मंगलवार, 8 सितंबर 2020

90 वर्षीय वृद्ध महिला से दुष्कर्म-मारपीट

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। दिल्ली के छावला, नजफगढ़ इलाके से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई जिसमें एक 90 वर्षीय बुजुर्ग महिला के साथ दुष्कर्म कर मारपीट की गई। पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 376/323 के तहत प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी सोनू (33) को गिरफ्तार कर लिया गया है। वह गांव रेवला खानपुर का रहने वाला है। पीड़ित महिला से मिलने के बाद दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने मंगलवार को कहा,“ छह महीने की बच्ची से लेकर 90 वर्ष की बुज़ुर्ग महिला तक कोई भी सुरक्षित नहीं है। इस उम्र में इन महिला को इस प्रकार की प्रताड़ना का सामना करना पड़ा। यह साफ दिखाता है कि इन घटनाओं को अंजाम देने वाले लोग इंसान नहीं जानवर हैं। मैं बुज़ुर्ग महिला से मिली हूं, इनको न्याय दिलवाने की जंग में हम इनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ चलेंगे। हर हाल में इस मामले में आरोपी को छह महीने में फांसी होनी ही चाहिए।”


दिल्ली महिला आयोग की टीम घटना की सूचना मिलने के वक्त से ही पीड़ित महिला के साथ है एवं उनकी मदद कर रही है। आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल और सदस्य वंदना सिंह ने शाम को महिला से उनके घर पर जाकर मुलाकात की।


उन्होंने कहा कि बुज़ुर्ग महिला के अनुसार शाम को करीब पांच बजे अपने घर के बाहर दूध वाले के इंतज़ार कर रही थी। उसी वक्त एक अनजान व्यक्ति ने उन्हें आकर कहा कि दूधवाला आज नहीं आया है और वो उन्हें दूध वाले के पास ले जाएगा। व्यक्ति बुज़ुर्ग महिला को लेकर रेवला खानपुर फार्म ले गया और वहां महिला के साथ जबरन दुष्कर्म किया। जब महिला ने अपना बचाव करना चाहा तो उनके साथ मारपीट भी की गई।


महिला दर्द में रोती रही और उस आदमी से रहम की भीख मांगती रही। उसे याद दिलाती रही की वो उसकी दादी के उमर की है पर उसने एक न सुनी। महिला की आवाज़ सुनकर गांव के कुछ लोगों को पता चल गया और उसकी मदद के लिए पहुंचे। लोगों ने आरोपी को धर-दबोचा और पुलिस को बुलाया। वहां से पीड़िता को अस्पताल ले जाया गया और मेडिकल जांच कराई गई। महिला की मेडिकल जांच रिपोर्ट में साफ़ तौर से उनके शरीर और गुप्त अंगों में चोटों की बात दर्ज है।                   


हटकेः पानी से बाहर आया 'विचित्र' जीव

लंदन। ब्रिटिश समुद्र तट पर विचित्र समुद्री जीव नजर आए। 47 साल के मार्टीन ग्रीन अपने परिवार के साथ छुट्टी पर थे, जब वे उत्तरी वेल्स में कैर्नारफॉन के तट पर थे तो उनको अजीबोगरीब चीज नजर आई। ग्रीन और उनके परिवार ने, पहली बार में, सोचा था कि यह सिर्फ एक अजीब दिखने वाला टुकड़ा था. स्कॉटिश सन की खबर के मुताबिक, जब उन्होंने पास जाकर देखा तो ड्रिफ्टवुड का टुकड़ा वास्तव में हज़ारों की संख्या में समुद्री जीवों के साथ कवर किया गया था।


उन्होंने फेसबुक पर जो फुटेज शेयर किया है, उसमें भयानक जीवों को उनके सफेद गोले से निकलते हुए देखा जा सकता है, जिसे उन्होंने “देखने के लिए मंत्रमुग्ध” बताया।         


यूपी में लॉकडाउन पूरी तरह हुआ खत्म

बृजेश केसरवानी


लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में लॉकडाउन अब पूरी तरह खत्‍म हो गया है। अब रविवार को भी दुकानें खुलेंगी। अब बाजारों की साप्‍ताहिक बंदी की पूर्व निर्धारित व्‍यवस्‍था ही लागू रहेगी। बाजार सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक खोले जाएंगे। अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इसके निर्देश अफसरों को दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश में जो भी विकास की योजनाएं चल रही हैं, उन्हें गति दी जाए। मुख्‍यमंत्री ने कहा है कि कोरोना संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ ही आर्थिक गतिविधियों को तेजी से बढ़ाया जाना चाहिए।


होटल-रेस्‍टोरेंट भी खुलेंगे: उन्‍होंने कन्‍टेंनमेंट जोन को छोड़कर अन्‍य स्‍थानों पर सभी होटलों और रेस्‍टोरेंटों को शुरू कराने का भी निर्देश दिया। इसके साथ ही कहा कि इन गतिविधियों के संचालन में संक्रमण से सुरक्षा के सभी मानकों का पालन सुनिश्चित किया जाए। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कन्‍टेनमेंट जोन में सभी लोगों का कोविड-19 टेस्‍ट कराया जाए। 


तहसील दिवस और थाना दिवस भी होंगेे शुरू:  मुख्‍यमंत्री ने तहसील दिवस और थाना दिवस भी कोविड-19 गाइड लाइन के अनुसार संचालित करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्‍होंने अफसरों को निर्देश दिया कि वे सभी विभागाध्‍यक्षों और कार्यालयाध्‍यक्षों, कर्मचारियों की उपस्थिति की नियमित जांच करें। उन्‍होंने कहा कि 'ईज ऑफ लिविंग' की दिशा में भी कार्ययोजना बनाकर प्रयास किए जाने की आवश्‍यकता है। इससे लोगों के जीवन में परिवर्तन आएगा। 


जीएसटी कलेक्‍शन बढ़ाने का निर्देश: मुख्‍यमंत्री ने उत्‍तर प्रदेश में जीएसटी कलेक्‍शन बढ़ाने का भी निर्देश अफसरों को दिया है। उन्‍होंने किसानों की मदद के लिए जीरो बजट खेती के लिए ज्‍यादा से ज्‍यादा प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाने का भी निर्देश दिया। इसके साथ ही मुख्‍यमंत्री ने जोर देकर कहा कि 'मुख्‍यमंत्री निराश्रित और बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना' के तहत  गौ आश्रय स्‍थलों से कुपोषित बच्‍चों के परिवार के लोगों को गाय उपलब्‍ध कराई जाए। उन्‍होंने नगर निकायों में अमृत योजना के कार्यों में तेजी लाने का भी निर्देश दिया। इसके साथ ही लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों को सड़कों को पूर्णतया गड्ढामुक्‍त बनाने का निर्देश दिया।             


मीडिया को अब ग्लोबल होने की जरूरत

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आज जब हम आत्मनिर्भर भारत की बात कर रहे हैं, जब लोकल के लिए वोकल होने की बात कर रहे हैं, तब हमारा मीडिया इस संकल्प को एक बड़े अभियान की शक्ल दे रहा है। हमें आत्मनिर्भर भारत के विजन को और व्यापक करने की जरूरत है


प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग से जयपुर में पत्रिका गेट का लोकार्पण करते हुए कहा, भारत के लोकल प्रोडक्ट्स ग्लोबल हो रहे हैं। भारत की आवाज भी अब ज्यादा ग्लोबल हो रही है। दुनिया भारत को अब और ज्यादा ध्यान से सुनती है। भारत की हर अंतरराष्ट्रीय मंचों पर मजबूत उपस्थिति है। ऐसे में भारतीय मीडिया को भी ग्लोबल होने की जरूरत है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पत्रिका गेट को राजस्थान की संस्कृति को प्रतिबंबित करने वाला बताया। उन्होंने राजस्थान पत्रिका के गुलाब चंद्र कोठारी की पुस्तक ‘संवाद उपनिषद’ और ‘अक्षर यात्रा’ का विमोचन करते हुए कहा कि यह देश की भावी पीढ़ी को अतीत के साथ संवाद करने के लिए प्रेरित करता है। पुस्तकें साहित्य और संस्कृति के लिए अनुपम उपहार हैं। इस वर्चुअल कार्यक्रम में राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी हिस्सा लिया।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान लेखन और साहित्य पर चर्चा करते हुए कहा, हमारे देश में तो लेखन का निरंतर विकास भारतीयता और राष्ट्रीयता के साथ हुआ है। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान लगभग हर बड़ा नाम, कहीं न कहीं से लेखन से भी जुड़ा था। हमारे यहां बड़े-बड़े संत, बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी लेखक और साहित्यकार रहे हैं।


प्रधानमंत्री ने कहा, किसी भी समाज में समाज का प्रबुद्ध वर्ग, समाज के लेखक या साहित्यकार ये पथप्रदर्शक की तरह होते हैं, समाज के शिक्षक होते हैं। स्कूली शिक्षा तो खत्म हो जाती है, लेकिन हमारे सीखने की प्रक्रिया पूरी उम्र चलती है, हर दिन चलती है। इसमें बड़ी अहम भूमिका पुस्तकों और लेखकों की भी है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कर्पूर चंद्र कुलिश ने भारतीयता और भारत सेवा के संकल्प को लेकर ही पत्रिका की परंपरा को शुरू किया था। पत्रकारिता में उनके योगदान को तो हम सब याद करते ही हैं, लेकिन कुलिश ने वेदों के ज्ञान को जिस तरह से समाज तक पहुंचाने का प्रयास किया, वो सचमुच अद्भुत था।               


'विश्व बैंक' की मदद से सुधरेगी सड़के

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विश्व बैंक की मदद से कोर रोड नेटवर्क डेवलपमेंट परियोजना के तहत करीब 3269 करोड़ रुपये की लागत से 500 किमी सड़कों का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का काम जारी है।


मुख्य सचिव राजेन्द्र कुामर तिवारी की अध्यक्षता में मंगलवार को सम्पन्न प्रोजेक्ट गवर्निंग बोर्ड की बैठक में बताया गया कि परियोजना के अंतर्गत करीब 500 किमी सड़कों का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य कराया जा रहा है, जिसमें करीब 3269 करोड़ रुपये का व्यय संभावित है। इसके अलावा सड़क सुरक्षा के विभिन्न कार्यों पर करीब 630 करोड़ रुपये का व्यय अनुमानित है।


बैठक में बताया गया कि सड़क चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण के चार कार्य कुल लम्बाई 258.355 किमी अनुमानित लागत 1415.02 करोड़ रुपये विभिन्न चरणों में प्रगति पर हैं। गरौठा-चिरगांव रोड जनपद झांसी सड़क लम्बाई 49.145 किमी लागत 227.17 करोड़ रुपये का 99 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है तथा अवशेष कार्य 30 सितम्बर तक पूर्ण कर लिया जायेगा।


प्रवक्ता ने बताया कि हमीरपुर-राठ रोड जनपद हमीरपुर सड़क लम्बाई 72.785 किमी, लागत 349.46 करोड़ रुपये का 70 प्रतिशत कार्य 15 नवम्बर तक पूरा हो जायेगा जबकि जुलाई 2021 तक शत-प्रतिशत कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा। गोला-शाहजहांपुर रोड, जनपद शाहजहांपुर व लखीमपुर सड़क लम्बाई 57.300 किमी, लागत 418.48 करोड़ रुपये का कार्य प्रगति पर है तथा नवम्बर तक कार्य पूरा हो जायेगा। इसके अलावा बदायूं-बिल्सी रोड अमरोहा व संभल सड़क लम्बाई 79.125 किमी लागत 419.91 करोड़ रुपये का कार्य भी प्रगति पर है तथा इसके भी नवम्बर 2021 तक पूर्ण हो जाने की संभावना है। उन्होने बताया कि इसके अलावा सड़क चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण के छह नये कार्य चिन्हित किये गये हैं, जिनकी कुल लम्बाई 260.10 किमी एवं लागत 1952.90 करोड़ रुपये है। इन कार्यों की डीपीआर तैयार कराई जा रही है।


हमीरपुर-राठ-गुरसराय-झाँसी सड़क लम्बाई 35 किमी लागत 250 करोड़ रुपये, मुरादाबाद-हरिद्वार-देहरादून सड़क लम्बाई 36 किमी लागत 356.40 करोड़ रुपये, गढ़-स्याना-बुलंदशहर सड़क लम्बाई 49.50 किमी लागत 499.20 करोड़ रुपये, बहराइच-गोण्डा-अयोध्या सड़क लम्बाई 60.10 किमी0 लागत 365 करोड़ रुपये, हामिदपुर-खुच्वसर रोड सड़क लम्बाई 47.50 किमी लागत 289.20 करोड़ रुपये तथा बाँसी-मेंहदावल-खलीलाबाद रोड लम्बाई 32 किमी लागत 193.10 करोड़ रुपये है। उक्त सभी कार्यों की डीपीआर तैयार कराई जा रही है। मुख्य सचिव सभी कार्य निर्धारित समय-सारिणी के अनुसार पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी कार्यों का गहन पर्यवेक्षण सुनिश्चित कराया जाये तथा कार्यों की गुणवत्ता का सतत निरीक्षण व परीक्षण भी अवश्य हो। उन्होंने कहा कि चिन्हित छह नये कार्यों की डीपीआर भी समय से सब्मिट हो जाये। बैठक में वित्त, लोक निर्माण विभाग, गृह, परिवहन आदि विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।              


एलआईसी को बेचना पीएम का नया प्रयास

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार की नीतियों को लेकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि एलआईसी को बेचना मोदी सरकार का एक और शर्मनाक प्रयास है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “मोदी जी ‘सरकारी कंपनी बेचो’ मुहिम चला रहे हैं। खुद की बनाई आर्थिक बेहाली की भरपाई के लिए देश की संपत्ति को थोड़ा-थोड़ा करके बेचा जा रहा है। जनता के भविष्य और भरोसे को ताक पर रखकर एलआईसी को बेचना मोदी सरकार का एक और शर्मनाक प्रयास है।”                     


आईएएस, आईपीएस दोषी, होगी कार्रवाई

उन्नाव रेप केस, सीबीआई ने तत्कालीन डीएम आदित्य सिंह समेत दो आईपीएस, अपर पुलिस अधीक्षक समेत चार को सेंगर मामले में माना दोषी, कार्यवाही की सिफारिश।


बृजेश केसरवानी 


लखनऊ/नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के बहुचर्चित माखी रेप कांड की जांच के बाद सीबीआई की टीम ने उन्नाव की तत्कालीन डीएम आदित्य सिंह व उस कांड के समय जिले के पुलिस कप्तान रहे दोनों आईपीएस अधिकारियों की भूमिका की जांच के दौरान पूरे मामले में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के साथ उनकी भूमिका संदिग्ध पाए जाने के बाद जांच में दोषी मानते हुए सचिव को पत्र लिख विभागीय कार्यवाही की सिफारिश की है बता दे इसी केस में मांखी कोतवाली के तत्कालीन एसएचओ मामले में दोषी पाए गए थे जो वर्तमान में जेल में है।
उत्तर प्रदेश बहुचर्चित उन्नाव दुष्कर्म कांड में (बर्खास्त बीजेपी विधायक) कुलदीप सेंगर के दोषी करार दिए जाने के बाद पूरे मामले में सीबीआई ने उन्नाव की तत्कालीन डीएम आदित्य सिंह जो वर्तमान में हापुड़ की जिला अधिकारी है।
दो एसपी जिसमें नेहा पांडे व पुष्पांजलि के साथ अपर पुलिस अधीक्षक रहे अष्टभुजा प्रसाद सिंह को घोर लापरवाही बरतने के आरोप में दोषी माना गया है।
सीबीआई ने अपनी जांच में इन चारों अधिकारियों को पूरे मामले में लापरवाही बरतने का दोषी पाते हुए चारों के खिलाफ कड़ी विभागीय कार्यवाही की सिफारिश करते हुए यूपी सरकार को अपनी रिपोर्ट भेजी है बता दे सीबीआई ने दुष्कर्म के आरोप सिद्ध होने के बाद बांगरमऊ के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जो वर्तमान में जेल में है। के मामले में जांच करते हुए रिपोर्ट में कहा है कि उन्नाव की तत्कालीन डीएम आदित्य सिंह जो वर्तमान में हापुड़ की जिला अधिकारी हैं एसपी नेहा पांडे जो वर्तमान में एसपी रेलवे गोरखपुर पर पुष्पांजलि जो वर्तमान में आईबी की केंद्रीय प्रतिनिधि है। उनके साथ ही अपर पुलिस अधीक्षक रहे अष्टभुजा प्रसाद सिंह जो वर्तमान में पीएससी फतेहपुर में कमांडेंट है को घोर लापरवाही बरतने के मामले में कड़ी कार्यवाही किये जाने की विभागीय सिफारिश करते हुए रिपोर्ट यूपी सरकार को सौंपी है। बता दे पूर्व बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उन्नाव दुष्कर्म केस मामले में कोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाते हुए पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में 10 साल की सजा सुनाई है।
बता दे पूरे मामले में घटना के बाद पीड़िता ने तत्कालीन उन्नाव की डीएम 2 आईपीएस अधिकारी के साथ अपर पुलिस अधीक्षक से भी शिकायत की। लेकिन पूरे मामले में मिलीभगत से लीपापोती करते हुए इन अधिकारियों पर बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को बचाने के गंभीर आरोप के मामले में सीबीआई जांच के बाद दोषी पाया गया है इस मामले में सीबीआई ने चारों के खिलाफ विभागीय जांच की कड़ी कार्यवाही की सिफारिश की है बताते चलें 24 जनवरी 2016 से 26 अक्टूबर तक आदित्य सिंह उन्नाव की डीएम रही थी वही नेहा पांडे 2 फरवरी 2016 से 26 अक्टूबर 2017 तक उन्नाव की एसपी पुष्पांजलि सिंह 27 अक्टूबर 2017 से 30 अप्रैल 2018 तक उनकी एसपी रही वर्तमान समय में आदित्य सिंह हापुर की जिलाधिकारी है पुष्पांजलि सिंह रेलवे गोरखपुर की एसपी है जबकि नेहा पांडे केंद्रीय प्रतिनिधित्व से आईवी में है उस समय के अपर पुलिस अधीक्षक अष्टभुजा सिंह पीएससी फतेहपुर में कमांडेंट के पद पर तैनात है। इन चारों को सीबीआई ने पूरे मामले में दोषी पाते हुए कड़ी विभागीय कार्यवाही की सिफारिश की है।
क्या है उन्नाव दुष्कर्म कांड का मामला।
पूरा मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे उन्नाव जिले की माखी कोतवाली क्षेत्र का है जहां विधायक कुलदीप सेंगर अपने साथियों के साथ 2017 में एक महिला की मदद से नाबालिग को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया, पीड़िता जिले की कप्तान लेकर एसी तक लगातार चक्कर लगाती रही। लेकिन विधायक के आगे कहीं भी सुनवाई नहीं हुई दूसरी तरफ विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के इशारे पर पीड़िता के पिता व चाचा पर झूठे मामले दर्ज कर प्रताड़ित किया जाने लगा इसके बाद जेल में निर्मम हत्या कर दी गई। पूरे मामले ने जब तूल पकड़ा सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर मामला उत्तर प्रदेश से दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में चलाया गया वहां सुनवाई के बीच सीबीआई ने पूरे मामले में अपनी जांच सौंपी आरोपियों ने पीड़िता को एक्सीडेंट के रूप में खत्म करने की नाकाम कोशिश की, उस एक्सीडेंट में पीड़िता की चाची समेत अन्य रिश्तेदार मारे गए पूरे मामले में पीड़िता को सुरक्षा दे इलाज के लिए दिल्ली के एम्स में ट्रांसफर किया गया। जिसके बाद तीस हजारी कोर्ट में 20 दिसंबर 2019 को आरोपी कुलदीप सेंगर को तीस हजारी कोर्ट ने दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाते हुए 2500000 रुपए का जुर्माना लगाया। जिसके बाद यूपी सरकार ने उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी। वही कोर्ट ने कुलदीप सिंह सेंगर पर पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में 10 साल की सजा सुनाई जबकि उनके भाई अतुल सेंगर को पीड़िता के परिवार को ₹1000000 मुआवजा देने का आदेश दिया।             


आश्रम में साध्वी के साथ किया दुष्कर्म

गोड्डा। झारखंड में गोड्डा जिले के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र में एक साध्वी के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने मंगलवार को बताया कि संतसेवी आश्रम की दीवार को फांदकर सोमवार देर रात अपराधियों ने आश्रम में प्रवेश किया और वहां मौजूद लोगों के साथ मारपीट कर सभी को अलग-अलग कमरे में बंद कर दिया। इसी दौरान अपराधियों ने एक साध्वी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।


जानकारी के अनुसार, साध्वी फरवरी माह में प्रवचन करने के लिए आश्रम आई थी लेकिन लॉकडाउन के कारण वह अपना आश्रम नहीं लौट सकी। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। इस सिलसिले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिससे पूछताछ की जा रही है।                    


अरुणाचल में 5 लापताओं की पुष्टिः चीन

ईटानगर। अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए पांच युवक चीन के क्षेत्र में मिले हैं। इसकी पुष्टि खुद चीनी सेना ने की है। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने मंगलवार को ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। केंद्रीय युवा मामलों एवं खेल मंत्री रिजिजू ने एक ट्वीट में कहा, “भारतीय सेना की तरफ से भेजे गए हॉटलाइन संदेश पर चीन की पीएलए ने जवाब दिया है। उन्होंने पुष्टि की है अरुणाचल प्रदेश से लापता युवा उनकी तरफ पाए गए हैं। उन्हें अधिकारियों को सौंपे जाने की आगे की आपौचारिकताओं पर काम किया जा रहा है। जब इस संबंध में ऊपरी सुबनसिरी जिले के पुलिस अधीक्षक तारू गुसर ने कहा कि वह घटनाक्रम को लेकर बहुत व्यस्त हैं और फिलहाल मीडिया से बात नहीं कर सकते। इससे पहले मंगलवार सुबह गुसर ने कहा था कि पांच लापता व्यक्तियों के परिवार के सदस्यों, जिन्हें कई संदिग्ध चीनी पीएलए सैनिकों द्वारा अपहरण कर लिया गया था, ने पुलिस को सूचित नहीं किया है।


गुसर ने बताया, “इस क्षेत्र के लोग शिकार के लिए जंगल में जाते हैं, जो इस क्षेत्र के आदिवासियों के बीच एक पारंपरिक प्रथा है। मैं तब तक कुछ भी नहीं कह सकता, जब तक कि मुझे वह जानकारी नहीं मिल जाती कि असल में क्या हुआ था।” इससे पहले दिन में लोकसभा में कांग्रेस के उपनेता गौरव गोगोई ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से अरुणाचल प्रदेश के पांच युवाओं की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने का आग्रह किया था। गौरव गोगोई ने राजनाथ सिंह को लिखा, “मैं आपको अरुणाचल प्रदेश के उन पांच युवकों की स्थिति के बारे में अपनी गंभीर चिंता दर्ज करने के लिए लिख रहा हूं, जो एक शिकार अभ्यास के दौरान ऊपरी सुबनसिरी जिले से लापता हो गए हैं। उनके परिवार के सदस्यों ने बयान दिया है कि उनका अपहरण कर लिया गया है और चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी इस घटना के लिए जिम्मेदार है।”


रिजिजू ने पहले कहा था कि भारतीय सेना ने अरुणाचल प्रदेश के पांच व्यक्तियों के कथित अपहरण के बारे में पीएलए को एक हॉटलाइन संदेश भेजा है।


राज्य के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय ने पहले ट्वीट किया था, “अरुणाचल सरकार ऊपरी सुबनसिरी जिले के नाचो गांव में पांच लापता लड़कों के मामले की बारीकी से निगरानी कर रही है। जिला प्रशासन को सभी संबंधित एजेंसियों को लापता लड़कों का पता लगाने में सहायता करने का निर्देश दिया गया है।” अरुणाचल प्रदेश में स्थानीय मीडिया ने यह भी बताया है कि अपहरण ऊपरी सुबासिरी जिले के नाचो के पास एक वन क्षेत्र में हुआ है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अगवा किए गए व्यक्तियों में टोच सिंगकम, प्रसाद रिंगलिंग, डोंगटू इबिया, तनु बेकर और नार्गु डिरी शामिल हैं। ये सभी तागिन समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। यह लोग जंगल में गए थे। दो अन्य ग्रामीण, जो अपहरित व्यक्तियों के साथ गए थे और किसी तरह भागने में कामयाब रहे, उन्होंने लोगों को घटना के बारे में बताया। भारत-चीन सीमा ऊपरी सुबासिरी जिले के मुख्यालय दापोरिजो से लगभग 170 किलोमीटर दूर है, जो राज्य की राजधानी ईटानगर से 280 किलोमीटर दूर है। अरुणाचल प्रदेश के दूरदराज और पहाड़ी क्षेत्रों में ग्रामीण हमेशा पैदल ही जाने पर मजबूर होते हैं, क्योंकि वहां कोई उचित सड़क नहीं है। अरुणाचल प्रदेश की चीन के साथ 1,080 किलोमीटर की सीमा लगती है। प्रदेश की म्यांमार के साथ 520 किलोमीटर और भूटान के साथ 217 किलोमीटर की सीमा लगती है।              


हिमाचल में 98 मामले सामने आए






शिमला। हिमाचल में आज अब तक कोरोना के 98 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, 41 कोरोना पॉजिटिव  ठीक हुए हैं। कोरोना मृत्यु के आंकड़ा में तीन का इजाफा हुआ है। शिमला जिला में तीन कोरोना पॉजिटिव ने दम तोड़ा है। मौत का कुल आंकड़ा 57 पहुंच गया है। हिमाचल में आज अब तक कांगड़ा व हमीरपुर में 20-20, ऊना में 13, सिरमौर में 11, मंडी, शिमला व सोलन में सात-सात, बिलासपुर में 6, कुल्लू में पांच व चंबा में दो मामले सामने आए हैं। वहीं, सिरमौर के 20, बिलासपुर, चंबा व हमीरपुर के सात-सात कोरोना पॉजिटिव ठीक हुए हैं। प्रदेश में कोरोना का कुल आंकड़ा 7758 पहुंच गया है। अभी 2288 एक्टिव केस हैं। अब तक 5404 कोरोना पॉजिटिव ठीक हो चुके हैं। 


सिरमौर में कोरोना की रफ्तार जारी, 11 नए मामले मिले


सिरमौर में कोरोना का कहर जमकर बरप रहा है। मंगलवार को 11 नए मामले सामने आए हैं। मेडिकल कॉलेज से मिली रिपोर्ट के मुताबिक कुल 181 सैंपल, जिसमें 153 नए और 28 फॉलोअप सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। इनमें 36 नए और 20 फॉलोअप सैंपल नेगेटिव मिले हैं। जबकि 11 नए और 6 फॉलोअप सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा 106 नए और 2 फॉलोअप सैंपल की जांच जारी है। रिपोर्ट के मुताबिक पॉजिटिव 11 मामलों में 6 मामले नाहन से संबंध रखते हैं, जबकि 3 पांवटा साहिब और एक-एक मामला शिलाई और पच्छाद से संबंधित है। नाहन क्षेत्र की पुलिस कॉलोनी से 39 वर्षीय पुरुष, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी से 38 वर्षीय पुरुष, नाहन के चकरेड़ा से 34 वर्षीय पुरुष, बिरोजा फैक्ट्री नाहन से 30 वर्षीय महिला, जमटा से 64 वर्षीय महिला और रानी का बाग नाहन से 19 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव मिला है। इसके अलावा पांवटा साहिब के कोलर से 28 वर्षीय पुरुष, मालवा कॉटेज पांवटा साहिब से 48 वर्षीय पुरुष और पांवटा साहिब 36 वर्षीय, शिलाई के कमरऊ से 35 वर्षीय पुरुष और पच्छाद के सराहां से 39 वर्षीय पुरुष कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी जिला सिरमौर डॉ. केके पराशर ने नए मिले 11 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि 20 लोग कोरोना से स्वस्थ भी हुए हैं।


ऊना में बैंक और स्वास्थ्य कर्मी सहित 13 पॉजिटिव


ऊना से सोमवार को कोविड जांच के लिए भेजे गए 100 सैंपल में 13 पॉजिटिव, 87 नेगेटिव हैं। वहीं 09 संक्रमितों के फॉलोअप सैंपल भेजे गए थे जिसमें से एक पॉजिटिव, 07 नेगेटिव और एक सैंपल रिजेक्ट हुआ है। उपमंडल हरोली की 25 वर्षीय महिला पत्रकार संक्रमित के संपर्क में आने से पॉजिटिव पाई गई है। वहीं कोरोना काल में सेवाएं देने वाली एक 32 वर्षीय महिला स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित पाई गई है। उपमंडल अंब के अंदौरा की दिल्ली से लौटी 60 वर्षीय बुजुर्ग महिला कोरोना संक्रमित पाई गई है। गगरेट उपमंडल के कलोह का 38 वर्षीय युवक संक्रमित के संपर्क में आने से कोरोना संक्रमित पाया गया है।
ऊना उपमंडल के खानपुर की 25 वर्षीय युवती भी कोरोना पॉजिटिव हुई है। यह एचडीएफसी बैंक की कर्मी है। संक्रमित के संपर्क में आने के चलते इसका सैंपल हुआ था। वहीं संतोषगढ़ की 43 वर्षीय महिला और उसका 16 वर्षीय बेटा भी कोरोना संक्रमित हुए हैं। इनके परिवार का सदस्य पहले कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। उपमंडल बंगाणा के थानाकलां का 26 वर्षीय युवक कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने से पॉजिटिव हुआ है।


वहीं बंगाणा उपमंडल के ही प्रोइयां का 38 वर्षीय युवक भी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने के बाद कोविड 19 पॉजिटिव हुआ है। ऊना (Una) उपमंडल के रक्कड़ कॉलोनी की ग्रीन एवेन्यू में रहने वाली बीडीओ कार्यालय अंब में तैनात 47 वर्षीय महिला कर्मी और उसकी 62 वर्षीय ननद भी संक्रमित हुई है, यह संक्रमित के संपर्क में आने से ही पॉजिटिव हुई है। वहीं नगर परिषद ऊना में तैनात 53 वर्षीय कर्मी और उसकी 49 वर्षीय पत्नी पॉजिटिव हुई है, यह ऊना शहर के ही गोपाल नगर के रहने वाले हैं। यह भी संक्रमित के संपर्क में आए थे। जिला में संक्रमितों की कुल संख्या 637 हो गई है, जिसमें से 408 रिकवर और 224 एक्टिव केस हैं, जबकि पांच संक्रमितों की मृत्य हो चुकी है। वहीं जिला में माइग्रेटेड इस के भी तीन नए मामले आए है, जिसमें पहला मामला ऊना उपमंडल के जखेड़ा का है जिसमें 28 वर्षीय युवक की नंगल पंजाब में रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। दूसरा माइग्रेटेड इन ऊना उपमंडल के संतोषगढ़ का 75 वर्षीय बुजुर्ग है। इसकी भी नंगल में रिपोर्ट पॉजिटिव हुई है। वहीं तीसरा पीजीआई से उपचार करवाकर लौटा 54 वर्षीय व्यक्ति पॉजिटिव हुआ है। पीजीआई में इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पीजीआई और नंगल से तीनों की रिपोर्ट आने के समय यह अपने अपने घरों पर ही थे। माइग्रेटेड इन के तीन मामले आने के बाद जिला में माइग्रेटेड इन की संख्या 25 हो गई है, जिसमें से 19 रिकवर और 06 एक्टिव केस हैं।







मृतक संख्या-1133, संक्रमित-43 लाख

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण दुनिया में सबसे ज्यादा तेजी से भारत में ही फैल रहा है। देश में पिछले 24 घंटों में रिकॉर्ड 75,809 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 1133 लोगों की जान चली गई है। देश में अब कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 43 लाख के करीब पहुंच गई है। ब्राजील को पछाड़कर भारत दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित देश हो गया है। दुनिया में अभी संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले अमेरिका में है। लेकिन हर दिन अमेरिका से दोगुने-तीन गुने कोरोना मामले भारत में मिल रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में अब कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 42 लाख 80 हजार हो गई है. इनमें से 72,775 लोगों की मौत हो चुकी है। एक्टिव केस की संख्या 8 लाख 83 हजार हो गई और 33 लाख 23 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या की तुलना में स्वस्थ हुए लोगों की संख्या करीब तीन गुना अधिक है।


5 करोड़ से ज्यादा सैंपल टेस्ट
ICMR के मुताबिक, 7 सितंबर तक कोरोना वायरस के कुल 5 करोड़ 6 लाख सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 11 लाख सैंपल की टेस्टिंग कल की गई। पॉजिटिविटी रेट 7 प्रतिशत से कम है। कोरोना वायरस के 54% मामले 18 साल से 44 साल की उम्र के लोगों को हैं लेकिन कोरोना वायरस से होने वाली 51% मौतें 60 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों में हुईं हैं।               


भारत ने 'चीनी मीडिया' से बचने को कहा

नई दिल्ली/ बीजिंग। भारत ने चीनी मीडिया संस्थानों की ओर से विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर के बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश करने पर कड़ी आपत्ति व्यक्त की है और उनसे मनगढ़ंत रिपोर्टिंग से बचने का आग्रह किया है। विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को एक बयान में कहा, “ हमने चीनी सरकारी मीडिया खासकर चाइना डेली और हुआन्ची शिबाओ (ग्लोबल टाइम्स) में प्रकाशित रिपोर्टों को देखा है जिनमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के हवाले से कुछ टिप्पणियां की गयी हैं। ये रिपोर्टें पूरी तरह से झूठी और तथ्यों से परे हैं।”


बयान में कहा गया, “हम मीडिया से ऐसी मनगढ़ंत रिपोर्टिंग से बचने का आग्रह करते हैं।” चीन की जनमुक्ति सेना ने कल रात दावा किया था कि भारतीय सैनिकों ने पेंगांग झील के पास वास्तविक नियंत्रण रेखा पार करके हवा में गोलियां चलायीं।भारतीय सेना ने यहां एक बयान जारी करके कहा कि चीनी जनमुक्ति सेना द्विपक्षीय समझौतों का खुला उल्लंंघन कर रही है। चीन सरकार वास्तविक नियंत्रण रेखा पर उसके सैनिकों की भड़काऊ गतिविधियों को छिपाने के लिए गुमराह करने वाले बयान दे रही है जबकि भारतीय सैनिकों ने कभी भी वास्तविक नियंत्रण रेखा के अतिक्रमण की कोशिश नहीं की है।


बयान में कहा गया है कि भारत वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव कम करने और स्थिति सामान्य बनाने के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन चीन निरंतर उकसाने वाली गतिविधियों में लिप्त है। बयान में जोर देकर कहा गया है कि भारतीय सेना ने कभी भी एलएसी का अतिक्रमण करने की कोशिश नहीं की और न ही कभी फायरिंग सहित कोई उकसाने वाली कार्रवाई की है।बयान में कहा गया कि सेना सीमा पर शांति तथा स्थिरता बनाये रखने के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन वह राष्ट्रीय एकता और संप्रभुता के लिए किसी कीमत पर समझौता नहीं करेगी।               


अधिवक्ता भूपाल के निधन पर जताया शोक

अल्मोड़ा। उत्तराखंड लोक वाहिनी ने वरिष्ट अधिवक्ता भूपाल सिह नेगी के आकस्मिक निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उत्तराखण्ड लोक वाहिनी ने एक वर्चुवल संवाद आयोजित कर अधिवक्ता भूपाल सिंह नेगी के निधन को सामाजिक क्षेत्र की अपूरणीय क्षति बताया।
वर्चुअल संवाद की अध्यक्षता करते हुए एड. जगत रौतेला मे अधिवक्ता भूपाल सिंह नेगी की असामयिक मृत्यु पर गहरा दुख ब्यक्त करते हुए कहा कि उनका निधन से सामाजिक क्षेत्र की क्षति हुई है। जो अपूरणीय है। वाहिनी के महासचिव पूरन चन्द्र तिवारी ने कहा कि स्व. भूपाल सिंह नेगी ने वाहनी के नेतृत्व में चले वन बचाओ तथा नशा नहीं रोजगार दो जैसे प्रमुख आंदोलनों में अपनी भूमिका निभाई और वे छात्र जीवन से ही उत्तराखण्ड के जन सरोकारों से जुड़े रहे। इस संवाद में छावनी परिषद के उपाध्यक्ष जंग बहादुर थापा, अजय मित्र बिष्ट, जयमित्र, हरीश मेहता, हारिस मुहम्मद, दयाकृष्ण काण्डपाल, सुशीला धपोला, शमशेर जंग गुरूंग, कुणाल तिवारी आदि ने विचार रखे। अंत में ​शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की गई।               


प्रशासन से भूमि का प्रस्ताव मांगा गया

भानु प्रताप उपाध्याय 


ऊन। गन्ना मंत्री सुरेश राणा के प्रयास से ऊन में राजकीय महाविद्यालय के लिए जिला प्रशासन द्वारा तहसील प्रशासन से ढाई एकड़ विवाद रहित भूमि का प्रस्ताव मांगा गया था। इस संबंध में उप जिलाधिकारी ने मंगलवार को गागौर रोड पर नवीन परती की भूमि का निरीक्षण कर अभिलेखों की जांच की। गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने ऊन में राजकीय महाविद्यालय बनवाने की घोषणा की थी जिसके बाद जिला प्रशासन द्वारा तहसील प्रशासन से ढाई एकड़ विवाद रहित भूमि का प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया था इस संबंध में जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी प्र सून राय ने उप जिलाधिकारी को पत्र भेजा था। इस संबंध में मंगलवार को उप जिलाधिकारी मणि अरोरा, तहसीलदार राजकुमार भारती ने गागौर रोड पर नवीन प्रति की भूमि का निरीक्षण किया तथा अभिलेखों की जांच की। इस संबंध में उप जिलाधिकारी मणि अरोरा ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा राजकीय महाविद्यालय ढाई एकड़ भूमि का प्रस्ताव मांगा गया है। गागौर रोड पर नवीन परती की भूमि का निरीक्षण किया गया है। अभिलेखों की जांच के बाद प्रस्ताव भेजा जाएगा।                  


प्रत्याशी ने विद्यालय में किया जनसंपर्क

भानु प्रताप उपाध्याय


प्रगतिशील शिक्षक एसोसिएशन के प्रत्याशी ने जिले के विद्यालयो में किया जनसंपर्क


ऊन। प्रगतिशील शिक्षक एसोसिएशन के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष एवं मेरठ खंड शिक्षक निर्वाचक क्षेत्र के अधिकृत प्रत्याशी रजनीश चौहान ने प्रदेश सचिव हरविंदर सिंह के साथ जनपद शामली के विभिन्न विद्यालयों का दौरा कर शिक्षकों को एसोसिएशन की सदस्यता दिलाई और आगामी विधान परिषद चुनाव में श्री रजनीश चौहान जी को भारी मतों से विजय बनाने की अपील की।
 कन्या कल्याण गुरुकुल शिक्षा संस्थान इंटर कॉलेज भैंसवाल के प्रधानाचार्य श्रीमती शिमला देवी जनता आदर्श इंटर कॉलेज मलेंडी के प्रधानाचार्य श्री निर्भय सिंह पब्लिक इंटर कॉलेज केराना के प्रधानाचार्य श्री अजय बहादुर सिंह एवं लाला नरसिंह दास सरस्वती विद्या मंदिर केराना के प्रधानाचार्य श्री सुखपाल शर्मा ने अपने अपने समस्त स्टाफ की तरफ से एसोसिएशन को मजबूत बनाने एवं एक-एक वोट चुनकर श्री रजनीश चौहान को ब्लॉक कर जिताने का भरोसा दिलाया।
 श्री हरविंदर सिंह ने कहा कि लगन इच्छाशक्ति और कठिन परिश्रम के बल पर असंभव लगने वाली कामना भी आसानी से पूर्ण हो जाती है इस प्रकार सर्व गुण संपन्न श्री रजनीश चौहान जी की जीत पक्की है इसी क्रम में श्री शिवकुमार ने कहा कि जात पात को भूलकर सभी एकजुट होकर श्री रजनीश चौहान जी के साथ खड़े होने का समय आ गया है। इस अवसर पर प्रदीप कुमार भूपेंद्र सिंह लाल चंद्र वर्मा मोकम सिंह रामनाथ एवं श्रीमती कुमुद देवी सहित प्रत्येक विद्यालयों का समस्त स्टाफ मौजूद रहा ।               


तूल पकड़ता जा रहा 'सड़क' का मामला

भानु प्रताप उपाध्याय


गढीपुख्ता। गढीपुख्ता से थानाभवन तक किए जा रहे सडक निर्माण का मामला तूल पकडता जा रहा है। गढीपुख्ता के समाजसेवी ने सडक निर्माण में ठेकेदार द्वारा घटिया सामग्री का प्रयोग करने के मामले में कोई कार्रवाई न होने पर अब मंडलायुक्त से शिकायत की है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की गयी तो कस्बेवासी धरने पर बैठ जाएंगे। जानकारी के अनुसार नगर पंचायत गढीपुख्ता द्वारा इन दिनों गढीपुख्ता से थानाभवन जाने वाले मार्ग पर इंटरलाकिंग सडक का निर्माण कराया जा रहा है। कस्बे के समाजसेवी रण कुमार व अन्य कस्बेवासियों का आरोप है कि नगर पंचायत ठेकेदार द्वारा इंटरलाकिंग सडक के निर्माण में डस्ट के बजाय मिट्टी डलवाई जा रही है जिससे सडक एक-दो बारिश में बिल्कुल खराब हो जाएगी। उन्होंने कहा कि तीन दिन पूर्व उन्होंने इस मामले में एसडीएम ऊन व नगर पंचायत ईओ से भी शिकायत की थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गयी और सडक का निर्माण जारी है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की गयी तो वे कस्बेवासियों के साथ धरने पर बैठ जाएंगे। उन्होंने मंडलायुक्त से सडक निर्माण की जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है। इस मौके पर बिजेन्द्र, रामपाल, अनिल धनकर, विजयपाल आदि भी मौजूद थे।               


आश्रम ने किया ढोंगी बाबाओं का पर्दाफाश

नई दिल्ली। बाबाओं को किस तरह हमारे देश में भगवान का दर्जा दिया जाता है, इस सीरीज में दिखाया गया है,ढोंगी बाबाओं के द्वारा कैसे लड़कियों और औरतों के साथ होने वाले अत्याचार से लेकर उनकी रहस्यमयी दुनिया को भी उजागर किया जाएगा।


ये कहानी  फेक गॉड मैन के साथ-साथ आम-आदमी की कहानी है। ये दिखाती है कि कैसे एक आम आदमी ऐसे  फरेबी शख्स पर भरोसा कर लेता है, जो सच में भरोसे के लायक नहीं होता। हमारे यहाँ  जैसे गांव में लोग नीम हकीमों पर भरोसा करते हैं ये जानते हुए भी कि वो डॉक्टर नहीं हैं. क्योंकि 4 दवाईयों का नाम जानने की वजह से उनके पास लोगों की भीड़ खड़ी हो जाती है। उसी तरह से ये फेक  गॉड मैन हैं, जो कपड़े पहनकर बाबा बन जाते है। जब उनमें कुछ लोग विश्वास करना शुरू करते हैं, तो पूरी दुनिया उनको फॉलो करने लगती है। हमारे देश में धार्मिक गुरुओं जैसे रामकृष्ण परमहंस, स्वामी विवेकानंद, जिन्होंने अपना जीवन सत्य और ज्ञान की खोज में लगाया, हम उनका सम्मान करते हैं, हम उनकी पूजा करते हैं। लेकिन इनके चोले का सहारा लेकर बहुत सारे ठग भी हुए हैं,  जो दुनिया को लूटने के सिवाय कुछ नहीं करते। इस वेब सीरीज में बॉबी देओल बाबा निराला के रोल में नजर आये है। निराला को एक बड़े बाबा के रूप में दिखाया गया है, जिसका बड़ा साम्राज्य है, बड़े-बड़े नेता उसके आगे-पीछे घूमते हैं। वास्तव में ये वेब सीरीज देश के धर्मगुरुओं पर आधारित हैं हमारे देश में बाबाओं की मायावी दुनिया हमेशा से रहस्यों से भरी रही है। कई धर्मगुरु और बाबाओं के लाखों करोड़ों अनुयायी रहे हैं, बड़ी-बड़ी हस्तियां और देश भर के अच्छे खासे पढ़े-लिखे लोग उनके सामने नतमस्तक होते रहें हैं। लेकिन कई बार ऐसे उदाहरण भी सामने आए जब उन धर्मगुरुओं की काली दुनिया का सच लोगों के सामने आया तो लोगों के पैरों तले जमीन खिसक गई। ऐसे बाबाओं की लंबी फेहरिश्त हैं, आसाराम, गुरमीत राम रहीम सिंह, नित्यानंद स्वामी और रामपाल जैसे लोग हैं, जो रेप जैसे जघन्य अपराध के आरोप में आज जेल की हवा खा रहे हैं।         


अयोध्याः 5 बच्चों की मां प्रेमी संग फरार

एक गांव से पांच बच्चों की मां प्रेमी संग फरार हो गई। इस मामले में महिला के पति ने नामजद प्रेमी दुर्गा प्रसाद के खिलाफ पत्नी को भगा ले जाने का मुकदमा दर्ज कराया


अयोध्या। अयोध्या जनपद के मवई थाना क्षेत्र के एक गांव से पांच बच्चों की मां प्रेमी संग फरार हो गई। इस मामले में महिला के पति ने नामजद प्रेमी दुर्गा प्रसाद के खिलाफ पत्नी को भगा ले जाने का मुकदमा दर्ज कराया है। एसएचओ मवई आरके राणा ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर महिला की तलाश की जा रही है। प्रेमी के घर पर पुलिस ने दबिश दी है, लेकिन अभी तक प्रेमिका और महिला का कहीं कोई पता नहीं चला है। पुलिस ने इस मामले में पड़ोस के गांव के एक युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।               


कुख्यात पिस्टल लूटकर फरार, अरेस्ट किया

अतुल त्यागी, प्रवीण कुमार
कुख्यात बदमाश आशु जाट ने पुलिसकर्मी की पिस्टल लूटकर हुआ फरार, गिरफ्तार


हापुड़। मुम्बई से कार द्वारा हापुड़ ला रहे कुख्यात व ढ़ाई लाख के ईनामी बदमाश ने पेशाब करनें के बहानें एक सिपाही की पिस्टल छीनकर फरार हो गया। बाद में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।एसपी मंगलवार 12 बजे मामलों का करेंगे खुलासा। मुम्बई से हापुड़ कार द्वारा लाएं जा रहे कुख्यात बदमाश आशु जाट को सोमवार देर रात निजामपुर कट पर पेशाब के बहानें गाड़ी से उतरा और मौका देखकर सिपाही अंकुर धामा की पिस्टल लूटकर फरार हो गया। पुलिस ने थोड़ी दूर पहुंचकर ही आशु को गिरफ्तार कर थानें ले आई। मंगलवार को एसपी संजीव सुमन प्रेस वार्ता कर मामलों का खुलासा करेंगे। 2019 में धौलाना तहसील के दो भाजपा नेताओं पन्ना प्रमुख चन्द्रमोहन व म़डल महामंत्री शर्मा की हत्या के आरोपी आशु जाट को लेकर हापुड़ पुलिस सोमवार देर रात हापुड़ पहुंचने की सम्भावना हैं। मुम्बई की अपराध शाखा ने मिर्ची गैंगलीडर व ढ़ाई लाख के ईनामी आशु जाट को गिरफ्तार कर लिया था। मिर्ची गैंगलीडर आशु को पुलिस कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेकर उससे पूछताक्ष करेंगी, जिसमें भाजपा नेताओं की हत्या सहित कई बड़े खुलासा होने की उम्मीद हैं।
एसपी संजीव सुमन ने बताया कि मिर्ची गैंग के लीडर आशु जाट पर हापुड़ सहित प्रदेश के अन्य जनपदों में 60 से भी अधिकहत्या, लूट, डकैती, धोखाधड़ी व अन्य मामलों में मुकदमें दर्ज है।
उन्होंने बताया कि मंगलवार को आशु को रिमांड पर लेकर पूछताक्ष की जायेगी।


पूर्व 'विधायक' के घर पर बदमाशों का दावा

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
पूर्व विधायक के घर पर बदमाशों ने बोला धावा, तोड़फोड़


हापुड़। शहर की पॉश कॉलोनी श्रीनगर में पूर्व विधायक गजराज सिंह के आवास पर सोमवार रात बदमाशों ने हमला बोला। बदमाशों ने घर में घुसने की कोशिश की और बाहर खड़ी गाड़ी के शीशे तोड़ दिए और गाड़ी में रखा बैग लूट कर ले गए। बदमाशों ने घर के बरामदे में रखे मुढ़े भी इधर उधर फेंके।जानकारी के अनुसार हापुड़ सदर के पूर्व विधायक गजराज सिंह के श्रीनगर स्थित आवास पर सोमवार रात बदमाशों ने घर पर धावा बोल दिया। लूट में नाकाम रहनें पर बदमाशों ने गाड़ी के शीशे व अन्य सामान तोड़फोड़ दिया और गाड़ी में रखा बैंग उठा ले गए।


शहर अध्यक्ष अभिषेक गोयल ने कहा है कि पुलिस को जल्द से जल्द बदमाशों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार करना चाहिए और साथ ही पूर्व विधायक गजराज सिंह की सुरक्षा भी बढ़ानी चाहिए। अभिषेक गोयल ने बताया कि कुछ रोज़ पहले उनके घर के बाहर खड़ी उनकी गाड़ी के भी शीशे रात में चोर उतार कर ले गए थे। उससे पहले पूर्व शहर अध्यक्ष दिनेश शर्मा जी की घर के बाहर खड़ी गाड़ी के 2 टायर चोर उतार कर ले गए थे, जो सीसीटीवी में भी कैद हुए थे। लेकिन अबतक उनका कोई सुराग पुलिस नहीं लगा पाई।               


हाफिजपुर थाना इंचार्ज को मिली सफलता

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


कप्तान संजीव सुमन द्वारा चलाए जा रहे अपराधियों की धरपकड़ अभियान के तहत हाफिजपुर थाना इंचार्ज को मिली सफलता।


हापुड़। गश्त के दौरान थाना हाफिजपुर पुलिस को मिली सफलता काफी समय से फरार चल रहे फुरकान पुत्र इंतजार निवासी बड़ौदा सिहानी को 315 बोर तमंचा दो जिंदा कारतूस के साथ पुलिस ने किया गिरफ्तार। थाना इंचार्ज धर्मेंद्र कुमार सिंह की पुलिस टीम अपराधियों पर लगातार पकड़ बनाने में हो रही कामयाब वांछित चल रहे अपराधियों पर भी पुलिस की पैनी नजर 315 बोर तमंचा दो जिंदा कारतूस के साथ आरोपी को दबोच कर पहुंचाया सलाखों के पीछे।                 


तस्करी के मामले में अभिनेत्री गिरफ्तार

बेंगलुरु। मादक पदार्थों की तस्करी मामले की जांच कर रहे अपराध शाखा के अधिकारियों ने कन्नड़ सिनेमा की अभिनेत्री संजना गलरानी को गिरफ्तार कर लिया है। अपराध शाखा के अधिकारियों ने संजना के घर पर इस सिलसिले में छापा मारा था और उन्हें गिरफ्तार किया था। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राज्य में मादक पदार्थों की तस्करी को लेकर चल रही जांच के मामले में अपराध शाखा ने संजना के घर पर छापा मारा था। इस सिलसिले में पुलिस पहले ही अभिनेत्री रागिनी को गिरफ्तार कर चुकी है और वह पुलिस हिरासत में हैं।


सूत्रों ने बताया के छापे के दौरान अपराध शाखा के अधिकारियों को संजना के घर से मादक पदार्थों की तस्करी से संबंधित कुछ दस्तावेज मिले थे, जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी हुई। अपराध शाखा की पुलिस उनके करीबी उद्योगपति राहुल काे पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।               


जनपद में 21 से शुरू होगी 'विमान सेवा'

जगदलपुर। जिले के स्थानीय विमानतल का नाम बस्तर की आराध्य देवी माई दंतेश्वरी के नाम पर नामकरण करने के बाद हवाई सेवा शुरू करने की घोषणा अलायन्स एयर ने किया है। कंपनी के अनुसार 21 सितंबर को यहां से एटीआर विमान उड़ान भरेगा। 29 अगस्त को बस्तर के इससे पहले 05 अगस्त उड़ान की तिथि तय हुई थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के मद्देनजर 29 जुलाई को तारीख आगे बढ़ाते हुए सेवा अनिश्चित काल के लिए रद्द करने की घोषणा की थी। अग्रवाल हॉलीडेज के संचालक शैलेश अग्रवाल ने बताया कि एवियेशन कंपनी से लगातार फोन आ रहें है, पर दो बार बुकिंग की गई टिकटे रदद् करना पड़ा इससे ना केवल ग्राहक का नुकसान हुआ बल्कि एजेंट का नाम भी खराब होता है। उन्होंने कहा की जब तक एवियेशन कंपनी की उड़ानें निरंतर जारी नहीं रहेगी यहां से कोई बुकिंग नहीं की जायेगी।


उल्लेखनिय है कि 14 जून 2017 को पीएम नरेंद्र मोदी ने क्षेत्रीय उड़ान सेवा के तहत बस्तर को राज्य की राजधानी रायपुर और पड़ोसी प्रांत आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम से जोड़कर सौगात दी थी, लेकिन एयर ओडिशा के अनियमित विमान संचालन की वजह से कुल 54 दिनों की उड़ान के बाद इस सेवा पर ब्रेक लग गया था। विमान सेवा संचालित कर रही कंपनी के ब्लैक लिस्ट हो जाने के बाद स्थानीय एयरपोर्ट प्रबंधन ने नए सिरे से कवायद करते हुए टूसी की बजाए 03 सी के लिए लाइसेंस का आवेदन किया, जिसके बाद डीजीसीए की टीम का एक के बाद एक कई प्रवास यहां हुआ। तकनीकी अड़चनों को दूर करने में लंबा वक्त लगा। 21 सितंबर से शुरू हो रही एयर एलायंस का विमान क्रमांक 91885 सुबह 09 बजे हैदराबाद से उड़ान भरकर 10:25 बजे जगदलपुर पहुंचेगा, जगदलपुर से सुबह 10:55 बजे उड़ान भरकर दोपहर 12 बजे रायपुर पहुंचेगा, इसके बाद विमान संख्या 91886 वापसी के लिए दोपहर 12:30 बजे रायपुर से रवाना होकर 01:35 बजे जगदलपुर पहुंचेगा और जगदलपुर से अपरान्ह 2:05 बजे रवाना होकर हैदराबाद शाम 3:40 बजे पंहुचेगा।             


बछड़े को बचाने में जुटे 5 लोगों की मौत

गोंडा। नगर के मोहल्ला महाराजगंज में एक पुराने कुएं में एक बछड़ा गिर गया। इसे बचाने के लिए कुएं में कूदे एक युवक की डूबने से मौत हो गई। युवक को बचाने के लिए एक-एक कर चार और लोग कूद गए। जिसमें पांचों लोगों की डूबने से मौत हो गई। हालांकि लोगों ने बछड़े को जिंदा निकाल लिया।


कोतवाली नगर के महाराजगंज मोहल्ले में मंगलवार दोपहर को यह खबर मिलते ही फायर बिग्रेड और पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई। आसपास के लोग भी भारी संख्या में जुट गए। जिला प्रशासन के आलाअधिकारी मौके पर पहुंच गए।                 


यूपीः बदमाशों ने कुत्ते का किया अपहरण

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में अचंभित करने वाली घटना सामने आई है। जहां पर बताया जा रहा है कि थाना ठाकुरगंज क्षेत्र के सराय मालिका में रहने वाले प्रशांत अवस्थी के घर में उस वक्त एक अचंभित कर देने वाली घटना सामने आई जब उनके कुत्ते को कुछ लोग अपरहण करके अपने साथ ले गए बताया जा रहा है कि गेट पर बंद हुए कुत्ते को ले जाने की घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

आपको बताते चलें की राजधानी लखनऊ के थाना ठाकुरगंज में कुत्ते की अपहरण की घटना पर परिवार वालों का कहना है कि बदमाश उनके 7 साल के मासूम बच्चे का अपहरण करने आए थे। लेकिन कुत्ते के भौंकने के चलते कुत्ते का ही अपहरण करके ले गए। कुत्ते की अपरहण खबर जैसे ही परिवार वालों और आसपास के लोगों को हुई तो लोगों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में इसकी सूचना परिवार वालों ने थाना ठाकुरगंज की पुलिस को दिया।

बच्चे का अपहरण करने आए और कुत्ते का अपहरण करके ले गए बदमाशों की सारी हरकत घर के पास गली में लगे हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। वही कुत्ते की भौंकने पर घर वालों ने जैसे ही बाहर झांककर देखा तो बदमाश कुत्ते को अपहरण करके ले जाते हुए दिखे। जिस पर फौरन ही पीड़ित परिवार वालों ने जब अपहरणकर्ताओं का सड़क तक पीछा किया तो अपहरणकर्ता सड़क की तरफ कुत्ते को लेकर भागे और अपहरणकर्ता का साथी सड़क किनारे अपनी बोलेरो गाड़ी में बैठे हुए अपने साथी का इंतजार कर रहा था। परिवार वालों का पीछा करते हुए देख कुत्ते का अपहरण कर ले जा रहे अपराधी अपने साथियों के साथ बोलेरो गाड़ी में बैठकर फरार हो गया। वही सारी घटना की जानकारी पाकर थाना ठाकुरगंज की पुलिस अपराधियों की तलाश में भी जुड़ गई है।                 

भारत-चीन सीमा पर सालों बाद चली गोली

नई दिल्ली/ बीजिंग। लद्दाख में पैंगॉन्ग झील के दक्षिणी किनारे पर भारत और चीन के बीच फायरिंग की खबर है। चीनी सेना के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के मुताबिक भारतीय सैनिकों ने 7 सितंबर को पैंगॉन्ग त्सो के दक्षिणी किनारे पर एलएसी पार कर घुसपैठ की कोशिश की है। चीन का ये भी दावा है कि भारतीय सेना ने लाइन ऑफ कंट्रोल (एलएसी) पार करने के बाद हवाई फायर भी किए।


चीनी सेना के बयान के मुताबिक भारतीय सेना ने शेनपाओ इलाके में एलएसी पार की और जब चीनी सेना की पेट्रोलिंग पार्टी भारतीय जवानों से बातचीत करने के लिए आगे बढ़ी तो उन्होंने जवाब में वॉर्निंग शॉट किए यानी हवा में गोली चलाई। हालांकि, भारतीय सेना ने अब तक कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। लेकिन सूत्रों के मुताबिक दोनों सेनाओं के बीच सोमवार को फायरिंग हुई है।                    


'राष्ट्रपति भवन' से रेस्क्यू किया गया कोबरा

नई दिल्ली। राष्ट्रपति भवन के गेट नंबर 8 के पास से एक कोबरा रेस्क्यू किया गया। सोमवार की शाम गेट नंबर 8 पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने कोबरा को देखा और उसके तुरंत बाद पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने वाइल्ड लाइफ की टीम को इस बारे में सूचित किया। वाइल्ड लाइफ की टीम मौके पर पहुंची और कोबरा को रेस्क्यू किया।


                     

संक्रमण रोकने की 'कवायद' तेज की

झाँसी। गोरखपुर और बांदा की जिला जेलों में कोरोना संक्रमण फैलने की खबरों के बाद प्रदेश भर की जेलों में कैदियों को संक्रमण से बचाने की कवायद तेज़ हो गई है। राज्य गृह मंत्रालय ने इस संबंध में आवश्यक आदेश जारी कर दिए हैं।


आदेश के अनुसार जेल में आने वाले नए कैदियों के लिए जेल में ही एक स्पेशल सेल बनाया जाएगा। सभी कैदियों का जेल में प्रवेश से पहले RT-PCR टेस्ट किया जाएगा।  इतना ही नहीं नए कैदियों के खाने के लिए अलग से रसोई तथा अलग स्नानागार आदि की व्यवस्था भी की जाएगी। दिशानिर्देशों के अनुसार जेल में निरुद्ध कैदियों में खांसी, बुखार या जुकाम आदि लक्षण दिखते ही उनका पहले रेपिड एंटीजन टेस्ट कराया जाएगा।  यदि कोई कैदी संक्रमित मिलता है तो उसका RT-PCR टेस्ट करने के बाद यदि पॉज़िटिव नतीजे आते हैं तो उसे आइसोलेट कर दिया जाएगा।


अस्पताल स्टाफ की तरह से ही जेल कर्मचारियों की ड्यूटी भी दो-दो सप्ताह के रोटेशन पर बदली जाएगी।  आपको बता दें कि गाज़ियाबाद में नए कैदियों को रखने के लिए जीटी रोड स्थित शंभू दयाल इंटर कॉलेज में अस्थाई जेल बनाई गई है।               


कोरोना काल में घोटाला, दो निलंबित किए

कोरोना वायरस उपकरण खरीद घोटाले में पहली कार्यवाही, सुल्तानपुर व गाजीपुर के जिला पंचायती राज अधिकारी निलंबित। 


बृजेश केसरवानी


लखनऊ। आपदा को अवसर समझकर कोविड-19 काल में कोरोनावायरस उपकरण खरीद घोटाले में अनियमितताओं के चलते यूपी सरकार ने बड़ी कार्यवाही करते हुए गाजीपुर व सुल्तानपुर के पंचायती राज अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर विभागीय कार्यवाही के आदेश जारी किए हैं। बता दे गाजीपुर के पंचायती राज अधिकारी अनिल सिंह के खिलाफ 2800 की जगह 5800 की कोविड-19 किट खरीदने के मामले में कार्यवाही की गई है पूरे मामले की जांच डीपीआरओ गाजीपुर के मामले को लेकर उप निर्देशक पंचायत अयोध्या मंडल को जांच हेतु आदेश दिए गए हैं ।
वही सुल्तानपुर के जिला पंचायत राज अधिकारी कृष्ण कुमार सिंह चौहान सर भी ऐसी ही अन्य सताए बरतने का आरोप है बस फर्क इतना है कि इन्होंने 28 सौ रुपए की कोविड-19 कीट को ₹9950 में खरीदा है।
पूरे मामले में अनियमितताएं भाई जाने के बाद जांच कर तत्काल प्रभाव से निलंबन की कार्यवाही के बाद खुद निर्देशक पंचायती राज वाराणसी मंडल को मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं।              


फ्रॉड केस में चंदा कोचर के पति गिरफ्तार

वीडियोकॉन फ्रॉड केस में आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर के पति दीपक कोचर गिरफ्तार, ईडी ने की कार्रवाई।


नई दिल्ली। आइसीआइसीआइ बैंक-वीडियोकॉन मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ी कार्रवाई करते हुए आइसीआइसीआइ बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को गिरफ्तार किया है। इससे पहले सोमवार को दिन में ईडी ने उन्हें अपने दिल्ली कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया था।
अधिकारियों ने बताया कि दीपक कोचर को जांच एजेंसी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है। यह मामला वीडियोकॉन ग्रुप को बैंक लोन देने में कथित अनियमितताओं और मनी लांड्रिंग की जांच से जुड़ा है। इस साल जनवरी में ईडी ने चंदा कोचर, दीपक कोचर और उनके स्वामित्व व नियंत्रण वाली कंपनियों की 78.15 करोड़ रुपये की चल-अचल परिसंपत्तियों को भी जब्त कर लिया था। इनमें तमिलनाडु और महाराष्ट्र स्थित फ्लैट, जमीन, नकदी, मशीनें एवं संयंत्र शामिल हैं। मालूम हो कि वीडियोकॉन ग्रुप ऑफ कंपनीज को गैरकानूनी तरीके से 1,875 करोड़ का कर्ज मंजूर करने के लिए दर्ज की गई एफआइआर के आधार पर ईडी ने पीएमएलए के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू की थी।
दीपक कोचर की यह गिरफ्तारी ईडी ने वीडियोकॉन ग्रुप के प्रमुख वेणुगोपाल धूत को आईसीआईसीआई बैंक की ओर से 3250 करोड़ रुपये का लोन दिए जाने के मामले में की है। इस मामले में यह पहली बड़ी गिरफ्तारी है। ईडी आईसीआईसीआई बैंक द्वारा वीडियोकॉन समूह को दिए गये ऋण मामले में अनियमितता और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और कई अन्य के खिलाफ जांच कर रही थी।
ईडी के मुताबिक, जांच में पता चला कि चंदा कोचर की अध्यक्षता वाली समिति द्वारा वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड को स्वीकृत किए गए 300 करोड़ रुपये के कर्ज में से 64 करोड़ रुपये आठ सितंबर, 2009 को दीपक कोचर के स्वामित्व वाली नूपावर रिन्यूएबल्स प्राइवेट लिमिटेड में स्थानांतरित किए गए थे। वीडियोकॉन ने यह रकम कर्ज मंजूर होने के एक दिन बाद स्थानांतरित की थी। इसके बाद इस रकम से दीपक कोचर की कंपनी ने 10.65 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित किया था।            


बेटी ने पिता को दफनाने से किया इनकार

भोपाल। मध्य प्रदेश के श्योपुर में कब्रिस्तान में एक बुजुर्ग के शव को दफनाने से रोकने का मामला सामने आया है। अल्पसंख्यक बुजुर्ग की बेटी का आरोप है कि उन्होंने एक हिंदू लड़के से शादी कर हिन्दू धर्म अपना लिया। इससे नाराज अल्पसंख्यक समाज के लोगों ने उनके पिता का शव कब्रिस्तान में दफनाने से रोक दिया। बाद में पुलिस की मदद से शव को सुपुर्द-ए-खाक किया जा सका। श्योपुर पुलिस भी शव को दफनाने से रोकने की पुष्टि कर रही है, लेकिन मृतक की बेटी द्वारा लगाए जा रहे आरोपों से इनकार कर रही है


घटना बीते 6 सितंबर की बताई जा रही है। श्योपुर शहर से सटे सलापुरा स्थित आबू सैयद वाले कब्रिस्तान का मामला है, जहां एक बुजुर्ग के शव को दफनाने को लेकर विवाद हुआ।  मृतक की बेटी रवीना ने बताया कि उसने हिन्दू युवक से शादी करके उन्होंने अपने पति का धर्म अपना लिया था। रविवार को जब सलापुरा कब्रिस्तान के पास पुराने बने मकानों में रह रहे रवीना के पिता ईदा खान की मौत हो गई तो अल्पसंख्यक समाज के कुछ लोगों ने उनके शव को कब्रिस्तान में दफन करने से रोक दिया।


पुलिस ने नहीं की मदद
रवीना की मानें तो उन्होंने समाज के लोगों से निवेदन किया, लेकिन किसी ने उनकी एक नहीं सुनी। इसके बाद उन्होंने स्थानीय पुलिस से मदद मांगी, लेकिन कोतवाली पुलिस ने उनकी कोई मदद नहीं की। इसके बाद उन्हें चम्बल आईजी को फोन करके मदद मांगनी पड़ी, तब जाकर स्थानीय पुलिस उनकी मदद के लिए मौके पर पहुंची। तब जाकर उनके पिता के शव का अंतिम संस्कार किया गया।


कब्रिस्तान की जमीन को लेकर विवाद
गौरतलब है कि इस कब्रिस्तान की जमीन पर वक्फ कमेटी और ईदा खान के विरुद्ध केस चल रहा है। विगत दिनों कब्रिस्तान की जमीन पर मकान बनाने को लेकर हुए विवाद में करीब 30 लोगों पर बलवा करने की एफआईआर भी ईदा खान की बेटी रवीना शर्मा की रिपोर्ट पर हुई थी। रवीना का आरोप है उन्होंने मुस्लिम धर्म त्याग कर हिंदू धर्म अपना लिया है। इसी बात को लेकर समाज के ठेकेदार उनके परिवार से चिढ़े हुए हैं।


पुलिस की दलील
वहीं इस मामले में कोतवाली टीआई रमेश डांडे ने भी माना कि मृतक के शव को दफनाने से रोका गया था, लेकिन उन्होंने कहा कि बेटी का दूसरे धर्म में शादी को लेकर विवाद जैसी कोई बात सामने नहीं आई है। मृतक के परिजन कब्र के ऊपर गड्डा खोदकर शव दफन कर रहे थे। इस लिए शव को दफनाने से रोकने की जानकारी मिली है। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद शव का अंतिम संस्कार करवा दिया गया है। शिकायतों पर जांच की जा रही है।                 


रिंग पर पहलवान की जबरदस्त धुलाई

पहलवान की रिंग पर जबरदस्त धुलाई, इस परिवार ने डब्ल्यूडब्ल्यूई के सुपरस्टार को डंडों से जमकर पीटा, माँ – बाप और बेटे – बेटी ने की यादगार धुनाई, देखें वीडियो।



नई दिल्ली। डब्ल्यूडब्ल्यूई रॉ में इस हफ्ते खतरनाक मैच देखने को मिला है | यह मैच दर्शकों के लिए भी पैसा वसूल रहा है | डब्ल्यूडब्ल्यूई रॉ के मेन इवेंट में रे मिस्टीरियो के बेटे डॉमिनिक और सुपरस्टार रेसलर मर्फी के बीच जबरदस्त फाइट हुई थी | इस स्ट्रीट फाइट में डॉमिनिक की पूरी फैमिली ने मर्फी की जमकर पिटाई कर दी | 
फाइट शुरू होते ही मर्फी और डॉमिनिक ने एक दूसरे पर जबरदस्त प्रहार किए था | दोनों रेसलर लड़ते लड़ते रिंग से बाहर आ गए, इस दौरान डॉमिनिक मर्फी पर हावी दिखे, उन्हें स्पलैश लगाकर मर्फी को बैरिकेड पर दे मारा | हालांकि, मर्फी ने पलटवार किया और स्टील रैंप पर पटकी दे दी | इसके बाद डॉमिनिक कराहते दिखे थे | 
इस के बाद मर्फी ने डॉमिनिक के हाथ को बांध दिया और डंडे से मारने के लिए आगे बढ़े, तभी डॉमिनिक के पिता और सुपरस्टार रे मिस्टीरियो ने उन्हें रोक लिया | इधर डॉमिनिक की मां और बहन ने उनके हाथ खोल दिए | इसके बाद डॉमिनिक ने मर्फी के हाथ को रोप्स यानी रस्सी में फंसा दिए और डंडों की बरसात कर दी | 
दोनों में हो रहे धमासान के बीच मिस्टीरियो का पूरा परिवार भी इस मैच में कूद पड़ा | डॉमिनिक की बहन, मां और पिता रे मिस्टीरियो ने मिलकर मर्फी को खूब पीटा | हालांकि, मर्फी ने लगातार हो रहे हमले के बीच मैच क्विट कर दिया था | डॉमिनिक इस मैच को जीत गए थे, लेकिन फिर भी मिस्टीरियो परिवार का हमला जारी रहा और मर्फी को पीट-पीटकर उनका हाल बेहाल कर दिया था |
दरअसल, इस मैच से कुछ ही घंटे पहले रॉ में रे मिस्टीरियो के पूरे परिवार का इंटरव्यू हुआ | इस इंटरव्यू में मर्फी ने दखल दिया था और चीजों को खराब करने की कोशिश की थी |
इसके बाद रे मिस्टीरियो के बेट और युवा रेसलर डॉमिनिक ने सैथ रॉलिंस के साथ रिश्तों को खराब करने का आरोप मर्फी पर लगाया | मर्फी का यूं इंटरव्यू के बीच आना मिस्टीरियो परिवार को अच्छा नहीं लगा था |यही कारण रहा कि बेटे के मैच में मां, बहन और पिता ने विरोधी मर्फी की जमकर धुनाई की |                


एसबीआई इस साल 14 हजार नौकरी देगा

एसबीआई इस साल देगा 14 हजार नौकरी, 30 हजार कर्मचारियों को मिलेगी वीआरएस।


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। रोजगार की तलाश कर रहे बेरोजगार युवाओं के लिए एक अच्छी खबर है। दरअसल भारतीय स्टेट बैंक  (एसबीआई)ने सोमवार को कहा कि वो इस साल 14,000 नई भर्तियां करेगा। इसके पहले देश के सबसे बड़े बैंक द्वारा 30 हजार से ज्यादा कर्मचारियों के लिए स्वैच्छिग सेवानिवृत्ति योजना यानी वीआरएस लाने का ऐलान किया था। एसबीआई कॉस्ट कटिंग के लिए इन कर्मचारियों के लिए वीआरएस लेकर आ रही है।
एसबीआई ने कहा है कि वो अपने ऑपरेशंस का विस्तार कर रही है और इसके लिए वर्कफोर्स की जरूरत होगी। यही कारण है कि बैंक 14 हजार नई भर्तियां करने वाला है। एसबीआई ने सोमवार को बयान जारी कर कहा, ‘हमारी मौजूदा वर्कफोर्स करीब 2.50 लाख कर्मचारियों की है। हम अपने कर्मचारियों के लिए हमेशा आगे आये हैं।
आपको बता दें कि साल 2017 में 5 एसोसिएट बैंक के विलय से पहले ​इन बैंकों ने अपने कर्मचारियों के लिए वीआरएस का ऐलान किया था। साल 2001 में एसबीआई ने वीआरएस का ऐलान किया था।
इस स्कीम के तहत ऐलान किए जाने वाले कट ऑफ डेट तक 25 साल की सर्विस पूरा करने वाले या जिनकी उम्र 55 साल से ज्यादा है, वो इस स्कीम के तहत रिटायरमेंट ले सकते हैं। एसबीआई  इस स्कीम को 1 दिसंबर 2020 को खोलेगी और फरवरी अंत तक के लिए यह खुला रहेगा।इसी अवधि में वीआरएस  के आवेदन मंजूर किये जाएंगे।
बैंक ने कहा, ‘जो स्टाफ मेंबर वीआरएस  के लिए आवेदन करेगा, उन्हें बचे हुए सर्विस की अवधि तक सैलरी की 50 फीसदी दी जाएगी। यह पेंशन की तारीख तक के लिये होगा। साथ ही यह अंतिम सैलरी के 18 महीने तक के लिए ही होगा।’
इसके अलावा वीआरएस  लेने वाले कर्मचारियों को ग्रैच्युटी, पेंशन, प्रोविडेंट फंड और मेडिकल की सुविधाएं दी जाएंगी। एसबीआई के वीआरएस स्कीम के तहत रिटायर होने वाले स्टाफ 2 साल की कूलिंग पीरियड के बाद दोबारा बैंक में नौकरी के लिए आवेदन करने योग्य होगा।                 


सेंटर से फरार संक्रमित को मिला इनाम

जगदलपुर। थाना दरभा के अपराध क्रमांक 32/20 धारा 302 , 201 , 34 भादवि का आरोपी तुलाराम बट्टी पिता बामन उम्र 22 वर्ष निवासी गुमड़पाल पुजारीपारा पखनार जो केन्द्रीय जेल जगदलपुर में हत्या के आरोप में सजा काट रहा था, जिसे करोना संक्रमण होने पर धरमपुरा पीजी कॉलेज बालक छात्रावास में अस्थाई च्ॉरंनटाईन सेंटर में प्रशासनिक आदेश पर उपचार के लिए भर्ती किया गया था। च्ॉरंनटाईन सेंटर से हत्या के फरार आरोपी तुलाराम बट्टी पर दस हजार रूपये का ईनाम घोषित किया गया है।


पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 02 सितंबर 2020 को रात्रि 10:30 बजे च्ॉरंनटाईन सेंटर मे गणना किया गया तो पता चला कि उक्त आरोपी ताला तोड़कर फरार हो गया है। जिस पर से थाना कोतवाली में अप.क्र . 404/20 धारा 224, 188, 269, 270 भादवि, महामारी अधिनियम, 1897 की धारा 03 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की तलाश की जा रही है । फरार आरोपी नाम तुलाराम वट्टी, पिता वामन राम उम्र 23 वर्ष रंग सांवला गुमडपाल, पुजारीपारा पखनार दाहिने पिंडली में चोट का निशान, बाल काला , नेकर फुल शर्ट पहना है, गोंडी, हिंदी बोलता है। आरोपी पर दस हजार रूपये का ईनाम घोषित है।


उक्त हत्या के आरोपी का हर संभव पता तलाश किया गया आज दिनांक तक कोई पता नहीं चला है। जो कोई भी व्यक्ति उक्त फरार आरोपी के संबंध में जानकारी देगा अथवा जिसकी जानकारी से इनकी गिरफ्तारी संभव होगी ऐसे व्यक्ति को प्रकरण में पुलिस अधीक्षक, बस्तर के द्वारा दस हजार रूपये का नगद ईनाम से पुरस्कृत किया जावेगा। जानकारी देने वाले का पहचान गुप्त रखा जायेगा। थाना कोतवाली फोन नंबर 07782.222350 कंट्रोल रूप फोन नंबर07782-222170 में इसकी सूचना दी जा सकती है।                    


डीएल-आरसी नहीं है, नहीं कटेगा चालान

डीएल-आरसी नहीं दिखाने पर तत्काल चालान नहीं काट सकती ट्रैफिक पुलिस, ये है कानून।


अखिलेश पांडेय


नई दिल्ली। ट्रैफिक पुलिस की मनमानियों पर अब रोक लगने जा रही है। सुप्रीम कोर्ट गाइडलाइंस के अनुसार अब ट्रैफिक पुलिस डीएल-आरसी नहीं दिखाने पर तत्काल चालान नहीं काट सकती। सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट विनय कुमार गर्ग और एडवोकेट रोहित श्रीवास्तव ने बताया कि सेंट्रल मोटर व्हीकल रूल्स के नियम 139 में प्रावधान किया गया है कि वाहन चालक को दस्तावेजों को पेश करने के लिए  15 दिन का समय दिया जाएगा।
जब से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हुआ था तब से वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टीफिकेट, इंश्योरेंस सर्टीफिकेट, पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट, ड्राइविंग लाइसेंस और परमिट सर्टिफिकेट तत्काल नहीं दिखाने पर ताबड़तोड़ चालान करने की खबरें आम हो चुकी है।  लेकिन अब इन चालानों पर रोक लगने वाली है।
नई गाइडलाइंस के अनुसार ट्रैफिक पुलिस के मांगने पर फौरन रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, इंश्योरेंस सर्टिफिकेट, पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट, ड्राइविंग लाइसेंस और परमिट सर्टिफिकेट नहीं दिखाते हैं, तो यह जुर्म नहीं है। सेंट्रल मोटर व्हीकल रूल्स के नियम 139 में प्रावधान किया गया है कि वाहन चालक को दस्तावेजों को पेश करने के लिए 15 दिन का समय दिया जाएगा।
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ट्रैफिक पुलिस तत्काल चालान नहीं काट सकती है। अगर चालक 15 दिन के अंदर इन दस्तावेजों को दिखाने का दावा करता है, तो ट्रैफिक पुलिस या आरटीओ अधिकारी वाहन का चालान नहीं काटेंगे। इसके बाद चालक को 15 दिन के अंदर इन दस्तावेजों को संबंधित ट्रैफिक पुलिस या अधिकारी को दिखाना होगा।
लेकिन अगर इसके बावजूद ट्रैफिक पुलिस तत्काल नहीं दिखाने पर चालान काटती है, तो चालक के पास कोर्ट में इसको खारिज कराने का विकल्प रहता है। अगर ट्रैफिक पुलिस गैर कानूनी तरीके चालान काटती है, तो इसका मतलब यह कतई नहीं होता है कि चालक को चालान भरना ही पड़ेगा। ट्रैफिक पुलिस का चालान कोई कोर्ट का आदेश नहीं हैं। इसको कोर्ट में चुनौती दी जा सकती है।            


लाखों को रोजगार देने में सफल 'सरकार'

लखनऊ। वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान भी अपने बेहतर प्रबंधन के जरिए योगी सरकार न केवल विभिन्न क्षेत्रों-चीनी मिलों, ईंट भट्ठों, निर्माण क्षेत्रों और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) में लाखों लोगों का रोजगार सुरक्षित रखने में बल्कि बड़ी संख्या में लोगों को  सुरक्षित रखने में रोजगार की कामयाबी। तक करीब 71 लाख लोगों को रोजगार मिल चुका है। करीब 50 लाख रोजगार तो पहले से चल रही और 20 लाख से अधिक नई इकाईयों में। इनमें से अधिकांश लॉकडाउन के बाद दूसरे प्रदेश से आये श्रमिकों की है। इसके अलावा तीन साल में पुलिस, शिक्षा और अन्य विभागों में तीन लाख युवाओं को सरकारी नौकरियों में भी दी गईं।


आत्मनिर्भर पैकेज की घोषणा के बाद आई तेजी एमएसएमई, जिसमें कम पूंजी, कम जोखिम और न्यूनतम बुनियादी संरचना में सर्वाधिक रोजगार की संभावना है, सिर्फ उसमें ही 70.54 लाख लोगों को रोजगार मिला।


दरअसल, सरकार उत्तर प्रदेश में इस सेक्टर की संपन्न परंपरा और इसकी संभावना के मद्देनजर 2018 में एक जिला एक उत्पाद ओडीओपी की घोषणा के साथ ही इस पर काम करना शुरू कर दी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित आत्म निर्भर पैकेज के साथ ही इसमें और तेजी आयी।


आत्म निर्भर पैकेज की घोषणा के बाद से बैंकों से समन्वय बनाकर तीन मेगा ऑनलाइन मेलों का आयोजन किया गया। इनमें नई इकाईयों को क्षमता विस्तार और तकनीकी अपग्रेडेशन के लिए लोन दिया गया तो नई इकाईयों को भी खास तरजीह दी गयी।


एमएसएमई के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल के अुनसार कुल मिलाकर अब तक 23 हजार करोड़ रुपये से अधिक का ऋण बांटा जा चुका है। सहगल ने कहा, “इस क्षेत्र की 930348 इकाईयों में से 818088 अपनी पूरी क्षमता से चल रही हैं। इनमें से पीपीई किट, दवा आदि बनाने वाली कई कंपनियां तो कोरोना के दौरान लगी। बाकी इकाईयों के छोटे-छोटे मसले हैं। खासकर पूंजी की उपलब्धता को लेकर। विभाग इनके हल के लिए लगातार बैंकों के संपर्क में है। उम्मीद है कि इन मसलों को भी शीघ्र हल कर लिया जाएगा।”


सहगल ने कहा कि “इकाईयों की समस्याओं के हल के लिए पिछले दिनों सारथी नामक एक एप भी लांच किया गया। मुख्यालय स्तर पर स्थापित कंट्रोल रूप में 24 घंटे उद्यमियों की समस्याएं सुनी जाती हैं। जिला और मंडल स्तर के अधिकारियों को भी ऐसा करने के निर्देश हैं। इस वित्तीय वर्ष में कुल 80 हजार करोड़ ऋण वितरण और एक करोड़ लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य है।”


इन्हीं आर्थिक गतिविधियों के नाते अगस्त 2019 की तुलना में अगस्त 2020 में राजस्व 8942 करोड़ रुपये से बढ़कर 9545 करोड़ रुपये हो गया। पिछले दिनों से जारी मंडलीय समीक्षाओं में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जोर लगातार आर्थिक गतिविधियों के साथ राजस्व बढ़ाने पर जोर है।                    


राहतः प्रोस्पेक्टस-रजिस्ट्रेशन फीस माफ

हरियाणा में छात्रों को बड़ी राहत, रजिस्ट्रेशन और प्रोस्पेक्टस फीस माफ।


राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। सूचना प्रौद्योगिकी के युग में एक कदम और आगे बढ़ते हुए तथा कोविड -19 महामारी संकट को एक अवसर में बदलते हुए आज मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने नए शैक्षणिक सत्र में स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए एक ऑनलाइन एडमिशन प्लेटफॉर्म लॉन्च किया।  इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से छात्र घर बैठे ही प्रवेश प्रक्रिया पूरी कर सकेंगे।
इसके अलावा, मनोहर लाल ने छात्रों के किसी भी प्रवेश संबंधी प्रश्नों को हल करने के लिए अपनी तरह का पहला शैक्षणिक व्हाट्सएप चैटबॉट ‘आपका मित्र’ भी लॉन्च किया। छात्रों को प्रवेश, छात्रवृत्ति के संबंध में कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए  व्हाट्सएप चैटबॉट नंबर 7419444449 पर एक मैसेज भेजना होगा।
साथ ही, उच्चतर शिक्षा विभाग का नया वेब पोर्टल, 158 सरकारी कॉलेजों की वेबसाइट और राज्य में शोध को बढ़ावा देने के लिए विभाग द्वारा तैयार जर्नल ऑफ ह्यूमैनिटीज एंड सोशल साइंस  ऑनलाइन अंतर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं का भी शुभारंभ किया।
कोविड-19 महामारी के चलते विभिन्न स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले छात्रों को राहत देते हुए, पंजीकरण और प्रोस्पेक्टस शुल्क को भी माफ किया गया है। छात्रों को उनके एडमिशन फॉर्म भरने में मदद करने के लिए एक शिकायत निवारण हेल्पडेस्क नंबर 18001373735 शुरू किया गया है। जबकि विकलांग व्यक्ति मोबाइल नंबर 7419444449 पर मिस्ड कॉल देकर एडमिशन फार्म भरने के लिए सहायता प्राप्त कर सकते हैं।
इस वर्चुअल लॉन्च के दौरान, हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल व उच्चतर शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव श्री अंकुर गुप्ता और महानिदेशक श्री अजीत बालाजी जोशी भी उपस्थित थे।
अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी को देखते हुए छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल शुरू किया गया है ताकि छात्र घर बैठे ही एडमिशन प्रक्रिया पूरी कर सकें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी देश या राज्य का विकास इस बात पर निर्भर करता है कि उसके नागरिक कितने शिक्षित हैं। शिक्षा हर देश को हर क्षेत्र में विकसित करने में अहम भूमिका निभाती है, इसलिए हरियाणा में हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि राज्य का प्रत्येक युवा शिक्षित और संस्कारित हो, ताकि वह अपने देश और राज्य को विकास के पथ पर आगे ले जाने में योगदान दे सके।
उन्होंने कहा कि उच्चतर शिक्षा में यह सुनिश्चित करना होगा कि अनुसंधान पर अधिक ध्यान दिया जाए और इसके लिए हरियाणा में अधिक से अधिक कॉलेज और विश्वविद्यालय खोले गए हैं। शिक्षा के साथ-साथ कौशल भी समान रूप से महत्वपूर्ण है और इसके लिए श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय खोला गया है।
श्री मनोहर लाल ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के स्तर को भी ऊपर उठाने का प्रयास किया जाना चाहिए। इसके साथ ही छात्रों के तकनीकी कौशल को भी बढ़ावा देना चाहिए।
उन्होंने कहा कि विदेशी विश्वविद्यालयों को भी हरियाणा में अपना कैंपस स्थापित करने के लिए आकर्षित करने की दिशा में बढऩा होगा ताकि राज्य के युवाओं को लाभ मिल सके। राज्य सरकार छात्रों के हित को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखने के लिए प्रतिबद्ध है।
शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल ने कहा कि ऑनलाइन सिस्टम  प्रवेश प्रक्रिया को सुदृढ़  और पारदर्शी बनाएगा। उन्होंने उच्चतर शिक्षा विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की भी सराहना की जिन्होंने इस ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म को विकसित करने में अपना बहुमूल्य योगदान दिया है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के कुशल नेतृत्व और मार्गदर्शन में शिक्षा हमेशा राज्य सरकार का केंद्र बिंदु रही है। सरकार द्वारा 2020-21 के बजट में शिक्षा क्षेत्र में एक प्रमुख वित्तीय प्रोत्साहन देने, 15 किलोमीटर के दायरे में कॉलेजों को स्थापित करने,  राज्य के युवाओं में शिक्षा और कौशल को बढ़ावा देने जैसी विभिन्न पहल की गई हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार ने 1,000 नए स्कूल खोलने का फैसला किया है।  हमारा ध्यान बच्चों को रोजगार के योग्य बनाना है। प्रदेश में नए मॉडल संस्कृति विद्यालय भी खोले जाएंगे।
उच्चतर शिक्षा विभाग के महानिदेशक श्री अजीत बालाजी जोशी ने बताया कि  उच्चतर शिक्षा विभाग के सहयोग से एनआईसी द्वारा ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल विकसित किया गया है।  इस प्लेटफॉर्म के जरिए छात्र घर बैठे ही प्रवेश प्रक्रिया पूरी कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि छात्रों को प्रवेश के लिए शारीरिक रूप से कॉलेज नहीं आना पड़ेगा।  विभाग ने विश्वविद्यालयों, कॉलेजों और छात्रों से संबंधित सभी सूचनाओं को सुविधाजनक बनाने के लिए एक व्हाट्सएप चैटबॉट भी विकसित किया है।              


बाइक टैंकर की भिड़ंत, मां-बेटे की मौत

तेल टैंकर और बाइक की जबरदस्त टक्कर, मां-बेटे की मौके पर ही मौत।


सिरसा। बाजेकां गांव के पास तेल टैंकर और बाइक की टक्कर हो गई जिसमें बाइक सवार मां बेटे की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद टैंकर चालक मौके से फरार हो गया। घटना के बाद पुलिस ने अज्ञात चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।
जानकारी के मुताबिक सिरसा के बेगू निवासी 22 वर्षीय पवन अपनी मां जसविंद्र कौर के साथ बाइक पर जा रहा था। यह घटना दोपहर की है। बाजेकां बेगू गांव के बीच में सामने से आ रहे तेज रफ्तार टैंकर ने बाइक को टक्कर मार दी ।
बताया जा रहा है कि टैंकर की टक्कर इतनी जोर से लगी थी कि बाइक सवार मां बेटे की मौके पर ही मौत हो गई। इस घटना की सूचना मिलते ही ग्रामीण घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का जायजा लिया।
वहीं चालक टैंकर छोड़कर मौके से भाग गया। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में पहुंचाया। एसएचओ अमित बैनीवाल ने बताया कि अज्ञात टैंकर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।                


रोहतकः मसाज पार्लर में देह व्यापार

मसाज पार्लर में चल रहा था देह व्यापार, 6 लड़कियों समेत 10 अरेस्ट, एक निकला कोरोना पॉजिटिव।


रोहतक। जाट भवन के पास पेसिफिक मॉल में बने मसाज पार्लर में चल रहे सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ किया है। पुलिस की टीम ने सोमवार को दिन में छापेमारी की। इस दौराम मसाज पार्लर से छह युवतियों और चार युवकों को आपत्तिजनक हालत में पाया। पुलिस ने मसाज पार्लर के दोनों संचालकों को भी गिरफ्तार किया है।
थाना अर्बन एस्टेट प्रभारी शमशेर सिंह ने बताया कि उनकी थाने की पुलिस टीम ने जाट भवन के पास पेसिफिक मॉल में दुकान किराए पर लेकर मसाज पॉर्लर की आड़ में चल रहे देह व्यापार का भंडाफोड़ कर दिया है। थाना अर्बन एस्टेट पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर सोमवार करीब 4 बजे टीम तैयार कर रेड की।
छापेमारी के दौरान पुलिस ने श्रुति मसाज पार्लर में दबिश दी थी। जहां पर पुलिस ने मौके से युवक-युवतियों को संदिग्ध हालात में देह व्यापार करते हुए हिरासत में लिया। पुलिस के अनुसार यह दुकान काफी समय से किराये पर ली हुई है। यह दुकान लॉकडाउन के चलते बंद कर दी गई थी। लॉकडाउन के बाद अब 10 दिनों से दुकान में मसाज पॉर्लर की आड़ में देह व्यापार चल रहा था।
बताया जा रहा है कि यहां आने वाले ग्राहकों के लिए रेट 300 से लेकर 1200 रुपये तक था। पुलिस ने मौके से रोहतक, झज्जर सहित पड़ोसी जिलों की युवक-युवतियों काबू किया है। हालांकि सभी को गिरफ्तार करने के बाद जमानत मिल गई। वहीं एक आरोपी को कोरोना पॉजिटिव भी पाया गया है।                        


कोविड-19 प्रतिक्रिया पर काम शुरू करेगें

जिनेवा। ‘इंटरनेशनल हेल्थ रेगुलेशंस’ (आईएचआर) की समीक्षा समिति कोविड-19 महामारी के दौरान आईएचआर के अब तक के कामकाज का मूल्यांकन करने के लिए मंगलवार को अपना काम शुरू करेगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख ने यह जानकर दी


समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, सोमवार को वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस एडनोम गेब्रेयसस ने कहा, “इंटरनेशनल हेल्थ रेगुलेशंस स्वास्थ्य सुरक्षा में सबसे महत्वपूर्ण कानूनी साधन है।” उन्होंने कहा, “एक रिमाइंडर के तौर पर, समीक्षा समिति महामारी के दौरान अब तक आईएचआर द्वारा किए गए कामकाज का मूल्यांकन करेगी और किसी भी आवश्यक परिवर्तन को मानने की सिफारिश करेगी।”


उन्होंने कहा कि यह आपातकालीन समिति बुलाकर, अंतर्राष्ट्रीय चिंता के संदर्भ में एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा, नेशनल आईएचअर फोकल बिंदुओं की भूमिका और कार्यप्रणाली की समीक्षा करेगा, और पिछले इंटरनेशनल हेल्थ रेगुलेशन समीक्षा समितियों की सिफारिशों को लागू करने में हुई प्रगति की जांच करेगा।


उन्होंने कहा कि समिति नवंबर में फिर से शुरू होने वाली विश्व स्वास्थ्य असेंबली के लिए एक अंतरिम प्रगति रिपोर्ट और मई 2021 में असेंबली को फाइनल रिपोर्ट पेश कर सकती है। डब्ल्यूएचओ की वेबसाइट के अनुसार, समीक्षा समिति की जल्द ही पहली बैठक आयोजित किए जाने की उम्मीद है। इसकी सह-अध्यक्षता न्यूजीलैंड की पूर्व प्रधानमंत्री हेलेन क्लार्क और लाइबेरिया की पूर्व राष्ट्रपति एलेन जॉनसन सरलीफ करेंगी।                      


थॉमस एंड उबर कप में हिस्सा लेगी 'सिंधु'

नई दिल्ली। विश्व चैम्पियन पीवी सिंधु ने पहले कहा था कि वह इस साल थॉमस एंड उबर कप में हिस्सा नहीं लेंगी, लेकिन अब उन्होंने कहा है कि वह तीन से 11 अक्टूबर के बीच होने वाले इस टूर्नामेंट में शिरकत करेंगे


सिंधु ने भारतीय बैडमिंटन संघ (बीएआई) के अध्यक्ष हिमांता विसवा सरमा के कहने पर अपने फैसले को वापस लिया और इस टूर्नामेंट में खेलने के लिए हामी भर दी। सिंधु ने पहले कहा था कि वह निजी कारणों से इस टूर्नामेंट में नहीं खेल पाएंगी।हिमांता ने ट्विटर पर लिखा, “वह मान गई हैं और अपने पारिवारिक कार्यक्रम को उन्होंने पहले करने का फैसला किया है ताकि वह भारतीय टीम का हिस्सा बन सकें और अपने देश के लिए खेल सकें।”


सिंधु इस समय हैदराबाद स्थित पुलेला गोपीचंद अकादमी में हैं जहां राष्ट्रीय बैडमिंटन शिविर में हिस्सा ले रही हैं। 26 भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी इस समय शिविर में हिस्सा ले रहे हैं।                     


फ्रांसः फुटबॉल खिलाड़ी एम्बाबें संक्रमित

पेरिस। फ्रांस के युवा फुटबाल खिलाड़ी किलियन एम्बाप्पे कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं और वह इसी कारण मंगलवार को होने वाले यूईएफए नेशंस लीग में क्रोएशिया के खिलाफ होने वाले मैच में नहीं खेलेंगे। फ्रांस फुटबाल महासंघ (एफएफएफ) ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, एम्बाप्पे में किसी तरह के लक्षण नहीं थे। उन्होंने राष्ट्रीय टीम को छोड़ दिया है और अपने घर में क्वारंटीन हो गए हैं। एम्बाप्पे ने शनिवार को स्वीडन के खिलाफ खेले गए मैच में गोल कर अपनी टीम को 1-0 से जीत दिलाई थी।


वह फ्रांस के फुटबाल क्लब पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) के लिए खेलते हैं और कोविड पॉजिटिव निकलने वाले वह क्लब के सातवें खिलाड़ी हैं। फ्रांस लीग की विजेता ने पिछले सप्ताह इस बात की पुष्टि की थी कि उसके छह खिलाड़ी कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। इन छह खिलाड़ियों के साथ ही एम्बाप्पे फ्रांस लीग।                 


सुशांत के मामले में रिया हुई गिरफ्तार

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले से जुड़े ड्रग्स केस में आज लगातार तीसरे दिन लंबी पूछताछ के बाद एनसीबी ने अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर लिया है। रिया चक्रवर्ती पर ड्रग्स लेने समेत तमाम गंभीर आरोप थे जिस मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो उनसे लगातार पूछताछ कर रहा था। रिया को गिरफ्तार करने से पहले उनका मेडिकल टेस्ट और कोरोना टेस्ट कराया गया जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी कर ली गई।


इससे पहले सोमवार को खुद के निर्दोष होने का दावा करने वालीं अभिनेत्री पूछताछ के बाद बांद्रा पुलिस के पास गई और सुशांत की बहन प्रियंका सिंह के खिलाफ फर्जी मेडिकल पर्चा भेजने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई।


5 सितंबर को, रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती, सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा, उनके घर के हेल्पर दीपेश सावंत को गिरफ्तार किया गया और 9 सितंबर (बुधवार) तक एनसीबी की हिरासत में भेज दिया गया।                      


निर्देश देने की मांग को लेकर चेतावनी

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने पेट्रोल की कीमतें लगभग रोज बढ़ाए जाने को चुनौती देते हुए जनहित याचिका दायर करने वाले एक याचिकाकर्ता को मंगलवार को चेतावनी दी। शीर्ष अदालत ने याचिकाकर्ता को चेतावनी दी कि अगर वह जनहित याचिका पर बहस करने के लिए दबाव डालता है, तो उसे भारी जुर्माना चुकाना पड़ सकता है।


न्यायाधीशों आर.एफ. नरीमन, नवीन सिन्हा और इंदिरा बनर्जी की एक पीठ ने कहा, “क्या आप इस मामले में बहस करना चाहते हैं, क्योंकि अगर आप ऐसा करेंगे तो हम भारी जुर्माना लगाएंगे।” याचिकाकर्ता शाजी जे. कोडनकंडाथ की ओर से पेश वकील ने पीठ के सामने कहा कि अगर अदालत का यह विचार है तो वह अपने मुवक्किल द्वारा दायर याचिका वापस ले लेंगे।


केरल के रहने वाले अधिवक्ता द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि कच्चे तेल की कम कीमतों के मद्देनजर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि अनुचित है। याचिकाकर्ता ने शीर्ष अदालत का रुख कर केंद्र को पेट्रोल और डीजल की कीमत कम करने के लिए निर्देश देने की मांग की थी।                     


रिपोर्ट देने की एवज में महिला से किया रेप

तिरुवनंतपुरम। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के बीच स्वास्थ्य महकमे के एक अधिकारी की करतूत से जहां इंसानियत शर्मसार हुई है, वहीं चिकित्सक के पेशे पर भी बदनुमा दाग लग गया है। महिला का आरोप है कि कोविड—19 का नेगेटिव सार्टिफिकेट देने के बहाने जूनियर हैल्थ इंस्पेक्टर ने उसे अपने घर बुलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया है।
मिली जानकारी के अनुसार यह मामला केरल के तिरुवनंतपुरम का है। पुलिस के अनुसार पीड़ित महिला ने आरोप लगाया है कि वह कही बाहर से हाल में अपने घर लौटी थी। उसका कोरोना टैस्ट हुआ, जिसमें उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। महिला का आरोप है कि जूनियर हेल्थ इंस्पेक्टर प्रदीप ने कहा कि वह उसके घर आकर अपनी नेगेटिव रिपोर्ट ले जाये। जिस पर वह जब सार्टिफिकेट लेने उस अधिकारी के घर गई तो उसेन महिला के हाथ और मुंह को बांधने के बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने बताया कि महिला का मेडिकल टैस्ट कराया जा रहा है और फिलहाल आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इधर केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने अधिकारी को निलंबित करने का आदेश दिया है। महिला आयोग ने भी अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने आरोपी हैल्थ इंस्पेक्टर को गिरफ्तार कर लिया है। आगे की जांच जारी है।


हार के बाद बच्चे ने बच्ची का सिर कुचला

भोपाल। मध्यप्रदेश के इंदौर से एक बेहद ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक नन्हे बच्चे ने वीडियो गेम में मिली हार के बाद अपने ही दोस्त की बेरहमी से हत्या कर दी।बताया जा रहा है कि सोमवार की दोपहर को लसूड़िया थाना क्षेत्र में रहने वाली 9 साल की बच्ची नहाने के बाद फूल तोड़ने के लिए निकली थी, लेकिन वापस नहीं लौटी। काफी देर तक बच्ची का मालूम नहीं चला तो उसके परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी। परिजनों से मिली शिकायत के बाद पुलिस ने कुछ देर में ही बच्ची शव बरामद कर लिया. पुलिस ने बताया कि बच्ची के सिर को पत्थर से कुचल कर मारा गया था।

बच्ची की हत्या के मामले में पुलिस ने उसी के मकान में किराए पर रहने वाले परिवार के 11 साल के बच्चे को हिरासत में लिया है।


पुलिस उप महानिरीक्षक हरिनारायण चारी मिश्रा के मुताबिक, हिरासत मे लिए गए 11 साल के बच्चे ने हत्या की बात स्वीकारते हुए पुलिस को बताया है कि, मृतका, उसका भाई वह ऑन लाइन वीडियो गेम खेलते थे। वह हमेशा मुझे हरा देती थी. मेरे पास एक पिंकी नाम की सफेद चुहिया थी, जो बच्चे भी देने वाली थी। उसे चार-पांच माह पहले मृतका ने मार दिया था। इस कारण मैं गुस्से में था।


मिश्रा के अनुसार, इन वीडियो गेम में यह बच्चे एक दूसरे के विरोधी के तौर पर खेलते थे। आरोपी को इस बात का मलाल होता था कि वह हर बार हार जाता था। आरोपी बच्चा अपनी साथी बालिका को मकान के पास ही खाली पड़े भूखंड में ले गया उसके सिर पर पत्थर मार दिया। ज्यादा खून बहने के चलते बालिका की मौके पर ही मौत हो गई। आरोपी बच्चे ने पुलिस के सामने स्वीकार किया है कि वह अपनी साथी बालिका को खाली पड़े भूखंड में ले गया, जहां झगड़ा हुआ उसके सिर पर पत्थर मारा था, खून निकलने पर एक पत्थर मारकर आ गया था।                 



भारत-चीन ने लगाया एक-दूसरे पर आरोप

नई दिल्ली/ बीजिंग। भारत और चीन ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर हुई ताजा झड़प के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराया है। सोमवार को एलएसी पर सैनिकों ने एक-दूसरे को डराने और पीछे धकेलने के लिए हवा में फायरिंग करके चेतावनी दी थी। जहां चीन ने भारतीय सैनिकों पर फायरिंग कर चेतावनी देने का आरोप लगाया है। वहीं भारत ने मंगलवार को चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों पर हवा में फायरिंग कर भारतीय सेना के सैनिकों को धमकाने का आरोप लगाया है। यह घटना सोमवार को पैंगोंग सो (झील) के दक्षिणी तट के करीब शेनपाओ पर्वत के पास हुई।


इसे लेकर मंगलवार को भारतीय सेना ने एक बयान में कहा कि चीन सीमा पर लगातार “उकसाने वाली गतिविधियां” करके तनाव बढ़ा रहा है। चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों ने ही भारतीय सैनिकों को डराने-धमकाने का प्रयास करते हुए “हवा में कुछ राउंड फायरिंग” किए थे। भारतीय सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने कहा कि किसी भी स्तर पर भारतीय सेना ने एलएसी पार नहीं की है और ना ही उसने गोलीबारी समेत किसी आक्रामक तरीके का इस्तेमाल किया है। सेना ने कहा है कि यह चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ही है जो “सैन्य, राजनयिक और राजनीतिक स्तर पर चर्चा जारी होने के बाद भी औपचारिक रूप से समझौतों का उल्लंघन कर रही है और आक्रामक गतिविधियां कर रही है।”


कर्नल अमन ने कहा, “7 सितंबर, 2020 के तत्काल मामले में पीएलए के सैनिकों ने ही एलएसी पर हमारे सैनिकों के पास आने की कोशिश की और जब उन्हें रोका तो पीएलए के सैनिकों ने हवा में कुछ राउंड फायर कर अपने ही सैनिकों को डराने की कोशिश की।” हालांकि, गंभीर उकसावे के बावजूद भारतीय सैनिकों ने संयम से काम लेते हुए परिपक्व और जिम्मेदार तरीके से व्यवहार किया। बयान में यह भी कहा गया, “भारतीय सेना शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, हालांकि, यह हर कीमत पर राष्ट्रीय अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए भी ²ढ़ है। वेस्टर्न थिएटर कमांड का बयान उनके घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दर्शकों को गुमराह करने का एक प्रयास है।”


वहीं चीनी पीपुल्स लिबरेशन के वेस्टर्न थिएटर कमांड के कर्नल झांग शुइली ने एक बयान में कहा, “भारतीय सेना ने चीनी सीमा के गश्ती दल के सैनिकों को धमकी देने के लिए फायरिंग की, जिसने चीनी सीमा रक्षकों को जमीन पर अपनी स्थिति स्थिर रखने के लिए जवाबी कार्रवाई करने पर मजबूर किया।” चीन ने आगे कहा, “भारत की कार्रवाई ने चीन और भारत के बीच प्रासंगिक समझौतों का गंभीरता से उल्लंघन किया है। उसने दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ाया है और गलतफहमी पैदा कर दी है।” बयान में कहा गया है कि यह गंभीर सैन्य उकसाव और गलत बर्ताव है। चीन ने बयान में आगे कहा, “हम भारतीय पक्ष से आग्रह करते हैं कि वे ऐसे खतरनाक काम को तुरंत रोकें, क्रॉस-लाइन कर्मियों को हटाएं, अग्रिम पंक्ति के सैनिकों को कड़ाई से शांत रहने के लिए कहें और जिन लोगों ने फायरिंग की उन्हें दंडित करें। ताकि सुनिश्चित हो कि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं होंगी।”


भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर लगभग चार महीने से गतिरोध जारी है। कई स्तरों के संवाद के बावजूद अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे और वहीं हताहत चीनी सैनिकों की संख्या अज्ञात है।             


राम मंदिर के लिए नीवं की खुदाई शुरू

अयोध्या। भगवान श्रीराम के जन्मस्थल पर बनने वाले भव्य मंदिर के नींव की खुदाई का काम मंगलवार को शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले 5 अगस्त को मंदिर का भूमि पूजन किया था। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेन्द्र मिश्र सोमवार की शाम यहां आ गये थे। उन्होंने सोमवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात की थी। सूत्रों ने कहा कि मंदिर की नींव के लिये जमीन से एक सौ फिट गहराई तक खोदने वाली दो मशीनें निर्माण संस्था लार्सन एंड टूब्रों ने रविवार को ही मंगवा ली थी। कंपनी के इंजीनियर सोमवार को पूरा दिन उसे ठीक करने में लगे रहे। मशीन से पिलर के लिये दो सौ फिट तक खुदाई की जानी है। इस काम के लिये कुछ और मशीनों को जल्द ही यहां मंगवा लिया जायेगा।


सूत्रों ने कहा कि पूरे परिसर में 1200 स्थानों पर पाईलिंग होनी है। पाइलिंग मशीनों से खंभो को खड़ा करने के लिये खुदाई की जायेगी। इन बारह सौ स्थानों पर एक मीटर व्यास में कुयें के आकार में पाइलिंग करा कंकरीट के पिलर खड़े किये जायेंगे। मशीने इतनी बड़ी थी कि रामजन्म भूमि स्थल के मुख्य द्वार को तोड़ना पड़ा। दूसरी ओर मंदिर निर्माण स्थल पर जर्जर मंदिरों को हटाने का काम भी शुरू कर दिया गया है।                 


बाइक सवार डॉक्टर को ट्रक ने कुचला

बहन के यहां से लौट रहे बाइक सवार डॉक्टर को ट्रक ने कुचल दिया। डॉक्टर की मौके पर मौत।


फतेहपुर। हादसा नउवाबाग में रविवार की रात हुआ। बांदा जिले के जसपुरा थाना क्षेत्र के रामपुर गांव निवासी गयादीन मिश्रा के बेटे पियूष मिश्रा (30) प्राइवेट प्रैक्टिस करते थे।उन्होंने हुसैनगंज कस्बे में क्लीनिक खोला हुआ है। वह शहर के रामगंज पक्का तालाब में किराये पर कमरा लिए थे। फसल के समय गांव जाकर खेती किसानी में परिजनों का सहयोग करते थे। रविवार सुबह पियूष शहर के अयोध्या कुटी में रहने वाले अपने दोस्त विजय के साथ बहन रजनी के यहां बाइक से कानपुर गए थे।


शाम को लौटते समय रात करीब नौ बजे नउवाबाग में ग्रीन हवेली के सामने पीछे से आ रही डीसीएम ने टक्कर मार दी।मोर्चरी में पियूष के चाचा शशिकांत ने बताया कि भतीजा प्राइवेट प्रैक्टिस के साथ खेती किसानी में भी हाथ बंटाता था। उसकी मौत से मां को गहरा सदमा पहुंचा है।


उन्हें अभी तक होश नहीं आया है। कोतवाल रवींद्र श्रीवास्तव ने बताया कि युवक के चाचा की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात डीसीएम चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम कराया है। टक्कर लगने से पियूष सड़क पर गिर गए। वह डीसीएम के पहिये से कुचल गए। विजय उछलकर दूर गिरा। दुर्घटना होते ही आसपास मौजूद लोग दौड़कर मौके पर पहुंचे।


पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने विजय को अस्पताल पहुंचाया। पियूष का शव जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाकर परिजनों को सूचना दी गई। बेटे की मौत की खबर पर मां सुधा और छोटे भाई अखिलेश को रो-रोकर हाल बेहाल था।             



इंदिरा को क्यों कहा गया था 'कुत्तिया'

नई दिल्ली/  बीजिंग/ इस्लामाबाद/ वाशिंगटन डीसी। लैटिन भाषा में एक कहावत है- वर्बा वोलांट, स्क्रिप्टा मानेंट. माने- कहे हुए शब्द ख़त्म हो जाते हैं, मगर लिखे हुए शब्द हमेशा के लिए रह जाते है। ये कहावत करीब दो हज़ार साल पुरानी है। तब आवाज़ रेकॉर्ड करने की टेक्नॉलजी नहीं थी। इसीलिए इंसान के मरने के बाद भी उसकी रिकॉर्डिंग ज़िंदा रह जाती है। आज आपको ऐसी ही कुछ रिकॉर्डिंग्स के बारे में बताएंगे जब एक अमेरिकी राष्ट्रपति के दिमाग और ज़ुबान से भारत के लिए निकली गंदगी।
इस अमेरिकी राष्ट्रपति को पाकिस्तान की तानाशाही हुकूमत से हमदर्दी थी।पाकिस्तान के हाथों हो रहा भीषण नरसंहार उसके लिए कोई मुद्दा नहीं था। उसके लिए मुद्दा था भारतीय महिलाओं का रूप-रंग। उसे भारतीय महिलाएं दुनिया में सबसे ज़्यादा कुरूप लगती थीं। वो कहता था कि भारतीय महिलाओं को देखकर वो ‘टर्न ऑफ’ हो जाता है। हैरान होता है कि भारतीय महिलाएं बच्चे कैसे पैदा कर लेती हैं। उसका कहना था कि अफ्रीका के लोगों में फिर भी जानवरों वाला चार्म होता है। मगर हिंदुस्तानी, वो तो बिल्कुल बेकार और बर्बाद होते है।


ये वही नस्लीय सोच वाला अमेरिकी राष्ट्रपति है, जिसने हमारी प्रधानमंत्री को ‘चुड़ैल’ कहा था। इस पूर्व राष्ट्रपति की भारत से जुड़ी अपमानजनक टिप्पणियां पहले भी कई बार उजागर हो चुकी हैं। जिन पर अमेरिका को काफी शर्मिंदा होना पड़ा था। अब एक बार फिर अमेरिका को अपने इस पूर्व राष्ट्रपति की भारत पर की गई नस्लीय टिप्पणियों से शर्मसार होना पड़ रहा है। 
ये किस राष्ट्रपति की बात कर रहे हैं हम?
बात 49 साल पुरानी है। तारीख़ - 25 मार्च, 1971।स्थान यूनिवर्सिटी ऑफ ढाका, जहां दो हॉस्टल हैं- इक़बाल हॉल और जगन्नाथ हॉल। इकबाल हॉल में मुस्लिम छात्र रहते थे। जगन्नाथ हॉल में हिन्दू छात्र। रात के साढ़े 11 बजे चार M-47 टैंक इन दोनों हॉस्टल्स के सामने रुके। पाकिस्तानी फ़ौज की एक टुकड़ी ये टैंक लेकर वहां पहुंची थी। बिना किसी चेतावनी के इन चारों टैंकों ने छात्रावासों पर बम दागने शुरू किए। करीब पांच मिनट बाद पाकिस्तानी सैनिक हॉस्टल में घुसे और अंधाधुंध गोलियां चलाईं और ज़िंदा बचे छात्रों को हॉस्टल के बाहर दीवार की सीध में खड़ा करके तोप से भून दिया गया। 15-20 मिनट के भीतर करीब 200 छात्रों की हत्या कर दी गई
ये रात पूर्वी पाकिस्तान, वर्तमान बांग्लादेश, के इतिहास में काली रात कहलाती है। इसी रात के बाद पाकिस्तान के पूर्वी और पश्चिमी हिस्से के बीच गृह युद्ध शुरू हुआ। नौ महीने तक चले इस सिविल वॉर का अंत किया भारत ने। दिसंबर 1971 में भारत को इस युद्ध में शामिल होना पड़ा। हमने पाकिस्तानी सेना को हराया और इसके बाद जाकर गठन हुआ बांग्लादेश का।


याहिया खान


पूर्वी पाकिस्तान नरसंहार का दोषी कौन?
बांग्लादेश के गठन की कहानी एक भीषण नरसंहार पर लिखी गई है। इस नरसंहार में पूर्वी पाकिस्तान नरसंहार, जिसमें करीब पांच लाख लोग मारे गए। कई अनुमान मृतकों की संख्या 30 लाख तक बताते हैं। मगर इस जेनोसाइड के लिए अकेले पाकिस्तान दोषी नहीं था। इसमें पाकिस्तान के हाथ मज़बूत करने वाले, उसे नरसंहार के औज़ार देने वाले, उसके लिए इंटरनैशनल सपोर्ट जुटाने वाले उसके दो सबसे बड़े मददगार थे- निक्सन और किसिंगर।              


शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...