतु उत्तरी अमेरिका के रेगिस्तानों में मिलता है। इसे कंगारू रैट कहते हैं। इसकी टांगें और पूंछ आस्ट्रेलिया में पाए जाने वाले कंगारू से मिलती जुलती है। इसके गालों के बाहर की ओर थैलियों भी होती हैं। इन थैलियों में ये खाने का सामान लाता है। फिर इसे अपने बिलों में इकट्ठा करता है। इसकी इसी हरकत और शारीरिक थैली के कारण इसे कंगारू की तरह माना जाता है और इसका नाम कंगारू रैट रखा गया। ये कंगारू की तरह ही लंबी छलांगें लगाता है। रेगिस्तान में उगने वाले कैक्टस के पौधों को आसानी से कूदकर पार कर सकता है। 
कगारू रैट रेगिस्तानी जीवन का एक खास हिस्सा होता है। ये बेशक पानी नहीं पीता लेकिन इसके शरीर में पानी की मात्रा ज्यादा होने के कारण दूसरे जानवर इसे खा जाते हैं। ये बहुत तेजी से भाग सकता है। ये एक सेकेंड में 06 मीटर की दूरी पार कर लेता है। ये अपने दुश्मनों से बचने के लिए भागते समय खूब तेजी दिखाता है और लंबी पूंछ का इस्तेमाल लगाने और हवा में दिशा बदलने के लिए करता है। कंगारू रैट छलागें मारते हुए चलते हैं और इनकी छलांगे इतनी सही होती हैं कि बड़ी छलांग भी लगा लेते हैं। अब सवाल ये उठता है कि वो बगैर पानी पीये कैसे जिंदा रह लेता है। वैसे ये बात सही है कि रेगिस्तान में वही जीव जंतु और पेड़-पौधे बचे रहते हैं, जिन्हें कम पानी की जरूरत होती है।
इस चूहे को पानी की बहुत कम जरूरत होती है या नहीं होती है। ये अपनी पानी की जरूरत को रेगिस्तान में उगने वाले पेड़-पौधों की जड़ों को खाकर पूरी कर लेता है। पेड़-पौधों में की जड़ों में कुछ ना कुछ नमी जरूर होती है। इसका गुर्दा इतना मजबूत और अच्छा काम करने वाला होता है कि वो इस नमी से ही शरीर के पानी की जरूरत को पूरा कर लेता है। पानी की यही नमी उसको जिंदा रखने के लिए काफी होती है। इन्हीं जड़ों से वो अपने भोजन की जरूरत भी पूरी कर लेता है।

नाबालिक बेटी और उसके प्रेमी को कुल्हाड़ी से काटा

सुनील पुरी   
कानपुर। कानपुर नगर के थाना घाटमपुर क्षेत्र के विराहींपुर गांव में एक पिता ने झूठी शान में अपनी नाबालिक पुत्री और उसके नाबालिक प्रेमी की कुल्हाड़ी से काटकर निर्मम हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी पिता मौके से फरार हो गया जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एसपी आउटर सहित आला अफसर घटनास्थल पर पहुंचे और स्थितियों का जायजा लिया। दोहरे हत्याकांड से इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया,,वहीं तनाव को देखते हुए गांव में भारी पुलिस बल को तैनात किया गया हैं। 
विराहींपुर गांव निवासी शिव आसरे की 16 वर्षीय पुत्री सपना  का गांव के ही 15 वर्षीय शालू उर्फ कल्लू से प्रेम प्रसंग चल रहा था। कल्लू शुक्रवार देर रात सपना से मिलने उसके घर गया था उसी दौरान आरोपी पिता शिव आसरे ने उनको देख लिया और रात भर उनको कमरे में बंद करके पीटने के बाद सुबह कुल्हाड़ी से काटकर अपनी बेटी और उसके प्रेमी की निर्मम हत्या कर दी। 
बताया जा रहा हैं कि दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे और शादी करना चाहते थे और दोनों परिवारों की रजामंदी से एक-दूसरे से साथ फेरे लेना चाहते थे। बेटी सपना और कल्लू  दोनो ने रामआसरे को यह बात समझाने का प्रयास किया लेकिन उन प्रेमी युगल की समझाने की तमाम कोशिश बेकार हो गई और इन बातों को सुनकर आगबबूला आरोपी पिता ने कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ से हमला कर पहले शालू उर्फ कल्लू को मौत के घाट उतार दिया। इससे भी आरोपी पिता का गुस्सा शांत नहीं हुआ और उसने बेटी सपना पर कुल्हाड़ी से वार कर उसे भी मौत के घाट उतार दिया।

जजपा विधायक का विधानसभा में जोरदार विरोध

राणा ओबरॉय 
कुरुक्षेत्र। कृषि कानूनों को लेकर सरकार के मंत्रियों, भारतीय जनता पार्टी, जननायक जनता पार्टी के नेताओं का विरोध किसानों द्वारा लंबे समय से किया जा रहा है। ताजा मामले की बात करें तो जननायक जनता पार्टी के शाहबाद से विधायक रामकरण काला का किसानों ने गांव यारी में जबरदस्त विरोध किया है। नौबत यह बनी कि जजपा विधायक का विरोध करने वाले किसानों ने विधायक को धक्का दे दिया। किसानों के इस भारी विरोध में पुलिस ने हस्तक्षेप करते हुए विधायक को लोगों से बचाकर उन्हें सुरक्षित स्थान पर ले गई।
घटना कुरुक्षेत्र जिले के शाहाबाद विधानसभा की है, जब यहां के जजपा विधायक रामकरण काला को गांव यारी में किसानों के विरोध का भारी सामना करना पड़ा।दरअसल, गांव यारी में एक बैटरी सिक्का फैक्ट्री है। ग्रामीणों का आरोप है कि फैक्ट्री मालिक द्वारा फैक्ट्री परिसर में ही कई ट्यूबवेल लगाकर बैटरी सिक्का को साफ करने के केमिकल को जमीन में उतारा जा रहा है।ऐसे में आस-पास के क्षेत्र में धरती का पानी दूषित हो गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि इस केमिकल के कारण क्षेत्र में धरती का पानी इतना दूषित हो गया है कि पीने के लायक भी नहीं रहा।
शुक्रवार को शुगर फैड के चेयरमैन व शाहाबाद के जजपा विधायक रामकरण काला दोनों पक्षों के बीच की बात करने के लिए गांव में आए थे। जैसे ही रामकरण काला गांव में पहुंचे तो ग्रामीण व किसानों ने विधायक का विरोध कर दिया।विरोध इतना बढ़ गया कि ग्रामीणों ने विधायक को धक्के भी मारे। ऐसे में मौके पर मौजूद शाहाबाद पुलिस ने मशक्कत के बाद विधायक को ग्रामीणों के बीच से निकालकर गाड़ी में बिठाकर रवाना किया।

शुभ मुहूर्त व विधि-विधान से खुले गंगोत्री के कपाट

पंकज कपूर   

गंगोत्री ( उत्तरकाशी)/ रूद्रप्रयाग/ जोशीमठ। श्री गंगोत्री धाम के कपाट आज विधिविधान पूर्वक शनिवार बैशाख शुक्ल तृतीया के शुभ मुहुर्त पर प्रात: 7 बजकर 31 मिनट पर खुल गये हैं। कल मां गंगा की भोग मूर्ति भैरों घाटी पहुंची थी आज प्रात: चार बजे मां गंगा की डोली ने गंगोत्री धाम के लिए प्रस्थान किया। इस अवसर पर मां गंगा की आरती हुई तथा जनकल्याण की कामना की गयी

श्री गंगोत्री के कपाट खुलने पर प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत तथा पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बधाई दी है।कहा है कि कोरोना महामारी के कारण चारधाम यात्रा स्थगित है स्थितियां सामान्य होने पर चारधाम यात्रा शुरू हो सकेगी। श्रद्वालुजन अपने घरों में पूजा-अर्चना करें। उल्लेखनीय है कि चारधाम यात्रा स्थगित होने के कारण धामों के कपाट सांकेतिक रूप से खुल रहे है। केवल पूजा परंपरा से जुड़े लोगों को ही धामों में जाने की अनुमति है। धामों में पूजा- अर्चना विधिवत रूप से चलती रहेगी।

कपाट खुलने के दौरान कोरोना बचाव मानकों का पालन किया गया। इस अवसर पर श्री गंगोत्ररी मंदिर समिति अध्यक्ष सुरेश सेमवाल,सचिव दीपक सेमवाल, राजेश सेमवाल, उपजिलाधिकारी भटवाड़ी देवेन्द्र सिंह नेगी,उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के विशेष कार्याधिकारी/ प्रभारी अधिकारी गंगोत्ररी धाम राकेश सेमवाल, अरविंद सिंह नेगी, कल्याण सिंह नेगी आदि मौजूद रहे।
उल्लैखनीय है कि कल दोपहर में श्री यमुनोत्तरी धाम के कपाट खुल गये है।‌ तथा 17 मई सोमवार को 5 बजे श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलेंगे। आज श्री केदारनाथ भगवान की पंचमुखी डोली केदारनाथ पहुंचेगी।देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी सिंह डोली के साथ चल रहे हैं। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 18 मई मंगलवार प्रात: 4 बजकर 15 मिनट पर खुल रहे हैं। जबकि द्वितीय केदार मदमहेश्वर जी के कपाट 24 मई तथा तृतीय केदार तुंगनाथ जी तथा चतुर्थ केदार रूद्रनाथ जी के कपाट 17 मई को खुल रहे है। श्री हेमकुंड साहिब एवं श्री लक्ष्मण मंदिर के कपाट खुलने की तिथि अभी निश्चित नहीं हुई है।

स्वास्थ्य कर्मियों की मौत पर सरकार देगी 50 लाख

राणा ओबरॉय  
चंडीगढ़। स्वास्थ्य एंव गृहमंत्री अनिल विज ने कोरोना महामारी में कोरोना के मरीजों की कोरोना वॉरियर्स बनकर चौबीसों घंटे काम करने वाले पुलिस कर्मियों और मेडिकल स्टाफ के लिए बड़ी घोषणा की है। स्वास्थ्य एंव गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि जो मेडिकल स्टाफ कोरोना वॉरियर्स बन कर कोरोना मरीजों की  देखरेख कर रहे हैं और देखरेख करते के दौरान संक्रमित होने और बाद में मेडिकल स्टाफ की जान जाती है तो सरकार ने 50 लाख देने की घोषणा की हुई है। इसी प्रकार से बहुत सारे पुलिस कर्मचारियों की जान गई है, उनको 30 लाख देने सरकार ने घोषणा की हुई है। स्वास्थ्य एंव गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि कोरोना के दौरान कई कोरोना वॉरियर्स की मौत हो गई है, जिस पर हम अपनी संवेदना प्रकट करते हैं। विज ने कहा कि कोरोना वॉरियर्स की कुर्बानी को लेकर कहा कि, उसकी कोई कीमत अदा नहीं नहीं की जा सकती। अनिल विज ने कहा कि ऐसे समय मे जब कोई कोरोना मरीज के पास तक जाना नहीं चाहते हैं, मेडिकल स्टाफ कोरोना वॉरियर्स बन कर उनकी देखरेख कर रहे हैं।
दिल्ली बॉर्डर के साथ लगते गांवों मे कोरोना के संक्रमण के फैलने को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि सभी गांवों के लिए हमने व्यापक योजना तैयार की है। सभी गांवों मे हम कोरोना केयर सेंटर बना रहे हैं और बकायदा टीमें भी गठित की गई हैं। पांच-पांच लोगों की टीम बनाई है जो घर-घर जाकर लोगों की जांच करेगी। अगर किसी मे कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं, तो उसका बाकायदा टेस्ट किया जाएगा, साथ ही जैसी उसकी बीमारी का स्तर होगा उस हिसाब से उसका उपचार किया जाएगा। अनिल विज ने कहा कि कोरोना की जांच और इलाज के लिए गांव के लोग तो तैयार हैं, गांव मे किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आ रही है। उन्होंने कहा कि दिक्कत केवल वहां आ रही है, जहां-जहां पर हरियाणा के बॉर्डर पर लोग बैठे हुए हैं।विज ने बताया कि उन्होंने जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमें भी भेजी गईं थी और राई रेस्ट हाउस मे किसान नेताओं की अधिकारियों के साथ मीटिंग करवाई थी, जिसमे उन्होंने टैस्ट कराने से साफ इनकार कर दिया और वैक्सीनेशन के लिए भी उन्होंने यह कहा कि स्वास्थ्य विभाग कैंप लगा दे, लेकिन हम किसी को वैक्सीनेशन के लिए नहीं कहेंगे। अगर कोई वैक्सीनेशन कराना चाहता है तो अपनी इच्छा से करवा सकता है।
गृहमंत्री ने बॉर्डर पर बैठे किसानों से दोबारा से अपील करते हुए कहा कि यह बीमारी है और एक-दूसरे के संपर्क मे आने से फैलती है। इससे स्वयं के खतरा है और दूसरे की जिंदगी भी खतरे मे पड़ती है। इसलिए उनको टैस्ट करवाने चाहिए। वैक्सिन की पहली डोज लगने के बाद दूसरी डोज लगने मे हो रही देरी पर प्रतिक्रिया देते हुए स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि सरकार ने इसका समय बढ़ा दिया है। अनिल विज ने कहा कि शुरू मे जब ये कोविशील्ड बनी थी तो तब भी उन्होंने कहा कि इसकी बूस्टर डोज जितने ज्यादा दिन के बाद लगाई जाएगी, उतना इसका प्रभाव ज्यादा होगा, तो अब आईसीएमआर ने फैसला लिया है कि लगभग 6 हफ्ते बाद दूसरी डोज लगाई जा सकती है।

हद: महिला को थूक कर चाटने का फरमान सुनाया

कविता गर्ग   

मुंबई। महाराष्ट्र के अकोला जिले में एक जाति पंचायत ने एक महिला को दूसरी शादी करने पर थूक कर चाटने व एक लाख रुपये जुर्माना भरने की सजा सुनाई। महिला द्वारा हिम्मत कर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराने पर पंचायत के 10 लोगों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया है। पंचायत के तानाशाही फरमान की शिकार बनी महिला का पहला विवाह 2011 में अकोला में हुआ था। पहले पति से 2015 में उसका तलाक हो जाने के चार साल बाद 2019 में उसने दूसरा विवाह जलगांव जिले में कर लिया। नाथ-जोगी संप्रदाय की उक्त महिला का दूसरा विवाह करना उसकी जाति पंचायत को रास नहीं आया। जाति पंचायत ने अकोला में उक्त महिला की बहन व उसके कुछ और रिश्तेदारों को बुलाकर फरमान सुनाया कि दूसरा विवाह करने वाली महिला को एक लाख रुपये जुर्माना अदा करने व पंचायत के सामने थूक कर चाटने के बाद ही उसकी जाति में वापस लिया जाएगा

पंचायत ने यह फरमान पिछले माह नौ अप्रैल को सुनाया था। यह बात जब जलगांव में रह रही भुक्तभोगी महिला को पता चली, तो उसने हिम्मत जुटाकर जाति पंचायत के 10 लोगों के विरुद्ध जलगांव के ही चोपड़ा पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज करा दी। जलगांव के एसएसपी प्रवीण मुंडे के अनुसार, पुलिस ने महाराष्ट्र प्रोटेक्शन आफ पीपुल फ्राम सोशल बायकाट (प्रिवेंशन, प्राहिबिशन एवं रीड्रेशल) एक्ट की धारा पांच व छह के तहत मामला दर्ज किया है। जलगांव पुलिस ने जांच के लिए यह मामला अकोला के पिंजर पुलिस थाने को स्थानांतरित कर दिया है

गौरतलब है कि मार्च, 2021 में बॉम्बे हाईकोर्ट ने दूसरी शादी की वैधता के सिलसिले में एक बड़ा फैसला दिया। अदालत ने अपने फैसले में कहा है कि एक बेटी अपने पिता की दूसरी शादी की वैधता को अदालत में चुनौती दे सकती है। जस्टिस आरडी धनुका और जस्टिस वीजी बिष्ट की पीठ ने अपने फैसले में 66 वर्षीय महिला की याचिका स्वीकार कर ली जिसमें परिवार अदालत के एक आदेश को चुनौती दी गई है। दरअसल याचिकाकर्ता महिला ने अपने पिता (दिवंगत) की दूसरी शादी की वैधता को चुनौती देते हुए साल 2016 में परिवार अदालत में एक याचिका दाखिल की थी। महिला ने याचिका में दलील दी थी कि उसके पिता ने उसकी मां की साल 2003 में मृत्यु हो जाने के बाद दूसरी शादी कर ली थी लेकिन पिता की मृत्यु के बाद साल 2016 में उसे पता चला कि उसकी सौतेली मां ने अपनी पिछली शादी से तलाक नहीं लिया था।

फंगल संक्रमण म्यूकरमाइकोसिस से 52 की मौत

कविता गर्ग   
मुंबई। महाराष्ट्र में पिछले साल कोविड-19 फैलने के बाद से अब तक दुर्लभ और गंभीर फंगल संक्रमण म्यूकरमाइकोसिस से 52 लोगों की मौत हो गई है। म्यूकरमाइकोसिस को ब्लैक फंगस के नाम से भी जाना जाता है। कोरोना वायरस से स्वस्थ हो रहे और स्वस्थ हो चुके कुछ मरीजों में यह बीमारी पायी गई है जिससे बाद यह चर्चा का विषय बन गयी है। इस बीमारी के मरीजों में सिर में दर्द, बुखार, आखों में दर्द, नाक में संक्रमण और आंशिक रूप से दृष्टिबाधित होने जैसे लक्षण देखे जा रहे हैं। पिछले साल कोविड-19 शुरु होने के बाद से अब तक म्यूकरमाइकोसिस से महाराष्ट्र में 52 लोगों की मौत हो गई है। इनमें से सभी कोविड-19 से स्वस्थ हो गए थे लेकिन ब्लैक फंगस के कारण इनकी मौत हो गई। 

वायरस के खिलाफ जंग में 5 अन्य वैक्सीन: भारत

सुनील श्रीवास्तव  
नई दिल्ली। कोरोना वायरस के खिलाफ अब देश निर्णायक लड़ाई लडने के मूड में आ गया है। भारत इस साल दिसंबर तक देश में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में करीब 2 अरब से अधिक वैक्सीन की खुराकें उपलब्ध होने की उम्मीद कर रहा है। देश में भले ही अभी 2 वैक्सीन से टीकारण अभियान चल रहा है, मगर सीरम की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के अलावा आने वाले कुछ समय में और भी वैक्सीन उपलब्ध हो जाएंगी, जिस पर फिलहाल काम चल रहा है। सरकार ने 8 वैक्सीन की संभावित लिस्ट पेश की है, जिसमें कोविशील्ड, कोवैक्सीन और स्पूतनिक-वी (अगले सप्ताह से उपलब्ध) भी शामिल हैं और इनसे ही देश में टीकाकरण चल रहा है। वी.के. पॉल के मुताबिक, अगस्त से दिसम्बर तक टीके की 216 करोड़ खुराक का उत्पादन होने का अनुमान है, जिसमें से कोविशील्ड की 75 करोड़ खुराक जबकि कोवैक्सीन की 55 करोड़ खुराक शामिल होगी। इसके अलावा, बायोलॉजिकल ई द्वारा 30 करोड़ खुराक, जायड्स कैडिला 5 करोड़, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा नोवावैक्स की 20 करोड़ खुराक और भारत बायोटेक द्वारा उसकी नेजल वैक्सीन की 10 करोड़ खुराकें जबकि जेनोवा 6 करोड़ खुराक और स्पूतनिक ङ्क 15.6 करोड़ खुराक उपलब्ध कराएगी।
नीति आयोग के सदस्य वी के पॉल ने कहा कि रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी अगले सप्ताह भारत के बाजारों में उपलब्ध हो जाएगी। सरकार आने वाले समय में इन तीन वैक्सीन के अलावा जिन पांच वैक्सीन के तैयार होने की उम्मीद कर रही है, उनमें से चार वैक्सीन मेड इन इंडिया है। 
बायोलॉजिकल ई सबयूनिट वैक्सीन रू यह एक सबयूनिट वैक्सीन है जो परीक्षण के तीसरे चरण में है। इस वैक्सीन को पहले और दूसरे चरण के ट्रायल में सुरक्षित पाया गया है। सरकार इस वैक्सीन को लेकर काफी आशान्वित है। केंद्र को अगस्त से दिसंबर के बीच इस टीके की 30 करोड़ खुराक मिलने की उम्मीद है, बशर्ते उसे इसकी अनुमति मिल जाए।
जायड्स कैडिला डीएनए वैक्सीन रू जायड्स कैडिला की यह वैक्सीन अपने तीसरे चरण के ट्रायल में है और कंपनी जल्द ही इसके लाइसेंस के लिए भारत में अप्लाई करेगी। यह तीन खुराकों वाली वैक्सीन है। सरकार को दिसंबर तक जायड्स कैडिला वैक्सीन की 5 करोड़ खुराक मिलने की उम्मीद है।
नोवावैक्स अथवा कोवावैक्स रू कोविशील्ड बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ही इस वैक्सीन का भारत में उत्पादन करेगी। इस वैक्सीन को अमेरिकी कंपनी नोवावैक्स ने विकसित किया है। 
भारत बायोटेक की नेजल वैक्सीन रू भारत बायोटेक नाक से दी जाने वाली नेजल वैक्सीन पर काम कर रही है। यह वैक्सीन एक खुराक की होगी और सूई मुक्त होगी, जिसे भारत बायोटेक विकसित कर रहा है। फिलहाल, इस वैक्सीन के पहले और दूसरे चरण का ट्रायल हो रहा है। वीके पॉल ने कहा कि कंपनी ने काम करना शुरू कर दिया है और डेटा भी कंपनी से आया है। जेनोवा एमआरएनए वैक्सीन : पुणे की जेनोवा बायोफार्मास्युटिकल्स कंपनी यह मैसेंजर आरएनए वैक्सीन को विकसित कर रही है। 

24 घंटे में 312 मौत, 15747 नए संक्रमित मिले

संदीप मिश्र   
लखनऊ। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर ने उत्तर प्रदेश में काफी कहर बरपाया है। मार्च के अंतिम हफ्ते से तेजी पकडऩे वाले इसके कहर ने अप्रैल के अंतिम सप्ताह तक प्रदेश को काफी भयभीत किया। अब नए संक्रमित भले ही कम मिल रहे हैं, लेकिन मृतकों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।
प्रदेश में बीते 24 घंटे में 15747 नए संक्रमित मिले हैं। इस दौरान 312 लोगों ने कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया है। बीते 24 घंटे में जहां 15747 लोग संक्रमित हुए हैं, वहीं 26,179 लोग इसके संक्रमण से भी उबरे हैं। प्रदेश में अब तक कोरोना के कहर के कारण 16,957 लोगों की मौत हुई है। उत्तर प्रदेश में कुल एक्टिव केस भी दो लाख के नीचे आ गए हैं। पहले यह चार लाख के करीब पहुंचे थे। अब एक्टिव केस एक लाख 93,815 हैं। कल प्रदेश में 2,63,118 सैंपल्स की जांच की गई। अब तक प्रदेश में कुल 4,41,70,466 सैंपल्स की जांच की गई है। रिकवरी रेट 86.8% है।राजधानी लखनऊ में नए संक्रमित लगातार कम होते जा रहे हैं, अब मेरठ प्रदेश में नम्बर एक पर आ गया है। बीते 24 घंटे में मेरठ में सर्वाधिक 1464 संक्रमित मिले हैं, जबकि 15 लोगों की मौत हो गई है। लखनऊ में 900 नए संक्रमित मिलें हैं तो 21 लोगों ने दम तोड़ा है। कानपुर में भले ही संक्रमितों की संख्या लगातार तेजी से घट रही है, लेकिन मौत के आंकड़े काफी बढ़े हैं। आज 20 लोगों की मृत्यु हो गई है। यहां पर 344 नए संक्रमित मिले हैं। गौतमबुद्धनगर में 718 नए संक्रमित सामने आए हैं तो दस लोगों ने दम तोड़ा है। झांसी में मौत का सिलसिला बढ़ता ही जा रहा है। यहां पर 213 संक्रमित मिले हैं तो 13 की मौत हो गई है। 
गोरखपुर में 567 और गाजियाबाद में 527 नए संक्रमित मिले हैं।प्रदेश के छोटे जिलों में मौत का ग्राफ बढ़ रहा है। चंदौली में बीते 24 घंटे में 14, बहराइच में 16 और हरदोई और मथुरा में दस-दस लोगों की मौत हो गई है। हरदोई में तो सिर्फ 59 नए केस मिले हैं जबकि बहराइच में 119, चंदौली में 118 और मथुरा में 463 नए संक्रमित मिले हैं। वाराणसी में स्थिति में काफी तेजी से सुधार हुआ है। यहां पर 587 नए संक्रमित मिले हैं, जबकि 12 की मौत हुई है।अब तक कुल मिलाकर 1,13,82,604 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़ दी गई है और 30,54,258 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज़ लगाई गई है। अगले सोमवार (17 मई) से 10-44 आयु वर्ग का वैक्सीनेशन अभियान 23 जनपदों में चलाया जाएगा। प्रदेश में ऑक्सीजन सप्लाई को लगातार बढ़ाया जा रहा है। वातावरण से ऑक्सीजन बनाने के प्लांट लगाने का कार्य किया जा रहा है। प्रदेश में 377 अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लाने की कार्य तेजी से चल रहा है, 15 अस्पतालों में प्लांट शुरू भी हो गए।

जेल में गैंगवार हत्याकांड,योगी ने सख्त कार्रवाई की

विनोद मिश्रा
बांदा। चित्रकूट धाम मंडल के चित्रकूट जिला कारागार में शुक्रवार सुबह गैंगवार के दौरान हुए हत्याकांड में उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। जेल में दो बंदियों की हत्या और पुलिस की जवाबी फायरिंग में अपराधी अंशू दीक्षित के मारे जाने के मामले में जेल अधिकारियों व कर्मियों की लापरवाही सामने आई है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर चित्रकूट जेल के अधीक्षक एसपी त्रिपाठी व जेलर महेंद्र पाल समेत पांच कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। डीजी जेल आनन्द कुमार ने इसकी पुष्टि की है।

चित्रकूट जेल में हुई जघन्य घटना में सुरक्षा बंदोबस्त में बड़ी लापरवाही सामने आई है। अधिकारियों का कहना है कि जेल में पिस्टल कैसे पहुंची, यह अभी पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो सका है। घटना की न्यायिक जांच होगी, जिसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। घटना में चित्रकूट पुलिस एफआइआर दर्ज कर रही है। पुलिस विवेचना में कई तथ्य पूरी तरह से स्पष्ट हो सकेंगे।निलंबित किए गए कर्मियों में जेल के हेड वार्डर के अलावा सुरक्षा-व्यवस्था में तैनात पीएसी का एक सिपाही भी है। डीजी जेल आनन्द कुमार का कहना है कि सभी बिंदुओं पर जांच कराई जा रही है।

कोरोना का कहर के साथ चक्रवात तूफान का खतरा

हरिओम उपाध्याय  
नई दिल्ली। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने पांच राज्यों में चक्रवाती तूफान को लेकर अलर्ट जारी किया है। वहीं, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने अरब सागर में बन रहे चक्रवात 'तौकते' से निपटने के लिए 53 दलों को तैयार किया है। इन दलों को पांचों राज्यों केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में तैनात किया जा रहा है। उधर, आईएमडी ने यह भी कहा है कि 17 मई को तौकते के अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। मौसम स्थिति गहरे दबाव के क्षेत्र में तब्दील हो गई है। इसके शनिवार सुबह तक चक्रवाती तूफान तौकते में तब्दील होने की संभावना है। रात तक अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। आईएमडी के चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने कहा कि 16 से 19 मई के बीच पूरी संभावना है कि यह 150-160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवा के साथ एक अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होगा। हवा की रफ्तार बीच-बीच में 175 किलोमीटर प्रति घंटा भी हो सकती है। मौसम विभाग ने कहा कि लक्षद्वीप में 15 मई को कहीं-कहीं अत्यंत भारी बारिश होगी।
केरल में गुरुवार रात से ही हो रही लगातार बारिश
केरल के विभिन्न इलाकों में गुरुवार रात से ही लगातार बारिश हो रही है। राज्य सरकार ने लोगों के लिए राहत शिविर शुरू किए हैं। निचले इलाकों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। तिरुवनंतपुरम में अरुविक्कारा बांध में पानी के तेज बहाव के कारण बांध के फाटक गुरुवार रात को खोल दिए गए। लगातार बारिश के कारण करमना और किल्ली नदियों में जलस्तर उफान पर है। अधिकारियों ने बताया कि इन नदियों के किनारे निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को एहतियात के तौर पर सुरक्षित स्थानों और राहत शिविरों में पहुंचाया जा रहा है। रात भर हुई बारिश के चलते दक्षिणी कोल्लम जिला के कई हिस्से जलमग्न हो गए। तटीय कोल्लम, अलप्पुझा और एर्णाकुलम जिलों में गुरुवार रात समुद्र में तेज लहरें उठने के कारण कई मकानों को नुकसान पहुंचा है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की कमांडेंट रेखा नांबियार ने बताया कि एहतियात के तौर पर एनडीआरएफ की नौ टीमें केरल भेजी गई हैं। भू राजस्व आयुक्तालय ने बताया कि कुल 87 लोगों को तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, इडुक्की और एर्णाकुलम में खोले गए चार राहत शिविरों में भेजा गया है।एनडीआरएफ ने पांच राज्यों के लिए 53 दल तैयार किए
राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने अरब सागर में बन रहे चक्रवात तौकते से निपटने के लिए 53 दलों को तैयार किया है। एनडीआरएफ के महानिदेशक एस एन प्रधान ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में इन दलों को तैनात किया जा रहा है। इन 53 दलों में से 24 दलों को पहले ही तैनात कर दिया गया है, जबकि शेष को तैयार रहने को कहा गया है। आईएमडी ने बताया कि यह तूफान 18 मई की शाम तक गुजरात तट के नजदीक पहुंच सकता है। इस चक्रवात को तौकते नाम म्यांमार ने दिया है। यह भारतीय तट पर इस साल पहला चक्रवाती तूफान होगा।
महाराष्ट्र के रायगढ़ तट पर लौटीं 142 नौकाएं
मुंबई और कोंकण क्षेत्र में चक्रवाती तूफान आने की चेतावनी के बीच मछली पकड़ने वाली 142 नौकाएं तट पर लौट आईं। रायगढ़ के मत्स्य पालन विभाग के सहायक आयुक्त सुरेश भारती ने बताया कि 40 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है। मौसम संबंधी परामर्श के बाद विभाग ने मछुआरों को तट पर लौटने की सलाह दी थी। अलीबाग, मुरुद और उरण तालुक से मछली पकड़ने वाली 142 नौकाएं शुक्रवार सुबह तट पर लौट आईं। आईएमडी ने कहा कि रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों में रविवार और सोमवार को भारी बारिश होने की संभावना है। वहीं मुंबई, ठाणे और रायगढ़ में सोमवार को बारिश होगी। रायगढ़ में शनिवार को तेज हवा चलने के साथ बारिश का अनुमान है।

डेढ़ साल से बेड़ियों में जकड़ कर रखा हत्यारा हाथी

संदीप मिश्र  

वाराणसी। करीब डेढ़ साल से ज्यादा वक्त से बेड़ियों में जकड़े हाथी मिठ्ठू की पैरोल पर रिहाई की उम्मीद जगी है। ये पहल खुद वाराणसी के पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने एक ट्वीट पर की है। तस्वीर में दिख रहे इस हाथी का नाम है मिठ्ठू। मिठ्ठू पर 302 यानी हत्या का मुकदमा दर्ज है। मिठ्ठू बीते डेढ़ साल से ज्यादा समय से इसी तरह बेड़ियों में जकड़ा हुआ है।

मिठ्ठू बीते डेढ़ साल से ज्यादा समय से इसी तरह बेड़ियों में जकड़ा हुआ है। जानकार और रामनगर वन्यजीव संरक्षण से जुड़े आसपास के लोग बताते हैं कि मिठ्ठू डेढ़ साल से खड़ा है, बैठा नहीं है। मिठ्ठू के इस दर्द को किसी ने ट्वीट के जरिए वाराणसी के पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश तक पहुंचाया तो उन्होंने अपने पुराने परिचित और चिड़िया घर के डायरेक्टर रमेश पांडेय से बात कर पैरोल पर रिहा कराने की बात की.बात आगे बढ़ी और अब मिठ्ठू को जल्द रिहा होकर लखीमपुर खीरी के दुधवा नेशनल पार्क भेजने की उम्मीद जगी है। पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि सोशल मीडिया के जरिए जानकारी हुई कि चंदौली में पिछले साल की एक घटना में एक व्यक्ति की जान चली गई थी। उस संबंध में एक बेजुबान जानवर हाथी को रामनगर वन्यजीव संरक्षण में रखा गया है।
जानकारी ली गई कि पता चला कि व्यक्ति की जान चली गई थी। इसमे महावत को जमानत मिल गई है लेकिन इस बेजुबान जानवर को कोई राहत नहीं मिली है। इस संबंध में मैंने फॉरेस्ट सर्विस के अपने साथी रमेश पांडेय सें संपर्क किया जो कि नई दिल्ली चिड़ियाघर के डायरेक्टर हैं। रमेश पांडेय ने दुधवा नेशनल पार्क के अधिकारियों से बात की। अभी लॉकडाउन और कोरोना कर्फ्यू चल रहा है। जैसे ही हालात सामान्य होंगे, मुझे पूर्ण विश्वास है कि जंगली जानवरों के लिए संरक्षित स्थान दुधवा नेशनल पार्क के जंगल में उसे शिफ्ट किया जाएगा और जल्दी उसे इन हालातों से मुक्ति मिलेगी।
घटना 20 अक्तूबर 2020 की है। महावत के बेटे रिंकू ने बताया कि वो रामनगर की रामलीला में आया था। लौट रहा था तो छेड़खानी से गुस्से में आए नर हाथी मिठ्ठू ने एक व्यक्ति को मार दिया। जिसके बाद से मिठ्ठू यहीं है। मिट्ठू ने चंदौली के बबुरी क्षेत्र में रमा शंकर सिंह नाम के व्यक्ति को कुचलकर मार डाला था। बताया जाता है कि उस वक्त महावत के साथ ही इस गजराज के ऊपर वन्य जीव अधिनियम के तहत मुकदमा चन्दौली के बबुरी थाने में लिखा गया था।
महावत को अब बेल मिल गयी परंतु इस विशाल नर हाथी के मालिक को अब भी हाथी के बरी होने का इंतज़ार है। महावत का बेटा अपने इस हाथी से प्यार करता है। यही वजह है कि अपने गजराज की सेवा में दिन रात लगा रहता है।

एंबुलेंसों के रेट लिस्ट को एंबुलेंसों पर चस्पा किया

विजय भाटी   

गौतम बुध नगर। कोविड-19 संक्रमित मरीजों के लिए प्रशासन द्धारा जारी एंबुलेंसों के रेट लिस्ट को एंबुलेंसों पर चस्पा करने के लिए ट्रैफिक पुलिस इन दिनों शहर में अभियान चला रही है। इसके साथ ही अन्य वाहनांे की भी चेकिंग की जारी है, जो बिना ई पास के सड़कों पर चल रहे हंै। कोरोना महामारी के बीच सुविधाओं के नाम पर ठगी के साथ मनमाने ढंग से लूट के मामले भी सामने आ रहे हैं। इसी बीच एंबुलेंस संचालकों की मनमानी वसूली की शिकायत पर गौतमबुद्ध नगर के प्रशासन ने कोविड-19 संक्रमित मरीजों के लिए एंबुलेंसों की रेट लिस्ट जारी कर दी है। नोएडा ट्रैफिक पुलिस द्धारा रेट लिस्ट को एंबुलेंसों पर चस्पा करने के लिए अभियान चलाया जा रहा हैं जिससे लोग जागरूक हो और एंबुलेंस का भुगतान रेट लिस्ट के मुताबिक करें। यदि कोई एबुलेंस संचालक कोरोना मरीज व उसके परिजनों से निर्धारित दरों से अधिक शुल्क लेता है तो पुलिस उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी।

डीसीपी ट्रैफिक गणेश शाहा ने बताया कि कोविड-19 संक्रमित मरीजों को अस्पतालों तक ले जाने पर एबुलेंस संचालकों की तरफ से मनमाने तरीके से पैसे वसूलने की शिकायत मिल रही है। एम्बुलेंस सर्विसेज की मनमानी पर रोक लगाने के लिए प्रशासन द्धारा रेट लिस्ट जारी की गई है। अधिक शुल्क वसूलने पर एंबुलेंस संचालक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अधिक शुल्क वसूलने पर मरीज व उसके परिजन पुलिस हेल्पलाइन नंबर-112 और कोविड कंट्रोल रूम नं0-18004192211 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि इसके अलावा शहर में वेबजह घूमने और कोविड़ पोटोकाल और शहर में लगे लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के चेकिंग के लिए भी अभियान चलाया जा रहा है। बिना ई पास के चल रहे गाड़ियों का चालान भी काटा जा रहा है। गौतमबुद्धनगर में कई जगह बेरिगेटिंग लगाकर पुलिस द्वारा चेकिंग की जा रही है और आने-जाने वाले वाहन चालकों से ई-पास चेक किया जा रहे है, जिनके पास ई-पास नहीं पाया जा रहा है उनके खिलाफ चालान की कार्रवाई की जा रही है।

मोदी के आपत्तिजनक पोस्टर लगाए, 9 लोग अरेस्ट

रईस खान   
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कई जगहों पर लगाए गए आपमानजनक पोस्टर के दिल्ली पुलिस हरकत में आ गई है। दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पोस्टर लगाने के आरोप में 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। पोस्टर किसकी ओर से लगाए जा रहे हैं पोस्टर में उसके नाम का जिक्र नहीं है। पोस्टर लगान के बाद दिल्ली पुलिस ने भजनपुरा, खजूरी, गोकलपुरी और मानसरोवर पार्क समेत कई थानों में मुकदमे दर्ज किए गए हैं। पोस्टर लगाने के आरोप में कल्याणपुरी थाना ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के दौरान पुलिस ने उनके पास से 800 से ज्यादा पोस्टर और 20 बैनर बरामद किए हैं। पुलिस के मुताबकि इस मामले में आप पार्षद की संलिपत्ता सामने आ रही है।
पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए सभी लोग कल्याणपुरी से आप पार्षद धीरेंद्र उर्फ बंटी गौतम के कहने पर पोस्टर लगाने का काम कर रहे थे। पुलिस ने इन सभी के खिलाफ संपत्ति को बदरंग करने, डीडीएमए नियम के तहत एफआईआर दर्ज किया है।
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि यमुनापार के क्षेत्र में जगह-जगह काले रंगे के पोस्टर लगाए गए थे। पोस्टर पर लगाने वाले किसी व्यक्ति या किसी पार्टी का नाम नहीं है। पोस्टर लगने के बाद यह सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा था।
पुलिस ने बताया कि पोस्टर के जरिये इनकी मंशा थी कि लोगों के बीच प्रधानमंत्री की छवि को धूमिल किया जाए। पुलिस ने बताया कि वह इस मामले को लेकर जल्द ही आप पार्षद से पूछताछ कर सकती है।

मृत्यु दर 1.09 फीसदी, रिकवरी रेट 83 फीसदी

हरिओम उपाध्याय   
नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण से हालात अभी भी भयावह बने हुए हैं। हर दिन तीन लाख से ज्यादा नए केस आ रहे हैं और करीब चार हजार संक्रमितों की जान जा रही है। हालांकि अच्छी बात ये है कि नए केस से ज्यादा रिकवरी हो रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 326,098 नए कोरोना केस आए और 3890 संक्रमितों की जान चली गई है।
 वहीं 3,53,299 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं. यानी कि 31,091 एक्टिव केस कम हुए हैं.14 मई तक देशभर में 18 करोड़ 4 लाख 57 हजार 579 कोरोना डोज दिए जा चुके हैं। बीते दिन 11 लाख 3 हजार 625 टीके लगाए गए. वहीं अबतक 31.30 करोड़ से ज्यादा कोरोना टेस्ट किए जा चुके हैं। बीते दिन 17 लाख कोरोना सैंपल टेस्ट किए गए, जिसका पॉजिटिविटी रेट 17 फीसदी से ज्यादा है।
देश में आज कोरोना की ताजा स्थिति-
कुल कोरोना केस- दो करोड़ 43 लाख 72 हजार 907
कुल डिस्चार्ज- दो करोड़ 4 लाख 32 हजार 898
कुल एक्टिव केस- 36 लाख 73 हजार 802
कुल मौत- 2 लाख 66 हजार 207
देश में कोरोना से मृत्यु दर 1.09 फीसदी है जबकि रिकवरी रेट 83 फीसदी से ज्यादा है। एक्टिव केस घटकर 16 फीसदी से कम हो गए हैं। कोरोना एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का दूसरा स्थान है। कुल संक्रमितों की संख्या के मामले में भी भारत का दूसरा स्थान है। जबकि दुनिया में अमेरिका, ब्राजील के बाद सबसे ज्यादा मौत भारत में हुई है।
महाराष्ट्र में संक्रमण से होने वाली मौत के आंकड़ों में गिरावट
महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोविड के नए मामलों और इसकी वजह से जान गंवाने वालों की संख्या में कमी देखने को मिली। हालांकि राज्य में अभी तक सामने आए कोरोना के कुल मामलों की संख्या 53 लाख से अधिक हो चुकी है, जबकि प्रदेश में 79,000 से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।
गुरुवार को हुई 850 मौतों की तुलना में, शुक्रवार को राज्य में मरने वालों की संख्या 695 दर्ज की गई। इसके साथ ही यहां कोरोना से दम तोड़ने वालों की संख्या 79,552 तक पहुंच चुकी है। राहत की बात यह रही कि शुक्रवार को नए संक्रमणों की संख्या 50,000 के स्तर से नीचे रही। यहां पिछले 24 घंटों के दौरान 39,923 नए कोरोना मामले दर्ज किए गए हैं, जिसके बाद अब राज्य में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 53,09,215 हो गई है।

गाइडलाइन उल्लंघन में 3754 का चालान, गिरफ्तार

सत्येंद्र ठाकुर   

नई दिल्ली। द्वारका जिले की पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान आईपीसी, एपिडेमिक और कालाबाज़ारी के मामलों को मिला कर 566 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। साथ ही इस दौरान डीडीएमए की गाइडलाइन उल्लंघन मामले में 3754 लोगों का चालान भी किया है।

डीसीपी द्वारका, संतोष मीणा के अनुसार द्वारका जिले की पुलिस ने अप्रैल महीने के 19 तारिख से 12 मई के बीच कुल 566 लोगों को गिरफ्तार किया है। 3754 लोगों को चालान किया गया है। इस दौरान द्वारका जिले की पुलिस ने आईपीसी के तहत 442 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा, वहीं 116 आरोपियों को एपिडेमिक एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया। जबकि 8 आरोपी कालाबाज़ारी के मामले में गिरफ्तार हुए हैं।

मंगल पर सूक्ष्म जीवन तो नहीं हो गया संक्रमित ?

कविता गर्ग   
मंगल ग्रह पर इंसानी बस्ती बसाने की तैयारी चल रही है। इसी बीच वहां सतह और उसके नीचे सूक्ष्मजीवन और उसके संकेतों की खोज जारी है। जब से मंगल ग्रह को इंसान ने धरती पर से ध्यान से देखना शुरु किया है तभी से वहां जीवन की संभावनाओं कई अटकलें लग रही हैं और 30 ज्यादा अभियानों के मंगल और उसके पास पहुंचने के बाद भी इसे खारिज नहीं किया जा सका है। लेकिन यह भी संभव है जीवन के संकेतों की तलाश में वहां सूक्ष्मजीवन पृथ्वी से पहुच कर संक्रमित कर चुका हो।
तेजी से बढ़ी संक्रमण की संभावना

पिछले कुछ सालों में मंगल अभियानों की संख्या में बहुत तेजी आई है। हाल ही में मंगल पर प्रोब, रोवर और ऑर्बिटर की संख्या बढ़ गई है। जहां यूएई और चीन के यान अब भी मंगल के चक्कर लगा रहे हैं। अमेरिका के नासा के बहुत से रोवर मंगल पर घूम रहे हैं। अब एक अनुवांशिकीविद का कहना है कि इस बात की संभावना है कि कुछ सूक्ष्मजीवी पृथ्वी से मंगल पर पहुंच गए होंगे।

हो सकती है बड़ी समस्या

अगर ऐसा वाकई हो गया है तो यह वैज्ञानिकों के लिए एक बहुत बड़ी समस्या हो सकता है। यह उन आंकड़ों में गड़बड़ी कर सकता है जो मंगल पर जीवन की तलाश के लिए जमा किए जा रहे हैं। इससे मंगल ग्रह पर जीवन या जीवन के संकेत खोजने के पर सवाल पैदा कर सकता है जो बहुत से अभियानों को प्रमुख उद्देश्य है।
आसानी से खारिज नहीं किए जा सकते ये सवाल

मंगल ग्रह पर इस तरह के गंभीर सवालों को खारिज करना आसान नहीं है। मिडिया के मुताबिक अमेरिका के कोर्नेल यूनिवर्सिटी में वेइल कॉर्नेल मेडिसिन में जैवभौतिकी, फिजियोलॉजी और जीनोमिक्स के प्रोफेसर क्रिस्टोफर मेसन का कहना है कि वैज्ञानिकों का दूसरे ग्रह पर जीवन की खोज करते समय यह सुनिश्चित करना होगा कि वह वाकई उसी ग्रह का जीवन है ना कि पृथ्वी में पले बढ़े संक्रमण के कारण जीवन।

मंगल यात्रियों के लिए भी हो सकती समस्या

इस संक्रमण से केवल शोध में ही समस्या होगी ऐसा नहीं है बल्कि मंगल पर जाने वाले अंतरिक्ष यात्रियों को भी समस्या हो सकती है। भविष्य में ये सूक्ष्मजीवी उनके स्वास्थ्य के साथ ही उनकी सहायता के लिए गए उपकरणओं के लिए भी समस्या बन सकते हैं। मेसन को संदेह है कि हो सकता है कि मंगल पर मानव डीएनए भी 1971 और उसके बाद पहुंच गया हो। 1971 में मंगल ग्रह पर सोवियत संघ के दो अन्वेषण यान मंगल की सतह पर उतरे थे।

यह तय करना जरूरी

मेसन का कहना है कि मंगल पर धूल की वैश्विक आंधी से इन यानों से डीएनए मंगल की सतह तक पहुंच गए हों। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि जो जीवन हम पता लगा रहे हैं वह पृथ्वी से ही आया जीवन ना हो। ऐसा होने पर यह तय करना आसान नहीं होगा कि जो संकेत मिले हैं वे मंगल के मूल जीवन के ही संकेत हैं या नहीं।
नासा यह प्रयास करता है अभी वैसे तो नासा यह सुनिश्चित करता है कि उसके अंतरिक्ष यान, लैंडर, और रोवर पूरी तरह से विसंक्रमित हों। इसके लिए वह इन्हें खास तरह के कमरों में विकसित करता है जिससे किसी भी तरह का संक्रमण और अशुद्धता किसी नाजुक उपकरण में गड़बड़ी ना पैदा कर दे जिससे वहां से संकेत आने में किसी तरह की कोई समस्या हो। इसके लिए नासा ISO-5 जैसे कठोर प्रोटोकॉल का पालन करता है।

मेसन का दावा है कि यह असंभव है कि मंगल के अभियानों में जो भी यान आदि गए हैं वे सौ प्रतिशत ही सूक्ष्मजीवन से मुक्त हों। नासा के इन सफाई कमरों में भी सूक्ष्मजीवन के प्रमाण पाए गए हैं। वे विकिरण रोधी होने के साथ ठंडे वातावरण में भी पनप सकते हैं। ऐसे में मंगल पर एक मजबूत किस्म के सूक्ष्मजीव पहुंचे हों इससे इनकार नहीं किया जा सकता है।

संक्रमण से सीएम ममता के छोटे भाई का निधन

मीनाक्षी लोधी   

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के छोटे भाई असीम बनर्जी का आज (शनिवार को) निधन हो गया। उनकी मौत की वजह कोरोना बताई जा रही है। शनिवार सुबह उन्होंने आखिरी सांस ली। जानकारी के अनुसार वह मेडिका हाॅस्पिटल में भर्ती थे। मुख्यमंत्री के परिवार में शोक है।

बता दें कि कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में कोरोना के नए 3,26,098 मामले देशभर में सामने आए, जबकि 3,890 लोगों की वायरस की वजह से मौत हो गई। हालांकि 3,53,299 मरीज कोरोना से रिकवर भी हुए।

पत्नी की हत्या, बच्चों पर जानलेवा हमला, आत्महत्या

कविता गर्ग   

गाजीपुर। उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ीपुर में दिलदारनगर थाना क्षेत्र के उसिया गांव में दिल दहला देने वाली घटना हुई है। गांव के रहने वाले पुलिस के हेड कांस्टेबल ने अपनी पत्नी की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी। यही नहीं सिपाही ने अपने 5 बच्चों पर भी जानलेवा हमला किया। इसके बाद हेड कांस्टेबिल ने खुद ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। हमले में 3 बच्चे गम्भीर रूप से घायल हैं, जिन्हें इलाज के लिए वाराणसी ट्रामा सेंटर भेज गया है।

बताया जा रहा है कि उसिया गांव में रहने वाले मुंशी यादव पुलिस विभाग में हेड कांस्टेबिल थे और वर्तमान में फतेहपुर जिले में तैनात थे। वो जनवरी में छुट्टियां लेकर घर आये थे, तब से वापस ड्यूटी ज्वाइन नहीं की थी। बताया जा रहा है कि हेड कांस्टेबिल को चर्म रोग था। बीमारी के चलते सिपाही सीरियस डिप्रेशन में चल रहा था। लोगों का कहना है कि इसी के चलते उसने दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया।

3 बच्चे गंभीर हालत में वाराणसी रेफर

गाजीपुर के एसपी ओपी सिंह ने बताया कि हेड कांस्टेबल मुंशी यादव ने धारदार हथियार से अपनी पत्नी रीना की गला काट कर हत्या कर दी। इसके बाद उसने अपने 5 बच्चों पर भी जानलेवा हमला किया, जिसमे 3 की हालत गम्भीर है। घटना को अंजाम देने के बाद सिपाही ने गांव से बाहर रेलवे ट्रैक पर गुजर रही ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली। फिलहाल गम्भीर रूप से घायल बच्चों को इलाज के लिए वाराणसी रेफर किया गया है।

पुलिस मामले की कार्यवाही में जुटी हुई है।

नीरा को व्हाइट हाउस का वरिष्ठ सलाहकार बनाया

अकांशु उपाध्याय  

वाशिंगटन/नई दिल्ली। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन द्वारा कैबिनेट के लिए चुनी गईं भारतीय मूल की नीरा टंडन को व्हाइट हाउस का वरिष्ठ सलाहकार नियुक्त किया गया है। इससे पहले उन्हें बाइडन द्वारा प्रबंधन एवं बजट कार्यालय का नेतृत्व करने के लिए चुना गया था लेकिन विरोध के बीच मार्च में उन्होंने अपना नामांकन वापस ले लिया था।

सेंटर फॉर अमेरिकन प्रोग्रेस (सीएपी) के संस्थापक जॉन पोडेस्टा ने एक बयान में कहा कि नीरा बुद्धिमत्ता, कड़ी मेहनत और राजनीतिक दृष्टि बाइडन प्रशासन के लिए अहम साबित होगी। हालांकि हमें सीएपी में उनकी विशेषज्ञता और लीडरशिप की कमी खलेगी जिसका 2003 में गठन किया गया था। मार्च में व्हाइट हाउस ने राष्ट्रपति जो बाइडन के बजट कार्यालय में नीरा टंडन को निदेशक बनाने का नामांकन प्रस्ताव वापस ले लिया था। दोनों पार्टियों में नीरा के नाम पर उठा विरोध खत्म नहीं किया जा सका था। नीरा ने भी नाम वापसी की घोषणा कर दी थी, क्योंकि वे डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकनों के बीच अपने नामांकन की पुष्टि के लिए पर्याप्त वोट जुटाने में नाकाम रहीं।

बता दें कि टंडन के नामांकन की पुष्टि का रास्ता पहले ही कठिन था और उन्हें पूर्व में कई सांसदों के खिलाफ किए गए ट्वीट के कारण विरोध का सामना करना पड़ रहा था। हालांकि उन्होंने ऐसे 1,000 से ज्यादा ट्वीट डिलीट कर सीनेटरों से माफी भी मांग ली थी लेकिन उनका विरोध कम नहीं हुआ था। तब बाइडन ने कहा था कि मैं उनके अनुभव, कौशल और विचारों का बहुत सम्मान करता हूं और चाहता हूं कि मेरे प्रशासन में उनकी कोई भूमिका हो। और आखिरकार बाइडन ने उन्हें इतना महत्वपूर्ण पद देते हुए नई जिम्मेदारी सौंप दी

नीरा के नाम पर पुष्टि का अनुरोध बाइडन की डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों ने भी खारिज कर दिया था। तब बाइडन ने कहा था- ‘सुश्री टंडन ने कहा है कि प्रबंधन कार्यालय और बजट निदेशक के लिए उनका नामांकन वापस ले लिया जाए और मैंने उनका प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है।’ नीरा टंडन भारतीय मूल की अमेरिकी राजनीतिज्ञ और “सेंटर फॉर अमेरिकी प्रोग्रेस” की अध्यक्ष हैं। यह उत्तरदायित्व उन्होने नवंबर 2011 में ग्रहण किया। नीरा अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और बिल क्लिंटन के प्रशासन में अधिकारी रह चुकी हैं। 10 सितंबर 1970 की जन्म तिथि है इस वक़्त आयु 50 वर्ष,

राष्ट्रीयता: अमेरिकी की है,पति का नाम बेंजामिन एडवर्ड्स (विवाह 1999),माता-पिता का नाम माया टैंडेन
भाई: राज टैंडेन है
शिक्षा: कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, Yale Law School से की थी।

डेलावेयर के विलमिंगटन में बिडेन के सत्ता हस्तांतरण मुख्यालय में टंडन ने कहा था नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की मां श्यामला की तरह मेरी मां माया का जन्म भी भारत में हुआ था। कई पीढ़ियों के लाखों लोगों की तरह वे बेहतर जिंदगी की तलाश में अमेरिका आई थीं। टंडन का जन्म मैसाचुसेट्स के बेडफोर्ड में हुआ था।उन्होंने कहा कि मैं बोस्टन उपनगर में एक मध्यमवर्गीय परिवार में पली-बढ़ी। जब मैं 5 साल की थी तब मेरे माता-पिता का तलाक हो गया और मेरी मां पर 2 बच्चों की जिम्मेदारी आ गई और तब उनके पास कोई नौकरी भी नहीं थी।

टंडन ने कहा कि उनके पास विकल्प था कि या तो वे भारत वापस चली जाएं, जहां तलाक एक कलंक था और अवसर सीमित या फिर अपने अमेरिकी सपने के लिए लड़ती रहें। वे यहीं रुकीं। हम खाने के लिए ‘फूड स्टैम्प’ पर निर्भर थे। हम किराया भरने के लिए ‘सेक्शन 8’ (वाउचर) पर निर्भर थे। उन्हें फिर एक ट्रैवल एजेंट की नौकरी मिली और फिर उन्होंने बेडफोर्ड में घर लिया और अपने बच्चों की पढ़ाई पूरी कराई। टंडन ने कहा कि मैं यहां आज अपनी मां का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं और साथ ही उस देश का भी जिसने हम पर विश्वास रखा। मैं आज यहां ‘सामाजिक कार्यक्रमों’ की वजह से ही हूं। अगर अमेरिकी सीनेट से भी इस पद के लिए टंडन (50) के नाम की मंजूरी के बाद वे व्हाइट हाउस में प्रभावशाली ‘प्रबंधन और बजट कार्यालय’ की प्रमुख बनने वाली पहली अश्वेत महिला है।

450 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन में साझेदारी

हरिओम उपाध्याय   
वाशिंगटन। जलवायु परिवर्तन संबंधी मामलों पर अमेरिका के विशेष दूत जॉन केरी ने कहा कि अमेरिका ने 450 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन के भारत के लक्ष्य को हासिल करने में मदद करने के लिए जलवायु परिवर्तन पर उसके साथ साझेदारी की है। केरी ने अमेरिकी सांसदों से कहा, ”प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी ने 450 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा के उत्पादन का लक्ष्य रखा है। हमने इसी प्रतिबद्धता के कारण भारत के साथ साझेदारी की है, क्योंकि उसके पास पर्याप्त निधि और प्रौद्योगिकी नहीं है।”उन्होंने जलवायु परिवर्तन संबंधी मामलों पर इस सप्ताह सुनवाई के दौरान प्रतिनिधि सभा की विदेश मामलों की समिति के सदस्यों से कहा, ”इसलिए, हम उनकी मदद कर रहे हैं।” सांसद जोए विल्सन ने केरी की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने भारत के लोगों के लिए ”बेहतरीन काम” किया है।
केरी ने कहा कि भारत द्वारा कार्बन उत्सर्जन में बड़े पैमाने पर कटौती किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि आर्थिक सहयोग और विकास संगठन के देश मिलकर जितना कार्बन उत्सर्जन करते हैं, अकेला चीन उससे भी अधिक उत्सर्जन करता है। केरी ने केहा, ”यदि चीन इन प्रयासों में शामिल नहीं होता है और इनका हिस्सा नहीं बनता है, तो अमेरिका और दुनिया के शेष देश अपना लक्ष्य हासिल नहीं कर सकते।”

टीके के बाद छूट, सदन में मास्क पहनना अनिवार्य

वाशिंगटन। अमेरिका में कोविड-19 रोधी टीकों की दोनों खुराक लेने वाले लोगों के लिए मास्क पहनने की अनिवार्यता खत्म होने के बाद कई नेता बिना मास्क लगाए नजर आए। अमेरिका की प्रथम महिला जिल बाइडन ने कहा कि आखिरकार बिना मास्क लगाए रहना ऐसा लगता है जैसे ”हम आगे बढ़ रहे हों।” वहीं, एक रिपब्लिकन सिनेटर ने कहा कि मास्क न लगाने से ”निश्चित रूप से अच्छी तरह बातचीत करने में मदद मिलती है।”बहरहाल, सदन में सांसदों ने सभी 435 सदस्यों के कोविड-19 रोधी टीके लगवाने तक मास्क पहनने की आवश्यकता पर आपत्ति जताई। सरकार वाशिंगटन में नए संघीय दिशा निर्देश जारी करने पर काम कर रही है कि जिसमें उन नियमों में ढील दी जाए कि कम मास्क पहनना चाहिए।
रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने बृहस्पतिवार को कहा कि जिन लोगों ने टीके की दोनों खुराक ले ली हैं उन्हें मास्क पहनने की जरूरत नहीं है। हालांकि कैपिटोल हिल (अमेरिकी संसद) में डॉ. ब्रायन मोनहैन के ज्ञापन के अनुसार सांसदों को सदन में मास्क पहनना होगा। हाल ही में एक सर्वेक्षण से पता चला कि सदन में करीब हर चार में से एक सांसद को दोनों टीके नहीं लगे हैं। सांसद सदन में भाषण देते वक्त अपने मास्क उतार सकते हैं लेकिन इसके बाद उन्हें मास्क पहनना होगा।

पत्रकारों ने राष्ट्रपति जो बाइडन को भी बिना मास्क के देखा। यह पूछने पर कि क्या वह मास्क लगाए बिना अपने कामकाज के पहले दिन का आनंद उठा रहे हैं, तो इस पर उन्होंने कहा, ”हां”। करीब एक साल बाद पहली बार पत्रकार व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी के नियमित संवाददाता सम्मेलन में बिना मास्क लगाए गए। पेंटागन ने शुक्रवार को एलान किया कि टीकों की दोनों खुराक ले चुके रक्षा विभाग के कर्मचारियों को अदंर या बाहर मास्क पहनने की जरूरत नहीं है।

3 साल, 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा धन डकारा

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। साल 2016 में बिटकॉइन की चमक फीकी पड़ने लगी थी। वजह की, दो साल पहले मार्केट में आई और क्रिप्टो करेंसी। इसका नाम था वनकॉइन. ये क्रिप्टो करेंसी बुल्गारिया की एक कंपनी लाई थी। इस कंपनी की मालकिन थी रुजा इग्नातोवा। जो बेहद खूबसूरत थी और खुद इस क्रिप्टो करेंसी की ब्रांड एम्बेसडर भी थी।

रुजा इग्नातोवा ने पूरी दुनिया में घूम घूम कर कहा कि वनकॉइन भविष्य की करेंसी है। इसमें निवेश करना बेहद सुरक्षित है और सबसे ज्यादा फायदा देने वाली करेंसी भी यही है। यही नहीं, रुजा ने वनकॉइन को बिटकॉइन किलर करार दिया। मार्केट भी यही संकेत दे रहा था। वनकॉइन की कीमतें लगातार बढ़ रही थी और लोग उसमें जमकर पैसा लगा रहे थे। कुछ और बताने से पहले रुजा के बारे में बताना जरूरी है।
 रुजा इग्नातोवा ने ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की और जर्मनी की एक यूनिवर्सिटी से पीएचडी की। उन्होंने बताया कि पीएचडी के बाद उन्होंने मैकेंजी ऐंड कंपनी के साथ काम किया है। ये कंपनी दुनिया की जानी मानी बिजनेस कंसल्टिंग कंपनी है।
रुजा ने महज तीन सालों (2014-2016) के बीच दुनिया भर से करीब 12 बिलियन डॉलर बटोरे। उसे पूरी दुनिया में क्रिप्टो करेंसी क्वीन कहा जाने लगा था। बड़े बड़े मीडिया हाउस उसकी कामयाबी पर कवर स्टोरी करने लगे थे और तभी आया साल 2017।
साल 2017 में रुजा ने कहा कि वो नई स्कीम ला रही है। फिर वो गायब हो गई। दुनिया भर के निवेशक बर्बाद हो गए। एफबीआई और एमआई5 जैसी एजेंसियां उसकी तलाश कर रही हैं.। माना जा रहा है कि उसने आपनी प्लास्टिक सर्जरी करा ली और चेहरा बदल लिया। मौजूदा समय में उसकी उम्र 41 साल की होगी, लेकिन पिछले 4 साल से उसे किसी ने देखा नहीं। इस तरह से रुजा ने महज 3 सालों में 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का धन डकार लिया और रहस्यमयी तरीके से गायब हो गई। वनकॉइन की गुत्थी सुलझाने में पूरी दुनिया की एजेंसियां नाकाम हैं।

भारत की स्थिति चिंताजनक बनी हुई: डब्ल्यूएचओ

जेनेवा। घेब्रेयियस ने कहा कि डब्ल्यूएचओ कोविड-19 के बढ़ते मामलों से निपटने में भारत की मदद कर रहा है और हजारों की संख्या में ऑक्सीजन सांद्रक, अस्थायी व चल अस्पतालों के लिए टेंट, मास्क और अन्य चिकित्सा सामग्री की आपूर्ति कर रहा है।

घेब्रेयियस ने मीडिया संवाद में कहा कि भारत की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है, कई राज्यों में चिंतित करने के स्तर तक मामले, अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या और मौतों बढ़ रही हैं।उन्होंने कहा कि यहां कई राज्यों में संक्रमण के चिंतित करने वाली संख्या में मामले आ रहे हैं, अस्पतालों में लोग भर्ती हो रहे हैं और मौतें हो रही हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि महामारी का दूसरा साल दुनिया के लिए पहले साल के मुकाबले अधिक घातक होगा।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

 सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण    
1. अंक-273 (साल-02)
2. रविवार, मई 16, 2021
3. शक-1984, बैसाख, शुक्ल-पक्ष, तिथि- पंचमी, विक्रमी सवंत-2078, हिजरी-1442 ।
4. सूर्योदय प्रातः 06:01, सूर्यास्त 07:07।
5. न्‍यूनतम तापमान -12 डी.सै., अधिकतम-35+ डी.सै.।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...