जम्मू कश्मीर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
जम्मू कश्मीर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 20 अगस्त 2021

घाटी में सुरक्षाबलों व आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुईं

श्रीनगर। घाटी में शुक्रवार को सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जानकारी दी है कि सुरक्षाबलों ने फिलहाल पूरे इलाके की घेरा बंदी कर ली है और मुठभेड़ अभी भी जारी है। दरअसल अवंतीपोरा के पंपोर इलाके में मुठभेड़ में मारा गया आतंकी कौन है और किस आतंकी ग्रुप से जुड़ा हुआ था। फिलहाल उसकी पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हमें पंपोर इलाके में कुछ आतंकियों के छुपे होने की खबर मिली थी। इसके बाद जब हमारे जवान इलाके में सर्च ऑपरेशन करने गए तो आतंकियों ने उन पर गोलीबारी की। जवाबी कार्रवाई में जब सुरक्षबलों ने गोली चलाई तो एक आतंकी मारा गया।

रविवार, 8 अगस्त 2021

वित्तपोषण के मामले में 40 स्थानों पर छापे मारे

श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आतंकवाद के वित्तपोषण के मामले में रविवार को जम्मू-कश्मीर के 14 जिलों में 40 से अधिक स्थानों पर छापे मारे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की सहायता से एनआईए अधिकारियों ने जमात-ए-इस्लामी के कुछ धर्मार्थ ट्रस्टों के कार्यालयों और इसके सदस्यों के आवासों पर छापे मारे।
केंद्र ने आतंकवादियों के साथ संबंध रखने के मामले में जमात-ए-इस्लामी संगठन को 2019 में प्रतिबंधित कर दिया था। एनआईए ने छापे की कार्रवाई आज तड़के करीब पांच बजे शुरू की। सूत्रों ने बताया कि श्रीनगर, बड़गाम, गंदेरबल, बारामूला, कुपवाड़ा, बांदीपुर, अनंतनाग, शोपियां, पुलवामा और कुलगाम में छापे मारे गए।
उन्होंने कहा, “जम्मू डिवीजन में रामबन, डोडा, किश्तवाड़ और राजौरी जिलों में छापे मारे गये।” सूत्रों ने बताया कि ये छापे जम्मू-कश्मीर में जमात-ए-इस्लामी की गतिविधियों की जांच करने के लिए मारे गए।

शुक्रवार, 6 अगस्त 2021

सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में शुक्रवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गये। पुलिस सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर सेना, अर्द्धसैनिक बल और पुलिस की संयुक्त टीम ने सुबह थन्नामंडी इलाके की घेराबंदी की। इसी दौरान वहां छिपे आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी की। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने भी गोलियां चलायीं। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर हो गये जबकि दो आतंकवादियों के अभी वहां छिपे होने की रिपोर्टें हैं।

गुरुवार, 5 अगस्त 2021

जम्मू-कश्मीर: पुलिस दल पर हमले का खंडन किया

श्रीनगर। उत्तर कश्मीर के सोपोर में गुरुवार को पुलिस दल पर हमले का पुलिस ने खंडन किया है। पुलिस प्रवक्ता ने यह दावा किया है। प्रवक्ता ने दावा किया कि सोपोर मुख्य चौक पर गोली चलने के संबंध में जो खबर फैल रही है, वह बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि सोपोर में इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है।
उन्होंने जनता से सहयोग मांगा है। प्रवक्ता ने कहा,“ सोपोर मुख्य चौराहे पर गोली चलने की खबर पूरी तरह से निराधार है। आम जनता से पुलिस का सहयोग करने का आग्रह किया गया है और अफवाह फैलाने वालों पर ध्यान नहीं देने की बात कही गयी है। ” इससे पहले सुबह ऐसी रिपोर्ट सामने आयीं कि आतंकवादियों ने पुलिस दल पर कुछ दूरी से गोलीबारी की है, जो निराधार है।

बुधवार, 4 अगस्त 2021

प्लास्टिक के धागे का इस्तेमाल करने पर रोक लगाईं

श्रीनगर। जम्मू प्रशासन पतंगबाजी के मौसम के मद्देनजर निवारक उपाय के तहत नायलॉन और प्लास्टिक के धागे का इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी है। जिलाधिकारी की ओर से जारी आदेश के अनुसार पतंगबाजी का त्योहार या पतंगबाजी का मौसम चल रहा है। यह कुछ समय और चलेगा। इस दौरान देखा गया है। लोग पतंगबाजी के लिए प्लास्टिक या नायलॉन के धागों का इस्तेमाल कर रहे हैं, जो कुछ समय तक चलता रहेगा। यह देखा गया है कि पतंगबाजी के लिए प्लास्टिक या नायलॉन (मांजा) के धागों का प्रयोग किया जा रहा है। यह एसआरओ 126 का उल्लंघन है।
आदेश में कहा गया,“ प्लास्टिक और नायलॉन स्ट्रिंग्स (मांजा) की खरीद, रखने, बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगाया गया है। पिछली रिपोर्ट और घटनाओं से साफ हो गया है कि पारंपरिक पतंग उड़ाने वाले सूती धागे के बजाय इन धागों का उपयोग पक्षियों और मानव जीवन के लिए खतरा है।” आदेश में कहा गया है कि यह कदम बच्चों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए उठाया गया है। साथ ही पक्षियों के लिए उत्पन्न खतरों को भी रोकना है।
जम्मू के जिलाधिकारी अंशुल गर्ग ने अपराध संहिता की धारा 144 के तहत प्राप्त कार्यकारी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए आदेश जारी किया है कि पतंगबाजी में प्लास्टिक/नायलॉन या आयातित/स्वदेशी सिंथेटिक सामग्री की बिक्री या उपयोग जम्मू क्षेत्र में तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित रहेगी। आदेश में कहा गया,“ यदि कोई व्यक्ति इस आदेश का उल्लंघन करेगा, तो वह दंड का भागी होगा।

मंगलवार, 3 अगस्त 2021

सक्रिय शीर्ष दस आतंकवादियों की सूची जारी की

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कश्मीर घाटी में सक्रिय शीर्ष दस आतंकवादियों की सूची जारी की है।
पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने ट्वीटर के जरिए आतंकवादियों के नाम की सूची जारी की।
कुमार ने ट्वीट किया, “शीर्ष 10 लक्ष्य: पुराने आतंकवादी- सलीम पर्रे, यूसुफ कांट्रो, अब्बास शेख, रेयाज शेटगुंड, फारूक नाली, जुबैर वानी और अशरफ मोलवी। नए आतंकवादी- साकिब मंजूर, उमर मुस्ताक खांडे और वकील शाह।”
इस वर्ष दक्षिण कश्मीर में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी), जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) और हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) आतंकवादियों संगठनों के शीर्ष कमांडरों सहित 85 से अधिक आतंकवादियों को विभिन्न मुठभेड़ों में ढेर किया हैं। मुठभेड़ के दौरान करीब 12 आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने की अनुमति दी गई थी।

सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 1 आतंकी मारा गया

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के बांदीपुरा जिले में मंगलवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने उत्तरी कश्मीर के बांदीपुरा के चांदजी इलाके में घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था।
उन्होंने बताया कि आतंकवादियों के सुरक्षा बल पर गोलियां चलाने से अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया। सुरक्षा बल ने भी गोलीबारी का माकूल जवाब दिया। अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया है। आतंकवादी और उसके संगठन से जुड़ी जानकारी हासिल करने की कोशिश की जा रही है। अभियान अब भी जारी है।

शनिवार, 31 जुलाई 2021

2 आतंकियों की गिरफ्तारी के संबंध में छापेमारी की

श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने सुंजवान से बरामद हुए शक्तिशाली विस्फोटक उपकरण तथा लश्कर ए-मुस्ताफा समूह के दो आतंकवादियों की गिरफ्तारी के संबंध में शनिवार को जम्मू और कश्मीर में छापेमारी की। खुफिया विभाग से जुड़े सूत्रों ने बताया कि एनआईए की टीमों ने शनिवार तड़के आरसी-01/21/एनआईए/जेएमयू (कुंजवानी मामला) और 04/21/एनआईए/जेएमयू (भटिंडी आईईडी रिकवरी मामला) मामलों में औचक छापेमारी की।
सूत्रों कहा कि दो अगल-अलग मामलों को लेकर जम्मू-कश्मीर में एनआईए छापेमारी कर रहा है। एक मामला 27 जून को जम्मू से आईईडी की बरामदगी का है तथा दूसरा लश्कर ए-मुस्ताफा के आतंकवादियों की गिरफ्तारी का है। सूत्रों के मुताबिक जम्मू क्षेत्र में सुंजवान (जम्मू शहर) और बनिहाल (रामबन) में छापेमारी की जा रही है, जबकि कश्मीर क्षेत्र में शोपियां और अनंतनाग में छापेमारी की जा रही है।उल्लेखनीय है कि पुलिस ने 27 जून को सुंजवान में नारवाल के पास से हथियार, गोलाबारूद तथा पांच किलोग्राम आईईडी के साथ एक आतंकवादी को गिरफ्तार किया था। इस ने गिरफ्तारी शहर में बड़े आतंकवादी वारदात को अंजाम देने की कोशिश विफल हो गयी। इसके बाद NIA की टीम ने 22 जुलाई को लश्कर ए-मुस्ताफा समूह के दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया था।
जम्मू-कश्मीर के सीमावर्ती राजौरी जिले में शक्तिशाली आईईडी का समय रहते पता चलने और उसे निष्क्रिय कर देने से शनिवार को एक बड़ा हादसा टल गया। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू-राजौरी राष्ट्रीय राजमार्ग पर बैथूनी-दिलोगरा में एक पुलिया के नीचे संदिग्ध आतंकवादियों द्वारा विस्फोटक लगाया हुआ मिला जिसे सेना के बम निष्क्रिय दस्ते ने सुबह नौ बजकर 10 मिनट पर निष्क्रिय कर दिया।
उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों के सड़क मुआयना दल (आरओपी) द्वारा आईईडी का पता चलने के बाद करीब तीन घंटे तक इस महत्त्वपूर्ण मार्ग पर यातायात रुका रहा। अधिकारियों ने बताया कि समझा जाता है कि आतंकवादियों ने रात के अंधेरे का फायदा उठाते हुए रात में विस्फोटक लगाया।
साथ ही बताया कि धमाके की साजिश रचने वाले आतंकवादियों को पकड़ने के लिए बड़ा तलाश अभियान जारी है। अधिकारियों ने बताया कि विशेषज्ञों ने आईईडी को सड़क से हटाकर पास के जंगल में फेंक दिया और बाद में बिना किसी नुकसान के नियंत्रित विस्फोट में इसमें धमाका कर इसे नष्ट किया गया।

कासो के दौरान हुईं मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गयें

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शनिवार को तड़के सुरक्षा बलों की ओर से की गयी घेराबंदी एवं तलाश अभियान (कासो) के दौरान हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद का एक शीर्ष कमांडर और आईईडी विशेषज्ञ समेत दो आतंकवादी मारे गये।
इस बीच, कश्मीर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों के जवानों काे बिना किसी नुकसान के अभियान को सफलतापूर्वक अंजाम देने के लिए बधाई दी है। पुलिस प्रवक्ता ने यहां बताया कि पुलवामा के नागबेरन-तरसार त्राल में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में सूचना मिलने पर राष्ट्रीय राइफल्स तथा जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान दल तथा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल ने संयुक्त तलाश अभियान चलाया।
उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों के जवान जब जंगल की ओर बढ़ रहे थे, तो वहां छुपे हुए आतंकवादियों ने स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षा बलों के जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई में गोलियां चलाईं जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गयी।
उन्होंने बताया कि दाचिगाम जंगलों के सामान्य इलाके में दो आतंकवादी मारे गये। मारे गये आतंकवादियों में से एक की पहचान करते हुए श्री कुमार ने कहा कि आज की मुठभेड़ में मारा गया एक आतंकवादी प्रतिबंधित संगठन जैश का लम्बू भाई है। दूसरे आतंकवादी की पहचान की जा रही है। सूत्रों के मुताबिक लंबू भाई को शक्तिशाली विस्फोटक उपकरण (आईईडी) बनाने में महारत हासिल थी और दक्षिण कश्मीर में कई हमलों में वह शामिल था।

शुक्रवार, 30 जुलाई 2021

ग्रेनेड हमले में 'सीआरपीएफ' के 2 जवान घायल हुएं

श्रीनगर। उत्तर कश्मीर के बारामूला में शुक्रवार को ग्रेनेड हमले में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के दो जवान और एक नागरिक घायल हो गए। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि बारामूला में आज खानपारो ब्रिज पर अज्ञात आतंकवादियों ने सीआरपीएफ पर ग्रेनेड़ फेंका। उन्होंने कहा,“ ग्रेनेड हमले में दो सीआरपीएफ जवान और एक नागरिक घायल हो गया। घायलों को अस्पताल पहुँचाया गया।”
सूत्रों ने कहा कि विस्फोट के कारण पैदा हुई अफरा-तफरी के दौरान आतंकवादी फायदा उठकार भागने में सफल रहे। अतिरिक्त सुरक्षा बलों को इलाके की ओर भेजा गया है और हमलावरों की खोज में तलाश अभियान शुरू किया गया है।सूत्रों ने बताया कि अज्ञात आतंकवादियों को पकड़ने के लिए इलाके में तीन किलोमीटर के दायरे में जांच चौकी स्थापित की गयी है और वाहनों, विशेष रूप से दोपहिया वाहनों की आगे बढ़ने से पहले उनकी जांच की जा रही है।

गुरुवार, 29 जुलाई 2021

परिजनों को 5-5 लाख रुपये की सहायता, घोषणा की

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बुधवार को किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना में मारे गये लोगों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की सहायता राशि प्रदान करने की घोषणा की।
सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये और राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष (एसडीआरएफ) के तहत 12,700 रुपये भी दिए जाएंगे।किश्तवाड़ के उपायुक्त एसडीआरएफ के तहत मकान, बर्तन, कपड़े, घरेलू सामान, मवेशी, पशुशाला, कृषि भूमि की हानि आदि के लिए राहत राशि प्रदान करेंगे।उपराज्यपाल ने कहा, "जम्मू-कश्मीर सरकार प्रभावित परिवारों की सहायता और सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास करेगी। ऐसे कठिन समय में, उन लोगों की देखभाल करना हमारा कर्तव्य है जो दुर्भाग्य से इन प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित हुए हैं।"
गौरतलब है कि किश्तवाड़ जिले में बुधवार को बादल फटने से अचानक आयी बाढ़ और भारी बारिश से सात लोगों की मौत हो गयी और 17 अन्य घायल हो गये।

बुधवार, 28 जुलाई 2021

पाकिस्तान के साथ बातचीत करनी चाहिए: मुफ्ती

श्रीनगर। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को कहा कि भारत को कश्मीर मुद्दे के हल तथा इस क्षेत्र में रक्तपात पर पूर्ण विराम लगाने के लिए पाकिस्तान के साथ बातचीत करनी चाहिए। उन्होंने यहां पीडीपी के 22 वें स्थापना दिवस पर पार्टी के एक कार्यक्रम में यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा, ” भारत और पाकिस्तान के बीच (इस साल के फरवरी का) संघर्षविराम बातचीत का ही नतीजा है। तब, यदि महबूबा कहती है कि कश्मीर मुद्दे के समाधान और खूनखराबे को बंद करने के लिए पाकिस्तान से बात करो, तो उसमें गलत क्या है।” पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थिति में सुधार के लिए पड़ोसी देश से बातचीत करने में कोई झिझक नहीं होनी चाहिए।


रविवार, 25 जुलाई 2021

सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 1 आतंकी मारा गया

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में कुलगाम जिले में रविवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान एक अज्ञात आतंकवादी मारा गया। पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना मिलने के बाद राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने मुनांद कुलगाम में आज सुबह संयुक्त घेराबंदी एवं तलाश अभियान शुरू किया।

अभियान के दौरान जब सुरक्षा बल के जवान आगे बढ़ रहे थे तब वहां छिपे आतंकवादियों ने उनपर गोलीबारी शुरू कर की। इसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की और फिर मुठभेड़ शुरू हो गई। मुठभेड़ के दौरान एक अज्ञात आतंकवादी मारा गया। उन्होंने बताया कि कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिये आसपास के इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। अंतिम रिपोर्ट आने तक अभियान जारी था। 

गुरुवार, 22 जुलाई 2021

जम्मू-कश्मीर में कोरोना के 144 नए मामलें मिलें

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में बुधवार को कोरोना वायरस के 144 नए मामले आए। जिससे संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 3,20,256 हो गई। जबकि एक मौत के साथ मृतकों की संख्या 4,372 हो गई।
अधिकारियों ने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश के नए मामलों में से 32 जम्मू संभाग से और 112 कश्मीर संभाग से आए हैं।
अधिकारियों ने बताया कि केंद्र शासित प्रदेश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 1,602 रह गई, जबकि 3,14,282 मरीज अब तक संक्रमण से उबर चुके हैं।
इस बीच, केंद्र शासित प्रदेश में म्यूकोर्मिकोसिस (काला कवक) के 35 पुष्ट मामले हैं क्योंकि कोई ताजा मामला सामने नहीं आया है।

बीएसएफ के 1 अधिकारी सहित 5 जवान घायल हुए

श्रीनगर। उत्तरी कश्मीर के शीरी बारामुला में बीएसएफ के जवानाे को ले जा रहा एक वाहन पलटा। इसमें सवार बीएसएफ के एक अधिकारी सहित पांच जवान घायल हो गए हैं। उन्हें तुरंत नजदीकी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया है। जहां इनका उपचार जारी है।
जानकारी के अनुसार, बीएसएफ की 194वीं बटालियन के अधिकारियों व जवानों को लेकर वाहन मोहारू से बारामुला की ओर जा रहा था कि अचानक शीरी पुलिस स्टेशन के समीप चालक वाहन से अपना नियंत्रण खो बैठा। 
इस हादसे में वाहन में सवार बीएसएफ के अधिकारी सहित पांच जवान घायल हो गए हैं। इनकी पहचान असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर विनोद कुमार, हैड कांस्टेबल मुकेश कुमार व तोता राम, कांस्टेबल अमनदीप व कांस्टेबल जाल सिंह के रूप में हुई है।
गौरतलब है कि गत सप्ताह उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिला के अंतर्गत सीमावर्ती उड़ी सेक्टर में एक कार गहरी खाई में गिर गई थी। इसमें सवार एक शख्स की मौत हो गई थी जबकि चार अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस हादसे के तुरंत बाद स्थानीय लोग घटनास्थल पर पहुंच गए थे। उन्होंने तुरंत राहत कार्यों में हाथ बंटाते हुए घायलों को दुर्घटनाग्रस्त वाहन से बाहर निकाला। इस दौरान कार चालक मोहम्मद इस्लाम टास की मौके पर ही मौत हो गई थी। अन्य घायलों को राजकीय मेडिकल कॉलेज बारामुला में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया था।

बुधवार, 21 जुलाई 2021

ड्रोन को तलाशने के लिए अभियान चलाया: सुरक्षाबल

श्रीनगर। स्वतंत्रता दिवस जैसे-जैसे करीब आ रहा है। वैसे-वैसे सूबे में आतंकी गतिविधियां तेज हो गई हैं। इसी क्रम में बुधवार सुबह जम्मू जिले के सतवारी इलाके में दो बार ड्रोन मंडराता देखा गया। सुरक्षाबलों ने ड्रोन को तलाशने के लिए क्षेत्र में अभियान चलाया है। इस संबंध में फिलहाल पुलिस व अन्य सुरक्षाबलों की तरफ से कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।
सूत्रों के अनुसार बुधवार सुबह करीब चार बजे पहली बार ड्रोन सिविल एयरपोर्ट के पास उड़ता देखा गया। ड्रोन दिखते ही सुरक्षाबलों ने गोलीबारी शुरू कर दी। इस दौरान ड्रोन वहां से वापस चला गया। इसके तकरीबन पांच से छह मिनट के बाद ड्रोन को एक बार फिर पीरबाबा क्षेत्र में देखा गया। जो एयरफोर्स स्टेशन से सटा हुआ है। इस घटना के तुरंत बाद सुरक्षाबलों ने ड्रोन तथा उसे कंट्रोल करने वाले संदिग्धों के खिलाफ इलाके में तलाशी अभियान शुरू कर दिया, जो समाचार लिखने तक जारी है। फिलहाल अभी तक इतनी ही जानकारी प्राप्त हो पाई है। विस्तृत ब्योरे की प्रतीक्षा है।

सोमवार, 19 जुलाई 2021

लश्कर-ए-तैयबा के शीर्ष कमांडर समेत दो आतंकी मारे

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सोमवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के एक शीर्ष कमांडर समेत दो आतंकवादी मारे गये।
पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने शीर्ष कमांडर इश्फाक डार उर्फ अबू अकरम के मारे जाने पर सुरक्षा बलों को बधाई दी। लश्कर-ए-तैयबा का यह शीर्ष कमांडर 2017 से आतंकवादी गतिविधियों में सक्रिय था।
पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर जम्मू-कश्मीर के विशेष अभियान समूह (एसओजी), राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने संयुक्त रूप से रविवार देर रात शोपियां में घेराबंदी एवं तलाश अभियान शुरू किया।
इस दौरान सुरक्षा बल के जवान जब एक विशेष क्षेत्र की ओर बढ़ रहे थे। 
तब वहां छिपे आतंकवादियों ने उनपर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की और फिर मुठभेड़ शुरू हो गई।
प्रवक्ता ने बताया कि आज सुबह मुठभेड़ के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गये। उन्होंने बताया कि अंतिम रिपोर्ट आने तक सुरक्षा बलों का अभियान जारी था।

शनिवार, 17 जुलाई 2021

पूर्व आईएएस अधिकारी के घर पर मारा छापा: जम्मू

श्रीनगर। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को नेशनल कांफ्रेंस नेता एवं पूर्व आईएएस अधिकारी के घर पर छापा मारा।
कश्मीर के संभागीय आयुक्त रहे उक्त अधिकारी पर कथित रूप से गुलमर्ग भूमि घोटाले का आरोप है। विशेष न्यायाधीश ने तलाशी का वारंट जारी किया जिसके बाद उनके घर पर छापा मारा गया।
यह अधिकारी जम्मू कश्मीर क्रिकेट संघ के शीर्ष पद के लिए भी नियुक्त किये गये थे।

अवैध रूप से जानवरों की कुर्बानी देने पर प्रतिबंध

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने एक ऐतिहासिक फैसला करते हुए प्रदेश में पहली बार ईद-उल-अजहा यानी बकरीद के मौके पर गोवंश वध पर प्रतिबंध लगाया गया है। इस संबंध में जारी आदेश में कहा गया है कि बकरीद पर गोवंश, ऊंट व अन्य जानवरों को मारने या अवैध रूप से कुर्बानी देने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।
जम्मू-कश्मीर सरकार ने केंद्रीय मत्सय पालन और पशु पालन मंत्रालय के 25 जून, 2021 के आदेश का हवाला देते हुए बकरा ईद पर जानवरों के मारने पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया है। 
जम्मू-कश्मीर के पशु और भेड़ पालन विभाग के निदेशक प्लानिंग की तरफ से जारी आदेश के तहत पशुओ के कल्याण के कानून को प्रभावी तरीके से लागू करने को कहा गया है। त्योहार के दौरान अवैध रूप से गोवंश और अन्य पशुओं की हत्या पर रोक लगाई गई है। नियमों को सख्ती से लागू कराने के लिए सभी संबंधित विभागों को निर्देश दे दिए गए हैं।  इस आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश भी जारी किए गए हैं। 

गुरुवार, 15 जुलाई 2021

सेना के अड्डे के समीप 1 ड्रोन को मंडराता हुआ देखा

श्रीनगर। जम्मू में वायु सेना के अड्डे के समीप फिर एक ड्रोन को मंडराता हुआ देखा गया। पुलिस ने गुरुवार को यह जानकारी दी। ड्रोन को वायु सेना ठिकाने के पास बुधवार रात देखा गया।
उन्होंने बताया कि संबंधित अधिकारियों ने पुलिस को सूचित किया कि वायु सेना स्टेशन के नजदीक सतवारी और मीरान साहिब क्षेत्र के बीच एक ड्रोन देखा गया।
पुलिस ने बताया कि सुरक्षा कर्मियों ने ड्रोन पर गोलियां भी चलाई लेकिन यह बचकर निकलने में कामयाब रहा। इससे पहले 27 जून को जम्मू के वायु सेना ठिकाने पर ड्रोन से दो बम गिरा दिये गये थे जिसमें दो जवान घायल हो गये थे।

आईटीओ से लाल किले तक ‘तिरंगा यात्रा’ निकाली

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71वें जन्मदिन पर शुक्रवार को सामाजिक संगठनों ने राष्ट्रीय राजधानी में आईटीओ से ...