गुरुवार, 23 जून 2022

कर-करेत्तर की समीक्षा बैठक आयोजित: डीएम

कर-करेत्तर की समीक्षा बैठक आयोजित: डीएम   

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री की अध्यक्षता में गुरूवार को संगम सभागार में कर-करेत्तर की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में वाणिज्य कर की समीक्षा करते हुए औसत से कम राजस्व वसूली पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए उपायुक्त वाणिज्यकर खण्ड-7 और 13 को स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए तथा संयुक्त आयुक्त वाणिज्यकर प्रथम को भी स्पष्टीकरण देने को कहा है। इसी क्रम में स्टाम्प रजिस्ट्रेशन के एआईजी स्टाम्प का वेतन रोकने के साथ ही स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है तथा सब रजिस्ट्रार को कड़ी चेतावनी के साथ राजस्व को बढ़ाये जाने का निर्देश दिया है। विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियंता विद्युत मेजा से भी स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है। 
विद्युत आपूर्ति सुचारू रूप से न मिलने के कारण नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने मानक के अनुसार सभी विभागों का लक्ष्य निर्धारित कर कार्य करने के निर्देश भी दिये है। उन्होंने कृषि उत्पादन नवीन मण्डी मुण्डेरा एवं सिरसा की समीक्षा करते हुए कार्यों में लापरवाही पाये जाने पर सचिव मण्डी से स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए है। परिवहन विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि जहां पर भी ओवर लोडिंग मिलता है। वहां पर कार्यवाही सुनिश्चित किया जाये तथा उपजिलाधिकारी भी इसे अपने-अपने क्षेत्रों का भ्रमण कर कार्यवाही करें। उन्होंने परिवहन विभाग के कार्यों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए राजस्व को बढ़ाये जाने का निर्देश भी दिया है। राजस्व विभाग में प्रवर्तन ज्यादा से ज्यादा हो। उन्होंने बाट-माप विभाग और ड्रग विभाग की समीक्षा करते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि कार्यों में लापरवाही या उदासीनता कत्तई क्षम्य नहीं होगा। इस अवसर पर एडीएम वित्त एवं राजस्व जगदम्बा सिंह सहित सभी अपर जिलाधिकारीगण एवं सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

महत्व: 24 जून को मनाईं जाएंगी 'योगिनी एकादशी'

महत्व: 24 जून को मनाईं जाएंगी 'योगिनी एकादशी' 

सरस्वती उपाध्याय     
हिंदू धर्म में एकादशी तिथि का बहुत अधिक महत्व होता है। हर माह में दो बार एकादशी तिथि पड़ती है। एक कृष्ण-पक्ष में और एक शुक्ल-पक्ष में। साल में कुल 24 एकादशी पड़ती हैं। आषाढ़ माह के कृष्ण-पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को योगिनी एकादशी के नाम से जाना जाता है। एकादशी तिथि भगवान विष्णु को अतिप्रिय होती है। इस दिन विधि-विधान से भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना की जाती है। इस बार 24 जून को योगिनी एकादशी मनाईं जाएंगी। हिंदू पंचांग के अनुसार, आषाढ़ मास के कृष्ण-पक्ष की एकादशी का प्रारंभ 23 जून, गुरुवार को रात 09 बजकर 41 मिनट से हो रहा है। एकादशी तिथि 24 जून, शुक्रवार को रात 11 बजकर 12 मिनट पर समाप्त होगी। उदयातिथि की मान्यता अनुसार, एकादशी व्रत 24 जून, शुक्रवार को रखा जाएगा। भगवान विष्णु की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। आइए जानते हैं, योगिनी एकादशी पूजा-विधि, शुभ मुहूर्त और सामग्री की पूरी लिस्ट...

योगिनी एकादशी 2022 का शुभ मुहूर्त...

योगिनी एकादशी के दिन अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 56 मिनट से दोपहर 12 बजकर 51 मिनट तक रहेगा। इस दिन ज्येष्ठा नक्षत्र सुबह 06 बजकर 32 मिनट तक रहेगा। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग सुबह 05 बजकर 24 मिनट से सुबह 08 बजकर 04 मिनट तक रहेगा। ब्रह्म मुहूर्त सुबह 04 बजकर 04 मिनट से सुबह 04 बजकर 44 मिनट तक रहेगा।

योगिनी एकादशी 2022 व्रत पारण का समय...

योगिनी एकादशी व्रत का पारण 25 जून, शनिवार को किया जाएगा। व्रत पारण का शुभ समय सुबह 05 बजकर 41 मिनट से सुबह 08 बजकर 12 मिनट के बीच रहेगा।

योगिनी एकादशी की पूजा-विधि...

सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं।

घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।

भगवान विष्णु का गंगा जल से अभिषेक करें।

भगवान विष्णु को पुष्प और तुलसी दल अर्पित करें।

अगर संभव हो तो इस दिन व्रत भी रखें।

भगवान की आरती करें। 

भगवान को भोग लगाएं। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है। भगवान विष्णु के भोग में तुलसी को जरूर शामिल करें। ऐसा माना जाता है कि बिना तुलसी के भगवान विष्णु भोग ग्रहण नहीं करते हैं। 

इस पावन दिन भगवान विष्णु के साथ ही माता लक्ष्मी की पूजा भी करें।

इस दिन भगवान का अधिक से अधिक ध्यान करें।

एकादशी पूजा की सामग्री लिस्ट...

श्री विष्णु जी का चित्र अथवा मूर्ति
पुष्प 
नारियल 
सुपारी
फल
लौंग
धूप
दीप
घी 
पंचामृत 
अक्षत
तुलसी दल
चंदन 
मिष्ठान।

प्रयागराज: हार्डवेयर की दुकान में चोरी, भय व्याप्त

प्रयागराज: हार्डवेयर की दुकान में चोरी, भय व्याप्त 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। जानकारी के अनुसार, जमुना पार रीवा रोड डांडी डभाव में 23/6/2022 को रात्रि 2:00 बजे के लगभग अल्ताफ खान की हार्डवेयर की दुकान की शटर का ताला तोड़कर दुकान के अंदर रखें, नगद 55,000 एवं भारी मात्रा में पीतल एवं एलमुनियम चोर उड़ा ले गए। इस इलाके में अक्सर आए दिन चोरी की घटना घटित होती रहती है। 
पीड़ित दुकानदार ने डभाव के पसियाना के गिरोह पर शक जाहिर किया है। गिरोह का सरगना का नाम पुदीना बताया जा रहा है। दुकानदारों के मुताबिक, यह गिरोह जमुना पार डांडी में बहुत ज्यादा ही चोरी को अंजाम दे रही है। जिससे वहां के सभी दुकानदारों में भय व्याप्त है।

यह तार है, और यह कहीं से भी काटे नहीं गए हैं

यह तार है, और यह कहीं से भी काटे नहीं गए हैं
कविता गर्ग
मुंबई। बिग बॉस ओटीटी’ की एक्स कंटेस्टेंट उर्फी जावेद अजीबोगरीब स्टाइल के लिए मशहूर है। इस बार वह बिजली की तारों से बनी आउटफिट को लेकर चर्चाओं में है। उर्फी ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर की, जिसमें वह पहले नीले तारों में उलझती हुई नजर आ रही है और फिर अगले ही सेंकड उर्फी उन्हीं तारों से बनी ड्रेस को पहने हुए दिखाई दे रही है।
अपने लुक को पूरा करने के लिए उर्फी ने अपने बालों का बन बनाया हुआ है और मिनिमल मेकअप किया हुआ है। उर्फी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा, ”हां यह तार है, और यह कहीं से भी काटे नहीं गए हैं। मुझे लगता है कि यह बॉम्ब लग रहा है। मुझे लगता है कि मैं अलग-अलग रंगों को भी ट्राई करूंगी, मेरे लिए फैशन का मतलब प्रयोग करना, कुछ बनाना और बयान देना है।
वर्कफ्रंट की बात करें तो, उर्फी को ‘बड़े भैया की दुल्हनिया’, ‘मेरी दुर्गा’, ‘बेपनाह’ और ‘पंच बीट सीजन 2’ में उनकी भूमिकाओं के लिए जाना जाता है। 2018 में, उर्फी ने ‘सात फेरो की हेरा फेरी’ में काम किया था और फिर दो साल बाद ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ और ‘कसौटी जिंदगी की’ में दिखाई दी थी।

अब तक बाढ़ के कहर से 400 लोगों की मौंत

अब तक बाढ़ के कहर से 400 लोगों की मौंत

अखिलेश पांडेय
काबुल। अफगानिस्तान में मंगलवार देर रात आए भूकंप के बाद अब लगातार हो रही बारिश के कारण बाढ़ ने जनजीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है। बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार अब तक बाढ़ के कहर से 400 लोगों की मौंत हो गई। तालिबान सरकार की ओर से इस बात की पुष्टि की गई है। बाढ़ से देश के कई इलाके प्रभावित हैं।
अफगानिस्तान के जल संसाधन विशेषज्ञ नजीबुल्लाह सादिद ने बुधवार को ही कहा था कि क्षेत्र में मानसून के चलते तेज बारिश हो रही है, जिससे पारंपरिक तौर मिट्टी के बने घर कमजोर हो गए हैं। और इस कारण से भूकंप ज्यादा भयावह साबित हुआ। भूकंप का केंद्र अपेक्षाकृत ऊपर रहने से भी तबाही बढ़ गई।
देश में कुनार, नांगरहार, नुरिस्तान, लघमन, पंजशीर, परवान, काबुल, कपिसा, मैदान, वारदाक, बामियान, गजनी, लोगर, समंगन, सार-ए-पुल, ताखर, पाकटिया, खोस्त, कपिसा, मैदान वारदाक, बामियान, गजनी, लोगार, समंगन का इलाका प्रभावित है।
प्राकृतिक आपदा प्रबंधन विभाग की देखरेख करने वाले उपमंत्री मावलावी शरफुद्दीन मुस्लिम ने बताया, ‘इस दौरान बचाकर निकाले गए लोगों को अस्पतालों मं भेज दिया गया है। जिनके मकान इस बाढ़ के पानी में ढह गए हैं उन्हें टेंट में ले जाया गया है। 2022 में अफगानिस्तान में प्राकृतिक आपदा के कारण 30 हजार से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं।

बता दें कि शक्तिशाली भूकंप से 1,000 से अधिक लोगों की जान चली गई और 1,500 से अधिक लोग घायल हुए हैं। अफगानिस्तान में ज्यादातर कच्चे मकान हैं, जो भूकंप के झटके से पूरी तरह से ध्वस्त हो गए हैं और उनके नीचे अभी कई लोगों के दबे होने की आशंका है।
तालिबान के सुप्रीम लीडर हैबतुल्ला अखुंदजादा ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय और सभी मानवीय संगठनों से मदद की अपील की है। प्रधानमंत्री मोहम्मद हसन अखुंद ने राहत प्रयासों के समन्वय के लिए राष्ट्रपति भवन में आपातकालीन बैठक कर हालात की समीक्षा की। तालिबान सरकार ने सहायता एजेंसियों से क्षेत्र में टीमें भेजने का आग्रह किया है। अमेरिकी जियोलाजिकल सर्वे के अनुसार भूकंप का केंद्र दक्षिणपूर्वी अफगानिस्तान के खोस्त शहर से 44 किलोमीटर दूर और 51 किलोमीटर जमीन के नीचे था। इसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.1 मापी गई है। भूकंप के झटकों को पाकिस्तान और भारत के भी कुछ इलाकों में महसूस किया गया।

पुलिस की सजगता से इंस्पेक्टर की जान बच गई

पुलिस की सजगता से इंस्पेक्टर की जान बच गई
संदीप मिश्र  
गौतमबुद्ध नगर। ग्रेटर नोएडा के आईटी सेल में पोस्टेड एक इंस्पेक्टर ने आत्महत्या का प्रयास किया है। इंस्पेक्टर ने घरेलू कलह से तंग आकर एक सुसाइड नोट लिखा और उसको सोशल मीडिया पर डाल दिया। उन्होंने उसे अपने व्हाट्सएप स्टेटस पर लगा दिया था। यह सुसाइड नोट इंस्पेक्टर के जान पहचान वाले एक शख्स ने देखा और तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दे दी।सूचना मिलते हो पुलिस सजग हो गई और बीटा-2 थाने की पुलिस ने इंस्पेक्टर कि जान बचा ली।
पुलिस इंस्पेक्टर का सुसाइड नोट मिलने के बाद बीटा-2 थाना प्रभारी अनिल कुमार ने मौके पर पहुंच कर इंस्पेक्टर कि जान बचा ली थी। बीटा-2 थाना प्रभारी ने बताया कि फिलहाल इंस्पेक्टर ध्रूव भूषण दूबे ग्रेटर नोएडा के आईटी सेल में पोस्टेड हैं। अपने परिवार के साथ ग्रेटर नोएडा के डेल्टा-3 में रहते हैं। घरेलू कलह से तंग आ कर उन्होंने 21 जून कि शाम एक सुसाइड नोट लिखा था और उसे अपने व्हाट्सएप स्टेटस पर लगा दिया था।
b लेकिन उनके किसी परिचित ने वो स्टेटस देखा और तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दे दी थी। इसके बाद पुलिस ने इंस्पेक्टर के नंबर को सर्विलांस पर लगाया और मौके पर पहुंच गई। इसके बाद उन्हें समझा बुझा कर दोस्तों के साथ भेज दिया। वहीं थाना प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि इंस्पेक्टर ध्रुव कि ओर से इस मामले में कोई शिकायत दर्ज नहीं करवाई गई है। वो फिलहाल काफी परेशान थे, इसलिए पुलिस ने भी उनसे ज्यादा सवाल जवाब नहीं किए।
बता दें इंस्पेक्टर ने अपने सुसाइड नोट में अपनी पत्नी का जिक्र किया था। उन्होंने अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगों पर आरोप लगाए कि उन्हें वो सब मिल कर प्रताड़ित कर रहे हैं।सुसाइड नोट के शुरुआत में उन्होंने अपनी पत्नी के लिय लिखा कि तुमको मकान, जमीन, पैसा मुबारक हो। उन्होंने अपनी आत्महत्या कि वजह भी ससुराल वालों को बताया।
इसके अलावा अपनी सारी संपत्ति का मालिकाना हक अपनी बेटियों के नाम करने कि बात भी लिखी थी। हालांकि पुलिस ने इंस्पेक्टर कि जान बचा ली। लेकिन सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि उनका अंतिम संस्कार उनकी बेटियां करें और पत्नी को उनके शव को हाथ न लगाने दिया जाए।

घोटाला: 1.44 करोड़ का भुगतान नियम विरुद्ध

घोटाला: 1.44 करोड़ का भुगतान नियम विरुद्ध
भानु प्रताप उपाध्याय 
मुज़फ्फरनगर। स्वास्थ्य विभाग में तैनात 64 कर्मचारियों के एरियर भुगतान में घोटाला सामने आया है। वेतन बढ़ोतरी के एरियर के रूप में विभागीय अधिकारियों ने 1.44 करोड़ रुपये का भुगतान नियम विरुद्ध कर दिया। आरटीआइ में इसका पर्दाफाश होने पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने जिलाधिकारी को जांच के आदेश दिए गए हैं। मुजफ्फरनगर में तैनात रहे तत्कालीन सीएमओ डा. पीएस मिश्रा भी जांच की जद में आ सकते हैं।
स्वास्थ्य विभाग कर्मचारियों को 10 वर्ष की सेवा पूर्ण करने पर एक जुलाई 1985 से वेतनमान में बढ़ोतरी सुविधा की व्यवस्था थी। साथ ही छह वर्ष सेवा पूरी करने पर 1991 से पहले प्रमोशन पर वेतन बढ़ोतरी का भी प्रविधान था। विभाग के 64 कर्मचारियों को इस शासनादेश से उलट 1985 के बजाय वर्ष 1982 के आधार पर निर्धारित से 1.44 करोड़ रुपये अधिक का भुगतान नियम विरुद्ध कर दिया गया। आरटीआइ कार्यकर्ता विमल त्यागी ने सूचना अधिकार के तहत चार वर्ष पूर्व इसकी जानकारी मांगी थी, लेकिन उन्हें उस समय जानकारी नही दी गई। काफी प्रयास के बाद अब उन्हें विभाग ने यह जानकारी उपलब्ध कराई तो घोटाला सामने आया।
विमल त्यागी ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय में की थी। इस प्रकरण के दौरान 2017-18 में तैनात रहे सीएमओ डा. पीएम मिश्रा पर उस समय आरटीआइ का जवाब नहीं देने का भी आरोप लगाया। हालांकि, डा. मिश्रा सेवानिवृत्त हो चुके हैं लेकिन अब जांच शुरू होने पर उन्हें भी तलब किया जा सकता है। एक एसीएमओ पर भी इस घोटाले में शामिल होने के आरोप लग रहे हैं। जांच शुरू होने की सूचना से विभागीय कर्मचारियों में रिकवरी को लेकर अफरातफरी मची है। — एरियर घोटाला होने की जानकारी मिली है, लेकिन आरटीआइ का जवाब दिया गया है। जिस मामले की बात की जा रही है, वह मेरे समय का नहीं है। अगर जांच होती है तो विभाग की तरफ से टीम का सहयोग किया जाएगा।

विद्युत विभाग की टीम पर 1 परिवार ने हमला किया

विद्युत विभाग की टीम पर 1 परिवार ने हमला किया
भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। कस्बा सिसौली में बिजली बिल के बकाया होने के कारण विद्युत कनेक्शन काटने गई विद्युत विभाग की टीम पर एक परिवार के सदस्यों ने हमला कर दिया। जूनियर इंजीनियर ने पांच के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।
कस्बा सिसौली के विद्युत उपकेंद्र पर तैनात जूनियर इंजीनियर पारस कुमार ने थाने में तहरीर देकर बताया कि कस्बा निवासी कलसुम पर बिजली विभाग का लाखों रुपया बकाया है। बिजली मूल्य बकाया होने के कारण विभागीय टीम कलसुम का संयोजन काटने पहुंची तो उसके परिवार के कलाम, सलाम, अजीम, मलान व एक अज्ञात व्यक्ति ने विभागीय टीम पर हमला कर दिया। टीम में शामिल कर्मचारी आजाद, संजीव, सोनू व अंकित ने भागकर जान बचाई।
एक कर्मचारी का मोबाइल भी आरोपितों ने छीन लिया। थाना प्रभारी नवीन भाटी ने बताया आरोपित व्यक्तियों के विरुद्ध सरकारी कार्य में बाधा डालने, मारपीट करने व धमकाने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कर सलाम को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर दिया गया है। अन्य आरोपितों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

विधवा महिला से निकाह करने का झांसा, दुष्कर्म

विधवा महिला से निकाह करने का झांसा, दुष्कर्म 
भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। एक विधवा महिला ने एक युवक पर निकाह करने का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए एसएसपी से कार्रवाई की गुहार लगाई है। मीरापुर थाना क्षेत्र के गांव निवासी महिला ने एसएसपी कार्यालय में प्रार्थनापत्र देते हुए बताया कि उसके पति की काफी समय पूर्व मौत हो चुकी है।
आरोप है कि कुछ समय पूर्व पड़ोस में रहने वाला एक युवक उसके घर आया और हमदर्दी जताते हुए उससे निकाह करने की बात कही। पीड़िता का आरोप है कि इसके बाद युवक लगातार उसके घर आने-जाने लगा। युवक ने उसे निकाह का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोप है कि गर्भवती होने पर आरोपित तीन बार महिला का गर्भपात भी करा चुका है।
महिला का आरोप है कि युवक ने उससे ढाई लाख रुपये भी ले लिए। अब युवक दो लाख रुपये देने का दबाव बना रहा है। रुपये न देने पर युवक ने उसके साथ मारपीट करते हुए निकाह से इन्कार कर दिया। एसएसपी ने मीरापुर पुलिस को जांच के आदेश दिए हैं।

अन्नाद्रमुक: परिषद की बैठक हंगामे की भेंट चढ़ी

अन्नाद्रमुक: परिषद की बैठक हंगामे की भेंट चढ़ी 
इकबाल अंसारी  
चेन्नई। तमिलनाडु के वनगरम के श्रीवारु वेंकटचलपति पैलेस में आयोजित अन्नाद्रमुक पार्टी की आम परिषद की बैठक हंगामे के भेंट चढ़ गई।अन्नाद्रमुक (AIADMK) के समन्वयक और पूर्व डिप्टी सीएम ओ पन्नीरसेल्वम पर आज पार्टी की आमपरिषद की बैठक में बोतलें (Bottles) फेंकी गईं। बैठक चेन्नई (Chennai) के वनगरम के श्रीवारु वेंकटचलपति पैलेस में हुई थी। पन्नीरसेल्वम बैठक में उनके प्रतिद्वंद्वी व संयुक्त संयोजक ई.के. पलानीस्वामी का पक्ष लिए जाने के बाद बैठक छोड़कर चले गए।
पलानीस्वामी के समर्थकों ने जैसे ही उन्हें एक सजा हुआ ताज, एक तलवार और राजदंड भेंट किया, पन्नीरसेल्वम और अन्नाद्रमुक उप सचिव वैथीलिंगम समेत उनके समर्थक बैठक से चले गए। शोर-गुल के बीच परिषद की बैठक 40 मिनट तक चली। यह घटनाक्रम पन्नीरसेल्वम के समर्थकों के सामने पलानीस्वामी खेमे की ताकत को दर्शाता है। बैठक में पलानीस्वामी के समर्थक उन्हें पार्टी का सर्वोच्च नेता बनाने की मांग पर अड़े रहे।
इस बीच वरिष्ठ पदाधिकारी व पूर्व मंत्री बी. वलरमथी ने पलानीस्वामी के समर्थन में पार्टी के संस्थापक एमजी रामचंद्रन की फिल्म का एक गाना गाया और कहा, ‘एक नेता उभरेगा’।
बैठक में उठी एकल नेतृत्व की मांग
बैठक में जब एकल नेतृत्व की मांग उठी, तब पन्नीरसेल्वम मंच पर पलानीस्वामी के निकट बैठे थे। पार्टी ने घोषणा की कि आम परिषद की अगली बैठक 11 जुलाई को होगी।

पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं हुआ

पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं हुआ
अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने सुबह 6 बजे पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी कर दिए हैं। आज एक महीना पार हो गया जब पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। यहां अपने शहर का ताजा रेट चेक कर सकते हैं।
आज (23 जून) के लिए पेट्रोल-डीजल के नए जारी कर दिए गए हैं। एक महीने से ज्यादा वक्त हो गया, जब सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है, जो कि लोगों के लिए बड़ी राहत की बात है। आखिरी बार 21 मई को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव हुआ था।
बीते 21 मई को केंद्र सरकार ने बढ़ती महंगाई पर लगाम लगाने के लिए पेट्रोल-डीजल पर एक्साइड ड्यूटी कम की थी। केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 8 रुपये और डीजल पर 6 रुपये एक्साइज ड्यूटी में कटौती की। इसके बाद देशभर में पेट्रोल 9.50 रुपये और डीजल 7 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो गया था। केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद कुछ राज्यों ने भी वैट कम किया। इसमें राजस्थान, केरल और महाराष्ट्र सरकार शामिल हैं।
– दिल्ली पेट्रोल 96.72 रुपये और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर
– मुंबई पेट्रोल 111.35 रुपये और डीजल 97.28 रुपये प्रति लीटर
– चेन्नई पेट्रोल 102.63 रुपये और डीजल 94.24 रुपये प्रति लीटर
– कोलकाता पेट्रोल 106.03 रुपये और डीजल 92.76 रुपये प्रति लीटर
– नोएडा में पेट्रोल 96.57 रुपये और डीजल 89.96 रुपये प्रति लीटर
– लखनऊ में पेट्रोल 96.57 रुपये और डीजल 89.76 रुपये प्रति लीटर
– जयपुर में पेट्रोल 108.48 रुपये और डीजल 93.72 रुपये प्रति लीटर
– तिरुवनंतपुरम में पेट्रोल 107.71 रुपये और डीजल 96.52 रुपये प्रति लीटर
– पोर्टब्‍लेयर में पेट्रोल 84.10 रुपये और डीजल 79.74 रुपये प्रति लीटर
– पटना में पेट्रोल 107.24 रुपये और डीजल 94.04 रुपये प्रति लीटर
– गुरुग्राम में 97.18 रुपये और डीजल 90.05 रुपये प्रति लीटर
– बेंगलुरु में पेट्रोल 101.94 रुपये और डीजल 87.89 रुपये प्रति लीटर
– भुवनेश्वर में पेट्रोल 103.19 रुपये और डीजल 94.76 रुपये प्रति लीटर
– चंडीगढ़ में पेट्रोल 96.20 रुपये और डीजल 84.26 रुपये प्रति लीटर
– हैदराबाद में पेट्रोल 109.66 रुपये और डीजल 97.82 रुपये प्रति लीटर
इस साल पेट्रोल-डीजल के दामों ने आसमान छू दिया। साल के शुरुआत यानी 1 जनवरी को राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 95.41 रुपये प्रति लीटर और डीजल 86.67 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था। लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद की कीमतों में उछाल देखने को मिला। 6 अप्रैल तक पेट्रोल-डीजल में करीब 10 रुपये का इजाफा हुआ। हालांकि केंद्र सरकार ने बीते 21 मई को पेट्रोल-डीजल से एक्साइज ड्यूटी कम करके लोगों को राहत दी।
 गिरावट के साथ 1,825 डॉलर प्रति औंस रही जबकि चांदी 21.28 डॉलर प्रति औंस पर लगभग स्थिर थी।
अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट के साथ दिल्ली सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोना 205 रुपये टूटकर 50,487 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया।
इससे पिछले कारोबारी सत्र में सोना 50,692 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। चांदी की कीमत भी 926 रुपये की गिरावट के साथ 59,959 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई। पिछले कारोबारी सत्र में चांदी का भाव 60,885 रुपये प्रति किलोग्राम रहा था।
बीते कुछ दिनों से सोने और चांदी में लगतार गिरावट है। ऐसे में अगर आप सोना खरीदने की सोच रहें तो थोड़ा ठहरे! विशेषज्ञों ने कीमत में और कमी आने का अनुमान लगाया है।
50 हजार के नीचे आ सकता है सोना
आईआईएफएल सिक्योरिटीज में वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने इंडिया टीवी को बताया कि जिस तरह से सोने और चांदी में गिरावट आ रही है, उसको देखते हुए यह लग रहा है कि दोनों कीमती धातुओं में अभी और गिरावट आएगी। वैश्विक बाजार में कीमते नीचे आ रही हैं। इसका असर भारतीय बाजार पर भी होगा। आने वाले दिनों में सोना 50 हजार प्रति 10 ग्राम के स्तर को तोड़ सकता है। भाव 48 हजार तक भी आ सकता है। ऐसे में सोना खरीदारी थोड़ा रुककर करना फायदेमंद होगा।
वैश्विक बाजार में भी कीमत गिरी
अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना गिरावट के साथ 1,825 डॉलर प्रति औंस रही जबकि चांदी 21.28 डॉलर प्रति औंस पर लगभग स्थिर थी। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, सोने की कीमतों में नरमी का रुख रहा। न्यूयॉर्क स्थित जिंस एक्सचेंज, कॉमेक्स में सोने की हाजिर कीमत 0.41 प्रतिशत टूटकर 1,825 डॉलर प्रति औंस रह गयी। डॉलर के मजबूत होने तथा बांड प्रतिफल में कमी से सोने की कीमत पर असर पड़ा है।

फर्क: अटल की भाजपा व मोदी-शाह की भाजपा में

फर्क: अटल की भाजपा व मोदी-शाह की भाजपा में
मनोज सिंह ठाकुर  
भोपाल। महाराष्ट्र के राजनीतिक संकट पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधा। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के संसद में दिए बयान को शेयर कर कहा कि भाजपा को दलालों की आवश्यकता है।
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के संसद में सत्ता का लालची कहने पर दिए बयान का वीडियों शेयर किया है। इसमें अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि पार्टी तोड़कर सत्ता के लिए नया गठनबंधन कर के अगर सत्ता हाथ में आती है तो मैं ऐसी सत्ता को चिमटे से भी छूना पंसद नहीं करुंगा। इसके साथ दिग्विजय सिंह ने लिखा कि यह फर्क है अटल जी की भाजपा व मोदी शाह की भाजपा में। शर्म करो। भाजपा को अब केवल गद्दारों की आवश्यकता है। दलालों की आवश्यकता है। कमाऊ पूतों की आवश्यकता है।
बता दें महाराष्ट्र के शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे 40 से ज्यादा विधायकों के साथ गुवाहाटी पहुंच गए है। उन्होंने एनसीपी और कांग्रेस से गठबंधन तोड़ने की शर्त कर रख दी है। इधर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अपना सरकारी आवास खाली करके मातोश्री पहुंच गए है। इस पूरे घटनाक्रम को कांग्रेस बीजेपी का षड्यंत्र बता रहे है। उन्होंने मोदी और भाजपा पर भारतीय लोकतंत्र तोड़ने का आरोप लगाया है।

दिल्ली में 53 मंदिरों को तोड़ने की योजना: संजय सिंह

दिल्ली में 53 मंदिरों को तोड़ने की योजना: संजय सिंह

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। ‌आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह का ने आरोप लगाया है कि बीजेपी ने दिल्ली में 53 मंदिरों को तोड़ने की योजना बनाई है।बीजेपी के लोग देशभर में धर्म के नाम पर ड्रामा करते हैं और दिल्ली में 53 मंदिरों को तोड़ने की अनुमति के लिए केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार को चिट्ठी भेजी है।संजय सिंह ने बुधवार को पार्टी मुख्यालय में कहा, “दिल्ली में एक-दो नहीं, बल्कि 53 मंदिरों को तोड़ने की योजना है,बीजेपी की केंद्र सरकार दिल्ली में 53 मंदिर तोड़ने जा रही है।बीजेपी को सामने आकर इसका जवाब देना पड़ेगा कि यही तुम्हारा असली चेहरा है? केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार को पत्र लिखा है कि धार्मिक समिति से हमें अनुमति चाहिए।

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने एक कागज दिखाते हुए कहा कि यह कागज इस बात का सबूत है कि बीजेपी के लोग हिंदू धर्म के कितने बड़े विरोधी हैं,इसके लिए दिल्ली प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता को सामने आकर दिल्ली की जनता से हाथ जोड़कर माफी मांगनी चाहिए। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि 53 मंदिरों को तोड़ने के मामले में बीजेपी को सामने आकर दिल्ली की जनता को जवाब देना चाहिए।

संजय सिंह ने केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली में तोड़े जाने वाले मंदिरों की जानकारी देते हुए कहा कि त्यागराज नगर में काली मंदिर, हनुमान मंदिर, कृष्ण अध्यात्मिक कुटिर मंदिर, श्रीराम प्राचीन मंदिर, गुरगांव वाली माता मंदिर, कस्तूरबा नगर में हनुमान मंदिर और एक मजार को तोड़ने की योजना बनाई गई है।

शिवसेना के विद्रोही बढ़ रहे हैं, शिंदे भरोसेमंद

शिवसेना के विद्रोही बढ़ रहे हैं, शिंदे भरोसेमंद
कविता गर्ग  
मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के मुंबई में आधिकारिक आवास खाली करने के बाद शिवसेना अब सीधे बागी विधायकों के साथ बातचीत कर रही है और उनमें से प्रत्येक से दूतों के माध्यम से बात की जा रही है, लेकिन विवाद सुलझने की कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही है। शिवसेना के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, “विद्रोह की भयावहता ऐसी है कि बचने की गंभीर संभावना है, लेकिन हम उन्हें उलझा रहे हैं और नियमित बातचीत हो रही है।”
शिवसेना नेता ने कहा कि एकमात्र उम्मीद यह है कि पार्टी को लगता है कि कई विधायक चुनाव में नहीं जाना चाहते हैं, इसलिए यदि वे पार्टी लाइन का उल्लंघन करने के लिए अयोग्य हैं तो उन्हें फिर से चुनाव लड़ना होगा। आधे विधायक लौटे तो सरकार बच सकती है। जैसा कि नेता ने बताया, शिवसेना के विद्रोही बढ़ रहे हैं, उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी शिंदे से ऐसा करने की उम्मीद नहीं कर सकता था क्योंकि वह शीर्ष नेतृत्व के एक भरोसेमंद व्यक्ति थे।
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार देर रात मालाबार हिल स्थित अपना आधिकारिक आवास ‘वर्षा’ खाली कर दिया और अपने परिवार के साथ बांद्रा स्थित अपने निजी घर मातोश्री लौट गए। मंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना विधायकों के बागी समूह से उनकी भावनात्मक अपील के कुछ घंटों बाद यह कदम उठाया गया कि वह (ठाकरे) मुख्यमंत्री और पार्टी अध्यक्ष के रूप में दोनों को छोड़ने के लिए तैयार हैं, बशर्ते कि विद्रोही उनसे मिलें।
ठाकरे (जिन्होंने बुधवार सुबह कोविड-19 पॉजिटिव परीक्षण किया) ने यह भी कहा कि उन्होंने अपना इस्तीफा पत्र तैयार रखा था और कोई भी विद्रोही जा सकता है और इसे राज्यपाल को सौंप सकता है। शिंदे ने जवाब दिया कि हिंदुत्व के लिए कदम उठाने होंगे और भारतीय जनता पार्टी के साथ सरकार बनाने के लिए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस से नाता तोड़ने की अपनी मांग दोहराई।
मुख्यमंत्री द्वारा पद छोड़ने की पेशकश या यहां तक कि उनके (उद्धव ठाकरे) अपने आधिकारिक आवास को खाली करने के फैसले सहित एमवीए सहयोगियों के प्रयासों के बावजूद संकट कम होने का कोई संकेत नहीं दिखाता है।

विकास के लिए समझ-विजन असाधारण: पीएम

विकास के लिए समझ-विजन असाधारण: पीएम
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की। मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री ने जमीनी समस्याओं के बारे में उनकी समझ और भारत के विकास के लिए उनके विजन को असाधारण बताते हुए उनकी तारीफ की। प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करने के बाद द्रौपदी मुर्मू ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की। शुक्रवार को राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन करने से पहले द्रौपदी मुर्मू कई केंद्रीय मंत्रियों और दिग्गज नेताओं से भी मुलाकात करेंगी।
द्रौपदी मुर्मू के साथ मुलाकात की तस्वीरों को ट्विटर पर शेयर करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा, श्रीमती द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की। राष्ट्रपति पद के लिए उनके नामांकन को पूरे भारत में समाज के सभी वर्गों द्वारा सराहा गया है। जमीनी समस्याओं के बारे में उनकी समझ और भारत के विकास के लिए उनका विजन असाधारण है।
प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करने से पहले गुरुवार को ही राजधानी दिल्ली पहुंची द्रौपदी मुर्मू का दिल्ली एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, अर्जुन राम मेघवाल, वीरेंद्र कुमार, भाजपा सांसद मनोज तिवारी और भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया सह प्रभारी संजय मयूख ने स्वागत किया। एयरपोर्ट पर भाजपा के कई अन्य नेताओं और कार्यकर्ताओं ने भी फूल देकर उनका स्वागत किया।
राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए उम्मीदवार के तौर पर द्रौपदी मुर्मू शुक्रवार को अपना नामांकन करेंगी। उनके नामांकन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे।
नामांकन कार्यक्रम को भव्य बनाने और अपने उम्मीदवार के पक्ष में भारी समर्थन दिखाने के लिए भाजपा ने नामांकन के लिए एनडीए के सहयोगी दलों के साथ ही समर्थन का ऐलान कर चुके बीजू जनता दल को भी आमंत्रित किया है। विपक्षी दलों ने यशवंत सिन्हा को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। देश के अगले राष्ट्रपति के लिए 18 जुलाई को चुनाव होना है।

जलापूर्ति में सुधार के लिए मनपा पाइप लाइन बदलेगी

जलापूर्ति में सुधार के लिए मनपा पाइप लाइन बदलेगी
कविता गर्ग 
मुंबई। मलाड और अंधेरी जलापूर्ति में सुधार किया जाएगा। मनपा इसके लिए 7 करोड़ रुपये खर्च करेगी । जलापूर्ति में सुधार करने के लिए मनपा पाइप लाइन बदलेगी। जिसका काम अक्टूबर के बाद शुरू किया जायेगा और 8 महीने में काम पूरा किया जाएगा। मुंबई वासियो को जलापूर्ति करने के लिए मुंबई के बाहर लगभग 150 किमी दूर से पानी लेकर लोगो की प्यास बुझाई जाती है।
सात झीलों से प्रतिदिन 3,850 मिलियन लीटर पानी की सप्लाई की जाती है। मुंबई को पूरे साल भर पानी सप्लाई के लिए सात झीलों में कुल 14,47,363 मिलियन लीटर पानी की जरूरत है। मुंबई में रोजाना होने वाली पानी सप्लाई में प्रतिदिन 27 फीसदी पानी लीकेज में बह जाता है। मनपा इसी लेकिज पर लगाम लगाने के लिए कठोर कार्रवाई शुरू की है।
मुंबई मनपा ने अब सभी को पानी देने का भी कदम उठाया है जिससे पानी की और मांग बढ़ने की भी संभावना विकट की जा रही है। मनपा अब पुरानी पाइप लाइनों को बड़े पैमाने पर बदलने का बीणा उठाया है। इसी कड़ी में मलाड और अंधेरी में पुरानी पाइप लाइनों को बदलने का निर्णय मनपा ने लिया है। जिसके लिए मनपा ७ करोड़ रूपये खर्च करेगी।
मनपा ने मलाड और अंधेरी की पुरानी पाइप लाइनों को बदलने का ठेका दिया है और काम की शुरुआत अक्टूबर महीने में होगी इस तरह की जानकारी मनपा के जलविभाग की ओर से दी गई है। मलाड में गायकवाड़ नगर, म्हाडा कॉलोनी परिसर की पुरानी पाइप लाइन क बदला जायेगा। इसी तरह अंबुजवाड़ी गेट नंबर 8, मलाड मालवानी गांव में 250 मिमी व्यास की पाइप लाइन डालने का काम किया जायेगा।
मलाड मालवानी गेट नंबर 6 पर भी पुरानी पाइप लाइन बदलने का काम किया जायेगा। अंधेरी (पश्चिम) में 250 मिमी व्यास की पुरानी पाइप लाइन को बदलकर नई पाइप लाइन बिछाई जाएगी। यह सभी कार्य अक्टूबर महीने में शुरू होगा और अगले आठ महीनो में पाइप लाइन बदलकर सुचारू रूप से पानी सप्लाई की जाएगी।

मुंबई में बहुत भारी बारिश की संभावना: विभाग

मुंबई में बहुत भारी बारिश की संभावना: विभाग
कविता गर्ग  
मुंबई। मुंबई में जमकर बारिश हो रही है। बुधवार को भी शहर के कई इलाकों में झमाझम पानी बरसा, वहीं भारतीय मौसम विज्ञान विभाग क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक गुरुवार, 23 जून को भी मुंबई शहर में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना को देखते हुए लोगों को अगले पांच दिनों के लिए सचेत रहने र सावधानी से घरों से बाहर निकलने के लिए भी कहा है।
मौसम विभाग के मुताबिक मुंबई में तीन दिन गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार को अलग-अलग इलाकों में आसमान में बादल छाए रहेंगे और भारी बारिश होगी। मौसम विभाग ने भारी बारिश की संभावना को देखते हुए ‘येलो अलर्ट’ भी जारी किया है। बता दें कि एक दिन पहले, सांताक्रूज में 36 मिमी बारिश दर्ज की गई थी, जबकि कोलाबा में 56 मिमी बारिश हुई।
पिछले 24 घंटों के दौरान सांताक्रूज और कोलाबा में क्रमश 17 मिमी और 18 मिमी की मध्यम बारिश हुई है। गौरतलब है कि सांताक्रूज में अब तक 177 मिमी बारिश हुई है जो कि जून में सामान्य मुंबई की बारिश की तुलना में काफी कम है लेकिन कोलाबा में अब तक 291 मिमी बारिश दर्ज की गई है। वहीं आज मुंबई के सांताक्रूज में न्यूनतम तापमान 24 डिग्री और अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। 
कोलाबा में आज न्यूनतम तापमान 25 डिग्री और अधिकतम तापमान 30 डिग्री रहने की संभावना है। जबकि बोरीवली में आज न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।आईएमडी के मुताबिक शहर में 22 जून से 25 जून तक भारी बारिश होने की संभावना है। इसके बाद हल्की से मध्यम बारिश का अनुमान है

शिव-पार्वती की विधि-विधान से पूजा, हरियाली तीज

शिव-पार्वती की विधि-विधान से पूजा, हरियाली तीज
सरस्वती उपाध्याय  
हरतालिका तीज का व्रत देश में अलग-अलग नामों से मनाया जाता है। इस साल 31 जुलाई के दिन हरियाली तीज मनाई जाएगी। हरियाली तीज  को तीजा के नाम से भी जाना जाता है। महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और अच्छे स्वास्थ्य के लिए यह व्रत रखती हैं। यह व्रत निराहार और निर्जल रहकर पति की लंबी आयु के लिए किया जाता है। यह व्रत एक बार शुरू कर देने पर इसे बीच में छोड़ा नहीं जाता है। इस व्रत में भगवान शिव और माता पार्वती की विधि-विधान से पूजा की जाती है एवं पति की लंबी उम्र और अच्छे स्वास्थ्य की कामना की जाती है।
हरियाली तीज व्रत का शुभ मुहूर्त
हरतालिका तीज  2022 की पूजा 31 जुलाई को प्रातः 6:30 से 8:33 के मध्य करना उत्तम है।
हरियाली तीज की प्रदोष पूजा के लिए सायंकाल 6:33 से रात्रि 8:51 तक शुभ मुहूर्त है।
व्रत रखने के नियम
जो महिलाएं पहली बार हरियाली तीज व्रत रखने की सोच रही हैं। वह एक बार यह व्रत शुरु करती हैं तो बीच में नहीं छोड़ना चाहिए।
अगर हरियाली तीज के दौरान महिलाओं को मासिक धर्म हो जाए तो उन महिलाओं को दूर से ही भगवान की कथा सुननी चाहिए। भगवान को नहीं छूना चाहिए।
हरियाली तीज के दिन महिलाएं रात्रि में जागरण करती हैं। भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करती हैं। ऐसी मान्यता है कि जो व्यक्ति इस व्रत में रात में सो जाता है। वह अगले जन्म में अजगर के रूप में जन्म लेता है।

भूस्खलन से बंद राजमार्ग पर फंसे 1,400 वाहन

भूस्खलन से बंद राजमार्ग पर फंसे 1,400 वाहन
इकबाल अंसारी 
श्रीनगर। मरम्मत कार्य के कारण जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बृहस्पतिवार को लगातार तीसरे दिन भी बंद रहा। इस बीच, मौसम की स्थिति में सुधार होने और सड़क साफ करने के अभियान के पूरा होने के बाद राजमार्ग पर फंसे 600 से अधिक वाहनों को निकाल दिया गया। भारी बारिश के परिणामस्वरूप हुए भूस्खलन के कारण मंगलवार शाम से बंद राजमार्ग पर फंसे बाकी 1,400 वाहनों को भी निकालने का प्रयास किया जा रहा है। व्यक्तिगत रूप से सड़क की मरम्मत एवं निकासी कार्यों की निगरानी कर रहे रामबन के उपायुक्त मुसरत इस्लाम ने कहा कि राजमार्ग पर हुई भूस्खलन की 30 घटनाओं में से 25 के मलबे को हटा दिया गया है।
भारी बारिश के चलते रामबन और उधमपुर जिलों में 33 स्थानों पर भूस्खलन और पत्थर टूटकर गिरने की घटनाओं के कारण राजमार्ग अवरुद्ध हो गया था। इसके अलावा, सड़क का 150 फीट लंबा हिस्सा भी टूटकर पानी में बह गया था। यातायात अधिकारियों ने कहा, “बनिहाल रामबन सेक्टर में राजमार्ग पर पांच से छह बंद स्थानों पर यातायात बहाली का काम चल रहा है। देर शाम तक इस सेक्टर में यातायात एक बार फिर शुरू हो जाने की उम्मीद है।जम्मू क्षेत्र के पुंछ और राजौरी जिलों को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले से जोड़ने वाली महत्वपूर्ण मुगल रोड को यातायात के लिए खोल दिया गया है। भारी बारिश के चलते हुए भूस्खलन के कारण मुगल रोड भी दो दिनों तक बंद रही थी। राष्ट्रीय राजमार्ग इलाके के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शब्बीर अहमद मलिक ने  कहा, “जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात की जल्द बहाली सुनिश्चित करने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं।
भारी बारिश के परिणामस्वरूप हुए भूस्खलन और पत्थरों के टूटकर गिरने की घटनाओं के कारण मंगलवार शाम से बंद राजमार्ग को काफी हद तक साफ कर दिया गया है।” वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, पंथियाल और बनिहाल के बीच फंसे 600 से अधिक ट्रक और यात्री वाहनों को निकालकर कश्मीर में उनके गंतव्य तक पहुंचा दिया गया है, जबकि बाकी 1,400 वाहनों को निकालने की कोशिशें जारी हैं।

दलबदलू विधायकों को 5 साल चुनाव लड़ने पर रोक

दलबदलू विधायकों को 5 साल चुनाव लड़ने पर रोक
कविता गर्ग  
मुंबई। महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक उथल-पुथल के बीच उच्चतम न्यायालय के समक्ष एक याचिका दायर की गई है,जारी राजनीतिक उथल-पुथल के बीच उच्चतम न्यायालय के समक्ष एक याचिका दायर की गई है, जिसमें कहा गया है कि दलबदल करने वाले विधायकों को पांच साल तक के लिए चुनाव लड़ने से रोकने के निर्देश दिए जाएं। यह याचिका मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष जया ठाकुर की तरफ से दाखिल की गई है। यह साल 2021 में दायर उनकी लंबित याचिका के संदर्भ में है, जिसमें शीर्ष अदालत ने नोटिस जारी कर केंद्र से जवाब मांगा था। याचिका में अयोग्य घोषित होने या इस्तीफा देने वाले विधायकों के चुनाव लड़ने पर अगले पांच साल तक रोक लगाए जाने पर अंतरिम निर्देश की मांग की गई है। हुआ सिद्ध- कोर्ट ने सुनाई यह सजा अपनी इस याचिका में सुश्री ठाकुर ने कहा है कि सरकार को गिराने के लिए राजनीतिक दलों द्वारा देश भर में एक हालिया प्रवृत्ति विकसित की गई है, जिसके तहत भारतीय संविधान की दसवीं अनुसूची के प्रावधानों को निरर्थक बनाने के लिए सत्तारूढ़ दल के विधायक सदन से इस्तीफा दे रहे हैं। उन्होंने कहा, 'फिर इस्तीफा देने वाले विधायकों को नई सरकार द्वारा मंत्री पद दिया जाता है और उन्हें उपचुनाव के लिए फिर से लड़ने के लिए टिकट भी दिया जाता है।'

उपचुनाव: भाजपा-सपा, आप की प्रतिष्ठा दांव पर लगीं

उपचुनाव: भाजपा-सपा, आप की प्रतिष्ठा दांव पर लगीं

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। देश के छ: राज्यों में लोकसभा की तीन और विधानसभा की सात सीटों पर उपचुनाव के तहत मतदान शुरू हो चुका है। देश के छ: राज्यों में हो रहे इस उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी, समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। लोक सभा सीटों की बात करें तो गुरुवार को उत्तर प्रदेश में दो - आजमगढ़ और रामपुर लोक सभा सीट पर मतदान हो रहा है, वहीं पंजाब में एक लोक सभा सीट संगरूर में वोट डाले जा रहे हैं।
उत्तर प्रदेश की आजमगढ़ सीट सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के इस्तीफे की वजह से खाली हुई थी तो वहीं रामपुर संसदीय सीट पर सपा के ही कद्दावर मुस्लिम नेता आजम खां के इस्तीफे की वजह से उपचुनाव हो रहा है। अखिलेश यादव और आजम खान दोनों इसी वर्ष हुए विधानसभा चुनाव में विधायक चुने गए थे और उन्होंने विधायक बने रहने के लिए लोक सभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। ये दोनों ही सीट समाजवादी पार्टी के गढ़ माने जाते हैं, इसलिए इन पर सपा और अखिलेश यादव की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है, वहीं भाजपा इन सीटों पर जीत हासिल कर यह साबित करना चाहती है कि उत्तर प्रदेश में अब सपा का ग्राफ नीचे की ओर है।
भगवंत मान के पंजाब के मुख्यमंत्री बनने की वजह से संगरूर लोक सभा सीट खाली हो गई थी, जिस पर आज उपचुनाव हो रहा है। इसी वर्ष हुए विधानसभा चुनाव में रिकॉर्ड बहुमत के साथ जीत हासिल कर पंजाब में सरकार बनाने वाली आम आदमी पार्टी के लिए यह सीट जीतना जरूरी हो गया है, क्योंकि उनके मुख्यमंत्री की पुरानी सीट होने होने के कारण यहां पर उनकी प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है।
देश के विभिन्न राज्यों में विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की बात करें तो गुरुवार को दिल्ली , झारखंड, आंध्र प्रदेश और त्रिपुरा की सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहा है।
दिल्ली के राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर मुख्य मुकाबला आप और भाजपा के बीच में है। वहीं त्रिपुरा में 4 सीटों पर हो रहे उपचुनाव को सेमीफाइनल के तौर पर देखा जा रहा है। राज्य में चार विधानसभा क्षेत्रों -अगरतला, टाउन बोरदोवाली, सूरमा, जुबराजनगर पर मतदान जारी है।
सबसे महत्वपूर्ण टाउन बोरदोवाली विधानसभा क्षेत्र है, जहां से मुख्यमंत्री माणिक साहा चुनाव लड़ रहे हैं। राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा के लिए इस चुनाव में जीत हासिल करना बहुत जरूरी है। इसके साथ ही झारखंड और आंध्र प्रदेश में भी एक-एक विधानसभा सीट पर उपचुनाव के तहत मतदान जारी है।

भीषण बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद करें: गांधी

भीषण बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद करें: गांधी
अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने असम में आई भीषण बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों की तरफ मदद का हाथ आगे बढ़ाते हुए कांग्रेस जनों से अपील की है कि वह बाढ़ पीड़ितों के साथ खड़े होते हुए राहत कार्य में हर संभव मदद करें। बृहस्पतिवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए कहा है कि असम में आई भीषण बाढ़ से वहां पर रहने वाले लाखों लोगों का जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। वहां के जनजीवन को सामान्य करने में हम सभी का सहयोग जरूरी है। प्रियंका गांधी वाड्रा ने ईश्वर से प्रार्थना करते हुए कहा है कि वह सभी की रक्षा करें।  बनने के पोस्टर उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से की गई अपील में कहा है कि कांग्रेसजन असम में आई भीषण बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों की मदद के लिए आगे आते हुए उनके साथ आकर खड़े हो और राहत कार्य में सरकार के साथ बाढ़ पीड़ितों की हर संभव मदद करें।


1 जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक उपयोग प्रतिबंधित

1 जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक उपयोग प्रतिबंधित 
अकांशु उपाध्याय/नरेश राघानी 
नईदिल्ली/जयपुर। पर्यावरण प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से लिए गए अहम फैसले के बाद अब प्लास्टिक एवं पॉलीथिन पर प्रतिबन्ध का असर दिखने लगा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा दिल्ली में प्लास्टिक पर प्रतिबन्ध लगाने के बाद राजस्थान सरकार ने भी 1 जुलाई से प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से आदेश भी जारी किया जा चुका है।
राजस्थान सरकार ने सभी राजकीय कार्यालयों में आगामी 1 जुलाई से सिंगल यूज वाली प्लास्टिक वस्तुओं के उपयोग को प्रतिबंधित कर दिया है। पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की ओर से इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए है। विभाग के प्रमुख शासन सचिव शिखर अग्रवाल ने आदेश जारी कर बताया कि 1 जुलाई से सभी सरकारी कार्यालयों में सिंगल यूज वाली प्लास्टिक की चीजों  पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है।
प्रतिबंधित वस्तुओं में सभी प्रकार के प्लास्टिक कैरी बैग, प्लास्टिक/थर्माकोल (पॉलीस्टाइरीन) डिस्पोजेबल कटलरी जैसे कटोरे, ट्रे, कंटेनर आदि, जिनका उपयोग खाने योग्य/पेय परोसने के लिए किया जाता है, कृत्रिम फूल, बैनर, झंडे, फूलदान एवं पेट बोतलें शामिल है। आदेश में बताया गया कि कोई भी सरकारी कार्यालय उपर्युक्त सिंगल यूज वाली प्लास्टिक की वस्तुओं का उपयोग नहीं करेगा और कम्पोस्टेबल प्लास्टिक, बायो-डिग्रेडेबल प्लास्टिक, प्राकृतिक कपड़े, पुनचक्रित कागज सामग्री आदि जैसे विकल्पों का उपयोग कर सकता है, जिनका पर्यावरण पर कम प्रभाव पड़ता है। विभाग ने वर्तमान आदेश पूर्व में लागू किए गए नियमों के क्रम में जारी किया है।
आदेश में बताया गया है कि प्लास्टिक अपशिष्ट  नियम, 2016 को पर्यावरण को अनुकूल तरीके से प्लास्टिक के प्रबंधन के लिए अधिसूचित किया गया है। इन नियमों के प्रावधानों का पालन करने के लिए राज्य सरकार ने 21 जुलाई, 2010 को राज्य में प्लास्टिक कैरी बैग पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने की अधिसूचना जारी की है। वहीं आदेश नहीं मानने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। इसके अतिरिक्त केंद्र सरकार ने 12 अगस्त, 2021 को एक अधिसूचना जारी कर निर्धारित एकल उपयोग वाली प्लास्टिक वस्तुओं को आगामी 1 जुलाई से प्रतिबंधित कर दिया है।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 13,313 नए मरीज मिलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 13,313 नए मरीज मिलें 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। गुरुवार को अपडेट आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटे में 38 मौतें हुई हैं।
देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 13,313 नए मरीज मिलें हैं। इस दौरान 38 मरीजों की मौत हो गई। सक्रिय केस 83,990 हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गुरुवार सुबह 8 बजे अपडेट आंकड़ों के अनुसार देश में दैनिक संक्रमण दर फिलहाल 2.03 फीसदी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने बढ़ते मामलों को लेकर विशेषज्ञों की कोर टीम के साथ आज एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक बुलाई है।
बुधवार के आंकड़ों की तुलना करें तो दैनिक संक्रमण दर 3.94 फीसदी से घटकर 2.03 पर आ गई है। हालांकि कल की तुलना में नए केस आज ज्यादा मिले हैं। बुधवार को 12,249 नए कोरोना मरीज मिले थे, जबकि, मंगलवार को 9,923 मामले सामने आए थे। मौतों का आंकड़ा भी बुधवार की तुलना में दोगुने से ज्यादा बढ़ा है। बुधवार को 13 मौतें हुई थीं, वहीं गुरुवार सुबह अपडेट आंकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटे में 38 मौतें हुई हैं।
10 राज्यों में 1000 से ज्यादा सक्रिय केस
देश में पिछले कुछ हफ्तों में कोरोना वायरस संक्रमण में वृद्धि देखी जा रही है। 10 राज्यों महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली, कर्नाटक, तमिलनाडु, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और गुजरात में 1,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं।
43 जिलों में दैनिक संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा
केरल के 11, मिजोरम के छह और महाराष्ट्र के पांच सहित भारत के 43 जिलों में साप्ताहिक कोविड संक्रमण दर 10 प्रतिशत से अधिक है। सूत्रों ने कहा कि 42 जिलों में, जिनमें राजस्थान के आठ, दिल्ली के पांच और तमिलनाडु के चार जिले शामिल हैं, साप्ताहिक संक्रमण दर 5 से 10 प्रतिशत के बीच है।
ओमिक्रॉन और इसके वैरिएंट जिम्मेदार
किसी भी नए उभरते हुए वैरिएंट या सब-वैरिएंट की संभावना की जांच करने और संक्रमण के पीछे के कारणों का पता लगाने के लिए निर्देश जारी किया गया था। भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) के विशेषज्ञों के अनुसार, ओमिक्रॉन और इसके वैरिएंट मुख्य रूप से बीए.2 (BA.2)और बीए.2.38 (BA.2.38) कोविड के मामलों में मौजूदा वृद्धि के पीछे हैं।  बीए.2 और इससे जुड़े वायरस 85 फीसदी मामलों में मिले हैं, 33 फीसदी सैंपल में बीए.2.38 मिला है।

मानक के अनुसार खंभे नहीं लगाता बिजली विभाग

मानक के अनुसार खंभे नहीं लगाता बिजली विभाग
दुष्यंत टीकम  
महासमुंद। छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के झलप ग्राम पंचायत में बिजली विभाग के कर्मचारियों द्वारा ग्रामीणों के साथ साथ सरकार को भी चुना लगाने का मामला सामने आया है,जानकारी के अनुसार बिजली विभाग द्वारा नव निर्माण बिजली के खंभे को खोदकर सिर्फ मिट्टी से खंभे भर दिए जाते हैं। जिसका परिणाम होता है कुछ दिन बाद ख़म्भे लटक जातें हैं। जबकि सरकार के मानक के हिसाब से खम्भे लगाने के बाद सीमेंट, रेती गिट्टी डालकर खम्भे को मजबुती दी जानी चाहिए। लेकिन ऐसा नही किया जाता है, जिसकी जानकारी होने पर मीडिया की टीम ने इसकी जाँच पड़ताल की जांच में ग्रामीणों द्वारा जी बात बताई गई थी वो सही निकला। बिजली के खम्भे सीमेंट रेती मिट्टी के स्थान पर खानापूर्ति करते हुवे सिर्फ और सिर्फ मात्र मिट्टी पटिंग से खम्भे खड़े कर दिये गये है। झलप के बिजली अधिकारियों कर्मचारियों से मिली भगत कर के ठेकेदारों ने लाखों रुपए का वारा न्यारा आसानी से कर रहें है। परिणाम स्वरूप मिट्टी से दबाए गए खम्भे पहली बरसात में ही पूरी तरह से झुक गए हैं? जिससे हल्की सी हवा पानी चलने एवं गिरने से 4 से 5 दिन तक गांव में लाइट गुल हो जाती है, जिससे गाँवो में कई कई दिनों तक लाइट नही मिलती है, जिसे लेकर ग्रामीणों द्वारा फोन लगाया जाता है तो ग्रामीणों का फोन तक बिजली कर्मचारियों द्वारा नही उठाया जाता था। हार कर ग्रामीण उपभोक्ता अपनी जीवन अंधेरे में ही व्यतीत करने के लिए मजबूर है झलप बिजली ऑफिस कार्यालय में अधिकारी कर्मचारी अपनी सुविधा के लिए प्राइवेट व्यक्तियों को अपना असिस्टेंट शागिर्द बनाकर रखते हैं। प्राइवेट व्यक्ति आज भी कार्यालय में बैठकर उपभोक्ताओं से  समस्त बिजली संबंधि  कार्यालय एवं लाइट संबंधित कार्य को खुले आम अंजाम दे रहा है। इससे झलप वितरण केंद्र में पदस्थ जूनियर इंजीनियर शैलेश कुमार पाटले का आशीर्वाद प्राप्त है। शैलेश कुमार पाटले इसी बाहरी व्यक्ति के जरिए नियम कानून ताक पर रखकर गलत तरीके से  पैसा कमा रहा है! इतना ही नही विभाग भी शैलेश कुमार पटेल के ऊपर मेहरबान है कई वर्षों से इसी ग्राम।के पदस्थ है, जिसके क्रियाकलापों से कई गाँव के लोग त्रस्त हैं। विभाग द्वारा शैलेश कुमार  पाटले के क्रियाकलापों को गम्भीरता से नही लेता है तो निश्चित रूप से किसी दिन ग्रामीणों के कोप भाजन का शिकार बिजली विभाग को होना पड़ेगा।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-258, (वर्ष-05)
2. शुक्रवार, जून 24, 2022
3. शक-1944, आषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि-एकादशी, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 29 डी.सै., अधिकतम-39+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

नगर निगम चुनाव में हर तरह के हथकंडे अपनाए

नगर निगम चुनाव में हर तरह के हथकंडे अपनाए अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। नगर निगम चुनाव की मतगणना के नतीजों पर अपनी खुशी जताते हुए...