शुक्रवार, 26 फ़रवरी 2021

ईरान के सशस्त्र समूहों के इन्फ्रास्ट्रक्चर पर हमला

वाशिंगटन डीसी/ तेहरान। अमेरिकी सेना ने पूर्वी सीरिया में ईरान के समर्थन वाले सशस्त्र समूहों पर हमले किए हैं। अमेरिका ने इराक में अपने सैनिकों के ठिकानों पर हुए रॉकेट हमलों के जवाब में यह कार्रवाई की है। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा, ‘प्रेसिडेंट जो बाइडेन के निर्देश पर अमेरिकी मिलिट्री फोर्सेज ने पूर्वी सीरिया में ईरानी सशस्त्र समूहों के इन्फ्रास्ट्रक्चर पर हमला किया है।’ कहा जा रहा है कि इस कार्रवाई में सशस्त्र समूहों के करीब 17 लड़ाके मारे गए हैं। अमेरिकी प्रवक्ता ने साफ तौर पर कहा कि यह कार्रवाई इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर हुए रॉकेट हमलों के जवाब में की गई है। जॉन किर्बी ने कहा, ‘अमेरिकी और नाटो सेनाओं के सैन्य ठिकानों पर हाल ही में इराक में हुए हमलों के जवाब में यह एक्शन हुआ है।’ पेंटागन के मुताबिक अमेरिकी फाइटर जेट्स ने 7 ठिकानों को निशाना बनाते हुए 7 500-lb बम गिराए हैं। इनमें से एक ठिकाना ईरान और सीरिया के बॉर्डर पर स्थित क्रॉसिंग भी है। अमेरिका का कहना है कि इस क्रॉसिंग का इस्तेमाल ईरान समर्थित उग्रवादी समूह हथियारों के मूवमेंट के लिए करते थे। किर्बी ने कहा कि इन हमलों में ईरान समर्थित समूहों के कई ठिकाने तबाह हो गए हैं। इन समूहों में कताएब हिजबुल्ला और कताएब सैयद अल-सुहादा शामिल हैं। सीरिया के एक मानवाधिकार संगठन ने अमेरिकी हमलों में एक दर्जन से ज्यादा ईरान समर्थित लड़ाकों के मारे जाने की पुष्टि की गई है। सीरियन ऑब्जरवेट्री फॉर ह्यूमन राइट्स के डायरेक्टर रामी अब्दुल रहमान ने कहा, ‘अमेरिकी हमलों में तीन ट्रक तबाह हो गए हैं, जिन पर ईरान समर्थित समूहों ने हथियार लाद रखे थे। इसके अलावा बड़ी संख्या में मौतें भी हुई हैं। शुरुआती जानकारी मिली है कि करीब 17 लड़ाके मारे गए हैं।’ ग्रुप का कहना है कि मारे गए सभी लड़ाके हाशद अल-शाबी ग्रुप के हैं। जो ईरान समर्थित सशस्त्र समूहों का प्रमुख संगठन है।

स्टेडियम की पिच टेस्ट क्रिकेट के अनुकूल थी, या नहीं

तय करेगी कि अहमदाबाद की पिच खराब थी।

अहमदाबाद। इंग्लैंड के कप्तान जो रुट ने तीसरे डे नाइट टेस्ट में भारत से हारने के बाद कहा कि यह अंतरर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद को निर्णय करना है, कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम की पिच टेस्ट क्रिकेट के अनुकूल थी, या नहीं। भारत ने इंग्लैंड को तीसरे डे नाइट टेस्ट मुकाबले में मात्र दो दिन के अंदर हराकर इतिहास रच दिया। भारत ने यह मुकाबला दूसरे दिन 10 विकेट से जीत कर चार मैचों की श्रृंखला में 2-1 की बढ़त बना ली और आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने का अपना दावा मजबूत कर दिया। भारत के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की टेस्ट सीरीज के तीसरे मैच में करारी हार के बाद इंग्लैंड की टीम अहमदाबाद की पिच पर सवाल उठा रही है। कप्तान रूट का मानना है। कि पिच टेस्ट क्रिकेट के लिए अनुकूल थी। या नहीं, यह फैसला करना खिलाड़ियों का काम नहीं बल्कि आईसीसी का है। जब रुट से यह पूछा गया कि अहमदाबाद की पिच टेस्ट मैच के लिए उपयुक्त थी। या नहीं तब उन्होंने कहा। यह बहुत अच्छा सवाल है। और इसका जवाब देना मुश्किल है। मुझे लगता है। इस इस पिच पर खेलना बहुत चुनौतीपूर्ण है। यह फैसला करना खिलाड़ियों का काम नहीं है, कि पिच टेस्ट क्रिकेट के लिए अनुकूल थी। या नहीं यह फैसला करना आईसीसी का कार्य है। खिलाड़ियों के रूप में हम सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करते हैं।

भारत हिंसक प्रयास को अनदेखा नहीं करेगा: शिवराज

भारत किसी भी हिंसक प्रयास को अनदेखा नहीं करेगा-शिवराज

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भारत किसी भी हिंसक प्रसास को अनदेखी नहीं करेगा। शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट के माध्यम से कहा 'आज भारत के लिए गौरव का वह दिन है। जिस दिन हमारे वीरों ने यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में शत्रु देश के घर में घुसकर कायरों को जवाब दिया। 2019 में हमारी जवाबी कार्रवाई को दुनिया ने देखा और माना कि दुष्टों को उनकी ही भाषा में जवाब देना सही है। शिवराज सिंह चौहान ने बालकोट एयर स्टाइक को लेकर ट्वीट के जरिये कहा भारत बदल गया है। हमारी तरफ कोई आंख दिखायेगा तो उसे यथोचित जवाब दिया जायेगा। अब किसी भी हिंसक प्रयास को यह देश अनदेखा नहीं करेगा। भारत को नये आत्मविश्वास से भरने के लिए देशवासियों की ओर से प्रधानमंत्री मोदी जी का अभिनंदन करता हूं।

जमीनी विवाद को लेकर खूनी संघर्ष में 10 घायल

जमीनी विवाद को लेकर खूनी संघर्ष में 10 घायल

भदोही। उत्तर प्रदेश में भदोही के शहर कोतवाली इलाके के पिपरी उमरी गांव में जमीनी विवाद को लेकर ठाकुरों का दलितों के बीच जमकर लाठी-डंडे चले जिसमें 10 लोग घायल हो गए हैं। सभी घायलों को भदोही शहर के महाराजा बलवंत सिंह राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। पुलिस सूत्रों ने यहां कहा कि शुक्रवार की सुबह लगभग 8:00 बजे पिपरी के उमरी गांव में उम्र बहादुर सिंह द्वारा एक जमीन पर निर्माण कराया जा रहा था। जिसका विरोध दलित परिवार के सेवालाल हरिजन द्वारा किया गया। शिकायत से नाराज ठाकुर परिवारों ने दलित बस्ती के लोगों पर हमला कर दिया और जमकर मारपीट की। मारपीट से गांव में अफरा-तफरी मच गई। मौके पर कोतवाली पुलिस सहित पीआरबी डायल 112 के पुलिसकर्मी भी पहुंच गए। इस मारपीट में दलित परिवार के प्रमोद,सेवालाल, विनोद, मनोज ,प्यारी देवी, कंचन, पूजा, नीतू, महेंद्र और विनोद कंचन को चोट आई हैं। घायलों का इलाज अस्पताल में कराया जा रहा है। दलित परिवारों ने इस संबंध में भदोही कोतवाली में तहरीर दी है।

वैश्विक कारकों से घरेलू शेयर बाजार गिरकर खुला

वैश्विक कारकों से घरेलू शेयर बाजार हुआ धड़ाम
मनोज सिंह ठाकुर 
मुंबई। एशियाई बाजारों से मिले कमजोर संकेतों के कारण घरेलू शेयर बाजार औंधे मुंह गिरकर खुला। इस दौरान बीएसई का सेंसेक्स 50,000 अंक से नीचे फिसल गया। बीएसई का सेंसेक्स शुरूआती कारोबार में 50256.71अंक पर खुला और देखते ही देखते थे। 50400.39 अंक के स्तर पर पहुंच गया। इसके बाद बिकवाली शुरू हो गई। जिससे यह 49950.75 अंक के निचले स्तर तक फिसला। अभी यह 847.19 अंक गिरकर 50192.19 अंक पर कारोबार रहा है। एनएसई का निफ्टी गिरकर 14888.60 अंक पर खुला। इसके बाद यह 14919.45 अंक के उच्चतम स्तर तक गया लेकिन बिकवाली होने से यह 14777.55 अंक के निचले स्तर तक फिसला। अभी यह 227.40 अंक गिरकर 14870.25 अंक पर कारोबार कर रहा है।

सड़क दुर्घटना में 6 की मौत, 50 से अधिक घायल

सड़क दुर्घटना में छह की मौत, 50 से अधिक घायल

ढाका। बंगलादेश के ढाका-सिल्हट राजमार्ग पर राशिदपुर में शुक्रवार को ईएनए परिवहन और लंदन एक्सप्रेस की दो बसों के बीच आमने-सामने की टक्कर में कम से कम छह लोगों की मौत हो गयी और 50 से अधिक घायल हो गये। पुलिस ने बताया कि यह हादसा आज सुबह लगभग 0800 बजे साउथ सुरमा थाने के राशिदपुर में हुआ। उन्होंने बताया कि ईएनए परिवहन (ढाका मेट्रो बी-14-6311) की सिल्हट से निकलकर ढाका की ओर आ रही बस और लंदन एक्सप्रेस (ढाका मेट्रो-बी 15-316) की विपरीत दिशा से जा रही बस के बीच भीषण टक्कर हो गयी। हादसे में छह लोगाें की मौत हो गयी और 50 से अधिक लोग घायल हो गये।इस बीच, पुलिस ने घटनास्थल पर चार व्यक्तियों के शव बरामद किए और उन्हें मैग ओस्मानी मेडिकल कॉलेज के मुर्दाघर भेज दिया। घटनास्थल पर पुलिस के पहुंचने से पहले एक अन्य शव और कई घायल यात्रियों को अस्पताल ले जाया गया। लंदन एक्सप्रेस के एक यात्री जसीम अहमद ने बताया कि ढाका से निकलने के बाद ही बस चालक बार-बार ओवरटेक कर रहा था। उसे कई बार चेतावनी भी दी गयी लेकिन उसने नहीं सुनी। जसीम ने बताया कि चालक बहुत तेज रफ्तार से बस चला रहा था।

यूपी: विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे श्रीकांत

विकास योजनाओं को परखेंगे श्रीकांत 
हरिओम उपाध्याय 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा शुक्रवार, शनिवार और रविवार को बरेली, मेरठ और मथुरा, वृंदावन की विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे। साथ ही पार्टी पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से संवाद भी करेंगे। आधिकारिक प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया कि श्रीकान्त शर्मा आज बरेली के विकास भवन में विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे जिसमें जिले के सभी विभागों के अधिकारी शामिल होंगे। इसके बाद वे मेरठ के लिए निकल जाएंगे। रात्रि में मेरठ में पार्टी के कोर ग्रुप की बैठक में सम्मिलित होंगे। शनिवार सुबह विकास भवन सभागार में जिले की सभी विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे। इसके बाद मथुरा एवं वृंदावन के विकास कार्यों को लेकर अधिकारियों के साथ निरीक्षण भवन में समीक्षा बैठक करेंगे। शाम को वृंदावन कुम्भ मेला क्षेत्र की सुविधाओं का निरीक्षण करेंगे। रविवार सुबह मेला क्षेत्र की सुविधाओं के संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इसके बाद विधान सभा सत्र में प्रतिभाग के लिए लखनऊ को प्रस्थान करेंगे।

गुजरात भाजपा का मजबूत गढ़ रहा और अब भी है

गुजरात में नये सियासी समीकरण 

गांंधीनगर। इसमें कोई संदेह नहीं, कि गुजरात भाजपा का लम्बे अर्से से मजबूत गढ़ रहा है और अब भी है। गुजरात के ही नेता और केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इस बात को नगर निकाय चुनाव के नतीजे आने के बाद विशेष रूप से कहा है, कि गुजरात भाजपा का गढ़ था। भाजपा का गढ़ है और भाजपा का गढ़ रहेगा। उन्होंने कहा, कि स्थानीय निकाय के चुनावों ने यह साबित भी कर दिया है। अमित शाह की बात में दम है... गुजरात में नगर निकाय के चुनाव 21 फरवरी 2021 को सम्पन्न हुए और 24 फरवरी को नतीजे मिले। नगर निकाय की 576 सीटों में भाजपा को 483 सीटों पर सफलता मिलने का मतलब भी यही है। कि अमित शाह ठीक कह रहे हैं। इस चुनाव में कुछ अन्य संकेत भी मिले हैं। इनमें पहला संकेत है। कि गुजरात में कांग्रेस और भाजपा के बाद अरविन्द केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) ने भी हाजिरी दर्ज करा दी है। आप को सूरत में 27 सीटों पर विजयश्री हासिल हुई है। हालांकि अहमदाबाद, बड़ोदरा, जामनगर, भावनगर और राजकोट में पार्टी का कोई उम्मीदवार जीत दर्ज नहीं कर सका। इसके बावजूद आम आदमी पार्टी की 27 सीटों पर जीत इसलिए मायने रखती है। क्योंकि मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को सिर्फ 55 सीटों पर ही जीत नसीब हो पायी। गुजरात के 6 नगर निगमों में कुल 144 वार्डों में भाजपा ही भाजपा छायी रही लेकिन सूरत में आप की घनी बदली बदलाव के संकेत तो कर ही रही है। सवाल उठता है। कि क्या गुजरात के लोग भाजपा और कांग्रेस की राजनीति से त्रस्त थे। गुजरात के लोगों को एक विकल्प चाहिए था और आम आदमी पार्टी के रूप में उनको यह विकल्प मिला है। आप का गुजरात में राज्यस्तर का कोई ऐसा चेहरा नहीं है जो राज्यव्यापी अपील पैदा करता हो। ऐसे में सूरत में आप को सफलता क्यों मिली। जानकारों का कहना है। कि पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) और कांग्रेस के बीच खींचतान के चलते कांग्रेस के पास से जुड़े लोग आप से जुड़ कर चुनाव लड़े। सौराष्ट्र पाटीदार समाज बहुल क्षेत्र में इन कार्यकर्ताओं ने आप प्रत्याशियों के समर्थन में जबरदस्त माहौल बनाया। इसका परिणाम सामने है। गुजरात की अहमदाबाद- वडोदरा-सूरत-राजकोट-भावनगर और जामनगर में भाजपा ने अपनी सत्ता बरकरार रखी है। कांग्रेस को इन चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा। कुल 576 में से 575 सीटों में से भाजपा ने 483 सीटों पर कब्जा कर लिया। कांग्रेस को 55 सीट से संतोष करना पड़ा। अहमदाबाद की एक सीट निर्विरोध घोषित होने से 575 सीटों के लिए मतदान हुआ था। गत 23 फरवरी को मतगणना शुरू होने पर सबसे चौंकाने वाले परिणाम 120 सदस्यीय सूरत महानगर पालिका में सामने आए-जहां कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला। आम आदमी पार्टी ने गुजरात की चुनावी राजनीति में सफल एंट्री करते हुए रिकॉर्ड 27 सीटों पर जीत दर्ज की। जामनगर महानगर पालिका में बसपा को भी तीन सीटें मिलीं। आम आदमी पार्टी (आप) ने कांग्रेस की 90 फीसदी सीटों पर कब्जा कर लिया है। ये सभी सीटें पाटीदार क्षेत्रों की हैं। पिछली बार कांग्रेस ने 36 सीटें जीती थीं। इस बार इनमें से 27 आप ने हासिल कर ली हैं। पाटीदार क्षेत्रों के अलावा आप को अन्य किसी क्षेत्र में जीत नहीं मिली है। पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पास) ने पिछली बार कांग्रेस का समर्थन किया था इस बार विरोध में थी। पास अनामत आंदोलन के दौरान उसके कार्यकर्ताओं पर किए केस वापस नहीं लेने से अभी भी भाजपा से नाराज है। इस बार वह आप की तरफ झुक गई और उसे 27 सीटों पर जीत दिला दी। इनमें से अधिकतर वही सीटें हैं। जिन पर 2015 में कांग्रेस जीती थी।2015 में वार्ड- 2 में 3, वाॅर्ड- 3, 4, 5, 15, 16, 18 और 29 में कांग्रेस की पैनल जीती थी। इस बार आप की पैनल ने वाॅर्ड-2, 3, 4, 5, 16 और 17 की सभी सीटें जीत ली हैं। पिछली बार वार्ड-29 में कांग्रेस की पैनल जीती थी। वार्ड-24 लिंबायत में कांग्रेस के 2, वार्ड-11 में 2 और वार्ड-28 में 1 उम्मीदवार जीता था। वार्ड-7 में 2वार्ड 8 में एक और वार्ड-2 में एक सीट भाजपा की हथिया ली है। अब वह मनपा में कांग्रेस की जगह विपक्ष की भूमिका में बैठेगी। उसे जनता के मुद्दों को मजबूती से उठाना होगा। तभी वह स्थानीय राजनीित में आगे का सफर तय कर पाएगी।सूरत में 'आप' की जीत से झल्लाए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पाटिल ने कहा कि सोने की थाली में लोहे का कील ठोंक दिया गया है। इसका भी रास्ता निकालूंगा। गुजरात की 6 महानगर पालिकाओं में भाजपा की भव्य विजय हुई है। और कांग्रेस का पूरी तरह से सफाया हो गया है। हालांकि सूरत में आम आदमी पार्टी की जीत उल्लेखनीय है। अहमदाबाद के खानपुर में भाजपा कार्यालय पर जीत का जश्न शुरू हो गया था। गुजरात के सूरत में हुए म्युनिसिपल चुनावों में आम आदमी पार्टी ने जबर्दस्त प्रदर्शन किया है। सूरत में आम आदमी पार्टी (आप) को 27 सीटों पर जीत मिली है। आप के इस प्रदर्शन से उत्साहित होकर पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल 26 फरवरी को गुजरात का दौरा करने वाले हैं। वहां वह एक रोड शो में हिस्सा लेंगे। अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा, गुजरात ने एक नई राजनीति की शुरूआत की है। ईमानदार राजनीति, काम की राजनीति, अच्छे स्कूलों की राजनीति, सस्ती और 24 घंटों की बिजली की राजनीति, अच्छे अस्पतालों की राजनीति। हम सब मिलकर गुजरात को संवारेंगे। मैं 26 फरवरी को सूरत आ रहा हूं आपका शुक्रिया करने। अपने दूसरे ट्वीट में अरविंद केजरीवाल ने लिखा है। गुजरात के नगर निगम चुनाव में आप का शानदार प्रदर्शन हुआ है। मैं गुजरात के लोगों का तहे दिल से शुक्रिया करना चाहता हूं। मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं हमारा एक-एक उम्मीदवार अपनी जिम्मेदारी पूरी इमानदारी से निभाएगा। गुजरात निकाय चुनाव में सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है। सूरत नगर निकाय की। यहां की सभी 120 सीटों के परिणाम आ चुके हैं। जिसमें बीजेपी को 93 सीटों पर जीत मिली है तो आम आदमी पार्टी (आप) ने अपने पहले चुनाव में शानदार प्रदर्शन करते हुए 27 सीटों पर जीत दर्ज की। हालांकि कांग्रेस का इस बार खाता भी नहीं खुला। वो पार्टी जिसने यहां की सत्ता पर एकछत्र राज किया हो उसका ये हाल होना कहीं न कहीं इस पार्टी के भविष्य के अंधकार को दर्शा रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यहां के परिणामों पर खुशी जताते हुए कहा है। कि नई राजनीति की शुरुआत करने के लिए गुजरात के लोगों को दिल से बधाई। आप की इस जीत से बीजेपी के वोट बैंक पर असर पड़ा है। लेकिन कांग्रेस का पूरी तरह से सफाया ही हो गया। उसका यहां खाता भी नहीं खुला। वहीं दूसरी तरफ आप के जीतने वाले सभी उम्मीदवार 22 से 40 साल की उम्र के हैं। इनके सोशल मीडिया पर अच्छे-खासे फॉलोअर्स हैं। क्या यह गुजरात में नये सियासी समीकरण का संकेत है।

सोशल मीडिया: फेसबुक ने खातों पर लगायी रोक

सोशल मीडिया: फेसबुक ने खातों पर लगायी रोक

नेपीडॉ। सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने बृहस्पतिवार को बताया कि वह एक फरवरी को म्यांमार की सत्ता पर सेना के कब्जे के मद्देनजर सेना से जुड़े सभी खातों और उसके कब्जे वाली कंपनियों के विज्ञापनों पर रोक लगा रही है। फेसबुक ने एक बयान में कहा कि वह म्यांमार में तख्तापलट के बाद के हालात को आपातकाल समझती है और यह प्रतिबंध घातक हिंसा समेत तख्तापलट के बाद हुई घटनाओं के मद्देनजर लगाया गया है। कंपनी तख्तापलट के बाद से सेना के नियंत्रण वाले मयावाड्डी टीवी और सरकारी टेलीविजन प्रसारक एमआरटीवी समेत सेना से जुड़े कई खातों को पहले ही प्रतिबंधित कर चुकी है। फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया मंचों को 2017 में काफी आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा था। उस समय मानवाधिकार समूहों ने आरोप लगाया था, कि उसने म्यांमार के मुस्लिम रोहिंग्या अल्पसंख्यकों के खिलाफ नफरत पैदा करने वाली सामग्रियों को रोकने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए। जुंटा ने फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया मंच को बाधित करने की कोशिश की है। लेकिन उसके प्रयास निष्प्रभावी रहे।

माफियाओं पर योगी सरकार का हंटर चलेगा तेज

माफियाओं पर योगी सरकार का हंटर चलेगा तेज़- दागी खाकी वालो की भी खैर नहीं राशिद अली
हरिओम उपाध्याय 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने माफियाओं के खिलाफ जारी प्रदेशव्यापी अभियान को और तेज करने के निर्देश दिए हैं। जोनल पुलिस महानिदेशकों के साथ प्रदेश की कानून-व्यवस्था की समीक्षा करते हुये श्री योगी ने गुरूवार को कहा कि माफियाओं को नेस्तनाबूद करने के लिए जो कुछ भी जरूरी हो, पूरी तत्परता से करें। हर एक कार्रवाई योजनाबद्ध ढंग से फोकस्ड होकर की जाए। इसमें किसी तरह की सुस्ती स्वीकार्य नहीं है। हर एक माफ़िया के खिलाफ होने वाली कार्रवाई का भरपूर प्रचार-प्रसार भी हो। यह अन्य माफियाओं और अराजक प्रवृत्ति के लोगों के लिए खुली चेतावनी जैसा होगा। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, पुलिस महानिदेशक और एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार की मौजूदगी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जोनल एडीजी को साफ तौर पर निर्देशित किया कि वह थाना और सर्किल स्तर की गतिविधियों पर स्वयं नजर रखें। इसकी रिपोर्ट बनाएं और मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजें। यह सुनिश्चित करें कि पुलिस घटनाओं के दृष्टिगत प्रो-एक्टिव रहे। मुख्यमंत्री ने अपर मुख्य सचिव गृह से माफियाओं के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट व अन्य कानूनों के तहत हुई कार्रवाई और वसूली गई संपत्तियों के विवरण भी लिया। प्रदेश में जल्द होने जा रहे पंचायत चुनावों और अगले तीन माह के भीतर पड़ने वाले पर्व-त्योहारों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने जोनल अपर पुलिस महानिदेशकों को निर्देश दिया कि वह जिलाधिकारियों और एसएसपी/एसपी से संवाद करते हुए यह सुनिश्चित करें कि किसी भी दशा में खराब रिकॉर्ड अथवा संदिग्ध छवि वाले पुलिसकर्मियों को महत्वपूर्ण पोस्टिंग न मिले। बेहतर हो ऐसे पुलिस कार्मिकों की सूची तैयार की जाए। थाना और सर्किल स्तर से ऐसी शिकायतें प्राप्त होना उचित नहीं है। इस पर गंभीरता से कार्यवाही हो। अगर कहीं कोई समस्या हो तो तत्काल शासन से संपर्क करें। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति बीते चार वर्षों में बहुत अच्छी हुई है। इसे और बेहतर बनाये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जारी किए गए शस्त्र लाइसेंसों की सतत समीक्षा की जाए। पंचायत चुनावों के दृष्टिगत शस्त्र जमा कराने की कार्यवाही भी तेजी से पूरी की जाए। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव, अगले वर्ष के विधानसभा चुनाव का रिहर्सल सरीखा है। अराजक और आपराधिक प्रवृत्ति के लोग अपनी कुत्सित कोशिश करेंगे। ऐसे लोगों पर एडीजी कार्यालय स्तर से भी नजर रखी जानी चाहिए। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से फेक न्यूज अथवा समाज में वैमनस्य फैलाने वालों की सतत मॉनिटरिंग के भी निर्देश दिए। समीक्षा बैठक में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री शशि प्रकाश गोयल और प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद भी उपस्थिति रहे।

अभिव्यक्ति' को सलाखें नहीं, 'आजादी' चाहिए

अभिव्यक्ति' को सलाखें नहीं 'आजादी' चाहिए
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। किसी मसले पर सरकार से असहमति रखना देशद्रोह नहीं हो सकता है। लेकिन जब देश में किसान आंदोलन चल रहा हो। उस दशा में विदेशी लोगों से मिलकर टूलकिट को वायरल करना क्या गलत कार्य नहीं है। ग्रेटा थनबर्ग और दिशा के बीच हुए चैट खुद इसकी गवाही देते हैं। दिशा ने खुद पर शिकंजा कसने की बात चैट में कही थी। देशद्रोह के नाम पर किसी को बेवजह परेशान नहीं किया जाना चाहिए लेकिन टूलकिट की सच्चाई भी देश के सामने आनी चाहिए। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने जलवायु एक्टिविस्ट दिशा रवि को एक लाख के निजी मुचलके पर चर्चित टूलकिट मामले में तिहाड़ जेल से रिहा करने का आदेश दिया है। अदालत के आदेश के बाद दिल्ली पुलिस खुद कठघरे में खड़ी हो गई है। सवाल उठता है कि क्या सरकार के खिलाफ बोलना, लिखना देशद्रोह है। वास्तव में अगर ऐसा है। तो यह उन्मुक्त लोकतंत्र की अंतिम सांस है। अदालत की तरफ से जो तीखी टिप्पणी की गई है। उसका साफ संदेश भी तो यही है। अदालत की तरफ से यह संदेश देने की कोशिश की गई है। कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को किसी तरह बाधित न होने दिया जाए। सरकार से असहमति का यह मतलब देशद्रोह नहीं होता है। अपनी बातों को समझाने के लिए अदालत ने ऋग्वेद का भी उदाहरण दिया है। जमानत आम आदमी का अधिकार भी है। अगर उसने कोई बड़ा जुर्म नहीं किया है। इस मामले में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी। हालांकि अदालत ने साफ तौर पर कह दिया है कि टूलकिट में हिंसा फैलाने की कोई बात नहीं है। इससे साफ जाहिर होता है। कि दिशा रवि और दूसरे लोग भविष्य में देशद्रोह के आरोप से मुक्त हो सकते हैं। पटियाला हाउसकोर्ट ने साफ तौर पर कहा है। कि किसी भी देश के नागरिक देश को दिशा देने वाले होते हैं। उन्हें सिर्फ इसलिए जेल नहीं भेजा जा सकता है। कि वह सरकार की नीतियों से सहमत नहीं हैं। सरकार से असहमति और नीतियों का विरोध लोकतंत्र को और पारदर्शी एवं स्वस्थ बनाता है। नागरिकों की आलोचनाओं को दृष्टिगत रखते हुए सरकारें अपनी कार्यप्रणाली और करतब में विशेष सुधार ला सकती हैं। देश में सजग नागरिक मजबूत राष्ट्रवाद का द्योतक है। सरकार की हां में हां मिलाने वाले लोगों से भले इस तरह के सजग नागरिक हैं। अदालत की तरफ से ऋग्वेद का उदाहरण देते हुए कहा गया है। कि अलग-अलग विचारों को रखना हमारी सभ्यता और मजबूत लोकतंत्र का आधार है। किसी भी मुद्दे पर सरकार से असहमति सामान्य सी बात है। हमें इस तरह के विचारों से कोई असहमति नहीं होनी चाहिए। जबकि दिल्ली पुलिस ने दिशा रवि की जमानत का विरोध किया। पुलिस ने कहा कि उन्होंने व्हाट्सएप ग्रुप बनाया और टूलकिट को एडिट किया। पुलिस की दलील को अदालत ने अमान्य कर दिया और कहा कि व्हाट्सएप ग्रुप बनाना कोई राष्ट्र द्रोह नहीं होता है। अदालत ने कहा कि दिशा रवि की तरफ से की गई गतिविधियों का कोई ऐसा लिंक भी नहीं मिला है। जो देशद्रोह की श्रेणी में आता हो, जिसके आधार पर उसे जमानत न दी जाए। अदालत की तरफ से की गई तल्ख टिप्पणियों का संज्ञान हमें लेना चाहिए। बेवजह किसी भी नागरिक को परेशान नहीं करना चाहिए। अभिव्यक्ति की आजादी बनाए रखना भी स्वस्थ लोकतंत्र की परंपरा और सरकारों का दायित्व भी है। टूलकिट मामले में दिशा रवि और दूसरे लोगों को अदालत से राहत भले मिल गईं हो लेकिन दिल्ली के लाल किले पर 26 जनवरी को जो कुछ हुआ वास्तव में इसे हम उचित नहीं ठहरा सकते हैं। दिल्ली पुलिस की जांच में जो तथ्य सामने आए हैं। उससे तो यहीं लगता है। कि पंजाब में खालिस्तान से जुड़े लोग एक बार फिर आतंकवाद की नाग फनियां उगाना चाहते हैं। किसान आंदोलन की आड़ में अपनी साजिश को कामयाब करना चाहते हैं। देश में टूलकिट पर राजनीतिक सरगर्मियां भी खूब हुई। दिशा रवि और अन्य की गिरफ्तारी को लेकर सत्ता के खिलाफ विपक्ष लामबंद भी हुआ लेकिन दिल्ली पुलिस की प्राथमिक जांच में जो तथ्य सामने आए उससे तो यही साबित होता है। कि कनाडा में बैठे खालिस्तान संगठन और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने मिल कर इस साजिश को अंजाम दिया। हालांकि अभी जांच की प्रक्रिया लम्बी चलेगी लेकिन दिशा और अन्य की जमानत के बाद दिल्ली पुलिस को झटका लगा है। उसकी पारदर्शिता भी बेनकाब हुई है। उसका उत्साह भी कमजोर पड़ सकता है। टूलकिट एक गूगल दस्ताबेज है जिसे अपनी सुविधा के अनुसार एडिट किया जा सकता है। सोशलमिडिया पर यह किट अपने संगठन से जुड़े लोगों के बीच वायरल की जाती है। इस टूलकिट में सारी बातें बिस्तार से लिखी होती हैं। जिसमें आंदोलन को कैसे तेज करना है। किन लोगों को जोड़ना है। जिसके पास अधिक फॉलोवर होते हैं। उसे वरीयता के आधार पर जोड़ा जाता है। इसमें सारी बातें लिखित होती हैं। अदालत की तरफ से टूलकिट मामले में दिशा रवि और दूसरे लोगों को जमानत भले मिल गईं हो लेकिन यह मामला देश की आंतरिक सुरक्षा से जुड़ा हुआ है। दिल्ली पुलिस की जांच में अब तक जितने लोगों के नाम आए हैं। उनमें अधिकांश पर्यावरणविद और जलवायु एक्टिविस्ट हैं। सभी युवा और ग्लोबल स्तर पर चर्चित चेहरे हैं लेकिन इसमें खालिस्तान संगठन की भूमिका भी उभर कर आयीं है। ग्रेटा और तमाम विदेशी चेहरे भी बेनकाब हुए हैं। सवाल उठता है। कि टूल किट का उपयोग कर देश और विदेश में बैठे लोगों ने किसान आंदोलन को भड़काने का काम क्यों किया। मैं यह मानता हूँ। कि किसी मसले पर सरकार से असहमति रखना देशद्रोह नहीं हो सकता है। लेकिन जब देश में किसान आंदोलन चल रहा हो, उस दशा में विदेशी लोगों से मिलकर टूलकिट को वायरल करना क्या गलत कार्य नहीं है। ग्रेटा थनबर्ग और दिशा के बीच हुए चैट खुद इसकी गवाही देते हैं। दिशा ने खुद पर शिकंजा कसने की बात चैट में कही थी। देशद्रोह के नाम पर किसी को बेवजह परेशान नहीं किया जाना चाहिए लेकिन टूलकिट की सच्चाई भी देश के सामने आनी चाहिए।

मास्क के चेकिंग अभियान का पोस्ट हुआ वायरल

यूपी के सभी जिलों में मास्क के चेकिंग अभियान का पोस्ट हुआ वायरल, यूपी पुलिस ने किया खंडन

लखनऊ। यूपी पुलिस तीस, तीन तक लगातार मास्क चेकिंग अभियान चलाने जा रही है। मास्क नहीं लगाने पर चालान के साथ जेल भी होगी। सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस द्वारा मास्क चेकिंग अभियान के इस तरह का मैसेज तेजी से वायरल रहा। दरअसल इस मैसेज में पुलिस का लोगो भी लगा होने के कारण लोग इसे सच मानने लगे। यह मैसेज व्हाट्सएप ग्रुप से होता हुआ कई जगहों पर वायरल हो गया। यूपी पुलिस ने ट्वीट कर इस मैसेज को फर्जी बताया है। यूपी पुलिस का कहना है। कि वो इस तरह का कोई अभियान नहीं चलाने जा रही है।
उत्तर प्रदेश पुलिस के नाम से वायरल हो रहे फर्जी पोस्टर में लिखा था। कि 'कल (26 फरवरी) प्रातः 9 बजे से उत्तर प्रदेश के सभी थाना क्षेत्रों में मास्क चेकिंग का 30 दिनों तक अभियान चलाया जाएगा।
सभी शहर और ग्रामवासी मास्क का प्रयोग करें और चालान की कार्रवाई से बचें और साथ ही 10 घंटे की अस्थायी कारावास ( जेल) सजा से भी बचें। इतना ही नहीं, वायरल पोस्टर में निवेदक के रूप में उत्तर प्रदेश पुलिस लिखा हुआ था। जिस वजह से लोग इस बात पर यकीन करते हुए इस पोस्टर को सभी सोशल मीडिया ग्रुपों में शेयर करते रहे।
उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा मास्क चेकिंग का 30 दिन का ऐसा कोई भी अभियान नही चलाया जा रहा है। और न ही ऐसी कोई सूचना प्रसारित की गई है।
अतः ऐसी भ्रामक खबरों पर ध्यान न दें, जो भी इस प्रकार की भ्रामकता फैलायेगा, उसके विरुद्ध आवश्यक विधिक कार्यवाही की जाएगी।

कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोग द्वारा दिये गए निर्देश

निर्वाचन तैयारियों सम्बन्धी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोग द्वारा दिये गए आवश्यक निर्देश

कुशीनगर। मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ल द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के समस्त जिलाधिकारी व सम्बन्धित अधिकारी के साथ निर्वाचन सम्बन्धी सभी आवश्यक पहलुओ पर चर्चा की गई और आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए गए। मतदाता पहचान पत्र की समीक्षा दौरान जनपद स्तर से वेंडर को दिए गए डाटा से पहचान पत्रों को मिलान कर लेने का निर्देश दिया गया। इसी प्रकार,रैपिड एपिक अन्तर्गत डाटा अपलोड कराकर वेंडर को दिए जाने थे। फिर उसे बंटवाया जाना भी सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिए गए इसी प्रकार जिन मतदाताओं का के पहचान पत्र में फ़ोटो नही हैं। की भी समीक्षा की गई और ऐसे प्रकरण कुशीनगर जनपद के 3 मामले थे। जिसे जिलाधिकारी द्वारा शीघ्र उपलब्ध कराते हुए प्रभावी कार्यवाही किये जाने का आश्वासन दिया गया जनपदों में वेयर हाउस निर्माण की समीक्षा दौरान कुशीनगर में निर्धारित अवधि 28 फरवरी तक पूर्ण कर लिए जाने की बात जिलाधिकारी द्वारा कही गई इसके अलावे अन्य बिंदुओं पर भी समीक्षा की गई इस अवसर पर जिलाधिकारी एस राजलिंगम के साथ अपर जिलाधिकारी विंध्यवासिनी राय, जॉइंट मजिस्ट्रेट कसया, उप जिलाधिकारी खडडा, पडरौना, कप्तानगंज, हाटा, व सहित तहसीलदार व निर्वाचन कार्यालय के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

जम्मू में मिले पाकिस्तानी सिग्नल, एजेंसियां अलर्ट

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान के साथ लगने वाली सीमा के समीप पाकिस्तानी टेलीकॉम ऑपरेटरों के सिग्नल मिलने से पहले से ही अलर्ट पर चल रही सुरक्षा एजेंसियों ने जम्मू के बाहरी इलाकों में अब रेडियो चैनल के सिग्नल मिलने के बाद सुरक्षा और कड़ी कर दी है। प्रदेश के सिधरा-कुंजवानी बाय-पास रोड पर कई लोगों के मोबाइल फाेन,गाड़ियों के म्यूजिक और रेडियो सिस्टमों में पाकिस्तान के रेडियो चैनल भी सुनाई दिये और कई लोगों को पाकिस्तानी रेडियो चैनल के प्रोग्राम भी बड़ी आसानी से सुनाई दिए। पाकिस्तानी रेडियो चैनल के सिग्नल इतने मजबूत हैं, कि जम्मू के कई इलाकों में स्थानीय रेडियो सिग्नल ठीक से लोगों को सुनाई भी नहीं दे रहे।

यूनिवर्सिटी में संदिग्ध 1 युवक को छात्रों ने पकड़ा

सत्येंद्र पंवार  

मेरठ। चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी में घूम रहे संदिग्ध युवक को छात्रों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। संदिग्ध के पास से कुछ आईडी, पिस्टल होल्डर, कुछ कारतूस और सामान बरामद किया गया। सूचना पर हिंदू संगठन के सदस्य भी थाने पहुंच गए और युवक पर गंभीर आरोप लगाकर हंगामा कर दिया। आरोपी के मोबाइल में दर्जनों युवतियों के फोटो और मोबाइल नंबर बताए गए। इस संबंध में तहरीर दी गई हैं। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पूछताछ में उसने बताया कि सभी लड़कियां उसकी दोस्त हैं। 

खबर के अनुसार मेरठ के शास्त्री नगर निवासी मनीष कुमार यूनिवर्सिटी के छात्र है। मनीष ने बताया कि वह अपने साथी छात्रों विशाल, अशोक और मोहित रस्तोगी के साथ यूनिवर्सिटी आया था। इसी दौरान सालिक मोहम्मद नाम के एक युवक न्यूज चैनल की आईडी लेकर कुछ छात्राओं का इंटरव्यू ले रहा था। एक छात्रा के साथ जबरदस्ती करते हुए सालिक ने हाथ पकड़ लिया, विरोध पर हंगामा हो गया। मनीष ने बताया कि उन्होंने अपने साथी छात्रों के साथ मिलकर कथित आरोपी को दबोच लिया। इसके बाद उसके बैग की तलाशी ली तो उसमें से एक न्यूज चैनल की आईडी, प्रेस-कार्ड और कारतूस समेत पिस्टल होल्डर मिला। आरोपी की पहचान मोहम्मद सालिक निवासी भवानीनगर नौचंदी के रूप में हुई। हालांकि उसके बैग से जो आईकार्ड मिला उस पर मोहम्मद शयान सिद्दीकी नाम लिखा था। उसका साथी फरार हो गया। जिसकी पहचान अनस निवासी इस्लामाबाद के रूप में हुई। दूसरे आरोपी के पास भी एक न्यूज चैनल की आईडी थी।

जीएसटी: आल इंडिया ने भारत बंद का आह्वान किया

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। जीएसटी के खिलाफ आज कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने भारत बंद का आह्वान किया है। कैट ने इस बंद का आह्वान जीएसटी के विरोध में किया है। ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन ने भी बंद का समर्थन किया है। हालांकि एआईटीडब्लयूए का विरोध प्रदर्शन ईंधन की बढ़ती हुई कीमतों और ई-वे बिल को लेकर है। एआईटीडब्लयूए के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेंद्र आर्य ने बताया ‘सभी राज्य स्तरीय ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन एकदिवसीय बंद में पूरी तरह सहयोग देंगे। एआईटीडब्लयूए का प्रदर्शन ईंधन के दाम बढ़ने और ई-वे बिल के खिलाफ होगा।’ महेंद्र आर्य के मुताबिक सभी ट्रांसपोर्ट कंपनियों से सुबह 6 बजे से लेकर शाम 8 बजे तक अपने वाहनों की सेवा बंद रखने के लिए कहा गया है। सभी ट्रांसपोर्ट गोदाम अपने यहां प्रोटेस्ट बैनर लगाएंगे।देश के सभी राज्यों में व्यापारिक संगठनों ने व्यापार बंद में शामिल होने का फैसला लिया है। दिल्ली में भी अधिकांश व्यापारिक संगठन बंद में शामिल होंगे। जीएसटी के नियमों में हाल ही में हुए संशोधनों और ई कॉमर्स कम्पनी अमेजन पर तुरंत प्रतिबन्ध लगाने की मांग को लेकर कैट भारत व्यापार बंद का आह्वान किया था।

किसानों की फसल नष्ट करने पर लगे हैं अधिकारी

कौशाम्बी। विभागीय अधिकारियों के बीच खिंची तलवारों का खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है। दो विभाग के अधिकारियों की आपसी खींचतान के बाद नहरों में पानी छोड़ना बंद कर दिया गया है। जिससे सैकड़ों गांव के हजारों किसानों की फसलें सूखने की कगार पर है। दो विभाग के अधिकारियों की खींचतान का खामियाजा आने वाले समय में योगी सरकार को भुगतना पड़ सकता है। लेकिन फसल बर्बाद कर रहे इन अधिकारियों के कारनामों पर कौन रोक लगाएगा यह बड़ा सवाल है। बिकास खण्ड कौशाम्बी के बेरौचा मइनर में पानी न आने से दर्जनों गांव के सैकड़ों किसानों की हजारों एकड़ गेहूँ की फसल सूख कर बर्बादी के कगार पर आ गयी है। इस माइनर से करीब सैकड़ो गॉव में खेतो की फसल की सिंचाई किसान करते थे। नहरों में पानी ना आने से अब एक पानी के बगैर चार माह की फसल की मेहनत पर किसानों को पानी फिरता दिखाई दे रहा है। सिंचाई विभाग और नहर विभाग के अधिकारियों के खींचतान के बीच जोगापुर पंप कैनाल भी इस समय बन्द कर दिया गया है। जिससे किसानों की फसलों तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है और किसानों की लहलहाती फसलें अब सूख रही हैं। योगी सरकार ने कहा है। किसानों की आय दोगुनी कर दी जाएगी। यहाँ तो नहर विभाग और सिचाई बिभाग के अधिकारी किसानों की फसल ही नष्ट करने पर लगे है। फसलें बर्बाद हो जाने के बाद कैसे किसानों की आय दोगुनी होगी नहर विभाग और सिंचाई विभाग के अधिकारियों के बीच तलवार खिंच जाने के बाद किसान परेशान है।सूख रही फसलों से परेशान दर्जनों गांव के सैकड़ों किसानों ने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए समय पर नहर में टेल तक पानी पहुंचाने की मांग की है। किसानों का कहना है कि यदि समय पर पानी नहीं छोड़ा गया तो किसानों की फसल बर्बाद हो जाएगी और उनके साथ में भूखों मरने की नौबत आ जाएगी।
अमित कुमार त्रिपाठी

कर्मचारी वेतन-पेंशन के हकदार, ब्याज देगी सरकार

राणा ओबराय 
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सरकारी कर्मचारियों के हित में बड़ा फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सरकारी कर्मचारी वेतन और पेंशन पाने के हकदार हैं और सरकार ने जो सरकारी कर्मचारियों के वेतन और पेंशन के भुगतान में देरी की है। उसके लिए सरकार को उचित ब्याज दर के साथ वेतन और पेंशन का भुगतान करने के लिए निर्देशित किया जाता है। आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय ने एक पूर्व जिला और सत्र न्यायाधीश द्वारा दायर जनहित याचिका को अनुमति प्रदान की थी और जिसमें मार्च-अप्रैल 2020 के स्थगित वेतन का भुगतान 12% प्रति वर्ष की ब्याज दर से वेतन का भुगतान करने व समान ब्याज दर के साथ मार्च 2020 के महीने के लिए आस्थगित पेंशन का भुगतान करने के लिए कहा गया। शीर्ष अदालत के समक्ष अपील में... राज्य सरकार ने उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ अपनी चुनौती को केवल ब्याज दर के मुद्दे तक सीमित रखा। राज्य ने तर्क दिया कि राज्य ने वेतन और पेंशन के भुगतान को स्थगित करने का निर्णय लिया था क्योंकि राज्य ने स्वंय को महामारी के कारण अनिश्चित वित्तीय स्थिति में पाया था। इसने प्रस्तुत किया कि राज्य ने प्रामाणिक कार्य किया था और इसलिए ब्याज का भुगतान करने के दायित्व के साथ मामला को निपटाना सही नहीं होगा।जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जस्टिस एमआर शाह की खंडपीठ ने दोनों पक्षों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर ध्यान दिया और कहा कि, “वेतन और पेंशन के आस्थगित भागों के भुगतान के लिए दिया गया निर्देश अस्पष्ट है। राज्य में सेवा देने के कारण कर्मचारियों को वेतन प्राप्त होता है। दूसरे शब्दों में कहें तो सरकारी कर्मचारी वेतन प्राप्त करने के हकदार हैं और यह कानून के अनुसार देय है। इसी तरह, यह भी तय है कि पेंशन का भुगतान पेंशनरों द्वारा राज्य को प्रदान की गई पिछले कई वर्षों की सेवा के लिए होता है। इसलिए पेंशन प्राप्त करना, राज्य सरकार के कर्मचारियों की सेवा के नियमों और विनियमों द्वारा कर्मचारियों का हक का मामला है।”अदालत ने उल्लेख किया कि राज्य सरकार ने दो चरणों में बकाया देयकों के भुगतान के लिए न्यायालय के निर्देशों का अनुपालन किया है। अदालत ने कहा कि 12% प्रति वर्ष की ब्याज दर से बकाया का भुगतान, जो उच्च न्यायालय द्वारा तय किया गया है, उसे उचित रूप से कम किया जाना चाहिए।कोर्ट ने कहा, “उत्तरदाताओं के लिए वकील ने यह माना है कि ब्याज का ऑवर्ड सरकार की कार्रवाई के कारण था, जो कानून के विपरीत था। हमारा विचार है कि ब्याज का भुगतान राज्य सरकार को दंडित करने के साधन के रूप में उपयोग नहीं किया जा सकता है। इस तथ्य सत्य है कि जिस सरकार ने वेतन और पेंशन के भुगतान में देरी की है, उसे उचित ब्याज दर पर वेतन और पेंशन का भुगतान करने के लिए निर्देशित किया जाना चाहिए।”अपील का निस्तारण करते हुए पीठ ने निर्देश दिया कि 12% प्रति वर्ष की ब्याज दर के प्रतिस्थापन में... जिसे उच्च न्यायालय द्वारा अपने निर्णय में कहा गया था। आंध्र प्रदेश सरकार तीस दिनों की अवधि के भीतर वेतन और पेंशन का 6% प्रति वर्ष की दर के हिसाब से साधारण ब्याज का भुगतान करेगी।

5 राज्यों में चुनाव की तारीखों का हो सकता है ऐलान

राणा ओबराय 
नई दिल्ली। आयोग के सूत्रों के अनुसार, पश्चिम बंगाल में 6 से 8 चरण में चुनाव हो सकते हैं। जबकि असम में तीन चरणों में मतदान करवाया जा सकता है। वहीं केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में एक ही चरण में मतदान कराए जाने की आशंका जताई जा रही है। चारों राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश की मतगणना एक ही दिन होगी। एक मई से पहले विधानसभा गठन की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। वहीं हरियाणा में भी दो सीटों पर उपचुनावों को लेकर शुक्रवार को कोई फैसला आ सकता है। जिसको लेकर शुुुक्रवार को एक प्रैस वार्ता का आयोजन किया गया है। दोपहर के बाद पूर्ण रूप से तय होगा कि हरियाणा की इन दो सीटों पर चुनाव कब से होना है। चार मई से बोर्ड की परीक्षाएं होने वाली हैं। इसके मद्देनजर आयोग की योजना एक मई से पहले चुनाव कार्यक्रम संपन्न कराने की है। आयोग ने सबसे ज्यादा दौरे इन पांच राज्यों (पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, पुडुचेरी और केरल) में किए हैं। अभी भी एक टीम पश्चिम बंगाल के दौरे पर है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते चुनाव आयोग के सामने तमिलनाडु और केरल में चुनाव करवाना सबसे बड़ी चुनौती है। हालांकि चुनाव आयोग का कहना है कि उसने कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए तमाम तरह के उपाय किए गए हैं। सुरक्षाबलों का भी पूरा बंदोबस्त कर लिया गया है। माना जा रहा है कि कोराना के कारण मतदान के समय में इजाफा हो सकता है।

हापुड़ः महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म, जांच

अतुल त्यागी 
हापुड़। मॉल में काम करने वाली महिला के साथ ऑटो में सामूहिक दुष्कर्म किया गया। 2 जिलों की सीमाओं के बीच का मामला। नोएडा के एक मॉल में काम करती थी महिला 25 तारीख की सुबह लगभग 03:30 बजे गाजियाबाद पुलिस ने हापुड़ पुलिस को सूचना दी, कि एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई है। हापुड़ पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची। महिला की तहरीर के आधार पर अभियोग पंजीकृत किया गया तथा महिला का तत्काल मेडिकल परीक्षण कराया गया। महिला द्वारा बताए गए घटनास्थल का निरीक्षण पुलिस अधीक्षक  नीरज कुमार जादौन हापुड़ और अन्य अधिकारियों द्वारा कर लिया गया है। घटना का शीघ्र ही अनावरण किया जाएगा। आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।

बिहार: पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का किया विरोध

अविनाश श्रीवास्तव  
पटना। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत के विरोध में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आज साइकिल से विधानसभा पहुंचे । 10 सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी देवी के आवास से साइकिल पर सवार होकर विधान सभा के लिए निकले। उनके पीछे उनकी सुरक्षा में शामिल गाड़ियां भी चल रही थी, जबकि कुछ सुरक्षा कर्मी पैदल उनके आगे आगे दौड़ रहे थे।विधानसभा पहुंचने पर तेजस्वी यादव ने परिसर में मौजूद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पेट्रोल और डीजल के साथ रसोई गैस की कीमत बढ़ने से आम लोग बेहद परेशान हैं। बढ़ती महंगाई के कारण लोगों की जिंदगी बेहद मुश्किल हो गई है।

पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम की समधन को किया सस्पेंड

हरिओम उपाध्याय  

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की समधन अंबी बिष्ट को सस्पेंड कर दिया गया है। उन पर काम में लापरवाही बरतने और अनुशासनहीनता करने का आरोप है। इस कार्रवाई को लेकर राजनीतिक गलियारों में कई मायने निकाले जा रहे हैं।
पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव की समधन अम्बी बिष्ट लखनऊ नगर निगम में जोनल अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। नगर आयुक्त अजय कुमार त्रिवेदी महानगर में टेक्स और सफाई व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। किसी बात पर नगर आयुक्त और श्रीमती बिष्ट में बहस हो गई। जिस पर नगर आयुक्त ने नाराजगी बताते हुए उनसे तत्काल बैठक से बाहर जाने के आदेश दिए। इसका अम्बी बिष्ट ने कड़ा प्रतिवाद किया। जिस पर उन्होंने सस्पेंड करने के लिए सरकार को चिठ्ठी लिख दी। साथ ही प्रज्ञा सिंह को नया जोनल अधिकारी नियुक्त कर दिया। नगर आयुक्त ने बताया कि अम्बी बिष्ट के जोन में टैक्स वसूली सबसे कम है। कहने पर उनका जवाब भी सही नहीं होता है। कई बार काम के प्रति लापरवाही सामने आ चुकी है, जिसको लेकर उनको नोटिस दिए गए हैं। इसीलिए उनके खिलाफ यह कार्रवाई करने के लिए मजबूर हुए हैं।

अम्बी बिष्ट ने कहा है कि उनके काम में कोई लापरवाही नहीं है।उनके एक बड़े राजनीतिक परिवार से रिश्तेदारी है, उसके तहत यह सब किया जा रहा है। रही बात सस्पेंड करने की तो नगर आयुक्त को इसका अधिकार ही नहीं है। यह कार्रवाई सिर्फ शासन कर सकता है। उन्होंने कहा कि एक अधिकारी को भी यह शोभा नहीं देता कि वह एक महिला को सार्वजनिक मीटिंग में गेट आउट कहें। वह इस हरकत पर चुप नहीं बैठेंगी। ज्ञात रहे कि अम्बी बिष्ट की बेटी अपर्णा की शादी मुलायम सिंह यादव के बेटे से हुई है।

राज्यपाल के साथ विधायकों ने की धक्का-मुक्की

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन शुक्रवार को अपने अभिभाषण के बाद सदन से लौट रहे राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय के साथ कांग्रेस के कुछ विधायकों ने कथित तौर पर धक्कामुक्की की। इसके बाद, विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार ने कांग्रेस के पांच विधायकों को निलंबित कर दिया गया।ससंदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बताया कि सत्र के बाद जब राज्यपाल अपने वाहन के पास जा रहे, तब सदन में विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री, कांग्रेस विधायक हर्ष वर्धन चौहान, सुंदर सिंह ठाकुर, सत्यपाल रायजादा और विनय कुमार ने उनके साथ धक्कामुक्की की। इसके बाद सुरेश भारद्वाज ने कांग्रेस के पांच विधायकों के निलंबन का प्रस्ताव सदन में पेश किया जिस पर उन्हें निलंबित कर दिया गया।

मुंबई: सिद्धिविनायक मंदिर के 1 मार्च से खुलेंगे द्वार

मनोज सिंह ठाकुर 
मुंबई। महाराष्ट्र के मुंबई और अन्य भागों में कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर एक मार्च से सिद्धिविनायक मंदिर में भगवान गणेश के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को पहले ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। मंदिर के प्रबंधन से जुड़ी एक पदाधिकारी ने इस बारे में बताया। उन्होंने बताया कि अगले महीने से ऑनलाइन पंजीकरण कराने वालों को ही दर्शन की अनुमति दी जाएगी और एक घंटे में मंदिर के भीतर 100 श्रद्धालुओं को ही जाने की इजाजत होगी।

सीबीआई ने बंगाल में कई जगहों पर मारे छापे

कोलकाता। कोयला घोटाला और मवेशियों की तस्करी तथा उनसे संबंधित लेनदेन की जांच कर रहे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को कोलकाता सहित पूरे पश्चिम बंगाल में कई स्थानों पर संयुक्त छापे मारे। सूत्रों ने बताया कि सीबीआई और ईडी के लगभग 100 कर्मियों ने आज तड़के कुछ स्थानों पर संयुक्त रूप से तथा कुछ अन्य जगहों पर अलग-अलग छापे मारे।रिपोर्ट के अनुसार जांचकर्ताओं ने दक्षिण और मध्य कोलकाता के कुछ हिस्सों, दुर्गापुर और आसनसोल में लगभग 13-14 स्थानों पर छापे मारे। सूत्रों ने बताया कि जांच एजेंसियों ने एक व्यवसायी रणवीर बर्नवाल के कार्यालय और घर पर भी छापा मारा जिस पर तस्करी और कोयला घोटाले से मिले पैसे के लेनदेन का आरोप है।

जनता मौका देगी तो राहुल-प्रियंका लाएंगे बदलाव

नरेश राघानी  
जयपुर। कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा ने केन्द्र सरकार पर महंगाई बढने एवं किसानों की आवाज नहीं सुनने का आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी एवं प्रियंका देश में प्रगति एवं बदलाव लायेंगे।वाड्रा ने शुक्रवार को मोती डूंगरी गणेश मंदिर में दर्शन करने के बाद एक टीवी मीडिया से बात कही। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने वैश्विक महामारी कोरोना काल में बिना सोचे समझे लॉकडाउन लगा दिया। जिससे आज देश में हर दिन महंगाई बढ़ती जा रही है।

अर्थव्यवस्था में वृद्धि के लिए ऋण-प्रवाह की जरूरत

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था की जरूरतों को पूरा करने के लिये व्यवसायों को ऋण प्रवाह बढ़ाने पर शुक्रवार को जोर दिया। मोदी ने वित्तीय क्षेत्र से संबंधित बजट प्रस्तावों पर एक वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि वित्तीय उत्पादों को फिनटेक और स्टार्टअप की जरूरतों के अनुरूप होना चाहिये।मोदी ने कहा कि भले ही सरकार निजी क्षेत्र को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है, लेकिन बैंकिंग और बीमा क्षेत्र में सरकार की उपस्थिति भी जरूरी है। मोदी ने कहा, ”जैसे-जैसे हमारी अर्थव्यवस्था बढ़ रही है और तेजी से बढ़ रही है। ऋण प्रवाह भी उतना ही महत्वपूर्ण हो गया है। आपको देखना होगा कि ऋण नये उद्यमियों, नये क्षेत्रों तक कैसे पहुंचता है। अब आपको स्टार्टअप और फिनटेक के लिये नये और बेहतर वित्तीय उत्पादों के निर्माण पर ध्यान केंद्रित करना होगा।

डब्ल्यूएचओ चीफ ने की पीएम मोदी की तारीफ

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली/ जिनेवा। भारत में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए वैक्सीनेशन का काम 16 जनवरी से शुरू हो गया है। अभी तक कुल एक करोड़ 26 लाख 71 हजार लोगों को कोरोना वैक्सीन की खुराक लगाई जा चुकी है। इसी के साथ ही भारत ने अपने कई पड़ोसी देशों समेत कई देशों को कोरोना वैक्सीन की खेप मदद के तौर पर भेजी है। (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के प्रमुख टेड्रोस अधानोम घेब्रेरियेसेस ने भारत की तारीफ की है। डब्ल्यूएचओ चीफ ने अपने किए गए ट्वीट में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग करते हुए उनकी प्रशंसा की है। जिसे लेकर उनका कहना है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को #VaccinEquity का समर्थन करने के लिए धन्यवाद. इसके साथ ही उन्होंने लिखा है कि कोवेक्स और कोविड-19 वैक्सीन खुराक को दूसरे देशों के साथ शेयर करने से उन देशों को कोरोना से लड़ने में काफी मदद मिल रही है।

एमपी: पेट्रोल-डीजल के बाद दूध भी हुआ महंगा

रतलाम। जहां एक तरफ पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान पर है। वहीं दूसरी तरफ दूध के दाम भी बढ़ सकते हैं। यह आम आदमी के लिए एक और बड़ा झटका साबित हो सकता है। दूध की कीमतों में बढ़ोतरी होने की पूरी संभावना है। वहीं, रतलाम के कुछ गांवों में उत्पादकों ने कीमतों में बढ़ोतरी का फैसला किया है। रतलाम मिल्क प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन के मुताबिक, 25 गांवों की एक बैठक में दूध के दाम बढ़ाए जाने पर सहमति बनी हैं। 1 मार्च से दूध के दाम बढ़ जाएंगे।
बता दें कि दूध उत्पादकों ने पिछले साल भी दूध के दाम बढ़ाने की मांग की थी लेकिन कोरोना वायरस की वजह से दूध के दाम नहीं बढ़ाए गए थे। बता दें कि फिलहाल मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में दूध 43 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। अब इसकी कीमत 12 रुपये बढ़ाकर 55 रुपये प्रति लीटर कर दी जाएगी।

सोने के दामों में गिरावट आईं, ₹10,000 हुआ सस्ता

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। भारतीय बाजार में लगातार चौथे दिन गुरुवार को सोने के दाम में गिरावट दर्ज की गई।  वहीं आज शुरुआती कारोबार में सोने के दाम 8 महीने के निचले स्तर के आसपास बने रहे। शुक्रवार को एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.12% बढ़कर 46,297 प्रति 10 ग्राम जबकि चांदी वायदा 0.4% गिरकर 68,989 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। अगस्त 2020 में सोना 56,200 रुपये के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था। तब से अब तक सोना करीब 10000 रुपये सस्ता हो चुका है। जो 8 महीनों का सबसे निचला स्तर है।

ट्विटर यूजर्स के लिए 2 नए फीचर का ऐलान किया

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। अगर आप सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म ट्विटर का इस्तेमाल करते हैं और आपके अधिक फाॅलोअर्स हैं तो आपके लिए बड़ी खुशखबरी है। माइक्रो ब्लाॅगिंग साइट ट्विटर पर अब इंस्टाग्राम यूट्यूब की तरह ही अपने यूजर्स को पैसे कमाने का मौका मिलेगा। कंपनी ने आज अपने यूजर्स के लिए बड़ा ऐलान किया है।  ट्विटर ने दो नए फीचर का ऐलान किया है। इस नए फीचर के साथ ही कंपनी अब यूजर्स को कमाने का मौका भी देगी। कंपनी के ऐलान के मुताबिक, अब यूजर्स को अपने फॉलोअर्स को अतिरिक्त कंटेंट दिखाने और समूह आधारित विशेष कंटेंट बनाने और समूह में शामिल करने की सुविधा मिलेगी।

आजम को मिलने वाली पेंशन पर सरकार की रोक

रामपुर। विभिन्न आपराधिक मुकदमों में फंसे समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और रामपुर से सांसद आज़म खान को सूबे की योगी सरकार ने एक और झटका दिया है। सरकार ने आजम खान को मिलने वाली लोकतंत्र सेनानी पेंशन को रोक दिया है। बता दें कि पेंशन के रूप में आजम खान को हर महीने 20 हजार रुपये मिल रहे थे। गौरतलब है कि आपातकाल के दौरान जेल गए नेताओं को 'लोकतंत्र सेनानी' का दर्जा देकर उन्‍हें मासिक पेंशन दी जाती है। साल 2005 में तत्कालीन मुलायम सरकार ने आजम खान को लोकतंत्र सेनानी घोषित करते हुए पेंशन दी थी। शुरुआत में पेंशन की राशि 500 रुपये थी, जिसे बाद में बढ़ाकर 20 हजार रुपये कर दिया गया था।  कहा जा रहा है कि कई मुकदमों में आरोपी होने की वजह से सरकार ने पेंशन रोकी है। गौरतलब है कि जिस वक्त देश में इमरजेंसी लगाई गई थी, उस वक्त आज़म खान अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्र संघ से जुड़े थे और जेल गए थे. जिस वक्त लोकतंत्र सेनानी पेंशन की शुरुआत हुई तभी से आजम खान को इस पेंशन का लाभ मिल रहा था।  बुधवार को जब रामपुर जिले के लोकतंत्र सेनानियों की लिस्ट जारी की गई तो उसमें 35 नाम थे, जिसमें आजम खान का नाम शामिल नहीं था। इससे पहले रामपुर जिले में 37 लोगों को यह पेंशन दी जा रही थी।

स्कूलों में जारी हुआ फरमान, देना होगा प्रमाण-पत्र

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। भारत में अकसर स्कूलों में डिसीप्लिन के तहत बच्चों को बालों की ओवर स्टाइलिंग के लिए डांट पड़ती है। लेकिन कैसा हो अगर कोई आपसे आपके बालों के असली होने का प्रमाणपत्र मांगने लगे? दरअसल जापान में जन्म से काले बाल नहीं होने पर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां के टोक्यो में ऐसा ही कुछ हो रहा है। लगभग आधे स्कूलों ने फरमान जारी कर दिया है कि यदि किसी छात्र के बाल वेवी हैं या काले रंग के नहीं हैं तो उन्हें इनके अर्टिफीशियल या कलर्ड न होने का प्रमाण देना होगा।शहर के 177 स्कूलों में से 79 ने ये आदेश दिया है। बता दें कि जापान में कई स्कूलों में बाालों के रंग, मेकअप, यूनिफॉर्म और यहां तक कि लड़कियों की स्कर्ट की लंबाई तक के लिए सख्त नियम हैं।
टोक्यो के शिक्षा बोर्ड ने जापान की मीडिया NHK को बताया कि बालों के लिए प्रमाण पत्र हर जगह अनिवार्य नहीं हैं। लेकिन 79 स्कूलों में से केवल पांच स्कूलों ने यह स्पष्ट किया है कि यह आवश्यकता नहीं है।

कोरोना: एमपी के 12 जिलों में लगेगा नाइट कर्फ्यू

भोपाल। प्रदेश में कोरोना संक्रमण फिर बेकाबू होता दिखाई दे रहा है। भोपाल, इंदौर सहित प्रदेश के 12 जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाया जा सकता है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज देर शाम कोरोना की वर्तमान स्थिति की समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज आपात बैठक कर नाइट कर्फ्यू का आदेश दे सकते हैं। बता दें, इंदौर में बीते एक सप्ताह से 100 से अधिक केस आ रहे हैं, जबकि भोपाल में यह संख्या 50 और 100 के बीच हैं। इसी को देखते हुए भोपाल और इंदौर में क्राइसिस मैनेजमेंट की आपात बैठक बुलाने के साथ सख्ती की गई है। कमेटी अब 24 घंटे के अंदर इन दोनों शहरों में किस तरह की और क्या सख्ती की जा सकती है, इसे लेकर रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेज दी गई है। गृह विभाग के मुताबिक महाराष्ट्र की सीमा से लगे 12 जिलों के लिए अलर्ट जारी किया गया है। सरकार की तरफ से सभी कलेक्टरों को क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक करने का निर्देश हैं कि महाराष्ट्र की सीमा से लगे जिलों से जो लोग प्रदेश में आ रहे हैं, उनका RT-PCR टेस्ट किया जाए।

तमिलनाडु: किसानों को मुफ्त दी जाएंगी बिजली

सेलम। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. के. पलानीस्वामी ने आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर अपनी घोषणाओं का सिलसिला जारी रखते हुए शुक्रवार को किसानों को 1 अप्रैल से कृषि पंपसेट के लिए 24 घंटे तीन चरणों में मुफ्त घोषित बिजली उपलब्ध कराने की घोषणा की। मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने यहां 565 करोड़ रुपये की लागत वाली मेट्टूर सरप्लस जल योजना का उद्घाटन करने के बाद कहा कि किसानों के लिए तीन चरण बिजली की आपूर्ति बहुत महत्वपूर्ण है और घोषणा की कि एक अप्रैल से किसानों को 24 घंटे मुफ्त बिजली की आपूर्ति होगी। उन्होंने कहा कि अन्नाद्रमुक सरकार किसानों की जरूरतें पूरी करने के लिए प्रतिबद्ध है और उनके लिए विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं शुरू की गयी हैं।

मोटोरोला एज+ को लॉन्च किया था, कीमतें गिरीं

नई दिल्ली। मोटोरोला ने पिछले साल मई में भारत में अपने फ्लैगशिप फोन मोटोरोला एज+ को लॉन्च किया था। अब कंपनी ने इस स्मार्टफोन की कीमत 10,000 तक कम कर दी है। मोटोरोला एज+ को भारत में Rs 74,999 की कीमत में लॉन्च किया गया है और अब इसे Rs 64,999 में खरीदा जा सकता है। यह जानकारी गैजेट्स नाउ के ज़रिए सामने आई है। बता दें कि यह 108MP वाला कंपनी का पहला स्मार्टफोन था। ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर नई कीमतें देखी जा सकती हैं। फोन को स्मोकी संगरिया और थंडर ग्रे कलर में पेश किया गया था। यह फोन 12GB रैम और 256GB स्टोरेज के साथ आता है। मोटोरोला एज+ में 6.7 इंच की कर्व्ड डिस्प्ले दी गई है जो फुल HD+ (2520 × 1080 पिक्सल) वाली OLED डिस्प्ले है और इसका रिफ्रेश रेट 90Hz, एस्पेक्ट रेश्यो 21:9 है और इसे HDR10+ सर्टिफिकेशन दिया गया है। कर्व्ड स्क्रीन इनकमिंग कॉल की नोटिफिकेशन दिखाएगी और और साथ ही बैटरी चार्जिंग लेवल का भी यहीं पता चलेगा। इस तरह लोगों को केवल स्वाइप अप या स्वाइप डाउन कर के ही ऐप्स पर स्विच कर सकते हैं। फोन को इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेन्सर के साथ लाया गया है। फोन को स्नैपड्रैगन 865 SoC द्वारा संचालित किया गया है और इसे 12GB रैम तथा 256GB UFS 3.0 स्टोरेज के साथ पेयर किया गया है। फोन के स्टोरेज को बढ़ाने के लिए माइक्रो SD कार्ड स्लॉट नहीं दिया गया है।कैमरा की बात करें तो फोन में ट्रिपल कैमरा दिया गया है जिसमें एक 108 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा है और इसका अपर्चर f/1.8 है और दूसरा कैमरा 16 मेगापिक्सल का अल्ट्रा-वाइड-एंगल सेन्सर है और तीसरा 8 मेगापिक्सल का टेलीफोटो लेंस है जो OIS सपोर्ट के साथ आया है और 3x ऑप्टिकल ज़ूम आउटपुट देता है। इसके अलावा, एक टाइम ऑफ फ्लाइट सेन्सर भी दिया गया है। फोन के फ्रंट पर 25 मेगापिक्सल का सेल्फी कैमरा मौजूद है जिसका अपर्चर f/2.0 है।

पीएम ने ‘खेलो इंडिया’ गेम्स का किया उद्घाटन

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को गुलमर्ग में दूसरे खेलो इंडिया शीतकालीन खेलों का उद्घाटन करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर को शीत खेलों का गढ़ बनाने की दिशा में यह अहम कदम है। 2 मार्च को खत्म हो रहे इन खेलों में 27 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। मोदी ने वर्चुअल संबोधन में कहा,”यह अंतरराष्ट्रीय शीतकालीन खेलों में भारत की उपस्थिति दर्ज कराने और जम्मू कश्मीर को शीत खेलों का गढ़ बनाने की दिशा में एक कदम है।” उन्होंने कहा,”ये खेल ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के संकल्प को मजबूत करेंगे। मुझे बताया गया है कि इस बार प्रतियोगियों की संख्या दोगुनी हो गई है। यह शीतकालीन खेलों के प्रति लोगों के बढ़ते रूझान का संकेत है।” इन खेलों में अल्पाइन स्कीइंग, नोर्डिक स्की, स्नोबोर्डिंग, स्की पर्वतारोहण, आइस हॉकी और आइस स्केटिंग शामिल है।

जयशंकर की चीन के विदेश मंत्री से हुई बातचीत

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली/ बीजिंग। पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग झील इलाके में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत एवं चीन की सेनाओं के पीछे हटने पर संतोष व्यक्त करते हुए भारत ने चीन से एलएसी के बाकी हिस्सों से भी सेनाओं की जल्द से जल्द वापसी पर बल दिया है और कहा है, कि सीमा पर शांति एवं स्थिरता बहाली के बाद ही दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति हो सकेगी। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने गुरुवार को चीन के विदेश मंत्री वांग यी से 75 मिनट यानी करीब सवा घंटे तक टेलीफोन पर बातचीत में सीमा पर स्थिति साथ साथ भारत चीन द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की। दोनों ही पक्षों ने एलएसी पर जल्द से जल्द सामान्य स्थिति बहाल करने पर जोर दिया। दोनों मंत्रियों ने आपस में संपर्क में रहने और एक हॉटलाइन स्थापित करने पर भी सहमति जतायी।


देश में संक्रमण के 16,577 नए मामले, 120 की मौत

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 16,577 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,10,63,491 हो गए, जिनमें से 1,07,50,680 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं।आंकड़ों के अनुसार, कुल 1,07,50,680 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 97.17 प्रतिशत हो गई। वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.42 प्रतिशत है। देश में पिछले साल सात अगस्त में संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी।

वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में 25 फरवरी तक 21,46,61,465 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की जा चुकी है। इनमें से 8,31,807 नमूनों की जांच बृहस्पतिवार को की गई थी।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-194 (साल-02)
2.  शनिवार, फरवरी 27, 2021
3. शक-1983, माघ, शुक्ल-पक्ष, तिथि- पूर्णिमा, विक्रमी संवत 2077। 

4. प्रातः 06:50, सूर्यास्त 06:18।

5. न्‍यूनतम तापमान -09 डी.सै.,अधिकतम-27+ डी.सै.। 

6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110

http://www.universalexpress.page/

email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +91935030275                                        (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...