शनिवार, 27 जुलाई 2019

वानी-मूसा:इलाकों से जीत पाएगी भाजपा

तो बुरहान वानी और जाकीर मूसा के इलाकों से भी जीत पाएगी भाजपा। 
उमर अब्दुल्ला को अब हो रही है राजनीतिक घबराहट।

जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने चिंता जताई है कि यदि यही हालात रहे तो विधानसभा चुनाव में बुरहान वानी और जाकीर मूसा के गृह जिलों से भी भाजपा की जीत हो जाएगी। वानी और मूसा खूंखार आतंकी रहे, लेकिन सुरक्षा बलों के ऑल आउट ऑपरेशन में मारे गए। दोनों की मौत पर कश्मीर घाटी में कई दिनों तक तनाव रहा। घाटी में इन आतंकियों का खास प्रभाव है। उमर अब्दुल्ला का ताजा बयान इसी संदर्भ में देखा जा रहा है। चूंकि लोकसभा के चुनाव में नेशनल कॉन्फ्रेंस को भी तगड़ा झटका लगा है और भाजपा की मुस्लिम बहुल्य क्षेत्रों में भी जीत हुई है, इसलिए उमर अब्दुल्ला में  राजनीतिक घबराहट है। उमर नहीं चाहते हैं कि भाजपा को जो सफलता लोकसभा चुनाव में मिली, वैसी सफलता विधानसभा में भी मिले। कश्मीर में इसी वर्ष विधानसभा के चुनाव होने हैं। यही वजह है कि उमर अब्दुल्ला अब बुरहान वानी और जाकीर मूसा जैसे आतंकियों को आगे रख कर अपनी नेशनल कॉन्फ्रेंस को मजबूत करने में लगे हुए हैं। वैसे तो उमर का यह बयान घाटी के मुसलमानों को उकसाने वाला है, लेकिन इससे उमर की घबराहट का भी पता चलता है। अब उमर भी मानते हैं कि जम्मू-कश्मीर में भाजपा का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है और हो सकता है कि विधानसभा में भाजपा को अकेले दम पर बहुमत मिल जाए। अब जम्मू कश्मीर पर अब्दुल्ला और महबूबा के खानदानों का ही कब्जा रहा है। कांग्रेस ने भी इन्हीं दलों के साथ मिल कर सरकार बनाई। महबूबा मुफ्ती और उनके पिता सीएम रहे तो उमर अब्दुल्ला से लेकर दादा शेख अब्दुल्ला तक सीएम रहे। यदि विधानसभा चुनाव में भाजपा को बहुमत मिलता है तो आजादी के बाद यह पहला अवसर होगा, जब कोई हिन्दू विधायक मुख्यमंत्री बनेगा। यूं तो आजादी के बाद से ही कश्मीर अशांत रहा है, लेकिन तीस वर्ष पहले जब हिन्दुओं को घाटी से भगा दिया गया, तब हालात ज्यादा बिगड़े हैं। लेकिन अब हालातों में सुधार भी हो रहा है। अब घाटी में आतंकियों और अलगाववादियों की गतिविधियों पर अंकुश लगा है। आतंकवाद से परेशान लोग अब केन्द्र सरकार की ओर देख रहे हैं। उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती कश्मीरियों को कितना भी डराएं, लेकिन कश्मीरी भी अब अमन चैन चाहता है। राज्य सरकारों के भ्रष्टाचार की वजह से कश्मीरी कंगाल हो गया है। युवओं के सामने भूखों मरने की स्थिति है।
एस.पी.मित्तल


राहत देने में असफल रही सरकार


देश की पहली और सबसे बड़ी मुसीबत में फंसे डेढ़ हजार यात्रियों को समय पर राहत देने में विफल रही केन्द्र और महाराष्ट्र सरकार। बाढ़ के पानी में फंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस ट्रेन।


मुंबई ! देश में यह पहला मौका रहा, जब डेढ़ हजार यात्रियों से भरी ट्रेन बाढ़ के पानी में कोई बीस घंटे तक फंसी रही। यात्रियों में छोटे बच्चों से लेकर गर्भवती महिलाएं भी थीं। 27 जुलाई को सूर्योदय होते ही  खबरिया चैनलों पर पानी में फंसी ट्रेन के दृश्य दिखना शुरू हो गए। बताया गया कि मुम्बई से कोल्हापुर के बीच चलने वाली महालक्ष्मी एक्सप्रेस ट्रेन मुम्बई से 50 किलोमीटर दूर बदलापुर  रेलवे स्टेशन के निकट उल्लास नदी के भराव क्षेत्र में फंस गई है। चूंकि पटरियों के जमीन में धंसने की आशंका थी, इसलिए ट्रेन के ड्राइवर ने अपने विवेक से ही ट्रेन को जंगल में खड़ा कर दिया। 27 जुलाई को तड़के तीन बजे ट्रेन को रोका गया जो शाम तक खड़ी रही। देश के इतिहास में यह पहला अवसर था, जब डेढ़ हजार यात्रियों से भरी ट्रेन इस तरह पानी में फंस गई। टीवी चैनलों पर दावे किए गए कि यात्रियों को मुसीबत से बाहर निकालने के लिए एनडीआरएफ से लेकर वायु सेना तक को तैयार कर दिया गया है। चूंकि यह हादसा देश की वाणिज्यिक राजधानी मुम्बई के पास हुआ था, इसलिए उम्मीद थी कि आज देशवासियों राहत की नई तकनीक देखने को मिलेग की। जब हम चांद पर पहुंच रहे हैं तो धरती पर ट्रेन यात्रियों को निकालने में कोई परेशानी नहीं होगी, लेकिन ऐसा लगता है कि जरुरत पडऩे पर सरकार की सभी तैयारियां धरी रह जाती है। रेल प्रशासन तो इसी इंतजार में था कि पानी कम हो जाए तो ट्रेन को जंगल से निकाल कर निकट के रेलवे स्टेशन पर ले जाए। लेकिन लम्बे इंतजार के बाद भी पानी कम नहीं हुआ तो फिर एनडीआरएफ की नावें मंगा कर यात्रियों को डिब्बों से निकाल कर सुरक्षित स्थान पर लाया गया। राहत के दावे तो लम्बे चौड़ किए, लेकिन मौके पर मुश्किल से 6 नावें ही देखी गई। ग्रामीणों ने अपने स्तर पर प्रयास कर यात्रियों की मदद की। दो हेलीकॉप्टरों को भी ट्रेन पर मंडराते देखा गया। हेलीकॉप्टर से कितने यात्री निकाले, इसकी कोई जानकारी नहीं है। सवाल उठता है कि मुम्बई जैसे महानगर से मात्र पचास किलोमीटर दूर फंसी ट्रेन से भी यदि समय पर यात्रियों क ो नहीं निकाला जा सकता है तो सरकार से क्या उम्मीद की जा सकती है। 
रेल प्रशासन फेल:
महालक्ष्मी एक्सप्रेस ट्रेन में फंसे यात्रियों को राहत देने में रेल प्रशासन तो पूरी तरह फेल रहा। डेढ़ हजार यात्री तड़के तीन बजे से दोपहर दो बजे तक फंसे रहे लेकिन रेल प्रशासन ने कोई मदद नहीं की। यात्रियों के पास खाने-पीने का जो सामान था उसे ही मिल बांट कर खाया गया। छोटे बच्चे पानी के लिए बिलखते रहे, लेकिन रेलवे ने ट्रेन में पीने का पानी तक उपलब्ध नहीं करवाया। क्या यात्रियों को चाय नाश्ता उपलब्ध करवाने का दायित्व रेलवे का नहीं था? राहत कार्यों में भी रेलवे की कोई भूमिका नजर नहीं आई। नावों के जरिए ट्रेन से बाहर आए अधिकांश यात्री रेल प्रशासन को कोस रहे थे। हालांकि केन्द्र और महाराष्ट्र में भाजपा की सरकार है, लेकिन इस मुसीबत में दोनों सरकारों के बीच आपसी तालमेल भी देखने को नहीं मिला। चूंकि ऐसी घटना देश की पहली घटना थी, इसलिए सरकार अपने आधुनिक और योग्य होने का उदाहरण पेश कर सकती थी, लेकिन इस मामले में दोनों ही सरकारें विफल रही हैं। ऐसी मुसीबत के समय आधुनिक उपकरण कहां चले जाते हैं?
एस.पी.मित्तल


शिकारपुर पुलिस ने किया पैदल मार्च

शिकारपुर ! एसएसपी के दिशानिर्देश में शिकारपुर सीओ मनीष कुमार यादव,एसओ सतेन्द कुमार, ने कि पैदल गस्त नगर के खुर्जा अड्डा,बडा़ बाजार,छोटा बाजार,बर्फ चौराहा,इमली बाजार,पैठ चौराहा,मौहल्ला नौगज,चेनपुरा चौराहा, होते हुए कोतवाली पर सम्पन्न हुआ! बारिश में भी करी गश्त कोतवाली एसो सतेन्द कुमार,एस आई मेजर सिंह विर्क, ने सर्राफा बाजार में व्यापारियों से पूंछा कि आपके बाजार में सीसी टीवी कैमरे लग रहे हैं ! तो सही है नहीं तो सीसी टीवी कैमरे लगवा लें नगर के लोगों में चर्चा है कि पुलिस बारिश में भी बजार में धूम रही हैं! रोजना गस्त कर रही हैं कोई-ना-कोई तो बात है ! एसआई मेजर सिंह विर्क, ने एक मोटरसाइकिल पर तीन नवयुवक लड़के बैठे मिले !एसआई मेजर सिंह विर्क ने उन्हें रोक कर उनकी चैकिंग की और हिदायत दे कर छोड़ दिया !


पत्रकार पर हमला,एसएसपी को ज्ञापन

कानपुर जनर्लिस्ट क्लब ने एसएसपी को ज्ञापन सौपकर फोटो जर्नलिस्ट के हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग की


कानपुर। शुक्रवार देर रात बेकनगंज थाना क्षेत्र के तलाक़ महल इलाके में केबिल बॉक्स में करंट उतरने से पूर्व सविंदा गैंगमैन मुन्ने खां की मौत हो गयी थी। मुन्ने की मौत के बाद गुस्साए लोगों ने वहाँ पहुँची केस्को टीम को बंधक बनाकर पीटने लगे। बवाल की सूचना पाकर एसएसपी, एडीएम सिटी कई थाने का फ़ोर्स पहुँचा तभी वहाँ बवाल को कवरेज़ करने   हिंदुस्तान अखबार के वरिष्ठ छायाकार रोहित त्रिवेदी भी पहुँचे, तो वहाँ मौजूद बवालियों ने रोहित को घेर कर उसका कैमरा और पैसे लूट लिए और जान से मारने की नीयत से पीट-पीटकर मरणासन्न कर दिया जिससे रोहित गम्भीर रूप से घायल हो गए।


शनिवार सुबह घटना की जानकारी होते ही पत्रकारों में भारी आक्रोश फैल गया कानपुर जर्नलिस्ट क्लब की अगुवाई में सैकड़ों पत्रकारों ने बवालियों पर तत्काल मुकदमा, बवालियों की अविलंब गिरफ्तारी और लूटा गया कैमरे को बरामद करने की मांग को लेकर कानपुर पुलिस ऑफिस पहुँचकर एसएसपी अनन्त देव को एक ज्ञापन सौंपा, एसएसपी ने कानपुर जर्नलिस्ट क्लब की सभी मांगो को मानते हुए तत्काल बेकनगंज थाना प्रभारी को एफआइआर दर्ज कर बवालियों को चिन्हित कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिए साथ ही अवगत कराया कि कल की इस घटना को लेकर आज पुलिस, प्रशासन केस्को और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई थी जिसमे विधायक अमिताभ बाजपेयी द्वारा छायाकार रोहित के लूटे गए कैमरे की चर्चा की थी जिसपर केस्को द्वारा छायाकार को कैमरा दिया जाएगा। एसएसपी द्वारा जर्नलिस्ट क्लब के प्रतिनिधि मंडल को हमलावरों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया गया जिसपर जर्नलिस्ट क्लब द्वारा कहा गया कि अगर जल्द दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होती है तो पत्रकार सड़को पर उतरकर चरणबद्ध आंदोलन करने को बाध्य होगा।


प्रमुख रूप से जर्नलिस्ट क्लब के चेयरमैन सुरेश त्रिवेदी,महामंत्री अभय त्रिपाठी, उपाध्यक्ष श्याम तिवारी,कोषाध्यक्ष-अविनाश उपाध्याय , मन्त्री दिलीप सिंह सँयुक्त मन्त्री तरुण अग्निहोत्री, शैलेन्द्र मिश्रा, नीरज तिवारी, पुष्कर बाजपेयी, वरिष्ठ पत्रकार विनोद पाण्डेय,राजेश द्विवेदी, कुमार त्रिपाठी, गौरव चतुर्वेदी, गौरव श्रीवास्तव, संजय त्रिपाठी, अभिषेक गुप्ता, गजेन्द्र सिंह, संजय लोचन पांडेय, ब्रजेश दीक्षित, चन्द्र प्रकाश गुप्ता, शाहिद पठान,अजय पत्रकार, प्रभात गुप्ता, डिम्पल श्रीवास्तव, अमित गुप्ता, मार्शल विपिन गुप्ता,सुबोध शर्मा,नवनीत जयसवाल आदि पत्रकार मौजूद रहे।


प्रधानमंत्री आवास अनुदान की वास्तविकता

जिवाना में कई दिन से चल रहे भारी बारिश के कारण एक गरीब परिवार के मकान के छत और दीवार गिरकर कच्चा मकान हुआ पूरी तरह से क्षतिग्रस्त एक महिला सहित तीन लोग हुए घायल


संवाददाता नितिन चौहान
बागपत ! जिले के ब्लाक-तहसील बड़ौत क्षेत्र के गांव जिवाना निवासी चंद्र बल तोमर का गांव में कच्चा मकान है !कई दिन से चल रही भारी बारिश के कारण उसके कच्चे मकान की छत और दीवार गिरकर मकान क्षतिग्रस्त हो गया! मकान के बराबर की दीवार भी पूरी तरह से ग्रस्त हो गई! यह घटना 23 जुलाई की रात्रि को हुई! उनके द्वारा इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी गई! सूचना पर हल्का लेखपाल मौके पर पहुंचा और घटना की रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को दी! इस घटना में उनकी माता दयावती देवी तथा पुत्र निखिल तोमर चोटे लगी है! पीड़ित परिवार उच्च अधिकारियों से मुआवजे की मांग कर रहा है! 


प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत पात्र होते हुए मकान बनाने की गुहार लगा रहा है ! लेकिन अधिकारी उन्हें चक्कर लगा हुआ रहे हैं! उनका आरोप है कि जब शहरों में कच्ची छत को पक्की बनाने के लिए ढाई लाख रुपए दिए जा रहे हैं ! तो ग्रामीण क्षेत्रों में कच्चे मकानों में आपदा से चल रहे कई दिनों से भारी बारिश के कारण मकान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण उनके पास अन्य रहने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है! उन्होंने प्रधानमंत्री योजना के अंतर्गत कच्चे मकान को पक्का बनवाने के लिए आग्रह किया है! 
भारतीय नौजवान इंकलाब पार्टी के जिलाध्यक्ष प्रमोद गोस्वामी ने गरीब परिवार से इस घटना की जानकारी ली और उन्होंने उच्च अधिकारियों को इस घटना से अवगत कराते हुए गरीब परिवार के कच्चे मकान को पक्का बनवाने का आग्रह किया है!


पुलिस कर रही किसी अनहोनी का इंतजार

पुलिस कर रही है हत्या का इंतजार ? पीड़ित दहशत में !सरताज खान


गाजियाबाद। ट्रोनिका सिटी थाना क्षेत्र में बीते 18 जुलाई को आजाद इन्कलेव खुशहाल पार्क में दुकानदार की हत्या की गई थी।  मामले में पुलिस ने मात्र 36 घण्टे में 3 हत्यारोपियों को जेल भेज कर इतिश्री कर ली। शायद हत्या के मास्टरमाइंड अभी भी पुलिस पकड़ से दूर है या यूं कहिये कि मास्टरमाइंड तक पुलिस जाना नही चाहती। हत्या के पीछे का कारण परिजनों को करीब हफ्ते बाद पता चला जब 25 जुलाई की शाम करीब 7 बजे मृतक के रिश्तेदार शाकिर को धमकी मिली कि " तू बहुत फुदक रहा है अभी तो एक ही मारा है अगली बारी तुम्हारी है " इस धमकी से मृतक का परिवार व रिश्तेदार दहशत में है और पुलिस से इंसाफ की उम्मीद किये बैठे है ,मगर पुलिस का रवैया वही ढुलमुल है। पीड़ित का आरोप है कि शुक्रवार करीब 11 बजे थाना प्रभारी ट्रोनिका सिटी को तहरीर दी थी। जिसे उन्होंने रिसीव करने को तो मना कर दिया था और कार्रवाई का आश्वासन दे दिया था। लेकिन अभी तक आरोपी खुलेआम घूम रहा है तथा पीड़ित पक्ष व उनके बच्चे भयभीत है और शायद उनका भयभीत होना भी लाजिमी है क्योंकि जिस दुकानदार बरकत उल्लाह की हत्या हो चुकी है ,वह बहुत ही सीधा साधा व साधारण व्यक्ति था।जिसकी किसी से रंजिश भी नही थी।लेकिन अकारण उसकी हत्या हो जाती है ,अब उसके रिश्तेदार को खुलेआम धमकी मिलना और पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई न करना पीड़ित को भयभीत कर रहा है। पीड़ित का कहना है कि आरोपी पक्ष इतना रसूखदार है कि पुलिस उसके व हथियार तश्कर बेटे के खिलाफ कोई कार्रवाई नही करना चाहती। अगर पुलिस का ऐसा ही रवैया रहा तो वह बच्चो के साथ कही अन्य जगह जाने को विवश है। अब ट्रोनिका सिटी पुलिस पर सवाल उठता है कि क्या असल मे आरोपी रसूख दार है और उसके हथियार तश्कर बेटे को जान बूझकर महीनों बाद भी पुलिस पकड़ना नही चाहती ? सूत्रों की माने तो आरोपी का बेटा सैफ अली लोनी में करीब 100 से भी अवैध हथियार तस्करी कर चुका है और इसकी खबर पुलिस के आलाधिकारियों को बखूबी है। बता दे कि करीब 2 महीने पहले ट्रोनिका सिटी पुलिस ने 3 हथियार तश्कर जेल भेजे थे और उस समय अवैध हथियार तस्करी में सैफ अली का नाम प्रमुखता से प्रकाश में आया था।


ननि 5 करोड,नपपा 1 करोड:भूपेश

रायपुर ! भूपेश सरकार पार्षद निधि, अध्यक्ष निधि जल्द ही जारी करेगा! मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज नगर पंचायतों को 50 लाख, नगर पालिका को एक करोड़ और नगर निगम को 5 करोड़ से 10 करोड़ देने की घोषणा की है! इसके साथ ही नगर पंचायत, नगर पालिका और निगम के अध्यक्ष को पैसे जारी करने का अधिकार वापस किया गया है! इस अधिकार को रमन सरकार ने खत्म कर दिया था!


अनुमति के बिना नहीं होगी नवाज-चालीसा


सड़क पर नमाज, हनुमान चालीस का पाठ आदि धार्मिक आयोजन के लिए अब प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। यूपी के अलीगढ़ के डीएम का यह आदेश कितना उचित? क्या इससे शांति कायम हो सकेगी?

अलीगढ ! उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के जिला मजिस्ट्रेट चन्द्रभूषण सिंह ने एक आदेश जारी कर कहा है कि सड़क पर किसी भी प्रकार के धार्मिक आयोजन के लिए अब जिला प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। यदि कोई व्यक्ति बगैर अनुमति के धार्मिक गतिविधियां सड़क पर करेगा तो उसके विरुद्ध कार्यवाही होगी। असल में पिछले कुछ दिनों से अलीगढ़ में शनिवार और मंगलवार को सार्वजनिक स्थलों पर हनुमान चालीस के पाठ हो रहे हैं। आयोजकों का साफ कहना है कि जब शुक्रवार और अन्य खास मौकों पर सड़कों एवं सार्वजनिक स्थलों पर नमाज पढ़ी जा रही है तो हनुमान चालीसा के पाठ भी होंगे। इस तनातनी को देखते हुए ही अलीगढ़ के डीएम को आदेश जारी करना पड़ा है। सवाल है कि क्या यह आदेश उचित है? क्या इस आदेश से शांति कायम हो जाएगी? कानून व्यवस्था की दृष्टि से देखे तो डीएम का आदेश सही है, क्योंकि यह आदेश समान रूप से सभी धर्मों के लोगों पर लागू होगा और इससे विवाद की स्थिति को टाला जा सकता है, लेकिन सवाल यह भी है कि क्या मौजूदा हालातों में डीएम के आदेशों की क्रियान्विति हो सकती है? यूपी ही नहीं पूरे देश में शुक्रवार और खास अवसरों पर मुस्लिम समुदाय के लोग सड़कों पर नमाज पढ़ते हैं। इस दौरान यातायात बंद कर दिया जाता है। कई बार यातायात रुकने से एम्बुलैंस भी फंस जाती हैं। मरीज का समय पर इलाज नहीं हो पाता। अब यदि मंगलवार और शनिवार को बीच सड़क पर हनुमान चालीसा के पाठ भी होंगे तो लोगों की परेशानी और बढ़ जाएगी। धर्म तो आम लोगों की परेशानियों को दूर करता है। कोई भी धर्म लोगों को परेशान करने की शिक्षा नहीं देता। मुस्लिम विद्वानों के अनुसार नमाज की वजह से किसी को भी परेशानी नहीं होनी चाहिए और नमाज की जगह कभी भी विवादित नहीं होनी चाहिए। विवादित भूमि और लोगों को परेशान करने वाली नमाज कभी भी कबूल नहीं होगी। इसलिए इस्लाम में नमाज के लिए मस्जिद बनाई हैं ताकि सुकून के साथ नमाज पढ़ी जा सके। वैसे भी नमाज में अल्लाह से अमन चैन और देश की खुशहाली की दुआ की जाती है। जहां तक हिन्दू समुदाय का समाज है तो रामलीला जैसे धार्मिक आयोजन सार्वजनिक स्थलों पर ही होते रहे हैं। धार्मिक आयोजनों को लेकर विवाद की स्थिति नहीं होनी चाहिए। देखना होगा कि अलीगढ़ के डीएम का आदेश कितना प्रभाव होती है।
एस.पी.मित्तल


एसडीएम ने किया बाढ़ग्रस्‍त क्षेत्र का निरीक्षण

बाढ़ प्रभावितों की स्थिति पर रखें नजर


एसडीएम सदर प्रियरंजन राजू ने शुक्रवार को बाढ़ प्रभावित नगर पंचायत के वार्ड 7 12 14 और ग्राम पंचायत के मनसिघा पंचायतों का निरीक्षण किया।



मोतिहारी। एसडीएम सदर प्रियरंजन राजू ने शुक्रवार को बाढ़ प्रभावित नगर पंचायत के वार्ड 7, 12, 14 और ग्राम पंचायत के मनसिघा पंचायतों का निरीक्षण किया। इस दौरान एसडीएम ने सभी जगहों पर पानी बढ़ता हुआ पाया। जनप्रतिनिधियों से कहा कि किसी प्रकार की समस्या होने पर उन्हें सूचना दें। मौके पर उपस्थित सीओ ज्ञानप्रकाश सेरफीन को बाढ़ राहत के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। नगरवासियों ने नगर पंचायत के मुख्य नाले का पानी निजी जमीन में बहने पर उसके स्थायी निदान के लिए एसडीएम श्री राजू से गुहार लगाई। साथ ही सड़कों पर फैले सिकरहना नदी का पानी जो थाना समेत आसपास के इलाकों में फैला है। लोगों ने बताया कि सीधा सिकरहना से सबसे पहले आ जाता है। जिससे लोगो को एनएच 527 डी का सहारा लेना पड़ता है। एसडीएम ने बीडीओ सनोज कुमार बैठा और सीओ ज्ञानप्रकाश सेरफीन को बाढ़ राहत कार्य मे तेजी लाने का निर्देश दिया। वही शुकुल पाकड़, डुमरी, माली, भेड़िहारी, रौशनपुर, सपहा समेत अन्य तटबंधों का निरीक्षण किया और बाढ़ का जायजा लिया। रौशनपुर सपहा में मुखिया प्रतिनिधि हरेंद्र सहनी, पंसस एकराम हुसैन, अंगद सहनी, शिवकुमार सहनी, धर्मेंद्र गुप्ता समेत कई लोगो ने बाढ़ से होने वाली समस्याओं से अवगत कराया और प्रशासन द्वारा सहायता नहीं करने की बात कही। निरीक्षण के मौके पर बीडीओ, सीओ, प्रखंड कृषि पदाधिकारी सिद्धनाथ राय, पीओ प्रवीण कुमार, जीपीएस विकास कुमार, विद्या सागर प्रसाद, संजय सिंह, राजेश कुमार सहित कई मौजूद थे।


यूपी के 29 आईएएस अफसरों को बुलावा

 


यूपी के 29 IAS अफसरों को बुलावा
चंडीगढ़ में इंडक्शन ट्रेनिंग के लिए बुलाया नए IAS के लिए जरूरी है इंडक्शन ट्रेनिंग 


लखनऊ ! 4 नवम्बर से 15 दिसम्बर तक होगी ट्रेनिंग  गाजियाबाद डीएम अजय शंकर पांडेय को बुलावा खीरी डीएम शैलेंद्र सिंह ट्रेनिंग पर जाएंगे!उन्नाव डीएम देवेंद्र पांडेय ट्रेनिंग पर जाएंगे !कानपुर देहात डीएम राकेश सिंह भी जाएंगे, प्रतापगढ़ डीएम हरिप्रताप शाही को बुलावा , एलडीए सचिव एमपी सिंह को भी बुलावा अमरोहा डीएम उमेश मिश्रा को भी बुलावा !निदेशक सूडा उमेश प्रताप सिंह को भी बुलावा, चित्रकूट डीएम शेषमणि पांडेय ट्रेनिंग पर जाएंगे! रामयज्ञ मिश्रा, शिवकांत द्विवेदी को बुलावा, धर्मेंद्र पांडेय, कृष्ण कुमार, ओपी आर्या, अरुण प्रकाश, प्रभांशु, ओपी राय को बुलावा, कासगंज डीएम सीपी सिंह को भी बुलावा ,चंद्रशेखर, दिनेश चंद्र, अरविंद चौरसिया, डीएम मऊ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी को भी बुलावा ,मनोज कुमार, नीरज शुक्ला, राधेश्याम , राजा राम, राजेश पांडेय, राजेश राय जाएंगे ,संतोष कुमार और शेषनाथ को भी बुलावा!


एसएसपी ने की कार्य समीक्षा बैठक


मुरादाबाद। ईद-उल-अज़हा की नमाज़ को लेकर आज ईदगाह मैदान में एसएसपी अमित पाठक ने बैठक की और ईदगाह का जायज़ा लिया! जिसमे उन्होंने कहा की ईदगाह के आस-पास के क्षेत्रों को साफ-सुथरा बनाए रखा जाये। जल संस्थान पानी की व्यवस्था इस प्रकार करे कि कही गंदगी न हो। ये निर्देश वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने ईद-उल-अज़हा की तैयारियों से सम्बन्धित बैठक में दिये ! उन्होंने कहा कि शान्ति व्यस्वथा से किसी भी प्रकार से समझोता न किया जाए!


यातायात व्यवस्था रहे दुरुस्त 
पुलिस अधीक्षक यातायात को निर्देश दिये कि नमाज और कांवड़ यात्रा को दृष्टिगत रखते यातायात से सम्बन्धित योजना बना ली जाए! जिससे जाम आदि की समस्या उत्पन्न न हो। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक, , पुलिस अधीक्षक नगर अंकित मित्तल सीओ कटघर साथ शहर इमाम मासूम अली आज़ाद आदि लोग उपस्थित रहे!
मो.नदीम


डायरिया ने एक बच्चे की जान और ली

फिरोजाबाद ! उत्तर प्रदेश के जिला फिरोजाबाद थाना उत्तर क्षेत्र जिला अस्पताल मेडिकल कॉलेज महिला हॉस्पिटल 100 सैया विभाग में फिर डॉक्टरों की लापरवाही सामने आई !आरसीएच वार्ड में 2 दिन पहले 2 वर्षीय मासूम बच्चा डायरिया बुखार को चलते मासूम बच्चे को भर्ती करा दिया आपको बता दें कि इससे पहले भी कई बच्चों की डायरिया में मौत हो चुकी है! जब कि जिला अधिकारी श्री चंद्र विजय सिंह जिला अस्पताल में निरीक्षण दौरान कई वार डॉक्टर को आदेश भी कर चुके है! लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेगी  मगर डॉक्टर का कोई ध्यान नही है! आज तड़के सुबह 6:00 बजे एक और मासूम बच्चे की मौत हो गई मासूम बच्चे के  परिवार का रो-रोकर के बुरा हाल था !


संवाददाता रिहान अली 


कोचिंग संचालक ने किया दुष्कर्म

कोचिंग संचालक ने छात्रा के साथ किया दुष्कर्म और मारपीट 


सीतापुर ! उत्तर प्रदेश के सीतापुर में कोचिंग संचालक द्वारा छात्रा को अपने जाल में फंसाकर उसके साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया हैं। कोचिंग संचालक ने छात्रा के साथ दुष्कर्म के बाद उसका कथित वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। पीड़िता ने जब उसका विरोध किया तो कोचिंग संचालक ने उसकी जमकर लात-घूसों से पिटाई कर दी। इस दौरान पिटाई का भी वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। वीडियो वायरल होते ही पीड़ित छात्रा ने मामले में कोचिंग संचालक के खिलाफ तहरीर देकर न्याय की गुहार लगायी हैं। पुलिस ने पीड़िता की तहरीर पर मामला दर्ज कर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी हैं।


जानकारी के मुताबिक, मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के एक इलाके का है। गांव निवासी एक छात्रा पड़ोस के गांव में कोचिंग के लिए जाया करती थी। इसी दौरान छात्रा और कोचिंग संचालक उदयराज से जान पहचान हो गयी।


आदेशों की उड़ाई जा रही है धज्जियां

 


जिला अधिकारी के आदेशों की उड़ाई जा रही है धज्जियां


गाजियाबाद ! जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय के आदेश अनुसार जिले के सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूलो को 26 जुलाई से 30 जुलाई तक बन्द करने को कहा था! लेकिन जिला अधिकारी के आदेशों की खुल कर धज्जियां उड़ाई जा रही है! और सभी स्कूल खुले हुए है! जिससे बच्चो को बारिश के पानी मे से निकल कर जाना पड़ रहा है और काफी परेशानी हो रही है!साहिबाबाद थाना चौकी तुलसी निकेतन के अंतर्गत आने वाला सुवभिमान पब्लिक स्कूल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार स्कूल संचालक का कहना है! डीएम साहब को नही स्कूल हमे चलाना है!


वही दूसरी और थाना लोनी बॉर्डर क्षेत्र के अंतर्गत में आने वाले स्कूल जिनके नाम ये है! ग्रीन फील्ड स्कूल,प्रकाश मॉडल स्कूल, सोफिया इंटर कॉलेज, एल जी पब्लिक स्कूल, जेपी पब्लिक स्कूल,अनामिका इंटर कॉलेज, शांति मेमिरिल स्कूल,आदि ये सभी स्कूल हर बार खुले रहते है! इनको शासन प्रशासन का कोई डर नही!


 सुरेन्द्र भाटी


महिलाओं से माफी मांगे आजम:माया

लखनऊ ! रामपुर से सपा सांसद आजम खान ने स्पीकर की कुर्सी पर बैठीं रमा देवी पर की गई टिप्पणी को लेकर राजनीति गर्म हो चुकी है। जहां एक ओर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव बार-बार आजम को लेकर सफाई दे रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर विपक्षी इसे बड़ा मुद्दा बनाकर घेर रही है। अन्य दलों के सदस्य आजम खान का विरोध कर रहे है। वहीं बसपा सुप्रीम मायावती  ने भी विरोध किया है। मायावती ने विरोध करते हुए आजम खान को सभी महिलाओं से माफी मांगने की बात कही है। मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा कि यूपी से सपा सांसद श्री आजम खान द्वारा कल लोकसभा में पीठासीन महिला के खिलाफ जिस प्रकार की अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल किया गया वह महिला गरिमा व सम्मान को ठेस पहुँचाने वाला है तथा अति-निन्दनीय है। इसके लिए उन्हें संसद में ही नहीं बल्कि समस्त महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए।


कावड़-शिविर:नाले का पानी सड़क पर

कावड़ कैम्प में बरसाती जल भराव से नाले का पानी सड़क तक पहुंचा


हापुड ! क्या प्रशासन को शासन के आदेश की कोई परवाह नहीं क्या सारी व्यवस्था केवल कागजातों में ही पूरी कर ली गई क्या नगरपालिका की कोई जिम्मेदारी नहीं प्रदेश में भाजपा सरकार से हिंदू धर्म को यू तो अत्यधिक आशाएं रही हैं सावन मास आते ही शिव भक्तों का कावड़ लाने का सिलसिला सुरू हो गया है वही सभी जनपदों में व्यवस्था पूरी कर ली गई है लेकिन जनपद हापुड़ के फ्रीगंज रोड़ पर प्रशासन की व्यवस्थाओं की पोल खुल गई है कुछ समय की बारिश से ही पूरा फ्रीगंज रोड जल मग्न हो गया है यहाँ तक की भोले भक्तों को कावड़ियों की सेवा करने में परेशानी हो रही है ऐसा ही एक मामला निदान हॉस्पिटल के पास बारिश के बाद पिछले 2 घंटो से नाले का पानी सड़क पर आ गया है और जाने का नाम नही ले रहा है कावड़ कैम्प संयोजक ने बताया कि चेयरमैन से शिकायत पर भी कुछ समाधान होता नजर नही आ रहा है ऐसे में कैसे शिवभक्तों की सेवा की जाये यही सोचने का विषय है!


जागरूक जनता का समर्थन चाहिए

लोनी को गन्दगी मुक्त करने में सरकार के साथ साथ सामाजिक और जागरूक जनता का समर्थन बहुत जरूरी                  


गाजियाबाद ! लोनी विधानसभा क्षेत्र स्‍थित गिरी मार्किट में जनशिक्षण संस्थान कौशल विकास उधमिता मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा स्वछता पखवाड़े कार्यक्रम में मुख्य अतिथि भाजपा नेता और सहयोग द हेल्पिंग हैंड के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजेन्द्र त्यागी ने बच्चो को बताया कि दिल्‍ली के नजदीक, लोनी विधानसभा क्षेत्र में लोनी को स्वच्छ रखने में सरकार के साथ साथ सभी सामाजिक संघटनो और जागरूक लोनी वासियो को भी लोनी को साफ सुथरा रखने के साथ पेड़ लगाए! देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वछता अभियान के सपने को साकार करने में अहम भूमिका निभानी होगी! तभी हम लोग बीमारी मुक्त ओर गन्दगी मुक्त हो सकते है! कार्यक्रम में डायरेक्टर एल्विन कुमार सहायक कार्यक्रम अधिकारी शोभा यादव ,गुरदीन ,रामनाथ समेत  केन्द्र की अनुदेशिका अनिता रुहेला ,कोमल समेत सेकडो प्रतिभागियों ने भाग लिया और लोनी को स्वच्छ रखने में अपना सहयोग देने का संकल्प लिया!


शिवभक्तों पर आसमान से बरसाए फूल

पुलिस अधीक्षक शामली अजय कुमार ने हेलीकॉप्टर में सवार होकर कावड़  भक्तों पर आसमान से बरसाए फूल
 


गुलाबों से पुष्प वर्षा होते देख शिवभक्तों ने बोल बम का जयघोष किया और खुशी जताई।


तस्लीम बेनकाब


शामली। अपनी बेहतरीन कार्यप्रणाली व जन जन में अपना अलग पहचान रखने वाले शामली पुलिस कप्तान अजय कुमार पांडये ने शामली जिले के लोगो में एक बेहतरीन छवि बनाई हुई हैं ओर शामली की जनता भी उनको हर सम्भव मदद करती हुई नजर आ रही हैं! तो वही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों का पालन करते हुए कावड़ भक्तों पर गुलाबो से पुष्प वर्षा कर शामली जिले में आसमान से उड़ते हेलीकॉप्टर से कांवड़ यात्रा मार्ग पर जायजा लिया व श्रद्धालु कांवड़ियों पर पुष्प वर्षा की गई।पुष्प वर्षा होते देख शिवभक्तों ने बोल बम का जयघोष किया और खुशी जताई।शामली में आसमान से फूलों की वर्षा होते देख कांवड़िये भक्त खुशी से झूम उठे तो वही लोगों ने भी आसमान से हो रही पुष्पवर्षा की सराहना की।


उधम सिंह का बलिदान दिवस मनाया

 


राणा ओबराय
वीर बलिदानी शहीद उधम सिंह का दिल्ली में मनाया जाएगा शहीदी दिवस : सुनील लकड़ा

दिल्ली ! शहीद उधम सिंह फाउंडेशन ट्रस्ट द्वारा वीर बलिदानी हुतात्मा उधम सिंह का बलिदान दिवस पूरी शान शौकत के साथ दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में 31 जुलाई को मनाया जाएगा। यह जानकारी देते हुए गन्नौर के समाजसेवी और रोहतक के सांसद अरविंद शर्मा के निजी सचिव सुनील लाकड़ा ने बताया इस वीर को कृतज्ञ राष्ट्र की भावपूर्ण श्रद्धांजलि देने के लिए इस दिव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जिसमें अनेकों लोग इस वीर को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। सुनील लकड़ा ने इस विशेष आयोजन पर अपने सभी साथियों को आने के लिए आमंत्रित भी किया है।


चौपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की समस्या

कुशीनगर ! जनपद के तमकुही विकास खण्ड के सपही बुजुर्ग में चौपाल लगाकर किसानों की समस्याओं पर विचार विमर्श करते ग्रामीणों के मसीहा के नाम से जाने जाने वाले समाजसेवी के रूप में मनोज सिंह  ने आज किसानों द्वारा पूर्व में किसान सम्मान निधि हेतु आवेदन करने के बाद भी उनके खाते में अभी तक धन मुहैया नही हो सका। विभगीय लापरवाही व जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के कारण ग्रामीण किसानो को ऑफिस का चक्कर लगाना पड़ रहा है! उसके बावजूद भी विभाग द्वारा उक्त समस्या का निराकरण नही किया गया। त्वरित सुनवाई न होने पर जल्द ही व्यापक आंदोलन कर क्षेत्र के सभी किसानों की समस्याओं का निस्तारण कराने का कार्य किया जाएगा। इस दौरान अखिलेश पाण्डेय, विकास कुशवाहा, सुदामा यादव, वीरेश सिंह, विश्वनाथ, हंसराज सिंह, सत्तन पटेल, आदि ग्रामीण किसान मौजूद रहे!


बरसात में फंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस:मुंबई

मौसम विभाग के मुताबिक, फिलहाल बारिश से राहत मिलने के आसार नहीं हैं! अगले 48 घंटों में शहर में तेज बारिश का पूर्वानुमान है! वहीं आज सुबह से ही अंधेरी, सायन और कुर्ला जैसे इलाकों में भारी बारिश हो रही है!
मुंबई ! महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है! वहीं शहर की लाइफ लाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेन भी लेट चल रही है. अंबरनाथ स्टेशन तो पानी में डूब गया है! यहां बदलापुर और वानगानी रूट पर चलने वाली महालक्ष्मी ट्रेन पानी में फंस गई! सेंटर्ल रेलवे के डिविजनल रेलवे मैनेजर ने बचाव दल को तत्काल जाकर वहां फंसे दो हजार लोगों को निकालने के निर्देश दिए ! देश की आर्थिक राजधानी के कई इमारतों और दुकानों में पानी भर गया है! सड़क पर लंबे जाम से भी लोग परेशान हैं! वहीं तेज बारिश के कारण 7 फ्लाइट्स कैंसल कर दी गई हैं, जबकि 9 को डायवर्ट किया गया है!


बारिश मे फंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस के यात्रियों के लिए रेलवे सुरक्षा बल (RPF) के जवान और स्थानीय पुलिस के लोग बिस्कुल और पानी लेकर पहुंचे हैं! मौके पर जल्द ही एनडीआरएफ की टीम भी पहुंचने वाली है!


नपाप:फर्जी नियुक्ति का मामला गरमाया

वक्त के दरबार में राम जी उपाध्याय
 फर्जी नियुक्ति का मामला गरमाया


मीरजापुर। आश्चर्य होता है कि अवर अभियंता रामजी उपाध्याय की नियुक्ति फर्जी निकल गई। इस तथाकथित नौकरी के 17 साल बीत गए थे और बड़े जुगाड़ से ठेकेदारों के माध्यम से रामजी उपाध्याय ने नगर पालिका परिषद मीरजापुर में अपनी विशेष तैनाती करा ली थी। डूडा तो उनकी जेब में था। अफवाहों के आधार पर यूपी एग्रो के वे मूल कर्मचारी बताया जाते थे। बहरहाल, अधिशासी अधिकारी के न रहने पर नगर पालिका परिषद के प्रभारी अधिशाषी अधिकारी बना दिए जाते थे। रामजी उपाध्याय मौके पर तो नहीं रहते थे, लेकिन लोगों की ख़ुशी के लिए जादुई तरीके से अपना हेलमेट उतार कर हाज़िर हो जाते थे। नगर पालिका में समय बीतने पर अपने समर्थक कर्मचारियों के साथ "एक साल बेमिसाल" का आयोजन भी किया था। अपने संचालन से सबको मोहित कर दिया था। सभी रामजी उपाध्याय को कौतूहल की दृष्टि से देख रहे थे। लोग रामजी उपाध्याय की पहुँच का लोहा मान रहे थे।  सूत्रों की मानें तो  उनकी महान शख्सियत के बारे में कई किस्से बताया जाने लगे। गोवंश के संरक्षण का मामला हो अथवा कोई निर्माण हर जगह रामजी उपाध्याय का राज चलता था, लेकिन गोवंश का मामला उनके लिए एक बुरी ख़बर लेकर आया।  विश्व हिंदू परिषद से जुड़े हुए संगठनों ने टांडा डैम स्थित गोवंश की बेहतर व्यवस्था के लिए आवाज उठाना शुरू कर दिया। यह आवाज मुख्यमंत्री तक पहुँच गई और मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से नाराजगी जताते हुए रामजी उपाध्याय समेत मीरजापुर के तीन अधिकारियों को निलंबित कर दिया। यहीं से रामजी उपाध्याय के बुरे दिन शुरू हो गए। इनकी नियुक्ति के संबंध में छानबीन की जाने लगी। बड़े रोचक तथ्य सामने आने लगे। पता चला कि रामजी उपाध्याय की नियुक्ति हवा में है। रामजी उपाध्याय के कौशल को देखते हुए लोग अपनी उंगलियों को दातों में दबाने लगे। मीरजापुर के अधिकारियों पर गाज गिरने के बाद गोवंश की व्यवस्था अचानक बेहतर होने लगी। जिलाधिकारी भी तारीफ करने लगे। वही टीम जरूरत से ज्यादा अच्छा करने लगी, जिनके कारण रामजी उपाध्याय समेत मीरजापुर के तीन अधिकारी निपट गए।


समर चंद्र


हरिद्वार पहुंचे डेढ़ करोड़ शिवभक्त

1.5 करोड़ शिवभक्त पहुंचे हरिद्वार, 20 लाख ने किये नीलकण्ड महादेव के दर्शन


देहरादून ! सावन के पावन महीने में उत्तराखण्ड पुलिस देवभूमि आ रहे कावड़ियों की सुरक्षा पर तैनात है। उन्हें हर प्रकार सहयोग उत्तराखण्ड की पुलिस द्वारा किया जा रहा है, जिससे उत्तराखण्ड आ रहे कांवड़ियों के साथ देवभूमि का अनूठा रिश्ता बन रहा है। श्री अशोक कुमार, महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड ने बताया कि कांवड़ यात्रा में अभी तक कुल 1.5 करोड़ कांवड़ियों द्वारा पवित्र गंगा जल भरकर अपने गन्तव्यों को प्रस्थान किया जा चुका है और 20 लाख ने नीलकण्ड महादेव के दर्शन कर लिये हैं। कांवड़ यात्रा के दौरान अपने परिजनों से बिछड़े व्यक्तियों को उनके परिजनों से मिलाने हेतु उत्तराखण्ड पुलिस ने हरिद्वार और ऋषिकेश के नगर नियंत्रण कक्ष (सीसीआर) में खोया-पाया केन्द्र बनाया है। खोया-पाया केन्द्र द्वारा अब तक अपने परिवार से बिछड़े 616 लोगों को उनके परिवार से मिलाया है। इसके साथ ही 20 स्थानों पर एसडीआरएफ डीप डाइविंग टीम, जल पुलिस और पीएसी आपदा राहत कम्पनी के लगभग 150 जवान भी गंगा के तेज बहाव से बचाने के लिए तैनात हैं। इन जवानों ने अब तक कुल 41 लोगों को गंगा में डूबने से बचाया है। उत्तराखण्ड पुलिस के इस कार्य को कांवड़ियों द्वारा भी खूब सराहा जा रहा है!


पुलिस बदमाशों के बीच मुठभेड़,1गिरफ्तार

गाज़ियाबाद ! क्राइम ब्रांच और विजय नगर पुलिस की बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ विजय नगर थाना क्षेत्र की जल निगम चौकी के अंतर्गत आने वाले सिद्धार्थ विहार में "टी एंड टी" चौराहे के समीप बदमाशों  और "विजय नगर पुलिस व क्राइम ब्रांच गाज़ियाबाद" की टीम की हुई मुठभेड़,,बताया जा रहा है। की बदमाश यहां "सिद्धार्थ विहार टी एंड टी पर बोलेरो गाड़ी को बेचने आए थे।पुलिस को विश्वस्नीय सूत्रों ने सूचना दी तो,, पुलिस ने घेरा बंदी कर बदमाशों को पकड़ने की कोशिश की तो इस घेराबंदी में बदमाशों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई।बताया जा रहा है। कि मुठभेड़ के बाद एक बदमाश जिसका नाम आकिल है।को घायल अवस्था में गिरफ़्तार कर लिया गया है।तथा वहीं इसके दो अन्य साथी फरार हो गए हैं।


रिपोर्ट के,के,शर्मा


जॉइंटवार गेम:8 देशों के बीच होगी टक्कर

भारत में पहली बार होगा ज्‍वाइंट वॉर गेम, जैसलमेर में 8 देशों के बीच होगी टक्‍कर


जैसलमेर ! भारतीय सेना देश में पहली बार ज्‍वाइंट वॉर गेम एक्‍सरसाइज का आयोजन करने जा रही है। इस ज्‍वाइंट वार गेम एक्‍सरसाइज का आयोजन जैसलमेर में होगा। इस एक्‍सरसाइज में कुल 8 देश भाग लेने वाले हैं।आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, जैसलमेर में आयोजित होने वाले वॉर गेम एक्‍सरसाइज में भाग लेने वाले देशों में बेलारूस, रूस, चीन, कजाकिस्‍तान, उज्‍बेकिस्‍तान, अर्मेनिया शामिल हैं। इस सभी देशों के प्रतिभागी जैसलमेर पहुंच चुके हैं।उन्‍होंने बताया कि सूडान के प्रतिभागी सदस्‍य एक अगस्‍त को जैसलमेर पहुंच जाएंगे। उल्‍लेखनीय है कि जैसलमेर पहुंचने के बाद भारतीय सेना के अधिकारियों ने इन सभी देशों के प्रतिभागियों का स्‍वागत किया है।


बेरोजगारी होगी दूर : वृश्चिक

राशिफल 


 


मेष ----व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। नए काम मिलेंगे। लेनदारी वसूली के लिए शुभ समय है, प्रयास करें। सफलता मिलेगी। भाग्य का साथ रहेगा। पारिवारिक चिंता रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। निवेश में जल्दबाजी न करें। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा।



वृष -----कमजोर तबके के लोगों की सहायता कर पाएंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। कारोबार अच्छा चलेगा। नए काम मिलेंगे। काफी समय से अटके काम पूर्ण होंगे। नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। लाभ होगा।


मिथुन -----किसी धार्मिक कार्य में भाग लेने का अवसर प्राप्त हो सकता है। कोर्ट व कचहरी के कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। धन प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। दूसरे के कार्य में हस्तक्षेप न करें। निवेश में जल्दबाजी न करें।



कर्क ------वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण आवश्यक है। अड़ियलपना हानि देगा। विवेक का प्रयोग करें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। नौकरी में अधिकारियों की अपेक्षाएं बढेंगी। आय बनी रहेगी।


सिंह -----दांपत्य जीवन सुखमय रहेगा। कानूनी अड़चन दूर होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। कारोबार में मनोनुकूल स्थिति रहेगी। निवेश से लाभ होगा। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। बुद्धि का प्रयोग करें। लाभ होगा।


कन्या ----स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य में सफलता प्राप्त करेगा। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। किसी यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। बहस में न पड़ें। प्रेम-प्रसंग में सफलता प्राप्त होगी। व्यापार लाभदायक रहेगा।


तुला ----शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। निवेश से लाभ होगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात हो सकती है।



वृश्चिक---- किसी बड़ी समस्या का हल सहज ही प्राप्त होगा। बेरोजगारी दूर करने की इच्छा पूर्ण होगी। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। सट्टे व लॉटरी से दूर रहें। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। निवेश शुभ रहेगा। भाग्य अनुकूल है। प्रसन्नता रहेगी।


धनु ------कोई बड़ा खर्च हो सकता है। आर्थिक‍ स्थिति बिगड़ सकती है। किसी व्यक्ति से अकारण विवाद हो सकता है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। भावना में बहकर कोई निर्णय न लें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। निवेश में जल्दबाजी न करें।


मकर ----किसी तरह की शारीरिक पीड़ा की आशंका है। दु:खद समाचार प्राप्त हो सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। नकारात्मकता रहेगी। काम में मन नहीं लगेगा। बेकार की बातों पर ध्यान न दें। भागदौड़ रहेगी। आय बनी रहेगी।


कुंभ ----थोड़े प्रयास से कार्यसिद्धि होगी। लोगों की सहायता कर पाएंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। उमंग उत्साह बना रहेगा | भविष्य के कार्यों की प्लानिंग बनेगी, पुरुषार्थ सिद्धि होगी। आय होगी। निवेश लाभदायक रहेगा।


मीन ----घरेलू कार्यों पर व्यय होगा। प्रसन्नता रहेगी। भूमि व भवन इत्यादि की खरीद-फरोख्त लाभदायक रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। निवेश लाभदायक रहेगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। व्यस्तता रहेगी।


शिवप्रिय धतूरा (आस्‍था)


भगवान शिवकी प्रसन्नता के लिए पूजा में कुछ विशेष पूजा सामग्री को चढ़ाने का महत्व है। इनमें बेलपत्र, सफेद फूल के साथ धतूरा चढ़ाना बहुत शुभ माना जाता है। बेलपत्र की तरह धतूरा भी शिव को प्रिय बताया गया है। हालांकि धतूराजहरीला फल होता है। लेकिन सनातन धर्म से जुड़ा हर जन यह जानता है कि शिव ने समुद्र मंथन से निकले गरल यानी जहर को पीकर ही जगत की रक्षा की।
शिव ने विषपान कर ही जगत को परोपकार, उदारता और सहनशीलता का संदेश दिया। शिव पूजा में धतूरे जैसा जहरीला फल चढ़ाने के पीछे भी भाव यही है कि व्यक्तिगत, पारिवारिक और सामाजिक जीवन में कटु व्यवहार और वाणी से बचें। स्वार्थ की भावना न रखकर दूसरों के हित का भाव रखें। तभी अपने साथ दूसरों का जीवन सुखी हो सकता है।
शिव को धतूरा प्यारा होने की बात में भी संदेश यही है कि शिवालय में जाकर शिवलिंग पर धतूराचढ़ाकर मन और विचारों की कड़वाहट निकालने और मिठास को अपनाने का संकल्प लें। ऐसा करना ही शिव की प्रसन्नता के लिए सच्ची पूजा होगी क्योंकि शिव शब्द के साथ सुख, कल्याण व अपनत्व भाव ही जुड़े हैं।


मर्यादाओं के पार (आलोचना)

आज तक यह देखकर  बहुत हैरानी होती है की लोग अपने सनातन  धर्म के अनुसार हिंदू धर्म की प्रणाली को भूल गए हैं आजकल पूरे देश में सावन मास के महीने में कावड़ यात्रा प्रारंभ है और शिव भक्त कावड़ यात्रा में तन मन धन और आत्मा से भक्ति कर रहे हैं! यात्रा कर रहे हैं परंतु यह देखकर हैरानी होती है कि की कावड़ यात्रा में भगवान शिव और माता पार्वती  के नाम से अश्लील गाने आजकल हमारे सम्मानित गायकों ने बना दिए हैं! जोकि भगवान शिव और माता पार्वती का अपमान प्रतीत होता है! जिस में शिव भगवान को नशे का आदी दिखाने की कोशिश की जाती है और साथ में माता पार्वती को घसीटा जाता है जो कि गलत है इस प्रकार हमारे गायकों को हमारे देवी देवताओं का अपमान करने का हक नहीं मिल गया है और सभी शिव भक्तों को अपने आप में जागरूकता लानी चाहिए कि प्रभु श्री शिव कल्याणमय और भोलेनाथ है किसी आडंबर से प्रसन्न नहीं होते हैं! वह सिर्फ भक्ति से प्रसन्न होते हैं संपूर्ण प्रकृति का और संपूर्ण विश्व का कल्याण चाहेगा तो भगवान शिव की कृपा उस पर सदा बनी रहती है! क्योंकि शिव ही कल्याण है और कल्याण ही शिव है सत्य ही शिव है और शिव ही सत्य है! शिव ही धर्म है और धर्म ही शिव है सत्यम शिवम सुंदरम वाक्य हमारे पुराणों में मिलता है उसका अर्थ ही सत्य ही शिव है और शिव ही  सत्य है और सत्य की भांति ही शिव सुंदर है और यदि शिव सुंदर है तो सत्य भी सुंदर है! शिव जिसका अर्थ है, की शक्ति के बिना शिव शव है और जब शव से शक्ति का मिलन हो जाता है तो वह शिव बन जाते है! इसलिए मित्रो सत्य को पहचानो और कोशिश करो की भक्ति के साथ साथ अपने देवी देवताओं का माता पिता का और गुरु का मान सम्मान सही प्रकार से हो सके जभी हम अपने सनातन संस्कृति को सुरक्षित कर पाएंगे और सनातन धर्म भक्ति मार्ग सिखाता है! और भक्ति की शक्ति है शिव है!


संदीप गुप्ता


शिवलिंग के भेद (शिव-महापुराण)

माता देवी बिंदुरूपा नादरुप:शिवा: पिता! पूजिताभ्‍यां पितृभ्‍यां तु परमानंद एव ही! परमानंदलाभार्थ:शिवलिंग प्रपूज्येत्‌!!
  सादेवी जगतां माता स शिवो जगत: पिता ! पित्रो: शुश्रूषके नित्यं कृपाधिक्‍यं ही वर्धते!!



सारा चराचर जगत बिंदु नाद स्वरूप है! बिंदु शक्‍ति है और नाद शिव इस तरह है! जगत शिव शक्ति स्वरूप ही है नाद बिंदु का और बिंदु इस जगत का आधार है! यह बिंदु और नाद शक्ति और शिव संपूर्ण जगत के आधार सब रूप से स्थित है! बिंदु और नाद से युक्त सब कुछ शिवस्वरूप है! क्योंकि वही सब का आधार है! आधार में ही आध का समावेश अथवा लय होता है! यही समीकरण है इस समीकरण की स्थिति से ही सृष्टि काल में जगत का प्रादुर्भाव होता है! इसमें संयस नहीं है! शिवलिंग बिंदु नाद स्रवत है! अतः उसे जगत का कारण बताया जाता है! बिंदु देवी और नाद शिव इन दोनों का संयुक्त रूप ही शिवलिंग कहलाता है! अतः जन्म के संकट से छुटकारा पाने के लिए शिवलिंग की पूजा करनी चाहिए! बिंदु रूपा देवी उमा माता है और नाद स्वरूप भगवान शिव पिता! इन माता-पिता के पूजित होने से परम आनंद की प्राप्ति होती है! आनंद का लाभ लेने के लिए शिवलिंग का विशेष रूप से पूजन करें! देवी उमा जगत की माता है और भगवान शिव जगत के पिता! जो इनकी सेवा करता है उस पुत्र पर इन दोनों माता-पिता की कृपा अधिकाधिक बढ़ती रहती है! वह पूजा कर कृपा करके उसे अपना आंतरिक ऐश्वर्य प्रदान करते हैं !आंतरिक आनंद की प्राप्ति के लिए शिवलिंग को माता-पिता का स्वरूप मानकर उसकी पूजा करनी चाहिए ! भाग से शुरू है ! शक्ति प्रकृति कहलाती है ,अंतरिक्ष उपग्रह को कहते हैं, और आंतरिक अधिष्ठान भूत गर्व करती है! वह प्राकृतिक रूप से युक्त होने के कारण भगवान है !क्योंकि वही प्रकृति का जनक है, प्रकृति में जो पुरुष का सहयोग होता है यही तो उससे उसका प्रथम पुरूष कहलाता है! प्रकृति से महत्व आदि के कर्म से जो जगत का व्यर्थ होना है यही उस प्रकृति का द्वितीय जन्म कहलाता है! जीव पुरुष से ही बारंबार जन्म और मृत्यु को प्राप्त होता है! माया द्वारा अन्य रूप से प्रकट किया जाना है ,उसका जन्म कहलाता है! जीव का शरीर जन्म काल से ही जीर्ण 6 विकारों से युक्त होने लगता है! इसलिए उसे जीव संज्ञा दी गई है! जो जन्म लेता है और विभिन्न पाशो द्वारा बंधन में पड़ता है उसका नाम जीव है! और बंधन जीव शब्द का अर्थ ही है! अतः जन्म-मृत्यु के बंधन की निवृत्ति के लिए जन्म के अधिष्ठान भूत मात्र पित्र स्वरूप शिवलिंग का पूजन करना चाहिए!
 गाय का दूध, दही ,घी इन तीनों को पूजन के लिए शहद और शक्कर के साथ पृथक-पृथक भी रखें और इन सबको मिलाकर सम्मिलित रूप से पंचामृत भी तैयार कर ले! इनके द्वारा शिवलिंग का अभिषेक एवं स्नान कराएं! फिर गाय के दूध और अन्‍न के मेल से नवैध तैयार करके प्रणव मंत्र के उच्चारण पूर्वक उसे भगवान शिव को अर्पित करें! संपूर्ण प्रणव को ध्यान लिंग कहते हैं! स्वयंभू लिंग नाद स्वरूप होने के कारण नाद लिंग कहा गया है! इस प्रकार अकार, उकार, मकार बिंदु ,नाद और ध्वनि के रूप में लिंग के छह भेद हैं! इन 6 लिंगों की नित्य पूजा करने से देहधारी जीव ,जीवन मुक्त हो जाता है इसमें सयंस नहीं है!


अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...