बुधवार, 11 अक्तूबर 2023

लोनी में मनाईं गईं मुलायम सिंह की पुण्य तिथि

लोनी में मनाईं गईं मुलायम सिंह की पुण्य तिथि 

अश्वनी उपाध्याय 
गाजियाबाद। लोनी विधानसभा मे पूर्व मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश एवं पूर्व अध्यक्ष समाजवादी पार्टी मुलायम सिंह यादव की पुण्यतिथि एवं सभा का आयोजन किया। सभा की अध्यक्षता दिनेश नागर ने की, संचालन सिराज सैफी ने किया। 
मुख्य अतिथि पूर्व विधायक हाजी जाकिर अली रहे सभा को संबोधित करते हुए हाजी जाकिर अली ने कहा, मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी की स्थापना की, उन्होंने लगातार तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और भारत सरकार में केंद्रीय रक्षा मंत्री के रूप में कार्य किया। वह छह दशकों से अधिक समय तक भारतीय राजनीति में एक प्रमुख व्यक्ति थे, और गरीबों और पीड़ितों के हितों की वकालत करने वाले एक ज़मीनी नेता के रूप में उनका व्यापक रूप से सम्मान किया जाता था।  उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों द्वारा उन्हें नेताजी (हिंदी में सम्मानित नेता) और धरतीपुत्र (धरती माता का tपुत्र) के नाम से भी जाना जाता था।
सभा को संबोधित करते हुए  विधानसभा अध्यक्ष दिनेश नागर ने कहा मुलायम सिंह यादव लोहिया के लेखन से प्रभावित थे और उन्होंने उनके नेतृत्व में विभिन्न समाजवादी आंदोलनों में भाग लिया।  
वह संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी (एसएसपी) में शामिल हो गए, जिसकी स्थापना 1955 में लोहिया और अन्य लोगों ने की थी। वह 1967 में लोहिया के एक अन्य प्रमुख अनुयायी चरण सिंह के समर्थन से एसएसपी उम्मीदवार के रूप में जसवन्त नगर (मैनपुरी) से विधायक बने।  बाद में वह कई अन्य पार्टियों में भी रहे,जो लोहिया की विचारधारा पर आधारित थीं, जैसे भारतीय लोक दल, जनता पार्टी, भारतीय क्रांति दल और जनता दल।  सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उन्होंने 1992 में अपनी पार्टी, समाजवादी पार्टी बनाई सभा को संबोधित करते हुए निवर्तमान यूथ के जिला अध्यक्ष अनीस अली ने कहा मुलायम सिंह यादव ने लोहिया के नारे "संसोपा ने बांधी गांठ, पिछड़े पावें सौ में साठ" (एसएसपी ने यह संकल्प लिया है, ओबीसी को  60% हिस्सा मिलना चाहिए) का पालन किया और वंचित जातियों और अल्पसंख्यकों के हितों की वकालत की। 1990 में वीपी सिंह की सरकार द्वारा मंडल आयोग की रिपोर्ट स्वीकार किए जाने के बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश में ओबीसी के लिए 27% आरक्षण लागू किया। उन्होंने उत्तर प्रदेश में चीनी मिलों और किसानों को भी प्रोत्साहन दिया, जिससे राज्य भारत में चीनी के सबसे बड़े उत्पादकों में से एक बना। उन्होंने भारत की रक्षा क्षमताओं को मजबूत किया और केंद्रीय रक्षा मंत्री के रूप में भारत के परमाणु परीक्षणों का समर्थन किया।  उन्होंने सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता को बढ़ावा दिया संचालन कर रहे लोनी विधानसभा के महासचिव सिराज सैफी सैफी ने कहा मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवंबर 1939 को उत्तर प्रदेश में इटावा के पास एक गांव सैफई में एक किसान परिवार में हुआ था। उन्होंने अपनी शिक्षा इटावा और आगरा से पूरी की। सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उन्होंने 1992 में अपनी पार्टी, समाजवादी पार्टी बनाई। मुलायम सिंह यादव 1989 में  पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। 
बाद में उन्होंने 1993 में दलितों व वंचित जातियों का प्रतिनिधित्व करने वाली पार्टी, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ गठबंधन करके वे फिर से मुख्यमंत्री बने।  हालाँकि,1995 में यह गठबंधन भी टूट गया, जब बसपा नेता मायावती ने मुलायम सिंह यादव की सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया। 2003 में मुलायम सिंह यादव तीसरी बार मुख्यमंत्री बने।  वह 2007 तक सत्ता में रहे। 
उनकी मृत्यु पर पार्टी लाइनों के राजनीतिक नेताओं ने शोक व्यक्त किया, जिन्होंने उनके उल्लेखनीय व्यक्तित्व और भारतीय राजनीति में उनके योगदान को व उनके कार्यों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।  भारत सरकार ने उन्हें 2023 में मरणोपरांत भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित किया। 
उत्तर प्रदेश सरकार ने उनके लिए तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की सभा में सभी ने शपथ ली। जो सपना नेताजी ने देखा है, उसमें सभी लोग समाजवादी कार्यकर्ता तन मन धन से मजबूत होकर पार्टी को मजबूत करेंगे। वह नेताजी का सपना पूरा करेंगे। जिसमें मुख्य रूप से मोमिन मलिक,नीरज पंडित,रमेश यादव,शाहिद सहसवानी,योगराज नौशाद सैफी,भतीजा जुनैद खान, बंसल,सौरभ वाल्मीकि,सोनू नागर सैयद कासिम अली,नरेश त्यागी वकील मलिक,कामू सभासद,आसिफ सलमानी,समाजवादी महिला सभा विधानसभा अध्यक्ष संजीदा सैफी सोना खान,बुशरा खान,नीरज तोमर यासमीन,सायरा दर्जनों लोग उपस्थित रहे।

विरोध की चिंगारी 'संपादकीय'

विरोध की चिंगारी    'संपादकीय' 

उत्तर प्रदेश की राजनीति को केंद्र की राजनीति की नींव से परिभाषित करने पर कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। लोकसभा चुनाव से पहले ही भाजपा विरोधी गतिविधियां प्रत्यक्ष रूप से सक्रिय हो गई है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबसे करीबी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शासन में सरकार सनातन आस्था विरोधी गतिविधियां, कानून लागू करना, हिंदुत्व की भावना को पीड़ा प्रदान करने का कार्य कर रही है। 
हो सकता है कि कानून जनहित में लागू किया गया हो ? परंतु सनातन समुदाय को ठेस पहुंचाने वाला व्यक्ति 'शिवशक्ति' विरोधी होने का दंभ तो कर ही रहा है। यह किसी एक व्यक्ति का विचार नहीं है। बल्कि, संपूर्ण सनातन अनुयायियों की आस्था है। 'हिंदू रक्षा दल' के अध्यक्ष के विरुद्ध कानूनी कारवाई का प्रत्यक्ष रूप से प्रभाव पड़ रहा है। 
आस्था के बीच में आने वाला कोई भी साधारण या विशेष व्यक्ति घृणा और दुत्कार का अधिकारी बन जाता है। हिंदू रक्षा दल के द्वारा योगी विरोधी कोई बयान जारी नहीं किया गया है। 
किंतु उसके विचार के समर्थन का दायरा बढ़ गया है। वहीं, परोक्ष रूप से भाजपा विरोधी विचारधारा का दायरा तीव्र गति से असीमित होता जा रहा है। भाजपा की नीतियों में केवल राजनीतिक एजेंडा शेष रह गया है। 
सत्तारूढ़ भाजपा नेतृत्व में विवेकहीनता का आधिपत्य स्थापित हो गया है। ऐसे नियम लागू करना, जन मानस की आस्था को हताहत करने के समान है। जिसे कोई भी आस्तिक व्यक्ति, किसी भी रूप में स्वीकार नहीं करेगा। परिणाम स्वरुप महंत यति नरसिंहानंद ने योगी आदित्यनाथ और लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री (उत्तर प्रदेश) को खुले मंच से ललकारा है। असभ्यता, अशिष्टता और अभद्रता की पाराकाष्ठा को पार कर दिया है। महंत के बयान से संत और सरकार, दोनों के विरुद्ध अपना रोष प्रकट किया गया है।
इससे सीएम योगी के सम्मान को ठेस पहुंचना स्वाभाविक है। लेकिन ऐसे हालत क्यों उत्पन्न हुए ? इस पर विचार करने की आवश्यकता है। यति के विरुद्ध भी स्थानीय पुलिस ने नियम अनुसार कार्रवाई की है। परंतु विरोध की चिंगारी का प्रसार स्थापित हो गया है। हिंदू विरोधी सरकार का विचार जनता के मन में घर करने लगा है। सत्ता का लोभ और दमनकारी नीतियों का विश्लेषण स्वयं जनता अपने आप करने के लिए आगे आ खड़ी हुई है। यह विरोध स्वाभाविक है या कोई छलावा है ? इसका निष्कर्ष लोकसभा चुनाव परिणाम ही बता पाएंगे।
राधेश्याम  'निर्भयपुत्र'

'मेरी माटी मेरा देश' कलश यात्रा का आयोजन

'मेरी माटी मेरा देश' कलश यात्रा का आयोजन 

आदिल अंसारी 
जौनपुर/ रामनगर। रामनगर ब्लाक परिसर में 'मेरी माटी मेरा देश' अमृत कलश यात्रा का आयोजन बीडीओ रामनगर एवं मंडल अध्यक्ष के तत्वाधान में किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉक्टर आरके पटेल विधायक मडियाहू ने अमृत कलश यात्रा का शुभारंभ कर सभी शहीदों को नमन किया। 
डॉ आर पटेल ने बताया कि यह माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में कार्यक्रम हमारे देश के सभी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए आयोजित किया गया है। हमारे देश के सभी फौजी सिपाही एवं स्वतंत्रता सेनानी देश के लिए शहीद हो गए उनको हम याद कर श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं और डॉक्टर आरके पटेल ने  बताया कि प्रधानमंत्री के विकास कार्यों के द्वारा भारत 2047 तक सबसे विकसित देश हो जाएगा। विधायक ने चंद्रयान-3 के सफल परीक्षण में मडियाहू के वैज्ञानिक एवं गोल्ड मेडल विजेता ऐश्वर्या मिश्रा सुल्तानपुर रामपुर को नमन किया। ऐसे लोगों पर हमारा देश गौरव महसूस कर रहा है। 
ब्लॉक परिसर से अमृत कलश को माननीय विधायक जी अपने हाथों में लेकर वंदे मातरम् ,इंकलाब जिंदाबाद, भारत माता की जय का नारा लगाते हुए आगे बढ़े। इस कार्यक्रम में बीडीओ रामनगर , ए डीओ पंचायत , एडीओ आईएसबी , मंडल अध्यक्ष राजेश, बूथ अध्यक्ष, भाजपा कार्यकर्ता, क्षेत्रीय युवा कल्याण अधिकारी एवं क्षेत्र के सम्मानित नागरिक गण उपस्थित रहें।

पूर्वजों के मोक्ष हेतु गरीबों को दी सहायक सामग्री

पूर्वजों के मोक्ष हेतु गरीबों को दी सहायक सामग्री 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। श्रीमनकामेश्वर मंदिर व बड़े हनुमान जी मंदिर के प्रांगण में जय माधव सेवा संस्थान के माध्यम से पितृपक्ष के पावन अवसर पर बुजुर्ग वृद्धजनों को भोजन, प्रसाद, वस्त्र, फल और बर्तन का दान वितरण आदि किया गया। जिसमें असहाय, गरीब-वंचितों को सहायतार्थ सामग्री का वितरण किया गया।कार्यक्रम का आयोजन मंगलवार को किया गया। संस्थापक जय माधव सेवा संस्थान के अनंत पांडेय उर्फ डंपी भैया ने बताया की सनातन धर्म के सभी अनुयायियों के पितृ पूर्वजों के आत्मा को मोक्ष प्राप्ति प्रदान हेतु गरीब असहाय, वंचित-बेसहारा लोगों को वस्त्र, बर्तन, फल अन्य वह सभी सामग्री प्रदान की गई।
इस अवसर पर श्री मनकामेश्वर मंदिर महंत ब्रह्मचारी श्रीधरानंद महाराज, ब्रह्मचारी विधायनंद जी महाराज,अन्तर्राष्ट्रीय ब्रह्मऋषि श्री पंचदशनाम  जूना अखाड़ा आदित्य महाराज, ब्रह्मचारी श्री रामदास महाराज, आचार्य हरिकृष्ण शुक्ल गुरु जी और संस्था के हनुमान शंशाक पाठक माठा,दीपक शर्मा,सौरभ तिवारी,एडवोकेट विजय शुक्ला,मनीष पांडेय, गोपाल  पाठक,पिंटू शुक्ला,अमन केसरवानी, नीरज,आशीष केसरवानी,लालू जायसवाल आदि लोग कार्यक्रम में मौजूद रहे।

पति की हत्या कर शव के साथ 3 दिन बिताए

पति की हत्या कर शव के साथ 3 दिन बिताए

इकबाल अंसारी 
क्योंझर। ओडिशा के क्योंझर जिले में एक महिला ने पारिवारिक विवाद को लेकर कथित तौर पर अपने पति की हत्या कर दी और अपने घर में शव के साथ तीन दिन बिताए। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस के मुताबिक यह कथित हत्या रविवार रात क्योंझर शहर थाने के अंतर्गत कोडिपासा गांव में हुई लेकिन यह मामला बुधवार को तब सामने आया जब स्थानीय लोगों से सूचना मिलने के बाद पुलिस उनके गांव पहुंची।
 क्योंझर शहर थाने के प्रभारी निरीक्षक सुनील कर के मुताबिक इस घटना के सिलसिले में सुनीता जुआंगा को गिरफ्तार किया गया है और उसके पति के शव को बरामद कर लिया गया है। 
सुनील कर ने बताया कि आदिवासी महिला सुनीत पिछले तीन दिन से अपने चार बच्चों के साथ घर में पति की लाश के साथ रह रही थी। उन्होंने बताया कि सुनीता ने कबूल किया है कि उसने लोहे की किसी चीज से पीट-पीटकर अपने पति तुरा की हत्या कर दी। पुलिस अधिकारी के मुताबिक तुरा को शराब पीने की आदत थी और वह अक्सर अपनी पत्नी से मारपीट करता था और गाली-गलौज करता था। पुलिस ने इस सिलसिले में हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

मजिस्ट्रेट का आदेश, भूमाफियाओं ने कपड़े से ढका

मजिस्ट्रेट का आदेश, भूमाफियाओं ने कपड़े से ढका

मौसम खान 
गाजियायबाद। लोनी थाना बॉर्डर क्षेत्र में राज्य सरकार की भूमि पर कब्जा कर निर्माण कार्य रहे है। प्रकरण में प्रशासनिक अधिकारियों ने कार्यवाही की पहली प्रकिया शुरू कर दी है। बता दें कि मीडिया द्वारा ख़बर वायरल होने पर उपजिला मजिस्ट्रेट ने मौके पर प्रशासनिक दस्ता भेजकर राज्य सरकार की भूमि पर हो रहे निर्माण कार्यों को तत्काल प्रभाव से बंद करा दिया। इसके साथ ही भूमि पर एक बोर्ड भी लगाया गया जिस पर साफ शब्दों में लिखा है कि सर्वसाधारण को सूचित किया जाता है कि कार्यालय उपजिला मजिस्ट्रेट लोनी जनपद गाजियाबाद के पत्र स0 131/पेशकार एसoडीoएम–लोनी/2023 आदेश दिनांक 18/05/2023 के अनुपालन में ग्राम बेहटा हाजीपुर के खसरा नं0 772/1 व 772 पर धारा 32/38 में कार्यवाही विचाराधीन है। अतः वाद निस्तारण तक प्रशंगत भूमि 772/1 व 772 पर कोई नया निर्माण ना हो पाये। बात सही भी है। क्योंकि ये भूमि राज्य सरकार की है। जिस पर पूर्णतः सरकार का अधिकार है।
लेकिन भूमाफियाओं की हिम्मत देखिए कि उपजिला मजिस्ट्रेट के आदेशों को किस प्रकार करतूत से ढक दिया गया है। अधिकारियों द्वारा लगाए गए सूचना पट को भूमाफियाओं ने कपड़ा डालकर ढक दिया है। जिससे इनकी करतूतों का पता जनता को ना लग सके। इन भूमाफियाओं के हौसलों की दाद देनी चाहिए कि अब इन्होंने उपजिला मजिस्ट्रेट के आदेश को ही चुनौती दे डाली, कि अब इन्हें कोर्ट का भी डर नही! इस मामले से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जा रहा है। अब देखना ये है कि अब भूमाफियाओं की इस करतूत पर उपजिला मजिस्ट्रेट क्या एक्शन लेते है, या फिर सिस्टम के आगे इन भूमाफियाओं की ताकत इतनी है कि अब इनका कोई कुछ नही बिगाड़ सकता है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  


1. अंक-359, (वर्ष-06)

पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. बृहस्पतिवार, अक्टूबर 12, 2023

3. शक-1944, आश्विन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:11, सूर्यास्त: 06:13।

5. न्‍यूनतम तापमान- 16 डी.सै., अधिकतम- 24+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा अखिलेश पांडेय  ब्रुसेल्स। नाटो के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा है कि चीन यूक्रेन के खिलाफ रूस...